सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म

छवि स्रोत,एक्स एक्स एक्स सेक्सी वीडियो ओपन बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी फिल्म एचडी मूवीस: सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म, सुमिना, सुधीर आ गया है …”यह काजल की आवाज़ थी क्योंकि सुमिना की आवाज़ को तो मैं अच्छी तरह पहचानता था.

विशाखा सेक्सी वीडियो

तो वो आँख दबा कर बोली- क्या लाए हो इसमें?मैंने कहा- ख़ुद खोल कर देखो. सेक्सी वीडियो स्टैंडअन्तर्वासना पर मैं पहली बार अपनी कहानी लिख रहा हूं जो कि एक सच्ची घटना है.

मगर मेरे मुंह में नौकर का लंड था इसलिए मेरी आवाज बाहर नहीं आ पा रही थी. नेपालियों की सेक्सीअगले ही पल उसने अपने पैरों से मेरे मुँह को बहुत जोर से पकड़ लिया और फिर उसने भी अपना पानी छोड़ दिया.

चूंकि वो घर पर अक्सर अकेली होती थीं तो उनका भी समय कट जाता था और इस दोनों ही काफी घुल-मिल गये थे.सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म: वो मेरे लंड को सहलाते हुए पॉर्न मूवी देख रही थी और मैंने अपनी भतीजी को नंगी करना शुरू कर दिया था.

थैंक्स।[emailprotected]आगे की कहानी:मेरी चूत को लगी दूसरे लंड की प्यास.सीमा ने नीचे घुटनों पर बैठकर मुश्ताक का लंड मुख में ले लिया और पूरी ताकत से उसे चूसने लगी.

एक्स एक्स बीपी सेक्सी सेक्सी - सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म

मेरी बहन के घर में फंक्शन था और मैं मेरी बेटी के साथ मुंबई गई हुई थी.अब मुझे डर था कि कहीं हमारी कामुक आवाजें अंदर बाथरूम में बेटी तक न पहुंच जायें.

मेरा मन करता है की मैं भाभी के पीछे जाकर अपने दोनों हाथों से उनके दोनों चूतड़ों को दबोच कर मसल दूँ. सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म इतने में ही मेरी सास कहीं से बीच में आ पड़ी और उस दिन मेरे अरमान सब पानी में बह गए.

उधर शिवानी तो अपनी चूत के मुँह में लंड को लेना चाहती ही थी, मगर सागर अभी भी कुछ झिझक रहा था.

सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म?

मैंने स्मायरा से कहा- मेरा जोधपुर में दो दिन का ही काम है, मैं परसों जयपुर निकलूंगा, मैं परसों कॉल कर लूँगा और आपको लेने आ जाऊंगा. अचानक से सर ने इस तरह मुझे चूम लिया, तो थोड़ी देर मुझे कुछ घुटन सी हुई, पर कुछ ही पल में मैं भी सर को साथ देने लगी. उसने मुझे रोक दिया और साइकिल एक तरफ लगा कर मुझे बांहों में भर लिया और मुझे चूमने लगा.

मेरी चुदाई की कहानी पर मुझे मेल करके जरूर बताना, जिससे मैं आप लोगों के लिए आगे भी लिख सकूँ. ” महेश ने अपनी बहू की बात सुन कर खुश होते हुए कहा।पिता जी मैं आपको दुखी नहीं देख सकती, मगर आज के बाद आप मुझे कभी कुछ करने को नहीं कहोगे. फिर मैंने उसकी चुत के दाने को रगड़ना शुरू किया, तो वो आहें भरने लगी.

अंधेरे का फायदा उठा हम दोनों सहेलियां मैदान वाले गेट से कॉलेज से बाहर निकल आई जहां दिलावर और मंजू का आशिक युवराज खड़े थे. जैसे ही मैंने घर में गाड़ी पोर्च में रोकी, वो फाटक से उतर कर गेट की तरफ भागीं. तभी उस लेडी ने खुद का परिचय दिया- मेरा नाम मोनाली है और मेरे पति यूएस में काम के लिए 6 महीने पहले ही गए हैं.

चाची- कैसी कैसी अजीब अजीब बातें करने लगा है तू?मैं- प्लीज चाची … आपको और भी मज़ा आएगा. मैं भी उनके होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने की पूरी कोशिश कर रही थी.

आंटी कहने लगीं- हमारे जैसी का क्या करोगे, हम तो इतनी सुंदर भी नहीं हैं.

उसके मुंह से जोर से आह्ह … आह्हह की आवाजें निकल रही थीं और मेरा हाल भी कुछ ऐसा ही था.

फिर उसने धीरे से मेरे अंडरवियर की इलास्टिक को अपने हाथों से नीचे कर दिया और इलास्टिक के नीचे जाते ही मेरा फनफनाता हुआ लंड उसके होंठों से टकरा गया. मैंने भी मजाक में हँसकर उसके जांघ से थोड़ी सी दूरी पर हाथ रख दिया। उसका लंड उछाल मार रहा था. मैं आज तक भी नहीं समझ पाया हूँ कि वो कुणाल का लंड लेकर ज्यादा खुश होती थी या काजल की चूत चूस कर।मगर अब तो उसकी शादी हो गई है और उसके दो बच्चे भी हैं.

मैंने कहा- दीदी ,कुछ दिनों तक तो रोज ही मुझे आपका साथ तीन बार चाहिए होगा. मैं जैसे ही वहाँ पहुंचा तो संजना मुझे ऋषि (संजना का बेटा) के साथ दिखाई दी. उसने फिर कहा- ये क्या कर रहे हो?मैं डर की वजह उससे कुछ नहीं बोला और करवट लेकर लेट गया.

मैंने दो-तीन धक्के पूरी ताकत के साथ लगाये और मैं उसकी पीठ पर निढाल होता हुआ लेट गया.

जिस लड़की को एक दिन बाद शादी के मंडप में बैठना हो उसको उसकी शादी से एक दिन पहले चोदना मेरे लिए एक सपने जैसा था. मैंने अपने पैर घुटनों से मोड़कर फैला दिये तो मेरी नाजुक गुलाबी चूत ने अपना मुंह खोल दिया. मैंने झट से उसे चित लिटाया और टांगें फैला कर लंड को उसकी चूत के छेद में सैट कर दिया.

मैंने पूछा- अंकल रस्सी से क्या करोगे?वो बोले- बस देखते जाओ … बहुत मज़ा आएगा. मैं उसका लंड मुंह में लेकर चूसने लगी, मुझे मजा आ रहा था क्योंकि उसका लंड साफ़ था, उसमें कोई गंध नहीं थी. वो बोले- हो गया सविता तेरा?मैंने कहा- हां अंकल जी … पर आप चोदते रहो.

इसके बाद बर्थडे पार्टी वाले दिन मेरे बॉस ने मुझे एक गिफ्ट दिया और कहा- यह तुम्हारा पार्टी गिफ्ट है, आज तुम इसको ही पहन कर आना.

अब रजू ने मीनू की गांड में उंगली करनी शुरू कर दी थी और वो अपने एक हाथ से अपने चूचों को दबा रही थी. वो ज्यादा कुछ समझ पाता, उसके पहले ही मैंने उसके लंड का एन्काऊंटर कर डाला.

सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म इन दोनों रंडियों के कोमल हाथों की छुअन से मेरे लंड का पानी छूटने को हो गया था इसलिए मैं थोड़ा पीछे हो लिया. उन्होंने मुझे पीठ के बल बेड पर लिटा दिया और मेरी टांगें अपने कंधे पर रख लीं, जिससे मेरी गांड उभर कर सामने आ गई.

सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म सारिका ने मना भी किया तो राहुल ने भी कह दिया- हाँ इसमें क्या है … और अब आपको सोना ही तो है. जैसे ही मेरा हाथ पेट के नीचे चला गया, मेरा हाथ उसके बैग से टकराया। मैंने बैग को उठाया और अंदाजे से आगे वाली सीट पर फेंक दिया.

मुझे उसके साथ ठीक वैसे ही बेहद मज़ा आ रहा था जैसे आपको यह सेक्स कहानी पढ़कर मजा आ रहा है.

बीएफ सुहागरात की सेक्सी

मैंने पूछा- तुम ये सब भी देखते हो?वो बोला- ये सब मेरे दोस्त वगैरह भेजते रहते हैं मुझे. कभी वो मेरे लंड को सहलाते, कभी मुट्ठी में दबा कर आगे पीछे करते और कभी नीचे आंड को सहलाते. मैंने नीचे जाके पहले अपना मुँह थोड़ा पानी डाल के साफ़ किया, फिर टॉवल से मुँह पौंछ कर साफ़ किया.

मैंने उनका मूड ठीक करने के लिए कह दिया- क्या बात है मम्मी जी … आप तो लैला मंजनू टाइप मूड ऑफ करके बैठी हो. नित्या- तो फिर क्या प्रॉब्लम है?मैं- प्रॉब्लम ये है कि अगर किसी वजह से हमारी शादी नहीं हो पाई, तो हम दोनों एक दूसरे को बेवफ़ा समझेंगे और मैं नहीं चाहता ऐसा हो. उनको देखते ही जैसे मन करता था कि उनको अभी अपनी बांहों में लेकर भींच लूँ और चोद दूँ.

उठकर सीधा मैं नहाने चली गयी और नहाने के बाद खाना खाकर मैं छत पर चली गयी.

मुझे कभी खेलने के मन होता था, तो मॉम से बड़ी मुश्किल में परमीशन मिलती थी. मगर एक दो-बार मैंने उसको आंखों की गुस्ताखियां करते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया था।हम दोनों के बीच में अब तक न तो कुछ बात हुई थी और न ही दोनों में से किसी एक की तरफ से बात करने की कोई पहल. मैं कसरत करता हूं … हल्की कसरत, सुबह दौड़ना, कुछ योगासन! इसलिए छरहरे बदन का हूं.

पर मेरी मम्मी के शक करने की आदत के कारण मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी. मेरी छोटी सी कोमल गांड का भोसड़ा बना दिया मेरे पति के मोटे लौड़े ने। लेकिन मुझे बहुत मजा आ रहा था और पति के मुंह से भी कामुक सिसकारियां निकल रही थीं. फिर वो बोली- ये मेरा पहला सेक्स था, इसकी याद में ये कपड़ा मैं हमेशा अपने पास रखूंगी.

मैं एक और बार ज़ोर से अन्दर डाल दिया, पूरा डिल्डो अन्दर घुस चुका था. मेरे चूचे नंगे हो गये जिनको उसने अपने मुंह में भर लिया और फिर उसने उनको एक-एक करके अपने मुंह में लेते हुए चूसना शुरू कर दिया.

हमने लंड को हिलाते हुए सारा माल एक साथ ऋतु की चूत पर और चूत के ऊपर उसकी चूचियों के अगल-बगल में गिराना शुरू कर दिया. तभी उसकी कमर में कुछ हलचल हुई, तो मैं समझ गया कि लौंडिया नार्मल हो गई है. एक तो रिश्ता ढूंढने का झंझट खत्म हो जाता है और घर में ही चूत मिल जाती है.

मैं बहन के सामने बीयर नहीं पीना चाहता था और न ही उसको पीने देना चाहता था लेकिन वो नहीं मानी.

फिलहाल मुझे इस वक्त रुका नहीं जा रहा है, मैं तो मुठ मारने जा रहा हूँ. साली बहुत प्यासी लग रही थी मेरे लंड की।मैंने तीन-चार मस्ती भरे धक्के लगाए और उसकी चूत में वीर्य की पिचकारी छोड़नी शुरू कर दी. दस मिनट की धमाचौकड़ी के बाद जब कुछ शान्ति सी हुई तो हंसते हुए अंकित कि आवाज आई- सब अपना अपना सामान लेकर अपने अपने कमरे में चले जाएँ.

मेरी मम्मी बोलीं- बीच में कोई आवाज़ आ रही है, ये किस चीज की आवाज है?मैंने कहा- कुछ नहीं मेरे साथ वाली इशारा कर रही है कि सो जाओ. मैं- थोड़ा सा दर्द होगा … बस फिर तुम्हें अच्छा लगेगानित्या- नहीं मत डालो … तुम्हारा लंड बहुत बड़ा है.

मैंने तुझे उस लड़के के सामने कुछ नहीं कहा, इसका मतलब यह नहीं कि मुझे कुछ पता ही नहीं चला. फिर मैं आगे के दरवाजे को ताला लगा कर, पिछले दरवाजे से अन्दर आ जाऊँगी ताकि किसी पड़ोसी को कुछ ना पता लगे कि अन्दर क्या हो रहा है. मुझे लग रहा था कि यही क्रिया अगर किसी पार्टनर के साथ होती तो आनंद इससे कहीं ज्यादा और बेहतर संतोष देने वाला होता!लंड की मुट्ठ मारने के बाद शरीर की उर्जा कम हो गई थी जिससे धीरे-धीरे पलकें भारी होने लगीं.

एक्स एक्स बीएफ एचडी में बीएफ

भाभी की छाती में दो बड़े बड़े संतरे उनकी ब्रा बहुत मुश्किल से संभाल पाते थे.

हल्के-हल्के उसका लंड मुझे अपनी गांड पर बड़ा होता हुआ महसूस हो रहा था। मुझे उसका लंड बहुत ज्यादा बड़ा लग रहा था. शबनम का टॉप ऊपर हो चुका था तो उसकी पतली कमर पर राहुल का हाथ रेंग रहा था. अभी आंटी को मेरी जरूरत थी इसलिए मैं भी आंटी के पास ही रुकना चाह रहा था.

फिर उसने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और मेरी पूरी बॉडी पर हाथ फिराने लगी. आज भी मैं आपके सामने मेरे जीवन की एक ऐसी ही हक़ीकत बताने जा रही हूँ. कन्नडा सेक्सी व्हिडिओजउसके ससुर का घोड़ा लन्ड अभी भी उसकी चूत में था लेकिन अब वो लंड नीलम को अपने ही बदन का हिस्सा लग रहा था.

शबनम ने ऊपर बैठ कर ही अपना मुँह नीचे किया और राजीव के होंठों से चिपट गयी. मैं पैंटी को सूंघते हुए चूत में उंगली कर रही थी और साथ में अपनी पैंटी को चाट भी रही थी.

पंकज तुरंत ही नीचे हुआ और अपना लंड सारिका की चिकनी चूत में घुसेड़ दिया. मैं और भाभी बहुत अच्छे से घुल मिल गए थे, पर उनको लेकर मेरे दिमाग में कभी कोई गलत बात नहीं आई थी. इसके बाद मैं उसके ऊपर आ गया और मैंने अपना लिंग उसकी योनि पर रगड़ना शुरू कर दिया.

जब सोनम ने उसे बताया कि घर पे कोई नहीं है आज तो टाइम से घर चले जाना. ऐसा अनेक बार होता है और जब सबके पार्टनर बदल जाते हैं तो दूसरा राउंड शुरू होता है जिसमें बोतल नीचे रख कर घुमाई जाती है. मन करता है कि मैं वहीं खुले आंगन में अपनी भाभी को लिटा कर उनकी साड़ी पूरी ऊपर उठा कर उनकी चूत नंगी करके देखूँ और चाट लूं.

आंटी मस्ती से भर गई थी और अपनी गांड को उछाल कर मेरे लंड को पूरा अपनी चूत में ले रही थी.

मेरी एक टांग उठा कर उसने हवा में कर दी और अपने लौकी टाइप के लंड को चूत में डाल कर मुझे चोदना शुरू कर दिया. तो वो बोले- हां थी … मगर शादी के बाद कोई भी नहीं रही … बस ब्वॉयफ्रेंड रहे.

और तब डॉक्टर की बीवी ने अपने पति को कहा- मेरा बागड़बिल्ला … ठोक दे अपना किल्ला!डॉक्टर ने बहुत ही आहिस्ता से अपना लन्ड मेरी बीवी चूत की चूतराई में धंसा दिया. बाद में उनको उठा कर मैंने बेड पर लिटा दिया और चूत पर मेरा लंड सेट करके अंदर डालने की कोशिश करने लगा. अब मुझे भी कुछ अलग करने की सूझी और मैंने रुचि को अपने ऊपर लिटा कर 69 पोज़ीशन में ले लिया.

उसने बोला- ठीक है, मैं शादी तो करूंगी … लेकिन आज अपना सब कुछ आपको सौंपने बाद ही शादी करूंगी. उनकी मासूमियत भरी मुस्कराहट से मेरा मन उन्हें पकड़ कर किस करने का हो रहा था. रीतिका ने फोन रख दिया, तो चाची मुझसे बोली- अब क्या ख्याल है दामाद जी?मैंने लंड सहलाते हुए प्रीति से कहा- आपकी गांड को देख कर मुँह में पानी आ रहा है.

सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म मैंने उस माल को अपनी चूत से पौंछा नहीं और उनको ऐसे ही बांहों में लेकर सो गयी. वो चिल्लाने लगी लेकिन मैंने अपने होंठों से उसका मुंह बंद किया और लंड बाहर खींच कर थोड़ा फिर और तेज झटका लगाया और पूरा लंड चूत में समा गया।उसके मुंह से आवाज़ निकली तो सही लेकिन लिप-लॉक होने के कारण इतनी नहीं निकली।मैं धीरे-धीरे धक्के मारने लगा और वो अब शांत हो गयी और चुदने का मजा लेने लगी। उसका दर्द कम होता जा रहा था और उसके मुंह से अब सिसकारियां निकल रही थीं.

हिंदी पिक्चर सेक्सी मूवी बीएफ

मैंने कस कर उसको पेल दिया और एकाएक मेरे लंड से वीर्य की पिचकारी छूटने लगी. मैं धक्का मारने ही वाला था, तो उसने मुझे रोका और एक रुमाल अपनी चूत के नीचे लगा लिया. फिर मैं उठ कर भाई के सीने पर लेट गई क्योंकि मेरी प्यास तो अभी नहीं बुझी थी.

मेरी तो जैसे लॉटरी ही लग गई थी और मैंने भी उनके सुरों से अपना ताल जोड़ दिया।हम एक दूसरे की जुबान को चूस रहे थे और हम दोनों के चूसने से ढेर सारा लार बन गया था जिसे हम दोनों ने एक दूसरे को पिला दिया. फिर मैंने उसके लंड को हाथ में लेकर सहला दिया तो वो भी समझ गया कि मैं क्या चाहती हूं. कुंवारी लड़की का सेक्सी वीडियो बताइएमैंने अपने घर पर बोल दिया था कि मैं अपने भाई के दोस्त की शादी में जा रहा हूँ.

शाम को जैसे ही उन्होंने मुझे देखा, वो एकदम मचल गए और घर में घुसते ही मुझे जोर से बांहों में कस लिया.

काफी दिनों से इस चूत को लंड नहीं मिला है, मेरा पति तो दारू के नशे में घर आकर सो जाता है. दस मिनट बाद मैंने भाभी को उसी पोजिशन में बेड पर लिटा दिया और हम मिशनरी पोजीशन में आ गए और फिर से उनकी चूत में धक्के पे धक्के लगाने लगा.

” शैली लेट गयी। अंशु उसके चेहरे पे बैठ गयी, उसके चूतड़ शैली के गालों से और गांड का छेद होंठों से जुड़ गया। प्रोग्राम शुरू हो गया।अंशु ने शैली का टॉप और ब्रा ऊपर सरकाई और चुचियाँ दबाने लगी। नीचे शैली के होंठ और जीभ अपना काम कर रहे थे- मस्त है साली, चुचियाँ ज़ोरदार हैं और चूस के मज़ा भी खूब देती है।फिर मेरी बारी आयी।मैं ऐसे प्यार नहीं करवाऊँगी. आआह्ह … माँ … स्स्स … आदित्य … डाल दो प्लीज …” पूजा के मुंह से सीत्कार फूटा और मैंने लंड को हाथ से उसकी चूत पर सेट करके स्लैब की तरफ अपना सारा भारा धकेल दिया. नीचे उसने पिंक कलर की पैंटी पहन रखी थी, जो कि उसकी चूत के रस से बिल्कुल गीली हो गई थी.

स्टोरी पढ़ने के बाद संजना ने उसी वक्त मुझे अपने घर पर बुलाया और अपनी चूत की धुआंधार चुदाई करवाई.

उन्होंने मेरी चूत को अपने हाथ से सहलाया और फिर मेरी गांड पर एक बड़ा सा चुम्बन दे दिया. ” परीशा उनके कान में फुसफुसाते हुए बोली।अब मुकुल राय ने पूरा लंड बाहर निकाल के परीशा की चूत में पेलना शुरू कर दिया। सच! ज़िंदगी में चुदवाने में इतना मज़ा आएगा परीशा ने कभी सोचा नहीं था। अब परीशा को एहसास हुआ कि क्यूँ उसकी सहेलियां रोज़ चुदवाने के लिए उतावली रहती हैं।अब परीशा की चूत बहुत गीली हो गयी थी. मीनू की शादी को तीन साल हो चुके थे लेकिन अभी तक उसको बच्चा नहीं हुआ था.

देसी सेक्सी नंगे फोटोआते ही सोनू ने मुझे पकड़ लिया और मेरे होंठों को चूम कर मेरी गर्दन पर किस करने लगा. गीला अंडरवियर फर्श पर ही छोड़कर भीगे हुए नंगे पैरों को ठंडे फर्श पर आहिस्ता से रखते हुए लटकते-झूलते लिंग के साथ बाहर आ गया.

भोजपुरी में भोजपुरी में बीएफ

मैं अपने मन में सोचती थी कि बस कैसे भी अब अफ्रीकन लंड मिल जाएं, तो खाज मिट जाए. हम लोग कुछ समझ नहीं पा रहे थे कि अब क्या किया जाये?हमारी यह उत्तेजना की चाहत मेरी बीवी के लिए शामत बन गई थी. फिर उन्होंने मुझे अपने बेड पे बिठाया और अपनी बांहों में भर कर मेरे होंठों को चूमने लगे.

एक दिन मैं स्कूल से जल्दी आ गया क्योंकि हमारे स्कूल के टीचर की मृत्यु हो गई थी. जब वो हमारे पास से गुजर रही थी तो उसने खुद ही सामने से हमें हैलो बोला. फिर उस रात हमने बिना रोक टोक तीन बार एक दूसरे को प्यार किया और यह सिलसिला उसकी शादी हो जाने तक चलता रहा.

मेरी बीवी बोली- देखा … हमने ठीक किया ना!मैंने और मेरी पत्नी ने सोचा भी नहीं था कि थोड़ी सी मस्ती इतनी महंगी पड़ जाएगी. चूंकि हम बचपन के दोस्त थे इसलिए पवन की उम्र और मेरी उम्र में कोई खास फर्क नहीं था. उनकी लंबी चीख निकल गई- आआआआह … साले भोसड़ी के मार देगा मुझे … निकाल इस मूसल को … मेरी चुत फट रही है.

बिंदु की सिसकारियां अब और भी तेज़ हो गयी थीं और वह मुझे अपनी चूचियों को प्यार से चूसते हुए देख रही थी. फिर मैंने पूछा कि आप इतनी खूबसूरत हैं … तो आखिर सात सालों से ससुरजी ने आपको छुआ क्यों नहीं, कोई परेशानी है क्या?इस पर वो थोड़ी उदास हो गईं और बोलीं कि वो मुझसे उम्र में करीब नौ साल बड़े हैं और पेशे से अध्यापक हैं.

मेरे दोस्तो, मैं देवराज! आप सबने मेरी पहली सच्ची कहानीमौसेरी बहन संग मस्ती और चूत चुदाईपढ़ी और सबने इतना पसंद किया.

अब मुझे दर्द भी कम हो रहा था और पहली चुदाई का मज़ा भी बहुत आ रहा था. कॉलेज स्कूल सेक्सी वीडियोमैंने उससे कहा- मुझे ठीक से पकड़ लो, अन्यथा तुम्हारे गिरने की सम्भावना हो सकती है. सेक्सी ओपन फोटो दिखाओहल्के-हल्के उसका लंड मुझे अपनी गांड पर बड़ा होता हुआ महसूस हो रहा था। मुझे उसका लंड बहुत ज्यादा बड़ा लग रहा था. जैसे ही मैंने जीभ को उसकी चुत पर लगाया, वो बिन पानी की मछली की तरह उछलने लगी.

उसके बाद उसने मुझे बेड पर लिटा दिया और मेरे जिस्म के साथ खेलने लगा.

अब मैंने उसके गोल गोल दूधों को पकड़ कर लंड को आगे पीछे करना शुरू कर दिया. उसने अपनी लम्बी नाजुक उंगली राजीव के मुंह में करी तो राजीव ने उन्हें चूम लिया. मैं थोड़ा मजाकिया टाइप का हूँ, इसलिए जब मैंने भाभी को अपना परिचय दिया, तो मैंने भाभी को मजाक में उनके कान में यह कह दिया कि भाभी आप बहुत ही सुंदर हो, मेरा बस चले तो, मैं ही आपके साथ सुहागरात मना लूँ.

मैं रूम खोल कर धीरे से आवाज देकर बोली- अंकल लाइट चली गई है, मुझे अकेले सोने में डर लगता है. मेरा वीर्य उसकी चूत में से बह कर बाहर आ रहा था लेकिन उसने इसकी परवाह नहीं की और वो एक साफ़ नेपकिन लेकर मेरी बीवी की ओर बढ़ी. मेरे इस आखिरी धक्के से उसके होंठ खुलने के साथ ही उसके मुंह से एक कराहना फूट पड़ी.

इंग्लिश इंग्लिश पिक्चर बीएफ

कुछ देर बाद वो शांत हुई और फिर मैंने जोर का झटका मारकर पूरा लंड अन्दर कर दिया. इस पोज में चोदने के बाद उन्होंने मुझे दीवार के सहारे लगा लिया और पीछे से मेरी गांड में लंड डाल दिया और चोदने लगे. मेरी पूरी फुद्दी उनके सामने जलवाफ़रोश हो गई।वो एकदम से झुके और मेरी फुद्दी को अपने मुंह में भर लिया.

मैं बोला- एक उपाय है, लेकिन तुझे भी मेरा बराबर का साथ देना पड़ेगा … बोल मंजूर है … तो बोल!वो मोनाली बोली- मुझे तो कब से वही चाहिये.

शाम को सात बजे मैं घर से निकला, कुछ सामान खरीदा और टहलते हुए वापस चल पड़ा.

मैंने अपने पैर घुटनों से मोड़कर फैला दिये तो मेरी नाजुक गुलाबी चूत ने अपना मुंह खोल दिया. करीब आधे घंटे बाद उसकी गांड मारने के बाद मेरा वीर्य निकलने वाला था. मराठी भोजपुरी सेक्सीरास्ते में कुछ बूंदाबाँदी हो गई जिससे उसकी पतली से कमीज़ गीली हो कर पूरी तरह से पारदर्शी हो गई.

अब उसको दर्द होने लगा था लेकिन मेरे लंड के आनंद में वो दर्द को अनदेखा कर रही थी. करीब 8 या 10 धक्कों के बाद उसे भी मजा आने लगा और वो और तेज करने को बोलने लगी- आह देव … तेज प्लीज … उम्म्ह… अहह… हय… याह… देव अच्छा लग रहा है … आज मेरी गांड फाड़ दो … ओह देव जोर से चोदो मेरी इस गांड को … आह … ओह जोर सेईई … आह आई लव यू देव. उसने बेमन से मेरा लंड अपने मुंह में ले लिया और फिर मेरे लंड को चूसने लगी.

अब उन्होंने मुझसे पूछा- तुमको कोई दिक्कत तो नहीं हो रही है … तुम ठीक महसूस कर रहे हो न!मैंने हां में सिर हिला दिया, फिर उन्होंने मेरी गांड को उठाया … जो कि पूरी खुली हुई थी. पहले उनको उल्टा लिटा कर सीधे पैर से गर्म तेल लगाना शुरू किया और अपने हाथों से उनकी कमर तक तेल मल दिया.

इसलिये आप पहले मेरी कहानी का पहला भाग जरूर पढ़ लें ताकि मेरी इस सेक्स कहानी का पूरा मजा आए.

एक हाथ से वो मेरी चूची को मसल रहे थे और दूसरी चूची को अपने होंठों से पी रहे थे. और उसके बाद वो मैं और विवान भैया हम दोनों को जब भी मौका मिलता था तो एक दूसरे को किस करते थे. मेरे पैर छूते हुए बोली- मेरा रिजल्ट आ गया, मेरी 17वीं रैंक आई है, मुझे मनचाहा कॉलेज मिल जायेगा.

चोदा चोदी वीडियो फुल सेक्सी कई बार तो वो पढ़ने के लिए या नोट्स वगैरह लेने के लिए मेरे पास भी आ जाता था. पहले क्यों नहीं दिखलाई?उसने कहा- सही कहूँ, तो मुझे लगा कि आज शिवानी ने मेरे आत्मसम्मान को ललकारा है.

थोड़ी देर में आंटी जींस टॉप पहन कर तैयार हो कर आईं, तो मैं आंखें फाड़ कर उन्हें देखता ही रह गया. फिर मैंने अपने लंड पर तेल लगाया और अंकल की गांड में पूरा लंड एक साथ डाल दिया. ”पर … मेरे पास कहाँ समय होता है? सुबह तो ऑफिस जाना होता है और …” मैंने जानबूझ कर बहाना बनाया।मधुर मेरी बात को बीच में ही काटते हुए बोली- प्लीज रात को 9 के बाद पढ़ा दिया करो.

एकदम नंगी बीएफ

फिर मैंने अपने हाथ नीचे लाते हुए उसकी पैंटी को उसकी जांघों से खींच दिया. अगर तेरा कोई ब्वॉयफ्रेंड होता और आज तुझे देखता तो अपने आप को रोक नहीं पाता। आज तू बहुत अच्छी लग रही है. और फिर एक दिन तो पंकज का फोन आ ही गया कि आज रात को पूल के बाद डिनर वो उनके घर पर करे.

उसने अपनी बहू को इसी पोजीशन में दबाए रखा और पीछे से धक्कों की रेल चला दी। नीलम पसीने से तरबतर हो गयी। उसकी कमसिन जवानी को उसके मोटे तगड़े ससुर ने मसल कर रख दिया था। उसके कानों में धक्कों की फच-फच … पट-पट … फच-फच की आवाज़ गूँज रही थी।तभी महेश की नजर कोने में रखे मक्खन पर चली गयी. हालाँकि सारिका उसके बिल्कुल बगल में बैठी थी और उसकी निगाहें राहुल के चेहरे से लगातार चिपकी रही थी.

भाभी अपने हाथों से मेरे हाथ को दबा कर अपने चुचों को जोर से मसलने का इशारा करने लगीं.

मन कर रहा था कि उसके हाथ में ही वीर्य निकाल दूं लेकिन अभी उसकी चूत भी चोदनी बाकी थी इसलिए मैंने उसका हाथ हटा लिया. मैं भी पीछे पीछे घुस गया और मैंने रीना से कहा- साथ में नहाते हैं जान. इस बीच में आंटी ने अपने पैर से और हाथों से मेरे को कस कर पकड़ा और ‘हहहहह’ चिल्ला के झड़ गई.

चूंकि वह असल में तो सिंगल बेड ही था अतः हम दोनों चिपक कर ही सोते।मेरा रूम मेट भी यही कोई तेईस चैबीस साल का रहा होगा, मेरे से ज्यादा गोरा … बहुत माशूक बन ठन कर रहता. वो जोर से सिसकारियां लेते हुए चिल्ला रही थी- मर गई … उईई … आह्ह … हाय रे दैया! उसके आनंद को मैं उसके चेहरे पर साफ-साफ देख रहा था. तब डॉक्टर बोला- हां शायद हो गई साफ … लेकिन इसे पूरी तरह से चेक करना पड़ेगा.

घर पर पहुंचने के बाद मैंने देखा कि आंटी नीचे फर्श पर ही पैर पकड़ कर बैठी हुई थी.

सेक्सी बीएफ सेक्स फिल्म: मुझे उसके मम्मे सबसे अच्छे लगते थे … जिनकी तारीफ़ में रीतिका से भी करता था. आज मेरी मॉम और मेरे बाप राजनाथ के 2 और औलादें हैं और वो बहुत खुश हैं.

मैंने जोर जोर से कसकर धक्के मारते हुए अपने लंड का पूरा पानी उसकी गांड में उड़ेल दिया. पर जब वे बार बार ये करने लगे, तो मुझे थोड़ा अजीब सा लगा और मेरे मन में भी उनके बारे में सोच कर ख्याल आने लगा. फिर वो बाथरूम गई और हाथ धोकर जैसे ही वापस आई, मैंने उसे गोद में उठाया और बेडरूम में ले जाकर उसे बिस्तर पर लिटा दिया.

मेरी पत्नी वैसे तो सुन्दर है, मगर अब वो मोटी हो गयी है और सेक्स भी कम करती है.

उसने सागर को बाद में बता भी दिया कि उसको कोई चोट नहीं आई थी, वो सब उसका लंड लेने के लिए ड्रामा था, जिसमें वो पूरी कामयाब रही. हमारे बेडरूम में से ही अन्दर वाले कमरे का दरवाजा बना हुआ था जिसमें अनीता सोती थी. लेकिन यह सब जानने के बाद भी जीजा ने मुझे फोन देने से मना नहीं किया.