भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ

छवि स्रोत,बीएफ सेक्सी वीडियो हिंदी सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी हिंदी म्यूजिक: भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ, मैं अनजान बन कर बोला- नहीं तो … क्या बात!वो बोला- अनु कह रही थी कि उसने आपको बता दिया है.

बीएफ चाहिए देसी

तभी मैंने नेहा से कहा- यार क्या तुम मुझे होटल घुमाने और शादी के बारे में समझाने के लिए थोड़ा टाईम दोगी?नेहा थोड़ा सोचने लगी, फिर कहा- सर आप लंच कर लीजिए. नई-नई बीएफ फिल्मनाभि में जीभ जाते ही शायरा तो जैसे जल बिन मछली की तरह तड़फने लगी … या फिर ये कहें कि गुदगुदी से वो नाचने लगी.

उसका मेरे लंड को चूसना मुझे ऐसा अहसास दे रहा था कि मानो मैं जन्नत की सैर कर रहा हूं. इंग्लिश सेक्सी बीएफ दिखाओवह सभी के बीच में बैठी बैठी अपनी जांघों को भींचती रही और उसकी चूत पानी छोड़ती रही.

उसका लण्ड मेरे मुंह के अंतिम छोर तक जा रहा था और मेरे मुंह से थूक की लार गिर गिर कर मेरे घुटनों और मेरे बूब्स पर गिर रही थी.भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ: जैक निशि के बूब्स को दबाने लगा और रोनित उसके गोल चूतड़ों को मसल रहा था.

नहा धोकर मैंने एक लाल रंग की स्लीवलेस नाइटी पहन ली जो मेरे घुटने तक आ रही थी.गार्ड लालची था, वो रूपए उठाते हुए बोला- हो जाएगा सब इंतजाम … चलो अभी चलते हैं.

सेक्सी बीएफ पिक्चर पिक्चर - भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ

अब जैसे ही संजय के लंड ने अपना स्खलन ख़त्म किया तो नेहा ने संजय का लंड अपने मुंह में लेकर चूसना शुरू कर दिया.वे मुझे लगातार किस भी किए जा रहे थे; एक हाथ से मेरे बूब्स भी दबा रहे थे और नीचे से मेरी चुदाई भी कर रहे थे.

अभी तक आपनेकनाडा से आई देसी चूत का मजा- 3में पढ़ा कि कैसे नेहा और गीत की चूत को चूस चूस कर खाली करने के बाद मैंने और संजय ने उन दोनों जवान लड़कियों की गांड चुदाई की. भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ जैसे ही सौरभ का हाथ मेरी जांघों से होता हुआ मेरी चूत पर पड़ा, मैंने सौरभ के लण्ड को भींच दिया.

मैंने कहा- भाभी, कैसे विश्वास आएगा आपको? मैं सच में बहुत ही विश्वसपात्र आदमी हूँ, मैं कभी दूसरे को धोखा नहीं देता और आपके लिए तो मेरी जान भी हाजिर है.

भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ?

रिया कुतिया बने हुए ही अपने बाप का मोटा लंड अपने मुँह में भरकर चूसने लगी. लिंग की मोटाई से मेरी कराहें कम ही नहीं हो रही थीं क्योंकि कविता निरन्तर दबाव डाल रही थी और उसकी कमर में बंधा नकली लिंग हल्के-हल्के से मेरी योनि को चीरता हुआ भीतर प्रवेश कर रहा था. कोई 10-15 मिनट बाद रश्मि कमरे के अन्दर आयी और अच्छे से अपने कमरे दरवाजे और खिड़कियों को बन्द करके पर्दा-वर्दा अच्छे से लगाकर उसने लैपटॉप ऑन किया.

घर आकर मैंने अपनी सिम तोड़ कर फेंक दी और मेल आईडी भी बंद कर दी, जिससे रवि मुझे कॉल न कर सके. मैंने उसके पति की तरफ देखा, तो उसका चेहरा एकदम लाल था और वो मोबाईल मुझे देकर बोला- फूफा जी, आप बहुत अच्छा सेक्स करते हैं. मैंने मामा के जाते ही सीढ़ियों वाले दरवाज़े को बंद किया और तुरंत कपड़े खोल कर नंगा हो गया.

अन्जना के साथ मैं मस्ती करने के लिए पूरी तरह से तैयार और उतावला था. अब व्हाट्सएप पर चैट के दौरान कई बार मैं प्यार और रोमांस की बात करने लगा था. मेरे लंड से इतना पानी रिस रहा था कि उसने दीदी की चूत को भी चिकनी कर दिया था.

चार दिन बाद मैं उनके घर गया और भैया भाभी से बातें करके वहां से अपने घर आने लगा. मम्मी ने भैया भाभी को बताया कि इसके स्तन में गांठ है और डाक्टर ने आपरेशन के लिए बोला है.

मैंने अपने लंड को चुत की फांकों में ऊपर की तरफ दबाते हुए घिसा और बाहर निकाल लिया.

आप मेरी खुशी के लिए आ रहे हैं, तो मैं आपको किसी भी तरह की तकलीफ नहीं होने दूंगी.

चुदाई करते हुए 2 घंटे से ज्यादा बीत चुके थे … फिर ना चाहते हुए भी हमें बाहर जाना पड़ा क्योंकि काफ़ी समय से बच्चे अकेले थे. वहां पर ना तो कोई दुकान थी और ना ही कोई घर था, बस एक दो बड़े बड़े पेड़ ही थे … जिनके नीचे अब कुछ दो पहिया वाहन वाले जा जाकर खड़े होने लग गए. मैंने अपना व्हाट्सएप नंबर उसे दे दिया और गुड नाईट बोल कर आगे बढ़ गया.

मैंने अपने दोनों हाथ धीरे से उसकी गांड पर रखते हुए उन्हें दबा दिया. साली की चुत की कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी साली को लंड दिखाकर उसकी वासना को जगाया. उसने दोबारा अपने लंड को हाथ से पकड़ कर गांड के छेद में सैट किया और एक तेज झटका दे मारा.

उसने पीछे से मेरे दोनों मम्मों को पकड़ा और अपने लण्ड को मेरी गांड में चुभोने लगा.

अंकल आंटी को रिलेश भैया के ससुराल वालों के साथ कपड़ों की खरीददारी करने के लिए जयपुर के किसी परिचित के शोरूम पर जाना था. उसने बेड के पास पड़ा मेरा मोबाईल लिया और अनु से बोला- चल फटाफट शुरू हो जा. वाकयी में चूसने में बेहद आनंद आ रहा था जैसा हर लौंडिया के चूचुक चूसने में आता ही है.

मैंने फिर से अपनी बात शुरू की और भाभी से पूछा कि बताओ कि वो आपका क्या ध्यान नहीं रखता?भाभी बोलीं- आप अपनी बीवी का जितना ध्यान रखते हो, वो इतना भी नहीं रखता है. मेरी जीभ के पैंटी के ऊपर से ही चूत को छूने से शायरा के मुँह से गर्म सीत्कार निकल गयी. उस स्थिति में मुझे पहले निकलना पड़ता है और बाद में मेरी बीवी कपड़े पहन कर निकलती है.

उफ्फ्फ मत करो न …’ ऐसी कामुक आवाजें उसके मुंह से आने लगीं और उसने अपनी जांघें मेरी गर्दन में लपेट कर लॉक कर दीं और अपनी कमर उठा उठा कर चूत को मेरे मुंह पर रगड़ने लगीं.

फिर भाभी को दरवाज़े से चिपका कर उनके सूट को ऊपर कर मैं घुटनों के बल बैठ गया और उनके दूध पीने लगा. क्योंकि सासू माँ तो ज़्यादातर दवाइयों के कारण बेहोशी की हालत मैं ही सोती रहती थी.

भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ मैं उसकी जांघ के सामने बैठकर पन्द्रह मिनट मुठ मारता रहा … तब जाकर मेरे लंड ने वीर्य का त्याग किया. मेरे होंठों में निप्पल दब गया था और उनकी मादक सिसकारियां निकलने लगी थीं.

भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ ”सानिया ने आश्चर्य से मेरी ओर देखा। शायद उसे प्रीति और उसके बॉय फ्रेंड की तारीफ़ अच्छी नहीं लगी थी। नारी सुलभ ईर्ष्या के कारण ऐसा होना लाजमी था।मैंने बोला तो है घर का काम करने के बाद आपको दिखा दूंगी. मैंने हल्की सी स्माइल दी तो उसने भी हसरत भरी स्माइल देकर अपनी हथेली और उंगलियों को धीरे से नीचे करके बॉय कर दिया और वे लोग चले गए.

इधर मैं बेहोशी की हालत में आ गई और दर्द से चिल्ला रही थी- छोड़ दो मुझे आअहह अहह आअहह आहह मैं मर गई.

देसी रंडियों की सेक्सी वीडियो

आंटी ने मुझे खड़े- खड़े बांहों में भर लिया और मेरे लौड़े को अपनी चूचियों पर लगा लिया. मेरे लंड को दीदी ने धीरे धीरे करके अंदर ले लिया और वो फिर अपनी चूचियों को मसलने लगी. मैंने कहा- भाईजान, माल निकलने वाला है क्या?वो बोले- हां, बस आने वाला है … आह्ह … तेरी चूत में ही निकालूंगा डार्लिंग।मैं बोली- नहीं, मेरे मुंह में निकालना.

मैं रोज ट्यूशन पढ़ाते समय एक कप कॉफी पीता था, जो सलोनी भाभी खुद या कभी कभी उनकी नौकरानी बना कर मुझे दे जाती थी. इस पर उसने भी साफ साफ कह दिया कि मैं ऐसा कुछ नहीं चाहती हूँ … शादी की बात तो क्या, मैं तो मिलना भी नहीं चाहती हूँ. उधर उसकी जीभ लंड पर चल रही थी और इधर मेरी उसके दोनों छेदों पर घूमने लगी.

तो दोस्तो, जब उस दिन हम पहली बार मिले तो हमारे बीच में इतना ही सब कुछ हुआ था जो मैंने आपको बताया.

चूंकि मेरे हाथों पर भाभी ने अपने हाथ रख लिए थे और पूरे सर के साथ वो मेरे हाथ को कुछ अजीब से ढंग से दबाते हुए अपने सर की सेवा करवा रही थीं. अब वो मेरे पास आया, उसने मेरा हाथ पकड़ा और बोला- मैं कब से इस दिन का वेट कर रहा था. उसके लंड को मैं अपने होंठों पर लिपस्टिक जैसे रगड़ती हुई उसके एक आड़ू को पूरा का पूरा मुँह में भरके चूसने लगी.

उसी समय अनीता ने कहा- मान गए सर आपको … तीन रंडियों को एक साथ धूल चटा देना बच्चों का खेल नहीं है. फिर रोहिणी को कमोड के नीचे बैठा कर उसे लंड की ओर इशारा करके लंड को मुँह में लेकर चूसने का कहा. अन्जना के साथ मैं मस्ती करने के लिए पूरी तरह से तैयार और उतावला था.

आप अब तक की भाभी देसी सेक्स कहानी के पिछले भागलॉकडाउन में मस्त पड़ोसनमें पढ़ चुके थे कि कविता भाभी ने मुझे जगा हुआ देखा तो वो मेरे सीने से लग गई. इसलिए जब डॉली और अन्नू की ट्रेनिंग खत्म हुई तो वो सीधा भोपाल से मुंबई आ गयीं.

पायल ने कहा- अच्छा तो अब ये बताओ हम दोनों में से कौन ज्यादा सुंदर है. दूसरी तरफ निशि, रोनित और कमल के लंड चूस रही थी और रोहिणी अरुण और नील के साथ लगी हुई थी. एक दो बार चुत की फांकों में लंड का सुपारा घिसा तो पूजा गांड हिलाने लगी.

मैंने उसकी कमर में हाथ डाल दिये और उसकी गांड पर अपनी दाहिनी टांग को चढ़ाकर उसको जोर जोर से चूसने लगा.

साड़ी को उतारकर मैंने उसे नीचे फेंक दिया और शायरा के दोनों पैरों के बीच आकर पेटीकोट के ऊपर से ही उसकी चूत पर किस कर दिया. धीरे धीरे जब उसका काला नाग मेरी ज्वालामुखी के सुरंग में पूरा घुस गया, तो वो रुक गया और मेरी तरफ देखने लगा. मैडम ने मुझसे पूछा- आप कहां हैं?मैंने बताया- मैं स्टेशन से बाहर आ रहा हूं.

दीदी ने मुझे बांहों में भर लिया था और मेरा लंड उसकी चूत पर रगड़े जा रहा था. वो- क्या कर रहा है ये बच्चों के जैसे?मैं- अरे मजा‌ आ रहा‌ है … तुम‌ भी‌ आ जाओ.

तू बोले तो आगे करूं, नहीं तो बाहर निकाल लूं?अनु गुस्से से हांफते हुए बोली- भड़वे साले इतना दर्द देने के बाद अब लंड बाहर निकाला, तो साले मैं तेरी मां चोद दूंगी. गुजरते पांच साल से मेरी मामी अपनी वासना पूरी करने में मेरा इस्तेमाल करती रही. वो दोनों अंदर चली गयीं और फिर कुछ देर के बाद वो सेक्स डॉल अपनी कुछ आइटम लेकर काउंटर की ओर आयी.

सीताराम मूवी

तो मम्मी डांटने लगी, कहने लगी- एक बार जाकर चैक करवा लोगी तो क्या हो जाएगा!उस दिन मेरा बिल्कुल भी मन नहीं था जाने का … क्योंकि मैं ठीक हो गयी थी.

उस दिन मुझे पता चला कि चुदाई क्या होती हैं।अगली रात भी वो मेरे पास आये और फिर से तीन बार चुदाई हुई।इस तरह जितने दिन मेरे पति बाहर थे, वो रात में आते थे।हम दोनों ही मौके को देखते हुए इस प्रकार मिलने लगे. हम तीन और कुछ और लोगों के अलावा किसी को उस जगह के बारे में नहीं पता है कि वहां पर क्या होता है. मैंने कहा- रोहन, तुम नीचे खड़े हो कर बिन्नी का इंतजार मत करना, अपने घर चले जाना, ऐसा न हो कि पुलिस वाले आस पास हों और तुम दोनों को फिर तंग करें.

अगर सिर्फ तीन चार दिनों के लिए तू 10 लाख ठुकरा रही है तो तेरी मर्जी।रिया डर गयी और बोली- ठीक है, ठीक है, मुझे मंजूर है. उसकी जवानी अभी-अभी खिली थी, चिकनी चूत भी ऐसे लग रही थी मानो कली का फूल बनना बाकी हो. बीएफ चुदाई भोजपुरीवो भी कह रही थी कि मैंने बहुत से इंडियन बॉय से चुदाई करवाई है लेकिन अरमान की तरह किसी ने नहीं चोदा.

डाल दो अपना वीर्य मेरी बच्चेदानी में … बना दो मुझे अपने बच्चे की माँ … दे दो मुझे अपना बच्चा!हम दोनों की बातें मोबाइल में रिकॉर्ड हो रही थी और हम दोनों मोबाइल को देख कर मुस्कुरा रहे थे. कल के दिन मुझे कोई दिक्कत न हो, इसलिए आपको मेरे मोबाईल से फोटो ग्राफ़ी और वीडियो शूटिंग करनी होगी.

अब उसी कहानी को आगे बढ़ाते हुए आगे की नॉन वेज कहानी सेक्स की लिख रही हूँ. इसी बात पर कभी-कभी मम्मी से मेरी लडाई भी हो जाती थी।दोस्तो, अब मैं आपको अपने जीजू के बारे बता दूँ. Xxx बूर वाली कॉलगर्ल बेटी ने एक बार अपनी बाप से चुदवा कर दोबारा सेक्स नहीं करने दिया तो बाप ने एक नई जवान कालगर्ल बुला ली.

मैंने उसको नीचे कर दिया और पूजा से कहा- पूजा इस साली के मुँह पर बैठ जा और इससे अपनी चूत चुसवा. फिर जब भाभी ने सामान लेकर वापस किचन की तरफ चलना शुरू किया, तो मैं उनके पीछे पीछे किचन में चला गया … और खुद से नलके से पानी निकालने लगा. जब ये दोनों मेरा मेकअप कर रहे थे … उस टाइम मेरी गांड की खुजली और मेरे अन्दर की औरत की वासना दोनों ही काबू से बाहर हो रही थी.

मैंने अपना मुँह उनके चूचों से हटाया और पजामी को उतारने की कोशिश की.

उनके मुस्कुराने का कारण जानने के लिए मैंने अपने लंड को तरफ देखा, तो पाया कि वो मेरे बरमूदे के अन्दर तम्बू बन चुके लंड को देख कर स्माइल कर रही थीं. कई बार अपनी बीवी या गर्लफ्रेंड से भी हम ऐसे अंदाज में ऐसी सेक्सी बातें नहीं कर पाते.

उस दिन में अरुण को पढ़ाते समय भी मैं सलोनी भाभी के सेक्सी शरीर के बारे में ही सोच रहा था. ये सुनकर उन्होंने कहा- अरे हां, मुझे आपके भैया ने आपके बारे में बताया था. उनका पूरा वजन अब मेरे ऊपर ही आ गया था। मेरे मुख से आआ आआह आआआआह निकल रहा था।अब उन्होंने लंड को अंदर करना शुरू कर दिया और जल्द ही उसका सुपारा मेरी गांड में घुस गया।मुझे तेज़ दर्द हुआ- ऊऊऊ ऊऊईई ईईईई मा मम्मी आआआह!वो रुके नहीं और पूरा लंड मेरी गांड में पेल दिया।मैंने अपने होंठों को मुख में दबा लिया.

शायरा की आंखें, जो प्यार की गर्मी से जल रही थीं, उसे अपने होंठों से ठंडा करने के लिए मैं अब उसकी आंखों पर किस करने लगा. बाप का लंड गांड में लेकर वो उस पर जोर जोर से उछलने लगी और मस्त सिसकारियां लेने लगी- आह्ह यसस्स डैडी … उफ्फ तुम्हारा लंड डैडी, मुझे चुदने में बहुत मजा आ रहा है … आह्ह ओहह् याहहह … हम्म … वाह्हह … फक मी हार्ड डैडी।रमेश- हां साली कुतिया … क्या मस्त गांड है तेरी … आह्ह चोद चोद कर गुफा कर दूंगा इसकी … आह्ह चुद साली रांड।रिया लगातार रमेश के लंड पर उछलती रही और ऐसे ही 15 मिनट तक ये चुदाई चली. पर आज मैं एक वादा तुमसे करता हूं कि जिंदगी भर तुम्हारा साथ नहीं छोडूंगा, तुमसे ऐसे ही प्यार करता रहूंगा.

भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ मेरा मानना है कि पराए मर्द का लण्ड तो हर औरत को एक बार अपनी चूत में लेना ही चाहिए. तो दोस्तो, आपको मेरा यह चुदाई का किस्सा, न्यू अन्तर्वासना कहानी कैसा लग रही है? मुझे ज़रूर बताना!मेरी मेल आइडी है[emailprotected]न्यू अन्तर्वासना कहानी का अगला भाग:हस्पताल में लगवाए दो दो टीके- 2.

सेक्सी वीडियो मम्मी

मैंने उनके होंठ चूसना शुरू कर दिए तो उन्होंने भी अपने होंठ चुसवाने में मेरा पूरा साथ दिया. अब वो अपनी कमर मेरी जीभ के साथ चलाने लगी और अपने मुँह से ‘उह्ह आह …’ की आवाजें भी कर रही थी. फिर उन्होंने पोजीशन बदल के मुझे बिस्तर पर लिटा दिया और आकर मेरे ऊपर चढ़ गए.

अब मैं मायूस भी होने लगी और सेक्स के लिए उतावली भी!क्योंकि सूरज हर बार मुझे गर्म करके छोड़ देता था. क्या सारी जिन्दगी बिना सेक्स के रहूँ?मैंने कहा- मुझे सोचने का समय दो. बीएफ श्रीलंकाफिर वो पेट पर चाटते हुए नाभि पर आ गये और मेरी नाभि में जीभ डालकर चूसने लगे.

वो बोली- पहले हम खाना खा लेते हैं और उसके बाद फिर प्रोग्राम शुरू करते हैं.

मैं अब वैसे ही उसकी झूठी चम्मच को चाट चाट कर खाना खाता गया और वो मुझे देख देख शर्म से लाल होती गयी. आज के चुम्बन के बाद से अब अभिषेक मुझसे भी बहुत खुल गया था … और मैं भी उससे काफी खुल गई थी.

मोहन भी मेरी चुत में ज़्यादा वक्त टिक नहीं पाया और अगले एक मिनट में ही वो मेरी चूत को अपने माल से भर कर मुझसे उतर गया. घर आकर मैंने अपनी सिम तोड़ कर फेंक दी और मेल आईडी भी बंद कर दी, जिससे रवि मुझे कॉल न कर सके. आप लोगों का प्यार ही मुझे सेक्स कहानी लिखने को प्रोत्साहित करता है.

दीपिका मेरी बालकॉनी के एक कॉर्नर में बने छोटे से किचन में चली गई और मैं बाहर दरवाजे पर खड़ा हो गया.

मैं बेड पर बैठ गया गीतिका को अपनी टांगों के बीच में पीठ घुमा कर खड़ा करके उसकी मादक पीठ पर हाथ फिराने लगा. मेरी कॉलेज की गर्लफ्रैंड को मैं हफ्ते में कम से कम 3 बार जरूर चोदता था।फिर मेरा ब्रेकअप होने की वजह से मैंने कुछ ऑनलाइन जिगोलो वेबसाइट और क्लब में कोशिश करी, लेकिन सब फ़र्ज़ी थे। मैंने कुछ पैसे भी उसमें बर्बाद कर दिए।आखिर में एक फेसबुक पर एकाउंट बनाया. अभी नहीं, जब तुम्हारा दिल करे, मैडम से मेरा नंबर लेकर मुझे फोन करना.

हिंदी सेक्सी बीएफ बीएफ हिंदी सेक्सीमौसी के जाने के बाद मैंने देखा बहुत सारी लड़कियां वही डांस प्रेक्टिस कर रही थीं. ज़रा सा चूत ऊपर को सरकाती, शायद एक या दो इंच और फिर धमाक से नीचे लेकर बच्चेदानी से लंड को टकराती.

पंजाबी सेक्सी पिक्चर एचडी

मैं सोचती हूँ कि जितना टाइम कहानी लिखने में लगाऊंगी, उतने में तो मैं दो राउंड चुत में लंड के ही करवा लूं. तो सनी बोला- देखो न मासी, दीदी मेरी एक भी बात नहीं मानती हैं और डांटती भी हैं. जब चूसने से भी लंड का पानी नहीं निकला, तब वो मेरी जीभ को अपने होंठों से चुंबन देने लगी.

अब भाभी मेरे लंड को अपने मुँह में भर कर चूसने लगीं और मैं उनकी चिकनी चूत का रसपान करने लगा. मैं फुल मस्ती में आ चुकी थी और विजय मेरी गांड के छेद को चाटने में व्यस्त था. थोड़ी देर के बाद मैंने उनको ऊपर उठाते हुए खड़ा किया और उनके चूचों को चूसने लगा.

जानते हो रमित, जिस दिन हम सब कुछ भूल कर एक दूसरे में समा गए थे … पता नहीं और ना जाने क्यों, उस दिन मैं सिर्फ तन से नहीं, मन से भी तुम्हारी हो गयी थी. उसका लण्ड मेरी बच्चेदानी पर बार-बार ठोकर मार रहा था और मेरी चूत की जड़ को हिला रहा था. और मौसाजी की तबियत अब कैसी है?”हाँ ताऊजी की तबियत अब ठीक है पर डॉक्टर आराम का बोल रहे हैं। ताईजी तो बोलती रहती हैं प्रेम को भी यही बुला लो नौकरी की क्या जरूरत है। यहाँ का काम संभाल ले।”हाँ वो सब बाद में देखते हैं। तुम चिंता मत करो.

मुझे भी अपनी क्लास के दूसरे सेक्शन का एक लड़का धीरे धीरे अच्छा लगने लगा और फिर बहुत अच्छा लगने लगा. नैना मेरे सर को अपनी चूत पर दबा रही थी और कभी अपनी कमर उठा कर अपनी चूत को मेरे मुँह के साथ लगा देती थी.

उसने मेरी एक टांग अपने कंधे पर ले ली और अपना लौड़ा एक ही झटके में मेरी चूत में उतार दिया.

इससे मेरा पूरा लंड उनकी बच्चेदानी से जा टकराया और वो आह आहह आआअहह करने लगीं. बिहार एक्स एक्स एक्स बीएफइसके बाद मैंने उनकी मांसल जांघों से पैंटी निकाल दी और अपना मुँह उनकी चिकनी चूत पर रख दिया. बीएफ चोदा चोदी 2020संजना ने बहुत ही छोटा सा स्लीवलेस बिना बाजू का ब्लॉउज पहन रखा था और नीचे उसका आधा सुन्दर, नर्म, गुदाज पेट और सुन्दर गोल अंदर धंसी हुई नाभि दिखाई दे रही थी. बीते वक्त में मेरे साथ कुछ ऐसी घटनाएं हुईं कि मुझे मेरी पहली सेक्स स्टोरी लिखने पर मजबूर होना पड़ा.

भाभी मेरे लंड की मोटाई को अपनी चुत में फील कर रही थीं और मैं उनकी चूत की गहराई को माप रहा था.

कुछ देर बाद बैठे हुए दीपिका ने अपनी एक टांग को दूसरी पर चढ़ा लिया जिससे उसकी ऊपर और नीचे वाली टांगों से साड़ी पीछे खिसक गई और उसकी मोटी, सुंदर, गुदाज़, गोरी पिंडली देखकर मेरे लण्ड में कसाव आना शुरू हो गया था. फिर उस दिन हम दोनों ऐसे ही नॉर्मल रहने लगे … लेकिन हमारे पति लोग नार्मल नहीं थे. अब वो विधवा थी या सधवा थी … मगर उसमें जो सबसे खास बात थी, वो ये कि वो बहुत ही खूबसूरत थी.

दीपिका मुझे पसंद आ गयी और मैं उसको किसी भी हाल में जाने नहीं देना चाहता था. उसके बाद बूढ़े ने मेरा फोन नंबर लिया और हम दोनों एक स्माइल के साथ अलग हो गये. वह मेरे ऊपर आकर मुझे किस करने लगे।मेरे माथे से किस करते हुए मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगे.

सेक्सी पिक्चर पूरी नंगी वीडियो

अनामिका- जीजू … वो कैसे! और तुझे उनसे चुद कर क्या सच में मजा आया?प्रियंका- देख ज्यादा डिटेल न पूछ … मतलब की बात यह है कि मुझे तो बहुत मजा आया. वो बोली- परेशान मत होइए आप!मैंने कहा- कैसी परेशानी?मैं खाना बनाने लगा. दरअसल जब रोहित बंटू को लेकर जा रहा था तो हम उस बात से बहुत घबरा गए थे और उस दिन तुम नहीं होते तो हमारा बहुत बुरा हाल होना था.

थॉमस का खड़ा लंड मेरी गांड की दरार में मुझे गड़ता सा महसूस हो रहा था.

पब्लिक सेक्स कहानी के पहले भागमेरे साले की बेटी की जवानी की गर्मीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मैं ट्रेन में अनीता को लंड चुसवा कर गर्म कर रहा था.

जब मेरे लण्ड से पिचकारी छूटी तो दादी ने अपनी टांगों से मेरी कमर को लपेट लिया. एक और कामुक और सिसकारियां भरती हुई गरम कहानी के साथ आपके सामने आऊंगा. बीएफ इंग्लिश वीडियो ब्लूअभी तक ऐसा कुछ नहीं हुआ था लेकिन अब मेरी सहेली का एक बहुत ही मस्त लड़का ब्वॉयफ्रेंड बन गया था.

मैंने कम्बल को खींचा और गीत और नेहा को कम्बल में ले लिया और अपना मुंह बाहर निकाल कर संजय को कपड़े पहन कर चाय पकड़ने को बोला. फिर मैं साइड में हुआ, तो नैना मुझसे लिपट गयी और मेरे होंठों पर किस करने लगी. मौसी को लेकर कभी भी मेरे मन में उनके लिए कोई गलत विचार नहीं आया था.

उसको देखकर मैंने एक हल्की सी स्माईल पास की, जिसके बदले में वो भी मुझे देखकर हल्का सा मुस्कुरा दी. ठीक है अभी तू कहाँ है?रिया- घर में।रेहाना- पहले तू घर से कहीं बाहर निकल तब बताऊँगी।रिया- ओहो! यार क्या ड्रामा है ये, लोचा क्या है बताएगी मुझे? चल ठीक है आती हूं.

कोरोना में ड्यूटी लगी है।अब मैं जोश में आ गया और अपने लन्ड को गपागप गपागप नर्स की गर्म गीली चूत में अंदर बाहर करने लगा.

वो बाहर निकलती इससे पहले रमेश ने उसे कमरे के अंदर खींच लिया और बोला- तो तुम धंधा करने लगी हो?रेहाना- नहीं अंकल… वो वो … वो!रमेश- क्या वो-वो कर रही है, बता?रेहाना- सॉरी अंकल मुझे माफ़ कर दीजिये. मैंने उसकी कुर्ती की चेन को खोल कर उसे उतारा और साइड की चेयर में फ़ेंक दिया. गीतिका उठकर बेड पर बैठ गई और अपनी टांगें चौड़ी करके चूत की तरफ देखने लगी.

सेक्सी वीडियो फुल एचडी में बीएफ शायरा ने बस अपने पैरों को तो सीधा ही किया था, जांघों के बीच उसने अपनी चुत को अभी भी छिपाया हुआ था. गोल गोल गुलाबी से गाल हैं और खूबसूरत आंखें, गुलाब की पंखुड़ी जैसे होंठ और रेशम से बाल, जिन्हें मैंने आज कल के स्टाइल के हिसाब से कटवा रखा है और उन्हें मैं अक्सर खुला ही रखती हूँ.

‘आहह आह ओह … चोदो मुझे और चोदो … आह आहह!’उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. मन में तो मेरे भी, बहुत बार आया कि कोशिश करूं, लेकिन कपिल से पक्की दोस्ती होने के कारण मैंने कभी ऐसा नहीं कर पाया. पैरों के घुंघरू से चलते हुए झन झन झन झन की आवाज़ आ रही थी और जब कलाइयां नाचती तो रुन झुन रुन झुन रुन झुन की थोड़ी नीचे स्वर में आवाज़ आती.

हिंदी मे सेक्सी व्हिडीओ हिंदी मे

उसने मेरे लंड पर पास में रखी बजाज आलमंड आयल से मालिश की, तो लंड चुत में घुसने के लिए बेकरार हो उठा. मैंने लंड को रोक दिया और उसके होठों को चूसने लगा।अब उसका दर्द कम हुआ वो कमर को हिलाने लगी मैंने धीरे धीरे झटकों की रफ्तार बढ़ा दी।मैं जोर जोर से उसे चोदने लगा. मगर शायरा की चुत की मुझे बस एक ही झलक दिखी थी कि शायरा ने तुरन्त अब अपने पैरों को मोड़कर अपनी चूत को छिपा लिया.

बदले में मम्मी भी उनसे कह रही थीं- आह भड़वे साले मादरचोद … चोद दे कमीने … क्या हुआ आज तेरे लंड में बड़ी सुर्खी आई हुई है … आह चोद अन्दर तक लंड पेल दे हरामी. बात आगे कैसे बढ़ी? मैंने कैसे उसे प्रोपोज़ किया?दोस्तो, मेरा नाम निलेश है, मैं इंदौर से हूँ.

मैं तेल लगा देता हूँ।सारी मुसीबत जैसे उसी साल मुझ पर आयी थी।जीजू मजाक में बोलते हैं:गोरी हो या कालीसबसे प्यारी होती हैंअपने जीजू की सालीवो भी छोटी वाली,और मैं तो वैसे भी सबसे छोटी थी।दोस्तो, उन गर्मी के दिनों में मैं नहा कर तौलिया से बिना पोंछे ही गीले बदन पर कपड़े पहन लेती थी.

मेरे लंड को दीदी की चूत की ऐसी लत लगी थी कि किसी भी लड़की को चोद कर सन्तोष नहीं होता था. उसका नागराज अब दोबारा से फन उठाने लग गया और मैंने उसको अपने हाथों से पकड़ लिया. जब मामा और मैं घर पहुंचे, तो नाना नानी और मामी का बेटा खाना खाकर नीचे बगीचे में चले गए थे.

मैंने भाभी के दोनों मम्मों को बारी बारी से प्यार से चूस चूस कर उनका रस पान किया. अगर पूछेंगे भी तो शायद मैं जवाब नहीं दे पाऊंगी, क्योंकि मैं पहले ही सारे जवाब वहां पर दे चुकी हूँ. मैंने लौड़े को बाहर निकाला और दीदी के मुंह के ऊपर हिला हिला कर पूरा वीर्य दीदी के मुंह में निकाल दिया.

मैं भाभी के सर को अपने गोद में लेकर बैठा था इसलिए अब हम दोनों एक दूसरे के होंठों को चूसने लगे.

भोजपुरी हिंदी सेक्सी वीडियो बीएफ: मैंने उसी समय देखा कि उनका पल्लू नीचे गिर गया था और वो अपने पल्लू को ठीक करने के लिए कुछ भी जतन नहीं कर रही थीं. मैंने जैसे ही टॉप को हटाना चाहा तो रानी चिल्लाई- हटा नहीं इसको … तेरी मालकिन का है.

आँटी बहुत देर तक ऊपर उछल कर शांत हो गई और नीचे उतरकर मेरे साथ लेट गई. भाभी मेरी शरारती सोच को समझते हुए बाथरूम के अन्दर आ गईं और दो-तीन नॉब घुमा दिए. दीपिका फिर बोली- कुछ खाने के लिए लाऊं?मैंने कहा- नहीं, ये सलाद का कचूमर और चिप्स हैं, थोड़ा पनीर है.

मैंने कहा- साले, बिना बीवी के तुझे तो मज़े से देती हूं जो तेरी बीवी भी तुझे कभी नहीं दे पाती होगी.

वो खुश हो गया- पर प्लीज़ क्या मैं एक बारे इन्हें छू कर देख सकता हूँ. मैंने अपनी जीभ को नैना की चूत के काफी अन्दर तक ठेल दिया और ऊपर से नीचे की ओर चुत चाटते हुए चलाने लगा. मैंने स्थिति को समझते हुए कहा- हाँ आंटी कोई बात नहीं, मैं अपना बिस्तर नीचे लगा लूँगा.