सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती

छवि स्रोत,मारवाड़ी सेक्सी वीडियोxxxx

तस्वीर का शीर्षक ,

सीकसी वीडीयो: सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती, उधर बलविंदर ने दरवाजे की चिटकनी को लगा दिया, फिर उसने सारा सामान टेबल पर रख दिया और अलीमा की ओर बढ़ने लगा.

सेक्सी किश वीडियो

जिससे कुछ समय बाद वो उत्तेजित होने लगी और मेरा साथ देने लगी।उसके गुलाब जैसे होंठों को मैं जोर से किस करने लगा और धीरे धीरे उसको पलंग पर लेटा दिया। उसको किस करते करते मैंने उसकी साड़ी में अपना हाथ डाल दिया और उसकी चड्डी के ऊपर से उसकी चूत को सहलाने लगा. सेक्सी हिंदी मद्रासीकुछ देर की चूत चटाई के बाद उसने अपनी चूत का जूस मेरे मुंह में छोड़ दिया.

मैंने ससुर जी के लण्ड पर उचकना शुरू किया और ससुर जी से कहा, बाबूजी एक बार घोड़े की सवारी की थी, आज आपने लौड़े की सवारी करा दी. फुल एचडी व्हिडिओ सेक्सीमैंने अपने दोस्त को सब मामला समझा दिया कि वीनू जाकर प्रियंका को यह गुलाब का फूल देकर प्रपोज़ कर देगा.

और मुझे जो तुम्हारी आदत हो गई है, मेरे तीन दिन कैसे कटेंगे?”मैं कम्पनसेट कर दूंगी.सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती: अशोक आगे से उसके मुँह को चोदता और पीछे से रजक लाल उसकी गांड मार रहा था.

बड़ी मम्मी ने लंड को पकड़ा और थोड़ा सा हिलाते हुए बोलीं- वाह … ये तो आज बड़ा जवान दिख रहा है.मैं उनके सामने बैठ गई और उनसे बात करने लगी- यह तो हर घर में होता रहता है.

देहाती औरतों की सेक्सी पिक्चर - सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती

लेकिन मैंने डर में भी अपने कमीनेपन को नहीं छोड़ा।फिर वो नहा कर टॉवल में बाथरूम से बाहर आयी.मेरी चुदाई का समय भी जल्दी ही आ गया और मैंने भी चुदाई की शुरुआत कर ली.

बहुत दिनों से मेरी चुत में सूखा पड़ा था … लंड का सुख नसीब ही नहीं हुआ था. सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती जैसे ही मैंने उसकी चूत पर जीभ लगाई, वह एकदम से अपने आप को संभाल नहीं पाई और जोर से ‘आहह उहहह ईई ईह.

अब रमेश ने गाड़ी पीछे की ओर ली और उल्टी दिशा में चलाता हुआ ही फिर से भिखारी के सामने ले गया.

सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती?

उसकी चूत गीली हो रही थी पर बिल्कुल टाईट लग रही थी।संगीता थोड़ी ही देर में गर्म हो गई. रुखसाना और धर्मपाल एक साथ बैठ गए।हरदीप उन सबके लिए कोल्ड ड्रिंक ले आई। वो आकर लखविंदर के पास बैठ गई।सभी अब साथ में बैठ कर कोल्ड ड्रिंक पीने लगे।लखविंदर का पूरा ध्यान रुखसाना की तरफ था. मैं सोचने लगा यह तो गलत हो गया, लेकिन जब वो वापस नहीं आई, तो मैं भी उठ कर अपने कमरे में आ गया.

एक दिन मैं और मेरा दोस्त पेड़ के नीचे बैठे थे और गांव की गदराई औरतों के जिस्मों का मज़ा ले रहे थे. मुझे नंगी देख वो छुप कर मुझे देखने लगा, जिसका पता मुझे तब लगा जब मैं कपड़े पहनते समय खुद को शीशे में देख रही थी. इसलिए साड़ी ऊपर करते ही थोड़े से बालों से ढकी चुत के दर्शन बलदेव को हो गए.

जब वो थोड़ी रिलैक्स हुई तो मैंने उसकी गांड को ठोक ठोक कर अपने लंड के सारे अरमान निकाल लिए. मैंने पूजा आंटी से पूछा- कैसा लगा मेरा साथ?उन्होंने जबाव दिया- जन्नत का सुख था. उसने पूछा- चीकू मैं कैसी लग रही हूँ? (वो प्यार से मुझे चीकू बुलाती थी)मैं सब लोगों के साथ में था इसलिए उन सब के सामने उसको क्या जवाब देता, इसलिए मैंने कह दिया कि ठीक लग रही हो, सबसे सुंदर तो नहीं लग रही हो.

तभी मैं कुछ बात करने के लिहाज से बोला- आपा … जीजू किस तारीख को हिन्दूस्तान पहुँच रहे हैं?वैसे मैं भी जानता था कि रफ़ीक़ कब आने वाले हैं लेकिन ज़ोहरा से कुछ बात करके बात को आगे बढ़ना चाहता था. मैंने उसे बिस्तर पर लिटा दिया और उसके ऊपर आ गया।अपने लौड़े को मैंने चूत में सेट किया और एक झटके में पूरा घुसा दिया।उसके मुंह से एकदम से निकला- आहह … मर गई मम्मी … ईईई … ऊईई … निकाल लो बाहर ….

फिर उसे मज़ा आने लगा और वो मुझे मंद आवाज़ में सिसकारते हुए बोलने लगी- सौरभ … ई लव यू … आह्ह … इस्स … आह्ह … मुझे प्यार करो … आह्ह … ओईई … आह्ह … म्मम … ओह्ह … चोदते रहो जान … चोदते रहो मुझे.

एक दिन जब मैं सुबह सोकर उठा और बाथरूम जाने के लिए कमरे का दरवाजा खोला, तो सामने एक बहुत ही सुन्दर लड़की दिखी.

दूसरा गिफ्ट मौका देख कर देने का था और वो एक बहुत ही ज्यादा सुंदर ब्लैक कलर का ब्रा और पैंटी का सैट था, जो उस पर सबसे ज्यादा अच्छा लगता. हमारी चुदाई 8-10 मिनट तक चलती रही और फिर मैंने पोजीशन चेंज करने की सोची. इसी के कारण मैं आज उसको पहचान नहीं पाया।मेरे भाई से उसका नाम सुनते ही खुश हो गया और मैंने उससे बात करनी चालू की।उसने बताया कि उसके पति को हम दोनों का पता चल गया था। जिसके कारण बात बंद हो गई थी।फिर हम खुल कर बात करने लग गए। बातों ही बातों में मैंने पूछा- हम कहीं बैठ के बात कर सकते हैं?तो उसने मना किया.

मगर कुछ दिन के बाद फिर मकान मालिक एक दिन हमारे पास आया और मकान को खाली करने के लिए कहने लगा. इस सेक्स कहानी में एक बात ध्यान देने योग्य है कि कुंवारी कमसिन लड़की की मानसिकता कुछ ऐसी होती है कि वो पहली बार चुदने में डरती तो है … मगर उसके मन में लंड लेने की कामना भी होती है. एक बार चुत को लंड की लत पड़ जाए, तो बार बार चुत में लंड की खुजली होती ही होती है.

उसके बाद मैं फिर वापस घर आ गया। रात का समय था तो मैंने सीधा ऊपर आकर ही खाना खाया और सोने लगा.

अब मैंने देर न करते हुए अमन के लिए अपने दोनों पैर खोल दिए और अमन मुझे किस करते हुए मेरे पैरों के बीच आ गया. ज़ोहरा आपा की इस हालत के लिए अम्मी अब्बू को ही जिम्मेदार मानती थी और अम्मी अब्बू के बीच अक्सर लड़ाई रहती थी. बाजी मुस्कराकर बोली- तो आ जा … और चोद दे गांड को।साली रांड बुला रही थी तो मेरा लौड़ा कैसे मानता? मैं बाजी के पास गया और उनके चूतड़ों पर हाथ फेरने लगा.

राजेश भी मेरी मां की मटकती गांड को देख कर आहें भरता हुआ उसके पीछे पीछे चल पड़ा. मैंने पूछा- तो किससे चुदने में मजा आया? वो ज्यादा अच्छे से चोदता है या मैं चोदता हूं?आयज़ा- उसका इतना बड़ा नहीं था. इस कहानी को पढ़कर आपको कितना मजा आया मुझे इसके बारे में जरूर लिखना.

टी टी और एक हवलदार एक सीट पर, मेरे शौहर और एक हवलदार दूसरे सीट पर बैठ गये.

मैंने भी अपनी राजधानी एक्सप्रेस को रफ्तार दे दी और हम दोनों की चुदाई मेल छुक छुक करते हुए चल पड़ी. उसके बाद मेरी बीवी और उसकी मामी अपनी बातों में लग गईं और मैं दूसरे कमरे में जाकर टीवी देखने लगा.

सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती अगर तुम ऐसा करने को बोलोगे तो मैं अभी चली जाऊंगी यहां से!मुझे बहुत अफसोस सा हुआ. तो मैंने डैड से पूछा- डैड ये कौन है?डैड ने बताया- बेटी, ये हमारे आफिस में मेरी पर्सनल सेक्रेट्री है।बात आई गई हो गई और डैड उस लड़की के साथ आफिस चले गए।कुछ दिन बाद मेरा रिजल्ट आया जिसमें मैं और शनाया फर्स्ट पोजीशन पर पास हुई.

सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती वो मेरी बात पर जोर जोर से हंसने लगी और मैंने उसको पकड़ कर नीचे बेड पर लिटा लिया. मैंने मैरून कलर की साडी़ पहनी और डीप गले का ब्लाऊज, पहली बार अपने शौहर के साथ बाहर जा रही थी तो खूब मेकअप किया.

तेरी जैसी रंडी रोज रोज नहीं मिलती, कमाल का बदन है तेरा एकदम तराशा हुआ रसदार.

जानवर का सेक्सी पिक्चर

अब वो खूब मस्ती में सिसकारियां ले रही थी और चिल्ला रही थी- फक फक मी हार्ड जानू … फाड़ दो मेरी चूत … आंह मेरी जान … मैं अब रोज़ तुमसे ही चुदूँगी … आंह मेरी जान आह आह … यस आह फक मी. गर्लफ्रेंड सिस्टर सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मेरी गर्लफ्रेंड की बड़ी बहन भी मुझे पसंद करती थी. अंजलि ने आंखें बंद करके आह्ह … की आवाज के साथ मेरे लंड का अपनी चूत में स्वागत किया.

कुछ देर तक ऐसे ही चोदने के बाद मैं फिर से सीधी हो गई और वह फिर से मेरी चूत में धक्के मारने लगा।हमारे बीच फिर से सेक्स होने लगा. नहीं जी, मैं छोटी हूं आपका नाम नहीं लूंगी, सर ही कहूंगी मैं!” वो बोली. मैं कुछ बोलता, इसके पहले ही उसने मेरा हाथ अपने मम्मों पर रखवा दिया.

दूसरे दिन बाबूजी मार्केट गये और वापस आकर सामान का झोला रसोई में रखा और खाकी रंग का एक लिफाफा मुझे देते हुए बोले- यह तुम्हारे लिए है.

लेकिन मैंने उनके होंठों को अपने मुँह में दबा रखा था … तो उनकी आवाजें बाहर नहीं निकल पा रही थीं. हम दोनों बहनें तेजी से जवान होने लगीं और जल्दी ही 5-6 साल और गुजर गये. घर का कोई भी काम नहीं करना है और पूरा दिन चौबीसों घंटे नंगी रहना है … बस इतना ही चाहती हूँ.

उसने कहा- क्या? मतलब क्या नहीं समझ पा रही हूं मैं?मैंने कहा- देखो, मैं तुझसे बहुत प्यार करता हूँ और तुझे पाना चाहता हूँ और तुम्हारे साथ प्यार करना चाहता हूं. मैंने थोड़ा गांड के सुराख के मुहाने पर थूक लगाया और लंड सेट करके घुसा दिया. दोस्तो, आपको मेरी यह देसी सेक्स स्टोरी अच्छी लगी या नहीं? अपने विचार मुझे बतायें.

मैंने शुरू से अपने शरीर का बहुत ध्यान रखा है, जिस कारण मैं कुछ अधिक ही कामुक लगती हूँ. कहानी पर अपनी प्रतिक्रिया देने के लिए आप नीचे दी गयी मेल आईडी पर अपना संदेश दें.

तो वो भी अपनी बुर पर हाथ रख कर सहलाने लगी।मैं बोली- तनु तू एक काम कर … लेट जा! फिर दोनों एक दूसरी की बुर तो मुंह से चाट कर पानी निकालती हैं।तो वो बेड पर लेट गई. बच्चों की जिम्मेदारी की वजह से अपने पति से वो बस रिश्ता निभा रही थीं. आप सभी ने पिछले भागकंस्ट्रक्शन साइट पर जवान लड़की की चुदाईमें अब तक पढ़ा था कि कैसे मैंने और मनजीत (बीवी की जवान मामी) ने सेक्स किया.

अब वो हिल भी नहीं पा रही थी क्योंकि मैंने उसके दोनों हाथ पकड़ रखे थे और उसे दबोच रखा था.

मेरा लंड सीधा उसकी बच्चेदानी से जा टकराया और उसकी आंखों से आसू आने लगे. मैंने थोड़ी क्रीम लगा आकर जैसे उसकी गांड में मेरा लंड डाला, तो वो चिल्लाने लगी कि उधर नहीं … उधर से बाहर निकालो, मैं मर जाऊँगी … आन्ह दर्द हो रहा है. मैं उसके साथ ऊपरी मंजिल पर आ गयी और वहां पर किनारे बालकनी का दरवाजा खोल कर संजय ने दो कुर्सी लगा दीं.

जब मालिश करते हुए मैंने अपने हाथों से उसके मम्मों को दुबारा छूने की कोशिश की, तो उसने मेरा हाथ पकड़ लिया और सीधी हो गई. वो बोली- अच्छा ठीक है, लेकिन मैं तुम्हारे सामने कपड़े नहीं उतार सकती, तुम दूसरी ओर मुंह करो.

मेरा छोटा भाई तो थक कर सो गया था, मुझे मालूम था कि वो सुबह तक नहीं उठने वाला था. अब मैं अंकल को सहयोग करने लगी और नीचे से अपने चूतड़ों को उछालने लगी. इतने देर में मुझे ये तो समझ आ गया कि वो मुझसे बदला लेने की कोशिश कर रहे हैं.

ओप्पो ए 55

मैंने अब तक अपने रिश्तेदारी में कइयों को पटाकर चोदने की कोशिश की है.

आप इस ईमेल आईडी पर अपने मैसेज भेजें ताकि उसको भी पता चले कि उसने क्या क्या काम किये हैं और उसकी बेटियों पर क्या प्रभाव पड़ा इन सब घटनाओं का. बलविंदर के धीरे-धीरे किस करने के बाद अलीमा ने अपने आप सोच लिया कि आज जो हो रहा है, होने दिया जाए. जब भी चाची को कहीं बाहर जाना होता था, तो वह मुझे ही बाहर अपने साथ ले जाती थीं.

भाभी की गर्दन को चूमते हुए मैंने उनके कंधे पर से साड़ी का पल्लू हटा दिया और ब्लाउज के ऊपर से ही दुबारा उनकी चूचियां दबाने लगा. ये घटना मुझे अभी भी वैसे ही याद है इसलिए आप लोगों से शेयर करने का मन किया. work सेक्सी वीडियोदीदी ने तो अपनी कहानी बता कर बात को खत्म कर दिया लेकिन यहां से बात शुरू हुई थी.

और दीदी … मतलब लोरी की मम्मी कैसे झेल लेती है इसे?” वो फिर पूछने लगी. मेरी दीदी दिखने में एकदम राबचिक पटाखा माल है लेकिन मैं दीदी की चूत के बारे में नहीं सोचता था.

देसी इंडियन लड़की चुदाई कहानी में पढ़ें कि सफर में दोस्त बनी लड़की को आखिर मैंने चोद ही दिया. शादी हो गयी, फिर दूसरे दिन हम सब एक दूसरे के ऊपर पानी फेंक कर मस्ती कर रहे थे. जब मैं उसे रीयल में चुदाई करने के कहता था वो इस बात पर चुप हो जाती थी.

पर उसने सोचा कि गांव में रहकर उसके बच्चे की अच्छी शिक्षा नहीं हो सकती और न ही उसका भविष्य संवर सकता है इसलिए वो विभिन्न नौकरियों के लिए तैयारी करने लगी और सफल भी हुई. मुझे अपने कमेंट्स के जरिये बतायें कि हमारा रिश्ता कहीं गलत तो नहीं है. अमन ने मदहोश निगाहों से उस हार्टशेप को देखा और एक गहरा चुम्बन कर दिया.

हालांकि मेरी मां ने डायरी में बताया था कि उस वक्त उनको उस आदमी से अपने दूध मसलवाने में अन्दर से मजा आ रहा था, लेकिन ऐसे अचानक से किसी राह चलते आदमी के साथ सेक्स नहीं किया जा सकता था.

मैं खुद को समझा ही नहीं पा रहा था कि मेरी जान किसी और की हो चुकी है. कुछ देर बाद मैंने भाभी की गांड से लंड खींचा और उनको सीधा लिटा कर अपने सामने कर लिया.

साथ ही उसने मेरे लंड को मुँह से बाहर नहीं निकाला और लंड को तब तक मुँह में रखा, जब तक कि लंड दुबारा पूरा टाइट नहीं हो गया. मैंने बाबूजी के कमरे का आधा दरवाजा खोला और वहीं से पूछा- बाबूजी, मेरे एसी का रिमोट नहीं मिल रहा है, शुभम पता नहीं कहाँ रख गया है. इस बार मैडम ने मेरी चोर नजरों को खुद को घूरते हुए पकड़ लिया था, उसने कहा कि चलो 8000 दे देना, पर मेरा छोटा सा काम करना पड़ेगा.

मैंने देखा कि पार्किंग में डैड की गाड़ी खड़ी थी इसका मतलब डैड घर आ चुके थे. कुछ ही दिनों के बाद मैंने देखा कि उसकी चूचियों का आकार बढ़ने लगा था. वो वाशरूम चली गईं, तो मैंने वहीं एक दूसरे कमरे में नहाने के लिए मैनेजर से कहा.

सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती वह पोर्न स्टार की तरह मेरा लन्ड चूस रही थी और उसने मेरा पूरा लन्ड अपने गले तक उतार लिया. फिर मैंने मॉम को घोड़ी बना लिया और उसकी गांड पकड़ कर उसकी चूत चोदने लगा.

कड़क मटका

एक दो बार रोकने के बाद उसने विरोध करना बंद कर दिया और मेरे दोनों हाथ उसकी दोनों चूचियों को दबा दबा कर मसल रहे थे. लंड चुत दोनों ही गीले थे इसलिए मेरा पूरा लंड मामी की चूत में घुसता चला गया. अगले ही शॉट में मैंने अपने लंड को बहुत ही जोर से झटका दिया और चुत में लंड अन्दर तक पेल कर भाभी को चोदने लगा.

उस रात को फिर से हमारी बात हुई और हमारी बात सुबह के चार बजे तक चलती रही. बस मैंने मंजुला के पांव अपने कंधों पर रखे और उसकी चूत में लंड एक ही वार में जड़ तक पेल दिया. सबसे लंबा लैंड वाली सेक्सीमुझे धक्का तब लगा जब मुझे पता चला कि उसका पति कोई और नहीं बल्कि उसका जीजा ही है.

एडल्ट फिल्म देखने के कारण मैं कुछ मूड में आ गया और उसकी तरफ देखने लगा.

मैंने पहले कभी गांड नहीं मराई थी, तो उसकी इस बेदर्दी से मेरी गांड की सील टूट गई. जसवंत ने बोला- ठीक है मगर जब तक काम चलेगा, मैं तेरी चुदाई करूँगा।हरप्रीत ने कहा- ओके!डील होने के बाद जसवंत ने उसको उसी दिन दोपहर के बाद चुदाई के लिए आने को कहा.

इस कहानी पर अपना फीडबैक देने के लिए नीचे दी गयी ईमेल पर अपना मैसेज करें और कमेंट बॉक्स में भी बतायें. अगर आप मेरी और भी कहानियां पढ़ना चाहते हैं तो इस हॉट लेस्बो सेक्स स्टोरी के बारे में अपने सुझाव और फीडबैक दें. मामी के होंठ बिल्कुल पतले गुलाबी, कटीली चितवन, बड़े बड़े से स्तन, उभरी हुई जबरदस्त मोटी गांड … कुल मिलाकर मेरी मामी हमेशा चुदासी सी दिखने वाली माल लगती हैं.

मैंने अपना मेल आईडी नीचे दिया हुआ जिस पर आप लोग मुझे मैसेज कर सकते हैं.

उसकी बात मानते हुए मैंने कहा- बात तो तुम्हारी सही है लेकिन पापा पहले बहू की चुदाई पर ध्यान देंगे. अब मैंने अपनी पकड़ थोड़ी ढीली कर दी और थोड़ा सा लंड पीछे खींच कर फिर पूरा अन्दर पेल दिया. भाभी की चूत बहुत ही मस्त थी … ये थोड़ी सी फूली हुई और बिल्कुल क्लीन शेव्ड थी.

सेक्सी चोदाई वीडियोनहीं … आह्ह … अम्म … कोई आ गया तो … तुम अभी रहने दो ना प्लीज!अब मुझे और जोश आने लगा क्यूंकि पहली बार किसी लड़की को नंगी देखा था और पहली बार उसे चूम-चाट रहा था. अलीमा बलविंदर को रोकना चाहती थी लेकिन बलविंदर की मजबूत पकड़ से अलीमा उसे दूर ही नहीं कर पाई.

अनाथ आश्रम जोधपुर

बुआ सेक्स कहानी में पढ़ें कि कैसे मैंने अपनी कुंवारी बुआ की चुदाई की अपने ही घर में. वो तुरन्त बोलीं- आप कौन हैं और क्या चाहते हो?मैं आवाज बदल कर बोला- आप वादा करो और कसम खाओ कि मुझे जानने के बाद आप कोई रिएक्ट नहीं करोगी और मेरी बात मान लोगी. थोड़ी देर बाद जब हम उठे तो देखा कि उसकी चुत गुलाबी से लाल हो रखी थी सूज भी गयी थी और बेड की चादर भी उसकी जवानी के पहले रंग से सन गयी थी.

और अब तक पापा का 7 इंच लण्ड भी टनटना चुका था जो पैंट के अंदर से ही पूर्वी की चूत पर गड़ रहा था और इधर पोर्न टीवी पर आवाज़ के साथ चालू ही थी।पापा ने पूर्वी से कहा- उठो।पर पूर्वी ने पापा का लण्ड पकड़ते हुए बोला- ये गड़ रहा है।पूर्वी के मुलायम हाथ पापा के लण्ड के ऊपर … पापा को एकदम भारी उत्तेजना हुई. कुछ देर तक तो हम लोग ऐसे ही सड़कों पर यहां वहां कार के अंदर घूमते रहे और बातें करते रहे. मैंने हंस कर पूछा- क्यों कोई ख़ास बात है?मामी बोलीं- ख़ास बात नहीं है मगर तू तो मेरे लिए ख़ास है.

मैंने कहा- तो इतना शरमा क्यों रही हो?मैंने उसकी फ्रॉक को उठाया और उसकी बुर को चूसना शुरू कर दिया. अब आगे:मैंने हेमा चाची की चूत को चाटते चाटते चौड़ा दिया और अपनी जीभ को हेमा चाची की चूत के छेद में अन्दर तक घुसाते हुए चाटा. सास दामाद की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं अपने दामाद से चुद कर अपनी बेटी का जीवन सुखमय बना देना चाहती थी.

पर मुझे उसकी चूची के ऊपर का हिस्सा ही दिखा क्योंकि वो समीज पहनी हुई थी।मैं बोली- समीज भी उतार दे!तो वो अब कुछ सोचने लगी. उसके 30 इंच के एकदम गोल चुचे … बलखाती कमर 28 इंच की और 34 इंच की उठी हुई गांड.

मैंने उसको तैरना सिखाया और इसी बीच मेरा लंड बार बार उसकी गांड से टकरा रहा था.

अब मैं गांड के बल बैठ भी नहीं पा रही थी, इतना दर्द हो रहा था मुझे!तो सागर ने मुझे दो पैग नीट दारू पिला दी जिससे मेरी सिर एकदम से घूम गया और मेरी गांड का दर्द जैसे गायब से हो गया।अब सागर मुझे गोद में उठाकर बाथरूम ले गया. अंग्रेजी सेक्सी बुर चुदाईथोड़ी देर उसकी चूत की चुसाई होने के बाद ही जैसे ही वह गिरने को हुई, तो बलविंदर ने उसे संभाला और उससे बाथटब के किनारे पर बैठा दिया. सेक्सी इंडियन गर्ल्स वीडियोउसने अपनी नाइट पैंट और पैंटी को घुटनों तक नीचे किया और पेशाब करने के लिए बैठ गयी. वो गाली देते हुए मेरी नंगी बीवी के ऊपर चढ़ गया और अपना लंड उसकी गीली चूत में घुसा दी.

मैं- अंकल यह आप मुझे कहां लेकर आ गए?इससे पहले मैं कुछ समझ पाती अंकल ने मुझे आगे बढ़कर अपनी बांहों में लेकर भींच लिया.

फिर मेरी बीवी ने अमित से मजाक में कहा- लगता है आपने सुसु कर दिया है. चुत में उंगली घुसी तो मां फिर से थोड़ा सा छूटने का प्रयास करने लगी थीं. दोस्तो, आपको मेरी बहन की भाई से चुदाई कहानी कैसी लगी मुझे बताने का कष्ट करें.

[emailprotected]शादी में चुदाई की कहानी का अगला भाग:लॉकडाउन में विवाह में मिली चूत- 2. तो उसने कहा- सबसे पहले तो डोंट कॉल मी मैडम … ओके! ओनली नताशा ओके … वी आर फ्रेंड्स जय. मैं और अमित सिर्फ बरमूदा में थे और मेरी बीवी सिर्फ एक गाउन में थी, जिसके अन्दर वो पूरी नंगी थी.

राजस्थानी सेक्सी बताइए

मामी- अम्मम हहहहह आआआ और तेज चोदो मुझे … आह और जोर से आह फाड़ ही दो आज मेरी चुत को. इतना करके वो लोग कम्पाटमेन्ट की तरफ वापस आ गये और अंदर घुस कर दरवाजा बंद कर दिये. मैं शुरू से ही इतनी गोरी हूँ कि मेरा रंग दूध में केशर मिला सा हल्का सिंदूरी सा नजर आता है.

मैंने बाजी की पैंटी नीचे खींच दी और घुटनों तक सरका दी।राबिया बोली- अरे उतार दे.

नहीं तो हवस के पुजारी आपके बच्चों को मजबूर करके उसकी बहुत बुरी हालत करेंगे.

मुझे कुछ काम करना था तो बाकी सब चले गए मगर नौरीन को मैंने अपने साथ रोक लिया. मैंने बीच में चोर नज़रों से देखा तो पता चल गया कि मेरे शौहर हमें छुप कर देख रहे हैं. सेक्सी विडीओ मेंडर मत … आज तो मौका है वर्ना नजमा और आसिफा बाजी ने आने के बाद गांड फैला दी तो फिर मौका नहीं मिलेगा.

तभी तो जाते समय आपने मुझे चार लोगों के आगोश में झोंक दिया था कि वो लोग मुझे रंडी की तरह इस्तेमाल कर सकें. मैंने धीरे धीरे लंड को अंदर धकेलने की कोशिश की और उसकी गीली चूत में मेरा लंड सरक कर अंदर चला गया. उनमें से ज्यादातर लड़कियां ही होती थीं क्योंकि यहां के कॉलेज में लड़कियों की संख्या लड़कों से ज्यादा है.

राखी बोली- राज, प्लीज तुम रोको नहीं।मैंने फिर से लंड को चलाना शुरू कर दिया. जैसे ही आधा अन्दर गया, तो वो पैरों को फटकारने लगी … और आरती की पीठ पर नाख़ून लगाने लगी.

बाबूजी ने अपनी हथेली पर तेल लेकर शीशी फर्श पर रख दी और तेल अपने लण्ड पर चुपड़ लिया.

फिर जब संजय कमरे में आ गया, तो मैं से बाहर आ गयी और अपने कमरे में चली आयी. मैं काफी देर तक उसके मम्मों को देखता रहा, पर मेरी हिम्मत उन्हें टच करने की नहीं हुई. फिर वो जोर जोर से चिल्लाते हुए आहें भरने लगा और उसके वीर्य की गर्म पिचकारी मेरे मुंह में आने लगी.

दो बहनों की सेक्सी वीडियो फिर मैं रुका और एक मिनट बाद जैसे ही एक और धक्का लगाया, तो मेरा आधा लंड उसकी चूत में जा चुका था. घर आने के बाद देखा तो अजय बाल्कनी में केवल अपनी अंडरवियर में खड़ा था और हमारे घर की तरफ देख रहा था.

खानपान में कुछ बदलाव की सलाह दी और अपने पास से विटामिन के कैपसूल दिये. फिर मैंने उसकी पैंटी को भी निकाल दिया। मैंने पहली बार नौरीन को ऐसे देखा था. आशु केक देख कर बहुत खुश हुई कि मैंने पहले से ही सारी तैयारियां कर रखी थीं.

राजस्थानी+सेक्सी+वीडियो

चूत के बाहरी लिप्स और ऊपर का भाग जैसे गुदगुदी गोरी स्पंज से बना था. मेरे मन में यही विचार था कि शादी में चुदाई तो करके ही आऊंगा चाहे किसी भी तरह से लड़की पटानी पड़े. दोस्तो, लुगाई को फुल स्पीड में चोदने में जो मजा आता है, वो कहीं भी नहीं है.

फिर ये बड़ा होगा; दुनिया को देखेगा सीखेगा समझेगा और बिन बाप के खुद को अकेला पा कर कुंठित हो जाएगा, आगे तुम खुद समझदार हो. तभी देव अंकल ने सूटकेस से व्हिस्की और वोदका की बोतलें निकालीं और इंटरकॉम पर कुछ स्नैक्स ऑर्डर कर दिया.

लेकिन ऑनलाइन क्यों है? और तुरंत मेरी रिक्वेस्ट कैसे स्वीकार कर ली?मेरी चुल्ल बढ़ती जा रही थी तो मैंने तुरंत उस हॉट भाभी को एक मैसेज किया ‘हाय’मुझे भी तुरंत में उस बला की खूबसूरत माल का रिप्लाई आया.

और घर और बाहर सब देखते हैं तो अच्छा नहीं लगता।तनु बस हाँ में सिर हिलाकर जवाब दे रही थी क्योंकि हम दोनों बहाने माँ से नहीं खुल पायी थी. फिर एक बार ठाकुर ने लंड नीरजा देवी के हाथ में दिया, वो समझ गईं और उन्होंने घुटनों पर बैठ कर लंड को चाट कर साफ कर दिया. दस मिनट के बाद मैंने दीदी के मम्मों पर सारा माल निकाल दिया और हम दोनों अलग हो कर बेड पर लेट गए.

फिर अपनी शर्ट और बनियान उतार दी और उसके बाद गुरप्रीत की कुर्ती और ब्रा. सुबह मेरी आंख देर से खुली, तो देखा कि संजय मेरी एक चूची पर लेटा था और दूसरी चूची उसके हाथ में थी. चुत को फिर से थोड़ा प्यार से मसला और उनकी चूत में अपना मूसल फिट कर दिया.

चुदाई खत्म हुई, तो वो गैर मर्द अपने कपड़े पहन कर चला गया और मां भी मंद मुस्कान लिए अपने रास्ते चली गईं.

सेक्सी बीएफ पिक्चर देहाती: मेरे दोनों बेटे मुझे इसका जिम्मेदार मानते हैं और बार बार मुझको ही कोसते हैं. उसने अपनी बेटी को उसकी नानी के पास सुला दिया था। अंदर जाते ही वो एक शेरनी की तरह मुझ पर टूट पड़ी और मुझे किस करने लगी.

मैंने कहा- अब से तुम वही ब्रा पैंटी पहनोगी, जो मैं पहनाऊंगा समझी … आज से तू मेरी गुलाम है. इस बार मैंने उसे अपने लंड पर बिठा लिया और धीरे धीरे करके पूरा लंड उसकी चुत में ठांस दिया. कुछ देर तक भाभी के गर्दन को चूमने और उनकी चूचियां दबाने के बाद मैंने साड़ी को निकाल कर अलग कर दिया और उनके ब्लाउज का हुक खोल कर भाभी को बैठाकर उसे भी निकाल दिया.

आम्रपाली ट्रेन में ऊपर की बर्थ की स्लीपर कोच की मेरी टिकट कंफर्म थी.

मैंने उसे हाथ पकड़ कर टॉयलेट की जगह नहाने के बाथरूम में छोड़ा और अपना पैर बाथरूम के दरवाज़े में फंसा दिया ताकि वो दरवाजा न लगा सके।वो अंदर चली गई. फिर मैं तेज़ तेज़ झटके मारकर रखी को चोदने लगा।अब राखी की सिसकारियां तेज़ हो गई और पूरे कमरे में चुदाई की आवाज तेज हो गई।मैं उसे पूरी रफ्तार से चोदने लगा. चूमाचाटी करते करते बूब्स मसलते कब हमने एक दूसरे के कपड़े उतार डाले कुछ पता ही नहीं चला.