बीएफ वीडियो बच्चा

छवि स्रोत,गुवाहाटी का सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

काजल की सेक्सी बीएफ: बीएफ वीडियो बच्चा, तो अभी तक शादी क्यों नहीं की?सुधीर- रिश्ते तो बहुत आए, मगर मुझे जैसी वाइफ चाहिए वैसी मिली नहीं।मोना- ओह अच्छा तो कैसी वाइफ चाहिए आपको.

मद्रासी हीरोइन की सेक्सी वीडियो

कुछ देर मेरी चुत सहलाने के बाद आकाश ने मेरी ब्रा और पेंटी उतार कर मुझे नंगी कर दिया और खुद भी सारे कपड़े उतार कर नंगा हो गया!जब आकाश ने अपने कपड़े उतारे तो उसका लंड देख कर हैरान हो गई उसका लंड भी दीपक के लंड की तरह खूब बड़ा और मोटा था. सेक्सी पिक्चर वीडियो वालीज़रूर सफल हो जाओगी।मोना- और कोई उपाय नहीं है क्या बाबा? ये बहुत मुश्किल है, ऐसी लड़की कहाँ से लाऊं.

फिर तुझे बताता हूँ।पूजा जैसे ही बेड से उतरी उसको चुत में बहुत दर्द हुआ. সেক্সি মুভি ভিডিওथोड़ी देर बाद हम दोनों उठे और कपड़े पहन कर मैं अपने घर की ओर रवाना हुआ.

और उसने जल्दी से मेरे कपड़े खोले और अंडरवियर के ऊपर से मस्ताना को सहलाते हुए बोली- आज इसको और तुमको अच्छे से रगड़ रगड़ के नहलाऊंगी.बीएफ वीडियो बच्चा: बचा मैं तो एक बार टीना को चोद लूँगा, दूसरी बार फ्लॉरा को चोद दूँगा, हो गया ना!’टीना- साले तू दो बार मज़ा लेगा ज़्यादा होशियार बनता है.

सुमन ने उसको टाइट्ली हग किया फिर उसने मॉंटी के लंड को देखा, जो एकदम अकड़ा हुआ था.डॉक्टर बोली- मेरी तो पिछले तीन साल की कसर निकल गई और मैं अब तुमसे एक महीना नहीं चुदुंगी.

सेकसी विडीयो मारवाडी - बीएफ वीडियो बच्चा

मैं मना करती रही पर आकाश माना ही नहीं और फिर हम दोनों ने किस किया और मैं अपने घर आ गई!घर आकर शाम को मेरे पति के आते ही मैंने सारी बात उन्हें बता दी तो वो मुझे बोलने लगे- तुम्हारे तो मजे हैं, पैसे भी और चुदाई भी… पर मुझे तुम्हारी चुदाई देखनी है हर बार की तरह.मैंने सुलेखा के होंठों से अपने होंठ कस के चिपका दिए और उसको उठाये हुए, होंठ चूसते हुए धीरे धीरे उसके कमरे की तरफ बढ़ने लगा.

बांधने के बाद उसने डंडा एक तरफ फेंका और मुझे अपने पास बुलाने का इशारा किया. बीएफ वीडियो बच्चा मेरे नहाने के बाद जैसे ही माला ने शावर के बंद होने की आवाज़ सुनी तो वह मुझे तौलिया देने के लिए एक बार फिर बाथरूम के दरवाज़े मुस्कराते हुए खड़ी हो गई.

इसकी आग तुझे नहीं पता है।काका- अब जाने भी दो, क्यों बेचारे को शरमिंदा कर रही है तू.

बीएफ वीडियो बच्चा?

शादी में चूसा कज़न के दोस्त का लंड-8इस देसी गे स्टोरी में अभी तक आपने पढ़ा…मैंने देखा कि लड़की ने उसके लंड पर हाथ रखा हुआ है और वो आँखें बंद करके आनन्द ले रहा था, लड़की उसके लंड को सहला रही थी, कभी उंगलियों से पकड़ लेती तो कभी पूरा हाथ रख देती थी. इसी कारण से उसने मुझे बीच में ही रोक दिया, इसलिए मैं उस दिन झड़ ही नहीं पाया. मैंने रास्ते में आकाश को कहीं देखा नहीं, मुझे लगा कि आकाश ने मेरा पीछा छोड़ दिया, मैं घर आई और जब मेरे पति घर पर आये तो मैंने उन्हें सारी बात बता दी.

हल्के-हल्के धक्के लगाता हुआ चंगेज़ अपने सख्त लंड को मेरी धर्मपत्नि की गांड में अन्दर-बाहर करने लगा. उस टाइम तो मैं एकदम नंगी रहती थी, तब अपने मना क्यों नहीं किया मुझे? बोलो?जॉय- मेरी जान वो हमारी मजबूरी थी मगर अब तो वेसा कुछ नहीं है, तो प्लीज़ अब अपनी ये आदत सुधार ले. 30 ही बजे थे, आधा घंटा और वेट करना था इसलिए सब लोग यहाँ वहाँ देखकर टाइम पास कर रहे थे, कोई अपने फोन में मूवी देख रहा था, कोई आईसक्रीम खा रहा था और कोई पानी पीने या पेशाब करने बाहर जा रहा था.

मॉंटी वहीं सुमन के सामने बैठ गया उसने बरमूडा पहना हुआ था और शायद अन्दर कुछ नहीं पहना था. मेरी कामुकता जाग उठी, मुझे मजा आने लगा और मैं उनका ब्लाउज खोलने लगा. मेल ज़रूर करें।अनामिका को भी धन्यवाद कि उसने मेरी चुदाई कहानी आप तक भेजी।[emailprotected].

दोस्तो, मेरा नाम निकेश है मैंने अन्तर्वासना की सारी कहानियाँ पढ़ी हैं. लंड मेरी चूत की दीवारों से चिपका हुआ था इसलिए अंदर बाहर करने में भी मुझे दर्द हो रहा था.

हाथों में इतना अधिक सुधार देखकर मैंने एक उड़ती हुई निगाह सुलेखा के पैरों पर डाली तो मैं दंग रह गया.

मैंने थोड़ा नॉर्मल होते हुए जवाब दिया- ठीक है जी, मैं ला दूँगा!सभी बात करने लगी- सैम, तेरे काम करने का थोड़ा हम लोगों को भी बेनेफिट हो जाता है, डिस्काउंट जो मिल जाता है.

लड़के तो ज़्यादातर जीन्स, टी शर्ट और कमीज़ पहने थे, मगर असली आग लगाई हुई थी लड़कियों ने, हरेक की ड्रेस एक से बढ़ कर एक थी. उसने जल्दी से अपने कपड़े निकाल फेंके और एक चादर लेकर मॉंटी के पास जाकर बैठ गई. इसी के साथ एंड्रयू ने अपना लंड स्वान द्वारा खाली की गई गांड में घुसेड़ दिया.

पिंकी को ये भी गवांरा नहीं गुजरा और वो अब मेरे हाथ को अपनी जाँघों पर से भी हटाने की कोशिश करने लगी।तभी मैंने पिंकी के निप्पल को दांतों से हल्का सा काट लिया जिससे पिंकी ‘ओय्ययय… अआआ…ह्ह्हहहह… अ. ये पहली बार नहीं हुआ जॉय ने फ्लॉरा को बहुत बार ऐसी हालत में देखा है। कई बार तो पूरी नंगी भी देखा है। अब कैसे और क्यों ये आपको बाद में पता लगेगा। अभी पीछे जाने का टाइम नहीं है. बस मेरे पति मेरा घाघरा ऊंचा करके ही लंड पेल देते हैं और मम्मों को सिर्फ ऊपर से मसल लेते हैं।मैं काफी सेक्स के मामले में संतुष्ट महिला हूँ.

थोड़ी देर बाद मैंने महसूस किया कि रोहन आयेशा की जांघें सहला रहा था, आयेशा भी मजे ले रही थी.

तू इसे ही चोद लेना।राजू- नहीं भाभी आपकी सुन्दरता ने मुझे अपना दीवाना बना लिया है, बस आपको एक बार काका की तरह जमकर चोदना चाहता हूँ। उसके बाद आप चाहे मेरी जान भी मांग लोगी तो मैं हंसते-हंसते दे दूँगा।मोना- ये बात है. ’‘हाँ सविता इसे नरम होंठों से सहलाओ न… तुम्हारे ये बड़े-बड़े दूध से भरे थैले भी बाहर आना चाहते हैं. मैडम ज़ोर-ज़ोर से ‘आहहा अम्म्म’ की आवाजें निकालकर चूत को उछाल-उछाल कर मेरे मुँह पर रग़ड़ रही थीं.

लंच के बाद जमीला फ्रीज़र से वाडीलाल की ब्लैक करन्ट आइसक्रीम का पार्टी पैक निकाल लाई और उसको तीन पीस में करके एक ही प्लेट में डाल लाई और तीन चम्मच भी लगा लाई. मैंने भी उसकी हाँ में हाँ मिलाई और कहा- हाँ, हाँ वही!वो बोला- रेलवे लाइन पार करके सीधे हाथ को एक रोड जा रहा है उस पर सीधे-सीधे चला जाइयो… जब तक मंदिर ना आए. उसने पेपर की बताते हुए मुझसे भी पूछा- तू क्यों नहीं गया?वो चाय बनाने किचन में चली गई.

थोड़ी देर में ही दरवाजे की बेल बजी और मैं भाग कर गया, दरवाजा खोला तो ऋतु अपनी सहेली पूजा के साथ खड़ी थी.

मॉंटी- दीदी देखो, मेरा कितना रस निकला है और आपका भी बहुत निकला है?मेरे प्यारे साथियो, आप मुझे मेरी इस देसी चूत की कहानी पर सभ्य कमेंट्स कर सकते हैं. फिर मुझे देख कर क्यों हटा लिया था?वो उठ कर बेड पर लेट कर बोलीं- तुझे हर बात खुल कर समझानी पड़ेगी क्या? मैं भी चाय का कप टेबल पर रख कर बेड पर उनके पास बैठ गया।मैं- मतलब?भाभी- तू मतलब बहुत पूछता है।अब भाभी ने मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों को चूम लिया।भाभी- अब आया मतलब समझ में?मैं तो सातवें आसमान में उड़ने लगा.

बीएफ वीडियो बच्चा मैंने सोच लिया था कि ये एक बार नीचे आ जाए बस, फिर इसकी सारी अकड़ इसकी चुत के रास्ते ही निकालनी है. उसका पजामे में से खड़ा लंड मेरे पिछवाड़े से रगड़ रहा था।वह मुँह से बार-बार ‘हाय जॅानी.

बीएफ वीडियो बच्चा बातों बातों में हम दोनों एक दूसरे के बारे में बहुत कुछ जान गए थे और इतने अच्छे दोस्त हो गए थे कि हम तकरीबन रोज़ बातें किया करते. चल मुझे बिस्तर पर ले चल, वहाँ रगड़ के चोदना!’मैंने चुदक्कड़ मैडम को गोद में उठा लिया और बिस्तर पे ले गया.

अनिता- ओ माय गॉड… ये क्या है… इतना बड़ा और मोटा! नहीं पापा प्लीज़ मुझसे नहीं होगा, इससे तो मैं मर ही जाऊंगी.

सेक्सी वीडियो भोजपुरी एक्स एक्स एक्स

साला हम उसको होटल भी नहीं ले जा सकते। मेरे पापा पुलिस में हैं साला उनको इस बारे में कोई भी खबर दे सकता है।विक्की- तेरे पापा खुद भी तो ऐसे ही हैं. चलो आगे बढ़ते हैं।उधर दोपहर तक गोपाल सुकून की नींद सोता रहा, तब तक मोना ने भी अपने आपको संभाल लिया था और खाना बना कर फ्री हो गई थी।मोना ने गोपाल को उठाया और खुद टीवी देखने बैठ गई।तकरीबन आधा घंटा बाद गोपाल फ्रेश होकर आया और मोना को पीछे से बांहों में जकड़ लिया।मोना- ये क्या है गोपाल. तब पूजा ने मुझसे कहा- अब मुझे बर्दाश्त नहीं हो रहा है, प्लीज डाल दो.

पता तो मुझे था कि ये लड़कियों के सुसू करने की जगह है, पर मैं वैसे ही सो गया. Sc की पढ़ाई हेतु भोपाल के एक प्रसिद्ध कालेज में प्रथम वर्ष में प्रवेश ले लिया. उन सबको विदा करके जब हम घर के अंदर आये तब मम्मी पापा और बुआ अपने अपने कमरे में चले गए और चाची मुस्कराते हुए मेरे पास आई और धीरे से कहा- हम रात को बारह बजे के बाद तुम्हारे भंडार में जितना भी माल है वह सब निकलवाने आयेंगे.

नहीं तो मैं मर जाऊंगी।मैं उनको चुप कराते हुए उनको बड़े प्यार से धीरे-धीरे किस करने लगा और उनके पूरे बदन पर हाथ फेरने लगा।अब भाबी का दर्द कम हो गया था और ऐसे ही धीरे-धीरे करके मैंने अपना 7 इंच लंबा लंड उनकी चूत में पूरा जड़ तक उतार दिया। उनकी आँखों से दर्द के आँसू निकल रहे थे लेकिन आँखों में एक ख़ुशी भी साफ झलक रही थी।अब मैंने धीरे-धीरे करके झटके लगाना शुरू किए.

पूजा ने उत्तेजित होकर पूछा- तो उसने क्या कहा?ऋतु- वो तैयार है और वो इसके लिए दो हज़ार रूपए मांग रहा है. मैं किस जन्नत में घूम रही थी।काफी देर ये सब होने के बाद मैं एक बार अपना पानी छोड़ चुकी थी। फिर वो उठा और मेरे ऊपर सीधा बैठ गया और बोला- कैसा लगा?मेरी साँसें बहुत तेज़ थीं. राजू वहीं खड़ा चुदाई का मज़ा ले रहा था तो काका ने उसे इशारे से जाने के लिए कहा, तब राजू ने अपने कपड़े पहने और वहां से चला गया।इधर काका स्पीड से मोना की चुत को पेल रहे थे। कोई 10 मिनट बाद मोना झड़ने को हो गई।मोना- आह.

अब आप खुद भूल गई क्या हा हा हा?दोनों खिलखिला कर हंसने लगीं।थोड़ी देर बाद दोनों घर से निकल गईं। रात का सन्नाटा और दो लड़कियां सड़क पे चुपचाप चली जा रही थीं। तभी कोने में एक शराबी एकदम टुन्न होकर पड़ा था. माँ ने कहा- अशोक, कहाँ जा रहा है?मैंने कहा- माँ चाची को सूई देना है, बस दे के आ जाता हूँ. हमें देखकर मनोज और सुलेखा भी लंड चुसाई करने लगे, सुलेखा भी लंड चूसने में माहिर थी, वो कुछ देर तक मनोज का लंड चूसती रही और फिर रुचिका को बोली- मुझे भी अपने वाला लंड टेस्ट करवा न!कहते हुए उसने हम दोनों के लंड पकड़ लिए, हम भी तुरंत घूम गए और मैं मनोज के बिल्कुल पास हो गया, और अरमान और नेहा हमारे बिल्कुल सामने चुदाई कर रहे थे.

मैंने पूछा- क्यों?तो उन्होंने कहा- अब क्या बताऊँ?मैंने बोला- कोई बात नहीं. मुझे तो हर धक्के में ऐसा ही लगता था कि अब वो झड़ी… बस अब ये आखरी… पर वो उछल उछल कर लंड अंदर ले रही थी.

पहले मैंने उसका टॉप उतारा और उसके पीछे जाकर कान को हल्के-हल्के काटने लगा. बाद में मैंने लंड पर कंडोम चढ़ाकर उसकी टांगों के बीच में आकर चुत में धीरे-धीरे लंड डालने लगा. उन्हें कुछ सवालों के हल गलत मिले तो उन्होंने बोला- ये सब गलत किया है, मैं तुम्हारे डैड को बता दूँगी.

फिर मेरी निप्पल पर किस करने लगीं और इसके साथ ही चाची ने एक हाथ मेरे बरमूडे में डाल दिया.

उस दिन के बाद हम थोड़ी ज्यादा बातें करने लगे, एक दूसरे की सीक्रेट्स बताने लागे और एक अच्छी दोस्ती निभाने लगे. उस लड़की की उम्र, हाईट, बॉडी सब तेरे से मिलती है, उसके लिए कुछ मॉर्डन कपड़े लेने हैं। अब भाई तुम लड़कियों को क्या पसंद आता है. मैं क्या देख रहा हूँ?तो भाबी बोलीं- मुझे मत चलाओ, मुझे पता है कि तुम कंप्यूटर में क्या देख रहे हो.

बोलो?सुमन तो बेचारी अभी तक कुँवारी थी मगर आज मॉंटी ने अपनी बातों से उसकी गांड फाड़ दी थी. जब मुझसे बर्दाश्त नहीं हुआ तो मुझे खुद मेरा लंड लोअर में से निकाल कर उसके हाथ में देना पड़ा.

उन्होंने मुझे बताया कि उनके हस्बैंड भी आर्मी में मेजर हैं और अभी उनकी असम में पोस्टिंग है। आर्मी वालों की पोस्टिंग अलग- अलग जगहों पर होती रहती है इसलिए हम साल में 3 या 4 बार ही मिल पाते हैं। बस 1 शराब ही सहारा है तन्हाई को दूर करने का!दोस्तो मैं जिंदगी में पहली बार शराब पी रहा था, तो मैंने बस 1 पेग ही लेना ठीक समझा, फिर भी शराब ने अपना असर दिखाना शुरू कर दिया. हेलो दोस्तो, मैं रंजन, मैं ओडिशा से हूँ लेकिन अभी मैं बंगलोर में रह रहा हूँ. गाड़ी को पार्किंग में लगा कर हम दोनों रेस्तरां के बाहर ही एक एक कोक की बोतल लेकर बैठ गए और बातें करने लगे.

విల్లగె సెక్స్

कॉम पर यह मेरी पहली फैमिली सेक्स स्टोरी है जिसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने अपने मामा की बेटी को उसकी शादी के कुछ दिन पहले चोदा.

उन्होंने मेरे लंड को अपने मुंह में भर लिया और लोलीपोप की तरह चूसने लगी. दोनों ने अपने लंड बाहर निकाले तो नताशा की गांड का खुला छेद किसी भट्टी के मुंह जैसा लग रहा था! चेहरे पर वही एवर ग्रीन मुस्कान! खुले मुंह में शानदार गुलाबी जीभ सभी को दीवाना बना दे रखी थी. कब से कोशिश कर रही हूँ कि मेरा भी पानी छूट जाय लेकिन नहीं हो रहा!’‘नहीं, लंड को घुसाने से तो तुम्हारा कुंवारापन छिन जाएगा.

वो मेरा सर और दबाने लगी।मैंने अपनी जीभ उसकी नाभि में डाल दी और चूसने लगा।मैंने उसके नाभि चूसते हुए उसकी कॅप्री उसके घुटनों तक खींच दी और अपनातना हुआ लंड उसकी नंगी जांघों पेरगड़ने लगा।प्रिया तड़पने लगी और कहने लगी- जल्दी करो रोहन मुझे और बर्दाश्त नहीं होगा. मैं उसकी सफाचट चुत चाटने लगा तो वो एकदम से गर्म हो गई और चिल्लाने लगी- उमाआह. फूल सेक्सी विडियोदिव्या चुपचाप मेरे पास आई और उसने मुझे गले से लगा लिया और मेरे होंठों को एक प्यारा सा किस करते हुए कहा- आई लव यू राज!मैं तो सोच भी नहीं सकता था कि आज ऐसा होगा.

गुलशन- डर मत मेरी जान… एक बार तो तुझे दर्द होगा मगर उसके बाद सारी जिंदगी तू मेरे लंड के गुण गाएगी. मैंने अनजान बनते हुए कहा- अच्छा मैं प्रतीक्षा करता हूँ, लेकिन यह खून कहाँ से आया? क्या तुम्हें कहीं चोट लगी है?मेरे प्रश्न सुन कर उसने शर्म से सिर झुका लिया तथा उसका चेहरा एवम् कान लाल हो गए और उसने बाथरूम से बाहर जाते हुए कहा- साहिब, सब ठीक है आप निश्चिंत रहिये और मुझे कहीं कोई चोट नहीं लगी है.

सुधीर बोलता हुआ रुक गया क्योंकि उसे बाद में अहसास हुआ वो कुछ ज़्यादा ही बोल गया।मोना- हा हा हा तुम भी ना बड़े मजाकिया हो. आप मुझे ख़ुशी कैसे दोगे?काका ने अब अपना हाथ पीठ से धीरे से मोना के सीने पर रख दिया- देखो बेटी किसी अनजान मर्द से अच्छा तो ये है कि मैं ही तुझे खुश कर दूँ. ‘गुड़िया, मैं तुम्हारी बात का मतलब समझ नहीं पा रहा थोड़ा खुल के कहो ना?’ मैंने बात बनाई.

माला की मुसकराहट का उत्तर मैंने भी मुस्करा कर दिया और उसके पास आ कर तौलिया लेकर अपने बदन को पौंछता रहा. तुम बोलो तो अभी तुम्हारे घर पहुंचा दूँ?मैं बोली- मज़ाक अच्छा है!पर वो माना नहीं, मुझे तुरंत मिलने बुलाया, मैं भी घर पर खाली थी तो उससे मिलने चली गई!हम जिस पार्क में मिलते थे, वहीं मिले और फिर आकाश ने मुझसे कोई बात करे बिना ही मेरे जाते ही मेरे हाथ में पचास हज़ार रुपये पकड़ा दिए और कहा- जब तुम्हें टाइम मिले, मुझे बता देना. अब उसे भी मज़ा आ रहा था।कुछ देर के धक्कों के बाद वो झड़ गई और उसकी चूत रस से गीली हो गई। अब मैंने उसे चोदने की स्पीड बढ़ा दी और उसके झड़ने के कुछ मिनट बाद मैं भी झड़ने लगा।मैंने उससे पूछा- मेरा निकालने वाला है.

हम उस लड़की के पास पहुंचे, सुमित ने उस से पूछा- यू नीड हेल्प, मिस?उसने सुमित की तरफ देखा और बोली- हू द फक आर यू?मगर सुमित बोला- मैं नीरज का दोस्त हूँ.

मैंने अपनी उंगलियों से उसकी काली-काली झाटें साइड करी और उसकी पिंक चूत को बाहर निकाला. मेरे द्वारा पाँच-छह बार ऐसा करने पर माला ने जो की काफी देर से सिसकारियाँ ले रही थी एक जोर की सीत्कार मारी और उसकी योनि में से गर्म गर्म रस का रिसाव हो गया.

जैसे उसकी टंकी खाली हो गई हो। वो निढाल सी होकर बिस्तर पे लेट गई। संजय के हाथ में बियर की बोतल थी वो अन्दर आकर फ्लॉरा के पास खड़ा हो गया। उसका लंड तना हुआ था जिसे देख कर फ्लॉरा घबरा गई।फ्लॉरा- नहीं संजू प्लीज़ अब और नहीं. मुझे खींचकर वो बेड के पास तक ले गई और वहाँ बैठी पूजा के पास बैठ गई. मैं भी नीचे से ऊपर कमर उठा उठा कर उन्हें चोद रहा था, बहुत मजा आ रहा था.

मेरे कमसिन बुर में उंगली ज़ोर ज़ोर से घुसा रही थी और चुची चूस कर मज़े ले रही थी. चाची की बात सुन कर जब बड़े चाचा कुछ सोच में पड़ गए तब मम्मी बोली- इसमें सोचने की क्या बात है? यह ठीक ही तो कह रही है कुछ दिनों के लिए इसे भी यहाँ रहने दो. मेरी चूत में बिल्कुल जगह नहीं थी फिर भी वो मेरी चूत में अपना लंड घुसाने में तुला हुआ था.

बीएफ वीडियो बच्चा आप जानते ही हैं कि लंड चुसवाते हुए मर्द मानसिक रूप से कितना कमज़ोर होता है. जब फूफा जी ने कोई जवाब नहीं दिया तो मैंने फूफा जी के लंड पर हाथ रखा.

தமிழ்நாடு செஸ் பிலிம்

मेरी बहू तो कुछ दिन बाद चली जाएगी मगर तूने तो मुझे मस्त खजाना बता दिया है। अब तो हर रात मेरे मज़े हो गए।राजू- तो आज मेरी चुदाई पक्की ना काका?काका ने उसको समझा दिया कि कब और कैसे उसको क्या करना है। इतना कह कर काका वापस घर चला गया।तो दोस्तो ये थी वो राज की बात. जयपुर से पूरी की है। अभी मैं गवर्नमेंट जॉब की तैयारी कर रहा हूँ। मैं दिखने में ज्यादा स्मार्ट तो नहीं, पर ठीक-ठीक हूँ।यह कहानी तब की है जब मैं स्कूल में था. क्योंकि थोड़े दिन बाद घर से पापा का फोन आया कि शालू विक्की के साथ चंडीगढ़ आना चाहती है.

मोना समझ गई कि नीतूएकदम अनछुई कली हैऔर इसे इस हालत में गोपाल को देना बहुत ख़तरनाक होगा. मेरे मुँह से निकल पड़ा…’हाय रे… घुसा दे…पुरा घुसा दे…’उसने लंड थोड़ा सा बाहर खींचा और जोर से धक्का लगा कर पूरा घुसेड़ दिया. हिंदी एडल्ट्स मूवीज नाम लिस्टउसके मुंह में जीभ देकर एक दूसरे की जीभ चूसने लगे और उसकी चूची भी दबाने लगा.

उसके मुंह से गहरी गहरी सिसकारियाँ निकल रही थीं= हाय मेरे राजदुलारे… मेरी जान… मैं तुझ पर सदके जाऊं… मरजाने तैयार पड़ा है मेरी बुर की खबर लेने को… राजे बाबू ज़रा मुझे एक चुटकी तो काटो… मुझे यकीन नहीं हो रहा कि मैं सचमुच इस कम्बख्त के साथ हूँ या ये कोई सपना तो नहीं!मैंने उसकी मोटी गोल मर्दमर्दन करने जैसी चूची को भोंपू की तरह ज़ोर से दबाया और उसकी घुंडी कस के उमेठी.

फिर उसने अपनी आँखें खोली और मेरी तरफ मुस्कुराते हुए देखा और अपनी बुर में से भीगा हुआ डिल्डो मेरे सामने करके बोली- लो चाटो इसे… घबराओ मत… तुम्हें अच्छा लगेगा… चाटो. मैं भी ऋतु के बारे में और आने वाले समय के बारे में सोचता हुआ अपनी आगे की योजनायें बनाने लगा.

मुझे भाभी ने परसों ही बता दिया था तुम्हारे बारे में और जब आज सुबह भाई जान और भाभी तुमको लेने गए तो भाभी ने मुझे मेसेज देकर बता दिया था और मैं भी आ गई मस्ताना का मजा लेने. लेकिन गौरव को रोक कर विकास मेरी गांड फाड़ने आगे बढ़ गया, मैं डर के मारे गिड़गिड़ा उठी- नहीं विकास, प्लीज तुम नहीं. लड़की जब अपने हाथों से हस्तमैथुन करती है तो कण्ट्रोल खुद उसके हाथ में रहता है वो खुद को दर्द नहीं होने देती लेकिन लंड की बात अलग होती है.

ये लंड की मार से ही ठीक होगी, अब चल जल्दी कर लंड पे बैठ जा।पूजा ने वैसे ही किया, जैसे संजय ने समझाया था। उसने लंड को चुत पर अड्जस्ट किया और धीरे से बैठने लगी मगर इतना मोटा लंड आसानी से थोड़ी जाएगा, अभी सिर्फ सील टूटी है चुत थोड़े ढीली हुई, उसको दर्द तो होगा ही, सो बस बेचारी कराह उठी- आह.

वो एक हाथ से उसकी चूचियों को मसल रहा था और दूसरा हाथ लड़की के सिर के पीछे रखकर उसको किस कर रहा था. उधर सुमन और टीना ने भी चाय बना ली थी और कमरे में बैठ कर दोनों आराम से चुस्की लेते हुए बातें कर रही थीं. उसने बताया- इससे एक तो सफाई रहेगी, दूसरे करते वक्त तुम्हें तकलीफ़ नहीं होगी, तीसरा तुम्हारा लिंग लम्बा तथा मोटा हो जाएगा.

फुल एचडी सेक्सी हिंदीजल्दी ही वो झड़ने लगी और मेरे मुंह में उसका गर्मागर्म रस आ गया और मैंने सारा पी डाला. भाभी बहुत सेक्सी लग रही थीं, मैं उन्हें देख कर दरवाजे पर ही खो गया.

देहात की लड़की की सेक्सी वीडियो

इससे पहले कि वह रस बाहर फैलता मैंने तुरंत अपना हाथ उनकी योनि के मुंह पर रख कर उसे बाहर निकलने से रोक दिया. मेरे लंड में तनाव और बढ़ गया, मेरे मुँह से उईई सीईईईइ निकला और जोर सा झटका लगा. कुछ ही क्षणों में मैंने गर्दन मोड़ कर देखा की माला अपने हाथ में मेरा तौलिया लिए दरवाज़े पर खड़ी मुझे नहाते हुए देख रही थी तथा उसने मैले कपड़े उसके कंधे पर रखे हुए थे.

मेरा शक गहराने लगा… लेकिन करता भी तो क्या, घबरा कर चुपचाप बैठा रहा, मेरा हाथ उसके लंड से हटने लगा. तू टाइम पर दे दे तो ये नौबत ही ना आए।संजय- ये क्या बकवास कर रहे हो सबके सब. मैं शुरू में अपने ननिहाल में रहता था और 7 वीं क्लास तक वहीं पढ़ा था। जब मैं छोटा था तो मेरे सबसे छोटे मामा की शादी थी। मेरी मामी बहुत खूबसूरत हैं, मैं बचपन से ही उन्हें पसंद करने लगा था।ननिहाल में मैं ही एक छोटा बच्चा था क्योंकि मेरे बड़े वाले दोनों मामा बाहर ही रहते थे.

शक्ल से भिखारी लग रहा था। उसने फटा हुआ कुर्ता और पजामा पहना हुआ था।सुमन- दीदी क्या कर रही हो आप हटो वहां से. जैसे ही उनका खेल ख़त्म हुआ, उन्हें देखकर हमारी उत्तेजना और बढ़ गई, मैंने भी रुचिका को जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया, रुचिका के चूतड़ों के नीचे हाथ डाल कर उसकी गांड को पकड़ कर उसे जोर से ऊपर करता और फिर उसी तरीके से उसे नीचे करता, ऐसा करने से मेरा लंड पूरी तरह रुचिका की चूत के अंदर बाहर हो रहा था. सभी लड़कियाँ अन्दर आते ही धीरे-2 अपने कपड़े निकाल कर नंगी हो गई और बेड पर लाइन से अपनी चूत को उभार कर लेट गई.

सुलेखा के मुंह से एक चीत्कार निकली और उसने मचल के लौड़े को मुंह में ले लिया. जब उसको लगने लगा कि मैं वाकयी उससे दोबारा नहीं मिलूंगा तो वो मुझसे मिलने के लिए गिड़गिड़ाने लगी, बोली- यार तू एक बार मिल तो सही मेरे से.

रोहित मेरे बूब्स बहुत जोर से दबा रहा था जिस वजह से मुझे दर्द होने लगा.

अब दो सप्ताह तक यह रोज़ मेरे साथ आएगी और यहाँ का सभी काम सीख लेगी ताकि दो सप्ताह के बाद जब मैं चली जाऊँगी तब यह आपकी अपेक्षा के अनुसार ही सभी कार्य करेगी. फोटो हीरोइन का फोटोरफीक के पास फ्लैट की दूसरी चाबी थी तो उसके आने पर दरवाजा कौन खोलेगा, उसकी दिक्कत भी नहीं थी. देसी राजस्थानी सेक्सी मूवीमेरी गर्लफ्रेंड की चुदाई स्टोरी कैसी लगी, मुझे मेल कीजिए![emailprotected]. मामा के घर में एक ही बाथरूम है, मैं नहाने के लिए जैसे ही बाथरूम में घुसा, वहाँ मामा मामी की पेंटी टंगी थी, मैंमामी की पेंटीहाथ में लेकर चाटने लगा, फिर कपड़े उतार और उनकी पेंटी में मुठ मारने लगा.

मैं आपका ‘ये’ नहीं सहला सकती।काका पर अब सेक्स चढ़ चुका था, वो मोना के मम्मों को दोनों हाथों से मसलने लगे थे और बीच-बीच में उसकी चुत को भी दबा देते।मोना- आह.

सुमित बोला- अरे वाह, तुम तो बहुत समझदार हो, क्या संभाल लोगी हम दोनों को?कीकू बोली- जिस दिन मेरे साथ पहली बार हुआ था, उस दिन 5 लड़के थे, जिन्होंने मुझे शराब पिला कर बेसुध कर दिया, और फिर बारी बारी मेरे साथ सेक्स किया. उसकी लाइफ बर्बाद हो रही है। किसी अच्छे डॉक्टर को उसे दिखाना चाहिए।राजू- भाभी मैं पहले अच्छा ख़ासा मर्द था मगर ये गंदी आदत की वजह से मैं ऐसा हो गया। अब कोई डॉक्टर इसे ठीक नहीं कर सकता है।मोना- पागल है तू. अपनी बाइक मैंने ऑफिस में ही खड़ी रहने दी और रिक्शे से स्नेहा के घर से थोड़ी दूर उतर गया.

‘अम्मा जी ने एक ठो उपाय बताया है हमका, जिससे लड्डू के भैया पर आये हुए संकट को हल किया जा सकता है. मैंने भी उसकी मैक्सी जाँघों तक खिसका दी, नीचे से वो एकदम नंगी थी; उसकी गर्म गर्म चूत को मैं सहलाने लगा. देखने लगा।फिर उन्होंने छोटू को सुला दिया और मैं हमेशा की तरह उनकी गोद में लेट गया। पर आज मेरा मन बार-बार उनके उभरे हुए चूचों को छूने का कर रहा था तो मैंने अपना हाथ उन पर रख कर उनको दबा दिया।इस बार चाची गुस्सा हो गईं और डांटते हुए बोलीं- ऐसा नहीं करते.

डर्टी सेक्सी पिक्चर

बाकी सब वहीं रह गए।वीरू- क्या बात है फ्लॉरा आज तो बड़ी अलग लग रही हो. कभी लंड की स्पीड को कम कर देता तो कभी एकदम तेज़ जिससे उसके और मेरे चुदाई की एक्साईटमेन्ट ख़त्म न हो और बढ़ जाये. और उसने जल्दी से अपनी रिंग टीना को उतार कर दे दी।उधर टीना भी शातिर थी.

लगभग बीस मिनट तक लगातार धक्के लगता हुआ अपने लिंग को उनकी योनि के अन्दर बाहर करने के बाद मैंने उसे बाहर निकाल लिया और सीधा हो कर बिस्तर पर लेट गया.

‘गुड़िया बेटा, अब तुम चूत को खोल दो अच्छी तरह से!’मेरी सुनकर उसके चेहरे पर लाज की लाली दौड़ गई लेकिन उसने अपनी चूत के दोनों होंठ पूरी तरह से खोल दिए मेरे लिए और अपना मुंह दीवार की तरफ करके परे देखने लगी.

जमीला- ये बॉडी से बॉडी की मालिश कैसे होगी?मैं- यार, अपनी चुचियों पर तेल उड़ेल कर मेरे सीने और बॉडी की मालिश अपनी चुचियों से करो. पैंतीस-चालीस मिनट के इस घमासान संसर्ग में हम दोनों पसीने से भीग गए थे और हमारी सांसें फूल गई थी इसलिए अगले दस मिनट तक हम उसी तरह एक दूसरे से चिपक कर लेटे रहे. सेक्सी फिल्म सेक्सी फिल्म दिखाइएक्या आप भी मेरे साथ किसी से चुदना चाहती हो?मैंने भी सब शर्म भूल कर साफ़ शब्दों में कहा- हाँ जिस डिलीवरी बॉय का लंड तूने चूसा था.

उसके नंगे बूब्स कितने मस्त थे, मैं लफज़ों में बयाँ नहीं कर सकता… मैं उसके बूब्स पर टूट पड़ा. उसकी ब्रा भी खोल दी और अपने पूरे कपड़े उतार कर चड्डी में आ गया। मैंने उसे बिस्तर पर लेटा दिया और उसके शरीर के ऊपरी भाग पर तथा कांख में जीभ से चाटना चूमना शुरू कर दिया।वो मदहोश होकर सीत्कार करने लगी- उउन्न्न आह्ह्ह आह आह उम्म्ह… अहह… हय… याह… स्स्स ह्हम्म उउफ्फ़ किसलय चोदो न मुझे. मैंने रफीक को बताया कि इसकी बहन सबीना बेचारी 6 महीने बिना चुदाई के रहेगी तो कहीं बाहर चुदवाने जायेगी तो बदनामी होगी तो इसने मुझे उस से सम्बन्ध बनाने को कहा और ये भी अपनी बहन की चुदाई के जलवे देखना चाहता है इसलिए ये कैमरे हर जगह छिपाकर लगवा दिए.

मज़े और वासना के चलते पूजा कुछ बोल भी नहीं पा रही थी और संजय तो पक्का खिलाड़ी था। उसने ऐसी ज़बरदस्त चुत की चुसाई की कि बेचारी पूजा 3 मिनट भी नहीं टिक पाई।पूजा- आह. आप मुझे ख़ुशी कैसे दोगे?काका ने अब अपना हाथ पीठ से धीरे से मोना के सीने पर रख दिया- देखो बेटी किसी अनजान मर्द से अच्छा तो ये है कि मैं ही तुझे खुश कर दूँ.

मैंने उनके कान में कहा- मैं तुम्हारी जरूरत पूरी कर दूँ?वो मुस्कुराई और बोली- हाँ?मैंने कहा- मेरे रूम में चलना पड़ेगा.

वो आंखें बंद करके लड़की का हाथ अपने लंड पर रखवा कर आनन्द ले रहा था. मैं साँवले रंग का हूँ, बॉडी स्लिम और कद मध्यम है, जिम जाने की वजह से शरीर ठीक लगता है. इसी तरह मेरी नेहा भी किसी से कम नहीं है, नेहा भी अपने जिस्म को फिट रखती है, और नेहा की एक ख़ास बात ये है कि वो लंड को चूसते हुए अपने मुंह में झड़वाना पसंद करती है, दूसरा सेक्स में हर तरह से मेन्टेन हो जाती है, मतलब उसे किसी भी तरह से सेक्स करना या सेक्सी बातें करने में दिक्कत नहीं आती और सोसाइटी में आम लोगों की तरह से सभ्य तौर पे विचरना भी खूब जानती है, उसकी यही अदाएं मुझे अच्छी लगती हैं.

कुमारी सेक्सी सॉरी मॉम प्लीज़ आप ये चिड़चिड़ापन ख़त्म कर दो, मैं वादा करती हूँ आपसे दूर कहीं नहीं जाऊंगी। अगर किसी से प्यार भी करूँगी तो आपको सबसे पहले आकर बता दूँगी। प्लीज़ मॉम अपने आपको संभालो. यह सेक्स स्टोरी मेरे और मेरी गर्लफ्रेंड के साथ की हुई चुदाई की कहानी है.

मैं जाने लगा, वो औरत बोली- बाबू आते रहना…मैं भी हां में इशारा किया और फिर चला गया. ओह डार्लिंग आओ… जल्दी आओ तुम्हारे लंड में खुजली हो रही होगी… मैं भी तैयार हूँ. अब जल्दी से मेरी इस सेक्सी कहानी पर मेल लिखो।कहानी जारी है।[emailprotected].

बात सेक्सी

तो बड़ी होकर पता नहीं क्या गुल खिलाएगी?पूजा- मुझे अपने ही ऐसा बनाया है मामू अब बोलो ना. सीमा किचन में थी, मैंने पूछा- दीदी, चाची कहाँ है?सीमा बोली- अपने कमरे में है. अनु आंटी के बारे में क्या बताऊँ… 40 की उम्र है पर आज भी 30 की लगती है, उसका फिगर साईज 34-28-36 उसके मम्मे मानो सांचे में ढाल कर बनाये गये हों, एकदम गोल गोल और बड़े कि एक हाथ में तो समाये ही ना.

और फिर हम इस तरह रोज़ सेक्स करने लगे!तो यह थी मेरी पहलीसच्ची सेक्सी कहानीउम्मीद करता हूँ आपको पसंद आई होगी, मुझे ई मेल करके बताएँ कि आपको कहानी कैसी लगी. मैं साँवले रंग का हूँ, बॉडी स्लिम और कद मध्यम है, जिम जाने की वजह से शरीर ठीक लगता है.

वो भी मजाक में मुझे मारने लगी। अब मारने के बहाने से मैंने उनके चुच्चे को भी दबा दिया जिसका उन्होंने कोई विरोध नहीं किया।अबमेरी हिम्मत थोड़ी बढ़ गई तो मैंने उनका हाथ पकड़ कर मरोड़ दिया और उन्हें दीवार के सहारे लगा दिया और दूसरा हाथ धीरे से उनके चुच्चे पर रख दिया तो भाभी बोलने लगी- मुझे दर्द हो रहा है.

माला मेरी बात सुन कर हंसते हुए बोली- धत, क्या कोई लड़की अपनी सास से ऐसी बातें पूछती है?इसके बाद हम दोनों बाथरूम में घुस गए और अपने गुप्तांगों को साफ़ कर के फिर बिस्तर पर एक दूसरे से चिपक कर सो गए. बहुत देर बाद हम दोनों ने पानी छोड़ा जिसमें उनका पानी मुझसे दो मिनट पहले छूट गया।फिर क्या था… हमें जब भी टाइम मिलता था और जब भी मूड होता… हम शुरू हो जाते थे. उसको किसी ना किसी तरह बोतल में तुमने आराम से उतार लिया, मगर ये सुमन को तू किस तरह तैयार कर रहा है? ये बात समझ नहीं आ रही है।विक्की- हाँ यार.

अब मैं सोचने लगा… ये खुद ही मुझे अपने लंड को हाथ में लेने के लिए कह रहा है… एक बार देखूं तो सही कैसा लगता है इतना बड़ा लंड हाथ में लेकर…उसने कहा- चल थोड़ा और अंधेरे में चलते हैं, यहाँ कोई न कोई देख लेगा. फिर गोपाल अपनी जॉब पे चला गया तो मोना ने मीना को कॉल किया कि अब वो उस लड़की को ले आए. उसका बदन जलने लगा था, उसके निप्पल हार्ड हो गए थे और चुत तो मानो ऐसे जल रही थी, जैसे कोई आग की भट्टी हो।सुमन अब वासना की आग में जल रही थी, उसने अपने मम्मों को सहलाना शुरू कर दिया था.

पहले अपना सबक याद कर ले, ये चुदाई के चक्कर में अगर फेल हो गई ना तो तेरे साथ मेरी भी शामत आ जाएगी.

बीएफ वीडियो बच्चा: मुझे पीछे से बिस्तर के साथ दबे हुए उनके बूब्स दिखाई दे रहे थे जिन्हें मैं बीच बीच मैं मालिश के बहाने छू रहा था, वो भी मजे से आँखें बंद करके लेटी हुई थी. रात के समय मुझे उन आंटी का फ़ोन आया, उन्होंने मुझे थैंक्स कहा और सुबह मिलने को कहा.

दीदी की चीख रोकने के लिए मैं अब अपने होंठ दीदी के होंठों को लगा दिए और चूसने लगा. फिर मैंने 2 और फिर 3 उंगलियों से उसे दम से कुरेदा… इस बीच वो दो बार झड़ गई. काका झटके पे झटके लगा रहा था और मोना की चुत पानी झड़ रही थी। जब मोना झड़ के शांत हो गई तो उसको अब चुत में जलन सी होने लगी।मोना- आह.

उसके चेहरे पे ख़ुशी थी कि गोपाल के राज भी पता लग जाएँगे और साथ में आज रात लंड का भी इंतजाम हो गया.

मूसल जैसे दो-दो लंडों से एक साथ चूत और लंड में चुदते हुए नाता आनंद के अतिरेक में आसमान में उड़ने लगी, अपनी आँखें बंद कर जोर-जोर से सिसकारियां भरने लग गई. ’ मैंने जवाब दिया।वो खुश होकर राजी हो गए।आसिफ अंकल अपनी कार लेकर आ गये, हम सब कर मैं बैठ गए और मैं आसिफ अंकल को अपने घर का रास्ता बताने लगी। दो लोगों से एक साथ चुदने की मेरी ख्वाहिश अब सच होने जा रही थी. मगर दिन की रोशनी अलग ही होती है ना, कितना भी लाइट बुझाओ थोड़ा बहुत तो दिख ही जाता है।जैसा संजय ने कहा.