हिंदी भाभी के बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी बीएफ गर्ल्स लड़की

तस्वीर का शीर्षक ,

एक बिल्ली के तीन बच्चे: हिंदी भाभी के बीएफ, मैं चुप हो गया और शबाना भाभी अपनी पूरी शिद्दत से लंड चुसाई का मजा लेती देती रही.

सैक्सी ब्लू फिल्म

उसने मेरे सभी लव बाईट का एक ही बार में हिसाब कर दिया।मैंने अब उसके शर्ट के बटन खोलकर साहिल की शर्ट उतार दिया. सेक्सी ब्लू मूवी बीएफसाहिल से फ़ोन में बात होती रही।दो दिन बाद से मैंने इंस्टीट्यूट जाना शुरू किया.

पता नहीं भाई के मन में क्या आया कि उसने शहर जाने के लिए मना कर दिया।तो भाभी बोली- अब मैं अकेली कैसे आऊंगी?भाई बोला- फिर किसी दिन चल पड़ेंगे. देहाती एक्स वीडियो हिंदी मेंउसकी चूत किसी स्वर्ग के दरवाजे की तरह मेरा इंतज़ार कर रही थी।उसकी चूत पर बहुत छोटे छोटे बाल थे क्जैसे 4-5 दिन पहले उसकी जाह्नते साफ़ की हों.

वो चुपचाप आंखें बंद करके लेटी थी।अब मेरी हिम्मत बढ़ने लगी और मैंने नीचे से मैक्सी उठा दी और पैंटी के ऊपर से सहलाने लगा।मामी गर्म होने लगी.हिंदी भाभी के बीएफ: उससे मेरी ज्यादा बात नहीं होती थी लेकिन कभी कभी पढाई के किसी टॉपिक को लेकर बहसबाजी जरूर हो जाती थी.

आज चाची की चुत में मेरा लंड खेल आया था, इससे मैं और मेरा लंड बहुत हैप्पी हैप्पी फील कर रहा था.कुछ देर बाद सलमान ने अपना लंड चुत से खींचा और मेरी अम्मी को कुतिया बना दिया.

बीएफ सेक्स दाखवा - हिंदी भाभी के बीएफ

मैं बहुत ही कातिलाना तरीके से अंगड़ाइयां ले रही थीं और बहुत ही मादक आवाज में मस्ताई जा रही थी- आआह … आआह बसस्स करोओ … आआह छोड़ो नाआ!मगर उन दोनों को तो जैसे रबड़ी खाने को मिल गई थी.भाभी भी अपनी गांड उठा कर पूरा मज़ा ले रही थी। भाभी के होंठ चूसने पर तो मुझे और ज्यादा नशा हो रहा था और मैं जोर जोर से चोदने लगा.

मैं झट से उनके घर गया और अम्मी की दी हुई लिस्ट का सामान बाजार से लाकर उनके घर देने गया. हिंदी भाभी के बीएफ लेकिन वो दिन मेरे लिए बहुत बुरा था क्योंकि रात भर मैं हेमा चाची के इंतजार में ताक लगाये बैठा रहा पर मेरी हेमामालिनी रात में भी नहीं आई थीं.

मुझे मुखिया की मस्त बीवी से अपना लंड चुसवाने में बहुत मजा आ रहा था.

हिंदी भाभी के बीएफ?

मेरी इस सेक्स कहानी में आपको जो भी गलती दिख जाए, उसे प्लीज़ अनदेखा करते हुए मेरी देसी कहानी का आनन्द लीजिए. वो भी इतनी गर्म हो चुकी थी कि वो भी अपने जिस्म को मेरे जिस्म से ज़ोर ज़ोर से रगड़ रही थी और मुझे और ज़ोर से आलिंगन कर रही थी. दो दिन बाद संडे के दिन अमित अपना सामान लेकर आ गया और हम लोग साथ में रहने लगे.

उसके मस्त भरे हुए चुचे और ऊपर को तोप सी उठी उसकी गांड देखकर मेरा तो लंड खड़ा ही हो गया था. इससे वो एकदम से कामोत्तेजित हो गईं और सिसकारियां निकालने लगीं- आहह … आहह … जानू … उहह!मैंने एक हाथ से उनकी ब्रा का हुक खोल दिया. फिर पता नहीं मेरा वहम था या सच्चाई … मुझे ऐसा लगा जैसे उसने मेरी गांड की चीर पर हल्की सी उंगली घुमा दी.

मैंने कहा- ब्रा तो है ही नहीं इसमें?लड़का बोला- इस टॉप में ब्रा की जरूरत नहीं होती है. अगले भाग में नन्दा की मस्त चुत चुदाई की कहानी को विस्तार से लिखूंगा. इस बार अपने चूचे दबवाने के साथ अलीमा बीच-बीच में बोल रही थी- आह अंकल … मेरे बूब्स को जोर से दबाइए.

मेरे लिए तो आज पहली चुदाई थी मगर राहुल पहले भी चुदाई कर चुका था और उसकी कई लड़कियों के साथ संबंध थे. इतने में उन्होंने मुझे नीचे बिठाया और राहुल मेरे होंठों पर अपना लंड घिसाने लगा.

अब मेरी जांघें अपने आप ही खुलकर उसके हाथ को अच्छी तरह से रास्ता देने लगीं ताकि उसकी उंगलियां मेरी चूत में और अंदर तक जा सकें.

मैंने कहा- आप मेरा एक छोटा सा काम कर दो?वो बोलीं- क्या?मैंने उनका हाथ अपने लंड पर रखवाते हुए कहा- बस आप मेरा लंड चूस दो.

उस दिन जब तू अपने घर में मुझे घूर रहा था मैं तो तभी समझ गयी थी कि तेरा लंड मेरी मुनिया की फिराक में है. सुलेखा भी लंड को देखकर घबरा गई और बोली- उई मां … आज तुम्हारा मुझे मारने का इरादा है क्या?मैंने कहा- तुम फ़िक्र मत करो … तुम जितना कर सकती हो, करो … मुझे कोई जल्दी नहीं है. मैंने उसके रूम में देखा तो कोमल घोड़ी बनी हुई थी और एक जवान लड़का उसकी गांड चुदाई कर रहा था.

फिर एक दिन वो बोली- क्या मैं आप से मिल सकती हूँ?तो मैंने भी मिलने के लिए हां बोल दिया।हम दोनों ने मिलने की जगह तय की. मेरी आँखें बंद थीं और वो साली बिल्कुल कुतिया की तरह मेरा लंड मुंह में लेकर पूरा चूस रही थी. वो बोली- देखो … क्या कर दिया तुमने?मैंने उसको लिटाया और उसको किस करते हुए कहा- कुछ नहीं होगा.

मैं मस्ती में बड़बड़ाने लगा- आह चूसो मेरी जाआन … आआह … आई और चूसो … खाली कर दो मेरी जान … इसे बहुत दिन हो गए.

आज शायद अपने जीवन में मैंने पहली बार खुद को इतने सेक्सी अंदाज़ में देखा था।कुछ देर बाद मैं आ गयी अपने इंस्टीट्यूट में!एक दो लड़कियों ने मेरी तारीफ भी की जिससे मुझे बहुत अच्छा लगा. मैंने थोड़ी रिक्वेस्ट की कि बाबा का तो चूस रही थी, मेरा लौड़ा चूसने में क्या जाता है. उसके मुंह से लगातार आनंद भरी सिसकारियां निकल रही थीं- आह्ह … हितेश … ओह्ह … चोदो … आह्ह … मेरी चुदाई करो … मेरी चूत में लंड देते रहो … आह्ह … लंड देते रहो … ओह्ह … ओह्ह … आह्ह … हितेश।उसके शब्दों से साफ पता लग रहा था कि वो कामसुख के लिए कितना तड़प रही थी.

मॉम एंड सन सेक्स कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी मम्मी के साथ होटल रूम में सो रहा था. कुछ देर बाद मुखिया की बीवी आ गयी और मुखिया के कहने पर वो मुझे घर चलने को बोलने लगी. उसके बदन में बिजली के से झटके लगने लगे और वो मेरे मुंह पर चूत पटकती हुई शांत होती चली गयी.

हम दोनों एक दूसरे के कपड़े उतारने लगे और जल्दी ही मैं सिर्फ अंडरवियर में और वो पैंटी में आ गई थी.

उन्होंने मेरा हाथ पकड़ा और कहा- बहू आज तक ऐसी सेवा मेरी किसी ने नहीं की है, जैसे तुमने की है. फिर हम 69 की पोजीशन में आये और एक दूसरे के सेक्स अंगों को मस्ती में चूसने लगे.

हिंदी भाभी के बीएफ मेरा लंड पूरे तनाव में भाभी के मोटे और कोमल कूल्हों के बीच में रगड़ खा रहा था. अब मैं ये सुन कर रुक गया और बोला- दीदी मेरा लंड भी तो इतना बड़ा हो जाएगा ना?वो बोली- हां, कुछ भी करना पड़े चाहे, तेरा लंड तो मैं उससे भी बड़ा बनाना चाहती हूं.

हिंदी भाभी के बीएफ जब भी मैं हेमा चाची से बात करता था, तब हेमा चाची भी मुझे कामुक और हवस भरी नजरों से देखती थीं. मैंने कहा- क्या तुम मेरा लंड अपनी चूत में लेना चाहती हो?वो बोली- हां मैं तुम्हारा लंड अपनी चूत में लेना चाहती हूं.

लेकिन अभी तक मैंने ये बात तेरे घर पर नहीं बोली है कि तू मेरे साथ दारू पीती है.

अंग्रेजी ब्लू सेक्सी

घर के अन्दर वो ज्यादातर नंगी या सिर्फ छोटी सी नाईटी पहन कर रहती है, जिसमें से उसकी बड़ी बड़ी चुचियां हमेशा दिखती रहती हैं. मुझे पता था कि अब मैं तीन तीन मर्दों से चुदने वाली हूं, ये मुझे चोदे बिना नहीं जायेंगे. ये मेरी पहली चुदाई की कहानी मेरे और मेरी भाभी के बीच की है कि कैसे देवर ने भाभी को चोदा.

मैंने कई मर्तबा सोचा कि अपनी अम्मी की एक गैरमर्द से अपनी चुत चुदाई की चीटिंग सेक्स स्टोरी को लिख कर भेजूं, मगर कभी अभी पढ़ाई के चलते समय ही नहीं मिला … या यूं कहना ठीक रहेगा कि साहस ही नहीं हुआ. बलविंदर ने उसके होंठों पर मदहोशी में अपने हाथ का अंगूठा फिराया और कहा- जैसे मैं तुम्हारी चूत को मुँह में लेकर चूसता हूं और तुम्हें आनन्द आता है. भाभी- आह अब डाल भी दो राजा … अब नहीं रहा जाता … जल्दी से अन्दर डाल दो.

मैं बोला- आप ये सब क्या बोल रही हो?आंटी ने आंखें तरेरी और बोलीं- चुपचाप रहो, जो मैं बोलती हूं, वो करो … समझ गए.

पहले तो उसने ध्यान नहीं दिया लेकिन फिर धीरे धीरे हमारी नजरें मिलने लगीं. कल्पना ने मुझे कॉल करके बताया कि अब वो उसके गांव मैं है और बहुत खुश है. फ्रेंड्स, आपको मेरी गे क्रॉसड्रेसिंग इन पब्लिक स्टोरी कैसी लगी मुझे जरूर बतायें.

करीब आधे घंटे बाद मंजुला खाना बेडरूम में ही ले आई और फिर बिस्तर पर ही अखबार बिछा पर उस पर प्लेटें सजा दीं. मैं भी धीरे धीरे अपने दिल ही दिल में अमन को प्यार करने लगी थी और वो भी मुझसे बहुत प्यार करता था. वो बिलकुल एक रंडी की तरह ही लन्ड चूस रही थी।10 मिनट तक दीदी ने मेरा लन्ड चूसा और मेरे लन्ड ने अपना लावा दीदी के मुँह में ही निकाल दिया।दीदी एक स्माइल के साथ सारा पानी पी गयी और मेरी तरफ देखकर कहने लगी- अपना काम तो करवा लिया, अब मेरा कौन करेगा?मैंने कहा- दीदी आपने ही तो कहा था कि बाद में करेंगे.

इसलिए मेरी बहन का एडमिशन घरवालों ने जल्दी ही करवा दिया था और वो मेरे पीछे ही बाहरवीं में आ गयी थी. उसके अब्बू यूपी से गुजरात आए थे, जिस कारण उसके सारे रिश्तेदार यूपी में ही हैं.

पिछले भागभाभी ने अपनी ननद से सेटिंग करवा दीमें आपने अब तक पढ़ा था कि मैं नन्दा के साथ बिस्तर पर था और उसकी पैंटी उतार कर उसे नंगी कर दिया था. आप लोगों से मेरी एक रिकवेस्ट है कि प्लीज़ आप लोग हिंदी सेक्सी चुदाई स्टोरी की नायिका यानि उस महिला का नम्बर न मांगा करें, जो चुदी होती है. आंटी की Xxx चुदाई कहानी के पिछले भागदूध वाली की चुत चुदाई- 1अब तक आपने पढ़ा कि मेरे गांव में एक दूधवाली आंटी मुझ पर फिदा हो गई थीं और मेरा लंड भी उनकी चुत चोदने के लिए मचल उठा था.

इसके बाद तनु सवार हो गई और गांड पटकते हुए उसने अपनी चुत की खुजली शांत की.

कई बार तो ऐसी औरतें टकराती हैं जिनको देखकर तो क्या … चूत पर रगड़ने से भी लंड खड़ा न हो. मगर मेरा राजा जिसको मैं मन ही मन में चाहने लगी थी और जिससे पूरे समपर्ण से चुदने का इरादा बना लिया था, वो खाना खाने चला गया. मैं उसकी गांड को सहलाते हुए कोशिश कर रहा था कि उसकी चुत को अपने अंगूठे से कुरेद सकूँ.

जिसपे साहिल की नज़र थी।अब पूनम से साहिल का सर पौंछने के बाद उसके चेहरे को पौंछा. वो उठ बैठी और बोली- पहली ही बार में सब कुछ कर लोगे क्या?मैं जान गया कि ये चुदने वाली है लेकिन बस नखरे कर रही है.

भाभी ने कहा- हां आपका ड्रम अन्दर है, किसी का सामान निकलना था तो हटा कर मैंने अन्दर रख लिया था. आदित्य मेरे निप्पलों को घूरे जा रहा था और उसने गर्मी का बहाना बनाकर अपनी टीशर्ट उतार दी. उस दिन मैंने उसके साथ बहुत से पोज़ कपल वाले में फ़ोटो खिंचवायी।कुछ देर बाद हम सब नीचे आ गए.

बहू और ससुर

इसी तरह साहिल ने काफी देर राजसी की चूत फाड़ने के बाद अपना माल उसकी चूत के मुहाने पर गिरा दिया जो टपक टपक कर नीचे चादर पर गिरने लगा।यह कहानी सेक्सी आवाज में सुन कर मजा लें.

उसके होंठों पर सुर्ख लाल रंग की लिपस्टिक थी और तन पर काली पारदर्शी नाइटी थी. आह … मुझे ऐसा लग रहा था … जैसे किसी गर्म भट्टी में मेरा लंड घुस गया हो. अब तक वो पलट कर मेरे सामने आ गई थी और मेरे लंड को मुट्ठी में पकड़ कर दबाने लगी.

फिर उसे सॉरी बोलते हुए वो केक साफ करने के बहाने से उसकी चूचियों को छेड़ने लगा. उसकी चूचियां दर्द करने लगीं क्योंकि लड़के ने भी उसकी चूची बहुत मसली थीं. लंड चुदाई सेक्सीशादी के बाद मेरे पति मुझे अक्सर चोदते थे और मुझे उनसे चुदने में मजा भी खूब आता था.

ये देसी फुद्दी की चुदाई कहानी अच्छी लगी या नहीं? अपने मैसेज ईमेल करें. कितनी बार तो बात की तुमने फोन पर!भाभी- ऐसी बात फोन पर ना करते। तू पागल है.

मैं बोला- इसका मतलब अब तक तुम 600-700 बार चुदवा चुकी हो?वो बोली- हां. आप लोगों को मेरी देसी मेड सेक्स कहानी कैसी लगी, मुझे ईमेल करके बताएं. अब वो मेरी सीट पर मेरे साथ ही आ बैठा क्योंकि मेरे साथ बैठी लड़की भी म्यूजिक क्लास में चली गयी थी.

जैसा कि आपने उस सेक्स कहानी में पढ़ा था कि भाभी को चोदने के बाद भाभी और मुझमें बहुत खुल कर बातें होने लगी थीं. उसने पूछा- कौन हो तुम? ये नम्बर कहां से मिला?मैंने कहा- मैं वहीं हूं जो आपके चक्कर में कमजोर हो रहा हूं. कविता हंसने लगी और बोली- अरे क्या हुआ? अब बोलिए भी? या मुंह से आवाज़ निकलनी बंद हो गयी?मैं- अरे नहीं नहीं, मैंने तो बस आपको इसलिए रोका ताकि हाल चाल पूछ सकूं.

मैंने उसे चोदा भी! कैसे?दोस्तो, मैं अनुज एक बार फिर से अपनी अकेली भाभी की चुदाई स्टोरी के अगले भाग के साथ आप सभी के सामने उपस्थित हूँ.

मैं लंड चुसवाने के साथ साथ उनके मम्मों को भी दबा रहा था और निप्पल को सहलाते हुए मींज रहा था. लड़की ने अपने प्रथम सहवास का मजा कैसे लिया?अन्तर्वासना के मस्त पाठकों और मदमस्त पाठिकाओं, आप सभी को विक्की का प्यार.

मेरी पहले की कहानियोंसीधी सादी लड़की प्यार से चुद गयीके लिए जो आप सभी ने प्यार दिया, उसका मैं तहे-दिल से शुक्रगुजार हूँ. मगर वो भूखे शेर की तरह मुझपर टूट पड़े और फुल स्पीड में मुझे चोदने लगे. बातों बातों में मैंने उनसे पूछा- मामा, कोई लड़की वड़की पटाई या बस यूं ही काम चला रहे हो?वो बोले- हां, अंजलि नाम की एक लड़की है.

इस दौरान मुझे अन्तर्वासना से जुड़ने के लिए कुछ ज्यादा ही समय मिल गया था. बीच में मैंने अपनी उंगली थूक वाली करके उनकी गांड में डालने की कोशिश की. वहाँ से दो दिनों के टूअर की व्यवस्था की गई थी जिसमें सभी कर्मचारियों को जाना था, लेकिन केवल जोड़े में।मतलब मेरे और वाशी के मम्मी पापा को दो दिनों के लिए जाना था.

हिंदी भाभी के बीएफ आंटी सेक्स की कहानी में पढ़ें कि पापा ने मुझे उनकी विधवा चचेरी बहन के घर भेजा उनकी मदद के लिए. वो मेरी आंखों में झांकते हुए अपने घुटनों पर बैठी और मेरे लंड को उसने धीरे से अपने मुँह में लेकर चूसने लगी.

ईडियन सेकसी विडियो

मेरी इस हरकत से वो थोड़ा सकपका गया लेकिन वो भी कमज़ोर खिलाड़ी नहीं था. रानी सीधे अपने क्लास में आ गयी, जिसके पीछे मैं भी आई।अब दिन बीता और शाम को जब मेरी छुट्टी हुई तो मैं सीधे साहिल के आफिस चली गयी. मैंने उसको गोदी में उठा लिया और उसको किस करते हुए अंदर रूम तक लेकर जाने लगा.

उसको देखकर कभी कभी स्माल पास कर देती और कभी कभी उसको देखकर शर्मा जाती थी. फैमिली सेक्स की कहानी में पढ़ें कि मैं अपनी मामी की चूत का मजा ले रहा था. सेक्सी पिक्चर बीएफवो बोली- हितेश, तुम्हारे घर में गेस सिलेंडर हो तो मुझे दे सकते हो क्या? मेरे घर में गैस सिलेंडर खत्म हो गया है.

बाबा सेक्स पोर्न स्टोरी में पढ़ें कि एक गाँव में एक बाबा अपने तरीके से इलाज करता था.

अब वो और मस्त आवाजें निकाल रहे थे- आह और जोर से मार भोसड़ी के आह और जोर से चोद दे मेरी गांड. भाभी समझ गयी कि ये चुदने के लिए उतावली हो रही है और इसीलिए बहाने बना रही है.

मैंने शिखा को फोन किया तो उसका कॉल नहीं लगा क्योंकि नेटवर्क नहीं था. उस दिन उसे अपने बेटे को भी लेने जाना था, तो वो मुझसे स्कूल छोड़ते हुए जाने की बोली. भाभी की चीख निकल गयी … वो कराहते हुए बोलीं- हल्के हल्के पेल मेरी जान … क्या आज ही चुत का भोसड़ा बना देगा.

एक दिन दादी साहिल की मम्मी से बात कर रही थी कि हम लोग भी उनके साथ उनकी गाड़ी से जाएंगे.

राहुल का लंड तो कुछ पतला लग रहा था मगर विजय का लंड 7 इंच से कम नहीं था और मोटा भी काफी था. वो इस खेल में ज्यादा देर नहीं टिक पायी और वो झुकी हुई इसी स्थिति में झड़ने लगी. भाभी बोली- अपने कपड़े भी उतार दे या बस मुझे ही नंगी करेगा?मैंने जल्दी से अपने सारे कपड़े उतार दिए और भाभी ने दरवाजा बंद कर दिया और बेड पर वापस लेटने लगी.

लियोन एक्स एक्स वीडियोमैंने फोन करके अपने घर पर बोल दिया कि आज मैं बाहर बारिश में फंस गया हूँ इसलिए अपने एक दोस्त के घर ही रुक गया हूँ. मैंने दो दिन में उसकीचुत का भोसड़ाकैसे बनाया, इसका बहुत ही गर्म मजा आपको अगली सेक्स कहानी में पढ़ने को मिलेगी.

मोटू पतलू जोड़ी जोड़ी

हेमा चाची ने कहा- भास्कर अब इंतजार नहीं होता, तुम जल्दी से अन्दर डाल दो. मैंने देखा कि गर्लफ्रेंड की चुदाई में मेरे लंड की खाल उतर गई थी और वो भी ठीक से चल नहीं पा रही थी. थोड़ी देर बाद चाची उछलने लगी, बोली- अपनी चाची को चोद … चोद आज मेरा बेटा!मैं अपनी चाची को चोदन आनन्द दे रहा था.

उधर हेमा चाची लंड की चोटों से जोर जोर से सिसकारियां ले रही थीं- आह्ह्ह … आह्ह … अईईया … उईई ईया …मैं अपना लंड हेमा चाची की चूत के अन्दर बाहर उतनी तेजी से कर रहा था कि हेमा चाची की आंखें ऊपर चढ़ गई थीं. रूम में अजीब तरह की कुर्सी और सब समान था। एक जगह टेबल पर बड़े-बड़े नकली लंड रखे हुए थे. उसने एक ही बार में मेरे लंड को पूरा अपनी चूत में ले लिया और जोर से सिसकार उठी.

अब जब भी बस हिलती तो मेरा हाथ कुछ टटोलने के लिए आगे आगे बढ़ता और फिर ऐसा करते हुए थोड़ी देर बाद मेरी उंगलियों को उसकी जांघ का स्पर्श हुआ. अब मैं बिल्कुल उनके लंड के समीप तक अपने हाथों को लेकर जाती और जांघों के जोड़ तक अपनी उंगलियों को टच कर देती. होंठों को मैंने उसके होंठों पर कस दिया और धक्के देते हुए उसको चूसने लगा.

खैर उस दिन मैं पूरा स्कूल टाइम टेन्शन में रहा।स्कूल की छुट्टी से 10 मिनट पहले मैडम ने मुझे दफ्तर में बुलाया. जो नये लड़के इस मेल प्रोस्टीटयूशन धंधे में जाना चाहते हैं खासकर उनके लिए मैंने ये जानकारी लिखी.

मेरे साथ छोटी मोटी घटनाएं होती थीं जैसे किसी का लंड हाथ में ले लिया या फिर भीड़ में गांड किसी के लंड पर रगड़ दी.

उस ब्लू फिल्म में लड़का लड़की की चड्डी को कैंची से काट देता है और उसकी चूत चाटने लगता है. बड़ी दूध वाली सेक्सीमैंने जल्दी से बाथरूम को अन्दर से बंद कर लिया और हेमा चाची की उस चड्डी को लेकर सूंघने लगा. चालू आंटीजैसे ही मैं साहिल के मुंह के पास गई तो मैंने उसकी धीरे से कान में बोल दिया- आज रागिनी की भी सील तुम ही को तोड़नी है. लेकिन मैं उसकी गांड नहीं मार पाया।कोई बात नहीं … जिसकीचूत चोद लीहै तो उसकी गांड भी एक ना एक दिन मिलने की आस होती ही है।मेरी जवान लड़की की चुदाई कहानी आपको कैसी लगी? कमेंट्स में जरूर बताइए मुझे!धन्यवाद.

मैंने उसके एक चुचे को हाथ में भर लिया और दूसरे को ब्रा के ऊपर से ही चूसने लगा.

वो गहरी नींद में सो रही है।यह सुनकर मैंने चाची को अपनी तरफ खींच लिया और उसके होठों को चूसने लगा; उसकी चूचियां को दबाने लगा।मैंने उसकी दोनों चूचियों को अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया।अब चाची ने अपनी चूत खोल दी और लेट गई. उसका 7 इंच का लंड आंटी की गांड में फंस गया और वो जोर जोर से चिल्लाने लगी- आह्ह … ऊह्ह … मर गयी … ईईई … आआआ …. मैंने हेमा चाची के सामने बैठते हुए उनसे पूछा कि इतनी रात को आपने यहां आने का कष्ट क्यों किया … मुझे अपने घर बुला लिया होता.

काफी देर तक वो मुझे ऐसे ही चोदता रहा और फिर धीरे धीरे करके मेरा दर्द कम हो गया. तभी मैं समझ गया कि आज रात हेमा चाची सेक्स के पूरे मूड में हैं और उन्होंने अपनी चूत के बाल भी साफ कर लिए हैं. दो मिनट बाद मेरा छूटने को हो गया और मैंने उसके सिर को अपने लंड पर दबा दिया.

రాజస్థాన్ సెక్స్ వీడియో

मैं बोला- साथी की कमी तो ठीक है मॉम लेकिन दो दो मर्दों से एक साथ?अब मॉम बोली- ठीक है, अब मुझे कपड़े पहनने दे. मुझे समझ में नहीं आ रहा था कि मैं क्या करूं … लेकिन मुझे उसका वो मर्दाना टच अच्छा लग रहा था. फिर मैं उसके सामने लंड तानकर खड़ा हो गया; मेरा लंड उसके चेहरे के पास ले गया और बोला- तुम चूसना चाहोगी इसे?उसने थोड़ा नखरा किया लेकिन मेरे एक दो बार कहने पर मान गयी.

मैं बोला- तो फिर तुमने क्या कहा?कल्पना- मैंने भी बोल दिया कि जब आर्यन मेरे पास आया था तो वो बहुत मजा देकर गया था.

कुछ देर बाद जब उसका दर्द कम हुआ, तो मैंने धीरे धीरे उसको चोदना शुरू कर दिया.

फिर उसने मेरे अंडरवियर को उतार दिया और मेरे लंड को हाथ में लेकर मुट्ठ मारना शुरू कर दिया. मैंने राहुल का पूरा लंड अपने मुंह में ले लिया और उसको जीभ से सहलाने लगी. ब्लू हिंदी सेक्स फिल्ममैं रोज सुबह 8 बजे की बस से निकलता था और शाम को 7 बजे की बस से लौट आता था.

मैं सिर्फ आंखें फाड़े उसकी मदमस्त गांड को थिरकते और जवानी को नजरों से चोदता हुआ उसे ही एकटक देख रहा था. शबाना बोली- अन्नू, मेरी जान तुम आज मुझे इतना चोदो कि मेरी जन्मों की प्यास बुझ जाए. हेमा चाची मुस्कुरा दीं और मेरे होंठों पर एक किस देकर बोलीं- ठीक है भास्कर ऊपर उठो … मुझे तुम्हारा वो (लंड) चूसना है.

दिल में बहुत घबराहट होती है।मेरी जान, मेरी कट्टो हिमानी तो बहुत ही घबरा रही थी. मेरी जिन्दगी के साथ भी एक ऐसा ही राज जुड़ा हुआ है जो आज मैं अन्तर्वासना के माध्यम से आपके सामने रख रहा हूं.

दिन भर वो मम्मी के साथ रहती थी और रात को भी मम्मी के ही रूम में सोती थी.

कुछ तो शर्म करो।मैं रुक गया और फिल्म देखने लगा।फिर इंटरवल हो गया और हम बाहर आए।मैं टॉयलेट करने गया अपना लंड को शांति देने के लिए!तो प्रिया बोली- ऋतु, अब मैं तो जाती हूं। कॉलेज भी जाना है. मैं बाहर चला गया और 5 मिनट भीगने के बाद बहन को कॉल किया और कहा कि घर के बाहर हूं, गेट खोलो, भीग गया हूं।बहन ने दरवाजा खोला और उसके पीछे पीछे वो चारों लफंगे बाहर आये. मेरा लंड अभी भी खड़ा ही था, जो लोअर के ऊपर से अलग ही उभरा हुआ दिख रहा था.

बढ़िया ब्लू पहले मेरे हाथ उसके चेहरे को जकड़े हुए थे लेकिन फिर जल्दी ही एक हाथ उसकी चूचियों पर चला गया और दूसरा नीचे जाकर उसकी चूत को सहलाने लगा. फिर मैंने अपने लण्ड पर थूक लगा कर उसकी गांड में लंड को अंदर कर दिया।वो सिसकारने लगी और कहने लगी- चोदो मुझे प्लीज़ … फक मी … आह्ह … फक मी … जोर से।ऐसे कहते हुए वो अपनी गांड आगे पीछे करने लगी।मैं झटकों के साथ साथ उसके कूल्हों पर हल्के थप्पड़ मार रहा था।थोड़ी देर में मेरा भी होने ही वाला था.

मैं- साली अब तो हमेशा नंगी ही रहेगी यहां पर … कुतिया दिन रात चुदवा लेना रंडी. मैं अपने एक हाथ से हेमा चाची की चूची दबा रहा था और दूसरे हाथ से मैंने चाची के बाल पकड़ रखे थे. दोस्तो, इस तरह से कल्पना की दोस्त साक्षी के साथ मेरी पहली चुदाई की घटना हुई.

फुल नंगी सेक्सी फोटो

माल गिरने के बाद भी जब तक मेरा लंड टाईट रहा, तब तक मैं आंचल मैडम को चोदता रहा. पापा हमारे घेर (प्लाट) में सोते हैं और भाई-भाभी, मां और मैं घर में ही सोते हैं. वो कभी उसकी चूत को देख रहा था तो कभी उसके बूब्स को।फिर हम वहां से निकल लिये.

मेरा लंड फूलकर एकदम सख्त हो गया था, जो हेमा चाची की जांघ के नीचे था. उस दिन सुलेखा बहुत खुश थी और उसने मेरे सामने ही वो दोनों फ़ोन तोड़ कर फेंक दिए.

फिर वो लड़की जिसका नाम रूपाली था, वो मेरे पास ब्रा लेकर आई और मुझे पहनने को बोला.

मैं चुप हो गया और शबाना भाभी अपनी पूरी शिद्दत से लंड चुसाई का मजा लेती देती रही. थोड़ी देर बाद ट्रेन आ गयी और सारी भीड़ उसमें चढ़ने के लिए भागी और अन्दर घुसने के धक्का मुक्की होने लगी. सलमान ने भी गांड उठाते हुए मेरी अम्मी के मुँह को चोदना चालू कर दिया था.

फिर बोली- ऐसे मत करो प्लीज।मैंने कहा- क्यों?वो बोली- मुझे कुछ हो रहा है. मैं तेजी से उसकी चूत में जीभ को अंदर बाहर किये जा रहा था और वो जैसे अपनी गांड को ऊपर नीचे करके मेरे मुंह को ही चोदने लगी थी. अब मैं बनियान और हाफ पैंट मैं था।मामी ने भी अपने कपडे बदल कर नाईटी पहन ली।मैंने मामी को दीवार से लगा दिया और उसके होंठों को चूसने लगा।साथ ही मैंने अपना हाथ मामी की पैंटी में घुसा दिया और मामी की चूत को सहलाने लगा।मामी ने मुझे अपने जिस्म से अलग किया बोली- राज, अभी नहीं! अभी खाना तैयार करना है.

हेमा चाची पानी लेने किचन में गईं, तो मैंने टीवी के पीछे की तारों को गलत जोड़ दिया, जिससे टीवी धुंधली आने लगी.

हिंदी भाभी के बीएफ: हाथ धुलते हुए वो मेरी तरफ देख रहा था और मुझे बहुत ज्यादा शर्म आ रही थी. मगर वो कैसे चुदी और प्रियंका के साथ और क्या क्या हुआ वो सब मैं आपको अगली गरम सेक्स की स्टोरी में बताऊंगा.

हाय … हेमा चाची का नंगा गोरा बदन ऐसे लग रहा था कि जैसे मेरे सामने कोई जन्न्त की हूर नंगी पड़ी हो. फिर उसके भाई का फोन आया तो उसने किसी तरह से बहाना बनाया कि वो कल सुबह ही आयेगी. बुआ मस्ती से बोल रही थीं- आह चोद दे अपनी बुआ को … आह जोर जोर से चोद मुझे.

गाँव में चुदाई की कहानी में पढ़ें कि पहचान पत्र बनने के काम में मैं अपनी टीम के साथ एक छोटे से गाँव में गया.

फिर मैंने उस चड्डी को अपने पजामे की जेब में छिपा लिया और मुँह हाथ धोकर कमरे में हेमा चाची के पास चला गया. मैं अपने घर गया और दरवाज़ा खुला छोड़ कर वहीं पास में खड़ा हो गया उसके इंतज़ार में. उस गांव में जाने के लिए ना तो कोई गाड़ी थी … ना ही उस गांव का रास्ता अच्छा था.