बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी

छवि स्रोत,हिंदी सेक्सी गांव का

तस्वीर का शीर्षक ,

देहाती पॉर्न वीडियो: बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी, मगर उतारते हुए मेरा बनियान फंस गया क्योंकि बनियान पूरा गीला था और बदन से चिपक रहा था.

रामदेव बाबा व्यायाम

दोस्तो, आप सोच रहे होंगे कि मीता ऐसे किसी कहने के साथ ही नंगी हो जाती है. सेक्सी पिक्चर एचडी मेंमैं जनता था कि मैं चाहे जो भी करूँ, मौसी किसी को बताने वाली नहीं हैं.

देसी लंड की कहानी में पढ़ें कि गाँव के मर्दों में शहर की चमकती चूत की चुदाई करने की कितनी लालसा होती है. सेक्सी वीडियो सुहागमैं अब ऊपर की ओर गया और उसके ब्लाउज को खोल कर उसकी चूचियों को आजाद कर दिया.

फिर उसने मॉम को घूम जाने के लिए कहा- आप घूमकर आंखें बंद कर लो और जब तक मैं न कहूं आपको आंखें नहीं खोलनी हैं.बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी: वो मेरे सिर को अपनी चूत पर दबाने लगी और मेरे होंठों को अपनी चूत की फांकों पर रगड़ने की कोशिश कर रही थी.

आप इसको खुश कर दो, इसकी लौंडियां आपको खुश कर देंगी और बलराम भी खुश हो जाएगा.मैं बाहर आया और पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- जीजू मुझे डर लग रहा है, नींद नहीं आ रही है.

डॉक्टर सेक्सी वीडियो डाउनलोड - बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी

मैं- बुआ क्या आपकी कोई सेक्स फैंटेसी है?बुआ- हां, मैं हमेशा से ही खुले आसमान के नीचे चुदना चाहती हूं.उस रात के बाद वो रोज मुझे पांडेय सर के बारे में बात करते हुए ही चोदते थे.

उनकी इस तरह की ड्रेस में उनका सेक्सी जिस्म और भी उभर कर सामने दिखने लगा था. बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी तीसरे वाले में गया तो वहां एक बूढ़ा आदमी, जिसकी उम्र पचास-पचपन के आस पास थी, पेशाब कर रहा था.

मैं उसकी बात सुनकर मजा ले ही रहा था कि तभी अचानक से उसने मेरी गांड में एक उंगली डाल दी.

बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी?

कॉलेज खत्म होने के बाद मैं औरंगाबाद में सरकारी जॉब के लिए तैयारी करने लगा. मैं उन्हें कमर के ऊपर से हाथ लेकर दबा रहा था। मैं उनके ऊपर झुक कर मामी के भूरे बूब्स को जी भर कर पी रहा था। अब मैं मामी की चूत में लौड़ा डाल देना चाहता था।मैं दोबारा उनकी सीट पर आया और लौड़ा चूत में लगा दिया. इंडियन थ्रीसम सेक्स कहानी में पढ़ें कि अपने सीनियर की बीवी की चुदाई के बाद मैंने अपने दोस्त को बुला लिया.

दोस्तो, मजा आ गया मामी का दूध पीकर।वो प्यार से मेरे बालों में अपना हाथ घुमा रही थी और अपनी चूचियां पिला रही थी. कुछ देर बाद मौसा जी ने मुझे बिस्तर पर लिटा लिया और मेरी जांघें खोलकर मेरी चूत में जीभ घुसा कर चाटने लगे. मुझे अब उसकी नंगी गांड और चूत दोनों दिखाई दे रही थीं क्योंकि मैं उसके पैरों की तरफ था.

दीक्षा- कौन सी देखता है?मैं- दीदी मुझे तो धीरे धीरे वाली जो करते है ना, वो ही पसंद है. थोड़ी देर बाद मैंने होंठ हटाए और पूछा- चिल्लाई क्यों?भाभी बोली- तुम्हारे भैया ने मुझे अपने काम के चक्कर में तीन महीनों से नहीं चोदा है और तुम्हारा उनसे लम्बा और मोटा है. अब मैं आपको वह घटना बताता हूं जहां से चुदाई का ये सिलसिला शुरू हुआ था.

मैं पैंटी को मुँह में दबा कर मुठ मारता था, उससे लाख दर्जे सीधे चुत की चुसाई में मजा आ रहा था. मैंने उसे 6 महीनों में ही पटा लिया था और उसके बाद दस बारह बार चोद भी चुका था, पर नई नई चुदाई के काफी समय के बाद कुछ ऐसा हुआ, जो मुझे अन्दर तक मजा दे गया था.

ये तो मेरी मर्ज़ी है कि मैं किसके साथ सेक्स करूं, किसके साथ नहीं … समझे!कालू- अच्छा मैडम, जैसी आपकी मर्ज़ी.

पूरे दिन घूमने के बाद शाम को करण मुझे मेरे अपार्टमेंट के बाहर छोड़कर चला गया और मैं फाइल हाथ में लेकर बिल्डिंग की ओर आ गया.

मुखिया समझ गया, उसने भी जल्दी से धोती ऊपर की और अपना लंड सुमन के सामने कर दिया, जिसे देख कर सुमन खुश हो गई और लंड के सुपारे को खीर में डुबो कर चूसने लगी. बहुत मजा आ रहा था भाभी की चूत का रस पीने में।अचानक मैंने चूत से मुंह हटाया और उसकी चूत में उंगली दे दी और तेजी से चोदने लगा. दो मिनट बाद उसने मेरे होंठों को छोड़ दिया और बदन ढीला छोड़कर चुदने लगी.

इसके बाद मेरी अम्मी ने किस किस से कैसे चुदाई करवाई, वो सब अगली इंडियन रंडी सेक्स स्टोरी में लिखूंगा, आप मुझे मेल भेजना न भूलें. मेरी मदमस्त कर देने वाली सेक्स कहानी को लेकर मुझे अपने मेल लिखना न भूलना कि इस सेक्स कहानी में आपको कितना मजा आया!आपकी पिंकी सेन[emailprotected]कहानी का अगला भाग:गांव की चुत चुदाई की दुनिया- 12. मुखिया- अब आई ना लाइन पर … चल इधर मेरे पास बैठ और ध्यान से मेरी बात सुन.

जब किसी भी तरह बात नहीं बनी तो मैं चुपचाप अपनी जॉब छोड़कर अहमदाबाद चला गया.

अब मैं बेड से नीचे उतरकर फर्श पर आ गया और घुटनों के बल बैठ कर उसकी दोनों टांगों को फैला दिया. मेरा आपसे पूरा काम चल रहा है। आप तो बहुत अच्छी हो। मेरा पूरा पूरा ख्याल रख रही हो। मगर पूजा भाभी मेरे लन्ड को भा गई है, इसलिए मैं पूजा भाभी की भी लेना चाहता हूं। आप ही मुझे पूजा भाभी की चूत दिलवा सकती हो।वो पहले तो मना करने लगी लेकिन फिर उनको लंड भी लेना था तो बोली- मैं इतना जोखिम कैसे उठा सकती हूं? मैं सीधे सीधे पूजा से नहीं कह पाऊंगी. छी!!!अवनी- मामी वो …मामी ने बीच में उसकी बात को काटते हुए कहा- तू तो रहने ही दे, रात में सब करतूत देख चुकी हूं मैं तुम्हारी!अब मुझसे वहां खड़ा न रहा गया और मैं चुपके से बाहर निकल आया.

कुछ मिनटों के बाद मॉम जब बाहर आई तो उनका वो रूप देख कर मेरी आंखें फटीं रह गयीं. मेरी उम्र 26 साल और लम्बाई 5 फीट 8 इंच की है। शरीर की बनावट का अंदाज़ा आप हरियाणा के किसी भी जाट के बारे में सोचकर लगा सकते हैं. वो मुझे चूम कर मेरे ब्लाउज में दो हजार का नोट खौंस कर बोला- अपने लिए हॉट सी ड्रेस खरीद लेना.

अब हम दोनों एक ही ताल में हिल रहे थे और गचागच मेरा लंड उसकी चूत में अंदर बाहर हो रहा था.

मेरा लंड आधा तनाव में आ चुका था और 6 इंच का होकर मेरे बनियान के नीचे आधा बाहर लटकता दिख रहा था. मुझे घूमने में इंटरेस्ट नहीं था तो बोला- यार घूम तो बाद में लेंगे, पहले बोतल का इंतज़ाम करते हैं, घर भी जाना है.

बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी अम्मी कासिब और अब्बू का लंड चूसना छोड़ कर बोलीं- दिलकश मेरी प्यारी बिटिया, अब तू भी अपने भाई और अब्बू का लंड चूस, वरना ये दोनों तेरी चूत को ऐसे फाड़ेंगे कि फिर तू कभी चुदने की बात भी नहीं सोचेगी. मैंने फ़ोन को लॉक मोड से हटा दिया था और स्क्रीन टाइम बढ़ा दिया था ताकि फ़ोन बार बार लॉक और स्क्रीन ऑफ़ ना हो.

बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी ये क्या … मैं दंग रह गया कि अभी दो दिन पहले तो अम्मी के चूत पर बाल थे और अब बिल्कुल चिकनी चूत थी. उसने पूरी रात में मुझे पांच बार चोदा और सुबह जब 05:00 बज रहे थे, तब वो रुका.

मैंने उसे ज्ञान देना बंद किया और उसके दूध पकड़ कर चुत चुदाई की स्पीड एकदम से दुरंतो मेल के जैसे बढ़ा दी.

हिंदी फिल्म सेक्सी बीएफ एचडी

सुमन- ओह तो ये बात है यानि तुम भी अपने मालिक की तरह गांव की कच्ची कलियों के मज़े लेते हो. आपकी ननद आने के बाद आपको खूब पेलवाना हैlफिर हफ्ते भर के बाद उनकी ननद सोनिया भी आ गयी जो 20 साल की उम्र की एकदम स्लिम लड़की थी. उसका अंगूठा मेरी गांड के रिम को ढीला करने में लगा हुआ था और मैं उसके लन्ड का जूस निकालने में बिजी था।कुछ देर बाद उसने बोला- थोड़ा रुक जा यार … नहीं तो मेरा निकल जायेगा.

सुमन- क्या बात है मेरे राजा! आज बड़े दिनों बाद गोली लेकर आए हो, कोई खास बात है क्या … जो मुझे खुश करना चाहते हो?सुरेश- अरे नहीं मेरी जान, बहुत दिन हो गए थे, तुम्हें जी भर के प्यार नहीं किया था. मैं भी उसकी चूत मारने के लिए तड़प रहा था लेकिन उसको तड़पती देखकर मुझे ज्यादा मजा आ रहा था. मैं- पर मैंने तो तेरी चुत का स्वाद अभी लिया ही नहीं!दिव्या बोली- ओफो … मरवाएगा क्या? ले जल्दी से चुत भी चाट ले.

कुछ ही देर में हम दोनों पूरी मस्ती से एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे.

चुदाई के दूसरे राउंड में उसके पति ने भी अपना लंड हिलाकर माल गिरा दिया था और फिर उनको नींद आ गयी थी. सुमन- मुझे बहुत दुख हुआ सुनकर वैसे उसका बच्चा भी उसके साथ ही …कालू- नहीं नहीं मैडम जी उसने चाँद जैसी बेटी को जन्म दिया था. अब डॉक्टर ने देख लिया, तो सबको पता लग जाएगा और पता नहीं क्या आफ़त आएगी.

फिर मैंने पहल करते हुए उसकी चूचियों को छेड़ना शुरू किया और उनको हल्के हाथ से सहलाने लगा. बाहर थोड़ी देर टहलने के बाद आकर लेट गया और थोड़ी देर में गहरी नींद में सो गया. तीनों एक ही घर में रहते हैं और नजदीक के कस्बे में कपड़ों का शोरूम चलाते हैं.

पुरूष मित्र अपने लौड़ों को हाथ में ले लें और महिला मित्र अपनी चूत खोल लें और मजा लें. मैं बाहर आया और पूछा- क्या हुआ?उसने कहा- जीजू मुझे डर लग रहा है, नींद नहीं आ रही है.

मुखिया- देखो सुमन, भूत की बात मैंने भी सुनी है, लेकिन कभी किसी ने देखा नहीं है. जहां कल तक भाभी अपनी चूत पर हाथ नहीं लगाने दे रही थी, आज मैं उसी सेक्सी भाभी के जिस्म को नंगा किये हुए था और उसके गर्म बदन के हर एक अंग को सहला सहला कर उसके मजे लूट रहा था. उन्होंने मेरा लंड पकड़ा और घुटने के बल बैठ कर मेरा लंड मुँह में ले लिया और चूसने लगीं.

मेरी अम्मी देखने में हमारी मां कम, बड़ी बहन ज्यादा लगती हैं और वे अपनी उम्र से 8-10 साल कम की लगती हैं.

जैसे ही गीता की नज़र मुखिया पर गई, उसने जल्दी से अपने मम्मों पर हाथ लगा लिया. मीता ने अन्दर जाकर कमीज़ को निकाल दिया और सलवार को थोड़ा नीचे करके लेट गई. आह्ह … ओह्ह … फक हार्ड … जोर से … आह्ह और जोर से … राज … चोदते रहो.

मुझे बड़ा मजा आ रहा था। मेरे मुंह से ऊह्ह … आह्ह … की आवाजें निकल रही थीं. फिर मैंने उसके कंधे पर हाथ रखकर अपने हाथ को उसके टॉप में अंदर डाल दिया.

एकदम से सफेद चूचियां जिनके निप्पल तनकर मटर के दाने के समान हो गये थे. उसने उन्हें मेरा परिचय देते हुए कहा कि हम दोनों इंडिया में एक साथ काम करते थे. इसलिए मैंने मोबाइल को साइड में पटका और सीमा मामी के ऊपर टूट पड़ा। मैंने उनको पलंग पर पटक कर अच्छी तरह से दबोच लिया। अब मैं उनके ऊपर चढ़ गया।वो अपने आपको छुड़ाने के लिए झटपटाने लगी लेकिन मैंने उनको अच्छी तरह से दबोच रखा था। अब मैं बेतहाशा उनके स्तनों को मसलने लगा। उनकी चूचियों को जोर जोर से दबाने लगा.

1:00 वाली बीएफ

मैंने देखा कि धीरज सीधा लेट गया था और वो मुझे उंगली के इशारे से मुझेब बुला रहा था.

मैं पहले राउंड में उसे शान्ति से ही चोदना चाहता था … ताकि अगले राउंड में उसे सही से चोद सकूं. मगर अब मेरे लंड के लिए चित्रा भाभी की चुत ही एक मात्र छेद था, जो आज मेरे लंड को सुकून देने वाला था. दिव्या बाहर निकलकर चलने लगी और पीछे मुड़कर बार बार मुझे देखकर स्माइल करने लगी.

फोन रखते हुए दीदी ने उससे कहा कि मैं तुम्हारा नंबर लेकर तुमसे बाद में बात करूंगी. वह जल्दबाजी करने की बजाए मेरी चुदास को बढ़ा कर मेरी सुहागरात को यादगार बनाने चाहता था. टीचर एंड स्टूडेंट शायरी इन हिंदी funnyमीनू का एकदम बेदाग गोरा बदन, सेब जैसे कड़क बूब्स, जिन पर छोटे छोटे से भूरे निप्पल टंके थे.

फिर मैं उसके ऊपर चढ़ गया और मेरी गांड का छेद उसके मुंह के सामने आ गया. मैं उसकी चूत के अगल बगल उसकी जांघों को चूमने लगा और हर चुम्बन के साथ उसके बदन में करंट जैसे झटके लगने लगे.

रुक्मणी- तुम्हारे सामने कैसे?मैं- तो क्या हुआ? मैं दरवाजा बंद कर लेता हूँ और मुँह फेर लेता हूँ. अब ये बात तुम खुद बताओ कि क्या तुमको मुझमें कोई कमी दिखती है या मैं तुम्हें पसंद नहीं हूँ?कालू- कैसी बातें कर रही हो मैडम जी. अब समय का ध्यान रखते हुए कालू ने भी डॉक्टर बाबू से कहा- अब आपको जाना चाहिए … ये अब ठीक है.

अन्तर्वासना के सभी दोस्तों को मेरी ओर से प्यार भरा नमस्कार। सबसे पहले मैं आप सबको अपने बारे में बता दूं. मैंने दीक्षा को जगाने लगा, तो समीक्षा कहने लगी- नहीं, दीदी को मत बताओ. फिर थोड़ी देर बाद मैंने उनको नीचे पटक दिया। मैं उनको बेतहाशा चूमने लगा और उन्होंने अब अपने आप को मेरे हवाले कर दिया था।मैं लगातार उनके चेहरे को चूम रहा था। अब मैं थोड़ा सा नीचे की ओर सरका और गर्दन पर चूमने लगा.

मैंने ठान लिया था कि आज मेरी ज़िंदगी का सबसे खतरनाक वाला सेक्स करूंगा और अपने सारे अरमान पूरी करूंगा.

इनका दूध मैं आज निकाल ही दूंगा … आह्ह … इनको चूस चूस कर मोटी कर दूंगा … आह्ह … सेक्सी।फिर मैं नीचे की ओर चला. मैं उसकी बात सुन कर हैरान था कि अगर कोई और लड़की होती, तो अब तक मुझे दो चांटे लगा चुकी होती.

भाभी ने टेबल पर बोतल और गिलास रख दिए और भाई से फोन पर बात करते हुए बालकनी में चली गईं. इससे पहले कि मेरे मुँह से कुछ निकलता, मेरी कमर से चड्डी समेत मेरी शार्ट एक झटके में फर्श पर पड़ी थी. बुआ- आज आयी हुई मेरी सहेलियों में से तुझे कोई पसंद आई?मैं- हां, वो तो तीनों ही बड़ी सेक्सी थीं.

राहुल बोला- आह बहुत तड़प रही है ना तू … ले फिर मेरा मूसल अपनी फुद्दी में. दोस्तो, आप सोच रहे होंगे कि मीता ऐसे किसी कहने के साथ ही नंगी हो जाती है. फिर मैंने मन में ही कहा कि कोई बात नहीं, आज तो झड़ना ही है किसी भी हाल में.

बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी इंडियन सेक्सी गर्ल स्टोरी में पढ़ें कि मेरी कामवासना मुझे दोबारा मौसाजी से सेक्स के लिए उकसाने लगी. थोड़ी तक खड़े होकर अम्मी को देखते हुए मुस्कुराते हुए अपना लंड सहलाने लगे.

बीएफ सेक्स देखना

सन्नो- अच्छा अगर तेरे भाई का चूसना पड़ेगा, तो क्या तू उनका लंड चूस लेगी?मुनिया ने फिर मुस्कुरा कर हां कह दी. मैंने उसे गोद में उठाया और चुत अशोक की तरफ रख कर उसकी टांगें खोल दीं. मुखिया- देखो सुमन, भूत की बात मैंने भी सुनी है, लेकिन कभी किसी ने देखा नहीं है.

मामी के मुंह से जोर की सिसकारी निकली और उन्होंने मेरे सिर पर हाथ रख लिये. मां छटपटाने लगी- ओह मादरचोद … निकाल बाहर … दर्द हो रहा है!मैं उनकी चूचियों को दबाने लगा. सेक्स vidiosउसकी चूत पर हल्के हल्के बाल थे जो कि गीली होने के बाद उसकी चूत को बहुत ही रसीली बना रहे थे.

सुरेश ने उन दोनों को पीछे के रास्ते से बाहर निकाल दिया और खुद वापस अन्दर आया, तो मीता कुर्सी पर बैठी उसको देख कर मुस्कुरा रही थी.

पीठ को चूमने के बाद मैंने आंटी को सीधा किया और उसके चूचों को चूसने लगा. बातों ही बातों में वो बार बार मेरे कंधे पर हाथ रखती और हल्का हल्का दबा देती.

मैंने उसकी गांड के नीचे तकिया रखा और उसकी चूत को चाट चाट कर गीली करने लगा. मैंने उसके खोलने के पहले ही उसकी जींस और फ्रेंची को नीचे खींच दिया. मैं भी नमन के साथ खूब खुल कर खेलने लगी पर अपने नारी सुलभ दायरे में रहते हुए कि कहीं वो मुझे बेशर्म या निर्लज्ज न समझने लगें.

तुम्हारे जैसे कमसिन उम्र के लड़के की गांड चुदाई करके मेरे मन की इच्छा भी पूरी हो जायेगी.

मैंने रोशनी से कहा- जानेमन शुरू करें?उसने कहा- इतनी जल्दी क्या है यार, थोड़ा रुको, मैं नहाकर आती हूँ. थोड़ी देर में मेरे लंड ने तेज पिचकारी मारी और उसके मुंह को पूरा वीर्य से भर दिया।रोबीना मेरे लंड के पानी को थूकना चाहती थी लेकिन मैंने उसके मुंह से लंड को नहीं निकाला और फिर उस पर जीभ चलाते हुए उसको वो अंदर ही अंदर पेट में ले गयी. ये अप्रैल की बात थी। एक बार मेरे कहने पर सोनू ने फोन कॉन्फ्रेंस पर नीरज से मेरी बात भी कराई.

देसी सेक्स स्टोरीजमेरे मुंह में भी उसको देखकर पानी आ गया और मैंने उसकी चूत को वहीं पर चूसना शुरू कर दिया. वो मेरे लंड पर उछलने लगी और साथ ही उसके फुटबाल जैसे बूब्स भी उछलने लगे.

सरफराज के बीएफ

उधर अपनी अलमारी खोली उसमें से अपनी सेक्सी एक्ट्रेस की ब्रा और पैंटी निकाल कर सूंघते हुए उसी एक्ट्रेस के बेडसीन देखते हुए खेल शुरू किया. तभी एक दिन मैंने देखा कि अम्मी करीब 6-30 बजे रूम से आकर पहले मेरे कमरे में आईं. देसी लंड की चुदाई कहानी में पढ़ें कि कैसे डॉक्टर की बीवी को नए देहाती लंड से चुदाई का मजा लेने का शौक चढ़ा था.

अब मैं उनको जगाना नहीं चाहता था बल्कि उनकी जवानी को निहारना चाहता था. मेरे पिताजी अहमदाबाद में रहते हैं और मैं एक साल पहले मुंबई में जॉब करने के लिए आया था. उन्होंने मेरी साड़ी और पेटीकोट उतार कर मुझे किचन में ही नंगी कर दिया.

वो सालापहली बार चुत चुदाईकर रहा था, तो उसका लंड चुत के अन्दर ठीक से जा ही नहीं पा रहा था. मेरा लंड अभी भी उनकी चूत में ही था। अब मैं उनकी दोनों टांगों के बीच में उनकी चूत में लंड डाले हुए उनके ऊपर झुका था।मैंने बोला- अब आप मुझे अपनी बांहों में कसकर पकड़ लीजिए. मेरा दिल करता था कि नमन का लिंग कुछ देर और मेरी योनि में समाया हुआ तेज तेज घर्षण करता रहता तो और अच्छा रहता.

मैंने फिर से उसकी गांड पर हाथ फेरा, उसकी पतले कपड़े की कैपरी कुछ भीगी हो गई थी. इन तीन दिनों के दौरान उसने माँ को अपनी कंपनी में नौकरी पर रखने के लिए प्रस्ताव दिया.

रोशनी मेरे पास पूछने आई- तुमसे एक तरफ ले जाकर क्या बोल रहा था?मैंने कहा- कंडोम दे रहा था … तुम बस ज्यादा शोर ना मचाना.

फिर मॉम ने मेरी चड्डी को नीचे कर दिया और मेरा लंड उछल कर बाहर आ गया और मेरी टांगों के बीच में झूल गया. चक्की चक्की दाल निकालउसने उन्हें मेरा परिचय देते हुए कहा कि हम दोनों इंडिया में एक साथ काम करते थे. सेक्सी पिक्चर हिंदी में इंग्लिशउससे सेक्स की शुरुआत कैसे हुई और मेरी सील कैसे खुली?हैलो फ्रेंड्स, मैं नेक्षा फिर से आपके सामने लॉकडाउन में हुए सेक्स को लेकर हाजिर हूँ. तब आदिल बोला- चल तुझे भी साफ करते हैं पानी से!उसने पेपर नेप्किन दिये और कहा- चल कार से निकल!मैंने कहा- क्यों?तो उसने कहा- वहीं तो पानी से नहलाने वाले हैं।मैंने कहा- ठीक है।मैं उतरी और वो दोनों भी उतरे और आदिल ने कहा- चल नीचे बैठ जा।मैं बैठ गई और आदिल मेरे सामने आकर खड़ा हो गया और बोला- आंखें बन्द कर और मुंह खोल!उसकी बात का मतलब मैं समझी नहीं.

मैं बोला- जानू अब मैं अपना खेल यानि एडल्ट सेक्सी चैट शुरू कर रहा हूँ.

फिर उसने सिसकारते हुए मेरे सिर को ऊपर उठाया और अपनी चूचियों पर मेरा मुंह लगाकर बोली- थोड़ा सा इनको भी पी लो. आंटी आंख चमका कर बोलीं- वो कैसे?अम्मी ने आंटी से कहा- यार, यहां पर कुछ लड़के ऐसे हैं, जो एक बार का एक हजार रुपए देते हैं. फ्रेंड्स, राहुल रीमा की सीलपैक चुत की चुदाई करने से पहले हर तरह का आनन्द लूटने में लगा हुआ था.

थोड़ी ही देर में मैंने अपना सारा लावा उनके मुँह में भर दिया, जिसे वो पी गईं. मैंने उसके पैर खोले और बीच में आकर तुरन्त जीभ उसकी टाइट चूत पर लगा दी और जल्दी-जल्दी उसकी चूत पर रगड़ने लगा। वो पागल सी हो गई. मैं कमरे में वापस जाने से पहले अन्दर से नंगा हो गया और सेक्स बढ़ाने वाली गोली खा कर उसके सामने जा कर खड़ा हो गया.

सट्टा बीएफ

मुनिया- धत्त भाबी … आप भी ना!सन्नो- क्यों मैं झूठ बोल रही हूँ क्या? खा मेरी कसम कि हम दोनों की चुदाई देख कर तेरी चुत में जलन नहीं हुई!मुनिया का चेहरा शर्म से लाल हो गया था. मैं- सच में बताओ, होटल में मिलोगी, तो करवा लोगी?दीक्षा- हां करवा लूंगी. फिर मैं आपकी पूरी बॉडी पर किस करूंगा, आपके रसीले होंठों व गुलाबी गालों पर, सेक्सी आंखों पर, गले पर और मेरे फेवरेट आपके चूचों पर चुम्मी करूंगा.

एक बार फिर मैंने लंड को निकाला और उसकी चूत के रस से सने लौड़े को उसके मुंह में दे दिया.

इसी बीच राजेश ने अपने अँगूठे से मेरी गांड के छेद को रगड़ना शुरू किया.

मैंने कहा- पोर्न देख कर और क्या क्या सीखा है जान?वो हंस दी और मेरे गालों को फिर से चूमने लगी- मुझे तुम बहुत अच्छे लगते हो. ये बोल कर अम्मी ने कासिब को कहा- साले मादरचोद … अब जल्दी से अपनी बहन को चोद कर मादरचोद के साथ साथ बहनचोद भी बन जा. जापानी सेक्सी वीडियोसवो मुझे चूम कर मेरे ब्लाउज में दो हजार का नोट खौंस कर बोला- अपने लिए हॉट सी ड्रेस खरीद लेना.

आप सामने से हाथ करके ले लो वरना कपड़े नीचे गिर जायेंगे और गीले हो जायेंगे. आज अपनी सेक्सी भाभी की चूत का मजा मैं लेकर ही रहूंगा, बाद में चाहे कुछ भी हो जाये. मेरी गांड में बहुत दिनों से खुजली मची थी और मैं उसको नाराज़ नहीं करना चाह रहा था, क्योंकि उसका लन्ड मुझे चाहिए था.

भाभी की चुदाई का प्लान मैंने आज ही बना लिया था और सीमा मामी को भी इस बारे में बता दिया था. इसलिए मैं पूरी कोशिश कर रहा था कि वो इतनी गर्म हो जाये कि मेरा लंड लेने के लिए खुद ही बोले.

यहां सभी मुझे बड़े प्यार से रख रहे थे। सभी मेरी हर इच्छा को पूरी करने की कोशिश करते थे लेकिन अब मैं किसी को कैसे बताता कि मुझे चूत चाहिए!मुझे इनके यहां रहते हुए 4 दिन हो गए थे लेकिन मेरे लन्ड को अभी तक कोई चूत चोदने का जुगाड़ नहीं दिख रहा था.

भाभी की आह आह … की मस्त आवाज निकलने लगी और वो कहने लगीं- आह अब छोड़ दे जान मैं थक गई हूँ. भाभी ने मेरे सिर को चूत में दबा दिया।मैं भाभी की चूत को बुरी तरह से चाट रहा था। उसकी गीली चूत में धीरे धीरे से पानी रिसकर बाहर आ रहा था जिसको मैं साथ की साथ चाट रहा था. जैसे ही रूचि को अहसास हुआ कि राहुल के हाथ उसके मम्मों पर आ गए हैं, उसके शरीर में एक करंट सा दौड़ गया.

रसगुल्ला बनाना सिखाएं थोड़ी बहुत इधर-उधर की बातें होने के बाद मैंने धीरे से पूछा- क्या आपको मसाज करवाना पसन्द है?उन्होंने थोड़ा सोचने के बाद बोला- ठीक है, पहले तुम मसाज ही कर दो।मैंने उसको कपड़े निकालने को कहा तो मैडम ने पैंटी को छोड़कर बाकी सब कपड़े निकाल दिए. उसके नॉर्मल होते ही मैंने एक ओर ज़ोरदार झटका दे मारा, मेरा पूरा का पूरा 6 इंच का लौड़ा उसकी छोटी सी चूत में घुस गया.

उसके मुंह से सी … सी … आह्ह … ओह्ह … करके कामुक सिसकारियां निकल रही थीं. मेरी नींद कुछ 4:30 के आस पास खुली, तो देखा बुआ मेरा लंड चूस रही थीं. भाभी की टांगें हवा में उठ गई थीं और उनके मुँह से मादक सिसकारियां माहौल को और भी मस्त कर रही थीं.

इंग्लिश बीएफ खतरनाक

जिस पूजा भाभी को मैंने पहले कभी चोदने के बारे में नहीं सोचा था आज मैं उसी पूजा भाभी के ऊपर पड़ा हुआ था। जिस भाभी को मैं इतनी इज्जत से देखता था आज उन्हीं की इज्जत लूटने पर तुला हुआ था. कुछ देर तक अपने लंड से ही उसकी बुर को सहलाने के बाद मैंने एक धक्का मारा तो मेरा लंड 2 इंच तक उसकी बुर में चला गया. थोड़ी देर ये किस चलता रहा, उसके बाद सुमन ने सुरेश को हटा दिया और कहा- पहले जाकर फ्रेश हो जाओ.

आखिरी पैग खत्म करके वो फिर से मेरे ऊपर चढ़ गया और एक बार फिर से मेरी गांड में उसके लंड की धक्कम पेल होने लगी. आशा करता हूं कि आप लोगों मेरी यह पहली ट्रेन सेक्स कहानी पसंद आयेगी.

तुरंत मैंने अपने आप को कमरे के पर्दे के पीछे छिपा लिया।उस समय माँ शिफोन की साड़ी में थी।उसकी 34-30-36 की फिगर इतनी सेक्सी लग रही थी कि देखते ही चोदने का मन करे.

मैंने हंसते हुए उन दोनों को अपने 36 के मस्त भरे हुए दूध दिखाए और बोली- ठीक है, मेरे पति का कर्जा चुकाने के लिए मैं राजी हूँ. मैंने उनकी बात नहीं मानी और उनकी गांड में उंगली करता रहा।गांड में उंगली करने के बाद उनको वापस पलट दिया। उनको पलटते ही मैंने देखा कि अब वो पूरी की पूरी भूसे में सन चुकी थी. अचानक अपने आप मेरी आंखें बंद हो गईं और दीदी ने जब मेरे लंड का टोपा पलटकर लंड चूसना शुरू किया.

लंड को पूरा घुसाने के बाद वो रुका नहीं और ताबड़तोड़ लन्ड मेरी गांड में पेलने लगा. तभी मोनिषा मुझसे बोली- भैया आपका पेट का दर्द अब कैसा है?मैंने कहा- हां अभी ठीक है. बस अब क्या था … मैं उठ कर उनके बाजू में बैठा और उन्हें किस करने लगा.

थोड़ी देर बाद सीमा मामी बाड़े में से आ गई।मामी ने मेरे चेहरे की मुस्कुराहट देखी और वो समझ गयी कि पूजा की चूत का काम हो गया है.

बीएफ ब्लू फिल्म हिंदी सेक्सी: फिर मेरे पेट पर होंठों से रगड़ा तो मेरे जिस्म में गुदगुदी होने लगी. मुखिया- अब आई ना लाइन पर … चल इधर मेरे पास बैठ और ध्यान से मेरी बात सुन.

मेरे हुस्न का वार खाली नहीं गया थामौसाजी कुछ और चाहिए आपको?” मैंने ‘कुछ और’ शब्दों पर थोड़ा जोर देकर पूछा. मैंने एक बार पहले धीरे से उसकी ब्रा के ऊपर से ही चूची को पकड़ लिया. उधर मेरे पति नमन का फोन भी लगभग रोज ही आता कि जल्दी आ जाओ … बची हुई छुट्टियां कैन्सिल कर दो.

फिर वो सिसकारते हुए बोली- अब डाल दे हरामी मादरचोद … कर ले अपनी हसरत पूरी … तूने मुझे भी आज चुदने पर मजबूर कर दिया है … जल्दी से चोद दे अब मुझे … कई दिन से तेरे पापा के लंड को मिस कर रही थी.

कुछ देर बाद वो नशीली आंखों से मुझे देखने लगी और बोली- क्यों सता रहे हो. दोनों कमरे में अन्दर आए और एक ने अम्मी के पास की कुर्सी पकड़ ली, दूसरा एलिसा आंटी के पास बैठ गया. मैं कुछ देर रुका और जब उसे राहत हुई लंड आहिस्ता आहिस्ता पूरा अंदर डाल दिया.