हिंदी भाभी के बीएफ

छवि स्रोत,बफ सेक्सी चाहि

तस्वीर का शीर्षक ,

एक बिल्ली के तीन बच्चे: हिंदी भाभी के बीएफ, मैं चुप हो गया और शबाना भाभी अपनी पूरी शिद्दत से लंड चुसाई का मजा लेती देती रही.

सेक्सी वीडियो बेटे ने मां को चोदा

उसने मेरे सभी लव बाईट का एक ही बार में हिसाब कर दिया।मैंने अब उसके शर्ट के बटन खोलकर साहिल की शर्ट उतार दिया. गर्ल्स हॉट सेक्सी वीडियोसाहिल से फ़ोन में बात होती रही।दो दिन बाद से मैंने इंस्टीट्यूट जाना शुरू किया.

मैंने इस तरह की मादक आवाज सुनी तो अपने दांतों को भींचा और उनकी चुत में लौड़ा अन्दर ठेलते हुए आवाज दे दी- ले मेरी जान लौड़ा खा … आह. चुदाई सेक्सी फुल वीडियोमैंने उसकी चूत का घमंड अपने लंड से कैसे तोड़ा?हैलो फ्रेंड्स, मेरा नाम अर्जुन है और मैं मुंबई से हूं.

वो चुपचाप आंखें बंद करके लेटी थी।अब मेरी हिम्मत बढ़ने लगी और मैंने नीचे से मैक्सी उठा दी और पैंटी के ऊपर से सहलाने लगा।मामी गर्म होने लगी.हिंदी भाभी के बीएफ: उससे मेरी ज्यादा बात नहीं होती थी लेकिन कभी कभी पढाई के किसी टॉपिक को लेकर बहसबाजी जरूर हो जाती थी.

मैंने उसे उठाकर देखा तो उस लेडीज रेजर के किनारों में छोटे छोटे बाल फंसे पड़े थे और वो लेडीज रेजर गीला भी था.मुझे पानी के भीतर सेक्स करना काफी अजीब लग रहा था लेकिन ऐसा करते समय हवस की आग अपने चरम पर थी.

हिंदी सेक्सी व्हिडिओ हिंदी सेक्सी हिंदी - हिंदी भाभी के बीएफ

मैं बहुत ही कातिलाना तरीके से अंगड़ाइयां ले रही थीं और बहुत ही मादक आवाज में मस्ताई जा रही थी- आआह … आआह बसस्स करोओ … आआह छोड़ो नाआ!मगर उन दोनों को तो जैसे रबड़ी खाने को मिल गई थी.भाभी भी अपनी गांड उठा कर पूरा मज़ा ले रही थी। भाभी के होंठ चूसने पर तो मुझे और ज्यादा नशा हो रहा था और मैं जोर जोर से चोदने लगा.

मैं झट से उनके घर गया और अम्मी की दी हुई लिस्ट का सामान बाजार से लाकर उनके घर देने गया. हिंदी भाभी के बीएफ लेकिन वो दिन मेरे लिए बहुत बुरा था क्योंकि रात भर मैं हेमा चाची के इंतजार में ताक लगाये बैठा रहा पर मेरी हेमामालिनी रात में भी नहीं आई थीं.

मुझे मुखिया की मस्त बीवी से अपना लंड चुसवाने में बहुत मजा आ रहा था.

हिंदी भाभी के बीएफ?

ऐसे ही बारी बारी से मैं एक के बाद एक तीनों के पास ही डांस कर रही थी. कुछ देर बाद उसने मुझे टेबल के सहारे से हटाया और मुझे हवा में ही झुका कर मेरी गांड एक बार फिर से पेलने लगा. मैं और सुमन दोनों बढ़िया रेस्टॉरेंट में गए और खाना खा कर रेस्टॉरेंट से वापिस चल पड़े.

साहिल मुझे गाड़ी तक पकड़ कर लेकर आया क्योंकि मैं बिल्कुल भी नहीं चल पा रही थी. मेरे गोरे जिस्म को चोदने वाला अब कोई नहीं था और मैं चुदने के लिए बेताब होती जा रही थी. भाभी ने एक स्टूल की तरफ इशारा किया, तो मैं वो स्टूल लेकर उनके बिस्तर पर आ गया.

अब उसकी रिसती हुई चूत मुझे दिख गयी और उसको देखते ही मेरे मुंह में लार बह चली. आंटी ने अपना एक पैर हर्षदीप की कमर पर रखा और हर्षदीप ने अपना लन्ड उसकी चूत में डाल दिया और उसे खड़े खड़े चोदने लगा. सब ने पार्टी एन्जॉय की और पार्टी खत्म होने पर सभी घर चले गए।मगर दी ने उनके एक दोस्त प्रतीक को रोक लिया और फिर हम तीनों बीयर पीने लगे.

बुआ ने गांड हिला कर शंटिंग शुरू करने का इशारा दिया, तो अब मैं उन्हें धकापेल चोदने लगा. पहले तो उसने ध्यान नहीं दिया लेकिन फिर धीरे धीरे हमारी नजरें मिलने लगीं.

पास में तीन ईंट रखी थी जिसको मैंने बड़े धीरे से एक के ऊपर एक रखा और मैं उसपे चढ़ गई.

इस प्रकिया को करते समय हेमा चाची बस हल्की सी हिलडुल रही थीं लेकिन गहरी नींद में होने की वजह से उठी नहीं.

तुम समझ जाना और फिर से सीढ़ियों की तरफ चले जाना।ये बोलकर अब अनमोल भी रूम में अंदर चला गया और अंदर जाकर बोला- मामला सेट हो गया, अब शुरू करते हैं।मैं भी रूम के बाहर पहुंच कर अंदर झाँकने लगा तो देखा कि मेरी बहन को रोहन और मोनू नंगी कर रहे थे. मुझे इतना मजा आ रहा था कि मन करने लगा कि उसकी चूचियों को भींच भींच कर उसे रुला दूं. पहली बार मैंने उनका नंगा बदन तब देखा था … जब वो एक बार छत पर नहा रहे थे.

फिर वो बोली- बहुत बदमाश हैं आप!मैं- वैसे आज आपने जो सूट पहना था वो बहुत अच्छा था. उसने लिखा- तुम सोये नहीं हो अब तक?मैंने कहा- नहीं, अभी नींद नहीं आ रही. मैं बोला- ऐसे कैसे हो सकता है?वो बोली- हो सकता है, तुम मेरे पति बन जाओ.

बुआ की मदमस्त जवानी को देख कर तो बुड्डों तक के लंड खड़े हो जाएं, ऐसे उठे हुए चूचे और तनी हुई गांड थी.

उसकी गर्दन पर किस किये फिर उसकी कान की लौ को चूसा और गालों को सहलाते हुए उसे अपने से जकड़े रखा. कसम से वो इतनी हॉट और सेक्सी लग रही थीं कि बिल्कुल इन्तजार नहीं हो रहा था. बाबा का लंड मुरझाया पड़ा था … तो बाबा आंटी को अपनी बांहों में लिए उसके दूध चूस रहे थे.

मेरा काम मोबाइल सेल करना था और मैं अपना काम बड़ी मेहनत और लगन से करती थी. आगे से मैं लंड को चूसने लगा और पीछे से वो मेरी गांड के छेद पर जीभ चलाने लगे. अब लग रहा था कि मैं कुतिया हूं और मामा एक ठरकी कुत्ते का रूप ले चुके हैं जो अपनी कुतिया को बुरी तरह चोद देना चाहते हैं.

मैंने कहा- क्यों अंकल कुछ नहीं करते क्या?आंटी वितृष्णा से बोलीं- वो मादरचोद हिजड़ा है … अब साले का लंड ही खड़ा नहीं होता है.

मैंने उनसे पूछा- कहां निकालूं?उन्होंने बड़े ही मादक स्वर में कहा- जानू मेरी चूत बरसों से प्यासी है. अम्मी ने अपनी घबराहट छिपाते हुए मुझे बताया- ये तेरे मामू के दोस्त हैं और यहीं इसी शहर में रहने आए हैं.

हिंदी भाभी के बीएफ मैं अपने हाथ से ज्योति की बुर को सहलाने लगा। उसकी बुर पर हाथ फिराते हुए बहुत मजा मिल रहा था. वो लोग बातें भी कर रहे थे और काम भी!तभी शेखर अंजलि की गांड में उंगली डालने लगा और अजीत उसकी चूत चूसने लगा.

हिंदी भाभी के बीएफ जब भी मैं हेमा चाची से बात करता था, तब हेमा चाची भी मुझे कामुक और हवस भरी नजरों से देखती थीं. उसकी चूचियां एकदम से उसकी छाती पर तन गयी थीं जिनके निप्पल एकदम से पहाड़ की चोटी जैसे नुकीले दिखने लगे थे.

मैंने फिर से उससे मोबाइल नंबर माँगा लेकिन उसने फिर से मुझे इग्नोर कर दिया.

अंग्रेजी ब्लू सेक्सी

अब वो मेरे गाल से गाल रगड़ कर मुझे ये सब बताते हुए मुझे उत्तेजित करने लगी थीं. मैं भाभी को फोन देते समय ये भूल गया उसमें सेक्स वीडियो अभी भी चल रही थी. उनका मर्दाना सरीर मेरी नजरों के सामने नग्न हुआ तो अब तो मैं मानो उन पर टूट पड़ी थी.

वो साहिल का लन्ड और गोलियां चूसने लगी।कुछ देर बाद साहिल ने रानी को खड़ा किया. मैं पूरे मूड में आ चुका था, तो मैंने हेमा चाची को अपनी बांहों में जकड़ा और अपने ऊपर खींच कर लिटा लिया था. दोस्तो, कैसे हैं आप सब लोग? मैं आर्यन हूं और अपनी स्टोरी का अगला भाग बताने आया हूं.

तो वो हंसते हुए अंदर गई और अपनी साड़ी उतार कर पेटीकोट का नाड़ा खोल दिया.

मेरे पहुंचने के बाद मैं उनसे मिला और कुछ देर रुकने के बाद मैं अपने कमरे में जाकर सो गया. जब मैं अपने झटके की रफ्तार तेज करने लगा तो ‘ईई उईई हह’ की सिसकारियां चाची के मुंह से निकलने लगी।मैंने चाची को बताया- मैंने बुआ, सुमन और सुनील की बहन को चोदा. मैं कमरे से बाहर आया और वहां किसी ऐसी जगह की खोजबीन करने लगा जहां मैं हिमानी की चूत का आनन्द ले सकूं।जल्दी ही बैंकेट हॉल के थर्ड फ्लोर पर कोने में एक छोटा सा कमरा दिखाई दिया जिसमें एक बेड पड़ा था.

उनकी चूत एकदम ग़ुलाबी और फूली हुई ऐसी थी जैसे उभरी हुई नान खटाई में दरार हो. करीब 20 मिनट की ताबड़तोड़ चुदाई के बाद मैंने सारा वीर्य नन्दा के अन्दर डाल दिया और उसकी चुत से हट कर बेड पर लेट गया. मैं आशा करती हूं कि मेरी पहली चुदाई की ये सच्ची कहानी आप लोगों को पसंद आई होगी.

वो बोला- क्या बात है? उदास लग रही हो?शालू- नहीं, काम के कारण थकान हो गयी है. अब मैं तुम्हारे ऊपर लेटकर तुम्हारी चूची दबाते हुए होंठों को पी रहा हूं.

गोली का असर बड़ा जोर दार था मेरा लंड अभी भी चैलेंजिंग मूड में तन्ना रहा था. सुबह से ही मौसम खराब था और हल्की बारिश हो रही थी जो अभी तक रुकी नहीं थी. तभी मैंने उसके हाथ से टी-शर्ट ली और अपने बदन पर पहनने की कोशिश करने लगा.

मुझे पता था कि अब मैं तीन तीन मर्दों से चुदने वाली हूं, ये मुझे चोदे बिना नहीं जायेंगे.

मैंने कहा- खा जाओ, रोका किसने है!अमन ने मेरी चूचियों को मसला और कहा- सच में कच्चा ही खा जाने का दिल कर रहा है. मेरे गोरे जिस्म को चोदने वाला अब कोई नहीं था और मैं चुदने के लिए बेताब होती जा रही थी. बस तू मेरी रंडी बन जा!दीदी ने कहा- साले तू छोटा है मुझसे … मगर तेरा लंड बहुत तगड़ा है। ओह्ह सुमित … बना ले अपनी रंडी मुझे, ले चोद। आआह्ह आअह्ह्ह … चोद साले चोद … और चोद … चोद अपनी दीदी की चूत को … बना दे इसका भोसड़ा साले कुत्ते!मैंने भी अब पूरे जोश में था और बोला- हां साली रंडी ले … चुदवा अपनी चूत को अपने भाई के लंड से.

इस सबसे एक बात साफ़ थी कि भाभी को मुझ पर पूरा भरोसा था कि मैं उनकी ब्लू फिल्म्स या नंगी वीडियो का कभी भी गलत इस्तेमाल नहीं करूंगा. अगली बार उसको लगा कि मैं फिर धीरे धीरे डालूँगा लेकिन इस बार मैंने पूरा लंड एक बार में ही उसकी चूत में घुसा दिया.

भाभी ने कहा- हां आपका ड्रम अन्दर है, किसी का सामान निकलना था तो हटा कर मैंने अन्दर रख लिया था. अब यहाँ क्या हुआ कि आगे पीछे वाली दो सीट के बीच में जो गैप होता है उससे होते हुए मुझे अपनी विंडो सीट तक जाना था. जवान जिस्म थे, तो जल्दी ही फिर से आग लग गई और हम दोनों ने फिर से चुदाई की.

बहू और ससुर

अभी तक मैं एक लंड को पाने के लिए तड़पती थी मगर मुझे पहली ही चुदाई में दो-दो लंड से चुत चुदाई का सुख मिल गया था.

जब तब मौका मिलते ही मैं चाची से चिपक जाता था और उन्हें चूम लेता था. अगली बार मैं आपको उसकी गांड चुदाई की स्टोरी बताऊंगा कि कैसे मैंने उसकी गांड चोदी. ए के फर्स्ट ईयर में हूं। मेरी उम्र 20 साल है और लंड का साइज़ नॉर्मल है। मैं यू.

एक गाना आया और इस गाने में काफी हॉट सीन थे।तो हमसे अगली सीट पर बैठे कपल ने किस करना शुरू कर दिया. अब मैंने उनको डॉगी के पोज में खड़ा किया और उनके चूतड़ों के बीच से चुत में लंड पेलने लगा. एक्स एन एक्स एक्स सेक्सी मूवीऔर मामी आहह आहह आहह करके चुदाई करवा रही थी।अंधेरे में कुछ दिख नहीं रहा था पर चुदाई की आवाज आ रही थी।मैंने अपने अंडरवियर में हाथ डाल दिया और लंड को सहलाने लगा।कुछ देर बाद दोनों की सिसकारियां बंद हो गई और चुदाई करके वो वैसे ही सो गए।मैं अपने बिस्तर पर आ गया.

मैंने उसकी चूत पर लंड को कई बार रगड़ा और फिर उसने खुद ही मुझे अपने ऊपर खींच लिया और मेरे होंठों को खाने लगी. उधर मुझे खुशबू मिली और बोली- कैसा रहा?मैं बोली- मस्त … लेकिन यार पूरा थक चुकी हूँ.

पर मुझे क्या … मैं उसे एक तरफ सरका कर बैठ गया और अपनी पढ़ाई करने लगा. फिर ये!आंटी- ठीक है तो तुम रूम में आ जाओ और ये बाहर बैठा रहेगा तब तक।अर्पित- ठीक है।अब हर्षदीप ने अर्पित से बोला- अरे भाई … कंडोम है क्या तेरे पास?अर्पित- नहीं है यार, अगर पहले पता होता तो साथ में रख लेता।ये सुनकर आंटी खुद ही बोली- अंदर सब रखा हुआ है. अर्पित का लन्ड अब चाँदनी चूसने लगी और हर्षदीप का लंड शीतल चूसने लगी.

उस रात मैंने कैसे उसको प्यार के समुन्दर में डुबो दिया कि वो हमेशा के लिए मेरी हो गई. अगले दिन सुबह मैं जल्दी उठ गया और जल्दी जल्दी तैयार होकर घर से निकला. धीरे धीरे करते करते डांस के दौरान तीनों ने मेरी साड़ी को मुझसे अलग कर दिया.

सेठ जी का लंड अब उनके बस में नहीं था; वो हवस की आग में जल रहे थे।तो सेठ बोला- चल संतो, मैं तेरा सारा कर्जा माफ कर दूंगा.

भाभी बेड पर पेट के बल लेट गयी।भाभी ने साड़ी पहनी थी तो मैंने उनको साड़ी पैरों पर ऊपर करने को कहा. ’ की आवाज निकलते ही मैं बहुत डर गया था, लेकिन तभी हेमा ने पीछे मुड़कर मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मुझसे कसके चिपक गईं.

वर्ना हमारा परिवार तो बर्बाद हो जाएगा बिना बच्चे के।मैं- दीदी फिर अपनी सास को कैसे बताओगे कि किससे चुदवायी है?वो बोली- कोई बात नहीं. फिर हेमा चाची मुझसे चिपक कर मेरे बगल में लेट गईं और उन्होंने मुझसे कहा- भास्कर तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं चाची, आपके रहते मुझे किसी गर्लफ्रेंड की जरूरत नहीं है. मैं- अब मैं तुम्हारे ऊपर लेट गया हूं और मेरा लंड तुम्हारी चूत में है.

वो बोले- जब शिकायत करनी ही है तो फिर अपना काम तो पूरा करके ही जायेंगे. उसने 3-4 झटकों के बाद अपने लंड का पूरा पानी मेरे मुँह में डाल दिया. मेरे पास आकर उसने कहा- देवू तेरे साथ कोई बैठा है क्या?मैं कुछ नहीं बोला क्योंकि मैं तो उसे ताड़ने ने बिजी था.

हिंदी भाभी के बीएफ आंटी सेक्स की कहानी में पढ़ें कि पापा ने मुझे उनकी विधवा चचेरी बहन के घर भेजा उनकी मदद के लिए. इस बार के धक्के से लंड चुत को चीर कर कुछ अन्दर पेवस्त हो गया था, जिससे अलीमा की चीख निकलने को हुई.

ईडियन सेकसी विडियो

मैं उस वक्त एकदम नंगा था और मैंने कमर से नीचे तौलिया को बांधा हुआ था, जिसमें से मेरा लंड फनफनाने की पोजीशन में खड़ा होने लगा था और तौलिया के ऊपर से ही अपना डीलडौल दिखा रहा था. मैंने कहा- प्लीज!वो बोली- नो!फिर मैंने अपनी लोअर में उठे अपने तंबू की फोटो उसको भेज दी. फिर हेमा चाची मुझसे चिपक कर मेरे बगल में लेट गईं और उन्होंने मुझसे कहा- भास्कर तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने कहा- नहीं चाची, आपके रहते मुझे किसी गर्लफ्रेंड की जरूरत नहीं है.

और उसके बाद अपने लन्ड से पूनम की और लन्ड के रस से पूनम के गले को तर कर दिया।इसके बाद साहिल चला गया और मैं भी अपने घर चली आयी।अब उस दिन के बाद से मैंने अपने इंस्टीटयूट की 5 महिला टीचर को साहिल से चुदते देखा. फिर मैंने उस चड्डी को अपने पजामे की जेब में छिपा लिया और मुँह हाथ धोकर कमरे में हेमा चाची के पास चला गया. sala सेक्सीमेरी इस हरकत से वो थोड़ा सकपका गया लेकिन वो भी कमज़ोर खिलाड़ी नहीं था.

दीदी नंगीही उठकर रूम के दरवाजे तक आई और कहने लगी- आते रहना मेरे पास!फिर मैं दीदी को बाय बोलकर आ गया.

दोस्तो, ये अकेली भाभी की चुदाई स्टोरी आपको कैसी लगी … प्लीज़ मेल करके जरूर बताएं. हां थोड़ा दर्द तो हो ही रहा है इसके साथ ही यह आंसू इसलिए निकल रहे हैं.

मैंने उन्हें सांत्वना देते हुए कहा- तुम रोओ मत प्लीज आंचल … नहीं तो मुझे भी रोना आ जाएगा. अपने अब्बू के जाने के बाद उसने तमाम जगह हाथ पैर मारे, जिससे उसका विदेश जाने का फैसला हो गया. फिर उसने मेरी बहन से कहा- जब भी मेरे लंड को तेरी चूत की जरूरत होगी तो तू मेरे पास चुदवाने के लिए आ जाना.

देसी चूत Xxx स्टोरी में पढ़ें कि गर्लफ्रेंड की बहन से मिलकर उसकी चुदाई का पुराना ख्वाब फिर से जाग गया.

कई महीनों तक चूतों की भीड़ में खेलने के बाद फिर धीरे धीरे मेरा मन इस धंधे से ऊबने लगा. वो मुझे अन्दर आता देख कर बोलीं- अरे क्या हुआ साहब … इस गरीब की कुटिया में आप?मैंने कहा- पानी मिलेगा?वो आंटी हंस कर बोलीं- जरूर साहब इसी से तो पेट भर रहे हैं अब तक!वो पानी लेने को पलटीं … तो मैं वहीं बैठ गया. अंजलि बोली- भोसड़ी के … अब मेरी चूत का क्या होगा?उसके बाद वो उसके लंड को फिर से हाथ में लेकर हिलाने लगी.

कॉलेजों की सेक्सीमैंने फोन करके अपने घर पर बोल दिया कि आज मैं बाहर बारिश में फंस गया हूँ इसलिए अपने एक दोस्त के घर ही रुक गया हूँ. वो मुस्करा दी और बोली- क्यों पहले नहीं लगती थी क्या?मैंने कहा- नहीं, ऐसी बात नहीं है, आज तो ऐसा लग रहा है कि तुम मेरी जान निकाल ही लोगी.

मोटू पतलू जोड़ी जोड़ी

उसका हाथ खुद-ब-खुद मेरी ट्राउज़र के अंदर चला गया और उसने मेरा लंड पकड़ लिया जो कि अब पूरा खड़ा हो चुका था. जैसे स्वादिष्ट व्यंजन देखकर हमें उसे खाने की इच्छा होती है उसी तरह जब हम किसी सुन्दर स्त्री को देखते हैं तो उसे भोगने का मन करता है।यह इन्सान के शरीर की एक स्वाभाविक प्रक्रिया है।जब हमारे शरीर में वासना पूरे चरम पर हो तो उसमें फिर रिश्ते भी दिखाई नहीं देते हैं. अपने पैर चौड़े करने के बाद मैंने उनसे बोला- अब बात को घुमाओ मत … आप सबको जो करना है, कर लो.

उधर हेमा चाची लंड की चोटों से जोर जोर से सिसकारियां ले रही थीं- आह्ह्ह … आह्ह … अईईया … उईई ईया …मैं अपना लंड हेमा चाची की चूत के अन्दर बाहर उतनी तेजी से कर रहा था कि हेमा चाची की आंखें ऊपर चढ़ गई थीं. चाची क्या मस्त लौड़ा चूस रही थी।अब मैं भी लंड के झटके मारने लगा उसके मुंह को चोदने लगा।थोड़ी देर बाद मैं उसके ऊपर आ गया और उसकी चूचियों को मसलने लगा, चूसने लगा. वो सेक्स कहानी मैं अगली बार लिखूंगा और आपको बताऊँगा कि आंटी के साथ और क्या क्या हुआ.

अलीमा यह भी सोच रही थी कि न जाने चुत चुदाई में कितना आनन्द आता होगा … पर अभी इतना आनन्द आया है तो पूरी चुदाई में सच में भरपूर मजा आता होगा. फिर मैंने उसकी ब्रा निकाल कर उसके बड़े बड़े मम्मों को दबाने और मसलने लगा. भाभी भी अपनी चुत की रबड़ी पूरी खाली करने के बाद बिस्तर पर निढाल गिर गई मगर मैं उसकी चुत को चाटने में लगा रहा.

लेकिन मेरी सास अभी भी उखड़ी हुई थी क्योंकि मेरी चूत में फुल स्पीड में लन्ड घुस रहा था जिसकी फट फट की आवाज़ फ़ोन के पार जा रही थी. मेरे कमरे की टीवी में एक हॉलीवुड की फिल्म चल रही थी, जिसमें उसी समय हीरो और हीरोईन के बीच कुछ अतरंग सीन चलने लगे.

करीब 5 मिनट के इंतजार के बाद हिमानी भी वहां आ गई और बोली- अनुराग मुझे डर लग रहा है.

पिछली रात हुए चाची की चुत चुदाई और उनके साथ हमबिस्तर होने के बाद से मैं हेमा चाची की चाहत में डूबता जा रहा था. खून निकलता हुआ सेक्सी वीडियोमैं उसकी चूत चाट रहा था और वो मेरे लौड़े के ऊपर जीभ से चाट रही थी जहां से मेरा पानी निकलता है. मां बेटे की चुदाई वाली सेक्सी वीडियोउस चुदाई की कहानी और मुखिया की कमसिन लौंडिया कोमल की चुदाई की कहानी को मैं बाद में लिखूंगा. उसके अकेलेपन के कारण वो उदास थी मगर मुझसे मिलने का बाद वो खुश रहने लगी थी.

फिर मैंने एक जोर का झटका दिया और मेरा आधा लंड उसकी चूत में घुस गया.

इस बार अपने चूचे दबवाने के साथ अलीमा बीच-बीच में बोल रही थी- आह अंकल … मेरे बूब्स को जोर से दबाइए. इधर आकर मां ने कहा तो मैं उन्हें साथ लेकर अपने मामा जी के यहां आ गया था. और आपको क्या अच्छा लगा? मुझे जरूर बताएं।बाबा सेक्स पोर्न स्टोरी पर भी अपने विचार प्रकट करें.

हम दोनों के बीच बहुत मस्ती मजाक होता रहता था। वो मुझसे हमेशा ही खुश रहती थी. अगले ही पल मैंने बोला- हां चाची … मैं आपकी रसीली चूचियों को मुंह में लेकर उनके निप्पल काटना चाहता हूं. जिस पलंग पर रात को अमन के साथ मेरी चुदाई होने वाली थी, उस पलंग और रूम को मैंने सुहागरात जैसा सजाया था.

రాజస్థాన్ సెక్స్ వీడియో

लंड अब पूरा शालू की चूत में अच्छी तरह सेट हो गया था और शालू को मजा आने लगा था. तू मुझे बता कि तू क्लाइंट कैसे बनाती है!खुशबू बोली- तुझे चाहिए तो मैं तेरे लिए भी क्लाइंट दे सकती हूँ. मैं सब भूल चुकी थी कि मैं पब्लिक बस में किसी अनजान का लंड चूस रही हूं.

मैं बोली- अरे यार मैं क्या करूं … मेरे पति को झांटों वाली चुत ही पसंद है और वो ही अपनी मर्जी से झांटों को साफ करते हैं.

हिंदी गांड मारी कहानी शुरू करने से पहले मैं आपको अपने बारे में बता देना चाहता हूं.

उसने अपने दोनों हाथ से मेरे दूध को थाम लिए और मैं हल्के हल्के अपनी कमर मटकाते हुए लंड अन्दर बाहर करने लगी. मैं भी उठ कर उनके पीछे गया और उनकी चूत में अपना लंड डाल कर तेज़ी से चोदने लगा।इस चुदाई के खेल को चलते हुए लगभग 15 मिनट हो चुके थे। मेरा लन्ड भी पानी छोड़ने वाला था. एक्सएक्स सेक्सी विडियोमेरे नितम्ब मम्मी के सामने थे।कुछ देर बाद मम्मी सो गई और कुछ मिनट बाद मैं भी सो गया।जल्द ही अगला भाग आएगा। तब तक मेरे साथ बने रहें और कहानी का मजा लेने के लिए तैयार रहे।यह पहले दिन की ही कहानी है.

फिर वो बोली- मैं इतनी भी बुरी नहीं जितना तुम मुझे समझ रहे हो।मैंने उनको देखा तो वो थोड़ा मुस्करा रही थी।फिर मैं भी उनको देख मुस्करा दिया. वो ब्लू फिल्म गैंग-बैंग कैटेगरी की थी, जिसमें एक लड़की के साथ 3-3 लड़के सेक्स कर रहे थे. ‘आआह विजय … आह कितना मजा आ रहा आआह … और करो विजय आआह तुम कितना मस्त चुदाई करते हो आआआह … मम्मीईई.

उधर से लौटते वक्त चाचा को काम से बाहर जाना था, तो वो वहीं से निकल गए और मैं अकेली यहां आ गई. कुछ ही देर तक चुत को चूसा, तो माला मैडम की कराहें भरपूर वासना बिखेरने लगीं.

हालांकि उनके पति के लंड की परफॉर्मेंस काफी चूतिया किस्म की थी, इसलिए भाभी को मेरे मोटे लंड से चुदने में मजा आता था.

इस तरह से मकानमालकिन आंटी की बेटी की चुदाई करके मैंने पूरा मजा लिया. ऐसा लग रहा था कि मैं पोर्न मूवी की हेरोइन हूँ और मेरे आसपास चार चार लंड थे. आज कहां ले जायेंगे?अनमोल- प्रणव को नहीं बुलाओगे क्या? सिर्फ उसकी बहन को बुलाओगे?रोहन- दोनों को बुलाओगे तो फिर चुदाई कैसे होगी उसकी?अनमोल- मेरा घर पूरा खाली है, मेरे घर पर उस रंडी अंजलि का नंगा नाच करवा लो।मोनू- कंडोम सबके लिए हम ले आएंगे.

फुल सेक्सी वीडियो चोदी चोदा पहले मेरे हाथ उसके चेहरे को जकड़े हुए थे लेकिन फिर जल्दी ही एक हाथ उसकी चूचियों पर चला गया और दूसरा नीचे जाकर उसकी चूत को सहलाने लगा. क्योंकि वो सही लड़का है और तुम्हारी सारी सहेलियां बेकार।अब मुझे भी अंदर से खुशी थी साहिल के हमारे घर रुकने की!तो दादी ने साहिल की मम्मी को फ़ोन करके बोला कि वो साहिल को कुछ दिनों के लिए हमारे घर भेज दें.

मेरा लंड अभी आधा ही चुत में गया था कि वो चीखने लगी- आह मर गई … निकालो इसको … आह बहुत दर्द हो रहा है. मैंने अपने हाथ से उसकी ब्रा के हुक को खोला और उसको उतार कर अलग कर दिया, उसकी चूचियां एकदम से बाहर फुदकने लगीं. वो मेरे कान में धीरे से फुसफुसाई- क्या कर रहे हो राहुल?मैं- तुम जबसे आयी हो, मैं तभी से तुम्हारे लिए तड़प रहा हूँ.

फुल नंगी सेक्सी फोटो

मैडम की एक लम्बी आह निकल गई मगर वो घाट घाट का पानी पिए हुई थी इसलिए उसने एक दो झटकों के बाद ही लंड को चुत में जज्ब कर लिया. हम दोनों ने अपने जन्मजात जैसे नंगे बदन मिला दिए और एक दूसरे को चूमने लगे. कुछ टाइम बाद भाभी ने तिरछी निगाहों से मुझे देखा और पूछा- ऐसे क्या देख रह हो?मेरे मुँह से निकल गया कि आप इस ड्रेस में बहुत सुन्दर लग रही हो.

मेरे परिवार वाले उनसे खुलकर बात करते थे लेकिन मैं चाची से थोड़ा दूर ही रहता था. रंग की थोड़ी सांवली है मगर फिगर ऐसा कि किसी भी हालत खराब कर सकता है.

बलविंदर इस समय ये भूल गया था कि वो बाथरूम में अलीमा की बुर के बाल बनाने के लिए आया था.

इस हॉट पड़ोसन की चुदाई स्टोरी के सभी पात्रों के नाम और स्थान काल्पनिक हैं. मामी अक्सर घर से ही अपने ऑफिस का काम करते हैं और वो कभी मामी को अकेला नहीं छोड़ते हैं क्योंकि मामी को अकेला रहने में डर लगता है. वो भी मेरा साथ देने लगी। जब भी मैं मैडम की चूत में लन्ड डालता तो मैडम भी अपनी गांड ऊपर उठा देती.

प्लीज़ अंकल उसको शांत कीजिए ना!इस बार बलविंदर ने अलीमा की चूची को मरोड़ते हुए पूछा- कैसा लग रहा है बेबी … तुम्हें मजा तो आ रहा है न?बलविंदर अलीमा को और अधिक तड़पाना चाह रहा था, उसे चुदाई की भाषा बोलने के लिए उकसा रहा था; साथ ही बलविंदर अलीमा को अहसास दिलाना चाहता था कि तुमने क्या मिस किया. कुछ लोग तो अपने मन में दबी भावनाओं को ऊपर आने से रोक लेते हैं लेकिन कई बार ये भावनाएं हमारे ही मन पर बोझ बनकर उसे दबाने लगती हैं, इसलिए उनको बाहर लाना जरूरी हो जाता है. फिर अपने दांतों से उसका होंठ खूब मसला … इतना कि साहिल के होंठ से खून आ गया.

मैंने भी जोर नहीं डाला क्योंकि मैं उसको चोदने का मौका छोड़ना नहीं चाहता था.

हिंदी भाभी के बीएफ: हाथ धुलते हुए वो मेरी तरफ देख रहा था और मुझे बहुत ज्यादा शर्म आ रही थी. मगर वो कैसे चुदी और प्रियंका के साथ और क्या क्या हुआ वो सब मैं आपको अगली गरम सेक्स की स्टोरी में बताऊंगा.

चूंकि मैं उसके पीछे पीछे था तो कार में बैठते हुए मैंने उसकी वीडियो बना ली. फिर क्या हुआ?हैलो साथियो, अन्तर्वासना की हिन्दी सेक्स कहानियों को पसंद करने वाले पाठक और पाठिकाओं का स्वागत है. मेरे बाहर आते ही चाची ने मुझे अदरख वाली चाय पकड़ा दी और कहा- मैं तुम्हारे कपड़े वाशिंग मशीन में सुखा देती हूँ … कुछ ही देर में वो पहनने लायक हो जाएंगे.

जैसे ही मैंने पीछे से ब्रा का हुक खोला, तो हेमा चाची की मस्त गोल गोल फूली हुई चूचियां बाहर की ओर फुदकने लगीं.

फिर पूनम के पैरों को अपने कंधे पर रख कर मक्खन में गर्म चाकू की तरह उनकी चूत में लंड घुसा दिया. उसका एक एक बटन खोलने पर मम्मों के उभारों का साइज बढ़ता महसूस हो रहा था. दीपक ने मुझसे बोला कि आप भी उतार दो न … आपको भी तो गर्मी लग रही होगी!मैंने बोला- ठीक है.