ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ

छवि स्रोत,नॉन वेज जोक्स इन हिंदी लेटेस्ट 2019

तस्वीर का शीर्षक ,

బాయ్స్ సెక్స్ తెలుగు: ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ, दीदी शाम को चाय लेकर आयी तब मेरी नींद टूटी।अगले दिन सुबह जीजा जी को टूर पर 5 दिनों के लिए दिल्ली जाना था।घर पर मैं और दीदी और उनके दोनों बच्चे थे।दोपहर को बच्चे कम्प्यूटर पर गेम खेल रहे थे, मैं और दीदी कमरे में लेट कर बाते कर रहे थे।दीदी ने आदत अनुसार मुझसे कहा- राहुल पैर दबा दो!आज दीदी ने स्लीवलेस मैक्सी पहन रखी थी।मैं झट से पैर दबाने लगा.

सेक्सी पिक्चर हिंदी में ओपन

लंड अन्दर लेते ही उसकी चीख निकल पड़ी- उईई … मम्मी रे मर गईई आह मेरी फट गईई … उईईई मर गई … बचाओ … मर गई उईईई. लोकल सेक्सी वीडियोमम्मी ने अपने आपको आईने में देखा और अपने सुंदर बालों से क्लिप निकालकर उन्हें खोल दिए.

हालांकि मैं कुछ समझ ही नहीं पा रही थी कि अंकल के साथ कैसे शुरू करूं. सपने में चक्कर आनामैंने उनकी नंगी चुचियों को कई बार उस वक्त देखा था, जब वो अपनी बेटी को दूध पिलाया करती थीं.

मैं अपने घुटनों के बल चलती हुई उस्ताद जी के पास आ गयी और उनकी धोती व लंगोट को खोलना शुरू कर दिया.ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ: दीदी बोल पड़ी- ये क्या कर रहा है?मैंने दीदी से कहा- मालिश कर रहा हूँ … मैंने पहले ही बोला था कि मैं स्पा जैसी मालिश कर देता हूं.

उनके ऐसा करने पर मुझे चुत के अन्दर का गुलाबी भाग दिख रहा था, जो वाकयी लाजवाब था.दिल में खराब खराब ख्याल आए, तो मैंने मोबाइल पर सेड सॉन्ग सुनने शुरू कर दिए.

राजस्थान सेक्स फिल्म - ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ

हॉट लेस्बियन सेक्स की इस कहानी में पढ़ें कि एक दिन मैं अपनी सास के पैर दबा रही थी तो उनकी चिकनी जांघें देख मेरी चूत गीली हो गयी.हम काफी देर तक चुदाई करते रहे और झड़ने के बाद जब मैं मोनिका के ऊपर लेट गया तब कोमल दीदी ने आवाज दी.

मैंने देखा कि चाचा के कच्छे से बाहर एक काला सा और बहुत ही मोटा अजगर निकला. ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ वो- मालकिन थोड़ा पीने को पानी मिलेगा!मैं- हां देती हूं, अन्दर आ जाओ.

करीब 2 महीने ही निकले थे मुझे उनके घर में रहते हुए … मुझे उनसे डर लगता था क्योंकि कभी कोई गलती होती तो वे मुझे डांट दिया करती जैसे लेट आने या कोई दोस्तों के ज्यादा देर तक रूम में रहने पर!उनसे मेरी कम ही बात होती थी।गर्मी के दिन थे.

ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ?

मैंने पैंट को खोला और भाभी की ब्रा के ऊपर से ही उनके दूध दबाने लगा. दीदी से बीच-बीच में मैं पूछ रहा था कि कैसा लग रहा है … मजा आ रहा है?तो दीदी बोल रही थी- हां भाई बहुत मजा आ रहा है. अब वो ब्लाऊज़ पर हाथ रखे थी और दूसरा हाथ पेंटी के ऊपर से चूत पर!मैंने पेट पर तेल डाला और मलने लगा।पेट को मलते मलते उनके बूब्स तक हाथ ले गया और उनका हाथ हटा दिया.

मैंने इस दौरान उससे पूछा- तुम्हारे ब्वॉयफ्रेंड का लंड छोटा है क्या?उसने कहा- उस साले से तो कब का ब्रेकअप हो गया. तभी मैंने वहां रखे गुलाब के फूल को उठाया और उसको उसकी पैंटी के ऊपर से ही चूत को फूल से सहलाने लगा. दीप्ति- तुम्हारे साथ मैंने कैसे जिस्मानी संबध बना लिया, पता ही नहीं चला.

फिर मैंने चाय नाश्ता किया और भाभी से उस दौरान बहुत सारी बातचीत, हंसी मजाक हुआ. नीचे हाथ बढ़ाकर मैंने उसकी स्कर्ट को भी हुक और चैन खोलकर निकाल दिया. अगले ही पल मैंने अपनी जेब में रखा हुआ गुलाब का फूल उसकी तरफ बढ़ाते हुए सॉरी बोला.

उसकी आंखों में साफ साफ दर्द दिख रहा था और वो लंड को निकालने की मिन्नतें कर रही थी. फिर दीदी ने धक्कों की रफ्तार बढ़ा दी और उनकी सांसें तेज हो गईं जिससे मेरे चेहरे पर गर्मी महसूस हुई.

उसने अपने उंगलियों के बीच दोनों निप्पल को पकड़ के अपनी तरफ खींचा और मैं उसपर झुकती चली गयी.

मेरे इंस्टाग्राम अकाउंट की आईडी है @jsxy001व मेल आईडी है[emailprotected].

एक मिनट बाद उसने फिर से कल्पेश की तरफ देखा तो कल्पेश ने हैंड शॉवर से उसकी चूत पर पानी डाला और चूत रगड़ कर धो दी. वहां कुछ ऐसा हुआ कि उसने जो गाउन पहना था, वो भीग गया था भीगने के बाद वह गाउन उसके बदन से एकदम चिपक गया था, जिससे उसके अन्दर का नजारा साफ साफ दिख रहा था. कुछ देर बाद उन दोनों ने मॉम को नीचे उतार दिया और अब्दुल ने अपना लंड मॉम को पकड़ा दिया.

तभी मैंने चुपके से देखा तो देवर ने मेरे एक स्तन को ऊपर से ही अपने मुँह में ले लिया था और बड़ी वासना से मेरा दूध चूस रहा था. जिस पर मैंने कहा- अच्छा मैं राइटर हूँ इसलिए आपने मेरा नंबर सेव किया, कुछ लिखवाना है क्या?मेरे इस सवाल का जवाब पल भर में आया- हाँ शायद … वरना एक अकेली औरत के पास कितने ऐसे रॉंग नंबर आते हैं आप अंदाजा भी नहीं लगा सकते. उसने मुझसे मेरे प्राइवेट पार्ट की पिक्चर मांगी लेकिन मेरी देने की हिम्मत ही नहीं हुई.

मैं दिखने में तो साधारण सा लड़का हूँ, पर मेरा लंड बहुत लम्बा है जो किसी भी भाभी, लड़की, आंटी की चुत का भोसड़ा बनाने के लिए हर वक्त तैयार रहता है और वो उन्हें चोद कर खुश कर सकता है.

ये सेक्सी नर्स सेक्स कहानी 2019 की है, जब मैं 12वीं की परीक्षा की तैयारी कर रहा था. अब बुआ बोलीं- अभी तो शाम का उजियाला है, अभी खाना खाओगे या बाद में?मैंने कहा- बाद में. नीरज मेरी चूत को चाटने लगा और मुझसे बोला- मेरी जान, मेरे ऊपर अपना मूत कर दे.

मैंने कहा- हां मम्मी आपके मस्त जिस्म से खेल कर मुझसे रहा नहीं जा रहा है. वहां जाकर देखा तो आवारा किस्म के लड़के वहां पर थे तो मैं वापस आकर मेरी सीट पर बैठ गयी. मैं उसके पेट को किस करता हुआ नीचे आ गया और उसकी नाभि में अपनी जीभ घुसा कर मजा लेने लगा.

मीरा एकदम से चिल्लाने को हुई मगर मुँह में कल्पेश का लंड घुसा था तो वो दर्द से रोने लगी.

यह काम मुझे बहुत खराब लगता था क्योंकि वहां बहुत सारी लेडीज आती थीं और ना जाने क्या क्या बेमतलब की बात करती रहती थीं. और यश तुम भी नेहा को लंच पर बुला लो। ये लोग नेहा से भी मिल लेंगे। अगले हफ्ते हम नेहा को यहां लंच के लिये बुला लेंगे.

ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ आप सब जानते हैं कि मैं चुदाई का बड़ा दीवाना हूं और अपनी सगी चाची और बुआ को भी चोद चुका हूं. मैंने फिर से जोर दे कर पूछा तो वो बोली- जीजू आप किसी को बोलना मत … मैं अपने अंडर गारमेंट्स लाना ही भूल गई थी.

ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ महेश सर लगातार किस करते करते मम्मी की कभी गांड दबाते तो कभी उनके बालों को सहलाते. कुछ देर बाद उन दोनों ने मॉम को नीचे उतार दिया और अब्दुल ने अपना लंड मॉम को पकड़ा दिया.

कुछ ही पलों में कोमल दीदी ने अपना पानी छोड़ दिया जो मेरी जीभ पर आ लगा.

सेक्सी वीडियो बुर में

जब मैं बेडरूम में गई तो दीप तो सो रहे थे और नीता आवाज़ बंद करके टीवी देख रही थी. इसलिए तेरे ससुर और मैंने निर्णय लिया है कि तू नरेश से …मम्मी ने दादी की बात काटते हुए कहा- मांजी मैं आपकी बहुत इज़्ज़त करती हूँ और मेरे बारे में इतना सोचने के लिए अच्छी बात है. मोनिका ने मेरी तरफ इशारा किया तो मैं समझ गया कि हम दोनों सेक्स करेंगे तो कोमल दीदी खुद हमें ज्वाइन कर लेंगी.

भाभी की चूत चाटने में मुझे इतना मजा आ रहा था मानो रेगिस्तान के प्यासे को अमृत मिल गया हो. मैंने कहा- अभी भी यदि तुम सहयोग नहीं करोगी तो तुम्हें ज्यादा कष्ट होगा. उसने मेरे हाथों को अपने हाथों में फंसा दिया और एक जोर का झटका दिया.

फिर चाचा मम्मी के मुँह से लंड निकालकर, उन्हें थोड़ा नीचे खिसकाकर उनके ऊपर आ गए.

जब तक तबीयत सही नहीं हो जाती, तब तक मां ने हम दोनों को कॉलेज जाने से मना कर दिया. अब दोपहर के 3 बज चुके थे और मैं अब तक उन दोनों से चार चार बार चुद चुकी थी. वो दोनों एक दूसरे के होंठ चूस रहे थे और राहुल मॉम के मम्मे दबा रहा था.

लेकिन वो काफ़ी नार्मल था और फूल देखकर बोला- ये क्या मेरे लिए?और मुस्कुराते हुए उसने फूल ले लिये. भाभी बोलीं- आप मेरे पति हैं, बस आप अपना लंड डाल कर मेरी चूत को खूब चोदिए. माया के देखने के बाद मैंने उस पर से नजरें हटा लीं और चाची की गांड को देखने लगा.

वाइफ हॉट सेक्स कहानी मेरी मम्मी की है जो अब मेरे चाचा से शादी के बाद उनकी बीवी बन गयी थी. ’चाचा- मैं भी तुम्हारे कमसिन, कामुक और मदमस्त बदन के लिए कब से तरस रहा था जानेमन … आज मैं तुम्हारा पति बनकर तुम्हारे साथ संभोग कर रहा हूं.

मैंने कहा- ये सब बातें बाद में कर लेना … जाओ पहले स्प्रे लाओ, मैं लगा दूँ. दर्द के कारण उनकी आंखों में पानी आ गया और वो मादकता से सिसकने लगी थीं. ये सुनते ही उन्होंने अपने चॉकलेट से भरे मुँह से मुझे किस किया और सारा चॉकलेट मेरे मुँह में डाल दिया.

दोस्तो, मैं अनुराग अग्रवाल एक बार फिर से आप सभी का अपनी सेक्स कहानी में स्वागत करता हूँ.

फैक्ट्री में लेबर की समस्या चल रही थी, मैंने लेबर ठेकेदारों को अपने ऑफिस में बुलाया और आनन्द भी वहां था. मैं बस नशे से में होकर उसी का नाम पुकारे जा रही थी- आह … आकाश … बाबू क्या कर दिया तुमने आह्ह मजा रहा है. बमुश्किल दस मिनट बाद गैस टंकी के बहाने उन्होंने अपने बेटे से मुझे अपने घर बुलवा लिया.

उनकी चुत में इतना मजा या स्वाद है कि चाचा अभी तक उनकी चुत को चूसने में लगे हैं. पर मैं उस पर ध्यान न देते हुए अपना लंड धीरे धीरे उसकी फटी चूत में आगे पीछे करने लगा।मैं अपने दोनों हाथों से उसकी चूची दबाता रहा।उसकी चूची मुझे मानो मक्खन जैसी लग रही थी.

अब वो मेरे चुचे चूस रहे थे, मुझे दर्द हो रहा था मगर अच्छा भी लग रहा था. मैंने इशारा किया तो लूसी मेरा लंड मुट्ठी में लेकर सड़का मारने लगी और मैं झड़ गया. कुछ देर के बाद मैंने उनसे खा कि प्लीज़ मम्मी मेरे मम्मों पर तेल लगा दो.

चूत में लंड डालने वाला सेक्सी

तो मैंने पति का मूड समझने के लिए बता दिया कि वो मेरी हथेली पूरी तरह से दबाने लगा है और कभी कभी मौका मिलने पर पूरी बांह भी सहला देता है।पति ने चटकारे लेकर बोला- अब वो चोद के ही रहेगा तुझे!मैंने नाटक करते हुए कहा- अजी हां … रहने दो ऐसे ही दे दूंगी क्या मैं?और दिन तो उसकी मेरी छुआ छुई ही हो पाती थी; फिर आया सन्डे … उसने मुझे 1 घंटा लेट यानि 12 बजे बुलाया.

मैं तो मन ही मन खुश हो रहा था कि आज मौका अच्छा है, आज चोद ही दूंगा. पहले तो नॉर्मल बातें ही हुईं लेकिन बाद में वो किसी ना किसी काम के बहाने पैसे मांगने लगी. उसकी सिसकारियों से मेरा जोश भी बढ़ने लगा और मैं अपने पिस्टन को उसकी लुब्रीकेटेड चूत में जोर जोर से पेलने लगा.

पांच मिनट बाद भाभी अपने कमरे का दरवाजा बंद करके मेरे कमरे में आ गईं. मेरा दबाव भाभी पर बढ़ता जा रहा था और मैं उन्हें दीवार पर पुश कर रहा था. मीरा चौपरा नेकेड फोटोमैंने फिर से कहा- तुमको कुछ गलत तो नहीं लगेगा या तुम बुरा तो नहीं मानोगी ना?दीदी ने कहा- उसमें बुरा मानने की क्या बात है?मैंने कहा- इसमें थोड़ा बहुत हाथ इधर उधर भी चला जाता है.

मैंने नीरज को बोला- मेरी जान अपना मुंह तो खोलो, मैं भी तुम्हारे मुंह में अपना टॉयलेट करना चाहती हूँ. मेरी नजर अंजलि पड़ी … क्या गजब की खूबसूरत बला लग रही थी!जिस तरह से अंजलि इस समय अपनी पारम्परिक वेश भूषा में थी, लग ही नहीं रहा था, कि रात की चुदक्कड़ अंजलि मेरे सामने खड़ी है।उसने मेरे पैर छुए.

मैंने उसके सर पर हाथ फेर कर कहा- हां राहुल वादा है, मैं रोज दूध पिलाऊंगी. उसने मुझे बेड के कोने पर बिठा दिया और घुटने पर बैठ कर मेरा लंड चूसने लगी. लेकिन मैं उनके घर नहीं रहना चाहता था इसलिए मैंने एक किराए में कमरा ले लिया था.

माया के देखने के बाद मैंने उस पर से नजरें हटा लीं और चाची की गांड को देखने लगा. हमारे होठ मिल गए, मैं उसके होठ चूसने लगा, हम एक दूसरे को जीभ से ही चोदने लगे।और उसके बाद हमने धीरे धीरे एक दूसरे के कपड़े उतारे. फिर मैं थामस की बीवी को अपने लंड पर बैठा कर चोदने लगा और वह मेरी बीवी को पीछे से चोदने लगा.

जैसा कि आपने मेरी पिछली सेक्स कहानी में पढ़ा था कि मैंने एक बाबा से अपनी चुदाई करवाई थी.

दीदी हंसने लगीं- अच्छा तो उसकी गांड भी बजा दी इसने!मैं अब थक गया था और बोलना चाहता था कि जल्दी आओ दीदी और चूसो इस मोटे लंड को. सूखे गले से वो बोलने लगी- ऑश सिड प्लीज़ जल्दी करो … मुझे बहुत खुजली हो रही है वहां.

पर फिर अंदर से आवाज़ आई ‘कर पाओगी?’रास्ते भर इसी की हिम्मत जुटाती उसके घर पहुँची जहाँ वो अकेला रहता था. काफी देर बाद जब उससे रहा नहीं गया, तब जाकर उसने मुझे अपने ऊपर खींचा और मेरा लंड अपने हाथों से पकड़ कर गाली दी. मैंने अब उसकी चूत पर अपनी नाक रगड़ना शुरू कर दिया और अपनी दीदी की चूत का मक्खन चखने लगा.

हैलो फ्रेंड्स, मैं आपको अपनी भाभी की चुदाई की कहानी सुनाने के लिए हाजिर हुआ हूँ. वो बोली- अरे मैंने समझी कि तुम कुछ और मांग रहे हो?ये कहते हुए उसने मुझे गोल्ड फ्लेक की डिब्बी में से एक सिगरेट निकाल कर दे दी. ‘आह्ह म्म्म … आआआ आआ …’दोस्तो, वो दृश्य इतना कामपूर्ण था कि मेरी आंख एक पल के लिए भी नहीं झपकी.

ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ काफी देर तक बात करते करते अचानक से उसने मुझे मेरे गाल पर किस कर दिया. दीप्ति किसी अप्सरा की तरह खूबसूरत और हॉट थी, ऊपर से मदमस्त जिस्म वाली औरत थी.

सेक्सी ब्लू पिक्चर भाई बहन का

मैं बारी बारी से उसकी दोनों चूचियों को मुँह में पकड़ कर खींच कर चूस रहा था. लिपस्टिक लगाने के बाद मम्मी पलंग की चादर को ठीक ही कर रही थीं कि इतने में ही चाचा ने दरवाजा खटखटाया. उधर कल्पेश ने रमेश के हाथ ऊपर बढ़ते देखे, तो वो मीरा की एक बगल में आ गया और रमेश को आगे बढ़ने के लिए रास्ता दे दी.

उसके बड़े-बड़े तरबूज से गांड के दोनों फलक बाहर की तरफ से निकल चुके थे. हम दोनों नंगे ही कार से बाहर निकल कर आए, डिक्की से अपना सामान लिया और अन्दर चले गए. जंगली सेक्सी वीडियो जंगली सेक्सी वीडियोतभी चाची के हाथ से डिब्बी गिर गई, वो उठाने झुकीं तो उनका पल्लू गिर गया.

फिर उसने हाथ पीछे ले जाकर मेरी ब्रा उतार दी और फिर नीचे बैठकर मेरी पैंटी भी मेरे जिस्म से अलग कर दी.

उनके बदन से एक अलग ही प्रकार की खुशबू आ रही थी जो मुझे और भी ज्यादा उत्तेजित कर रही थी. बल्कि ये करने से हमारे बीच प्यार और बढ़ेगा और वैसे भी हम सगे भाई बहन तो है नहीं.

वो अपनी गांड नीचे से उठा कर मेरे लंड को अन्दर लेने की कोशिश करने लगी. ’ये कहते हुए चाचा ने अपना लंड खाली करना शुरू कर दिया था और बहुत सारा वीर्य मम्मी की चुत में छोड़ने लगे थे. मम्मी- अब भी मुझे भाभी बोलोगे? शादी हो चुकी है हमारी!चाचा- ठीक है जी, आप ही बता दो कि मैं क्या कहूँ?मम्मी- इसमें कहने वाली क्या बात है, नाम लेकर बुलाया करो मेरा.

मैंने लंड हल्के से बाहर निकाला और जोर से धक्का मारा … उसकी जोर से सिसकारी निकल गई.

हर वक़्त वो टाइट शॉर्ट मिडी पहनती थी, जिसके उसका फिगर पूरा दिखता था. इस कारण रजवाड़े का रानी महल रीता ही रहता मतलब रानी महल की रानियां सेक्स सुख से वंचित ही रहतीं. मैंने अंकिता को अपनी गोद में उठाया और उसे बाथरूम ले गया उधर उसे कमोड पर बिठा कर उसे सूसू करवाई.

अंग्रेजी वीडियो सेक्सी मूवीउसने फटाक से लंड पकड़ कर चूत में ले लिया और गांड आगे पीछे करने लगी. जबरदस्त लंड चूत की चुसाई हुई और हम दोनों ने एक दूसरे का रस पी लिया.

सेक्सी चोदा चोदी ब्लू फिल्म

ये बात तब की है, जब मेरी मौसी की लड़की की शादी तय हुई थी और हम सभी को शादी में जाना था. मैं निकलने को हुआ तो भाभी ने मुझे एक लंबा सा किस किया और मैं वहां से निकल गया. मैंने चूत को लंड से कुछ ज्यादा घिसा तो उस्ताद जी ने मेरी चूत के छेद पर लंड सैट कर दिया और एक धक्का दे मारा.

मॉम ने अपने रसीले दिल के आकार के होंठों को आंटी के होंठों पर चिपका दिए. अब मैंने उसे उठाकर अपने बाहुपाश में बांध लिया और उसके माथे पर जोरदार चुम्बन रख दिया. फिर से मैडम की मूतने की आवाज सुनकर मेरे अन्दर का हवस जग गई और मैं दरवाजे को हल्का सा हटा कर उन्हें देखने लगा.

तभी मैंने देखा कि मैं हिल भी नहीं पा रहा हूँ क्योंकि मेरे हाथ और पैर बेड पर बंधे थे. उधर निधि मेरी चूत को चाट रही थी। मैं पूरे सातवें आसमान पर थी।अब कभी तपिश अपना लंड मेरी चूत में डालता और कभी निधि के मुँह में!तभी तपिश ने थोड़ी देर में अपना गर्म गर्म पानी मेरी चूत में छोड़ दिया. मैंने उसके करीब आते ही दिलप्रीत को अपनी बांहों में भर लिया और उसे दीवार से चिपका कर चूमने लगा.

मैंने उसे अपने फ्लैट में ले गया और उस Xxx देसी जवानी को नंगी करके पहले उसकी झांटें साफ़ की और साथ में नहाया. मम्मी- मम्मम्म … आह आ …चाचा- रेखा, तुम्हारी चुत मुझे बहुत मजा दे रही है.

उसे देखते ही मेरा लन्ड खड़ा हो कर सलामी देने लगा।उसने भी मुझे देख लिया और उसके चहरे पर एक हल्की सी मुस्कान आ गई।मैंने चारों तरफ देखा और मैं उसे ज्वार के खेत में ले घुसा।वह अपने साथ एक ओढ़नी भी लाई थी ज्वार बांधने के लिए!उस ओढ़नी को हमने नीचे बिछा लिया।अब हम पूरी तरह से तैयार थे।मैं सीधा उसके गुलाबी होंठों को पागलों की तरह चूमने लगा.

मैंने कहा- नाश्ता कर लूं पहले!उसने बेचैन निगाहों से अपना सर हां में हिलाया. हिंदी सेक्सी फुल मूवी वीडियोआप बोलो तो तेल से हल्की हल्की मालिश कर दूं?दीदी ने कहा- कर दो राहुल!मुझे मसाज पोर्न वीडियो देखने का शौक है जिसे देखकर मैं मसाज करना सीख लिया है. हिंदी सेक्सी पिक्चर हिंदी सेक्सीमैं चुदाई में अनाड़ी था तो इंजन के पिस्टन की तरह चुत चुदाई में लग गया. एक और लड़की भी थी, जिससे एक दो बार किया लेकिन आज भी मुझे अपना सेक्स, अधूरा सेक्स ही लगता है.

बस मैं भी लेटा रहा और सोचता रहा कि अगर मेरी साली सोती नहीं तो आज वो मेरे लंड जरूर देखती.

अपनी पत्नी का नाम हेमा लिख रहा हूँ, उसके बॉस का नाम वरुण है और मेरा नाम सिद्धार्थ है. ये गर्म सेक्स की बाप बेटी चुदाई कहानी आज से कुछ साल पहले की उस समय की है, जब दीदी पर नई नई जवानी चढ़ रही थी. फिर डॉक्टर ने उससे ब्लाउज खोलने के लिए कहा तो मेरी पैंट में सनसनी होने लगी.

कुछ समय अम्मी को ताबड़तोड़ चोदने के बाद वो शांत हो गईं और चुपचाप लेटी रहीं. वो मम्मी के साथ खाना बनाने चली गई और मैं अपने रूम में बैठ कर टीवी देखने लगा. मम्मी बोली- देखा है तो फिर आकर पकड़ा क्यों नहीं मेरे सामने लण्ड? अगर तू पकड़ लेती तो मैं तेरी चूत में भी घुसा देती लण्ड! अब तो तेरी चूत मेरी चूत के बराबर हो गई है बुर चोदी वर्तिका।वह बोली- ओ माय गॉड … ऐसा हो सकता है क्या?मम्मी बोली- हां बिल्कुल हो सकता है। कहो तो आज ही पकड़ा दूँ तुझे कोई लण्ड?वह बोली- हाय मेरी मम्मी, अगर पकड़ा दो तो मज़ा आ जाये.

हॅलो मराठी सेक्सी व्हिडिओ

और मेरा मन कब से भाई के प्यार के लिए तरस रहा था।फिर हम लोग कामुक होने लगे, एक दूसरे को चूमने लगे. एक दिन की बात है हेमा पूजा कर रही थी, तो मैंने हेमा से कहा- मुझे ₹10 खुले चाहिए. उधर अशोक का हाल भी खराब हो चुका था, वो तो रानी साहिबा को अब पूरा पाना चाहता था.

फिर हम दोनों इसी तरह की बातें करते हुए कब उनके घर पहुंच गए, हमें पता ही नहीं चला.

दीप्ति मेरी तरह एकदम नग्न अवस्था में सो रही थी जिससे मेरा मूड फिर से बनने लगा.

भाभी ने कहा- कर दिया ना अपनी भाभी को खराब … ले लिया मजा?ये कह कर भाभी हंस दीं. वह बीच बीच में लंड चूत से निकाल कर चाट लेती और फिर से चुत चुदवाने लगती. নাতাসা সেক্সি ভিডিওफिर मैंने उन्हें बिस्तर पर घोड़ी बनाया और पीछे से दीदी की चूत में लंड घुसा दिया.

वो बोलीं- साली तू पूरी रंडी है … चल आ जा, अब अपन दोनों मजा लेती हैं. वह मस्ती में एक हाथ से अपने चूचे को दबा रही थीं और एक हाथ में मेरे सर को सहला रही थीं. मैंने सोचा था कि ये मेट्रो में जाएगी, तो मैं मेट्रो में ही उसके पीछे चला जाऊंगा.

BDSM यूरिन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मेरे पड़ोस की रौब वाली लड़की से मैंने सेक्स की बात की. मालकिन के कमर में नस चढ़ी थी जो हल्का सा दाब पढ़ते ही कट की आवाज आई और नस उतर गई.

दोपहर के समय विशु घर आ गया और बोला कि दीदी गणित के सवाल समझा दो, मुझसे हो नहीं रहे.

दारू के जाम टकराने लगे और मैं दिनेश के दोस्तों की गोद में बारी बारी से बैठने लगी. मैंने हड़बड़ा के पूछा- क्या?उसने मुस्कुराते हुआ कहा- ज़्यादा कुछ नहीं बस ये टीशर्ट. मैं दिल्ली में कमरा लेकर रहता हूं और एक मेड भी सुबह को काम करने आती है.

पहली पहला वीडियो मैंने अपने हाथ उन दोनों के लंड पर रखे हुए थे और उनके लंड को हिलाना शुरू कर दिया. मैंने अपना फोन उस महिला को दे दिया और वो महिला अपने पति को फोन करने लगी.

मम्मी बोलीं- ठीक है, मैं विशु को बोल देती हूँ कि वो रात को यहां सोने आ जाया करे!मैंने एकदम से बोल दिया- हां ये ठीक रहेगा. संडे के दिन मॉम ने जेनीका को कॉल किया कि तुम हमारे साथ ही डिनर ले लेना और रात को यहीं पर रुक जाना. फिर मैंने केक काटा!वो हैप्पी मैरिज एनिवर्सरी मैम बोलने लगा।मैंने केक लेकर उसको खिला दी।फिर उसने केक लेकर मुझे खिलाई और बोला- मैम हैप्पी एनिवर्सरी!मैंने कहा- ये बार बार मैम क्यों बोल रहे हो? अब तुम ड्यूटी पर नहीं हो। मेरा नाम अलका है।उसने कहा- ओके अलका जी!मैंने कहा- नहीं समीर, तुम मुझे अलका बोलो।फिर मैंने दो पैग बनाए और हम दोनों पीने लगे।हमने दो दो पैग लिए.

सेक्सी कार्टून बीपी

मेरा नाम राजीव है, मैं झूठ नहीं बोलूंगा लेकिन ये मेरा असली नाम नहीं है. वो बोली- पर ये इतना मोटा है मेरे मुँह में जाएगा कैसे?मैंने कहा- ये सब छेदों में चला जाता है यही तो इसकी खासियत है. Xxx चाची की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे जेठ का बेटा मेरे घर रहने लगा तो एक दिन मैंने उसका लंड देख लिया.

कोमल दीदी- अरे होता है, नई जगह जाने के बाद बहुत चीजें बदल जाती हैं. हम दोनों की आंखें साफ-साफ बता रही थीं कि हम दोनों इस समय क्या सोच रहे हैं.

ऐसी कातिल हसीना थी वो!36 के चूचे, 30 की कमर और 34 की गांड और एकदम मक्खन जैसी सफेद, इतनी गोरी, मैं तो उसे घूर घूर कर देखता ही रह गया!फिर मैंने थोड़ा खुद पर कंट्रोल किया और सोचा कि मैं इसकी लेने ही तो आया हूँ.

जब भी मेरी बुआ बाहर निकलतीं, तो उनको देखने के लिए रास्ते पर निकल आते थे. फिर मैंने जैसे भी करके अपना लंड भाभी की चूत में पूरा का पूरा घुसा दिया. वो बोलती रही, दीप चोदता रहा, और मैं सेक्स के आवेश में उसकी चूत भी चाट गई.

अचानक से लॉकडाउन लग गया और वो वहीं पर फंस गई।इधर मैं अपने घर में अकेला बोर हो रहा था. [emailprotected]ग्रुप सेक्स प्ले स्टोरी का अगला भाग:लॉकडाउन में मिला शानदार चुदाई का मजा- 7. वीर्य का प्रेशर इतना ज्यादा था कि ऋतु को लंड मुँह से निकालने का मौका ही नहीं मिला, सारा पानी उसके गले में उतर गया.

वो बोली- हां वो तो आप साथ में थे, नहीं तो वो पहली बार में ही मुझे चोद देता.

ओपन एक्स एक्स एक्स बीएफ: कोमल दीदी वैसे तो ज्यादा आवाज नहीं करती थीं पर आज उनकी मादक सिसकारियां मुझे पागल बना रही थीं. मैंने वाशरूम जाकर लंड को साफ किया फिर वापस आकर बॉडीलोशन लगाया ताकि लंड को दर्द से थोड़ा आराम मिल जाए.

ज्योति की बुर पर किस करने के बाद मैं उसकी जांघों को चाटते हुए उसके घुटनों से होते हुए पैरों की तरफ धीरे धीरे बढ़ने लगा. मैंने भी उसकी लेगिंग्स को उतार दियाअब वो मेरे सामने सिर्फ निक्कर पहने थी, बाक़ी पूरी नंगी थी. कुछ देर बाद प्रियंका ने मेरा एक पैर ऊपर किया और अपनी चूत मेरी चूत पर रख कर अपनी गांड गोल गोल घुमाने लगी.

फिर मैंने एक दिन उसकी इंस्टाग्राम की आईडी पर उसे फॉलो रिक्वेस्ट भेजी, साथ ही एक मैसेज भी कर दिया.

भाभी बोलीं- हां ये आपने सही बोला सागर … अब तो मैं बस जल्द से जल्द इसे अपनी चुत में लेने को मचल रही हूँ. इस बात को लेकर मेरी ससुराल से सासू जी का फ़ोन आया कि आप हमारी बेटी को कुछ दिनों के लिए हमारे घर छोड़ दीजिए जिससे वो आराम कर लेगी और डिलीवरी भी यहीं करवा लेंगे. जब हम लोग मेला घूम कर वापस आ रहे थे तो उनकी बेटी रास्ते में ही सो गई.