भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली

छवि स्रोत,सेक्स का ब्लू फिल्म

तस्वीर का शीर्षक ,

देसी बीएफ खुल्लम खुल्ला: भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली, उसने फिर से मेरी चूत पर ढेर सारा थूक लगाया… अपने लंड को फिर से सैट किया और जोर से धक्का मार दिया.

सेक्सी बीएफ भाई बहन

जैसे ही बरखा संजय के विशाल लंड पे बैठी, संजय का पूरा लंड उसकी चुत को चीरता हुआ अन्दर घुस गया. इंडियन भाभी फोटोअब तुम ही बताओ, ये ग़लत बात है ना?मॉंटी- हाँ दीदी, ये बहुत ग़लत बात है.

पहले गांव में किसी की भी शादी में जब भी डीजे बजता, तो मेरा दिल घबराता कि मोनिका की शादी में मेरा क्या होगा. कामसूत्र ३द) को देखता रहा।वे दोनों पूरी तरह से नींद में थे। भैया रात को सोते वक्त तम्बाकू का पान खा कर गहरी नींद में सोते थे। वैसे भी वे दिन भर की भाग दौड़ में थक जाते थे.

फिर मैंने मम्मी की चूत को देखा तो देखता ही रह गया साले ने क्या हालत बना दी थी.भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली: मैंने देखा कि अब एक आदमी ने आकर मम्मी के पैरों को चौड़ा करके उनके बीच आकर चूत को सहलाने लगा और ‘वाह वाह.

मेरे सास ससुर और चाचाजी का बेटा बीच की सीट पर बैठे और सबसे पीछे की सीट पर मैं और इरफान हमारी बेटी को लेकर बैठ गए.”अमित माया की गांड की जबरदस्त चुदाई करते हुए बोला- साली छिनाल की गांड सच मैं बहुत टाइट है रे उस्मान.

बीएफ सेक्सी चोदने वाली पिक्चर - भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली

उन फटे और गंदे कपड़ों में सहेली के घर जाती तो सहेली को पक्का शक हो जाता.कुछ देर बाद मैं चूचियों को कपड़े के अन्दर से महसूस करना चाह रहा था तो मैंने उसके कुरते के गले में धीरे से हाथ डाला ही था कि बहन ने करवट बदल ली.

मैंने उससे पूछा- शुरू करें?उसने कुछ नहीं कहा, बस अपने दांतों से होंठ काटने लगी. भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली मैंने भाभी को मेरी ‘अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम’ पर 15 सितम्बर 2017 को प्रकाशित‘पड़ोसन आंटी की चूत चुदाई करके चोदना सीखा‘और 26 सितम्बर 2017 को प्रकाशित कहानी‘लेडी डॉक्टर से पहले उसकी नर्स को चोदा‘दोनों शुरुआत की कहानियों के बारे में विस्तार से मजा ले- ले कर बता दिया, जिससे भाभी पूरी तरह से चुदासी हो गई। मेरा लण्ड भी तन चुका था.

रंजु और मैंने एक प्लान के तहत शाम की चाय में बुआ को एक नींद की गोली दे दी और दीपक को चाय में *** की एक गोली दे दी.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली?

नहीं तो पुलिस में कम्प्लेन करूँगी।मैंने सब कुछ बता दिया। मैंने ये भी बता दिया कि सिर्फ मैं देखने की कोशिश करता था. समझ रहे हो ना आप, तो बस वैसे ही गुलशन जी की अंतरात्मा भी बाहर आकर उनसे बात कर रही है. मैंने काम ही ऐसे किए हैं ऊउउ ऊउउ मेरी वजह से सुमन की लाइफ बर्बाद हो गई ऊउउ.

उस अजनबी का लंड अभी भी टाईट था और उस पर सलमा की चुत का गाढ़ा सफ़ेद रस लगा था. उसके बाद मैं अपने कमरे में नीचे आ गया और भाभी भी थोड़ी देर बाद वहां आ गईं. साली तूने खुद को इतना मेंटेंन कर रखा है जान, जिससे आज भी तू 30-32 साल की ही लगती है.

अब तो फ्लॉरा को चूसने में और मजा आने लगा था… लंड जो पूरा तन गया था. अब मामी तेज रफ्तार के कारण उन दोनों की पकड़ से छूटने के लिए छटपटा रही थीं, पर दोनों किसी मंजे हुए खिलाड़ी की तरह हर बार पहले से ज्यादा मजबूत वार कर रहे थे. वो शादी शुदा था और उसकी बीवी सुरैया ख़ातून जो मेरी भाभी थी, वो भी एकदम मस्त माल थी.

उसके सी-कप चूचे बिल्कुल खड़े, सख़्त और चूसने के लिए एकदम तैयार दिख रहे थे. जब बेबी के रोने की आवाज से आंटी नहीं उठीं, तो मैंने आंटी को जगाने की कोशिश की, लेकिन बेकार.

वो मुझे पकड़ कर उसी कमरे मेले गया और चूमने लगा और मेरे स्तन मसलने लगा.

मैं नीचे उतरी और किशोर को इशारे से नीचे बुला कर कहा- जल्दी सेफ जगह ढूंढो.

गुलशन जी ने सुमन को समझाया कि वो नहीं पी सकती, उसको नहीं जमेगी मगर वो नहीं मानी तो गुलशन जी ने रात का कहकर उसको टाल दिया क्योंकि वो नहीं चाहते थे कि सुमन बियर पिए. ”मुझे तो डर के मारे ‘सूसू’ आने लगी, मैं उनके पैरों पर गिर गया और माफ़ी मांगने लगा. सुमन मन ही मन सोच रही थी ” आखिरपापा से चुदवा लिया मैंने!”थोड़ी देर दोनों शांत रहे, उसके बाद फिर चुदाई का दौर शुरू हुआ.

एक लड़की ने वो पट्टा मेरे गले बाँध दिया और तीनों सोफे पे आराम से बैठ गईं. आज पता लगा था जब मेरी शादी हुई होगी, उस वक्त मोनिका पर क्या गुजरी होगी. बहूरानी ने अपने नाखून मेरी पीठ में गड़ा दिए और टाँगे मेरी कमर में लपेट कर कस दीं.

मैं तुम्हारी साँसों को पी लेना चाहता हूँ, आपके हर अंग को चूमना चाहता हूँ.

उसने अपने मोटे लंड को मेरे मुँह में धांस दिया और राजीव और रवि मेरे एक एक चूचे पे कब्जा जमा कर लेट गए और मेरे निपल्स को चूसने लगे. उस दिन हमें गाँव के 2 लड़कों ने देख लिया और आते जाते उसको ताने मारने लगे, फिर मेरे धमकाने और समझाने पर रुके. अब बारी बारी वो मेरे होंठों को चूस रहे थे और साथ ही साथ मेरे जिस्म पे हाथ घुमा रहे थे.

मैंने उसके बालों को कस कर पकड़ लिया था और ज़बरदस्ती अपने लंड को उसके गले तक पहुँचा दिया, जिसके कारण उसको साँस लेने में दिक्कत हो रही थी. मैंने चुपके से एक वियाग्रा की टेबलेट खाई और मैं भी उस के पीछे बेड रूम में चल पड़ा. वो बोले- क्या है ये? खून इतना खून कहाँ से आया?मैं बोली- मुझे भी पैरों के बीच गहरी चोट लगी है, इसलिए मैं भी मेरी पेन्ट में हाथ डालकर दवा लगा रही थी.

आराम से करो न!फिर मैंने उसे बिठाया और उसके वन पीस की चैन खोलनी शुरू कर दी.

स्टेशन पर ट्रेन नहीं आई थी और अभी आने में कुछ देरी होने की सूचना थी. अब हम तीनों सुकून से अपने कपड़े पहन कर चाय की चुस्की ले रहे थे कि इतने में मामा जी थकी सी सूरत लेकर आ गए.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली आंटी और मैं मार्केट गए, वहां हमने सामान खरीदा और बाद में आंटी मुझे अंडरगार्मेंट की दुकान में ले गईं. रात को सोने के समय सुहागकक्ष अनीता दीदी जीजा जी को मिला और मेरा कमरा बाकी सारे लोगों के लिए.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली पहले तो खूब चूचियों को मसला, बाद में कान में फुसफुसा कर बोले कि इतने लोगों के बीच में चोदने भी एक एडवेंचर से कम नहीं होगा. मैंने उस से कहा- शीतल तुम ने मुझे आज तक का सब से बड़ा सुख दिया है, आई लव यू शीतल!वो अपने हाथ की उंगलियाँ मेरे बालों में फिराती हुई बोली- अभि, मैं तुम्हें हमेशा से पसन्द करती हूँ और प्यार करती हूँ, मैं तुम्हे यह सुख पहले ही देना चाहती थी, तभी तो आज मैंने तुम्हारी मम्मी को अपने आप ही कह दिया था कि मैं तुम्हारा ख्याल रखूंगी और रात को यहीं रहूँगी.

मेरे भोले भैया ने अपनी बहन की चूत पर लंड रखा और एक ही धक्का मारा आधा लंड अन्दर चला गया.

कॉलेज वाली लड़की की सेक्सी बीएफ

जैसे ही मेरे हाथ मम्मों तक पहुँचे, उसने अपने दोनों हाथों से मेरे हाथ पकड़ लिए. मैंने एक बार फिर हिम्मत करके इशारा किया और इस बार इशारा करके मैं उठ कर बाहर निकल गया. मुझे उसका चिल्लाना और उत्तेजित कर रहा था और मैं बेरहमी से विनीता को चोदने में भिड़ा था.

एक साथ दोनों लंड का मज़ा ले लेना, एक चुत में घुसा रहेगा और दूसरा गांड में मजा देगा, तभी तो पार्टी में रोमांच आएगा. मैंने बहुत सारा तेल उनकी गांड के छेद में डाला और अपने लंड पर लगा लिया. हुम्म… चिकनी चुपड़ी बातें करवा लो आप से तो!” बहूरानी बोलीं और मेरे चुम्बन का जवाब देने लगी और उसकी दोनों बांहें अब मेरी गर्दन से लिपट गईं थीं.

थोड़ी देर बाद मैं आटी के ऊपर हो गया और उनकी चुदाई करते हुए झड़ कर गिर गया.

मैंने उस के एक निप्पल को अपने दांतों से हल्का सा काट दिया, जिस से एक तेज सिसकारी उस के मुँह से निकल गई- अह्हह्हह्ह… अभि माय बेबी… मुझे बहुत ही मजा आ रहा है क्या सब यूं ही खा जाओगे?फिर वो मेरे ऊपर आ गई और मेरे सीने पर किस करने लगी. मेरा काम करेगा?मैं अभी कुछ समझ पाता कि उन्होंने मुझे किस करना शुरू कर दिया. अब वो धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करने लगा तो मैंने देखा कि अब मम्मी बिल्कुल शांत थीं.

धीरे धीरे तेरी चूत को मैं अपने दोस्तों से बड़ी करावाऊंगी, फिर तुझे कुछ नहीं होगा. ऐसा पति किसी औरत को मिल सकता है क्या? इस एक बात के अलावा वो मेरा पूरा ख़याल रखते हैं. अन्तर्वासना के सभी पाठकों को मेरा प्यार भरा नमस्कार, मेरा नाम मोहन (बदला हुआ) है.

उनका लंड भी लोवर में सख्त हो गया था, जिसे छिपाने की वे नाकाम कोशिश कर रहे थे. अन्तर्वासना के जो पुराने पाठक हैं वो मुझे भली भांति जानते होंगे किमेरी पत्नी बहुत बेबाक और बिंदास हैऔर मैंने अन्तर्वासना पे अपने लेखन की शुरुआत उस के किस्से लिख कर ही की थी जो मेरे अन्तर्वासना पेज पर अभी भी उपलब्ध है.

वैसे वो पूजा को लेकर जा रहे थे मगर पूजा ने पैर में दर्द होने का नाटक करके मना कर दिया था और संजय तो वैसे भी उनके साथ बहुत कम कहीं जाता था. उनकी आवाज़ आते ही मौसी ने झट से मेरी पैन्ट ऊपर की, खुद के कपड़े ठीक किए, फर्श पर गिरे चुत की पानी को झटपट पौंछा और दरवाज़ा खोल कर हम बाहर आ गए. अब मामी ने कोने में बैठे रितु की तरफ इशारा किया, जो अपना एक हाथ पैंटी में घुसा कर अपनी बुर में उंगली भीतर बाहर कर रही थी.

उस के 3 बटन खुल गए थे, जिस से मैंने उस के 34 डी साइज़ के मम्मों देखा.

फिर उन्होंने मेरे कमर के नीचे तकिया लगाया और मेरी गांड के छेद को उंगली से फैलाते हुए चाटने लगे. जैसे ही उसका हाथ अपनी गर्दन से हटाया वो जाग गयी- ऊंऊं… कहाँ जा रहे हो पापा?उसने मुझे फिर से लिपटा लिया. मेरा एक हाथ उसके मुलायम चूतड़ों पर था और उसको कस के पकड़ रखा था और दूसरा हाथ उसकी नर्म नर्म चूचियों को दबा रहा था… होंठ धीरे-धीरे उसकी काली काली झांटों वाली गोरी-गोरी बड़ी सी खुली चूत को चाटने लगे और दाने को चूसने लगे.

आज पहली बार इरफान के अलावा किसी और का लंड मेरी चुत की सैर करने जा रहा था, वो भी मेरे चाचा ससुर का. करीब दस मिनट तक ऐसे ही चोदने के बाद मैंने उन्हें घोड़ी बनने को कहा.

काजल ने सुरेश से मुस्कुराते हुए पूछा- भैया?सुरेश- हाँ…काजल ने अपने मम्मों को लगभग सुरेश के सीने से टच करते हुए कहा- मसाज़ में मजा आ रहा है कि नहीं?सुरेश- हाँ. मैंने अंजान बनते हुए पूछा- कहां जा रहे हो इतनी रात को??इरफान- बस यहीं आस पास जरा टहल कर आते हैं. जब भी जीजू को मौका मिलता है, वो मुझे किस करते हैं और मेरी चूची को दबाते हैं.

बीएफ फिल्म देख

ऐसा लग रहा था मेरा लंड मेरा नहीं हैं उनका हो, क्योंकि वो मेरे काबू में तो नहीं था.

जिस गाड़ी में मैं चाचा के बेटे को लेकर बैठी थी, पांच मिनट में चार लोग आकर उस में बैठ गये. उस रात 12 बजे भाभी का फोन पर मैसेज आया- तुम्हारे भैया जा चुके हैं… तुम आ सकते हो!मैं चुपचाप छुपते छुपाते उन के कमरे तक गया, भाभी ने दरवाज़ा खोला तो मैं तो उन्हें देखता ही रह गया. पप्पू अपनी टाँगें फ़ैला कर अंजान बनते हुए लंड को मसलता हुआ नीता का क्लीवेज देख कर बोला- अरे नीता, तेरी जैसी सैक्सी लड़की कसम से आज तक ना दिखी ना मिली.

हॉल में टीवी चल रहा था और किसी म्यूजिक चैनल पर बॉलीवुड के गाने बज रहे थे. मैं भी मिलने की बहुत जल्दी में था क्योंकि एक एक दिन बड़ी बेसब्री से गुजार रहा था और जो लत मामी ने लगाई थी, उसकी खुराक भी उनके पास ही थी. राजस्थानी मारवाड़ी सेक्सी बीएफमैंने देखा कि वो मूसल मम्मी की चूत में एक ही झटके में जड़ तक अन्दर चला गया.

उसकी चूचियां काफी मुलायम थी, मुझे बहुत मजा आ रहा था और उसे भी जरूर मजा आ रहा होगा. मैंने सागर को बेड पर खड़ा किया और नीचे बैठ कर सागर का लंड चूसने लगी.

वो एकदम बेजान हो गई, पर मैं उसे चोदता रहा और थोड़ी ही देर बाद मेरा भी होने वाला था तो मैंने भी लम्बे लम्बे शॉट लगाने शुरू कर दिए और फिर उस की चूत में झड़ने लगा. ओहह आरती हम लोगों की रखैल बन गई आज से!और मेरी चूत फैला कर चूसने लगे, चाटने लगे. मेरे सामने अखाड़े में मिट्टी और रेत में लथपथ शरीर के साथ संदीप वहाँ पर खड़ा हुआ था… वही संदीप जिसकी बाइक पर मैंने लिफ्ट ली थी रवि के घर तक आने के लिए और वो मुझे किसी दूसरे गांड नेवली खुर्द में ले गया था और वहां उसने एक कोठरी में शराब पीकर अपने दो दोस्तों के साथ मेरी गांड मारी थी और मुझे वहीं पर कोठरी में घायल अवस्था में सोता हुआ छोड़ कर चले गए थे।आगे की कहानी जल्दी ही लेकर लौटूंगा.

इसलिए मैं पीठ के बल सीधा लेट गया और अपने खड़े लंड पर रीना को सवार होने का संकेत दिया. बोल वो मवाली लड़के क्या छेड़ते हैं तुझे? क्या बोलते हैं तेरी यह गदराई गोरी जवानी देख कर?नीता ने फिर पप्पू का हाथ अपने जिस्म से हटाया. और कुछ लोग अपनी पत्नी के बारे में सेक्सी कमेन्ट्स सुनना भी बहुत पसंद करते हैं.

लड़की सांवली थी, पर उसकी बुर क्षेत्र क्या मस्त था, पूरा छेद का मैदान करीने से साफ सुथरा किया हुआ था.

फिर ‘1… 2… 3…’ बोल कर जैसे ही विजय ने अपना लंड जोर से डाला, लंड मेरी चूत को चीरता हुआ पूरा घुस गया. जैसे ही भाभी ने दरवाज़ा बंद किया, मैंने उन्हें पीछे से पकड़ लिया और उनकी साड़ी के पल्लू के नीचे उनके नंगे पेट पर हाथ रख कर उस को सहलाने लगा, उनके गाल और गले, कानों पर पागलों की तरह किस करने लगा.

मेरी पत्नी इस स्थिति में थी कि उसके बूब्स वो लड़का बहुत साफ़ देख पा रहा होगा. वैसे तो आपको यहाँ जो अनुभव मिलेगा वो पूरी दुनिया में कहीं नहीं मिलेगा। आप जो अनुभव अंदर लेंगी उसकी पूरी जिम्मेदारी आप की ही रहेगी। आपको ये सब बताना मेरा फर्ज था जो मैंने निभाया। अब आप तय कर लें कि आपको जाना है या नहीं।मैंने रिया की तरफ देखा, वो भी शायद सकते में थी. कल जहां चाचा ने कुछ सामान रखा था, मैं वहां गया और देखने लगा कि चाचा ने वहां पर क्या रखा था.

मैं बस उन की छाती में समा जाना चाह रही थी।वो धीरे धीरे नीचे जाने लगे। अभी बारिश भी थोड़ी तेज होने लगी थी, मैंने जीजू से कहा- जीजू, बारिश तेज हो गई है, अब क्या करें?तो उन्होंने कहा- मेरी जान, बारिश में ही तो चुदाई का असली मजा है, तुम तो बस अपनी चूत की चुदाई के मजे लो और मुझे चोदने दो. रूपा के पास अब आगे जाने की जगह नहीं थी इसलिए वो अब पप्पू की हरकतों का मजा लते हुए कोई विरोध नहीं कर रही थी. मैं यही चाहता था कि विनीता को उसकी चुदाई के बाद ऐसा ही महसूस हो कि उसने भावुकता में चुदवा लिया है न कि दवा के असर से.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली सुबह अचानक ही गेट पर बजी घंटी के साथ नींद टूटी… उसने हाथ मार कर मुझे उठाया और मैं तुरंत ही टी-शर्ट और लोअर पहन कर दूसरी चारपाई पर जाकर लेट गया। रवि ने भी अपनी टी-शर्ट और लोअर डाली और उठ कर बाहर दरवाजे पर गया। गेट खोल कर देखा तो कोई लड़का गेट पर खड़ा था।लड़के ने कहा- अरै सीटू… खाड़़े मैं नहीं चालता के आज? (अखाड़़े में नहीं चल रहा क्या आज…)वो बोला- यार, मेरा एक दोस्त आया हुआ है. मेरे देखते देखते आंटी ने अपने कपड़े उतारने शुरू किये और पूरी नंगी हो गई.

एचडी में सनी लियोन की बीएफ

मैंने कुछ थूक की बूंदों को अपने लंड के सुपारे पर भी मल के उसे चिकना और चिकना कर दिया. फिर सोचा कि ज्यादा से ज्यादा क्या होगा… दर्द ही तो होगा… और बॉयफ्रेंड के लंड से ही तो दर्द होगा. मैंने उसका लंड जुबान से चाटना शुरू किया ही था कि वह तेज गुस्से में बड़बड़ाने लगा और उसने मेरे गले तक लंड उतार दिया.

इस भीड़ में अपने मम्मों पे हाथ पाके रूपा ज़रा घबरा गई और सिर पीछे करके दबे होंठों से पप्पू से बोली- शुक्रिया पप्पू… पर तेरा इरादा क्या है? भीड़ का इतना भी फायदा लेने का… ऐसे? मैं कुछ बोलती नहीं. भाभी ने कहा- यार देखते ही रहोगे कि अन्दर भी आओगे, कोई देख लेगा जल्दी अन्दर आओ. अँटी सेक्स विडिओअपनी हवस के बस हो कर मैं कहां तक आ गया और अब क्या हो रहा है मेरे साथ… मुझे अपने आप से घिन्न हो रही थी और अपने गे होने पर भगवान को कोस रहा था.

बिल देते टाइम सेल्स गर्ल मोनिका को बोली- आपके पति बहुत अच्छे हैं!मोनिका बोली- हां!ये सुन कर मोनिका बहुत खुश हुई और मैं भी, पर ये मैंने मोनिका को जाहिर नहीं होने दिया.

ये याद आते ही मैं थोड़ी आगे खिसक गई और मैं फिर से गुस्से से उसकी तरफ देखने लगी. गई…ये कहते ही मेरे लौड़े ने अपनी धार सोनिया की चूत के अन्दर छोड़ दी और मेरे लंड की गर्म धार का स्पर्श पाकर सोनिया की चूत ने भी फव्वारा छोड़ दिया.

मैं समझ गया कि मामा अपना लंड मामी के मुँह में दे चुके हैं क्योंकि उनकी आवाजें थोड़ी कम हो गई थीं. मैंने देखा मीना ने थोड़ा सा दरवाजा खोला हुआ था और वो अन्दर हमको चुदाई करते हुए देख रही थी. मैं भी धीरे धीरे बहकने लगी थी, पर जैसे तैसे मैंने अपने आप पर कंट्रोल करते हुए सख्ती से चाचाजी को अलग कर लिया और चाचाजी से हाथ जोड़ कर कहा- प्लीज चाचाजी, मैं आपके हाथ जोड़ती हूँ.

अब उस से रहा नहीं गया और उसने मुझे दबाते हुए नीचे बिठा दिया और मेरा मुँह अपनी जींस के ऊपर से ही ज़ोर से दबा दिया.

कोई दो मिनट बाद मेरे लंड को कुछ राहत सी मिली और चुदाई का मजा आना शुरू हो गया. जाइए और अपनी जिंदगी के सबसे सुनहरे अवसर का लुत्फ़ उठाइए।कहकर उसने क्लब का दरवाजा खोला।जैसे डोर खुला तो अंदर से वासना भरी सीत्कारें सुनाई दी. रात में करीब एक बजे नीलेश जीजू का फ़ोन आया उन्होंने मुझसे पूछा- क्या सब सो गए हैं?तो मैंने कहा- हाँ जीजू मम्मी पापा सो गए हैं.

देवर भाभी मूवीतभी किसी ने रिया को उठाया और मेरे ऊपर 69 की पोजीशन में लेकर रख दिया। हम दोनों ने एक दूसरी की चुत चाटना शुरू किया तो एक ने पीछे से रिया की चुत में लंड सरकाया तो एक ने मेरी चूत में!अब मैं रिया की चुत खा रही थी तो मेरे होंठों से ये लंड भी घिस रहा था. फिर उसने मेरी पेंट की चैन खोली और मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चूसने लगी.

बीएफ सेक्सी देहाती गांव

उन्होंने बोला- चलो आज हमारे साथ रुक जाओ, कल घर चले जाना और अब प्लीज़ कोई बकवास मत करना वर्ना बहुत बुरा होगा. हम सब कॉलेज फ्रेंड्स हैं और ऐसे ही साथ मिलकर ग्रुप सेक्स की मस्ती करते हैं. पप्पू का हाथ ज़ोर से खींचने के चक्कर में बनियान फट गया और नीता के दोनों मम्मे नंगे हो गए.

पर वो उसे ज्यादा नजदीक नहीं आने देती थी। उन दोनों के बीच थोड़ी बहुत चूमा चाटी ही होती थी बस! या बस एक दो बार उसने उस के चूचों को छुआ था. मौसी ने अपनी चुत की फांकों को अलग करते हुए दिखाया- देखो ये है चुत का वो छेद. लगभग दस मिनट में मेरी चूत बहुत गीली हो गई और अब मुझे कुछ नहीं याद कि क्या मैं करूं, क्या नहीं! कौन मेरी बगल से बैठा है और क्या ठीक है.

मैंने डरते डरते भाभी की तरफ देखा तो पहले उन्होंने कोई रिएक्शन नहीं दिया, पर जाते वक़्त भाभी ने भी प्यारी सी स्माइल दे दी. फिर बस 7:00 पर रवाना हुई, थोड़ी देर बाद मैंने पीछे से महसूस किया कि किशोर एकदम से मेरे से टच होते हुए खड़ा था. पप्पू वैसे ही नीता को गोद में उठा कर उसका नंगा सीना और क्लीवेज किस करते हुए अपने बेडरूम में ले जाते हुए बोला- क्या नीता, तूने इतना ज़ोर से हाथ खींचा कि बनियान फट गया, अब मैं कल क्या पहनूंगा बेटी? मुझे लगता है कि तू झूठ बोल रही है नीता, तुझे उन लड़कों में कोई एक तो पक्का पसंद है जो तू हर दिन उनके ताने सुन कर गुजरती है.

उसने 2 धक्के और लगाए तब कहीं जा कर उसका लंड मेरी चुत में पूरा घुस पाया. अब सुमन शांत हो गई थी मगर ये अहसास कि उसके पापा उसका रस चाट रहे हैं, उसको और अधिक रोमांचित कर रहा था.

वंदिता को चिंता होने लगी कि यदि मैं सो गया, तो सारा प्लान खराब हो जाएगा.

मैं मन ही मन खुश हो रहा था कि भगवान ने तो लाटरी निकाल दी।हमने 8 बजे खाना खाया और शेखर भैया 8. বেঙ্গলি বেঙ্গলি সেক্সयह सुन कर मम्मी गिड़गिड़ाईं और बोलीं- प्लीज अन्दर मत डालना, कल ही मेरा पीरियड खत्म हुआ है. सेक्स वीडियो बीएफ वीडियो बीएफहम दोनों भी तो तेरे साथ हैं, हम 3 लड़कियां इन 6 को आराम से संभाल लेंगी. साली की गांड थी तो बहुत मस्त लेकिन अभी गांड मारनी नहीं थी, लिहाजा मैंने विनीता की गांड को चूम-चाट कर छोड़ दिया और उसे सीधे लिटा दिया.

मैंने अपनी मोटी मौसी की गांड मार ली थी और अब तो मौसी के सभी छेद रमा हो गए थे.

दोस्तो, आप जानते ही हैं कि जब हम सेकंड टाइम चुदाई करते हैं तो जल्दी झड़ते नहीं, यही मेरे साथ भी हुआ. उसे अंदाज भी नहीं था कि वो कितनी बार झड़ चुकी है और उसके अन्दर का ज्वालामुखी फिर से फटने वाला था. मैंने उसके डोलों को भी ऊपर नीचे करते हुए चाटा, साथ ही उसके हाथ को ऊपर उठा कर उसकी बगल से आती मदहोश खुशबू का भी आनन्द लिया.

बहूरानी मुझसे बेचैन होकर लिपटने लगी; और अपनी चूत देर देर तक ऊपर उठाये रखते हुए लंड का मज़ा लेने लगी. पड़ोसी होने के नाते अंजलि का मेरे घर आना जाना था और वो मेरी बीवी के पास आती रहती थी, जिस वजह से मेरी उससे थोड़ी बहुत बात हो जाती थी. उसके बाद उन्होंने कहा- सब लाइन में खड़े हैं तू एक एक से गले मिलो और महेश को पहचानो.

सेक्सी चाहिये बीएफ

com/incest/ghar-me-bhul-ja-sab-rishte/करीब 2 मिनट बाद मैं घूम गई और चाचाजी के होंठों में होंठ डालती हुई उनकी बांहों में समा गई. मैंने उसके लंड को पकड़ा और ठिकाने पर लगा कर बोला- साले, ज़ोर से धक्का मार. उसकी भाभी रीतिका बोली- राहुल, आपका लंड बहुत प्यारा है, मैं काफ़ी देर से देख रही थी.

थोड़ी देर बाद सुमन फिर से गर्म हो गई और गुलशनपापा का लंडभी अब चुत में जाने को बेताब हो रहा था तो उन्होंने सुमन को सीधा लेटाया और कमर के नीचे तकिया लगा दिया ताकि चुत का उभार ऊपर उठ जाए और वो लंड को आसानी से उसमें घुसा सके.

कुछ मिनट तक संजय ज़ोर-ज़ोर से पूजा की गांड में लंड अन्दर-बाहर करता रहा.

इधर भाभी लंड की नोक की गर्मी से मस्त हुई और उधर मैंने एक ही बार में पूरा लंड उनकी चुत में डालने लगा. जब मैंने उसकी तरफ एक बार चुपके से देखा तो वो भी अपनी आँखो से ब्लू-फिल्म के मजे ले रही थी. हिंदी सेक्सी बीएफ सेक्सी बीएफवो मज़े ले रही थी- चोद मेरे मम्मे चोद, झटका दे कमीने और तेज चोद और जोर.

ये थी मेरी सच्ची आपबीती, अगर आपके मन में कोई प्रश्न, जैसे कि क्या भारत में मौसी या किसी रिश्तेदार के साथ चुदाई होती है, या और कोई सुझाव हो. कुछ देर बाद वो मेरे लंड को मुँह में भर कर चूसने लगीं, तब मैंने कहा- मौसी ये क्या कर रही हो आप. उसका लंड नीता की चूत पर था और नीता के निप्पल से खेलते हुए वो झूठी कहानी बताने लगा- ओके नीता… अब सुन… तेरी माँ को यह खेल मैंने कैसे सिखाया.

उसने कहा- पागल लाइफ भी कुछ एंजाय कर ले या ऐसी ही एक खूंटे से बंधी रहेगी, इतनी जबरदस्त माल है तू. अब अपने को रोक पाना मुझसे मुश्किल हो गया और मैं अनाड़ी की तरह इधर उधर हाथ मारने लगा.

जो कुछ सोच रखा था वो सब उड़ गया दिमाग से… मैं वासना की अगन में जलने लगी, मेरा रोम रोम आपको पुकारने लगा और आपका प्यार पाने को, आपके लंड से चुदने को मेरा बदन रह रह कर मचलने लगा.

मैंने भी जोश में आकर उनकी एक चूची को हाथ से बेदर्दी से मसलने लगा और बोला- बहन की लौड़ी मेरी रंडी… चूत की रानी… चुदक्कड़ चुदवाएगी न मुझसे… बोल कुतिया…वो बोलीं- अरे मेरे मस्त चोदू… तेरी रंडी तैयार है… घुसा लंड भोसड़ी के… मेरे लंड के राजा…मैं मेम की चूची को दांत से काटने लगा और बोला- बोल कैसे चुदेगी रंडी?वो बोलीं- कुतिया की तरह चोद मादरचोद…मैं बोला- पहले मैं तेरी चूत का रसपान करूँगा. बोली- तुझे कितना भरोसा है मुझ पर?मैंने कहा- तेरे घर पर कोई नहीं दिख रहा है, सब कहाँ गए?वो बोली- पापा काम पर गए हैं, रात के नौ बजे आएंगे. अब मेरा सारा दिन रोमांच में बीत गया, एक ऐसी ख़ुशी का अहसास हो रहा था, जो कभी अनुभव ही नहीं किया था.

ब्लू डब्लू सेक्स डॉट कॉम अंजलि ने कहा कि आज ‘जी सा आ गया…’ दोस्तो हरियाणवी में ‘जी सा आ गया. दूसरा आदमी उनके पेटीकोट को गैप वाली जगह से फाड़ कर उनके सामने घुटनों के बल बैठ कर भाभी की चूत को कुत्ते की तरह चाट रहा था.

जीजाजी अपनी उंगली बुआ की चूत में पेलकर तेज़ी से अंदर बाहर करने लगे- बुआजी, लगता है कीड़े ने आपको गीला कर दिया है. लेकिन आपका मुँह ऐसे क्यों हो गया?उसकी इस साफगोई से मुझे कुछ राहत मिली और मैंने कहा- क्या. वो एकदम टूट गई, उसमें अब जरा भी हिम्मत नहीं थी, उसका सर चकराने लगा था.

जंगली बीएफ जबरदस्ती

जब इसे लंड़चट और गांडू बना दूंगा तब इसकी अकड़ पूरी तरह ढीली हो जाएगी. भाभी ने कहा- यार देखते ही रहोगे कि अन्दर भी आओगे, कोई देख लेगा जल्दी अन्दर आओ. वो मज़े ले रही थी- चोद मेरे मम्मे चोद, झटका दे कमीने और तेज चोद और जोर.

मुझे सोते वक्त किस करना, मेरे चूचों को दबाना और मेरी चूत पर हाथ फेरना. मामी हर कोण से चुदवाती रहीं और मैं अनाड़ी पूरी रात गुलाम की तरह उनकी चुत और गोरी गांड बजाता रहा.

मैंने फिर उसकी पेंटी को नीचे किया और उसके पैर थोड़े फैला कर देखे, एक उभरी हुई चूत जिस पर बीच में चीरा लगा हुआ… चुत के होंठ आपस में चिपके हुए, चूत में उंगली भी ना जाए, चूत पे छोटे छोटे बाल आधा सेंटीमीटर जितने लम्बे!मैंने कविता की चूत की दरार में जीभ लगाई तो वो ऊपर को फुदक पड़ी.

पिछली रात में ही मैंने उसकी कुँवारी चूत को मस्त तरीके से चोदा कर खोल दिया था. मैंने पूरा माल उसके मुँह में छोड़ दिया और उसकी चुत से जूस पीता रहा. मैंने एक अपनी उंगली उसके मुँह में डाली और गांड के छेद में रगड़ने लगी.

जहां तक मुझे याद है सबके 7 और 8″ के ही लंड थे और सब बस मजा ले रहे थे. मैं बहुत तेजी से रेखा की कुंवारी चूत चोद रहा था और उंगली से पिंकी की चूत को चोद रहा था. अब मैं फिर से पीछे को खिसकी, उसका लंड पकड़ कर मेरी फटी सलवार में डाल कर थोड़ा सा झुक कर मेरी चूत में रगड़ा.

मैं उनको और अपने आपको संभालते हुए अपने आपसे अलग किया और धीरे से कहा- जान.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी साड़ी वाली: फिर मैं भी उसके साथ आराम से टब में बैठ गया और उसकी चूचियों को चूसना चालू कर दिया. मैं देखता हूँ कौन आया है?मैंने कहा- दर्द के मारे मेरा तो बुरा हाल है.

”भभी मेरा लंड पूरा अंदर तक जा रहा है ना?”हां राहुल… पूरा अंदर है! बस तुम मुझे चोदते जाओ!”कोई दस मिनट की चुदाई के बाद मैं झड़ने वाला था और इस बीच भाभी भी एक झड़ चुकी थीं. मैंने आंटी का एक आम अपने मुँह में भर लिया और खुद मस्त होकर आंटी का स्तन चूसने लगा. उन्होंने मुझे किस करते हुए पहले तो लंड को ऊपर ऊपर से ही घिसा, जब चूत एकदम गीली हो गई तो उन्होंने धक्का दे दिया और मेरी गीली चूत के अन्दर उनका लंड आराम से फिसल गया.

दोस्तो, इसी तरह ये सब बातों के मज़े लेते रहे, उसके बाद सबने पेट भर खाना खाया.

मैंने वैसे ही किया, मेरी गांड ऊपर को उभर आई, उसने मेरी गांड को थूक से भरा और अपना लंड डाल दिया. दोस्तो, बताने को तो बहुत कुछ है, परन्तु अभी इतना ही, बाकी की कहानी कभी वक्त मिला तो बाद में बताऊंगा. मेरी माँ की चुदाई की कहानी कैसी लगी, मुझे जरूर बतायें, मेरी ईमेल आईडी है[emailprotected].