ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो

छवि स्रोत,गावठी इंडियन सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

हिंदी ओपन चुदाई: ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो, दिख नहीं रहे?शारदा- क्या बताऊं आज पूजा स्कूल में गिर गई तो आरती उसके पास है।संजय- क्या कैसे गिर गई ज़्यादा चोट तो नहीं लगी ना उसको?दोस्तो, आप मुझे मेरी इस सेक्स स्टोरी पर संयमित भाषा में ही कमेंट्स करें.

भोजपुरी सेक्सी वीडियो बताएं

अब मैंने उसकी चूत पर एक किस कर दिया, जिससे उसके मुँह से प्यार भरी आह निकल गई. एक्स एक्स एक्स वीडियो सेक्सी एचडी हिंदीमैं- आप चित लेट जाइये… मैं चेक कर के देखता हूँ, दर्द कैसे हो रहा है.

वो देखने में मेडम से भी ज्यादा हॉट थी तो मैंने जाते ही उन्हें किस करना शुरू कर दिया. देसी सेक्सी चूत में लंडहम तीनों दोस्त कपड़े पहन कर किचन में जाकर बियर पीने लगे और शानदार चुदाई को डिस्कस करना शुरू कर दिया.

’मैंने उससे बड़ी डीटेल में बात की, अब बात जब पेग के साथ हो, तो आदमी बहुत खुल कर सामने आता है, और जब उसने मुझे अपनी कहानी सुनानी शुरू की, तो मैं तो हैरान पर हैरान होता गया.ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो: अचानक से मामा किचन में आ गये और मुझे पीछे से दबोच लिया, मेरी गांड में पेंटी के ऊपर से मामा का लंड चुभ रहा था, मैं समझ गयी कि मामा नंगे आ गये हैं.

क्योंकि वह मेरे ऑफिस जाने के बाद तक घर का काम करती थी इसलिए उसकी सुविधा के लिए मैंने उसे अपने फ्लैट की एक चाबी भी दे रखी थी.आज पहली बार मैं किसी की चुदाई होते देख रही थी।मेरी अनचुदी बुरभी गीली हो चली थी, निप्पल कड़े हो चुके थे। मेरे हाथ मेरे स्कर्ट में जाकर बुर को सहलाने लगे।तभी आंटी की नजर मेरे पर पड़ गई और उन्होंने अंकल को धक्का मार कर अलग कर दिया।मैं भाग कर अपने घर आ गई।वो कुछ देर बाद घबराई हुई सी मेरे घर आईं। मैंने उन्हें देखा तो उनकी नजरें नीचे थीं, आंटी बड़े प्यार से पूछने लगीं- कुछ काम था बेटी?‘नहीं आंटी.

सेक्सी मूवी इंडियन हिंदी में - ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो

उन्हें कुछ सवालों के हल गलत मिले तो उन्होंने बोला- ये सब गलत किया है, मैं तुम्हारे डैड को बता दूँगी.जब मैंने देखा तो पाया कि उसका लंड बिल्कुल ही तन कर तैयार हो चुका था.

मुझमे जोश बढ़ता जा रहा था, मैं मौसी के बदन को अपने हाथों में भर भर के दबा रहा था. ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो तो सब को पता लग जाता समझी!पूजा- कैसे लगता मामू मेरे चिल्लाने से ना.

अब माँ नोर्मल हो गई- अरे अशोक क्या कह रहे हो… भूल जाओ, मैंने कुछ नहीं देखा है… पापा से कुछ मत कहना!मैं- ठीक है, नहीं कहूँगा!मैं चाय पीने लगा.

ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो?

तुम्हारे मम्मों की तुलना में तस्वीर वाली के कुछ भी नहीं है। मैं तुम्हारे मम्मों को देखकर इस बात की तसल्ली करना चाहता हूँ।’वह अब भी पोर्न तस्वीरें देखने में तल्लीन थी. मैंने एक हाथ से विकास का लंड भी थाम रखा था, उन दोनों ने अपने एक-एक हाथ से मेरे मम्मों को राहत पहुंचाने का काम जारी रखा।यह हिंदी चुत की कहानी आप अन्तर्वासना सेक्स स्टोरीज डॉट कॉम पर पढ़ रहे हैं!गौरव मेरी चूत चाट रहा था, खा रहा था, या काट रहा था. पिताजी तो पहले ही नशे की हालत में मुश्किल से खड़े थे, इसलिए वो भी बोले- हाँ बहू, तुम भाई साहिब को लिटा कर आ जाना और रात को भी एक दो बार देख लेना और पानी वग़ैरा पिला देना.

ऊपर आया तो मैडम सीधी होकर लेटी हुई थी, ऊपर से चूची के कुछ भाग नजर आ रहा था. बहन का रिएक्शन देख कर मैं उसी वक्त समझ गया था कि अब कुछ होने वाला है. मैं कोल्ड ड्रिंक पीने लगी और राहुल सी डी लेकर प्लेयर में लगाने लगा.

प्लीज़ तुम ये चाट कर साफ कर दो ना!मॉंटी कोजवान देसी चूतका रस पसंद आ गया था, वो खुद दोबारा चूत चाटने की सोच रहा था. यह देख कर मैंने भी थोड़ा सा केक उठाया और रुचिका की चूचियों पे लगा दिया और उन्हें फिर से चूसने लगा. वो तो जैसे तैयार ही बैठी थी मेरा फोन सुनने के लिये… ‘हाय अंकल जी, जल्दी से आ जाओ अब!’‘अरे आ तो गया ही हूँ लेकिन आना कहाँ है, भोपाल तो मैं पहली बार आया हूँ मुझे यहाँ का कुछ नहीं पता!’‘अंकल जी, आप एक नंबर प्लेटफोर्म के बाईं तरफ वाले गेट से बाहर आ जाओ, फिर किसी ऑटो वाले से मेरी बात कराओ, मैं उसे समझा दूंगी कि कहाँ आना है.

उसने पीछे हाथ लाकर लंड को पैन्ट के ऊपर से ही पकड़ लिया और दबाने लगी. उसके बूब्स की बात तो पड़ोस में सभी आंटी करती थी क्योंकि ये बातें एक आध बार मैंने सुनी थी.

मैं आपका ही इन्तजार कर रही थी।सुधीर तो किसी कठपुतली की तरह मोना के पीछे-पीछे खिंचा चला गया। उधर मोना भी बहुत तेज थी.

अब जमीला भी गर्म हो रही थी तो मैंने रफीक की गांड से मस्ताना निकाला और रफीक को बेड पर एक पलटी मारने को कहा तो दोनों ने पलटी मारी, अब रफीक नीचे और जमीला ऊपर आ गई और अब मैंने जमीला को कंडोम पैकेट पकड़ा कर कंडोम बदलवाया.

जिसमें किसी और के वीर्य से तुमको बच्चा हो सकता है।दीदी ने मुझे कसम खिलाई कि ये बात किसी को नहीं बताना।मैंने उससे अगले दिन फिर से डॉक्टर के पास चलने को बोला. अब तक आपने इस सेक्सी स्टोरी में जाना था कि संजय अपनी मुँहबोली बहन की कमसिन लड़की पूजा के साथ अपने वासना का खेल शुरू करने वाला था।अब आगे. शादी वाले दिन सुबह ज़ब सब तैयार हो रहे थे, मैं और मेरी दीदी भी तैयार होने बाथरूम गई.

मैंने वैसा ही किया, नहा कर बाहर आया और खुली छत पर कुर्सी ले के बैठ गया. मैंने दे दिया।फिर उनका फोन आया- तुम हमेशा छत पर क्यूँ रहते हो?मैं- मेरा रूम ऊपर ही है न!भाभी- तुम इतने कम कपड़े क्यूँ पहनते हो?मैं- छत पर कोई आता नहीं तो अपने रूम में मैं अपने हिसाब से रहता हूँ, पर आप यह सब क्यूँ पूछ रही हो?भाभी- ऐसे ही. उसके बाद हम दोनो नंगे एक दूसरे की बाँहों में पड़े रहे और आगे की योजना बनाने लगे.

मैं बोला- क्या रफीक को पता है कि तुम भी घर में हो?तो जमीला बोली- नहीं उनको पता नहीं है और इसलिए तो मैंने कहा कि आज दिनभर इतना मजेदार होगा की पूरी जिंदगी नहीं भूलोगे.

थोड़े दिन बाद मैं अपने घर चला गया, घर जाने से पहले मामी की खूब चुदाई की. मैं तो पागल हो गया था, मैं एक हाथ से मम्मों को दबा रहा था और दूसरे हाथ से मुट्ठी मार रहा था।फिर मैंने बिना देर किए उसकी सलवार उतार दी. अंत में बची लड़की की निगाहें जब मुझसे मिली तो वो हौले से मुस्कुरा दी और पीछे सर करके लेट गई.

अब तो मेरे लंड में दर्द होने लगा था और मैं बस किसी तरह मानसी में समां जाना चाहता था. तभी चाची भी वहाँ आ कर बिस्तर पर बैठ कर मुझसे मुंबई वाली मामी के बारे में बहुत सी बातें पूछने लगी. मैं मैडम की चूत को अन्दर तक जाकर चाट रहा था, उससे वो अब पूरी गर्म हो गई और अपने पैरों को भींच रही थी- आह्ह्ह… आःह्ह्ह… उम्म्ह… अहह… हय… याह… आह्ह्ह… की आवाजें स्पष्ट सुनाई दे रही थी.

सब मेरी वजह से, समझी! नहीं तो पता नहीं इस वक़्त कहाँ होती।अनीता- बस बस मेरा मुँह मत खुलवाओ.

’ वो मेरे ऊपर लेट गई और मुझे अपने पैरों और हाथों से जकड़ लिया और धीमे से मेरे कान में फुसफुसा कर बोली- अंकल जी, मेरी चूत चाटो न फिर से!‘देखो स्नेहा. मोना की चुत ठंडी होने के बाद काका ने लंड चुत से निकाल लिया और दीवार से टेक लगा कर बैठ गए।मोना- क्या हुआ काका आप नहीं निकालोगे अपना पानी या फिर आपके दिमाग़ में बस मेरी गांड ही घूम रही है?काका- गांड तो तेरी मैं मारूँगा ही मेरी रानी.

ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो जब वो झड़ कर बैठ गया तो मैं बोली- बस अब चलें?तो वो मुझे गाली देने लगा. कुछ अजीब लग रहा है।मैंने सुना तो अकचका गया। मुझे लगा जैसे वो जान जाएगी।मैं झट से गुप्ता जी को हटा कर वहां बैठ गया और बोला- कुछ नहीं डार्लिंग, तुम ज्यादा व्याकुल हो ना.

ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो डॉक्टर बोली- मेरी तो पिछले तीन साल की कसर निकल गई और मैं अब तुमसे एक महीना नहीं चुदुंगी. ’ उसकी चुदाई करने लगा। दस मिनट चोदने के बाद संजय ने उसको घोड़ी बनाया और अबकी बार उसकी गांड पर लंड सैट करके झटका दे मारा।फ्लॉरा कुछ समझ पाती.

उनके जाते ही मैंने आयेश को बहुत डांटा, मैंने उसको बोला- तू ऐसे किसी से भी कैसे चुद सकती है?तो वो बोली- यार, रोहन ने मेरी चूत पर हमला कर दिया था तो मैं अपनी हवस पर काबू नहीं कर पाई.

हिंदी पिक्चर सेक्सी डाउनलोड

काफी देर तक कोई कुछ नहीं बोला, बस एक दूजे के दिलों की धक् धक् सुनते रहे. तब तक गोपाल ने लंड को अन्दर कर लिया था और जो चादर पर वीर्य लगा था, उसको छुपा लिया था. उन्हें या तो उनके दोस्त घर छोड़ कर आते हैं, या फिर हमारे जैसे शिकारी, जो पहले उनसे घर छोड़ने की फीस लेते हैं, फिर सुबह होने से पहले उनको घर पहुंचा देते हैं.

ये बताने लगा तो आपको मजा नहीं आएगा इसलिए मैं इसको थोड़ा काल्पनिक बना रहा हूँ. मेरे जीवन में घटी घटनाओं पर आधारित रचनाओं की शृंखला को जारी रखते हुए मैं अपनी अगली रचना वहाँ से शुरू कर रहा हूँ, जहाँ मेरी उपरोक्त रचना का अंत हुआ था. तभी मैंने मम्मी की कार की आवाज सुनी और हमने जल्दी से अपने कपड़े समेटे और ऊपर की तरफ भाग गए.

मॉंटी की आवाज़ से दोनों उठ गईं और टीना उसे हैरानी से देखने लगी कि आज ये कैसा चमत्कार हो गया था मॉंटी अपने आप कैसे उठ गया?टीना- ये मैं क्या देख रही हूँ मॉंटी तू अपने आप उठ गया.

कभी कभी मेरा चचेरा भाई मिलने के बहाने आकर मेरी चूत चुदाई कर जाता था. इनके पिता की वजह से टाइम ही नहीं मिलता और न ही अब इतना ये मुझ पर ध्यान देते हैं पर एक लम्बे वक़्त के बाद ऐसा मजा मिल पाया. मैंने कहा कि नया रास्ता खोजने के चक्कर में एक शॉर्टकट से जल्दी पहुँच गया (कोचिंग से 2 किमी, दूर से)!तो उन्होंने पूछा- कहाँ से आते हो?और पानी ऑफर किया.

स्मृति और मैं एक दूसरे को पहले से ही जानते थे, मैं उनके घर यदा कदा जाया करता था तो स्मृति से हैलो होती ही थी परन्तु कभी ख़ास वार्तालाप नहीं हुआ. इधर वाइब्रेटर का प्रेशर बढ़ रहा था, उधर पीटर आँखें फाड़ कर यह नजारा देखने में व्यस्त था. इतनी देर से चल रहे फोरप्ले से मेरा हाल पहले से टाइट था और अब तो जैसे मैं जन्नत में था.

संजय- हा हा हा उनको क्या पता वो नसीब वाला तेरा मामा ही है हा हा हा. सुमित ‘आह, आह, मज़ा आ गया, उम्म्ह… अहह… हय… याह… मादरचोद, साली बहुत मस्त है तू तो’ और न जाने क्या क्या बकता हुआ उसे चोदे जा रहा था.

मैंने अपना लंड पेट पर लिटा लिया और इसे पकड़े रहा ताकि उछल कर खड़ा न हो जाए. वो एक अमीर माँ-बाप की बिगड़ी हुई औलाद थी और जिद करके हॉस्टल में आई थी; क्योंकि जब वो घर पर थी तो उसके माँ-बाप ने उस पर तमाम पाबंदियाँ लगा रखी थी. तू सुना क्या हाल है तेरे और कॉलेज में सब ठीक है ना?फ्लॉरा- हाँ पापा सब ठीक है.

भाभी की चूत में अलग ही नशा है। भाभी मुझे हमेशा बोलती हैं- तेरे लण्ड में सच में बहुत जान है, जो एक बार इससे चुदाई करवा ले, वो इसकी दीवानी हो जाती है।अभी तक मैंने भाभी को 17 बार चोदा है। अब भाभी प्रेग्नेंट है तो काफी टाइम से मुझे उनकी चूत नसीब नहीं हुई।तो दोस्तो, यह थी मेरी और मेरी चचेरी भाभी की चुदाई की कहानी। उम्मीद करता हूँ कि आप सभी को मेरी ये कहानी जरूर पसंद आई होगी।[emailprotected].

! मगर मैं किसका सेक्स देखूँ?टीना- अपने मॉम-डैड का देख लेना रात को, वैसे भी आज से तू उनकी चुदाई देखना ट्राई करने वाली है ना!सुमन- छी: दीदी. फिर अपने थूक से भीगी उंगली मेरी गांड में घुसेड़ दी।मैं हल्के से कराहा- आह. मैंने उत्तर दिया- अरे अम्मा, इसमें अगर की क्या बात है? आप कल क्यों आज ही ले लो.

अब वो उठ कर पास के रूम से तेल की शीशी ले आया और मेरी बहन की चुत पर थोड़ा सा तेल डाल कर उंगली चलाई. उत्तर में बड़े चाचा ने कहा- नहीं भईया, कल सुबह बच्चों को स्कूल भी जाना है.

कई चूत वाली रानियों ने भी कहा कि इस बार तो तड़प ही रही है हमारी चूत आपके इंतज़ार में!तो फिर देखो अब मैं आ गया हूँ, एक नई कहानी लेकर और इस कहानी से अपने लंड और चूत का पानी जरूर निकालना और मुझे ईमेल पे बताना भी कैसे निकला आपका पानी. मैं- जाये तो जाये, मुझे क्या, मुझे तो बस घर वालों के लिए बहू चाहिए. आगे मेरी चुत ने और क्या क्या गुल खिलाए, यह जानने के लिए मेरी अगली कहानी का इंतज़ार करें.

मर्डर सेक्सी फिल्म

वो इतनी कमसिन और सुन्दर थीं कि कोई उन्हें एक बार नजर भर कर देख ले तो वो अपने आपको रोक नहीं सकता.

पैंतीस-चालीस मिनट के इस घमासान संसर्ग में हम दोनों पसीने से भीग गए थे और हमारी सांसें फूल गई थी इसलिए अगले दस मिनट तक हम उसी तरह एक दूसरे से चिपक कर लेटे रहे. वो जब भी हमारे घर आते तो अक्सर मुझे घूर घूर के देखते, कभी मेरी बड़ी सी मटक मटक कर चलती गांड को और कभी मेरे डीप गले से बाहर आते चुचों को. पहले दरवाजा तो लॉक करो।मैंने झट से दरवाजा लॉक किया और आंटी को उठाकर बेड पर लिटा दिया। अब तक शाम के 7 बज गए थे.

अचानक हुए इस हमले से मैं पूरी तरह से हिल गई और ‘आआईई उम्म्ह… अहह… हय… याह… भोसड़ी के मार डाला मादरचोद आआह्ह ह्ह्ह…’ ही बोल पाई. मैंने इशारे से पूछा- क्या हुआ बहुत परेशान लग रही हैं?उन्होंने मुझे बोला- नींद नहीं लग रही है. सेक्सी वीडियो बीपी देखना हैयह कहानी सिर्फ मनोरंजन के लिए लिखी गई है, इससे किसी व्यक्ति, नाम, स्थान से कोई सम्बन्ध नहीं है.

मैं झिझकते हुए एक बार फिर बाथरूम में घुसा तो देखा की माला ने अपने शरीर को अपनी गीली साड़ी से ढक लिया था जो उसके जिस्म से बिल्कुल चिपकी हुई थी. इस बार चुदाई इतनी तेज थी कि मैं दो बार झड़ चुकी थी तब मुरुगन का लंड फटने को हुआ.

‘साले कुत्ते ये क्या कर रहा है, रुक क्यों गया ययय?’ चाची चिल्लाई मुझ पर. मानसी अब मेरे से मिलने को बहुत बेचैन हो गई और बोली- तो कहीं और मिल लेंगे पर तू मेरे से मिलने आ पहले, किसी पार्क में मिल लेंगे या कहीं मॉल में. ’‘तो आज तुम्हारे घर चलें, वहीं पर मस्ती करेंगे… मेघा भी शायद एन्जॉय कर रही है.

वो भी मस्ती से चिल्ला रही थी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’तभी मैंने लंड को उसकी चुत से बाहर निकाल कर उसके मुँह में दे दिया और उसके मुँह में ही झड़ गया. मुझे तो जैसे स्वर्ग मिल गया था, मैं कब से मना रही थी कि ये युवक मुझे चोद डाले. अगर तुझे एतराज़ ना हो?मोना की चुत तो वैसे ही जल रही थी उसे तो बस लंड चाहिए था.

ग़लती मेरी है जो मैंने इसकी खुजली पर दवा लगाने के लिए इसकी लली को टच किया.

उस दिन इतनी अधिक थकान हो गई थी कि हम दोनों चलने की हालत में नहीं थे. मैंने बाथरूम का दरवाजा खोला और अंदर घुसा औऱ दरवाजा बंद किया तो शावर के नीचे एक 22 साल कीनंगी लड़कीजिसके पूरी बॉडी पे साबुन लगा हुआ था और चेहरे पे भी साबुन लगा था वो अपने शरीर पर साबुन मल रही थी.

बात जनवरी 2011 की है, मैंने अपने जीवन की प्रथम हवाई यात्रा की गोवा से इंदौर, इंदौर पहुँचते ही मेरी एक अजीज मित्र अक्षिमा मुझे लेने इंदौर हवाई अड्डे पर आई. पूजा- क्या हुआ मामू आप मुझे ऐसे क्यों देख रहे हो?संजय- क्या मस्त है रे तू पूजा. सौरभ- किस-किस ने चोदा तुझे?सोनी- मुझे लड़की और लड़कों दोनों ने चोदा है।सौरभ- तू भाभी को भी चोद चुकी है ना?सोनी- हाँ.

रफीक- आहह राजा, जोर से चोदो और जोर से, आहह और जोर से गांड जब तक फट न जाये चोदते रहो!10 मिनट में रफीक जमीला के मुँह में झड़ गया और जमीला मस्ताना और गांड को भी चाट रही थी और कभी कभी मस्ताना पर थूक भी रही थी जिससे लण्ड अच्छे से चुदाई करे और रफीक की गांड गीली रहे. कुछ अजीब लग रहा है।मैंने सुना तो अकचका गया। मुझे लगा जैसे वो जान जाएगी।मैं झट से गुप्ता जी को हटा कर वहां बैठ गया और बोला- कुछ नहीं डार्लिंग, तुम ज्यादा व्याकुल हो ना. लेकिन मेरा एक हाथ संदीप ने अपने दोनों हाथों से पकड़ कर पीछे की तरफ अपनी ओर खींचे रखा और दूसरा हाथ राजू ने पकड़ लिया, मेरे दोनों हाथों को अपनी तरफ खींचने पर उनके लंड मेरी गांड में और अंदर रास्ता बनाने लगे और मैं दर्द के मारे बेहोशी के कगार पर पहुंच गया.

ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो 30 पर होटल के बाहर पार्किंग के पास मिलूंगा, तुम मुझे नीचे मिलना!मैंने कहा- ठीक है भाई!और फिर खड़ा होकर फ्रेश होने लगा।नहा कर, तैयार होकर ठीक 9. अब हम दोनों मिल कर पीटर का लंड खाने लगी, कभी मैं चूसती तो रिया उसके टट्टे चूसती, तो कभी मैं उसके टट्टे चबाती और रिया उसका मूसल हिलाती.

सेक्सी वीडियो 16 साल लड़की के

सबीना अभी भी मेरी गोलियों को चूस और चाट रही थी कभी कभी मेरी गांड के छेद को भी चाट देती!रफीक- आह आ गई मेरी जान, अच्छे से चाट मेरी गांड और राजेश का लण्ड भी, तेरे चाटने ने मजा दुगुना कर दिया मेरी जान. रयान को तो डबल बेडरूम फ्लैट चाहिए था जिससे आज नहीं तो कल निष्ठा आ ही जाएगी वो आराम से रह सकें. कोई ऐसे कुचलता क्या?राजे मुस्कुरा के बोला-बहनचोद, चूचियाँ बहुत सख्त हो रही थीं इसलिए उनको पीसना पड़ा…सच बोल राहत लग रही है न चूचुक में…ऐसा कह रही जैसे जांघें मसली तो क्या मज़ा नहीं आया रंडी?मैं बोली- सच्ची राजे बेहद मज़ा आया… दर्द है कोई नहीं ठीक हो जायगा कुछ देर में… लड़की पता है क्या चाहे है? एक जंगली जानवर जैसा चोदू… बस और कुछ नहीं!फिर मैं उठी और हमेशा की तरह राजे के लंड को चाट के साफ किया.

’ की आवाज़ निकाल रही थी। थोड़ी देर मैंने उसकी चूत चाटी और फिर हम 69 की पोज़िशन में आ गए। वो मेरे लंड को चूस रही थी और मैं उसकी चूत को चाट रहा था। मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। थोड़ी देर बाद उसने चूत का पानी छोड़ दिया और मैं धीरे-धीरे उसके पानी को चाट गया।अब उसने कहा- राज प्लीज़ अब जल्दी से अपना लंड मेरी चूत में डालो. और उनका लंड बाहर निकलने को बेताब लग रहा था।मामा बोले- मैं जा रहा हूँ, आज की पढ़ाई खत्म. साहू सेक्सी वीडियोउसने लंड की पिचकारी मेरी चूत में छोड़ दी। जैसे ही उसका पानी मेरी चूत में गिरा.

एक रात राधा चुत सहला रही थी और मैं बाहर खड़ा उसे देख कर मुठ मार रहा था, तभी मेरे पैर पर किसी जानवर ने काटा और मैं जोर से चिल्ला दिया। बस राधा की नज़र सीधे खिड़की पर गई और उसने मुझे देख लिया तो मैं जल्दी से वहां से भाग गया।थोड़ी देर बाद राधा मेरे कमरे में आई और मेरे पास आकर बैठ गई।मैं कुछ कहता, इतने में वो रोने लगी।राजू- अरे आप रो मत.

मौका देखकर उसने कहा- ऑफिशियल कब करने वाले हो?उसकी बात मैंने समझ ली और बोला- यार, वो तो घर वालों पर ही है, जिस दिन होगा, तुझे भी बुलाऊंगा. उसको डिल्डो चूसते देखकर मेरे मुरझाये हुए लंड ने एक चटका मारा… जो ऋतु की नजरों से नहीं बच सका.

मैंने अपने दोस्त आलोक को फोन किया कि जल्दी से आ मेरे घर जा… रात का खाना तूने यहीं पर खाना है. अनिता को नंगी करने के बाद वो उससे दूर हुए, फिर अनिता के मम्मों की तरफ़ देखा, जिसे देख कर उनका लंड पेंट फाड़ने को बेताब हो गया क्योंकि अनिता के चूचे कुछ अलग ही थे, जो शायद बहुत कम लड़कियों के होते हैं. दर्द मेरी बर्दाश्त के बाहर हो गया, आँखों से आंसू झर-झर गिरने लगे, मैं जल बिन मछली की तरह छटपटाने लगा.

पर चूत का दर्द कब पलक झपकते मज़े में बदल जाता है, ये तो हर वो चूत वाली आंटी या भाभी जानती ही है जो लंड के अच्छे से मजे ले चुकी हैं.

नौकरानी- मतलब तू भी गंडिया है?मैं- हाँ थोड़ा थोड़ा!वो झिड़क के बोली- चल हट साले छिनाल के जने… मैं तो सोच रही थी कि तू मर्द है. प्लीज मुझे इस सेक्स स्टोरी पर मेल करके जरूर बताना।[emailprotected]. पांच मिनट के बाद उसका लंड नॉर्मल पॉजिशन में आ गया लेकिन एडजेस्ट ना होने की वजह से वह एक तरफ ही सोया हुआ दिख रहा था.

हिंदी बीपी सेक्सी दिखाइएआयेशा ने मेरी तरफ देखा तो मैंने उसे इशारे से साइड में बुला लिया, वो आते ही बोली- यार रोहन अकेले में मुझसे मिलना चाहता है. वो देखने में बिल्कुल सीधी-साधी लगती थी पर उसके नैन नक्श बहुत तीखे थे.

साड़ी पेटीकोट वाली सेक्सी वीडियो

जब मैंने मेरा रूमाल नीचे किया तभी उसके चहरे के भाव देख कर समझ गया कि मैं उसे बहुत पसंद आया हूँ। दरअसल मैं दिखने में भी अच्छा हूँ, गोरा हूँ और बॉडी को काफी मेन्टेन किया हुआ है। नॉर्मली लोग सोचते हैं कि 35 के लोग मोटे और अंकल टाइप होते हैं. तभी मैंने देखा कि मामी की अलमारी खुली है तो मैंने उसके खोला अंदर हाथ डाला तो एक बॉक्स मिला उसके अंदर कुछ सी डी, मामी का रेजर और रुई पाउडर वगैरा मिली. देखा तो पीटर अपने लंड से रिया की गांड का तबला बजा रहा था और वो जोरों से चीखे जा रही थी.

सुमन ने अपनी नई ड्रेस नहीं पहनी थी मगर उसने एक रेड सलवार सूट पहना था, जिसमें वो खिल रही थी. थोड़ी देर के बाद मैंने उसकी चड्डी उतार दी, अब उसकीफूली हुई चूतसामने थी, आंटी की चुत पूरी साफ थी. मेरे लंड के ऊपर का ये दवाब मैं बर्दाश्त नहीं कर पाया और मेरे मुंह से ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’ की आवाजें निकलने लगी.

आज की रात तुझे ठंडी कर दूँगा। रुक जा मेरी रानी अभी तो मेरा लंड मोना की चुत में जाकर आया है। बस 5 मिनट इसे सुस्ता लेने दे. अब तो तेरे चूत के पानी सेमेरा ये लंड आबाद हो…खैर वही हुआ जिसका इतने दिन से इंतज़ार था मुझे, बबिता भाभी करीब 11 बजे अपने कमरे से निकली और नल पर पानी लेने के लिए आई और पानी भर कर मुझे वहीं दूर से खड़ी हो कर मेरी तरफ़ देखने लगी पर मैं इतनी दूरी से अंधेरे की वजह से उसे साफ दिखाई नहीं दिया कि मैं जाग रहा हूँ या सो गया. तो देखा कि वो लड़की 12 से 15 cm लम्बे लंड को आसानी से चूत में ले रही है।फिर मामा ने वीडियो बंद कर दिया, अचानक से मेरी नज़र मामा के लोवर पर गई। मैंने देखा लोवर के अन्दर से मामा का लंड तन गया है.

मेरी बहन अब किसी कुतिया की तरह से कुकिया रही थी और अपने चूतड़ों को नचा-नचा कर आगे-पीछे की तरफ धकेलते हुए मेरे लंड को अपनी चूत में लेते हुए सिसिया रही थी- ओह, चोद मेरे राजा… मेरे बहन के लंड… और ज़ोर से चोद… ओह… मेरे चुदक्कड़ बालम, उम्म्ह… अहह… हय… याह… सीईईई…मादक सीत्कारें भरते हुए अपनी दांतों को भींचते और चूतड़ों को उचकाते हुए दीदी झड़ने लगी. हम ऐसे कैसे जाएँगे?काका ने उसको बता दिया कि आज कोई उठने वाला नहीं, फिर वो राधा को पकड़कर आराम से ले गया। इधर मोना और राजू अपने काम में लग गए थे।दोस्तो मज़ा आ रहा है ना.

आंटी सीत्कार करने लगीं और उन्होंने बोला- तुम तो मेरी फैन्टेसी को पूरा समझ गए.

पार्टी के माहौल में तुम इतनी रूखी-रूखी क्यों हो?संजय- अरे कुछ नहीं ऐसे ही. स्कूल में के सेक्सीहम दोनों एक साथ सो जाएंगे।अंकल बोले- दो मोटे तेरे सिगंल बेड पर बनेगे नहीं. इंडियन सेक्सी गांड चुदाईआप मेरी पहली कहानीपड़ोसन आंटी की चुत चुदाई करके चोदना सीखापढ़ चुके हो. ऐसा लग रहा था मानो बस देवर मुझे चोदते ही रहे।मैं मेरी उत्तेजना में बड़बड़ा रही थी- आआह्ह्ह ऊऊऊईइ आआह्ह.

मुझे क्या करना था, मुझे तो बस जो चाहिये था, वो मैं उससे बोल देती और वो ला देता!फिर वो दिन भी आ ही गया जो मैं सोच रही थी.

फटी हुई एड़ियाँ, बदशक्ल नाख़ून, ये सब फूहड़पन से मुझे बहुत अधिक चिढ है. इसका मतलब यह नहीं कि मैं उससे जाकर बोलूँ कि वो मेरे सामने मुठ मार सकता है या नहीं. काका ये अपने क्या कर दिया, मेरी चुत को फाड़ दिया। हे राम कितना खून निकला है आह.

मैं चाहता था कि सुमित जल्दी से फारिग हो ताकि मैं कीकू को चोदने का मज़ा ले सकूँ. हम लोग आज तक उस पुस्तक जैसा सेक्स नहीं कर पाये।मैंने उसे रोकते हुए तुरंत कहा- रोहन ने तो कहा था कि तुम लोगों ने हर तरीके से सेक्स कर लिया है।तब प्रेरणा ने कहा- अरे नहीं यार. रफीक सबीना की चूत से मुँह हटाकर चीखते हुए- बहन की लौड़ी सबीना, क्यों अपने भाई की गांड के चीथड़े इस हब्शी लण्ड मस्ताना से करवाना चाहती है, फाड़ दी मेरी गांड मादरचोद भोसड़ी वाले अहःहःहः…जमीला- देखा तेरी चुदक्कड़ बहन को कैसे भाई की गांड फड़वा रही है, अब गण्डवे तुम भीअपनी बहन की गांडको फड़वाने के लिए तैयार करो.

करीना कपूर के हॉट सेक्सी वीडियो

आधा घंटा बाद मीना आ गई, उसके साथ एक लड़की थी जो फटा हुआ सा फ्रॉक पहने हुए थी. यह कहानी सिर्फ मनोरंजन के लिय लिखी गई है, इससे किसी व्यक्ति और नाम से कोई सम्बन्ध नहीं है. असल में मेरे पति ने नशे में उलझ कर खुद को खराब कर लिया है और उनका लंड भी छोटा है.

फिर गुलशन ने उसको अपने ऊपर लेटा लिया और उसकी चुत को चूसने लगे… यानि दोनों 69 के पोज़ में थे.

गुलशन ने अब उसकी चुत के दाने को मुँह में लेकर चूसा और अगले कुछ ही पलों में अनिता का बाँध टूट गया.

शाम को घर वापस आया, मैं कपड़े चेंज कर के नाश्ता किया, फिर मैं माँ को बोला- मैं आता हूँ. और अचानक उन्होंने पीछे से आकर ना… मुझे अपनी बांहों में ले लिया और बिना कुछ पूछे मुझे चूमने लगे. भारत की सेक्सी हिंदीवो भी मुझे देखकर कभी-कभी हंस दिया करती थीं। इस सब से मुझे लगता था कि ये लोग मेरा मुँह देखकर हंस रही हैं क्योंकि मैं चूतिया सा लगता था ना.

फिर मेरी चूत से भी पानी निकल गया और मैं पीटर के ऊपर से उतर कर साइड में लेट गई. फिर घर चले जाते थे।मैं शाम को घंटों फ़ोन पर दोनों से फ़ोन पर बात करता था. जब देखो चुत और लंड की बातें लेकर बैठ जाती है।टीना- अबे चुप साले बहनचोद मुझे ज़्यादा ज्ञान मत दे.

तेरी चूत में अपना लंड घुसेड़ने आया हूँ।वो मेरे पास आया मेरे बोबे हाथ फेरता हुआ बोला- तेरे मम्मे बहुत शानदार हैं।मैंने उसे धक्का दिया, पर उसने मुझे पकड़कर कर बिस्तर पर डाल दिया और मेरे ऊपर चढ़ गया। अब वो मेरे बोबे दबाते हुए मुझे समझाते हुए बोला- देख मैं भी अकेला हूँ और तू भी. उसके बात करने का अंदाज देख कर मुझे हंसी आई- दूसरा कोई क्यों भागता? मैंने पूछा.

जैसे ही मैंने अपना सिर उसकी ओर घुमा कर उसकी आँखों में झाँका तो वह शर्मा गई और झट से मुड़ कर दूसरी तरफ देखने लगी.

ऋतु उठी और बोली- लाओ अब मैं तुम्हारा लंड चूस देती हूँ!मैं तेजी से उठा और अपना पायजामा चड्डी सहित उतार दिया और बेड के किनारे पर लेट गया. जब चाहिए होगा मैं आपको बता दूँगा।मोना ठीक सुधीर के सामने बैठ गई और हल्की मुस्कान देने लगी। सुधीर तो उसके रूप को ऊपर से नीचे तक आराम से निहार रहा था और अपनी आँखें सेंक रहा था।मोना- आप मुझे ऐसे क्या देख रहे हो?सुधीर- आप बहुत सुंदर हो भाभी. उसके मुंह से एक सिसकारी निकल गई, उसकी चूत काफी गर्म थी… बिल्कुल कसी हुई और छोटे-छोटे बाल भी थे.

सेक्सी वीडियो फूल ओपन धीरे-धीरे वो निप्पल के मजे और चूत के दर्द में कहीं खो गई और थोड़ी देर बाद जब दर्द शांत हुआ तो खुद नीचे से धक्के लगाने लगी ‘आयाहह… समीर चोद दो मुझे… और तेज… और तेज चोदो…’मैं उसके चूचुकों को अपने दांतों से काट रहा था और नीचे से धक्के लगा रहा था. तभी राजे ने हुम्म्म हुम्म्म हुम्म्म करके पूरी ताक़त से अंधाधुंध धक्के टिकाये.

दोस्तो, मेरी पिछली देसी सेक्स कहानीमेरी सेक्सी कहानी की फैन के साथ थियेटर में मस्तीआप लोगों ने पसंद की, उसका शुक्रिया. अक्सर आना-जाना लगा रहता है। उसके पापा अक्सर शराब पीकर पड़े रहते हैं। उसकी मां ऊषा जो बहुत ही सुन्दर है. पूजा- लेकिन अगर मैं चिल्लाई तो क्या होगा?संजय- अरे पगली उस वक़्त तो नादान थी मगर अब तो चुदवा कर तुझे पता चल गया है.

सेक्सी नंगी नंगा वाला

साला हम उसको होटल भी नहीं ले जा सकते। मेरे पापा पुलिस में हैं साला उनको इस बारे में कोई भी खबर दे सकता है।विक्की- तेरे पापा खुद भी तो ऐसे ही हैं. फूफा जी ने मेरे कंधे को ज़ोर से पकड़ रखा था और मेरे दोनों बूब्स उनके साथ चिपके हुए थे. इसके लिए आप बेशक हमारी पगार में से जितना चाहे वह काट लीजिये लेकिन एक असहाय को आसरा जरूर दे दीजिये.

मीना- वैसे तुझे ज़्यादा मेहनत नहीं करनी पड़ेगी, वो ऐसी है कि गोपाल खुद उसको चोदने का प्लान बना लेगा. यकायक उसने मेरे नीचे से बाहें हटा के निप्पल अंगूठे और उंगली में जकड़ लिए.

वो मुस्कुराने लगे और पेंट के अन्दर हाथ डाल कर लंड को हाथों से सहला रहे थे।बात आई-गई हो गई।फिर एक माह बाद गर्मी की छुट्टियाँ शुरू हो गईं.

मैंने सोचा शालू को तंग न करूँ, इसलिए मैंने अपनी चाभी से फ्लैट का गेट खोला और अन्दर चला गया. तो रोहित शर्मा गया पर उसने अपने हाथों में साबुन ले लिया और फिर उसने मेरे उरोजों को अपने हाथों में भर लिया और उन पर साबुन लगाने लगा. मैं माँ की ओर देख रहा था- माँ चाय नहीं बनाओगी?‘बनाती हूँ!’ और उठ कर माँ किचन में चली गई.

सस्स ऐसे ही चूस।मोना भी समझ गई कि काका ये सब राधा को सुनाने के लिए कह रहे हैं।थोड़ी देर बाद काका खड़ा हो गया और जानबूझ कर ऐसे खड़ा हुआ कि उसका खड़ा लंड राधा को पूरा दिखाई दे। उसके बाद वो मोना की चुदाई करने लगा।मोना- आह. मेरी उत्तेजना का कोई ठिकाना ना था, मैं इसस्सस कर उठी, वासना के मारे आँखें लाल हो गई, मैं बिना नशा किये भी मदहोश होने लगी. और आपकी बहन आवाज़ सुन कर आ जाएगी, फिर हम उसको भी चोद देंगे।मैं तो पूरी तरह से डर गई कि ये तो ज़बरदस्ती करने पर आ गए।तब तक दूसरे वाले ने भी अपने पूरे कपड़े निकाल दिए। उसका लंड भी पहले वाले के जितना ही लंबा था। वो लंड को हाथ में पकड़ कर आगे को आया और मेरे मुँह में लंड को टच करने लगा।तो मैंने मन में सोचा कि चुदना मुझे 100% है ही.

कुछ देर मेरी चुत सहलाने के बाद आकाश ने मेरी ब्रा और पेंटी उतार कर मुझे नंगी कर दिया और खुद भी सारे कपड़े उतार कर नंगा हो गया!जब आकाश ने अपने कपड़े उतारे तो उसका लंड देख कर हैरान हो गई उसका लंड भी दीपक के लंड की तरह खूब बड़ा और मोटा था.

ब्लू पिक्चर बीएफ एचडी वीडियो: बल्ब की रोशनी में आधा सोया हुआ लंड भी काफी मोटा और जबरदस्त लग रहा था जिसको चूत में लेने के लिए कोई भी लड़की तैयार हो जाए… इतना सेक्सी लंड कभी कभी देखने को मिलता है. सुमन इतनी जोर से चिपकी थी कि उसके चूचे गुलशन के सीने में चुभने लगे थे.

कभी फ्लॉरा कीचड़ में जोर से पैर मारती और जॉन को गंदा करती, तो कभी जॉन ऐसा करता. बड़ी प्यास लगी है।सुमन- पापा पानी तो शायद नीचे मिलेगा, यहाँ तो सिर्फ़ गारमेंट्स और शूज ही हैं।अनीता- अरे तो नीचे से ले आओ, जाओ मुझे भी बहुत प्यास लगी है।सुमन अब आगे क्या बोलती, वो पानी लाने नीचे चली गई।गुलशन- ये क्या है अनीता. उनके चेहरे पर हवस नाच रही थी… जैसे दोनों के दोनों मेरे ऊपर लंड तानकर चढ़ने को उतावले हुए जा रहे हैं.

ये देखो मेरा होमवर्क भी पूरा हो गया।संजय- बहुत अच्छी बात है अब क्या करोगी?पूजा- कुछ नहीं आप थोड़ा रेस्ट कर लो बाद में मुझे पढ़ा देना।संजय- नहीं पहले तुझे पढ़ाऊंगा.

अगर तुम चाहो तो?पूजा- वो कभी भी नहीं तैयार होगा इस पागलपन के लिए… ये सिर्फ मेरे मन के विचार हैं और कुछ नहीं इन्हें ज्यादा गंभीरता से मत लो. थोड़ी देर बाद मेरा देवर चीखने लगा, मैं समझ गई कि देवर अपने अंतिम पड़ाव पर है, मैंने कहा- आदी, मेरी चूत में अपना रस मत निकालना, तुम्हारे भैया ने अभी मुझे प्रेग्नेंट करने से मना किया है. कोई तकलीफ तो नहीं?मैंने कुछ नहीं कहा।फिर बोला- थोड़ा तेज करूं?उसने धक्कों की स्पीड और पावर बढ़ा दी और फिर धक्के और जोरदार धक्कों में बदल गए। मैं इतना पुराना गांड मराने वाला था.