हिंदी गाने वाली बीएफ

छवि स्रोत,भोजपुरी का सेक्सी वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी में देहाती: हिंदी गाने वाली बीएफ, उसकी दोनों टांगों को मैंने अपने हाथों में जकड़ कर उसके होंठ अपने मुँह में दबाए और आगे पीछे की ज़्यादा ना सोचते हुए एक ही बार में लगभग आधा लंड अन्दर घुसा दिया.

बीएफ ब्लू पिक्चर वीडियो में बीएफ

अब वो रोज ही जब मेरे घर के पास से निकलती थीं तो मेरी उनसे हाय हैलो होने लगी थी. बीएफ सेक्स मूवी वीडियो मेंलंड देख कर वो बहुत खुश हो गई और बोली- मैं तो सोच रही थी कि आज चुत भूखी ही रहेगी.

ऐसे ही एक दिन मैं मॉम को नंगी नहाते हुए देख रहा था और मॉम उस वक्त अपनी चूत की झांटें साफ़ कर रही थीं. फुल सेक्स एचडी बीएफअब तक लन्ड के धक्के खाते खाते भाभी की हालत खराब हो चुकी थी।तब मैंने उसको पीठ के बल लेटाया और मिशनरी पोज में चुदाई शुरू कर दी.

उसने थोड़ा ग़ुस्से में मुझसे कहा- ले चलेंगे या नहीं? हां या ना में ही जवाब दीजिए.हिंदी गाने वाली बीएफ: एक ही धक्के में मेरा आधा लंड मम्मी की चूत को फाड़ता हुआ अन्दर चला गया.

Xxx भाबी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की एक जवान भाभी अपने पति से रुष्ट रहती थी.उसकी चूचियों के पीछे दिख रहे उसके सुर्ख लाल होंठ अब आनंद में खुलने लगे थे.

बीएफ सेक्स रैकेट - हिंदी गाने वाली बीएफ

ये देख कर उसकी साथ वाली ने उससे कुछ कहा तो आंटी ने मुझे आवाज लगाई- एक्सक्यू मी.मेरी बीवी की गांड और चुत में एक साथ लंड घुसे थे और हम तीनों इस सैंडविच चुदाई का मजा लेने लगे.

उसने मेरी निगाहों को पकड़ लिया और अपने कपड़े ठीक करते हुए मुझे टोका- आपकी निगाहें कहां हैं?मैं बुरी तरह झेंप गया और वहां से उठ कर चल दिया. हिंदी गाने वाली बीएफ मुझे ये विश्वास नहीं हो पा रहा था कि इतनी सुन्दर लड़की मेरे सामने कभी इस तरह से अपने आपको मेरे हवाले कर देगी.

दिखा दी ना अपनी औकात … आज साबित कर ही दिया कि सब मर्द एक जैसे ही होते हैं.

हिंदी गाने वाली बीएफ?

गेट वे ऑफ इंडिया, मरीन ड्राइव, जूहू बीच चौपाटी होते हुए एक मॉल में आ पहुंचे, जहां मनीष के एक मित्र भावेश भाई का शोरूम था. उस बंगले में साफ़ सफाई आदि की बात करके मैंने उसे बहुत कम पैसों में हासिल कर लिया था. आज मेरे सैंया यदि आपकी मदद कर रहे हैं, तो ये उनका हमारे परिवार पर बहुत बड़ा अहसान है.

नुपूर भाभी मेरे पास आईं और पूछा कि सभी कहां गए हैं?मैंने कहा- आगरा गए हैं. उसने धीरे से अपना सिर भी उसकी छाती पर टिका लिया जैसे कि वो कोई और नहीं बल्कि उसका पति ही हो. अब आगे ब्रो सिस फक़ स्टोरी:कुछ पल बाद ही उसके लंड में लहरें सी उठने लगीं.

वो काफी दिन बाद चुद रही थीं और फूफा जी ने उनको कभी तृप्त नहीं कर पाया था, ये उन्होंने मुझे बाद में बताया था. वो सीत्कार भरकर बोली- आंह प्रकाश तुझे एक बात बोलूं … तेरी और मेरी सोच बहुत हद तक मिलती जुलती है. उनकी चुत के गर्म पानी से मैं भी पिघल गया और अब मैं भाभी अपनी चरम पर पहुंचने गया था.

शादी की तैयारी को लेकर अंकल जी ने मुझसे कहा- तुम्हें ही सभी तैयारी करना है बेटा. मेरी सच में गांड फट गई थी क्योंकि मैं अपनी गांड बहुत दिनों बाद चुदवा रही थी.

वो सीधा लेट गया और उसके पेट पर मोटा लंड मुड़े हुए खीरे की तरह पड़ा था.

देखना कुछ ही मिनट में फिर से तुम्हारी चुत में जाने के लिए तैयार हो जाएगा.

चुदने के बाद जौहरा ने उठ कर मेरे लंड को अपने पति के मुँह में डाल दिया और शाईस्ता ने मेरा लंड चूस कर बिल्कुल साफ़ कर दिया. मॉम हॉट फ्रेंड सेक्स कहानी में पढ़ें कि हम पापा के दोस्त के घर गए तो वहां सबने मिल कर कैसे फैमिली सेक्स का मजा लिया. मैंने अपने हाथ को उसके सम्पूर्ण योनि प्रदेश पर रख दिया और आहिस्ता से दबाना शुरू किया तो वो सिहर सी उठी और मेरे बालों को कस कर पकड़ लिया.

चुत को गन्दी जगह भी कह रही थी, मगर साली ने खुद ही मेरे सर को अपनी चुत पर दबाया हुआ था और चुत चुसवाने की कोशिश कर रही थी. वो मदहोशी में सराबोर होकर चिल्लाने लगीं- आंह अक्की तेरे नामर्द भैया से कुछ नहीं होता … बस वो लंड डाल कर हिलाकर सो जाता है और एक तू है जो बिना मुझे चोदे एक बार और चोदने पर अब तक दूसरी बार झड़वाने जा रहा है. वो हम दोनों को देखते हुए अपनी चूत में तेजी से खीरे को अन्दर बाहर करने लगी.

मैंने आँटी को बेड पर लिटाया और उनके दोनों घुटनों को मोड़कर उनकी चूत को देखा.

अगर ऐसे ही तड़पाना था तो मुझे गर्म क्यों किया तुमने? चोदो अब जल्दी. अब मैं बिना लंड निकाले उसके ऊपर आ गया और उसके पैर अपने कंधे पर रख कर उसे चोदने लगा जिससे कमरे में फच … फच … फच …. ईश्वर ने औरत को इस धरती पर जन्म देने के साथ साथ संसार को रंगीन बनाने के लिए भी भेजा है.

बस से उतरते ही बाहर उसका बॉयफ्रेंड खड़ा था और उसने आगे आकर उसे हग कर लिया. Xxx भाबी चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की एक जवान भाभी अपने पति से रुष्ट रहती थी. लंड सरकता हुआ चुत के अन्दर चला गया … और अनामिका की मीठी आह निकल गई.

मैंने उनके एक चुचे को अपने मुँह में ले लिया और ताबड़तोड़ चुदाई चालू कर दी.

नूपुर देखने में भोजपुरी मोनालिसा की तरह 34-30-36 के साइज़ की सेक्स की मूरत की तरह थी. संजू विक्रम को देख कर बोली- अब तो मन भर गया न … तब से बच्चे की तरह जिद किए जा रहा था.

हिंदी गाने वाली बीएफ चूंकि मैं लड़कियों से जब तक मिला नहीं होता हूँ तब तक थोड़ा रिजर्व रहता हूँ. विक्रम का तो समझ में आता है कि वो कई दिन का प्यासा था, परंतु संजू में कितनी गर्मी भरी हुई है, ये मुझे आज पता चल रहा था.

हिंदी गाने वाली बीएफ मेरे पिताजी एक धनाढ्य जमींदार हैं और पैसे से किसी बात की कमी नहीं है. इस पूरी प्रक्रिया में मेरा लंड पूरी तरह से दबा हुआ था, अब वो भी एकदम किनारे पर आ चुका था.

अब आगे सिस्टर सेक्स्क्स स्टोरी:मनीष के ऑफिस निकलते ही घर के अन्दर नेहा और स्नेहा दोनों बहनें सोफे पर आ गईं.

सेक्सी रोहित

मैंने उसके पैर तुरंत उठा दिए और तेज रफ़्तार से उसे लगातार चोदना आरम्भ कर दिया. मेरी जीभ के साथ साथ ममता ने अपनी कमर को हिलाना शुरू कर दिया था, जिससे मेरा जोश और भी बढ़ गया था. धीरे धीरे लंड गांड में अन्दर बाहर करते करते अब मेरा तीन चौथाई लौड़ा अन्दर जा चुका था.

अपने गुदाद्वार को सहलाने लगी।अरे डरो मत … वैसे भी रास्ता तो बन ही गया है, अब तो मजे ले लो. वो मेरा लंड पर लगा सारा चॉकलेट कुछ ही सेकंड में चाट कर खा गई … और मजे से लंड चूसने लगी. वह हाथ उठा कर उसे मारने ही वाला था कि मैंने पीछे से उसका हाथ पकड़ लिया.

उसने मेरे पास आकर हिलाकर कहा- ओ हैलो, कहां खो गया?मैं थोड़ा शर्माया और उससे सॉरी बोला.

मुझे लगा कि वो मेरा बहुत अच्छा दोस्त है तो मुझे उससे मदद मांगने के लिए ज्यादा सोचना नहीं पेड़गा और वो बिना किसी ब्याज वगैरह के ही पैसे में मेरी मदद कर देगा. शायद मॉम को ये लगा था कि घर पर कोई नहीं है और वो नंगी ही बाथरूम से बाहर आकर रूम में आ गईं. रचना हंस कर बोली- बेबी अब तुम्हें इन दो पंछियों को पिंजरे से आज़ाद करना पड़ेगा.

उसकी एक चचेरी बहन उनके साथ जाने वाली थी लेकिन उसे बुखार आ गया था तो उसका जाना अब संभव नहीं था. ”जान तुम्हें मुझ पर विश्वास है ना! मैं तुम्हारी चूत को ज्यादा दर्द नहीं दूंगा, बस तुम मेरी आंखों में देखती रहना. पर मैंने सोचा कि जब भाभी की चूत में आग लगी है और वो सामने से हाथ में लंड पकड़ रही हैं, तो मैं क्यों मना करूं.

वैसे भी इस समाज की औरतें ज़्यादातर घर में और बुरके में रहने के कारण ज्यादा ग़ोरी-चिट्टी होती है. मैंने बोला- अरे उसकी दिक्कत नहीं है यार … मेरी वाईफ तो गांव गयी है.

मेरी देसी मेड सेक्स कहानी आपको कैसी लगी मुझे आप अपने फीडबैक में लिखें. कुछ मिनट के आराम के बाद मैं सर उठाकर अदिति को देखने लगा तो वो आंखें बंद करके लेटी थी. क्या मस्त अनुभव था उनके होंठों को चूसने का!बहुत ही मस्त और कोमल होंठ थे भाभी के!फिर भाभी ने अपना एक हाथ नीचे ले जा कर मेरा अंडरवियर निकाल दिया और मेरे लंड के साथ खेलने लगी.

और हां लंच में मटन बनाना!ज़ारा- आज मैं आपको कहीं नहीं जाने दूंगी!मैं- अरे अजीत को बोल देना.

मेरे हर एक झटके पर गुलजान, हेलीमा की चुत को ज़ोर से चूस लेती, जिससे हेलीमा की हालत भी खराब हो गई. स्नेहा समझ गई कि ये नाटक कर रही है- ब्रा किसको गिफ्ट में दे दी … और ब्रा ही नहीं पैंटी भी अपने किसी यार के पास छोड़ कर आई हो क्या?उसने जोर से नेहा का निप्पल चुटकी में मसल दिया. पर मुझे जब भी समय मिलता, मैं वंदना से बातें करता उसे हंसाता और उसका मन बहलाने लगता.

इस हॉट गर्ल सेक्स कहानी के पहले भागकमसिन पहाड़ी लड़की को चुदाई के लिए मनायामें आपने पढ़ा कि रंगोली मुझसे चुदने के लिए मेरे कमरे में आ गई थी. भैया ने कहा- हां अब तुमको बड़ी वाली लॉलीपॉप चूसनी है न, इसीलिए फिर नींद नहीं आ रही है.

ये सच्चाई केवल या तो मुझे पता है या फिर मेरी बीवी को! या फिर उस आदमी को जिसकी वजह से ये सब कुछ हुआ था. मेरे से भी रुका नहीं जा रहा था, मैंने हाथ नीचे ले जाकर उसके लंड को पकड़ा और अपनी चूत पर रख दिया. मगर उसके इस तरह छुप छुपकर हमें देखने से मेरे दिल में अब एक और ही नयी योजना‌‌ ने जन्म ले लिया.

सेक्सी वीडियो खुल्लम खुल्ला

अपनी पुरानी दोस्ती के लिहाज से मैं खून का घूँट पीकर रह गया।मैंने उसे मना कर दिया कि और कहा- ये काम तो मैं नहीं करवा सकता.

निर्मला‘अरे वाह निर्मला जी भी टेलीग्राम चला रही हैं? अब भाई देखो टेलीग्राम ज़्यादातर लोग प्राइवेट चैट्स के लिए यूज करते हैं. जब भी वो मेरी पैंट में मेरे लंड को देखती तो मैं लंड का उछाला दे देता. मैं सिसकार उठा- आह्ह … आह्ह … क्या बात है मेरी रानी … तू तो कमाल है.

भाभी ने मुझसे मेरी गर्लफ्रेंड के बारे में पूछा, तो मैंने मना कर दिया. चोदते वक्त उनके मुँह से आह्ह ऊह्ह्ह की आवाज़ें निकल रही थीं, जो मुझे और भड़का रही थीं. कुत्ता और घोड़ा की बीएफउसके बाद मैंने चूची छोड़ी और अपना कच्छा नीचे करके खड़ा हो गया और उससे कहा- मेरा लंड चूस अब।मौनी घुटनों पर बैठ गयी और लंड को मुंह में लेने लगी.

एक दिन मैं लेट हो गया क्योंकि मेरे ऑफिस में कुछ ज्यादा काम आ गया था. बहन कीसहेली की चुत चुदाईका क्या हुआ … वो मैं आप सबको अगले अगली बार की सेक्स कहानी में बताऊंगा.

मैंने दिल‌ में ही सोचा कि शायरा की चुत मिलने की उम्मीद तो बहुत है, पर देखो कब लंड को मजा मिलता है. मैं भाभी की पैंटी के ऊपर से ही उनकी चुत को चाटने लगा और एक हाथ से मम्मों को दबाने लगा. किसी तरह मुझे मुंबई में एक आलीशान फ्लैट मिल गया था वो भी बिना पैसों के।फ्लैट के साथ ही वो सब सुख सुविधा जो मैं अपनी कमाई से नहीं ले सकती थी, वो भी मिल गयी थीं.

हमारे पड़ोस में एक भाभी रहती थी जिनका नाम वैशाली (बदला हुआ नाम) था. उसने मेरे पैरों को थोड़ा फैला दिया ताकि उसको मेरी टांगों के बीच में चूत पर चढ़ी जालीदार पैंटी दिख सके. बिना देर किए हुए मैंने भाभी के होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और रूम को बंद कर दिया.

पापा मेरे साथ घर जाने लगे, तभी टिंकू भैया के पापा ने हमें रोक दिया और जाने नहीं दिया.

गोलगप्पे की तरह फूली हुई मेरी बुर में अपना थूक लगाते हुए वो मुझसे बोले- बोल? तैयार है न तू?मैं भी उस वक्त बहुत गर्म हो गई थी. फिर एक धक्का दिया तो घप्प … से उनका सुपारा मेरी नाजुक बुर छेद में घुस गया.

पहले झटके में आधा और दूसरे झटके में पूरा लण्ड मामी की चूत में समा गया. करीब 5 मिनट की चुदाई के बाद मुझे लगा कि साबुन कुछ सूख सा रहा है तो मैंने लंड को बाहर निकाल लिया. कुछ ही पलों में वो बहुत ही ज्यादा गर्म हो गई और अपने पैर और चूतड़ों को पटकने लगी.

उस दिन जब मैं उस चित्र को देख रहा था तो मेरे लोअर में मेरा लौड़ा तना हुआ था. मैंने बस सीधे ही अपना काम शुरू कर दिया और काम निपटाकर मैं दूसरे काम के लिए चली गई. मेरी गांड में अब खुजली होने लगी और मुझे लड़कों के लंड की जरूरत लगने लगी.

हिंदी गाने वाली बीएफ एक दिन मैं लेट हो गया क्योंकि मेरे ऑफिस में कुछ ज्यादा काम आ गया था. मैंने नीचे से उनकी टी-शर्ट में हाथ डाला और उनके एक चुचे को दबाने लगा.

ब्लू पिक्चर दिखाइए तो

इस बार भाभी भी जरा भी नहीं शर्माईं और मेरे सामने ही बेबी को दूध पिलाती रहीं. शामली फिर से ‘आह उन्ह …’ करने लगी और कामुक आवाजें भरती हुई ही बोली- मेरा पानी निकलने वाला है. मेरी पिछली कहानी थी:अन्तर्वासना से मिले कपल संग चुदाईमैं अपनी नई पाठिकाओं को अपना परिचय एक बार फिर से दे देता हूँ.

थोड़ी देर बाद उसका दर्द कम हुआ, तो वो धीरे से मेरी पीठ को सहलाने लगी. मैंने लाल रंग की साड़ी पहनी थी और मैं उसको यूं अपनी तरफ देखती हुई कुछ समझने की कोशिश कर रही थी. बीएफ फिल्म चोदा चोदी वालीस्नेहा एक स्लीवलेस टॉप पहन कर बोली- तू कभी नहीं सुधरेगा, मैंने पहले ही आज सुबह मॉम का पकाऊ भाषण सुना है … मैं तेरे रूम सोई हुई थी.

जबकि मैं औरत के इन तीनों छेदों में लौड़े का वीर्य न गिरा दूँ, तब तक सेक्स को पूरा ही नहीं मानता हूँ.

तभी पता नहीं मुझे अचानक से क्या हो गया, मैंने सीधे राकेश का लौड़ा पकड़ लिया और उसको लेटा कर उस पर जाकर बैठ गई. फिर लंड पर थूक लगा कर, थोड़ी क्रीम मल कर उनकी गांड पर लंड को सेट किया और पेल दिया.

मैंने भाभी को नंगी चूचियों को दबाना शुरू किया तो भाभी की चूची से दूध बह निकला जिसे मैंने अपनी हथेलियों में ले कर चाट लिया. सुरेश की काली, चौड़ी, हष्ट-पुष्ट गांड देख कर ही उसकी ताकत का अंदाज लगाया जा सकता था।उसका लण्ड लाइट में ऐसे चमक रहा था जैसे कि भैंस का चमड़ा, जिस पर तेल लगा हो।सोनी लगातार चीखती जा रही थी. मेरे हाथ अपने आप उसकी मांसल गांड पर आ गए और मैं उसके चूतड़ों को सहलाने लगा.

उस दिन आपा ने एक ब्लैक कलर की शर्ट और एक वाइट कलर का स्कर्ट पहनी हुई थी.

मुझे लगने लगा कि चलो इतने दिनों के सब्र का फल बहुत मीठा होने वाला है. हमने कम से कम 20 मिनट तक लंड और चूत चुसाई की।उन्होंने कहा- दीपू तुम्हारा होता नहीं क्या, इतने देर हो गए तुम्हारा लंड चूसते हुये?मैंने कहा- भाभी मेरे अंदर यही तो खास बात है. मैंने कुसुम ताई से कहा- अब वो समय आ गया जब मैं तुम्हें चोद कर पूरा ठंडा कर दूंगा.

देहाती बुर बीएफआपकी करतूत के बारे में किसी को पता चला क्या?मां बोली- मैं और सबकी बात नहीं करती … मगर तुम्हारे पापा को पता चला तो क्या होगा?मैंने कहा- ये कौन बताएगा?मां बोली- मेरा मतलब समझो बेटा … अब इस खेल से अनिकेत विवेक लोगों को किसी तरह हटाओ. वो मेरे होंठों पर होंठों को रखकर उनको चूसने लगा और मैं भी उसके होंठों को पीने लगी.

फौजी वॉलपेपर

मैसेज था कि कृपया मार्च 2020 का किराया मेरे बैंक खाते में आज शाम तक डिपोजिट कर देवें. उसका टोपा बार बार मेरे मुँह तक आ रहा था तो मैं उसके टोपे को मुँह में भी ले रही थी. मेरे मुँह से अपनी तरीफ़ सुनकर फिर से उसके चेहरे पर हल्की सी मुस्कान आ गयी- इतना भी कोई कुछ खास नहीं है … बस नॉर्मली आलू के परांठे ही तो बनाए हैं.

मैंने चाची को उठा कर उन्हें घोड़ी बना दिया और उनके पीछे से उनके चुचे पकड़ कर लंड को उनकी उभरी हुई गांड में फंसा दिया. उन्होंने साईं बाबा की फोटो के सामने मुझे विश करते हुए गले से लगाया, बड़े प्यार से मेरे गालों को सहलाया और होंठों के नीचे साइड में एक हल्का चुंबन कर दिया. इससे मेरी उत्तेजना सातवें आसमान पर पहुंच गयी और मैं एकदम से जंगली हो गयी.

मैंने किसी तरह बहाना बनाया और कुछ देर के बाद सरस्वती से सारी बात कह-समझा उससे पति की बात करा दी. फिर जब बात उसकी बर्दाश्त के बाहर हो गयी तो बोली- कर दे न इब? इब के सोचै है, मन्ने कह तो दी!अब उसको तड़पाने की बारी मेरी थी. तभी पता नहीं मुझे अचानक से क्या हो गया, मैंने सीधे राकेश का लौड़ा पकड़ लिया और उसको लेटा कर उस पर जाकर बैठ गई.

उसके मुँह की झूठी शराब पीने में और उसके गुलाबी होंठ चूसने में मुझे अलग ही मजा आ रहा था. फिर मैंने उसकी कमर में हाथ डालते हुए कहा- इतना सोचने की जरूरत ही नहीं है.

आह आज पहली बार किसी लड़के ने मुझे इस तरह देखा है और वो भी मेरे सगे छोटे भाई ने … आआहह भाई चूसो अपनी बहन की चूची को … आआह आआह हह हहह.

उसने हंस कर कहा- तो पंडित जी, अब इसका कोई उपाय तो बताओ!मैंने भी हंसते हुए कहा- उपाय तो है … लेकिन आप बुरा मान जाएंगी. चोदने वाला बीएफ दिखाएंगांड मारने वाला सिर्फ गांड मारने में भरोसा रखता है, वो लंड चूसना पसंद नहीं करता है. बीएफ दिखाएं वीडियो परजब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो- सुनो!ज़ारा- हम्म?मैं- लेट जाओ!उसने फौरन लंड छोड़ा और लेट गयी. उनका फिगर 34-30-36 है। वो लगभग मेरी ही उम्र की है। वो थोड़ी मोटी है.

मैंने भी उस हरामी का लंड कभी देखा नहीं था बस सुना था कि उसका लण्ड सबसे बड़ा और तगड़ा है और गांव की औरतें ज्यादातर इससे बचती हैं.

उसने धीरे से अपना सिर भी उसकी छाती पर टिका लिया जैसे कि वो कोई और नहीं बल्कि उसका पति ही हो. मैंने ज्यादा उसके दिल को ना दुःखाते हुए उसे अपनी ओर खींचा और उसके एक चूचे को मुँह में भरके चूसने लगा. कॉलेज खत्म होते ही सबने विदा ली और अपने अपने घर की तरफ रवाना हो गए.

यह प्रस्तुत कहानी मेरे जीवन की ही एक घटना है।यद्यपि यह पत्नी की चुदाई कहानी शत प्रतिशत सत्य नहीं है मगर पूरी तरह से झूठ भी नहीं है. अदिति ने मेरा आधा तना और वीर्य से लबालब लंड को हाथ न लगाते हुए नीचे झुककर सीधे अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगी. भाभी ने मुझे कस कर हग कर लिया और हम दोनों एक दूसरे की बांहों में खो गए.

योनि को टाइट कैसे करे

मैं भी उसे अच्छी लगती थी तो वह जानबूझकर बाइक पर ये हरकतें करता था ताकि मेरे बदन का स्पर्श उसको मिल सके. ”भोला के दांत निकल आए- सर जी इतनी नहीं। ये गांव है, जूते पड़ेंगे यहां. मगर मुझे यहां आए दो हफ्ते से ज्यादा हो गए थे, पर अभी तक भी ममता जी के साथ मेरा काम‌ नहीं बन पा रहा था.

अब आगे मॉम हॉट फ्रेंड सेक्स कहानी:मेरी मम्मी ने इन्द्रेश अंकल को सोफे पर बैठा कर उनको कंडोम पहनायाऔर उनके लौड़े के ऊपर चढ़ कर घोड़े की सवारी की तरह उन्हें चोदने लगीं.

उसने मेरी चूत से उंगली निकाल कर सीधा उसको अपने मुंह में डाल दिया और उंगली पर लगे हुए मेरे चूत के रस को पूरा चाट लिया।यही कहानी लड़की की मधुर आवाज में सुनें.

तो मैं उन्हें पकड़कर गेट तक ले गयी और उन्हें धक्का देकर बाहर करके उन्हें मुंह चिड़ाते हुए बोली- अब तो जो होगा, रात को ही होगा. मैं फिर से रिक्वेस्ट करने लगा तो उसने मेरे लंड का सुपारा मुंह में ले लिया. भोजपुरी आवाज में सेक्सी बीएफअनन्या अब पूरी तरह से खुल चुकी थी और किसी भी नये लंड को लेने के लिए एकदम तैयार हो गई थी.

वसुंधरा भाभी ने मुझे चाय देते हुए, शरारतपूर्ण मुस्कान के साथ घर में रुकने का विकल्प दिया जिसे रागिनी के जोर देने के कारण सभी ने मान लिया. दोनों की आँखों में संतुष्टि और थकान दिख रही थी।मैंने उसकी आँखों में देखा जिसमें फिर से एक युद्ध की चुनौती थी। शायद आज वो वर्षों की प्यास बुझाना चाहती थी और मैं बरसना चाहता था। हमारी इस काम की प्यास और बरसात का आनंद आप अब कहानी के अगले भाग में लेंगे. अब आगे Xxx हिन्दी फॅमिली सेक्स कहानी:मुझे चुदाई करते देख कर अदिति भी नीचे से अपनी गांड उठाकर मेरा साथ देने लगी.

मैंने अपना लंड उसके मुँह में डाल दिया और उसकी चुत में अपनी जीभ को डाल दिया. दो दिनों तक आंटी का आना नहीं हुआ, फिर वापस पार्क में आना शुरू हो गया.

मैंने तो सोचा था कि वो हमारी आवाज सुनकर या तो दरवाजा खुलवाकर हमें खूब खरी-खोटी‌ सुनाएगी, या फिर वो वहां से चुपचाप वापस चली जाएगी.

अब मैं नहीं रुक पाया और मैंने चोदते हुए आंटी की गांड में वीर्य छोड़ दिया. वो तुरंत समझ गई और तुरंत अनामिका को छोड़ कर दूसरे दीवान में अपनी गांड के नीचे तकिया लगा कर लेट गई. थोड़ी ही देर के बाद दोनों के मुंह से कामुकता भरे स्वर निकल रहे थे- आह्ह … ओह्ह … जान … यस … आह्ह … मजा आ रहा है … चोदो … और तेज अंकित … फाड़ दो.

सेक्सी बीएफ वीडियो कहानी अंकल से रहा नहीं गया और उन्होंने मेरे दोनों नंगे कंधों से मुझे पकड़ कर अपनी छाती से लगा लिया. मैं- आपको पहली बार शर्माते हुए देख रहा हूँ … क्या बात है, मैंने कुछ ग़लत कहा क्या?वो- नहीं नहीं, वो तो बस बहुत दिनों बाद किसी ने तारीफ की है जिससे मुझे ऐसा लगा.

नीचे से उसको चूत में लंड का मजा भी मिल रहा था और आगे मेरे हाथ उसकी चूचियों का दूध निचोड़ने में लगे हुए थे. वो चुत चाटने की बोली, तो मैंने फिर से उसे अपने मुँह पर ले लिया और उसकी चूत चाटने लगा. इसके बाद मैं बराबर सोनी को टाइम देने लगा जिससे जल्दी ही सोनी के सारे गिले शिकवे दूर हो गए.

सेक्स कैसे करेंगे

लंड चूसे जाने से अनामिका के मुँह से सलरररप सलरप की आवाज आने लगी और तेजी से मेरा लंड अन्दर बाहर होने लगा. चाहे जो‌ कुछ भी मगर आज ये तो पता चल ही गया था कि शायरा भी प्यासी थी. वो मेरी ओर हैरानी से देखकर बोली- क्या??? हरामी … क्या देखा है तूने? सच बता मुझे?मैं बोला- जो देखने लायक होता है औरत में, वो सब देख लिया.

क्या तुम मुझे प्यार करोगे?मैंने कहा- भाभी आप जो चाहोगी, मैं आपके लिए करूंगा. छीना झपटी में भाभी के बदन पर लिपटा हुआ तौलिया खुल गया और भाभी मेरे सामने ब्रा पैंटी में खड़ी रह गयी.

मैंने उसके गालों को चूमते हुए उससे कहा- थोड़ी बहुत तकलीफ होगी, तुम सह लेना … फिर कुछ ही देर में सब ठीक हो जाएगा.

सुहागरात के अगले दिन उसका मैसेज आया और उसने बताया कि उसके पति को कुछ भी पता नहीं चला और उसके पति का लंड काफी छोटा है. भाभी ने मेरे लौड़े को अब कसकर दबा दिया और उसको भींच लिया अपनी मुठ्ठी में. खाना ख़ाने के बाद हम तीनों पिक्चर देखने चले गए और रात को होटल से खाना खाकर ही वापिस आए.

वह कमरे में दाखिल हुई और उसने जैसे ही लाइट जलाई उसकी नज़र मेरे तने हुए लंड पर गई. वैसे तो मेरी आवाज थोड़ी भारी हो गयी थी लेकिन मेरा जिस्म एकदम से चिकना और मस्त मलाई जैसा ही था. इधर सोनी नौकरी के लिए भाग रही थी और उधर सोनी के पापा लड़का खोजने में लगे थे.

पूछने पर मां ने बताया कि जब तक वो आंटी नहीं आ जाती तब तक यही काम करने आया करेगी.

हिंदी गाने वाली बीएफ: उसने मुझसे पूछा कि क्या हुआ … कुछ पता चला?मैंने उससे तुरंत ही कह दिया कि वो प्रेत आपका शरीर मांग रहा है. चाची- सोनू (मेरी वाइफ) क्या हुआ दीपक तो बड़े कमजोर कमजोर लग रहे हैं.

विपिन बोला- अरे दीदी, काफी टाइम है और आप गाली देती हो न तो मुझे बड़ा मजा आता है. आज सुमंत और महंत को अपनी रिश्तों में चुदाई की दुनिया में शामिल करने लिए उम्र के हिसाब से अर्चना ने अनु दीदी को दायित्व दे दिया था. एक बार आप लोग लण्ड चूस कर देखें।इस कहानी को पढ़ रहे मेरे लण्ड वाले दोस्तो, अपने इस खड़े लण्ड को एक बार जरूर से किसी हसीना के मुँह में डाल कर चुसाई का अपरम्पार सुख जरूर लें। चुदाई के साथ ही चुसाई में भी अपना एक अलग ही आनंद है.

वो मेरे नितंबों को दबा कर लिंग को और गहराई में ले जाने लगी।जैसे जैसे घर्षण बढ़ रहा था, उसके नितंबों में भी उछाल आना शुरू हो गया.

तब तक आप मुझे बताएं कि मेरी यह ब्रो सिस सेक्स कहानी कैसी लगी? मेल करना न भूलें. उन्हें भी पिघलते ज्यादा देर नहीं लगी और भाभी भी समझ चुकी थी कि आज चुदना ही पड़ेगा।भाभी का बेटा जिसका नाम प्रिंस है, उस वक्त सो रहा था।अब मैं भाभी को लेकर दूसरे कमरे में गया और धीरे धीरे दोनों के कपड़े उतरने शुरू हो गये. मुझे जवानी में कदम रखते ही चूत का ऐसा सुख मिलेगा, मैंने सोचा भी नहीं था.