एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी हिंदी वीडियो चुदाई वाली

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ दिखा देहाती: एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी, किस करने के बाद मैंने खुद को पीछे हटाया और कहने लगी- ये सब मत करिए.

देवर भाभी का बीएफ ओपन

लंड कितना अंदर गया ये तो नहीं कह सकता लेकिन शुभ्रा ने कस कर पलंग के सिरहाने को पकड़ लिया. छत्तीसगढ़ी में बीएफ फिल्मआज फिर से सुहागन होकर सहवास की चाहत से मेरी दबी हुई सिसकारियों को निकलने का अवसर मिल गया.

कुछ टाइम बाद काजल की आवाज़ सुनाई दी- अरे वाह ननद जी बहुत ही मस्त सैट लाई हो. बीएफ सेक्सी एचडी में सेक्सीकैसी लड़की हो? कुछ देर रुक जाती कहीं!मुझे भी समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँँ? यहाँ तो कोई कपड़े भी नहीं थे मेरे पास.

लंड को परदे में करते ही मीना उसे अपने हाथों में लेकर उसका टोपा ऊपर नीचे करने लगी और मैं ज़न्नत में पहुंचने लगा.एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी: रिया बिल्कुल कुतिया बनी हुई थी।रमेश- तुम अब वापिस उठ सकती हो।रिया उठकर रमेश के पास बैठ गयी।फिर रमेश ने उससे पूछा- कैसा लगा रंडी बेटी ?रिया- डैड आप बुरा तो नहीं मानोगे ना, या मुझे गलत तो नहीं समझोगे? मुझे गलत मत समझना। जो तुमने अभी किया उसमें मुझे बहुत मज़ा आया। आज तक मैंने ऐसे केवल ब्लू फिल्मों में देखा था.

इस बात को समझते हुए नम्रता ने अपनी चूत का मुँह मेरे मुँह पर रख दिया और खुद मेरे लंड के साथ खेलने लगी.फिर मैंने अपनी पैंटी देखी, उसमें सफ़ेद सफ़ेद सा कुछ गाढ़ा सा लगा हुआ था.

सेक्सी इंग्लिश बीएफ फुल एचडी - एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी

तो मेरे गालों को अपने हाथों के बीच कैद करते हुए बोले- जान तुमने अभी भी जवाब नहीं दिया.लंड को खुजलाते हुए वो मेरे करीब आये और मेरे कंधे पर हाथ रख कर अपने हाथ से मेरे कंधे पर सहलाने लगे.

पता नहीं कब मेरी आंख लग गयी और मैं सो गयी।लेकिन दिमाग में तो ‘जागना जागना’ चल रहा था तो करीब एक बजे हड़बड़ा कर मेरी आंख खुली और मैं उठी. एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी कुछ ही देर में मुझे राहत मिलने लगी- आआह्ह्ह चोद दे हरामी मादरचोद कुत्ते हां … मैं तेरी रांड हूँ और तू रंडी की औलाद चोद मादरचोद … आआह्ह्ह … उफफ …मेरी हालत ऐसे होने लगी, जैसे 10-15 लोग मिल के मेरा जबर चोदन कर रहे हों.

उसने कहा- बात चैलेंज की है … तो मैं बताना चाहूँगी कि मैंने उम्र भर व्यस्त रखने की हिम्मत रखती हूँ.

एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी?

इस वक्त मुझे ऐसा लग रहा था कि मानो कि पूरा दुनिया की ख़ुशी मुझको मिल गई है. तभी हम दोनों ने एक दूसरे की आंखों में देखा और किस करना शुरू कर दिया. मैंने भी अंकल को कस कर गले लगाया हुआ था और अपने स्तन उनके सीने में गड़ा दिए थे.

उसके एक दूध को मैंने अपने मुँह में भर लिया था और जोर जोर से खींचते हुए चूसने लगा था. मैं उसके पैर फैलाकर उसकी टांगों के बीच आया और अपना मुँह अन्दर डाल कर कुत्तों की तरह उसकी चूत को चाटने लगा. बहन की चिकनी चूत पाव रोटी की तरह उभर कर मेरे सामने आ गयी। कहानी में पढ़ा था कि चुदाई के समय क्या होता है और कितनी मस्ती आती है, लेकिन जब हकीकत सामने आयी तो पता चला कि चोदन कार्य जितना सरल दिखता है उतना ही कठिन होता है.

संजना भी बोल रही थी कि तुम्हारे रूम में बहुत प्यारी मर्दों वाली गंध आ रही है. आधे घंटे की इस जीभ और मुँह से हुई चुदाई से मैं मदहोशी में बस मरने ही वाला था. उसने मेरे गले को पकड़ा और करीब किया और मेरे डार्क पिंक लिपस्टिक वाले होंठों को पास किया और अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये.

मेरा लंड उसकी चुत को छू रहा था और हम दोनों की गर्म सांसें एक-दूसरे के मुँह पर टकरा रही थीं. इस चुदाई के दंगल का मजा लेने के लिए आप मेरे साथ अन्तर्वासना से जुड़े रहिए.

पर उनको कुछ फर्क नहीं पड़ा, वे मेरे दोनों हाथों को मेरे सर के ऊपर ले आये और अपने एक हाथ से पकड़ लिया, दूसरे हाथ से मेरा स्तन मसलते हुए हल्के हल्के धक्के देना शुरू कर दिया.

लंड को हाथ में लेकर कुछ देर सहलाने के बाद उन्होंने मेरे लंड को मुंह में ले लिया.

मुझे सिर से पैर तक घूरते हुए उसने कहा- वाह! क्या चीज हो यार तुम सोनल. लड़कियों के लिए खड़े होकर सुस्सू करना कितना दिक्कत वाला होता है यह हम सभी जानते हैं. रितेश जीजू कभी मेरे साथ मेरे रूम में सो जाते थे तो कभी हॉल में सो जाते थे.

अब चुदाई की कमान मैंने पुनः संभाल ली और उसकी रिसती चूत में आड़े तिरछे शॉट्स लगाता हुआ उसे चोदने लगा. अहिल्या को सतयुग में मिले शाप से मुक्ति देने के लिए अपने प्रचण्ड पराक्रम से त्रेता-युग को द्वापरयुग से पहले खींच लाये थे. ऐसे आज तक किसी ने चूत मेरी क्या … किसी की भी चूत, किसी ने भी नहीं चाटी होगी, जैसे वंश चाट रहा था.

हम दोनों लोग बिना एक दूसरे से कुछ बात किये एक दूसरे के कपड़े निकाल रहे थे.

सरिता- नहीं नहीं अंकल मैं नहीं चिल्लाऊंगी, पर जरा आराम से अन्दर डालना. घोष ने पूछा- राज आ गए या नहीं?दीपिका- मुझे क्या पता, लाइट तो जल रही थी. ऐसे चोदूँगा कि मेरे नाम की दीवानी हो जायेगी।फिर हमारी थोड़ी सी बातचीत हुई जैसे कि ‘मुझे मैसेज क्यों भेजा था?’ और ‘मिलना क्यों चाहते थे?’तो मैंने कहा- तुमसे दोस्ती करना चाहता हूं.

मैंने कहा- अगर आप सभी को ठीक लगे तो इस राउंड में सभी लड़कियों की गांड में लंड डाले जाएँ?मुस्कान बोली- नहीं यार, दर्द होगा और मज़ा भी नहीं आयेगा. आधे घंटे की इस जीभ और मुँह से हुई चुदाई से मैं मदहोशी में बस मरने ही वाला था. इसकी प्यास अच्छे से बुझाओ मेरे शौहर!सारा की बात सुन कर मैंने जूली को चूमना शुरू कर दिया.

मैंने नेहा की सुंदरता की तारीफ की और पैंट के बाहर से उसकी चूत को सहलाने लगा.

पर लंड जब खड़ा रहता है, तो बिना छेद चोदे नहीं छोड़ता … यही हुआ उसने मुझे फिर से पकड़ा और आराम से टोपे को अन्दर पेल दिया. मुझको ऐसे ही नंगी पड़ी छोड़ कर उसके सोने के बाद मैं खुद उंगली या कैंडल अपनी चूत में डाल कर अपने आपको शांत करती हूं.

एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी नीता- साली कमीनी … डोरे मैंने डाले और खेत तूने चुग लिया … कुतिया मुझे भी एक बार स्वाद चखवा दे ना प्लीज!पिंकी हंसने लगी. मैं 20 साल का हूँ और मैं आप सभी को आज अपने पहले सेक्स अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ।कहानी शुरू करने से पहले मैं आप सभी को अपनी भाभी के बारे में बताना चाहता हूँ.

एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी और अआअ आअ आह हहह अअअ अअह हह करके अपनी बेटी सुमीना के चूचों पर ही निढाल हो कर लेट गये. हमारी कामुक आवाजों को हमारे अलावा पास में बंधी हुई भैंसें भी सुन रही थीं.

उसने तुरंत मेरे होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और चाची की चूत का गर्म पानी मुझे अपने लंड को भिगोता हुआ महसूस हुआ.

सेक्सी पटाखा

मैं सोने का नाटक किये हुए थी और ऐसे दिखा रही थी जैसे मुझे उसके छूने का कोई अहसास ही नहीं हो रहा है. वो मेरे सफ़ेद गले, चूची, क्लीवेज, मेरे गाल सब जगह पर चुम्मा ले रहा था. सारा को चोदते हुए मैं जूली की चूचियां भी साथ के साथ ही सहलाता रहा और उसे लिप-किस करता रहा.

हम काम के बहाने से एक दूसरे की तारीफ़ कर देते थे और मुस्करा देते थे. मेरा भी होने वाला था, इसलिए मैंने भी दो चार जोर के धक्के लगाए और लंड को अंदर तक दबा कर उसकी चूत को अपने पानी से भर दिया।कुछ देर सुस्ताने के बाद हम दोनों ने बाथरूम में जाकर अपने आप को साफ किया. रास्ते में दोनों चुप थे, दोनों सोच में थे कि क्या बोलें और कैसे बोलें!नितिन ने ही बोलना आरम्भ किया- तुमको पहले ही बोला था कि बिना कंडोम के मत चुदो, पर तुम नहीं मानी, अब तुम्हारी मम्मी को जवाब देना भारी पड़ेगा.

अभी भी उसके हाथ में कटोरी थी, एक हाथ में कटोरी लेकर अपने मम्मे के नीचे लगाया और अपने मम्मे को दबाने लगी, मैं कौतूहल पूर्वक उसको इस तरह से करते हुए देखकर उठ कर बैठ गया और नजरें वहीं गड़ा दीं.

अब आगे:मैंने मेरे घर का दरवाजा खोला, बाहर कोई नहीं देख कर खुशी से मैंने अपने घर का दरवाजा लॉक किया और अंकल के घर की तरफ भागी. फिर जैसे ही मेरा लंड उसकी चूत से बाहर आया, मैं लस्त होकर उसके बगल में लेट गया. मैं उसकी गर्दन पर किस कर रहा था और साथ में उसके मम्मों को भी दबा रहा था.

यह खेल लगभग 25 से 30 मिनट तक चलता रहा। फिर वह अचानक मुझे नीचे लिटा कर मेरे ऊपर आ गयी. कुछ देर किस करने के बाद वो बोली- चलो अन्दर कमरे में पलंग पर चलते हैं. राजेश मेरी चूतड़ों को दबाते गए और फिर फैला कर अपनी जीभ मेरी गांड में चलाते हुए चूत तक ले गए.

मेरी कमसिन चूत की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे मेल करके जरूर बताइएगा. वो हांफती हुई एक तरफ लेट गई और उसके चूचे उसकी छाती पर ऊपर नीचे हो रहे थे.

उनकी रसीली चूची इतनी मस्त थी कि उनके बारे में सोचकर ही मेरे मुंह में पानी आ जाता है. सीमा जी उसे काम दिलवा दिया और बाकी टाइम वे उसे अपना यार बना कर रखे हुए थी. नशा तो उसको भी हो रखा था और वो बड़बड़ा भी रही थी- आह राजा, दबाओ ज़ोर से मेरे चूचों को!करीब पंद्रह मिनट के फोरप्ले में मैंने उसकी नाइटी और उसकी ब्रा को अलग कर दिया और उसके खरबूज जैसे चुचों को आज़ाद कर दिया.

बीच बीच में मैं अपनी कमर को गोल गोल क्लॉकवाइज कभी एंटी क्लॉकवाइज घुमा घुमा कर चोदना शुरू किया जिससे साली जी आनंदित होकर किलकारियां निकालने लगीं.

उसने बोला- मैं तो शादीशुदा हूँ यार … तुम जाओ मेरे लिए तो पति हैं मेरे!अब हम दोनों मूवी देखने पहुंचे. फिर मुझे वैसे ही लिटाए रखकर उन्होंने अपना उल्टा हाथ मेरे बायीं ओर बेड पर टिकाया … और दाएं हाथ से लंड को पकड़ कर गांड पर रगड़ना शुरू कर दिया. कभी वह अपनी गर्म गर्म, मुखरस से तर जीभ टोपे पर घुमा घुमा के चाटती और कभी वह दुबारा जीभ को मोड़ के नोक लंड के छेद में घुसा के एक तेज़ करंट मेरे बदन में फैला देती.

अब तो मौसी खुद ही बोल रही थीं कि बाकी सब बाद में करेंगे, जिसका मतलब साफ था कि अब आगे भी मुझे मौसी की चूत मिलती रहेगी. वह हैरान थी कि मैं उसकी बात या उसका इशारा समझ पाया या नहीं?दरअसल वह मुझे इशारा कर रही थी कि आज मम्मी बाहर जाएंगी और मैं अकेली हूँगी, तो तुम आ जाना.

उनको देख कर यह नहीं लगता था कि उनको सेक्स के बारे में इतना कुछ पता है. तुषार की बात सुनकर मैंने कहा- ठीक है … मैं भी देखती हूँ कि तुममें भी कितना पावर है. दीपिका के मुँह से- आ … आ… की आवाज निकलती रही और मैंने धीरे धीरे आधे से ज्यादा लण्ड चूत में उतार दिया.

जमाई राजा सेक्सी

मेरे लण्ड में दर्द हो रहा था, मैंने सारा से कहा- दिलिया का निचला होंठ चूसो!इससे दिलिया की चूत ढीली हो गयी और अगले धक्के में लण्ड पूरा अंदर चला गया.

एक बार फिर लोगों की नजरों से बचते हुए मैं नम्रता के घर के अन्दर घुस गया. अब तुम थोड़े पानी को गरम कर लो, ताकि तुम्हारी चूत की अच्छे से सफाई कर दूं. सुधा ने झट से अपनी ड्रेस उठाई और मेरे को बोली- देर न करो … मुझे जल्दी से चोदो.

फिर मैंने घूमने का या फिर यूं कहिए कि अनिता को भोग करने का प्लान बनाया।उसके बाद आया वो दिन जिसका मैं कितने दिन से इन्तजार कर रहा था. एक दिन मैं घर पे अकेला ही था तब भाभी आईं और मेरी मम्मी को आवाज देने लगीं. बीएफ बांगला बीएफसाथ ही शुभ्रा की चूत से निकलती हुई गर्माहट जो मेरी जांघों पर पड़ रही थी, उसका मजा ले रहा था और लगे हाथ शुभ्रा के कूल्हे को सहलाते हुए उसकी गांड को कोद भी रहा था.

मैंने कहा- तुम्हें दर्द हो रहा है क्या?वह बोली- हाँ, शुरू में हो रहा था. इतने में मैंने दीदी को छेड़ते हुए पूछा- ऐसा क्यों पूछ रही हो … क्या जीजू आपको खुश नहीं कर पाते हैं?इस पर दीदी बोली- तेरे जीजू तो मुझे बहुत ज्यादा खुश कर देते हैं … पर शायद अमित तुमसे खुश नहीं है.

अब तुम थोड़े पानी को गरम कर लो, ताकि तुम्हारी चूत की अच्छे से सफाई कर दूं. फिर मैं और शलाका एक-दूसरे के साथ चिपक कर सोने लगे लेकिन हम दोनों की आंखों में नींद कहां थी!मैंने शलाका के कान में कहा- कुतिया बन कर कब चुदोगी मुझसे?शलाका बोली- घर चल कर चाहे कुतिया बनाना या घोड़ी बनाकर चोदना मगर यहाँ तो बस धीरे-धीरे ही मजा लो. काजल का हाथ पैन्ट पर महसूस होते ही मेरा लंड ताव में आ गया और विकराल रूप में आने लगा.

कुछ एक-दो मिनट बाद ही वो एक कटोरी लेकर आयी और सिरहाने पर पीठ टिकाकर और अपने दोनों पैरों को सीधा फैलाकर बैठ गयी. वो गांड मटका कर चलने लगी।मैंने शॉपिंग बैग उठाया और उसके पीछे-पीछे चलने लगा।मैं बता दूं कि वो बिलकुल नंगी थी. कैसी लड़की हो? कुछ देर रुक जाती कहीं!मुझे भी समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूँँ? यहाँ तो कोई कपड़े भी नहीं थे मेरे पास.

अब लड़की की चूत की कहानी:मैं एक मकान की तीसरी मंजिल के एक कमरे में रहता था.

मेरे कपड़ों की फिटिंग काफी टाइट थी जिसमें से मेरे शरीर का हर एक अंग उभर कर आ रहा था. उधर अंकल जी का लंड मेरे पेट से टकरा रहा था और उसकी कठोरता का मुझे स्पष्ट आभास हो रहा था.

हम सब स्कूल की लड़कियां उस चपड़ासी से खूब बातें कर लेती हैं तो वो सबसे बहुत खुला हुआ था. मैंने अपनी एक टांग उठाकर बेड पर टिका दिया ताकि उनको उंगली करने में आसानी हो जाए. साली जी भी मेरे धक्कों से ताल से ताल मिलाती हुईं अपनी चूत उठा उठा कर मुझे दे रहीं थीं.

वो मुझे अपनी सारी बात बताती है और मैं भी उसे अपनी सारी बात बताता रहता हूं. लेकिन जैसे ही मैंने वसुन्धरा को पीछे घूम कर देखा तो पाया कि वसुन्धरा की चुनरी, वसुन्धरा की पीठ की ओर से लँहगे के अंदर फंसी हुई थी. फिर वापस उसी तरह जीभ चलाते हुए नीचे की ओर बढ़ते हुए उसने लंड को गप से मुँह के अन्दर लेकर ओरल चुदाई शुरू कर दी.

एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी रानी भी चढ़ गयी और लंड के पास एक साइड में बैठ कर लंड को प्यार से सहलाने लगी. करीब 10-12 मिनट बाद मौसी आईं और बिना कुछ बोले ही मेरी बगल में लेट गईं.

chudai सेक्सी

मैं मदहोशी से बेहोशी की ट्रिप पर निकल चुका था और अनिल भैया मेरे हाथ पैरों को पकड़ कर मुझे होश में लाने की कोशिश कर रहे थे. चाची ने कहा- रुक … लंड पर कंडोम चढ़ा ले, उससे ये आसानी से मेरी गांड में जायेगा।फिर मैंने नीचे से कंडोम लाकर लंड पर चढ़ा लिया और फिर चाची की पीठ पर लेटकर लंड गांड में रख कर धक्के से आधा घुसा दिया. आखिरकार अपनी टॉप स्पीड पकड़ते हुए अंकल चिल्लाने लगे- आह … नीतू … कितनी टाइट चुत है तुम्हारी … मेरा लंड पूरा छिल गया … अब सब्र नहीं हो रहा … आह … मैं आ रहा हूँ.

सुमीना मजे से आआ आउऊ उउहउ उम्म मममउ आआअ आहहा हहाह उफ आआअ हह कर रही थी और पिताजी चोदते समय कह रहे थे- ले लण्ड … पूरा लण्ड ले चूत में … और ले ले … उम्म्ह… अहह… हय… याह… तेरे भोसड़े में उतार दिया. अमेरिका में काफी व्यस्त जिन्दगी हो जाती है मेरी इसलिए काफी समय के बाद मैं ये अपनी नयी और रीयल सेक्स स्टोरी लिख रहा हूं. हिंदी बीएफ सेक्स वीडियो सेक्सीवह जब अपने मामा के घर जाने लगी तो मेरी माँ ने उसे रुकने के लिए कह दिया.

मैं- इतनी उतावली न बनो, अगर मैं तुम्हें मेरी मूत पीने को कहूँगा, तो वो भी पी लोगी?नम्रता- बिल्कुल मेरी जान.

मेरी चूची में उसके जोर से दबाए जाने से हल्का दर्द हो रहा था क्योंकि वो मेरी चूची को बहुत जोर से मसल रहा था. इतना कहकर मैंने आशीष को बोला- ठीक है जानू, अब मैं तुम्हारे साथ फोन सेक्स करने के लिए तैयार हूं.

उसके ज़ोर ज़ोर से धक्का देने से मेरी चूत में दर्द के साथ साथ मज़ा भी आ रहा था … और मेरी ‘आआहह …’ निकलना बंद ही नहीं हो रही थी. मैंने उनका साथ देना शुरू कर दिया क्योंकि मेरे पति असम में तैनात थे और दस दिन के बाद आने वाले थे. एक किनारे खड़े होते हुए मैंने नम्रता से पूछा- अब आगे का क्या इरादा है?वो मेरी नाक पकड़ते हुए बोली- बस मेरी जान … चुदाई और सिर्फ चुदाई.

मैं दीदी से मिल चुकी थी और उनकी सास से दीदी के घर रुकने की बात भी हो चुकी थी.

अब मैं शीना की चूत के अन्दर झड़ रहा था और मेरी हर एक पिचकारी शीना अपनी चूत में महसूस कर रही थी. अंकल के गर्म वीर्य की वजह से और उनके आखिरी धक्कों की वजह से मेरा भी बांध छूट गया और उनके साथ मैं भी झड़ने लगी. मैंने लण्ड को चूत पर दबाना शुरू किया और सुपाड़ा चूत की दीवारों को फैलाता हुआ अंदर घुसने लगा.

बीएफ दो बीएफ बीएफब्रा उतारते ही उनके मोटे चूचे आजाद हो गये और मैंने उन दूधों को अपने हाथों में कस कर भींच दिया. मैं नम्रता के पीछे आ गया और उसके दोनों चूचों के पीछे से ही अपने मुट्ठियों में कैद करके भींचने लगा.

सेक्स व्हिडिओ ओपन सेक्सी व्हिडिओ

जीजा ने मेरी टांगों को चौड़ी किया और अपना लंड मेरी चूत पर लगाते हुए कहने लगे- बता कैसे लेगी मेरा लंड?मैंने कहा- आशीष, जैसे तुम्हारा मन करे तुम वैसे चोद दो. अब आगे:इत्तेफाक तो होता नहीं है, लेकिन करिश्मा कब हो जाए, कोई बता नहीं सकता. भाभी बोली- राज, कल परसों में मेरी मेंसिज आने वाली हैं, अतः अब चार पांच दिन तुम बेशक अपने कमरे में ऊपर ही सो जाना.

मैंने बिना रुके उसे बिठाया और उसकी पैंट खोल कर उसका लंड बाहर निकाल दिया. उन्हीं दिनों गाँव में एक शादी थी, तो दादा दादी को 10-12 दिनों के लिए गाँव जाना था. जब मैंने भारत से अमेरिका जाकर ज्वॉईन किया तो सब मेरे लिए बहुत नया था.

ऐसा करते-करते उसने अपनी एक उंगली मेरी गांड के अन्दर पूरी डाल दी और अपनी उंगली से मेरी गांड चोदने लगी. दीदी- फिर मुझे होश आया और मैंने अपने आपको जैसे तैसे अमित से अलग किया. मैं उसकी गर्दन को नीचे की तरफ झुकाते हुए बोला- एक बार मुँह में लेकर इसको प्यार करो, फिर चली जाना.

फिर उसने मेरे अंडरवियर को भी मेरी जांघों से खींच कर अलग कर दिया और हम दोनों के दोनों अब पूर्ण रूप से नग्न हो गये. उसकी ये बातें सुनकर मुझे भी कुछ कुछ होने लगा था … और मेरी चूत भी गीली होने लगी थी.

दोस्तो, मैं राजवीर महायाराना का दूसरा भाग आपके सामने पेश कर रहा हूं.

वो अपने से दोहरे उम्र के आदमी से बात कर रही थी, पर आजकल के नौजवान किसी से हार मानना पसंद ही नहीं करते. इंग्लिश बीएफ मूवी इंग्लिश बीएफवह तुरंत मुझे नीचे गिरा कर, मेरे ऊपर किसी घुड़सवार की तरह मेरी सवारी करने लगी. बीएफ चुदाई बीएफ चुदाई हिंदीकाफी देर तक चूत चाटने और अंगुली करने की वजह से अनिता कांपते हुए अपने कामरस की वर्षा कर गई जिसे मैं अमृत की तरह पीता चला गया. वैसे मैं सच बताऊं तो ट्रेन के अंदर उसके साथ ऐसा नहीं करना चाहता था लेकिन ट्रेन के अचानक ब्रेक लगने के कारण ऐसा हो गया.

” कह कर वसुन्धरा ने अपने दोनों हाथों से मेरा सर नीचे कर के मेरा चेहरा चुंबनों से भर दिया.

मैंने दोबारा उसके होंठों को चूसा तो उसने भी बदले में मेरे होंठों को चूस लिया. उससे बातचीत शुरू होने पर पता चला कि वह मेरे शहर सीतामढ़ी की रहने वाली है और उसका नाम मीना है. मैंने दीदी को बड़ी हैरानी से सुन रही थी और दीदी बोले जा रही थी- फिर मैं अपनी पूरी ताकत लगा कर पीछे मुड़ी और देखते ही बिल्कुल अवाक रह गयी … और शर्म से पानी पानी हो गयी.

मीरा भी बिना रुके उसके गांड के छेद को फैला के अपनी जीभ से कुरेद रही थी और अपने हाथों से रितेश का लंड सहला रही थी. कॉफ़ी पीने के बाद वो उठा, तो मैंने देखा कि उसकी नजर मेरे मम्मों से हट ही नहीं रही थी. मैंने उसका कुर्ता और जीन्स के साथ उसकी पैंटी और स्लिप उतारकर उसे पूरी नंगी करके उसकी चूत को चाटना शुरू कर दिया और सारा योनि रस पी गया। फिर उसने मोबाइल में लंड चूसने वाली वीडियो लगाकर उसे खिड़की में रख दिया और मेरी पैंट उतारने लगी।मेरा लंड तना हुआ था। उसने उसे निकाल कर सीधा अपने मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

नेपाली सेक्सी खतरनाक

काजल बोली- ननद जी वो तो है, पर आप भी मुझसे कम नहीं हो, अपनी साइज तो देखो. वैसे हम दोनों रात 11 बजे तक टीवी देखती हैं लेकिन आज पता नहीं सुमीना को क्या हुआ, अभी दस बजे ही कहने लगी- भाभी, मुझे तो बहुत नींद आ रही है, मैं सोने जा रही हूँ. उसने घर में किसी से कुछ नहीं कहा था। अगर कहा होता तो कहीं न कहीं से बात मेरे सामने आ ही जाती.

उन्होंने मेरे गांड की फांकों को पूरा खोला और टांगों को भी जितना दूर कर सकते थे … किया.

वैसे मैं सच बताऊं तो ट्रेन के अंदर उसके साथ ऐसा नहीं करना चाहता था लेकिन ट्रेन के अचानक ब्रेक लगने के कारण ऐसा हो गया.

मेरे कुछ बोलने से पहले अंकल लंड मेरे होंठों पर घिसने लगे और फिर जबरन मेरा मुँह खोल कर लंड को अन्दर घुसा दिया. बीच-बीच में तो ये मेरे लटके हुए मम्मों को भी मसलने से नहीं चूक रहे थे. बीएफ वीडियो डॉक्टर वालीमेरी चूची पर से चॉकलेट को चूसने के बाद वो मेरी पेंटी को निकालने लगे.

इस उम्र में भी सरोज के नयन नक्श और शरीर की बनावट किसी का भी लंड खड़ा करने के लिए बहुत थी. हाय मर जाऊंगा … आआह्ह आआह्ह!रानी ने मेरे होंठ चूसते हुए फुसफुसाते हुए कहा- राजे, माँ के लौड़े … अभी देती हूँ तेरे संड मुसण्ड को इनाम … तूने अमृत पीकर अपनी रानी को बहुत खुश किया … अब से तू अपनी बाली रानी का गुलाम पिल्ला बन के रहेगा. मैंने उसने अपनी तरफ खींचा और उसको बांहों में कसते हुए उसके नंगे बदन से लिपट गया.

लगता था कि मुद्दत से अंदर रखा अवसाद आज बरसों बाद बाँध तोड़ कर आँसुओं के साथ बाहर निकला था. मीरा ने कहा कि कोई और तरकीब लगानी पड़ेगी, जिससे हम खुल के चुदाई का मज़ा ले सकें.

मैंने पूछा- फिर तुम्हारी सील कैसे टूटी?वो बोली- मैंने खुद कैंडल से तोड़ी.

इस तरह से मैंने अपनी खूबसूरत साना भाभी की कुंवारी चूत को चोद कर उसको मजा दिया और खुद भी उसकी चूत के मजे लिये. अब आगे देहाती सेक्स की कहानी:फिर मैंने ध्यान दिया कि उस गली में आगे जाने का रास्ता तो है ही नहीं. मगर वो मजबूर थी कि वो इस चुदाई के आनंद को सिसकारियों के रूप में बयां नहीं कर सकती थी.

मां और बेटे की बीएफ सेक्स वो ऐसा ही करती है, शादी नहीं हुई उसकी अभी इसके लिए उसका भाई ही अब पति है. मैं झड़ने ही वाला था, मैंने दीपाली से पूछा- कहां निकालूँ?दीपाली बोली- ये मेरा पहला सेक्स है, तू अपना माल मेरी चुत में ही निकाल कर भर दे मेरी चुत को.

अब अमीषी की जवानी की कहानी उसी की जुबानी:मेरा भाई 10वीं फेल, दोस्तों के साथ रात रात भर बाहर रहता, दारू पीता, लड़कीबाजी करता. नम्रता अपनी चूत की तरफ इशारा करते हुए बोली- अभी इसमें पानी और बचा है. ”लेकिन अब आगे का क्या सोचा है?”क्या फायदा सोचने का! जो सोचा था, वो तो हुआ ही नहीं.

फ्री इंडियन सेक्सी

मैंने उसके लंड के रस को उगल दिया … क्योंकि उसने एक झटके में अपना लंड मेरे गले में उतार कर अपना लावा निकाल दिया था, जिससे मुझे उबकाई आ गयी थी. इस बार सब आराम से किया था, तो मज़ा भी बहुत आया और राउन्ड भी खूब लम्बा चला. बन्दी जब तक मेरे मुँह से नहीं हटी, जब तक कि उसकी चूत की अच्छे से चटाई नहीं हो गयी.

जहाँ तक मेरा अंदाजा था और जितना मैं मोनी को अब तक जान पाया था उससे मुझे पता चलने लग गया था कि शायद मोनी सलवार सूट के नीचे पेंटी पहनती ही नहीं थी. दोनों के होंठ से होंठ ऐसे चिपकाए पड़े थे, जैसे कोई भूखा शेर अपने शिकार को एक बार में ही निगल लेना चाहता है.

रेड वाइन!तूने कभी कोई सी दारू चखी है राजे?” रानी ने एक सिप लेकर पूछा.

लेकिन अब मुझे कोई जल्दी नहीं थी क्योंकि मुझे पता चल चुका था कि आज रात इस गैरेज में ही गुजरने वाली है और वह भी एक हसीन रात, शायद उसका भी यही हाल था इसलिए वह भी मेरे हिप्स को आगे दबाकर अपने लंड का दबाव मेरी चूत पर दे रहा था. भाभी- हाँ, पूछिये, क्या बात है?मैं- उस दिन डॉक्टर ने भाई साहब से क्या कहा?भाभी थोड़ा हिचकते हुए बोली- डॉक्टर ने कहा है कि हो जायेगा मगर …मैं- मगर क्या भाभी?भाभी- हम उसका खर्च नहीं दे सकते अभी. इसमें मेरे पति नितिन की रजामंदी भी थी और ये बात मुझे नहीं मालूम थी.

क्या करूं? कर दूँ बदन उनके हवाले? नितिन से धोखा नहीं कर सकती? क्या सच में नितिन के मन में भी यही है? मैं शर्मा सर से नजर नहीं मिला पा रही थी, तो मैंने नजरें झुका दीं. एक दिन की बात है, मेरी मम्मी अपने मायके गयीं थीं और मैं सुबह सवेरे अपने घर के बाहर झाड़ू लगा रही थी कि अंकल जी सुबह की सैर के लिए निकले. फिर भार्गव ने मुझे सीट पर लिटा दिया … और तुषार ने अपने सभी कपड़े निकाल दिए.

उसकी आवाज़ काफी ऊंचे स्वर में निकल रही थी, लेकिन आस पास किसी के होने का कोई डर नहीं था.

एक्स एक्स एक्स बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी: अंकल मेरी पैंटी को ध्यान से देख रहे थे उसके ऊपर मेरे चुत के रस का बहुत बड़ा गीला दाग था. करीब दस मिनट तक लंड चूसने के बाद उन्होंने अपने लंड के लावा को मेरे मुँह में छोड़ दिया.

ऊई माँ!! उम्म्ह… अहह… हय… याह… अई ऐईई सी … सी … सी! मर गयी बॉस!” मैं जोर से चिल्लाने लगी. दो चार मिनट ऐसा ही चलता रहा, फिर मैंने ही अंकल को जोर से पीछे धकेला और खांसने लगी. उससे बातचीत के दौरान मैंने उससे साथ सहानुभूति जताई और कहा कि आपका पति नादान है, जो आप जैसी खूबसूरत बीबी से तलाक़ चाहता है.

लेकिन खाते समय मैंने नोटिस किया कि वो आज रोटी देने के लिए कुछ ज़्यादा ही झुक रही है.

इस बार सब आराम से किया था, तो मज़ा भी बहुत आया और राउन्ड भी खूब लम्बा चला. हाँ रानी मस्त है … बहुत ही मज़ेदार है … सारा पिला ना?” मैंने मचल कर गुहार लगाई. मैं बहुत खुशनसीब हूँ कि मुझसे तुम वो चाहती हो, जो देते हुए भी उतना ही आनन्ददायक होता है, जितना लेते हुए.