नंगी बीएफ ब्लू फिल्म

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो सेक्सी वीडियो कॉलिंग

तस्वीर का शीर्षक ,

क्सक्सक्स कार्टून: नंगी बीएफ ब्लू फिल्म, प्रशांत- बेटा, कहां जा रहे हो, यहीं रुको और तुम भी हमारी फैमिली के मेम्बर हो, हमारे साथ ही रहो.

हिजड़ों की सेक्सी फिल्म वीडियो

मैं भाभी के ऊपर चढ़ा था और उनके दोनों पांव हवा में ऊपर की ओर उठ गए थे. व्हिडिओ सेक्सी व्हिडिओ इंडियासब ठीक हो जाएगा।मेघा फिर मेरे सुस्त लण्ड को पकड़ कर खेलने लगी।फिर मैंने पूछा- रात को और भी चुदवाओगी अपनी बहन के साथ?मेघा ने मना कर दिया और अंजलि को भी इस बारे में नहीं बताने को कहा.

मेरी ठरक भी उनको देख कर उमड़ रही थी।थोड़ी देर के बाद मेरी पीठ पर बीच में बैठी हुई लड़की के बूब्स टकराने लगे और मेरा लन्ड खड़ा हो गया. हिंदी चुदाई दिखाओ सेक्सीअब मैंने पानी डाल कर उसको धोया और पट्टा खींचते हुए वापस कमरे में आ गया.

एक हाथ से मैं उसकी कच्छी के ऊपर से उसकी चूत सहलाने, भींचने लगा और दूसरे हाथ को उसकी मोटी गांड पर घुमाने लगा.नंगी बीएफ ब्लू फिल्म: कुछ मिनट के बाद उसने अपनी बुर से पानी छोड़ दिया और मैंने सारा पानी पी लिया.

कुछ दिन पहले ही अन्तर्वासना पर सेक्स कहानी पढ़ते हुए मेरे मन में आया कि क्यों ना मैं भी आप लोगों से अपनी कहानी साझा करूँ.मैंने कहा- मैं अपनी तारीफ खुद नहीं करता … तुम्हें सोनल ने बताया होगा ना.

मुस्लिम इंडियन सेक्सी - नंगी बीएफ ब्लू फिल्म

दो मिनट बाद ही मेरी बहन का फोन आया, उसने बताया कि गैस मंगवाने की जरूरत नहीं है.फिर वो दिन आ ही गया, जब हम दोनों के लंड और चुत का मिलन होने वाला था.

मैंने उसके कान में धीरे से कहा- पसंद आया?वो कुछ नहीं बोली, बस नशीली आंखों से मुझे देखने लगी. नंगी बीएफ ब्लू फिल्म वो दिखने में अच्छी है, रंग थोड़ा दबा हुआ है लेकिन शरीर की बनावट से भरी हुई है, लम्बी भी है.

इस एक हफ्ते में चुदवा चुदवा कर अवनीत मस्त हो गई, हफ्ते भर में उसकी चूचियों और चूतड़ों का साइज दो इंच बढ़ गया था.

नंगी बीएफ ब्लू फिल्म?

मेरे मुँह से सिसकारियां निकल उठीं- आह्ह्ह सोनिया चूसो … इसे पूरा मुँह में ले लो … मजा आ जाएगा … चूस डालो इसे केला समझ कर. इसी तरह सुबह ग्यारह बजे से ले कर दोपहर के दो बजे तक दो राउंड हुए जिसमें सबकी भरपूर चुदाई हुई. उन्होंने मुझे 15 मिनट बाद में आने को बोला।थोड़ी देर बाद में मैंने अपना घर लॉक किया और भाभी के घर चला गया.

मेरी बड़ी बहन ने सेक्स के मजे में पागल होकर एकदम से मेरा मोटा और आठ इंच लम्बा लंड अपनी मुट्ठी में ले लिया. मेरा लंड आन्दोलन करने लगा था और दिल ने बोला कि भाभी को चोद कर उनके बच्चे का बाप मैं ही बनूंगा. सोनाक्षी दीदी की शादी 5 साल पहले हो चुकी थी, पर आज भी उनकी चूत आज भी उतनी ही प्यासी है, जो उनके अविवाहित के समय थी.

आपको गर्म कॉलेज गर्ल की चुदाई की मेरी हिंदी सेक्स स्टोरी में मजा आया होगा. मैं शाम को ट्रेन से उनके शहर के लिए निकल गया और बड़ी सुबह उनके शहर आ गया. अब चिकनाई की वजह से मेरा लंड सरलता से अन्दर बाहर हो रहा था और पूरे रूम में फच फच की आवाज आ रही थीं.

मैं जोर जोर के धक्कों के साथ उसकी चूत में अपना लंड अन्दर बाहर करने लगा था. अबकी बार आधा लंड उसकी चुत में घुस गया और वो जोर से चिल्ला उठी- उईईई … आआह्ह मर गयी.

इशा- आह जीजा आराम से … क्या मार ही डालोगे … पूरे जानवर हो … मुझे फंसा ही लिया.

मैंने उसकी पैंटी को भी उतार दिया और मैंने देखा कि उसकी चूत शेव की हुई थी और गीली हो गयी थी.

इस पर अम्मी हंसती हुई बोली- उसे क्या पता तुम्हारी चुदाई का जलवा … तुम घोड़े जैसे चोदते हो! वो अभी नई-नई है, धीरे-धीरे उसे भी आदत पड़ जाएगी तुम्हारी चुदाई की! पर शकील तुम बहुत बहन के लोड़े हो. उस वक्त लॉकडाउन हो गया था और मैं अपने एक अंकल के घर पर रहने के लिए गया था।तो दोस्तो, मेरी इस कहानी में हुआ यूं था कि मैं किराए के एक रूम में अकेला रहता था. आप लोगों को तो पता ही होगा कि अकेले रूम में इंजीनियरिंग का स्टूडेंट रहता है, तो क्या होता है.

मैं नीचे उतरा और मॉम को सोफे पर बिठाकर उनके मुँह में अपना लंड घुसा दिया. भाभी ने भी कहा कि हां यार मैं भी यही चाहती हूँ पर मौका ही नहीं मिल रहा है. फिर मैंने अपने लंड का टोपा आइला की चूत पर रखा और उसकी दोनों टांगों को अपने कंधे पर रखकर उसके मम्मों को पकड़ लिया.

एक दिन श्रुति भाभी ने बताया कि वैशाली दो दिन घर में अकेली रहेगी और वो तुम्हें अपने घर बुलायेगी.

फिर मैंने इसी पोजीशन में उसको सीधा किया, जिसके कारण हमारे चेहरे अब एक दूसरे से दो इंच की दूरी पर थे. हालांकि अम्मी प्यासी रह गई थीं … लेकिन तब वो आज कोई रिस्क नहीं लेना चाहती थीं. लेकिन मैं अभी भी पूर्वी को चोदे जा रहा था और कुछ देर बाद हम भी झड़ कर शांत हो गए।उस रात हमने मिलकर बहुत चुदाई की।उसके बाद घर में हम नंगे ही घूमते और जब पापा ऑफिस जाते तब पूर्वी और माँ को मैं एक साथ चोदता।हमें 4 महीने बाद पता चला कि पूर्वी और माँ दोनों पेट से हैं.

तो दोस्तो, ये थी मेरी और मेरी बहन युविका के चुदाई के सफर की कहानी। आप इस कहानी के बारे में क्या सोचते हैं ये कमेंट करके जरूर बताइयेगा।धन्यवाद।[emailprotected]चुदाई के सफर की कहानी से आगे की कहानी:लॉकडाउन में फिर से दीदी को चोदा- 1. कुछ समय तक लंड अन्दर बाहर करने के बाद मैंने एक जोर से धक्का लगा दिया, जिससे मेरा पूरा लंड चुत के अन्दर समा गया था. एक बार चुदाई के बाद दुबारा हमें मौका नहीं मिल रहा था कि हम चूत गांड चोदन कर सकें.

वो कोशिश कर रहा था कि मेरी गांड का छेद थोड़ा और खुल जाये और जब मेरी गांड की चुदाई चालू हो तो मुझे कोई तकलीफ न हो.

आह्ह … कसम से क्या मजेदार बूब्स थे भाभी के … मन कर रहा था इनको यूँ ही चूसता रहूँ. आज मैं आप सबके साथ अपने जीवन के वो पल साझा करने जा रहा हूँ, जो शायद मेरी उम्र के लड़के अक्सर उसी बात के बारे में सोचते रहते होंगे या उसका सपना देखते होंगे.

नंगी बीएफ ब्लू फिल्म उसके हाथ मेरे बालों पर जमे थे और वो बार बार लंड से चुदाई करने के लिए कह रही थी. तभी उसने मुझसे बोला- क्या हुआ मिस्टर सेकंड फ्लोर, यहीं थाली ले आऊं या अन्दर आओगे.

नंगी बीएफ ब्लू फिल्म मॉम ने अपना पल्लू नीचे किया हुआ था, तो मैंने मॉम के गले पर किस किया. फिर हमारे सीनियर्स ने हमें फ्रेशर्स पार्टी दी, जिस पार्टी में मैं और कुसुम ने मिल कर पेपर डांस में भाग लिया.

उसने भी मेरे लंड के रस की एक बूंद खराब नहीं होने दी और वो मेरे सारे रस को पी गई.

बॉर्डर वाली सेक्सी वीडियो

मैं अपनी विधवा मां और तलाकशुदा मौसी के साथ पूर्वी उत्तर प्रदेश के एक छोटे गांव में रहता हूं। दोनों का बदन सेक्सी चोदने लायक है भरा हुआ. राजीव भी समझ गया कि अब यीशा की चूत को मजा आने लगा, वो जोर जोर से लंड अन्दर बाहर करने लगा. इस पर उसने कहा- तो मिस्टर दिलचस्पी कहां रखते हो?मैंने कहा कि विवाहित औरत में ही मेरी रूचि रहती है.

फिर जब उसने हल्के से अपनी कमर हिलाई, तो मैं भी आधे लंड से ही उसको धीरे धीरे चोदने लगा. मैंने उसको अपने पास बिठाकर अपनी बांहों में पकड़ लिया। मैं धीरे-धीरे उसकी चूचियों को दबाने लगा. दो मिनट बाद जब मॉम नॉर्मल हुईं, तो मैंने उनके कान में बोला- रानी थोड़ा दर्द होगा, पर संभाल लेना … फिर मजा आएगा … बस हिलना मत.

मेरी अगली कहानी गुजराती भाभी की है! अहमदाबाद में जो मजा मुझे मिला है, उसका तो मुकाबला ही नहीं हो सकता.

फौजी की बड़ी बेटी पढ़ाई छोड़ चुकी थी और पिंकी की कॉलेज की पढ़ाई पूरी होने वाली थी. मेरे दिमाग में एक आईडिया आया कि अगर इन्हें चोदना है, तो यहीं चोदा जा सकता है. अगर मैं संदीप की जगह होता तो तुम्हारे चेहरे पर रत्तीभर भी शिकन नहीं आने देता.

कोई 30 मिनट तक नहाने के बाद मुझे तैरता देखकर छोटी बुआ बोलीं- मयूर, तूने बोला था कि तू हमें भी तैरना सिखाएगा. दरवाजा बंद होते ही फूफा जी की आंख खुल गई, वे खड़े हुए और उन्होंने अम्मी को पकड़ लिया. कुछ देर भाभी के आमों से खेलने के बाद मैं थोड़ा नीचे को हो गया और अब मैं उनकी नाभि को चूमने लगा था.

मैंने भाभी से कहा- क्या वह मुझे चोदने देगी?भाभी ने कहा- मैं उसे तैयार करूंगी. वे बोले- अरे तुम इतना कैसे भीग गए … जब इतनी तेज़ बारिश हो रही थी, तो आज नहीं आते.

अब तो मुझे चाची का इशारा मिल गया था और मैंने उनकी गांड को थाम लिया और अपनी लोअर में से ही उसकी गांड पर लंड को रगड़ने लगा. मैंने फिर देखा कि अब मेरी दीदी ने भी उस फौजी को देखा, पर वो अभी भी वैसे ही मम्मों को दिखा रही थीं. तभी अचानक एक गर्म लावा मेरे मुख में पूरी तरह भर गया, मैं सारा माल अपने गले के नीचे उतारने लगी और ज़ोर से लंड चुसाई करने लगी। मैंने उसका पूरा लंड चाट कर चमका दिया.

उसने ओ के कहा और तुरन्त ही उसका गूगल डिओ पर वीडियो कॉल आ गया जिसमें उसने अपने एक एक कपड़े को वीडियो कॉल पर उतारा.

मैं लंड पकड़ कर चुत पर टिकाया और उनकी टांगों को फैला कर अपने लंड को उनकी चुत पर सैट कर दिया. बीस मिनट की चुत चुदाई के बाद वो फ़िर से झड़ गई … परंतु मैं अब भी नहीं रुका. इसलिए उन दोनों ने लगभग एक घंटे में अपने कमरे में पूरा सामान सैट कर लिया था.

मैंने 3-4 बार ट्राय किया, पर नतीजा वही निकला, तो मैंने एक दिमाग लगाया और अपना लंड मॉम के मुँह के पास ले गया और उनको चाटने को बोला. पिछले एक हफ्ते से मैंने चुदाई नहीं की थी तो मुझे पूरा जोश चढ़ा हुआ था.

मैं उनके टेबल के पास पहुंची, तो आहट पाकर उन्होंने अपना सर ऊपर किया. उनकी मदमस्त चुत देख कर मुझे बड़ा अच्छा लगा और मैं उनकी चुत देखने लगा. उसके मुँह से सेक्सी आवाज़ ‘इस्सस आह’ निकला और बच्चा गोद से छूट कर गिर गया.

हिंदी सेक्सी लंड चूत

तभी वो मेरे करीब आ गईं और मैंने संजना आंटी की सांसों को महसूस किया.

एक सुबह जब मॉम मुझे उठाने आईं, तो मैं उनसे पहले ही जग गया और अंडरवियर नीचे करके लोअर में ही लंड खड़ा करके इस तरह से सोया कि मेरे लंड का सुपारा और उसकी लम्बाई दोनों का आसानी से पता चल जाए. दोस्तो, यह मेरे पहले सेक्स की मेरी सच्ची चुदाई कहानी आपको कैसी लगी?आप मेरे ईमेल[emailprotected]पर रिप्लाई जरूर करें. वो सर्दियों की छुट्टियों में आई हुई थी और मैं तो बहुत खुश था उसको देखकर.

मैं जानता हूं कि आज तुमने मुझे असीम आनन्द की अनुभूति कराई है … और आगे भी इसी प्रकार मैं तुम्हें आनंद के सागर में गोते लगवाता रहूंगा।इतना कहकर हम दोनों ने फिर से एक दूसरे को चुम्बन दिया और फिर उठकर अपने और बिस्तर के कपड़ों को सही किया. मेरे दूसरे मामा यानि कि सबसे बड़े मामा से दूसरे नम्बर के मामा अक्सर हमारे घर आते जाते रहते थे. चुम्मा चाती वाला सेक्सीपिताजी मज़दूरी करते हैं और मां घर पर रह कर घर के सारे देखभाल करती हैं.

कोई काम है?वो बोली- नहीं उसे सोने दो। तुम भी आराम करो, मैं मंदिर जा रही हूं।बुआ के जाने के बाद मैंने राखी को जगाया. जोश में आकर शकील ने कहा- जब तेरी जैसी रंडी यार हो तो फिर चूतों की कमी थोड़ी होती है.

मैंने उसे डांटते हुए कहा- बेवकूफ औरत … दिमाग नहीं है क्या तुझमें? घर में मैं अकेला हूं तो नॉक करके अंदर आना चाहिए ना?वो बोली- माफ़ करना साहब, कुंडी नहीं लगी थी तो मैंने सोचा कि कोई नहीं है अंदर!मैं बोला- नहीं, आज तूने हद कर दी. फिर वो लगभग चिंघाड़ते हुए झड़ गयी … और मेरी छाती पर निढाल हो कर गिर गई. मेरी मौसी बोलीं- दीदी अगर मैं प्रेगनेंट हो गई, तो क्या होगा?तभी मेरे पिता जी ने कहा- तू भी मेरी आधी घरवाली है … पर आज से तू पूरी है.

हम तीनों ही इस बात का विशेष ध्यान रखते थे कि मोहल्ले में किसी को शक ना हो जाए और इस तरह की हरकतें कम होने के बजाय और बढ़ती ही जाती हैं. इसी दौरान भाभी का भी सिर्फ एक ही बार पानी निकला था, जिसकी वजह से चुत और लंड के बीच की चिकनाई खत्म हो चुकी थी. और तभी मेरे लौड़े ने वीर्य की धार राखी की चूत में छोड़ दी।दोनों चिपक कर लेट गए और पता नहीं चला कब नींद आ गई।सुबह गेट बजने की आवाज आई तो दोनों नंगे पड़े थे.

धीरे धीरे उनकी चूचियों को मेरे हाथ मसलते रहे और देखते ही देखते मामी की सिसकारियां निकलने लगीं.

कोई 40-45 मिनट चुदाई के बाद दोनों फिर से झड़ गईं और इस बार मेरा भी पानी निकल गया. वो मेरे ऊपर आ गयी और मेरी गर्दन से किस करते हुए छाती पर चूमते हुए वो नीचे मेरे अंडरवियर पर जा पहुंची.

अचानक से मेरे लंड का टोपा उसकी चुत में घुस गया और चुत का दरवाजा सा खुल गया. साथ में डर भी लग रहा था कहीं वो मेरे घर वालों को मेरी इस हरकत के बारे में न बोल दे।करीब दोपहर के 2 बेज मेरे मोबाइल पर एक अनजान नंबर से कॉल आया. लेकिन आज नंबर मेरी मम्मी का ही था उससे चुदने का।कुछ देर के बाद हम सबको मम्मी ने अपने अपने कमरे में जाने को बोला और सागर को अपने पास रोक लिया।मैं कमरे में आने के बाद चुपके से उनपे नज़र रखने लगी.

मैंने भाभी को सॉरी कहते हुए अपनी गलती मानी और उनको मेरे अपराध के लिए माफ करने के लिए कहा. मैंने उसको रोकना चाहा मगर उसने ऐसा जाल फेंका कि …दोस्तो, मैं सीमा चौधरी अपनी कहानी के दूसरे भाग के साथ हाजिर हूं. फिर उसने धीरे धीरे मेरी गर्दन को चूमते हुए मुझे नीचे लिटा लिया और मेरी पूरी बॉडी को चूमने लगी.

नंगी बीएफ ब्लू फिल्म उनका ब्लाउज खोल दिया और पाया कि नीचे से मौसी ने अपनी चूचियों के ऊपर ब्रा भी नहीं पहनी थी. अब आगे:मैंने प्रशांत से कहा- प्रशांत यार, तेरे तो मज़े आ गए, आज तो तू मेरी मां के गोरे गोरे बदन का मज़ा लेगा.

बड़े स्तन सेक्सी

मैंने अपने हाथ को पूरा मौसी की चूत पर रगड़ दिया और मौसी की छोटे बालों वाली चूत को मैंने हथेली से सहला दिया. इतनी मस्त चुदाई के बाद अभी भी ना फौजी के लंड की प्यास बुझी थी और ना ही दीदी की चूत की प्यास … तो वो दोनों एक दूसरे से चिपक कर फिर से फोरप्ले करने लगे. मैं उसे लेकर एक दुकान में गया और उसे कुछ साड़ी और ब्लाउज दिलाया और कुछ सस्ते सूट और कुछ मैक्सी दिला दी.

आज रात को हमें एक ही रूम में सोना था क्योंकि कल शिल्पी और नीता अपनी आंटी के साथ सोयी थी और मैं अंकल के साथ नीता वाले रूम में था।मौका अच्छा था और मुझसे रुका न गया और मैंने नीता को शिल्पी की चुदाई के बारे में कहा. मैंने उसकी चूचियों के बीच में मुंह रख दिया और तेजी के साथ उसकी चूत को चोदने लगा. सेक्सी दिखाएं वीडियो में चुदाईइस कोशिश में मेरे हाथ भाभी के मम्मों पर लग गए थे और मैंने भाभी के दोनों मम्मों को जोर से दबा दिए थे.

मैंने उसकी कमर को फिर कस कर पकड़ा और अपनी तरफ दबा कर घूम गया और उसे दीवार से लगा दिया। दीवार के साथ लगे हुए अब मैं उसके कंधे और गले पर किस कर रहा था.

उसकी इस अदा से मैं तो घायल ही हो गया। चारू आज मुझे हुस्न की मलिका दिखाई दे रही थी. फिर कुछ देर में पापा लंड आगे पीछे करने लगे और माँ ने आँखें खोल ली और उन्ह उन्ह उन्ह की आवाज़ करने लगी।फिर मैं भी धीरे धीरे लण्ड आगे पीछे करने लगा और फिर पापा और मैं तेज़ी से माँ को चोदने लगे।माँ ने कहा- बेटा, तुम दोनों भाई बहन भी तो एक बार मेरे सामने चुदाई करो।मैंने कहा- क्यों नहीं माँ!और फिर माँ मेरे ऊपर से हट गई और बाजु में लेट गयी.

शकील ने अम्मी का हाथ पकड़ा, अपने लंड को रजाई के अंदर ही बाहर निकला और अम्मी के हाथ में थमा दिया. यूँ तो मैंने इसके पहले भी नंगी औरतें देखी थीं, मगर जो बात कुसुम में थी, वो मुझे आज तक किसी और में नहीं मिली. मैं सोच रही थी कि आज संजय अंकल तो है नहीं … तो क्या हुआ … मैं तनिष्क को भी मौका दे देती हूँ.

फिर उस दिन चाचा के आने का टाइम हो गया था तो चाची ने मुझे हटा दिया और कपड़े पहनने लगी और मैं भी समय की नजाकत को समझते हुए कपड़े पहन कर वहां से निकल लिया.

वह भी मेरी कोली भरकर मुझे जमकर चोद रहा था और इसी पोज में मेरी चूत ने अपना पानी छोड़ दिया. मैम ने मुझसे कहा- अब घोंचू सा क्यों खड़ा है?ये सुनते ही मैंने उनको बिस्तर पर लेटा दिया और उन्हें किस करने लगा. एक दिन वैशाली ने मुझे फोन करके अपने घर का पता बता कर कुछ कपड़े मंगवाये कि इस बहाने मैं उनका घर देख लूं.

सेक्सी फिल्म सेक्सी फिल्म वीडियो एचडीउसकी जीभ एक दो बार मेरे टोपे पर फिरी और इसी बीच मैं नीता के मुंह में ही झड़ने लगा।मेरे मुंह से आह्ह … निकल गई मगर मैंने अपना मुंह जल्दी से बंद कर लिया और चुप हो गया।शिल्पी– क्या? क्या बोल रहे हो? जोर से बोलो।मैं– वो … शिल्पी … हम अभी आ रहे हैं. जैसे ही उसे मौका मिला तो उसने एक स्टेप में मेरे लंड पर अपनी चुत रगड़ दी और साथ ही अपने हाथ से मेरे लंड को मसल भी दिया.

मुंबई भाभी सेक्सी वीडियो

मैं खुश भी था और दुखी भी; क्योंकि बिना कॉन्डम को चोदा था तो गर्भवती होने का डर भी था. मैंने उसको देखकर मुठ मारी और अपनी मॉम की चुदाई ख्यालों में ही कर दी. तभी वो मेरे करीब आ गईं और मैंने संजना आंटी की सांसों को महसूस किया.

ये सब सोच कर मैं खुश हो गया कि काम भी बन जाएगा और यह भी अच्छा हुआ कि मम्मी के आने के अंदेशे से मीनाक्षी भाभी चली गयी. वो मेरे नजदीक आईं और अनारकली की तरह आदाब करके बोलीं- महाराज की जय हो. देखने में बहुत दमदार लग रहा था उसका लंड।फिर वो अपने कपड़े पहन कर खेत से बाहर चला गया.

उनको मैंने अपने शरीर पर पड़े सत्यम के दांत और उंगलियों के निशान दिखाए. मैंने फोन रखा और किचन में चला गया और शांता के पीछे खड़ा हो गया।शांता मेरी बीवी का नाईट सूट पहनकर सलाद बना रही थी।पास जाकर मैंने पूछा- क्या कर रही हो?वो बोली- सलाद काट रही हूं. और यह सिलसिला बहुत दिन तक चलता रहा, आसानी से चलता रहा क्योंकि मुझे भी मज़ा आ रहा था.

यह कज़िन सिस सेक्स कहानी तब की है जब मैं 2016 में अपने इंटर के एग्जाम दे चुका था. वो मस्ती में मेरे लंड को चूस रही थी और मैंने दो मिनट लंड चुसवाया और एक बार फिर से उसकी गांड में लंड को पेल दिया.

अम्मी यह देख कर हैरान हो गई क्योंकि कभी शकील ने उनकी चूत को नहीं चाटा था.

मैंने किसी तरह अपने आप पर कंट्रोल किया और देखा कि मेरी मां ने पिता का लिंग अपने मुँह से चूमना और चूसना शुरू कर दिया. सेक्सी मारवाड़ी राजस्थानी सेक्समेरा मन करता था कि अमित जी मुझे अपनी बांहों में लेकर मेरे होंठों को चूम कर कहें- आई लव यू!मतलब मैं मन ही मन उनसे प्यार करने लगी थी. सेक्सी पतलूपर मैंने खुद से कहा कि लगता है अब पूरी उम्र बिना चुदे ही रहना पड़ेगा. तभी मैंने उसको बोला- प्लीज अब आप मुझे मत तड़पाओ और मेरी चूत में अपना मूसल डाल दो.

एक दिन में जब ऑफिस से घर आया … तो मैंने देखा कि एक बहुत सुन्दर सी औरत वहां हाथ में प्लास्टिक का बैट लिए खड़ी हुई है और अपने बच्चे को खिला रही है.

कहानी से संबंधित कुछ और प्रश्न हैं तो आप मुझे ई-मेल भी कर सकते हैं जिसका पता मैंने नीचे दिया हुआ है. मैंने पूछा- तुमने जो पैसे लिये थे, उनसे क्या किया तुमने?तो उसने कहा- मैं ब्रा पैंटी और चूत को शेव करने का सामान लेकर आई थी. पर अब मेरे नागराज गुफा में घुसने के लिए बेताब थे, तो मैंने ज़्यादा देर करना ठीक नहीं समझा.

मेरे लंड को देख कर चाची के मुंह से सहसा ही निकल गया- आह्ह … तू तो सच में बहुत बड़ा हो गया है रे … ऐसा लंड तो मैंने अपनी जिन्दगी में आज तक नहीं देखा है. लेकिन मैंने जो देखा अपनी आँखों से … वही आपके सामने हूबहू पेश करने का यत्न कर रहा हूँ. दूसरे दिन सर ने जब सबसे कहा कि जिसने जिसने होमवर्क नहीं किया है, वो क्लास से बाहर चला जाए.

आंटी सेक्सी एचडी

मैंने लंड चूसने के बाद उसकी एक गोली मुँह में भर ली और चूसनी शुरू कर दी. अब जरा तुम ही सोचा कि जो आदमी अपनी बीवी के चेहरे में भी तुम्हारा चेहरा देखता हो तो वो तुम्हें किस कदर चाहता होगा … किस कदर वो तुम्हारा दीवाना होगा. वैशाली भाभी हांफते हुए बोलीं- आंह … सच में विकास … बहुत दिनों बाद ऐसा मजा आया है.

थोडे़ देर बाद वो आर पी एफ जवान हमारे कम्पार्टमेन्ट में आया और कम्पार्टमेन्ट का दरवाजा बंद कर दिया.

फिर एक दिन क्लास में कुसुम को छेड़ते हुए मेरा हाथ उसके मम्मों में जोर से लगा गया.

मैंने सुमन भाभी को खड़ा किया और उनको औंधा झुकाते हुए उनकी मक्खन सी गांड में तेल लगा कर धीरे से उंगली घुसा दी. और उसने मुझे वो सोने की चैन वापस दे दी, बोली- भैया, इसे आप रखे रहिये, बाद में कोई मौका देखकर मुझे दे दीजियेगा।इसके बाद वो अपने रूम में चली गयी और मैं बिस्तर पर सो गया।सुबह मेरी नींद तब खुली जब मेरी जान पीहू मेरे लिए चाय लेकर आई और मुझे जगाया।मैंने प्यार से उसे चूमा और उसके हाथों से चाय ले ली. नंगी लड़कियों का डांस सेक्सीबारी बारी करके दोनों स्तनों को चूस चूस कर और मसल मसल कर मजा लिया भी और मजा दिया भी.

हालांकि उसने कैब में और पिछले एक घंटे में मेरे पैंट के ऊपर से मेरे लंड का आकार कई बार पता किया और उसको पकड़ने की कोशिश भी की थी. वो स्कर्ट के ऊपर से ही मेरी चूत पर अपना हाथ फिरा रहा था और मेरे होंठों पर किस कर रहा था. उससे मैं बोलने लगा- आज तो तुझको अपने भाईजान का कटा हुआ लौड़ा अपनी इस कटी हुई चुत में लेना ही होगा.

दीदी उनके सामने पूरी की पूरी नंगी लेटी हुई थी और उनके लंड को अपने हाथ में पकड़ कर जोर से सहलाते हुए मजा ले रही थी. मैं इसी तरह की मादक आवाजें निकालते हुए अपनी चुत में लंड का मज़ा ले रही थी.

उनकी नाभि में किस करते हुए ऐसा लग रहा था कि जैसे मैं गुलाब के फूल को चूसने का मजा ले रहा हूँ.

अभी तक मैंने अपनी बीवी शनाज़ से बीती रात की घमासान चुदाई पर बात नहीं की थी. अम्मी उनका लंड पजामे के ऊपर से ही सहलाने लगीं और फूफा जी अम्मी के चूतड़ों को मसलने लगे. अब तो हालत ये हो गए थे कि हम दोनों एक दूसरे से बात किए बिना रह ही नहीं पाते थे.

कुत्ता और लड़की का सेक्सी दिखाइए वो एकदम मस्त माल थी कि कोई भी देखे तो उसके नाम की मुठ मारे बिना नहीं रह पाए।मोबाइल नंबर लेने के बाद हमारी सामान्य बातें व्हाट्सएप्प पर होती रही. अभी अर्चना भाभी अपनी एक्टिवा पर जा कर बैठी ही थीं कि उन्हें याद आया कि वो एक्टिवा की चाबी तो भूल ही आई हैं.

हैलो फ्रेंड्स, मैं विहान एक बार फिर से अपनी हॉट भाभी स्टोरी हिन्दी में अपनी पड़ोसन निशा भाभी की चुत चुदाई का मजा देने आ गया हूँ. लेकिन मेरा फिर से मन भी करता है कि कोई ऐसा मेरी लाइफ में फिर से आए जो अच्छा हो, सच्चा हो और मेरे लिए हमेशा खड़ा रहे!तो दोस्तो, यदि मेरी चूत चुदाई की कहानी थी, आपको कैसी लगी? प्लीज मुझे ईमेल कर कर जरूर बताएं. नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम अनिक है और मैं अन्तर्वासना का एक नियमित पाठक हूँ.

ಕನ್ನಡ ಸೆಕ್ಸ್ ವೀಡಿಯೊ

वो भी अब लंड पर उछल उछल कर गांड पटकने लगी जैसे अब वो लंड को चोद रही थी।अब चुदाई की आवाज से पूरा कमरा गूंज उठा था।मैंने अपनी लाइफ में कई लड़कियों, भाभी, आंटी, बुड्ढी औरतों को चोदा है लेकिन जितना मज़ा राखी को चोदने में आ रहा था, उतना कभी नहीं मिला था।अब मैंने उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा. अपने लण्ड का सुपारा मैंने अवनीत की बुर के द्वार से सटा दिया था और उसकी चूचियां मेरे सीने से सटी हुई थीं. मॉम- मेरी बात मान ले बेटा … जाकर तेल ले कर आजा … तब अन्दर चला जाएगा.

वो एकदम से गनगनाते हुए बोलीं- छि: मयूर … ये कोई चाटने की जगह है … ये तो गंदी जगह है. मुझे लड़के और लड़की दोनों में इंटरेस्ट है लेकिन मुझे पहले लण्ड ही मिला.

मैं ऊपर से चुदूंगी।मैं लेट गया और रुबीना बाजी मेरे ऊपर नंगी हो कर बैठ गई।उन्होंने अपनी गान्ड में मेरा लंड घुसा लिया और उछलने लगी.

तेरे बाप को बोल दूंगा कि तुझे कई बार चोद चुका हूं और सबूत में निशान बता दूंगा. भाभी ने बोला कि किसी भी खाने वाली चीज़ का मजा लेना हो, तो उससे डायरेक्ट खाना चाहिए, उसके पैकेट पर से उसका असली स्वाद नहीं आता. मैंने ज़ाफिरा को बेड पर लेटा कर उसकी चूत पर अपना मुँह रख दिया और चूसने लगा.

पहले तो मेरी बीवी ने राजीव को अपने पास देखा तो बहुत डर गई और वो सकते में आ गई. तो पीछे से सागर ने मेरी कमर पकड़ कर मुझे सहारा दिया और उसका हाथ जैसे ही मेरी कमर को छुआ मुझे कुछ कुछ होने लगा।मैं कुछ आगे बढ़ी ही थी कि तब तक पीछे से एक और धक्का लगा. हैलो फ्रेंड्स, आज मैं इस सेक्स कहानी में आप लोगों को अपनी दो छोटी बहनों के साथ सेक्स रिश्ते के बारे में बताने जा रहा हूँ कि कैसे मैंने सेक्सी बहन की चूत मारी.

तूने आना तुम क्यों कर दिया है? आता रहा कर!शकील ने उत्तर दिया- टाइम मिलता है तो मैं आ जाता हूं.

नंगी बीएफ ब्लू फिल्म: आज ये पहली बार था, इसलिए सबको छोड़े दे रहा हूँ, अगली बार से सब होमवर्क करके आना. वैसे तो मैं पढ़ने लिखने में ठीक था, बस मेरी इंग्लिश थोड़ी कमजोर थी.

मैं उसकी चूत का बाजा बजाना चाहता था और वो मुझसे भी ज्यादा प्यासी निकली।मेरे प्यारे दोस्तो, मैं राजू शाह अपनी पड़ोसन भाभी की गर्म सेक्स कहानी आपको बता रहा था. इससे मेरा लंड, जो कि एकदम ढीला सा था, वो हरकत करने लगा और वो वापिस एकदम खड़ा हो गया. चारू भी जोर जोर से चीखने लगी- ऐसे ही अन्नु … और जोर से … चोदो … हां चोदो … ओह्ह … चोदो अन्नु … फाड़ डालो आज मेरी चूत को … तुम्हारे लंड ने तो दीवाना बना दिया मेरी जान अन्नु … फाड़ डालो आज मेरी इस चूत को।अब मेरे लिंगमुण्ड पर चारू की योनि की दीवारों की पकड़ बहुत मजबूत होने लगी थी.

तो दोस्तो, ये मेरी आंखों देखी एक सच्ची सेक्स कहानी थी, जो मैंने अपनी मॉम की चुदाई को लेकर लिखी है.

क्योंकि जब तक पापा थे, तब तक हर हफ्ते सुधा उनसे चुदती थी और सुधा को अपनी गांड बजवाने का भी बहुत शौक है, इसीलिए उनका पिछवाड़ा भैस की तरह बाहर आ गया है।अब उन्होंने सागर से हाथ मिलाया और फिर वो उससे उसके बारे में पूछने लगी।कुछ देर बाद जूही आयी तो मैंने उसका भी परिचय सागर से कराया. शायद आज ही शेव किया होगा।माँ की चूत भी मेरी बहन की चूत की तरह ही चिकनी थी. दोस्तो, ये मेरे ज़िन्दगी के कुछ ना भूल पाने वाले पल थे, मैं आशा करता हूं कि आपको मेरी ये गरम और सच्ची सेक्स कहानी पसंद आई होगी.