बीएफ लगाइए

छवि स्रोत,सेक्स बीएफ 2022 का

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ एचडी वीडियो दिखाएं: बीएफ लगाइए, श्वेता मैडम की गर्माहट की वजह से मेरा लंड फिर से जल्दी कड़क होने लगा.

बीएफ वीडियो बिहारी बीएफ वीडियो

मेरे दूध हिल रहे थे और मेरे मुँह से गरम सीत्कारें निकल रही थीं- आह … उह्ह … कितना अन्दर तक जा रहा है साले मादरचोद … पूरी चूत की जड़ तक ठोकर लग रही है. बीएफ सेक्सी व्हिडीओ हिंदी मेंमैंने उससे कहा- दूर बैठो, नहीं तो कुछ हो जायेगा!वो बोली- क्या हो जायेगा?मैं- आज तुम बहुत सुन्दर लग रही हो। तुम्हारा कोई लवर है?नेहा- नहीं, क्यों पूछ रहे हो?मैं- नहीं कुछ नहीं, बस जनरल नॉलेज के लिए!सुन कर वोहंस दी.

मैं- प्यार और सेक्स के बीच कोई रिश्ते नहीं होते हैं चाची … आई लव यू. एक्स एक्स एक्स बीएफ वेस्टइंडीजमैं कैसे भी करके अपनी जिस्म दिखा कर अपने पति से रोज एक बार तो चुदवा ही लेती थी.

वह भी मेरी मोटी चूचियों से खेलते हुए भोसड़ा बन चुकी मेरी चूत को रौंदना चाह रहा था.बीएफ लगाइए: मेरे सिर की तरफ आया और मेरा एक हाथ अपने हाथ से पकड़ कर अपना लंड मेरे हाथ में दे दिया.

मेरे अन्दर जाते ही, सोनल खड़ी हुई और मेरे पास आकर मुस्कुरा कर मेरी जांघ पर बैठ गई.उसने मुझे बाहर आने को बोला और खुद अपने रूम की तरफ गया, बाहर बरामदे की लाइट ऑन की और रूम का ताला खोलने लगा.

बीएफ वीडियो देसी सेक्सी वीडियो - बीएफ लगाइए

वो मेरी गांड के छेद में ढेर सारी क्रीम भर देता और अपनी उंगली को गांड में करने लगता.साथ ही मैंने जीभ के टच से महसूस किया तो भाभी की चूत पर हाथ लगा दिया.

जैसे ही उसने मेरे लंड को देखा, तो काँप कर बोली- देवर ज़ी आपका लंड तो बहुत ही बड़ा है. बीएफ लगाइए मेरी नाक से सांस लेने में भी मुझे परेशानी होने लगी लेकिन भाभी ने कस कर मुझे दबाया हुआ था.

ये मेरे छोटे भाई की बीवी के साथ मेरे सुहागरात की कहानी आपको कैसी लगी, प्लीज़ मुझे मेल कीजिएगा.

बीएफ लगाइए?

मैं काफी सोच में पड़ गया, लेकिन जब वह आई … तो उसने बताया कि उसने मूवी की टिकट ऑलरेडी बुक कर दी थी. थोड़ी देर बाद मेरे कान के पास आकर बोली- भाई मेरा भी मन करता है लेकिन किसी को पता न चल जाये इसलिए ख़ानदान की इज्जत की वजह से मैं हमेशा अपने ऊपर कंट्रोल कर लेती हूं। आप मेरे भाई हो इसलिए मैंने आपको ये सब बात बता दी। लेकिन हमारे बीच में ऐसा कुछ नहीं हो सकता. मेरी कहानी में आपको रोमांच भरा सेक्स देखने को मिलेगा। मैं अपनी कार में जंगल से गुजर रहा था, बारिश हो रही थी और रात भी घिरने लगी थी.

मैं उसके हर हिस्से पर अपने प्यार की निशानी छोड़ रहा था।फिर मैंने पूरी पेंटी उतार दी और उसकी चूत बिल्कुल छोटी सी, गुलाब की पंखुड़ियों की तरह लग रही थी. फिर 2013 के अंत में एक बार हम दोनों सक्रेबल गेम खेल रहे थे तो मैंने अक्षर लेकर उसे ‘आई लव यू …’ लिखकर दे दिया. उसके इतना कहते ही मैं तो पागल हो गया और उनके करीब चला गया और उनका ब्लाउज़ खोलने लगा लेकिन उन्होंने रोक लिया और कहा- कोई आ जायेगा.

कभी कभी उसके निप्पल को दांत से हल्के काट लेता था, वो पूरी तरह मदहोश हो गयी थी. मैं भी बोल उठी- हां चोद दे मादरचोद … तेरे लौड़े में जितनी दम हो, चोद हरामी साले आज मेरी चूत का भोसड़ा बना दे … आआह्ह्ह … उफ्फ … आई लव यू माय सन … उउम्म … ऊआहह …फिर मैं और वंश 69 में आ गए और एक दूसरे के लंड चूत को चाटने लगे. आज पहली बार मैंने उसको सपने में किस किया, उसको नंगी किया और उसको चोदा.

दोस्तो, एक तूफान आकर रुकने के बाद जैसे सन्नाटा छाता है, वैसे ही एक घमासान चुदाई के बाद पूरे हॉल में सन्नाटा छा गया. दिशा अपने दोनों हाथ से सोनल के सिर को पकड़ लिया फिर दिशा ने उसे किस किया.

सर्दियों को दिन थे तो मैंने कम्बल ओढ़ लिया और आराम से लेट कर रेस्ट करने लगी.

कीर्ति की सिर्फ चूत में लंड नहीं गया … बाकी ऐसी कोई चीज़ नहीं रह गई थी, जो हमने न की हो.

मेरी कभी हिम्मत नहीं हुई बोलने की, पर आज न जाने कहां से हिम्मत आ गयी, सो बोल दिया. फिर मैंने उससे पूछ ही लिया- तुम्हारी सेक्स लाइफ कैसी चल रही है?उसने बताया कि मेरे हस्बैंड को सेक्स में ज्यादा इंटरेस्ट नहीं है और वो सेक्स सिर्फ ड्यूटी के तौर पर करते हैं. मैंने पूछा- मैम, मज़ा आया कि नहीं?तो उसने कहा- हाँ!और कहा- तुम चुत अच्छी चाटते हो! आज तक ऐसी कभी किसी ने नहीं चाटी मेरी!मैंने कहा- लेकिन मैम, मुझे आपकी चुत मारनी है!तो उसने कहा- फिर कभी!पर मैं जोर देने लगा तो वो तैयार हो गई.

उसके बाद वो उठ कर सीधा मेरे ऊपर ही लेट गया और मुझे जोर-जोर से चूसने लगा. इससे पहले कि मैं इस कहानी में आगे बढूँ, मैं आप सभी को सीमा भाबी के बारे में बताना चाहूँगा. जब वो अंकल के घर की सीढ़ियों से नीचे गईं, तो अंकल को देखकर अम्मी की आंखें खुली रह गईं.

हमारी बोगी में एक चाय वाला आया तो उसने चाय का कप लिया और सीधी बैठ के चाय पीने लगी.

वो नाईटी पहन कर मेरे सीने पर अपना सिर रख कर, उंगलियों के बीच मेरे सीने के बालों को फंसा कर मरोड़ने लगी. पहली बार उसके होंठों से होंठों को लगाया था, तो वो भी मुझे खाने को मानो बेकरार थी. मैंने चाची के चेहरे की तरफ देखा, वह बोल कुछ और रही थीं, लेकिन उनका चेहरा कुछ और ही कह रहा था.

मेरे मन में चोर था कि कहीं आंटी ने मेरे वीर्य से सनी हुई पेंटी को देख लिया और उनको पता लग गया कि मैंने बाथरूम में आकर कुछ गड़बड़ की है तो पता नहीं क्या होगा. जब मैं बाथरूम में कपड़े धो रही थी तो मैंने चुन्नी नहीं डाली हुई थी. … फ़क मी!” (मैं आपकी रंडी बहन हूँ मास्टर, चोद डाले मुझे)मैं उसकी इन सब बातों से उत्तेजित हो रहा था.

वो अंदर लाल रंग की ब्रा और पेंटी में संगमरमर की मूरत के समान चमक रही थी।मैं ऊपरवाले से मन ही मन कह रहा था कि मैं इस रात के लिए हमेशा तेरा गुलाम रहूँगा।उसके वक्ष बिल्कुल सुडौल, गोल आकार के, सपाट पेट, गोल और गहरी नाभि.

मैं मधु के पास जाकर उसके हाथ को अपने हाथ में लेकर बोला- अब बताओ क्या बोल रही थी?मधु- काश आप मेरे पति होते, मैं आपको जीवन भर बहुत प्यार करती. न जाने कितने अधिकारियों से मैंने अपनी चूत मरवाई है … आह आह आह!वंश भी नीचे से धक्का लगाने लगा.

बीएफ लगाइए दस मिनट तक हम दोनों एक दूसरे के होठों को चूसते रहे और दोनों ही हवस से भर कर गर्म हो गये. वो भी मेरे सर को अपने हाथों से दबा कर मुझे अपने दूध चूसने का पूरा मजा दे रही थी.

बीएफ लगाइए इतना कहने के साथ ही नम्रता भी अन्दर घुस गयी और ब्रश करने लगी, इधर मैं भी बैठ गया और पड़-पड़ की आवाज के साथ-साथ मल बाहर आने लगा. रीमा अब जोश में पानी में फ्लोट करने आगे बढ़ी तो राहुल को उसकी जाँघों के नीचे हाथ लगा कर उसके पैरों को सीधा करना पड़ा.

उसका पति पहले से ही नंगा हो चुका था और उसका लंड ऐसा था जैसे किसी हाथी का लंड हो.

छोटी लडकी सेक्सी

उसके बाद वो मेरे कुछ कहे बिना ही पेट के बल लेट गई और बोली- प्लीज़ धीरे धीरे घुसाना. उसने भी अपने शरीर को काफी संभाला हुआ है। पतली कमर और वी शेप के सीने के कारण वह किसी मॉडल से कम नहीं लगता जैसा कि वीणा ने बताया था, उसके लिंग की लंबाई साढ़े सात इंच थी जो कि मेरे लिंग से थोड़ी ज्यादा है. भाभी की साड़ी अब भाभी की चूत से सिर्फ 2 इंच ही नीचे थी लेकिन कम रोशनी होने के कारण मुझे यह नहीं समझ आ रहा था कि 2 इंच ऊपर जो कालिमा सी नज़र आ रही थी वो काले रंग की कच्छी थी या भाभी की झाटें थीं।मैंने साड़ी को थोड़ा और ऊपर उठाने की जैसे ही कोशिश की तो भाभी ने करवट बदली और साड़ी को नीचे खींच लिया.

आप जीत गये।मुकुल राय- अरे मेरी जान … तूने इतनी जल्दी कैसे हार मान ली। अभी तो शुरूआत है। देखना आगे आगे मैं क्या करता हूँ।इतना बोलकर मुकुल राय अपने दोनों हाथ परीशा की पीठ पर रखकर उसकी ब्रा का स्ट्रिप्स को खोल देता है और अगले पल परीशा झट से अपने गिरते हुए ब्रा को दोनों हाथों से थाम लेती है।मुकुल राय अगले पल परीशा के ब्रा को पकड़कर उसके बदन से अलग कर देता है और परीशा भी कोई विरोध नहीं कर पाती. अरे बाप रे …” कहते हुए वो बाथरूम में घुस गई और जल्दी से तैयार होकर आ गई. और वो उल्टी लेट गयी।खूबसूरत गोरे चिकने चूतड़ … मैं झुकी और चूमने लगी हल्के हल्के। सुजाता ने थोड़ी अपनी टांगें चौड़ी कीं और मेरे होंठ फिसलते हुए सुंदर से भूरे छेद से जुड़ गए।मैं चूसने लगी, चाटने लगी।शोभा ने गाजर प्रोग्राम फिर शुरू कर दिया।मैं और मम्मी दोनों एक साथ बज रही थीं।तभी लक्ष्मी ने शोभा को बोला- मैं ज़रा वाशरूम जाकर आती हूँ.

अजय ऋतु की गर्दन पर किस करने लगा और फिर धीरे-धीरे ऋतु ने विरोध करना बंद कर दिया.

जैसे-जैसे उसका लंड चूत में जगह बनाता हुआ अंदर जा रहा मेरे अंदर जैसे काम की देवी जागने लगी थी. नेहा- क्या हुआ, तुम तो सब्जी लेने गये थे?मैं- आज किसी ने बारिश की वजह से दुकान नहीं लगाई. हम दोनों लोग एक दूसरे को किस करते करते बहुत गर्म हो जाते थे और उनका लंड टाइट हो जाता था, जिसको मैं महसूस करती थी.

दीक्षा का मैसेज आया- क्या कहना हैं बोलो?मैं- तुम बुरा तो नहीं मानोगी?दीक्षा- अरे बोलो तो सही … क्या बात है, मैं पक्का नहीं बुरा मानूंगी. अब मैं समझ चुका था, श्वेता मैडम ने मेरी प्रॉब्लम को कुछ हद कर हल्का कर दिया था. फिर राधिका ने उन दोनों किस करना रोक दिया क्योंकि वे दोनों बियर की मस्ती में एक दूसरे को बड़ी सेक्सी तरीके से चूमने में मशगूल हो गई थीं.

वह औरत मेरी तरफ देखकर बोलती है- हाय … कैसी गंदी बातें बोलते हो तुम?मैं बोला- अच्छा जब चूत में लंड डालते हैं, तो उसको चोदना ही तो बोलते हैं. दोस्तो, नमस्कार पहले तो मैं यह बताना चाहता हूं कि ये मेरी पहली कहानी है … और ये बिल्कुल सच्ची घटना है.

पुष्पिका- आजकल के लड़कों को सिर्फ लड़की के साथ कुछ टाइम बिताना होता है. दूसरे दिन जब मैं और मम्मी उनके घर गईं, तो आंटी बहुत शांत शांत सी थीं. भाभी की चूत ने हल्का रस छोड़ दिया था, जिस वजह से जल्दी ही मेरे लंड ने उसकी चूत में जगह बना ली.

अब कॉलेज में मैं सलवार सूट पहनती थी, जीन्स पहनने की हिम्मत नहीं हुई.

मैं सेहत बनाने नहीं बल्कि आंखें सेकने के चक्कर में सुबह सैर पर जाने लगा. मैं आपको तहे दिल से और सभी कन्याओं और भाभियों को लंड खड़ा करके नमस्कार करता हूँ. बात दो साल पहले की है, जब मेरे पड़ोस में एक शादीशुदा कपल रहने को आए थे.

थोड़ी देर खेलने के बाद मैंने अपनी जीन्स की चैन खोली और उसे मेरा लंड पकड़ा दिया और कान में धीरे से बोला चूसने के लिए … लेकिन उसने मना कर दिया चूसने के लिए!फिर मैंने भी ज़िद नहीं की और वो मेरे लंड से खेलने लगी. अब आगे:मैं उसके चिकने पैरों को चूमते हुए उसकी चिकनी जांघों को चूमने लगा जिससे सुहानी को अच्छा लगने लगा और उसके पैर खुलने लगे। मैंने उसके दोनों पैरों को अलग किया तो उसने हाथों से चूत को ढक लिया।मैं चाहता था कि वो खुद अपनी चूत मुझे दिखाए इसलिए मैंने कोई ज़बरदस्ती नहीं की बल्कि उसे मज़े दे रहा था। मैंने उसके हाथों को किस करना चालू किया और उसकी बगल में किस करने लगा तो उसे गुदगुदी होने लगी.

पांच मिनट तक उसके मम्मों को सहलाने के बाद मैंने उसकी पेंटी को निकाल दिया और उसकी चुत के दीदार किये. मेरा मन भाभी की गांड मारने का था तो मैंने भाभी को बोला, तो वे बोलने लगीं कि मैंने आज तक गांड नहीं मरवाई है. फिर मैंने एकदम झटके से अपना मुँह उसके निप्पल पर लगाया और उसके एक मम्मे को अपने मुँह में पूरा भर लिया.

राजस्थानी देसी मारवाड़ी सेक्सी

बात आज से लगभग एक साल पहले की है, सर्दी अपने पूरे चरम पर थी, मेरे पीहर में कोई शादी का प्रोग्राम था, मम्मी पापा का फ़ोन आया और बताया कि मेरे चाचा की लड़के की शादी बारह दिसम्बर को तय हो गई है और मुझे और मेरे पति को बच्चो सहित चार पांच दिन पहले आने के लिए बोला.

वो बेचारी छोटी सी कच्छी भाभी की फूली हुई चूत के उभार से बस किसी तरह चिपकी हुई थी. जीजाजी एकदम से तनाव में आ गए, पर बात दादाजी की तबियत की थी, तो कुछ कहना भी संभव नहीं था. इधर मैं और मुस्कान का पति, हम दोनों एक दूसरे से अपनी बात शेयर करने लगे थे.

दूर-दूर तक सुनसान रास्ता था और रोड पर गाड़ियां भी बहुत कम चल रही थीं।रात के करीब 8 बज चुके थे और मुझे भूख लग रही थी, मगर आस-पास दूर-दूर तक कुछ नहीं था।तभी अचानक मेरे सामने जंगल में से भागता हुआ एक नीलगाय (हिरन जैसा जानवर) मेरी कार के सामने आ गया. अंकल जी आप निर्दयी हो, दया ममता तो है ही नहीं आपके हृदय में!” मैं सुबकती हुई बोली. वीडियो मे बीएफ दिखाओउसका बोलना ही था कि मेरे एक हाथ की दो उंगलियां धीरे-धीरे उसकी जांघों पर चलने लगी.

सुनीला- ओके, मैं 11 बजे आकर तुम्हें कॉल कर लूँगी, तुमको मैं होटल के बाहर मिल जाऊंगी. सी!उधर वसुन्धरा के दोनों हाथों की उँगलियों के नाख़ून मेरे सर में गड़े जा रहे थे और इधर मेरा बायां हाथ वसुन्धरा के पेट का पूरा जुग़राफ़िया नाप रहा था.

वो मुझसे अकेले में पूछताछ करना चाहता था इसलिए उसने जीजा को बाहर भेज दिया और मुझे नंगी करके पूछताछ के बहाने से मेरी चूत को चाटने लगा. अम्मी अंकल से बोलीं- आपने तो मेरी ब्रा ही फाड़ दी, ये ब्रा उस्मान के पापा ने दी थी. चोपड़ा अंकल पापा जी के दोस्त थे, दोनों एक साथ सुबह की सैर पर जाते थे और वापस लौट कर हमारे यहाँ चाय पीते थे.

मन एकदम से सेक्स करने की तीव्र इच्छा से भर गया और मेरा लौड़ा अपने आप ही तन गया. वो बाथरूम में जाती, तो मैं छत से बाथरूम में उसको पूरी नंगी देखता था. जब बात मर्द वाली आ जाती है तो कोई भी मर्द अपनी बेइज़्ज़ती नहीं करवा सकता.

फिर मैंने एक दिन उससे बात की और मैंने उसको समझाया कि कुछ नहीं हुआ, इस उम्र में ये सब होता है.

जब वो कुछ देर यूं ही खड़ी रही, तो मैंने पूछा- क्या बात है … जाना नहीं है क्या?वो बोली- साहब, कुछ पैसों की जरूरत है. चूंकि हीना भी अपनी जवानी के चरम पर थी इसलिए लंड का स्वाद लेना उसके लिए बहुत जरूरी था.

”और सपना क्या है?”ये जो आप मेरे पास हैं … मेरे साथ हैं, यही तो सपना है. कुछ देर बाद मैंने उसकी पैन्टी में हाथ डालकर चूत पर उंगलियां चलानी शुरू कर दीं तो उसने अपने चूतड़ उचकाकर पैन्टी नीचे खिसका दी जिसको अपने पैर से फंसाकर मैंने बेबी के शरीर से अलग कर दिया. दोस्तो, मैं अंजलि शर्मा एक फिर से वापस आई हूँ अपनी आगे की कहानी लेकर.

मैंने अब अपने लंड में वैसलीन लगा ली और थोड़ी वैसलीन उसकी चुत पे लगाकर उसके ऊपर लंड सैट कर दिया. मैंने कहा- चिंता मत करो मेरी भाभी जान … पूरा लंड बिल्कुल आराम से अन्दर जाएगा. मानो मैं आंखों ही आंखों में कह रहा था अगर मौका दो तो मैं आज तुम्हारी चूत का भोसड़ा बना दूं.

बीएफ लगाइए शायद उनका लंड भी मुझे इस तरह से मस्ती में चुदाई करवाते हुए देख कर दोबारा से चोदने के लिए जिद करने लगा था. फिर हमने मूवी के ख़त्म होने से पहले एक लम्बी स्मूच ली, अपने कपड़े सैट किए और हॉल छोड़ कर बाहर आ गए.

पाकिस्तानी सेक्सी पोर्न वीडियो

वो पूरे घर के दरवाजे लॉक कर आई और अपनी कमर पर हाथ रख कर बोली- बताओ अब क्या पीना है … और कैसे पीना है?उसकी ये अदा देख कर मैं एकदम से विस्मृत रह गया. मैंने उसको आराम से चोदने के लिए बोला तो वो मेरी चूत को आराम से चोदने लगा. मैंने उन्हें संभालने के लिए गले से लगाया, तो वो मुझे लिपट कर रोने लगीं और कहने लगीं- डिवोर्स के बाद आज रोई हूं.

फर थोड़ी देर बाद लंड मुँह से बाहर निकालकर मैंने लंड से आंटी के चेहरे की अच्छे से मालिश की. मैं आने वाले मज़े को सोच बिना झिझक के पूरे कपड़े उतार कर नंगी हो गई. कुत्ते की और औरत की बीएफमुझे उसकी आदतों के बारे में पता लगने लगा था और वह मेरे बारे में जानने लगी थी.

नमस्कार दोस्तो, मैं राज़ पांडेय गोरखपुर के पास के एक शहर का रहने वाला हूं.

मैंने सीमा से पूछा- सीमा डियर कुछ उदास लग रही हो?सीमा- नहीं यार, बस ऐसे ही तबियत ठीक नहीं लग रही है. अम्मी अंकल के सीने पर किस करने लगीं और उनकी घुंडियों को काटने लगीं.

मैं यह भी जानता था कि उसकी लाइफ में कोई और भी नहीं है क्योंकि अगर होता तो मुझे पत लग जाता. एक बार फिर उसके हाथ की गति बढ़ रही थी और कस-कस कर आह-ओह की आवाज के साथ-साथ अपनी चूत को मसल रही थी. उसका पति चाहता है कि मधु तुम्हारे साथ सेक्स करके अपने परिवार को बचा ले.

लेकिन उसके सीधे स्वभाव और कम बोलने के कारण मैं उसके बारे में ऐसे सोच ही नहीं बना पाया था.

मैंने चाची के चेहरे की तरफ देखा, वह बोल कुछ और रही थीं, लेकिन उनका चेहरा कुछ और ही कह रहा था. हमारी काफी चैटिंग होती थी, जिसके चलते हम दोनों ने एक दूसरे के बारे में काफी कुछ जाना था. फिर अपने हाथ से आंटी के मुँह से निकले लार और थूक को आंटी के बोबों पर अच्छे से रगड़ने लगा.

जूही चावला सेक्सी बीएफअनीता बहुत गर्म हो चुकी थी और बीच बीच में मेरा लंड जो कि एकदम टाइट था, उसको भी वो सहला रही थी. वहां जाते ही एक लड़की, जो मेरा इंटरव्यू लेने आयी थी, मैं उसे देखता ही रह गया.

टीचर्स सेक्सी

मैं रमित, मेरी पिछली कहानीपड़ोसन भाभी के साथ सेक्स एंड लवअब मैं फिर से एक कहानी ले उपस्थित हूँ. लंड को चूत में डालकर मैंने ध्यान को दूसरी तरफ लगाने के लिए उसके शरीर के दूसरे हिस्सों पर नज़र डालनी शुरू की. हम दोनों साथ में ही रहने लगे क्योंकि हम दोनों बहुत ही अच्छे दोस्त हैं, तो हम दोनों की आपस में जमती भी बहुत थी.

अब तक उसने हीना के ब्लाउज को निकाल कर उसके चूचों को नंगा कर दिया था. वो बोली थी कि वो तन और मन से अपने प्रेमी की है, अगर मैं उसे टच भी करूंगा तो वो सुसाइड कर लेगी. अंकल उन्हें लेके नीचे आने लगे, तभी मैं रूम में सोने की एक्टिंग करने लगा.

उसने भी मुझे स्माइल दी और मेरे पास आकर बात करने लगा। मैंने और उसने कल रात वाली बात पर कोई बात नहीं की और ऐसे ही नॉर्मल बातें करने लगे।अब हम फ़ोन पर काफी देर तक बातें करते थे। लेकिन मैंने अभी तक उसके ‘आई लव यू’ का कोई रिप्लाई नहीं दिया था. मैं भी उसके निप्पल पर अपनी जीभ फेरता और होंठों के बीच ले लेता हुआ चूसने लगा. चुत वालियां अपनी चुत चुदाई करवाएं और चुत चोदने वाला नहीं है, तो मुझे मेल करके मुझसे राय लें … मैं उनकी चूत की खाज मिटाने के हजारों तरीके बता सकता हूँ.

मैंने भाभी को थैंक्स लिखके भेजा, तो उन्होंने ख़ुशी भरा मैसेज भेजकर उस मिले आनन्द के लिए थैंक्स बोला. अपने नंगे जिस्म से अंकल जी का नंगा जिस्म महसूस करना बहुत ही अच्छा लग रहा था.

उत्तेजना में आकर मैंने आंटी के नाम की मुट्ठ मार डाली। कुछ दिनों तक यही सिलसिला चलता रहा.

मैंने मम्मी को बोला- मेरा पेट दर्द कर रहा है, मुझे थोड़ा आराम करना है. लंदन के बीएफ सेक्सीउसने भी आज छत का दरवाजा लॉक नहीं किया था, इसलिए मुझे अन्दर जाने में दिक्कत नहीं हुई. ब्लू फिल्म बीएफ भेजिएवो मेरी गर्दन में हाथ डाले हुए थी और अपने पैर मेरी कमर से लपेटे मेरे बदन से चिपकी हुयी थी. वह हंसने लगी और बोली- भाग यहां से!मैंने अंगड़ाई सी लेकर आंटी के सीने पर हाथ रख दिया और सीधे ही अपने होंठ उसके होंठों पर रख कर चूसने लगा.

मुझे लगने लगा कि कहीं उसने ये बात अपने पति को या सास को बता दी, तो मैं तो गया काम से.

इससे पहले कि मैं इस कहानी में आगे बढूँ, मैं आप सभी को सीमा भाबी के बारे में बताना चाहूँगा. इतना कहकर अंकल ने मुझे बांहों में लेकर पीछे से ब्रा का हुक खोल दिया. इस वक्त हम दोनों एक दूसरे की नजरों में नजर मिला कर सेक्स कर रहे थे.

संजीव मेरे नीले चमकीले ब्लाउज में से दिख रही मेरी चूचियों की दरारों को घूर रहा था. इसी बीच एक और लड़की, जो कि कोचिंग के कैश काउंटर पर बैठती थी, उसका नाम श्यामली था. अगले पल उसने मुझे बिस्तर जो कि जमीन पर ही एक गद्दी डाली थी, उसपे लेटा दिया.

सेक्सी होली की

सिर्फ चूत ही नहीं है मेरे पास और भी बहुत कुछ है साले!मैं- रंडी है तू मदरचोद! ले मेरा लण्ड।ज्योती- ला दे हरामी … आह्ह डाल जोर से।मैंने स्पीड तेज कर दी और ज्योति झड़ने वाली थी. वह अपने लंड को मेरे मुंह के पास लेकर आ गया और मेरे होंठों के करीब लाकर उसको उछालने लगा. मैंने दीदी से कहा- प्यास से हालत खराब हो रही है, मुझे गला तर करना है.

वहाँ जाकर पता चला कि भाभी अभी दुल्हन के साथ बिजी है और भैया अपने दोस्तों के साथ बातें कर रहे हैं.

डिब्बे से लंड निकालने के बाद ताऊ जी ने अपने लंड को कोमल की चूत पर घिसा और उससे पैर फ़ैलाने के लिए बोला.

मैं अन्तर्वासना शायद तब से पढ़ता आ रहा हूँ, जब से मेरे लंड ने होश संभाला है. जब भी मौका मिलता है दोनों ही पास के किसी शहर में कार या टैक्सी से निकल जाते हैं और एक-दूसरे की प्यास बुझाते रहते हैं. एक्स एक्स एक्स बंगाली वीडियो बीएफनहा कर मैं बाहर आया तो देखा कि पुष्पिका ने ब्रेकफास्ट बना कर तैयार किया हुआ था।मैंने घर में देखा कि कोई भी नजर नहीं आ रहा था तो मैंने पुष्पिका से पूछा कि मामा-मामी कहां गये हैं?पूछने पर उसने बताया कि वो दोनों किसी काम से बराबर वाले गांव गए हैं, शाम तक ही लौटेंगे।यह सुनकर मेरे मन में बैठा शैतान जाग गया। शैतान वैसे कल रात को ही जाग गया था मगर वह घर वालों के डर से बैठा हुआ था.

मैंने अपने आप को संभाला और कहा- फिर मेजबान और मेहमान दोनों तैयार हैं तो शुरू करें पार्टी?उसने कहा- यहाँ नहीं।फिर कहाँ, कहीं और चलना है क्या?” मैंने पूछा. हम घर आ गए।मैं लड़की बन जाऊंगी क्या?”नहीं मेरी जान, लण्ड तो रहेगा तुम्हारे पास पर मेरी प्यारी गर्लफ्रेंड एकदम माल बन जाएगी।फिर अंशु की बड़ी अच्छी नौकरी लग गयी। मैंने अपनी जॉब छोड़ दी। अब मैं बहुत खुश थी।शादी के करीब 2 महीने बाद…शाम को, मैं एक कुर्ती और टाईटस पहन के बैठी थी, अंशु आयी- कामिनी, आज तेरे लिए बड़ी खुशी का दिन है. अभी मैं फ़्लोरिस्ट को जय-मालाएँ लेकर पैसे दे ही रहा था कि ब्यूटी-पार्लर से वसुंधरा का मैसेज आ गया.

अब रश्मि से कंट्रोल नहीं हो रहा था उसने मुझसे बोला- राज मेरी चुत को फाड़ दो, बना दो इसका भोसड़ा … डाल दो अपनी मूसल जैसा लंड … अहई … अहहह … अहजझह. मुझसे रहा नहीं गया, मैं भी गिलास एक तरफ रख कर उस पर टूट पड़ा, उसके मम्मों को चूसने लगा.

कुछ देर बाद उसके नर्म होंठ मेरे गालों को छू कर निकल गए और अपनी लिपस्टिक का निशान छोड़ गए.

वो पूछने लगी- कितना टाइम लगेगा?मैंने कहा- अभी कहाँ!तो बोली- फिर बेडरूम में चलो. फिर वो मुझसे अलग हुई और मेरे लंड को अपनी चूत के अन्दर लेकर उछाल मारने लगी. मैंने कभी भी उसे चुदाई की नजर से देखा ही नहीं था और कभी उसके नाम की मुठ भी नहीं मारी थी.

बीएफ सॉंग व्हिडिओ सबसे पहले मैंने तौलिया हटाया, अपने नंगे बदन पर परफ्यूम लगाया और गुलाबी रंग की ब्रा और पेंटी पहनी, फिर गुलाबी रंग का पेटीकोट और ब्लाउज़, फिर मैंने गुलाबी रंग की साड़ी पहनी. मैं उनकी आंखों से आंखें नहीं मिला सकी और अपनी आंखें बंद कर कर उनके लंड को अपने आप ही हिलाने लगी.

रश्मि- उसने दिखाया है और जो रिपोर्ट्स आयी है, उसमें उसका पति बाप नहीं बन सकता है. मेरी तरफ घूमी और अपने हाथ को वॉश बेसिन में टिका कर मुझे देख रही थी. छोटा साइज होने के कारण हुक बन्द नहीं हुआ तो मैंने उतार दी और 38 साइज पहना.

देवर भाभी का सेक्सी वीडियो दिखाएं

मैं ऐसे ही, चूत में लंड रख कर आपस में लिपटे हुए, मुँह में मुँह डाल कर पड़े रहे. यह बात तब की है, जब मैं जनवरी 2018 में किसी काम से दिल्ली 4 महीने के लिए स्किल डिवेलप्मेंट की क्लास लगाने गया हुआ था. अब मैं उसकी मस्त चूचियों का रस पीने लगा, जिससे परवीन भी मस्त होकर आहें भरने लगी थी.

मैंने नम्रता से कहा- मेरा निकलने वाला है, अन्दर निकालूँ या फिर?नम्रता- नहीं अन्दर मत निकालो, मेरे मुँह को भी चोद दो और अपना स्वादिष्ट वीर्य मुझे पिला दो, फिर पता नहीं कब मौका मिले. उसने कहा- ओहो क्या बात है आज तो तारीफ पर तारीफ़ … और वो भी गजब अंदाज में … लगता है आज शायद शराफत बेच आए हो.

रेलवे स्टेशन जा कर पार्किंग में गाडी पार्क करके ट्रेन का इंतज़ार करने लगा.

वो दूसरे हाथ की उंगली गांड के अन्दर-बाहर कर रही थी और साथ आह-आह की आवाजें भी निकाल रही थी. उस समय सुमन नीला टॉप और जीन्स पहन रखी थी, वो एकदम मस्त माल लग रही थी. मैं और रश्मि दिन में एक बार और रात में दो बार चुदाई जरूरी में करते ही थे.

थोड़ी देर मेरे स्तनों को मसलने के बाद उन्होंने मेरी शर्ट के बटन खोलने शुरू कर दिए, तो मैं वापिस होश में आ गयी, मैंने उन्हें बड़ी मुश्किल से दूर धकेला- अर्र … अंकल, रुको … आंटी आ गयी तो?आंटी को अन्दर गए बहुत वक्त हो गया था और वह कभी भी बाहर आ सकती थीं. उनके बड़े बड़े स्तन 34 इंच के हैं, कमर 28 इंच की और गांड का उठाव 36 इंच का है. आज मेरी चूत पर एक भी बाल नहीं था क्योंकि मैं अपनी चूत के बाल को साफ़ करके चुदने को रेडी हुई थी.

मैं भी बोल उठी- हां चोद दे मादरचोद … तेरे लौड़े में जितनी दम हो, चोद हरामी साले आज मेरी चूत का भोसड़ा बना दे … आआह्ह्ह … उफ्फ … आई लव यू माय सन … उउम्म … ऊआहह …फिर मैं और वंश 69 में आ गए और एक दूसरे के लंड चूत को चाटने लगे.

बीएफ लगाइए: मैंने मम्मी को बोला- मेरा पेट दर्द कर रहा है, मुझे थोड़ा आराम करना है. मैंने कहा- अगर तुम मेरे से बात करोगी, तो तुम्हारा ब्वॉयफ्रेंड नाराज हो जाएगा?सपना बोली कि उसको इस बात का पता ही नहीं चलेगा.

मैंने पहले तो एक दो बार बाइक को झटके दिए, जिससे भाभी का संतुलन बिगड़ा. नाइटी इस प्रकार से उठी हुई थी कि भाभी की गोरी टांगें, मोटी, मांसल जांघें और जांघों के बीच में सफेद रंग की कच्छी साफ नजर आ रही थी. ”उसने मुझे बांहों में भरा, मेरे होंठ चूसे और- अभी लगेगी सर्दी क्योंकि तुझे कपड़े उतारने हैं.

उसने मेरे होंठों को काट लिया मगर मैंने शरीर का भार उस पर डालते हुए उसकी चूत में लंड को घुसाना जारी रखा.

मैं किसी भी औरत को इज्जत की नजर से कम और हवस की नजर से ज्यादा देखता हूँ. वापिस मैंने उसकी साड़ी उठाई और लंड को एक धक्के में चुत के अंदर डाल दिया. कोई दस मिनट लंड चूसने के बाद भी मेरा पानी नहीं गिरा, तो वो हैरान होकर मेरा मुँह देखने लगी.