सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन

छवि स्रोत,मास्टरबेशन वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

मधु मटका 420: सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन, और मेरे ज़्यादा नज़दीक होने की कोशिश कर रही है।दोस्तो, मेरी गाण्ड बहुत जोर से फट रही थी कि कहीं मैंने इसकी हरकतों को गलत समझ कर कुछ कर दिया तो झमेला न हो जाए.

बुर्ज खलीफा सेक्सी वीडियो

ट।मैंने- वो मैं तेरे…रिया- मेरे क्या?मैंने- वो तेरी उसको किस करना है।रिया- छी गंदा. अजय देवगन सेक्सीगर्दन और कान को चूमने लगा। इसी के साथ मैंने धीरे से उसका टॉप ऊपर कर दिया और पीछे उंगली डाल कर उसकी ब्रा भी ख़ोल दी।वह जानती थी कि घर में कोई नहीं हैं तो उसने मना भी नहीं किया।मैं उसकी चूचियों को चूसने लगा और उसकी घुंडियों को उंगली के बीच लेकर रगड़ने लगा। मेरी हालत ख़राब हो रही थी.

मैंने सुनी अनसुनी कर दी और एक और झटका मार दिया। अब मेरा पूरा लण्ड माँ की चूत में था।माँ और जोर से चिल्लाईं। अब मैं माँ के होंठ चूमने लगा और जब तक माँ का दर्द कम नहीं हुआ. शिल्पी राज का ब्लू फिल्ममैं और भी मस्ती में चुदाई में मशगूल हो गया था।भाभी इतने लगी शायद वो झड़ने की स्थिति में आ चुकी थी।फिर अचानक मैंने भी स्पीड बढ़ा दी और झड़ गया।झड़ने के बाद मेरा मन अन्दर से बुरे अहसास से भर गया कि यह मैंने क्या कर दिया।किसी भी इन्सान पर हवस और बुरी नजर या कामवासना सर पर चढ़ जाती है.

’‘ठीक है पर ध्यान से टीवी बंद करके सो जाना… कभी पिछली बार की तरह टीवी खुला ही छोड़ कर सो जाओ!’‘आप चिंता ना करो.सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन: जैसे हम पहली बार नहीं मिल रहे हों।अजीब सा जादू था उनके बात करने के अंदाज में.

वो काफ़ी ज़्यादा उत्तेजित हो गई और रॉनी के लण्ड को पैन्ट के ऊपर से मसलने लगी।रॉनी तो पहले ही मुनिया के खड़े निप्पल देख कर गर्म हो गया था.मैं भी अपनी पिक भेजती हूँ।मैंने कहा- मेरी पिक तो ऑलरेडी देख चुकी हो आप।उसने कहा- ओह्ह.

चोदा चोदी का वीडियो बताओ - सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन

अर्जुन तो एक ही स्पीड से लौड़े को अन्दर-बाहर कर रहा था और बस पायल का नाम लेकर गंदी-गंदी गालियां दे रहा था।इधर सन्नी को झटके देने की जरूरत ही नहीं पड़ रही थी.और मैं झटके ले-ले कर उसके मुँह में ही अपना सारा रस गिराने लगा और वो दबा-दबा कर एक-एक बूंद अपने मुँह में निकलवाता रहा।बाद में वो सब माल गटक गया।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !लगभग 5 मिनट तो मुझे खुद को सम्हालना मुश्किल हो गया.

मज़ा तो मुझे आ रहा है तेरी चूत और गाण्ड इतनी टाइट है कि क्या बताऊँ. सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन हमेशा की तरह आज भी पूरे साफ़ हो।ये सब कहते-कहते उसने उसका टॉप उतार दिया और जीन्स को अनबटन करते हुए उसे पैन्टी के साथ ही नीचे खींच दिया।आज तक मैंने भी कई लड़कियों औरतों को नंगी देखा था.

चारों तरफ आरक्षण की आग फैली हुई थी और उस दिन मैं भी इसी आग की चपेट में आ गया।मुझे कॉलेज से घर जाना था लेकिन बाहर निकला तो सब कुछ चक्का जाम था, न कोई सवारी और न कोई यातायात का साधन.

सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन?

तो महंगा लगता है। मेरा सारा ध्यान तो घर के माल पर ही था।मौसी ने उससे कहा- आज रात को यहीं रुक जाओ. वे मोर्चा संभालने ऊपर आ जाती थीं।अंत में मैं ऊपर था तो जैसे ही मेरा निकलने को हुआ. वो थोड़ा सेडक्टिव था।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैं वापस आया और रात को उसी के बारे में सोचते-सोचते सो गया।सवेरे उठकर जल्दी तैयारी की और मार्केट निकल गया.

उसे बाहर निकाला और उठ कर अपना गाउन ठीक किया और गाउन के ऊपर से ही अपनी ब्रा ठीक की।उसके बाद उन्होंने तकिए पर रखी हुई अपनी पैन्टी उठाई. पर कालेज ख़त्म होने के बाद हम लोगों ने वादा लिया कि एक-दूसरे को कभी कॉल या मैसेज नहीं करेंगे।दोस्तो, यह थी मेरी जिंदगी की एक घटना।आपको यह कहानी कैसी लगी इसके लिए आप मुझको[emailprotected]पर मेल कर सकते हैं।. रात को 10 बजे डिनर किया और सोने की तैयारी करने लगे, मैंने कहा- मोनू तू मेरे बेडरूम में ही सो.

आप सभी पाठकों को मेरा प्रणाम।मेरा नाम अरूण कपूर है और मैं एक ‘गे’ हूँ। मैं पंजाब का रहने वाला हूँ। मुझे लंड चूसने में बहुत मज़ा आता है।मैं अन्तर्वासना का बहुत बड़ा फैन हूँ। मैं अन्तर्वासना की सभी कहानियां रोज़ पढ़ता हूँ। अन्तर्वासना से ही मुझे एक गे साईटhttps://www. शायद बहुत दिनों बाद किसी ने हाथ फेरा था।मैंने कार रोकी और डिक्की खोल कर सन शेड निकाल कर चारों खिड़कियों पर लगा दिए।मेरे कार में बैठने पर मेघा ने अपना सर मेरे कंधे पर रख दिया और बोली- सर आप भी क्या-क्या करते रहते हैं।मैंने उसका हाथ अपने लण्ड पर रख कर कहा- सब तुम्हारे लिए कर रहा हूँ।आस-पास गाड़ियाँ भी तो गुजर रही हैं।बंद कार में मेघा निश्चिन्त हो गई थी. खाना खाकर मैं फिर मूवी देखने लगा।मॉम बोलीं- चिंटू अब सो जाओ।मैं फिल्म देखने की जिद करने लगा।फिर मॉम मान गईं.

प्लीज़ आप मेरी बात का यकीन करो।बदल सिंग- चुप कर छोरी जादा घनी स्यानी ना बण. उनको थोड़ा दर्द हुआ। यह मेरा फर्स्ट टाइम था जब मैं किसी के साथ सेक्स कर रहा था.

तो भाभी ने कहा- अभी भी आपको ये चाहिए?मैंने कहा- मुझे इसकी खुशबू हर वक्त चाहिए.

मैं उससे चुप कराने के लिए उसके कंधे और हाथ पर हाथ रख सहलाने लगा। उसने कोई आपत्ति नहीं की तो मैं थोड़ा आगे खिसक कर उसकी गर्दन पर अपनी गर्म साँसें छोड़ने लगा।वो और ज़ोर-ज़ोर से सुबकने लगी और उठ कर जाने की कोशिश करने लगी.

मतलब सोती नहीं थी।मैंने उसे एक बार अन्तर्वासना की एक चुदाई की कहानी सुनाई. कभी माँ भी देती थीं।एक दिन माँ की तबियत खराब हो गई तो माँ जल्दी सो गईं। मैं अब हगने के लिए जाने वाला था. मैंने देखा उनका लिंग भीग कर चमक रहा था और बार-बार तनतना रहा था। इधर जब मैंने अपनी योनि की तरफ देखा तो योनि के किनारों पर सफ़ेद झाग सा था और योनि के बालों पर हम दोनों का पसीना और पानी लग कर चिपचिपा सा हो गया था।मैंने तुरंत बगल में पड़े तौलिये से अपनी योनि को साफ़ किया और उनके ऊपर अपनी टाँगें फैला कर बैठ गई।मैंने एक हाथ से योनि को फ़ैलाने की कोशिश की.

उसके बाद पीछे जो मन हो सो कर लेना।उसकी ये बात सुनकर मैं उसके सामने आया और हम एक-दूसरे को कस के जकड़ लिया और एक-दूसरे के होंठ को चूसने लगे।कुछ देर बाद हम दोनों अलग हो गए और एक पल देखने के बाद ही पूजा फ़िर से मुझ पर टूट पड़ी, उसने मुझे बिस्तर में गिरा दिया और मेरे ऊपर चढ़कर मेरा टी-शर्ट उतारने लगी. जिंदगी भर तेरे पीछे घूमेगी।मैंने भी उससे कहा- तू ही मेरे से शादी कर ले।और मैं हंसने लगा. ’ का इशारा करने लगी मैं तेज-तेज उंगली चलाने लगा।आयशा गरम होकर मेरा लण्ड कसके दबोच रही थी और जीन्स के ऊपर से ही.

देखो अपनी बहन को चुदता देख कर कैसे इसका मन मचल रहा है इसका लौड़ा खड़ा हुआ है।विवेक- इसके जैसा हरामी भाई मैंने कहीं नहीं देखा.

जिससे अभी बस लंड का टोपा ही चूत में घुसा था और वो चीखते हुए नीचे से उठ कर मेरे गले लग गई. क्या करुँ?’‘रवि भैया, आप बुरा ना मानो तो मैं आपका सिर थोड़ा दबा दूँ?’‘अरे पगले, बुरा मानने वाली क्या बात है इसमें. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !मैंने फरहान का पूरा लण्ड अपने मुँह में ले लिया.

तो मैं बुआ से चिपक गया।बुआ ने मेरी तरफ पीठ की हुई थी। में उसी तरफ अपना मुँह करके लेट गया।मेरा लण्ड उनके चूतड़ों से बिल्कुल चिपका हुआ था। मुझको थोड़ा सा अजीब सा लगा. पर मैं मैम के कमरे में चला गया।दो लड़कियाँ कमरे में आ गईं, ऊपर वो दोनों मुझसे पूछने लगीं- आप कौन हो?मैं बोला- नील. मेरा नाम रणबीर उर्फ़ रॉकी है। मेरी उम्र 35 साल है। मैं भी अपनी आपबीती अन्तर्वासना के ज़रिए आप लोगों से शेयर करना चाहता हूँ।बात एक साल पहले की है.

उसने पायल की तरफ़ देखा तो उसने भी हामी भर दी कि जो हो रहा है होने दो.

पुनीत खन्ना की बहन और इस टोनी के नीचे आएगी।पुनीत- टोनी अपनी ज़ुबान को लगाम दे. वो अब भी कुछ नहीं बोली तो मैं समझ गया कि ये लड़की देने वाली है।फिर मैं उसकी समीज़ के ऊपर से ही उसकी चूचियों को दबाते हुए चूमने लगा.

सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन वो खुद तुम्हारे लण्ड के इंतजार में हैं। इसी लिए तो बेचारी वे तुम्हारे लण्ड की मालिश रोज करती थीं।मैं- क्या सच में?भाभी- हाँ. फिर मैंने उसको हाथ से हिलाना चालू किया।तभी उसने कन्डोम निकाला और लण्ड पर लगाने के लिए मुझे दिया।मैंने कहा- अनु यहाँ कोई देख लेगा। लेकिन वो नहीं माना।मैंने लण्ड पर कन्डोम चढ़ा दिया।अब अनु बोला- देख हिमानी तेरा पसन्दीदा खुश्बू वाला कन्डोम है.

सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन सो वो जीन्स-टॉप में आई थी। मेरी नज़र उसके मम्मों से हट ही नहीं रही थी. उसका गाउन ऊपर उठ गया।मैं उसकी चूचियों को जोर से दबा रहा था, उसके मुँह से मादक सी सिसकारियाँ निकल रही थीं ‘अ.

सोनी छटपटाने लगी।मैंने उसे छोड़ा नहीं और उसकी गर्दन पर चुम्बन करने लगा और आगे हाथ डाल कर उसकी चूत के दाने को सहलाने लगा.

इंडियन बीएफ डाउनलोड

आयशा भी उसकी गाण्ड में उंगली तेज करते हुए उसके मम्मों की चौन्चों को दूसरे हाथ से अंगूठे और उंगली के बीच दबा कर ऐसे निचोड़ने लगी. उसके बाल खींचने लगा। वो भी मेरे साथ मस्ती करने लगी। इसी मस्ती के दौरान बीच में एक बार मेरा हाथ उसकी चूची में लग गया. पर शायद नेहा ने हम दोनों को देख लिया था।अब नेहा बोली- चलो यार बहुत भूख लगी है।दोनों भाभियां अपनी ड्रेस चेंज करने चली गईं और पहले तो नेहा भाभी आई।क्या सेक्सी लग रही थी यार.

फिर चलूँ?वो हँसने लगी और मेरे सीने में छिप गई।मैं उसको सहलाता हुआ बोला- तुमको खुश करना था बस. गोल और एकदम टाइट हैं कि मुझे कभी ब्रा पहनने की ज़रूरत ही महसूस नहीं हुई. रोहन को तो जैसे सुनहरा मौका मिल गया था पायल को अपना बनाने का, उसने पायल को अपने सीने से लगा लिया और चुप करवाने के बहाने पायल के शरीर पर अपना हाथ घुमाने लगा- कोई बात नहीं पायल.

इस गरम पानी का तो इंतज़ार था।बस एक झटके में मैंने अपना सारा वीर्य उसकी चूत में उड़ेल दिया।इस चुदाई के बाद जैसे उसका मन और बदन का हर अंग खिल उठा था। वो इतनी खुश थी कि उनकी आँखों से आँसू छलकने लगे और वो मुझसे काफ़ी देर तक चिपकी रही।आपको मेरी कहानी कैसी लगी बताइएगा जरूर।उसके साथ चूत चुदाई का खेल शुरू हो चुका था और मेरी ये कहानी इसके आगे भी जारी रही.

सिर्फ ‘वंदना’ और ‘तुम’ कहो।मैंने कहा- ठीक है।उसने ब्लाउज ऐसा पहन रखा था. तौलिया कंधे पर डालते हुए उन्होंने अंडरवियर पर हल्का सा खुजला दिया जिससे मेरे होंठ खुल गए. मेरा आधा लण्ड अन्दर हो गया। फिर एक जोर का झटका मारा और पूरा लण्ड अन्दर कर दिया।वो तड़फ गई लेकिन मैं उसके होंठों और मम्मों को जोर-जोर से चूसने.

जो अपने दोस्त को नंबर देने के लिए मजबूर किया।मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा था. ठीक 11 बजे उसके घर पहुँचा।वो नेट वाली आसमानी कलर की साड़ी पहने थी और डीप लो कट ब्लाउज. नहीं तो अर्जुन आ जाएगा और सब गड़बड़ हो जाएगी।सन्नी- अरे ये साला अर्जुन है कौन.

तो दरवाज़े में कुण्डी लगाना भूल गया और उन्हें याद करके मुट्ठ मारने में मगन हो गया। उनकी याद में ऐसा खोया था कि पीछे खड़ी भावना की ओर ध्यान ही नहीं गया। उस दिन तो मैं मुट्ठ मार कर ढीला हो गया और हाथ धोकर ऑफिस में एंट्री करके घर चला गया।उसी रात को लगभग 11 बजे होंगे. हम दोनों मदन के घर आ गए।मैंने सोनिया को रिंकू से मिलवाया और पूछा- तुम को रिंकू कैसा लगा?‘थोबड़े से ज्यादा लौड़े में दम होना चाहिए.

जूही ने अपने हाथ से मेरा लण्ड निकाला और चूसने लगी। वो बहुत प्यार से मेरे लण्ड को चूस रही थी। कुछ समय के बाद मेरा सारा पानी उसके मुँह में ही निकल गया और वो मेरा पूरा पानी पी गई और मेरे लण्ड की अच्छे से सफाई भी कर दी।मैं निढाल हो कर उसके बराबर में ही लेट गया और उसको दूधों के साथ खेलने लगा, कुछ ही समय में उसके निप्पल कड़क हो गए।अब जूही बोली- मुझसे बिल्कुल भी बर्दाश्त नहीं हो रहा है. उसने मुझे पकड़ा और मेरे होंठों को चूमने लगा। मेरी सांस ही नहीं निकल रही थी. लेकिन काजल चुपचाप टीवी देखती रही। फिर मैंने हिम्मत करते हुए अपना मुँह उसके पीठ पर रख दिया.

तो कभी हवा में उठा कर उसके मुँह को चोदते।लगभग 15 मिनट तक वो दोनों बारी-बारी उसको मसलते रहे और लौड़ा चुसवाते रहे.

और उसके पति ने सुहागरात को शराब पीकर उसके जिस्म को बेदर्दी से नोंच कर. जहाँ से मैं अन्दर डाल सकूँ।उसने मेरे लण्ड की नोक को अपनी गाण्ड के सुराख पर टिकाया और मुझसे कहा- हाँ भाई. 80% से पास किया है।मैंने उससे हाथ मिलाया फिर नाश्ता करने लगा।पर दोस्तो, क्या बताऊँ.

’ उसने कहा।मैं हँस पड़ी और उसके सामने नीचे बैठ गई, उसका वो गदहा छाप लन्ड अपने मुँह में लेकर चुभलाने लगी।हॉटडॉग की तरह वो मुँह में जा रहा था।‘आह्ह. मैं अब तक कुंवारी हूँ।यह सुन कर मेरे मन में लड्डू फूटने लगे और मैंने सोचा कि आज एक सीलपैक चूत मिल रही है.

लेकिन मुझे सब सुनाई और दिखाई दे रहा था।फिर मॉम ने सपन को खाना दे दिया और बोली- मैं नहा कर आती हूँ।वो नहाने चली गईं. पता ही नहीं चला, उल्टा मेरे फेस पर स्माइल आ गई।यह देख कर रिया मुस्काई और बोली- और मज़ा दूँ?मैं- वो कैसे?रिया- रूको. हम दोनों ने सेक्स करने का प्लान बनाया। तब उसने मुझको बुलाया, मैंने मेडिकल स्टोर से कन्डोम ले लिए और सीधा उसके घर गया।वो मेरा ही इंतजार कर रही थी।घर पहुँचने के बाद मैंने उसको धीरे से पकड़ा और बोला- पूजा आज मेरी मुराद पूरी कर दो। वो बोली- पहले कुछ खा लो.

क्सक्सक्स इंग्लिश सेक्सी वीडियो

परन्तु फ़ोन चुदाई या व्हाट्सैप पर चुदाई करना एक अलग ही एहसास देता है।तो दोस्तो.

नीलम उठी और नंगी ही नीचे किचन से जा कर पानी ले कर आई। मैंने पानी पिया और मैं लेट गया. ’अब मैंने चाटना बंद किया और वहीं खड़े होकर माँ की एक टांग ऊपर करके अपना लण्ड माँ की चूत पर सैट किया और धीरे से लण्ड डालने लगा।माँ की बुर अब भी काफी टाइट थी. उसने मेरे मुँह को अपनी जाँघों में भींच लिया और ढेर सारा रस छोड़ दिया।वो मजा उसे भी पहली बार आया था और मुझे भी.

मैंने भी जल्दबाज़ी ना दिखाते हुए उसके चूचुकों से छेड़छाड़ जारी रखी और उसकी चूत को सलवार के ऊपर से ही छेड़ने लगा।उसकी कुँवारी चूत ने पानी छोड़ दिया था।इस बार जब मैंने उसके नाड़े को खोलना चाहा. मेरी चूत प्यासी है… इसकी प्यास तो मिटानी ही होगी।किशोर कहने लगा- मेरा नाम किशोर है. आई लव यू जानेमनमैंने काजल को गुस्से से देखा और कोई रिप्लाई नहीं किया, मैं ब्रश करके अपने कमरे में आ गया।काजल मेरे लिए चाय लेकर आई.

तब उसके कमरे में घुसा और दरवाजा बन्द किया और उसे किस किया।वो मेरे खाने के लिए पहले से ही अपने कमरे में खाना रखे हुई थी। मैंने खाना खाया और उसे गोदी में उठा कर बिस्तर पर ले गया। मैंने उसको किस करना शुरू किया. तो मैं तुम्हारा माल चूस कर निकाल दूँगी।उसके इतना कहते ही मेरे लंड ने जोर की अंगड़ाई ली और मेरे लौड़े को उसने उसी वक्त अपने हाथों का सहारा दिया और मेरी पैन्ट के ऊपर से ही लंड को पकड़ कर जोर से दबा दिया।चूँकि सर्दियों की रात थी.

और लंड को चूसती रही।कुछ देर बाद फिर से लंड खड़ा हो गया और एक बार और मैंने उसकी चूत चाटी।क्या मस्त गुलाबी चिकनी चूत थी. जिससे उसकी चूत एक उभार लेते हुए ऊपर को उठी हुई मुझको चूसने का लालच देने लगी।मैं जैसे ही उसकी पावरोटी सी फूली बुर को चूसने को हुआ. तो पूरा लंड बाहर निकाल कर फिर से मुँह में भर लेता।मुझे नहीं याद पड़ता कि कभी उसके पहले मेरा लंड इतना चिकना और गीला हुआ होगा। मेरे लंड से थूक और काम रस दोनों साथ में टपक रहे थे। मेरी गोलियां सर्दी की वजह से और काम के वेग की वजह से लंड के बिल्कुल पास आकर रुकी हुई थीं.

इस पोर्न स्टोरी के पिछले भागउसकी चूत चुदाई का कभी सोचा ही न था-1में अब तक आपने पढ़ा. यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !घुडचढ़ी कुछ देर बाद खत्म हुई और बारात की तैयारी होने लगी।सब लोग अपनी गाड़ियों में बैठ गए और बाराती जाने लगे. भाभी मैं समझा नहीं कुछ?भाभी- ज्यादा भोले मत बनो। मैंने और सासू माँ ने इतनी मालिश की तुम्हारी.

तो उसने एक पल की भी देरी ना करते हुए झट से लौड़े को आज़ाद कर दिया।अर्जुन का लौड़ा फनफनाता हुआ एनी के मुँह के सामने आ गया।एनी- ओह्ह वाउ.

लेकिन मेरे रूम से किचन साफ़-साफ़ देखता था।सपन ने किचन में जाकर संगीता को पीछे से गले से लगा लिया। मॉम ने उसे हटाते हुए कहा- अरे पागल हो क्या. पेट और फिर नाभि के नीचे भी तौलिया का एक कोना जिसमें मेरा हाथ उनके जिस्म को अधिक टच हो रहा था.

पर तभी उसने मुझे देख लिया और अपना दुपट्टा ठीक कर लिया।मैं भी डर गया था।उस दिन के बाद मैं बस उसके निप्पल के बारे में ही सोचता रहता था कि कैसे मैं बस एक बार उसे चूस सकूँ।उसके नए और भरे-भरे शरीर को उसके पुराने कपड़े ठीक से नहीं ढंक पा रहे थे। उसके बड़े-बड़े मम्मे चुस्त होते कपड़ों में एकदम दब से जाते और उसके सूट के गहरे गले से बाहर झाँकने लगे थे। उसकी वो बल खाती कमर की कटिंग. मैंने थोड़ी हिम्म्त की और धीरे से अपना हाथ पहले उसके नर्म गालों पर रखे. जिस वजह से मेरी भाभी घर पर अकेली रह जाती थीं।भाभी हफ्ते में एक-दो बार हमारे घर पर जरूर आती थीं, देवर होने के नाते उनके साथ मेरा हँसी-मजाक चलता रहता था।मेरी भाभी काफी सेक्सी और खूबसूरत हैं। वैसे भी भाभी चाहे जैसी भी हो.

जिसे मैं चूत की खुजली मिटाने के लिए काफ़ी समझता हूँ।बात आज से 4 साल पहले की है. तुम्हारी गर्लफ्रेण्ड कितनी लकी होगी।मैंने कहा- मेरी कोई गर्लफ्रेण्ड नहीं है।तो वो बोली- झूठे. मैं चौंक गया। वहाँ पर बिल्कुल बाल जैसा कुछ भी नहीं था। मेरे ऐसा करने से शायद वो भी चौंक गई थी। मैं उसके मम्मों को छोड़ कर उसकी योनि देखने की ज़िद करने लगा।उसने मना कर दिया.

सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन फिर बात बढ़ते-बढ़ते यहाँ तक पहुँच गए कि हम लोग अपने सारे कपड़े उतार कर नंगे होकर एक-दूसरे से चिपट जाते थे। उस वक्त उसका लंड कोई 4 इंच लंबा था और लंड के आस-पास थोड़े थोड़े बाल भी उग आए थे।वो अपना लंड कुछ देर अपने हाथों से मसल कर खड़ा करके मेरे चूतड़ों की दरार में. क्योंकि उस दिन मेरा मन थोड़ा उदास सा था।मैं कैंडल जला कर बाहर आ गया और अपनी कार में बैठ कर सिगरेट पीने लगा।तभी मेरी नज़र मेरी कार के बगल में खड़ी एक मर्सडीज कार पर पड़ी। मेरे होश मानो उड़ से गए.

बीएफ हिंदी में वीडियो दिखाएं

लेकिन वो लण्ड को बाहर निकालने के लिए मचल रहा था।मैं जानता था कि अगर अभी मैंने बाहर निकाल लिया तो शायद वो फिर कभी नहीं डालने देगा।मैंने उसके लण्ड पर अपने हाथ की हरकत को तेज कर दिया और आहिस्ता-आहिस्ता अपना लण्ड अन्दर करता रहा. लेकिन खुद अपनी गाण्ड पीछे धकेल कर उसके लौड़े को ज्यादा से ज्यादा अपने अन्दर लेने लगी।बस फिर क्या था. मैं करता हूँ।मैं जाकर बिस्तर पर लेट गई। बॉस ने मेरी जीन्स का बटन खोला और धीरे-धीरे नीचे खिसकाने लगे और साथ ही साथ मेरी चूत को चाटते हुए नीचे चले गए।यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !फिर तो बॉस मेरी चूत चाटने लगे। आज तो वे ऐसे चूत चाट रहे थे जैसे सदियों के प्यासे हों.

जोर-जोर से चुम्बन करने लगा। सोनी का मुलायम हाथ मेरे लण्ड पर स्पर्श होते ही मेरा लण्ड एकदम टाइट हो गया. जिसका खारा स्वाद मुझे बड़ा ही स्वादिष्ट लगने लगा।मैं बीच-बीच में उसके आंड भी चाट लेता था और उन्हें मुँह में ले कर चूस भी रहा था। मेरे हाथ उसके पूरे शरीर को छू रहे थे। उसके निप्पलों को चीमटी में लेकर- मसल रहा था. सेक्स स्तनतो महंगा लगता है। मेरा सारा ध्यान तो घर के माल पर ही था।मौसी ने उससे कहा- आज रात को यहीं रुक जाओ.

और यह बोल कर वो मेरे होंठों को चूसने लगी।करीबन 20 सेकंड चूसने के बाद बोली- ये विश है मेरी तरफ से.

किसी को नहीं मिली तो वो साइड के डंडे पर बैठ गया। वो लड़की मेरे पास बैठी थी और जगह कम होने की वजह से वो मुझसे बहुत ज्यादा चिपककर बैठ गई थी. पुनीत खन्ना की बहन और इस टोनी के नीचे आएगी।पुनीत- टोनी अपनी ज़ुबान को लगाम दे.

तो कभी लहंगे के अन्दर मासूम चूत देखने की जिद कर रही थी।वो दोनों तो अपनी बातों में लगी हुई थीं और मैं अपने काम में लगा था। उनकी सहेली ने मेरी निगाहें पढ़ लीं. पर मेरी नज़र उनके मम्मों पर हमेशा ही गड़ी रहती थी।मैं उनके बारे में सोच-सोच कर मुठ मारता रहता था. उनमें काफी भराव था।मेरे उस तरह से चूसने से वो सिसया गई और बदहवास हो गई।मैं भी साल भर बाद किसी लड़की के साथ इस अवस्था तक पहुँचा था.

तो मैंने तो मैंने चोदना चालू किया।करीब 20 मिनट चुदाई चलने के बाद वो झड़ गई।मैं फिर भी चोदता रहा और स्पीड पहले से बढ़ा दी। दस मिनट चोदने के बाद वो फिर झड़ गई.

मगर उसकी ज़ुबान लड़खड़ा रही थी। पायल का भी कुछ-कुछ यही हाल था।पायल- भाई अपने ये क्या कर दिया. उसने आसमानी रंग की ब्रा पहन रखी थी।अब धीरे से उसके होंठ चूसते हुए उसकी ब्रा खोल दी। उसकी मस्त और टाइट चूचियाँ मेरे सामने थीं। मैं एक हाथ से चूची दबाने लग गया और दूसरी को मुँह में लेकर चूसने लगा।अब वो जोर से सिसकारी ले रही थी और मैं उसकी चूचियों को बारी-बारी से चूस और दबा रहा था। उसके मुँह से उत्तेजना वश आवाजें आ रही थीं ‘अअआ अआहह. सोनी मेरा लण्ड को चूस रही थी और मैं सोनी की चूत को चाट रहा था।ऐसा करने से हम दोनों ही गर्म हो रहे थे और ठण्ड भी नहीं लग रही थी।अब मैंने सोनी के चूत के दाने को अपने होंठों में दबा लिया.

बीलू पिचरप्रियंका मेरे नीचे से किसी तरह निकलते हुए सुरभि की साइड में लेट गई. तो उसके बड़े मम्मे मुझे उत्तेजित कर देते थे।एक-दो महीने उसने मेरी ‘हैलो हाय’ के अलावा मुझे कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया।मैं घर के पीछे जाकर उसकी ब्रा और पैन्टी को सूखता देखकर मुठ मार लेता था।एक दिन उसने तकरीबन सुबह 9:30 बजे मुझे आवाज़ मारी और कहा- मेरे कंप्यूटर में वाइरस आ गया है.

सेक्स बीएफ व्हिडिओ सेक्स बीएफ व्हिडिओ

उसके बाद उसने मेरी बुर में 3 उंगलियां डालकर मुझे चोदा।लगभग 20 मिनट बाद मैंने बहुत सा पानी छोड़ा और उसे सारा पीने को कहा और वो सब पी भी गई।फिर अगले दो महीने क्या-क्या हुआ उसके लिए मेरी अगली कहानी का इंतज़ार कीज़िए।प्लीज़ मुझे अपने मेल से कमेंट भेजिए और मेरे साथ लेसबो के लिए मैं सभी लड़कियों औरतों और चाचियों को आमंत्रित करती हूँ. मेरा नाम सेक्स का राजा है, मेरी उम्र 20 साल है, मेरा लण्ड पूरा 6 इंच का है।मैं जानता हूँ कि रंडियों के लिए ये नाप छोटा है. अब मैं उसको गोद में उठा कर उसके कमरे में ही ले गया। मैं उसे सीधा बाथरूम में ले गया और जोर-जोर से उसकी गर्दन और कान को चुम्बन करने लगा।मैंने प्रीत की होंठों पर चुम्बन किया.

क्योंकि सन्नी और रॉनी भी उसका साथ दे रहे थे।पुनीत- अब तुम सब कह रहे हो तो ठीक है. और साथ में ही मेरे से व्हाट्सप्प में भी लगी थी।सुरभि सोच में पड़ी थी कि आखिर ये किसके साथ चैट में लगी हुई है. मैंने और ज़ोर लगाया तो आधा लण्ड उसकी चूत में घुस गया था।वो एकदम ज़ोर से चीखी- बाहर निकालो.

वो आयशा को अपना मोबाइल निकाल कर दिखाने लगी।आयशा वीडियो देखते ही चुप हो गई. मेरी कहानीखिलता बदन मचलती जवानी और मेरी बेकरारी -1में अब तक आपने पढ़ा. इनको अपना काम करने दो एंड प्लीज़ आप बीच में ना बोलो।बदल सिंग- ये छोरी तो घनी स्यानी सै.

सीधी तरफ मैं और लेफ्ट में पूजा थी। पूजा की टाँगें मेरी जाँघ और मेरी टाँगें पूजा से भिड़ी हुई थीं। मुझे आदत है कि लड़की पास हो और उसे ना छेड़ूँ. कब तुम लोगों का ये नाटक ख़त्म होगा और कब मुझे मेरे पूरे पैसे मिलेंगे।टोनी- तू भी ना साली पैसे के लिए मरी जा रही है.

तो तुम मुझे किस करना शुरू करना और साथ में हाथों से मेरे दूध भी दबाते रहना।जब मैं थोड़ी नॉर्मल हो जाऊँ.

सब मिला कर वो एक मस्त माल है।उस दिन मकान-मालिक कहीं बाहर गया हुआ था. 4 साल की लड़की का सेक्समैं कोई रंडी थोड़ी हूँ।तो बोला- ठीक है।उसने मुझे अपना बैग से एक चॉकलेट निकाल कर दी. बनाने सिखाइएलाइट न होने की वजह से हमारे शरीर पसीने-पसीने हो चुके थे और कभी-कभी जब उसकी गाण्ड मेरी जांघों से टकराती. मुझे समझ नहीं आ रहा था।उसकी स्पीड तेज हो गई। आज तो मैं भी बहुत उत्तेजित था.

पर आपके किस ने जगा दिया।मैं फिर उसकी छाती पर उंगलियाँ चलाने लगी और गालों पर किस करने लगी। अचानक मेरी नज़र उसके बरमूडे पर पड़ी.

उसी समय मैंने एक जोरदार धार के साथ उसके अन्दर पानी छोड़ना शुरू कर दिया, मेरे वीर्य से उसकी चूत लबालब भर गई थी।मैं थक कर उसके ऊपर ही लेट गया।वीर्य की गर्मी से वो भी मेरे साथ एक बार फिर से झड़ गई थी, मैं उसके ऊपर ही लेटा रहा।उस दिन मैं काम पर नहीं गया और हमने दिन में तीन बार सेक्स किया। उसके बाद भी बीस दिन में कई बार उसकी चुदाई कर चुका हूँ।मैं अपने लण्ड को हमेशा छोटा समझता था. और मैं उसे डायरी में पढ़ सकूँ।आप तो जानते ही हैं कि खड़े लौड़े के आगे ना दिमाग चलता है. किसी भी लड़की के साथ किसी भी वक़्त मैं चुदाई के लिए तैयार रहूँगा।जो मैंने अपने सगे भाई के साथ किया उसकी वजह सिर्फ़ ये थी कि हम दोनों एक ही वक़्त में एक ही जगह पर बगैर कपड़ों के नंगी हालत में थे और बहुत गरम थे.

और उसने भी खूब मज़ा लिया।जैसे ही इस बार मैं झड़ा उसकी बुरी हालत हो गई थी. दरवाजा खोलो।वो बोली- ठीक है, एक मिनट रूको।दोस्तो, उसने जैसे ही दरवाजा खोला. आज दूध वाले का मज़ा लेना है।जूही मेरे तरफ़ देखकर मुस्कराई और दूध लेने चली गई, मैं बेडरूम में से छिपकर देख रहा था।जैसे ही जूही ने दरवाजा खोला.

കമ്പി കളി

लेकिन फ़र्क सिर्फ़ इतना था कि आज वो चुदवा रही थी और मैं देख रही थी।ब्लू-फिल्म के चलते-चलते मैंने अपनी गाण्ड में भी उंगली की और चूत में भी मजा लिया।अब तो आदत ऐसी हो चुकी थी कि चूत में उंगली करने के बाद मैं अपनी उंगली मुँह में लेकर ज़रूर चूसती थी।मैं अपनी फीलिंग नहीं बता पा रही हूँ कि मैं उंगली करते और चूसते हुए कितना मस्त हो गई थी।अब वो वीडियो ख़त्म हुआ. उसके बाद तो बहुत ही मज़ा आने लगा। अब एक बार और मुझको ऐसे ही चोदो अच्छे से।मैंने और मदन ने सोनिया की एक बार और ऐसे ही चुदाई की।सोनिया बोली- अब मैं तुम दोनों से ऐसे ही चुदवाऊँगी।अब मैं और मदन दोनों मिल कर सोनिया की चुदाई करने लगे। ऐसे ही कुछ महीने बीत गए।फिर एक दिन मैं और मदन सोनिया की चुदाई करते-करते सेक्स वीडियो देख रहे थे. पर कैसे करेगा?उसने बोला- मैं अपना लण्ड तेरी बुर में पेल कर इसकी खाज दूर कर दूँगा।मैं घबरा गई कि इतना बड़ा लण्ड मेरे इतने से छेद में कैसे जाएगा.

वो सब साफ़ नज़र आने लगा था। मैं उस वक़्त भी अपनी ब्रा नहीं पहने हुई थी।अचानक मुझ ऐसा लगा कि सर के होंठ कुछ लरज़ रहे हों.

और अन्तर्वासना पर यह मेरी पहली कहानी है जोकि पूरी तरह सच्ची है। मैं राजस्थान का रहने वाला हूँ.

उसकी हर बात की याद आखों से सैलाब बनकर बहने लगी।वो चला गया… वो चला गया. और अब वह तुम्हारा यह मोटा तगड़ा लौड़ा अपने भीतर समा लेने के लिए उतावली हो गई है. अक्षरा सिंह के गाना’रवि मेरी जिंदगी का एक ऐसा गीत है जिसकी गूंज हर वक्त मेरे दिल और दिमाग में बजती रहती है.

तो उसे अपना नंबर दे दो।उस दिन मेरे कहने पर उसने अपना नंबर सीमा को दे दिया और उन दोनों की बातें फ़ोन पर होने लगीं।मुझे लगा कि मेरे नसीब में सीमा का प्यार नहीं है. जिसकी मुख्य वजह अपने यहाँ की बंदिशें और हमारे संस्कार हैं।मगर हम-ख्याल लड़कियाँ आपस में आसानी से सेक्स के टॉपिक भी अब खुल कर कर लेती हैं और अपने अनुभवों को भी आपस में साझा करती हैं।आप लोग जानकर शायद हैरान होंगे कि मैंने पहली कोई भी सेक्सी एक्टिविटी जो की है. मैं आगे को धक्के लगाता और वो पीछे को होकर मेरा पूरा लंड अन्दर लेने की कोशिश करती।इतना मज़ा आ रहा था कि पूछो मत.

वो मेरे खड़े लण्ड पर एक बार में ही बैठ गई और उछलने लगी।थोड़ी देर में उसने अपनी स्पीड बढ़ा दी और ज़ोर-ज़ोर से उछलने लगी।शायद वो झड़ने वाली थी और वो ‘ईसस्स. उसने अपने होंठों को मेरे मुँह में दबा दिया। अपने होंठ खोल दिए और मेरा पानी जो उसके मुँह में ही था.

पर अभी मैं पुणे में इंजीनीयरिंग कर रहा हूँ। अभी मैं 21 साल का हूँ।मैं एक मराठी मानुस.

और कुछ वो भी डर के मारे अपनी चूत नहीं खोल रही थी।अब सुबह के 3 बज चुके थे. लेकिन जब मैं रिश्ते के टाइम पर यहाँ आया था तो इसने आकाश की पत्नी से मेरे बारे में पूछा था और फिर आकाश ने मुझे बताया था. 5 इंच लम्बे लंड से पानी पिला रहा है।इस बार कहानी की नायिका है भाभी की ननद.

पिज्जा कैसे बनाते हैं मैं- हाँ जान जैसा तुम बोलो।फिर वो 15 मिनट तक मुझको किस करती रही और इस बीच उसने कब मेरे सारे कपड़े उतार दिए. वो अब ब्रा और पैन्टी में थी।ब्लैक ब्रा में उसके मम्मे क्या लग रहे थे.

अपनी पढ़ाई के लिए मैं पार्टटाइम जॉब हेतु महिलाओं के जिस्म की बॉडी मसाज का काम करता हूँ। अपने काम से मैंने कई मेमों. साला किसी का भी कपड़ा उतरे मुझे तो अब भाभी की चूत चुदासी सी दिखने लगी थी।उन्होंने आगे कहा- कॉलेज होस्टल में लड़कियों के साथ ये गेम उन्होंने कई बार खेला है।मैं मान गया. थोड़ी देर बाद स्वाति सुबह की साड़ी में एकदम नॉर्मल मूड में आकर कहने लगी- सर चाय.

क्ष्क्ष्क्ष् वीडियोस

तो वो थोड़ा उदास सी हो गई।फिर मैंने कहा- अरे मैडम मजाक कर रहा हूँ। मेरी काई गर्लफ्रेण्ड नहीं है. और उसके मार्क्स भी अच्छे आए थे।रिजल्ट के बाद ऋतु मेरे पास आकर बोली- तुम्हारी वजह से मेरे मार्क्स बहुत अच्छे आए हैं जिसके लिए मैं तुम्हें तुम्हारी फीस देना चाहती हूँ।इतना कहते ही उसने मुझे किस करना शुरू कर दिया. कभी-कभी एक दुग्गी भी गेम जिता देती है।पायल- वो कैसे? ये बात तो मेरी समझ के बाहर है?पायल की बात सुनकर सब के चेहरे पर मुस्कुराहट आ गई।सन्नी- देखो पायल तुम्हारी उलझन मैं दूर करता हूँ.

कभी मेरी छाती पर हाथ घुमाती। कभी अपनी जुल्फें मेरे चेहरे पर गिराती।मैं बहुत बेताब हो रहा था, अब कंट्रोल करना मुश्किल हो रहा था, मैं उसकी तरफ़ प्यासी निगाहों से देख रहा था।वो मेरे मन की बात समझ गई और बोली- आज तो मेरे राजा तुम्हें बहुत तड़पाऊँगी।अब उसने अपने एक-एक करके कपड़े उतारने शुरू किए. मगर अर्जुन तो अभी भी गाण्ड का भुर्ता बनाने में लगा हुआ था।सन्नी- अरे बस कर.

हाँ में सिर हिला कर फ़ौरन गाड़ी में बैठ गया और दोनों वहाँ से मॉल की तरफ़ जाने लगे। रास्ते में सन्नी ने आगे का प्लान अर्जुन को बताया तो उसके चेहरे पर एक मुस्कान आ गई।सन्नी- तू अच्छी तरह समझ गया ना.

मेरी गर्लफ्रेण्ड भी तेरे मुकाबले 10% नहीं है।ऐसा कहते ही वो मुझे डीप स्मूच करने लगा। मुझे लगा कि ये अब अपनी जीभ को मेरे मुँह में उतार देगा। वो मुझे चाटने लगा. गांव का माहौल होने के कारण सड़क पर एक्का दुक्का वाहन ही दिख रहे थे और रोज़ की तरह मेरे चेहरे पर चिंता के भाव थे कि इस समय कोई सवारी मिलेगी या नहीं।कई बार तो ऐसा होता था कि किसी से लिफ्ट मांग कर ही घर पहुंच पाता था. उसने पहले मेरी फ़ोटो को देखा फिर जवाब दिया।उस रात हम लोगों ने 3 बजे तक बात की.

उसकी बात सुनकर मैं पूजा की तरफ देखकर धीमे से कहने लगा- ले तो मैंने भी ली है यार. मैंने इधर उधर देखा तो वो घर के बाहर हल्की रोशनी में कार के पास खड़े होकर शायद शराब पीने में मस्त थे।मैं वापस आ गया. ’यह कहानी आप अन्तर्वासना डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं !लड़की मिन्नत करे और लड़का ना माने ऐसा तो कभी हो ही नहीं सकता।मैं भी ढीला पड़ गया, मैंने कहा- दिखा दूँगा.

तो मौसा-मौसी ने प्रीत को जन्मदिन की बधाई दी और फिर प्रीत चली गई।मैंने सोचा आज तो लग रहा है काम बन जाएगा।फिर जैसे-तैसे करके दिन निकला। मैंने प्रीत के लिए एक शॉर्ट.

सेक्सी बीएफ वीडियो हिंदी इंडियन: उसकी मस्त चुदाई को आप अगले भाग में पढ़ सकते हैं।अपने कमेंट्स मुझे ईमेल करना न भूलें. तो एक दिन मैंने सोचा क्यों ना आज आंटी की थोड़ी तारीफ़ की जाए।शाम को हम दोनों उसी जगह पर मिले और बातों ही बातों में मैंने आंटी से कहा- आंटी जी बहुत हुई वॉक.

जिसको जितने प्यार से किया जाए उतना ही मजा देती है।भाभी के साथ मैंने लगभग हर उस अंदाज़ में सेक्स किया. अब तो तेरा जोश और पॉवर देखना ही पड़ेगा। चल शॉपिंग बाद में करेंगे, पहले तुझे ठंडा करवा के लाता हूँ।सन्नी ने गाड़ी स्टार्ट की और अर्जुन को लेकर चल पड़ा।सन्नी- कभी विदेशी माल भी खाया है क्या तूने?अर्जुन- अरे मैं ठहरा गाँव का छोरा. मैं उसकी छाती के पास खड़ा हुआ उसके लंड को पैंट के ऊपर से सहला रहा था और उसको मुंह में लेने के लिए बेताब था!और अगले ही पल उसने मेरी गर्दन को दबाते हुए मुझे घुटनों के बल बैठाते हुए मेरा मुंह अपनी जिप पर लगा दिया, मेरे नर्म होंठ उसके सख्त लौड़े पर जा लगे और उसको कवर करने की कोशिश करने लगे लेकिन लंड बहुत ही मोटा और लंबा था.

तो संजना अपने आपको छुड़ाकर अन्दर जाने लगी और कहने लगी- बस अब और कुछ नहीं.

हम दोनों अब काफी पास आ गए थे। मैं उसके साथ काफी प्यार से पेश आता था।हम फोन सेक्स भी करने लगे थे।अब मैं रोज़ उसकी ब्रा का रंग पूछा करता था और वो कहती थी- क्यों बताएं?उसके साथ बात करके मेरा 6 इंच का लण्ड खड़ा हो जाता था. रिया ऊपर के जिस्म पर बस ब्रा में थी।मैंने जब ब्रा हटाने को कहा तब वो बोली- तुम खुद ही हटा लो ना. इसीलिए कोई दिक्कत नहीं हुई और वो ऊपर से मुझे ठोकने लगा।मैं उसके लंड को हाथ से पकड़े हुए पूरा मजा ले रहा था.