देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी

छवि स्रोत,एक्स वीडियो ब्लू फिल्म बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

खूबसूरत चुदाई: देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी, अब मैंने नीचे ले जाकर भाभी को बेड पर लिटा दिया और कहा- मैं अभी डॉक्टर को फोन करता हूं.

माधुरी सेक्सी बीएफ

[emailprotected]अगर आपने मेरी पिछली कहानीखेत में भैया और उसके दोस्त ने चोदानहीं पढ़ी है, तो इसे भी पढ़ कर मजा लें. फुल सेक्स बीएफ हिंदीमैंने देखा कि मैं जबसे आया हूं, पाखी मेरे गठे हुए शरीर की ओर अपनी निगाहें जमाए बैठी है.

मैं अपनी मॉम की तड़फ को समझ रही थी कि उन्हें एक लंड से चुदाई कि सख्त जरूरत है. बीएफ देहाती चलने वालाअब भाभी मुझे अपनी पत्नी की तरह लगती हैं, इसलिए मैं भाभी की हर जरूरत को पूरा करने की कोशिश करता हूँ ताकि भाभी मुझे हमेशा अपनी चूत चोदने को देती रहें.

बहन बोली- भाई, अब मुझे ज्यादा मत तड़पा … जल्दी से अपना मूसल मेरी चूत में डाल दे और फाड़ दे मेरी चूत को … साली मुझे बहुत तंग करती है.देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी: मैं- अच्छा अन्दर देखूंगी सालो, कितने मोटे लंड है तुम्हारे … जल्दी से आ जाना और ख्याल रखना कि कोई देखे ना.

आंटी ने कहा- बेटा, इस पर थूक लगाकर मेरी गांड में डाल दे जिससे मेरी गांड तेरे चोदने के लिए थोड़ी खुल जाए.मैंने का- अब ये मैं कैसे कह सकता हूँ, ये तो मामा जी ही जानते होंगे कि आपमें कितना वजन है.

बीएफ वीडियो सेक्सी सेक्सी वीडियो बीएफ - देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी

सोनल एकदम से उठी और अपनी बेटी से बोली- किशी चलो नीचे जाओ और ये बर्तन दादी मां को देकर आओ.वो अपने हाथों से मुझे ऊपर उठाने लगीं और कराहने लगीं- आअअअ … एईई यार निकालो … मुझे दर्द हो रहा है आह अअह, तुम्हारा बहुत अन्दर तक जा रहा है.

अब भी मुझे दर्द हो रहा था लेकिन माय फर्स्ट सेक्स में मुझे मजा भी आ रहा था।अंकल मेरी चूत के दाने को सहलाते रहे और धक्के लगाते रहे. देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी चूंकि वो अपने घर में किसी भी तरह की ड्रेस पहन लेती थी तो मुझे कोई ख़ास हैरानी नहीं हुई.

एक दिन की बात है, मैं कुछ काम से अपने नजदीकी ब्लॉक में किसी का काम कराने गया था.

देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी?

मैं कुछ बोलने को हुआ तो विश्वेश्वर जी बोले- भड़वे! उठा कर नहीं ले जा रहे इस वेश्या को, बाहर जाकर पसर जा मादरचोद … बहरा हो गया है क्या?बिना कुछ बोले मैं बाहर आकर सोफे पर लेट गया. तो यह तय हुआ कि वो मुझे शेयर बाजार में काम करना सिखा देंगी और मैं उनके घर के काम कर दिया करूंगा. मैंने हमेशा की तरह एक छोटी सी शॉर्ट्स और टी-शर्ट पहनी थी, अन्दर कुछ नहीं पहना था.

तुम तो कह रही थीं कि तुम्हें दूसरा बेबी चाहिए और तुम्हारा पति अब बच्चा देने में असमर्थ है!भाभी मेरी बात सुनकर कुछ सोचने लगीं. किस तरह से कोमल मुझसे चुदी, ये सब मैं अपनी इस फर्स्ट लव किस स्टोरी के अगले भाग में लिखूंगा. नीरज ने हम दोनों को हमारे पैसों के बैग दिए और मैं व रीना होटल से चली गईं.

ग्राहक की ज़रूरत समझ कर उसको कैसे खुश करना है, इसका अभ्यास कराया गया. Xxx भाभी अपनी गांड को उठा कर घुटनों के बल बैठ गईं और अपनी गांड के सुराख पर लंड सैट कर लिया. मेरे तीनों छेद भर गए थे, हर तरफ मुझे लंड ही लंड लेने का अहसास हो रहा था.

अयाना ने मेरा चेहरा ऊपर करते हुए कहा- शरमाओ मत चाचा!और मेरा लन्ड को टच करते हुए कहा- इसी से आप मुझे मजा दोगे ना!मैंने कहा- हाँ बेटा!तब वो बोली- ये तो मुझसे बात ही नहीं कर रहा!क्योंकि मेरा लन्ड खड़ा नहीं हुआ था।अयाना ने मुझे घुमाकर मुझे पीछे से हग किया और लन्ड को पकड़ लिया. मैंने उससे कहा- मैं तुम्हें एक महीने तक हर रात चोदना चाहता हूँ … और इन सारी रातों में तुम मेरी गुलाम रहोगी.

एक बार चाची सास ने पूछा- तुमने वैशाली के साथ कुछ किया है?मैंने कहा- क्या कुछ किया है … साफ साफ बोलो न!चाची सास- कभी तुमने वैशाली के साथ सेक्स किया है?ये सुन कर मेरा लंड खड़ा हो गया.

उन्होंने धीरे से आवाज निकाली- आंह … पेलो न यार!मैंने भाभी के चूचों को सहलाते हुए तेजी से अपना लंड अन्दर बाहर करना चालू कर दिया.

जोगी सर ने लंड खोल कर दिखा दिया और बोले- यार टीना, मैं उतना नहीं कर पाऊंगा. मैंने कहा- नहीं दीदी, मुझे अच्छा नहीं लगता कि कोई मेरी वजह से परेशान रहे. और फिर मैंने ऐसे नाटक किया जैसे मैं सो ही रही थी, अब जाग गयी हूँ।अचानक अंकल ने मेरे मुंह पर हाथ रख लिया और बोले- बोलना मत! तुम्हारा भाई उठ जाएगा.

उसकी चूचियों का साइज़ देख कर पता लग रहा था कि उसकी ब्रा 38 नम्बर की होगी. धीरे धीरे उसकी चड्डी उसके जिस्म से अलग हो गई और मैंने पहली बार उसकी चूत के दर्शन किए. मुझे भाभी की चूत कैसे मिली?दोस्तो, मैं कई दिनों से अन्तर्वासना फ्री सेक्स कहानी पढ़ रहा हूँ.

वो मेरी मम्मी से बोले- आप अपने लड़के को बोल दीजिए कि इसके साथ आया जाया करे.

मेरा दोस्त खेल के मैदान में स्मार्ट फोन लाया और उसने मुझे इंडियन सेक्स मूवी दिखाई. मैं ज्यादा पीने के लिए नहीं कह रहा हूँ, जितना तुमसे हो सके, बस उतना ही पीना. वैसे भी चुदाई का तो मैं इतना अनुभवी था कि प्रिया को आज मैं जन्नत की सैर करवाने वाला था.

किशन- हां भैया, हमारी बिल्डिंग में मम्मी के सिवाए कोई ढंग की औरत नहीं है. काम देवी सेक्स कहानी में पढ़े कि मेरे भाई की शादी गोरी चिट्टी हंसिका मोटवानी जैसी भरे पूरे जिस्म वाली लड़की से हुई. मैंने अपनी छोटी बहन की बुर के छेद पर मुँह लगाकर चाटा, फिर मैंने अपना लंड उसकी बुर पर सैट कर दिया.

हम दोनों के अन्दर आग लगी थी जबकि हमें चुदाई का कोई मौका नहीं मिल पा रहा था.

मैं जल्द ही उसके घुटनों तक पहुंच गया और उसकी मस्त गोरी जांघों तक आ गया. मेरे इतना कहते ही उसके चेहरे पर एक मुस्कान आ गई, वो बोला- ठीक है, आज रात मिलते हैं.

देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी मेरे सामने भाभी की लाल फुद्दी थी और उसमें मेरा आधा लंड घुसा हुआ था. मेरा मन कर रहा था कि आज इसकी गांड में अपना लंड पेल कर गांड फाड़ दूँ.

देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी मैंने बुआ से बताने के लिए जिद की, पर वो बस इतना ही बोलीं कि समय आने पर तुम समझ जाओगे. भाभी की इस तरह की बात सुनने के बाद मैंने उनके सामने अपनी बात रखते हुए कहा- नम्रता मुझे हर रोज तुम्हारी चुदाई करना है, हर रोज मुझे चूत चोदने मिलेगी या नहीं?उन्होंने तुरंत कहा- हां ठीक है, मैं हर रोज तुमको चोदने को दूँगी, लेकिन पहले अभी मुझे चोदना शुरू करो.

मैंने उसे जोर से चूमा और कहा- हां जान … आज न मुझे अपनी बीवी का डर है और न तुझे अपने पति का.

भोजपुरिया सेक्सी वीडियो में

उसके साथ मेरा ब्रेकअप पिछlए साल लॉकडाउन खुलने के तुरंत बाद हो गया था. उसके बाद हमने खाना खाया।मुझे ठंड लग रही थी तो उस पहाड़ी लड़की ने कहा- जाओ बेड पर, तुमको ठंड लग जाएगी, मैं रसोई का काम खत्म करके आती हूँ।मैं बेड पर चला गया और कुछ देर टीवी देखने लगा।10 मिनट बाद वो रसोई का काम खत्म करके आयी. यह सुनकर राजेश मेरे ऊपर से हट गया और उसके तीनों दोस्त मुझ पर टूट पड़े.

उसने अपने दोनों हाथों में दोनों गिलास उठाए और अपनी जगह से उठकर मेरी गोद में आकर बैठ गई. मुझे दोपहर में खाना खाने के बाद नींद आने लगती है, तो मैं सीधा लेट गया और आंखें बंद करके ऊंघने लगा. जब मैं ज्यादा नहीं थूक पाया तो उसने मेरे मुंह में उंगली डालकर जबरन थुकवाया और उस थूक को अपने डिल्डो पर लगा लिया.

अलग होते ही भाभी ने कहा- आज के बाद आप मुझको कभी भी भाभी नहीं बोलोगे.

उसकी सिसकारियों से कमरा गूँज उठा।वो सिसकारियां लेते हुए कह रही थी- आह अर्जुन … ऐसे ही करते रहो, मज़ा आ रहा हैं, ऐसा मज़ा कभी नहीं आया. उन्होंने अपनी आंखों को बंद कर दिया था और पलंग पर हाथ फैलाकर सो गई थीं. कोमल बहुत डरी हुई थी क्योंकि वो बिना मां की लड़की थी, उसे बदनामी से बहुत डर लग रहा था.

हम दोनों रूम में आए और दरवाजे के बाहर ‘डू नॉट डिस्टर्ब …’ का बोर्ड लगा कर बंद कर दिया. मैं समझ गया था कि वो हर तरह के सेक्स में पारंगत है और मुझे भी वो अपने जैसा ही समझ रहा था. हॉट हनीमून सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरे हट्टे-कट्टे पति ने मुझे सुहागरात में चोदा तो मैं अपने बॉयफ्रेंड का लंड भी भूल गयी.

तभी अचानक दरवाजे को खोलकर राजेश और उसके तीन दोस्त कमरे में दाखिल हुए, जिन्हें देखते ही मैं और शर्मा अंकल घबरा गए और उठकर अपने कपड़े ठीक करने लगे. अब कॉलेज में हैलो हाय की जगह दिल से दिल मिलने लगा और हम दोनों के बीच नजदीकियां बढ़ने लगीं.

तभी दीदी ने पेटीकोट की डोरी खोल दी और अपनी गांड उठा कर उसे निकाल दिया. दूसरे परीक्षक ने कंडोम पर के-वाइ जैल लगाया और निर्ममता से लड़की की गांड और चूत चोदने लगा. पापा ने भी मुझे डांटा और मुझे मेरे ब्वॉयफ्रेंड से मिलने से मना कर दिया.

अब भी मुझे दर्द हो रहा था लेकिन माय फर्स्ट सेक्स में मुझे मजा भी आ रहा था।अंकल मेरी चूत के दाने को सहलाते रहे और धक्के लगाते रहे.

करीब दस मिनट की चुदाई के बाद मैंने लंड निकाल कर भाभी के आगे लाकर कहा- अब इसको मुँह में डाल कर चूसो. ये सिलसिला इतना आगे तक गया कि मैं क्लास में पीछे की बेंच पर अकेले बैठता और साथ पढ़ने वाली लड़कियों को देखकर मुठ मार लिया करता. यंग वाइफ हार्डकोर सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक दिन मैं अपनी बीवी को नंगी करके छोड़ने की तैयारी में था कि मेरा एक दोस्त आ गया.

मैंने कहा- ऐसे ही चली जाओ, क्या दिक्कत है!वो उठी और कमरे में ही बने बाथरूम की तरफ जाने लगी. मैं भी पूरी तरह से मदहोश हो रही थी और चूमने में उसका पूरा साथ देने लगी.

मैंने मैडम का सर अपने दोनों हाथों से पकड़ कर और अपने लंड के ऊपर रख दिया. शिखा मुझे वहीं ग्राउन्ड में अकेला छोड़कर अन्दर चली गयी थी, उसकी मम्मी ने उसे बुलाया था. जब नेहा दीदी चलती थीं तो उनकी गांड ऊपर नीचे देख कर मन यही करता था उनकी गांड में लंड पेल दूँ.

हिंदी सेक्सी फिल्म हिंदी सेक्सी फिल्में

अयाना बात बीच में काटते हुए बोली- मदद चाहिए चाचा या नहीं?मैं बोला- कैसी मदद बेटा?अयाना- मैं जानती हूं कि आपको एक औरत की जरूरत है.

सुकेश 2 साल से मेरे ही शहर में अपनी कॉलेज की पढ़ाई के लिए रह रहा है. ये कह कर मुझे सुनील जी ने एम्बुलेंस की चाबी दे दी जो उनके ऑफिस में ही थी. दोस्तो, ये मेरी फ्रेंड वाइफ सेक्स कहानी थी जो मैंने एक पाठिका मेघना की इच्छा पर लिखी है.

जैसे ही मैं थोड़ा जोर से धक्का लगा देता, वो अपने नाखून मेरी पीठ पर गड़ा देती और उसके मुँह से बहुत ही कामुक आवाज निकलती ‘ऊऊ ऊईई ईई मम्मीई. अभी भी चाची चिल्ला रही थीं- बहुत बड़ा लंड हो गया है तुम्हारा … आई ऊई आई मर गई … साला लंड है या आफत. बीएफ देहाती देसीदोस्तो, मैं अनन्त सिंह एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ.

न उसे मेरी चूत की परवाह है और न ही मुझे उसको अपनी चूत देने का मन करता है. मेरा पानी अभी नहीं निकला था, फिर भी मैं चूत में लंड डाले ही चाची के ऊपर लेट गया.

मैं चुपके से किचन में गया ओर चाची को पीछे से अपनी बांहों में जकड़ लिया. दिशा लगभग 23 साल की लड़की है और उसका फिगर लगभग 34-28-36 का है, हाईट लगभग 162 सेमी. आंटी मादक आवाज में कह रही थीं- आंह बेटा … तुझको मेरी चूचियों से ज़्यादा ही प्यार है … वरना और कोई तो किसी ने अब तक कभी भी इन्हें इतने खूंखार तरीके से नहीं चूसा.

वो दूसरी लड़कियों के साथ भी सेक्स और मस्ती कर लेते होंगे लेकिन मेरे साथ नहीं करते हैं. साली बोली- हाय जीजू … किधर खो गए आप!मैंने बोला- हाय … साली साहिबा बड़ी सेक्सी लग रही हो. उन्होंने फट से कंडोम पहना और उठकर मुझ पर सीधा लेट गए और मेरे चूचे हथेलियों में थाम लिए.

मैंने भी देर नहीं की, उसकी बुर को फैला कर मैंने अपना लंड बुर की फांकों में लगा दिया.

बुआ अपनी चूत उठा उठा कर लंड लेने लगी थी और बोल रही थी- आहह आहहह राज … और तेज़ तेज़ चोद मुझे!अब मैं भी बुआ को तेज़ तेज़ चोदने लगा और बोलने लगा- हां मेरी रानी, ले ले!मेरा लन्ड बुआ की मखमली चूत में मेरा लन्ड गपागप गपागप अंदर बाहर अंदर बाहर करने लगा और मैं उसकी चूचियों को चूसने काटने लगा. राजेश- जीजाजी, बिल्कुल सही कहते थे, तू तो एक नंबर की गर्म माल है ललिता.

दोस्तो, मैं अपने बारे में पहले ही आपको बता चुकी हूं कि मैं 38 वर्षीय एक सुंदर, कामुक और सेक्सी दिखने वाली महिला हूँ. मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं थी क्योंकि मैं अपनी लाइफ में बहुत व्यस्त था. उसकी चुदाई की भूख भी बढ़ती जा रही थी, मैं जब दोबारा से जल्दी गर्म नहीं हो पाता था तो वो मुझसे अपनी चूत चटवाकर अपना पानी निकाल लेती थी.

मुझसे रहा न गया और मैंने उसे खींच कर लिटा दिया और उसके जिस्म के हर हिस्से को अपनी जीभ से चाटने लगा. रणवीर ने मुझको कुछ रुपये दिए और बोला- हम दोस्त लोग, कभी कभी एक आंटी से सीखकर आए लड़कों की गांड मारते हैं. सभी को सोने की जल्दी थी, बहुत सारी नर्स गांड मरवाने को बेकरार थीं और उन सबने अपना अपना लंड को सिलेक्ट कर लिया था.

देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी मैंने इधर उधर देखा तो गुरबचन जी मुस्कुरा कर आंख के इशारे से नीचे दिखाने लगे. किशोर का चेहरा मेरे चेहरे के पास आता गया और ऐसे ही करते हुए उसने मेरे गुलाबी होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

सेक्सी सेक्सी फोटो दिखाओ

बीवी- हां मुझे नींद वाली गोली भी दे देना कल मुझे नींद अच्छे से नहीं आई थी. आपको मेरी पहले की कहानियां अवश्य पसन्द आई होंगी, आपकी मेल मेरा उत्साहवर्धन करती है कि मैं और अच्छी कहानियां लिख सकूं और आपको अपनी कहानियों के माध्यम से सेक्स का आनन्द महसूस करा सकूं. तो उसने बताया कि वो लोग डॉक्टर से चैकअप के लिए गई हैं और घर में अब सिर्फ़ तुम और मैं ही हूँ.

मैंने मज़ाक में कहा- कहो तो एक लंड गांड में भी डाल दें क्या?वैसे मैंने मज़ाक में ये बात कही थी पर ज्योति सिसकती हुई बोली- उफ़ … नो … नहीं … वहां नहीं!मैंने उसे चोदते हुए कहा- तो फुद्दी चुदवा साली … उफ्फ … अह्ह … ये ले मेरा लौड़ा … अपनी चूत में … उह्हह ह्हह्ह!तभी रोहित उसके सामने आ गया और घोड़ी बनी ज्योति की गर्दन और पीठ सहलाने लगा और चुसाई भी करने लगा. तो उसने मेरे कमरे की जगह पूछी- तुम्हारा कमरा कहां है?मैंने झट से उसे बता दिया और बातों ही बातों में उसने मेरा फोन नम्बर मांग लिया कि मुझे कोई काम हुआ तो मैं तुझे याद कर लूंगी. देहाती बीएफ बिहारवो बोलीं- आंह … आज चाहे जान से मार दे मुझे … मगर मेरी चूत की आग को ठंडा कर दे.

चूत के अन्दर जैसे ही अपने लंड को दाखिल करता तो जैसे दुनिया का सारा सुख मिल गया हो ऐसा लगने लगता था.

सोनल बोली- क्यों न हम सबको इस खेल में मिला लें!मैंने कहा- तुम पागल हो गई हो क्या?वो बोली- मुझे तुम्हारे साथ सेक्स करना है बस … ट्राई करते हैं. परंतु वरूण ने बहुत टाइम लगाने के बाद हां की क्योंकि उसका मन म्यूजियम जाने को था.

[emailprotected]अगर आपने मेरी पिछली कहानीखेत में भैया और उसके दोस्त ने चोदानहीं पढ़ी है, तो इसे भी पढ़ कर मजा लें. फिर मैं मां के पास आया और उनसे कहा- यार, दीदी के साथ कब तक हो पाएगा?मां- रुको कुछ समय तक. मेरी चाची जो एक दो महीने के लिए मेरे साथ भाग जाने का प्लान बना रही थीं.

साली बोली- हाय जीजू … किधर खो गए आप!मैंने बोला- हाय … साली साहिबा बड़ी सेक्सी लग रही हो.

गुरबचन जी ने अरुणिमा के बाल पकड़ कर पीछे खींचे और विश्वेश्वर जी उसके सामने खड़े होकर, उसकी जांघों को फैला कर आ गए. दस मिनट में मेरी चुत की चमड़ी लटकने लगी और गांड के छल्ले बाहर निकलने लगे. मैंने भी धक्के लगाना बंद कर दिए और खुद ही चाची के धक्कों की वजह से चूत में लंड डाले अपने आप ही हवा में उछलने लगा.

देसी लड़की की चुदाई वीडियो बीएफदेसी गर्ल सील तोड़ सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी गर्लफ्रेंड ने मेसेज करके मेरी शादी की बधाई दी और कहा कि अगर मुझे शादी होती तो मेरे साथ सुहागरात मना रहे होते. मेरे लंड से एक जोर से पिचकारी निकली जो ज्योति की पीठ से भी आगे तक शायद उसके सर तक ही गयी होगी.

सरिता भाभी की सेक्सी चुदाई

उन्होंने मुझसे कहा- तुम्हारे चाचा की दो दिन बाद नाइट शिफ्ट आएगी, तो उस वक्त तुम आ जाना. उसने लड़ते हुए मेरे होंठों पर हल्का सा किस कर दिया और बोली- अब बोल … और कर मुआ मुआ!इस वक्त मुझे अज़ीब लगा क्यूँकि मैं उसको हमेशा बहन मानता था।और मैंने उसको हल्का सा गुस्सा करते हुए कहा- ये क्या था?तो उसको खराब लगा कि उसने ऐसा क्यों किया और चेहरा लटका लिया और कुछ नहीं बोली।वो थोड़ी देर चुप रही. पीछे से शिखा का एक भाई, जिसका नाम अनुराग था, वो मेरी ओर कातिल नजरों से देख रहा था.

भाबी हाथों से मुठ मार मार कर चूस रही थीं और मेरे टट्टे सहला रही थीं. मैंने भाई से भाभी के बारे में पूछ लिया, तो उन्होंने बताया कि वो अभी कुछ दिन पहले ही अपने मायके से आई है. मैंने उसकी गांड पर थूक लगाया और अपना लंड सैट करके एक तेज धक्का लगा.

फिर मैंने बारी बारी से सबको एक-एक करके बाहर भेज दिया और खुद भी कमरे का ताला लगाकर बाहर आ गई. मुझे माल निकलते वक्त जैसा महसूस होता है, वैसा महसूस हुआ बस!अब मैं पूरी तरह से थक गया था. फ्रेंड वाइफ सेक्स कहानी मेरे ख़ास दोस्त की बीवी की चूत और गांड चुदाई की है.

मेरी बुआ के बेटे की अभी लॉकडाउन में शादी हुई थी परन्तु मैं लॉकडाउन के कारण शादी में जा नहीं सका था. उसकी इस बात से मुझे पता चल गया कि ये साली वर्जिन नहीं है, इसे चोदने में कोई दिक्कत नहीं होगी.

इस तरह से मैं तीनों के सामने अपनी जवानी को परोस रही थी और वो तीनों उसका पूरा मजा चख रहे थे.

नहाने के बाद हम दोनों वैसे ही गीले और भीगे हुए कपड़ों में नदी के किनारे रेत पर लेट गईं. बीएफ सेक्सी मॉडलमैं लंबे-लंबे धक्के लगा रहा था, शायद शराब ने मेरे चोदने के समय को बढ़ा दिया था और मैं उसकी चूत में लंबे लंबे धक्के लगा रहा था. वीडियो एचडी सेक्सी बीएफमेरे अन्दर कुछ देर पहले जो डर और घबराहट थी, वह अब रोमांच में बदल चुकी थी. अब आगे न्यूड यंग गर्ल सेक्स कहानी:फिर तीन दिन बाद मैंने अपने फार्म हाउस जाने का मन बनाया.

अब मैं आप लोगों के प्रेम का आकांक्षी हूँ, अगर फर्स्ट टाइम Xxx कहानी पसंद आयी हो … तो बहुत सारा प्यार दें ताकि आगे की Xxx कहानी लिखने का हौसला बना रहे.

इसके बाद मैंने भाभी की कमर पर हाथ रखते हुए उनको अपनी ओर खींचा और उनके मुलायम व कोमल होंठों पर चुम्बन करना शुरू कर दिया. बातों ही बातों में बुआ ने पूछा- क्या तू मेरी सहेली नीलिमा को चोदना चाहेगा?मैं- जरूर बुआ, पर कैसे?बुआ- उसकी चिंता तुम मत करो, मैं तुम्हें उसकी चूत दिलवाऊंगी, ये मेरा काम है. करीब दस मिनट की पीछे से गांड चुदाई के बाद किशन मेरी गांड में ही झड़ गया.

अब भाभी मुझे अपनी पत्नी की तरह लगती हैं, इसलिए मैं भाभी की हर जरूरत को पूरा करने की कोशिश करता हूँ ताकि भाभी मुझे हमेशा अपनी चूत चोदने को देती रहें. दीदी ने डेरी मिल्क लेते हुए मुझे पूछा- कोमल कब तक आएगी?मैंने बोला- बस आने ही वाली है. मुझे ऐसा अच्छा लग रहा था, इसी लिए मैंने लंड को बाहर नहीं निकाला और ऐसे ही अन्दर पेले रखा.

सेक्सी बी फ

अयाना अपना टॉप स्कर्ट उतार कर ब्रा पैंटी में आ गई पर मैं देख नहीं पाया।ब्रा पैंटी में ही वो मेरे ऊपर लेट गई, उसने मेरे हाथ पकड़ के फैला दिए और ऐसे मेरे ऊपर लेट गई कि हाथ के ऊपर हाथ, सर के ऊपर सर पीठ के ऊपर पीठ और पैर पर पैर थे।उसने मेरे गाल पर किस किया. एक दिन मेरे पड़ोस की लड़की मेरी मम्मी के पास अपने किसी काम से आई हुई थी, उसका नाम पायल था. शायद मेरे चाचा ने भी चाची के साथ इतने सालों में मजे नहीं किए होंगे, जितना मजा मैंने एक साल में चाची के साथ कर लिया था.

मैंने पूछा- क्यों बंदूक चलती नहीं है क्या?भाभी बोलीं- बंदूक घर में रहे, तब तो चले ना.

मेरे साथ पहली घटना होने के बाद मुझे लड़कियों के साथ सेक्स करने में ज्यादा मजा नहीं आता था.

मुझे ऐसा अच्छा लग रहा था, इसी लिए मैंने लंड को बाहर नहीं निकाला और ऐसे ही अन्दर पेले रखा. मैंने कामिनी कीखुली चूतको देखा तो उसकी चूत पर हल्के हल्के काले रंग की झांटें उगी थीं. बीएफ हिंदी न्यूज़ चैनल लाइव हिंदीमैं सलोनी भाभी की बात सुन कर बहुत खुश हुआ कि आज रात मौक़ा मिला तो भाभी की चूत जरूर चोद दूँगा.

फिर मैं सिगरेट देकर बाहर चला गया लेकिन मेरे दिमाग से डॉक्टर स्वाति के मम्मे नहीं हट रहे थे. हॉट Xxx आंटी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मुझे शेयर मार्किट की एक्सपर्ट मिली तो मैं उससे मार्किट के गुर सीखने लगा. मैंने कहा- फिर तो तू पीछे से भी ले लेगी?वो बोली- हां लेकर देख सकती हूँ.

मैंने कहा- जैसे मर्जी समझ लो!ज्योति बोली- बहुत मज़ा आया और आपका स्वभाव भी हमें अच्छा लगा. मेरा लन्ड तन गया था।बिना कुछ कहे आंटी ने अपना सूट उतार दिया।तब एक ख्याल आया मुझे … भले रहती शिमला में … ठंडी जगह रहती हैं … पर हैं बहुत गर्म!मैंने अपनी टीशर्ट लोअर चड्डी सब उतार दिया एकदम नंगा हो गया।आंटी को बिस्तर पे पटक कर लन्ड उनकी चूत पर रगड़ने लगा, उनके होंठों को बेतहाशा काटने लगा।मैं उनकी छाती चूमने लगा.

जैसे ही मेरा लंड का टोपा अन्दर गया कि उसकी सिसकारियां फिर से निकलने लगीं- ओ … मां मर गई … मेरी गांड में जलन हो रही है … आंह निकालो जल्दी बाहर निकालो.

थोड़ी देर रुकने के बाद मैंने जोरदार शॉट लगाया और पूरा का पूरा लंड नंगी चूत में समा गया. मैं पहली बार किसी का लंड चूस रही थी लेकिन इतने अच्छे से चूस रही थी कि मुझे खुद पर यकीन नहीं हो रहा था कि मैं पहली बार लंड चूस रही हूं. फिर एक एक करके सारे एमसीबी आन कर दीं, जिस एमसीबी के आन करने से मेन फिर से गिरा, तो मैंने उसको डाउन कर दिया.

हिंदी बीएफ भारत की दोस्तो, मुझे आशा ही नहीं वरन विश्वास है कि आपको मेरी इस सेक्स कहानी को पढ़ने में मजा आ रहा होगा. [emailprotected]लेखक की पिछली कहानी थी:एक घरेलू लड़की से कालगर्ल बनने तक का सफरनामा.

मैं समझ गया था कि वो हर तरह के सेक्स में पारंगत है और मुझे भी वो अपने जैसा ही समझ रहा था. सभी आर्ट ऑफ़ सेक्स सीखने वालों ने आपस में सलाह की और बिल्डिंग में रहने का फ़ैसला आंटी को बता दिया. फिर मैंने दूसरे प्रयास में आधा लंड भाभी की योनि में डाल दिया।भाभी एकदम से बेड पर से उछल उठी और बोली- प्लीज शानू, धीरे करो … मेरी जान निकल जाएगी!पर मैं कहां सुनने वाला था।मैंने एक हाथ से भाभी की गुलाबी चूत पर वापस अपना लंड सेट किया और दूसरे हाथ से उनके बड़े बूब्स को पकड़ा और एक ही झटके में पूरा लंड उनकी योनि में उतार दिया.

नंगा सेक्सी वीडियो इंडियन

मैं उसे पहले से छोड़ता था पर लॉकडाउन की वजह से हम चुदाई नहीं कर पा रहे थे. दोस्तो, मैं अनन्त सिंह एक बार फिर से अपनी सेक्स कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. मेरा मन कर रहा था कि मेरा पानी कभी निकले ही न … और मैं उसे बस ऐसे ही चोदता रहूँ.

अब मैं अपनी बहन की चूत चुदाई के समय उसकी गांड में उंगली भी करने लगा था इससे मेरी बहन की गांड ढीली होने लगी. कसरत में मदद के समय कोई लड़का जब मुझे छूता, तब मुझे बहुत अच्छा लगता था.

मैंने आंटी के कान में कहा- आंटी, सेक्स राइड चाहिए तो बोलो, मैंने इंतजाम कर लिया है.

आपको मेरी लेस्बियन पोर्न कहानी कैसी लगी, मेरी ईमेल आईडी पर मेल करके बताइए. मैं तो आपकी दीवानी उसी दिन हो गई थी, जिस दिन दीदी को आपने पहली बार में ही उन्हें बेहोश करने तक चोदा था. गोद में भी उठा के पेलता हूं।अहाहा … जब चूत में लन्ड घुसता है और वीर्यपात होने के बाद निकलता है … क्या मजा मिलता है।अब मैं आंटी के घर में नहीं रहता.

धीरज फूले सांस के साथ पानी पीने लगा।दीपक निरोध के अंदर मेरी चूत में ही झड़ गए।मैं बता नहीं सकती, उनका लंड लेकर बड़ा सुकून मिला।इस आदमी को सुबह से चोदने के ख्याल से में गीली हुए जा रही थी।स्विमिंग पूल सेक्स कहानी पर अपने विचार जरूर लिखें. उसके मम्मी पापा के आने से पहले रात को मैं वहां से निकल गया और वापस आ गया।पर उसके बाद भी मैंने उसकी देहरादून में चुदाई की वो कहानी फिर कभी!पहली बार कहानी लिखी हैं इसलिये त्रुटियों के लिए क्षमा चाहता हूँ।तब तक आप ईमेल के माध्यम से बताएं कि आपको मेरी ये सच्ची देसी गर्ल सील तोड़ सेक्स कहानी कैसी लगी।[emailprotected]. उस समय हम दोनों ही एक दूसरे को इस तरह से समेटे हुए थे, जैसे दो प्रेमी जन्मों बाद मिल रहे हों.

मैंने चाची के मम्मों को बहुत जोर से पकड़ लिया और पूरा जोर लंड के ऊपर लगा दिया.

देहाती बीएफ हिंदी सेक्सी: जब मैं सुबह उठा तो मेरे अंडरवियर में सफेद सफेद दाग लगे हुए थे जो रात को लंड से निकले पानी के थे. मेरे प्यारे दोस्तो, आपको मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी, प्लीज़ आप मुझे मेल करके बताएं कि चुदाई कहानी में आपको क्या कमी दिखी.

अब अरुणिमा चुद गई है ही, तो तुम कोई प्रतिक्रिया मत दो और ना ही हस्तक्षेप करो. आंटी बोली- हाय बेबी मेरी जान … तेरी चूत तो गीली हो गयी ओर बहुत गर्म भी है. वो कभी कभी यहां मुंबई आ जाती है और कभी सात दिन तो कभी 15 दिन रह कर जाती है.

एक बार मामी ने मेरी आंखों में देखा और वासना से मुझे देखते हुए उन्होंने अपने होंठों पर अपनी जीभ फिरा दी.

वो हौ हौ करती हुईं, सीधी बाथरूम में चली गईं और मुँह साफ करके आ गईं. शाम को भी मेरा आंटी के घर जाने का दिल नहीं कर रहा था, मुझे बेहद डर लग रहा था. काफ़ी देर चूत चाटने के बाद लड़कों को पीठ के बल लिटाकर उनको पेनिस रिंग पहना दिया गया.