बांग्ला बीएफ एयरटेल

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ बीएफ चोदने वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

ई-मेल एक्स वीडियो: बांग्ला बीएफ एयरटेल, भगवान ने जाने क्यों मेरे बदन में सेक्स की प्यास औसत से कुछ ज्यादा ही दे रखी है.

बीएफ फिल्म व्हिडिओ

वो इस कदर की तेज़ी से मेरा लौड़ा चूस रही थी, जैसा उसने कभी किसी का लंड अब तक मुँह में ही नहीं लिया हो. बीएफ पिक्चर मद्रासीमुझे टावल में देख कर भाई भी काम के नशे में बोला- अमीषा मुझे नहीं पता था कि तू इतनी हॉट है.

उधर नम्रता भी अपनी उंगली मेरे सुपाड़े में घिस रही थी और फिर रस उठा कर चाट रही थी. बीएफ लड़का वालासाथ ही साथ मैं खुद को मर्द इमेजिन करके सरला के मुँह को चूत समझकर जोर जोर से आगे पीछे होने लगी.

चूस मादरचोद!! अच्छे से मेरा लौड़ा चूस!” रवि ने सिसकारी भरते हुए कहा.बांग्ला बीएफ एयरटेल: मैं मेले में निहारिका को ढूंढ रहा था, पर निहारिका अपनी भाभी के साथ रात आठ बजे आई.

मैंने कहा- लेकिन 5 लोगों के साथ कैसे कर पाऊंगी?सर बोले- परेशान मत हो तुम्हें भी मजा आएगा.हम दोनों एक-दूसरे के सामने खड़े होकर मूतने लगे और उसके बाद आकर बिस्तर पर लेट गए.

देवर भाभी सेक्सी बीएफ वीडियो - बांग्ला बीएफ एयरटेल

मैं- मुझे तो भूख लगी है, चलो कहीं बाहर खाने चलते हैं?अलका- हां ज़रूर … बस दो मिनट में रेडी हो जाऊं.मैं और गर्म हो गया और लंड चूत से निकाल कर तुरंत उसकी गांड में डाल दिया.

फिर हमने एक रूम ले लिया, वहां जाकर मौसी बिस्तर पे बैठ कर बोलीं- तू कुछ खाने के लिए ले आ. बांग्ला बीएफ एयरटेल नम्रता अभी भी उसी तरह बैठे हुई थी और उसने मेरी मालिश करना चालू रखी थी.

फिर पास ही पड़ी मेज पर उसको लेटा लिया और उसकी एक टांग से सलवार को निकाल कर अपने हाथ में उसकी टांग को उठाकर फैला दिया.

बांग्ला बीएफ एयरटेल?

मैंने पट्टी निकाल दी और सोचने लगा कि शायद मुझे सबसे पहले दिशा चोदने को मिलेगी. कुछ देर में उन्होंने मेरी लाइफ के बारे में सवाल किये, मैं उनके सब सवालों के जवाब दे रही थी. वे बहुत ही संतुष्ट लग रही थी।मैंने उन्हें अपनी बात मनवा ली और कहा- आज के लिए इतना काफ़ी है.

लेकिन भाभी डर गयी और बोलने लगी- अभी तक मैंने गांड नहीं मरवायी है … प्लीज उधर रहने दो, बहुत दर्द होगा. फिर धीरे धीरे हमारी बातें शुरू हुई और बात ही बात में पता चला कि उनकी एक लड़की है जो कॉलेज पढ़ती है। उनके पति प्राइवेट जॉब करते हैं, वो खुद एक सरकारी टीचर हैं।धीरे धीरे हमारी बात आगे बढ़ी और घर परिवार की बातें भी होने लगी. मैंने कहा- हां जीजा, अपने यार आशीष के अलावा मैं पांच-छह मर्दों से और चुदवा चुकी हूं.

उसके बाद भी मैंने काफ़ी लड़कियों और शादीशुदा महिलाओं के साथ सेक्स एंजाए किया. मैंने हेतल की गांड के छेद पर लंड को सेट किया और एक जोर का झटका देते हुए अपना लंड उसकी गांड में उतार दिया तो उसके मुंह से चीख निकलते-निकलते रह गई. काजल से बर्दाश्त नहीं हो रहा था, पर फिर भी वो अपने दोनों होंठ भींच कर अपने आपको कण्ट्रोल कर रही थी.

इसके तुरंत बाद आंटी ने मेरी गोद से हट कर मेरा लोअर, चड्डी समेत नीचे खींच दिया. वे बोले- तो आज फिर?मैं बोली- पति के आने तक आप रोज मेरे साथ ही रहोगे.

कुछ ही झटकों में अनुषी की चुत ने लंड को आसानी से निगलना शुरू कर दिया.

मेरी भी नहीं?”मेरी इस बात पर वो हंस पड़ी और उसने मेरे सीने में मुक्का दे मारा.

वो फिर जानवर की तरह मुझे चोदने के साथ मेरे जिस्म को काटने लगा और मेरी चूचियों को जोर से भींचने और दबाने लगा. भारतीय नारी के सदियों से ओढ़े हुए शर्मो-हया के परदे पहली ही मुलाक़ात में कहाँ उठते हैं?इसी बीच मैंने वसुन्धरा का दूसरा हाथ भी अपनी पकड़ से आज़ाद कर दिया. अपनी बीवी बना या कुछ भी बना लेकिन मेरी चूत को चोद कर इसकी आग को बुझा साले हरामी.

परंतु अब मेरी शादी होने वाली है, तो क्या सुहागरात के दिन मेरे पति को पता चल जायेगा कि मेरा योनि भेदन हो चुका है. वैसे तो इंस्टिट्यूट में कोई नहीं था मगर चपरासी तक की निगाह से बचने के लिए एहतियात बरतना जरूरी था. ’ (फिर से कहो)उसने एक झटके में जल्दी से बोला- वंस मोर मास्टर (एक और मास्टर).

वह भी सोच रही थी कि कहीं और ठहरने से बेहतर है कि वो मेरे पास ही ठहर लेगी.

दस मिनट तक उसकी चूत को जम कर रगड़ने के बाद उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और ढीली पड़ गई. दोस्त ने मुझे ये कह कर मना कर दिया कि रूम सुबह पांच बजे लिया जाएगा. पूछने पर बताया कि यदि उसने दो दिन के अन्दर फाइल मेरे से साइन नहीं करायी, तो कंपनी उसे नौकरी से निकाल देगी.

मैंने ऐसी माल, ऐेसी चुदक्कड़ लड़की अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखी थी. मेरी आयु 23 साल है। मेरे घर में चार सदस्य हैं- मेरी मां और पापा, एक बहन और मैं. उसके बाद भी जब खाना खाने की बारी आयी, वो मेरी एक जांघ पर बैठ कर खाना खाने लगी.

दोस्तो, मेरा नाम प्रिन्स है, मैं इंदौर का रहने वाला हूँ और यह मेरी इस पटल पर पहली सेक्स कहानी है.

मैंने धीरे-धीरे एक-एक करके उसके ब्लाउज के सारे हुक खोल दिये और उसकी चूचियों को ब्लाउज से बाहर निकाल कर नंगी कर लिया. वीणा की इस धुआंधार चुदाई से हम दोनों की टांगों ने जवाब दे दिया था क्योंकि ज्यादातर चुदाई हमने हमारे टांगों के बल पर ही की थी.

बांग्ला बीएफ एयरटेल वो बोली- तुझे शर्म नहीं आ रही ऐसी बातें करते हुए अपनी भाभी से?मैं- भाभी और देवर के बीच में कैसी शर्म भाभी जी?वो बोली- बहुत ही हरामी हो गया है तू. फिर धीरे धीरे हमारी बातें शुरू हुई और बात ही बात में पता चला कि उनकी एक लड़की है जो कॉलेज पढ़ती है। उनके पति प्राइवेट जॉब करते हैं, वो खुद एक सरकारी टीचर हैं।धीरे धीरे हमारी बात आगे बढ़ी और घर परिवार की बातें भी होने लगी.

बांग्ला बीएफ एयरटेल हम ऐसे ही 2 मिनट खड़े रहे, उसके बाद मैंने धीरे से उसका सर अपने हाथों से पकड़ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये. फिर जब मैंने तुझे बाथरूम में नंगा देखा तो मेरा दिल भी तेरा लंड लेने के लिए करने लगा.

आंटी बोलीं- क्या हुआ?मैंने कहा- पहले अंकल को तो खुश कर दो … तब तक मेरा लंड ऐसे ही चूसो.

लंगा सेक्सी

जब सन 2012 में मैं स्कूल था, जवानी की दहलीज मुझे झझकोरने लगी थी, ये तब की घटना है. भाबी भी मस्त हो कर अपनी टांगें चौड़ी करके अपना टाइट भोसड़ा मुझसे चुदवा रही थीं. नारी भले ही किसी और टॉपिक में रूचि रखे न रखे लेकिन जब बात शॉपिंग पर आ जाती है तो उसको दुनिया में इससे रूचिकर विषय शायद ही दूसरा कोई लगता हो। अपनी चतुराई पर मैं फूला नहीं समा रहा था.

छत की दीवार पर निकली हुई ईंटों को नम्रता ने पकड़कर अपना बैलेंस बना लिया. हम ऐसे ही 2 मिनट खड़े रहे, उसके बाद मैंने धीरे से उसका सर अपने हाथों से पकड़ कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिये. जो भी होगा तुम्हारी मर्जी से ही होगा।फिर मैं दीदी को किस करने लगा और अपने हाथों से उसकी चूची को दबाने लगा। थोड़ी देर के बाद हम दोनों की किस खत्म हुई और हम दोनों लंबी सांसें लेने लगे.

नमस्ते दोस्तो, जिन पाठकों ने मेरी पहली कहानीजिस्म की आग बुझाई जिम वाले के साथपढ़ी है, उन्हें तहे-दिल से शुक्रिया … जिन्होंने ईमेल किए हैं, उन्हें मेरी हौसला अफजाई के लिए बहुत बहुत शुक्रिया.

अपनी अपनी जीभ निकाल के एक दूसरे की जीभ चूमते रहो और चुदाई का मज़ा लेते हुए अपने पार्टनर के चेहरे पर आते हुए मधुर आनंद के भाव देखते देखते प्यार की बातें फुसफुसाते रहो. मैंने उसकी गांड को दबाना शुरू कर दिया और उसकी चूत की तरफ अपने लंड को धकेलता हुआ उसके कपड़ों के ऊपर से चोदने की कोशिश सी करने लगा. चूंकि मुझे उसके लंड का स्वाद मजेदार लगा था इसलिए मैं अपने मुँह में बचे वीर्य का स्वाद लेने लगी.

भाबी मेरे लंड से निकले हुए माल को खुद की गांड पर ही मलने का इशारा देते हुए उल्टी लेट गईं. मैं- नहीं जान, अगर मैंने बुलाया और तुम नहीं आईं, तो वो अच्छा नहीं लगेगा मुझे. दरवाजे पे हल्का हरे रंग का पारदर्शी पर्दा था इसलिए बाहर का दिखाई देता था.

मौसी जैसे ही आगे की तरफ सरकीं, मैं भी उसी टाइम थोड़ा पीछे की तरफ सरक गया. फिर 5 दिन बाद मेरे मामा अपनी लड़की की शादी का न्यौता देने और मुझे साथ ले जाने के लिए आए.

मैं दर्द से चिल्ला उठी- भोसड़ी के मार डाला मुझे, निकाल बाहर अपना लंड … मुझे नहीं चुदवाना है. फिर मैं उठा और उनकी सलवार को नीचे खींचकर उतार दिया और साथ में उनकी पेंटी को भी! मैंने देखा कि उनकी चूत गीली थी. मैंने अपने बेटे को अपने जवान जिस्म के कुछ जलवे दिखाए और उसके साथ शिमला घूमने जाने का कार्यक्रम बना लिया.

फिर क्या था मैंने स्वीटी को लिफ्ट दी और उसे जल्दी से न पहुंचाने की जगह बात करने के लिए ज्यादा समय मिल जाए, इसलिए थोड़ा घुमा फिरा के स्वीटी को घर के पास छोड़ दिया.

हाँ … हाँ यही बात है!” वसुन्धरा के बारे में सोचते हुए और ख्यालों में उलझे हुए मेरे मुंह से ये शब्द निकल गए. पांच मिनट की जोशीली चुदाई के बाद वह मेरी चुत में झड़ने लगा, तो मैं लगभग बेहोश सी हो गयी थी. मेरे गोरे जिस्म को देख कर एकदम से बॉस बोले- वाह … तुम तो अंदर से एकदम मलाई हो!मैं एकदम नंगी उनके सामने खड़ी थी.

मैंने सोचा कि उन दोनों का सेक्स खत्म हो गया है लेकिन मैं गलत सोच रही थी. इस पर काजल बोली- मुझे तो कुछ लेना नहीं है, इसलिए आप दोनों ही चले जाओ.

मैं उसका लंड जड़ तक अन्दर लेती और फिर बाहर निकाल कर जीभ से चाटने लगती. जब वापस से आंखों के सामने रोशनी आई तो मैंने होश में आकर देखा कि रवि जल्दी-जल्दी अपनी बड़ी सी टेबल पर लिटाकर चोदने में लगा हुआ है. काफी देर तक मैं यूं ही सोचता रहा और शावर का पानी मेरे ऊपर गिरता रहा.

चाची का सेक्सी वीडियो

मुंबई के आस पास के इलाके में दिन भर की थकान के बाद शराब का मजा लेने वालों में लेडीज और जेंट्स दोनों ही होते हैं.

मेरे ताऊ ने मेरी बुआ के चूचों को अपने दोनों हाथों में भर कर दबा दिया. हाँ! इतना ज़रूर था कि हम लोगों से विदा लेकर कार में बैठते वक़्त वसुन्धरा की आँखें भी भरी-भरी सी थी. मगर उनको क्या पता था कि मैं आज अपने आप को बेच कर आई थी।2 दिन बाद हम दोनों वायुयान से गोवा चले गए.

उसके तने हुए चुचे देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता है और मेरा लंड उसकी चूत में जाने को पागल हो जाता है. रवि ने अपने हाथ मेरे पीछे ले जाकर मेरा ब्लाउज खोल दिया और मेरी ब्रा खोलने लगा. बीएफ एक्स एक्स एक्स सेक्सी पिक्चररानी की चूत में इतना रस भर गया था कि हर धक्के पर काफी सारा रस चूत के बाहर छलक आता था.

फिर 15 मिनट बाद मैं भी झड़ने वाला था, तो मैं उनके अन्दर ही झड़ गया और उनके ऊपर लेट गया. उसके बाद मैंने कई चूतों की चुदाई की मगर अंजलि की देसी कुंवारी चूत को चोदने का वो अहसास आज भी भुलाये नहीं भूलता मैं.

उनको अंडरवियर में देखते ही मैं बहुत चुदासी हो गई और मन ही मन सोचने लगी कि आज ये दोनों मिलकर मेरी चूत को पूरा बजा डालेंगे. वाह रे … अन्तर्वासना के खेल न्यारे!फिर उन्होंने अपना अंडरवियर निकाल फेंका और उनका लंड मेरी आँखों के सामने झूलने लगा. उसने कहा- आशना आगे की ओर घूम जाओ … पर अपनी आंखें बंद रखना … ठीक है!वो मेरे ऊपर से हट गया.

उसने मेरी छाती पर चूमना शुरू कर दिया और मैंने नीचे से हाथ ले जा कर उसकी पैंटी के ऊपर से ही उसकी चूत पर फिराना शुरू कर दिया. सपाट पेट और बल खाती 32 इंच की रसीली खरबूजे जैसी मस्तानी गांड किसी का भी लंड खड़ा कर देने में सक्षम है. अरविंद और अनिल मेरे एक एक चूचे पर टूट पड़े, दिनेश मेरी चूत चाटने लगा.

नम्रता- तो तुमने क्या किया? तो तुमने क्या किया?नम्रता ने दो बार पूछा.

ये देखते ही उसने और जोर से धक्के लगा के अपना पूरा दस इंच मेरी कुंवारी चुत में पेल दिया. मौका तो सही था और मैं अपने रिदम के साथ उनकी बाइक से घूमने के लिए चली गयी.

जब मैं पेपर देकर रूम पर वापस आया तो अलका अभी अभी नहा के बाहर आई थी. उसने मेरी पीठ पे हाथ रखे हुए थे तो मेरी पीठ को उसने अपने नाखूनों से खरोंच दिया था. फिर उसने दांत भींच लिए और ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह… इस्स हम्म …’ की आवाजें निकालीं.

आप सभी से निवेदन है कि आपको मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताएं. फिर आंटी ने खुद ही मेरे लंड को मेरी पैंट के ऊपर से सहलाना शुरू कर दिया. अंकल जी ने मुझे बेड पर बैठा दिया और मेरे सामने खड़े हो गए; उनका तना हुआ लण्ड मेरे मुंह के ठीक सामने तोप की तरह मुंह उठाये खड़ा था.

बांग्ला बीएफ एयरटेल मैंने अपने दोस्त से बोला कि तू तेरा और मेरा नम्बर लिख कर उधर फेंक दे. घिस तो क्या रहा था बस उसके बदन के रेशमी से उस अहसास को‌ ही अपने में समा रहा था.

হিন্দি বিপি সেক্সি

हेतल मेरे लंड पर उछल रही थी और अंदर मानसी मेरे चार्मिंग रितेश जीजू के लंड का स्वाद लेते हुए उनके लंड की सवारी कर रही थी. मैं बार बार बाहर की तरफ ध्यान दे रही थी और वो मुझे दबाने में मस्त था. मैं उसकी गुलाबी सी चुत को देख रहा था तो बोली- देखते ही रहोगे क्या, अब कुछ करो ना … नहीं तो मैं मर जाऊँगी.

मैं भी कभी उसकी फैमिली से नहीं मिला था, इसलिए सोचा कि चलो आज मिल लेते हैं. राधिका- कैसी हो मेरी प्यारी बहना, ज्यादा दर्द तो नहीं हो रहा, कैसा लगा अपने जीजाजी का लंड?दिशा सोनल के पास बैठकर बोली- जीजाजी का लंड बिल्कुल घोड़े जितना बड़ा है, ऐसे चोदकर हमारी बजा दी, मानो हम उसकी रखैल हों. हिंदी बीएफ वीडियो देखने वालीतब वो ऊपर आयी और बोली- शर्मा जी, क्या बोर हो रहे हो?मैंने कहा- हाँ, अकेला जो हूँ!मोनिका बोली- हाँ आपकी चारों सहेलियां जो नहीं हैं.

मैं आंखें बंद करके महसूस कर रही थी कि वो अपना लंड लेकर मेरे सामने ही खड़ा है.

इसके बाद अचानक से भाबी नीचे बैठ गईं और केला की तरह पूरा लंड मुँह में लेकर चूसने लगीं. तभी मैंने एक जोरदार सा झटका मारा, मेरा लंड उसकी बच्चेदानी पे जा भिड़ा.

फिर जागृति कहने लगी कि उसको टीवी सीरियल देखना है लेकिन मनीषा मूवी देखने की बात कर रही थी. कभी तो सुबह-सुबह ही मेरे लंड को चूसकर मेरी नींद तोड़ देती थी और टांगें फैलाकर चुद जाती थी. सामने से अपना लंड बिना बाहर निकाले, मेरे बुरके के ऊपर से ही मेरी चुत के पॉइंट पे रगड़ने लगा.

अन्दर से मैं थोड़ा मायूस था, लेकिन खुश भी दिख था कि अब मुझे चोदने के लिए एक सील पैक चूत मिलने वाली है.

ऐसा कहते हुए जीजा ने मेरी गर्दन को पकड़ लिया और अपने लंड का सुपाड़ा निपोर कर मेरी चूत के छेद में जैसे ही डाला तो बिना ताकत लगाए ही फच से उनका लंड मेरी चूत में पूरा का पूरा समा गया. यदि अब बाहर किसी और से अगर हम दोनों एक साथ सेक्स करें, तो क्या वह हमारी चूत को एक ही समय में संतुष्ट कर पायेगा?जवाब: मीना जी, पॉर्न वी़डियो में जो भी लोग काम करते हैं वो एक व्यवसायिक कलाकार होते हैं. जब मेरे दोस्त से बर्दाश्त नहीं हुआ, तो मुझसे बोला- अबे तू हट … मुझे इसकी चुदाई शुरू करने दे.

हिंदी बीएफ साउथ मेंमैंने अफ्रीकन बड़े लंड से गोरी मेमों की चुदाई की ब्लू-फिल्म्स देखी थीं, जिसमें ये काले हब्शी, गोरी चूत वाली का भुर्ता बना देते हैं. मैंने भी लंड पेलते हुए अपनी कमर को झटके के साथ हिलाना शुरू कर दिया.

सेक्सी गर्ल चुदाई

आहा … मैंने आंटी की चुत को अपने मुँह में भर लिया और जोर से दबाने लगा, काटने लगा. ऊपर की ओर बढ़ती मेरे दोनों हाथों की उँगलियां बस, दोनों शिखरों तक पहुँचने ही वाली थी कि पर्वत शिखरों की ऊंचाई और बढ़ने लगी और साथ ही मेरी उँगलियों के पोरुओं तले पर्वतों का तल कुछ-कुछ कठोर हो उठा था. मोनी के पैरों को सहलाने में मुझे मजा सा आ रहा था इसलिये उसके पैरों को सहलाते-सहलाते मैंने अब अपने पैर से धीरे-धीरे उसकी साड़ी व पेटीकोट को ऊपर की तरफ खिसकाना भी शुरू कर दिया.

कभी-कभार आस्ट्रेलिया से प्रिया का फ़ोन आ जाता तो हैलो-हाय, क्या हाल है, कैसी हो, खुश तो हो?” जैसी रस्मी सी बातचीत भी हो जाती थी. वाह क्या चूची थी … ऐसा लगा जैसे मैं किसी अमृत का पान कर रहा हूं।तभी महेश आकर दूसरी चूची में जुट गया और बोला- भाई, तुम्हारी याद में ये सूख के लकड़ी हो गयी थी. मैडम के पति एक मैरीन इंजीनियर थे और साल में एक बार तीन या चार महीने के लिए आया करते थे.

वास्तव में मैं आपको बताऊं कि नार्मल सेक्स तो मैंने बहुत बार किया है. आप पहले कृपया अपने सुझाव नीचे लिखे मेल करें, तब ही मैं इसके आगे की दास्तान आपके लिए लिखूंगा. उसी दिन पति को बाहर जाना था तो वे बोले- तुम होटल चली जाना, मैं कुछ गिफ्ट लेकर वहां दे जाऊंगा.

फिर मैंने बहाने से उन सब का नाम पूछा तो पता चला उस खूबसूरत सी लड़की का नाम मनमीता (बदला हुआ) था. रात की चुदाई के बाद नींद पूरी हो चुकी थी और मेरे बदन में एक नई ऊर्जा भर चुकी थी.

वो बोल रही थी- आरव प्लीज़ धीरे प्लीज़ धीरे मैं मर गयीई … आरव प्लीज़ मुझे छोड़ दो … लंड निकालो बाहर.

धीरे धीरे मुझे भी मजा आने लगा और मैं भी सिसकारियां लेते हुए उसका साथ देने लगी. देसी बीएफ कुंवारी लड़की कीरात को अनामिका के साथ दारू का मजा और उसकी मचलती जवानी का मजा किस तरह उठाया गया, ये सब बहुत ही रसीली कहानी है, जो मैं आप सभी के मेल के बाद लिखूंगा. कुमारी लड़की बीएफमैंने पूछा- क्या आप के हसबैंड आप को बोर होने देते हैं?उन्होंने कहा- वो कुछ दिन के लिए दिल्ली गए हुए हैं. चूत तो मैंने इससे पहले भी बहुत सी खाई थी लेकिन सेलिना की चूत की बात कुछ अलग थी.

काजल की चूत मेरे वीर्य से भर गई … और उसके साथ ही काजल भी और एक बार मेरे साथ ही झड़ गई.

निक मुझसे कहता है कि वो जब भी मैं कहूँ, तब मुझे लेने इंडिया आ जाएगा और अपने साथ ले जाएगा. मैंने आंटी के चूचों को दबा-दबा कर और वरूण ने आंटी की गांड पर लंड को रगड़ कर उसे पूरी तरह से गर्म कर दिया. मैंने दोनों हाथ उसके चूचों की बगल में टिका दिये और अपने मूसल लंड से जोशीले धक्के लगाते हुए उसकी चूत को फाड़ने लगा.

घर वालों ने उसको नीम्बू पानी पीने के लिए रोक लिया और फिर घर में वोटिंग किसने किसको की, नींबू पानी पीते हुए इस पर चर्चा शुरू हुई. ताऊ जी ने अपना लंड बुआ की चूत पर लगाया तो बुआ ने उनका लंड अपने हाथ में पकड़ लिया. वापस कार में आकर बैठा, तो आंटी ने कार स्टार्ट की और कुछ ही देर में हम दोनों उनके फ्लैट पे पहुंच गए.

চোদার সিনেমা

मगर कल के जैसे ही मोनी को अपने‌ बगल में सोता देख कर आज फिर से मेरी कामनाएं जोर मारने लगीं। मोनी ने उस रात सलवार-सूट पहना हुआ था इसलिये आज उसका बदन तो नहीं दिख रहा था मगर सूट के कसाव के कारण उसके अंगों का कटाव अलग ही नजर आ रहा था। मैंने एक बार तो अपने दिमाग से ये सब बातें निकालने की कोशिश भी की मगर मोनी को अपने बगल में सोती देख‌ कर मेरा दिल‌ मान ही नहीं रहा था।यह वासना चीज ही ऐसी होती है. वो बोले- मेरी जान, अब मुझे इस मालिश का इनाम में तेरी एक चुम्मी चाहिए. चूंकि सुमन को सेक्स का अनुभव नहीं था इसलिए वो वहीं तक आगे बढ़ रही थी जो मैं उसके साथ कर रही थी.

उसकी चूत से चिकना सा पदार्थ निकल कर उसकी पूरी चूत को चिकना कर रहा था.

क्या इस प्रकार का सेक्स उचित है? क्या एक मर्द एक साथ दो औरतों को सन्तुष्ट कर सकता है? या फिर ये सब वीडियो में दिखाया जाने वाला झूठ है? जब से मैंने ये वीडियो देखा है तब से मैं और मेरी सहेली इस तरह का सेक्स करने की चाहत मन में पाल कर बैठी हैं.

पहले तो टेंडर अटेण्ड करने और नेगोटिएशन्स के लिए, फिर इक बार प्री-डिलीवरी इंस्पेक्शन के लिए आदि-आदि. मैडम के पीछे पीछे मैं ड्राइंग रूम में चला गया और कापियों वाला गट्ठर एक टेबल पर रख दिया. चोदने वाला बीएफ फिल्मइसी शर्मोहया के चक्कर में मुझे छेद बड़ी देर बाद नसीब हुआ, मतलब 25 साल के होने के बाद मुझे चुत नसीब हुई.

आपको तो पता ही होगा कि गुजरात में नवरात्रि बड़े धूमधाम से मनाई जाती है. उसके टॉप को उतारा और उसके मम्मों को देखे, जो अभी थोड़े ही निकले थे, निप्पल भी बाहर को निकले थे. उसने कहा- आशना यस आशना यस …मुझे पता चल गया कि वो लंड चूसने के लिए कह रहा है … पर मैंने पहले कभी लंड नहीं चूसा था, तो मुझे पसंद नहीं था.

घिस तो क्या रहा था बस उसके बदन के रेशमी से उस अहसास को‌ ही अपने में समा रहा था. फिर अचानक एक दिन उसका कॉल आया- तुम कहां हो, मैं अजमेर में ही हूँ … तुम आ सकते हो क्या?मैंने उससे पूछा- अजमेर में तुम कहां हो?उसने बताया तो मैं जल्दी से उसे मिला और उसको लेकर एक रेस्टोरेंट में ले गया.

इसके बाद कैसे भाबी की शरारती मुस्कान का सिलसिला बढ़ने लगा, ये मैं आपको अपनी नेक्स्ट स्टोरी में बताऊंगा.

उन्होंने पता नहीं कब मेरी ब्रा ऊपर कर दी और मेरे कच्चे नंगे बूब्स कब दबा दिए, मैं समझ ही नहीं पाई. हर औरत को पहली पहली बार दर्द तो होता ही है और उसे उस दर्द को बर्दाश्त करना पड़ता है. रात को बुआ के सोने के बाद मैं उनकी चूची पर फिरा रहा था, लेकिन आज बुआ बिल्कुल भी नहीं हिलीं.

एक्स एक्स एक्स वीडियो देहाती बीएफ और इतना तो पता ही है मुझे!मौसी- अच्छा ठीक है, तू अपना ये प्रवचन बाद में मुझे सुनाना, अभी मैं जा रही हूं. तभी जैक ने भी नीचे आकर मेरी चुत में हल्की सी जगह बना कर अन्दर डाल दिया.

मैं भी फ्रेश होकर नाश्ता कर ही रहा था कि बुआ ने पीछे से गले लग कर मेरे गाल पर किस कर दिया. मैडम मेरे सामने वाले सोफे पर बैठ गयीं और एक टांग दूसरी टांग पर टिका कर आराम से हो गयीं. अब आगे:भाभी ने मुझे समझाते हुए कहा- इस बार बहुत ही धीरे धीरे उसके छेद में घुसाना, नहीं तो मैं बहुत मारूंगी.

ગુજરાતી સુહાગરાત

उसका शौहर दुबई में किसी बैंक में मैनेजर है, जो 6-7 महीने में 10-15 दिन के लिए ही आता है. मामी जी मुस्कुराते हुए बोलीं- ये हुई न बात, चलो छत पर चलो, वहीं बैठ कर बात करते हैं. पति- देख नम्रता ऐसी बात मत कर, नहीं तो मैं सब छोड़-छाड़ कर आ जाऊँगा और तुझे पटक-पटक कर चोदूंगा.

मुझे उम्मीद है कि पिछली जीजा साली सेक्स की कहानीजीजा के साथ मेरा सुहागदिनकी तरह इस कहानी को भी आप लोग पसंद करेंगे. मैंने इस बात पर ध्यान ही नहीं दिया कि जीजा जी की आंख भी खुल सकती है.

मैडम को नौकरी की कोई ज़रूरत नहीं थी किन्तु वह सिर्फ टाइम पास करने के लिए स्कूल में नौकरी करती थी.

गीतू की चुदाई में कब सुबह के 4 बज गए पता ही नहीं चला।मैंने नाना जी की तरफ देख कर कहा- नाना वो भूत …लेकिन मेरी बात को बीच में काटते हुए नाना जी मुस्करा कर बोल पड़े- बेटा अब तो भूत की माँ की चूत”. मैंने वैसा ही किया फिर उसने मुझे गोद में उठा कर अपनी कमर से लटका लिया. अब उन्होंने मेरी टी-शर्ट थोड़ी सी ऊपर करके मेरी नंगी कमर में हाथ लगा दिया.

तुम्हारा घर तो पास में ही है इसलिए सोचा कि यह काम तुम्हें ही दे दूँ. ऐसा मैंने पहले कभी नहीं किया था उसके साथ। वो छूटने की कोशिश करने लगी। वो तेज-तेज सिसकारियाँ ले रही थी. रात के समय खाना खाने के बाद जब मेरी बहन पढ़ने के लिए बाहर चली गई, तो मैं अपने रूम में जाकर अपने कम्प्यूटर पर ब्लू मूवी देखने लगा.

उसके बाद भाभी की चूचियों का साइज देख कर मेरे मन में ख्याल आया कि उनसे थोड़ा फ्लर्ट कर लिया जाये.

बांग्ला बीएफ एयरटेल: भाभी ने मुझसे कहा- सूरज, दिखा तो सही अपना औजार … जरा मैं भी तो देखूं कि ये बार बार क्यों तेरे औजार को बहुत बड़ा कह रही है. अगर देखा जाये तो हम दोनों की करतूत में फर्क ही क्या है! जिस तरह से काजल सुमिना की सहेली है वैसे ही सुमिना भी तो काजल की सहेली है.

लेकिन कंपनी वालों ने परेशान करने के लिए उसे किसी काम से मुंबई जाने को कहा. सुबह जब मैं उठी, तब मैंने लेकलान का लंड चूसा तो कुछ ही देर में वो उठ गया. मुझे अच्छा लगेगा और मैं आप लोगों के लिए कोई और किस्सा या घटना लेकर वापस आऊंगा.

वहाँ पर रेस्टोरेंट, ढाबे खुले होंगे, खाना ख़ाकर आप निकल जाना!हमने एक रेस्टोरेंट में खाना खाया, फिर मैंने उनको कहा- मैं तुम्हें घर छोड़ देता हूँ.

उसने मेरी चूत को करीब चालीस पचास धक्के देकर चोदने के बाद वो पीछे को हटा. उनके बाप की ये सुनकर मुझको भी चूत चुदवाने के शब्द से प्यार होता जा रहा था. एक बार मैं अपनी सहेलियों के साथ पार्क में घूमने जा रही थी तो मेरे रिदम ने देख लिया.