बीएफ लड़कों वाली

छवि स्रोत,રાજસ્થાન સેક્સ

तस्वीर का शीर्षक ,

बुर की चुदाई बीएफ: बीएफ लड़कों वाली, मुझसे रहा नहीं जा रहा था तो मैंने बिना देरी किए उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उसके होंठों का रसपान करने लगा.

ब्लू फिल्म नई वाली

मेरा लंड एकदम तैयार था और उसकी चूत से काफी मात्रा में पानी नीचे टपकने लगा था. बीपी सेक्सी मराठी वीडियोमैं बोली- मुझे नींद नहीं आ रही, मुझे यहीं सोना है तुम दोनों के साथ.

मैं तो अपने तलाक के बाद भूल ही गई थी कि चुदाई कितनी मजेदार होती है. बांग्ला सेक्समैं अब उसके लंड को किसी कुल्फी की तरह चूस रहा था और वो मस्त आहें भर रहा था.

वहां खूंटी पर टंगी चाची की चुन्नी और पैंटी पर मेरी नज़र पड़ी तो मैंने चाची की पैंटी उठाई और अपनी नाक से लगा कर सूंघी.बीएफ लड़कों वाली: विलियम मेरे कमीज को खींचने लगा तो मैं समझ गई कि अब यह मेरे बदन पर कपड़े नहीं रहने देगा.

और अब मैं झड़ने वाला था तो मैंने उसे कहा- मेरा सारा माल कहां पर निकालूं?तो उसने कहा- मेरे मुंह पर डाल देना!मैंने वैसा ही किया.कुछ देर बाद उन्होंने बोला- युग, मेरे ब्लाउज के हुक खोलकर थोड़ी पीठ की मालिश भी कर दे.

एक्स एक्स बीपी मूवी - बीएफ लड़कों वाली

मैंने उसे पहली बार नजर भर कर देखा तो उसकी नजरें भी मेरी नजरों से लड़ गईं.उस पूरे दिन में हम दोनों के बीच 4 बार चुदाई हुई और उसके बाद लगभग हर रोज मैं सौम्या को चोदकर खुश करने लगा था.

मुझे तो लग रहा था कि मैंने अपने लंड को किस आग की भट्ठी में डाल दिया है. बीएफ लड़कों वाली मैंने पास्ट वाले अंकित से कहा- मैं उसका देवर हूं और वहां कुछ दिन रहने आया हूं.

साली जैसे ही झुकी … उफ़्फ़ रंडी के आधे चूचे और बीच की दरार वाली लाइन दिख गई.

बीएफ लड़कों वाली?

अब आंटी भी अपना काबू पूरी तरह से खो चुकी थीं और मेरे सर को पकड़ कर अपनी चूत पर दबाने लगी थीं. मेरा लौड़ा देखकर भाबी जी बोल पड़ीं- आज तो मेरा बुरा हाल होने वाला है. निशा ने बताया था कि वो कभी माँ नहीं बन सकती, उसे गर्भाशय में कुछ दिक्कत है.

उनकी तरफ से बेफिक्र होने के बाद मैंने लाइट जला कर देखी तो सौम्या डार्लिंग की चूत खून से लाल हुई पड़ी थी. आपने कभी मुझ पर कोई गंदा कमेंट भी नहीं किया या कोई गंदा इशारा नहीं किया. सरिता मेरे होंठों को चूसने लगी तो मैंने कहा कि मेरे जाने के बाद जल्द ही खुशखबरी बताना.

मैंने कहा- रूकिए आप तो ऐसे मेरी सारी मेहनत बर्बाद कर देंगी, मेहंदी मिट जाएगी. आधा घंटा अच्छे से चुदाई के बाद जब मैं झड़ने को हो गया तो मैंने सौम्या से एक बार और कन्फर्म किया कि सौम्या सच में चूत में मलाई चाहती है या नहीं. तभी मैंने दीदी के सामने तौलिए को पीछे से खींच कर एकदम से नीचे गिरा दिया.

ये सुनते ही मैंने एक जोर का धक्का लगाया और लंड एक ही बार में अन्दर चला गया. आज मेरा लंड मुझे कुछ ज्यादा ही बड़ा लग रहा था और सुपारा भी फूला हुआ था.

मैंने अपनी गति थोड़ी बढ़ा कर लंड पर दबाव बढ़ाया और थोड़ा थोड़ा करके चूत में डालता रहा.

मैंने मौके का फायदा उठाकर वहीं उसके गाउन को ऊपर उठा कर उसकी चुत में होंठ लगा दिए और उसकी बुर को चाटने लगा.

विशाल रवि के बाजू में लेट गए, उसके माथे, आंखों, होंठ पर चुंबन लेकर उसके सिर पर हाथ फेरने लगे. मेरी जवानी, मोहल्ले के और ऑफिस आते जाते, जवान और बुड्डे लोगों के लिए एक आकर्षण का केंद्र बन गई है. कुछ पल बाद जैसे ही शिल्पा ठीक हुई, वैसे ही मैंने लंड को शिल्पा की चूत में अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया था.

अब मुझे दिल्ली से ट्रैवल करके यूपी के छोटे से गांव पुरैनी आना पड़ा. कुछ देर बाद मेरे स्तन पूरे नंगे उसके हाथों में थे, साथ ही मेरा पूरा शरीर उसकी बांहों में कांप रहा था. हालांकि हम लोग चैटिंग एक दूसरे से ही कर रहे थे और सेक्सी बातें कर रहे थे.

उसकी आंखें उबल कर बाहर आ गईं, वो सिर्फ एक बार बहुत तेज आवाज में चीखी … फिर मानो बेहोश हो गई.

मैंने उससे पूछा- लग तो नहीं रही? बहुत दिन बाद हम मिले हैं, तुम जैसा मस्त माशूक बड़ी किस्मत से मिलता है. दस बारह जोरदार धक्के मारकर मेरे लंड ने वीर्य का फव्वारा सरिता के गर्भाशय के मुँह पर छोड़ दिया. चाची ने मुझे देखा और झल्ला कर कहा- तुम्हें कुछ होश भी है कि तुम क्या पहने हो … बाहर ऐसे ही चुन्नी में आ गए हो.

औपचारिकता पूरी करने के बाद मैंने सबसे पहले उसके रूम का बंदोबस्त कराया और उसका सामान क्लॉक रूम के लॉकर में रखवा दिया. मैंने बोला- निशा, आपका दर्द अब कैसा है?उसने कहा- पैरों से लेकर कमर तक हो रहा है. पूरी आइसक्रीम लगी चूत चाटने के बाद उसने फिर से अपनी उंगली मेरी चूत में डाली.

भाभी मेरा सर सहला रही थीं- जान, आज तुमने मुझे बिना चोदे इतना मजा दे दिया … उतना तो मैं दस बार चुद कर भी नहीं ले सकती थी.

जो भी हो, उसने अगले ही पल में मेरे लंड को मुँह में लेकर अन्दर बाहर करना शुरू कर दिया था. अब हम दोनों ऐसे ही रोज मोबाइल से मैसेज और कॉल पर बातें करने लगे थे.

बीएफ लड़कों वाली लेकिन मैं काम में बिजी था इसलिए कॉल नहीं उठाया।जेठ जी कुर्सी में बैठ गए और मैंने खाना लगा दिया. दीदी मुझे जगा देख बोली- उठ गए? और सो जाओ आराम से … अब कुछ काम नहीं है.

बीएफ लड़कों वाली मैंने बोला- निशा, कौन सा कौन सा पंखा खराब है?वो बोली- मेरे बेडरूम का पंखा है. वो बोली- कैसी चाहिए?मैंने कहा- आपको क्या लगता है कि मुझे कैसी की लेनी चाहिए?वो बोलीं- मतलब?मैंने कहा- मतलब कैसे लेनी चाहिए?वो मेरी इस बात को समझ रही थीं और मुस्कुरा रही थीं.

मुझे बहुत तेज भूख लगी थी रात पर चुदाई के कारण पेट भूख से बिलबिला रहा था.

hindiसेक्स वीडियो

चाचा जी ने दीदी को नीचे उतारा और दीदी को बाइक से टिका कर घोड़ी बनाया और धकापेल चोदना शुरू कर दिया. मैं खुश हो गया पर मैंने उससे कहा- ये क्या है?वो बोली- क्या हुआ?मैंने कहा- इसकी क्या जरूरत थी?वो बोली कि तुम्हारा फ़ोन टूट गया था. पेट के बल लेटी हुई चाची की गोल गोल उठी हुई गांड देखकर मेरा मन उनके चूतड़ों को भींचने का कर रहा था.

हालांकि जब दीवार को मैंने फांदा तो मुझे घुटने में हल्की सी चोट भी आई थी मगर अपनी प्रेमिका से मिलने की ख़ुशी ने मेरे दर्द को भुला दिया. मैंने उससे पूछा- लग तो नहीं रही? बहुत दिन बाद हम मिले हैं, तुम जैसा मस्त माशूक बड़ी किस्मत से मिलता है. अब हम दोनों एक दूसरे से दिल से मिल गए थे; स्काईप पर नंगे होकर सेक्स चैट करने लगे थे.

मैंने लंड चूस कर उसे खड़ा किया, अपनी दराज से कंडोम निकाल कर लंड पर चढ़ाया और उससे बोला- बता कैसे चोदेगा?वो बोला- घोड़ी बन जा.

कुछ देर रुक कर मैंने शिल्पा के होंठों को चूमना शुरू कर दिया और साथ ही मैं उसके चुचे भी दबा रहा था. उसका मुँह मेरे लंड से टकरा जाता।मेरा लंड भी तन रहा था।करीब रात के 10 बजे के करीब मुझे भी नींद आ रही थी. पत्नी को थोड़ी देर के लिए कुछ होश न था … चुत ने झरने की तरह पानी छोड़ दिया था.

दोस्तो, इस सेक्स कहानी में मैं आपको बता रहा हूँ कि मेरी दीदी गैरों से कैसे चुदी थीं. मैं सौम्या को कभी चेहरे पर, कभी गर्दन पर, कभी गालों पर, कभी चूचियों पर किस करते करते धीरे धीरे झटकों से सौम्या के अन्दर अपना लंड पेलता रहा. मगर मैं एक बात जानना चाहती हूँ कि कल को हार्दिक ने मुझसे दुबारा सेक्स करने की इच्छा जाहिर की, तो तुम क्या करोगे?मैंने बिंदास कह दिया- शनाया मैं तुमसे शादी करूंगा और उसी मंडप में मेरा दोस्त हार्दिक भी यदि ये चाहेगा कि शनाया हम दोनों की बीवी बन कर रहेगी तब भी मैं इंकार नहीं करूंगा.

आपको मेरी ये हॉट भाबी Xxx कहानी कैसी लगी, कृपया मेल करके जरूर बताएं. चाची सज-संवर कर जब मेरे साथ जाती थीं तो मैं उन्हें बड़ी कौतूहल भरी नजरों से देखता था कि कोई महिला इतनी सुंदर कैसे लग सकती है.

मैं उसके होंठों को मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने लगा, सच में बहुत रसीले होंठ थे. दोस्तो, मैंने आज तक शराब को हाथ तक नहीं लगाया था पर जीजा जी की जिद के कारण मुझे पीना पड़ा. वो पहली बार किसी मर्द के साथ नंगी एक बिस्तर में थी।रोमिल ने उसकी चूत को चाट चाट कर उसे गर्म कर दिया।अब दोनों गर्म हो गए थे। उसने पिंकी को बैठा दिया और उसके होंठों पर लंड फिराने लगा.

उनको बच्चा क्यों नहीं हुआ और मैंने क्या किया?दोस्तो, मैं प्रेम एक बार पुन: आपको अपनी भाभी की चुदाई की कहानी में ले जाने के लिए हाजिर हूँ.

तो वो इतरा कर बोली- हां मैंने उसी को ध्यान में रख कर सेक्स कहानी का मजा लिया है. माया दीदी मेरी मौसी की लड़की हैं और वो अपने पति और बच्चों के साथ मेरे ही घर जा रही थीं. उसने बोला- टैंट ज्यादा बड़ा है, इसलिए आधा आज लगाएंगे बाकी सुबह जल्दी उठकर.

सौम्या ने कहा- अच्छा मेरे राजा … तो फिर देर किस बात की, आ जा चोद दे मुझे!मैंने बोला- ऐसे नहीं जानू. सोनाली भी हाथ में दोनों के लिए चाय लेकर आयी और मेरे पास ही बैठ गयी.

मैंने चाची के पैर और ज्यादा फैलाते हुए जोर जोर से दो ही झटकों में अपना पूरा लंड चाची की चुत में पेल दिया. जैसे ही उन्होंने मेरी तरफ देखा तो पूछने लगीं- कुछ चाहिए?मैं- नन ना. अब मैं अपना आधे से अधिक लंड बाहर निकाल कर जोर से पूरा अन्दर ठोकने लगा था.

देशी पोर्न

वो अपने हाथ से मुझे अपने दूध पिलाने लगी और मादक आवाजें भरती हुई मुझे उकसाने लगी.

जब हम वहां से फ्री हुए तो हमें बहुत अच्छी और फ्रेश फीलिंग आ रही थी. फिर कुछ पलों के बाद उन्होंने मेरा बॉक्सर खींच कर नीचे उतार दिया और मेरा लंड पकड़ते ही सीधा मेरे लौड़े को मुँह के अन्दर डाल कर चूसने लगीं. उन्होंने बताया कि मौसा जी को कोई काम के सिलसिले से मुंबई जाना है और उन्हें लगभग एक हफ़्ता लगेगा.

वो कुछ कहती, उससे पहले मैंने उसे अपनी ओर खींच लिया और उसके होंठों पर अपने होंठ रख कर चूसने लगा, जोर जोर से किस करने लगा. मैं मौसी के सारे बदन को चूमने लगा था तो मौसी फिर से सीत्कार भरने लगीं. राजस्थान का देसी सेक्सी वीडियोटीना शहर से थी तो उसने पॉर्न फ़िल्में देख रखी थीं मगर वो अब तक चुदी नहीं थी.

अभी उंगली अन्दर गई ही थीं कि शिल्पा ने अपनी गांड उठा कर पीछे कर लिया. मैं उसके ऊपर कुत्ते की तरह झुका था और चूत में लंड को अन्दर बाहर कर रहा था.

मेरी मॉम ने पापा को लैटर लिख कर रख दिया- आप अपनी फैमिली के पास रहो, मैं अपनी बेटी और बेटा को कहीं लेकर दूर जा रही हूँ. मैंने तब टालने के लिए बोल दिया- हां हां जानू … मैं तुमसे जरूर शादी करूंगा. मैंने मौक़ा देख कर एक बार तो आते ही उसके होंठों पर जबरदस्त चुम्बन कर दिया, साथ में मैंने उसके मम्मों को भी हल्का सा दबा दिया.

मैंने अपने लंड को शान्त करने के लिए इतना हिलाया कि मेरा लंड का गाढ़ा पानी निकल गया. मैं भी दिन में सोच रही थी कि मुझे मुकेश की हरकत का विरोध तो करना ही चाहिए था. कुछ देर इसी तरह चूमाचाटी में ही हम दोनों को कब नींद आ गयी, कुछ पता ही नहीं चला.

मैंने उनके दोनों मम्मों को बारी बारी से चूसना चालू कर दिया और चूस चूस कर लाल कर दिए.

मैं- भाभी आप कह रही थीं कि महीने मैं एक दो बार … आप ऐसा ही कुछ बोल रही थीं शायद?भाभी- तो तुमने वो भी सुन लिया!मैं- हां, पर मैं किसी को भी नहीं बताऊंगा. एक दिन मैं प्राची को चोद रहा था तो उसने मुझे अपने जन्मदिन के बारे में बताया.

मेरे माता पिता ग़रीब हैं, पर अपनी हैसियत के अनुसार उन्होंने मुझे और मेरी बहन को पढ़ाया लिखाया है. जब मैंने उसे ऐसे करते देखा तो मैं समझ गया कि इसका दर्द कम हो गया है. मैं अब जोश में आने लगा और मैंने अपनी मॉम से पूछा- मॉम आपने होंठ इतने लाल कैसे हैं, लिपिस्टिक के चलते हो गए हैं या शुरू से ऐसे हैं.

मैं- हां यार, तुम दोनों की चुदाई देख कर मेरे लंड का बुरा हाल हो गया था. मैंने अपने लंड का टोपा मम्मी की चूत पर टिकाया और एक बार में पूरा पेलने की नीयत से झटका दे मारा. वो एकदम से बोली- मैंने तुम्हारे लंड पर इतना साबुन इसीलिए लगाया है कि तुम इससे मेरी चूत साफ़ करो, पर तुम तो बस हाथ से लग गए.

बीएफ लड़कों वाली उसके हाथों का स्पर्श पाते ही मैं बैचैन हो गया और अपना लंड आगे करने लगा. मन तो कर रहा था कि पांचों को पटा कर चोद दूं … लेकिन मुझे फिलहाल सौम्या पर फोकस करना था.

ब्लू फिल्म मूवी

उसने मुझसे पूछा- तुम मुझे शुरू में घूर क्यों रहे थे?मैंने कहा- मेरी आंखें चुंधिया गई थीं. नई भाभी की चुदाई बार बार की मैंने उसी के घर में! भाभी को लगा कि मेरा दोस्त उसे बच्चा नहीं दे पायेगा तो उसने मुझसे गर्भधारण में मदद मांगी. कुछ पल बाद मैं उन्हें बिस्तर पर गिरा दिया और उनकी चूत से लंड निकाल कर उनके बगल में लेट गया.

फिर थोड़ी देर टीवी देखने के बाद करीबन एक बजे के आस पास जब मैं सोने जाने लगा तो मैंने अपना मोबाईल चालू किया. विशाल ने मोनिका (रवि) की मैक्सी उतार दी और उसे गोद में उठाकर शयन कक्ष में ले गया. सुहागरात की सेक्सी वीडियो हिंदी मेंइस बार मैं जान गया था कि फिलहाल बहन की चुदाई मुमकिन नहीं है क्योंकि दिन निकलने को आ गया था.

लंड लेते ही भाभी की सांस अटक गयी वो कुछ बोलतीं, इससे पहले मैंने अपना पूरा लंड उनकी चूत में पेल दिया.

मुझे ऐसा लगा जैसे किसी ने गर्म लोहे का सरिया मेरी चुत में डाल दिया हो. असल में मैं बता दूँ कि उस तेल का प्रयोग सेक्स के दर्द को कम करने और आसान सेक्स के लिए किया जाता है,मैं उस तेल का प्रयोग फ़लक के साथ करना चाहता था जिससे गांड में लंड पेलने में उसको ज्यादा दर्द न हो.

थोड़ी देर में मेरा माल निशा के मुँह में निकल गया और वह भी बड़े प्यार से मेरा सारा रस पी गई. राहुल ने चाची को कॉल करके अगले हफ्ते के लिए कह दिया और उन्हें पास के होटल मिलने की बात कह दी. मैंने कहा- एक बार अपनी मम्मी से फोन से पूछ लो कि उन्हें आने में कितनी देर है.

आज तक की मेरे साथ जितनी भी सेक्स पार्टनर रही हैं, उन सभी को मैंने ना केवल संतुष्ट किया बल्कि उनके मुँह से मुझे ये सुन कर कि ‘अब बस करो … मैं थक गयी हूँ …’ काफी अच्छा लगता है.

वो एकदम नंगी सी हो गई थी और क़यामत माल लग रही थी क्योंकि पैंटी तो पहले ही मैंने उतार दी थी. नीरू हंस दी और उसने मेरे लंड को दबाते हुए कहा- तो अब देर किस बात की है?मैंने कहा- किसी बात की देर नहीं है मेरी जान!मैंने धीरे धीरे उसके सारे कपड़े निकाल दिए और उसने मेरे. तो मैं बाथरूम में गया, गीजर चालू करके गर्म पानी को एक जग में ले आया.

सेकसकी जानकारीआज से मेरे सपनों ने दुगनी रफ़्तार से उसको चोदने के सपने सजाने शुरू कर दिए. जैसे ही उसके आने का मैसेज मुझे अपने फ़ोन पर मिला, मैंने दोस्तों को बाहर रखवाली के लिए भेज दिया ताकि कुछ परेशानी न हो.

भाभी की चूत दिखाओ

[emailprotected]देसी न्यूड गर्ल सेक्स कहानी का अगला भाग:भाभी की चचेरी बहन की मस्त चूत चुदाई- 2. पहले तो मैंने लंड का सुपारा जीभ से छुआ, फिर उसे चाटा, फिर मुंह के अन्दर लिया. 10-15 धक्कों के बाद ही पूरा का पूरा लौड़ा मेरी चूत में जोर-जोर से पिचकारिया मारने लगा.

वीना कुछ देर सोचने के बाद बोली- चाचा मेरे पैर और कमर में चोट लगी है. लेकिन जीजा जी फुल मस्ती और नशे में आ गए थे, वो इतने ज्यादा टुन्न हो गए थे कि उनसे चला भी नहीं जा रहा था. भाभी कामुक सिसकारियां निकालने लगीं- आह आह उह ह और तेज आह उह!कुछ देर तक चुत चुदाई के बाद अब मैंने उनको घोड़ी बना दिया और पीछे से उनको चोदने लगा.

भाभी धीरे से बोलीं- जो होना था, सो हो गया … मगर अब ये बात किसी से न कहना. मैंने उसके दूध से मुँह हटाया और उसके होंठों के ऊपर अपने होंठों रख कर उसके होंठों को चूसने लगा. मुझे इस उम्र में झांट तमीज नहीं थी कि मम्मे का निप्पल कड़क होने का मतलब है कि लड़की या औरत को मजा आना शुरू हो गया है.

फ्रेश होकर मैं रूम में जाकर बैठने वाला था, तभी मुझे उसके बाथरूम से मादक सिसकारियों की धीमी आवाजें सुनाई देने लगीं. मेरे मुंह की आवाजें उईई … उईई … उईई … माँ … उफ्फ उफ्फ की जगह यस … ओ या … फक … फक … फक … फक … या या बेबी … ओ गॉड या या या … मैं बदलती जा रही थी.

मैं चाची की गांड में उंगली करते समय सोच रहा था कि मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि चाची की चुदाई का मेरा यह सपना इतनी आसानी से साकार हो जाएगा.

जब मेट्रो बदली तो आजमाने के लिए उसका हाथ छोड़ कर देखा, तो उसने वापस पकड़ लिया. தெலுங்கு வீடியோ செக்ஸ்मेरे मुँह से अगला सवाल निकल गया- हस्बैंड से झगड़ा तो नहीं हुआ?इस पर वह चुप हो गई और उसने अपनी निगाहें झुका लीं. सेक्सी ब्लू दिखाओतभी पिताजी ने मुझे बुलाया और कहा- हर्षद, तुम्हारी भाभी की दीदी को उनके गांव छोड़ कर आने का काम है. और उसने मम्मी की चूचियां इतनी मसली कि उनसे निकले दूध से डाक्टर की छाती भीग गई.

मैं अपनी सेक्स कहानीमम्मी को उनका आशिक बनकर चोदाका अगला भाग पेश कर रहा हूँ.

मैंने बोला- अन्दर जाकर किसी और से भी दिल्ली के रिश्तेदारों के बारे में पूछ लो. तो मैं शहर आया और जैसे ही मैंने चाचा जी के घर का दरवाजा खटखटाया, तो सामने से चाचा की लड़की दरवाजा खोलने आई. जब मैं गाड़ी चलाने लगा, तो सोनाली ने पूछा- क्या लाने गए थे हर्षद?मैंने उसके हाथ में क्रीम की ट्यूब देकर कहा- ये तुम्हारे काम आएगी.

अब वह लण्ड को बूब्स के बीच में आगे पीछे करके मेरे मुंह में देने लगा. मैंने पास्ट वाले अंकित से कहा- मैं उसका देवर हूं और वहां कुछ दिन रहने आया हूं. आंटी काफी शौकीन लग रही थीं क्योंकि उनके पास लेटेस्ट ट्रेंड की सारी नाइट वियर्स थे और वैक्सिंग का सारा सामान भी था.

भोजपुरी सेक्स वीडियो चुदाई

जैसे जैसे बाइक किसी गड्डे में उछलती, वैसे वैसे दीदी भी चाचा जी के लंड पर उछल रही थी. फिर मैंने करवट बदली तो पाया उसने अपनी पैंटी निकाल दी थी जिसकी वजह से मेरा लंड ठीक उसकी चुत पर टच हो गया था. एक ही बेंच पर हाथ में हाथ डालकर बिल्कुल सटकर बैठना … और जब किसी के आने की आवाज सुनाई देती, तो हम दोनों थोड़ा सा अलग हो जाते.

आगे क्या हुआ, वो मैं लेडी डॉक्टर सेक्स कहानी के अगले भाग में लिखूंगा.

मैंने पूछा- क्या इरादा है?वह मुस्कुरा कर बोली- सब अभी पूछोगे?उसकी आंखों में हवस का नशा छाने लगा था.

उसको देखकर मेरा मन भी किया कि अभी उसके कपड़े फाड़ कर चूचे मुँह में भर लूं और साली को चोद दूँ. हालांकि उसका लंड कड़क हो गया था, फिर भी इतना छोटा सा था कि मुझे हंसी सी आ रही थी. भाभी जी की चूतसौम्या नहा चुकी थी और इतनी खूबसूरत लग रही थी कि जैसे आसमान से हुस्न की परी उतर आयी हो.

नहाने के बाद मैंने उसके शरीर को टॉवेल से पौंछा और उसे नंगी ही गोद में उठाकर बेड पर ले गया. दोस्तो, मैं बता नहीं सकता कि कितना मज़ा आ रहा था, दिल कर रहा था कि वो ऐसे ही अपनी जीभ से मेरे लंड को चूसती रहे. मुझे लेटे अभी एक ही मिनट हुआ होगा, तभी रानी ने करवट बदली और वो अपनी गांड मेरी तरफ करके लेट गयी.

दोस्तो, मैं राजकुमारी एक बार फिर आप लोगों के लंड से पानी निकलने के लिए आ गई हूँ. सेक्सी मौसी की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं और मौसी को एक साथ किराए के कमरे में रहने का मौक़ा मिला.

झांटें साफ़ करने के बाद हम दोनों साथ में ही नहाये … इससे हमें एक दूसरे से लंड चूत रगड़ने में काफी मजा आ रहा था.

अब मैंने रिया के ऊपर लेटकर उसके एक मम्मे को अपने मुँह में ले लिया और नीचे से एक कसकर धक्का लगा दिया, जिसकी वजह से आधा लंड चुत में घुस चुका था. दोपहर को दोस्तों के साथ बाहर ही खाना खाकर जब मैं शाम को वापिस घर आया, तो देखा कि पम्मी आंटी और उनके चाचा चाची हमारे घर पर बैठे हुए थे. हम दोनों ने बाथरूम में हाथ धोए और वापिस वो मेरे कमरे में मेरे साथ आ गयी.

xxxx देसी नंगी शिल्पा की चूत से लंड रगड़ खा रहा था और इसी कारण से लंड गर्म हो गया था. उसने मुझको आगे की ओर झुका दिया और मेरी गांड पर थप्पड़ मारते हुए मेरी गांड में उंगली घुसेड़ दी.

लेकिन रात को पूरे बदन में और चूत में आग लगी रहती थी, तो मैं अन्तर्वासना की कहानी पढ़कर या ब्लू-फिल्म देखकर अपनी आग ठंडी करती थी. मैंने आशिया को किस करते हुए उसकी गर्दन पर एक छोटा सा चुम्बन और एक लव बाईट दी. मैं- तो बताओ कहां दर्द है … मैं एक थैरेपिस्ट के पास ही काम करता हूं, तो मैं तुम्हारी मदद कर सकता हूं.

বাংলা xxx

लंड लेते ही वो दर्द के मारे चिल्लाने लगी, मुझे रोकने लगी- छोड़ दे … नहीं चुदवाना मुझे … दर्द हो रहा है … रुक जा कमीने. मैंने उसके पास बैठ कर देखा तो वो मोबाइल में चुदाई की कहानी पढ़ रही थी. वो अपनी चुत की गहराई में मुझे लगातार खींच रही थी और अपने गर्म चुत रस से मेरे लंड को नहला रही थी.

उसने अपनी आंखें खोल दीं और थोड़ी सी घबराहट के साथ बोली- यह क्या कर रहे हो, कोई देख लेगा. उसका मुझसे चुदाई करवाने का बहुत मन था पर वो डरती थी कि कहीं मुझको अच्छा ना लगे.

मेरी इस सेक्स कहानी को जो भी महिलाएं पढ़ रही हैं, वो इस सम्वेदना को बेहतर समझ सकती हैं.

लेडी हॉर्नी सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं घर में अकेली रहती हूँ, मेरे पति की जॉब दूसरे शहर में लग गयी थी. मैं उस दिन अनाड़ी था मगर वो मेरे लिए एक अनुभव देने वाला कांड था जिससे आज मुझे हिम्मत मिल गई थी. उसके बाद मैंने दीदी जीजा और बच्चों को रहने की व्यवस्था की और अपने कमरे में सोने चला गया.

कुछ मिनट बाद मैंने उसकी चुत से लंड निकाल लिया और उसके बाजू में लेट गया. उसका एक हाथ चूत के ऊपर था, जिससे वो कभी अपनी चूत को सहलाती, तो कभी दाने को रगड़ती. मैंने विलास की मां और पिताजी को नमस्कार किया और सरिता को ‘बाय भाभीजी’ बोलकर बाहर निकला.

उसने कहा- जाओ आज तुम्हारा मूड न डर्टी डर्टी चल रहा है, हम कल मिलेंगे.

बीएफ लड़कों वाली: नीरजा ने ‘ओके मम्मी …’ कहा और मेरी तरफ देख कर मुस्कुरा दी- चलिए मामा जी!मैं नीरजा के साथ गेस्टरूम में आ गया. हम सभी एक साथ बैठते, एक साथ पढ़ाई करते एक साथ खाना खाते और एक साथ बाहर घूमने भी जाते थे.

इसी तरह धीरे धीरे पास्ट के 8 साल बीत गए और मुझे वर्तमान में वापिस आना पड़ा. Xxx इंडियन भाभी की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने एक भाभी ने मुझसे मदद मांगी. मैंने कहा कि इतना अच्छा लगा कि बनाने वाली के हाथ नहीं, बनाने वाले को ही चूम लूँ … ऐसा मन कर रहा है.

तू ये बोल रहा था कि तूने आज तक किसी लड़की को नंगी देखा ही नहीं है, परन्तु आज तूने मुझे पूरा हिला कर रख दिया है.

पहले मैं सौम्या डार्लिंग के बताए अनुसार ही मेरे जन्म के एक महीने बाद की डेट पर जाना चाहता था, लेकिन अब मेरे दिमाग में एक दूसरा आइडिया आ गया. ये दर्द होता है और खून भी निकलता है। अब आराम आराम से करोगी तो दर्द भी ठीक हो जाएगा. यदि वो हां कहता है तो ही हम यह टास्क करेंगे वरना और कोई नई युक्ति लगाएंगी।रात को जब सब सो गए, तब हमने जगह का मुआयना करना था.