सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो

छवि स्रोत,बीएफ बीएफ बीएफ चुदाई

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ फिल्म एचडी डाउनलोड: सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो, काफी देर बाद अपनी कुंवारी चूत चुदाई का मज़ा लेते लेते मुझे मेरी चूत के अन्दर कुछ अहसास हुआ.

मोटी भाभी का बीएफ वीडियो

पति- क्या बात है तुम्हें मेरी बहुत याद आ रही है?नम्रता- मैं कहां तुम्हें याद कर रही हूं, अगर मेरे जिस्म में चूत नाम की चीज नहीं होती, जिसे तुम्हारे लंड की जरूरत महसूस होती रहती है, तो मैं तुम्हें हरगिज याद नहीं करती. ठंडी का बीएफशायद वो मेहनत का काम करता था इसलिए!मेरे मुलायम दूध को बहुत मस्त तरह से मसल रहा था और चूम रहा था.

वो बोला- अगर तेरी मां को ये बात चलेगी कि तू अपने बाप से चुद रही थी तो क्या होगा फिर?वह मेरे पास आया और बोला- तेरे पापा कुछ ही देर में वापस आने वाले हैं. बेटी की चुदाई वीडियो बीएफरितेश सब जान चुका था कि मैं चुपके से छिप कर जीजा-साली की चुदाई देख रहा हूं.

वहाँ पर जाने के बाद मैंने देखा तो उन्होंने एक व्हिस्की की बोतल निकाली और गिलास में डालने लगे.सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो: मैं उसकी बुर चाट रहा था और वो ऊपर मस्ती से चिल्ला रही थी- आह … प्लीज़ मन्नी … डोंट बाईट हार्ड … डू इट सॉफ्टर … आई लव इट.

[emailprotected]कहानी का अगला भाग:ज़िम वाले लड़के के साथ दोबारा सेक्स का मजा लिया-2.लंड के बाहर आने के बाद उन्होंने उठ कर मेरे होंठों को चूमा और मुझसे आई लव यू कहा.

बीएफ पेशाब करने वाला - सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो

कुछ समय बाद जब व्हाट्सैप से बात करने का जमाना आया, तो व्हाट्सैप से बात होने लगी.मैंने उससे पूछा- डू यू वांट मोर? (और चाहिए?)उसने नशीली आंखों से हां में सर हिलाया.

मां ने पूछा कि मजा आ रहा है तो मैंने कहा कि हाँ बहुत ही ज्यादा मजा आ रहा है. सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो एक दिन मेरा फोन बजा- ट्रिंग ट्रिंग ट्रिंग …अज्ञात नम्बर था। ऐड वगैरह के अनजान नंबर से फोन आते रहते थे.

मुझे उम्मीद है कि पिछली जीजा साली सेक्स की कहानीजीजा के साथ मेरा सुहागदिनकी तरह इस कहानी को भी आप लोग पसंद करेंगे.

सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो?

फिर अगले दिन सुबह सुबह विकी पीने का पानी लेने आया, तब उसको मेरी सास ने पानी दिया, तब मैं वहीं हॉल में थी. मेरी गांड में ज्यादा दर्द तो नहीं होगा न?मैंने कहा- नहीं, मैं अपने असली लंड से जब तुझे चोदूंगा तो तुझे गांड चुदवाने में भी मजा आयेगा. बाद में फिर तकरीबन डेढ़ घण्टे बाद हम लोग वापस आए, तो पूरी तरह अन्धेरा हो चुका था.

उसने बड़े गले की टी-शर्ट और नीचे पायजामे जैसा हल्का सा कुछ पहना हुआ था. अगर तुम थोड़े देर के लिए बर्दाश्त कर लोगी, तो बाद में बहुत मज़ा आएगा. मैं बाथरूम में पहुंचकर देखना चाहा कि कहीं वो पानी का लोटा लाकर मेरे ऊपर डालने वाली तो नहीं है.

मौसी लंड लीलते हुए बोलीं- ठीक है चोद लेना पर पहले मुझे तो ठंडा कर दे. वह कैसे हमारे इस कामुक जाल में फंसती है और क्या रोमांचक घटित होने वाला है जानने के लिए जुड़े रहिए अंतर्वासना से और पढ़ते रहिए ‘याराना’। अगर कहानी पसंद आ रही है तो मेल पर याराना बनाए रखें।[emailprotected]. अब मैं फिटनेस सेंटर में एक्सरसाइज के लिए रोज़ भाभी की हेल्प करने लगा और धीरे धीरे हम फ्रेंड्स बन गए.

मैं भाभी को मनाने लगा- प्लीज़ भाभी, कुछ नहीं होगा, बस एक बार मार लेने दो. मैं- चलो ठीक है माफ़ किया, लेकिन सच बताओ क्या तुम दोनों बहन भाई एक दूसरे के साथ सेक्स करते हो?निहारिका- नहीं, हम बस अपनी सब बातें शेयर करते हैं.

अगले दिन रात को मैंने उनकी गांड भी मारी, जिसका मजा मैं बयान नहीं कर सकता.

मुझे भी कुछ कुछ अच्छा लगता था, तो मैं भी अपने मम्मे अंकल से दबवा लेती.

उसने कहा- यह टॉवल उठा कर अपने बदन पर लपेट कर चली जा और बाहर बाथरूम में जाकर खुद को अच्छे से धो ले. नहाकर अपने साथ लाई हुई टी शर्ट व लोअर पहनकर कमरे में आया तो वो सो चुकी थी. अगर किसी दिन मेरी कोई क्लाइंट के 34 साइज़ के मम्मे हों और एकदम टाइट हों, तो समझो उस दिन मेरी चांदी हो जाती है.

जब हम दोनों भाई घर पहुंचे तो वीणा ने अपनी इच्छाओं के बारे में बताया कि कैसे वह जवान हुई और कैसे उसने मेरी और रीना की चुदाई को चोरी छिपे देखा. मैंने उसके चेहरे की तरफ देखा, उसकी आंखें तृप्त होने जैसी अवस्था में बंद थीं. मैंने उसकी ओर देखा, सोनल ने कपड़े पहन लिये थे, लेकिन फिर भी उसका नग्न बदन दिख रहा था.

एक दिन मैं एक खाली पीरियड में लाइब्रेरी में पढ़ाई करने का नाटक करते हुए ऊँघता हुआटाइम पास कर रहा था, तो स्कूल का सबसे सीनियर चपरासी रामजी लाल मुझे ढूंढता हुआ आया- राजे … तुम्हें बाली मैडम ने बुलाया है … स्टाफ रूम में … चलो फटाफट!रामजी लाल को सब लोग ताऊ कहा करते थे.

मौसी के इतना बोलते ही मैंने लंड को मौसी के चूत के छेद पर टिकाया और एक जोर का धक्का दे मारा … पहले ही धक्के में मेरा करीब आधा लंड मौसी की चूत में घुस गया. उन्होंने मुझसे कसम ले ली कि आइन्दा मैं कभी शराब को मुंह भी न लगाऊं तभी वो मुझसे बात करेंगी नहीं तो नहीं करेंगी. नम्रता जम्हाई लेते हुए हैलो बोली, तो दूसरी तरफ से आवाज आयी- नम्रता तुम आज स्कूल नहीं गयी क्या.

मैं आगे की तरफ जाकर आंटी के चूचों को दबाने लगा और वरूण ने आंटी की चूत की चुदाई शुरू कर दी. मैं सुमन को पूरी तरह से गर्म कर देना चाहती थी और मैं इसमें तेजी के साथ कामयाब भी होती जा रही थी. गहरे ब्राउन कलर का लंड जिसकी लम्बाई मेरे छः इंच वाले स्केल के बराबर रही होगी और वो किसी बड़ी तोरई जितना मोटा था और उस पर मोटी मोटी फूली हुई सी नसें उनके लण्ड को डरावना लुक दे रहीं थीं.

आह्स्स … जीजा … आह … मेरे मुंह से कामुक सिसकारियाँ और ज्यादा तेज होती जा रही थीं.

पूजा लंड बहुत मस्त चूसती है, वो मेरे लंड को पूरा अपने गले तक ले जा रही थी और मेरी गोटियों को दबा भी रही थी. काफी देर बाद अपनी कुंवारी चूत चुदाई का मज़ा लेते लेते मुझे मेरी चूत के अन्दर कुछ अहसास हुआ.

सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो मेरी तरफ़ से ग्रीन सिग्नल मिलते ही भाई ने मुझे दीवार से लगा दिया और पागलों की तरह मेरे होंठों को चूसने लगा. मगर अभी मुझे 12 बजे का इंतजार करना था ताकि माँ गहरी नींद में सोती रहे.

सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो मैं- अरे यार, अगर ऊपर वाला चाहेगा, तो तुम्हारा मर्द भी तुम्हें मजा देगा. बीच में मैडम फॉर्मेलिटी पूरी करने के लिए आई और शीट पर भरी डीटेल्स चेक करते हुए साइन करने लगी.

मैंने उसकी दोनों चूचियां बारी बारी से अपने मुँह में भर कर खूब चूसीं.

बीएफ सेक्सी वीडियो मोटी लड़की

काजल मेरा पूरा वीर्य पी गई और गीली जीभ से लंड को चाट चाट के पूरा साफ़ कर दिया. मैंने हचक हचक कर रानी के कहे मुताबिक लम्बे लम्बे धक्के देने शुरू कर दिए. उसकी पैंटी अब तक गीली हो गयी थी और मुझे कुछ अजीब सी महक आ रही थी और स्वाद भी.

इस सेक्सी कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मैंने अपनी दीदी को आइक्रीम खिलाने के बहाने उसको नंगी कर दिया. तभी नम्रता लंड को हाथ में पकड़ कर बोली- तुम्हारा लंड बहुत फड़फड़ा रहा है, जरा इसको फांक की सैर करा दूं. कूलर को मैंने अपने कमरे में लगाने के लिए मानसी से पूछा तो वो बोली- ठीक है.

मैंने पूछा- आप क्या करोगी?वो बोली- कुछ भी, पर तुम मुझे मना नहीं करोगे.

00 बजे मेरी नींद खुली, तो मैं बिस्तर में अकेला सोया हुआ था और मेरे ऊपर चादर पड़ी थी. अपनी उंगलियों को उसकी चूत की फाँकों तक पहुँचाकर मैंने अब अन्दर ही अन्दर धीरे धीरे मोनी की चूत की फाँकों को मसलना शुरू कर दिया जिससे मोनी अपनी जाँघों को भींचकर नीचे से और भी ज्यादा दूसरी तरफ मुड़ गयी। उसकी ये तड़प और खामोशी मुझे अंदर से और भी ज्यादा बेचैन कर रही थी. मैं बेसब्री से इंतज़ार कर रहा था, मेरा तो लंड उसे देख कर बेकाबू हो गया और मेरी हालत काम रोग से ग्रस्त हो गयी.

ये जान कर मैं और जोश में उसका मुँह चोदने लगा और उसके निप्पल को पकड़ कर ज़ोर ज़ोर से खींचने लगा, जिससे वो पागल हो गई. बारी बारी से दोनों चूचियों को चूसते और चूत को सहलाते सहलाते आधा घंटा हुआ तो डॉली की नींद खुली या यूं कहें कि उसे होश आया, बोली- अंकल बहुत नींद आ रही है. अब मुझसे रुका नहीं जा रहा था और मैंने उसकी चूत में अपना लौड़ा डालने की तैयारी कर ली.

तत्काल वसुन्धरा के मुंह से आनंदप्रद सिसकारियों का सिलसिला शुरू हो गया. मैंने ऐसी माल, ऐेसी चुदक्कड़ लड़की अपनी जिंदगी में कभी नहीं देखी थी.

मैं जब लंड चूसने लगी तो वो भी उत्तेजित होकर कामुक सिसकारियाँ लेने लगा. वो बोले- मेरी जान, अब मुझे इस मालिश का इनाम में तेरी एक चुम्मी चाहिए. मेरी चूत को काफी देर तक चाटने के बाद उसने अपनी दो उंगलियों को मेरी चूत में डाल दिया और अपनी उंगलियों को मेरी चूत में अन्दर बाहर करने लगा.

मैंने फ़ौरन वसुन्धरा के ब्लाऊज़ के हुक खोलने शुरू किये और दो क्षण में ही वसुन्धरा के ब्लाऊज़ दोनों पटल दाएं-बाएं खुले पड़े थे और अंदर लेसिज़ वाली डिज़ाईनर ब्रा में दो हंसों का जोड़ा अपनी झलक से वातावरण चकाचौंध करने लगा.

जीजा बोले- साली कुतिया, तुझे तो मैं बेटी की तरह नहीं अपनी बीवी की तरह रखूंगा. सुमन को सेक्स करने या सेक्स के दौरान होने वाली अनुभूतियों के बारे में कुछ भी नहीं पता था. उसका लंड बहुत मस्त था और मैं उसकी चुदाई से मदहोश हो गयी थी और मुझे उसके चोदने का स्टाइल भी बहुत अच्छा लग रहा था.

मैं उसके अनारदाने को कस कर मसलता, उसकी चूत के अन्दर उंगली डालता और अन्दर की गर्माहट का आनन्द लेता. फिर वो बैग से कपड़े निकालने लगी और चेंज करने के लिए बाथरूम में जाने लगी.

मौसी के लेटने की वजह से उनकी कमर भी थोड़ी पीछे की ओर सरक गयी, जिस वजह से मेरे लंड और उनकी चूत के बीच में मेज़ का किनारा आने लगा. उसने मुझे ऐसे बांध रखा था कि मैं अपनी एड़ियों पे उचक कर असहाय सी खड़ी थी. उसके नंगे चूचों को देख कर मेरे मन में पता नहीं क्या आया कि मैं अंदर घुस गई और मैंने सुमन के चूचों को अपने हाथों में लेकर दबा दिया.

बीएफ फिल्म देहाती में

वो परिवार बहुत ही मिलनसार था, तो थोड़े ही दिन में मेरी मम्मी से उन आंटी की दोस्ती हो गई और हमारा एक दूसरे के घर आना जाना चालू हो गया.

लेकिन तुम तो मेरी उम्मीद से बड़े हरामी निकले … अपने दोस्तों को भी साथ लगा लिया? तुम घर पर कोशिश करते तो क्या तुम्हें मना करती? लेकिन अब ये तुम्हारे दोस्त … मेरा तो बुरा हाल हो जाएगा. इसलिए प्रिया को घास डालना शुरू कर दिया मैंने और जल्दी ही उसके नतीजे भी दिखाई देने लगे. जल्दी ही वो अपना लैपटॉप लेकर मेरे रूम में आ गया और रूम का दरवाजा अन्दर से बंद कर लिया.

फिर मैंने पापा से कहा- आप भी मेरी गांड को जमकर चोदो, तुम्हारी बंध्या तुम्हारी रंडी बन कर रहेगी. मैं उसके चूचे दबाना चाहता था लेकिन बाहर रोड पर सब दिखाई दे रहा था इसलिए मैंने कुछ नहीं किया. बाबा के बीएफ वीडियोमैं अंडरवियर में ही था और मेरी पैंट भी रजाई में ही निकली हुई कहीं पड़ी थी.

बाप रे बाप! किस चक्रव्यूह में धकेल रहे थे बड़े मियाँ!” लेकिन अब तो न कहने की या पीछे हटने की स्टेज गुज़र चुकी थी तो मैंने एक कोशिश करने की हामी भर दी. वो मस्त होने लगी और उसने अपने हाथ फैला दिए और अंगड़ाई लेना शुरू कर दिया.

फिर अगले दिन सुबह सुबह विकी पीने का पानी लेने आया, तब उसको मेरी सास ने पानी दिया, तब मैं वहीं हॉल में थी. तो वो बोले- अरे तू तो मेरी बीवी की एक्टिंग कर रहा है, तो शर्मा क्यों रहा है? वो तो इसे बड़े प्यार से चूमती है और लॉलीपॉप की तरह चूसती है. इसी बीच जैसे ही मैं अपने उभरे हुए लंड को अड्जस्ट करने लगा, तो मेरी इस हरकत को भाबी ने देख लिया.

इस दोहरी चोट को वो सह नहीं पाई और बहुत ज़ोर से चीख़ पड़ी उम्म्ह… अहह… हय… याह… जिसको मैंने अनसुनी करके अपना लंड पूरा निकाल कर वापस से एक ज़ोर का झटका दे मारा. फिर 5 दिन बाद मेरे मामा अपनी लड़की की शादी का न्यौता देने और मुझे साथ ले जाने के लिए आए. वसुन्धरा का मुंह खुला और उसके मुंह से जोर से ‘आह’ की सिसकारी निकली और इसके साथ ही मेरी जीभ वसुन्धरा की पकड़ से छूट गयी.

मुझे आपका अच्छा फीडबैक मिला, तो मैं अपनी दूसरी कहानी आपको जल्द ही बताउंगी.

मेरे एक दूध को मेरा भाई अपने मुँह में लेकर चूसने लगा और दूसरी चूची को मसलने लगा. हाथ-मुंह धोकर मैंने जल्दबाजी में खाना ठूंसा और निवाले निगल-निगल कर फटाफटा पेट भर लिया.

सेक्स कहानी शुरू करने से पहले बताना चाहता हूँ कि यह एक समलैंगिक कहानी है. हम चारों ही अजय के फ्लैट पे जाने वाले थे कि अचानक से स्वाति के पापा का फोन आ गया और उसे घर जाना पड़ा. वो एक हाथ से मुझे अपनी तरफ खींचने की कोशिश करती हुई पूरा लंड चूत में उतरवा रही थी.

जीजा जी मेडीकल लाइन में जॉब करते हैं और दीदी भी साथ में ही रहती है. वो इस कदर की तेज़ी से मेरा लौड़ा चूस रही थी, जैसा उसने कभी किसी का लंड अब तक मुँह में ही नहीं लिया हो. बस 5 मिनट के बाद वो अकड़ने लगी और मेरी बांहों में निढाल हो कर पड़ी रही.

सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो अब आगे:शाम के 7 बजे के करीब मेरी नींद खुली, तब वहां बेड पर सिर्फ दिशा ही सो रही थी. मैं जान गई कि उनका वीर्य दीदी की गांड में पिचकारी के रूप में भरने लगा है.

देसी बीएफ सेक्सी पिक्चर

उसकी चूत की चुदाई के साथ मैं अपनी एक उंगली से उसकी चुत के दाने को भी मसल रहा था. दो-तीन मिनट बाद मैंने राधिका को घुमा दिया और उसकी ब्रा का हुक खोलकर ब्रा को निकाल दिया. ऐसी चुदाई बहुत अधिक देर तक चलती है और शरीर और आत्मा दोनों को भरपूर तृप्त कर देती है.

उसके बाद वंश बोला- कविता डार्लिंग आज तो मैं पहले अपनी मम्मी को चोदूंगा … कल से गर्लफ्रेंड को चोदूंगा. रितेश जीजू ने जोर-जोर से मानसी के मुंह में अपना लंड पेलना शुरू कर दिया. सेक्सी बीएफ न्यू सेक्सी बीएफआप सभी दोस्तों ने मेरी चुदाई और कहानी में दी गयी तफसील की तारीफ की है और कुछ दोस्तों ने पूछा क्या खाला की चुदाई मेरी पहली चुदाई थी.

उसने पूछा- कितनों के लिए हैं?मैंने कहा- गिना नहीं!और उसने वापस धक्का लगा दिया और ज़ोर ज़ोर से मेरा मुंह चोदने लगा.

क्या बताऊं यार इतना सेक्सी ओर हॉर्नी अहसास मैंने मेरी जीएफ के साथ भी कभी फील नहीं किया था, जितना आज उसके साथ कर रहा था. आप सभी से निवेदन है कि आपको मेरी सेक्स स्टोरी कैसी लगी, मुझे ज़रूर बताएं.

उसके बाद मैंने उसके मुँह पर से सभी फूल हटा दिए और अपने होंठ दिलिया के होंठों पर रख दिए और उन्हें चूसने लगा। वह भी मेरा साथ देने लगी. कुछ देर बाद मैंने अपने हाथ उसके टॉप में डाल दिये और उसके चुचे ब्रा के ऊपर से दबाने लगा. उसके बाद उन्होंने दीदी के चूचों को बहुत ही जोर से दबाना शुरू कर दिया.

इससे गुप्ताइन तो खुश हो रही थी लेकिन मेरे मन में एक नया विचार पनप गया कि यदि डॉली को चोदने का मौका मिले तो क्या कहने.

मैंने उसकी चूत में तेजी के साथ उंगलियों को चलाना शुरू कर दिया और उसके मुंह से स्स्स… आह्ह … अम्म… ओह्ह जैसी मधुर आवाजें निकलने लगीं. थोड़ी देर आराम करने के बाद वो उठी और मेरे सामने खड़ी होकर सलवार ऊपर करके नाड़ा बांधने लगी. पीछे से एक लड़के ने सूट को मेरी गांड से हटा कर मेरी गांड को दबाना शुरू कर दिया.

पंजाबी बीएफ सेक्सी फुल एचडीक्या इस प्रकार का सेक्स उचित है? क्या एक मर्द एक साथ दो औरतों को सन्तुष्ट कर सकता है? या फिर ये सब वीडियो में दिखाया जाने वाला झूठ है? जब से मैंने ये वीडियो देखा है तब से मैं और मेरी सहेली इस तरह का सेक्स करने की चाहत मन में पाल कर बैठी हैं. उनके जाने की सुनकर मैं तो परेशान हो गई कि मेरा क्या होगा? उनको साथ में फैमिली को ले जाने की परमीशन नहीं थी, तो मुझे मुंबई अपने घर ही रुकना पड़ा.

बीएफ हिंदी में देखने वाला

उसके निप्पल कड़े होकर बिल्कुल नुकीले हो गये थे और किसी पहाड़ी की चोटी की तरह से छत की तरफ देख रहे थे. दीदी के आने के बाद उस रात मैं उनके बच्चों के साथ दूसरे कमरे में सो गयी. वीर्य को उनकी चूत में खाली करने के बाद जीजा जी कुछ देर के लिए शांत हो गये.

मैंने फिर से पूछा- सही बताओ कि तुमने कभी ऐसा किया है? वैसे मुझे कुछ मालूम है. मगर उनको क्या पता था कि मैं आज अपने आप को बेच कर आई थी।2 दिन बाद हम दोनों वायुयान से गोवा चले गए. जल्दी से जल्दी रीना भाभी को यहां बुलाइए।राजवीर- लेकिन रीना को अभी हमारे इस प्लान के बारे में कुछ नहीं पता है। जब वह जानेगी तो हैरान हो जाएगी और पता नहीं क्या प्रतिक्रिया देगी। मुझे इसके बारे में कोई अंदाजा नहीं है.

मगर मैंने फिर से उसे पकड़ लिया और उसको धकेलते हुए दीवार से सटा दिया. मैंने उसकी चुत में ज़ोर से एक झटका दिया, तो वो चिल्ला उठी- आआअहह … हाय … प्लीज़ थोड़ा धीरे … मुझे दर्द हो रहा है. बातें करते करते मैंने उसकी गांड के छेद में उंगली डाल दी, तो वो थोड़ी आह करने लगी.

उसके बाद उन्होंने जल्दी से मेरी सलवार पर हाथ मारते हुए उसके नाड़े को खोल दिया और नीचे से पैंटी समेत मेरी सलवार को नीचे की तरफ खींच दिया. मैंने पूछा- क्या आप के हसबैंड आप को बोर होने देते हैं?उन्होंने कहा- वो कुछ दिन के लिए दिल्ली गए हुए हैं.

जैसे जैसे मैं लंड को ऊपर नीचे करता गया, वैसे वैसे मौसी की सिसकारी बढ़ती गयी और मौसी की चूत फिर से पानी छोड़ने लगी.

वो सिर्फ इतना ही बोल पायी- ओह्ह ननदोई जी प्लीज …उसके बाद तो उसके मुँह से एक और लम्बी कामुक सी सिसकी निकल गई- अह्ह्ह् शह्ह्ह्ह … ओह्ह … आप तो मुझे मार ही दोगे. पिक्चर वीडियो बीएफ पिक्चर वीडियोमैंने मौसी के दोनों पैरों को घुटनों से मोड़ कर उनके पेट के ऊपर तक करके मौसी को ही पकड़ने को दे दिया. गुजराती सेक्सी बीएफ चुदाईसामने वाले टोयलेट में भी कोई है, इसलिए चैक कर रहा था।फिर कुछ देर बाद सामने वाले टॉयलेट के गेट की खुलने और बन्द होने की आवाज आयी तब हम दोनों को थोड़ी शांति मिली. मैं आपसे सम्मोहित हो चुका हूं।विक्रम ने रीना की गांड को पकड़कर उसे उल्टा किया तथा रीना को स्तनों के बल लेटा कर पीछे आया और लगभग डॉगी स्टाइल में ही रीना को फिर से तैयार किया.

सेक्स कहानी शुरू करने से पहले बताना चाहता हूँ कि यह एक समलैंगिक कहानी है.

उसकी चूत में मैं उंगली चलाने लगा और एक हाथ ऊपर की तरफ उसके चूचे को भी दबाता रहा. मैंने मौसी के दोनों पैरों को घुटनों से मोड़ कर उनके पेट के ऊपर तक करके मौसी को ही पकड़ने को दे दिया. अब मैं एकदम से जाग गयी और मैंने उसका हाथ पकड़ लिया, मैंने पूछा- ये क्या हो रहा है?तो वे दोनों भाई बहन सकपका गए.

तुम कितनी देर में पहुंच रही हो?मैंने कहा- ठीक है, अभी तो मैं जीजा के साथ चित्रकूट के लिए निकल रही हूं. मैंने कहानियां तो बहुत पढ़ी हैं, पर सभी सच हैं या नहीं … ये मुझे नहीं लगता. दो मिनट में वापिस आईं तो मैंने पूछा- मैडम जी अब चलूँ?मैडम ने एक उंगली उठाकर रुकने का इशारा किया और मेरे बहुत करीब आकर यकायक मुझसे लिपट गयीं.

सेक्सी बीएफ हिंदी चोदी चोदा

मैंने उसका स्वाद लेने की मंशा से उसकी मधुर महकती चूत पर होंठ रखे तो मेरी गीतू की सिसकारी निकल गयी- सिस्स … आअह्ह … प्रीतम … आआआ … ह्ह्ह … बड़े दिनों बाद कोई यहां तक पहुंचा है… उफ्फ्फ्फ़!उसकी चूत की खुशबू जब मेरे नथुनों से होती हुई मेरे पूरे बदन में समाने लगी तो उत्तेजना में मैंने भी उसके मुंह में अपने लण्ड के झटके बढ़ा दिए. मैंने पूछा- किस लिए?वो बनावटी गुस्से से बोली- अरे बाबा खाना खाने के लिए. मैंने जब अपनी पैन्ट और चड्डी को हटा कर लंड को निकाला, तो मेरी बहन अपने भाई का लंड देखकर दंग रह गई.

बस फिर क्या था, पहले दिन से ही स्वीटी को पटाने की कोशिशें शुरू हो गईं.

मैं ज्यादा जोर से चिल्ला भी नहीं सकती थी, वरना बदनामी मेरी ही होती.

मैं सोचता रहा हूं कि अन्तर्वासना से जुड़ने से शायद मुझको नए दोस्त मिल जाएंगे. मैंने लोअर की जेब सिगरेट की डिब्बी निकाली और पहले झिझकते आंटी की तरफ देखा तो उन्होंने बड़े अश्लील भाव से ओने होंठों पर जीभ फिराई. सनी लियोन बीएफ अंग्रेजीअगर तुम मेरी जिंदगी में नहीं आए होते, तो जो मुझे अब मिलने जा रहा है, कभी नहीं मिलता.

जब आंटी से रहा नहीं गया, तो उन्होंने अपनी गांड उठाते हुए कहा- अब डाल भी दो यार … क्यों मुझे तड़पा रहे हो. मैंने उसे गाल पे किस किया और उसे वैसे छोड़ कर टेबल की तरफ बढ़ा, जहां वाइन की बॉटल रखी थी. इस पर मनीषा भड़क गई और उसने जागृति के हाथ से रिमोट दोबारा छीनने की कोशिश की.

यह कहानी उस समय से शुरू होती है, जब हम तीनों गांव के स्कूल में बारहवीं क्लास में पढ़ते थे. रवि बॉस के जबरदस्त लौड़े ने मेरी सालों पुरानी तमन्ना पूरी कर दी थी.

मैंने हल्के से मुस्कुराते हुए उसे मना कर दिया और उठ कर सीधी बैठ गयी.

उसकी चुत पूरी तरह से गीली हो चुकी थी और उसकी वजह से उसकी पेंटी भी गीली हो रही थी. मैं उसकी चूत में लंड डाल ही रहा था कि वो जाग गई और फिर मुझसे नाराज हो गई. वो हँसने लगी और बोलीं- तो छोड़ क्यों दिया … क्या तुम उसे आगे भी कुछ कर सकते हो?मैं यह सुन के एकदम सन्न रह गया और खुशी में पागल भी हो गया.

हिंदी बीएफ हिंदी की बीएफ मैंने भी बस टॉवल लपेटा हुआ था, जो बस मेरे मम्मों के निपल्स को छुपा पा रहा था. सरला के हाथ भी कहां शांत थे, वह मेरे चूतड़ों पर अपने हाथ घुमा रही थी.

अब मैंने उसको अपनी छाती पर दबाया, तो मेरे दोस्त ने पीछे से उसकी गांड में धीरे धीरे लंड डालना चालू कर दिया. चूँकि वो झड़ चुकी थी … इसलिए मेरा हाथ भी उसकी चूत के रस से सन गया था. फिर मैं ऐसे ही ज़ोरदार धक्के लगाता रहा और फिर 15 मिनट तक ऐसे ही चोदता रहा.

बहन की हिंदी बीएफ एचडी देहाती

जब उसका दर्द थोड़ा शान्त हुआ, तो मैं धीरे धीरे लंड को अन्दर बाहर करने लगा. तत्काल वसुन्धरा मेरा सर अपने हाथों में ले अपने उरोजों पर दबाने लगी और उसके मुंह से आहों-कराहों तूफ़ान फ़ट पड़ा- आह … उफ़ … हा … उई … ई … ई … हक़्क़ … सी … इ … इ … ई … ई … आह … उफ़ … हाय … जोर से करो राज … यस … यस … ओ गॉड! सी. एक दिन अनुषी का फोन आया कि कल मेरे पति व ससुर सास तीनों देवर के लिए कल सुबह यूपी में लड़की देखने जाएंगे, लगभग दो दिन में आएंगे.

उसने एक ही झटके में मेरे बदन से चादर खींच दी और मुझे फिर से नंगी कर दिया. मेरी बात का जवाब देते हुए काजल ने मेरे अगले सवाल का मुंह ऊपर उठने से पहले ही उसको अपने जवाब की जूती से जैसे रौंद दिया क्योंकि मैं इसके बाद यही पूछने वाला था कि घर में कौन-कौन है!खैर, अब जब बात शुरू हो ही गयी थी तो आगे बढ़ानी भी जरूरी थी लेकिन समझ नहीं आ रहा था कि और क्या बात करूं.

वह हल्की सी मुस्कान के साथ मेरे गाल पर चुम्बन करते हुए बोली- कोई बात नहीं।तभी आयशा नीचे उतरने लगी तो मैंने पूछा- कहाँ जा रही हो?वो मुस्कराती हुई बोली- टायलेट जा रही हूँ, चलोगे क्या?मैंने भी तुरंत हाँ कर दी।तो आयशा बोली- नहीं, कोई देख लेगा.

मगर उनकी आवाज इतनी ज्यादा तेज नहीं थी कि बाहर आकर बच्चों के कानों तक पहुंच पाये. मुझे धीरे धीरे पूरे मज़े आने लगे और मैं उछल उछल कर उसका लंड लेने लगी. जब मुझे लगा कि अब मेरा निकलने वाला है, मैंने लंड बाहर निकाल लिया और मुठ मार कर वीर्य बाहर निकाल दिया.

मैंने उसके गालों पे किस करते हुए और उसे छेड़ते हुए पूछा- कॉलगर्ल मतलब क्या?उसने मेरी तरफ गुस्से से देखा, मैं उसे देख के मुस्कुरा रहा था. मैंने लपक के रानी को उठाया और गोदी में उठाए हुए भागता हुआ बैडरूम जा पहुंचा. मैंने पूछा- क्यों ज्यादा दर्द हो रहा है?आतिशा बोली- हां, थोड़ा धीरे धीरे चोदिए.

उसके बाद मैंने माँ के पेट पर हाथ फिराया मगर उसके बाद भी माँ ने किसी तरह की हलचल नहीं की.

सेक्सी बीएफ चुदाई पिक्चर वीडियो: अंकल जी, अब जल्दी करो जो करना हो … नहीं तो घर पहुँचने में देर हो जायेगी तो मम्मी गुस्सा होंगी. तभी उन्होंने मुझसे पूछा- तू मेरी बीवी की एक्टिंग करेगा?मैं तुरंत मान गया, क्योंकि मुझे बचपन से ही लड़कियों की तरह रहना, उनके कपड़े पहनना अच्छा लगता था.

उसे देख कर मैं खेत के पीछे से घूमकर धीरे धीरे सीढ़ियों से ऊपर चला गया. कुछ समय बाद मेरे मम्में इतने विकसित हो गए कि मुझे ब्रा पहननी पड़ी और मैं आस पड़ोस के मर्दों की आँख का तारा बन गयी. फनफनाता लंड देख कर भाभी आंखें फाड़ने लगीं क्योंकि दोस्तो, मेरे लंड की एक खास बात है, जब सबका लंड खड़ा होता है, तो सीधा होता है.

चूंकि उसने घुटनों को मोड़ लिया था इसलिये मेरा हाथ उसकी चूत के पहुंच से दूर था.

उसे इसका जरा सा अहसास भी नहीं था कि मैं कुछ ऐसा करने वाला हूँ। उसके फूल की पंखुड़ी की तरह लाल होंठों पर एक हल्की सी मुस्कान थी। शायद इससे उसे काफी आनंद आ रहा था।आइस क्यूब को उसके बदन पर घुमाते हुए मैं ऊपर की ओर बढ़ रहा था. मैंने भी बदले की कार्यवाही करते हुए उसकी पुत्तियां को खींचते हुए सक करना शुरू कर दिया. अम्मी को अब्बू के लंड की कमी महसूस होती होगी, ये बात मैं समझ सकता था.