भाई हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,हॉट बीएफ हॉट सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

वीडियो सारी वाली सेक्सी: भाई हिंदी बीएफ, तब बताओ मैं तुमको कैसे भूल सकता हूँ।पीहू ने कहा- भैया, सिर्फ लड़के ही नहीं बुड्ढे भी मेरे पीछे पड़े हैं।मैंने उसकी गर्दन पर किस करते हुए कहा- तुम इतनी खूबसूरत हो ही कि तुम्हें चोदने के ख्याल मात्र से ही बुड्ढों के भी लन्ड खड़े हो जाते होंगे।यह सुनकर पीहू बोली- भईया क्या सच में मैं इतनी खूबसूरत हूँ?मैंने उससे कहा- हीरे की परख सिर्फ जौहरी जानता है.

बीएफ फुल एचडी कॉम

आह मुझे अपनी रंडी बना लो और ऐसे ही बुर मारते रहो मेरी!वो एकदम से अपनी गांड तेज तेज आगे पीछे करने लगी और बार फिर से झड़ गई. सेक्सी चुदाई देसी बीएफउस लड़के ने कहा- चल कोई बात नहीं, मैं तुझसे मिलने के लिए तड़प रहा था.

मैंने एक बार फिर से जोर का धक्का लगाया तो लंड उसकी बुर में पूरा घुस गया. बीएफ बीएफ वीडियो चुदाईमैंने उसकी गांड के छेद पर थूक लगा दिया और उसकी गांड के छेद को रगड़ने लगा.

मैंने पूछा- दूध में क्या मिला कर लायी थी?वो बोली- ज्यादा कुछ नहीं … केसर, शिलाजीत, अश्वगंध, मुलैठी, सतावर और एक कोई अंग्रजी दवाई का चूर्ण.भाई हिंदी बीएफ: वो जब वो शांत हुई तो कहने लगी- प्रेम … बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज जाने दो … बाकी का कल करेंगे.

उनकी शादी को चार हो गए थे और दो साल की एक बेटी है … यही सब बातें चलती रहीं.फिर मैंने उससे उसके बारे में पूछा तो वो बताने लगी कि वो फैशन डिजाइन का कोर्स कर रही है.

हिंदी बीएफ चोदने वाला बीएफ - भाई हिंदी बीएफ

Pati Ka Lund Desi Bhabhiब्रा और पैंटी में मैं बाबा के सामने थी और वो मेरे बदन को हवस भरी नजरों देख रहे थे.आखिरकार एक दिन बात करते करते मुझे पता चला कि वो अपने घर पर अकेली है.

रास्ते में कपड़ों का ख्याल आया तो मैंने सोचा कि सबसे पहले कपड़े बदले जायें. भाई हिंदी बीएफ रात करीब ग्यारह बजे शालिनी भी वहां आ पहुंची और कुसुम ने हम दोनों को एक दूसरे से मिलवाया.

मां अपने भतीजे सोनू के लंड को एकदम अच्छे से चूस रही थी और सोनू के अंडकोष मुंह में भर रही थी.

भाई हिंदी बीएफ?

मेरे हाथ में मलहम लगाने के बाद उससे मेरी टांग पर मलहम लगाते नहीं बन रही थी. मैंने चाची की टांगों को पकड़ लिया और उनकी चूत में लंड के धक्के देने लगा. करीब एक मिनट तक यूं ही मेरी गांड मारने के बाद उन्होंने मुझे अपनी बांहों में उठा लिया.

क्या तुम मुझसे चुदने के लिए यहाँ नहीं आई हो?वो कसकर मुझे अपनी बांहों में भरती हुई बोली- हाँ भैया, घूमना तो सिर्फ एक बहाना है. बटन खोल कर मैं जीन्स उतारने लगा, तो मैम ने गांड उचका कर मेरी मदद की. उस रात भी वैसा ही हुआ … मेरा हाथ उसकी चूची पर था और वो आज भी गहरी नींद में सो रही थी.

मेरे पति भी बहुत खुश थे मेरे कारनामे से! उसके बाद क्या हुआ?ससुर और बहू की चुदाई की सेक्स कहानी के पहले भागपति ने कराई बहू ससुर की चुदाई-4में आपने पढ़ा कि मैं अपने ससुर से चुद चुकी थी और बार बार चुदना चाह रही थी. उसके हाथ अब भी मेरे सर पर लगे थे और मैं उसकी चुत की मलाई को बड़े मजे से चाट कर मजा ले रहा था. गाड़ी के लॉक को खोलते हुए उसने मेरी तरफ कातिल निगाहों से देखा और उस पर बैठ गयी.

प्रशांत- हां, चुदाई तो करेंगे पर कैसे … इसके लिए मम्मी तैयार नहीं होंगी. कुछ दिन तक हम लोग पार्क में जब आमने सामने आ जाते थे तो बातें हो जाती थीं.

भाभी ने जैसे ही मेरे लंड को निक्कर से बाहर निकाला, उसका मुँह खुला का खुला ही रह गया.

वैसे तो पहले दिन ही हमने टेक्निकल काम कर लिया था और अब बस डेटा एंट्री और सिग्नेचर लेने बाकी था.

वो जोर से सिसकारते हुए बोली- आह्ह … सर रुकना मत … आह्ह … बस होने वाला है मेरा. मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसकी चूचियों को किस करना शुरू कर दिया. उसके बाद मैंने उसकी पैंटी को निकाल दिया और उसकी टांगों को ऊपर करके उसकी चूत में मुंह दे दिया.

इसलिए कई बार तो मेरे पति माधो अपने किसी दोस्त के यहां शहर में ही रुक जाया करते थे. मैंने तेजी के साथ फच-फच करते हुए भाभी की चूत में लंड को पेलना शुरू कर दिया. जब मैं पिंकी को अस्पताल ले जाने लगा था, तब मैंने एक अपने दोस्त को फोन कर दिया था और उसे सारी बात बताकर उससे पिंकी की स्कूटी उसके घर छोड़ने को बोल दिया था.

धीरे धीरे भरत की शादी को दो साल हो गये और कोई बच्चा पैदा नहीं हुआ तो सास ने बहू को ताने मारने शुरू कर दिये.

उसके चेहरे को चूमते हुए उसके कानों को भी बारी बारी मुंह में लेकर चूसने लगा।पीहू पूरी तरह से चुदासी होकर मादक आहें भरने लगी थी।फिर मैं उसके कानों को चूमते हुए उसके गर्दन और कंधों को चूमने लगा। पीहू के कंधों से होते हुए उसके बायें हाथ को चूमते हुए उंगलियों तक आया और बारी बारी उसकी अंगुलियों को मुंह में लेकर चूसने लगा. जब भी भैया काम के सिलसिले में कुछ दिनों तक बाहर जाते थे तो भाभी मुझे फोन कर देती थी. ममता को यह सब बताने का मेरा तात्पर्य था कि रोहित के साथ ममता एकदम से सहज रहे.

तभी सोनल ने लंड को अपने मुँह में दबाए हुए ही अपनी पोजीशन बदली और अपनी चूत को मेरे मुँह पर रख चढ़ गई. मेरे मोटे और लम्बे लंड को देख कर आंटी ने मेरे लंड को अपने हाथ में ले लिया और उसको दबाकर देखते हुए बोली- इतना बड़ा लंड!कृष्णा आंटी वहीं पर बैठ गयी और मुंह खोल कर मेरे लंड को चूसने लगी. गर्म गर्म चूत और उससे निकलने वाला रस, मुझे मेरे घुटने पर महसूस कर रहा था.

इसके बाद उसने कहा- मैं अकेले बोर हो रही थी और तुम अच्छे लगे, इसलिए मैंने तुम्हें बुलाया है.

मेरी कहानी बड़ी मौसी कृष्णा, जो कि एक नर्स है, के घर से ही शुरू हुई थी. वो काफ़ी ज़ोर ज़ोर से आवाजें निकाल रही थी और मेरा लंड का पूरा मज़ा ले रही थी.

भाई हिंदी बीएफ क्या तुम मुझसे चुदने के लिए यहाँ नहीं आई हो?वो कसकर मुझे अपनी बांहों में भरती हुई बोली- हाँ भैया, घूमना तो सिर्फ एक बहाना है. उसने जैसे ही मेरा लंड अपने मुँह में लिया, तो मैं जीवन में पहली बार आसामान पर उड़ने लगा था.

भाई हिंदी बीएफ उसने मुझे आंख मारते हुए कहा- तुम एक अच्छे फकर हो … यदि तुम राजी हो तो मैं तुम्हारे लिए कुछ क्लाइन्ट्स का इंतजाम कर सकती हूँ. दोस्तो, मुझे उम्मीद है कि आपका लंड मेरी चुत के लिए खड़ा हो गया होगा.

उस दिन भाभी दोनों पैरों को अलग अलग साइड में करके बैठी हुई थी, जैसे लड़के बैठते हैं.

हिंदी गाना के बीएफ

सेक्स करने में हम दोनों नए थे, इसलिए जैसे जैसे हम आगे बढ़े … हमको और ज़्यादा मजा आने लगा. जैसे-मेरी बीवी की चूचियों की फ़ोटो, बीवी को घोड़ी बनाकर उसकी गांड की फ़ोटो, ब्रा पैंटी में कई सारी फ़ोटो डाली. वो बोलीं- हां … चोद दे बेटा … आह आज अपनी मॉम की आग को भी ठंडा कर दे … अहहह.

हर बार वंश चलाने के लिए एक बच्चा गोद लिया जाता, पर उसे भी संतान नहीं होती. ”उन्होंने अपना हाथ मेरे कंधे पर ही रखा था, रखा क्या … अपने पंजे से मेरे कंधे को लगभग दबोच लिया था. वो लंड के सामने मुँह खोल कर बैठ गई और मैंने लंड हिला कर उसके मुँह पर अपना रस छोड़ दिया.

चूंकि मैं अपनी कॉलेज की फीस और पढ़ाई का खर्च खुद ही उठाना चाहता था.

मैंने उसकी चूची चूसते हुए उसे मजा देना शुरू किया तो उसकी चुत ने कुछ रस छोड़ दिया, जिससे लंड से उसे राहत मिलने लगी. क्या मेरी प्यारी बहना अपनी चुदाई मुझसे करवाएगी?पीहू ने कहा- भैया, आप मेरे साथ कुछ भी कर सकते हैं. मैं अपने भाई के सामने गयी और उसके सामने झुक कर अपने बालों को झटकने लगी.

फिर मैंने पापाजी का लंड उसी कटोरे के रस में डाल दिया और उनके लंड से बहता हुआ रस मैंने चाट के साफ़ किया और फिर उनका लंड जोर जोर से चूसने लगी. मजबूरी में उनका पूरा वीर्य मुझे पीना पड़ा।मुझे बहुत अजीब महसूस हो रहा था लेकिन मज़ा भी आया।यह मेरी सच्ची कहानी है. जबकि मनोज ने मुझे पहले ही बताया हुआ था कि उनके इस शहर में कोई रिश्तेदार नहीं रहते हैं.

ये सिलसिला अब भी यूं ही चल रहा है और मेरेजिस्म की आगपूरी तरह से शांत रहती है. मैं उसकी चूचियों को दबाते हुए उसको चोद रहा था और कोमल के मुंह से सिसकारियां निकल रही थीं.

वो मुझे ऐसे बोला, तो मुझे बड़ा अच्छा लगा और वो मुझे झाड़ियों में ले गया. उनकी चूत को ध्यान से देखते हुए उनकी चूत में लंड देने की कल्पना कर रहा था. जितनी जोर से मैं उसकी चूत में झटका देता उतनी ही जोर से वो भी वापस से झटका दे देती थी.

चेहरे पर ये सोचकर मुस्कान आ जाती है कि मेरे अंश से जन्मे उन बच्चों में से किसी के बाल मेरी तरह के होंगे.

काफी देर तक उस चौकीदार ने मेरी बहन के मुंह में लंड देकर चुसवाने का मजा लिया. मैं कुछ समझा नहीं तो मैंने सुमन से पूछा- मेरी वजह से क्यों, मैंने तो ऐसा कुछ भी नहीं किया है. बल्कि अब वो ऐसे बुदबुदा रही थीं- साले कपड़ों पर क्या रंग लगा रहा है … अन्दर मेरे बदन पर लगा.

फिर वो मेरी छाती पर झुकी और मेरे सीने पर अपने मम्मों को रगड़ते हुए मेरे लंड को चोदने में लगी रही. दीदी की गुलाबी चुत देख कर मैंने अपने बरमूडे को उतार दिया और दीदी के हाथों में अपना लंड पकड़ा दिया.

फिर तीसरे दिन जब मुझे फैक्ट्री में जॉब मिल गयी, तब मैं अपने लिए रूम की तलाश कर रहा था. यही वजह है कि मुझे आप लोगों की राय चाहिये कि अब मैं क्या करूं?मेरी चूत की चुदाई की सच्ची कहानी आपको कैसी लगी? अपने विचार मुझे जरूर बताएं नीचे कमेन्ट करके!. मैंने उससे पूछा कि मेरे साथ किसी दिन अकेले किसी रूम में मिलना चाहोगी.

रानी भाभी की बीएफ

उसकी यह हरकत मेरे अंदर आग लगा रही थी, मुझे बहुत अच्छा लगने लगा और मैं उसके और करीब हो गयी।अमरीश मेरे कान के पास आकर बोला- सुकृति आई लव यू!मैं उसे अपनी बांह में भींच कर उसके कान में बोली- डिअर अमरीश, आई लव यू टू!और वो मेरे होंठों को चूमने लगा, चूसने लगा, काटने लगा.

मैं अपने आपको पूरी तरह से उसको समर्पित कर चुका था और वो मेरी लंड को आइसक्रीम की तरह चाट रही थी … चूस रही थी. कुछ ही देर में हम दोनों की उत्तेजना बढ़ने लगी और मैं चाची के पूरे बदन को चूमने लगा. वो जब किसी काम से झुकती तो मैं मामी की गांड देखता और अपने लंड को मसल देता जिसे उन्होंने देख लिया था.

अजय ने माँ की चूत में उंगली डाली और उसमें जीभ डालकर कुत्तों की तरह उसको चूस रहे थे. कोई दस मिनट बाद की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद वो एकदम से चीखने लगी और बिस्तर की चादर को अपनी मुट्ठियों में भींचते हुए झड़ने लगी. सलमान बीएफमेरी पिछली कहानीसुहागरात में फटी बीवी की फटी चूत का इलाजको आपने इतना प्यार दिया उसके लिए आप लोगों को बहुत बहुत धन्यवाद.

अब अभिनव मां की चूत को चाट रहा था और मां उसके सर को अपनी चूत के अंदर दबा रही थी. शाम को छह बजे मैं ऑफिस से लौटता और अपने घर से हनी को लेकर अस्पताल जाता व अपनी पत्नी को वापस ले आता.

मगर मैंने कोशिश जारी रखी और उसकी चूत में जीभ से चाट चाट कर उसको गर्म कर दिया. मैंने उसकी चूचियों को अपने हाथों में भर कर दबाया तो उसके मुंह आह्ह सी निकल गयी. मुझे पहले से ही पता था कि रमेश नामर्द है इसलिए कोमल की जवानी को भोगने के ख्याल से ही मेरा लंड बार बार खड़ा हो जाता था.

मैंने एक दोस्त को कॉल की और किसी सेफ से होटल के बारे में पूछा, तो उसने अपने किसी रिलेटिव के होटल के बारे में बताया. मैंने उसकी सहमति पाते ही उसकी बुर में जोर जोर से धक्के लगाने शुरू कर दिए और उसकी बुर में ही झड़ गया. हमारी प्रेम गाथा में सेक्स और क्या क्या मोड़ लाया, वो बताने के लिए जल्द ही लौटूंगा मैं अपनी अगली कहानी के साथ!मेरे इस पहले प्यार की पहली चुदाई के बारे में मुझसे अपने विचार सांझे कीजिये मेरी मेल पर।[emailprotected].

बाद में उनकी मस्त जवानी को देखते देखते कब लंड ने आन्दोलन करना शुरू कर दिया, मुझे याद नहीं है.

कोच के कहने पर मैंने बहुत कोशिश की लेकिन मेरा शरीर ऊपर नहीं उठ पा रहा था. अन्तर्वासना पर मैं अपनी एक आपबीती आप लोगों के साथ शेयर करना चाहती हूं.

शालिनी उसकी काफी अच्छी सहेली थी और वे दोनों साथ में वापस जाने वाली थीं. फिर कुछ देर के बाद पीछे वाले ने मुझे नीचे किया और मुझे उल्टा कर दिया. उसके बाद राजा ने अपने पर्स में से 5000 रूपए निकाल कर मेरी बहन को दिए.

पापाजी बोले- बहू, कभी गांड में लंड लिया है?मैंने कहा- पापाजी, बस आपके बेटे का लिया. मैं उसकी चूचियों को मुंह में लेकर पी भी रहा था और उसके निप्पलों पर जुबान भी फिरा रहा था. बेड पर आकर मैंने एक तकिया कृति के चूतड़ों के नीचे रखा ताकि उसकी चूत ऊंची हो जाये.

भाई हिंदी बीएफ हालांकि मैंने किसी निम्न स्तर के उद्देश्य से नहीं, बल्कि उसकी सुंदरता और आकर्षक स्माइल की तारीफ़ करने के लिए उसको मैसेज भेजा था, जिसका जवाब पाने की मैंने उम्मीद भी नहीं की थी. मैं अपना कुल नाम यहां पर नहीं लिख सकता हूं क्योंकि मेरे काफ़ी सारे प्रियजन व मित्र भी पाठक हैं यहां पर। मैं उनमें से किसी की भावनाओं को आहत नहीं करना चाहता.

कुत्ते वाले बीएफ

मैंने उसके माथे पर हाथ रख कर देखा तो हकीकत में ही उसका माथा बहुत गर्म हो रहा था. उसकी पटियाला सलवार के ऊपर से ही कूल्हों पर हाथ फेरते हुए मुझे स्वर्ग सा आनन्द मिल रहा था।सलवार के अंदर उसकी टाइट फिटिंग वाली चड्डी सुमन के गोल-मटोल चूतड़ों पर कसी हुई मुझे अपनी उंगलियों पर भी महसूस हो रही थी. चुत को चाटने के साथ साथ मैंने अपनी दो उंगलियां भी चूत में घुसा दीं.

मैंने तुरंत उसकी ओर करवट ले ली और अपने तने हुए लंड को उसके हाथ पर टच करवाने लगा. अब माँ अंकल के लण्ड के साथ खेल रही थी।उन्होंने अंकल के कच्छे में हाथ डाला और उनके लण्ड के खाल को ऊपर नीचे करने लगी और अपने शरीर को उनके शरीर पर महसूस करने लगी. तेलुगु फिल्म बीएफदो महीने के बाद मेरे पैर का प्लास्टर कटा और तब जाकर मुझे बेड से उठने की आजादी मिली.

फिर मैं भी मूड में आ गया और उससे बोला- मुझे भूख नहीं है, तुम जा सकती हो.

बल्कि मुझे हिदायत दे डाली कि कमी तुम्हारे ही अंदर है, तुम्हें जांच करवानी चाहिए. ब्रून इस समय एकदम टुन्न था उसने इन कराहों पर ज्यादा ध्यान नहीं दिया बस लगा रहा.

फिर कुछ दिनों बाद ही यश और मेरी बात होने लगी और काफी अच्छी दोस्ती हो गयी. अंकल ने मेरी आंखों में झांक कर देखा, तो मुझे शर्म सी महसूस हुई और मैं नीचे देखने लगी. भले ही वो बीस साल से चूत चुदवाने की बात कह चुकी थीं लेकिन थीं तो वो अविवाहित.

मैं डर के मारे ये भूल गई थी कि कमर के ऊपर मैंने कुछ नहीं पहना हुआ है.

वो दूध पिलाते हुए सो सी गई और तभी हवा के कारण उसकी साड़ी उसके मम्मों से उड़ गई. कभी उसके सामने झुक कर कुछ उठाती, तो कभी उसके सामने झाड़ू लगाने लगती, तो कभी पौंछा लगाने लगती. इतना बोलकर वो अलमारी के पास गयी और उसमें से एक ब्लैक डॉग व्हिस्की निकाल कर ले आई.

कम उम्र की लड़की के बीएफ वीडियोवो बोली- ऐसा क्या करेगा तू?मैंने कहा- वो तो मैं घर चल कर बता दूंगा कि मैं क्या कर सकता हूं. उसने 45 मिनट तक लगातार मेरी गांड मारी और इस बार उसने अपना माल मेरे गांड की दरार में भर दिया।फिर सुबह में भी उसने मेरी गांड बजाई।अब हम जब भी मिलते तो यही खेल खेलते थे.

बीएफ सेक्सी कुंवारी लड़की का

साड़ी पेटीकोट हटाने के बाद मैंने उनके मम्मे चूसने के लिए उनकी ब्रा भी उतार दी थी. वो मेरे मम्मों को बारी बारी से चूसने लगा और निप्पलों को भी चूसने लगा. उसने मेरा सर पकड़ कर पूरा लंड मेरे मुँह में डाल दिया और मेरी नाक दबा दी.

बाहर आने के बाद आकाश की बहन पूछने लगी- कैसे चोदता है मेरा भाई?राजश्री ने शरमाकर हँसते हुए आकाश की बहन की पीठ पर एक हल्का सा मुक्का दे मारा. मैं लड़की की आईडी से एक सिम लेकर आया ताकि ट्रू कॉलर पर भी उसे मेरा नाम किसी लड़की का ही दिखे. उसके बाद मैंने फिर से लंड को हाथ से पकड़ कर मॉम की चूत पर सैट किया और अन्दर डाल कर चुदाई शुरू कर दी.

मेरे शौहर ने उसको देखा और बोले कि यह तो हमारे जान-पहचान वालों में से है. मैंने उससे पति के बारे में पूछा, तो उसने बताया कि वो अगले दस दिन तक शहर से बाहर है. आकाश ने जैसे ही मेरी बहन की चूचियों को पीना शुरू किया तो राजश्री के मुंह से भी सिसकारियां निकलने लगीं- आह्ह आराम से करो यार… किसी को आवाज सुनाई दे गयी तो पंगा हो जायेगा.

इससे पहले मुझे कभी भी भाभी के बारे में उस तरह के ख्याल नहीं आये थे. ”मैं भी आ रहा हूँ बेटी … आज तेरे जैसी कमसिन जवानी चखने को मिली है … मैंने सपने में भी यह नहीं सोचा था.

मैंने लंड पर थूक कर उसको ज्यादा चिकनाहट दी और उसकी गांड में पूरा लंड फंसा दिया.

अब मैं लंड तेजी से अन्दर डालता और दुगनी रफ़्तार से लंड को बाहर खींच लेता. अंग्रेजन की बीएफ पिक्चरखैर वो सेक्स कहानी मैं बाद में लिखूंगा, मगर अभी उसकी शुरुआत की चुदाई की कहानी लिख रहा हूँ. बीएफ सूचीछोटी के ऊपर 69 का पोजिशन लेते हुए उसके पेन्टी की इलास्टिक को कमर के पास से दांत से पकड़ा और थोड़ा नीचे कर दिया. आएशा- क्या लोगे आप … टी, कॉफ़ी, कोल्डड्रिंक या हॉट ड्रिंक्स?मैं- इन चारों ड्रिंक्स में से मैं कोई भी ड्रिंक्स नहीं लेता.

अंकल एक हाथ से मेरा एक रसभरा मम्मा दबाते हुए दूसरे के चॉकलेटी चूचुक को अपने मुँह में भर कर चूसने लगे.

इसके बाद मैंने पूछा- मैं जिस काम के लिए इधर आया हूँ … वो काम शुरू किया जाए?उस महिला के पति ने कहा- हां. वो पागलों की तरह मुझे चूमे जा रही थी … साथ ही वो जोर जोर से मेरा नाम लेकर बोल रही थी- आर्य, प्लीज़ जल्दी से कुछ करो … नहीं तो मैं मर जाऊंगी. मेरे पुराने तजुर्बे से ये करना, हमेशा काम करता है और उस दिन भी ऐसा करने के तुरंत बाद ही वो मुझे जन्मदिन यादगार बनाने के लिए शुक्रिया करने लगी.

’ कहते हुए मेरे लंड से खेलने लगी और लंड की खुशबू से पागल होकर सुपारे को चाटने लगी. मेरी मॉम ने मुझसे इतना खुलापन शायद इसीलिए रखा था ताकि हमारी दौलत का कोई नाजायज फायदा न उठाए और हमे ब्लैकमेल आदि न करे. भाभी को भी शायद बहुत समय से भैया ने चोदा नहीं था, इसलिए उनकी चुत ने भी पानी छोड़ना शुरू कर दिया था.

इंडियन व्हिडीओ सेक्सी बीएफ

क्या ये वाला गिफ्ट मेरी बहन को पसंद नहीं आया?पीहू ने कहा- ये गिफ्ट तो बहुत अच्छा है।तो पीहू से मैंने कहा- नीचे झुककर इसे चूसो. धीरे धीरे लंड को चुत के अन्दर बाहर करते हुए अंकल एक स्पीड से मुझे चोदने लगे. मेरा पूरा माल पिचकारियां छोड़ते हुए मेरी भतीजी की चुत में ही निकल गया और मैं थक कर उसके ऊपर ही ढेर हो गया.

मुझे ऐसा लग रहा था जैसे कोई रबर की बहुत सख्त चीज़ हो।लगभग 5 मिनट तक हिलाया तो अंकल ने बोला- अगर तुम मुँह में लोगी तो और मज़ा आएगा।मैंने मुँह में ले लिया लेकिन कोई खास मज़ा नहीं मिल रहा था तो मैंने उन से बोला- मज़ा नहीं आ रहा.

थोड़ी देर में सब नॉर्मल हो गया और वह मुझसे कहने लगी- गांड अगली बार मार लेना.

इसी पोजीशन में आधा लंड घुसाते हुए मैं पीछे से उसकी चूत को चोदने लगा. उसके रसीले होंठों पर आई उसकी मुस्कान में, एक बिंदास बाला की चहक थी. सनी लियोन के बीएफ खतरनाकमैंने कैसे उस नर्स की चुत में लंड पेला?नमस्कार दोस्तो, यह मेरी पहली सेक्स कहानी है, तो भाषा थोड़ी कच्ची रह सकती है.

तो उसने ऐसा ही किया।मैंने पीहू को खाट से अपनी गोद में उसकी बुर में अपना लन्ड डाले ही उठा लिया। मैंने पीहू को लाकर दरवाजे से लगा दिया और उसकी बायीं चूची को मुंह में लेकर पीने लगा. चूंकि हमारे गांव से उनका मायका बहुत ही नजदीक है, वह हमारे घर आ गईं. हम दोनों के मुँह से गर्म आहें और कराहें निकल रही थीं, जिससे पूरा कमरा गूंज रहा था.

मेरी माँ की चुदाई पड़ोस के एक अंकल ने कैसे की? मजा लें यह गर्म कहनी पढ़ कर!नमस्कार पाठको,मैंने अपनी पिछली कहानीमेरे चचेरे भाई ने मेरी माँ की चूत दोस्त को गिफ्ट दीमें मैंने आपको बताया था कि मैंने अपनी मां को गांव में चुदाई मेरे चचेरे भाई और उसके दोस्त के साथ करते हुए देखा था।यह कहानी उसी का अगला भाग है. उसने पीछे आकर मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मुझे अपने बदन से लिपटाते हुए मेरी कमर पर नाखून चुभाने लगी.

मैंने पूछा- दर्द हो रहा है क्या?उसने कहा- नहीं, लेकिन 3 महीने से चुदाई नहीं हुई है … इसलिए.

इतने में पापा ने अपने लंड का गर्म गर्म वीर्य में मेरी चूत के अन्दर ही छोड़ दिया. फिर उसने मेरी ओर देखा और एकदम से मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी. कुछ पल बाद उसने मेरी तरफ अपना ध्यान दिया, तो मैं एकदम से अचकचा गया और खिसयाई सी हंसी अपने चेहरे पर लाते हुए उससे पूछा- आप तो शायद मेरी ही क्लास में हैं न!पहले तो उसने मेरी तरफ देखा और कहा- हां, मैंने भी तुम्हें कई बार देखा है.

सोनम कपूर बीएफ जब मैं घर वापस आया, तो घर पर कुछ मेहमान आए हुए थे, जिस वजह से मुझे मौका नहीं मिल पा रहा था. रानी का एकदम से बैलेंस बिगड़ गया और उसका एक हाथ मेरे हाथ के ऊपर और दूसरा हाथ ब्रून के लंड पर चला गया.

आपको मेरी यह सेक्सी कहानी कैसी लगी इसके बारे में अपने विचार जरूर मुझे बतायें. तब तक आप उसके आगे बैठ जाइये।वो बोली- आपके सामने?मैंने भी इस बात पर ध्यान नहीं दिया और उसको सॉरी कहा. इस पर बुआ ने मुझे आंख मारते हुए कहा- वो मैंने खाई ही नहीं थी … बाहर फेंक दी थी.

अंग्रेजी सेक्सी सेक्सी बीएफ

मैं उसके होंठों के रस को पीने लगा और वो भी मेरे होंठों को चूसने लगी. अब माँ अंकल के लण्ड के साथ खेल रही थी।उन्होंने अंकल के कच्छे में हाथ डाला और उनके लण्ड के खाल को ऊपर नीचे करने लगी और अपने शरीर को उनके शरीर पर महसूस करने लगी. राजश्री बोली- बस करो भैया, आपका लंड तो स्कूल के चौकीदार से भी बड़ा है.

तभी उसने अपने पैरों से मुझे ऐसे जकड़ लिया, जैसे कोई अजगर अपने शिकार को पकड़ लेता है. कितना तड़पाओगी मुझे!राजश्री बोली- भैया, मेरे वो सेक्स वीडियो डिलीट कर दो.

भाभी बोलीं- तू ये सब करने आया था यहां … रुक मैं तेरे भैया को ये सब बताती हूँ … आज तेरी खैर नहीं.

इतनी देर से मैं उसकी चूत का पानी पी रहा था और नीचे से मेरा लंड लीक हो रहा था. तीसरे दिन चुदाई करवाते समय मैंने शुभम से पूछा- तुमने इतने अच्छे से चोदना कहां से सीखा?उसने कहा- वक़्त आने पर सब बताऊंगा. प्रिय पाठको, इस अजीबोगरीब सेक्स कहानी के पिछले भागछोटी और बड़ी की चुदाई का राज-2में आपने पढ़ा कि मैं बड़ी की चुत पेल रहा था.

थोड़ी देर बाद उसको पूरा मज़ा आने लगा और बहुत ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां लेकर कहने लगी- आह चाचू … और तेज़ करो … अब मजा आने लगा है … आंह और तेज़ और तेज़ … चाचू चोद दो मुझे … आंह मेरी चुत का बैंड बजा दो … आह चाचू प्लीज़ मुझे अपनी रंडी बना लो … अहांआ ओह ओह उफ्फ़ मैं मरी … मैं चुद गई अपने चाचू से … अहह ओह और चोदो. अब मैंने उसका टॉप प्यार से उतारा और ब्रा के ऊपर से ही उसके मोम्मे सहलाने और दबाने लगा. जबकि महेश जी सोशल मीडिया के प्रभाव में आधुनिक विचारों से ओतप्रोत हैं.

अब मैं सीधे अपनी कहानी में आती हूँ। यह घटना अप्रेल 2019 की है जब मेरी लड़ाई मेरे प्यार डॉ अनीश से चल रही थी.

भाई हिंदी बीएफ: मुझे इस दौरान भाभी जी की नजरें कुछ इस तरह से दिखने लगी थीं, जैसे वो मुझे देख कर शरमा रही हों. छोटी बहन बोली- प्रेमा, हम तो बेकार में अपनी जवानी बर्बाद कर रहे थे, इतना मस्त लंड तो हमारे पड़ोस में ही है.

मां का पल्लू तो पहले ही नीचे गिरा हुआ था, धीमे-धीमे अभिनव ने मां के कपड़े खोलने चालू किए. मेरे बिना पूछे ही भाभी बोली- देखो, आज जो तुमने जो कुछ भी देखा उसका किसी के सामने जिक्र मत करना. और माँ ने भी वचन दिया था कि माँ उसके साथ एक बर्थडे पार्टी में चलेगी.

मैं बाबा की मंशा और मुझे औलाद का सुख देने के तरीके को समझ चुकी थी और मैं इसके लिए मानसिक रूप से तैयार भी थी.

जब दवाखाने से फुर्सत मिली, तो मालूम हुआ कि आज तो मेरा खाने का भी कुछ इंतजाम नहीं हुआ था. मैंने उसके ऊपर से हटते हुए क्रीम की डिब्बी उठाई और थोड़ी सी क्रीम उसकी चुत पर लगा दी. अजय अंकल ने अपनी शर्ट उतारी और मॉम ने अपना पूरा साड़ी को उतारा। अब माँ ब्लाउज और पेटीकोट में आ गई थी.