झारखंड का बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,सेक्सी वीडियो कॉलिंग बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मोटी औरत की हिंदी बीएफ: झारखंड का बीएफ वीडियो, तभी मेरे नज़र अपने कमरे के दरवाजे पर जा पड़ी … जहां मैंने देखा हमारी काम वाली बाई दीवार से सटी अपने एक हाथ को अपनी दोनों जांघों के बीच की जगह को बार बार कुदेरने की कोशिश कर रही थी.

बीएफ क्सक्सक्स

उसके दोनों हाथों को पकड़ कर अपने कंधे पर किए और अपने हाथ उसके कमर पर रखते हुए सबसे पहले मैंने उसकी आंखों की तारीफ की. मूवी सेक्सी वीडियो बीएफपहले जो चूत की तितलियां अन्दर थीं, वो लाल होकर बाहर आ गयी थीं और अन्दर का छेद एकदम से फैल कर बड़ा होकर एकदम कत्थई लाल हो चुका था.

साली ने सात साल में एक बार भी मेरा लंड मुँह में नहीं लिया था, वो आज किसी और का लंड चूस रही थी. बीएफ ओपन बीएफ सेक्सीमैं उन दोनों को देख देख कर मस्त हो रहा था और खड़ा खड़ा बस ये देख रहा था कि चल क्या रहा है.

मुझे भी मौका मिल गया, तो मैंने उसी के सामने अपनी शर्ट का बटन खोल कर उतार दी और वहीं टांग दी.झारखंड का बीएफ वीडियो: उन्होंने भी सबक सीखने की सोच कर मेरी कमर में हाथ डाल कर ज़ोर से पकड़ लिया और अपने दोनों चूचे मेरी पीठ पर दे मारे.

मैंने उसकी ओर देखा, वो एक झीना सा नाईट गाउन पहन कर मेरे सामने बैठी थी.फिर मेरी बीवी ने डायरेक्टर से दो मिनट बातें की और उसके गाल पर चुम्मी लेकर वापस आ गयी.

बीएफ ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म - झारखंड का बीएफ वीडियो

मैंने कहा- भाभी क्या हुआ?वो कहने लगीं- अचानक पेलने से दर्द सा होता है, इसलिए डर से आगे हो जाती हूँ.अब मेरी बारी थी, उसका माल निकालने की … तो मैं जोर से उंगली करने लगा.

फिर एकदम से मैंने उनकी चुत पर हाथ डाल दिया, तो वो बोलीं- नहीं, यहां पर नहीं. झारखंड का बीएफ वीडियो फिर एक दिन मैं शाम को छत पर टहल रही थी तो मुझे दीदी की किसी से फ़ोन पर बात करने की आवाज़ आ रही थी.

उन्होंने अपनी हथेली पर थूका, उस थूक से अपनी ऊँगली गीली की और मेरी बुर में चलाने लगे.

झारखंड का बीएफ वीडियो?

तो उन्होंने जल्दी से नीचे गिरे हुए पेटिकोट से अपने आपको ढक के दरवाजे को बंद कर दिया. मैं उसके कंधों को चूमते हुए और उसके बड़े बड़े चुचों को निचोड़ते हुए आगे बढ़ने लगा. अंकल से बात खत्म होते ही मैंने आज अंकल से तो चुदने का पूरा मन बना लिया था, लेकिन अगर पापा के दोस्त वह दोनों जो साथ में आ रहे थे और अगर वो दोनों भी मुझ पर हाथ साफ करना चाहेंगे, तो मैं उन्हें मना नहीं करूंगी.

क्लासरूम सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरी कक्षा की एक खूबसूरत लड़की मुझे पसंद करती थी. मैंने उसको पूरी बात बताई कि वो कुछ दिनों तक रुकना चाहती है, जब तक उसको अलग फ्लैट ना मिल जाए. ब्यूटीफुल गर्ल्स सेक्स कहानी दो सहेलियों की चूत चुदाई की कहानी है जो मुझे नशे की हालत में सड़क पर मिली थी.

आह … हम दोनों की जीभों ने कुश्ती लड़ना शुरू की तो हम दोनों ही मदहोश हो गए. सोढ़ी- ओये सोनिये … तुसी 100 साल जियेगी डार्लिंग … तुझको ही याद करके लंड की तेल मालिश कर रहा था. एक बार फिर से मेरे होंठों को चूमते हुए मेरे बदन से कपड़े लगभग उधेड़ते हुए मुझे एक पल में एकदम नंगी कर दिया.

मैंने शबाना की चोली की डोरी खींच कर उसकी चूचियां खोल दीं, उसे बेड पर लिटा दिया. थोड़ी देर बाद मैंने लंड गांड से निकाल लिया और उसकी चूत में घुसा कर चुत चोदने लगा.

मैं दिखने में एकदम ऐसी मदमस्त माल हूँ कि लोगों की आहें निकल जाती हैं.

उसने- तुम्हारी ड्यूटी रात में भी रह सकती है, रुक पाओगी?मैं- जी हां … लेकिन मुझे कितनी सैलरी मिलेगी?उसने- ये तो तुम पर है कि तुम साहब को कितना खुश कर पाओगी!मैं बोली- जी, मैं समझ नहीं पाई!उसने- तुम सेक्रेटरी के काम से साहब को जितना खुश कर पाओगी, उतनी ज्यादा सैलरी तुम्हें मिलेगी.

कुछ ही देर में सरोज थक चुकी थी, तो मैंने भी उसे उठाकर बिस्तर पर लिटा दिया और ऊपर आकर चोदने लगा. इस बात पर उन्होंने शर्माने वाली स्माइल पास करते हुए थैंक्स बोल दिया. फिर मैंने धीरे धीरे से पेटीकोट को खींचा और अर्शिया की जांघों के बीच से पेटीकोट को छुड़ा दिया.

जेठ जी ने कहा- आखिर मैं इस चेहरे को इतना प्यार करता हूं, इसके लिए मैं सारी मर्यादा भूल चुका हूँ. मैंने दीदी की आंखों में देखा, तो दीदी मुझे प्यार से देखती हुई मुस्कुरा रही थीं. फिर मैंने उसकी एक टांग उठा दी और तेज़ी से लंड चुत में अन्दर-बाहर करने लगा.

आह … उसके गर्म होंठ जब मेरे गर्म होंठों से जुड़े तो मैं लरज कर रह गई.

भाई बस अपनी चोदने की धुन में लंड पेले जा रहे थे और मैं अपनी गांड चुदवाने के मूड में आ गया था. पूरे कमरे में उसकी सिस्कारियों की आवाज ‘आह … आह … ओह माय गॉड … फ़क मी फ़क मी … रॉकी. एक घंटे बाद उसका फोन आया और उसने कहा कि मैं होटल के रिशेप्शन पर हूँ.

जैसा कि आप जानते हैं कि चुदाई करना और सेक्स कहानी लिखना, दोनों ही मेरे प्रिय शौक़ हैं. बस चल पड़ी, वो हाथ हिलाए मुझे विदा दे रहा था और मैं जवाब में हाथ हिलाए इसी उधेड़बुन में थी कि क्या यह यहीं खत्म हो जाएगा या ये सिर्फ एक शुरूआत है. उसी दौरान मैंने मैम के पेटीकोट का नाड़ा भी खोल दिया था जो सरकता हुआ नीचे गिर गया था.

किचन में, खाना खाते समय डाइनिंग टेबल पर भी उसे चोदा, टीवी देखते समय सोफे पर चोदा.

फिर आधा घंटे बाद उसने पीछे से मेरे लंड पर हाथ रखा और फिर से मेरे लोवर में हाथ डाल कर लंड बाहर निकाल कर सहलाने लगी. थोड़ी देर ऐसे ही चोदने के बाद मैंने उससे कहा- आरू, अब तुम कुतिया बन जाओ … मैं तुम्हें पीछे से चोदूँगा.

झारखंड का बीएफ वीडियो यह सुनकर मैंने राजधानी की गति की तरह अपने लौड़े को उसकी चूत में डालना निकालना चालू कर दिया. मेरे दोनों दूध चूसने के बाद वो आगे बढ़ा और मुझे खड़ा करके मेरी जींस और पैंटी नीचे करके मेरी चूत चाटने लगा.

झारखंड का बीएफ वीडियो मुझे खुद पर विश्वास ही नहीं हो रहा था कि जिन मैडम के मम्मों के नाम की मैं मुठ मारा करता था, आज उनकी चुत मेरी जीभ से चट रही है. अब मैं कोई न कोई बहाना बनाते हुए आंटी के घर जाने लगा और उनसे मिलने का और बात करने एक भी मौक़ा नहीं छोड़ता था.

थोड़ी देर बाद मुझे महसूस हुआ कि पहले तो नील की गांड में धंसे हुए लंड को धीरे धीरे लहक लहक कर कसती और छोड़ती थी … लेकिन अभी भी नील धीरे धीरे ‘आह्ह अअह …’ करते हुए लगातार अपनी गांड को कसते और ढीला करते हुए सिसकारियां लेने लगा था.

देसी बीएफ पेला पेली

फोन अपनी कमीज़ की जेब में रख कर मेरे कान में धीरे से फुसफुसाया- मेरा स्टॉपेज 5-7 मिनट में आने वाला है. यह सब सुनकर मैंने उसे यह सलाह दी कि वो जिस कारण से दिल्ली आई है, फ़िलहाल उसी पर ध्यान दे. वो मेरी बात मान गयी लेकिन उसने एक बात पूछी- तुम मुझे कितने दिन में मुझे मिलोगे?मैंने उससे कहा- मैं एक कमरा किराए पर ले लेता हूँ.

मुझे दिल्ली में 10 दिन रुकना पड़ा, तो मैंने सोचा कि मैं थोड़ा घूम भी लेता हूं. फिर अचानक से उनके लंड में एक तेजी सी आ गई और कुछ समय बाद उन्होंने अपना मलाईदार रस मेरे मुँह में छोड़ दिया. आज पहली बार मुझे एक साथ दो सुंदर लड़कियों की चूत चोदने का मौका मिल रहा था.

रूम में आकर मैं नहाया और अपनी पसंदीदा जींस, वाइट शर्ट और ब्लेजर पहन कर तैयार हो गया.

भाभी की चुत दो महीनों से चुदी नहीं है तो इनकी चुत भी एकदम टाइट छेद वाली होगी. अब अपनी मौसी को कभी अकेला मत छोड़ना … दो तीन दिन के बीच में मेरी प्यास बुझाने आते रहना. मुझे इसी वजह से न जाने क्यों बार बार लगता था कि मेरी सुंदर बीवी मुझसे अलग न हो जाए.

मेरी बहन भी अपनी गांड उठाते हुए साहिल के मुँह में अपनी चुत दिए जा रही थी. इस घर्षण से मेरे लंड के सब्र का बांध टूट चुका था और मैंने भी अपना गर्मागर्म वीर्य दीदी की चूत में भर दिया. उसने अपने दोनों हाथों के पंजों को मेरे हाथों की उंगलियों में डालकर जोर से कस लिया.

मौसी कभी कभी इतवार को मेरे घर आ जाती हैं और सारा दिन यहीं रुकती हैं. लेकिन बाद में …लेखक की पिछली कहानी:मेरी चूत में घुसें सबके लंडयहाँ कहानी सुनें.

विराट- हां सर बताइए … क्या बात है? क्या हुआ है … कुछ पता चला?डॉक्टर विवेक- मैं दवाई लिख देता हूं और मैंने इनकी थोड़ी मालिश भी कर दी है. मैं समझ गया कि उस तरफ भी मामला गर्म है, इसी समय हथौड़ा मार देना चाहिए. उसमें पीछे की तरफ से सीन था कि लड़की नंगी लेटी हुई लड़के के ऊपर बैठकर उचक रही है.

मैंने अब उसके दोनों पैरों को उसी से सिर के बगल में रख कर हाथों से दबा लिया.

साला मेरी चूचियों, चूत की कल्पना में खोया हुआ था।मैंने चाय खत्म की और बाथरूम में घुस गयी।नहा धोकर मैं जब निकली तो मैंने शरद को तेजी से मेरे कमरे के बाहर जाते हुए देखा।उस समय मैं तौलिया लपेटे हुयी थी।मैं मुस्कुराई. मौसी को किस करते हुए ही मैंने अपने दोनों हाथों को उनके मम्मों के ऊपर रख दिए और उनके कुर्ते के ऊपर से ही उनके बूब्स को दबाने लगा. उसने मेरे सामने अपनी गलती के लिए माफ़ी मांगी और मुझसे कहने लगी- मुझे मालूम ही नहीं था कि तुम मुझसे प्यार करते हो.

जेबा 15 मिनट बाद की चुदाई के बाद अकड़ गईं उनकी चुत ने उनकी गर्मी को रस के रूप में बहा दिया था. ये सेक्स कहानी मेरे और मेरी पड़ोस में रहने वाली एक बंगालन आंटी के बीच चुदाई की कहानी है.

पति की आमदनी से बस किसी तरह से घर चल ही पाता था, कभी मौज मस्ती या शौक पूरे नहीं हो पाते थे. एक दो पल बाद उनको लंड से राहत सी मिली और उन्होंने गांड उठा कर फिर से चुदाई का इशारा किया. चुम्बन के बाद आगे बढ़ते हुए पहले मैंने उसकी शर्ट के सारे बटन खोल दिए और हुए उसको आधा नंगा कर दिया.

बीएफ पिक्चर देसी वाला

वो मेरे लंड पर ऐसे उल्टी टंग गई, जैसे उसकी गांड में खूंटा पर टांग दी हो.

मम्मी से बात करने के बाद मैं एकदम बेफिक्र हो गयी क्योंकि वो सब सुबह से पहले आने वाले नहीं थे. एक बार की बात है, गर्मियों की छुट्टी में जेठानी जी अपने मायके गई थीं तो जेठजी खाना खाने हमारे घर आ जाते थे. फिर ट्रेन एक बड़े स्टेशन पर रुक गई, तो मैंने सोचा कि डिब्बा बदल लिया जाए … उधर सोने के लिए शायद एकान्त जगह मिल जाए.

उधर मैं डॉक्टर के साथ ये मजे कर रही थी और मेरा बेटा विराट कमरे के बाहर लगे पर्दे से ये डॉक्टर Xxx देख रहा था. जल्दी ही हम दोनों एक दूसरे में इतना खो गए थे कि कुछ होश ही नहीं रह गया था. नंगी सीन बीएफ पिक्चरमैं चीख भी नहीं पा रही थी क्योंकि नवीन के होंठों का ढक्कन मेरे होंठों को बंद किये हुए था.

थोड़ी देर के बाद मैंने अपना लंड उसकी गांड के नन्हे से छेद पर रख दिया और ऊपर नीचे होकर अन्दर धीरे धीरे घुसेड़ने लगा. उफ … रंगोली की काली ब्रा से उसके बड़े बड़े गोरे गोरे दूध बाहर आने को बेताब थे.

” मैं मुस्कुराते हुए बोला और उसकी बांहों को पकड़कर अपने ऊपर लेटा लिया. अब आगे Xxx ब्रदर एंड सिस्टर कहानी:दीदी भी मादक सिसकारी लेते हुए अपनी दोनों टांगें फैलाती जा रही थीं, मानो कह रही हों कि मेरी चूत को भोसड़ा बनाने के लिए तुम्हारा स्वागत है वीरू. जब वो मेरे हाथ से बाल्टी जबरदस्ती ले रहे थे तो हम दोनों लोग का हाथ एक दूसरे से मिल रहे थे.

इसके बाद हम दोनों ने ट्रेन के केबिन में आकर फिर से चुदाई चालू कर दी. पहले तो उसने हल्की सी मुस्कुराती हुई अपनी टी-शर्ट के अन्दर देखा … फिर उसकी मुस्कान और बड़ी हो गयी. मैंने मॉम से पूछा- आप कितने लन्ड ले चुकी हो?उन्होंने कहा- बाद में बताऊंगी … पहले तू अपना काम चालू कर!मैंने कहा- ठीक है.

अब मामला शब्बो के बस के बाहर होने लगा था, उसने खींचकर मेरी लुंगी खोल दी और मेरे लण्ड की खाल पीछे खिसकाकर सुपारा चाटने लगी.

फिर मैं धीरे धीरे उसके हाथ पर अपना गाल सहलाता रहा और वो कुछ नहीं बोली. मैंने उसे सहारा देकर उठाया और अपनी गोद में उठा कर उसे बाथरूम में ले गया, उसे बाथटब में लिटा दिया और हल्का गर्म पानी भर दिया.

बोलो तुमको बकरी बना दूँ?कुछ भी बना दो, बस प्यार करते रहो, आज बहुत दिनों बाद आरजू पूरी हुई है. मैं लगातार 2 महीनों तक सबसे उच्चतम मैनेजर के तौर पर चुनी गई थी … और सब मेरे काम से बहुत खुश थे. शायद मेरा बेटा भी अपनी मम्मी की इतनी कड़क लाइव ब्लूफिल्म देखकर मस्त था.

मैंने उससे पूछा- इतना बड़ा ले पाएगा!उसने कहा- मालूम नहीं लेकिन अगर तुम ही मेरे कुंवारेपन को खत्म करो … तो मैं तुम्हें जिंदगी भर याद करूंगा. फिर वो गांड हिलाती हुई पलट गई और दोस्त के लंड के ऊपर आकर अपने हाथ से लंड को गांड पर सैट करके धच्च से बैठ गयी. दूसरे दिन में पेशाब कर रहा था, तो वो अपनी आदत के चलते मेरे नजदीक आ गई.

झारखंड का बीएफ वीडियो मैंने लौड़े पर खूब सारा साबुन मला और रूपा भाभी को याद करके अपनी कल्पना में उनको चोदने लगा. मैंने उसके दूध मसलते हुए कहा- आपको बड़ी जानकारी है?‘बड़े साहब की मेहरबानी है.

सेक्स वीडियो बीएफ साड़ी वाली

अब मैंने उसको कुतिया बनने को बोला तो वो झट से कुतिया बन गई और मैं उसके पीछे आ गया. मैडम बहुत खुश हुईं और बोलीं- हां तुम्हारा गुलनिहाल कहना मुझे बड़ा अच्छा लगा और सुनो अब से तुम मुझे सिर्फ गुल ही कहा करो यार … निहाल जी लगा देने से मैं खुद को तुमसे बहुत बड़ी महसूस करने लगती हूँ. पूरे कमरे में थप थप थप थप की आवाज आने लगी थी।रात भर में तीसरी बार चुदाई हो रही थी।गपागप गपागप अंदर बाहर अंदर बाहर लंड हो रहा था।एक बार समारा ने पानी छोड़ दिया.

अमित के कहने पर उस दिन मैं अपनी शादी का जोड़ा पहन कर तैयार हो गई थी. मैंने मेरी चारों उंगलियां अब अर्शिया की चड्डी में डाल दी थीं और उसकी चुत को सहला रहा था. सेक्सी वीडियो पंजाबी बीएफजैसे ही मैंने रेखा आंटी की चूत को चाटना चालू किया, वो गर्मा उठीं और बोलीं- आह लाजवाब योगी … तुमने तो मुझे पागल कर दिया.

लता के बारे में उसकी पर्सनल जानकारी हासिल कर ली; उसके बारे में काफी कुछ जाना.

अचानक ही उसको ध्यान आया कि उसने बाथरूम का दरवाजा बंद नहीं किया है वो अगले ही पल पलटी तो उसकी नजर सीधी मेरे ऊपर गयी. यह अहसास वो भाभी या लड़की ही अच्छे से समझ सकती है, जिसे कई महीनों से लंड ना मिला हो.

कुछ देर बाद उसने मुझे खड़ा किया और खुद बैठ कर मेरी अंडरवियर को उतारने की जगह एक झटके से फाड़ दिया और मेरे लंड को आज़ाद कर दिया. अलीज़ा की चूत ने इतना पानी छोड़ा कि उसकी पूरी टांगें चूत के पानी से भीग गईं. जैसे ही मैं गिरने को हुई, तो आशीष ने मुझे पकड़ लिया और उसका हाथ मेरे चूतड़ों पर आ पड़ा.

उधर अन्वेषी भाभी मुझसे अभी चुदने के लिए उतावली हो उठीं थी क्योंकि दो महीनों से भाभी को न अनिकेत ने चोदा था … न किसी अन्य मर्द के लंड ने चुत को टच किया था.

मैंने उनके एक मम्मे को अपने मुंह में लिया और धीरे-धीरे चूसना दबाना शुरू कर दिया. उन्होंने मेन दरवाजे पर बाहर से ताला लगाया और बगल वाले कमरे के बाहरी दरवाजे से अन्दर आकर उसे अन्दर से बंद कर दिया. उन्होंने मेरे हाथों को छोड़ दिया और मैंने अपने हाथों से उनकी कमर को पकड़ लिया.

बीएफ सेक्सी भाभी और देवरफिर भी मैंने भाभी से पूछा- ये सब ठीक है?तो उन्होंने कहा- अब सब देख तो लिया है. उधर से उन्होंने अपने घर में फोन कर दिया कि मेरी ट्रेन छूट गई थी और मैं अब बाद में आऊंगी.

सनी देओल बीएफ राहुल गांधी

मैं भी इतना उतावला हो गया था कि मैं बहुत तेज़ गति से उसकी चूत में लंड को अन्दर बाहर करने लगा. न्यूली मैरिड गर्ल सेक्स कहानी मेरी दीदी की देवरानी के साथ की है। मैं दीदी के घर रहता था. जैसे ही वो मस्ती के मूड में आ गईं, मैंने अपना लंड बंगालन आंटी की चुत से रगड़ना चालू कर दिया.

अब उसकी गांड मेरे वीर्य से चिकनी हो गई थी और लंड आसानी से अन्दर जाने लगा. उनका लंड एकदम कड़क और 7 इंच लम्बा और किसी दो इंच के पाइप की तरह मोटा लग रहा था. वो मेरी इस बात से बड़ी खुश हुई और उसने कहा कि ठीक है हम दोनों संडे को आगरा कैंट के रेलवे स्टेशन पर मिलते हैं.

फिर आधा घंटे बाद उसने पीछे से मेरे लंड पर हाथ रखा और फिर से मेरे लोवर में हाथ डाल कर लंड बाहर निकाल कर सहलाने लगी. भाई के साथ गांड फाड़ सेक्स का ये सिलसिला लगातार 3 महीने तक चलता रहा था. जब तक वो खुद ढीला होकर बाहर नहीं निकल गया, तब तक भाई ने लंड नहीं निकाला.

मैंने रानी के सामने अपने हाथ बढ़ा दिया और रानी ने थोड़ा सकुचाते हुए अपना हाथ आगे बढ़ा दिया. लड़के पैदा करने के बाद से शबाना और मुमताज की चूत कुछ ढीली हो गई थीं लेकिन नाज की चूत अभी भी कमसिन थी.

मैंने कहा- तू तो रण्डी निकली!वो बोली- हां … लेकिन अब सिर्फ तेरा और तेरे पापा का ही लूंगी.

मैं- तुझे क्या पता है?निशा- अरे जान मूड को अच्छा करो और एन्जॉय करो. बुंदेलखंडी सेक्सी बीएफनाज की गांड के चुन्नटों की मसाज करते करते मैंने अपना अँगूठा उसकी गांड में चलाना शुरू कर दिया. बीएफ कुत्ता वालीकोई कब किससे क्या बोल दे … मुझे एक्सपीरियेन्स लेना है, शादी नहीं करनी उससे. दसेक झटकों के बाद एक बार फिर मैंने उनकीरसीली चूतको और रसदार बना दिया.

इतने में ही मैंने तपाक से अपनी आंखें खोलीं और उससे कहा- सॉरी यार, थोड़ी सी आंख लग गयी थी.

ये सुनते ही मैं उनके और करीब हो गयी और उन्हें बहुत प्यार से चूमने लगी. मैंने कहा- बड़ी फ़ास्ट हो यार!वो हंस दी- तुम भी तो स्लो हो न … इसलिए मुझे फ़ास्ट होना पड़ा. अब्बू ने मुझे पलंग पर गिरा दिया और मुझ पर चढ़कर मेरी चूचियां चूसने लगे.

मैंने उसकी पोजीशन बदली और उसकी टांगें हवा में उठा करचुत में लंड पेल कर चुदाईकी ट्रेन चला दी. अब आगे Xxx भाभी हिंदी कहानी:मैं अभी भाभी को शीशे में उतारने की स्कीम सोच ही रहा था कि भाभी ने एक ऐसी बात कह दी कि मुझे रास्ता सूझ गया. मैंने उनकी तरफ से ये रुख देखा तो उन दोनों की टांगों को एक साथ सहलाना चालू कर दिया.

भोजपुरी शिल्पी राज का बीएफ

अब मैंने मेरी कैपरी थोड़ी नीचे कर ली और चड्डी समेत अर्शिया की गांड से चिपक गया. उसने शर्मा कर पूछा कि चुत माने क्या?मैंने उसकी चूत की ओर इशारा करते हुए उसे बताया कि चुत इधर होती है. अब आगे देसी अंकल सेक्स कहानी:कुछ पल बाद ओमी अंकल मुझसे बोले- रुको, मैं कोई जगह देखता हूं.

इस सबकी जानकारी सलमा को भी थी क्योंकि मैं सलमा के बिना अलीज़ा से नहीं मिलता था.

इस बार उन्होंने मेरे लोअर पर हाथ डाला और मुझे भी नंगा होने के लिए कह दिया.

मैंने कसकर उसे अपने शरीर से चिपकाया हुआ था, उसके बाल मेरे मुंह पर उड़ कर आ रहे थे. मैंने उनकी पैंटी में हाथ डाल ही दिया और उनकी गर्म चुत को मसलने लगा. भैया भाभी बीएफकरीबी दोस्त होने के कारण मैं उसके साथ उसके कमरे में चला गया और बीवी बाकी औरतों में बैठ गयी.

थोड़ी देर बाद मैंने चुत से लंड निकाल लिया और सीन देख कर मैं डर गया. दस मिनट की किसिंग के बाद नवीन ने मेरा टॉप उतार दिया और मैंने नवीन की शर्ट उतार दी. उसने पैंटी नहीं पहनी थी; उसकी चिकनी चूत पर मैं अपनी उंगलियों को चलाने लगा.

मैंने उसके दूध मसल कर कहा- हां जल्दी ही तेरी चुत को भी बुलंद दरवाजा बना दूँगा. वो साफ़ चुत देख कर खुश हो गया और बोला- अभी ही सफाई की है क्या?मैं- हां, इसीलिए तो कल मना कर दिया था.

उसने अपनी गोद में बैग रखा हुआ था, तो उसके लिंग के भाव को ना तो मैं देख पा रही थी … ना ही कोई और.

पर ये बाते बताते हुये और उनके बूब्स की दरार को देख के मेरा लंड फिर से तनाव में आ गया. अंकल थोड़ा अलग लहज़े में पूछते हुए बोले- मतलब लड़कों में तुम्हारा इंटरेस्ट ही नहीं है … तो किसमें है?मैंने बोला- अरे अंकल, मेरा मतलब था कि मेरी उम्र के लड़कों में मेरी कोई दिलचस्पी नहीं है, जिनको सिर्फ जिस्म ही दिखता है. मेरा लंड उनकी बच्चेदानी पर टक्कर मार रहा था, शायद इसीलिए उनका ये हाल हो रहा था.

बीएफ सेक्सी वीडियो सनी लियोन के उसकी चुत का रस उसकी गांड के छेद को भिगोता हुआ नीचे चादर तक आ रहा था. विजय अपनी पत्नी को छोड़ कर देर रात को घर पहुंचा और अपने कमरे में जाकर सो गया.

भाभी ने अब मेरे दोस्त अमित से लड़ाई कर ली थी और उसको अपनी चुत गांड देना बंद कर दिया था. ऐसा लग रहा था कि जैसे मैंने उसकी चूचियों को मसला था, तो अब वह उसका बदला मेरे लौड़े से ले रही थी. हम दोनों की चूमाचाटी जोर पकड़ने लगी और तभी उसने अपने एक हाथ से मेरे दोनों गाल पकड़ कर दबा दिए तो मेरा मुँह खुल गया.

मैथिली में बीएफ

अब मेरी आंखों के सामने उसकी चुत के ऊपर सिर्फ एक ही वस्त्र बचा था … वो थी पैंटी. मैंने अपनी उंगली उनकी ठोड़ी पर लगा कर उनका चेहरा ऊपर किया तो उनकी आंखें बंद थीं पर मुझसे और इन्तजार नहीं हो रहा था. फिर वो गांड हिलाती हुई पलट गई और दोस्त के लंड के ऊपर आकर अपने हाथ से लंड को गांड पर सैट करके धच्च से बैठ गयी.

सलमा के चेहरे के भाव बताने लगे कि उसका काम हो गया है लेकिन मेरा तो नहीं हुआ था. वो ऐसे लंड चूस रहे थे … जैसे कोई बर्फ वाली आइसक्रीम को बच्चे चूसते हैं.

उसकी तेज़ तेज़ चुसाई से मेरे लौड़े ने वीर्य छोड़ दिया तो वो गटागट करके पी गई.

जब तैयार होकर बिस्तर पर आया तो मैम का मैसेज आया हुआ था जिसे देख कर मैं मस्त हो गया. इतना मोटा लंड गांड में घुसने से उस रांड को तो जैसे जन्नत का सुख मिल गया हो, उसके चेहरे से ऐसा लगने लगा था. मैंने भी उसके किसी भी तरह के विरोध को न होते देख कर झट से उसकी पैंट से उसका लंड बाहर निकाल लिया.

उसका लंड सात इंच का एकदम कड़क हो चुका था और वो किसी भी तरह से अपनी बीवी रोशन को चोदने की फिराक में था. नाज जब भी मेरे साथ बिस्तर पर होती तो मैं उससे कहता- एक बच्चा तुम भी कर लो. मैंने उनकी फूली हुई गांड देखी और पैर से जांघों तक हाथ फेरने के लिए दीदी से पूछा.

वकील साहिबा ने मुझसे पूछा- आप कहां जा रहे हैं?मैंने कहा- इंदौर और आप!उन्होंने कहा- मैं भी इंदौर जा रही हूं.

झारखंड का बीएफ वीडियो: मेरी मां वैसे तो एक सामान्य घरेलू औरत हैं पर वो शरीर से इतनी ज्यादा मस्त दिखती हैं कि उन्हें देख कर कोई भी पागल हो जाए और उसका मेरी मां को उसी समय चोदने को मन करने लगे. मैंने दीदी से पूछा- जीजा जी कहां हैं?वो मुस्कुरा कर बोलीं- वो अपने विद्यालय गए हैं.

जब हम दोनों का मिलने का मन करता है तो या तो वो मेरे घर आ जाता है या मैं उसके घर चली जाती हूँ और हम दोनों जम कर चुदाई का मजा लेते हैं. तू पहले मेरा पूरा लंड तेल में गीला कर दे और अपनी गांड भी तेल से चिकनी कर ले. आप सभी को मेरी सेक्स कहानीमेरी अन्तर्वासना- कुछ अधूरी कुछ पूरीबहुत पसंद आयी.

लेकिन वो स्मार्ट होने के साथ ही साथ बहुत ज़्यादा भाव वाला भी लड़का था.

मगर बाई ने मुझे इशारा करके अपनी तरफ बुलाया और मुझे अपने पीछे कर लिया … मेरा लंड उसके पिछले पहाड़ से टकराने लगा. मैंने हाथ बढ़ा दिया और उससे कहा- हाथ तो मिला लो यार!उसने धीरे से इधर उधर देखा और हाथ बढ़ा दिया. वो चीखने को हुई तभी सुमन ने अपनी चुत से अपनी बहन का मुँह बंद कर दिया.