बीएफ दिखाइए पिक्चर

छवि स्रोत,किन्नर की बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बीपी ओपन फोटो: बीएफ दिखाइए पिक्चर, मैं पूरे जोश के साथ ब्रा में छुपे मम्मों पर टूट पड़ा और ब्रा के ऊपर से ही गुड़िया के मम्मों चूसने व काटने लगा.

बीएफ सेक्सी फिल्म ब्लू वीडियो

अन्तर्वासना के लेखकों की हिम्मत को जानकार, मैंने भी मेरी जिंदगी में हाल में हुई एक सत्य घटना को प्रस्तुत करने का मन हुआ. हिंदी रोमांटिक सेक्सी बीएफमेरी सहेली का पति मेरी चूत चाटने के बाद अपना लंड मुझे चूसने के लिए कहने लगा तो मैं उसका लंड चूसने लगी.

उसने हंसते हुए कहा।मैं बेशर्म होते हुए बोला- यार कैसे शांत करती हो चूत को … चूत को तो लंड ही शांत कर सकता है. एचडी बीएफ साड़ी मेंमैंने कहा- जान, कंट्रोल करो, अभी तो पूरी रात चुदाई होनी है तुम्हारी.

डेढ़ घंटा तुमको मैंने मेरे नीचे रखा, फिर मैंने तुमसे पूछा था कि जानू और चाहिए?इस पर तुमने कहा था- हां …फिर जो संग्राम हुआ, उसको मैं ता-उम्र भूल नहीं सकता.बीएफ दिखाइए पिक्चर: मैंने भाभी से कहा- ठीक है, मैं भी उससे मिलूंगा तो बोल दूंगा कि भाभी तुम्हारी बहुत तारीफ कर रही थी, भाभी बता रही थी कि तुम बहुत सुंदर और अच्छी लड़की हो.

अब तक आपने पढ़ा था कि दो नीग्रो मैक और गैब्रियल के साथ पुनीत मुझे चोदने की तैयारी में थे.सर्दियों के दिन थे, इस वजह से हमने उसे वहीं रुकने के लिए कहा और वह मान गया.

ब्लू फिल्म बीएफ बीएफ ब्लू फिल्म - बीएफ दिखाइए पिक्चर

उसने मेरी कमर उठाकर मुझे कुतिया बना दिया और पूरा लंड सैट करके मेरी गांड में लंड पेलने लगा.अंकल भी पूरे मादरचोद थे, वे जानते थे कि कोई भी औरत ऐसी स्थिति में बिना चुदवाये नहीं रह सकती.

उसने मेरे लंड को पकड़ कर चमड़ी पीछे की … और सुपारे को किस करके धीरे से मुँह में भर लिया. बीएफ दिखाइए पिक्चर ” मैं ये सब सोच ही रहा था कि तभी नेहा ने मुझे गहरी निगाहों से देखते हुए छुआ.

मैंने अपने सास और ससुर को रात का खाना खिलाया, जो हम बाहर से पैक करवा लाए थे.

बीएफ दिखाइए पिक्चर?

पर वो मुझे देख कर मुस्कुरा कर बोली- मेरी सीट में पानी गिर रहा है … क्या मैं यहाँ बैठ सकती हूँ?मैं तो उसे देखते ही रह गया. एक बार तो उसने मेरा लंड वापस बाहर निकालने की कोशिश की लेकिन मैंने उसके सिर को पकड़ कर रखा और उसके मुंह में लंड को देकर रखा. तो मैं थोड़ा पानी झाड़ कर बाहर निकला और तौलिया खोजने लगा, लेकिन किस्मत मेरी कि उस कमरे में कोई तौलिया ही नहीं था.

वे कहेंगे तो भी क्या कहेंगे … माँ पापा को मत बताना, वो तो मैं वैसे भी नहीं बताने वाली थी. अब मैं तेल की शीशी लेकर आया और वंदना की गांड पर लगा कर थोड़ा सा अपने लंड पर लगाया. चूत चाहे किसी भी हो, काली हो या गोरी हो, बस उसकी चुदाई में मज़ा आना चाहिए.

वो बोली- तेरी इतनी अच्छी बॉडी है, ऐसे कैसे नहीं मिली?मैं बोला- बॉडी होने से कुछ नहीं होता, वैसी किस्मत होना चाहिए. उस फिल्म में एक बूढ़ा आदमी एक जवान लड़की को कैसे पटाता है और कैसे चोदता है, वह दिखाया गया था. मैंने उसे बोल दिया कि मैं जिस दिन फ्री रहूंगा उस दिन उसके घर पर आकर उसका कम्प्यूटर ठीक कर दूंगा.

मैंने स्वीटी की चूत पर लंड रखा और एक धक्का मारा, तो मेरा आधा लंड स्वीटी की चूत में घुस गया. रूपा ने अपने हाथ बढ़ाए और मेरे लंड को अपनी मुट्ठी में लेकर सहलाने लगी.

30 बज गए थे और मैंने गैस चूल्हे पर कुकर रख दिया। फटाफट सब्जी छोंक दी और आंटा गूँथकर रख दिया। 6.

मैंने लंड को चूसा और उससे चूत चटवा कर अलग ही सुख महसूस हुआ जिसको मैं बयान नहीं कर सकती.

सुलेखा भाभी मेरे ऊपर निढाल होकर ढेर हो गयी थीं, मगर मेरे धक्के लगाने से वो अब फिर से कराहने‌ लगी थीं. उसका थोड़ा सा लंड मेरी बहन की चूत में अन्दर गया तो मीनाक्षी उछली और उसने अनिल को कस के पकड़ लिया. इसके अलावा इस कहानी को लेकर आपका जो प्यार मिल रहा है, उसके लिए आपका और अन्तर्वासना का धन्यवाद.

इतना सुनते ही उसने अपने कपड़े उतार दिये, अब वो सिर्फ में चड्डी ही रह गया था. मैंने लंड को चूसा और उससे चूत चटवा कर अलग ही सुख महसूस हुआ जिसको मैं बयान नहीं कर सकती. मन ही मन में मैं उनको गालियाँ दे रहा था। हम लोग कॉफी पीकर वापस अपने फ्लोर पर चले तो फिर उसी लिफ्ट में गए और फिर से एक दूसरे को किस करने लगे.

सोनू ने शर्ट पहनी तो शर्ट के आगे से खुले भाग में से उसकी चूत दिखाई दे रही थी और शर्ट का दोनों साइड का कट उसके सुडौल पटों पर बहुत सेक्सी लग रहा था.

शुरुआत में तो नार्मल चैट होने के बाद मैंने उसकी तारीफ करना शुरू किया, तो वो पहले तो थोड़ा झेंपती रही. मैं एक बार एक रिश्तेदार की शादी में जाने के लिए तैयार हुआ और किसी कारण से इस शादी में मुझे अकेले ही जाना पड़ा. अन्तर्वासना के पाठकों को मेरा नमस्कार! मेरा नाम रुचित है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूँ.

शायद वो मुझे देखने‌ के लिए आई थी, मगर हमें इस हालत में देखकर दरवाजे से ही‌ लौट गयी थी. उसके बाद मैंने नीरू और अपनी तो बीवी दोनों को बेड पर डॉगी स्टाइल में चुदाई शुरू की. उस रात मैंने वंदना की 5 बार चुदाई की, जिसमें से 2 बार गांड मारी, तीन बार चुत को चोदा.

उसको देख कर कोई कह ही नहीं सकता था कि यह साली 3 बच्चे पैदा कर चुकी है.

भाभी- क्या यह ठीक होगा?ये बात सुनके मुझे ग्रीन सिग्नल मिल गया कि ये खुद मुझे चाहती हैं, तो मैंने जिद सी करते हुए बोला- भाभी मैं आपसे बहुत प्यार करता हूँ. उसने बोला- बस देखोगे कि कुछ करोगे भी?मैंने बोला- अब आप ही सब कर दो.

बीएफ दिखाइए पिक्चर इसी बीच उसने मुझसे अपने मम्मी और पापा की चुदाई की बातें करना शुरू कर दीं. ”वैसे आपकी और मेरी बहू की काफी जमती है, फिर मुझसे बात करने के बहाने क्यों जी?”आप भी ना, अरे दो औरतों … और एक औरत और मर्द के बीच बात का फर्क अलग ही होता है.

बीएफ दिखाइए पिक्चर साथ ही में उसके यहां से एक गर्म बड़ी सी शॉल भी ले ली और बस में आ गया. मेरे चूमने से पहले तो नेहा कसमसाई मगर फिर गुस्से में वो मेरे होंठों को जोरों से चूसने और काटने लगी.

यह सब बात सुनकर उस लड़के ने तपाक से मुझसे कहा- सर, आप बुरा ना माने, तो क्या मैं आपको छोड़ दूँ.

नया सेक्सी फिल्में

मैंने राहत की सांस ली और अब मैं बेड के किनारे अपनी गोरी गांड रख कर सीधे लेट गई. भाभी बोली- ठीक है, तुम उसके बाजू में ही सो जाओ!मैं तो झट से मान गया. या फिर पता नहीं कब मेरा मूड बन जाए और मैं अपने पति के सामने अपना छेद खोल कर औंधी हो जाऊं.

मैं समझ गई वो क्या चाहता है और मैं उसके लण्ड को चूसने लगी जो 7 इंच लम्बा था। मैं उसको पूरा मुँह में ले कर चूस रही थी. होंठों को चूसते हुए मैं उसके गोरे चिकने नंगे बदन को भी सहला रहा था, जिससे उसकी सांसें अब फिर से भारी होने लगीं. मेरे गले लगाने और उनकी पीठ को सहलाने पर भाभी ने मुझे कुछ नहीं कहा तो मैं अपना हाथ उनकी पूरी पीठ पर फेरने लगा.

किसी भी मर्द की कामुक निगाहें सबसे पहले किसी लौंडिया या औरत के मम्मे देखती हैं और उसके बाद उसकी उठी हुई गांड का मुआयना करती हैं.

मैंने भी अब पूरे जोश में आकर उसकी चूचियों को चूसना शुरू कर दिया मानो आज ही उनका सारा रस निचोड़ कर पी जाऊंगा. पर थोड़ी देर बाद उन्हें भी मज़ा आने लगा और वो भी गांड उछाल कर मेरा साथ देने लगीं. बीस मिनट की धुआंधार चुदाई के बाद हम दोनों बेड पर ढेर हो गए और एक दूसरे से चिपक कर सो गए.

अंकल ने कहा- रेशमा, लंड का पानी छोड़ने वाला हूँ, कहाँ छोड़ूँ?मामी बोली- साली रंडी की चूत में ही छोड़ दो. कमरे की लाईट आफ थी नाईट लैंप की थोड़ी रोशनी में हम मम्मी पापा की चुदाई का खेल देख रही थी. मैं चौंक गया और मैंने पूछा- मेरा इन्तज़ार क्यों?तो वो अचकचा कर बोली- व्वो … मेरी चाय पीने की बहुत इच्छा हो रही थी और मैं अभी सोच ही रही थी कि आप आ गए, सच में बहुत सही समय पर आए हो.

फिर किसी तरह पापा का पूरा लण्ड मॉम की चूत में घुस गया और पापा मॉम की चूत में धक्के मारने लगे. मैंने पूछा- अब चूत कैसी है?उन्होंने गांड उठाते हुए कहा- तुम खुद देख लो … तुम्हारे लंड के लिए तड़प रही है.

और मैं उंगली जोर जोर से उसकी चूत में घुसाने लगा उसके कपड़ों के ऊपर से. फिर मैंने कपड़े से उसका खून साफ किया और धीरे धीरे उसकी चुदाई चालू कर दी. ? गांड फट गई इतनी देर में? मुझे पता था कि तू मेरे ही चक्करों में घूम रहा है.

जब मैं घर वापसी आया, तब मैंने देखा कि वंदना लाल कलर के सूट में एक दुल्हन की तरह तैयार होकर मेरे सामने खड़ी थी.

पूरा कमरा हम दोनों की धक्कमपेल और नेहा की किलकारियों से गूंज रहा था. सबसे पहले तो आपका बहुत-बहुत धन्यवाद कि आपने मेरी पहली कहानीमेरी कुंवारी चूत की पहली चुदाईको इतना प्यार दिया. तभी मेरी नजर एक बंदे पर पड़ी, वह मेरे तने हुए मम्मों को बड़ी लालसा से देख रहा था.

तब भी दीदी के घर के नजदीक होने से मेरा अब दीदी के घर आना जाना चलने लगा था. गांड के छेद पर सुपारा रख कर अंकल ने जैसे ही जोर डाला, तो ऐसा लगा कि गांड फट गई.

इसके बाद करीब पांच मिनट तक मुझे वो दोनों सांड मेरे दोनों छेदों को मस्ती से चोदते रहे और पुनीत मेरी जीभ को अपने मुँह में डाले चूसता रहा. करण पाल ने मुझे बहुत धमकाया और कहा- अगर तुमने आज के बाद दुबारा भाभी को तंग किया या कुछ बोला … तो मेरे से बुरा कोई नहीं होगा. उसने दबा कर मेरे यौवन का रस चूसा औऱ पहली बार किसी लड़के का लंड देखा.

सेक्सी पिक्चर भेजिए देखने के लिए

मैं 15 मिनट से लगातार उसकी चूत पे धक्के मार रहा था और मेरा भी होने वाला था तो मैंने उसे बोला- मेरा होने वाला है!तो उसने बोला- मेरे मुँह में झड़ना, मुझे तुम्हारा स्वाद चखना है.

वो छटपटायी और रोने लगी, पर मैंने सोचा अगर मैंने लंड निकाल लिया, तो ये दोबारा डालने नहीं देगी. मेरी जीभ जब उनकी जीभ से मिली, तो उनका शरीर सिहरने लगा और वे रिसने लगीं क्योंकि मेरे हाथों को उनकी चुत गीली गीली लगने लगी थी. वो दीवानी हो गई और मेरी कमर पकड़कर खींचने लगी और कहने लगी- प्लीज मुझे मत तड़पाओ और जल्दी से मुझे चोद दो … प्लीज मैं और बर्दाश्त नहीं कर सकती … प्लीज.

आखिर कैसी होगी इसकी चुदाई की नई दुनिया? फिर तो करते हैं प्रशांत की नई दुनिया का सैर. मैं जब भी सोहन की दुकान पर जाता और हेमा को देखता तो मेरे मुँह में पानी आ जाता और सोचता कि इसको कैसे चोदूं. नौकर बीएफपर वो मुझे देख कर मुस्कुरा कर बोली- मेरी सीट में पानी गिर रहा है … क्या मैं यहाँ बैठ सकती हूँ?मैं तो उसे देखते ही रह गया.

मम्मी मुझसे बोलीं- सोनू, तू क्या खाएगी पियेगी … जो मैं यहां भिजवा दूं. जैसा कि मैंने ऊपर ही लिखा था कि मेरा देवर शरीर से थोड़ा मजबूत है, इसलिए वो मुझे बहुत अच्छे से चोद रहा था.

हाय राम भाभी तेरी चूत तो खूब गर्म-गर्म गीली-गीली चिकनी-चिकनी हो रही है. चलो वो सब भूल जाओ … जो हो गया सो हो गया … अब एक पोर्न फिल्म देखते हैं, मैं यह फ़िल्म खास राकेश के पास से लाई हूँ. पर असल में अरुणा को मजा आ रहा था उसने अपना हाथ अंकल के शरीर पर रख दिया था.

फिर जब हमें पता चला कि बहन ने ये करते देख लिया, तो हम दोनों ने कपड़े सही कर लिए और हम कुछ देर के लिए सोने की एक्टिंग करने लगे. मुझे जाने क्या सूझी, सोचा कि कंडोम लेकर बस में मुठ मारूँगा और कंडोम फेंक दूंगा. जेठ- नीतू, तुम्हारी चुत सच में बहुत स्वादिष्ट है, बहुत मीठा पानी है तेरी चुत का.

उसे देख कर मेरे दोस्त उसे देख कर आपस में बात करने लगे थे कि मस्त माल है … यार चुदाई के लिए मिल जाए तो सारी रात चोदेंगे.

फिर दूसरे दिन भैया ने बोला- आशिक यार, मैं कंपनी के काम से एक महीने के लिए मुंबई जा रहा हूँ, तुम अपनी भाभी का ख्याल रखना, मेरा तुम पर पूरा भरोसा है. कार चलाते हुए मैं यही सोच रही थी कि कब मैं अपने पति से मिलूं और कब मैं उनके लंड को अपनी चूत में लेकर चुदाई करवा लूँ.

खैर मैंने अपना खाना बनाया खाया अगले दिन संडे था, खाना खा के सो गया. उसको हम दोनों से फिर से चुदने का कहते हुए बताया कि एक साथ दो लंड चूत में लेने में बहुत मजा आया … जल्दी ही फिर से दोनों लंड एक साथ लूँगी. मुझे पहले तो काफी दर्द हुआ लेकिन बाद में उसके लंड से चुदकर मेरी गांड खुल गई और मैं उसकी चुदाई का आनंद लेने लगी.

पुनीत जी मुझे लगता है, मेरी चूत फट गयी है पीछे भी लगता है मेरी गांड को चीर फाड़ दिया है. कुछ देर हमने साथ वक्त गुजारा, फिर उसने मुझे एक किस दी और स्माईल करते हुए बाय बोलकर चली गई. कुछ देर तो नेहा ये सहन करती रही, फिर जब उसकी बर्दाश्त से ये बाहर हो गया … और अबकी बार जैसे ही मैं अपनी उंगली को उसकी चूत के प्रवेशद्वार पर लाया, उसने खुद ही मेरे हाथ को अपनी मुनिया पर जोरों से दबा लिया.

बीएफ दिखाइए पिक्चर मैंने बिस्तर की चादर को जकड़ के हाथ से पकड़ लिया और बहुत तेजी से रोने लगी. कुछ ही देर में उनका लंड सिकुड़ने की वजह से बनी हुई जगह से हम दोनों का कामरस बहकर नीचे चादर गीली कर रहा था.

हिंदी सेक्सी वीडियो चोदा चोदी वाली

हम दोनों लोग कभी कभी शाम को घूमने जाते थे, तो कॉलोनी के लड़के हम दोनों लोग पर गन्दे कमेंट करते थे. इसलिए उसने खुद ही अपनी जांघों को फैलाकर अपनी चुत को मेरे लिए परोस दिया था. मैं बाइक के छोटे से पैरदान पर बड़ी मुश्किल से अपने दोनों पैर रखकर खड़ा हो पाया था.

ऊपर से सोनल की मेरी चूत पर घूमती हुई उंगलियों की वजह से मेरी चूत गर्म हो कर पानी छोड़ने लगी. मैं सारा काम बड़ी ही चालाकी से कर रहा था ताकि कोई देख ना ले, वर्ना सारे हवस के पुजारी उस पर टूट पड़ते. देहाती लड़की बीएफ सेक्सी वीडियोमैंने हाथ बढ़ाकर दरवाजे की कुंडी लगाई और सोनू को अपनी बाहों में भरकर ऊपर उठा लिया.

वो मुझे पसंद करता था और हम दोनों ने कैसे एक दूसरे के साथ सम्बन्ध बनाए और कैसे एक दूसरे के जिस्म को मजा दिए.

मैंने एक और धमाकेदार धक्का लगा कर अपना पूरा लंड भाभी की चूत अन्दर डाल दिया. अब हमारे पास बहुत समय था, तो मैंने और आनन्द ने बार में जाकर पीने का मन बनाया.

वो चुप रही, तो मैंने कहा- यदि तुमको पीनी है तो मेरे पास मेरी गाड़ी में रखी है. जब मेरा लंड उनकी चूत के अन्दर पूरा समा जाता था, तो हम दोनों की आह निकल जाती थी. दादाजी की भी उस पर कुछ प्रतिक्रिया नहीं थी, ना वो हिल रहे थे, ना उनकी आंखें खुली हुई थीं.

मैं धीरे से उठ कर उसके पास गया और एकदम उसके पीछे सट कर खड़ा हो गया.

उनमें से एक बंदा अपना मुँह मेरी चुत में रख कर मेरी चुत को अपनी जीभ से चाटने लगा. उस रात को मैं फिर अपने मित्रों और सहेलियों से ऑनलाइन बातें कर रही थी कि करीब 10 बजे सुखबीर का फ़ोन आया. उसके बड़े-बड़े और गोरे बूब्स को देखकर मुझसे कंट्रोल नहीं हो रहा था.

आर्केस्ट्रा बीएफ सेक्सी वीडियोमैंने कहा- असली मर्द का सुख भोग कर पहली बार मुझे भी इतना मजा आया है मेरे राजा!2 बजे तक राजीव जी ने मुझे भरपूर सुख दिया।मैं राजीव जी के पास से औरत होने का पूरा एहसास लेकर वहां से लौटी।यह थी मेरी ज़िंदगी की यादगार चुदाई। मैं अगली बार एक नई आपबीती के साथ जल्दी वापस लौटूंगी. मैं तो इंतज़ार ही कर रहा था उनके काम खत्म होने का, इसलिए मैं तुरन्त उनके बगल में खटिया पर बैठ गया और उनके खीरे से मस्त लंड की चमड़ी को पीछे की ओर खींचते हुए गहरे लाल सुपारे को बेपर्दा कर दिया और अपने दूसरे हाथ से उनकी मज़बूत बालों वाली छाती को सहलाने लगा.

देहाती भोजपुरिया सेक्सी

मुझे यकीन नहीं हो रहा था कि सुलेखा भाभी इतनी जल्दी कैसे गर्म हो गयी थीं. मैंने बिना कोई देर किए, एक और झटका मारा … मेरा आधा लंड रूपा की चूत में समा गया … और रूपा के मुँह से एक और दबी हुई आहह निकल गयी- ओह्ह मालिक धीरे से आपका बहुत मोटा है उईईई …मैं उसके ऊपर झुक गया. भाभी ने पूछा- क्या पियोगे टी, कॉफी या फिर कोल्ड ड्रिंक?मैंने कहा कि आप तो चाय ही पिला दो भाभी मगर अपने दूध की चाय बनाना.

नमस्कार दोस्तो, आज मैं अपनी जीवन से जुड़े कुछ हसीन लम्हों को आपके साथ बाँटने जा रहा हूँ. वह कहते-कहते रोने लगी और बोली- मैं ही जानती हूं कि ये दिन मैं कैसे निकाल रही हूँ।सरिता, तुम रोना बंद करो. मुझे सिगरेट पीने की थोड़ी आदत है, तो मैं घर के तीन चार गली के बाद एक चाय की दुकान है, वहां चाय और सिगरेट पीने हर शनिवार को सुबह जाता था.

वैसे भी आजाद ख्यालों की चुदक्कड़ लैंड लेडी नीना के लिए यह घटना वरदान साबित होगी, यह बात उसे अच्छी तरह पता थी. एक दिन जब उससे बात कर रहा था तो मैंने उसकी फैमिली के बारे में पूछ लिया. उसने तुरंत मेरा पैन्ट खोला और चड्डी नीचे करके मेरे लंड से खेलने लगी … लंड हाथ में लेकर ऊपर नीचे करने लगी.

मैंने नामित के सामने अपने दूध मसलते हुए से पूछा- मेरा काम कब करोगे. 10 मिनट के बाद मैं मामी के रूम में जाने लगी यह सोचकर कि उनको कुछ काम होगा.

अब मुझसे भी नहीं रहा गया तो मैंने भी उसके कपड़े निकालने शुरू कर दिए ताकि मैं भी उसके दूध पी सकूं.

मैंने हल्का सा थूक … उसकी चूत पे गिराया और अपना लंड उसकी उभरी हुई जगहों पर रगड़ने लगा. सेक्सी बीएफ हिंदी में भेजेंतुम कहने लगी थीं- चोद ना लवड़े, मेरी चुत में लंड डाल साले …तुम्हारे इस वाक्य पर मेरी रिएक्शन तुम्हारी तूफ़ान चुदाई करने की थी, तो मैंने तुम्हारी चुत की पुत्तियां फैलाईं और अपने लंड का टोपा तुम्हारी चुत के मुँह पर रख दिया. खोरठा बीएफतब मैं बोली कि अंकल तुम जो चाहो अभी कर लो, मेरा बहुत मन बिगड़ गया है. पूजा के मुँह से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाजें खेत में गूंज रही थीं.

मैंने उससे पूछा पर वो इठलाती हुई वहां से अपने कपड़े ले कर दूसरे कमरे में भाग गयी.

मेरे ऊपर जाने के बाद उसने मुझसे कहा कि उसके पास कोई दूसरी बॉटल नहीं है. मैं उनके पास जाकर बैठ गया और उनके गोरे जिस्म को हवस भरी निगाहों से देखने लगा. तभी प्रिया अपनी चूचियां छोड़ कर अपने हाथ अपनी बगल में ले गयी और दोनों हाथे से पकड़कर अपने घाघरे का हुक खोल दिया.

लेकिन लंड के टच से मैं मदहोश भी हो रही थी,मैं बोली- ठीक है पुनीत, मुझे कोई दिक्कत नहीं है. मैंने वंदना से पूछा- यह सब तुमने किया?उसने कहा- हां मैंने ही किया है क्योंकि आज हमारी सुहागरात है. नेहा की जांघों के बीच बैठकर मैंने एक हाथ से अपने लंड को पकड़कर सीधा उसकी मुनिया की फांकों के बीच लगा दिया.

रात में सोते समय सेक्सी वीडियो

लेकिन मेरा मन बहुत करता था कि अपना लंड उसके मुंह में दे दूँ।मैंने सोचा कि आज तो हमारी सुहागरात है, आज प्रियंका मेरे लंड को मुंह में लेने से मना नहीं करेगी. और खाना बनाने के बाद सबको खिलाया और खाने के बाद सब अपने कमरे में सोने चले गये. मुझे भी चुचियों के साथ खेलना बहुत अच्छा लगता है और जब औरत साथ दे और कहे कि और जोर से मसलो … तो फ़िर क्या बात.

उसकी नजर मुझ पर पड़ी, उसको ध्यान ही नहीं था कि वो बिना कपड़े की बाहर आयी थी, उसने मुझसे पूछा- क्या काम है?मैंने उसकी तनी हुई चूचियों को देखते हुए कहा- कुछ नहीं, ये शंकर का हेडफोन देने आया था.

बहुत सारे लोग अन्दर आ गए और जहां जिसे जगह मिल गई, वे वहीं बैठने लगे.

फिर मैंने पानी पीने का बहाना करके उनसे पानी लिया और वहीं खड़े रह कर भाभी से बातें करने लगा. मैं नीचे आया तो एक आदमी पहले ही किसी स्टेशन पर उतर गया था और अब नीचे वे दोनों लेडीज बैठी थीं. नेपाली हिंदी बीएफतभी अनवर ने मेरी गर्दन पकड़कर जोर जोर से लंड मेरे अन्दर बाहर करने लगा कि तभी मेरी चूत बह चली और बहुत गर्म रस निकलने लगा.

मैं पहले से सारी संभावनाएं बना लेना ठीक समझती हूं ताकि वो बाद में सम्बन्ध बनाने के लिए मेरा भयादोहन न करे. मैंने देखा कि जब वो नहीं शर्मा रही तो मैं क्यों शर्माऊं … और वो डबल मीनिंग वाली बात बोल रही है. भाभी के स्तन मेरे सीने में लग रहे थे और फिर मैंने इसी का फायदा उठाने की कोशिश की.

खाना खाने के बाद नींद आ रही थी और दो घंटे का रास्ता अभी भी बाकी था. सलोनी ने भी तुरंत रेस्पॉन्स किया और वो भी मेरे नीचे को होंठों को चूसने लगी.

कुछ ही देर में उसकी‌ मुनिया ने कामरस का रिसाव करना शुरू कर दिया और उसकी जांघों की‌ पकड़ भी ढीली हो गयी‌.

मेरी बीवी ने भी कुछ पड़ोस में दोस्ती कर ली और मैंने एक बहुत बड़ी गलती की कि कॉलोनी के एक बहुत ज्यादा बदमाश और नेता किस्म के आदमी से दोस्ती कर ली. तभी अनुप्रिया ने कामवासना से प्रेरित होकर मेरी मैक्सी उठा दी और मेरी चूत को चाटने लगी. लेकिन इस बार झड़ने के बाद वो और गर्म हो गयी और नीचे से अपने चूतड़ उठाने लगी.

हिंदी देसी बीएफ एचडी पर तुम 15 मिनट तक नहीं रुके … यू आर अमेजिंग!यह सुनकर मेरे चेहरे पे थोड़ी खुशी आयी. लता भाभी पूछने लगी- क्या तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है और कभी ये काम किया है?तो मैंने कहा- भाभी, मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है और न ही आज तक मैंने किसी की चूत मारी है.

मैं आपको अपनी मकान मालकिन भाभी की कामुकता की आग की कहानी बता रहा हूँ. मेरी बहन अब पूरी तरह गर्म हो चुकी थी, उसने लपक कर मेरा लौड़ा पकड़ लिया और उसे चाटने लगी. उभरे हुए सुडौल स्तन, मस्त ठुमकते हुए नितम्ब, कमसिन चिकनी कमर, रसीले होंठ.

होली का सेक्सी गाना

उसने कह दिया कि उसको पति के सामने कुछ बहाना बनाना पड़ेगा उसके बाद ही चल पाएगी. अब मैं एक हाथ से लंड को मसलते हुए दूसरे हाथ से उनके मोटे मोटे आन्डों को खुजाने लगा. तभी उसने कहा- बस करो, अब देखते ही रहोगे? मैं गर्मियों की छुट्टियों तक यहीं रहूंगी.

हुआ यूं पूजा का मेरे पास फोन आया कि मैं शहर से बाहर जा रही हूँ और मुझे लौटने में बहुत देर हो जाएगी, आपको मुझे रिसीव करने आना है. ऐसे में प्रशांत ने नीना की चूचियों पर अपना फिराते हुए अपने ऊपर लेकर बेड में समेट लिया और ब्रा का हुक खोल दिया.

मैं अपने हाथों से उनकी कड़क मज़बूत बालों से भरी छाती के उभार और बाजुओं को लगातार सहलाते हुए आनन्द ले रहा था.

मैंने लंड पर हाथ फेर कर उसे नीचे आने का इशारा किया, तो वो थोड़ा रुकने का इशारा करके अन्दर चली गयी. अब वो अपनी चुत मेरे मुँह पर ऐसे मारने लगी, जैसे वो मेरे मुँह को चोद रही हो. मेरा तो क्या, सामने ऐसा सीन देख कर किसी का भी लंड सिर्फ हाथ से ही झड़ जाए, यहां तो नेहा आंटी इतनी सेक्सी मदमस्त तरीके से लंड अपने मुँह से चूस रही थीं.

वंदना ने मेरे पास आकर मुझसे पूछा- तुम परेशान क्यों देख रहे हो?तब मैंने उससे कहा- कल ही तो मिली हो और आज ऐसे छोड़ कर जा रही हो. मेरे लंड के नेहा की चुत में अन्दर बाहर होने से फच् …फच्च … की आवाज तो आ ही रही थी, अब मेरे जोरों से धक्का लगाने और नेहा के कूल्हों को उचकाने से मेरी और नेहा की जांघें आपस में टकराने लगी थी. कुछ देर बाद सोनल ने अपना मुँह ऊपर उठाया और अपने होंठ दादाजी के होंठों पर रख दिये.

वो बोली- अरे यार उस दिन तेरे जीजा जी घर पर ही थे, इसलिये दरवाजा खुला था … मुझे मालूम ही नहीं चला और वो मार्किट चले गए थे.

बीएफ दिखाइए पिक्चर: लगभग पच्चीस मिनट की जोरदार चुदाई के बाद हम दोनों साथ में झड़ गए और बहुत देर तक एक दूसरे से लिपटे हुए लेटे रहे. उसने मुझे फ्रेश होने के लिए कह दिया और उसके बाद हमने साथ में खाना खाया.

मामी ने मेरी एक टांग ऊपर की और मेरी चूत में जीभ डालकर अंदर तक चूसने लगी. मैं अपने कपड़े नहीं पहन पाई थी इसलिए मैंने अपने आप को रजाई से ढक लिया. 5 इंच का ही है और मेरी बीवी ने उस डिल्डो के साइज़ का लंड कभी आज तक देखा ही नहीं था.

अब उसने मॉम को एक ही झटके में उनकी टी-शर्ट खींचते हुए पूरी नंगी कर दिया.

मैंने दोनों हाथों से जैसे ही उनका लंड छुआ और पकड़ा, तो एकदम से लगा, जैसे उसमें आग लगी हो. रजनी आगे बढ़कर राहुल की बाइक पर बैठ गयी तो मैं भी अमित की बाइक पर बैठ गयी और हम सब चल दिए. और इसे तरह अब रोज रोज हम लोग फोन सेक्स करते … अब हम दोनों से कंट्रोल नहीं हो रहा था.