मराठी बीएफ साड़ी वाली

छवि स्रोत,छोटे बच्चों की पिक

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स वीडियो सनी: मराठी बीएफ साड़ी वाली, हम लोग पूरा गार्डन घूमे और मैंने उनके साथ चिपक चिपक कर ढेर सारी फोटोज खींची.

டாக்டர் செக்ஸ் வீடியோ

15 मिनट तक वो मेरे लंड को बर्दाश्त करती रही और फिर बोली- बस जीजू … मुंह दुख गया है. सेक्स मियाबल्कि वीर्य निकलने के बाद जो पानी की बूंदें बाद तक निकलती रहती हैं, वो उनको भी चाट कर साफ कर गयी.

मेरी पकड़ बहुत ही मजबूत थी और अंगिका को हिलने तक का मौका नहीं दे रही थी. চুদাচুদিফিলমडॉक्टर सुरेश के दवाखाने में एक 43 साल की औरत सुलक्खी के साथ एक कमसिन उम्र की लड़की आई.

तो मैं अचकचा गया कि अब इस वक्त ऐसी ड्रेस में ये शादी करने मन्दिर कैसे जाएगी.मराठी बीएफ साड़ी वाली: अब गांव के महामादरचोद मुखिया जीवन परसाद की निगाह में कोई चुत बस जाए, तो उसके लंड का शिकार बने बिना उस चुत का कल्याण होना असम्भव था.

मेरे मुंह में वकील का लंड था और उसके हाथ मेरे सिर पर।मैंने जल्दी से लंड निकाला और अपने नंगे बदन को हाथों से ढकने लगी और फिर कपड़ों की ओर लपकी.अब आगे देसी बुर कीचुदाई स्टोरी:मैं चाची के पास गया और पीछे से उनकी गांड को सहलाने लगा.

विदमते डाउनलोड ऍप - मराठी बीएफ साड़ी वाली

मैंने कहा- मां, ये इतनी गीली कैसे हो गयी?मां बोली- मर्द के लंड को हाथ में लेने से इसमें खुजली होने लगती है.अब मैंने उनको मां-बहन की गाली देते हुए जोर जोर से चोदना शुरू कर दिया.

होली सेक्स की कहानी में पढ़ें कि हम अपने ससुराल वाले गाँव में होली मनाने आये थे. मराठी बीएफ साड़ी वाली जब भी कृति नहीं होती थी वो मेरी चूत में लंड डाल देता था और मैं चुदने का मजा लेती थी.

वो मेरे दर्द को नजरअंदाज करता हुआ अपना लंड मेरी चुत में ठूंसे चला जा रहा था.

मराठी बीएफ साड़ी वाली?

इस बार जल्दी ही उसकी योनि ने पानी छोड़ दिया जो मुझे लिंग पर महसूस हो रहा था. वो जोर जोर से चिल्लाते हुए कहने लगी- नहीं … नहीं … मुझे नहीं चुदना … निकालो इसे … याल्ला … मर गयी. एक बूंद शहद उनकी नाभि पर, एक बूंद उनके पेट पर और थोड़ा सा शहद उनकी चूत पर लगा दिया.

कुछ ही देर में वो सिसकारियां लेते हुए खाना बना रही थीं और बोलती जा रही थीं- तुमने तो मुझे खुश कर दिया … जितना मजा मुझे तुम्हारे साथ आ रहा है … उतना तो किसी के साथ नहीं आया. वरना अगर अंदर चली जाती तो फिर मुझे मेरा लंड घुसा कर ही मारनी पड़ती. आखिरी के 5 मिनट में मैंने उसे फिर से जानवरों की तरह चोदा, जिसमें श्वेता को दर्द और मजा दोनों आया.

जब तीन चौथाई लंड बाहर आ गया तब फिर धीरे धीरे अंदर करने लगा। पांच दस मिनट के बाद लंड आसानी से अंदर बाहर होने लगा।तभी मेरा मोबाइल घनघना उठा. मैं और ज्यादा डर गया। इससे से पहले कि मैं कुछ समझ पाता, रोज़ी झट से उठी और कपड़े ठीक करके किताब उठा कर गेट की ओर बढ़ने लगी. उसकी लाल चूत जो अब हल्की हल्की गीली हो रही थी, उसका मुहाना बहुत रसीला हो चला था.

मुझे भी ये अच्छा लगता था कि वो कविता के साथ मेरा रिश्ता जोड़ रही है. उसकी चूत से पानी रिसना शुरू हो गया था और मुझे उसका गीलापन हथेली पर लगने लगा था.

उसके दो दिन बाद फिर उसी का फोन आया और वो बोली कि उसके घर में आज कोई नहीं है.

मैंने मां को वहीं पर फर्श पर गिरा लिया और उसकी चूचियों के ऊपर टूट पड़ा.

मैंने बातचीत शुरू करने के मकसद से पूछा- आप एचडीएफसी बैंक में हैं?जी, मैं आठ साल से इस बैंक में हूँ और बंगलौर की हेड हूँ. शायना और बहार अपने रूम में सो गयीं जबकि मैं, रवीना और नगमा एक रूम में थे. लंड हाथ में पकड़ते ही विभा ने झटके से हाथ वापस खींच लिया और अपनी आंखें खोलकर लंड देखने लगीं.

फिर मैंने उन्हें बिस्तर पर लिटाया और उनकी टांगों को हाथ से पकड़ कर फैलाने लगा. लंबी चुदाई के बाद दोनों नंगे ही आपस में चिपके हुए एक दूसरे को देखकर मुस्कुराने लगे. तुली के इतने कड़क शब्द सुनकर मेरे तो होश ही उड़ गए कि यह लड़की आखिर क्या चाहती है मुझसे.

उन्हीं सब बातों को लेकर पांच मिनट पारिज़ा को मैं बातों में फुसलाता रहा, तब जाकर वो इसके बात के लिए राजी हुई.

उसका गोरा रंग, खूबसूरत आंखें, बड़े बड़े स्तन और गदराया जिस्म, जिसे देख कर हर लड़का रात को उसके नाम की मुठ मार बैठेगा … यही मेरे साथ भी हुआ. जब मैं सुरेखा के घर पहुंचा, तब सुरेखा की तेवर कुछ अच्छे नहीं लग रहे थे. मैंने उनके मोटे मोटे ओर मांसल बोबों को हाथों में भर लिया और बेरहमी से दबाने लगा.

ये कहानी मैं फिलहाल यहीं रोक रहा हूँ क्योंकि इससे आगे जब कुछ घटित होगा तो लिखूँगा. इससे पहले मैं कुछ करती उन्होंने अपना लंड निकाल कर मेरी चूत पर लगा दिया और गांड को पकड़ कर मेरी चूत में दे दिया. मैंने वहां पर अपनी चूत को मसल मसल कर अंकित के बारे में सोचा और फिर खुद को शांत किया.

उन्होंने आह आह करते हुए अपनी वासना बिखेरना शुरू कर दिया और इन आहों के साथ चाची सिर्फ हवा ही अपने मुँह से निकाल रही थीं.

तभी उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और मेरा लंड पकड़ कर अपनी चूत में डालने लगी. मगर मैंने उसको लंड के लिये तड़पा कर कैसे उसकी गांड मारी, ये भी स्टोरी भी मैं आपको बताऊंगा.

मराठी बीएफ साड़ी वाली मैं तुम्हारे ख्यालों में खोया रहता हूँ, तुम्हारा साथ जब भी मिलता है ना … मानो बहुत किस्मतवाला महसूस करता हूँ मैं. इसी बीच मुझे पता लगा कि राहुल आर्मी में भर्ती की तैयारी में लगा है.

मराठी बीएफ साड़ी वाली जिससे उसके दोनों हाथों की कलाइयों में एक एक कड़ा एक लयबद्ध तरीके से घूम रहा था. राहुल ने मेरे दोनों चूतड़ों को मुट्ठी में भर लिया और अपने लंड को चूत पर रगड़ने लगा.

जब सुषमा मैडम पानी लेने के लिए नीचे झुकीं, तो उनकी गांड मुझे पूरी नंगी दिखाई दी.

हिंदी सेक्सी वीडियो नंगी नंगी

उसने मेरे होंठों को बुरी तरह से काट लिया और मुझे पीछे धक्का देने लगी. भाभी की मतवाली नशीली आंखों की चितवन देखकर मुझमें भी एक अलग सा नशा छा गया. सुरेश के देखते देखते ही गधे ने अपना काम निपटा दिया और जब वो नीचे उतरा, तो उसके बड़े लंड से वीर्य टपक रहा था.

मनीषा को बेड पर लिटाकर मैंने अपनी टीशर्ट उतार दी और मनीषा पर लेटकर उसके होंठ चूसने लगा, मनीषा भी मेरे होंठ चूसकर जवाब दे रही थी. उसकी टाँगों के बीच अपना चेहरा ले जाकर मैंने उसकी चूत चाटना शुरू कर दिया. मैं- अरे ऐसा क्या हो गया था?सविता- कल मेरे पति अंकित कहीं से बहुत मोटा सा कंडोम लाए थे, मतलब उस कंडोम की लेयर पर बहुत मोटे मोटे उभार थे.

मनीषा की चूत पर हाथ फेरा तो वहां का हाल भी वैसा ही था, उसने भी आज ही अपनी झाँटें साफ की थीं.

थोड़ी देर बाद भाभी एकदम से अकड़ गईं और उन्होंने अपने दोनों पैरों को मेरी कमर में बांध दिया. मैंने एक सवाल पूछा- और कितने लोग मेरे वीडियो के बारे में जानते हैं?उसने कहा- कोई नहीं जानता, जिसकी बात तुमने अभी सुनी थी वो मेरा पर्सनल सेक्रेटरी है, उसके साथ मैं दारू पीता हूं, इसलिए गलती से उसके सामने मुंह से निकल गया था. चुत से रस निकल गया तो वो हल्का सुस्त हो गई थीं लेकिन मैंने चुदाई नहीं रोकी.

फिर मैंने उन्हें बिस्तर पर लिटाया और उनकी टांगों को हाथ से पकड़ कर फैलाने लगा. शायद भाभी पहली बार किसी और का लंड महसूस कर रही थीं और पूरे मज़े ले रही थीं. मैंने उसकी इच्छा समझते हुए कहा- अच्छा ऐसा है … तो कल ही मंदिर में शादी कर लेते हैं.

जितना अन्दर तक मैं जीभ घुसा सकता था, उतना अन्दर डाल कर जीभ से ही उसे पेलने लगा. इस बार जल्दी ही उसकी योनि ने पानी छोड़ दिया जो मुझे लिंग पर महसूस हो रहा था.

वो- हां मैं तेरी रंडी हूँ कुतिया हूँ … जब चाहे तब लंड डाल कर चोद लेना मुझे … आह … चोद!कुछ ही पलों में चुदाई का मजा आना शुरू हो गया. आप जब पूरी कहानी पढ़ेंगे, आपका लंड खड़ा हो जाएगा … और चुत वालियों अपनी चुत में उंगली करने लगेंगी. हम लोगों के बीच एक दूसरे के साथ बहुत अच्छा व्यवहार था … और एक दूसरे के घर पर बराबर आना जाना था.

घर लेने के 5 दिन बाद जब सभी कानूनी कागजी कार्यवाही खत्म हुई, तो उस दिन हम दोनों ने सुकून की सांस ली.

चार बजे तक हम दोनों ने तीन बार चुदाई का सुख ले लिया था और थक कर लेट गए थे. वो दोनों चुदाई में व्यस्त थे और मैंने धीरे से अपना हाथ अपनी अंडरवियर में डाल कर लंड को मसलना शुरू कर दिया. उनके साथ हर समय कोई न कोई लेडी होती थी और वो भाभी की बड़ी बहन थी तो उनके लिए काम भी आँटी जी ने जिम्मेदारी वाला दिया था.

मुझे तरन्नुम आ गई और मैंने थोड़ा हिम्मत करके उनके मम्मे को दबाना चालू कर दिया. जब मेरे लंड का माल गिरने को हो गया … तो मैंने भाभी से पूछा- कहां निकाल दूँ?भाभी बोलीं- आह अन्दर ही छोड़ दो … मेरा ऑपरेशन हो गया है … तो कोई दिक्कत नहीं है.

रोहन का लंड मेरे मुँह के सामने था, नहीं चाहते हुए भी मैं उसके लंड को चाटने लगी. उसके बाद दीदी ने कपड़े पहने और वो ‘थैंक्यू फॉर गिविंग मी योर प्रेसियस टाइम’ बोलकर चली गईं. ये सोचते ही मैंने आगे बढ़ कर उनके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और उनके रसीले गुलाबी होंठ चूसने लगा.

भोजपुरी गाने में सेक्सी

हमारी दोस्ती कैसे हुई और फिर मैंने उसे कैसे चोदा अपने बिस्तर पर?अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा नमस्कार.

इस खेल में मेरी साड़ी और पेटीकोट भी उठ गयी थी … या कहिए कि रोहन ने खुद ही मेरी साड़ी को उठा दिया था. मेरे हस्बेंड ने मुझसे कहा- शोभा चलो, रोहित ने एक फाइव स्टार होटल में रूम बुक किया है और वह हमें बुला रहा है. तब मैं बोला- सरिता डार्लिंग, मैं यहां तुम्हें सिर्फ पेलने के लिए ही आया हूँ.

अंदर जाते ही उसने मेरे गाल को अपने सख्त से हाथ से सहलाया और फिर मेरे गाल पर किस करते हुए मुझे अपनी बांहों में भर लिया. दो मिनट तक संजू की चूत चूसने के बाद वो एकदम से हॉट हो गई और अपने जिस्म को ऐंठते हुए झड़ गई. छोटी छोटी लड़कियों के सेक्सी वीडियोमैं हंस दी और दुकानदार से कहा- जितने अच्छे वाले सैट हों, आप वो सब दिखाओ.

फिर मैंने उसकी कमर के नीचे एक तकिया लगाया और अपने लंड पर थोड़ा सा थूक लगाया. उठने के बाद मैं सीधे नहाने चला गया और उसके बाद फ्रिज में से फल निकाल कर खा रहा था.

उसके बाल गीले थे, लाल होंठ गुलाब की भीगी पंखुड़ियों जैसे लग रहे थे. अब आगे की हॉट वाइफ स्टोरी:मेरी बात सुनकर दोनों ने अपनी आंखें बंद कर ली. मैंने उसकी बात सुनकर 2-3 जोरदार धक्के दिए और उसकी गांड की जड़ तक लंड दबा कर अपना लावा उसकी गांड में उड़ेलने लगा.

फ़ोन पर में राहुल का लंड चूस रही थी और यहां मुझे राज के लंड को प्यार करना पड़ रहा था. उस समय अपनी कंटीली आखों को हल्का सा उठाना और उसका आंखों का मेरी आंखों में देख कर एक इशारा करना कि आप सुरक्षित हैं. मैं उसको एक आंख मारी और उसका लंड अपने मुँह से बाहर निकालने को हुई, तभी उसने आंख मारी और एक जबरदस्त झटका दे कर लंड को गले में पहले से भी ज्यादा गहराई तक उतार दिया.

मेरी चुदाई की कहानी में पढ़ें कि मेरी ख़ास सहेली का भाई मुझे पसंद करता था.

कैसी लगी आपको मेरी चुत कहानी हिंदी में?इसके बाद क्या हुआ, फिर लिखूंगा. मेरे मुहांसे देख कर मेरी क्लासमेट्स मुझे छेड़तीं कि ‘रूपांगी तेरी चूत अब लंड मांग रही है.

तो दोस्तो, मेरी क्लाइंट सेक्स रिलेशन स्टोरी कैसी मुझे बताना जरूर। आप लोगों से एक प्रार्थना है कि मैं अभी खुद सिंगल हूं तो प्लीज मुझसे किसी भी लड़की का नम्बर ना मांगें। मैं नम्बर किसी के साथ शेयर नहीं करूंगा।मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected]. आपको इतना कष्ट कैसे दें?”इसमें कष्ट कैसा, सुनील जी? इन्सान ही इन्सान के काम आता है. मैंने उसे रात को आने को कहा तो …हैलो फ्रेंड्स, मैं निकिता फिर से आपके सामने अपने से सेक्सी होली चुदाई कहानी लेकर आ गई हूँ.

मेरी बात माने, तो यहीं रुक जाएं और जब मामला ठंडा हो जाए … तब चले जाना. बड़ी मस्त दिख रही थी सोती हुई वो। उसको ऐसे नंगी सोते हुए देख कर मेरा लंड फिर खड़ा हो गया. जब वो फिर से गहरी नींद में हो गया तो मैंने एक बार फिर से उसके लंड को मुंह में ले लिया.

मराठी बीएफ साड़ी वाली सुरेखा का भाई- हे राहुल!मैं बोला- अरे हाय रोहन, आज हमारे कॉलेज में कैसे?सुरेखा का भाई- अरे मैं अपनी बहन सुरेखा को कॉलेज छोड़ने आया था. मैं दरवाजे से निकलने लगा तो वो ताना मारते हुए बोली- वाह बाबू … रात में भी ऐश और सुबह में फिर कैश? आप तो बहुत दमदार लग रहे हो.

उल्लू वेब वीडियो

फिर मैंने उसकी टाँगों को कंधों पर ले लिया और जोर से उसे चोदना शुरू कर दिया. अंकल ने छह मिनट तक बिना रुके पारिज़ा की चुदाई की और झड़ने के बाद कंडोम को डस्टबिन में फेंक कर अपने कपड़े लेकर चले गए. नमस्कार दोस्तो, कैसे हो आप सभी! आप सभी के ईमेल पढ़ कर बहुत खुशी हुई कि आप सभी को भाई बहिन सेक्स की कहानीछोटी बहन की गांड चुदाईपसंद आई.

वो चोदने वालों में से नहीं … बस ऐसे ही कभी कभी मन हो जाता है, तो उनके अन्दर का मर्द जाग जाता है. गाँव की सेक्सी लड़की की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपने पड़ोस की एक जवान सुंदर लड़की को पटा कर चोदा था. सेक्सी हॉट वीडियो हदबाद में उसके फ्रेंड ने कॉल भी किया, तो मैंने बात तो की, लेकिन अब मुझे लग रहा है कि उसे भी दे देनी थी.

उसका गोरा रंग जैसे वो हुस्न की परी थी … मैं उस दिन खुद को रोक ही नहीं पाया.

वो मां की चूत को चोदने के लिए अब एक पल का भी विलम्ब बर्दाश्त नहीं कर सकता था. मेरे आते ही उसने मुझे सोफे पर बिठाया और वो मेरे लिए चाय बनाकर ले आयी.

मैंने थोड़े गुस्से में कहा- क्या दीदी, एक घंटा लगा दिया तुमने अंदर! मुझे भी तो नहाना था. वे मम्मी की चुत में लंड पेल कर पुल्ल पुल्ल करके झड़ जाते थे और मेरी मम्मी को कोई मजा नहीं आता था. फिर हमारे होंठों को मिलते देर न लगी और हम दोनों एक दूसरे के साथ लिपटम लिपटा हो गये.

जब मैं वापस आया तब तक डीपी सर का तबादला भी हो गया। नये सर आ गये थे.

घर के आगे की पौंर (बरामदे) में ससुर जी अपनी उम्र के साथियों के साथ होली का गाना गा रहे थे. एक बार में मेरे घर के बाहर से निकला, तो देखा कि हिना दीदी अपने घर के बाहर अकेले चबूतरे पर बैठी थीं. तय समय के अनुसार हम लोग स्टेशन पर ही मिले और वहां से सीधे चारबाग आकर उसको मैं अपने साथ लेकर अपने दोस्त के रूम पर गया.

मोटू पतलू की कहानी मोटू पतलू की कहानीघर जाकर भैया से मैंने पूछा- जी भैया, बताइये क्या काम है?भैया बोले- विशु, जब तक शादी नहीं हो जाती, तू यहीं रहेगा. पापा बोले- यार बताओ ना … प्लीज।मम्मी ने कहा- दोनों ही जगह मजा आता है लेकिन चूत में ज्यादा मजा आता है मुझे.

फोटो दुल्हन मेहंदी पैर की

मनोज जब उसकी चूत को चाट चाट कर हांफने लगा तो उसने पूजा को लंड चूसने का आग्रह किया. मैंने उसकी पैंटी में हाथ डाल कर गीली चूत पर हाथ फेरते हुए कहा – हां भाभी, मैं कितने ही दिन से आपकी चूत चुदाई के ख्वाब देख रहा था. भाभी मस्ती ने बड़बड़ करने लगीं- आह अब ठीक लग रहा है … और तेज करो!भाभी का जोश बढ़ता गया और मैंने स्पीड बढ़ा दी.

शायद वो अभी झड़ी नहीं थी इसलिए उसकी चूत की आग उसको चैन से नहीं बैठने दे रही थी. उसके हाथ में कुछ सामान था तो उसने वो रोज़ी की तरफ बढ़ाते हुए कहा- इसे जल्दी लेकर जाओ. फिर मैंने उसको एक करवट लेटाया और पीछे से उसकी चूत में लंड को पेल दिया.

राहुल- वहां तुम्हारे साथ में इतने दोस्त तो हैं … और डार्लिंग मेरी मजबूरी थी … वरना मैं जरूर वहां तुम्हारे साथ होता. तब मैंने पूछा- मजा आया?वो बोली- हां बहुत मजा आया भैया … आई लव यू … तुम मस्त हो. तो चाची फिर से बोलीं- जल्दी मत पेल मेरी जान … गांड सवारी शुरू करने से पहले अपने इस कुतिया की गांड का स्वाद भी तो ले लो.

एक दो बार लंड का अगला भाग थोड़ा अंदर की तरफ धंसा तो ज़रूर मगर उसने गांड को उचका दिया जिससे लंड बाहर आ गया।मैं उसके ऊपर लेट गया तो वो कराहने लगी और ऊपर से हटने का आग्रह करने लगी. थोड़ी देर बाद उनका भी पानी निकल गया और मैंने भी अपना माल उनकी चूत में ही गिरा दिया.

कमरे में अब ठप ठप की आवाज आ रही थी बस … और साथ ही हर धक्के पर सीमा जी की सिस्कारने की आवाज.

शायना और बहार अपने रूम में सो गयीं जबकि मैं, रवीना और नगमा एक रूम में थे. सैराट पिक्चर मराठीमेरे बहुत मना करने के बाद भी नहीं माने और पीछे से पेल कर मेरी गांड में भी लंड चलाया. राम अवतार मूवीसाथ ही मैं अपना एक हाथ नीचे ले जाते हुए पेटीकोट के ऊपर से ही बहू की चूत को मसल दिया. बहन की लौड़ी … तेरी मां चोद कर रख देंगे हम वहां।मैं- आह्ह … ओह्ह … पहले अभी मेरी चूत को चोदो … बाद में … आह्ह … बाद में मेरी मां … ऊह्ह … मेरी मां चोद लेना.

तो उन्होंने टॉवेल लपेट कर मुझे अन्दर बुला लिया और खुद दूसरी तरफ पलट गईं.

मैंने- और डार्लिंग … रात कैसी कटी?तब चाची बोलीं- गांड में अभी दर्द का एहसास है. मेरा मन कर रहा था कि उसकी पैंटी को उतार कर उसकी बुर में जीभ दे दूं. गांड टाइट थी इसलिए करीबन पांच-सात मिनट की चुदाई में ही मैं उसकी गांड में झड़ने लगा और मैंने उसकी गांड को अपने गर्म-गर्म वीर्य से भर दिया.

भाभी ने पलटी मार दी और बोलीं- नहीं मैं गांड नहीं मरवाती हूँ, मुझे दर्द होता है. फिर एक आदमी मॉम के पास आया और उसको उठा कर दूसरे रूम में ले जाने लगा. जब उससे रहा न गया तो उसने मुझे बेड पर पटका और मेरी टांगों को अपने कंधों पर रख लिया.

सेक्स हीनदी कहानी बहन

उस दिन मैंने जब सुषमा मैडम की ब्रा को ध्यान से देखा, तो उनकी ब्रा उनके मम्मों से काफी छोटी लग रही थी. जिस कमरे में हमलोग सोते थे वो ऊपर छत पर था और वहां खिड़की से खूब मस्त हवा आती थी. वो अपनी चुत को मेरे लंड में फंसा कर बैठ गई और एक लम्बी सी आह करते हुए उसने मेरे लंड को अपनी चुत में पूरा खा लिया.

‘कॉलेज के पहले दिन अगर कोई आपका एक्सीडेंट करता है, तो उसको कैसे भूल सकते हैं.

अब गांव के महामादरचोद मुखिया जीवन परसाद की निगाह में कोई चुत बस जाए, तो उसके लंड का शिकार बने बिना उस चुत का कल्याण होना असम्भव था.

पारिज़ा- बिना बात घुमाए डायरेक्ट बताओ यार … मेरी चूत में आग लगी पड़ी है. उसने बहुत मिन्नतें की … लेकिन मैंने उसकी न सुनी और सोने के लिए बोल दिया. सेक्स व्हिडिओ प्लीजमैंने तेल की शीशी उठायी और अच्छे से उसकी गांड की लकीर से होते हुए अपने पूरे लंड पर गिरा लिया.

मेरा लंड एकदम टाइट हो गया था और चड्डी में से बाहर आने को मचल रहा था. जैसे जैसे मेरा लंड उसकी ठोड़ी से टकरा रहा था उसके मुंह से आह … आह … निकल रही थी. उसकी चूत का रस टपकते ही उसने बेड पर निढाल होकर अपना सिर नीचे रख लिया.

मैंने उसको घुमाकर उसका मुँह अपनी तरफ कर लिया और दिशा के नाजुक होंठों पर अपना होंठों को रख दिया. मेरी शादी तो बहुत पहले हो गई थी मगर उम्र कम थी, तो लुगाई नहीं लेकर आए थे.

हमारे बीच कुछ मिनट औपचारिक बातचीत हुई और सुषमा मैडम मुझे पढ़ाने लगीं.

जैसे मेरे पीरियड्स कब शुरू हुए थे, मेरी ब्रा का नाप क्या है, मेरा कोई बॉय फ्रेंड है या नहीं, मैं चूत में क्या क्या घुसातीं हूं. परेशानी का कारण पूछा तो वो बोले- मेरा एक दोस्त बता रहा था कि इस लाइन में हिरोईन बनने के लिए लड़कियों को प्रोड्यूसर डायरेक्टर के साथ सोना पड़ता है, इसको कास्टिंग काऊच कहते हैं. तुझे पेशाब करते हुए। उस समय मैं भी वहीं छत पर ही थी और प्रेरणा की हरकत देख कर फिर मैंने भी तेरा लंड देख लिया था.

हिंदी ओल्ड सेक्सी फिर चाची बिना कहे ही कुतिया बन गईं और बोली- आ जा मेरे जान … अपनी इस कुतिया की गांड की सवारी शुरू करो. जब मैं वापस आया तब तक डीपी सर का तबादला भी हो गया। नये सर आ गये थे.

अब आगे की सेक्सी चाची की चुत स्टोरी:उनकी बात सुनकर मैं दोनों हाथों से उनको बाजुओं में जकड़ने लगा और उनके मम्मों पर अपने दोनों हाथ रखकर उनको अपनी बांहों में भर लिया. मैंने काउंटर पर जाकर कहा- सुनो ना भैया … हमारी एक सहेली की शादी है. तुम इतनी रात को मेरे से बात करोगी तो?तुली- पापा वो भी मेरे साथ ही हैं.

सेक्सी वीडियो चुनाव

भाभी मेरे लंड की सवारी कर रही थीं और उनके बड़े बड़े मम्मे मेरे लंड में हलचल मचा रहे थे. उसकी जवानी की आग शायद उसको मर्द के स्पर्श के लिए बेचैन किये हुए थी. मैंने उसकी चूत के नीचे एक तकिया रखा और उसके दोनों पैरों को अपने कंधों पर रखवा कर लंड को उसकी चूत के मुंह पर लगा दिया.

फिर हम लोग ऑटो से उसके घर की तरफ निकले और दस मिनट में उसके घर पहुंच गए. आपको मेरी हॉट सेक्स मॉम स्टोरी कैसी लग रही है? प्लीज़ मेल करके जरूर बताना.

मैंने उससे कहा- मुझे ऑफिस का कुछ काम है इसलिए मैं कंप्यूटर रूम में जा रहा हूं.

उसकी बिल्कुल टाइट चूचियां एकदम उठी हुई थीं … और उनके ऊपर ब्राउन कलर के निप्पल एकदम कड़क हो गए थे. मैंने कहा- मैं तेरा बॉयफ्रेंड जो हूँ … कच्चा खा जाऊं तो क्या नहीं खाने दोगी?इतना कहकर मैंने डॉली को अपनी बांहों में कस कर जकड़ लिया और उसकी आंखों में झाँकने लगा. उनका थोड़ी देर पहले ही फ़ोन आया था कि वो 2 दिन की छुट्टी लेकर जा रही हैं.

उनके मांसल ओर मोटे बोबे अब भी उनकी सांसों के साथ ऊपर नीचे हो रहे थे. जल्दी ही मैं आपके लिए कहानी को आगे बढ़ाऊंगा जिसमें मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने उस कॉल गर्ल की गांड चुदाई भी की. फिर चाची बोलीं- केवल तुम्हारे चाचा जानते हैं कि मैं प्रेग्नेंट हूँ.

हालांकि इस उम्र में उनके बोबे ढीले तो हो चुके थे लेकिन इतने भी नहीं हुए थे कि मजा न दें.

मराठी बीएफ साड़ी वाली: एक रात की बात है उस दिन पहली बरसात हुई थी और मौसम बहुत ही अच्छा हो गया था. जब मैं उसकी गांड चाट रहा था, तो मेरी बहन बड़े ही मादक आवाजों से ‘सीई … सीई … उह.

कुछ समय बाद मैं बाहर आया, तो देखा कि चाची किसी औरत से बात कर रही थीं. रात को मैंने भाभी को एक मैसेज भेजा- सॉरी भाभी, मुझे माफ़ कर दो, मैं ऐसी गलती फिर नहीं करूंगा. अब हम दोनों बिस्तर पर अपनी अपनी जगह ले चुके थे और लेटे हुए बातें कर रहे थे.

गाँव की सेक्स कहानी में पढ़ें कि मुखिया ने नए आये थानेदार की सेवा के लिए एक गर्म लड़की को भेज दिया.

मैंने एक बहुत ही गहरी पप्पी उनके कूल्हों की ले ली … इससे सीमा जी की नींद खुल गई. वो बोली- नहीं, यहां पर इस सुनसान बिल्डिंग में चुदने का मजा ही अलग आ रहा है. फिर उसने मेरे होंठों से अपने होंठों को लगाया और मेरे मुँह में शराब उड़ेल दी.