जबरदस्त बीएफ हिंदी में

छवि स्रोत,लव वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

पंजाब सट्टे खबर: जबरदस्त बीएफ हिंदी में, मुझे यक़ीन नहीं हो रहा था कि आप मुझे क्या करने के लिए बोल कर गयी हैं.

सेक्सी फिल्म गाना

उनकी गुलाबी चूत मेरे सामने पानी पानी हो चुकी थी और उनका क्लिटोरिस अन्दर बाहर हो रहा था जैसे कि वो सांस ले रहा हो. दारू कैसे बनाते हैंइसके बाद मैं इंस्ट्रूमेंटल म्यूजिक बजाने लगा और हम दोनों कपल के तरह डांस करने लगे.

तभी सनी ने बुआ जी से बोला- मम्मी, आप दुकान चल सकती हो क्या?बुआ ने पूछा- क्यों?भाई बोले- आज दुकान पर लड़का भी नहीं आया है. एक्सएनएक्सएक्सपरीशा- बहुत अच्छा … बहुत ही प्यारा प्यारा। जब आप मेरी चूत चाट रहे थे तो जैसे मेरे बॉडी में फूल ही फूल खिल गये थे, सारे बदन में रंगीन फुलझड़ियाँ सी झर रहीं थीं। मैंने सोचा भी नहीं था कि ये सब इतना मस्त मस्त लगेगा!और अब कैसा लग रहा है?” मुकुल राय ने पूछा।लग रहा है मैं बहुत हल्की फुल्की सी हो गई हूँ। मेरे भीतर से कुछ बह के निकल गया है। जो मुझे हरदम बेचैन किये रहता था.

उन्होंने बोला- ठीक है, पर नहीं हुआ और मुझमें ही कोई कमी निकली … तो क्या होगा?मैंने बोला- अगर ऐसा हुआ, तो मैं सच में तुम्हें भगा कर कहीं ऐसी जगह ले जाऊंगा, जहां कोई अपने को कोई नहीं जानता होगा.जबरदस्त बीएफ हिंदी में: भाभी ने साफ इंकार कर दिया, वो बोलीं- उसके भैया अब उसकी शादी के लिए लड़का देख रहे हैं.

ये औजार क्या होता है?मैंने कहा- तुमने आदमियों को पेशाब करते समय कभी उनकी छुन्नी देखी है?उसने कहा- हां, गांव में तो सारे मर्द कभी भी कहीं भी पेशाब करने लगते हैं.सीमान्त ने अपने लंड को मेरी चुत की फांकों में फंसाया और एकदम से एक जोर का झटका दे मारा.

दिसावर फुल चार्ट - जबरदस्त बीएफ हिंदी में

भाई पीछे से आकर खड़ा हो गया और उसने मेरी चूत में फिर से अपना लंड घुसा दिया.अगर वो जग जाती और मुझे अपने बड़े भाई के साथ सेक्स करते हुए देख लेती, तो हम दोनों की दोस्ती खत्म हो सकती थी.

उनकी आंखें मानो कह रही थीं कि आज मैं पूरी तैयारी से चुदाई के लिए आया था. जबरदस्त बीएफ हिंदी में अब मैंने उन्हें उल्टा लिटा कर कुतिया बनाया और उनकी चुत में पीछे से लंड डाल दिया.

तो वो बोली- मैं आपको ये नहीं कह रही कि उनसे दोस्ती तोड़ दो या पारिवारिक सम्बन्ध बिगाड़ लो.

जबरदस्त बीएफ हिंदी में?

खैर वो 15 दिन की छुट्टी में शादी व हनीमून निपटाकर वापस अपनी पत्नी के साथ बालघाट आ गया. उस रात मैं 9 बजे से उनके सन्देश का इन्तजार करने लगी मगर उनका सन्देश नहीं आ रहा था. हम दोनों ने लॉलीपॉप की तरह उसके लंड चूस कर लिसलिसे करना शुरू कर दिए, ताकि लंड को चूत में घुसने में मजा आ जाए.

उसके पिता को बताने का नतीजा निकला कि उन्होंने अपनी बेटी को किसी दूसरे शहर में भेज दिया और मेरी एक ट्यूशन जाती रही. मैंने उसकी आँखों में देखते हुए ही एक निप्पल को अपने मुँह में भर लिया. पिंकी बहुत खुश थी … वो अब सीधी खड़ी हो गयी और राहुल को आश्चर्यचकित करते हुए अंदर नहीं गयी.

अपने जेठ के जवान बेटे की गर्म सांसों को मैं अपनी चूत पर महसूस कर रही थी. थोड़ी देर बाद जब मैं उठ कर अपने घर में गया तो देखा कि मेरी माँ, बड़े भाई और वो दीदी छत पर थे. मैं ऊपर नाभि पर पहुंचा, फिर पेट को चूमा, जिससे दीदी को एक बड़ी थरथराहट सी हुई, जो मुझे साफ़ समझ आ रही थी.

वो मेरे नीचे से निकलना चाहती थी, लेकिन मैंने उसे बुरी तरह से जकड़ रखा था. फिर हम दोनों ने एक लंबा स्मूच किया और कुछ देर ऐसे ही नंगे बेड पर लेटे रहे.

मैं बोला- ठीक है, मैं बता दूंगा अगर इसकी जरूरत हुई तो।उसके फोन काटने के बाद मैंने प्रियंका को फ़ोन किया और उससे दारू वाली बात पूछी.

नितिन उसको पहली बार देख रहा था। दोनों टांगो के बीच बसी हुई मेरी नन्ही सी नाजुक गाजरी गुलाबी रंग की चुत के ऊपर छोटा सा मदनमणि चुत के गीलेपन से चमक रहा था।अभी अभी हुई चुदाई की वजह से उसका छेद खुला ही रह गया था और अंदर का गुलाबी मांस दिख रहा था, टांगें फैलाने से उसकी नाजुक पंखुड़ियाँ भी फैल गयी थी।नितिन मेरी चुत को बिना पलक झपकाए देखे जा रहा था.

दोनों कमरों के बीच में एक शीशे की खिड़की थी, जो थोड़ी सी टूटी हुई थी. मैंने उसको किस करना शुरू किया तो वो फिर से गर्म हो गयी और मेरे लंड को पकड़ कर अपनी चूत के पास ले गयी. मैंने उससे कहा- भूल कर भी अपनी किसी भी खाला या सहेली या अपने अब्बू को ये बात मत बताना … बहुत ज्यादा बदनामी होगी, कोई हमारे घर का पानी भी नहीं पिएगा.

जब हम चारों भीड़ को हटा रहे थे, तब मेरा हाथ एक लड़की की छाती पर गलती से लग गया. उसने पहली बार में तो मुझसे अपनी कंपनी में शामिल होने से मना कर दिया किंतु दूसरी बार उसे मैंने अच्छा पैकेज ऑफर किया जो कि उसके वर्तमान वेतन से करीब 50000 रूपये महीना ज्यादा था। ऊपर से अहमदाबाद में रहना मुंबई में रहने से सस्ता था. मैं दुर्ग के पास के एक गांव से हूँ … लेकिन अभी मैं शहर में रह रहा हूँ.

उसने अपना हाथ उसके लंड पर रख दिया और उसकी उभरी हुई नसों को अपनी उँगलियों के पोरों से महसूस करने लगी.

मैं उसके बूब्स को ब्रा के ऊपर से ही चूमने, चूसने, दबाने लगा था और वो मेरे सर पर हाथ घुमा रही थी. लेकिन अब मैं दोबारा नहीं पीने वाली।फिर वो कहने लगी- तू भी तो पीता है, मैंने तो तुझे कभी नहीं टोका. हालांकि वो दोनों सगी बहनें ही थीं, मगर फिर भी प्रिया को ये गंवारा नहीं था कि मैं अब नेहा के साथ सम्बन्ध बनाऊं.

गुरुवार को संजय ने मुझसे पूछा कि क्या आप शुक्रवार को मेरे घर डिनर करना पसंद करेंगे?मैं भी बाहर का खाना खा के बोर हो रहा था, मैंने हां कर दिया. मैंने फिर से लंड को धक्का दिया और अपने बाकी के लंड को और अन्दर घुसाना शुरू कर दिया. उनके उस वक़्त 3 बच्चे भी थे लेकिन बच्चे अपने बाबा दादी के साथ उनकी ससुराल में थे.

मैंने उस दिन के बाद से उसे पहली बार के जैसे, अन्दर से उसे छुआ ही नहीं था.

इस पर मैंने कहा- सर आप अपनी लड़की पर कुछ नज़र रखें, मुझे लगता है कि उसकी सोहबत कुछ ग़लत लोगों से हो गई है. सोनिया- फिर तुमने किया क्यों नहीं?रोहन- क्योंकि मुझे लग रहा था कि अगर मैं तुम्हें मैसेज या कॉल करूंगा, तो तुम समझोगे कि यह लड़का वाकयी चंपू है.

जबरदस्त बीएफ हिंदी में यह कह कर वो मुझे गाल पर किस करने लगी और फिर धीरे धीरे वो गालों से नीचे मेरी गर्दन पर आकर मुझे चूसने चाटने लगी. मैंने मेरी बहन की गांड भी मारी और उसे दादाजी से चुदने में साथ दिया.

जबरदस्त बीएफ हिंदी में इतना कहकर मैं उसको किचन की पट्टी से सटा कर उसके सामने आ गया और उसका दूसरा हाथ हाथों में लेकर उसकी आंखों में देखने लगा. मम्मी बोली- मेरे विक्की, और चोद मुझे!फिर मम्मी और विक्की भैया की चुदाई पूरी रात चलती रही।पर मुझे तो नींद आने लगी थी तो मैं अपने कमरे में जाकर सो गया.

” कहकर मैंने आशा भरी नज़रों से गौरी की ओर ताका।गौरी मेरा मतलब अच्छी तरह जानती थी।अगल दीदी जाग गई तो?”वो तो कब की सो चुकी है। तुम चिंता मत करो और मैंने बेडरूम की कुण्डी लगा दी है।”बेचाली दीदी आपको तितना सीधा समझती हैं ओल आप?” गौरी ने हंसते हुए कहा और फिर पजामे के ऊपर से ही मेरे लंड को दबाना शुरू कर दिया।मेरी जान मैं तो यह सब तुम्हारे भले के लिए कर रहा हूँ.

जैकलिन फर्नांडीस की सेक्सी वीडियो

मैंने आज तक लंड चुसाई का खेल सिर्फ ब्लू फिल्मों में देखा था पर मैं पहली बार लंड चूसने जा रही थी. जल्दी ही राहुल ने अपना काम पूरा किया और पिंकी की चूत दोबारा अपने माल से भर दी. मैं बेबस थी … क्योंकि एक तरफ कामवासना से तप्त मेरा 27साल का बेटा था और उसके नीचे मेरी कमसिन 19 साल की बेटी दबी हुई थी.

मैं उनकी इस बात से पूरी तरह से सहमत था कि चुदाई सिर्फ लंड चूत की नहीं होती हैं. बस मैं इतना ही कह सकता हूँ कि कोई अप्सरा भी आपको देख ले, तो जलन के मारे मर जाएगी. परीशा अपनी आँखों को खोलते हुए- नहीं नहीं पापा, बाहर मत निकालना … पूरा अंदर कर दो … मेरी फिकर मत करो.

जिन लोगों ने मेरी पिछली कहानी पढ़ी है जिसका शार्षक थावाइफ की चुदाई इनकम टैक्स अफसर के साथवो लोग जानते हैं कि कैसे एक इनकम टैक्स ऑफिसर ने मेरी बीवी को चोदा.

रोनित ने उसकी खूबसूरती की तारीफ़ की और उसे खींच कर अपने बगल में बिठा लिया. साथ ही आगे की ओर झुक कर उसकी सलवार में हाथ डाल कर उसकी चूत में उंगली करने लगा. तभी गुलाब काका ने मेरी मां को पलट कर उनकी पीठ पर हाथ लेजाकर उनकी ब्रा के हुक खोल दिए और ब्रा की पट्टियां उनके कंधे से उतार दी तो मां ऊपर से नंगी हो गई.

हनी, चॉकलेट, तेल सब निकाल कर चाची लेट गईं और मैं भी उनके ऊपर आ गया. लेकिन शबनम की बातें उसको और ज्यादा उत्तेजित कर रही थी और जैसे उसका लंड शबनम की बातों से चूत के अन्दर ही बढ़ रहा था. कम्मो लेट गयी तो मैंने दो तकिये उसकी कमर के नीचे लगा दिए जिससे उसकी चूत अच्छे से उठ गयी.

पिंकी ने अपने मम्मों पर और धीरज के लंड पर एक शीशी से कुछ लगाया और धीरज के मुँह में अपने मम्मा दे दिया. वो उत्तेजना में कभी अपनी जांघें खोल देती, कभी मेरे हाथ को अपनी जांघों में दबा लेती.

उसने अपने दोनों हाथों से मेरे लंड को लोवर के ऊपर से ही पकड़ा हुआ था. अब मैं फिर से उसके ऊपर आकर उसे चोदने लगा और अब मैं भी झड़ने वाला था. एकदम चिकनी चूत … साफ़ बेदाग सी चूत …उसकी चूत की मोटी मोटी सी फांकें मुझे दीवाना बना रही थीं.

मैंने सोचा क्यों ना इसको ज़्यादा खोलने के लिए शिवानी की सहायता ली जाए.

मैंने कहा कि मैं कहां से लाऊं, तो बोले कि जाओ … कहीं भी धंधा करो कुछ भी करो … मुझे तो बस पैसा चाहिए. मैंने जैसे ही भाबी को गले से लगाया, तो उन्होंने भी मुझे कसके पकड़ लिया. ये कह कर उन्होंने दोनों गिलास में एक एक लार्ज पैग बनाया और मुझसे चियर्स कहा.

मैं अपना लंड आराम से घुसाने लगा, तो वो बोली- तेज धक्का मारो और एक बार में अन्दर डाल दो. ट्रेनिंग ख़त्म होने के बाद, कुछ इंजीनियर्स को तुरंत कुछ अच्छे प्रोजेक्ट्स में असाइन कर दिया गया, जबकि अन्य को ‘ऑन-बेंच … ’ बैठा दिया गया, जिन्हें आगे शुरू होने पर वाले प्रोजेक्ट्स पर असाइन किया जाना था.

कभी-कभी वह मेरे केले को जोर से दबा भी देती थी।कुछ मिनट बाद वह अपने चेहरे पर से मेरे हाथों के बंधन को हटाने लगी. नितिन उसको पहली बार देख रहा था। दोनों टांगो के बीच बसी हुई मेरी नन्ही सी नाजुक गाजरी गुलाबी रंग की चुत के ऊपर छोटा सा मदनमणि चुत के गीलेपन से चमक रहा था।अभी अभी हुई चुदाई की वजह से उसका छेद खुला ही रह गया था और अंदर का गुलाबी मांस दिख रहा था, टांगें फैलाने से उसकी नाजुक पंखुड़ियाँ भी फैल गयी थी।नितिन मेरी चुत को बिना पलक झपकाए देखे जा रहा था. और 22 दिसम्बर को शाम को उनकी ट्रेन आई, मैं और सपना रेलवे स्टेशन गई।वहाँ उनसे पहली मुलाकात हुई, वो काफी लम्बे चौड़े कद के थे.

कोल्कता की सेक्सी वीडियो

शबनम ने ध्यान दिया कि उसके शब्दों ने अंकित पर जादू कर दिया है, उसके दिमाग में अब शरारत सूझ रही थी, उसने मुस्कुराते हुए कहा- आह! तो तुम अपनी माँ के साथ भी ये करना चाहते हो.

वो मेरी लाल रंग की गीली पैंटी देखकर चिल्ला उठा- आह … देख साली की पैंटी पूरी गीली है … और ये तो रंडी से कम नहीं है. मैं अपने चहेते पाठकों को अपने बारे में तो पहली ही कहानी में बता चुकी हूं. उसने शबनम के कूल्हों को जोर से पकड़ा और और उसकी चूत पर लंड को रगड़ते हुए और जोर से धक्के मारने शुरू कर दिए.

मैंने टाइम पास करने के लिए एक किताब पढ़ना शुरू कर दिया और फिर कुछ ही देर बाद मुझे नींद आने लगी. इतना कह कर पूजा ने अपनी पीठ के बल लेट कर अपने पैरों को ऊपर उठा दिया और बोली- चलो पेलो अपना लंड मेरी चुत में. चोदा चोदी वीडियो चाहिएउई मां उउह … उच्च हहह … लगती है यार … जरा धीरे दबाओ न …”मैंने इतने करीब से किसी नंगी भाभी को सेक्स करते कभी नहीं देखा था.

दीदी हंसते हुए बोलीं- हां … बिकनी के बगल से झांटें दिखतीं, तो क्या मजा आता. इसलिए मैंने कबीर को शुरूआत से सब कुछ बता दिया कि कैसे बिना किसी वजह से राज मेरे साथ चुदाई नहीं कर रहा था और कैसे एक अन्जान शख्स मेरे 34 के रसीले आम चूस गया.

मैं अपने भाई बहनों में सबसे छोटा था और मेरे पिताजी भी बुआजी से छोटे थे, तो मेरे और दीदी की उम्र में काफी अंतर था. मैंने देखा उसकी बगलें एकदम साफ़ थीं, उधर एक बाल भी नहीं था, बिल्कुल चिकनी बगलें थीं. मुझे वहां एक फैक्ट्री में काम भी मिल गया था, लेकिन रहने का कुछ समझ नहीं आ रहा था कि कहां रहूँ.

भाभी इससे तड़प उठीं और जोर जोर बोलने लगीं- आह मत तड़पाओ मेरे राजा … जल्दी से पूरा अन्दर डाल दो. शहर तक रोज़ आने जाने के झंझट से छुटकारा पाने के लिए उसने उधर ही एक रूम किराए पर ले लिया और वहां रहने लगी. मैंने उससे छूटने का प्रयास किया, लेकिन उसकी मजबूत भुजाओं से बच कर निकल पाना मुश्किल था.

मैंने उसके कपड़े उठा लिये और बोला- मैं नहीं दूंगा तेरे कपड़़े।वो बोली- मैं तेरे साथ कुछ नहीं करने वाली और तू भी कुछ नहीं करेगा क्योंकि तूने कसम दी है मुझे.

वो- क्या तुम मुझे वहां तक छोड़ दोगे?मैं समझ गया कि उसे उसी गृह प्रवेश वाली जगह पर जाना है- अरे यार इसमें इतना क्यों पूछ रही हो, मुझे कोई काम हो या न हो, मैं तो वैसे भी तुमको उधर छोड़ दूंगा. दीदी ने कुछ ना बोलते हुआ बस अपने कुरते को थोड़ा ऊपर खींच लिया और बाक़ी का काम खत्म कर के नीचे चली गयीं.

कुछ देर लंड टटोलने के बाद उसने मेरे लंड को लोवर के ऊपर से ही अपने मुँह में भर कर किस करना शुरू कर दिया. मुझे अब अंदर बेचैनी सी हो रही थी तो मैं सिगरेट जला कर बाहर पार्क में टहलने लगा. मेरी सांसें स्वाभाविक रूप तेज थीं, जिन पर काबू पाने की मैं कोशिश कर रही थी.

साला इतना शैतान है कि किसी भी लड़की या भाभी की चूत या गांड में घुस जाए, तो उनको पूरा ठंडा करके ही बाहर निकलता है. मैं अपने रूम में गयी, तो देखा, तो बेड पे एक बॉक्स रखा था, ऊपर ‘हैप्पी बर्थडे टू यू रसिका’ लिखा था. मैं उनकी प्यास बुझाने वाली बात से कुछ समझ तो गया था लेकिन अब भी मुझे उनकी चाहत को समझना था.

जबरदस्त बीएफ हिंदी में उसकी चूत से ‘पक्क’ जैसी आवाज निकली जैसी कोल्ड ड्रिंक की छोटी बाटल का ढक्कन ओपनर से खोलने पर निकलती है; ऐसी आवाज नयी चूत का वैक्यूम रिलीज होने से ही आती है. थोड़ी देर के बाद मैं पूजा की पीठ पर झुक गया और उसकी चूचियों को अपने दोनों हाथों से मसलने लगा.

सेक्सी वीडियो खुल्लम-खुल्ला चोदी चोदा

इसी बीच मुझे वंदना का फ़ोन आया कि वो कल अपने भाई के घर देहरादून जा रही है. जब मैं रूम के अंदर पहुंचा तो बिस्तर पर एक बेहद खूबसूरत लड़की और एक लड़का लेटे हुए थे. मेरा मन कर रहा है कि सारी उम्र तेरी चूत में इसी तरह से मुंह डाल कर लेटा रहूं.

ऐसा मैंने लगातार चार दिन तक किया और मुझे ये आभास भी हो गया कि वो ये जान चुकी है कि ये सेक्स स्टोरी मैं ही उसके लिए रखता हूँ. अब मैं बोला- देखिए भाभी जी … मुझे आपसे सहानुभूति है … मगर मैं चाह कर भी कुछ नहीं कर सकता क्योंकि मेरे हाथ में कुछ नहीं है. चौदा चोदीमैंने पूछा- क्या हुआ?भाभी ने बोला- पहली बार किसी ने मेरी चुत पर अपने होंठों से प्यार किया है.

मुझे ये नहीं पता था कि वो मेरे बेडरूम में जानबूझकर अंडरवियर में आ जाते थे या ऐसे ही वो अनजाने में ही अंडरवियर में मेरे बेडरूम में आते थे.

उसके चूचों की चोंच एकदम ऐसे लग रही थी जैसे कोई मिसाइल दुश्मन पर हमला करने के लिए तैयार करके रखी गई हो. अचानक उसने अपने धक्के दुगुनी गति से कर दिए और आह आह की आवाज करने लगा.

यह कहते हुए उन्होंने अपनी दोनों टांगें मोड़ कर मेरी कमर में लपेट लीं. मैंने बिना सुने झट से आंटी की ब्रा को खींच दिया और उनके मस्त मम्मों को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा. क्या आपके कोई बच्चे हैं?सोनिया- हां … एक बेटा है, जो अगले महीने 12 साल का हो रहा है.

उधर कम्मो की चूत के मस्स्ल्स फैल सिकुड़ कर मेरे लंड से वीर्य को निचोड़ने लगे, एक एक बूंद निचुड़ गयी उसकी चूत में और फिर उसकी चूत एकदम से सिकुड़ गयी और मेरा लंड शहीद होकर बाहर निकल गया.

उसमें से झाँक कर मैंने सब कुछ देखा है और आवाजें भी पूरी सुनाई देती थीं. वो उस रात अलग तरीके से मुझसे लिपटने लगी, उसने मेरा लोअर उतार दिया और मेरे छोटे लंड को मसलने लगी. हम दोनों की जीभ आपस में खेल रही थी जिससे हमारा थूक एक दूसरे के मुंह में जा रहा था.

नानी मां की चुदाईआप सभी ने पिछले भाग में पढ़ा था कि आलिया आखिरकार मेरी गलफ्रेंड बन गई थी. इतना कह कर उसने एक इशारा किया और हम दोनों अब सिक्स नाइन वाली अवस्था में आ गए थे.

ಸೆಕ್ಸ್ ಇಂಗ್ಲಿಷ್ ವಿಡಿಯೋ

विनय मेरे पास आकर कान में धीरे से बोला- नेहा तुम अन्दर से बहुत खूबसूरत हो. मुझसे ये देख कर रह ही नहीं गया और मैंने अगले ही पल पूजा की चुत चाटना शुरू कर दिया. वे बोले- अमित, चल मैं तुझे घर पर छोड़ देता हूं।रास्ते में एक दुकान पर से मुझे चॉकलेट दिलाई.

उसने लंबी सांस ली और मेरी चुत की खुशबू को अपनी धमनियों में उतार लिया. वो बोला- तुम्हारा बॉयफ्रेंड तुम्हारी चूत की चुदाई नहीं करता है क्या?मैं बोली- करता है लेकिन आज मैं अपना भाई के लंड से मजा लेना चाहती हूं. मैंने उसे पीछे से बांहों में भर लिया और गर्दन पे किस करने लगा।वो चाय बनाने में व्यस्त होने का दिखावा करने लगी.

मैंने उसकी तरफ देख कर सवाल किया तो उसने सरप्राइज कह कर इन्तजार करने को कहा. मैंने अपनी सांस रोक ली, धक्के रोक दिए, लंड पेले चुपचाप उसके ऊपर लेटा रहा. रितिका चिल्लाई- हाय क्या मस्त चूचे है तेरे छिनाल … चूमने को दिल करता है … आजा मुझे चुसवा दे.

अब भाबी बोलीं- मुझसे रहा नहीं जा रहा … प्लीज़ तुम जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डाल दो … और मुझे चोद दो अंकित … मैं न जाने कितने दिनों से प्यासी हूँ. मैंने गर्म पानी का फव्वारा चलाया और दोनों भीगते हुए चुदाई का मजा लेने लगे.

मैंने मौसी के ऊपर लेटते हुए उनके लिप्स चूसने लगा, मौसी भी मेरा पूरा साथ देने लगीं.

मेरी नाभि को चूसते हुए वो कहने लगा कि बंध्या तेरी कमर तो 24 से भी कम की लग रही है. सेक्सी लड़कियों काचाचा का खड़ा लंड जब मेरी मम्मी की गीली गर्म चूत में गया तो मम्मी आगे को उचक गयी और उनके मुख से आनन्द से परिपूर्ण लम्बी सिसकारी निकल गयी. हिजड़ों की सेक्सी मूवी” परीशा छटपटाती हुई अपने सर को इधर उधर पटक रही थी, उसे अपनी चूत में दर्द की तेज लहर दौड़ती हुई महसूस हो रही थी. खुद से करती थी। आजाद जिंदगी इसीलिये चुनी थी कि घर में नहीं कर सकती थी। साथ रहने वाली लड़की के पास डिल्डो था और हम दोनों रोज रात आपस में कर लेती थीं।”गुड.

फिर भी तुम चाहती हो तो ठीक है, कल चलेंगे सामान लेने! अभी कौन सा हम दोनों को कुछ पहनना है.

वो मेरे कमरे पे शाम में ही आ गयी और अपने घर पे बता दिया कि उसे ऑफिस के काम से 2 दिनों के लिए बाहर जाना है. ” महेश ने अपनी बहू को समझाते हुए कहा।अपने ससुर की बात सुनकर नीलम शर्म के मारे कुछ नहीं बोल सकी।बेटी अब मुझे चलना चाहिए, काफी देर हो गई है. मैंने रचना को रोनित से मिलवाया- रचना, ये रोनित मेरा दोस्त है और रचना मेरी गर्लफ्रेंड है.

पर नंगे जिस्म डांस कैसे कर सकते हैं, धीरज का लंड बार बार नायरा की चूत के मुहाने पर टकराता और अंदर घुसने की खुशामद सी करता. मैं- अपना माल तेरे मुँह में छोड़ दूँ?परवीन- हां … तू प्लीज जल्दी लंड निकाल दे. मैंने तुरंत ही उसका जवाब दिया और हम दोनों की बात शुरू हो गई।उस रात जैसे वो भी मुझसे सेक्स की बात करना चाहते थे.

कुंवारी लड़की की फोटो

मैंने भाई के लंड को अपने मुंह में लेकर पूरा गीला कर दिया ताकि चिकना होकर लंड मेरी और मेरे चाचा की लड़की की चूत में आसानी से चला जाये. वो बोली- मैं दारू नहीं पीने वाली।मैंने उससे कहा- ठीक है तू पांच मिनट रुक. मैंने बोला- अच्छा तुझे उस मरियल बुड्डे के साथ करते वक़्त शर्म नहीं आई.

हालाँकि वो अपने पति से पहले भी गांड मरवा चुकी थीं … मगर अभी कुछ सालों से बिल्कुल अनछुई सी थीं, इसीलिए उन्हें थोड़ा थोड़ा दर्द हो रहा होगा.

मगर वो मेरे दर्द से इतर पूरी स्पीड से गांड में लंड से धक्के मारने लगा.

सबका टिफिन बनाना, साफ सफाई करना, उसके बाद जॉब फिर घर पे आके सबका खाना बनाती थी. मैं भाभी जी से ये बोल ही रहा था कि तभी मेरे शेरू ने उनको टच करना शुरू कर दिया. g से मुस्लिम लड़कियों के नामइतना कह कर पूजा ने मेरे लंड को पकड़ लिया और बोली- चलो मेरे राजा, अब मुझे भी दिखलाओ तुम्हारे लंड से निकलते पेशाब की धार को.

एक दिन उसने मुझे खुद को वेबकैम पर भी दिखाया तो मेरे बदन में वासना की आग लग गयी. फिर मैंने पति को कॉल किया, तो जवाब मिला कि वो किसी काम की वजह से बाहर चले गए हैं, आने में थोड़ा ज्यादा टाइम लगेगा. मैंने ये बोल कर उसका हाथ अपने हाथों में लिया और बोला- आज बहुत खूबसूरत लग रही हो.

वह करीब तीन मिनट बाद बोला- झड़े नहीं?मैंने कहा- अब तू थक गया, अब मैं चालू होता हूं।मैंने धक्के शुरू किए अंदर बाहर अंदर बाहर … वह उनको अनुभव करता रहा. हम लोग तैयार होने में हालांकि लेट हो गए पर जब ब्रेक फास्ट के लिए मेस में गए तो नाश्ता चल रहा था समापन दौर था।लेखक के आग्रह पर इमेल नहीं दिया जा रहा है.

मैं आपको एक बात बताना भूल गया कि वंदना लंड चूसने में बहुत माहिर है, बिल्कुल पोर्न स्टार्स की तरह लंड चूसती है.

हम दोनों की जीभ आपस में खेल रही थी जिससे हमारा थूक एक दूसरे के मुंह में जा रहा था. अब आप आगे की कहानी पढ़ें कि कैसे झटपट शादी और सुहागरात के बाद हमने अपना हनीमून मनाया. फिर उसने बहुत सारा सीरप अपने चूचों के बीच में डाला और कुछ मेरे लंड पर लगा दिया.

সেক্সি ভিডিও চাইয়ে मेरा रूम-मेट लाइट बंद करके 11 बजे सो गया, लेकिन मेरी आंखों में नींद नहीं थी. इससे नेहा‌ ने भी मेरे होंठों को अब थोड़ा जोरों से चूसना शुरू कर दिया.

अब तो मुझे कुछ याद भी नहीं था लेकिन उसकी हालत को देख कर थोड़ा अंदाजा तो हो गया था मुझे. तभी उन्हें पता नहीं क्या सूझी कि उन्होंने पूरा गिलास अपने ऊपर गिरा लिया. फिर मैंने उसका लंड अपने मुँह में लेकर साफ किया और हम दोनों चिपक कर लेट गए.

काजल राघवानी सेक्सी विडियो

मैंने चौंकने का नाटक करते हुए कहा- अरे ऐसा क्या करोगे तुम?रशीद ने कहा- अम्मी बातों में मेरा टाइम मत ख़राब करो. नेट की साड़ी और ऊपर से लेसवाला ब्लाउज, इसमें से मेरे मम्मे तो आधे से ज्यादा बाहर ही दिख रहे थे. वह कुछ कहना ही चाह रही थी कि मैंने अपना काला कड़क केला उसके मुंह में ठूंस दिया.

फिर मैं क्रीम लेकर आया, उसकी चुत के अंदर तक लगायी और थोड़ी सी अपने लण्ड पर!और फिर अपना लण्ड को उसकी चुत पर रगड़ने लगा।पुण्या- भैया अब रहा नहीं जाता, जल्दी से इसे अंदर डालो।मैं- पुण्या थोड़ा सब्र करो!और फिर मैंने उसके मुँह पर हाथ रखकर बंद कर दिया और एक जोर का झटका उसकी चुत पर दिया; जिससे मेरा आधा लण्ड उसकी चुत को फाड़ते हुए अंदर चला गया. एग्जाम देकर जब वापस आ रहा था तो मेरे दिमाग में सरप्राइज देने की बात चल रही थी.

आलिया- आह … राज निकाल ले, दर्द हो रहा है … आह रहने दे … निकाल राज प्लीज … आह राज ओह माँ … प्लीज …मेरी बहन दर्द के मारे जोर से चिल्ला रही थी.

पूजा- और करेंगे किसके साथ? अगर तुम सोचते हो कि मैं तुम्हारे किसी दोस्त या रिश्तेदार के साथ ऐसा करूँगी. मुझे भी उससे मिलने की तड़फ थी, लेकिन मैंने ढील देकर उसे लूटना चाहता था. मैंने जेब से एक सिगरेट निकाल कर सुलगा ली और उसके हुस्न का दीदार करने लगा.

सलमा की सलवार नीचे गिर गई, रशीद ने सलमा को अपनी गोद में उठाया और बिस्तर पर धकेल दिया. कुछ देर के बाद गुलाब काका उठे, अपने कपड़े पहने, मम्मी के होंठों को चूमा, मम्मी की चूचियां मसली और चले गए. अभी बस 1 रूपए के सिक्के के बराबर गोलाई नजर आ रही थी, जो पीछे की तरफ मोटी होती जा रही थी.

वो बोल रहे थे कि वो मुझे गिरफ्तार करके ले जाएगा, तो ले जाए या फिर तुम जाओ, कहीं से भी पैसा लेकर आओ.

जबरदस्त बीएफ हिंदी में: उसकी ब्रा लटक गई और उसके दोनों गोल गोल दूध और उन पर वो ब्राउन निप्पल कड़क एकदम खड़े थे. पूजा- ह्म्म्म है तो … लेकिन?मैं- लेकिन क्या पूजा?पूजा- हम मिलेंगे कैसे?मैं- वो सब मैं कर लूंगा, तुम चिंता मत करो.

मैंने रचना के सामने शर्त रखी कि एक ही शर्त पर तुझे मैं अपने साथ ले चलूँगा कि वहां किसी को पता नहीं चलना चाहिए कि तू मेरी बहन है. अचानक उसने अपने धक्के दुगुनी गति से कर दिए और आह आह की आवाज करने लगा. थोड़ी देर तक चूसने के बाद पिंकी खड़ी हुई और खड़े खड़े ही उसने राहुल का लंड अपनी चूत के मुहाने पार रखा और जोर से राहुल से चिपटी.

ये उन दिनों की बात है, जब बबली मेरे ही कॉलोनी में अपने परिवार के साथ रहने आई थी.

तो शायद उन लोगों को इस बात का अहसास ही नहीं था कि उनकी कामुक हरकतों को कोई छत से भी देख सकता था. हम सब खाना खाने चले गए।खाना खाकर जब हम वापस आए तो एक बार फिर से मैं चुदने के लिए तैयार थी। अबकी बार मुझे बेड पर लेटा कर दोनों मर्द मुझे पागलों की तरह चूमने चाटने लगे. कुछ दिनों के बाद उस शहर की रंडियों ने जाकर अदालत का दरवाजा खटखटाया.