बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर

छवि स्रोत,देहाती बिएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ वीडियो सेक्सी दो: बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर, मैंने साहिल और राज का लंड पकड़ लिया और उनको अपने पीछे खींचने लगी जैसे कि वे मेरे कुत्ते हों.

ननद भाभी की बीएफ

” कंपकपाती हुई आवाज़ में उन्होंने आज्ञा देने के भाव से मुझसे विनती की. बांग्ला सेक्सी मूवी वीडियोलॉकडाउन के समय बीवी मायके गयी हुई थी और मैं घर पर पड़े पड़े बोर होता रहता था।मैं और मेरी बीवी हम दोनों ही यहाँ पर फ्लैट में रहते हैं.

तो भाभी कहने लगीं कि ये उदासी तुम्हारी समझ में नहीं आएगी, ये सिर्फ एक लड़की ही समझ सकती है. सेक्सी बीएफ हिंदी में फुल एचडीफिर अचानक से उसने अपना लंड मेरी चूत से निकाल लिया और मेरे बूब्स को काटना शुरू कर दिया.

धीरे धीरे करके मैंने आधा लंड उसकी चूत में डाल दिया और रुक कर उसके मम्मों को चूसने लगा.बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर: मैंने भाभी की नशीली आंखों में अपनी आंखें डालकर देखा और कहा- हां मेरी रानी … आज से आपकी चूत बिना लंड के नहीं रहेगी.

जैसे ही मैंने साहिल के हाथ खोले, उसने तुरंत ही मेरे चूतड़ों पर एक जोर का थप्पड़ मार दिया.मैं चाहता था कि वो दिन भर नंगी रहे, चूत को हवा लगे तो उसे पुरुष की जरूरत महसूस हो.

बीएफ खुल्लम खुल्ला - बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर

[emailprotected]हॉट यंग इंडियन चुदाई कहानी का अगला भाग:गांव की कमसिन कली की चुत का मजा- 2.मैंने मजाक में कहा- अच्छा अगर जहर दूंगी तो वो भी पी लोगे?वो बोले- हां … मगर आपको चोदने के बाद!और यह कहकर वो चारों जोर जोर से हंसने लगे.

मैंने उसको धीरे से अपनी ओर कमर पकड़ कर खींचा तो वो मेरी छाती पर सर रखकर लेट गई. बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर मैंने मना किया … मगर वो बोले- भाभी, सैंडविच सेक्स में बहुत मजा आता है.

फिर रात को खाना खाने के बाद मां ने मेरा और खुद का बिस्तर हॉल में ही लगा लिया.

बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर?

उसने झड़ते ही मेरी तरफ देखा और बोला- मेरी जान, पहली बार था ना … अगली बार देखना कैसे तेरी गांड फाड़ता हूँ!मैंने सोचा कि शायद लड़का सही कह रहा है. पैरों में हाई हील वाली सैंडल पहनी जिससे मेरे मम्मे एकदम तने हुए दिखने लगे और गांड तोप की तरह उठ गई. वैसे तरोताज़ा तो वो धारा के मैसेज देख कर ही हो गया था लेकिन अभी उसके चेहरे पर एक अलग ही चमक थी.

मेरी पिछली कहानी थी:55 साल की आंटी की चुदाई स्टोरीये इंडियन आंटी हॉट सेक्स कहानी लॉकडाउन की है. पड़ोसी लड़का मुझे चोद रहा था पर वो बीच में झड़ गया और मैं प्यासी रह गयी. मयंक संगीता के मुँह की तरफ चला गया और बेड पर खड़ा होकर संगीता से लंड चुसवाने लगा ताकि लंड संगीता के थूक से गीला हो जाए.

मैंने उनकी जांघों को सहलाते हुए फिर से उनके होंठों को चूमना शुरू कर दिया. चैट में मेरी बेटी ने आगे शहजाद से ये भी लिखा था कि मुझे कल तुम्हारालंड चूसना है, चाहे जो हो जाए. आह … क्या मस्त मोम्मे थे शीना के!मैंने पहली बार महसूस किया कि शीना जवान हो गयी है.

मीरा की गांड उसकी चुत से काफी टाइट थी, तो निखिल जल्दी ही उसकी गांड में झड़ गया. जब तक चुत में लंड न जाए और चुदाई के समय लड़की के दूध हाथ में न हों, तब तक किसी भी तरह से मन को शांति नहीं मिलती है.

निखिल ने भी झटके देने शुरू कर दिए और मीरा की पीठ पर चढ़ कर किसी कुत्ते कुतिया की तरह उसकी गांड बजाने लगा.

रात में मन नहीं भरा … लगता है।अब दोनों की चुदाई की थप थप थप बढ़ने लगी।रोमिल बोला- मेरी बीवी मेरे सामने मेरे दोस्त का लन्ड लेकर कितनी खुश है।मैंने कहा- भाभी देवर का प्यार है भाई!और मैं जोर जोर से झटके लगाने लगा और उसकी गान्ड में फिर से लावा निकाल दिया।लंड निकाल कर मुंह में डाल दिया वो गपागप गपागप चूसने लगी और साफ कर दिया।हम एक-दूसरे से लिपटकर किस करने लगे.

आप सभी पाठकों को मेरा नमस्कार!मैं इस साइट पर नया तो नहीं हूं, पर अपनी पहली सेक्स कहानी लिख रहा हूं. मगर मेरी ज़िद पर वो मुझे उधर ले गया और मुझे अपने आगे खड़ा करके मेरे पीछे खड़ा हो गया. मैंने अगले ही उसकी कमसिन बुर को अपने मुँह में भर लिया और ज़ोर ज़ोर से पीने लगा.

वो बोलीं- इधर क्यों, कमरे में कर ना!मैंने कहा- आंटी, मुझे खुले में आपको चोदने का मन है. मैंने कहा- आंटी मुझे आपकी चुत मारने में मजा नहीं आता … एकदम ढीली हो गयी है. निखिल- मेरी जान बहुत रसीली है तू … बड़ा रस भरा है तेरे इन होंठों में.

मैं आपको देविका जी ही कहूंगा।फिर मैंने पूछा- क्या प्रॉब्लम आ रही है देविका जी आपको एप्लीकेशन यूज करने में?मैंने हाथ सेनीटाइज करते हुए उससे पूछा.

भाभी भी अपने शरीर को ढकने की पूरी कोशिश करती थीं … लेकिन साड़ी में कुछ न कुछ ढकने से रह ही जाता था. पूरा लंड चुत ने अन्दर तक चला गया था … जिस कारण से उसे बहुत ज्यादा दर्द हो रहा था. दस मिनट तक मैंने उसे चोदा, फिर उसे छोड़ कर उसकी नींद में सोई मां की चूत में लंड डाल दिया और उसे चोदने लगा.

पिंकी लंड पर उछल उछल कर गांड पटकने लगी और मस्ती से चुदवाने लगी।अब दोनों तरफ से बराबर झटके लगने लगे और ऐसा लगने लगा जैसे दोनों एक-दूसरे को चोद रहे हों।पिंकी ने बताया कि रोमिल के लंड में इंफैक्शन हो गया है, जिस कारण उसने 5 दिनों से नहीं चोदा।अब पिंकी जल्दी जल्दी उछलने लगी और आहह हाँह उहह हह करके चूत से पानी छोड़ दिया. उसने मेरे लंड को चूसा और अंततः उसे पकड़ कर अपने चुत में सैट करके उस पर उछलने लगी. दोस्तो, मैं अपनी चूचियों की बात करूं तो जितने भी लोग मेरी चूचियों को पहली बार देखते हैं, सबको यही लगता है कि मेरी चूचियों कम मसली गयी होंगी.

चाची- मैंने कभी नहीं सोचा था कि इतनी सी उम्र में तुम्हारा लौड़ा इतना बड़ा और मोटा होगा.

प्राची मेरे लन्ड पे बैठ के कूदने लगी।मेरे दोस्त की सबसे छोटी बहन मस्त रण्डी की तरह चुद रही थी।पांच मिनट कूदने के बाद वो फ़िर से झड़ गई. मैंने एक 7 इंच का डिल्डो खरीदा हुआ है, जिससे मैं जब उसकी चुदाई करता हूँ तो अपना लंड और डिल्डो दोनों उसकी चूत और गांड में डाल देता हूँ.

बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर मैं भी क्या कहता … बस चूतियों की तरह हंस दिया।तभी दरवाजे की घण्टी बजी. भाभी- अच्छा देवर जी … अब ये पाप नहीं है क्या!मैं- नहीं भाभी, बस अब मैं आपको चोदना चाहता हूँ.

बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर मैं पिछले छह साल से अन्तर्वासना पर प्रकाशित हिंदी देसी सेक्स कहानी पढ़ता आ रहा हूँ. लगभग दो-तीन मिनट के बाद फ़लक ने धीरे से बाथरूम का थोड़ा सा दरवाजा खोला और मुझसे बोली- सर, ये कपड़े तो बहुत छोटे हैं, मुझे फंस नहीं रहे हैं.

सितारा के पीछे आकर मैंने अपना लण्ड उसकी चूत में डाला तो वो अपने चूतड़ आगे पीछे करने लगी.

फीमेल वियाग्रा इन इंडिया price

आज मैं उसी छोटी चूत वाली भाभी के साथ हुई चुदाई की कहानी को बता रहा हूँ. मैं अपनी गांड में ग्लिसरीन की ठंडक अभी महसूस ही कर रही थी कि इतने में प्रशांत ने लंड टिकाया और जोरदार झटका दे मारा. रात को मैंने दारू पीते समय कोमल को बताया कि अमित हम दोनों को घूमने के लिए मसूरी बुला रहा है.

मैंने भी आशारा को बांहों में कसते हुए कहा- तुम जब कहो आशारा, मैं हाजिर हो जाऊंगा. कॉकोल्ड वाइफ सेक्स कहानी में पढ़ें कि जब वो अपने दोस्त के घर में उसकी बीवी के साथ था तो दोस्त की बीवी ने उसे कैसे सेक्स का शानदार अनुभव दिया. इस कॉलगर्ल चुदाई कहानी के अगले भाग में मैं आपको अपनी पड़ोसन दीदी की चुदाई की कहानी को आगे लिखूंगा.

मैं अभी आंटी से बात ही कर रहा था कि तभी वो अंकल आए, जिनके साथ आंटी का चक्कर था.

तभी ऋतु ने कहा- प्रकाश या,र इस तरह से सेक्स में थोड़ा मजा कम आ रहा है, कुछ नया ट्राई करें क्या?मैंने पूछा- क्या नया?उसने कहा- क्यों न थ्रीसम ट्राई करें!मैंने लंड चुत के अन्दर तक पेलते हुए कहा- मैं तो तैयार हूँ लेकिन तीसरी लड़की कहां है?ऋतु चुटकी लेते हुए बोली- अबे यार, मैं तो तीसरे की यानि किसी लड़के की बात कर रही थी. लेकिन काफी देर तक मेरे मनाने के बाद वह मान गई और हम रात होने का इंतजार करने लगे. भाभी- ठीक है … पर किसी को बताना मत!मैं- ठीक है भाभी … अब आपका एक का दूध निकलना बंद हो गया है.

उस वक्त उसको लन्ड चूत के अंदर चाहिये था चाहे वो मेरा हो या राहुल का!मैंने एक बार फिर कमर की मदद से लन्ड चूत के बाहर हिलाते हुए जरा सा अंदर किया और नेहा की सिसकारी निकल गयी।मैंने फिर से पूछा- राहुल से चुद रही हो न जान?लंड की भूखी नेहा सिर हिलाकर हामी भरने लगी. अब बारी चुदाई की थी, तो मैंने अपने लंड को तैयार करने के लिए उनसे कहा. एक दिन की बात है, वो बीमार थी, तो दो दिन तक मैं उसको नहीं देख पाया था.

मैंने उसके टॉप को ऊपर उठाया और उसकी लाल ब्रा के ऊपर से ही उसके स्तनों को अपने दांतों से हल्का सा दबा दिया. अब तक मुझे भी मज़ा आने लगा था … लेकिन मैं नाटक करते हुए उससे कहने लगी- नहीं तुम ऐसा मत करो; जाने दो मुझे.

इसी तरह कुछ और देर घूमने के बाद हम दोनों वहां से आ गए और शहज़ाद मुझे मेरे घर छोड़ते हुए अपने घर चला गया. धारा- अच्छा जी … तो आपको यक़ीन नहीं हो रहा है कि ये मैं ही हूँ! दो मिनट रुक जाइए फिर आपको यक़ीन हो जाएगा. शेखर ने मन मारकर नाश्ता किया और फिर अपने मोबाइल पर गाने चला कर लेट गया.

मैं- पता नहीं अंकल, किसी ने मुझे पसंद क्यों नहीं किया, मैं क्या कह सकता हूँ.

इसी अवस्था में धारा ने 5 मिनट तक शेखर के आधे लंड से अपनी चूत की गहराई नापी, फिर धीरे-धीरे बदन का पूरा भार लंड पर डाल दिया. तो तन्वी हंसते हुए बोली- अरे यार अनलिमिटेड … बट इसके पहले मुझे तुझसे एक बात पूछनी थी. आज पहली बार किसी से चुदाई के दौरान मेरा अपना हाथ अपनी चूत पर चला गया था.

उंगलियाँ अब सिर्फ़ पीठ पर ही नहीं बल्कि शेखर की कमर तक भी पहुँच गयी थी. वो मेरी नंगी चुचियों को ज़ोर ज़ोर से चूसने लगा और अपने हाथ से दबाने लगा.

फिर इससे पहले कि वो सम्भालता, वो सीधा एक गद्देदार बिस्तर पर पीठ के बल लेट चुका था. शाम को मैं उठा तो देखा तमन्ना दीन-दुनिया से बेखबर नंगी ही सो रही थी. भाभी की आंखों में चमक आ गई और उन्होंने मेरे लंड को अपने मुँह में भर लिया.

बिरयानी फोटो

जिससे मेरे भी मुंह से ह्म्म्म … ह्म्म्म जैसे आवाज आ रही थी।नीतू अभी तक आँखें बंद करके चुद रही थी.

फिर जब चाचा ने अपना मुँह उठाया, तो उनका पूरा चेहरा चाची की चूत के पानी से भीगा हुआ था. कुछ देर बाद मैंने उसे बिस्तर पर सीधा लिटा दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा, चूमने लगा. फिर मैंने अपने पति से झूठ बोल दिया कि शर्मा जी की वाइफ ने मुझे रोक लिया है.

अतः मैं अपनी स्कूटी लेकर बाजार गई तथा सभी सामानों की खरीदी के बाद एक जनरल स्टोर पर आई।यह जनरल स्टोर हमारे बिल्कुल पास में रहने वाले एक अंकल का था. थोड़ी देर बाद फिर मुझे अहसास हुआ कि फिर कोई मेरे लंड के साथ खेल रहा है. ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म एचडीफिर मैं पीछे हट गया और शीना को ऊपर से नीचे देखने लगा जिससे शीना शरमा गयी और अपनी आंखें नीचे कर ली.

मैं आराम से बारी बारी से चाची की चूचियों को पीता, काटता रहा और उनके कमर और चूतड़ों पर हाथ फिराता रहा. अब आगे बर्थडे सेक्स गिफ्ट की कहानी:मैं उसे डांटती हुई बोली- पहले मुझे छोड़ो और सीधे खड़े हो जाओ.

इस बात को मैंने पापा को बताया, तो उन्होंने उससे बात करके कहा- तुम काम शुरू करो, मैं अभी किसी बिजली वाले को भेजता हूँ. पतली सी कमर के ठीक बीच में गहरी सी नाभि और सुराही की तरह घूमती हुई उसके नीचे मोटी सी गांड. और साथ ही एक और नई लड़की की चुदाई का मजा भी मिला जो आज से पहले मुझे कभी नहीं मिला था.

मैंने अपने हाथों से उसके हाथ पकड़ कर दूर किए और उसकी चूत को देखने लगा. मैंने किचन में जाते ही अंजू भाभी को पीछे से पकड़ लिया और उनको किस करने लगा. मगर एक बार जरा साफ कर देते कि कितनी हॉट लगती हूँ तो उसी हिसाब से मैं खुद को देख लेती.

इसके बाद से भाभी की चूत मेरे लिए खुल गई थी, कभी भी जाकर भाभी की चूत चोद देता था.

वो मम्मी का हाल सुनने लगे, लेकिन उनकी नज़रें मेरी छाती पर ही टिकी थीं, जिसको मैं जानबूझ कर नज़रअंदाज़ कर रही थी. इस देसी गे सेक्स कहानी के लेखक के आग्रह पर मैंने इसमें कोई बदलाव नहीं किए हैं.

फ़लक ने लौड़ा पकड़ते ही एकदम अपनी मुट्ठी भींच ली और धीरे धीरे मुट्ठी को आगे पीछे करना शुरू किया. दूसरे दिन से हम दोनों एक दूसरे के साथ पहले जैसे रहने की कोशिश करने लगे. मेरी एक्स और मेरी वर्तमान गर्लफ्रेंड की चुदाई का मजा तो मुझे मिल ही रहा था, लेकिन इस बार उन दोनों हसीनाओं को एक साथ चोदने मजा मिला था.

अन्दर घने जंगल में पहुंच कर गाड़ी खड़ी कर दी और जंगल में अन्दर की तरफ चल दिया. फिर मैं धीरे से नेहा की पीठ पर चाटते हुए उसकी कमर पर जा पहुँचा और फिर धीरे धीरे उसकी गाँड पर चूमने लगा. मैंने उससे डॉक्टर को पापा का नाम बताने को बोला और बताया कि आज मेरी मम्मी का चैकअप होना था.

बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर कुछ देर बाद … ना चाहते हुए भी मुझे उसको बताना पड़ा कि मुझे बेहद दर्द हो रहा है. वो गर्मागर्म सिसकारियां भरने लगी और अपनी गांड उठा-उठा कर मेरा साथ देने लगी.

लड़का होने की जड़ी

मुझे भी नशे की खुमारी थी तो मैं भी ब्रा और पैंटी में समीर के दूसरी तरफ लेट गयी।अब अनामिका समीर के पूरे बदन को सहला रही थी तो समीर का लन्ड भी खड़ा होता जा रहा था. उसका ये संदेश देखने के बाद मेरे शरीर में करेंट दौड़ने के लिए काफ़ी था. मैं सोच रहा था कि अभी की अभी यहीं पर पकड़ कर भाभी को रगड़ दूं, बोबे दबा दूँ साली के … और गांड पर चमाट मार मार कर पूरी लाल लाल कर दूँ.

मैं फ़लक के ऊपर झुका और उसके नरम गुलाबी होठों को अपने होठों से चूसने लगा. उधर से धारा का मैसेज आया और उसने शेखर को फटाफट तैयार होने के लिए कहा. bf bf सेक्सीचाची कहने लगी- राज, ऐसे तो मुझे बहुत दिक्कत हो रही है, तुम बेड के नीचे ही खड़े हो, मैं थोड़ा झुक जाती हूँ; फिर करना.

अब अंजू भाभी बहुत गर्म हो चुकी थीं और उनकी चुदास भरी सिसकारियां और तेज हो गई थीं- आह … मांआ … आह!अंजू भाभी का शरीर अकड़ने लगा और चुत ने पानी छोड़ दिया, जिसे मैं पूरा का पूरा चाट गया.

रूपाली आ जाएगी तो क्या सोचेगी।लेकिन मेरी जिद के आगे वो हार गई।मैं भाग के गया और मौसा की शेविंग किट उठा लाया।मैंने नीतू से मैक्सी उतारने को बोला तो उसने अपनी मैक्सी नाभि तक उठा ली और कहा- ऐसे ही पैंटी उतारकर करो. वो चौंक गई और बोली- ये आपने कब देख लिया राज?मैंने उसे बताया कि कैसे मैंने उसे देखा था.

मैं तय समय पर यानि शाम के पांच बजे जब वहां पहुंचा, तो मैं उसे वहां नहीं देख पाया था. मैंने अपनी चूत को चिकना कर लिया और शरीर पर जहां भी एक्स्ट्रा बाल थे वह सब हटा दिए और रगड़ रगड़ के अपनी चूत को साफ कर लिया. खैर, धारा ने थोड़ी देर तक शेखर के लंड से उसी हालत में खिलवाड़ किया।फिर धीरे से उसकी फ़्रेंची में अपनी उंगलियाँ फँसा कर उसे नीचे सरकाना शुरू किया.

वो अपने होंठों को मेरे होंठों के पास लाने लगे तो मैं पीछे को होने लगा.

मैंने रोजाना भाभी से किसी न किसी बहाने से इसी विषय पर बात करनी शुरू कर दी थी और भाभी धीरे धीरे मुझसे खुलती चली गईं. मैंने उसके डर को खत्म करने के लिए धीरे धीरे लंड को चलाना शुरू कर दिया और लंड को गांड में घुसाने के लिए मयंक की तरफ इशारा कर दिया. मैं शीना की बात सुन कर खुश हो गया और मन ही मन अपनी किस्मत पर नाज़ करने लगा कि आह आज शादी के बाद पहली बार किसी कुंवारी लड़की की सील तोड़ने को मिलेगी.

ब्लू फिल्म ब्लू फिल्म वीडियो ब्लू फिल्ममेरी ये घटना एकदम सच्ची है और मैं इसे वैसे ही बता रहा हूँ, जैसा कि हुआ था. सुम्मी ने गगन को अपनी बहन की तीन दिन तक खुलेआम चुदाई करने का आदेश दे दिया था.

पेट की चर्बी का ऑपरेशन

मेरे चूतड़ों का आनन्द लेते हुए दस मिनट बाद देवर जी ने भी अपना वीर्य मेरी चूत में निकाल दिया. देसी हॉट गर्ल सेक्स कहानी एक ऐसी लड़की की है जो सेक्स की चाहत में अपने पति के दोस्त से चुदने लगी. इन बातों में न तो शेखर ने और ना ही धारा ने कोई सेक्स का टॉपिक छेड़ा.

वो मेरे मम्मों को देखते हुए दूसरी तरफ गया और ग्लास उठा कर नल से पानी लेने लगा. उसके लंड की चमड़ी यूँ तो बंद ही थी लेकिन चमड़ी के अंदर से झांक रहे सुपारे पर प्री-कम की बूँदे साफ़ झलक रही थीं. मेरा एक हाथ अपने आप मेरी चूत में घुस गया और दूसरा हाथ मेरे निप्पलों को सहलाने लगा.

मैंने कहा- फ़लक, कोई बात नहीं, जितने बंद होते हैं उतना बंद करके तुम बाहर आ जाओ. एक दो बार उसने चुत लंड पर पटक कर एडजस्ट की और मयंक से बोली- हां जान … आ जाओ … मेरी गांड बहुत ज्यादा टाइट है, प्लीज धीरे से फाड़ना. पर मेरे घर वालों की सख्ती के कारण मैं सेक्स का मजा नहीं ले पा रही थी.

रिज़वाना की गांड एकदम गोल और उठी हुई थी तथा दोनों चूतड़ कुछ इस तरह से अलग अलग से थे कि उसकी चुत पीछे से बड़ी आसानी से चोदी जा सकती थी. थोड़ी देर बाद नार्मल हो कर नेहा बोली- चल आ जा अब मेरी बारी!ममता- रहने दे यार … मेरी चूत को लंड की आदत पड़ गई है.

शेखर- ललित भाई से आपके और उनके द्वारा सेक्स में मसालेदार और रोमांचक तरीक़े से मज़े लेने वाली बात मेरे दिमाग़ पर छायी हुई है.

मैंने कहा- क्या हुआ?उसने कहा- तुझे अच्छा लग रहा हो तो मैं आगे कुछ और करूं. एक्सएक्सएक्सी बीएफआशारा ने लंड चूस कर अंतिम बूंद भी निचोड़ी और चेहरे पर बिखरे वीर्य को उंगलियों में लगाकर चाटने लगी. बीएफ सेक्सी सेक्सी अंग्रेजीया यूं कह लो कि कुछ ही महिलाओं को लन्ड चूसने में मज़ा आता है जिसे वो दिल लगा कर चूसती हैं, बाकी बस औपचारिकता के लिए मुंह में लेती हैं और कुछ तो मुंह में लेने से साफ मना ही कर देती हैं. जिस कारण से शहज़ाद ने काफी जोर देकर पूछा, तो उसको मैंने सारी बात बता दी.

अचानक हुए इस हरकत से मैं घबरा गया लेकिन मेरा भी मन करने लगा था कि उसको किस करूं.

मौसी- अब मैंने फ्रेंची के ऊपर से ही तेरे लंड को हाथ लगाया तो साला कोबरा सा फुंफकारने लगा. मैं जीजा का लंड चूसने के बाद अपनी पुद्दी में लंड डलवाने के लिए बेचैन थी. फिर प्रिया ने जया की चुत में अपनी 4 उंगलियां एक साथ डाल दीं और अंगूठा बाहर से ही उसकी क्लिट पर रगड़ने लगी.

मैंने बता रखा है कि आप मेरी सहेली के पति हैं, आपके साथ आने जाने में किसे आपत्ति हो सकती है. पानी पौंछ लेने के बाद उसने मेरी तरफ देखा तो मैंने उससे कहा- बेटा मेरा एक और काम कर दो, जरा मेरे बाल बांध दो. सुनसान रास्ते में उसने मुझसे बात शुरू की; कुछ अपने बारे में बताया और मेरे बारे में भी पूछा.

सेक्स वीडियो गाना वाला

उसने ज्योति की जींस की जिप पकड़ कर नीचे सरका दी और हाथ अन्दर घुसा कर पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत मुट्ठी में भर कर मसलने लगा, पर तभी एक झटके से बस रुक गई. लेकिन मेरी गांड फट रही थी क्यूंकि ये विशाल का पहली बार सेक्स था तो मुझे उम्मीद थी कि ये कण्ट्रोल नहीं कर पायेगा. हमारे शहर में एक नदी पड़ती है, जिसके पास नए साल वाले दिन खूब बड़ा मेला लगता है.

शेखर समझ गया कि धारा अपने तरीक़े से मज़े लेना चाहती है, और उसने कहा भी था कि उसकी इच्छाओं का सम्मान होना ज़रूरी है.

आप भी तो उस रोमांच को महसूस करना चाहते हैं ना!हाँ इस बार मेरे लिए ये और भी ज़्यादा रोमांच से भरा होगा क्यूँकि इस बार ललित की ग़ैर-मौजूदगी में मैं किसी से मिलूँगी और ललित की इच्छाओं के अनुसार नहीं बल्कि अपनी इच्छाओं के अनुसार इस खेल का मज़ा लूँगी.

मैं भाभी के कुछ दूर जाकर भाभी की फैमिली के जाने का इंतजार करने लगा था. जिंदगी भी कितनी अजीब है किस मोड़ पर क्या रंग दिखाएगी, कुछ पता नहीं होता है. বেঙ্গলি সেক্স বেঙ্গলিमैंने आगे बढ़ कर भाभी को फिर से अपनी बांहों में ले लिया और एक हाथ से उनकी साड़ी खोल दी.

कॉलगर्ल चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे मेरे दोस्त की दीदी अपनी चुदाई के पैसे बताकर मेरे सामने नंगी हो गयी. मैंने झटपट एक सलवार कमीज़ पहन लिया बिना अन्दर कुछ पहने, तुरंत जाकर दरवाज़ा खोला. खुद एक हाथ से उसने सोनम की पैंटी सरका दी और उस गोरी गुलाबी चुत को देखता ही रह गया.

भाभी मुझसे दूर हटने की कोशिश कर रही थीं और साथ ही कामुक सिसकारियां भी ले रही थीं. और रही बात हमेशा के लिए … तो अगर तू बाहर की लड़की शादी करेगा, तो तू सबको चोद सकता है.

अब चंचल ने ऋतु से पूछा- दीदी, क्या आप प्रकाश से चुदना चाहती हो?ऋतु ने नाटक करते हुए कहा- नहीं, मैंने ऐसा कब कहा?चंचल ने कहा- अरे बोलो न दी, आपको चुदना है क्या?ऋतु- मुझे प्रकाश से नहीं चुदना है लेकिन आज मन तो है चुदने का!इस पर चंचल ने कहा- तो दी, प्रकाश से ही चुद लो न … वैसे भी पहचान का भी है और आपका पुराना बॉयफ्रेंड तो था ही.

चाची ने अपनी एक टांग को मेरे ऊपर चढ़ा लिया और लगभग मुझे अपने शरीर के नीचे दबा लिया. मगर जैसे ही अंकल स्पीड में आए, उनका लंड भी पूरा जाने लगा और मुझे सांस लेने में तकलीफ होने लगी. फिर मैंने कहा- क्यों बहन के लोड़े … माँ चुद गयी ना … क्या तेरे लंड में इतना दम है कि तू मेरी प्यास बुझा सके?साहिल बोला- मां की चूत तेरी … बहन की लोड़ी … हमें छोड़ कर तो देख … फिर बताते हैं तुझे हम!फिर मैंने उसका लंड सहला दिया और उसके होंठों पर किस करना शुरू कर दिया.

बीएफ पिक्चर देखने वाला दोस्तो, अगर मेरी X भाबी चुदाई स्टोरी पढ़ कर आपके लंड चुत से पानी निकल गया हो, तो प्लीज़ मुझे कमेंट और मेल करके जरूर बताएं ताकि इसके बाद मैंने कैसे भाबी की गांड भी मारी, वो बता सकूं. मुझे शर्म सी आई, तो मैंने इधर उधर देखा कि किसी ने हमें देखा तो नहीं.

तो दोस्तों कैसी लगी मेरी हॉट वुमन सेक्स कहानी … अगर कोई गड़बड़ हुई हो, तो माफी चाहता हूं. हॉट फॅमिली सेक्स कहानी में पढ़ें कि मौसाजी के आने बाद भी मौसी ने अपनी जेठानी के साथ मेरी चुदाई का सेटिंग कर दी. मैंने तुरन्त गौतम से पूछा- डिलीवरी बॉय कैसा है?वो बोला- क्यों?मैं बोली- बोल ना.

गधा वाला सेक्स

मैंने उसकी तरफ देखा तो वो बोली- अकेले बैठी बोर हो रही थी, आपसे बात करूंगी तो बोरियत नहीं होगी. सोनम ने भी ज्यादा भाव ना खाते हुए उसकी कॉलर छोड़ी और सीधा उसके लौड़े को पकड़ लिया. इस तरह अब रात के 9 बजे से कुछ ऊपर समय हो गया था; मुझे बहुत तेज़ ठंड भी लगने लगी थी.

कुछ देर में चार चार पैग हलक के नीचे हो गए, हम दोनों को नशा होने लगा. उसके व्यक्तित्व में एक गजब का आकर्षण था, जो मुझे अपनी ओर खींच रहा था.

मुझे सोचते देख कर बंगालन भाभी मेरे करीब आ गईं और मेरे गाल पर चूमती हुई बोलीं- क्या सोच रहे हो मेरे भोले देवर जी!बंगालन भाभी ने जैसे ही मेरे गाल पर चुम्मी ली, मैं एकदम से हड़बड़ा गया.

निखिल ने भी समय निकलता देख कर अपना लंड रीमा की चुत की फांकों पर रख दिया और धीरे धीरे अन्दर घुसाने लगा. तभी प्रशांत ने मुझे स्मूच करने लगा और राजेश ने मेरे गाउन के नीचे से हाथ डालकर मेरी बिना पैंटी की चूत पर धावा बोल दिया. आपका प्रवीण[emailprotected]यह जवानी है दीवानी कहानी का अगला भाग:प्रेमिका की बुर चोदने की ललक- 2.

उसका साइज 32-30-28 का है जो कि उर्वशी से जरा कम है पर ये सील पैक आइटम है. मौसी- अब मैंने तेरे लंड की गोटियों को सहलाना शुरू कर दिया, तो तेरा लंड मुझे देख कर ऐसे गुर्राने लगा … जैसे मैंने उसकी बात ही नहीं सुनी हो. इस सेक्सी भाबी हिंदी कहानी पर आपके सुझाव आमंत्रित हैं … मुझे इंतज़ार रहेगा.

क्योंकि मैंने अन्तर्वासना और फ्री सेक्स कहानी पर बहुत सी सीलतोड़ चुदाई की कहानी पढ़ी थीं जिसमें लड़की की चुत की सील टूटती है … तो उसे बहुत दर्द होता है और चुत में से खून भी आता है.

बीएफ हिंदी बीएफ पिक्चर: आपकी सबीना[emailprotected]मेरी कामुकता स्टोरी का अगला भाग:बेटी के यार के लंड से चुदाई की लालसा- 3. जबकि उस टाइम सर्दियों का मौसम था तो मुझे उम्मीद ही नहीं थी कि भाभी इस तरह की पोजीशन में लेटी होंगी.

खासकर मैं कम उम्र के नए नए जवान हुए लड़के से मेरी चुदाई करवाना चाहती हूं. अब रुचि अपनी चुत के बाजू में उंगली फेर रही थी और मैं उसे ताबड़तोड़ चोद रहा था. मैंने कोमल से कहा- अमित को बुला लेता हूं … दोनों मिलकर तेरीरंडी की तरह चुदाईकरेंगे.

मोनू के स्कूल चले जाने के बाद वो वापस आईं तो मैंने उन्हें बांहों में जकड़ लिया और हमारे होंठ मिल गए.

थोड़ी देर तक गांड चाटने के बाद मैंने लंड उसके मुँह में डाल दिया और एक बार चुसा कर गीला कर दिया. चुदाई इतनी जोर से हो रही थी कि लंड के घर्षण से चाची की चूत सुलगने लगी और चाची तरह-तरह की आवाजें निकालने लगी. जैसे ही मैं भाभी के पास आया, तभी अचानक से उनकी सास अम्मा जी आ गईं और मुझसे पूछने लगीं कि अनुज यह ऑनलाइन पैसे कैसे जाते हैं? मुझसे बनता नहीं है, तुम इसे समझा दो.