बंगाल की देसी बीएफ

छवि स्रोत,देसी xxx बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

चाची की चूत की वीडियो: बंगाल की देसी बीएफ, उनको अपने लौड़े के ऊपर बिठाकर झूला झुलाया, दीवार में टिका कर चोदा, हवा में उठा कर चोदा.

बफ सेक्सी सेक्सी

मैंने हम तीनों के गिलासों में व्हिस्की के पैग बना लिए और पानी भी मिला दिया. क्सक्सक्स वोडेमगर आज बात कुछ और थी एक तो महीनों से वो मुझसे दूर थी और बिना लंड लिए उसकी चूत भी मचल रही थी।वीडियो भेजने के कुछ देर बाद मैंने उसे कॉल की पूछने के लिए कि कैसी लगी वीडियो तो नेहा ने कहा- अच्छी लगी मगर वो दो-दो लंड एक साथ कैसे ले रही थी?उसके दो-दो लन्ड एक साथ लेने वाली बात से मैं समझ गया कि वो भी उत्सुक है और उस वीडियो की तरह ही कुछ वो भी करना चाह रही है शायद। मगर वो खुलकर कह नहीं पा रही है.

वहां पहुंच कर मैंने अपनी शाल जैसे उतारी तो शहज़ाद मेरी चूचियों को देख कर बोला- कसम से … आज आप एकदम कयामत लग रही हो. सेक्सी वीडियो बीपी मारवाड़ीमैं आपको देविका जी ही कहूंगा।फिर मैंने पूछा- क्या प्रॉब्लम आ रही है देविका जी आपको एप्लीकेशन यूज करने में?मैंने हाथ सेनीटाइज करते हुए उससे पूछा.

मेरी मां मेरा लंड ऐसे चूस रही थीं, मानो वो कोई मीठी लॉलीपॉप चूस रही हों.बंगाल की देसी बीएफ: जहां मैंने रूम लिया था, उस समय उस मकान में मैं ही पहला किरायेदार था.

अब मैंने धीरे धीरे अपना हाथ उसकी गोरी मखमली जांघों पर फेरते हुए उसकी चूत की तरफ बढ़ाया तो शीना ने अपनी आंखें बंद कर ली.वह अपनी कमर को ऊपर नीचे हिलाते हुए लंड के सुपारे को बुर से रगड़ रही थी.

ہندی سیکسی ویڈیو - बंगाल की देसी बीएफ

स्मृति कभी अपनी जीभ को लंड के अगले हिस्से पर घुमाती तो कभी नीचे गोलियों पर।फिर स्मृति ने मेरे लंड को मुँह में ले लिया और चूसने लगी।स्मृति बड़े मज़े से मेरे लंड को चूस रही थी.फ़लक ने मुस्कराते हुए पूछा- सर, ये इंटरव्यू ही चल रहा है न?मैं- हाँ, प्रैक्टिकल चल रहा है.

निखिल- मीनू मेरी जान, जब से तू शादी करके यहां आई है … तब से मैं तेरे लिए तड़प रहा हूं. बंगाल की देसी बीएफ उधर तूने देखा कैसे पल्ली ने सरेआम विराज को हग करते हुए फ्रेंच किस किया, वो भी समीर के सामने ही.

शीना- अंकल सॉरी, मैंने आप और अपनी हॉट मॉम सेक्स वाला वीडियो भी देख लिया।मैं- कोई बात नहीं, ये भी अच्छा ही हुआ.

बंगाल की देसी बीएफ?

मैंने फ़लक को अपनी गोद में लिटा लिया और उसकी पैंट में उभरी चूत की फाँकों को सहलाना शुरू किया. एक बात तो सच है कि लन्ड चूसने में जो मज़ा मर्द देते हैं महिलाओं के अंदर वो कला कम होती है. वो अपनी दोनों टांगों को पूरी तरह से खोल कर मुझे चुत चाटने के लिए रास्ता देती हुई अपनी गांड उठा रही थीं.

उसके लंड के घुसते ही मुझे हल्का दर्द हुआ लेकिन मैं उसको सहते हुए अपनी चूत अलग अलग स्टाइल में चुदवाने लगी. मेरे चूतड़ों का आनन्द लेते हुए दस मिनट बाद देवर जी ने भी अपना वीर्य मेरी चूत में निकाल दिया. मैंने अब झटकों की गति तेज कर दी और संगीता की चूत को तेज गति के कारण मजा आने लगा था.

मैंने दर्द से कराहते हुए कहा- साले भोसड़ी के … मारेगा क्या … मैं कहीं भागी नहीं जा रही हूँ. उसने मेरे बुरके को ले लिया और पार्किंग में रखी बाइक की डिक्की में रख दिया. लगभग बीस मिनट तक धकाधक चुदाई चली … फिर हम दोनों एक साथ में ही झड़ने को हो गए.

तब उन्होंने छोटे चाचा, जिनका नाम निखिल है, उनको फोन लगाया और घर बुला लिया. पर इन दोनों को पता नहीं चला कि स्नेहा छुप कर ये सब तमाशा देखते हुए अपनी चूत पर उंगली फेर रही थी.

मदहोश नेहा मेरे मुंह पर ही बैठ गयी और उसने मेरे मुंह को अपनी दोनों जांघों से दबा लिया और ऊपर नीचे होने लगी.

अब फरियाल बोली- पंकज अब अन्दर डालो ना … और मेरी चुत का कुछ करो यार!मैंने कहा- ठीक है.

मैं नेहा को सीने से चिपकाते हुए बोला- मगर मेरा तो गोश्त खाने का मन है. मैंने अपने कपड़े उठाए और नंगा ही अपने रूम में आ गया और अंडरवियर पहन कर सो गया. मेरी सांस बंद थी और उनका वीर्य बाहर नहीं आ सकता था तो जबरदस्ती मुझे गटकना पड़ा.

आपके पास एक सुनहरा मौका है कि मुझे अपने पास आने दीजिये, ईश्वर की कृपा हो सकती है. तो भाभी बोलीं- आज मेरे हाथ की चाय पीकर देखो … न जाने चाय से क्या दुश्मनी पाल रखी है. मैंने जैसे ही अपनी पैंट नीचे की तो चाची मेरे अंडरवियर में उठे उभार को देखकर मुस्कराने लगी और बोली- ये क्यों तना हुआ है?मैं चुप रहा और टॉवल लेकर लपेट लिया और अंडरवियर भी निकाल दिया.

तभी रूपाली आयी और मुझे पीछे से बांहों में भर लिया।उसने बताया कि नीतू भी मान गई है तो मैं रात का खाना बाहर से मंगवा लूँ वो उसे लेकर ब्यूटी पार्लर जा रही है।इतना सुनते ही मैंने उसके चेहरे पर यहाँ वहां 7- 8 चुम्मियाँ अंकित कर दी।शाम को 8 बजे जब नीतू पार्लर से आयी तो उसे देखकर ऐसा लगा जैसे उसका बदन पहले से और ज्यादा चमक रहा है.

मैं विशाल को बोली- तू कुर्सी पर बैठ … मैं तुझे जन्नत की सैर कराती हूं. स्क्रीन पर चल रही फ़िल्म को बंद कर जैसे ही शेखर ने चैट रूम खोला तो उसकी ख़ुशी का ठिकाना नहीं रहा. मैंने उसको वहीं सीट पर धक्का देकर लिटा दिया और लंड को चूत पर सैट कर दिया.

मैं लगातार जीभ चलाता रहा और चुत में जहां तक जीभ मार सकता था, मार कर जीभ से चोद रहा था. उन्होंने मुझसे बोला- अरे रवि तुम पूरे पूरे दिन रूम में अकेले कैसे रहते हो … वो भी गेट बंद करके?मैं- तो क्या करूं भाबी, कोई अगल बगल में है भी तो नहीं, जिससे बात की जाए. भाभी- अब चोद दे यार विराज … तेरे हाथ जोड़ती हूँ मादरजात हहह अहहह आआईई ऊऊऊ.

ऐसे कैसे सो जाएगी? आज तो रात भर तेरी चूत की मालिश करूंगा। और उसके साथ साथ तेरे पिछवाड़े की भी!” जीजा ने गांड दबाते हुए बोला.

एक मन कर रहा था कि उसके मुंह में ही वीर्य गिरा दूँ लेकिन मैं नेहा को परपुरुष का चरमसुख देना चाहता था. अब मुझे भी साफ साफ नजर आ रहा था कि वो भी मुझसे चुदने को उतना ही बेक़रार थीं, जितना मैं उनको चोदने को लेकर बेकरार था.

बंगाल की देसी बीएफ मेरे से रहा नहीं गया और मैंने भाभी से पूछा- महीने में कितनी बार चुदाई कर लेती हो?उन्होंने कहा- महीने में तो क्या साल में भी एक चुदाई हो जाए तो वो भी मेरे लिए बहुत है. थोड़ी देर बाद सब नॉर्मल हो गया और मेरी गांड और चूत की जमकर चुदाई होने लगी.

बंगाल की देसी बीएफ मैंने झट से आंखें खोलीं … तो देखा उसने मेरा लंड मुँह में ले रखा था. मेरे हर शॉट पर चाची आगे से अपना सिर उठाती और कमर को नीचे की तरफ झुकाने लगती.

मैंने आंटी की चुत की फांकों में अपना लंड घिसा तो वो बोलीं- साले अन्दर कर दे भैन के लंड … क्यों तरसा रहा है कमीने.

बीएफ वीडियो बीएफ वीडियो बीएफ

ये देखते हुए प्रिया ने अपनी चुत पर हाथ लगा कर फिर से चिल्लाना शुरू कर दिया. कुछ देर लौड़े की सवारी करने के बाद वह नीचे आ गई और मैं उसके ऊपर चढ़ गया. वो अब मुस्कुरा रही थी और मुझे चूमती हुई ‘आई लव यू अगम … आह आई लव यू …’ बोले जा रही थी.

भाभी मेरे सीने से चिपक कर तब तक मेरे ऊपर ही लेटी रहीं जब तक लंड अपने आप सुस्त होकर चुत से नहीं निकल गया. लंड चूत में घुसा तो उसकी एक मीठी सी आह निकली और अगले ही पल पर जोर जोर से धक्के देने लगी. यदि कोई औरत चाहती है कि उसकी जिस्मानी प्यास नहीं मिटती है, तो उसकी चुत चुदवाने की भूख प्यास सब मिटा देता हूँ.

वो इसलिए नहीं लिख सका क्योंकि मैं फर्जी सेक्स कहानी नहीं लिख सकता और न ही मेरे हाथ कुछ बनावटी लिख पाते हैं.

उसके मुँह से ये सुनकर आज उसके लिए मेरे मन में उसकी और इज़्ज़त बढ़ गयी थी. कोई साला ये नहीं कहता तेरे बाप की गांड में लंड … या तेरी गांड में लंड. आज मेरी बहन अपनी चुत खोल कर रखेगी और मैं दौड़ते हुए उसकी चुत में लंड पेलूंगा.

तकरीबन दस मिनट बाद उसका लन्ड फिर से टनटना गया और अबकी बार समीर उठा और उसने पहले अनामिका की गांड चाटी. उसने पूछा- क्या तुमने उतार रखे हैं?मैंने कहा- हां, मैं तुमसे बात करते हुए अपना लंड हिला रहा हूँ. मैंने उससे कहा- फरियाल, मैं कार से आपके यहां आ रहा हूँ, तो कब आना है … ये बताओ.

अब पिंकी भी अपनी गांड आगे पीछे करके मज़े से लंड लेने लगी थी।शायद उसकी आवाज अंकल आंटी के रूम पहुंच गई थी।दरवाजे के बाहर से आवाज आई- बहू आराम से … नींद टूट रही है।भाभी बोली- जी माँ जी!मैं अब भी तेजी से अंदर-बाहर कर रहा था पर पिंकी अब चिल्ला भी नहीं सकती थी।वो धीरे धीरे आहह आह करके मस्ती से लंड लेने लगी. तभी सितारा ने मेरे लण्ड पर हाथ फेरा और मेरी पैन्ट की चेन खोल दी और अन्दर हाथ डालकर मेरा लण्ड पकड़ना चाहा.

मैंने तेजी से गांड उठा कर लंड पलना शुरू किया तो उसकी कमर भी तेजी से चलने लगी. फरियाल हंसने लगी और बोली- पंकज, इस तिल को कभी मेरे शौहर ने नहीं देखा … अब तक बस वो आते हैं … लंड चुत में डालते हैं और जल्दी से पानी निकाल कर सो जाते हैं. वह नहीं चाहते थे कि मैं यह सफर तन्हाई और अकेलेपन के साथ बिताऊं, इसलिए उन्होंने मेरे लिए एक साथी भेज ही दिया.

या आसान शब्दों में बोलूं तो छेद के नाम पर वो पूरा भोसड़ा बनी हुई चूत थी.

उसने एक बार मेरी आंखों में देखा और तुरंत ही मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर चूसने लगी. बता न फिर क्या करेगा!मैं- फिर मैं, अपनी जीभ से तुम्हारे कान के पीछे चूसूंगा. तभी चंचल ने मुझे दुबारा कॉल किया- क्या आप अभी मेरे पास आ सकते हो?मैंने पूछा- कहां और क्यों?चंचल ने कहा- आपको चोदना था न?मैंने ‘हां.

उस औरत ने अपना नाम फरियाल (इधर मैंने ये नाम बदल दिया है) बताते हुए लिखा था कि उसको एक बच्चा है. थोड़ी ही देर में भाबी झड़ गईं, लेकिन मेरा लंड तो अभी भी टाईट था और झटके दिए जा रहा था.

अपनी बिल्डिंग के नीचे पहुँच कर जैसे ही उसने अपने कार की चाबी से गेट खोलने की कोशिश की तभी धारा का एक मैसेज आया कि अपनी कार से ना आकर मेट्रो पकड़ ले. किसी को नाभि के पास चाटने से तो किसी को योनि चाटने और किसी को गांड के उभार चटवाने पर गर्मी आ जाती है. उधर से भाभी फोन उठा कर बोली- आप क्या समझते हैं अपने आपको!भाई ये सुनते ही मेरी तो गांड फट गई.

हिंदी सेक्सी एक्स व्हिडीओ

फिर मैं उनके बराबर में आंख बंद करके लेट गया और वो मेरे कंधे पर अपना सिर रख कर मेरी छाती पर हाथ फेरने लगी थीं.

धीरे से मैंने उसकी जींस नीचे की ओर सरकायी … और मैं उसे दूर करके उसे जी भर देखने लगा. मैंने देखा अमित का लंड एकदम काला, काफी मोटा और लंबा था … उसका लंड लगभग 8 इंच लंबा और 4 इंच मोटा रहा होगा. इस हरकत से वो और भी गर्म होने लगी लेकिन उसकी दिली इच्छा और भी गर्म होने की थी.

अतः मैं अपनी स्कूटी लेकर बाजार गई तथा सभी सामानों की खरीदी के बाद एक जनरल स्टोर पर आई।यह जनरल स्टोर हमारे बिल्कुल पास में रहने वाले एक अंकल का था. तभी उसने एक झटके में अपना लंड बाहर निकाल लिया और मुझे सीधा बिठाकर मेरे मुंह में लंड दे दिया और झटके देने लगा. ब्लू फिल्म दिखाएं सेक्सउसकी तस्वीर देख कर मुझे मेरे मन में हिलोरें सी उठने लगी थीं और हमेशा ही मुझे उसके ही ख्याल आने लगे थे.

मैंने लंड चुत में पेल तो दिया मगर मुझे आंटी की चुत मारने में मजा नहीं आ रहा था … इसलिए मैंने लंड खींच लिया और चुदाई के लिए मना कर दिया. एक जगह जाकर लण्ड को कुछ रुकावट महसूस हुई, फ़लक को भी कुछ तकलीफ़ महसूस हुई लेकिन उसी क्षण मैंने एक झटके में लण्ड को पूरा अंदर ठोक दिया.

मैं तो बस ऐसे आंखें बंद करके भाबी की चुदाई के बारे में सोच रहा था जिससे मेरा लंड खड़ा हो गया था. दोस्तो मेरी ये सेक्सी ऑफिस गर्ल की चुदाई आपको कैसी लगी? मुझे मेल करके जरूर बताएं. ”तुम हफ्ते में कितनी बार चुदवाना चाहती हो?”मैं तो दिन में चार बार चुदवा लूँ, मौका तो मिले.

इस बार मैंने भाभी की भाभी की 30 मिनट तक जमकर चुदाई की … फिर मैं और भाभी एक साथ में झड़ गए. मैं आपको अगले भाग में लिखूंगा कि मेरी जीजू की सैटिंग की कुंवारी चुत को मैंने कैसे चोद दिया. तभी मेरे देवर के दोस्त ने मुझे अपनी बांहों में भर लिया और मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगा.

फिर मैं उनके बराबर में आंख बंद करके लेट गया और वो मेरे कंधे पर अपना सिर रख कर मेरी छाती पर हाथ फेरने लगी थीं.

[emailprotected]रोमांटिक भाभी की वासना की कहानी का अगला भाग:अफसर की बीवी ने चपरासी से चुत गांड चुदवाई- 2. उसने भी उठ कर सीधे मेरे होंठों पर ही वार किया और उसने भी राज की तरह मेरे गांड पर थप्पड़ मारने शुरू कर दिए.

सितारा ने माँ को प्रणाम किया तो मैंने मंदिर में रखे सिन्दूर से सितारा की मांग भर दी. राजेश बोला- भाभी आपकी जैसी फैक्ट्री तो पूरी दुनिया में किसी के पास नहीं होगी. मैं उनकी दुकान पर गया जो कि लॉकडाउन में कुछ ही समय के लिए खुलती थी.

मैं उठ कर अलग होने लगा तो उन्होंने फ़ुर्ती से मुझे पकड़ा और मेरी गांड पर 5-6 झापड़ जड़ दिए. मैंने कहा- पहले तू अपनी मर्दानगी दिखा मुझे!यह सुनकर उसका तो शायद जैसे अंदर को मर्द ही जाग गया. पांच मिनट बाद वह एकदम नॉर्मल हो गई और उसने अपनी गांड हिला कर मुझे इशारा कर दिया.

बंगाल की देसी बीएफ ये बात स्नेहा को नहीं पता थी कि चिराग ने ज्योति को बुलाया है और दोनों का मिलन होने की पूरी सम्भावना है. दस मिनट बाद आंटी ने मुझे अपनी जांघों के बीच बैठने को कहा और लंड चुत में डालने को कहा.

इंडियन कॉलेज पोर्न

मैं उसका हाथ हटाकर नीचे हुआ और एक चूची को सहलाने लगा हुआ व एक को दबाने लगा. पहले तो उसने मना कर दिया लेकिन मेरे बार बार मनाने के बाद वो मिलने के लिए तैयार हो गई. उसने नीचे लिखा था कि मैं अपने शहर आ गया हूं और अब आप मेरे साथ शादी में चल सकती हो.

प्रभा ने फिर से कहा- तो करोगे मुझसे दोस्ती?मैं- ठीक है, आज से हम दोनों दोस्त हुए. उनकी चुत बहुत छोटी और कसी हुई थी, जिसमें मेरा विशालकाय लौड़ा घुस ही नहीं पा रहा था. की औरतों की चुदाईउसको रोज नयी खुराक चाहिए। खासकर उस वक्त भूख और ज्यादा बढ़ जाती है जब पता हो कि जल्दी ही नयी चूत मिलने वाली है.

आंटी एक बार को सकपका गईं लेकिन वो खुद ही ये सब चाहती थीं … तो कुछ नहीं बोलीं.

कुछ दिन में ही आलम ये हो गया था कि जोक्स शुरू हो गए, फिर अडल्ट जोक्स का दौर शुरू हो गया. परीक्षा के बाद गर्मी की छुट्टी हो गई थीं तो हम लोग ज्यादा नहीं मिल पाते थे.

जब कहीं से कुछ मदद नहीं मिली, तो मेरे बड़े चाचा सामने आए और मम्मी से बोले कि भाभी आप अपना हिस्सा मुझे बेच दो और पैसे लेकर कहीं और चले जाओ. बस एक दिन ऐसे ही रोज की तरह बाहर मैं मुँह धो रहा था कि अचानक वो भाभी, मेरे पड़ोस की ही एक भाभी के साथ आ गई. भाभी जी की चुदाई के पहले भागजिस्म दिखाकर देवर को सेक्स के लिए पटायामें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरे देवर ने मुझे चोद दिया था और अब वो अपने एक दोस्त रोहित के साथ मिलकर मुझे चोदना चाहते थे.

मैंने फिर से उसका हाथ अपने लंड पर रख दिया और उसके प्यारे प्यारे होंठों पर किस करने लगा.

लगभग दो-तीन मिनट के बाद फ़लक ने धीरे से बाथरूम का थोड़ा सा दरवाजा खोला और मुझसे बोली- सर, ये कपड़े तो बहुत छोटे हैं, मुझे फंस नहीं रहे हैं. मैंने उसे अपने मोबाइल पर उसकी मां की पिछली चुदाई की वीडियो क्लिप दिखा दी. मगर चाचा लोगों की नौकरी पास के शहरों में थी, इस वजह से उस मकान में सिर्फ मैं और मेरी मम्मी मीनू ही रहती थीं.

राम रहीम हनीप्रीतभाभी के गहरे गले वाले ब्लाउज में से इतने गोरे गोरे चुचे मुझे मानो पागल करने लगे थे. उनके हस्बैंड सी आर पी एफ में थे, तो 7-8 महीने में एक बार ही कुछ दिनों के लिए आ पाते थे.

मराठी लड़की को चोदा

नमस्ते दोस्तो, कैसे हो आप लोग? मैं नक्श एक बार फिर से एक नयी सेक्स कहानी के साथ हाजिर हूं. मैंने जब अपनी नज़र हल्की सी ऊपर उठाई तो देखा कि उसकी पैंट में हल्का सा उभार आ चुका था. वो मेरे लंड से निकले हुए वीर्य को गटकती चली गईं और उन्होंने लंड को चूस कर साफ कर दिया.

मैंने चोदते चोदते फ़लक से पूछा- फ़लक, सच बताना, क्या तुम पहले किसी से चुदी हो?फ़लक- नहीं, सर मेरा यह पहली बार है, सच कह रही हूँ. आप लॉकडॉउन खुलने का इंतज़ार करें और सम्भव हो, तो मुझे अपनी एक तस्वीर भी भेज दें. आह्ह्ह … शे…शेखर !!” अचानक से अपनी चूचियों को बेदर्दी से मसले जाने पर धारा ने अपना मुँह शेखर के मुँह से छुड़ा कर एक आह्ह भरी और फिर अपनी गर्दन को पीछे की तरफ़ झुका दिया.

मैंने कहा- अभी मैं बाकी हूँ भाभी!भाभी बोलीं- ओके, जल्दी करो और फ्री हो जाओ. कुछ देर तक रूपाली इस मंद गति की चुदाई को बर्दाश्त करती रही लेकिन फिर रूपाली ने लगभग खीजते हुए कहा- अगर आपको ऐसे ही करना है तो आप अपने हाथ से हिला के अपना काम कर लो. कुछ अपनी इच्छा को एक दूसरे को बता कर उसे मनाकर इसका मज़ा लूटते हैं तो कुछ मन के अंदर ही रख कर रह जाते हैं.

फिर मैंने उसे बोला कि मुझे बिल्कुल चिकनी चूत पसंद है तो वो बोली कि पहले मैं अपनी चूत की बहुत सफाई रखती थी पर जबसे मेरी प्यास अधूरी रहनी शुरू हुई तो मेरा ये सब करने का मन नहीं करता था. शेखर- क्या हुआ भाईसाब, कहाँ खो गए?शेखर ये चाल चल तो रहा था लेकिन कहीं ना कहीं उसके मन में ये डर भी था कि कहीं सच में उधर ललित ही ना निकले.

मैं- वो तो ठीक है, पर बताओ तो तुम्हें क्या पता चला?वो- वो जब कल सामने आओगे, तो तुमको पता चलेगा न!मैंने कहा- चलो ठीक है.

आह कबाड़ा कर दिया मेरी चूत का … कल नहीं चोदना क्या तुझे … मादरचोद फाड़ कर रख दी मेरी चूत … आह मां अपने दामाद से बचाओ मां … हरामी ने लंड चुत में जड़ तक पेल दिया. हिंदी में चुदाई दिखाइएधारा- ललित दो हफ़्तों के लिए दुबई गए हैं, शाम को उनकी फ़्लाइट थी और मैं उन्हें ही छोड़ने गयी थी तभी. ट्रिपल एक्स सेक्सी मराठी व्हिडीओउन्हें ऐसे तड़पता देखकर मुझे बहुत मजा आ रहा था क्योंकि मैं जानती थी कि ये लोग जितना ज्यादा तड़पेंगे, उतना ज्यादा मुझे तड़पा तड़पा कर चोदेंगे. पांच मिनट बाद उसने मेरा मुँह अपने लंड से हटाया और मुझे सीधा खड़ा करके सामने की दीवार के सहारे टिका दिया.

मीनू- खुलेगी कैसे आज तक इसको खोलने लायक कोई मिला ही नहीं … और हां आज ही सारे बाल साफ़ किए हैं.

फिर उसने मेरी आंखों में आंखें डाल कर कहा- मजा आया हो तो और मज़ा दूँ!मैंने पूछा- कैसे?उसने कहा- जैसे जीभ मैंने तेरे मुँह में डाली, निप्पल पर घुमाई, ऐसे ही अगर तेरी गांड के छेद पर लगाऊंगा तो तुझे बहुत मजा आएगा. मौसी- उम्म … फिर?मैं- फिर अपने होंठों को तुम्हारी ब्रा के स्ट्रिप्स पर रख कर वहीं सहलाऊंगा. स्नेहा- ये ऐसी ड्रेस पहन कर कहां जा चली … और ये तेरी पैंटी इतनी गीली क्यों है साली!स्नेहा उसकी उतारी हुई पैंटी को चूत वाली जगह को देखती हुई बोली.

दिन भर बातों में उसने बताया कि वो यहां दार्जिलिंग से नई नई आयी है … और अभी अकेली रहती है. मैंने किया सेक्स विद बॉस इन ऑफिस! मैं लोकल बस में चार लड़कों से अपने जिस्म को मसलवा कर दफ्तर पहुंची तो मेरी अन्तर्वासना उफान पर थी. अब आगे हॉट आंट सेक्स कहानी:दूसरे दिन मैंने साहिल को बोला- आज मुझे मार्केट में कुछ काम है तो मैं कंपनी नहीं जाऊंगा.

बीएफ सेक्सी बीएफ सेक्सी इंडियन

आज एक बार फिर मैं तुझे गोद में लेने वाला हूं लेकिन आज तुझे खिलाऊंगा नहीं बल्कि तुझे अपने लंड पर झुलाऊंगा. फिर मैंने कैसे तुम्हारी माँ को संतुष्ट करके मजा दिया, वो भी तुमने देख लिया. आपको कमसिन शालू की हॉट यंग इंडियन चुदाई कहानी कैसी लगी … मुझे मेल करें.

चाय रखते समय मैं खास करके उसके सामने झुकी, जिससे उसको मेरे मखमली सफेद गुम्बदों के दीदार हो सकें.

इतने में दीदी ने मेरी शर्ट के बटन खोल दिए और शर्ट को मेरे जिस्म से अलग कर दी.

उसने बाद की रातों में मुझे हर आसन में पेला … मेरी चुत को पीछे से चोदा … साइड से चोदा. फिर रात को जब सब सोने जा रहे थे तो अवनि ने मुझे एक पर्ची पकड़ा दी, जिसमें उसका नंबर और 20 मिनट बाद कॉल करने के लिए लिखा था. ગે સેકસી વીડિયોमैंने धीरे से नेहा की पैंटी निकालने की कोशिश की लेकिन सफल नहीं हो पाया.

अत्यधिक लम्बा काला और खीरे सी मोटाई वाला वो सख्त डंडा सोनम के हलक तक घुस चुका था. मैंने अपनी अलमारी से सफेद रंग की ब्रा पैंटी का सेट निकाल लिया जो कि बहुत ही सेक्सी था. कुछ दो दिन बड़े बड़े केबिन छोड़ कर उसको टॉयलेट का साइन बोर्ड दिखाई दिया.

वो काफ़ी देर मेरी चुचियां चूसने के बाद मेरी चुत की तरफ आ गया और बोला- सच में तेरी चुत एकदम चिकनी है. वो बोली- उसे भी हटा दो न!मैंने बिना समय गंवाए उसकी पैंटी भी उतार दी.

उसके मुँह से फिर से आह्ह अःह्ह आहह ओहह आःह्हा हम्ममा ममहा की आवाज माहौल को कामुक और उत्तेजित करने लगी.

उसकी टांगें फ़ैल गई थीं और उसने मेरे लंड को अपनी चुत की फांकों में लगा दिया था. गहरी सांसों से उसका सीना ऊपर-नीचे हो रहा था जो मुझे मेरे सीने पर महसूस हो रहा था. भाभियों और लड़कियों को मर्द का बिना बाल वाला लंड और चिकनी छाती बहुत पसंद आती है.

साली की चुदाई सेक्सी थोड़ी देर बाद मैंने अपना लंड बाहर निकाल लिया और उसकी चूचियों पर रगड़ना शुरू कर दिया. अब तक मुझे भी मज़ा आने लगा था … लेकिन मैं नाटक करते हुए उससे कहने लगी- नहीं तुम ऐसा मत करो; जाने दो मुझे.

मैंने कहा- सिर्फ फ्रेंडशिप!उसने कहा- नहीं, मैं अब आपसे प्यार करती हूं. रिज़वाना की गांड एकदम गोल और उठी हुई थी तथा दोनों चूतड़ कुछ इस तरह से अलग अलग से थे कि उसकी चुत पीछे से बड़ी आसानी से चोदी जा सकती थी. यह घटना देश में लॉक डाउन लगने से पहले यानि होली के अगले दिन की है, जिसकी शुरुआत होली वाले दिन हुई.

हिंदी बीएफ सेक्स भोजपुरी

उसने अपने लंड की फोटो भेजी और मुझे लंड दिखा आकर कहा- पहले से देख लोगे तो डर कम हो जाएगा. तो मुझसे बोले- साली किससे मजा लेकर आई है?मैंने गुस्से से बोला- तुम्हें इससे क्या … तुम अपना काम करो।मेरी बात सुनकर बॉस चुप हो गए. मानस उसको रंडी बना चुका था, उसको पूरी नंगी करके किसी टॉयलेट में अपना लौड़ा चुसवा रहा था.

धारा के हाथ अब शेखर की जाँघों को थामे हुए थे और बड़े गौर से वो शेखर के लंड को निहार रही थी. फिर उसने अपने कपड़े निकाल दिए और अपना लौड़ा सीधा मेरी चूत में डाल दिया.

ऊपर से उसके नैन नक्श इतने कटीले थे कि अगर वो मुस्कुराकर किसी को देख ले तो वो वैसे ही मर जाये।मुझे पता चला कि वो कुछ बिज़नेस करती है इसलिए दिन के टाइम में नहीं आ सकती है।उसने रात को 8 बजे का टाइम माँगा.

मैं- मामी, ममता कहीं दिखाई नहीं दे रही है?मामी- वो अभी तक सो रही है. उसने मेरी चूची दबा कर कहा- बीबी जी, आज पहली बार किसी ने मेरा लंड मुँह में लिया है. फिर दूसरी बार में नेहा ने लन्ड को आधा मुंह में डाल कर आगे पीछे करना शुरू कर दिया.

कभी वो उसको अपने भारी चूचों की झलक दिखाती, तो कभी अपनी गांड से निखिल के लंड को स्पर्श कराते हुए पास से निकलती. वो बेताबी से बोली- अब तो बिल्कुल भी इंतजार नहीं होता … इसे जल्दी से अन्दर डालो प्लीज. तुम रात में मेरे साथ जो भी करना चाहोगे … मैं खुल कर तुम्हारा साथ दूंगी.

दो दो पैग पीने के बाद रोहन ने मुझसे पूछा- राज, मेरी बीवी कैसी लगी आपको?दोस्तो, शराब है ही ऐसी चीज कि बेशर्म कर देती है.

बंगाल की देसी बीएफ: फिर मैं भी मर्द का स्पर्श पाकर गर्म होने लगी और मैंने होंठ खोलकर उनका साथ देना शुरू कर दिया. फिर संगीता ने एक उंगली से गाल पर लगा हुआ दूध उठाया और जीभ पर रखकर चाटने लगी.

अगर आप कहेंगे, तो मैं इसके आगे की ऑफिस गर्ल पोर्न कहानी को भी पोस्ट करूंगा. रात को शराब पीने के बाद सबको नशा होने लगा और रोहन ने नेहा को नंगी करना शुरू कर दिया. तो मैंने बाथरूम में जाकर अपनी पेंटी उतार कर अपने बैग में रख ली और मैं ऐसे ही बिना ब्रा और पेंटी के जाने लगी.

तभी सोनम ने उसके गाल पर जोर से एक थप्पड़ रसीद कर दिया और कहा- बहनचोद, देखता ही रहेगा या कुछ और भी कुछ करेगा चूतिये?फिर से उसके बाल खींच कर सोनम ने उसका मुँह अपनी फुद्दी में दबा दिया और अपने पैर थोड़े फैला दिया ताकि मानस की ख़ुरदुरी जीभ उसकी चुत की अच्छे से मालिश कर सके.

वो बाहर से मेरी गांड चाट रहा था और उंगली अन्दर बाहर करने में लगा था. एक रात मैंने शन्नो को अपने रूम में बुलाया … वो सेक्स कहानी मैं बाद में बताऊंगा. थोड़ी देर में उसने मेरे होंठ छोड़े और मेरी आंखों में देखती हुयी छोटी-छोटी चुम्मियां लेने लगी.