बीपी वीडियो हिंदी बीएफ

छवि स्रोत,इंडियन सेक्स मूवी

तस्वीर का शीर्षक ,

పోర్న్ తెలుగు: बीपी वीडियो हिंदी बीएफ, जिया ने मेरा और आकाश सर का लंड बारी बारी से चूसा और फिर आकाश सर ने जिया की चूत मारी.

मद्रासी सेक्स वीडियो फिल्म

हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम जीशान है और मुझे सेक्स स्टोरी पढ़ना बहुत अच्छा लगता है. इंडियन हॉट सेक्सी व्हिडिओये अलग बात थी कि चोर नजरों से मैं बीच बीच में अमिता की तरफ देख रहा था.

ताई के मुंह से भी कामुक सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह पंकज, आह्ह चोद, मजा आ रहा है. हिंदी में सेक्स ओपन वीडियोनिगार आंटी ने जब ये देखा तो वो एकदम से शर्मा गईं और सॉरी कहने लगीं.

रेशमा- आपको मुझमें क्या सुंदर लग रहा है?मैं जोश जोश में बोल पड़ा- आपकी …रेशमा- आपकी क्या … बोलो?मैं- नहीं नहीं भाभी.बीपी वीडियो हिंदी बीएफ: वो मेरे बारे में ऐसे खयाल कैसे ला सकता है, मुझे पाने के बारे में कैसे सोच सकता है?वो बोले- ठीक है फिर, तुम ये मान लो कि तुम उसकी मां नहीं हो.

अब मैं बड़ी बेसब्री से निगार आंटी को पाने का इंतज़ार करने लगा था कि कब वो मुझसे मिलने बुलाएं और कब लंड का काम बने.उसने अपने अंडरवियर को भी उतार दिया और वो नंगा होकर फिर से मुझ पर टूट पड़ा.

स्पर्म डोनर जॉब इन दिल्ली - बीपी वीडियो हिंदी बीएफ

मैंने हैरानी से उसकी तरफ देखा और अपना डर खत्म करके चुपचाप खाना खाने लगा.मैं बुआ की कमर के नीचे और चुत के ऊपर होंठ रगड़ते हुए किस करने लगा था.

पिंकी काफी ढीले कपड़े पहनती थी जिससे वो एकदम बेडौल किस्म की महिला लगती थी. बीपी वीडियो हिंदी बीएफ पर इतने में मैंने अपने होंठ उसकी गुलाबी चूत की पंखुड़ियों पर रख दिए.

भाभी ने कहा- धन्यवाद, इतनी देर में मुझे अब मालूम चल सका कि मैं कैसी हूँ.

बीपी वीडियो हिंदी बीएफ?

प्रिया ने जिस तरह से मेरा लंड पकड़ा था … उससे थोड़ी ही देर में मेरी उत्तेजना जाग गयी थी. मगर उत्तेजना इतनी ज्यादा थी कि मन कर रहा था मौसी की चूत को अपने हाथ से पकड़ कर भींच लूं. वो रुक गई और कोमल दीदी अपनी नंगी गांड मटकाते हुए उसके साथ बाहर की तरफ जाने लगीं.

हम दोनों एक दूसरे को किस करने में इस तरह से मशगूल हो गये थे कि हम दोनों में से किसी को पता नहीं चला कि कब आकाश सर दोबारा से रूम में वापस आ गये. तुम बहुत सेक्सी भी हो और हॉट भी और सुंदर तो हो ही … मिनट भर भी नहीं लगेगा. कभी कभी मैं अंतर्वासना पर कहानियाँ पढ़ लेता था तो सोचा करता था कि ये सब कहानियां काल्पनिक होती हैं.

मैंने बोला- पिंकी आज तो मेरी वाट लग गई … शाम को मेरी गर्लफ्रेंड को आना है और मैं उसके साथ कुछ नहीं कर पाऊंगा. उनकी चूचियाँ जी भरकर चूसने के बाद मैंने दीदी के कंधों, गर्दन, उनकी कमर और पेट को चूमना शुरू कर दिया. कुछ देर बाद बस चल पड़ी और हम बस में छत से लटकने वाली रॉड पकड़ कर खड़े हो गए.

आंटी ने कमोड पर बैठ कर अपनी चुत पसार दी तो मैं उनकी चूत में उंगली डाल कर उन्हें चोदने लगा. मामी की कामुकता और तड़पइसके आगे लिखने में कुछ समय लग गया इसके लिए माफी चाहता हूं.

कोई बात नहीं, तुमने मेरी बात सुन ली, मेरे लिए इतना भी बहुत है कि मैंने अपनी मुहब्बत का इजहार कर दिया है, कबूल करो या ठुकरा दो.

उसके मुंह से सिसकारी निकलने लगी- आह्ह राज मेरे पति … मेरे भैया, आपका लंड पाकर तो मैं सुहागन हो गयी हूं.

भले ही मैं अपनी ओर से आश्वस्त था कि निशा के मन में भी मेरे लिये आकर्षण है लेकिन उसके लिए यह सब हरकतें इतनी आसानी से स्वीकार करना सरल नहीं था क्योंकि वो थी तो एक स्त्री ही. उसने मेरी गांड में उंगली से थूक लगा दिया और फिर अपने लंड को गांड में घुसाने लगा. मैंने उनको आराम करने के लिये कहा और खुद किचन में जाकर अपने लिये खाना निकाला.

इतना बोल कर उसने एक धक्का लगाया और मेरी आह्ह करके चीख निकल निकल गयी. उसके दोनों लड़के खेत में गए हुए थे।मोसी को भी नहीं पता था कि मैं आ रहा हूं. मैंने तुरंत ही निर्णय लिया और हाथ में लकड़ी का बिंटा लेकर एकदम से कमरे की लाइट जला दी.

मैंने आंटी से कहा- आंटी, आपकी तबियत ठीक नहीं है, आप लेट जाओ, मैं सब देख लूंगा.

तभी एकदम से लवली को देख कर मां आनन-फानन में खुद को ढकने लगी और पापा से बोली- आपके लिए खाना लाऊं क्या?मगर पापा ने चुदाई नहीं रोकी और लवली मां को देख कर मुस्करा कर बाहर आ गयी. किसी नये लड़के में वो खूबी नहीं हो सकती है जो कि मौसा की तरह मुझे संतुष्ट कर सके. उन्हें धोना है बाकि सब को वापस तह कर करके अलमारी में रखना है!वो अलमारी के वस्त्रों को तह करने लगा और मैं चिह्नित करने लगा.

मेरी सारी स्टोरी सुन कर मौसा हंसने लगे और मेरी चतुराई पर बोले- वाह छोकरी, तू तो पूरी चालू खोपड़ी है. ” मैं दर्द के मारे कराह कर चिल्लाई।नीरव कुछ देर रुका रहा फिर उसने एक जोरदार धक्का और लगाया। इस बार उसका मोटा सुपारा मेरे छेद के अंदर प्रवेश पाने में सफल हो गया. हम दोनों को यूं ही बातें करते हुए कब 2 घंटे बीत गए, हमें पता ही नहीं चला.

मैं उठने लगी तो उसने मेरी गर्दन पकड़ कर मेरा मुंह को बेड में दबा लिया और मेरी चूत को पेलने लगा.

मुझे अपने पुराने दिन याद आ गये जब मैं जवान लड़कों से चूत और गांड को एक साथ चुदवाया करती थी. जब वो सो गयी तो मैंने अपना कम्बल जानबूझ कर नीचे गिरा दिया और मैं उसी के कम्बल में घुस गया.

बीपी वीडियो हिंदी बीएफ उसने धीरे धीरे मेरे लंड को पकड़ कर लोअर के ऊपर से सहलाना शुरू किया. दिन भर मैं सहेली के रूम में बैठी रहती थी क्योंकि वो पड़ोस वाली औरत दिन में अपने घर चली जाती थी.

बीपी वीडियो हिंदी बीएफ फिर अगले दिन हम अपने घर के लिए निकलने लगे और मौसी अपने घर के लिए जाने लगी. हम दोनों ने काफी देर तक मजे किये लेकिन चुदाई नहीं हो पाई क्योंकि मम्मी के आने का डर था.

दीदी हंसते हुए बोलीं- हां … आज तुम्हारा जोश देख कर मैं समझ गई थी कि तुम्हें चुत से मूत टपकते देख कर कितना मज़ा आया था.

सेक्सी सेक्सी अच्छी वाली

मैं किसी को बचाने वाला कौन होता हूँ, मैं तो बस इतना समझता हूँ कि वो आदमी, आदमी नहीं … बल्कि एक औरत है, जो अपने सामने एक असहाय औरत की रक्षा ना कर पाए. तभी उस आदमी ने अपने लंड के टोपे पर थूक लगाया और मां की गांड पर लंड सेट करके एक जोर का धक्का दे दिया. उन बाउंसर को देख कर मैं सोचा करता था कि क्या मैं भी कभी उनके जैसा तगड़ा और स्मार्ट बन सकता हूं क्या? मेरे भी ऐसे डोले होंगे, ऐसी चौड़ी छाती होगी.

तुमने मुझे एक लड़के के साथ बात करते हुए देख क्या लिया कि तुमने समझ लिया कि मैं उस लड़के से चुदवा रही हूं! मगर मेरे भाई ने उस वक्त मेरा साथ दिया. वो जब मेरी चूत में लंड को ठोकता तो मैं अपनी गांड को उठा कर उसके लंड के लिए अपनी चूत में और अंदर तक रास्ता बना देती. मगर सुमित बार बार मेरी जांघों को खोल कर मेरी चूत के आसपास किस कर रहा था.

होटल पहुंच कर मैंने अपनी चूत को शीशे में देखा तो चूत सूज गयी थी और बूब्स एकदम से लाल हुए पड़े थे.

एक टैक्सी आई हुई थी, वे दोनों उसमें बैठ गए और मैंने उन्हें जाते हुए देखा. मैं समझ गया कि पिंकी ने मेरी चुदाई की आवाजें भी सुनी होंगी … या कहीं किसी झिरी या छेद से चुदाई देखी भी होगी. नजमा आंटी के घर आने के बाद मैंने अपने घर पर अम्मी को फोन कर दिया था कि मुझे घर आने में देर हो जाएगी.

मेरी इस हिंदी चुदाई कहानी ‘दोस्त की माँ को चोदा’ के लिए अपने विचार मुझे मेरी मेल आईडी पर जरूर भेजें … मुझे इन्तजार रहेगा. तब मैंने मोसी को बोला- अपने बूब्स को लन्ड से सटा दे।उसने वहीं किया. मैं बोला- तो ठीक है, तो फिर आज भाभी की गांड चुदाई का सपना भी पूरा कर देता हूं.

जैसे ही कमरे के अंदर आया और दीदी ने दरवाजा बंद किया तो मैंने पीछे से उनको पकड़ लिया. पर आजकल तो शक्ल-सूरत से लोग बात करना पसन्द करते हैं, उसके बाद बात चुदाई तक पहुँचती है।अपने शहर से ही मैंने बारहवीं पास की और कंप्यूटर का कोर्स किया.

भाई बहन की चुदाई की इस कहानी में पढ़ें कि कैसे मैं और दीदी स्विमिंग पूल में रोमांस और मस्ती कर रहे थे कि जीजा जी ऊपर से आ गये. फिर उन्होंने मेरी बीवी के जिस्म से हर एक कपड़ा अलग करके उसको नंगी कर दिया और खुद भी नंगे हो गये. मां चिल्लाने लगी क्योंकि उसकी गांड में पहले से ही चोद चोद उस दूसरे आदमी ने दर्द कर दिया था.

आपको भाभी के साथ हुई ये चुदाई की कहानी पसंद आई या नहीं? मुझे अपना प्यार देना न भूलें.

फिर मैंने भाभी की चूत में जीभ दे दी और मस्ती में उनकी चूत को चाटने और चूसने लगा. मगर उसने मेरी बात नहीं सुनी और मेरे होंठों पर अपने होंठों को चिपका दिया. तभी उसने मेरी लैगी निकाल दी और फिर मेरी गीली पैंटी के ऊपर से चुत को चाटने लगा.

5 मिनट बाद ही उसका दर्द मजे में बदल गया तो मैंने भी अपनी स्पीड बढ़ा दी. उसके मुंह से जोर जोर से आवाजें आने लगीं- आह्ह … स्सस … उफ्फ … याहह … ओह्हह … कमॉन … हम्म … हए … आह्ह.

इसके लिए हम तीनों ने मिल कर एक प्लान बनाया जिसके मुताबिक मैं और मेरी बीवी मेरी मां के सामने चुदाई करने वाले थे. जब पूरे होश में आयी तो उसके हाथ मेरी दोनों चूचियों को जोर जोर से भींच रहे थे. मैं उनकी तरफ देखता, तो वो नजरें चुरा लेतीं … और जब वो देखतीं, तो मैं नजरें घुमा लेता था.

शौचालय सेक्सी

मैं अकेला खाना खाने लगा, इस समय मुझे दीदी की याद रही थी क्योंकि मेरी अन्दर चुदाई की प्यास बढ़ रही थी.

उनका सोच शायद ये था कि लंड चूसने से ही मेरा वीर्य निकल जाए और वो चुदने से बच जाएं. वो उसके साथ सेक्स नहीं कर पाता है, लेकिन उसने कभी किसी से सैटिंग नहीं की … उसका कारण उसका भय था कि वो बदनाम हो जाएगी. मैं उनके चूतड़ों पर और जोर से चपत मारते हुए उनको चोदने लगा- साली रांड बोल … तुम मेरी रांड हो.

अचानक से वो मेरे सिर पर दबाव डालने लगा, जिसकी वजह से उसका लंड मेरे गले तक उतरने लगा. उन दोनों की बातें सुनकर मैं कोई हैरान नहीं था, लेकिन फिर भी मैंने कहा- यार शर्म करो … वो प्रिया जी मेरी सीनियर हैं. अन्तर्वासना2मैंने उसको हाथ मारा, तो उसने मेरा सर छोड़ दिया और मैंने तुरंत ही उसका लंड मुँह से निकाल दिया.

और तीसरी आवाज माँ के पैरों में पड़ी पायलों के बजने से आ रही थी।हम दोनों अपनी अपनी पूरी ताकत लगा रहे थे. मैंने उसको पांच मिनट तक ऐसे ही चोदा और फिर उसको कुतिया की पोज में कर दिया.

मेरे लौड़े के सलवट खुलने शुरू हो गए, पर सब कुछ अचानक से नहीं हो सकता था. मनोज ने गाड़ी में से कपड़ा और मैट निकाले और वह अम्मी को झाड़ियों में लेकर चला गया. मैं अब उनके काफी करीब था और अंदर से आने वाली मुझे उनकी बातें भी सुनाई दे रही थी.

मैंने जोर देकर पूछा तो बोले कि वो तुम्हें मांग रहा था, वो भी तीन महीने के लिये. मैं- ये क्या हो रहा है डियर … क्यों रोक रही हो?अंजना- आज तुम्हें ऐसे नज़ारे दिखाऊंगी कि तुमने कभी सोचा भी नहीं होगा. तो हुआ यूं कि मेरे घर के सामने एक आंटी रहती हैं, वो दिखने में बहुत अच्छी लगती हैं.

कुछ देर बाद मैं स्टेज पर अपने दोस्त के साथ बैठा हुआ बातें कर रहा था.

मेरा पूरा लंड अपनी चूत में निगलने के लिए उनकी गांड पूरी ऊपर तक उठ रही थी. दीदी के नर्म हाथों का स्पर्श पाकर मेरा लन्ड जल्द ही फिर से खड़ा हो गया।दीदी अपने दोनों पैरों को मेरी कमर के दोनों तरफ करके घुटनों के बल हो गयी.

कहानी पर कमेंट्स में भी बतायें कि आपको कहानी में कैसा मजा आ रहा है. वो बोलती चली गईं- तूने कभी किसी लड़की को किस किया है या नहीं?दोस्तों आज आंटी के मुँह से ये बात सुनकर मैं हैरान हो गया था और मुझे कुछ गड़बड़ दिखने लगी थी. 5 मिनट तक ऐसे ही चलता रहा और फिर मैं उसको बांहों में उठाकर पास रखी चारपाई पर ले गया और लेटा दिया.

यह रिश्तों में चुदाई की इस स्टोरी में पढ़ें कि होली के दिन मैंने मामी को चोदा तो नहीं पर मजा बहुत लिया. तीनों के लंड सोये हुए थे इसलिए तीनों ने एक साथ मेरे मुंह में लंड डाल दिये. वो पीछे हटी और उसने कहा- खाने में कुछ था क्या?मैंने कहा- आज मेरी तुम्हारी इस घर में फर्स्ट नाईट हो … बस मैं यही चाहता हूँ.

बीपी वीडियो हिंदी बीएफ मैं उठ कर अमिता के पास पहुंचा, जब तक चार लोग सीट कूद कर सामने की सीट पर आ गए. मैंने मामी की चुत पर जैसे ही अपनी जीभ फिराई, तो मुझे ऐसा लगा जैसे मैंने किसी गर्म तवे पर अपनी जीभ फेर दी हो.

पंजाबी सेक्सी खतरनाक

मैंने फिर से चोर नज़रों से आंटी को देखा कि वो मुझे देख रही हैं या नहीं. उसने कहा- क्या बात है … सब जानकारी है मेरी!फिर उसने कहा- ब्रा साइज भी बता दो।मैं चुप था. मैं बोला- साली रंडी, बाप का लंड मिला तो उसके बेटे को ही भूल गयी?मैंने लवली को नीचे पटक लिया और अपने कपड़े उतार फेंके.

कॉलेज की सेक्सी चुदासी लड़की को लंड के लिए ऐसे तड़पते देख कर मुझे इतना मजा मिल रहा था कि मैं क्या बताऊं. इस तरह से एक सप्ताह की मौज काटनी थी।हम दोनों सुबह स्कूटी पर घूमने निकल जाते. अंग्रेज वाली सेक्सी वीडियोमैंने उस पर कोई भी रहम नहीं किया और धीरे धीरे हल्के अंदाज में धक्के लगाता रहा.

मैंने मामी से पूछा- आपने भी नहीं खाया?मामी बोलीं- मैं तुम्हारा इंतजार कर रही थी कि तुम आ जाओ, तो साथ में खाते हैं.

उन्होंने मौसा का लंड अपने मुँह में लिया और लॉलीपॉप की तरह चूसने लगीं. इस उम्र में ऐसा संयोग बहुत कम ही होता है कि ऐसी जवान लड़की की चूचियां इस तरह से देखने के लिए मिल जायें.

लवली के प्लान के मुताबिक फिर मैंने पापा को मेरी बीवी की चुदाई करते हुए रंगे हाथ पकड़ लिया और अब हम तीनों खुल कर आमने सामने आ गये थे. यद्यपि किसी भी अध्यापक को मेरी शिक्षा या मेरे ज्ञान को लेकर कोई संदेह नहीं है किन्तु बलविंदर जी का मानना है कि अगर मैं गणित के लिए विशेष प्रयत्न करूँ तो आगे जाकर मेरे लिए वो लाभप्रद होगा. मैंने उसकी बात समझते हुए कहा- रुको, मैं तुम्हें वाशरूम ले चलता हूं.

एक पुलिस वाली, रंडी के जैसे चुद गई और अब अलीज़ा का प्रमोशन भी हो गया.

अब हम दोनों की रफ्तार तेज हो रही थी और फिर हम दोनों एक साथ ही अंत तक आ गए. मैंने दो टिकट लिए और प्लेटफार्म पर खड़े होकर ट्रेन आने का इन्तजार करने लगे. मैं तुम्हारे कमरे में जा रही हूं तुम जल्दी से मेरे कमरे से प्रोटेक्शन लाकर आ जाओ.

रानी हार दिखाइएमैंने उससे कहा कि शौर्या तुम एक बार तो मुँह में ले कर देखो … तुम्हें मजा आएगा. मगर हो सकता है, हमारी इस बातचीत से तुम्हारी समस्या का कोई हल निकल आए।मैंने कहा- ठीक है।वो आगे आए, मेरे हाथ को अपने हाथ में पकड़ा मुझे थोड़ा अचरज हुआ।मगर मेरे हाथ को अपने दोनों हाथों में पकड़ कर वो बोले- अब मैं अपने दोस्त की बीवी से नहीं बल्कि अपनी दोस्त से बात कर रहा हूँ.

क्सक्सक्स सेक्सी मूवी कॉम

मुझे पूरा यकीन था कि सबके सोने के बाद कुछ न कुछ कांड जरूर होने वाला है. मनोज ने अम्मी की कंधे पर हाथ रखा और कहा- भाभीजान, मायूस मत हो मैं हूं ना. मैंने आंटी से पूछा- आंटी आपके घर में और कौन कौन है?आंटी बोलीं- मैं अपने घर में अकेली ही रहती हूँ.

वो मेरी गांड मारते हुए बोले- मादरचोद, मेरी बेटी को भी ऐसे ही चोदना चाहता था ना … तुझे चोदने का इतना शौक़ है, तो चुदवाने का भी मज़ा ले बहनचोद. काफी देर तक चुदवाने के बाद वो बोले- साले, अब तो छोड़ दे, कितनी मारेगा?मैंने कहा- पहले मुंह में लो. अब मुझसे भी बर्दाश्त न हुआ और मैं भी उठ कर उसके लंड को अपने हाथ में लेकर मसलने लगी और उसके होंठों को चूसने लगी.

कभी बीच बीच में वो मेरी चूचियों पर टूट पड़ता और उनके निप्पलों को चबा चबा कर खाने लगता. जिया मेम की सेक्सी कुंवारी गांड का उद्घाटन होने वाला था आज ही रात में. इसी तरह कुछ सेकण्ड ही बीते होंगें कि तभी मेरे लौड़े ने मस्ता कर पूरी ताकत से अपना मुँह खोल दिया.

जिसका वो मजा ले रही थी। मैं उसे किस करते हुए अपने हाथ को नीचे की तरफ ले गया. एक कदम आगे बढ़कर मैंने ललिता को पकड़ कर अपने पास खींचा तो मुझसे लिपट गई और पागलों की तरह चूमने लगी.

उसी अनुभव को मैं आप लोगों के साथ कहानी के रूप में बांटने जा रहा हूंदोस्तो, यह बात तब की है जब मैं 19 साल का था.

ये मेरे जीवन की एक सच्ची घटना है … चिंकी अभी भी मुझसे चुदती है … और अब तो उसके पति को भी सब मालूम है. हिंदी एचडी मूवी सेक्सीदेवर भाभी सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे बहन की शादी के समय भाभी और मैंने एक दूसरे को नंगा देख लिया. इंडियन हॉट सेक्सी व्हिडिओमैं सलोनी को इतना तेज जकड़े हुए था … जैसे मानो मैं सलोनी की चूत में समा जाना चाहता हूं. आंटी के होंठ चूसते हुए ही मैंने उनकी साड़ी के ऊपर से ही उनके मम्मों पर अपने हाथ जमा दिए और मसलने लगा.

पूरी दुनिया में ढूंढने पर भी मुझे कोई और ऐसा मर्द दूसरा नहीं मिलने वाला है.

नीचे से मैंने काले रंग की ब्रा पहनी हुई थी जिसमें मेरी गोरी चूचियां बहुत मस्त लग रही थी. तकरीबन पांच मिनट चुत चाटने के बाद वो कहने लगीं- अब और मत तड़पाओ … मैं पागल हो रही हूँ. वो मेरी गर्लफ्रेंड की सीनियर प्रिया थी, उसने मुझे अपने रूम पर अपनी तड़प मिटाने बुलाया था और भी मैंने भी उस दिन प्रीति से उपजी नफरत के चलते बखूबी से प्रिया को चोद कर अपना किरदार निभाया था.

मैंने वहीं पर बैठे हुए अपनी नाइटी के नीचे से हाथ देकर अपनी ब्रा और पैंटी को उतार दिया. उसका रिदम देख कर ही पता चल रहा था कि वो उसकी चूत में लंड को पेल रहा है. क्या माल थीं यार वो … उनकी उम्र करीब 42 के आस पास होगी, पर चेहरे पर चमक एकदम 30-32 की उम्र की भाभी जैसी थी.

सेक्सी वीडियो गाने बताओ

दीदी- बहनचोद, धीरे चोद … मां के लौड़े … तेरे जीजा जी पास ही कमरे में हैं. अब उसको भी सांस लेने में दिक्कत होने लगी। तो मैंने बाहर निकाल लिया. वो दरवाजा बंद करके मेरे सामने बैठ गयी और बोली- इन कामवाली बाइयों ने बहुत तंग कर रखा है.

मैं प्रीति से प्यार करता था और उसकी मर्दखोर सोच ने मुझे उससे अलग हो जाने के लिए मजबूर कर दिया था.

एक बार मैंने लंड को निकाला और फिर से पूरा लंड उनकी गांड में ठूंस दिया.

उसके अगले दिन पापा मेरे सामने ही मेरी बीवी को गोद में उठा कर अपने रूम में ले गये. हालांकि होटल में मुझे लड़कियों की कमी कभी नहीं होती, लेकिन अब मैं सोच समझ कर ही किसी लड़की को चोदता हूँ. जानवर का सेक्सी एचडीफिर किस्मत ने इशारा दिया और मुझे पता चला कि कोमल की मां एक चालू औरत है.

उसके बाद मैंने नीचे से पेटीकोट को निकालना शुरू किया और धीरे धीरे पूरा पेटीकोट उतार दिया. कुछ ही देर में मैं सामान्य हो गई और वो मेरी नंगी चुत की चुदाई करने लगा. मुझे इसमें भी आनंद आने लगा, अपितु इसे मैं दोहरा सुख कहूं तो ज्यादा उत्तम व्याख्या होगी.

मैंने कहा- क्या हुआ? अभी कुछ देर पहले तो हमने सेक्स का मजा लिया था. कुछ देर में नौकरानी काम करके बोली- मेम साहब मैं जा रही हूँ और कल नहीं आऊंगी.

वहीं पर बाथरूम में खड़े हुए मैंने एक बार फिर मुठ मारी और फिर से वीर्य निकाल दिया.

क्योंकि मैं भी दिल्ली में नहीं था और तुम बताओ कैसी हो?वह मुझसे अलग होकर बोली- बहुत जल्दी में हो क्या? बाहर से ही भागना है क्या? अन्दर आओ, इतने दिनों बाद मिले हो. मैं बोली- कितनी देर में निकलना है?वो बोला- एक घंटे में गाड़ी आ जायेगी. मार्केट आने के बाद उन्होंने शॉपिंग की और मैं भी उनके साथ ही बाजार घूमता रहा.

वीडियो हिंदी सेक्सी वीडियो भाभी ने रूम में आते ही दरवाजे को अन्दर से लॉक कर दिया और मुझे अपनी तरफ खींचते हुए अपने नरम गुलाबी रक्तिम होंठों को मेरे होंठों से चिपका कर होंठों का रसपान करने लगीं. उनके आने के बाद कैसे करना है फिर?पापा बोले- करना क्या है, लवली ने प्लान बनाया हुआ है.

मेरी एक कोशिश है कि इन चूत चुदाई स्टोरी के जरिये कुछ टेंशन से फ्री हो सकूं. मैंने उनसे कहा- मैं आपको आपकी पसंद की आइसक्रीम लाकर दे दूंगा भाभी, तो मुझे मेरी पसंद का टेस्ट करा दोगी?भाभी ने हंस कर मना कर दिया. मैंने कहा- ठीक है।चलते वक़्त उसने कहा- तुम ये बात और मेरा नाम किसी को नहीं बताओगे?मैंने कहा- जान हरगिज़ नहीं।मैं जा रहा था तो मैंने उससे कहा- एक बार अपना फिगर दिखा दो.

देसी चूत की सेक्सी वीडियो

दोस्तो, आपको यह मां-बेटे की चुदाई वाली ‘इन्सेस्ट कहानी चुदाई की’ कैसी लगी, मुझे इसके बारे में अपने विचार जरूर बताना. मामा ने अपना जांघिया उतारा और हथेली में तेल लेकर अपने लण्ड पर मलने लगे. करीब ऐसे ही दो घंटे की चुदाई में हम दोनों तीन बारे झड़े और ऐसे ही नंगे लेटे रहे.

उन्हें स्कूल के लड़कों के इन इरादों का अच्छे से पता था, तभी वो जानबूझकर लड़कों को देखते ही अपनी चाल बदल देती थीं. मैं सुबह उठा, तो आंख खुलने से पहले मेरी खोपड़ी में सिर्फ आंटी ही थीं.

हमने भोपाल की कोर्ट में शादी करके प्रमाण पत्र ले लिया था।कहानी पर अपनी राय देना न भूलें.

रिश्तो में चुदाई की इस स्टोरी में पढ़ें कि मैं होली खेलने मामा के घर गया तो मामी अकेली थी. फिर मेरे कंधे पर मेरे गाल पार, मेरे मम्मों पर कई बार ज़ोर ज़ोर से काटा।मैंने कहा- अरे काटो मत, निशान पड़ जाएंगे।वो हंस कर बोला- तो क्या हुआ, तेरे उस चूतिया पति ने कौनसा देखने हैं? अभी तो तेरे जिस्म और और रंगीन करूंगा।फिर राजेश ने मुझे घोड़ी बनाया और फिर चुदाई कम करी, मार मार के मेरे दोनों चूतड़ लाल कर दिये. वो मेरी तरफ देख कर मुस्कुरा दीं और बोलीं- आप कैसे मदद कर सकते हैं … क्या आप मेरे पति को जानते हैं?मैंने कहा- नहीं मगर आप बताएंगी तो मैं उनको ढूँढ सकता हूँ.

मैंने उनसे कहा- मेरा लंड बड़ा लग रहा है?बुआ ने भी चुदाई की खुमारी में मेरे लंड को पकड़ कर मसला और कहा- हां तेरा लंड बहुत बड़ा है. पूरी यात्रा के मध्य में मैं गांव के खेतों को सिमटते उनकी जगह को छोटी छोटी सी झुग्गी झोपड़ियों में बदलते हुए देख रहा था. मेरी बीवी को एक लंड से शायद पूरा नहीं पड़ रहा था, इसलिए वो कुछ भी नहीं कह रही थी, या वो मजबूर थी.

मैं उसका लंड लेने के लिए तैयार नहीं था और वो मेरी देसी गांड लेने पर उतारू था.

बीपी वीडियो हिंदी बीएफ: मैं उनके साथ वापस आ गया, पीछे से मोनिका ने आकर हम दोनों को देखा और बोली- दीदी अब तक शुरू भी नहीं किया … मुझे तो लगा था कि अब तक टेबल पर फिल्म बन गई होगी. असली चुदाई तो मेरी आज हुई है।मैं कितनी देर उसी तरह राजेश के वीर्य में भीगी नंगी लेटी रही।फिर उठ कर तैयार हो कर अपने घर आ गई।अगले दिन जब सुबह उठी तो मेरे सारा बदन दर्द कर रहा था। कहीं टीस उठती तो कहीं दर्द होता।जब नहाने के लिए बाथरूम में गई.

सोनम ने मेरे लोवर के अन्दर हाथ डाल कर जब मेरे 7 इंच लम्बे लंड को महसूस किया, तो उसने लंड बाहर निकाल लिया. थोड़ी देर के बाद मैंने देखा कि मेरे व्हाट्स पर एक मैसेज रिसीव हुआ है. आंटी बोली- क्या मैं इसको नजदीक से देख सकती हूं?मैं बोला- हां, देख लो आंटी.

तभी बाहर किसी की आवाज आई।मोसी बोली- देखना ज़रा कि कौन है।मैं बाहर आ गया और देखा कि जहां पर गाय भैंस बंधे रहते हैं.

मैं सोच रही थी मां के पास चली जाऊं, पर घर भी तो अकेला नहीं छोड़ सकती. चाची की आंखों में मुझे साफ साफ मायूसी दिखी … पर मुझे अपने घर जाना पड़ा. थोड़ी देर लंड चुसवाने के बाद विशाल ने मेरे मुँह में ही अपना पानी डाल दिया.