बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स

छवि स्रोत,फास्ट बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

मधुबनी बीएफ: बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स, अब मैंने अनीता का ध्यान दूसरी तरफ हटाने के लिए पूछा- क्या बात है? तुम सोई नहीं अभी तक?वो बोली- मुझे नींद नहीं आ रही है जीजा जी क्योंकि मेरी कमर में बहुत तेज दर्द हो रहा है.

छोटी सी लड़की की बीएफ

किसी औरत को सच्चा दोस्त चाहिए होता है, किसी गे को साथी की जरूरत होती है, या फिर किसी को लड़की की आईडी बना कर लड़कों के साथ मजाक करना पसंद आता है. सेक्सी मराठी अनुभवपर मैं नीचे छिपा रहा।वह आदमी फ़ोन निकाल कर यूज़ करने लगा। फ़ोन की रोशनी में मैंने उसका चेहरा देखा, लगभग 40-45 साल का रहा होगा, बड़ी बड़ी मूछें, भरा हुआ चेहरा, कुल मिला कर ठीक ठाक आदमी लग रहा था।फिर उसने फ़ोन की लाइट ऑन की और बैग से कुछ निकाल कर खाने लगा।रात के 10 बज रहे थे और खाने का सामान देख कर मेरी भूख दोगुनी हो गयी। मैं नीचे से ऊपर आया और लालसा भारी नजरों से खाने को देखने लगा.

मैंने उसकी चूत में उंगली करना चालू कर दी थी, जिससे उसको डबल मजा आने लगा था. बॉलीवुड हीरोइन के बीएफ वीडियोकुछ ऐसी ही कल्पनाओं में डूबा हुआ मैं अपने लंड पर तेजी से हाथ को चला रहा था.

मैंने भी अपने करियर पर फोकस करना शुरू कर दिया और उसके बाद मेरी कभी काजल से बात नहीं हुई। न ही उसने कभी मुझसे बात करने की कोशिश की। फिर मैंने अपने पड़ोस में एक नयी लड़की पटा ली और उसके साथ चुदाई का खेल खेलना लगा.बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स: फिर मैं कुछ देर आराम करने चला गया, पर उसको लगा कि मैं सोने गया हूँ.

भोला ने कहा- साली रंडी, कैसी बेटी है तू? अपने बाप का लंड गांड में नहीं ले सकती है?फिर भोला ने जीजा से कहा- तू चोद साली को, इसकी गांड को ढीली कर दो.एक दिन हम तीनों फोन सेक्स कर रहे थे और मैं उत्तेजना में आकर प्रशांत को गाली दे रही थी- चोद साले मुझे … मैं तेरा लंड अंदर तक लेना चाहती हूं … मिटा दे मेरी चूत और गांड की खुजली मादरचोद!मेरी आवाज सुनकर मेरा भाई सुनील अचानक से मेरे कमरे में आ गया और मैं घबरा गयी कि अब क्या करूं? मेरी उंगली मेरी चूत में थी जिसे मैंने झट से निकाल लिया मगर मेरे बूब्स अभी नंगे थे.

बीएफ हिंदी चुदाई दिखाओ - बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स

कुछ तस्वीरें तो इतनी अच्छी थीं कि रवि अनिल की आंखों में चमक सी आ गई उनको देख कर।उन्होंने मेरी बीवी की बहुत तारीफ की.पार्टी उसके दोस्त के किसी फार्महाउस पर थी, वहां पर सिर्फ उसके दोस्त और उनकी गर्ल फ्रेंड्स थीं.

मैंने भी उनको देखते ही उनकी तारीफ कर दी- वाह क्या बात है … यू आर लुकिंग गॉर्जियस … (आप तो बड़ी ही सुन्दर दिख रही हैं. बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स मैं अपने कमोबेश अपने चरमोत्कर्ष पर था, परन्तु दोस्तों से सुना था कि अगर एक बार पुरुष स्खलित हो गया, तो दुबारा तैयार होने में बीस मिनट का वक़्त लग जाता है और मेरे पास इतना इंतज़ार करने का वक़्त नहीं था.

तभी मैंने देखा उसका एक दोस्त अपनी सहेली को गोद में उठाकर ऊपर किसी कमरे में ले गया.

बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स?

अब मुझे असल में ही चुदाई करनी थी लेकिन मेरे पास चूत का कोई जुगाड़ नहीं था. मैंने बोला- उसके लिए तो तेल की जरूरत होगी … वरना तुमको बहुत दर्द होगा. इसलिए मैं जल्दी से उसको नंगी कर देना चाह रहा था ताकि उसके मखमली जिस्म को भोग सकूं.

नॉनवेज स्टोरी में पढ़ें कि कैसे एक ससुर अपनी जवान और हसीन बहू को अपनी कामवासना का शिकार बनाना चाह रहा है. उसने अपनी स्कर्ट का हुक खोला और नीचे खिसका दी और अपनी चूत को मेरे लण्ड पर रगड़ने लगी. जवानी भी पूरे जोश में थी तो दिन में तीन बार तो लंड की मुठ हो ही जाती थी.

क्या हुआ नीलम … क्या अब मैं इतना गिर गया कि तुम मुझे अपने क़रीब भी आने नहीं देती?” समीर ने गुस्से और गम से अपनी पत्नी को देखते हुए कहा।हाँ तुम मुझे नहीं छू सकते क्योंकि मुझे भी तुम्हारी तरह किसी और से ज्यादा लगाव हो गया है. वो पूरी ताकत के साथ मेरी चूत में अपने मोटे लंड के धक्के लगा रहा था. सीमा ने नीचे घुटनों पर बैठकर मुश्ताक का लंड मुख में ले लिया और पूरी ताकत से उसे चूसने लगी.

यह मेरी पहली कहानी है और उम्मीद करता हूँ कि आपको ये सेक्स स्टोरी पसंद आएगी. इस बार के तगड़े झटके में मैंने पूरा ही लंड स्मायरा की चूत में डाल दिया था.

फिर पता नहीं उसको क्या हुआ कि उसने मेरा लंड छोड़ दिया और अपना हाथ बाहर निकाल लिया.

मैं सारिका को पीछे से पकड़ कर उसे किस करने लगा और उसके मम्मों को दबाने लगा.

अन्तर्वासना पर बिना किसी दिक्कत के अपनी बात शेयर करने के लिए, ये एक अच्छा पटल है. मगर उनके गले के नीचे यह बात नहीं निकल पा रही थी क्योंकि उनकी नज़र मेरी पूरी तनख़्वाह पर थी. ” महेश ने अपना मुंह लटकाते हुए कहा।थैंक्स पिता जी, मगर आप मुझसे ख़फ़ा तो नहीं हैं?” नीलम ने अपने ससुर का लटका हुआ मुँह देखकर पूछा।नहीं बेटी, मैं भला तुमसे कैसे नाराज़ हो सकता हूं.

उन्होंने पूछा- आपने खाना खा लिया क्या?मैंने कहा- नहीं, बस अब खाने के लिए जा ही रहा था. मैंने अपने पैर घुटनों से मोड़कर फैला दिये तो मेरी नाजुक गुलाबी चूत ने अपना मुंह खोल दिया. मैं अपनी बीवी को आंखों के इशारों से कह रहा था कि आज रात में हम बहुत मस्ती करेंगे.

दारू का नशा चढ़ गया था और दूसरी प्यासी चूत की खुजली भी बढ़ गई थी, जिसको कई दिनों से लंड की ज़रूरत थी.

लेकिन मैंने बाहर ऑर्डर करके समय बचाने का सुझाव दिया।वो मान गई।मैंने ऑनलाइन ऑर्डर कर दिया और हम फिर प्यार करने में जुट गए।थोड़ी देर में खाना आ गया, एक दूसरे को प्यार से खाना खिलाने के बाद फिर सेक्स का दौर शुरू हुआ. अंकल बेड से नीचे उतर गया और उसने मुझे कमर से खींच कर बेड के कोने पर ले लिया. नायरा के मोटे मोटे मम्मे इतने नजदीक कभी नहीं थे, उसने नायरा के कान में क्या कहा कि नायरा ने उसे एक चपत लगा दी और हंस कर मुश्ताक से चिपक गयी.

तभी मैंने देखा उसका एक दोस्त अपनी सहेली को गोद में उठाकर ऊपर किसी कमरे में ले गया. उसने अपना लन्ड नीलम की चूत से बाहर निकाल लिया।महेश- अब पड़ गयी तुझे ठंडक? ले बना ले रोटियां … मैं अपने कमरे में जा रहा हूँ।महेश के चले जाने के बाद सबसे पहले नीलम ने अपनी मैक्सी ऊपर करके अपनी चूत चेक की. अपनी पहली कहानी में मैंने आपको बताया था कि किस तरह मैंने अपनी मौसी की लड़की कल्पना को उसके घर जाकर चोदा था.

मैं प्रीति को लगातार किस कर रहा था, जिससे उसकी गर्दन पर लव बाइट आ गए थे.

मैंने उसे गले लगाते हुए कहा- क्या सच में तुम अभी तक कुंवारी हो?उसने कहा- हां मेरे राजा … आज मैं तुमसे ही अपनी सील तुड़वाऊंगी. फिर जो हमारी बातों का दौर शुरू हुआ … रुकने का नाम ही नहीं ले रहा था.

बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स मेरी उम्र उस समय 19 साल और 4 महीने की हो चुकी है। मैं आशीष से एक बार मिल चुकी थी उसकी बुआ के घर में. एक दिन मैं घर आया, तो मम्मी ने मुझे बताया कि पापा और उन्हें दिल्ली जाना पड़ेगा.

बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स भाबी बार बार बोल रही थीं- चोद मुझे शिवा … चोदो मुझे … अब मुझसे बर्दाश्त नहीं होता … तुम अपना लंड मेरी चूत में डालो. उसकी हालत खराब हो गई थी, चूत भी सूज गई थी और उससे चला भी नहीं जा रहा था.

मेरे दो तीन बार कोशिश करने के बाद भी मैं उसके चूत में अपना झण्डा नहीं गाड़ पाया।अब रहम करने की बारी नहीं थी.

देसी एक्सएक्सएक्स वीडियो

लोगों ने इस बात को लेकर ज्यादा कुछ नहीं सोचा … क्योंकि वो रिश्ते में बहन लगती थी. मुझे अपनी चूत और गांड में होने वाले दर्द से ये नशा राहत दिलाने वाला लगा. 30 बज रहे थे। थकावट में कब दिन निकला पता ही नहीं चला। मुझे प्रभात से तो प्रॉब्लम थी ही नहीं … पर निक्कू से आंख मिलाना मुश्किल हो रहा था.

चयन को मेरा मोटा लंड गुलाबी चौंच वाला इतना पसंद आ रहा था कि वो जैसे किसी लॉलीपॉप चूस रहा हो. परीशा को आज तक यह बात समझ नहीं आई थी कि लड़कों को लड़कियों की गांड चाटने में क्या मज़ा आता है।अब पापा ने परीशा की चूत के रस में से सना हुआ लंड उसकी गांड के छेद पे टिका दिया. मैं दिखने में अच्छा हूँ और मैंने अपना शरीर भी मैंने फिट करके रखा हुआ है.

मेरा वीर्य बाहर निकल कर सीधा रुचि के मुँह में जा रहा था और वो बहुत अनुभवी औरत की तरह मेरा सारा वीर्य चट कर गई.

जैसे ही भैया का लंड मेरी चूत में गया, मेरी जोर से चीख निकल गयी- उम्म्ह… अहह… हय… याह…लेकिन भैया ने मेरी कोई परवाह नहीं की और हम दोनों सेक्स करने लगे और साथ में एक दूसरे की बाहों में आकर एक दूसरे किस भी कर रहे थे. एक घंटे बाद वो बोली- कहीं किसी होटल पर गाड़ी रोकना, मुझसे वॉशरूम जाना है. हम दोनों लोग एक होटल में गए और कॉफ़ी पीने के बाद के दूसरे से बात करने लगे.

मैंने उसे गले लगाते हुए कहा- क्या सच में तुम अभी तक कुंवारी हो?उसने कहा- हां मेरे राजा … आज मैं तुमसे ही अपनी सील तुड़वाऊंगी. अब राहुल ने भी अपना एक हाथ धीरे से आगे किया और शबनम के निप्पल को सहलाना शुरू कर दिया. मैंने पैंट की तरफ देखा तो मेरे लंड ने मेरी सफेद पैंट पर कामरस का एक बड़ा सा धब्बा बना दिया था.

अचानक भाई ने जोर से लंड को मेरी चूत में दोगुनी ताकत से धकेलना शुरू कर दिया. मेरी आंखें फ़ैल गईं और गांड में होने वाले दर्द ने मुझे लगभग बेहोश सा ही कर दिया.

मेरा लंड उत्तेजित तो पहले ही था, अब 120 डिग्री पर पेट को लगने लगा था. मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से ही उसके चूचों को चाटना और चूसना चालू कर दिया. उठाते वक़्त हर्ष ने मेरे मुँह पर हाथ रखा और पूरा लंड एकदम से घुसा दिया.

यही बात मेरा प्लस पॉइंट हो गयी उसे पाने के लिए।अब बारी थी हमारे मिलने की … हमने एक जगह और समय प्लान किया और इंतज़ार करने लगे उस दिन का जिस दिन हमें मिलना था।वो दिन भी आ गया और हम मिले.

वे भाभी के एक मम्मे को अपने मुँह में लेकर चूसने लगे और एक को अपने हाथ से दबाने लगे. अनिल ने अब तक जिन चूचियों को कपड़ों के ऊपर से ही घूरा था आज वो उसकी आंखों के सामने बिल्कुल नंगे थे. मैंने भी चयन से यही कहा- काश तू पहले मिल जाता, तो मेरे दो महीने में तीन बार का मुठ यूं ही बाहर नहीं निकलता.

कुछ देर तक उसकी चूत को चोदने के बाद अनिल ने अपना लंड बाहर निकल लिया और फिर मैंने अपनी बीवी की चूत में अपना लंड डाल दिया. पर इस बार मेरे दिमाग में उसकी चूत नहीं, उसकी गांड मारने का प्रोग्राम चल रहा था.

अपने कमरे में आकर ज्योति ने दरवाज़ा अंदर से बंद कर दिया।वो बेड पर बैठकर ज़ोर से हाँफने लगी. मुझे उनके लंड से निकल रहे पानी का स्वाद अपनी जीभ पर महसूस होने लगा. मैंने उसको फोन किया तो उसका फोन भी कवरेज क्षेत्र से बाहर बता रहा था.

हिंदी विडियो चुड़ै

इनाम में उन्होंने अपनी बहन की बेटी की सील भी मुझसे तुड़वायी, जिसको मैं अगली कहानी में लिखूंगा.

मैंने आंटी की पैंटी की तरफ हाथ बढ़ाया और पैंटी को खींच कर एक तरफ कर दिया तो आंटी की चूत के दर्शन मुझे हो गये. वो ‘ओह बेबी … उम्म्ह… अहह… हय… याह… कम ऑन फक मी हार्ड … फक मी हार्ड. मैं भी हमेशा मॉडर्न कपड़े पहनती हूँ तो मेरी सहेली का बॉयफ्रेंड मोहनीश मुझे हवस भरी नजरों से मुझे देखता है.

राहुल ने जिस सोसाइटी में फ्लैट लिया, उस सोसाइटी वालों को उसकी तैराकी और जॉब दोनों भा गए और उसे बहुत रियायती दर पर टू बेडरूम फ्लैट मिल गया. उसने दरवाज़े के अन्दर कदम रखा और शबनम आगे झुकी उसको गले लगाने के लिए जैसा वो हर बार करती है. हिन्दी बियफ विडियोभाभी की मसाज गर्म पानी और आयुर्वेदिक दवा की वजह से वो अब पेट से हो गई हैं.

”कह कर मैंने उसके सिर को पकड़ा और अपने नाजुक होंठ उसके होठों पर रख कर उसे किस करने लगी, नितिन का पूरा बदन थरथरा रहा था, फुल एसी में भी उसे पसीना आ रहा था। उसने होश में आते ही मुझे पीछे धकेल दिया और ज़ोर से साँस लेने लगा, मैं उसके साथ पिछली सीट पर बैठी थी।ये … क्या … कर रही … हो तुम?” वह अब भी शॉक में था।ओह … पुअर बेबी … क्या तुम्हें सच में यह नहीं चाहिए. उसको समझते देर नहीं लगी कि मैं उन दोनों के साथ फोन सेक्स कर रही थी.

राजीव को सेक्स का बहुत शौक और पिंकी तो अल्हड़ मस्त जवानी … उसने और राजीव ने तो डांस की शुरुआत ही किस से की. मुश्ताक ने धीरे से सीमा को ऊपर गोदी में उठाया और बाथरूम में जाकर खड़ा कर दिया शावर के नीचे. वो दर्द से कराह उठी उम्म्ह… अहह… हय… याह… और उसकी आंखों से आंसू गिर पड़े.

मैंने देखा कि वो अखबार को हटा कर चुपके से मेरी चूत को देखने की कोशिश कर रहा था. मैं अपने रूम में जाने लगा तो उसने कहा कि आपका कमरा कभी देखा नहीं है. फिर मैं भी उस कमरे में चला गया, जहां से में भैया भाभी की सुहागरात देख सकता था.

अब मैं अपना बदला लेना चाहता था क्योंकि काजल ने मुझे अपनी प्यास बुझाने के लिये यूज किया। साथ ही साथ मैं ये भी सोच रहा था कि वो मेरी बहन को बिगाड़ रही है।इसलिए मैंने अब काजल से बात करना बंद कर दिया था.

पापा से गांड मरवाने की चाह ने उसे अँधा कर दिया था।मुकुल राय- परीशा बेटी जितना मज़ा तुम्हारी गांड मार के आ रहा है उतना मज़ा तो तुम्हारी मम्मी की गांड मार के कभी नहीं आया. वो बोली- संचित तो रात को सोना ही नहीं चाहता था, वो तो मैंने यह कह कर सुला दिया कि सो जाओ वर्ना दिन में थकान रहेगी.

एक बार ऐसा हुआ कि जब मैं मेरी बीवी को सेक्स के लिए मना रहा था, तब मेरी सास हमारी बातें सुन रही थीं. आप तो जानते ही हो कि मुंबई जाने में बहुत टाइम लग जाता है इसलिए फंक्शन से वापस आने में मुझे पांच दिन का वक्त लग गया. तभी उसकी कमर में हरकत हुई और मैं समझ गया कि मेरी माल अब चुदने के लिए तैयार है। अब देरी ना करते हुए मैंने धीरे धीरे अपने लंड को गति दी, मैं उसे पहले बहुत धीरे धीरे चोद रहा था.

फिर मैंने धीरे से बोला- सॉरी!वो बोली- किस लिए सॉरी?मैंने कहा- मेरी हरकत के लिए. तुमने मुझे पहली बार देखा है क्या? अभी आधे घंटे पहले तक तो तू मेरी बेटी जैसी थी. उन्हें ऐसे रगड़ने में और उससे भी ज्यादा गन्दी बातें करने में बहुत मज़ा आ रहा था.

बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स अगले दिन मैं अनिल के ऑफिस में बाकी की फॉर्मेलिटी पूरी करने के लिए चला गया. बस वही मित्र मेल करें, जो मेरा हौसला अफजाई करें, मेरे बारे में और मेरी फ्रेंड्स के बारे में जानने की कोशिश करने वाले मेल ना करें.

দেশী বিএফ দেশী বিএফ

इसलिए कुछ देर पहले वो इतने गुस्से में थी और अब वो मुझसे खुद ही माफी मांग रही थी. अब कैसा डर है हमारे बीच में … तुम कुछ ज्यादा ही शर्मीली हो इसलिए मुझे ही कुछ करना होगा. वो बोली- छोड़ो मुझे!मैं जानता था कि उसका ये विरोध केवल दिखावा मात्र था.

मैंने पूछा- भैया और अंकल हॉस्पिटल से आ गए क्या?भाभी बोली- नहीं अभी तक नहीं आए. मैं जोर से नेहा की चूत को चोदने लगा और सोनम आंटी नेहा के चूचों को दबाने लगी. एक्स एक्स एक्स हिंदी ब्लू बीएफमैंने उसकी कमर को हल्का सा उठा दिया और उसकी गांड हल्की सी ऊपर आ गयी.

दोस्तो, मेरा नाम आकाश है और मैं 24 साल का हूँ, मेरा रंग गोरा है और लंबाई 5 फुट 11 इंच है.

यह कहानी पिछले साल की है, मैंने जो भी कहानियां यहां लिखी हैं, वो सभी एकदम सच हैं. मेरे कहने पर वो बहुत खुश हो गई और मुंबई आने के लिए मुझे थैंक्स कहकर उसने फोन रख दिया.

मैं उम्मीद करती हूँ कि मियां-बीवी की चुदाई की ये गांड चुदाई कहानी आपको पसंद आई होगी. मैंने धीरे से से उसको सीधा सुलाने की कोशिश की, तो वो किसी मासूम बच्चे के जैसे मुझसे और जोर से चिपक कर सोने लगी. मैं रीना के पीछे हो गया और लंड को उसकी गांड पर लगाकर चुचों को सहलाने लगा.

आप सभी को मालूम ही होगा कि आमतौर पर परीक्षा से पहले स्कूल में इंटरनल मार्क्स दिए जाते हैं … जो हमारे बोर्ड परीक्षा में भी गिने जाते हैं.

वो सेल्फ पर झुकी हुई आटा गूँथ रही थी इसलिए खुद को महेश की पकड़ से छुड़ा भी न पाई. मैं भी जब तब उसकी चूचियां दबा देता था, वो चिहुंक कर अलग हो जाती थी, पर शायद उसे भी मेरा ये करना अच्छा लगने लगा था. सीमा ने सुइट का दरवाजा लॉक किया और आगे के प्रोग्राम का खुलासा किया.

मोदी की बीएफइस बार सिर्फ अंडरवियर में मेरे पास आ कर लेट गया। उसने धीरे से मेरी पीठ पर हाथ रखा मैंने डर से आंखें बंद कर ली. थोड़ी देर बाद उसने मेरे पजामे का नाड़ा खोला और मेरे लंड को मुँह में लेकर चूसने लगी.

वीडियो ब्लू पिक्चर हिंदी में

खैर … भैया भाभी की चुदाई होने लगी और करीब करीब 10-15 मिनट की चुदाई के बाद भाई भाभी की चूत में ही झड़ गए. मैं उसके होंठों को चूसने की कोशिश कर रहा था लेकिन वो अपने होंठों को आपस में चिपका कर भींच कर रखे हुए थी. मैं बोला- आप ऐसा बैठोगी … तो मैं बैलेंस नहीं रख पाऊंगा … आप सही से बैठ जाओ न.

वो मेरे मुँह से ऐसी बातें सुन कर शर्मा गईं और मेरे कंधे पर एक हल्की सी चपत लगाते हुए बोलीं- क्या बात है दामाद जी … आज सासू माँ को अकेले पा कर बड़े सुर निकल रहे हैं आपके … भूल गए हो क्या कि घर में आपकी बीवी और मेरी बेटी भी है, जो हमारा इंतजार कर रही है. शाम को जब मैं वापस आया, तो उन्होंने कहा- आज तेरे जीजू ऑफिस के काम से बाहर गए हुए हैं, तो हम आज बाहर डिनर करने चलेंगे. आपको पता है … ये सब क्यों करते हैं?चाची- नहीं … क्यों?मैं- औरत ज़्यादा देर तक झड़ती नहीं है.

फिर मैंने एक-एक करके उसके ब्लाउज के सारे हुक खोल दिये और उसका ब्लाउज निकाल दिया. जिस लड़की को एक दिन बाद शादी के मंडप में बैठना हो उसको उसकी शादी से एक दिन पहले चोदना मेरे लिए एक सपने जैसा था. मगर चूंकि अंतर्वासना एक हिंदी साईट है इसलिए उस लड़की से हुई बात मैं आपको हिंदी में ही लिख कर बताऊंगा.

वो बेड पर सीधी लेट गई तो मैंने उससे कहा- श्रेया, डॉगी पोजीशन में करते हैं. उन्हें सहलाते हुए मैंने उनसे पूछा- ससुरजी पहले आपको अच्छे से खुश करते थे?यह सुनते ही उन्होंने ने मेरे सीने पर धीरे से काट लिया.

कभी मुझे उल्टा करके चोदता, कभी मेरी टांगें उठाकर ज़ोर ज़ोर से चुदाई करने लगता.

मैं आगे भी हम पति-पत्नी की चुदाई की कहानियाँ आप तक लेकर आती रहूंगी. सग्सक्स्क्सऐसा अनेक बार होता है और जब सबके पार्टनर बदल जाते हैं तो दूसरा राउंड शुरू होता है जिसमें बोतल नीचे रख कर घुमाई जाती है. बीएफ सेक्सी वीडियो सेक्स वीडियोसारिका ने मना भी किया तो राहुल ने भी कह दिया- हाँ इसमें क्या है … और अब आपको सोना ही तो है. 5 इंच मोटा लंड हवा में उछलने लगा, ज्योति ने अपने बड़े भाई का लंड अपने हाथ में लेते हुए अपने होंठों से उसके गुलाबी सुपारे को चूम लिया।आह्ह …” ज्योति ने जैसे ही लंड को चूमा समीर के मुंह से सिसकारी निकल गई।ज्योति ने अपनी जीभ से अपने बड़े भाई के लंड को चाटते हुए उसके गुलाबी सुपारे को अपने मुंह में ले लिया.

वो सोच रही थी कि क्या वो समझ पा रहा है वो क्या चाहती है? इतने दिनों से उसके दिमाग में जो ख्याल चल रहे हैं, क्या उसको अंदाज़ा हो गया है? उसने अपने पैरों को और ज्यादा फैलाकर उसकी गोद में रख दिया और एक चैन भरी सांस ली.

उस दिन हम लोग बातें करते हुए मंदिर पहुंचे, वहां पूजा की और हम लोग वापस चल पड़े. मैं रोज सुबह ऑफिस आने के बाद कविता ने कौन सी पैंटी ब्रा पहनी, ये देखता और उसे मम्मों को मसल देता. उनकी लंबी चीख निकल गई- आआआआह … साले भोसड़ी के मार देगा मुझे … निकाल इस मूसल को … मेरी चुत फट रही है.

उसने मेरी पैंटी में हाथ घुसाया और मेरी चूत को छुआ, मैं चुदास से तड़पने लगी. प्रदीप और रीमा तो आपस में चिपट कर लेट गए थे और उनकी नजदीकियां तो हद पार कर रही थी. एक दिन मैं योग कर ही रहा था कि उसी समय अपने कपड़े सुखाने के लिए आ गई.

वीडियो में ब्लू पिक्चर दिखाओ

हालाँकि अभी इन सबको आये एक-डेढ़ महीना ही हुआ है पर आपस की मिलनसारी और खुलापन इन सबको परिवार की दूरी नहीं खलने देता. मैंने भी चयन से यही कहा- काश तू पहले मिल जाता, तो मेरे दो महीने में तीन बार का मुठ यूं ही बाहर नहीं निकलता. मैंने मौका देखते ही उनके होंठों को अपने होंठों में दबा लिया और हम एक दूजे में खो गए.

मैंने कहा- इससे तो अच्छा, मैं वहां गाड़ी रोक कर करवा रहा था, तो आप भाव खा रही थीं.

बात ठीक थी … दोनों संभले और ड्रिंक्स वाली टेबल पर जाकर एक पेग बनाया और दोबारा थिरकते हुए एक ही गिलास से सिप लेने लगे.

उसकी जांघों के बीच में उसका लंड का उठाव भी दिख रहा था जिसको देख कर मेरी चूत गीली होने लगी. एक तो माहौल सेक्सी था और सेक्स आज सभी के दिमाग पर चढ़ा हुआ था … किसी को नहीं मालूम था कि क्या होगा, पर मस्ती पूरी होगी ये यकीन था. सेक्स बीएफ ब्लूमैं भी उन्हें मजे में चोद रहा था और बोल रहा था- हां मॉम … मेरी रंडी मॉम … मैं तुम्हें इसी तरह रोज चोदूंगा, तुझे अपनी रंडी बनाकर रखूंगा.

जब उनको मुझे सताने का मन करता है तो वो इसी पोज में मेरी चुदाई करते हैं. अगर शबनम अपनी बाहें ऊपर उठती तो शायद उसके मम्मे नीचे से हवा ले जाते. तभी मैंने देखा कि वो अपने घर के लिए कुछ सामान ले रही थी और अचानक से उसकी नज़र मुझ पर पड़ गयी.

मैंने शराब पीने से इंकार किया, पर उन्होंने मुझे मना लिया और कुछ ड्रिंक्स पिला दी. मुझे अपने यहां के सब लंड एकदम मरियल से लगने लगे थे, जो मेरी चूत की खुजली को मिटा ही नहीं पाते थे.

फिर मैंने आंटी से बोला- आंटी मुझे खाना बनाना नहीं आता और मुझे आज बाहर खाने का भी मन कर रहा है, लेकिन मैं इधर के बारे में इतना कुछ नहीं जानता हूं … इसलिए सोच रहा था क्या करूं.

वो एकदम से जोर से चिल्लाने लगीं कि आह साले फाड़ दी मेरी चूत … आराम से कर मादरचोद … बहुत दिनों से चुदी नहीं हूँ. मेरी चूची को चूसने के बाद वो अपना लंड मेरी चूत में डाल कर मेरी चूत को आराम से चोद रहे थे. नहीं बेटी, अब ऐसे नहीं डालूंगा, तुम्हें अपनी जुबान से कहना होगा कि पिता जी आप मेरी चूत में अपना लंड घुसाओ.

बंगाली बीएफ सेक्स आठ बजने वाले थे, मैंने फोन किया तो डॉली ने कहा- गेट खुला है, अन्दर चले आइये. उस वक़्त घर पर कोई नहीं था और वो दोनों ऐसे ही एक दूसरे से बात करने लगे.

वो पीछे बिस्तर पर लेट गया और उसके चेहरे पर एक मुस्कान आ गयी जैसे उसको पूरी संतुष्टि मिल गई हो. अब मैंने मौके का फायदा उठाने की सोची और उससे कहा- इसका मतलब तो आपको मेरे वाला आइडिया पसंद आ गया था! मैंने ही तो आपको बताया था कि मैं मोबाइल में पॉर्न देख कर अपने आप को संतुष्ट कर लेता हूं. कहीं मेरे अब्बू मुझसे पहले घर पहुंच गए तो मेरी शामत आ जाएगी।मैंने उसको ढांढस बंधाया और इसी बीच आधे घुसे लंड से ही आगे पीछे करता रहा। मैंने उसको कहा कि वो अपनी दोनों टांगों से मेरी कमर को बाँध ले.

नंगा सेक्सी हिंदी

ये सुनकर स्मायरा के पापा बोले- होटल क्यों? ये घर आपका नहीं है क्या?मैंने बोला- अंकल, मैंने पहले से ही होटल की बुकिंग करवाई हुई थी. इसके बाद हम दोनों हर संडे के दिन चुदाई करते हैं … और खूब मज़े करते हैं. मैं वीना आंटी के ऊपर आ गया और पहले उनके मम्मों के बीच में लंड डाला और हिलाया.

उनसे कंट्रोल नहीं हो पा रहा था, तो वो बोलीं- आप थोड़ा साइड हो जाओ … और गाड़ी का गेट खोल कर आड़ लगा दो. और उसके बाद वो मैं और विवान भैया हम दोनों को जब भी मौका मिलता था तो एक दूसरे को किस करते थे.

उसने नीचे हिल पहनी हुई थी और उसकी पतली कमर पर ड्रेस बिल्कुल फिट होकर चिपकी हुई थी.

उसकी देखा देखी रीमा ने भी अपना खीरा चिकना करके अपनी ही चूत में कर लिया और टांगें उठा कर जोर जोर से अंदर बाहर करने लगी. इसके लिए भले ही मुझे अपने पति से अलग क्यों न होना पड़े!संजना की ये बातें सुन कर मुझे उस पर हद से ज्यादा प्यार आने लगा. वो खुद को रोक रहा था, मगर शिवानी उसको कुछ ज़्यादा ही दिखा दिखा कर उसके लंड को पूरी तरह से गर्म कर रही थी.

ऐसे ही एक बार जब वो मेरे घर पर आया हुआ था तो हम साथ में बैठ कर पढ़ाई की बातें कर रहे थे. मैं उसके स्तनों को मुंह में लेकर चूसते हुए उसकी योनि को चोद रहा था. मैं जैसे ही उसके घर के बाहर पहुंचा, उसने मुझे अन्दर करके दरवाजा बन्द कर दिया.

रूम पर रहने वाला कोई लड़का पूरे कपड़े पहने बैठा हो, ऐसा कभी हो नहीं सकता.

बीएफ इंडियन एक्स एक्स एक्स: भाभी ने मेरे कंधों से मुझे अपने ऊपर खींचा और एक प्यारा सा चुंबन देकर मेरा मुँह अपने दूध पे लगा दिया. और फिर कुछ देर जब मेरा जोश ठंडा हुआ तो मेरे लौड़े में बहुत तेज दर्द होने लगा तो मेरी खुमारी टूटी और मैंने देखा कि मेरा अंडरवियर गीला था.

फिर जिस दिन सब लोग शादी में चले गये तो मैं चाची के वहां खाना खाने के लिए गया हुआ था. तो वो बोले- कोई बात नहीं बेटा, मैं हूँ ना, तुमको कोई परेशानी नहीं होगी. एक रंडी की तरह तीनों ने मुझे और मंजू को बारी बारी से चोदा और अंधेरे में सुबह वापस कॉलेज पहुंच गए.

उसके पास दूध पावडर था … तो मैंने उससे मेरे मम्मों पर लगाने को बोला.

मॉम थोड़ी देर चुप रहीं, फिर बोलीं- मुझे भूख लगी है, चलो पहले चलो खाना खाते हैं. उसकी गीली सी चूत पर मैंने किस किया तो उसने मेरे सिर को पकड़ कर अपनी जांघों के बीच में दबा लिया. इससे पहले कि मैं उनसे कुछ भी पूछ पाता, उन्होंने अपने होंठों से मेरे होंठों को चूसना शुरु कर दिया.