देहात वाला बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,क्सक्सक्स वीडियो सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

प्रिया की सेक्स वीडियो: देहात वाला बीएफ वीडियो, मैंने वक़्त बर्बाद ना करते हुए उसे गोद में उठाया और पूछा- बेडरूम किधर है.

హిందీ మరాఠీ సెక్స్ వీడియో

मैंने अपने हथेली से उसकी पैंटी को एक-दो बार रगड़ा तो सुषी की सिसकारी छूट गई. ब्लू फिल्म दिखाओ सेक्सी ब्लू फिल्मदेखते ही देखते उसका गाउन ज़मीन पे गिर गया, अब वो सिर्फ़ ब्रा और पेंटी में थी.

मैंने इशारे से पूछा- कैसा लग रहा है?तो भाभी ने बदले में मेरे माथे पर किस कर दिया और मुझसे लिपट गयी. बीएफ हिंदी एचडी व्हिडिओऐसे ही आहहह … तेरा मस्त लौड़ा तो मेरी चूत में बिल्कुल कस कर रगड़ मार रहा है, आहहहह… अब ज़ोर से चोद … अब लगा अपने लौड़े का ज़ोर.

ऊऊफफ्फ़ आअहह … क्या बोलूँ … सीधे उसके टाइट फिट नितंब पर जाकर मेरे हाथ टिक गए और मैं उसके नरम चूतड़ों को मसाज करने लगा.देहात वाला बीएफ वीडियो: शाम को आंटी मेरे घर आई और बोलने लगी- अजय दो महीने से मेरी हालत बहुत खराब है, तुम बस मुझे 15 दिन का टाइम और दे दो.

मैंने भी अपना सुपारा उसकी चुत पर सैट किया और हल्का धक्का मारा, तो उसकी हल्की चीख निकली ‘आह.मेरे घर के पास एक परिवार रहता है जिस में एक बेहद सुन्दर लड़की रहती है.

ब्लू सेक्सी हिंदी ब्लू फिल्म - देहात वाला बीएफ वीडियो

मैंने बिना कुछ सोचे समझे उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनके मुँह में अपनी जीभ डाल कर उनको किस करने लगा.उसने मेरा सिर अपने दोनों पैरों के बीच में दबाया, मैं समझ गया कि वह अपनी चूत चाटने को कह रही है.

कुछ देर बाद मैंने भाभी को नीचे उतारा और पूछा- कुछ ठीक लगा?भाभी कहने लगी- राज! ऐसा दो तीन बार कर दो. देहात वाला बीएफ वीडियो मैंने अपने लंड को धीरे से उसकी चूत पे टिकाया और उसे हल्के हल्के ऊपर नीचे करने लगा.

वो बाथरूम में चली गई और कुछ मिनट बाद वो आकर फिर से मेरे बाजू में बैठ गई.

देहात वाला बीएफ वीडियो?

यह सब तो तभी पता लग पाएगा जब उसको फिर से चोदने का मौका मिलेगा और मैं आज तक उसी मौके की तलाश में हूँ. तभी पटेल बोला- बंध्या, तू बहुत हॉट आइटम है … ठीक से देख ले मेरे लौड़े को … आज के बाद तू हर वक्त इसी को मिस करेगी और इसी से चुदवाने के लिए तड़पेगी. अपनी बनियान और कच्छा उतार कर मैं नंगा दोनों के नज़दीक जाकर उनकी चूचियां दबाने लगा.

पर निहाल नहीं रूका और लहंगे के नीचे घुस कर उसने सीधे मेरी पेंटी को वहां से पकड़ लिया जहां चूत थी. ऐसे ही एक दिन पड़ोस वाले चौबे जी ने बात छेड़ी- भाई अब शादी ब्याह भी कर लो. उसने मेरे निप्पलों की भी किस करना चालू कर दिया और बारी बारी से वो मेरे दोनों निप्पलों को दांतों से काटने में लग गई.

उसको लंड चूसता देखकर मैंने शीला को हिलाना चाहा, पर वो गहरी नींद में थी, इसलिए मैंने अपना सारा ध्यान पद्मा पर लगा दिया और कुछ ही सेकंड में लंड खड़ा हो गया. ’‘क्यों?’‘यार वो मेरे दोस्त हैं न रशीद और जॉन, अभी तक वो दोनों मज़े ले रहे थे. इसलिए जब से मेरा शौहर मुझे छोड़कर गया था तब से एक और जिम्मेदारी मुझे निभानी थी.

उफ्फ्फ … क्या चूचियां थीं … गोल … गहरे मैरून रंग के निप्पल और वैसा ही बड़ा सा ऐरोला निप्पल के चारों तरफ … चूचियों के मुकाबले उसके निप्पल काफी बड़े थे. मेरे अन्दर ना जाने चूत में कैसी उबाल सी उठी कि मुझे कुछ भी समझ नहीं आया.

देवर भाभी सेक्स की मेरी कहानी के पिछले भागदेवर जी को ही पतिदेव मान लिया-1में आपने पढ़ा कि मेरे पति शादी के अगले दिन किसी रिश्तेदारी में चले गए थे.

पता बताने की बजाय उसने मुझे मंडी हाउस के मैट्रो स्टेशन पर आने के लिए कह दिया.

मैं उसे थोड़ा छेड़ने भी लगा, हमारे बीच जैसे एक चुम्बक सी काम करने लगी. मेरी इच्छा तो बहुत होती है, लेकिन बदनामी के डर से मैं किसी का भी लंड नहीं ले सकता. जब मैंने उसके बाद की चैट को पढ़ा तो उसमें मिशिका और रिशु की सुबह की बातें थीं जिसमें मिशिका नहा कर बाहर आई थी.

मैंने कहा- हां हाँ मीशा … पूछो न जो पूछना चाहती हो!वो बोली- जब से मैं जवान हो रही हूँ, मेरे शरीर में बहुत परिवर्तन हो रहे हैं और मेरे मन में बहुत बैचैनी हो रही है. मैं मादक सिस्कारियां निकालने लगी और वो मेरी चूत को चाटने के बाद मेरे जांघों को मसलने लगा. प्रमिला की चुत का रस मेरे लंड से होता हुआ मेरी गोटियों और गांड पर भी आ गया.

तूने अभी देखा किस तरह से अभी राज तेरी मम्मी से आगे वाली सीट में चिपके हुए उसके दूध दबा रहा था और अन्दर टांगों में हाथ डाले था.

आरती के पड़ोस में एक लड़का प्रसंग रहता था जिसकी शादी तो हो चुकी थी मगर उसकी बीवी किसी दूसरे शहर में रहा करती थी. भगवान का शुक्र और सर की मेहरबानी से मैं परीक्षा में फर्स्ट क्लास से पास हुई। घरवाले बहुत खुश थे। पिंकी भी सेकेंड क्लास से पास हुई थी। मेरी अधिकतर सहेलियाँ जल भुन गई थीं. वे दोनों हांफते हांफते ही ढीले पड़ कर मुझसे लिपटे पड़े रहे और करीब 3 मिनट तक दोनों मदहोश सांड की तरह मुझसे चिपके रहे.

फिर जीभ निकल कर होंठों पर फेरी और एक उंगली से नजदीक आने का इशारा किया. इधर शादी में मुझे वे लोग मिल गए, जिनके आ जाने के कारण मैं झाड़ियों में चुदने से बच गई थी. आंटी की गीली चूत में लंड गच-गच की आवाज करता हुआ आंटी की चूत को चोदने लगा.

उसके बाद मुझे महसूस हुआ कि मेरे पांव को नीचे से कुछ टच हो रहा है, मैंने थोड़ा नीचे की तरफ झुककर देखा तो मामी मेरे पांव को अपने पांव से सहला रही थी.

मेरा हंसता खेलता जीवन उजड़ गया, एक बेटा भी था, जिससे मुझे संभालना था. तुम्हें लेना है तो बोलो, तुम्हें भी दिलवा कर चुदवा देती हूँ इसके लंड से.

देहात वाला बीएफ वीडियो मेरे हाथ बंधे होने के कारण मैं कुछ नहीं कर पाई, बस कसमसा कर एवं तड़प कर रह गई. मैं उन्हें दोनों हाथों से बहुत ही बुरी तरह से दबा रहा था और चूस काट रहा था.

देहात वाला बीएफ वीडियो जब मेरे लंड ने उसकी जवानी का भरपूर रस पी लिया तो वह भी हाँफता हुआ उसकी चूत में थूकने लगा. हम जो सजती संवरती बनती ही इसीलिए हैं कि मर्द लड़के हमें देख कर आहें भरें और हमारे लिए पागल हों.

अब आगे:सलोनी की कमनीय कंचन काया सिर्फ ब्रा और पेंटी में मेरे सामने थी और मैं अभी भी जींस में था.

एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो एचडी

उस उम्र में तजुर्बा ना होने की वजह से मेरा लंड घुसते ही सम्पूर्णतः आनंदमय होकर पुनः छोटा हो गया। आप समझ सकते हैं कि पहली बार नारी के बदन का भेदन करने पर भला कौन होगा जो खुद पर इतना कंट्रोल रख पाए. वो मेरे होंठ को चूसने लगा और एक हाथ से मेरे मम्मों को ब्लाउज के ऊपर से ही दबाने लगा. मैंने उनसे कहा- आप जानती हैं ठीक है, पर मैं आपके साथ कैसे करूँ और क्यूँ?उसने कहा- नेहा के साथ क्यूँ करते हो?मैं चुप ही रहा.

इतनी मस्त माल है पी ले बे इसका पेशाब … नहीं तू इधर आ … मैं पी लेता हूं. वो तो मर्द है, उसे अपनी इच्छा व्यक्त करने में ज्यादा देर नहीं लगी और लगाता भी क्यों. शुरू के दिनों में तो मैं सारा दिन इंटरनेट पर नौकरी ढूंढता रहता था और जगह-जगह अप्लाई करता रहता था.

मामी का भरा बदन तो किसी हिजड़े को भी वासना की ओर धकेल दे, ऐसी है मेरी मामी.

वाणी चिल्लाई- कमिनी कुतिया तो तुझे पता था?गीता हंस कर बोली- साली मुझे भी ऐसे ही दर्द हुआ था. दोस्तो, सच कहूँ तो उसका खुला निमंत्रण से मेरे लंड महाशय सर उठा चुके थे, लेकिन थोड़ी नौटंकी तो बनती ही है ना. जब मुझसे रहा नहीं गया तो मेरे मन में पता नहीं क्या आया कि मैंने सीमा की चूचियों को दबाना शुरू कर दिया.

दो मिनट के बाद जब प्रमिला को अच्छा लगने लगा, तब चार इंच के करीब अन्दर बाहर करने लगा. हम अपने शालीनता वाले रिश्ते को छोड़ कर अब प्रेमी प्रेमिका वाले रिश्ते बनाने में लग गए. शीला मुझसे बोली- हम दोनों बहनों की सेवा पसंद आई पतिदेव को या नहीं?‘तुम दोनों ने मुझे पागल कर दिया है, चार बार पानी छोड़ने के बाद भी लंड खड़ा है.

वो 9 से 5 की ड्यूटी करते हुए टाइम से घर आते और अपने फैमिली में ही टाइम बिताते. उसी के साथ में वाणी ने गीता का मुँह पकड़ा और अपनी चुची उसके मुँह में घुसा कर बोली- साली, इन्हें चूसने के लिये क्या तेरे बाप को बुलाऊं.

मैं- फिर खाना मिला कर कितना किराया बैठेगा?भाभी- बड़े चूतिया हो यार तुम भी … जब देखो पैसा पैसा हुहंह. अबकी बार मैंने थोड़ी सी क्रीम अपनी उंगली पर लगाई और उसकी गांड में उंगली डालकर अंदर-बाहर करने लगा. मैं और जोर जोर से अपना लंड को हिलाने लग गया, झट से बाथरूम में गया और वहां झाड़ दिया.

एक दिन मेरे मामा ने मुझे कोचिंग करने के लिए बोला तो मैं भी हां बोल दिया.

बस फिर क्या था, मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और धीरे धीरे चूसने लगा. उसने कहा- तुम्हें शर्म नहीं आती?मैंने कहा- आरती शर्म और वो तुम्हें या मुझे? क्या बात करती हो. मुझे ज़ोर से चोदते हुए उसने अपने लंड का पानी मेरी चूत में ही छोड़ दिया.

उसने वहां पड़ी वाइन की बोतल मेरी चुत में डाल दी और वाइन को चूत में भर दिया. पहली बार किसी ने कहा कि इस योनि को किसी एक से ना बांधा जाए, इससे हर एक मज़ा मिलना चाहिए.

मैं उससे मिला, तो वो बोला- आप यहां रुकिए … मुझे जाना ही पड़ेगा, कल से कॉलेज जाना ही पड़ेगा. जब भाभी नीचे सरकने लगी तो मैंने अपने दाहिने हाथ को भाभी को सहारा देने के बहाने उनकी जांघों में डाल कर उनकी चूत को दबा दिया. उनका वो धक्का बहुत ज्यादा तेज था।राहुल ने धीरे से अपने लंड को बाहर निकाला और फिर जोरदार धक्के के साथ अपना लंड मेरी चूत में पेल दिया.

सेक्सी बीएफ जंगलों की

कुछ ही देर में वो दुबारा झड़ गईं और मैंने खड़े होकर अपना लंड उनके मुँह में दुबारा दे दिया और उन्होंने भी अपने अनुभव का फायदा उठाते हुए मेरे लंड को चूस चूस कर पूरा खड़ा किया और उसे थूक से सराबोर करके तैयार कर दिया.

शायद भाभी को यह भी पता लग गया था कि मैं भी उनको चुपचाप देखता रहता हूं इसलिए वो भी मुझे अपना बदन दिखाने के लिए आराम से नंगी खड़ी होकर बॉडी लोशन लगाती और धीरे-धीरे कपड़े पहन लेती थी. वो पैंटी के ऊपर से चुत में लंड के धक्के मारने लगा और अपने हाथ से मेरे छोटे-छोटे मम्मों को पकड़कर जोर से दबाने लगा. अब ग्रेजुएशन करने के लिए मैं अपने मामा के घर चला आया था क्योंकि मेरे शहर में इंटर करने के बाद आगे पढ़ने का कोई अच्छी सुविधा नहीं थी.

मामी ने पूछा- माफी किसलिए माँग रहे हो?मैंने बताया- जब लाइट बन्द थी तो मैंने सोचा कि जल्दी से कपड़े बदल लूँ और मैंने दरवाज़ा बंद नहीं किया और अचानक से लाइट आ गयी. तभी आशीष बोला- तुम तो पसीना पसीना हो रही हो क्या हुआ?मैं बोली- कुछ नहीं … बस ऐसे ही फ्रैश होने बाहर गई थी, इसीलिए पसीना आ रहा होगा. हिंदी फिल्म सेक्स करते हुएमैंने सफाई देते हुए कहा- भाभी! वो अकेली हैं, मैं भी अकेला हूँ, बस यूँ ही मिल लेते हैं, और कुछ नहीं है.

‘बिल्लो, मज़ा आ गया, इसका लंड जितना स्वाद है, उससे ज्यादा इसके लंड का पानी है. मैं अपने घर में बाथरूम के अन्दर गया और अपना लौड़ा हिलाया, पानी निकाल कर उसे बैठाया.

मैंने आंटी की चूत पर अपना हाथ रखा, तो मेरी पूरी हथेली उसकी चूत के ऊपर से ढक गई. मुझे गाड़ी चलाने का बहुत अधिक तजुर्बा तो नहीं था, लेकिन मैं कोई सी भी गाड़ी चला सकता था. अब तक आपने पढ़ा था कि पुनीत अपने दो नीग्रो साथियों के साथ मुझे चोदे जा रहा था.

उसने अपनी ज़ुबान से मेरे होंठों पे और आस पास लगाई और मेरे मुँह में लगी अपनी मनी को चाटना शुरू कर दिया. उसके बाद मैं मकान के पीछे की तरफ गया और मैंने देखा वहाँ पर पीछे की तरफ एक खिड़की बनी हुई थी. पहले तो वह मना कर रही थी, फिर मान गई।मैंने उसकी पैंटी निकाली और उसे देखता ही रह गया.

मैं तो जन्नत के मजे ले रहा था। फिर मैंने उसका सिर पकड़कर लंड को उसके मुँह में आगे पीछे करना शुरू कर दिया.

मैं उसके पीछे खड़ा हुआ और उसकी दोनों चुचियों को मसलते हुए उसे नहलाने लगा. उन्होंने भी कई बार ऐसे घूरते हुए मेरे को नोटिस कर लिया था, लेकिन मैंने इस बात की कभी कोई परवाह नहीं की थी.

अब मैं यहां पर यह सोचने में लगा हुआ था इसको आगे क्या बताऊं। एक तरफ तो मन कर रहा था कि बोल दूँ मगर साथ ही हिम्मत भी नहीं जुटा पा रहा था. ऊऊफफ्फ़ आअहह … क्या बोलूँ … सीधे उसके टाइट फिट नितंब पर जाकर मेरे हाथ टिक गए और मैं उसके नरम चूतड़ों को मसाज करने लगा. उसने मुझसे बोला- जा जाकर बेडरूम से कोई क्रीम ले आओ … पहली बार है, तेरी बीवी को दर्द नहीं होगा.

थोड़ी देर बाद वो वापस मुझे किस करने लगी और मेरे लंड के साथ खेलने लगी. अपने एक हाथ के अंगूठे को उसकी गांड के छेद में डाल के प्रमिला की गांड बजाने लगा. थोड़ी देर बाद सारा उलटी घूम गयी और ज़रीना को किस करने लगी और उसकी चुचि सहलाने लगी.

देहात वाला बीएफ वीडियो भाभी बोली- कोई बात नहीं, मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, बस तुम अपना लंड मेरी चूत में डाल दो. चलो कोई बात नहीं मेरे गोलू मोलू अभी लिख कर भेजती हूँ, तुम भी अब एक काम करो अपने लंड पर मेरा नाम लिखो और फोटो भेजो.

बीएफ फिल्म दिखाएं चुदाई

अब मेरे जिस्म में चार चार लंड एक साथ चल रहे थे और मैं बिल्कुल नशे में चूर पागल सी हो रही थी. कुछ देर रुकने के बाद, फिर उसने एक जोर का धक्का लगाया और इस बार उसका पूरा का पूरा लंड मेरी चुत में चला गया. उसने गांड उठाते हुए मुझसे कहा- राजा, अब मेरी चुदाई करो … मुझे रहा नहीं जाता.

मुझे भी मेरे रूम में छोड़ दिया गया … अब मैं सिर्फ और सिर्फ हितेश का इंतजार कर रही थी कि कब वो आए और हम दो जिस्म एक जान हो जाएं. मैंने उससे बोला- मुझे कोई प्रॉब्लम नहीं है, बस तू अपने घर पर पूछ ले. भाभी के साथ सेक्सी व्हिडिओउसकी पतली कमर भी ग़ज़ब दिख रही थी और उसके बूब्स ज़मीन की तरफ लटक रहे थे.

जबकि नीना शादी से पहले ही सौ फीसदी खेली-खाई बिंदास चुदैल लड़की रही, इस बात की जानकारी मुझे बाद में हुई.

इसलिए बस जानकारी के लिए बता दिया कि मेरे शौहर अब इस दुनिया में नहीं हैं. हमारे बदन एक दूसरे से ऐसे सटे हुए थे, जैसे दोनों एक दूसरे में समां जाने वाले हों.

गीता जोर जोर से खुद आगे पीछे होने लगी और चिल्लाने लगी- आह आह हा हा हा इस्स्स्स माँ बचा ले … मुझे इन चोदुओं से. आंटी चिल्ला उठी- मर गई सौरभ!लंड का मुंह चूत में घुसते ही आंटी ने गांड हिलाकर लंड को बाहर निकाला और कहने लगी कि बहुत दिनों से इसने लंड नहीं लिया है और तेरा लंड है भी बहुत बड़ा. उधर द्वारपूजा चल ही रही थी, तभी मेरे पीछे कूल्हों में कुछ चुभता हुआ एहसास हुआ.

मैंने कहा- जो मन चाहे खा लो, मैंने रोका है क्या?उसने बिना कुछ बोले मुझे बेड पे धक्का दे दिया और तुरंत झुक कर मेरे लंड को मुँह में लेकर कर पागलों की तरह चूसने लगी.

मामा और पापा कुछ देर में बाहर चले गए और मैं ऊपर छत पर ही था और तभी मामी ऊपर आ गई. उसने अपने लंड को मेरे होंठों की तरफ किया तो मैं भी लंड चूसने का इशारा समझ कर खुद से लंड चूसने को आतुर हो उठी थी. इंदु बोलने लगी- जल्दी जल्दी कर लीजिये, अब कोई आ गया तो दिक्कत हो जाएगी.

एचडी ब्लू हिंदी मेंमेरे पति रोजाना जल्दी जॉब पे चले जाते थे और उसके दोस्त मयूर देर से उठता था. उसके करीब 10 मिनट बाद मुझे वही गाड़ी फिर से आती दिखी, लेकिन इस बार गाड़ी सोसाइटी के बाहर नहीं, अन्दर की तरफ जाने वाली थी.

हिंदी सेक्स बीएफ जबरदस्ती

लेकिन वो दोनों रुकने का नाम नहीं ले रही थीं और एक के बाद एक कर के चार बियर मेरे ऊपर डाल डाल कर पी गईं. कुछ पल के दर्द के बाद मैंने उसकी टांगें फैला कर गांड के रास्ते को चौड़ा करते हुए चोदना चालू किया. क्या? ये इतना मोटा और सख्त लंड इस छोटी सी चूत में जा सकता है? और क्यों कोई चूत में लंड डालता है?” मीशा के भोलेपन पर मैं मर मिट चुका था.

मैं चाह रही थी कि संभोग का एक दौर और चले, पर थोड़ा लंबा चले ताकि मैं भी चरम सुख का आनन्द ले सकूं. अबकी बार गांड पर लंड लगाने के बाद मैं उसके ऊपर लेट गया और लंड को थोड़ा थोड़ा आगे पीछे करने लगा. मैंने उनको समझाया, तो कुछ देर बाद मान गईं और बोलीं- कल उसको बिलासपुर आने को बोलूंगी, अगर आ गई तो ठीक है.

अब वो ऋतु की गांड में लंड डालने लगा और उसने मुझसे बोला- चल आ आकाश … अपने हाथों से अपनी वाइफ के दोनों चूतड़ों को अलग कर, जिससे इसकी गांड का छेद और खुल जाएगा … फिर तू इसकी गांड के छेद में भर कर क्रीम लगा देना. वो भी कुतिया की तरह अपनी गांड उठा उठा कर मेरे लंड का मज़ा ले रही थीं. मैं शैम्पेन भी लाया था, हमने शैम्पेन पीते हुए डिनर किया और फिर बेड पे आ गए.

मैंने पूछा- अब नहीं है मतलब? तो पहले था क्या!उसने कहा- हाँ, कॉलेज में तो था. हवस जब नई-नई जागना शुरू होती है इस तरह की घबराहट अक्सर महसूस होती है जैसी मुझे उस वक्त हो रही थी.

एक दिन शाम को जब मैं ऑफिस से निकल रहा था तो तभी सुषी का कॉल आ गया और वह फोन पर मुझसे मेरा हाल पूछने लगी.

इसलिए जहाँ भी मुझे मौका मिलता है मैं अपनी चूत की प्यास को लंड लेकर शांत करवा लेती हूँ. भारत वाली सेक्सीदोनों को ही एक दूसरे की चाहत बड़े लंबे समय से थी जो अब जाकर पूरी हुई. एक्स एक्स एक्स सेक्सी एचडी हिंदी वीडियोमैं बोला- तुम भाभी?भाभी हेलमेट लगाए हुए थीं- अरे हां भाभी हूँ … बैठो लेने आई हूँ. मैं भी झड़ कर संतुष्टि का अनुभव करते हुए सुस्ताने का प्रयास करने लगी.

मैंने पूछा- क्या हुआ?वो बोली- कुछ नहीं मेरी चूत ने भी पानी छोड़ दिया … मज़ा आ गया मुआआह … मस्त एकदम.

क्या कल कुछ देर में अमन के घर चली जाऊं?प्रीतम ने मेरी फुद्दी में अपना छोटा सा लंड डालते हुए कहा- क्यों नहीं, तुम कभी भी जा सकती हो. मैं- अरे यार ट्रेनिंग पे थक जाता हूँ, अब उठ गया हूँ तो खाना खाने बाहर जाऊंगा. उसने पहली बार जिंदगी में किसी मर्द का लंड देखा था तो आश्चर्य होना लाज़मी था.

एक दिन…‘कामिनी तुझे याद है, उस दिन मैंने प्रोमोशन का ज़िक्र किया था. हां रंडी चोद कर प्यास बुझाई जा सकती है, लेकिन बीमारी के डर से मैं रंडियों के चक्कर में नहीं पड़ा था. आंटी बोली- विकास आज तूने मुझे खुश कर दिया।बहुत दिनों के बाद उनकी चूत की खुजली शांत हुई थी तो आंटी भी काफी खुश लग रही थी.

बीएफ गरबा

सुबह करीब 11 बजे उन्होंने कॉल किया और बोलीं- तुमसे मिलना है, कुछ बात करनी है, मैं बैंक आ रही हूँ. कल्पना- बस 5 मिनट वहीं रुको, अभी थोड़ी देर में तुम्हारे पास एक ब्लैक कलर की होंडा सेडान आकर रुकेगी, उसमें बैठ जाना. लिंग के घुसते ही सरदार जी बोल पड़े- अब सही लगा है, ज्यादा देर नहीं सारिका जी, थोड़ी देर में ही फंस जाएंगे ये दोनों.

फिर मैंने उनसे अपना लंड चुसवा कर साफ़ करवाया और उनकी चूत चाट कर साफ़ की.

मैं- हाँ, बोलिये?कल्पना- मुझे आपके बारे में एक विज्ञापन से पता चला है.

इधर मेरा कॉन्ट्रैक्ट ख़त्म हो गया था लेकिन मुझे छुट्टी नहीं मिल रही थी क्योंकि मेरे रिलीवर की फ्लाइट मिस हो गई थी. उसकी चूत जो कि कामरस से भीगी हुई थी, जिसकी खुशबू मेरी नाक में आ रही थी। उस खुशबू ने मुझे बहुत ही उतेजित कर दिया और मैं जोर से चाटने लगा और वह भी उत्तेजित हो गयी और अपनी चूत में मेरा सिर छुपा लिया और अपना हाथ मेरे सिर पर रख दिया. बीएफ नंगी व्हिडिओजब बच्चे स्कूल से आ गए, तो उनको खाना खिलाया और उसके बाद वो लोग टीवी देखने लगे.

उसने जल्दी से मेरा शर्ट निकाल कर फेंक दिया, तो मैंने भी उसके सारे चेहरे पर किस करना चालू कर दिया. इतने में उसने मुझे पीछे हाथ करके रुकने के लिए बोला, मुझे समझ नहीं आया, पर मैं रुक गया. वैसे तो मेरी कई गर्लफ्रेंड भी रह चुकी हैं लेकिन मैंने काफी दिनों से सेक्स नहीं किया था इसलिए मैं जल्दी ही झड़ भी गया था.

वो मुझसे बोलीं- माया हमारे मंडल की मीटिंग है, मैं 2 बजे से पहले आ जाऊंगी, तुम खाना बना लेना और जिगर का ख्याल रखना. और पीछे से तो कुंवारी थी, उसकी गांड का तो उद्घाटन भी मैंने ही किया.

कुछ ही पलों में वो तो मानो जैसे एकदम से उछलने लगी और अपनी टांगों से मेरे सिर को जोर से पकड़ लिया.

मेरे घर में भी कई बार ऐसी ही चुगलियाँ चलती रहती हैं इसलिए मुझे यह सब पता है. मैं कामुक सिसकारियां लेने लगी- आह्ह्ह … ओह्ह्ह … उम्म्म … आह्हहा … ओह्ह …मेरी चुदाई करने के बाद वह बोला- जान… लंड का वीर्य कहां छोड़ूँ?मैंने कहा- मेरी चूत में ही छोड़ दो. मैंने उसके बाद भाभी की पेंटी में हाथ डाल दिया और किसिंग को जारी रखा.

बीएफ भेजें हिंदी में मैंने उसके घर का पता पूछा, तो वो पता मेरे घर से ज्यादा दूर नहीं था. अगली कहानी में भाभी के साथ क्या क्या मजे किए, इस बात को आगे लिखूंगा.

थोड़ी देर बाद उसने जब उंगली चूत से बाहर निकाली तो उसकी उंगली बीवी की चूत के पानी से गीली हो चुकी थी. दोनों लंड सुजाता के गले तक जा रहे थे और सुजाता के मुँह से पानी निकल रहा था. उन्होंने मेरी चूत और गांड पोंछ पोंछ कर सब साफ कर दिए और मेरे कपड़े भी दिए.

बीएफ सेक्स वीडियो एक्स वीडियो

वाणी एक बार को थोड़ी ऊंची हुई, लेकिन उसे जल्द अन्दाज़ा हो गया कि अगर और ऊंची हुई, तो उसकी चुची के दर्शन सामने वाले को हो जाएंगे. मैं दोनों हाथ से भाभी के चुचे दबाये जा रहा था और मुँह से चूसे जा रहा था. मुझे तो लगा कि भाभी का यह बच्चा भी मनोहर का ही है क्योंकि जिस तरह भाभी मनोहर को प्यार कर रही थी उससे तो यही लग रहा था कि भाभी ने मनोहर से बहुत बार चुदवाया होगा.

वो इतनी अधिक मखमली माल है … अगर उसके गाल को चूम लिया जाए तो निशान रह जाए. यह लाइन बार-बार सुनने के बाद मुझे अंत में कहना ही पड़ा- तुम क्यों परेशान हो रही हो.

अब मेरा उसके प्रति देखने का नज़रिया बदल गया और मैं उसको ठरकी वासनात्मक निगाहों से देखने लगा.

उस दिन मैंने पहली बार महसूस किया शिखा मेरे साथ आज कुछ ज्यादा ही चिपक कर बैठी थी. मैं तो जन्नत के मजे ले रहा था। फिर मैंने उसका सिर पकड़कर लंड को उसके मुँह में आगे पीछे करना शुरू कर दिया. मैंने दरवाजा बंद कर दिया और एक तरफ ले जाकर आंटी के चूचों को ऊपर से ही दबा दिया.

मेरी उमर 23 साल की है और मेरे लंड का साइज़ भी मेरी उमर के हिसाब से ज़्यादा है. उसके बाद आंटी ने मेरा तना हुआ लंड लोअर से बाहर निकाला और अपने मुंह में भर लिया. पहले तो मुझे फिर लगा कि साला कोई लड़का न हो, कोई लड़की ऐसे कैसे नंबर मांग सकती है.

मैंने सोचा कि बॉस ने मेरी बीवी को ही क्यों इन्वाइट किया और किसी स्टाफ की लेडीज को क्यों नहीं कहा.

देहात वाला बीएफ वीडियो: मैंने भी कुत्ते की तरह उनकी चूत में लंड डाल कर जोर जोर से झटके मारना शुरू किए और उनकी गांड पर दोनों हाथों से बारी बारी तमाचे मारने शुरू कर दिए ताकि वो अपनी चूत टाइट करती रहें और अपनी गांड ऊपर उठाती रहें. उसके बाद लगभग पच्चीस मिनट तक ऐसे ही मिशिका की चूत की चुदाई चली और रिशु एकदम से मिशिका की चूत लंड को बाहर निकाल देता है.

मैंने कहा- जो मन चाहे खा लो, मैंने रोका है क्या?उसने बिना कुछ बोले मुझे बेड पे धक्का दे दिया और तुरंत झुक कर मेरे लंड को मुँह में लेकर कर पागलों की तरह चूसने लगी. इनके पूरे खानदान में मे ही एक मात्र जीजा हूँ, इसलिए सभी मेरी बहुत इज्जत करते हैं. दस मिनट की नींद के बाद वह जोर से आवाज देते हुए बोला- प्रिंस कहां हो यार?मैंने कहा- आ रहा हूं.

मैं- मतलब?सासू माँ- मतलब ये कि बेटा, मुझे सब पता है कि हितेश ने अभी तक तुझे छुआ तक नहीं है … और वो तुझसे दूर भागता है.

आपको मेरी यह कहानी पसंद आई तो आपके लिए मैं अपने साथ हुई और भी घटनाएँ साझा करना चाहूँगा. मेरे हाथ उनकी चूत को सहला रहे थे और ऊपर मैं उनके मम्मों को अब भी चूसे जा रहा था. चौबीस साल लगते ही अब्बू ने एक पुराने जानकार एक अच्छे परिवार में मेरा रिश्ता तय कर दिया.