सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ नीग्रो

तस्वीर का शीर्षक ,

डॉक्टर वाली सेक्सी बीएफ: सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ, उनका दर्द देख कर मुझे भी अच्छा नहीं लगा क्योंकि उनकी आँखों से पानी आने लगा था।मैंने अपना हाथ हटाया और उनकी आँखें से निकला पानी चाट लिया और सॉरी कहा। फिर बहुत प्यार से उनके होंठों को किस किया तो वो भी मुझे प्यार से देखने लगीं।आंटी ने कहा- आई लव यू.

बीएफ अंग्रेजी वाली

’उसकी चीखें निकलने लगीं- आह आह निकालो बाहर आह मैं मर गई आह सहन नहीं हो रहा. हिंदी एचडी बीएफ सेक्सी हिंदी’मैंने अपने कपड़े उतारे तो वो मेरी बॉडी को देख कर एकदम पागल हो गए। अब दिनेश मेरी बॉडी को किस करते हुए मेरे शरीर से खेलने लगे।मैंने उनकी पैंट के ऊपर से ही उनके लंड को मसल दिया।अगले कुछ पलों में हम दोनों पूरी तरह सेक्स में डूब गए थे। दिनेश सर ने भी अपने कपड़े उतार दिए और मुझे लंड चूसने बोला.

तब तक वह नहा कर कपड़े सुखाने बाहर आ गई थी, उसके गीले बालों से पानी उसके उरोजों पर टपकते हुए उसके शर्ट के अंदर से शायद उसकी चूत तक बह रहा था. इंडियन सेक्सी बीएफ एचडी मेंजोकि मेरे लिए ग्रीन सिग्नल था।मैंने उनको पलट कर उनके होंठों को चूसना शुरू किया और इसमें वो भी मेरा पूरा साथ दे रही थीं। इसी 10 मिनट की स्मूच में उन्होंने मेरा शॉर्ट भी उतार दिया और हमारे नंगे जिस्म एक-दूसरे से चिपक कर एक हो गए।चाची ने वहीं नीचे बैठ कर मेरे लंड को पहले जुबान से चाटा और फिर उसे चूसने लगीं.

आते हुए संजय ने कहा- सबा, एक बात पूछूँ?मैंने कहा- कहो?उसने कहा- फिर कब आओगी? मुझे तुम्हारी गांड मारनी है!मैंने कहा- मैं सबा नहीं हूँ, मैं तुम लोगों की पर्सनल रंडी हूँ, जब चाहो मुझे चोदो, मेरी गांड मारो… अब तुम लोग मेरे घर पर आकर मुझे जब दिल चाहे चोदना… यह रंडी हमेशा अपनी चूत और गांड तुम लोगों के लिए तैयार रखेगी.सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ: पर फिर मैंने खुद को समझाया और फीस के बारे में सोचा तो खुद ही उनकी तरह मुँह किया वो मेरी इस हरकत को देख कर खुश हो गये और मेरे लिप्स पर किस किया.

उसी वक्त मैंने देखा कि मेरी माँ की चूत से खून निकल कर चादर पर गिर रहा था। राहुल ने शायद खून देख लिया था सो अब वो थोड़ी देर तक आराम-आराम से झटके मारता रहा।माँ थोड़ी देर में नॉर्मल हुईं.चूंकि विला के चारों ओर पर्दा था तो बाहर से कुछ अंदर का दिखाई नहीं देता था.

फुल सेक्सी बीएफ देसी - सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ

उससे रहा नहीं गया और उन्होंने मेरा अंडरवियर नीचे खींच दिया, मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर कसकर पकड़ा और उसे चूसने लगी.तो इनकी बेटी कितनी सुंदर होगी।मैं आंटी के पास को गया, तभी अंकल ने आंटी से कहा- रमा चलो अब ज़रा घोड़ी बन जाओ.

मैं अपने घर 2-3 महीने में एक बार ही जा पाता हूँ तो मार्च के महीने में मुझे कुछ जरूरी काम से घर आना पड़ा, रात की ट्रेन थी प्रयागराज एक्सप्रेस… स्लीपर में सोते हुए आया तो मैं लगभग साढ़े चार बजे सुबह अपने घर पहुंचा, सबसे मिला, चाय पी, अब सोने का समय तो था नहीं, मेरा घर नहर के पास में ही है तो मैं घर से बाहर निकल गया टहलने… नहर पर जाकर सिगरेट जलाई अब छः बज चुके थे तो बाकी लोग भी टहल रहे थे. सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ किंग साइज़ बेड… बाथरूम में बड़ा सा बाथ टब… बाहर एक प्राइवेट स्वीमिंग पूल… फ्रिज में बार से लेकर व्हिस्की… दसियों तरह की कॉफ़ी और चाय के फ्लेवर… उनके स्वागत में उनके नाम का एक केक और फ्रूट ट्रे टेबल पर रखी थी.

लेकिन मैं हूँ न अभी आपके पास! अभी एक घंटा और है अपने पास जैसे चाहो चोद लो मुझे फिर मेरे भीतर ही झड़ जाना आप! मैं आपके वीर्य को भी महसूस करना चाहती हूँ अपने भीतर, अगर आपका बीज मुझमें अंकुरित हो गया तो मुझे और ख़ुशी होगी.

सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ?

मैंने कब मना किया है।मैंने कहा- आप अपनी आँखें बंद करो।वो कहने लगीं- क्यों करूँ. सर के साथ कभी-कभी उनकी वाइफ भी आ जाती थी पढ़ने… वो दिखने में बहुत सेक्सी थी. मैंने लाइफ में हमेशा लड़कियों की इज्जत की है, मैं नहीं चाहता मेरी वजह से उसकी पर्सनल लाइफ में प्रॉब्लम हो या उसकी प्रिवेसी लीक हो.

रानी का चूत रस भोगते भोगते मेरा बदन अचानक यूँ कौंधा जैसे कि बिजली का करंट लग गया हो. फिर एक दिन हमने मिलने का प्रोग्राम बनाया पर मैंने निकिता से बोला- यार, तुम कुछ और पहन के आना साड़ी के अलावा!तो उसने बताया कि उसे घर पर ऐसे कपड़े अलाओ नहीं हैं, लेकिन उसका भी बहुत मन है पहनने का!तो मैंने उसे कहा- तुम घर से साड़ी या कुछ भी पहन कर मेरे पास आ जाना और यहाँ आकर मेघा की ड्रेस पहन कर देख लेना!तो वो मान गई. तभी दूसरा नीचे लेट गया, मैं उसके लंड की सवारी करने लगी लेकिन चार पाँच झटकों के बाद वो रुक गया और मुझे अपने ऊपर झुका कर मेरे होंठ को चूसने लगा.

12 बजे जब सर की वाइफ इंस्टिट्यूट से बाहर निकली तो वो इधर-उधर देख रही थी. ये हुई ना बात, मेरी बहू तो कुछ दिन बाद चली जाएगी मगर तूने तो मुझे यही खजाना बता दिया। अब तो हर रात मेरे मज़े हो गए।राजू- तो आज मेरी चुदाई पक्की ना काका!काका ने उसको हाँ कहते हुए समझा दिया कि कब और कैसे उसको क्या करना है। फिर काका वापस घर चला गया और मोना को ढूँढने लगा।मोना कमरे में बैठी दाल चुन रही थी और उसके पास कोई नहीं था। काका ने मौका देखा और अन्दर चला गया।मोना- आप यहाँ क्यों आ गए. बारहवीं कक्षा तक आते आते वो हाहाकारी हुस्न की मलिका में तबदील हो चुकी थी जिसके मदमस्त यौवन के किस्से गली चौराहों में चलने लगे थे.

कुछ देर के बाद वो थक कर पीठ के बल लेट गया और मुझे ऊपर बुला लिया, उसको शक ना हो इसलिए मैं उस पर सवारी करने लगी, मुझे दर्द हो रहा था फिर भी जोर से ऊपर नीचे हो रही थी, मेरी स्पीड के वजह से उसने अपना वीर्य मेरे अंदर, कंडोम में उड़ेल दिया. काफी देर तक एक दूसरे का चुम्बन लेने के बाद जब हम अलग हुए तब मुझे माला की आँखों में यौन क्रिया की लालसा दिखाई दी.

आपको मेरी मामी की चुत की चुदाई की सेक्सी कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करें![emailprotected].

फिर हमने सोचा ‘अब कुछ नहीं हो सकता…’ तो हम अपनी बाइक पे वापस घर की तरफ चल दिये!हम जिस रास्ते आये थे, उसी से वापस जा रहे थे कि अचानक हमें लगा कि हमने गलत रास्ता ले लिया है.

कमरे में हल्की सी रोशनी, पर्फ्यूम की खुश्बू और बेड पे रज़ाई पड़ी हुई थी. देखते ही मैंने अपना मुँह उसकी मरमरी गुलाबी चुत पर लगा दिया।अपनी चुत पर मेरे होंठों का अहसास पाते ही वो तो मानो पागल हो गई और अपनी चिकनी चुत पे मेरा सिर दबाने लगी ‘आह उफ़ आह आह आह विक्की खा जाओ इसे. सब एक साथ मेरे ऊपर टूट पड़े, एक मेरी चूत को चाट रहा था, दूसरा मेरी गांड को चाट रहा था, तीसरा मेरे बूब्स को चूस रहा था, चौथा अपना लंड मेरे हाथ में पकड़ाए था.

मैंने एक ज़ोरदार धक्का लगाया जिससे लंड का उपर का हिस्सा ही गांड में घुस पाया. चूमते चूमते गर्दन और फिर बूब्स तक आए, ब्रा निकाल दी और अम्मी के थनों को नंगा करके दोनों बूब्स को पागलों की तरह चूसने लगे और उनका दूध पीने लगे. मैंने कहा- भाभी, आपके जैसी असंतुष्ट महिलाओं के लिये भगवान ने मुझे भेजा है!और वो ख़ुश होकर मुझसे लिपट गई, फिर वो बोली- चलो बेड पे!मैं उनके पीछे चल दिया, वहाँ पहुँचते ही मैंने अपने सारे कपड़े निकाल दिये.

पर अभी हमारा दर्द बन्द नहीं हुआ था और दोनों फिर से दर्द से कराहने लगीं, और दोनों के फिर से आँसू निकलने लगे थे, हम दोनों रोती हुई हमारी गांड को चुदवा रही थीं और चीख भी रही थीं- आअह्ह्ह आःह्ह्ह आह्ह्ह्ह्ह् आआह्ह्ह्ह आअह्ह्ह्ह्ह आःह्ह्ह आह्ह्ह अहह ऊओह्ह्ह ऊओह्ह्ह उम्मन आह्ह्ह आअह्ह्ह आअह्ह्ह प्लीज धीरे चोदो बहुत दर्द हो रहा है, आह्ह्ह अहह आअह्ह.

तो मेरी बहन बोली- भाई, ये वाली नहीं क्सक्सक्स मूवी!मैं बोला- इतनी पसंद आई क्या?हम बातें करने लगे, मैंने उसको पूछा- तेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है क्या?वो ना बोली. स्नेहा जैन ने आज मुझे अपनी सेक्सी चुत चटवा कर उसका सारा रस निकाल कर अपने मुंहासों का इलाज़ करवाने बुलाया है. तो वो मुझे गुस्से से देखने लगीं और बोलीं- देवर जी आपको अभी शादी कर लेनी चाहिए।मैं सिटपिटा कर वहाँ से चला गया। फिर चैट पर मैंने भाभी से सॉरी बोल दिया।अचानक उनका जवाब आया- कैसा लगा?मैं सोचने लगा शायद भाभी को मेरा सहलाना पसंद आया। तो मेरी हिम्मत बढ़ गई.

और अब मेरा हाथ पिंकी की छोटी सी नंगी योनि पर था जो‌ हल्की सी गीली हो रही थी।पिंकी की योनि बिल्कुल छोटी सी ही तो थी जो मुश्किल से मेरी दो उंगलियों के ही बराबर की होगी इसलिये मैंने उसे‌ अपनी उंगलियों से ही दबा लिया। पिंकी ने दोनों हाथों से मेरे हाथ को पकड़ लिया था और अपने लोवर से बाहर निकालने की‌ कोशिश करते हुए वो अब भी‌ यही दोहरा रही थी- अअओ. ‘आआहह आहह उउउ इइईई ममम उम्म्ह… अहह… हय… याह… मर गई किशोर अअअह हह ओओहह हहह’मैंने अपना लंड पूरा निकला और एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर कर दिया।‘आआआहहह… बसस ससस… धधीरररे किशोर धीरे से…’थोड़ी देर वैसे हो अंजलि को और 2 मिनट तक ऐसे ही चोदता रहा. जो रेखा ने सुनाया:पढ़ने वालों को याद होगा कि मोना ने होली वाले दिन अपने पति को पटा लिया था कि वो मोना को किसी ग़ैर मर्द से चुदाई करते हुए देखे.

मजा आ रहा है देवर जी।’मैंने भी आगे झुककर लबों से लब लगाकर बड़ी मजेदार चुदाई शुरू कर दी। भाभी की कामुक सिसकारियां मेरे मुँह से दबकर ‘उह उह.

मीना- वो तुझे क्यों बताएगा भला?मोना- चुत के बदले में तो बता ही देगा ना. इस कारण वो बेफिकर हो कर साड़ी खोल रही थीं।सबसे पहले उन्होंने अपना पल्लू नीचे किया.

सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ यह कहानी है पड़ोस की भाभी के साथ सेक्स करके उन्हें प्रेग्नेंट करने की…आप सभी को मेरा नमस्कार। वैसे तो मैं अन्तर्वासना साइट का बहुत पुराना पाठक हूँ और लगभग सभी कहानियां पढ़ चुका हूँ। आज मैंने भी अपनी चुदाई की कहानी लिखने की कोशिश की है।मैं नीतीश भिलाई छतीसगढ़ का रहने वाला हूँ. अब मेरा दर्द आनन्द में बदल गया था और अपने आप ही मेरे मुँह से मादक आह आह आह की आवाज़ निकलनी शुरू हो गई थी.

सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ मैडम मुझसे बोली- क्यों क्या हुआ बच्चू? दर्द हो रहा है?मैं बोला- क्या आज इसे तोड़ ही दोगी क्या?मैडम हँसने लगी. लड़की दोनों हाथों से अपने मम्मे छुपाने की चेष्टा करती है लेकिन वो उसे रोक नहीं पाती और वो आदमी उसकी चूचियाँ चूसने लगता है.

पति ने मेरी चुत चार दोस्तों से चुदवा दी-1आपने अब तक की मेरी पोर्न स्टोरी इन हिंदी में पढ़ा था कि मेरे पति अपने चार जवान दोस्तों को लेकर घर आ गए। सभी के साथ दारू पीने का प्रोग्राम शुरू होने लगा था।अब आगे.

नंगा पिक्चर हिंदी में

’अब भाभी ने मुझे एक कंडोम दिया और फिर मैं कंडोम लंड पर चढ़ा कर भाभी के ऊपर आ गया। भाभी ने मेरे लंड को अपनी चुत पर सैट किया और फिर मैंने धक्का लगा दिया।भाभी की हल्की सी आह्ह. उनके भरे हुए चूतड़ों के कारण उठी हुए गांड और मदमस्त भरी हुई चूचियाँ… गहरी नाभि, नंगा पेट देख कर मेरा लंड खड़ा हो जाता था. मैं बोला- अगर तुम दोनों वेश्याओं की बातचीत ख़त्म हो गई हो तो मैं कुछ कहूं? रात का क्या प्लान है? सुल्लू रानी तो सोयेगी रितेश के साथ.

जब मैं उसके यहाँ कुछ दिनों के लिए गई थी। क्योंकि मम्मी को कोलकाता जाना था. मैंने नीचे नजरें करके बैठ गया, हिम्मत नहीं हुई कि उनकी तरफ देखूं!तब वो बोली- क्या अभी तो कह रहा था मुझसे क्या शर्माना… और खुद ही नीचे नजरें करके बैठा है… देख ले मुझे… उन किताबों की लड़कियों से अच्छी नहीं हूँ क्या?मैंने आंटी की तरफ देखा. ’मैंने अपना स्वेटर उतार दिया। अन्दर मैंने एक टॉप पहना हुआ था और ठंड के मारे मेरे निप्पल कड़े हो गए थे.

उसने मेरी पैंट का हुक खोलकर उसे नीचे कर दिया और मैं अब सिर्फ अंडरवियर में था.

दोनों को नंगी हालत में सामने देखकर शर्माने का नाटक करती हुई, आँखें नीचे किये मैं राजे के पास जाकर बैठ गई. हम सब रहते हैं।पहले मैं खुद के बारे में बता देती हूँ। मैं एक बहुत ही गर्म और चुदासी औरत हूँ. तभी उसका पानी गिर गया।फिर भी मैंने उसे नहीं जाने दिया। मैंने उसको नीचे लिटाया और मैं उसके लंड पर बैठ गई। मेरे हिलते हुए स्तन को वो चाटने लगा.

उसके रेडी होने के बाद मैंने उसको गोद में उठाया, कमरे के अन्दर ले गया और बेड पर लेटा दिया. हम दोनों ही अपना एक एक राउंड पूरा कर चुके थे पर…आगे बढ़ने से पहले एक बार फिर मैंने अंजलि से पूछा- अंजलि, क्या तुम और आगे जाना चाहती हो?अंजलि ने मेरे तरफ देखा और हल्के से सर हिलाया- यस!मैं- सोच लो एक बार… कहीं तुम्हारे मन में कोई गिल्ट न आये?अंजलि- किशोर, मैं सच में आपके साथ करना चाहती हूँ. उसके रेडी होने के बाद मैंने उसको गोद में उठाया, कमरे के अन्दर ले गया और बेड पर लेटा दिया.

हम इस हिंदी सेक्सी स्टोरी की ओर अपना पहला कदम ले चलते हैं।सुबह के 6 बजे मुंबई के एक साधारण से परिवार में हलचल थी।‘हेमा ओ हेमा. उसके पहले मैंने उसके नर्म गुलाबी होंठों को मेरे होंठों से मिला लिया.

मैंने उसकी जांघें सहलाना शुरू किया, मैंने उसकी निकर और पेंटी भी उतार दी. विनोद मुझे बहुत प्यार करते हैं, मैंने भी अपने पति से बहुत प्यार करती हूँ. हम जैसे ही थोड़ा करीब पहुंचे तो अंशुल ने बताया- ये ही सचिन सर हैं!और फिर मुझे इंट्रोड्यूस करवाया.

तो मुझे बोल देती मैं तेरी मदद करने मॉंटी को भेज देती।सुमन- क्या दीदी आप भी ना सुबह सुबह ये सब लेकर बैठ गईं। मैं तो वैसे ही पापा की वजह से परेशान हूँ।टीना- क्यों क्या हुआ? तेरे पापा ने कुछ कहा क्या तुझे?सुमन ने रात की बात बताई और अपने पापा के विचार भी बताए जिसे सुनकर टीना सोचने लग गई, फिर उसे एक ख्याल आया।टीना- यार तू बुरा मत मानना.

5 इंच से कम नहीं होगा। संजना ने बहुत मोटा और लंबा लंड को महसूस किया जो कि पूरा लोहे की तरह सख्त हो गया था। ऐसा लग ही नहीं रहा था कि ये वही लंड है जो कुछ देर पहले खड़ा ही नहीं हो रहा था।अब तक संजना की चूत में फिर से पूरी तरह से पानी भर गया था और वो चुदने के लिए व्याकुल थी।संजू बोली- ऐ बाबा. दोनों कुछ दूरी तक ऐसे ही नंगे होके गये एक दूसरे को चूमते और दबाते हुए… यश पीछे से मम्मी की गांड खूब दबा रहा था. अब मेरे धक्कों की गति बढ़ती जा रही थी और सुहाना बीच-बीच में उंह-उंह की आवाज निकाले जा रही थी। फिर उसने अपने पैरों की कैंची बनाकर मेरी कमर में फंसा ली, मैं अभी तक जो खुलकर धक्के मार रहा था, अब उसमें कमी आ गई थी, फिर भी मैंने धक्के लगाना चालू रखा.

उसकी चुसाई इतनी जबरदस्त थी कि रयान को लगा उसका माल अभी छूट जाएगा तो उसने अपने को अलग किया और टॉवल लपेट कर बेड पर आ गया. क्यों न करे, जिसका आदमी रोज़ दो तीन बार चोदे, दबा के चूत चूसे, गांड चाटे और इसके साथ साथ जूसी रानी जूसी रानी करता हुआ उसका कुत्ता बन के उसके आगे पीछे दुम हिलाता घूमता फ़िरे, ऐसी लड़की को सती सावित्री बनी रहने में क्या प्रॉब्लम है.

ये सोने का ड्रामा करेगी।मैंने बेख़ौफ़ उसकी नाइटी उतार दी और उसकी पैंटी भी खींच दी। उसकी पैंटी उतरते के साथ ही ऐसी खुश्बू आई जैसे वो चुत सिर्फ़ मेरे लंड के लिए ही बनी हो। मैंने अपना लंड उसके मुँह में देने की कोशिश की. सुमन ही मुख्य किरदार है मगर ये सब छोटी-छोटी कहानियां आपस में जुड़ती चली जाएंगी. उसने भी कहा- क्यों जनाब, एक इंच ही गांड में घुसा तो चीख पड़े… और जब तुम मर्दों के नीचे लेट कर हम औरतें अपनी गांड में सात-आठ-नौ इंच का मोटा मूसल डलवाती हैं और तुम्हारे मजे के लिए दर्द सहती हैं तब तो तुम लोगों को हमारे रोने और चीखने पर आनन्द आता है.

सौतेली मां के बीएफ

तो मैंने उसे सब ठीक तरह से समझा दिया और फिर हमने सब सामान ठीक किया, कपड़े पहने और किस करके वहां से निकल आए।लेकिन मैंने देखा कि जानवी ठीक से चल नहीं पा रही थी। मैंने पूछा- क्या दर्द अभी भी हो रहा है?तो वो बोली- हां दर्द तो हो रहा है लेकिन उस वक्त मजा भी बहुत आ रहा था।तब तक 5 बज चुके थे.

उन्होंने ऊपर देख के मुझे कहा- क्यों मेरी साली जी, कैसा लग रहा है? मजा तो आ रहा है ना?मैंने टूटी हुई आवाज में कहा- आप के होते ही तो मैं जान पाई हूँ कि यौन सुख क्या होता हैं. फिर मैंने उसे डॉगी स्टाइल में झुकाया और इस पोज़िशन में काफ़ी देर तक चोदता रहा, वो इस बीच 2 बार झड़ चुकी थी. कपड़ों से आजाद होते ही रोहन का लण्ड फनफनाने लगा।पूल में झड़ने की वजह से रोहन की चड्डी और उसका लण्ड दोनों ही उसके वीर्य से लथपथ थे.

अब मैं हमेशा तुम्हारी रहूँगी।उसने मुझे होंठों पर लंबा सा किस दिया और उठ कर बाथरूम में चली गई।तो साथियों कैसी लगी मेरी आंटी की चुदाई की सेक्स स्टोरी. और मुझसे बातें करने लगीं। बात ही बात में उन्होंने मुझसे पूछ लिया कि मेरी लाइफ कैसी चल रही है. सी बीएफ जानवरतो उसने झट से टॉप निकाल दिया और चुची मेरे मुंह में दे दी, मैंने दोनों चुची बारी बारी चूसी, बहुत मजा आया, सुजाता की दोनों चुची दूध से भरी हुई थी, खाली कर दी मैंने!मेरी बीवी की सहेली बहुत गर्म हो चुकी थी लेकिन टाईम नहीं था, मैंने उसको बोला- तुम चाय बनाओ, मैं तब तक नहा लेता हूँ.

मैं कुछ देर तक यूं ही वहाँ पर पड़ा रहा, फिर धीरे-धीरे होश संभाला, मैंने गर्दन उठाई तो रात हो चुकी थी, आस-पास सन्नाटा ही सन्नाटा था जिसमें घास-फूस में छिपे छोटे-मोटे जीवों की आवाज़ें आ रही थीं. ‘जरूर आना बहू रानी, मैं हमेशा इंतज़ार करूंगा तुम्हारा!’ मैंने भी गंभीरता से कहा.

रुक बताती हूँ तुझे क्या करना है?टीना ने रूम बंद किया और अपनी अलमारी से एक 7″ का डिल्डो (नकली लंड) निकाला और सुमन के सामने कर दिया।सुमन की तो आँखें फटी की फटी रह गईं. एक पड़ोसी ही दूसरे पड़ोसी के काम आता है।भाभी नहीं मानी और नमक वापिस करके चली गईं।इसके बाद एक रात भाभी जब भाभी नाइटी पहन रही थीं तो तब भाभी ने मुझे ये सब देखते हुआ देख लिया। मेरे तो होश उड़ गए, मैं सोचने लगा कि कहीं भाभी मम्मी से मेरी शिकायत ना कर दें। मैं अपने रूम में जा कर सो गया. रात को करीब दस बजे आंटी ख़ुशी के कमरे से बाहर निकल कर उसका कमरा बाहर से बन्द करके मेरे यानि मयंक के कमरे में आ गई, मेरी आँख लग गई थी.

वो 16 सितंबर 2012 का दिन था, मैंने उसके घर आने की इच्छा जताई तो उसने कहा कि तुम्हारे बस की नहीं है. मेरी पत्नी का चेहरा उस बिल्ली की याद दिलाने लगा, जिसको कड़ी मशक्कत के बाद मलाई की हांड़ी हाथ लगी हो. जिसके बारे में बताने जा रहा हूँ।उसका ऑफिस वहीं पास में पाटनकर बाजार में ही था। उन्होंने ऑफिस खोला.

अब साराह के ऊपर अजय था और रूबी के ऊपर विवेक… दोनों की टांगें ऊपर उठी हुई थी और घोड़े की स्पीड से लंड चूत चुदाई कर रहे थे.

चूसने में बड़ा मजा आ रहा था। मैंने अपनी जीभ को कमला के मुँह में अन्दर तक डाल-डाल कर उसकी जीभ चूसी और उसके मुँह को करीब दस मिनट तक चूसता रहा।हम दोनों ने एक-दूसरे के होंठों को भी खूब चूमा. मैंने तुझे कसम दी है और वैसे भी उस बाबा ने (इमेजिन वाला रोल प्ले वाला बूढ़े को बाबा से संबोधित किया जा रहा था) तुझे इतना मजा दिया है तो क्या तुम्हारा फर्ज नहीं है कि तुम भी इस बेचारे बूढ़े पर भी दया करो।संजना भी कैरेक्टर में घुस कर बोली- ठीक है बेचारे बूढ़े बाबा ने बहुत मेहनत की है, उन्हें इसका फल मिलेगा।संजना इसी हालत में उठी और पलंग पर बैठ कर बोली- ऐ बाबा.

टीना- पागल है तू क्यों बार-बार मना कर रही है, ऐसा मौका दोबारा नहीं मिलेगा. नहीं तो कहोगे कि बातों में लगाकर मैंने ही आपको जाने के लिए लेट कर दिया।गुलशन- अरे चाय तो ठीक है. वो फ़ौरन घुटनों के बल बैठ कर लंड को चूसने लगी।फ्लॉरा के लंड चूसने का अंदाज अलग ही था जो संजय को दूसरी दुनिया में ले गया।संजय- आह.

वो आहें भरती रही- ओहोहो ह्होहो ऊऊऊ ह्ह्ह… ऐऐऐ… और कर… और कर… अशोक और जोर से… अहहः मुझे चोद अशोक और जोर से चोद… बस चोदता रह, मेरा मन खुश कर दे. ये चारों भी शॉर्ट्स में ही थे… अजय ने रूबी का टॉप और ब्रा निकाल फेंकी तो रूबी ने भी उसका शार्ट नीचे खींच दिया और नीचे बैठ कर उसका लंड अपने मुंह में ले लिया. मेरा पानी निकल गया और वो पूरा रस पी गई।इसके बाद थोड़ी देर हम दोनों यूं ही रहे लेकिन हम दोनों जल्दी ही फिर से गर्म हो गए।मुझे अपनी गर्लफ्रेंड खुले बालों में बहुत मस्त लगती है इसलिए मैंने उसके बाल खोल दिए और गोद में उठाकर बाथरूम में ले आया, उसे बाथरूम की दीवार से लगा कर चूमने लगा.

सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ यह सब जान कर मुझे अच्छा लगा और संतोष भी हुआ कि चलो अब रानी का जीवन भी सुखमय हो गया. उनकी वो काली ब्रा और काली पेंटी… मुझसे तो रहा ही नहीं गया, मैंने तुरंत उनको खोला और सीधा उनके चूचों पर टूट पड़ा.

દેશી ચોદવુ

यश ने अब मम्मी को वहीं नीचे खेत में लिटा दिया और दोनों टाँगें खड़ी करके मेरी माँ चोदने लगा. मैं अंदर ही अंदर बहुत खुश हुआ, मैं बोला- ठीक है, मैं मेरे रूम से नाइट ड्रेस पहन कर आता हूँ. अब परीक्षित ने रानी को ऊपर घोड़ी बनाया और उसकी भी यही हालत कर दी जो चिंटू ने मेरी की थी.

वैसे ही उसने अपनी गांड घुमा ली और पलट कर सामने आ गई। जोर से मेरे लंड को मुठ मारकर सारा पानी अपने चेहरे पर गिरा लिया और मैं शांत होने लगा।हम दोनों एक बार फिर डव सोप से नहाए और मैंने इसी बीच मेम से पूछ लिया कि मेम आपने दो बार मेरे लंड का पानी गिराया. हम लोग आराम आराम से ड्रिंक एन्जॉय करते हैं।अब हम दोनों माहौल को एंजाय करने के लिए बैठ गए। दुशाली ने रोशनी कम कर दी और धीमा संगीत लगा दिया।हम दोनों सोफे पर साथ बैठ गए थे… प्रोग्राम शुरू हो गया. बीएफ एचडी फिल्म हिंदीऔर तुम अपने बाल तो साफ करती हो या नहीं?सुमन-पीरियड्स मतलब मासिक धर्म…शुरू में जब आए मैं बहुत डर गई थी। फिर माँ ने मुझे समझाया और उन्होंने कहा कि जब पेट में दर्द हो तब ये आते हैं.

जब तक कि तुम कुछ नहीं कहोगी।आंटी चुदक्कड़ थी और उसकी चूत में आग लगी थी सो वो मान गई।मैंने अपनी पेंट को थोड़ा नीचे उतारा और आंटी को इशारा किया कि साड़ी उठाकर मेरे लंड पर बैठ जाए।दोस्तो जब चूत और लंड में आग लगी हो तो बस चूत और लंड ही दिखाई देते हैं।आंटी सेक्सी थी.

मैंने उससे बोला- एक बात, जब आज तक मैं किसी लड़के के साथ नहीं हुई तो यह सवाल कैसा और दूसरा उसे शर्म आनी चाहिए यह सवाल पूछते हुए मुझसे!मैंने उससे दोस्ती तोड़ दी, उसने माफी माँगी पर मैंने उससे माफ़ नहीं किया. तो उन्होंने भी बताया- हाँ शादी से पहले था।तो मैंने भी पूछा- तो कुछ और भी हुआ था?वो बोलीं- हाँ कई बार।मैंने पूछा- क्या आप सेक्स मूवी देखती हैं?वो बोलीं- हाँ देखती हूँ.

मैंने भी देर न करते हुए उनकी टांगों को ऊपर हवा में उठाया और उनकी चूत की पप्पी लेते हुए अपने लंड को उनकी चूत के द्वार पर लगा दिया. उसने झट से लंड को चूसना शुरू कर दिया। वो उसे ऐसे चूस रही थी, जैसे ना जाने आज के बाद कभी लंड मिलेगा ही नहीं। उसने अपनी लार से लंड को तार कर दिया था।काका- बस राधा बस. उन पर टंके हुए से भूरे निप्पल गजब लग रहे थे। उसकी चुत भी एकदम चिकनी थी और थोड़ी फूली हुई भी थी।गोपाल- अरे क्या बात है जानेमन.

लेकिन जब मेरा हाथ उसके ड्रेस में था तो इंटरवल हो गया और मुझे अपना हाथ निकालना पड़ा।हॉल में रोशनी हुई तो हम दोनों ठीक से बैठ गए लेकिन जैसे ही अँधेरा हुआ तो फिर हम अपनी उसी पोजीशन में आ गए। ऐसे ही फिल्म पूरी हो गई.

काफी ना नुकुर के बाद मैं भी मान गई और उन्होंने मेरी फ़ोटो उन लोगों को भेज दी. तो चलो मैं तुम्हें बहुत से टास्क बताता हूँ, तुम खुद चाय्स करो इनमें से कौन सा तुम्हारे लिए आसान होगा।सुमन- जी आप बताओ, मैं कर लूँगी।संजय- क्लास में जो भी सर पहले आएं, उसको थप्पड़ मारना है या वो सामने मोटू दिख रहा है उसके पेट पर एक जोर का मुक्का मार दो, ये भी नहीं तो वो कोने में जो खड़ा है. फिर भी चिपके रहे।फिर उसने अपनी गांड में से मेरा लंड निकाल लिया। अब हम दोनों आमने-सामने से लिपट गए और बांहों में बांहें डाले लेटे रहे।अब सुकांत उठा.

सेक्सी बीएफ देखना है वीडियो मेंमैंने लंड की खाल को आगे पीछे किया तो अक्षय ने मुझे ऐसा करने से रोक दिया. हमेशा तारीफ ही करती रहती हो।भाभी हंसने लगीं।मैंने कहा- चलो अब निकलूँ क्या अभी?भाभी ने कहा- रुको ना यार.

बीएफ वीडियो चला कर दिखाइए

हम दोनों साथ में नहाते थे, जब भी अकेले होते तो बिना कपड़ों के ही घूमते थे. याद है ना पापा क्या कहते थे कि ये अकेली 5 लड़कों पर भारी है। तो बस आपकी बेटी ऐसी ही है. मतलब वो अपनी चूत में बीच वाली उंगली से कुछ और ज्यादा गहराई तक मोमबत्ती घुसा के खुद को चोदती है.

पेंट नीचे खिसकाया उसका अंडरवियर नीचे खिसकाया।अब वह खुद उल्टा पलट गया तो मैं उसके ऊपर चढ़ गया। इधर-उधर देखा कहीं कोई नहीं था। मुझे तेल क्रीम न दिखी. ‘माँ कसम क्या चूसती है!’वो मेरे मुँह में धक्के देने लगा, थोड़ी देर मैंने मेरे मुँह से लंड को बांहर निकाल लिया. कुच्छ ही देर में सुनीता की चूत से उसकी जवानी का झरना फूट पड़ा और मेरे मुंह में उसकी जवानी का जोश पानी बन कर बरसने लगा और उसने मेरा सर वहाँ पे जोर से दबा दिया, मैंने वो सारा पानी अपने मुंह में ले लिया और उसकी चूत को जोर जोर से चाटने लगा ताकि सुनीता इन यादगारी पलों का आनन्द ले सके.

उसके रेडी होने के बाद मैंने उसको गोद में उठाया, कमरे के अन्दर ले गया और बेड पर लेटा दिया. तू क्या समझी थी?सुमन- मैं समझी थी कि माँ को कोई तकलीफ़ होगी या उनका पेट दुख रहा होगा। एक-दो बार मैंने पूछा भी था मगर माँ ने ‘कुछ नहीं. यह हिंदी चुत चुदाई की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!जैसे ही मैंने उसकी चूत पर किस किया, उसकी सिसकी ओर तेज होने लगी, मैं उसे किस किए जा रहा था, थोड़ी देर बाद उसकी चूत बिल्कुल गीली हो गई.

लड़की ने उसके लंड को पकड़ा और उसके सुपाड़े पर अपनी जीभ चलाने लगी। उसके बाद उसने उसका पूरा लंड अपने मुंह में भर लिया और चूसने लगी, बीच-बीच वो लंड को मुंह से बाहर निकालती और अपने मुट्ठी आगे-पीछे करती, जिससे उस आदमी का सुपारा कभी खुल जाता तो कभी उस खोल के अन्दर छुप जाता. यह उसका पहली बार था पर उसने झट से मेरे लंड को अपनी जीभ से चाटना शुरू कर दिया.

‘समीर… आआआ ससस मेरी चुत का हलवा बना दिया तुमने!’हमारा पानी साथ निकल गया, हम 69 में आकर एक दूसरे का पानी चाट गए, बहुत मजा आया.

अपनी चूत में शराब की बूंदें गिराते हुए सलोनी ने मुझसे पूछा- रवीश डार्लिंग, इस मूवी में कितनी लड़कियों को चोदना पसंद करोगे?मैंने भी थोड़ा लाग लपेट वाली बात कहते हुए बोला- मैडम, अब आप की चूत मिल गई है तो और चूत…इतना कहकर मैं रूक गया. बीएफ वीडियो नेपालमगर मुझे हटाने का प्रयास या फिर मेरा विरोध बिल्कुल भी नहीं कर रही थी।धीरे धीरे मैंने भी अपनी जीभ की हरकत को थोड़ा तेज कर दिया… और अब मेरी जीभ पिंकी के संकरे प्रेमद्वार की दीवारों पर घिसने के साथ साथ कभी कभी थोड़ा सा नीचे उसकी गुदाद्वार तक भी जा रही थी जिससे पिंकी की सिसकारियाँ भी बढ़ गई और उसने भी मेरी जीभ के साथ साथ धीरे धीरे अपनी कमर को हिलाना शुरू कर दिया. सनी लियोन की बीएफ वीडियो एक्स एक्स एक्स’ बोलकर बात टाल देता था। पार्लर में अकेली होने के कारण हमारी चैट बढ़ गई। फिर एक दिन छुट्टी मनाने के लिए उनका परिवार नासिक आ गया।काफी दिनों बाद इस बार जब मैंने भाभी को देखा तो देखता ही रह गया. हम एक झील के किनारे गए, थोड़ी देर वहाँ बैठे, फिर एक वीडियो गेम कैफ़े में गये जहाँ हिम्मत ने अपने बेटे को बाइक राइडिंग गेम खिलाया, फिर हमने एक रेस्टोरेंट में खाना खाया और 8.

कहानी जारी है। चूत में लंड घुसा कर मौसेरी बहन की चुदाई की कहानी पर आप अपने विचार जरूर लिखिएगा।[emailprotected]कुंवारी चूत में लंड घुसा कर मौसेरी बहन की चुदाई-2.

मेरी तो आँखें उनकी गोरी और एकदम टाइट ब्लाउज से बाहर आने वाली चूचियों पर टिकी थीं, ख़ास तौर से मैं भाभी के मम्मों के बीच वाली घाटी में अपनी नजरें में टिकाए था. तो सोना भाभी ने धीरे से ब्रेक लगाकर जैसे मुझे और किस की अनुमति दे दी। मेरा दिमाग घूम गया. देखने में तो 34 की उमर का सचिन नहीं लगा तो मुझे लगा कोई होगा… यह सचिन का छोटा भाई हो सकता है.

जैसे इसे लड़कों को रिझाने के लिए खास ऐसा रूप दिया गया हो। संजय तो पागल हो गया. पर वो इस दर्द का मजा लेने लगी और मुझे तेज करने को उकसाते हुए कहने लगी- और जोर से करो. तभी ये हाल है। मगर मेरे राजा आज तो तुम्हारी टीना तुम्हारी कोई मदद नहीं कर सकती क्योंकि आज सिग्नल रेड है.

देहाती सेक्सी देसी

30 बजे उठता था। मंगलवार को शाम को मैंने उसको देखा तो वो थोड़ी नर्वस सी दिखी. बाथरूम जाकर फ्रेश हुई, कपड़े पहने और चली गई।मेरी ये हिंदी सेक्स स्टोरी कैसी लगी. उंगली से क्या किसी और वस्तु से?’‘कभी कभी उंगली से एक दो बार मोमबत्ती घुसा के भी…’ वो बोलकर चुप हो गई.

नहीं मानेगी तो साली को ज़बरदस्ती लंड पेल देंगे।मेरे प्यारे साथियों आप मुझे मेरी इस सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स कर सकते हैं.

तो उस वक्त मैंने एक दूसरी लड़की से उसके मन की बात पूछने को कहा।उस लड़की ने कहा- हाँ, वो तुझे प्यार करती है।इसके अगले दिन जो एग्जाम था.

मैंने उसकी चुचियाँ मसलनी शुरू की, जैसे-जैसे मुझे मज़ा आने लगा मैंने शैली के मुँह में ही झटके मारने शुरू किए और अगले 5 मिनट में शैली के मुँह में ही झड़ गया. फिर रविवार की सुबह किसी ने घंटी बजाई, दरवाजा खोला तो भाभी थी, बोली- नाश्ता हमारे यहां कर लेना!मैंने ‘ठीक है!’ कहकर दरवाजा बंद कर लिया. साडीवाली सेक्सी व्हिडिओ बीएफमगर वो इसे अपनी गांड हिला कर मना कर देती।मैंने पूछा तो बोली- ये फिर कभी आज सिर्फ़ मेरी चुत की प्यास बुझाओ।मैं उसकी चुत की जमकर चुदाई कर रहा था लेकिन मेरा लंड था कि झड़ने का नाम ना ले रहा था और उसकी चुत मेरे लंड का पानी पीने को बेकरार हो रही थी। मैंने उसकी गांड पर धक्के तेज़ करते हुए उसकी चुत में पानी डालने को अपने लंड को राज़ी करने लगा।तेजी से ‘चाभ चाभ.

अब भाभी मेरी छाती की घुंडियों को किस कर रही थीं। फिर भाभी ने अपने ब्लाउज पर थोड़ा केक लगा कर मेरी आँखों में अश्लीलता से देख कर आँख मारी। मैं एकदम से उनके मम्मों को ब्लाउज के ऊपर से ही चूसने लगा और उनकी गर्दन को किस करने लगा।भाभी भी कामुक आवाज में मोन कर रही थीं- आअहह. मेरी जानेमन की बच्चेदानी में कुछ हैवी शॉट्स मारने के बाद उसने अपना आग उगलने को तैयार लंड चूत से बाहर निकाल लिया और मेरी बीवी का सिर पकड़ कर उसके मुंह में ठूंस दिया. अब सिर्फ मेरा लंड ही उसकी चूत में था बाकी मेरे शरीर का कोई अंग उससे स्पर्श नहीं कर रहा था.

अब समझी कि मम्मी आपके लंड की क्यों दीवानी थी।आगे उसने बताया- आपका लंड लेने की इच्छा तो तब से है जब से आप का लंड देखा था मम्मी को चूसते हुए! अब आप मम्मी को भूल जाओ, मैं आपकी होकर रहना चाहती हूँ। अब सेमाँ बेटी की चुदाईनहीं चलेगी, सिर्फ बेटी की चुदाई से काम चलाना पडेगा. मेरे चाचा की शादी के बाद चाची घर आई तो कुछ दिनों के लिए उनकी भतीजी भी आ गई घूमने… चाची ने मुझे उससे मिलाया.

सुबह की एयर इंडिया की फ्लाइट से दोनों जोड़े माले पहुंचे और वहाँ स्पीड बोट से एक बहुत खूबसूरत आईलेंड पर…रिसोर्ट में उनकी विला साथ साथ थीं.

जब अम्मा मेरी बात मानने के लिए तैयार नहीं हुई तब मैंने कहा- अम्मा, इस बालक और उसकी माँ का तो हक बनता है यहाँ रहने का. कमरे में आने के बाद मैं तो कपड़े पहन कर बिस्तर पर ही लेट गया और माला कपड़े पहन कर दोपहर का खाना बनाने के लिए रसोई में चली गई. अब उन्होंने उनके लंड को हमारे मुँह से निकाला और परीक्षित रानी की गांड चोदने और चिंटू मेरी गांड चोदने के लिये आये.

बुड्ढी औरत की बीएफ उसकी पहली दो ऊँगलियाँ चूत के होंठों को मसल रही थी और फिर उसने धीरे से एक उंगली चूत के अंदर दे दी. उसने मेरा मोबाइल छीनने की कोशिश की और इस छीना झपटी में वो मेरे ऊपर आ गिरी।मैंने मोबाइल को छोड़ा और मीना को पकड़ लिया, मीना झूठ मूठ का गुस्सा दिखाने लगी लेकिन मैंने उसे नहीं छोड़ा, मैंने उसके नर्म होंठों पर दस मिनट तक किस किया तो वो मचल उठी.

इनकी एज करीब 45 की होगी।ममता- अपनी लाड़ली को देखो, पीकर आई है, ये सब आपकी वजह से हुआ है। मैंने कितनी बार कहा कि ये बुरी आदत इसे मत सिख़ाओ।फ्लॉरा- पापा प्लीज़. मैं वहाँ हाथ से ढकने के कोशिश करने के साथ बोला- आप चलो, मैं आता हूँ. लेकिन साफ़ करने के बाद कोई गन्दगी नहीं रहती, उन्ही हाथों से तुम खाना भी बनाती होती, आटा भी गूंथती होगी, पूजा भी करती होगी… है ना? और चूत को अच्छी तरह से साफ़ करके चाटा जाता है.

20 साल की औरत

क्योंकि परीक्षित और चिंटू दोनों के लंड समान मोटाई और लम्बाई के हैं तो हमें उनके लंड लेने में कोई तकलीफ नहीं हो रही थी. मेरा लंड कड़क होने लगा।अब मेरे हाथ ने उनके एक स्तन को दबाया तो मेरा लंड पूरी सलामी देने लगा। मेरा लंड उनकी जांघ पर स्पर्श करने लगा, इससे उनकी नींद खुलने लगी। मेरी गांड फट रही थी कि क्या होगा पर मैंने हिम्मत नहीं हारी और अपना कार्यक्रम निरन्तर जारी रखा।उनकी नींद खुली तो ये देखकर वो हैरान हो गईं कि ये क्या हो रहा था, बुआ मुझसे बोलीं- ये क्या है जतिन. तभी जैसे उसने मेरा दर्द समझा और मेरी जींस का बटन खोल कर मेरी जींस और चड्डी उतार दी और फिर मेरे होठों को अपने होंठों में लेकर चूमने लगी.

लेकिन उसने कुछ नहीं कहा। मुझे लगने लगा कि शायद वो मुझे पसंद करने लगी है।एग्जाम खत्म होने के दो महीने बाद भी उसके साथ यह सिलसिला यूं ही चलता रहा। हमारा केमिस्ट्री की लैब का पीरियड एक साथ लगता था तो हम एक दूसरे को देखते रहते थे।फिर एक दिन लंच टाइम में मैंने उसे प्रपोज कर दिया. मैं खूब सजी-धजी थी कि कोई मुझे देखेगा और मुझे चोदना चाहेगा पर जो मुझे घूर रहे थे वो मुझे पसंद नहीं आ रहे थे.

अंडरवीयर को घुटनों तक खींचा मैंने और जीजू के लौड़े पे एक प्यार भरा चुम्मा दे दिया.

अब मेरा लंड वापस चुदाई करने को तैयार था, मैंने अपना कंडोम का पैकेट निकाला और एक कंडोम लंड पर लगाया और अपना सुपारा उसकी चूत पर रखा तो उसके मुँह से एक सिसकारी निकली ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैंने एक धक्का लगाया, तब मेरा आधा लंड ही अंदर गया और वो जोर से चिल्लाने वाली थी पर मैंने उसका मुँह अपने होंठों से बंद कर दिया. मगर फोन चैट से हमारी बातें शुरू हो गईं। वो पूरा मेकअप करके अच्छी-अच्छी प्रोफाइल पिक्स लगा कर रखने लगीं और मैं उन पिक्स की तारीफ करता. मोना ने राजू से लेकर काका तक की पूरी कहानी मीना को बता दी, जिसे सुनकर मीना की चुत गीली हो गई.

मगर उसके पीछे एक तो दीवार थी और दूसरा मैं उसके नितम्बों को पकड़े हुए था इसलिये वो पीछे नहीं हट सकी. वो खिलखिला कर हंसी और बोली- भोसड़ी के, मेरी गांड पॉलिश मत कर!‘नहीं मैम ऐसी कोई बात नहीं है!’‘यार, तुम मुझे मैडम नहीं बोलो, सलोनी बोलो!’‘ओ. खूब मसलने लगे।मुझे बहुत मज़ा आ रहा था, मेरे पूरे बदन में आग बढ़ चुकी थी। मेरे पति मेरे मुँह के ऊपर दोनों तरफ टाँग करके अपना लंड मेरे मुँह में डाल दिया, मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। मैंने झट से इनका लंड मुँह में भरा और जोर-जोर से चूसने लगी, लंड खूब चूसा.

मैंने ना तो किसी से कहा है और न ही मैं बुरा मानता हूँ।’दीदी ने बताना शुरू किया- सुनील मुझे काफ़ी दिनों से चाहता है.

सेक्सी वीडियो देवर भाभी की बीएफ: रास्ते में हमारी एक दूसरे से काफी बात हुई मैंने उन्हें अपना नाम रोमा बताया, उन्होंने मुझे अपना नाम पायल बताया. आज तो मेरी सारी प्यास मिट जाएगी। ओह अजय, तुम्हारा तो मेरे ब्वॉयफ्रेंड जैसा है.

उसके बाद उसने धीरे धीरे मेरे सारे कपड़ों को निकाल दिया और किस करते हुए एक हाथ से मेरे लंड को सहलाने लगी, मेरा लंड भी आधा खड़ा हो चुका था, पर मुझे थोड़ी शर्म भी आ रही थी. फिर मैंने बेडरूम का दरवाजा खोला तो दंग रह गया, सामने अमिता लाल ब्रा पेंटी पहने तैयार तो रही थी, उसके गोर बदन पर ये कसावटी ब्रा पेंटी गजब लग रहे थे. इस पूरे वाकिये की खूबसूरती यह थी कि मानसी मेरे हर कारनामे का जवाब बराबर दे रही थी और उसके मज़े भी ले रही थी.

थोड़ी देर के बाद माला ने अपने बेटे को दूसरी ओर पलटी किया और ब्लाउज के बाकी बटन खोल कर दूसरे स्तन को बाहर निकाल कर उसमें से दूध पिलाने लगी.

वो भी मुझे चोदना चाहता है।एक बार हम लोग अपने नानी के गाँव गए हुए थे। ठंडी का समय था. राजे की निगाह मेरी भीगी हुई, जूस से सनी हुई जांघों पर पड़ी तो उसने मेरी टाँगें फैला के उँगलियों से मधु को समेटा और जूसी को दिखाया- देख रानी, इस कुतिया की चूत कितना गाढ़ा रस देती है… ले तू भी स्वाद चख!राजे ने रस से लिबड़ी हुई दो उंगलियाँ खुद मुंह में डालकर चूसी, बाकी वाली दो जूसी के मुंह में दे दीं. काका ने अपने होंठ राधा के होंठ से मिला दिए और उसको मस्ती से चूसने लगा। इधर कमर को भी स्पीड से आगे-पीछे करने लगा। अब राधा को दर्द और अधिक होने लगा था मगर वो चीख नहीं पाई। बस उसकी आँखों से आँसू आने लगे।करीब 5 मिनट तक काका ट्रेन की तरह दे खपाखप.