वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए

छवि स्रोत,मराठी बीपी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

ओपन सेक्स वीडियो बीएफ: वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए, मैंने उन्हें एक पोर्न वीडियो दिखा दी, जिससे वो थोड़ा बहुत गर्म हो गईं और मेरे पास बैठकर मुझे किस करने लगीं.

हिंदी सेक्सी चुदाई हिंदी

वह- चंदा! तुम्हें नफरत नहीं हुई मेरे काले कलूटे लंड से?मैंने न चाहते हुए भी उसके लंड को आजाद किया और उसकी आँखों की तरफ देखते हुए कहा- तुम नहीं जानते प्यारे! तुम्हें ईश्वर ने क्या दे दिया है? यह नफरत करने की नहीं, प्यार करने की चीज है. सेक्सी इंजॉयमुझे अब दरवाजे पर किसी के होने का आभास सा हुआ, मगर मैंने जब दरवाजे की तरफ देखा तो मुझे‌ नेहा नजर आयी.

प्रिया से ये बर्दाश्त नहीं हुआ … उसने दोनों हाथों से मेरे सिर को पकड़कर अपनी गर्दन पर से हटा दिया और मेरे चेहरे को घुमाकर मेरे होंठों को चूसने लगी. मारवाड़ी वीडियो बीपीसोनल की खुलती बंद होती चूत को दादाजी ने अपनी एक हाथों की उंगलियों से खोल कर रखा था और दूसरा हाथ उसकी चूत की तरफ बढ़ा दिया.

अब सोनू लगभग हर रोज शाम को मेरे पास आती थी और चुदाई का एक दौर लगा लेती थी.वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए: मैं- वाह! बहुत बढ़िया है भाई!वह- जी हाँ सर जी, हमारे यहाँ का दूध पूरे इंदौर में प्रसिद्ध है.

ट्रेन भी स्टेशन पर थोड़ी देर ही रुकती थी … इसलिए ज़्यादा टाइम ना लगाते हुए मैं भी वापस अपनी सीट पर आ गया.जिससे उनका मज़ा सातवें आसमान पर पहुँच गया और वो ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ करते हुए कराहने लगे.

ப்ளூ பிலிம் செக்ஸ்படம் ப்ளூ ஃபிலிம் - वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए

उन्होंने टांगें फैलाकर मेरी चूत में अपनी जीभ सीधे डाल दी और इतना जोर से चाटना चूसना शुरू कर दिया कि मैंने अपने आप ही उनका लंड अपने मुँह में भर कर चूसने लगी.उसने मुझे इतने जोर से पकड़ा था कि उसके नाख़ून मेरे पीठ में चुभ गए थे.

सोनू भी रोमांच से भर गई और कहने लगी- राज बात तो तुम ठीक कह रहे हो, मम्मी के चूतड़ तो मेरे चूतड़ों से कहीं ज्यादा भारी हैं. वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए उसका बड़ा सा दाना मैंने मुँह में लिया और जोर से खींचते हुए चूसना शुरू कर दिया.

लेकिन मैंने उनकी चिल्लपों को अनसुना करते हुए एक ज़ोर का धक्का लगा दिया.

वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए?

प्रियंका ने मेरे सामने शर्त ऱखी थी कि अगर मैं उसके साथ यह सब करना चाहता हूँ तो मुझे शादी के बाद ही करना होगा. असली मज़ा तो अब आएगा!मुझे बेड पर लिटा कर चाची मेरे लंड को हाथ से हिलाने लगी और कुछ देर फिर से चूसने लगी. मन कर रहा था कि अभी इसको लात मार कर यहाँ से भगा दूं। मैं मन ही मन अपनी किस्मत को रो रही थी। उसने अपनी वो लुल्ली पूरी भी नहीं घुसाई मेरी चूत में और 10-12 धक्के मारने के बाद उसने अपना वीर्य मेरी चूत में छोड़ दिया और करवट लेकर सो गया। मैं पूरी रात अपनी किस्मत को कोसती रही।मैं सुबह उठी और फ्रेश होकर आयी.

मेरी फट गई कि पक्का कुछ हुआ है, मैं डरते हुए मम्मी के पास गया और उनसे पूछा कि जी मम्मी जी. इस बीच मैंने सरिता के अंगों के उतार-चढ़ाव का माप अच्छी तरह से ले लिया था. मैं उठने को तैयार थी और जैसे ही उठने लगी कि अब मुझसे बिल्कुल दर्द बर्दाश्त नहीं हो रहा था.

दीदी अब अपने घर में सासू माँ के साथ और मैं उनके पास वाली दो गली छोड़ कर हमारे माँ बाप के लिए हुए घर में रहने लगा. कुछ देर तक तो वो कसमसाती रही, मगर फिर उसने भी मेरे होंठों को चूसना शुरू कर दिया. मैंने अपने दोस्त को आवाज दी, जब कोई जवाब नहीं आया, तो मैं उसे ढूंढते उसके घर घुस गया.

फिर मैंने अपना ध्यान हटाते हुए कहा- आइये आइये मैडम … कैसा लगा हमारा स्कूल और हमारा स्टाफ … प्लीज़ बैठिए और ज़रा अपना परिचय भी दीजिए. मैंने बिना कंडोम के उसकी चूत मारी, लेकिन बाद में उसे गर्भनिरोधक गोली भी दे दी.

गुड़िया लगातार सिसिया रही थी- आह … आ … आऊ … बाबू स्लोली कर … दुख रहा है.

मगर फिर भी उसको तड़पाने के लिए मैं ऐसे ही अपनी उंगली की हरकत करता रहा.

मैं सिसकारियां लेते हुए बोली- आहहह … जेठजी बहुत अच्छे और जोर से मसलो, बहुत अच्छा लग रहा है!अब वो और भी जोश में मेरे स्तनों को मसलने और चूसने लगे. जिस कारण से थोड़े टाइम के बाद रुबीना का परिवार दिल्ली छोड़ कर चला गया. इस बार फचाक की आवाज से लंड कौशल्या की चूत को चीरता हुआ पूरा अन्दर तक घुस गया.

दोस्तो नमस्कार … यह कहानी मेरी और मेरी बहन व मेरे सबसे खास दोस्त की है. तेरे चाचा का तो पतला सा है!यह कहते ही वो जमीन पर बैठ कर मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी. ये सोच तू कितनी गरम और चुदासी है कि इतने बड़े मोटे विदेशी नीग्रो के लंड तेरी गांड और तेरी चूत में डले हैं.

मैंने कहा- मतलब?तो वो बोली- मेमसाब ने बोला था कि मेरे आने तक साब की अच्छी से सेवा करना … उन्हें मेरी कमी नहीं महसूस होनी चाहिये.

रूपा ने कामुक मुस्कान अपने होंठों पर लिए हुए कहा- ऊफ्फह्ह छोटी भौजी कह रही थीं, आपने रात को उनकी गांड चौड़ी दी. तुम चिल्लाने को हुईं तो मैंने मेरे होंठों से तुम्हारा मुँह बंद कर दिया. इसके बाद हम दोनों थोड़ी देर एक दूसरे की बांहों में बैठे रहे और बस एक दूसरे को धीरे धीरे चूमते रहे.

कुछ ने कुत्ता बनाकर मारी है, कुछ ने गोद में उठाकर पेला है, कुछ ने पुराने अंदाज में गांडमारी का खेल खेला है. यह बात आज से 7 साल पहले की है, जब मेरी स्नातक का आखिरी साल चल रहा था. उसने मुझसे अपनी बहुत सी सहेलियों को चुदवाया।बाकी की कहानी मैं आपको अगली बार सुनाऊँगा। इस काम से मुझे काफ़ी कमाई होने लगी दो साल बाद मैं जालंधर शिफ्ट हो गया अब मैं यहाँ भी जिगोलो का काम शुरू करना चाहता हूँ।आपको कहानी कैसी लगी, ज़रूर बताना।[emailprotected].

मैंने सोनू को फिर प्यार किया और कहा- ठीक है, आज से हम दोनों पक्के फ्रेंड हो गए हैं.

गत वर्ष मैं मेरे व्यावसायिक काम के चलते कर्नाटका एक्सप्रेस से दिल्ली जाने के लिये मनमाड़ स्टेशन से सेकंड ए सी में शाम चार बजे बैठा. सुलेखा भाभी ने अब कुछ देर‌ तो धक्के तो‌ लगाये और फिर मुझे‌ बांहों‌ में भरकर वो‌ फिर से‌ पलट गईं,‌ जिससे एक‌ बार फिर अब भाभी मेरे नीचे आ गईं और मैं उनके‌ ऊपर चढ़ गया.

वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए उसने कहा- सर, क्या किसी का फोन इस तरह से चेक करना सही बात है?मैंने दबी सी आवाज़ में कहा- नहीं, मैं तो बस ऐसे ही देख रहा था. धीरे धीरे अन्दर घुसाते हुए आधी उंगली, फिर धीरे धीरे पूरी उंगली सोनल की चूत के अन्दर पेल दी.

वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए भाभी मुझे चूमते हुए गालियाँ भी दे रही थी- साले तड़पा मत मुझे, मेरा मर्द तो साला काम पर जाता है, बच्चे निकाल कर कमीने ने मुझे चोदना ही छोड़ दिया. मैं चिल्लाने को होने लगी, मेरा मुँह छत्तू पकड़ा हुआ था, इसलिए आवाज नहीं निकल रही थी.

बिना कुछ सोचे समझे मैं तुरंत ही खड़ा हो गया और अपने दोनों पैर एक ही तरफ के पैरदान पर रखते हुए बाजू से अपनी मुंडी उनके हैंडल पकड़े हुए हाथ के ऊपर से होते हुए मोटे लंड के मशरूम से सुपारे को अपने मुँह में भर लिया.

बांके बिहारी जी

भाभी ने पूछा- क्या पियोगे टी, कॉफी या फिर कोल्ड ड्रिंक?मैंने कहा कि आप तो चाय ही पिला दो भाभी मगर अपने दूध की चाय बनाना. जब उसने डिल्डो को निकाला तो चूत से खून से मिली हुई पानी की बूंदें टपक रही थीं. मैं क्या करता दोस्तो … इसके आगे तो करण ने मेरी बीवी अनु को न केवल खुद खूब चोदा बल्कि अपने फायदे के लिए अपने दोस्त से … और यहां तक कि एक 65 साल के वहां के नेता से भी अनु की चूत चुदाई करवा दी.

मैंने मेरी बीवी को एक दिन बहुत धमकाते हुए कहा- तुम उस करण पाल से रोज क्या बातें करती हो … और मुझे ये सब अच्छा नहीं लगता. अब मैंने रॉकी से बोला कि भाई ये कस्टमर बिरजू करता क्या है?तो उसने बताया कि वो ड्राइवर है. मैं उसको चूमे और सहलाए जा रहा था, साथ ही उसके दूध अपने होंठों में भर कर चूस रहा था.

सबसे मस्त सेक्स साईट अन्तर्वासना के प्रिय पाठको … आज मैं, मनु आपके सामने अपने साथ घटी सच्ची घटना साझा करने जा रहा हूँ.

कुछ देर इस पोजीशन में चोदने के बाद मैंने भाभी को अपने ऊपर ले लिया और उनको उत्तेजित करते हुए गाली देकर बोला कि आपकी मोटी गांड आज बजा कर रख दूंगा कुतिया छिनाल. मैंने लंड को उसकी चूत में लगाया और एक झटका लगाया तो सिर्फ लंड की टोपी ही घुसी थी कि पूजा के मुँह से चीख निकली … लेकिन मैं नहीं रुका. मैडम ने लंड चूस कर बाहर निकालते हुए कहा- आपका लंड तो बहुत बड़ा और मोटा है … मेरे पति से दोगुना है … आप थोड़ा आराम से अन्दर कीजिएगा … मुझे आपके लंड से थोड़ा डर लग रहा है.

जैसे ही उनका हाथ नीचे चूत में पहुंचा, वह थोड़ा सा चूत को सहलाने लगे. फिर मैंने भाभी को वहीं पास में पड़ी मेज़ पर लिटाया, तो देखा कि उसने अपनी चूत के पूरे बाल साफ़ कर रखे थे. वंदना बोली- मुझे नहीं चाहिए ऐसा मजा … बहुत दर्द हो रहा है, तुम इसे निकालो.

वो बोली- वो घन्टी मेमसाब के फोन की थी कि वो 15 मिनट में पहुँच जाएंगी. अब हमारे पास बहुत समय था, तो मैंने और आनन्द ने बार में जाकर पीने का मन बनाया.

मुझे लग रहा था कि उसको भी कुछ नया ट्राय करने की उतनी ही जल्दी थी जितनी की मुझे. मेरी उम्र 22 साल है, मैं जब जयपुर से दिल्ली जॉब करने आया, तब मैंने एक रूम किराये पर लिया था. वे मेरी चुत में गोल गोल लंड घुमाते हुए मेरी चुत में धक्के देने लगे.

उधर ऊपर से महेश ने मेरे टॉप और समीज को ऊपर समेट कर गर्दन तक ला दिया.

मैंने उसका हाथ पकड़ कर अपनी पैंट पर रखवा लिया और उसने खुद ही मेरे तने हुए लंड को ढूंढ लिया. बातें करते हुए मैंने हिम्मत करके ज्योति से पूछा- तुम्हारा कोई बॉयफ्रेंड तो नहीं है न?उसने बताया कि उसे यह सब पसंद नहीं है. उसने मेरी टी शर्ट और बनियान खोल दी और मेरी चौड़ी छाती पर किस करने लगी.

फिर मेरे देवर ने मेरे पेटीकोट को निकाल दिया और मेरी काली रंग की पेंटी के ऊपर से ही मेरी चूत को सहलाने लगा. मैंने लंड पर हाथ फेर कर उसे नीचे आने का इशारा किया, तो वो थोड़ा रुकने का इशारा करके अन्दर चली गयी.

मेरी पत्नी टांगें फैलाएं नीरू से अपनी चूत चटवा रही थी, मैं नीरू की चूत डॉगी स्टाइल में चोद रहा था और पहली बार चुदने आई पायल मेरे लंड को नीरू की चूत में अंदर बाहर होते हुए नीरू के गांड की दरार फैला कर उसे बड़े चाव से देख रही थी. मैंने अपनी गर्लफ्रेंड (अब बीवी) को सॉरी कहा और वह 2-3 दिन में मान भी गयी. मैं भी जानबूझ कर आगे का ब्रेक लगा देता, जिसे वो मेरे और करीब आ जाती.

जापानी पॉर्न

उस दिन हमने कोई मेक-अप नहीं किया था क्योंकि हमें पता था कि पानी के अंदर तो सारा मेक-अप धुल ही जाना है.

वो चली गई सुनीता का घर बहन के घर के बिल्कुल सामने था, दोनों घरों के बीच में एक छह फुट की पतली गली थी. मेरी इच्छा पर एक बार और मुझे वह अविस्मरणीय लंड वह पूजनीय लंड दिखाकर गया. मैंने कहा- साली, एक बार नीचे हाथ कर के देख ले, कहीं तेरी बात झूठी न हो जाए.

मैं तो इतनी देर में तो आसमान में पहुंच गया था और उसकी लंड चुसाई का मजा ले रहा था. शायद वो मुझे देखने‌ के लिए आई थी, मगर हमें इस हालत में देखकर दरवाजे से ही‌ लौट गयी थी. सेक्सी पिक्चर ब्लू हिंदी मेंफिर मैं डर के कारण जल्दी से उठ कर अपने बेड पर आकर रज़ाई में घुस गया.

उनके मम्मों का आकार इतना मस्त था और स्पर्श का अहसास बिल्कुल मखमल के जैसे मुलायम था. इसके बाद तो मैं जब तक वहां रहा, तक तक मैंने ललिता को कई आसनों में चोदा.

अब वो चिल्ला रही थी- निकाल दे, रहम कर, मत मार, गांड बहुत दुख रही है. मैं तुझे इतने मस्त लौंडो के लंड से चुदवाऊंगा कि जिंदगी में तेरे से ज्यादा मजे किसी को नहीं मिलेंगे. ”क्या करूँ मेरी जान तेरी चूत है ही इतनी टाईट … थोड़ा बर्दाश्त कर ले मेरी रानी … अच्छा रुक तेरी चूत थोड़ी गीली करता हूँ, फिर आराम से लंड उसके अन्दर जाएगा.

मेरे मन को बहुत बुरा लगा कि मर्द होकर खुद सीट पर बैठ गए और बूढ़ी और जवान औरतों को नीचे बिठा दिया. मैंने उसी पोजीशन में सोनू को उठाकर बैड पर लिटा लिया और उसकी शर्ट के ऊपर के दो बटन खोल कर उसके मम्मे बाहर निकाले और एक मम्मा चूसते हुए उसकी ताबड़तोड़ चुदाई करने लगा. मैंने सोचा कि चलो कोई बात नहीं केवल दो घन्टे की तो बात है, काट लेंगे.

अब मैंने करण से पूछा- कब आए करण पाल?उसने ढीठता से बोला- यही एक घंटा हुआ है.

नहाने के बाद जब मैंने तौलिया खोजा, तो याद आया कि ये तो किसी का घर है और खुद अपना तौलिया लाना था. मुझे पता चला कि उसका निकाह हो चुका था जबकि वो अभी केवल इक्कीस साल की थी.

दोस्तो नमस्कार … यह कहानी मेरी और मेरी बहन व मेरे सबसे खास दोस्त की है. मैं पूजा मम्मे को हाथ में लेके दबा रहा था और गांड में भी उंगली डालकर उसके छेद को ढीला कर रहा था. मुझमें अब और सब्र नहीं बचा था इसलिये मैंने अपना मुँह उसकी नंगी चूची के निप्पल पे रख दिया और किशमिश के दाने जैसे उसके छोटे से गुलाबी निप्पल को मुँह में भर लिया जिससे प्रिया नेइइईईई … श्श्शशश … अअआह … आह्ह्हहह …” की एक जोर की सिसकारी भरी.

मैं डर की वजह से अपने कपड़े पहनने लगी लेकिन थोड़ी देर बाद ही वे दोनों कमरे में आ गए. मेरा खड़ा लंड उनको नमस्ते करने लगा तो लंड को हाथ में ले के मैम उसे आगे पीछे करने लगीं. वह अब जोर से लंड चूस रही थी, मेरा हाथ भी उसके स्तन जोर से दबा रहा था.

वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए मुझे पता लगा कि सोनू ने बारहवीं कक्षा पास करके एक प्राइवेट फैशन डिजाइनिंग इंस्टिट्यूट में एडमिशन ले रखा था. मैंने उससे पूछा- क्या तुम तैयार हो?वो कुछ पल के लिए सोच में पड़ गया.

चोदने की बातें

दो पल बाद ही मैंने उसकी पैंटी भी उतार फेंकी और चूत को जोरों से चूसने लगा. नामित की मॉम नेहा ने हमें पानी आदि दिया फिर वो हमारे लिए जूस ले आईं. मैंने कहा- दर्द सह लूँगी … लेकिन तुम्हारे लंड से आज गांड चुदवा कर ही मानूंगी.

अगर मैं उसके बारे में बताऊं तो मुझे सबसे ज्यादा जो बात उसमें पसंद थी वह थे उसके स्तन जो करीब 36 के साइज़ के थे और गांड भी 36 से कम नहीं थी. मैंने अपने हाथों से रूपा की चूत की फांकों को फैला लिया और अपनी जीभ निकाल कर रूपा की चूत के फांकों के बीच के दरार में डाल कर रगड़नी चालू कर दी. ववव पोर्न वीडियोपर तुम्हें देख कर मैं अपने आप पर काबू नहीं रख पाता हूँ और तुम भी तो मेरा साथ पसंद करती हो.

लंड की चुभन ने भाभी को कुछ अहसास दिलाया और उन्होंने मेरी ओर प्यार से देखा.

भाभी बोलीं- हाँ मेरे देवर राजा … आ जाओ … मुझे जल्दी से चोद दो! अपनी भाभी को मजा दे दो आज पूरी चुदाई का!मैंने भाभी को बिस्तर पर चित लिटा दिया और लंड उनकी चुत पर लगा कर झटका दे मारा. मेरी बहन बोली- नहीं एक बार आप ऊपर आके डालो … फिर मैं आपकी कुतिया बन जाऊंगी.

मालिनी के मुँह से एक हल्की सी आवाज निकली, तब मुझे लगा कि मालिनी लौड़ा सहन कर लेगी, इसलिए मैंने एक तेज झटका मारा और अपना आधे से ज्यादा लौड़ा उसकी चूत में पेल दिया. हमारी पहली मुलाकात मतलब मेरी और उस लड़की की मुलाक़ात, जो इस कहानी की नायिका है. मैंने भी अब एक लम्बी सी सांस अन्दर खींची और तेज़ी से अपनी पूरी जीभ उसकी चूत में डाल कर अन्दर बाहर करने लगा.

मैं नहाया और मैंने परफ्यूम लगा कर चाची को चोदने का सारा प्लान भी अपने दिमाग में बना लिया.

उस वक्त अरुणा ने कुछ नहीं पहना था, मैंने उसे सीधा उस लड़के के लिए लाइव कर दिया. मुझसे रहा नहीं गया, मैंने मजबूर होकर गौरव का लौड़ा अपने हाथ से पकड़ कर सीधे अपने मुँह में भर लिया और जोर से चूसने लगी, चाटने लगी. बता बनेगी रखैल?मैं होश में तो थी नहीं, मुझे कुछ नहीं याद है कि क्या बोलूं.

बिहार का सेक्सी ब्लू पिक्चरतभी जो बुड्ढे मियां ने अनवर को बोला- अबे यह लड़की पागलपन की हद से ज्यादा सेक्सी है. उसने थोड़ी मायूसी से जवाब दिया- क्या करूँ सर … वो फौज में है, साल में कुछ दिन या एकाध महीने के लिए ही आते हैं.

भूल भुलैया हिंदी मूवी

मुझे पहले तो काफी दर्द हुआ लेकिन बाद में उसके लंड से चुदकर मेरी गांड खुल गई और मैं उसकी चुदाई का आनंद लेने लगी. रवि ने मुझे उठाया तो मैं घोड़ी टाइप बनने को जैसे ही उठी तो आगे देखा कि राज अंकल अपने पेंट को नीचे करे अपना लंड हाथों से मुझे देख देख कर रगड़ रहे थे. दस बजे पूजा का फोन आया और उसने बताया कि मैं ट्रेन सही समय से है और मैं आधा घंटे में पहुंच जाऊंगी.

मेरी बीवी अनु करण के लंड को सहन नहीं कर पा रही थी उसके मुँह से दर्द भरी चिल्लपों जारी थी- ऊह … ऊआह … ओहह … करण … प्लीज़ आराम से … आह मुझे बहुत दर्द हो रहा है … प्लीज … मैं बाद में करवा लूंगी … अभी छोड़ो ना … बहुत तेज दर्द हो रहा है. फिर मेरे लंड को तुम्हारे मुँह में भरकर मैंने तुम्हारी गीली चुत चाटना शुरू किया था. पुनीत ने भी आँख दबाकर कहा- वन्द्या तू मुझसे शादी कर ले, मेरी बीवी बन जा तुझे रानी बनाकर रखूंगा.

उसकी चूत एकदम चिकनी चमेली थी, जो एक विधवा की चुदास का मेकअप साफ़ तरीके से दिखा रहा था. वो कराह उठी, मैं अच्छी तरह से उसके मम्मों को चूसने लगा और दबाने लगा. हालांकि उसकी उम्र पैंतालीस साल के आसपास है, वो ढल गई है, पर गजब चुदवाती है.

आपका जो मन करेगा, मेरे साथ कर लेना। प्लीज सर …सर भी शायद मेरी मज़बूरी समझ गए। वो भी मेरी कुंवारी सील तोड़ना चाहते थे, इसी के लालच में वो भी कुछ शांत हो गए. मानो अब हम आज़ाद हो गए थे, कोई हमें देखने वाला नहीं था और शायद अब हम दोनों ही अश्लीलता पर उतर जाने को आतुर थे.

वहां पर उस मकान के पीछे आंगन में एक अल्हड़ सी लड़की बार-बार मेरे कमरे की तरफ देखती रहती थी.

नाड़े की गांठ उलझ चुकी थी, जिससे वो और भी झुंझला उठी और मेरी तरफ देखने लगी. गुप्ता सेक्स वीडियोवो मेरे कूल्हों को फैलाकर अपनी जीभ डाल कर चाटने लगा और बोला- वन्द्या तू सच में बहुत बड़ी कुतिया है. सैक्स videosदवाई के असर के साथ ही दो साल बाद की मेरी प्यास भी अपनी अंगड़ाई लेने लगी थी, मैंने नामित से बोला- अब मुझे पूरा तृप्त करो. उसकी चूची को चूसते हुए मेरा एक हाथ अब भी उसकी दूसरी चूची पर ही था, जिससे मैं उसकी चूची को मसल भी रहा था.

मैं चिल्लाई- वहीं रुक जाइये जेठ जी … मैं भी यह बात मैं आपके सामने कबूल करना चाहती हूं कि आपके इस जबरदस्त सेक्स में मुझे अलग ही मजा मिला.

मेरी सारी शर्म रफा-दफा हो गई थी और मैं राहुल को बस प्यार से किस करते हुए उसके लंड को सहलाती जा रही थी. वो नीचे से कमर उठा कर लंड ले रही थी और बोले जा रही थी- यसस्स कम ऑन … जोर से चोदो अहहह अहह … अहहह … बड़ा मजा रहा है. वो नई मैडम जैसे ही में ऑफिस के अन्दर आई, पूरा रूम एक सुंदर सी खुशबू से भर गया.

रात में खाना ख़ाकर हम बैठे थे पर पियू के पति (रमेश, काल्पनिक नाम) खाना खाने के बाद भी ड्रिंक कर रहे थे. मालिनी मेरे पास आकर खड़ी हो गयी, मालिनी को देखकर आंटी बोलीं- लगता है पूरी रात बहुत मजा दिया है, बहू को अपने वश में कर लिया है. आपको बता दूं कि कहानी कि हर एक भाग में महज शब्द ही मेरे हैं, जबकि घटना का लेखाजोखा बताने वाली तो मेरी चुदक्कड़ वाइफ नीना खुद ही है.

कैलेंडर सेक्स

मैं उसको चूमे और सहलाए जा रहा था, साथ ही उसके दूध अपने होंठों में भर कर चूस रहा था. मैं प्रिया के बारे में सोच ही रहा था कि तभी नेहा ने अपनी चुत को मेरे पूरे चेहरे पर जोरों से दबाकर रगड़ दिया. लेकिन उस मोटे लंड से मेरा दम घुट रहा था और मेरा सांस लेना भी मुश्किल था.

उसने नीचे बैठकर मेरे लंड को बाहर निकाला और उसे मुँह में ले लिया और चूसने लगी.

अगर वह बाहर से पूरी नहीं हो रही हो तो घर में ही पूरी कर लेनी चाहिए.

बहुत देर तक सोनू मेरे ऊपर लेटी रही और लंड को लेकर ऊपर नीचे होती रही. जेठानी ने कहा- ये यहाँ क्या करेगा?एकता ने कहा- अरे यार सब करेगा … अब थोड़ा बैठने भी दो … या सब यहीं खड़े खड़े ही पूछ लोगी. हिंदी में बीपी वीडियोदोस्तो! औरत वैसे ही अनजान बनी रहती है लेकिन वह आदमी की हरकतों को सब जानती है.

मैंने उसको सोच के लंड सहलाया, मुठ मारी और और सारा माल मैंने उस ब्रा पे निकाल दिया. मैंने अब पहले तो नेहा के होंठों पर एक प्यार भरा चुम्बन किया और फिर उसके गाल, गर्दन, उसकी चूचियां और फिर उसके पेट पर से चूमते हुए धीरे धीरे मैं उसकी जांघों के बीच आकर अपने घुटनों के बल बैठ गया. अब यदि जगह पर ध्यान दिया जाए, तो ये लगभग वही जगह थी, जहां पर कल हम लोगों ने कांड किया था और हम लोग फार्म हाउस से सिर्फ 300 मीटर ही दूर थे, जहां नानाजी सो रहे थे.

अच्छा तो तुमको सब पता था?” कहते हुए मैंने नेहा को फिर से बिस्तर पर गिरा लिया. पुनीत मेरे बाल पकड़कर अपना पूरा लंड मेरे मुँह में घुसा कर अन्दर तक डाले दे रहा था.

उसके लंड के बारे में सोचकर मैंने भी अपनी चूत में उंगली करनी शुरू कर दी.

अब मैंने अपना अंगूठा उसके मुँह से बाहर निकाल लिया, उसने मेरा हाथ पकड़ा और अपने दूसरे स्तन पर रख लिया. ठंड शुरू होने के पहले की बात है, मेरे दोस्त के परिवार ने बाहर घूमने का प्लान बनाया जिसमें जीजा जी, अंकल, दोस्त के साले और पियू का परिवार सब मिलाकर 25 लोग शामिल थे. मैं एक बार एक रिश्तेदार की शादी में जाने के लिए तैयार हुआ और किसी कारण से इस शादी में मुझे अकेले ही जाना पड़ा.

सेक्सी girl जैसे ही मुझे फर्श पर लिटाया, रमीज बोला- अबे यार इसको ऐसे मत लिटाओ, नीचे गद्दा डाल लो, तब और अच्छी पोजीशन बनेगी. तुम कहो तो मैं तुम्हें असली पति भी ढूँढ कर दिलवा दूंगी, किसी को कुछ पता नहीं लगेगा.

ज़ीनत मुझसे बोली- समीर भाई, अब मुझसे बर्दाश्त नहीं हो रहा है, अब अपने लंड को मेरी इस चूत में घुसा दो प्लीज!मैंने पूछा कि चूत में पहले घुसवाया है किसी का?वो ख़ुद ही बताने लगी कि मैंने पोर्न मूवी में देखी है और मुझे मालूम है कि ये प्यास लंड से ही बुझेगी. उनमें से एक बंदा अपना मुँह मेरी चुत में रख कर मेरी चुत को अपनी जीभ से चाटने लगा. पाँच मिनट ऐसे ही रहने के बाद गुड़िया का दर्द कम हुआ, तो मैं लंड धीरे से आगे पीछे करने लगा.

दीपिका पादुकोण सेक्सी व्हिडिओ

राज अंकल बोले- देख सोनू, तेरी मम्मी लगता है जम के चुदवा रही है, पूरी गाड़ी खड़ी कैसे हिल रही है. झट से उसकी साड़ी उठाई और अपने लंड का सुपारा चूत पे टिका कर उसकी चुदाई चालू कर दी. क्या पता उस वक्त वह नींद में ना हो और उसे पता चल गया हो कि दादाजी उसके साथ क्या कर रहे थे.

फिर जीजा जी ने अपने बड़े लम्बे लंड को अपनी पेन्ट में से बाहर निकाल दिया. मैंने चाची को किसी तरह समझाया कि हम बड़े चाचा के घर हैं, किसी ने देख लिया तो बुरी तरह फंस जाएंगे.

मगर तभी मेरी नजर अनायास ही उनकी चुत पर चली गयी जिसमें से मेरे व उनके प्रेमरस का‌ बिल्कुल क्रीम जैसा गाढ़ा और सफेद‌ मिश्रण धीरे धीरे बहते हुए बाहर निकल रहा था.

उसका साथी भी बोला- हां यार, क्या मस्त उठी हुई गांड है, ये जिसकी भी बीवी होगी, उसका पति क्या लकी होगा. वो नई मैडम जैसे ही में ऑफिस के अन्दर आई, पूरा रूम एक सुंदर सी खुशबू से भर गया. उसी समय मैंने सोच लिया कि इसका मतलब ये हुआ कि मेरी पत्नी भी उसकी ओर धीरे धीरे आकर्षित हो रही है.

अब करण ने उसे ज़ोर से गोद में उठाया और अपने लंड के ऊपर एकदम से बिठा दिया … उसका लंड अनु की चूत में घुस गया. मेरी बहन उसको देख कर बहुत खुश होती और उसके सामने वो अपने बूब्स और गांड मटका मटका के चलती. पर इस बार मैं अड़ गयी- नहीं सर … ये नहीं!मैंने एकदम से सीधी खड़ी होकर कहा.

प्रिया ने मेरे बालों को अपने उंगलियों में पूरा जकड़ लिया था और कस कस कर मेरी जीभ को चूसने लगी.

वीडियो में बीएफ फिल्म दिखाइए: मैं- भाभी, तुम भी न … बच्ची को बेकार में डांट देती हो।सुशीला- अब वो बच्ची नहीं रही … और तुम दोनों जो कर रहे हो … वो ठीक नहीं है. मैंने उसको पकड़ कर ज़ोर से एक धक्का मारा तो पूरा लंड उसकी चूत में घुस गया.

वापसी के रास्ते में आते आते ही मैं उसे फेसबुक में सर्च करने लगा और वो मिल गई. अनुप्रिया नीचे थी और मैं अनुप्रिया के ऊपर थी कि तभी जोर कमर उछालते हुये अनुप्रिया मेरे मुँह में फच्च से झड़ गई. मेरी कोशिशों को देखकर मामा से भी रहा नहीं गया और उन्होंने चलती बाइक पर ही खड़े होकर अपना पैन्ट खोल दिया और अपनी सीट पर वापस बैठकर अपना खीरे सा मोटा लंड मेरे हाथ में पकड़ाते हुए कहा- ले घुसा ले बम्बू अपनी गांड में अब.

मैंने अपने आस पास की बहुत सी भाभी और अपनी गर्लफ्रेंड को चोद कर खुश किया है.

वो शुरू से ही मुझे अपना बनाना चाहता था क्योंकि मेरे पति जब भी काम पर जाते थे, तो वो तुरंत मेरे रूम में आ जाता था और मैं चाह कर भी उसको अपने रूम से जाने के लिए नहीं कह सकती थी. मेरी कोशिशों को देखकर मामा से भी रहा नहीं गया और उन्होंने चलती बाइक पर ही खड़े होकर अपना पैन्ट खोल दिया और अपनी सीट पर वापस बैठकर अपना खीरे सा मोटा लंड मेरे हाथ में पकड़ाते हुए कहा- ले घुसा ले बम्बू अपनी गांड में अब. जगत अंकल कान में मेरे बोले कि अपनी टांगें फैला कर थोड़ा मेरी गोंद में ऐसे बैठना कि मेरा लौड़ा तेरी चूत में घुस जाए.