डॉक्टर चुदाई बीएफ

छवि स्रोत,हिंदी में फुल सेक्सी फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स वीडियो बीएफ एचडी: डॉक्टर चुदाई बीएफ, उसके चुचे मेरे दोनों हाथ में मानो दो गेंदें हों, इस प्रकार समा गई थीं.

सेक्सी भाभी हिंदी वीडियो

मुझे बोले- तुम बहुत सेक्सी हो … वन्द्या लगता है कि तुम्हें अपने पास ही रख लूं. बहू की सेक्सीमैंने लाइट ऑफ कर दी, फिर चाची ने धीरे से मेरे कान में कहा कि मेरे कंबल में ही आ जा.

जब बीच बीच में अभिषेक अपने पूरा लौड़ा उसके मुँह में घुसेड़ देता था, तो सन्नी की घुटी आवाजें आने लगती थीं. 15 अगस्त के बैनरवह मेरे पार्लर की सबसे पुरानी कस्टमर थी, मुझसे काफी खुल चुकी थी। मैंने पार्लर में काफी सुविधाएं बढ़ा दी थीं.

मेरे लंड का सुपारा रूपा की चूत की दीवारों से रगड़ ख़ाता हुआ आराम से अन्दर बाहर हो रहा था.डॉक्टर चुदाई बीएफ: कुछ ही देर की कोशिशों के बाद मेरे प्यारे पति का पूरा लंड मेरी गांड में घुस गया था.

इससे मेरी सिसकारियां भी निकलने लगीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मुझे रहा नहीं जा रहा था.वो बाथरूम में गयी और चेहरा साफ करके वापस आई और मुझे फिर से किस करने लगी.

हिंदी हीरोइन सेक्स - डॉक्टर चुदाई बीएफ

जबकि मैं उससे पहली बार मिल रहा था और उसने मुझे अपना जिस्म का वो दूधिया हिस्सा दिखाने में तनिक भी गुरेज नहीं की थी, जिसके लिए किसी भी महिला को खूबसूरती हासिल होती है.वह मुझसे उम्र में बड़ी है, उसकी और मेरी उम्र में तीन या चार साल का अंतर है.

पैरों को सहारा देने के लिए पीछे से हाथ डालकर मैंने अपने पैर फैलाकर रख लिए. डॉक्टर चुदाई बीएफ इससे पहले मेरी दोनों कहानियांचाची के घर में गर्लफ्रेंड के साथ सेक्सऔर दूसरी कहानीगर्लफ्रेंड को दोस्त के खेत पर दबाकर चोदादोनों कहानियों को आपने बहुत पसंद किया, इसके बहुत बहुत धन्यवाद.

वे मुझे निहार रहे थे, लेकिन मेरी आंखें उनकी तरफ ना जाकर उनके पैंट की जिप की तरफ देख रही थीं.

डॉक्टर चुदाई बीएफ?

कमाल की बात ये थी कि पहली बार इस पूरी गांड चुदाई में मेरा लंड न जाने क्यों नहीं खड़ा हुआ. इस वक्त वो इतनी मस्ती में आ चुकी थीं कि पूरा का पूरा शब्द भी नहीं बोल पा रही थीं. उसके कुछ देर बाद मेरा भी पानी निकलने वाला था तो मैंने उससे बोला कि मेरा होने वाला है तो वो बोली- मेरी टांगें दोनों तरफ़ करके मेरी चुत का तबला बजाते हुए धक्के लगाओ.

मैं चाची की गर्दन को चाट रहा था और उनकी पीठ को चाटते हुए मुझे ऐसा लग रहा था जैसे चाची कोई बिन पाऩी के फड़फड़ाती हुई मछली हो. मुझे चुदते देख वे दोनों हट्टे कट्टे लोग चौंक गए और उनमें से एक बोला- यह तो बहुत बड़ी रंडी लग रही है. मैं गांड के मांस को मुठ्ठी भर पकड़ पकड़ कर समूची गांड को मसलने लगा- चाची, क्या गांड बनाई है भगवान ने.

तभी मैक ने पुनीत से अंग्रेजी में कहा कि सी इज वर्जिन बिकॉज शी फील सो मच टाइट. ममता भाभी को मैंने उल्टा लेटा दिया और अपना लंड वैसे ही उसकी चूत में घुसा दिया. मैं थोड़ा मजाक वाला मूड बना कर बोला- तो मैं आ जाऊं क्या?भाभी ने भी इठलाते हुए कहा- आ जा.

उसके धक्के इतने तेज थे कि उसका लंड मेरे पेट में घुसता हुआ मुझे आसानी से महसूस हो रहा था. उसकी नजर मुझ पर पड़ी, उसको ध्यान ही नहीं था कि वो बिना कपड़े की बाहर आयी थी, उसने मुझसे पूछा- क्या काम है?मैंने उसकी तनी हुई चूचियों को देखते हुए कहा- कुछ नहीं, ये शंकर का हेडफोन देने आया था.

मैं कुछ बोली नहीं, पर यह सुनकर और सोचकर ही मेरी सांसें बहुत भारी होने लगी थीं.

अंकल मौके को गंवाना नहीं चाहते थे, उन्होंने एक करारा झटका दे मारा और अपना आधे से ज्यादा लंड मेरी बीवी की चूत में उतार दिया.

मेरे पति ने पीछे से आकर अपनी पेंट और चड्डी एक साथ निकाल कर अपना लंड मेरी चुत की दरार पर रख दिया. मुझे लगा कि ये फूंक मार कर ठीक करने की कह रही हैं, तो मैंने कहा- फूंकने से क्या होगा. मैं, फिर रजनी और फिर राहुल।राहुल- रजनी तुम फ्रेशर पार्टी में आ रही हो न?रजनी- हां, क्यों नहीं, हम दोनों आएंगे।अमित कोल्ड ड्रिंक और साथ में चिप्स के चार पैकेट लेकर आया और आकर मेरे साइड में बैठ गया।नेहा, ये लो …”और फिर रजनी और राहुल को भी दिया। हम वहाँ से अब निकले तो राहुल बोला कि तुम दोनों को हम छोड़ देंगे वरना ऑटो पता नहीं कब मिलेगा।वो दोनों दो बाइक से आए थे.

मैं तो बड़ा ही कमीना था, दीपक से पहले मैं दोनों को चोदना चाहता था तो मैं उन मां बेटी से बोला- रिपोर्ट तो कल आएगी, चलो शहर घूमते हैं. उसका सुपारा घुसा, तो मुझे लगा जैसे कोई गर्म गोला मेरी योनि में घुस गया. हमने बाद में भी दो तीन बार मूवी देखी, लेकिन हफ्ते के बीच वाले दिन में, शनिवार को नहीं.

ये सब समझते हैं, ये दोनों भी तुझे मस्त चोदेंगे … तू इन्हें बहुत पसंद आ गई है.

आज की रात मेरे पति अपने ऑफिस की काम की वजह से बाहर गए थे, इसलिए मेरी सहेली का पति मेरे घर ही रुक गया था. मैं- लो भाभी जी, हमने क्या किया?सुशीला- देखो मुनीम जी, तुम जो हमारे साथ कर रहे हो, वो ठीक नहीं है।वो गुस्से से चिल्लाई. मैं नुपूर को सहलाने लगा, उसके बोबे को दबाकर मसलने लगा और होंठों को चूमने लगा.

उधर एक भाभी रोज अपनी बाल्कनी में कपड़े सुखाने आती थी और उनसे मेरा आई कॉंटॅक्ट हो ही जाता था. दुकान काफी बड़ी थी जो अच्छी चलती थी। घर से खुशहाल थे, सभी सुख सुविधा मौजूद थीं।मैं दुल्हन बन कर सोनू के घर आ गई। बाकी तो ठीक था सब … उनका लंड भी ठीक था. मैंने जब किसिंग करते-करते उसके मम्मों पर हाथ फेरा तो वो और भी मस्त हो गई और मेरे कपड़े उतारने लगी.

अपनी अपनी कामनाओं को एकदूसरे पर उड़ेलकर हम दोनों ही अब एक दूसरे को बांहों में लिए लिए ही ढेर होकर बिस्तर पर गिर गए और लम्बी लम्बी सांसें लेने लगे.

जाते वक़्त चाची की आंखों में एक अजीब सी उदासी और खिंचाव महसूस हो रहा था, जैसे उन्हें मेरा जाना ठीक नहीं लग रहा हो. अब मैंने भी उसके चेहरे से अपना हाथ फेरते हुये धीरे से उसके गालों से होते हुये उसके होंठों पर अंगूठा टिका दिया.

डॉक्टर चुदाई बीएफ मन तो मेरा भी बहुत करता था कि किसी दिन उसको पकड़ कर चोद दूँ लेकिन अभी जल्दबाज़ी ठीक नहीं थी. मैं भी अजय के जबरदस्त लौड़े से चुदते हुए उसकी पीठ को सहला कर उसका उत्साह और ज्यादा बढ़ाने की कोशिश कर रही थी.

डॉक्टर चुदाई बीएफ ? गांड फट गई इतनी देर में? मुझे पता था कि तू मेरे ही चक्करों में घूम रहा है. मुंबई में गर्मी काफी रहती है, तो किस करते करते ही हम सभी ने कपड़े भी निकालना चालू कर दिए.

अब हम दोनों एक दूसरे के सामने नंगे थे मैं स्वीटी के मम्मों को चूसने लगा.

वीडियो चुदाई वीडियो चुदाई

फिर उसकी सलवार को खोल दिया और पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत को किस करने लगा. उसने दबा कर मेरे यौवन का रस चूसा औऱ पहली बार किसी लड़के का लंड देखा. मुझे चुत चाटना बहुत अच्छा लगता है, लेकिन मुझे एकदम क्लीन शेव चुत अच्छी लगती है.

अब मैंने अपनी जीभ उसकी चूत की दरार में रख दी और नीचे से ऊपर की ओर चलाने लगा और नीचे से ऊपर की तरफ पूरी चूत पर जीभ की खुरदुराहट से मजा देने लगा. गाड़ी चलते में रवि सिंह को राज अंकल ने बोला कि आप इतनी दूर क्यों बैठे हैं. तो वो बोली- अच्छा तो क्या कर रहा था? मैंने देखा था तुम्हारा वो पूरा टाइट हो गया था.

अपने पति यानि तेरे चाचा के अलावा किसी और से सेक्स नहीं किया है, ना कभी ऐसा सोचा था.

मैं वहां से निकल कर ऊपर अपने कमरे में चला गया और फिर तैयार होकर यूनिवर्सिटी निकल गया. वो अजीब अजीब सी आवाजें निकालने लगी- ऊई आआआईई … उम्म्ह … हह …मैं उसकी टांग उठा कर घमासान चुदाई करने लगा. उसके मुँह से ज़ोर के आह निकली, तो मैं थोड़ा रुक गया और उसके होंठों को चूसने लगा.

तभी मुझे ऐसा लगा कि अनिल आ रहा है, तो मैं वहां से झट से भागा और कमरे में आ गया. मैं अपनी भाभी के कमरे में लेटा था और मोबाइल पर वीडियो गाने सुन रहा था. एक दिन मैंने छत पे बैठे हुए अरुणा से पूछा- तुम्हें किस प्रकार के मर्द पसंद हैं?इस पर उसका जवाब हैरानी भरा था कि उसे थोड़े सांवले और कद में औरत से करीब एक फीट लम्बे मर्द पसंद हैं और उसके शरीर पर घने बाल होने चाहिए.

मेरे प्रिय मित्रो, आपका अरमान आपके लिए अपनी पिछली कहानीज़िम में तीन चूत और एक लंडसे आगे की कहानी लेकर आया है. पर उधर जो द्वारपूजा के समय मेरे अन्दर निहाल और उन दो लड़कों ने मेरी अधूरी चुदाई की आग लगाई थी, उसी के कारण मैं चली आई.

थोड़ी देर में वो मेरे कमरे में आ गयी तो मैंने उसे बिस्तर पर बिठाया और खुद उसके बगल में बैठ गया. दोस्तो, जो मजा 35 के पार की आंटियों के साथ सेक्स करने में आता है वह जवान औरतों में नहीं मिलता मुझे. मैं उसका कुरता ऊपर उठाने लगा, उसने अपनी बांहें ऊपर उठा के मुझे कुरता निकालने में मदद की.

मैंने उससे पूछा पर वो इठलाती हुई वहां से अपने कपड़े ले कर दूसरे कमरे में भाग गयी.

मैडम भी मज़े के मूड में आ गई- अरे आगे भी तो बोलिए ना सर … आपकी बीवी इतना अच्छा खाना नहीं बनाती थीं क्या?आज देवी मैडम बड़ी मस्ती के मूड में थी. खाना खाकर मैं बिस्तर पर बैठ गया और उसको देख कर अपनी बांहें फैला दीं. सच कहूं तो रंग किसी भी लड़की के खूबसूरती में आड़े नहीं आता है, ये बात सलोनी पर भी लागू हो रही थी.

एक दिन मैं घर पर अकेले डीवीडी लगा कर पॉर्न देख रहा था कि अचानक दरवाजे की घंटी बजी. मैंने ऊपर भी लिखा था कि उसकी चूत कयामत है, इसको पूरे मजे से देखने का नजारा आपको भी मजा देगा.

धीमे से मैंने उसके मम्मों पे हाथ रखके जोर से उसके मम्मों को दबा दिया, तो उसके मुँह से भी एक मीठी सी आह निकल गयी. मेरी यह कहानी मेरी पिछली कहानीवो मुझे भावनाओं में बहा ले गईको आगे बढ़ाती है. मैंने मम्मी से पूछा कि सभी लोग गए?मम्मी ने कहा- हां गए … और आज शाम की ट्रेन से मैं और तुम्हारे पापा 4 दिनों के लिए जोधपुर जा रहे हैं.

डब्लू डब्लू सेक्स वीडियो हिंदी

तेरी मम्मी के आने से पहले कोई ना कोई ये बताने आएगा कि मम्मी तेरी आ रही है.

मेरी तन्द्रा भंग हुई, वह नीचे झुका और अपनी अंडरवियर ऊपर खिसकाने लगा. हालांकि नीना के कान में प्रशांत तो आंगन में पहले ही बता चुका था कि वह चूत में लंड डालकर धक्कमपेल चुदाई नहीं करेगा, बल्कि चूत की जड़ तक एक बार लंड को ले जाएगा और फिर चक्की पीसने के अंदाज में जड़ से लेकर क्लिट तक चूत की लौड़े से मसाज करेगा. ”मुझे लग रहा था कि नेहा भाभी खूब खुश है और मस्ती में कुछ बदमाशी सोच रही है.

उसके बाद मैंने सोचा कि क्यों न नई-नई चूतों को चोदने का मजा लिया जाए. उस दिन जब उनका फोन आया, तो हम दोनों ने बात बात में मूवी जाने का पक्का कर लिया. हिंदी सेक्सी मूवी हिंदी मेंभैया से पता चला कि लड़की सिर्फ 12 वीं तक पढ़ी है और उसका नाम अरुणा है.

वो फ़ोटो खिंचवाने के लिए मेरे और पति के बीच में बैठे और मेरे गले में उन्होंने अपना हाथ डाला. मैंने उस समय तो सोचा कि शायद बाथरूम गया होगा लेकिन कुछ देर तक जब वो नहीं आया, तो मुझे कुछ गड़बड़ लगी.

नेहा- अरे बैठी क्या है … इधर आके लेट जा ना … तेरे साथ मुझे भी देखनी है. चाची ज़ोर ज़ोर से सिसकारियाँ लेने लगी थी, जोश में आकर मेरा सर अपनी चूत में पूरा अंदर देना चाहती थी. वो हंसने लगी और बोली- फिर थक जाओगे और फिर रात को कुछ खा नहीं पाओगे.

न केवल रस चूस लिया बल्कि झड़ने के बाद भी चाची ने मेरे लंड को चाट चाट कर दुबारा खड़ा कर दिया. उसके बाद मैंने बाजू वाली की आँखों में देखा तो वाकई मैं बयान नहीं कर सकता कि वो कितनी सुंदर थी. चुदाई के बाद हम दोनों ने रगड़ कर एक दूसरे को नहलाया और बाहर आकर कपड़े पहन लिए.

मैंने करीब 15 मिनट तक उसकी गांड को चोदते हुए मैंने अपना सारा पानी उसकी गांड में छोड़ दिया और धड़ाम से उसके ऊपर गिर गया.

मैंने थोड़ा बनते हुए उसे कुछ देर और गिड़गिड़ाने दिया और फिर माफ कर दिया. मेरी बहन को यह बात सामान्य लगी, उसने कहा कि उसके लिए लंड आकर्षण की चीज है.

”मैंने एक हाथ से उसकी चूची मसल डाली और मेरा दूसरा हाथ उसकी कमर और चूतड़ों पर चल रहा था. उनके मुँह से गाली सुनकर मैं जोश में आ गया और धकापेल चुदाई होने लगी. रात में खाना खाने सब एक ही जगह जमा हो गये और एक दूसरे की बनाई हुई चीजें टेस्ट कर रहे थे.

वहां पर उस मकान के पीछे आंगन में एक अल्हड़ सी लड़की बार-बार मेरे कमरे की तरफ देखती रहती थी. रात को खाना खाते वक्त भी भाभी मुझे कुछ ज्यादा ही प्यार परोस रही थीं. मानसी की जोर से सिसकारी किलकारी निकली … सब समझे कि मानसी झूले के कारण चिल्ला रही है और सिसकारी मार रही है.

डॉक्टर चुदाई बीएफ उसको आते देख कर मेरी फट गयी, मैं तुरंत ही कैंटीन में अन्दर चला गया और उसे अन्दर से ही देखने लगा. मैं तो पहले ही नंगा हो चुका था और मॉम को देखकर इतना उत्तेजित था कि जैसे ही नेहा आंटी ने मेरा लंड पकड़ा, मैंने तुरंत उनको भी नंगी कर दिया और सीधे उनके बूब्स चूसने लगा ‘उम्म उम्म उम्म ….

बिल्कुल नंगी सेक्सी पिक्चर

सुबह हो गई तो नुपूर मुझसे पहले उठकर फ्रेश हो गई और फिर उसने मुझे उठाया. नहाने के बाद जब मैंने तौलिया खोजा, तो याद आया कि ये तो किसी का घर है और खुद अपना तौलिया लाना था. हाय दोस्तो, मैं विराट आप सबके लिए अपनी कहानी को आगे बढ़ाते हुए एक बार फिर से हाजिर हूँ.

कुछ देर तक रूपा ने मेरे लंड को सहलाया और फिर ज़मीन पर घुटनों के बल बैठते हुए मेरे लंड को अपने होंठों में दबा लिया. वह साथ ही मेरे कानों को भी चूसने लगा, मेरे शरीर में अजीब-सी सिरहन होने लगी. मद्रासी फिल्म सेक्सी फिल्ममेरा काम गाड़ियों की क़िश्त की उगाही करना है … और किश्त न पटाने पर गाड़ियों को सीज कर लेना है.

अब कोई भी मेरी उम्र की लड़की के साथ ऐसे हरकत करें, तो भला वह कैसे अपने पर कंट्रोल रख सकती है.

आपकी इजाजत हो तो?आंटी बोलीं- ओके पूछो, क्या पूछना है?मैंने पूछा- आंटी अपने लास्ट टाइम सेक्स कब किया था?तो आंटी बोलीं- ये कैसा प्रश्न है विक्रम?मैंने बोला- अपने प्रॉमिस किया है उत्तर दो. मेरे मन में तो चोर घुसा हुआ था, मेरी गांड फटने लगी थी कि कहीं सरोज चाची मेरी मम्मी से कह न दें.

मुझे उसकी चूत बड़ी टाइट लगी, मैंने जैसे तैसे दो इंच लंड उसकी चूत के अन्दर किया. जैसे ही उन तीनों की एक साथ चुदाई की कहानी बनेगी मैं आप सबके साथ सेक्स स्टोरी को साझा करूँगा. मैंने जानबूझ कर उससे कहा- दीदी दरवाजा बंद किया करो, आप डायरेक्ट इस तरफ बाहर आती हो, कोई दूसरा होता तो न जाने क्या हो जाता.

अब मेरे पति अपना लम्बा और मोटा लंड हाथ से हिलाते हुए मेरी चुत में डालने के लिए करीब को आये, तो मैंने उनको मेरी चुत में लंड डालने के लिए मना कर दिया.

मैंने उससे पूछा- तुम्हारा बॉयफ्रेंड भी ऐसे ही करता है?तब उसने मुझसे कहा कि मेरा कोई बॉयफ्रेंड नहीं है क्योंकि मेरी मम्मी और मेरा भाई मुझे घर से बाहर नहीं जाने देते हैं, तो बॉयफ्रेंड बनाने का कोई सवाल ही नहीं पैदा होता. मैंने उससे पूछा- स्वीटी, तुम्हें अपने कमरे पे ले चलूँ?उसने हां में सर हिला दिया. हाय राम राजू अब ऐसे क्या देख रहा है साले बदमाश इतना सब कुछ तो देख चुका है.

सेकसी बीडीओले लंड खा मादरचोदी!सबीना आंटी भी रंडीपने पर उतर चुकी थीं- चोद न दल्ले … चोद अपनी शेख रांड को … भैन के लौड़े तुम साले हमें चोदने को ही बैठे रहते हो. मैंने प्रिया का हाथ पकड़ कर उसे अब बिस्तर पर खींच लिया और वो भी लहराती हुई मेरे सीने से चिपक गयी.

ब्लू सेक्सी सेक्सी वीडियो

वो मेरे ऊपर ही लेट गया और बोला- आंटी, तुम बहुत गजब की माल हो इस उम्र में भी … जानेमन मैं तुमसे शादी करना चाहता हूँ. मेरा 7 इंच का लौड़ा उसे देखते ही खड़ा हो गया और मैं फटाक से उसके बाजू में जाकर लेट गया. एक दिन सुबह जब मैं नहाने जा रहा था, तो ऊषा ने मुझे सीढ़ियों पर बुलाया.

सोनल का हाथ अपने लंड पर देखकर उन्होंने अपनी आंखें बड़ी की, पर उन्होंने उसके हाथ को अपने लंड से हटाया नहीं. मैं उनकी मुस्कराहट का अर्थ तो नहीं समझ पाया लेकिन इतना जरूर समझ गया था कि सरोज चाची को मेरे लंड का स्पर्श या तो अच्छा लगा या फिर मैं अब भी कुछ गलत ही समझ रहा हूँ. वो घूमी और मेरे सीने में सर छुपा कर मुझसे लिपट गयी और मेरे सीने पर पप्पियां करने लगी.

रूपा अपने होंठों को मेरे लंड के सुपारे पर कसके रगड़ते हुए लंड को चूसने लगी. फ्लैट पर आने के बाद मैंने भाभी को बोला- भाभी, मुझे आपको कुछ कहना है, आप बुरा तो नहीं मानोगी?भाभी बोली- हां बोलो, क्या बोलना चाहते हो आप?मैंने कहा- भाभी आप बहुत सुन्दर लग रहे हो, आपकी जैसी सुन्दर लड़की मैंने आज तक नहीं देखी है. वो भी खुले मिजाज की महिला मानो जानबूझ कर अपने जिस्म का मुजाहिरा कर रही थी.

उसके मुँह में मेरा लंड बड़ी मुश्किल से जा रहा था फिर भी वो चूस रही थी. फिर 15 मिनट के बाद सोहन के घरवालों का फोन आया कि उसकी बहन का एक्सिडेंट हो गया है और वो तुरंत हॉस्पिटल पहुंचे.

मैं बोला- मैंने इससे पहले भी कई खेतों में पानी लगाए हैं, विवाह नहीं हुआ तो क्या बारातें तो बहुत देखी हैं.

उसके बाद राहुल ने मुझे पलटा दिया और मेरी गांड को दबाने और सहलाने लगा. मोटापा कैसे दूर करेंउसने आगे बढ़कर दादाजी के लंड पर अपनी जीभ घुमाई, तो दादाजी के लंड में हुई थरथराहट मुझे बाहर तक दिखाई दी. తమిళం సెక్స్ ఫొటోస్मन तो मेरा भी है, लेकिन करूँ क्या?तब मेरे मित्र ने मुझे सुझाव में कहा- देख यार, कोई भी पराई औरत खुद तुझे नहीं कहेगी कि आओ और मुझे चोद दो, इसके लिए तुम्हें ये जानना होगा कि तुम्हारा स्पर्श उसे अच्छा लगता है या नहीं … अगर कोई आपत्ति नहीं है, तो फिर मजे ले लो. उसने भी देर ना करते हुए लंड को अपने मुँह में लिया और लम्बी लम्बी सांसें लेते हुए लंड चूसने लगी.

बेल के समान पुष्ट और कठोर चूचियां … मुलायम पेट के बीचों बीच बिल्कुल गोल गढ़ेदार नाभि … विशाल उठी हुई गांड.

मैंने कहा था कि जानू, आज तुम कली से फूल बनने का सफर शुरू कर रही हो. इसके बाद भी कई बार हम लोगों ने जिस्मानी आनन्द लिया और मेरे सपनों का राजकुमार मैंने पा लिया. मैंने उसकी चुची दबाते हुए अपने पैर मेज़ पर से नीचे किये और उसे गोद में ले लिया.

ये आवाज़ सन्नी की थी, शायद अभिषेक ने अपना लौड़ा सन्नी के गले तक अन्दर घुसेड़ दिया था. आज तुमने मुझे ब्लू फिल्म दिखा कर गर्म कर दिया तो मैं खुद को रोक ही नहीं सकी. उसने अपनी मॉम की चुदाई के बारे में मुझे बताया कि वो अपनी मॉम को चोद चुका है.

हिंदी बफ वीडियो मई

लंड के उभार को सहलाने से लंड बिल्कुल किसी कड़क लोहे की रॉड की तरह तन चुका था, जो कि सादे फॉर्मल पैन्ट पर से पकड़ने और सहलाने में काफी आसान था. तभी मनीषा के फोन पे मामा जी का कॉल आया और वो बोले- इतनी देर कहाँ लगा दी?तो उसने कहा- पापा, हम थोड़े ट्रैफिक में फंस गए थे आते समय, हम अभी आ रहे हैं 20 मिनट में!और फोन काटकर मनीषा ने मुझे किस किया और कहा- अब हमें चलना चाहिए. ऐसे में प्रशांत ने नीना की चूचियों पर अपना फिराते हुए अपने ऊपर लेकर बेड में समेट लिया और ब्रा का हुक खोल दिया.

जबकि हो सकता था कि उन्होंने बिजली आ जाने के कारण मुझे जाने का कह दिया हो.

मैंने नेहा को जोरों से भींच लिया और चार पांच किस्तों में अपना सारा लावा नेहा के मुँह में ही उगल दिया.

और जोर से बेटा आआह…”नामित ने अपनी स्पीड बढ़ा दी, मैं और चीखने लगी और सिसकारियां लेने लगी ‘ऊऊऊ हहहह अअअअ हहहह…’मुझे बहुत मजा आने लगा था. जब वंदना की छोटी सी चुत को अपने लंड से रगड़ते हुए मुझे बहुत देर हो गई थी, तो वंदना चोदने के लिए इतनी गरम हो उठी थी कि वो अपनी गांड नीचे उठा कर मेरा लंड अपनी चुत में डालने को कह रही थी. बाप और बेटी का सेक्सी फिल्मदोस्तो, मैं मोहिनी हूँ, एमए की छात्रा हूँ … और हरियाणा के कैथल की रहने वाली हूँ.

इसके बाद उसने मेरी जीन्स की चैन खोल कर मेरा लंड निकाला और हिलाने लगी. पर मैं दम साधे यूं ही रुका रहा और स्वीटी को जकड़कर उसके ऊपर लेटा रहा. ओके, मैं शाम को आता हूँ…”और मैं नमस्ते कह कर वहाँ से चला गया। उसकी तस्वीर मेरी आँखों में सारा दिन घूमती रही।आख़िर शाम हो ही गई.

उसकी मस्त सफाचट गुलाबी चुत देख कर मैं अपने आपको रोक ही नहीं पाया और उसकी चूत पर अपनी जीभ लगा कर चाटने लगा. पहले तो मैंने सोचा कि क्या यह चालू माल है … साली इतनी जल्दी चुम्मी कर रही है.

तभी उसने कहा- बस करो, अब देखते ही रहोगे? मैं गर्मियों की छुट्टियों तक यहीं रहूंगी.

कहीं ना कहीं मैं ये भी जानती थी कि जितना मज़ा मुझे मिल रहा है, उससे कहीं ज्यादा मज़ा मुझे नेहा को देना पड़ेगा. राहुल भी अब मुझे ज्यादा मज़ा लेकर नहीं चोदता है लेकिन मेरी चूत की खुजली मुझे आराम से बैठने नहीं देती. उसके बाद उसने जो जोरदार धक्के लगाने शुरू किये, वो मज़े मैं बता नहीं सकता.

सेक्स वीडियो 2009 लेकिन क्या करूँ? ऐसे ही सोचते सोचते लंड को पैंट से बाहर निकाल हिलाने लगा. मैं अभी खड़ा रहा सोच रहा था कि क्या करूं, अन्दर जाऊं या नहीं … गेट बजाऊं या नहीं … ऐसे सोचते-सोचते काफी देर हो गई.

फिर लण्ड को चूत में सेट करके मैंने पहले झटका दिया तो मेरा लण्ड थोड़ा अंदर गया और वो आहें भरने लगी. सैक्स कहानियों के शौकीन मेरे प्यारे मित्रो, मैं निशा शर्मा हूँ, मेरी काफी कहानियां अन्तर्वासना पर प्रकाशित हो चुकी हैं। आपने भी मेरी कहानियों को पढ़ा होगा. मैंने उनसे कहा- अभी तो आपके दोस्त सोए भी नहीं हैं, अभी मत करो प्लीज!लेकिन मेरे पति नहीं माने और उन्होंने मुझे धीरे धीरे नंगी कर दिया.

ब्लू सेक्सी वीडियो मूवी

ऐसे करते हुए उनकी पता नहीं कब सैटिंग हो गई, मुझे मालूम ही नहीं चला. अब तक इस सेक्स स्टोरी के पहले भागदोस्त ने अपनी बहन को चुदवाया-1में आपने जाना था कि मेरे दोस्त रवि ने अपनी बहन को रंडी बनाने की ठान लिया था. अन्दर उसने कुर्ती नहीं पहनी थी, बल्कि उसकी जगह एक सामने से खुलने वाली शर्ट पहनी हुई थी.

बिना कुछ सोचे समझे मैं तुरंत ही खड़ा हो गया और अपने दोनों पैर एक ही तरफ के पैरदान पर रखते हुए बाजू से अपनी मुंडी उनके हैंडल पकड़े हुए हाथ के ऊपर से होते हुए मोटे लंड के मशरूम से सुपारे को अपने मुँह में भर लिया. उफ्फ … आह्ह … अह्ह … आअह्ह … ओह्ह्ह … उफ्फ … नो-नो-नो … प्लीज… डोंट टच (छूओ मत) … अह्ह्ह आआह …” सलोनी की सिसकारी निकल गई.

दादाजी ने उसकी कमर को जोर से पकड़ कर उसके दाने को मींजना चालू कर दिया.

उसने कहा- अरे यार यह क्या किया … मेरा मुँह खराब कर दिया … इधर उधर ही छोड़ देते. लता भाभी पूछने लगी- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है और कभी ये काम किया है?तो मैंने कहा- भाभी, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है और न ही आज तक मैंने किसी की चूत मारी है. मैं समझ गया कि कौशल्या के पति का लिंग इतना छोटा होगा कि वो सील भी नहीं तोड़ पाया होगा.

फिर क्या था … पति ने वैसलीन की डिब्बी उठाई और थोड़ी सी वैसलीन लेकर उंगली के जरिये मेरी गांड में डालकर उंगली अन्दर बाहर करने लगे, जिससे मेरी गांड खुल गई और मेरे पति की उंगली मेरी गांड में आसानी से अन्दर बाहर होने लगी. वो मुझसे बोला- वन्द्या तुम बस आज जमके मेरा लंड चूसो और मैं जी भर के तुम्हारी चूत चाटूंगा. दादाजी ने अपना हाथ सोनल की पीठ से सीने पर ले गए और उसके कड़क स्तन को जोर से मसल दिया.

मैं उनके दोनों निप्पलों को बारी बारी से अपने मुँह में गपागप चूसे जा रहा था.

डॉक्टर चुदाई बीएफ: ”अरे मेरी रसगुल्ला … आज का प्रोग्राम अभी लम्बा चलेगा मेरी जान … इतने साल बाद कोई सील पैक माल मिली है … तुझे तो सारी रात चोदूँगा आज. मैं उसे रोकते हुए बोली- नहीं यहां नहीं, केवल रूम में करना … और ऐसे नहीं करना.

अन्तर्वासना पर मैं पहली बार मेरे साथ हुई घटना को शेयर कर रहा हूँ, जो पहले कभी सपना था अब हकीकत में बदल चुका है. पिघलता भी क्यों नहीं … मनीषा का फिगर था ही ऐसा 34-30-36मैंने भी उसको किस किया और फिर समझाकर नीचे भेज दिया कि यहाँ कोई देख लेगा. मैक ने मुझे अपनी मजबूत और ताकतवर बांहों में जम के कस लिया और मुझे अपनी छाती से चिपका के मेरे होंठों को चूमने लगा.

ललिता से मुलाकात मेरी एक शादी में हुई थी, शादी मेरे एक दोस्त की बहन की थी, वहां पर मैं भी काम में हाथ बंटाने गया था.

मैंने उसको सोच के लंड सहलाया, मुठ मारी और और सारा माल मैंने उस ब्रा पे निकाल दिया. उसका दर्द भी मजे में बदल गया और वो भी मेरे लंड पर कूद कूद कर चुदवा रही थी. अब नीरू और मेरी पत्नी दोनों ने उसकी टांगों को चौड़ा किया और उसकी कुंवारी बुर की दरार को खोल कर मुझे दिखा कर बोली- देखो राजा जी, बिनचुदी बुर के दर्शन करो … कितनी मस्त लग रही है पायल की बुर … हम आपके लंड के लिए बंद और नई बुर लेकर आए हैं.