नंगा बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,बॉलीवुड बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ फोटो नंगी फोटो: नंगा बीएफ पिक्चर, मैंने जाने लगा, तो नैना मेरा हाथ पकड़ के बोली- नाराज़ हो गए क्या?मैंने बोला- नहीं … प्लीज मुझे जाने दो नहीं तो आज मुझसे कुछ गलती हो जाएगी.

भोजपुरी हिंदी बीएफ वीडियो

मैंने सुषी का हाथ पकड़ कर उसे खड़ी कर दिया और उसके होंठों को चूसने लगा. ब्लू पिक्चर बीएफ चोदने वालीएक बार तो सोचा कि फिल्म की शूटिंग रोक देता हूँ और यहीं पर मुट्ठ मार लेता हूँ.

फिर मुझे लगा कि एक बार पकड़ कर देखूँ, मैंने मुट्ठी खोली तो उसने मेरी हथेली में अपना लंड पकड़ा दिया. बीएफ सेक्सी ब्लू इंडियनआह … क्या माल है तू भी लौंडिया! चूतड़ तो देखो! कितने मस्त और टाइट हैं.

सभी लेखकों की आपबीती को जाहिर करने का इससे अच्छा मंच मुझे आज तक कोई दूसरा नहीं मिला है.नंगा बीएफ पिक्चर: इधर काम-संवेदनाएँ फिर सिर उठाने लगी थी और मेरे लिंग में फिर से तनाव आना शुरू हो गया था.

यह मेरी पहली सुहागरात है और वह भी आशीष अपने होने वाले पति के साथ की है … और रही बात सील टूटने की, तो मैं एक बार अपने भाई के दवारा लाई गई ब्लू फिल्म की चोरी से डीवीडी में लगा कर वीडियो देख रही थी, तब मेरा बहुत मन करने लगा था, तो कमरे में एक कोका कोला की कांच की छोटी बोतल रखी थी.फिर सबसे पहले पिंकी ने धीरे धीरे अमर की टी-शर्ट को निकाला और वो अमर की छाती को चूमने लगी.

सुनीता की बीएफ - नंगा बीएफ पिक्चर

और दिलिया की तरह झूले पर चढ़ गयी और मुझे नीचे लिटा कर ऊपर आ गयी फिर गोल घूमी … फिर हम दोनों घूमते रहे और झड़ गए.तो मेरे पास उसके पास बैठ कर बात करने का एक बहाना ये था कि कुलीन ने कहा था कि तुम बस आने वाली हो, इसलिए थोड़ी देर बैठ कर इन्तजार कर लो.

मैंने धीरे धीरे उसकी चूत पर अपने दूसरी उंगली से उसके क्लाइटोरिस तो सहलाना शुरू कर दिया. नंगा बीएफ पिक्चर मैंने अपने हाथों से सरिता की चूत की पंखुड़ियों को दोनों तरफ खींचकर फैला दिया.

सबको खुली छूट मिलेगी ना अब तो?” मैडम ने शिकायती लहजे में सर से कहा।सर ने हंसते हुए अपना पूरा जबड़ा ही खोल दिया- हा हा हा … आप भी कमाल करती हैं मैडम … ये सेंटर और आपको कभी भूल सकता हूँ क्या? यहाँ तो मुझे तोहफे पर तोहफे मिल रहे हैं.

नंगा बीएफ पिक्चर?

कुछ देर में उसका दर्द कम हुआ तो वो भी अपनी कमर हिला हिला कर चुदवाने लगी. भाभी के पति के पेट में दर्द के कारण भाभी डॉक्टर को अपने घर ले गयी थी. क्या पता कितनों से चुद कर आई हो। मैंने उसके बालों को पकड़ कर अपना लंड उसके मुंह में ठूंस दिया और उसके मुंह को जोर जोर से चोदने लगा.

वो देखने में उतनी आकर्षक नहीं थी लेकिन उसका कसा हुआ हुस्न देख कर किसी का भी लौड़ा सलामी ठोकने लगे, उसका ऐसा गदराया हुआ बदन था. उसमें इतनी प्यास दिखी कि न जाने किस बात ने मुझे मजबूर कर दिया कि उसके लाल होते काले गालों में चुंबन ले लिया और धीरे से बोला- तुम में बहुत कशिश है, एक आकर्षण है जो मुझे तुम्हारे पास आने को मजबूर कर रहा है।सलोनी सिहर सी गई, उसकी आँखें बंद सी हो गईं, उसके हाथ ने भी मुझे जोर से पकड़ लिया, उसकी खामोशी मुझे सता सी गई, मैंने भी उसको छोड़ दिया और बोला मुझे माफ़ कर दो. उन्होंने मुझे बेड पर लुढ़का कर उल्टा कर दिया और मेरी अंडरवियर खींच दी.

तभी मायरा अचानक से मेरे ऊपर चढ़ गई जिससे उसके बूब्स मेरे छाती से रगड़ खाने लगे. अब वो मेरा पूरा साथ दे रही थीं और ‘आह … आह आह … उई … उन्ह मम्मी …’ की आवाजें निकाल रही थीं. मुझे थोड़ी हैरानी हुई कि ‘जिस मीना के जिस्म का भोग मैं आसानी से कर लूंगा’ की उम्मीद कर रहा था वो इतना आसान भी नहीं था.

तभी एकदम से मेरी दीदी ने करवट बदली और अपना मुँह मेरी तरफ कर दिया, जिससे उसकी गर्म सांसें मेरी पेंट की ज़िप से होकर मेरे लौड़े को छू रही थीं. सरिता मेरे माथे पर अपने होंठों से किस करती हुई बोली- हर्षद, आज से हम दोनों पति पत्नी हैं.

एक बार तो मुझे देखने में मजा आया लेकिन अगले ही पल यह ध्यान आया कि चाची तो मेरे भाई को बिगाड़ रही है.

फिर उसने मुझे बहुत आराम से चारपाई में लिटा दिया और मेरे बगल से लेटने लगा.

हां शुरू में बस थोड़ा सा दर्द हुआ मगर वो दर्द उनके प्यार के आगे कुछ भी नहीं था. मुझे कुछ अजीब सा लगा कि लैपटॉप में तो कोई प्रॉब्लम है ही नहीं, फिर भी भाभी ने ऐसा क्यों बोला कि ये बिगड़ा है. मैंने उसकी शर्ट निकाल दी और ब्रा के ऊपर से ही उसके मम्मों को चूसने और दबाने लगा.

”उनका पूरा ध्यान अब मेरी नाभि पर था, नाभि पर एक किस करने के बाद उसके इर्द गिर्द हल्के से काटने लगे. मेरे चूतड़ पीछे से पूरी तरह से उठ जाने की वजह से उसका लिंग अब हर धक्के पे मेरे गर्भाशय तक जाने लगा. मैंने उसको अच्छे से देखा … क़यामत लग रही थी वो!तब मैंने उसकी पीठ पर हाथ फेरा.

जैसे जैसे संभोग और धक्कों की अवधि बढ़ती जा रही थी, वैसे वैसे हम दोनों की सांसें तेज़ और जोश आक्रामक रूप लेती जा रही थीं.

भाभी के मुँह से इतना सुनते ही मेरी तो बॉडी में एकदम से करंट सा लगा और मेरे लौड़े में हरकत शुरू हो गई. दोस्तों मैंने नंगी अमीषी को उठाया और बेड पर पटक दिया और खुद भी उसके ऊपर चढ़ गया. उसके साथ एक और लड़की काला चश्मा लगाए हुए और अपने मुँह पर स्कार्फ लपेटे हुए मेरे रूम की तरफ़ बढ़ रही थी.

इस स्टाइल में मैंने जब लंड को उनकी योनि पर रखा, तो लंड मोटा होने की वजह से उनकी योनि में ‘परर्रर्रर्रर …’ की आवाज के साथ घुस गया. मैं बोली- आशीष मैं तुम्हारी कसम खाती हूं … अपनी कसम भी खाती हूं कि तुम पहले मर्द हो, जिसने मुझे प्यार से छुआ है, जिसने मुझे प्यार किया है और जिसने मेरे साथ सेक्स किया है. इतना कहकर मैंने धीरे-धीरे संगीता की चूत में अपने लंड को धकेलना शुरू किया.

मैंने खुद पर बड़ी ही मुश्किल से कंट्रोल किया और श्वेता के डांस करने के बाद गेम फिर से शुरू हुआ.

मेरी कहानियाँ आपको पसंद आ रही हैं, इसका प्रमाण यह है कि आप मुझे अपने मेल भेज रहे हैं. मैं साड़ी में अच्छी नहीं लग रही हूँ?मैंने कहा- आप तो साड़ी में और भी ज्यादा हॉट और सेक्सी दिख रही हो.

नंगा बीएफ पिक्चर अब संगत का असर कब तक नहीं होता, रिम्पी की दोस्ती का असर मेरे ऊपर भी होने लगा और मैं भी रिम्पी के साथ रहते रहते उसके भाई कुलीन से पट गयी. शारदा, क्या तूने कभी किसी को बताया है कि ममता मेरा बीज है?”चाची- इसमें बताना क्या है? इन्हें तो पक्का पता है कि ये तीनों औलादें उनकी नहीं हैं.

नंगा बीएफ पिक्चर मैं उसकी बंद चूत को देख कर पागल हो गया और उसके सख्त चूचे को पकड़ कर जोर जोर से दबाने लगा. फिर जागृति मेम ने मेरा एक हाथ अपनी एक चूची पर रख दिया और दबाने का इशारा कर दिया.

तब उन्होंने फिर से अपनी कमर को उठा कर पैंटी और अपनी चूत के साथ को कुछ समय के लिए तोड़ दिया.

मारवाड़ी देसी गांव की सेक्सी वीडियो

इससे भाभी तड़प उठी और कहने लगी- आपका लंड बहुत मोटा है … यह मेरे अन्दर नहीं जा सकता. उधर मेरी सहेली अपने ब्वॉयफ्रेंड से होटल में चुदवा रही थी और इधर मैं अपनी सहेली के भाई से चुदवा रही थी. मैं- पर एक बात का ध्यान रखना, ये बात किसी को भी पता नहीं लगनी चाहिए और न तुझे मेरे कमरे में आते किसी को दिखना चाहिए.

गुलाबो गर्म होने लगी धीरे धीरे चूत ढीली और गीली होनी शुरू हो गयी फिर मेरे लण्ड पर चूत की कसावट भी कुछ ढीली पड़ गयी. तभी पटेल का दोस्त, जो मेरे सीने में टांगें फैलाए बैठा था, वह बोला- और तेज चाट बंध्या की चुत … जोर जोर से चाट इसकी चुत … अब यह गर्म हो रही है … दो चार मिनट में खुद चुदवाने के लिए बोलेगी. बस दो प्यासों की तरह एक दूसरे की जिस्म की अग्नि को बुझाए जा रहे थे.

मैंने फिर हल्के से अपने लिंग को वसुन्धरा की योनि में वापिस आगे उसकी पुरानी जग़ह तक पहुँचाया.

वो पहले तो वो ताई पर हाथ फिराते हुए उनका ब्लाउज उतारने लगे, फिर छाती पर हाथ फिराते फिराते उनए मम्मों को मसलने लगे. आज मैं अपने यौवन के सुख का अहसास करना चाहती हूँ।उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और बोली- आज अपनी इच्छा से अपने लिये कुछ कर रही हूँ और मेरे परिवार में किसी को कुछ नहीं मालूम है।मैंने कहा- कोई बात नहीं, अगर तुम नहीं चाहती तो कोई बात नहीं, कोई जबरदस्ती नहीं है. अंकल ने दरवाजा खोला, उनके गाल पर शेविंग क्रीम का फोम लगा हुआ था- बैठो नीतू, तब तक मैं शेविंग कर लेता हूँ.

आशीष बोला- तू तो पागल है रे … तेरे जैसी चुद्दक्कड़ चुदासी लड़की का मैंने सुना भी नहीं है … मैं कितना लकी हूं कि तू मेरी बीवी बनने वाली है, पर लगता नहीं कि पहली बार तू चुदवा रही है. मैंने सोचा कि आज घर पर तो कोई है नहीं तो क्यों ना अपनी चूत पर से बाल ही साफ कर लूं। बाल साफ करने के बाद मैं खूब अच्छी तरीके से नहाई और नहाने के बाद मैं नंगी ही कमरे में आ गई।जैसे ही मैं कमरे में आई तो मैं जीजू को कमरे में बैठा देखकर चौंक गई, मुझे पता ही नहीं चला कि जीजू हॉस्पिटल से कब वापस आ गए. रोहन के दोनों ही दोस्त मुझे आँखें फाड़ कर देख रहे थे और उनकी आँखों में एक अलग ही हवस भरी हुई थी.

थोड़ी देर बाद वहां पर एक लगभग 30 साल की औरत आई, उसने पहले इधर उधर देखा और फिर मेरे पास ही थोड़ी सी जगह में बिस्तर डाल कर सो गयी. कुछ पल का विराम देकर मैंने दूसरा धक्का दिया तो पूरा लंड उसकी चूत में समा गया.

नीतू आज शाम को तुम एकदम खास दिखनी चाहिए … शर्मा जी की पत्नी पर कड़क इम्प्रैशन पड़ना चाहिए. एक पल सुखबीर ने लिंग वहीं चिपकाए रखा और फिर से लिंग थोड़ा बाहर खींच कर धक्के मारने लगा. उसकी चूत हल्के गुलाबी रंग की थी और अन्दर एक खूबसूरत सा छेद दिख रहा था.

उसने अपने मम्मी पापा से ये कह कर मना कर दिया उसके एग्जाम हैं। मैं चाचा-चाची को बस स्टॉप तक छोड़ आया और उसके घर आकर बैठ गया.

वैसे मैं जानता था कि मेरे सफल होने के चान्स ज्यादा हैं फिर भी मन में एक डर तो बना ही हुआ था. फिर उन्होंने मुझे बाथटब की साइड पर बिठाया और कहा कि अपने पैर चौड़े कर लो. फिर वो मेरे पास आयी और बोली- क्या हुआ?मैंने उससे कहा- कुछ नहीं यार मैं तो घायल हो गया हूँ.

शायद उसकी छोटी और कड़क चूत चाटने कर मुझको मजा आ रहा था, तभी मैं बारी बारी से उसकी दोनों संतरे जैसी गुलाबी फांकों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा. मैंने उसकी टांगों के बीच में आकर अपने लंड को चूत की फांकों में ऊपर से नीचे तक फेरा, तो वो गनगना उठी और जल्दी लंड लेने को उतावली सी होने लगी.

थोड़ी देर का विराम देने के बाद एलेक्स ने अपना लंड फिर से मेरे मुंह में दे दिया. करीब पन्द्रह मिनट के बाद वो झड़ गयी और दो-चार धक्कों के बाद मैं भी। पहली बार पूजा की भट्टी को चोदने के बाद लंड को बड़ा सुकून मिला. इसके बाद मैंने अपनी मम्मा सौम्या को गोद में उठा लिया और उन्हें चूम कर कहा- आई लव यू सौम्या!सौम्या- आई लव यू टू मेरे राजा!हम दोनों के होंठ एक दूसरे के होंठों से कब मिल गए, हमें भी नहीं पता चला.

हिंदी में सेक्सी पिक्चर बढ़िया वाली

मायरा ने अपनी मम्मी से कहा- मम्मी भैया किधर सोएंगे?उन्होंने कहा- तुम्हें अपने कमरे में ही भैया के साथ सोना पड़ेगा.

”अपने कपड़े उतारते हुए नितिन बोला- लाओ मैं अच्छे से शेविंग कर दूँगा … आज तुम पिंक साड़ी और मैचिंग स्लीवलैस ब्लाउज पहनो … बॉस की वाइफ पर जम कर इम्प्रेशन पड़ना चाहिए. पिंकी कसमसा उठी- सर … प्लीज़!”करो ना … तुम आराम से पेपर करो … मैं तुम्हारे लिए ही तो बैठा हूँ यहाँ … चिंता की कोई बात नहीं!” सर ने उसको याद दिलाने की कोशिश की कि वो हम पर कितना ‘बड़ा’ अहसान कर रहे हैं. फिर भाभी ने मुझ से कहा- प्रवीण अब मुझसे रहा नहीं जा रहा है, प्लीज मुझे जल्दी से चोद दो.

मेरी इस कहानी में चार लोग है, निखिल उम्र 20 साल, मीरा उम्र 38 साल, रितेश उम्र 40 साल और रीमा उम्र 21 साल. देसी मॉम की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं अपनी मम्मी की जवानी की ओर आकर्षित हुआ. एक्स एक्स फुल एचडी बीएफलेकिन मम्मी के तो चूतड़ बहुत भारी हैं और पापा का लंड छोटा है, तो वह अंदर कैसे करते हैं?मैंने कहा- तुम्हारी मम्मी को उसी से आदत पड़ी हुई है तो उसी से काम चल जाता है.

मैंने दूसरे हाथ से उसका मुखड़ा ऊपर किया और अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए. जब मुझे आपकी चूत चुदाई करने मिलती रहेगी, तो मैं आपको रुसवा क्यों करूंगा!मम्मी बोलीं- हां वो तो है.

इस पर सुखबीर खुश हो गया और बोला- सारिका जी बस आप उसे अपनी तरह बना दो, मैं आपका हमेशा ग़ुलाम रहूंगा. फ़्रेंड्स ये मेरी सच्ची देसी कॉलेज सेक्स कहानी थी आपको कैसी लगी … प्लीज़ मेल जरूर करें. तभी उसकी नजर मेरी जांघ पर पड़ी, वहां खून के धब्बे साफ दिखाई दे रहे थे.

टी आ गया क्या? फिर बातों ही बातों में पता चला कि उसको भी भुवनेश्वर जाना है कोई एग्जाम देने, दोस्तो बहुत काली थी वो, पर उसमें एक नशा था. एक बात की ख़ुशी है मुझे कि आशा भाभी के मुकाबले मैं ज्यादा बड़ा, ज्यादा मोटा और ज्यादा काला लंड चूसती भी हूँ और अपनी चूत और गांड में लेती भी हूँ. मैंने अनजान बनते हुए कहा- मैं कहां मुँह मार रहा था?कल्पना भी शायद समझ गईं कि मैं उन्हें परेशान कर रहा हूँ, अंत में हार मानते हुए बोलीं- मेरी बुर के आसपास का एरिया दर्द कर रहा है.

अब बंध्या तेरी सील मतलब अपनी होने वाली बीवी की, जो आगे होने वाली मेरी लाइफ पार्टनर है.

पिंकी बोली- हमें जाने दो सर … प्लीज़ … मैं आपके आगे हाथ जोड़ती हूँ … आप कुछ भी कर लेना … पर हमें अभी जाने दो. आप अकेले कब तक झेलोगे हम सबको?उसकी बात का मैं कोई उत्तर नहीं देना चाहता था.

उसके बाद ठीक से उनको अच्छी तरह नहलाया और अपनी तरफ उनको घुमाते हुए जमाई जी की गर्दन पर लटक गई. दोस्तो, आप सभी को मेरा हृदय से आभार है कि आप लोगों ने एक बार फिर से मेरे द्वारा लिखी गयी कहानीलंड के मजे के लिये बस का सफरको बहुत पसंद किया. तभी आशीष ने पूरी ताकत से एक जोरदार झटका मेरी चुत में मारा और उसका आधा से भी ज्यादा लौड़ा, मेरी चुत में फच्च से घुस गया.

इतना तो मुझे समझ में आ गया था मुझे कि सलोनी में भी आम लड़की की तरह इच्छाएं हैं, अरमान हैं, कुछ जज्बात हैं. मुझे राशि पर गर्व होता था कि वह खुले दिल से अपनी मन की इच्छाओं को पूरी करती है. मुझे मेल करके आप अपना अनुभव बताइए, गर्लफ्रेंड पोर्न कहानी पर मैं आप सबके फीडबैक का इंतजार करूंगा.

नंगा बीएफ पिक्चर मैं तो पूरा गर्म हो चुका था और उसके होंठों का रस पीने में मग्न हो चुका था. मैंने उसकी चूत के रस से सने अपने होंठ उसके लाल होंठों में लगा दिए और उसे जम कर किस करते हुए उसको उसकी चूत के रस का स्वाद चखा दिया.

भारतीय ओपन सेक्सी व्हिडिओ

मेरी मम्मी नींद में ही थोड़ा खिसकते हुए बोलीं- यही बीच में तू भी सो जा. मैं हताश हो गया और सोचा कि ये तो हाथ में आया मौका निकल गया लाईव चुदाई देखने का. सच कहूं तो मुझे ये सब करने में डर लग रहा था लेकिन मजा भी बहुतआ रहा था.

इसके बाद जब तक शीतल भाभी के पति अपनी बिजनेस ट्रिप से वापस लौट कर नहीं आ गए, मैं शीतल भाभी को रोज़ चोदता रहा. कुछ पल बाद मैं हल्का सा ऊपर हुआ और उसकी नाभि पर अपनी जीभ को गोल गोल घुमाने लगा. बीएफ पिक्चर चलाएंहाँ इतना जरूर था कि मेरे पहल करने पर उसने मुझे कभी मना भी नहीं किया। वो दिन में तो मुझसे दूर ही रहती थी मगर रात को चुपचाप मेरे पास पलंग पर ही आकर सो जाती थी।इस हफ्ते भर में वैसे तो मैंने मोनी के साथ सब कुछ किया मगर न जाने किस संकोच के कारण वो मुझसे खुल नहीं पाई.

’शैली बोली- क्यों अंकल, एक और राउंड करना है?‘नहीं शैली … मैं तो नहीं, पर पापा के जन्मदिन पे बच्चों को भी तो मज़ा आना चाहिए … क्यों मालिनी?’‘हाँ जी ज़रूर.

मैंने कहा- अगर दर्द हो रहा है तो निकाल लूँ?वह बोली- हाँ, निकालो जल्दी. मुझे थोड़ा अजीब लगता था, लेकिन उसके परिवार में सब लोग खुले विचार के थे.

आशीष भोसड़ी के मेरी चुत की जड़ तक अपना लौड़ा पेल!यह सब मैं जोर से बोले जा रही थी. मगर मुझे यह भी डर था कि मेरी चूत जो पूरी तरह से फ़टी हुई है और जब लड़के को पता लगेगा कि उसको चुदी चुदाई चूत मिल रही है तो वो शायद मुझ से पूरी तरह से मस्ती ना करे. इतना कह कर नफीसा ने मुझसे कहा- अब हम दोस्त हैं, इसलिए हर बात शेयर करेंगे.

अच्छा, गुड़िया तेरा नाम तो बता क्या है?” अंकल जी ने मेरे सिर पर प्यार से हाथ फेरते हुए पूछा.

वहां उन्होंने मेरा अंडरवियर उतार कर मुझ जमीन पर लिटा दिया व मेरे ऊपर चढ़ बैठे थे. उन्होंने सारा माल मेरे मुँह में ही डाल दिया और मैं भी मजे से पी गया. सुबह उठ कर मैंने दोनों दिलिया, सारा और गुलाबो को अपनी कसम दी कि वह मेरे लंड के सूजने और न बैठने की बात खास कर परिवार में किसी को नहीं बताएंगी क्योंकि खानदान के लोग बेकार में फ़िक्र करेंगे.

बीएफ हिंदी में सेक्स करते हुएअब हम दोनों ही बेकाबू हो चुके थे और चुदाई आग में बुरी तरीके से जल रहे थे. कुछ देर तक जब उनकी तरफ से कोई हरकत नहीं हुई तो मैंने हिम्मत की और काम पर लग गया.

भाई बहन की चुदाई की सेक्सी फिल्म

भाईदूज वाले दिन लंड के सुपारे पर तिलक करवा कर वो मेरी चूत पेलता था और कहा करता था- देख ले साला यह लंड पूरा बहनचोद है. काफी देर प्रयास करने के बाद भी लिंग योनि का मुख स्पर्श करके इधर उधर चला जाता. मैं आप सभी से पहले ही बता दूं कि ये एक फैंटसी से भरी देसी मॉम की चुदाई कहानी है व उसी फंतासी के चलते मेरी और मेरी मम्मा के कामवासना से भरे प्यार की कहानी है.

मैंने मुड़कर पति के लंड को देखा, तो मेरे पति का लंड मेरी चुत के पानी से पूरा लथपथ हो चुका था. इसके बाद मैं रात में अपने और निक के बारे में सोचती रहती कि उसका लौड़ा कितना बड़ा होगा. तू खुद देख लेना अबकी बार अगर तूने लण्ड नहीं चूसा तो वो तेरी चूत भी नहीं चाटेंगे.

मेरी कमसिन जवानी की कहानी में अभी तक आपने पढ़ा कि मेरे अंग्रेजी वाले टयूटर अंकल ने मुझे अपने जाल में फंसा लिया था और मुझे भी उनके इस जाल में फंसने में मजा आ रहा था. मैंने कहा- तो आज तुम दोनों का मन अपने भैया का प्यार पाने का है?स्नेहा मुझसे लिपट कर बोली- मैं तो कल ही आपका प्यार पाने कि बेचैन थी मगर आपने लिफ्ट ही नहीं दी. हैदराबाद पहुंचने पर हमारा जोरदार स्वागत हुआ और सबने नयी नवेली दुल्हनों को ढेरों तोहफे दिए.

मैंने कहा- देखो जानू, मैंने तुम्हारी चूत चाट कर कितना मजा दिया, क्या तुम मेरा एक बार भी मुंह में नहीं ले सकती?वह बोली- ठीक है, मगर मैं ज्यादा देर नहीं लूंगी. देखो बेटा, तुम्हारी चाहत को मैं समझता हूं तभी तो तुम मेरे साथ यहां तक आई हो, है कि नहीं? सोनम बेटा बात क्लियर हो तो बाद का टेंशन नहीं रहता; अगर तुम मुझसे अकेले में न मिलना चाहो, तुम्हारी कोई इच्छा न हो तो कोई बात नहीं, ये बातें यही समाप्त कर देते हैं, सिम्पल है.

कुछ ही दिनों में मैंने नोटिस किया कि जब कभी मौसी को बाहर जाना होता, तो वो साड़ी पहन लेतीं, पर घर पर आते ही वो मैक्सी पहन लेतीं.

उसके बाद मैं उसके पास चला गया। मैं उसको गौर से देखने लग गया।फिर मैंने अपना एक हाथ उसके पेट पर धीरे से रख दिया. बीएफ चोदा चोदी एचडीशीतल- आह उई … ये कैसे किया यार … ये तो मेरे साथ कोई पहली बार कर रहा है … आंह अनिल सच में मैं बहुत संतुष्ट महसूस कर रही हूँ. बीएफ वीडियो सोंग लिरिक्स 2a डाउनलोडतू खुद देख लेना अबकी बार अगर तूने लण्ड नहीं चूसा तो वो तेरी चूत भी नहीं चाटेंगे. जब उसकी तरफ से कोई हरकत नहीं हुई तो मैंने उसके चूचों को और जोर से दबाना शुरू कर दिया.

सोनल के मुँह से लौड़े पर बैठने का सुनकर मेरे लौड़े ने एक बार तुनकी मार कर ख़ुशी जाहिर की कि शायद उसका नम्बर चूत में घुसने का आ गया है.

मेरे होंठों को चूसती हुई बोली- हर्षद, आज मैं तुमसे कुछ मांगने वाली हूँ. ‘दोनों को? तुम तो कह रहे थे कि डैडी बर्थडे गिफ्ट में मम्मी की लेंगे. मैं यहीं हूँ … कहीं भागी नहीं जा रही, तेरी ही रंडी हूँ साले … आज तेरा जितना मन करे, चोद लेना.

वाओ, दैट्स ग्रेट बेबी, अरे मिठाई ले के आती न पहली चुदाई की!” डॉली बोली और मुझे बांहों में भर के बेड पर पटक दिया और मेरे ऊपर चढ़ बैठी. इसके बाद उसने बोला- अंश, अब मुझसे रुका नहीं जाता, तुम मेरी चूत में अपना लंड डालकर मुझे चोद दो. उसने पूछा- क्या?मैंने कहा- आपको वो सब देखने के लिये मेरे घर आना पड़ेगा.

सेक्सी ओरिजिनल बीपी

पर्दे के बीच की दरार से मैंने देखने का प्रयास किया मतलब दो पर्दो के बीच इतना गैप था कि मैं आराम से सब देख सकता था. तो सबसे पहले मैंने इनके बारे में और ज्यादा जानने की कोशिश की तो पता चला कि उनका नाम सुरेश है और वे एक सरकारी दफ्तर में अधिकारी की पोस्ट पर कार्यरत हैं. मैंने उसके सिर को दबाये रखा और तब ढीला नहीं किया जब तक कि मेरा पूरा वीर्य उसके मुंह में झड़ नहीं गया.

सफ़ेद रंग की चड्डी के अंदर से ही उसका लंड देखा तो मेरी हवा निकलने लगी.

सीधा होते ही अमर फिर से भाभी के ऊपर आ गया और फिर से एक ही झटके में पूरा लंड चुत के अन्दर कर दिया.

मैंने पीछे से ही उसके बूब्स को अपने हाथों में पकड़ लिया और उनको दबाना शुरू कर दिया. मैंने अपनी जांघें दोनों तरफ तान लीं तो सरिता की गांड की दरार बढ़ गयी और मेरा लंड उसकी जांघों में फँसता हुआ सरिता की गांड और चूत की दरार में सट गया. सनी लियोन के बीएफ भेजिएफ़्रेंड्स ये मेरी सच्ची देसी कॉलेज सेक्स कहानी थी आपको कैसी लगी … प्लीज़ मेल जरूर करें.

उसकी गांड जैसे कि तराजू का पलड़ा हो, एकदम बाहर की तरफ निकली हुई गांड थी. एक दिन वो मेरे घर आयी और मुझसे कहने लगी कि तुम कॉलेज क्यों नहीं आते हो?मैंने कहा- किस लिए आऊं?वो बोली- मेरे लिये. अगर इस कहानी में कोई गलती हुई हो तो माफ कीजियेगा क्योंकि मैंने हिंदी में लिखना अभी-अभी सीखा है.

लेकिन लाजवश मैं उनसे ऐसा कहा नहीं सकती थी और मैं दिखावे के लिए उनका विरोध कर रही थी. क्या इसी को प्यार कहते हैं?हम दोनों काफी थक चुके थे और एक दूसरे के साथ काफी देर तक लिपटे रहे.

मैंने उसकी आंखों में देखते हुए कहा- पीरियडस तो एवरी मन्थस होता है? तो क्या आपने इस पीरियडस के वजह से छुट्टी ली?वो- नहीं पीरियडस के वजह से नहीं, घर में कुछ फंक्शन था, जिसके वजह से मुझे छुट्टी लेनी पड़ी.

आप मुझे मेरी ईमेल आइडी पर मैसेज करके मुझसे सम्पर्क कर सकते हैं … मैं सभी का रिप्लाई देता हूँ. मेरे गांव के बाजू वाले शहर में एक पति पत्नी दोनों ही स्किन स्पेशलिस्ट डाक्टर हैं. उन वीडियोज को देख कर मुझे अपनी मम्मा सौम्या को चोदने का मन होने लगा.

मारवाड़ी बीएफ चोदा चोदी उन्होंने अपना मुँह मेरी एक कांख पर रख दिया और दूसरी पर अपना हाथ घुमाने लगे. उनको या तो मेरे होने का अहसास ही नहीं था या वे दोनों सब कुछ जानते हुए भी मेरे सामने ही अपनी कामपिपासा को शांत करने में लगे हुए थे.

उसी दिन शाम को सोनम ने मुझे बताया कि कल मम्मी दोपहर एक बजे दादा और चाची चाचा से मिलने अहरी जाएंगी. मौसी का चेहरा ठीक दरवाजे की तरफ था और इस वजह से मुझे उनके शरीर के आगे का भाग पूरा दिख रहा था, सिवाय उनकी चूत के. मैं जहाँ पर जॉब कर रहा था वहाँ मुझे ज्यादा मजा नहीं आ रहा था काम करने में, इसलिए मैंने विशाल भाई से बात करने की सोची.

सेक्सी वीडियो 1 साल का

फिर कुछ देर में मैं अपने लंड को हिलाने लगा और ट्रेन की तरह अपनी स्पीड को बढ़ाने लगा. उसने मुझसे कहा- यार प्रवीण, मुझे तुम्हारा इन्तजार करते करते तीन साल हो गए. मैंने अपना लंड पूजा गांड में ही डालना अच्छा समझा और अपना खड़ा लंड पूजा की गांड में घुसेड़ दिया.

उनकी चड्डी सूखी नहीं है, वो क्या पहनेंगे? आप जीजू का बिल्कुल ख्याल नहीं रखतीं. मारे उत्तेजना के मेरा लिंग पत्थर सा सख़्त हो रहा था और उसमें से प्री-कम भी बहुत निकल रहा था जिस के कारण वसुन्धरा की उंगलियां मेरे प्री-कम से सनी सनी जा रही थी.

दिमाग कुछ सोच ही नहीं पा रहा था कि किस तरह से भाभी की जवानी का रस चख लूं.

थक गयी होगी, चेंज कर लो।मेरा दिमाग तभी काम कर गया, मैंने भी अपने अपने कपड़े उतारे और केवल नीली चड्डी में खड़ा हो गया. मैंने ऊपर से ना नुकुर की मगर अंदर से मैं बहुत खुश थी कि आज इसके साथ जाने का मौक़ा मिला है और इसको किसी ना किसी तरह से फँसाना चाहिए और शादी के लिए तैयार करूँ. मैं सारे कपड़े निकाल कर नहाने जा ही रहा था कि घर के बाहर वाले दरवाजे की बेल बजी.

मैंने कभी सपने में भी नहीं सोचा था कि मेरे लौड़े द्वारा चुदने वाली पहली चूत मेरी सगी बहन की ही होगी. भैया ने पूरी स्पीड के साथ भाभी की चूत की खुदाई चालू रखी और अचानक से उन्होंने भाभी के चूचों को अपने हाथों में भर लिया और उनकी कमर पर लेटते चले गए. आन्या वासना से तड़प रही थी और मैं उसकी गांड में उंगली डाल कर उसकी चुत को चाट रहा था.

पर डर भी बहुत लग रहा है, कुछ हो गया तो?मैं- अरे कुछ नहीं होगा, तुम आंख बंद करो और अपनी चूत रगड़ाई का मजा लो.

नंगा बीएफ पिक्चर: प्रिय मित्रो, आपने मेरी पिछली कहानीमम्मी को दीदी के ससुर ने चोदापढ़ी और पसंद की. मैंने बाइक रोक कर फोन उठाया और दूसरी तरफ से लड़की की आवाज सुनकर मैं हैरान रह गया.

नीतू शाम के खाने की तैयारी शुरू तो नहीं की ना?”नहीं तो, क्यों?”आज शर्मा सर ने घर पर खाने को बुलाया है. पहले तो थोड़ी देर मैंने उनके चूतड़ों को हाथ से मसला, फिर अपने मुँह से उनके चूतड़ों को चूमने लगा. मुझे इन बातों में मजा आ रहा था लेकिन मैं नखरे दिखाती हुई बोली- जीजू कुछ तो शर्म करो, बहुत हो गया … प्लीज छोड़ो मुझे!जीजू- शिवांगी, तुम बहुत सेक्सी हो, तुम्हारी चूची कितनी प्यारी है.

वाह … क्या मजा आ रहा था यार!मैं बहुत गरम हो चुका था और अब मैं उनकी गांड मारना चाहता था.

इसके बाद हम दोनों कुछ देर उधर रुक कर एक दूसरे से आंखों ही आंखों में अपने प्यार का इजहार करने लगे. वो मेरी बात सुनकर हँसने लगी और बोली- तो फिर आज तुम मेरे साथ रियल में सेक्स कर सकते हो और मैं तुम्हें सिखाऊंगी कि सेक्स कैसे किया जाता है. लोगों का ध्यान कार्य से हट गया और फ्री रहते हुए वासना पूर्ति के अलावा कुछ ज्यादा सोच ही नहीं पा रहे थे.