बीएफ वीडीयो

छवि स्रोत,बीएफ सेक्स वीडियो एचडी

तस्वीर का शीर्षक ,

xxx.com बीएफ सेक्सी: बीएफ वीडीयो, उस समय बहुत गर्मी पड़ रही थी तो चाची सुबह सुबह ही बच्चों को स्कूल भेजने के बाद नहा लेती थीं.

नंगी नंगी नंगी फिल्म

उस वक्त छन छन की मधुर आवाज ऐसी मस्त लगती थी जैसे चुदाई के साथ लय ताल मिला रही हो. बिग बूब्स हिंदीइसलिए दस मिनट बाद मॉम ने मौसी के मोबाइल पर कॉल कर दी और उनसे बोलीं- आर्यन से बात करा दो.

मौसी ‘आह हहह उईईई …’ करती रहीं लेकिन अब मैं बिना रूके उन्हें तेजी से चोदने लगा और किस करने लगा. ब्लू पिक्चर सेक्सी में ब्लू पिक्चरकैसे हो, क्या कर रहे हो?मैं- कुछ नहीं आज रविवार था तो सोचा कि आपसे घर के बारे में पूछ लूं.

और ऐसे ही बातें करने लगे दो तीन पैग के बाद उसका मूड बनने लगा और उसको नशा होने लगा.बीएफ वीडीयो: बस ऐसे ही जरा काम के सिलसिले में फंसा पड़ा हूँ, आने का समय ही नहीं मिला.

उस वक्त छन छन की मधुर आवाज ऐसी मस्त लगती थी जैसे चुदाई के साथ लय ताल मिला रही हो.अब भाभी हांफ रही थी मेरे ऊपर लेटे लेटे!फिर अचानक से उन्होंने मुझे एक तप्पड़ मारा और बोली- भोसड़ी के, पानी चूत में क्यों छोड़ दिया? मैं तेरे बच्चे की मां बन गई तो क्या होगा?मैंने कहा- आपने मुझे इतना जोर से जकड़ रखा था … मैं बाहर पानी कैसे निकालता?भाभी ने कहा- कल सुबह मुझे गोली लाकर दे देना जिससे मैं प्रेगनेंट ना होऊं।कुछ देर बाद भाभी उठी और पेशाब करने चली गई.

बीएफ भाई और बहन - बीएफ वीडीयो

उन्होंने भी अपने होंठ काटते हुए कहा- आप भी मुझे बहुत अच्छे लगते हो.मैं बोला- साली कुतिया … लगता है बहुत दिनों से तेरी नदी का नक्का नहीं खुला.

भाभी ने मेरे लंड को लॉलीपॉप की तरह चाटना चूसना चालू कर दिया और मेरा पूरा लंड अपने गले तक लेने लगीं. बीएफ वीडीयो फच्ह्ह … फच्ह्ह्ह … फ़च … धारा की गीली चूत का संगीत शेखर के लंड से मिलकर एक मादक धुन बजाने लगा.

हालांकि उन्होंने कंधे पर चादर डाल रखी थी लेकिन तब भी उनका लंड साफ उठा हुआ दिख रहा था.

बीएफ वीडीयो?

सोफे के ऊपर से खड़ा होकर मैं उसको बेल्ट के सहारे से खींचने लगा तो वो भी किसी कुतिया की तरह मेरे पीछे पीछे चलने लगी और मेरे इशारे से वो बिस्तर पर चढ़ कर कुतिया बन कर झुक गई. मैं उनके घर शाम को गया था तो उस समय चाची घर के कामों से एकदम फ्री थीं. दोस्तो, सभी लंड मालिकों को प्रणाम और चूत की मालकिनों को मेरे लंड का प्रणाम.

अगले दिन शादी थी तो तैयारियां बहुत जोरों से चल रही थीं, किसी के पास टाइम नहीं था. वो बोलीं- मेरे पति हमेशा काम के वजह से बाहर रहते हैं और मुझे शारीरिक सुख नहीं दे पाते हैं. क्योंकि जो राजी से मिल रहा है, उसे ले ले … नहीं तो वो भी हाथ से चला जाएगा.

मैं सोचने लगा कि साला मैं गधा, बगल में इतनी मस्त माल को छोड़ दूर की तितलियों को निहारता रहा. वो नीचे की तरफ सीढ़ियों पर खड़ी होकर एक से दस तक गिनने लगी और हम सब छुपने लगे. मैं कुछ देर मौसी के दिनों मम्मों का रस पीने के बाद नीचे आ गया, उनकी नाभि में जीभ चलाने लगा.

उसने अपने भाईजान का हाथ पकड़ कर एक ज़ोर की चीख मार दी और अगले ही पल उसकी चूत का पानी मेरे लौड़े पर छूटने लगा. मैंने उससे कहा- तुम रूपा को मेरे कमरे में भेज दो और दरवाजा लॉक करके चले जाओ.

मुझे उसके धक्के असहय से लगने लगे और मैं सोचने लगी कि ये अब जल्दी से झड़ जाए.

मैंने एक दिन देखा कि भाभी के पास एक लड़की जाती है, उसका नाम कोमल था.

मैं अभी ये सब देख ही रही थी कि ना जाने कहां से एक चूहा वहां आ गया और वो बाथरूम के अन्दर मेरे पैरों के पास आ गया, जिससे मैं बहुत डर गयी और जोर से चिल्लाती हुई नंगी ही बाथरूम से रूम की तरफ भागी. ऐसे करने से अब मेरी गांड भी किरण के सामने आ गयी और मैंने झट से उसका मुँह अपनी गांड में दबा दिया. मैं पूरी तरह से गर्म हो गयी थी, मुँह से कुछ आह आह की सिसकारियां आने लगी थीं.

अब आगे न्यू गांड की चुदाई:हम दोनों नंगे होकर एक दूसरे के साथ बहुत प्यार कर रहे थे. मुझे बहुत दर्द हो रहा था पर बार बार उसकी जीभ की रगड़ का अपनी चूत पर अहसास करके मुझे मजा भी आ रहा था. मैंने कहा- आपको किस करना आता नहीं है या करना नहीं चाहती हो?वो बोलीं- मुझे नहीं आता है.

ललिता भाभी बोलने लगीं- राज चोदो मुझे … आह और जोर से धक्का लगाओ … आहह आहहह लव यू जान तुम कितना अच्छा चोदते हो.

ये जो घटना है, कुछ चार साल पहले की मेरे और मेरी बड़ी साली मीता के बीच की चुदाई कहानी है. इस धुंआधार चुदाई से हम दोनों ही बेहद बुरी तरह से थक गए थे और जल्द ही दोनों लोग नंगे बदन ही सो गए. वो हमेशा ही तड़पती रहती है और मुझ पर गुस्सा करते हुए पलट कर सो जाती है.

आज उसकी उम्र 24 साल है पर उसके फिगर को देखने से लगता है कि वो अपनी उम्र से कुछ बड़ी लगती है. जल्द ही उसे शराब मजा देने लगी और मैंने उसी वक्त फिर से लंड गांड में पेल दिया. आगे उभरे हुए उसके स्तन, पीछे निकली हुई गोल मटोल गदरायी सी गांड और उसकी 34-30-36 की फिगर देखकर मेरा लंड तनाव में आ गया था.

ये मैंने आज पहली बार किया था तो मेरी एकदम से गांड फट गई कि अब क्या होगा.

जब कभी भी मेरे पति मेरे निप्पल चूसते थे तो मैं बेकाबू हो जाती थी।आज भी वैसा ही कुछ हुआ. उसके बाद मैंने एक ही धक्के में अपना पूरा लंड उसकी बुर में उतार दिया.

बीएफ वीडीयो हिन्दी सेक्स कहानी साईट अन्तर्वासना पर आप सभी पाठकों का मैं राज शर्मा दोनों हाथ जोड़कर नमस्कार करता हूं. यह सब देखकर तो मुझे यह लग रहा था कि मैं इसकी चूत में अपना लंड डाल दूं.

बीएफ वीडीयो आज के इस सीन से एक बात तो साफ़ हो गई थी कि डैड, मॉम की प्यास सही से नहीं बुझा पाते हैं. लेकिन मैंने पीछे से उनकी गांड को इतनी ज़ोर से पकड़ा हुआ था और जीभ अन्दर चूत में डालकर चूस रहा था कि मॉम कुछ कर ही ना सकीं और उनका मूत निकलने लगा.

वो भी अपने दांतों से बचाते हुए मेरे लंड को दबाने की कोशिश करने लगी.

नेटवर्क सेक्सी वीडियो

वो एक हाथ से अपने गाल से प्री-कम साफ करती हुई हंसने लगीं और दूसरे हाथ से मेरा लंड सहलाने लगीं. वहां पर मैंने मेडिकल की कोचिंग में एडमिशन ले लिया और रहने के लिए हॉस्टल की तलाश करने लगा. फिर हम दोनों ने अपना लंच बॉक्स खत्म किया और बेडरूम में जाकर एक दूसरे से लिपट कर सो गए.

उनकी जांघों के बाल और भीगा हुआ लंगोट देख कर मैं अपने आपको रोक ना सका और अपने लंड को सहलाने लगा. मैंने जल्दी से सामने रखी से तेल की शीशी उठाई और उसके चूतड़ों को फैलाकर उसकी गांड में तेल लगाया. बहन- मगर ऐसा ही चलता रहा और तू हिलाता रहा, तो तेरी सेहत पर इसका बुरा असर पड़ेगा.

फ्रेंड्स, मैं आयुषी एक बार फिर से अपने लवली चूत लेकर आपके लंड के सामने हाजिर हूँ.

इसके बाद आरती जब भी हमारे घर रुकने आती थी, तो हम पूरी रात चुदायी का मजा लेते थे. नंदा बोली- मैं कुकर में रख आती हूँ, सीटी आएगी, तब गैस बंद कर देंगे. जिस दिन मुझे कोई माल घूर कर नहीं देखती है उस दिन मुझे लगता है कि आज का दिन मेरे लिए अशुभ है.

इस वक्त भाभी मानो मुझे चोदने लगी थी और मैं उसकी चूचियों को पूरी दम से दबाने लगा था. ऐसा कहते कहते देविका मेरे लंड को सहलाने लगी तो मेरा लंड भी फड़फड़ाने लगा और तनाव में आने लगा. जब मेरी प्यास बढ़ने लगी तो वीडियो कॉल पर भी मैं अपनी गांड का प्रदर्शन करने लगा.

मेरी पिछली कहानी थी:कुंवारी रंडी की चुत गांड चुदाई का मजामेरे कई पाठक मुझे अपनी अपनी कहानियां भेज रहे हैं और मुझे जो कहानी सबसे ज्यादा पसंद आएगी, वही कहानी आप लोगों के समक्ष प्रस्तुत करूंगी ताकि मेरे सभी पाठको को सदैव अच्छी कहानी पढ़ने को मिले. उधर से- ओह सॉरी!फिर उसने मुझे बाकी सारी बातें बताई तो मैं बोला- ठीक है, मैं शाम तक आकर चेक कर लूँगा.

मैं भी कहीं न कहीं सारे रास्ते उससे चुदने की सोच सोच कर गर्म हुई पड़ी थी; मेरी चूत पानी टपका रही थी. साला इतना ठरकी आदमी मैंने अपनी जिंदगी में पहली बार देखा था कि जो खुलकर मुझसे लड़की की अदला बदली करके चुदाई की बात कर रहा हो. साले साहब का लंड एक तो छोटा था और काफी दिन से चूत में गया भी नहीं था.

लाल रंग के लहंगे में वो बला की खूबसूरत लग रही थी जैसे स्वर्ग से कोई हुस्न की परी उतर कर आ गई हो.

शेखर अब भी उसकी चूत के चटकारे ले रहा था, वो तो मानो धारा के शरीर के अंदर का भी सारा रस उसकी चूत के रास्ते से ही चूस लेना चाहता था. मैं अपने लंड से मैं उसके मुँह को चोद रहा था और वो एक पोर्न स्टार की तरह बड़े मजे से मेरे लंड को चूस रही थी. धीरे से धारा ने अपनी गर्दन पीछे की तरफ़ घुमायी और शेखर की ओर देखकर एक कातिल मुस्कान दी.

सरिता बोली- हर्षद, मेरे पास समय कम है … जल्दी से अपना मूसल मेरी गीली चूत में पेल दो. शेखर को लगा मानो उसके लंड का पूरा लावा उछाल मार के बाहर निकल जाएगा.

उसने कहा- जीजू, अभी तक शांत नहीं हुए आप!मैंने कहा- तू है ही इतनी सेक्सी कि कंट्रोल करना मुश्किल है. वो भाभी पर चिल्ला कर बोलीं- इतना वक़्त लगता है क्या?भाभी चुपचाप चली गईं. मॉम ने अपनी पैंटी पहले ही उतार दी थी इसलिए अब वो मेरे सामने पूरी नंगी लेटी थीं और मस्त माल लग रही थीं.

चूत चुदाई की सेक्सी फिल्म

मैंने सुची से पूछा- इनके इतने बड़े कैसे हो गए हैं?वो बोली- हर देश के अलग अलग साइज़ के होते हैं.

सुजय सर मुझे तेज़ी में चोदे जा रहे थे और मैं अपने सर से चूत चुदवाए जा रही थी. मैंने झुककर गीता के होंठों चूमा और उसके दोनों गालों को बारी बारी से अपने दांतों से हल्का सा काट लिया. दोनों पैरों को फैलाकर मैंने उसकी गांड को चौड़ा किया और चूत में लंड पेल दिया.

फिर उसने अपनी टांगों को थोड़ा सा फैला लिया और अपनी चिकनी गुलाबी चूत को अपनी उंगलियों से धीरे धीरे रगड़ने लगी. फिर वो बोले- मेरा वीडियो कॉल पर बात करने का मन है … क्या मैं कर सकता हूँ?मैं बोली- अरे भैया, इसमें कौन सी बड़ी बात है, खूब कीजिए. पंजाबी भाषा में सेक्सी बीएफकिरण- मुझे लगता है कि तुमने उस दिन मेरी बात का बुरा मान लिया था, सॉरी उस दिन मैं गुस्से में थी.

भाई मेरे कानपुर में प्राइवेट जॉब करते हैं। वो भगवान को बहुत मानते हैं, साधारण जीवन जीना उन्हें अच्छा लगता है।जबकि मैं हमेशा लड़कियों और भाभियों को चोदने के फिराक में रहता हूं. ललिता भाभी ‘आहह आहह …’ करके अपनी चूचियों को मसलने लगी और मैं तेजी से चोदने लगा.

कुछ मिनट दोनों बात करने के बाद बॉस ने मेघना को किसी गुड़िया की तरह उठाया और चूम कर बिस्तर पर लुढ़का कर उसके ऊपर चढ़ गया. ये कौन है सर?सर मुझे देखकर मुस्कुराते हुए बोले- वही, जिसे कल तुम घूर रहे थे और आज जिसका इंतजार कर रहे हो. उनके साथ ही कुछ दिन बाद हीरा बाबू भी आगे की पढ़ाई के लिए पटना चला गया, जिस वजह से अब मैं अकेली हो गयी.

कुछ पल दर्द के बीतने के बाद साबिरा ने भी मज़े लेते हुए अपनी कमर नीचे से थोड़ी ऊपर उठा दी. वो कराहने लगी तो सरिता ने पूछा- क्या हुआ मौसी?तो मौसी ने कहा- क्या कहूँ सरिता, मेरी चूत में बहुत दर्द हो रहा है और चूत भी फट गयी है. मैं अन्दर बैठा था तो मैंने देखा कि वो बाथरूम में गई और उसने बाथरूम से कपड़े उठाए.

अभी भी ससुर जी मुझे चोदे जा रहे थे और उनका पानी निकलने का नाम नहीं ले रहा था.

उस वक्त घड़ी में शाम के सात बज गए थे, जब मैं ऑफिस से घर के निकला था. साबिरा के मुँह से लौड़ा निकाल कर अब मैं उसको बिस्तर पर ले गया और उसको कुतिया बनाकर अपना लौड़ा उसकी चूत पर दबा दिया.

तुम्हारा लंड अपनी चूत में पाकर, मेरा बरसों पुराना सपना आज पूरा हुआ है. यह देख कर मेरा मजा कुछ कम हुआ, तो मैंने उसे उठाकर अपने लंड पर बैठा दिया. उन्होंने लाल रंग की साड़ी पहनी और मैचिंग का ब्लाउज मम्मों पर फंसाया.

उसने अचानक से कम्बल के अन्दर अपना हाथ डाला और मेरे लंड पर अपना हाथ रख दिया. मेट्रो के सामने मैंने गाड़ी लगाई और गाड़ी में से बाहर निकल कर फिर से पूनम से माइक पर ही बात की. जल्द ही उसने लंड को चूमना शुरू कर दिया और चूमते हुए उसने लंड को अपने मुँह में भर लिया.

बीएफ वीडीयो दोस्तो, मैंने अपनी गर्लफ्रेंड फातिमा के लिए अपनी गांड किस तरह से मराई और गांड चुदाई का मजा लिया, वो सब मैं इस क्रॉसड्रेसर कहानी के अगले भाग में लिखूँगा. इससे मेरी बहन और मैं भी घर में नंगी रहा करें, ताकि सभी को किसी तरह के शारीरिक सुख की कमी न हो.

सेक्सी दीजिए वीडियो पर

मैंने भाभी से पूछा- चूमना कैसा लगा?भाभी बोलीं- इस तरह का ये किस मैं दूसरी बार तेरे साथ कर रही हूँ. किसी भी दूसरे मर्द के नीचे टांगें खोलने में उसको जरा भी देर नहीं लगती थी. कोई 5 मिनट की किसिंग के बाद मैंने चाची के ब्लाउज के बटन खोल दिए और उनके ब्रा रहित मम्मे मेरे सामने जलवा बिखेरने लगे.

मैंने अपने हाथों से आसिफ का सिर पकड़ रखा था और हमारा चुम्बन आगे बढ़ता जा रहा था. मैंने शिराज को आदेश देते हुए कहा- हां हिजड़े की औलाद, तू भी मजे ले ले मादरचोद … चल आजा दे तेरी लुल्ली तेरे बहन के मुँह में दे दे और चोद दे अपनी बहन का मुँह गांडू, आज देख कैसे तेरी बाज़ी को तेरे सामने रंडी बना कर चोदूंगा. हिंदी में एचडी सेक्सी बीएफमतलब दोनों साथ में ही नहा रहे होंगे और शायद वहां भी चुदाई हुई होगी.

कहानी के पहले भागप्यार में मैंने क्या क्या ना कियामें अब तक आपने पढ़ा था कि मैंने अपनी गर्लफ्रेंड फातिमा की खातिर उसके चचेरे भाई आसिफ से गांड मरवाना स्वीकार कर लिया था और उसके साथ एक रंडीखाने में जाकर लड़की का मेकअप करवा कर आईने में देखने लगा था.

मैंने पूछा- अगर ज्यादा दर्द हो रहा हो तो निकाल लूँ क्या?लेकिन उन्होंने मना कर दिया और थोड़ी देर बाद उन्होंने खुद ही झटके मारने शुरू कर दिए. एक दिन मैं ताऊ जी के घर के पास खड़ा होकर भाभी के सामने में किसी से बात कर रहा था और भाभी अन्दर से मेरी बात सुन रही थी.

मैंने वॉशरूम में टंगे उनके अंडरवियर को देखा, जो फ्रेंची कट वाला था और उसमें से उनके लंड की शेप अभी भी बनी हुई थी. मेरी इस नई सेक्स कहानी में आपको पहले की तरह आनन्द आएगा, ऐसी मेरी आशा है. मैं- क्या आप कानपुर से अकेली आई हैं?भाभी- हां, क्यों?मैं- नहीं, बस ऐसे ही पूछ रहा हूं.

मेरी पिछली सेक्स कहानीराजेश से शिवानी रंडी बनने तक का सफरके बाद मुझे काफी सारे ईमेल आए, कईयों ने प्रपोज किया, जिससे मेरी ईमेल बॉक्स भर गया.

पहले तो उन्होंने मेरे होंठों को चूसा, जिसमें मैंने भी उनका बराबरी से साथ दिया. मुझे ऐसा लगा था कि मैं चूत चोदने के लिए नहीं बल्कि चुदवाने के लिए बना हूँ. मैंने अपनी उंगलियों से उसकी ठोड़ी को पकड़ कर उसका चेहरा ऊपर उठाया और कहा- क्या ऐसा कुछ है, जो तुम मुझे बताना चाहो?तब उसने कुछ संशय से मेरी आंखों में देखा.

सेकशि विडिवोगेट के नीचे से लाइट बाहर आ रही थी और साथ में सुमैत्री की परछाई भी दिख रही थी, जिसमें वो अपनी साड़ी उतारती हुई दिख रही थी. अब वो फिर से कभी ऐसे नहीं करेगा इसकी जिम्मेदारी मेरी, पर आज उसको उसके किए की सज़ा जरूर मिलेगी.

நமிதா செகஸ்

ये अपनी बड़ी मौसी को खुश कर रहा है … और वैसे भी जवानी में इसको घर में ही मज़ा मिल रहा है. फिर जिस तरह से उन्होंने मुझे प्यार करना शुरू किया, मुझे उनका वो अंदाज बहुत पसंद आया. जैसे ही मैं नहा कर बाहर आई, उसमें मेरी टॉवल निकाल दी और सीधे मेरी चूत में मुँह घुसा दिया.

मैंने आठ दस शॉट मारे और अपना सारा पानी बहन की गांड में ही निकाल दिया. मैं जब भी मेम से अपने डाउट पूछता, तो वो मुझे बड़े प्यार से समझाती थीं. अब मॉम ने भी अपनी पैंटी उतार दी और अपनी चिकनी चूत मौसी के मुँह में लगा दी.

लेकिन अब वो लगातार देखने लगी मेरी तरफ!तो मैंने इशारे में पूछा कि कोई दिक्कत हो रही है क्या?वह बोली- नहीं, बस यों ही सोच रही हूं कि आपसे दोस्ती कर सकती हूं. मैंने उसकी जीभ चूसते हुए खींची और तेज तेज उसकी चूत में लंड से खुदाई करने लगा. अब मैंने उससे पूछा- तुम्हारा कोई ब्वॉयफ्रेंड है?बहन ने बताया- नहीं, मेरा कोई नहीं है ….

जब मैंने एक बियर की कैन निकाली तो बहन ने समझा कि मैं कोल्डड्रिंक पी रहा हूँ. आज धारा के खुलते और बंद होते गांड के छेद ने शेखर की उस दबी हुई तमन्ना को और भी हवा दे दी.

ओह माय गॉड … इतना लंबा और मोटा लंड…!!मैंने पहली बार इतना हब्शी लंड देखा था.

फिर वो खड़ा हुआ और उसने मेरा गाउन निकाल कर फैक दिया और अपना लंड मेरी चूत में घुसा दिया. एचडी एक्स ब्लू फिल्मडैड के आने बाद मैं डैड से कहा- मैं मॉम के साथ 4 दिन के लिए मसूरी जा रहा हूँ. बीएफ फिल्म एक्स एक्स एक्सफिर वो मेरे नीचे की तरफ बढ़े और मेरी नाभि को चूमने लगे, उसमें अपनी जीभ डालकर कुरेदने लगे. उन्होंने मेरी कमर को जोर से जकड़ लिया और दनादन मेरी गांड पर उनके धक्के पड़ने लगे।कुछ देर इसी पोजीशन में चोदने के बाद उन्होंने मुझे बिस्तर से नीचे उतार लिया और मुझे खड़ा करके मेरे पीछे आ गए.

अब मैंने उसके पीछे आकर उसकी चूत में फिर से अपना लंड डाल दिया और उसकी पतली कमर को पकड़ कर जोर जोर से धक्के लगाना शुरू कर दिया.

मैंने इशारे में भाभी से पूछा- घर में कोई है?भाभी ने ना में सिर हिलाते हुए कहा- नहीं. नव्या ने आगे बताया- मेरी समस्या ये है कि मेरी बेटी मेरा दूध पूरा नहीं पी पाती है, जिस वजह से उसके स्तन हमेशा दूध से भरे रहते हैं. कमरे में जाते हैं मैंने कमरा बंद कर दिया और मैंने भाभी को पीछे से पकड़ लिया.

करीब ग्यारह बजे मैंने जब मोबाइल चैक किया तो दोनों ही कमरे में नहीं थे. मैंने उसका लंड हाथ में पकड़ लिया और उसकी खाल पीछे करके सुपारा मुँह में ले लिया. मैं 10वीं कक्षा में फेल हो गया था और उसके बाद से मैंने स्कूल जाना छोड़ दिया था.

ऐश्वर्या राय की चुद

सबसे पहले मैं आपको अपने बारे में कुछ बातें बताना चाहता हूं, जिससे आप लोग खुद अंदाजा लगा सकते हैं कि मैंने सही किया या गलत. अगर चुदायी के पहले इतना मादक खेल ना खेला गया होता तो शायद धारा अपनी गांड मरवाने को तैयार ना होती. मैंने डैड से पूछा- डैड, क्या मैं आपको जॉइन कर सकता हूँ?डैड बोले- हां आ जा न.

कुछ दिन बाद मैंने एक एडल्ट सोशल नेटवर्क पर अपना एक नया अकाउंट बनाया.

मैं धीरे धीरे धक्का लगाने लगा और कुछ मिनट के बाद वो भी मेरा साथ देने लगीं.

अभी तक हम दोनों ने कभी भी एक दूसरे को गलत इरादे से देखा ही नहीं था. उस दिन उसने टाइट स्किन फिटिंग जींस पहनी थी, जिसमें उसकी गांड का उभार साफ-साफ दिख रहा था. ब्लू सेक्सी मूवी इंडियनमैंने शायद शब्द इसलिए लिखा था क्योंकि मुझे अभी ये नहीं मालूम था कि साबिरा की चूत चुदी हुई है या सील पैक है.

तभी मॉम ने मेरे होंठों को चूसना स्टार्ट कर दिया और उन्होंने अपनी जीभ मेरे मुँह में घुसा दी. और ऐसे ही रोज का सिलसिला चलता रहा।धीरे धीरे मेरे कई सारे दोस्त बन गए और उनमें से लगभग हर किसी की गर्लफ्रेंड थी सिर्फ मुझे छोड़कर!सभी लड़के अपनी अपनी कहानी बताते थे … कि मैं अब तक तीन लड़कियों को चोद कर छोड़ चुका हूं … तो कोई कहता कि मैं चार को चोद चुका हूं।जब वो मुझसे पूछते तो मैं झूठ कह देता था कि मैंने भी कई बार सेक्स किया है. उसकी ऐसी मस्त चाल कि पीछे से देख कर ही लंड पैंट के अन्दर तूफान मचाने लगता था.

अब मैंने उसकी दोनों मुलायम, दूध जैसी गोरी, मांसल और गदरायी जांघें सहलाईं और फैलाकर पकड़ लीं. जैसे ही मेरा हाथ उसके उस गीली फुद्दी पर लगा, तो रेशमा के बदन में एक थरथराहट हुई.

चूंकि सुबह का समय था तो मेरे जवान वय के कारण मेरा लंड भी उत्तेजित था.

दो और पैग वन्दना ने पिए और अचानक से उठ कर उसने भी अपनी ब्रा और पैंटी खोल दी. उसने खींचते हुए मेरी शर्ट के बटन खोलने की जगह तोड़ना शुरू कर दिए और मेरी शर्ट को मेरे शरीर से अलग कर दिया. फिर मैंने उनकी चूत और गांड सबमें अच्छी तरह तेल लगा दिया और उनको अपने जिस्म से रगड़ कर उनको बॉडी मसाज देने लगा.

नया हिंदी बीएफ पीठ पर हाथ फेरा तो मेरी कामुक नजरें उनके शरीर के अन्य अंगों पर घूमने लगीं. उसने टीवी देखते देखते ही मेरा लंड हिलाना शुरू कर दिया और लंड की मुठ मार दी.

सुपारे की रगड़ से साबिरा को भी मजा आने लगा और वो ‘आह हम्म उफ्फ …’ जैसी मादक सिसकारियां निकालने लगी. मैं भाभी से कहा- भाभी अभी इसको खा कर चुदाई करवाना है?भाभी बोलीं- नहीं, मैंने तो सिर्फ तुमको बताया था कि मेरे पति इन्हीं गोलियों की दम पर मुझे चोदते हैं. यही सब सोचते सोचते मैंने भी एक की जगह अनेक लंडों से चुदने की सोच बना ली.

एक्स एक्स एक्स सेक्सी व्हिडिओ हिंदी

कुछ पल रुकने के बाद आसिफ धीरे धीरे लौड़ा अन्दर बाहर करने लगा और मैं ‘आह … आहह …’ करते हुए गांड मरवाने लगा. तकरीबन आधा घंटा बाद आसिफ फिर से कमरे में तान्या को लेकर आया और बोला- इसका मेकअप फिर से ठीक कर दे. [emailprotected]टीचर स्टूडेंट Xxx कहानी का अगला भाग:मेरी नंगी जवानी की चुदाई की कहानी- 3.

फर्स्ट सेक्स Xxx अनुभव के बाद भाभी आंसुओं से भरी आंखों से भैया को देखती रहीं. अब धीरे धीरे जैसे जैसे चूत खुलने लगी, तो लंड तेज़ी से अन्दर बाहर अन्दर बाहर होने लगा.

साबिरा- देखो भाईजान, कैसे आपकी वजह से आज घर की इज्जत किसी मर्द के हाथ से बरबाद हो रही है, आपने कहीं का नहीं छोड़ा मुझे … आअहह मानस ईस्स आंह चूसो मेरे दूध मेरे राज्जजाआ.

आसिफ एक मिनट के लिए शांत हुआ और बोला- चल एक और ऑफर है और ये तो तुझे मानना ही पड़ेगा, वरना मैं चाचाजान को फातिमा और तेरे चक्कर के बारे में बोल दूंगा. फिर मैंने अपना पजामा नीचे कर दिया, पर इस बार मैं पजामा नीचे करती हुई पीछे की ओर घूम गयी, जिससे भैया को मेरा बुर दिखने की बजाए मेरी गांड दिख सकी. इस बार भाभी का गोरा बदन और गोरी गोरी चूचियां देख कर रहा नहीं गया और मैंने ताऊ जी के यहां पर ऊपर जाकर भाभी को देखते हुए मुठ मार दी.

जोश से भरी इस चुदायी ने दोनों को इतना थका दिया था कि दोनों उसी अवस्था में नींद की आग़ोश में समा गए. दोस्तो, मैं उम्मीद करती हूं कि मेरी सहेली नैना की फुल सेक्स विद फादर इन लॉ कहानी आपको पसंद आई होगी. मैंने तुरंत इशारे भाभी से पूछा- मैं आपके घर आ जाऊं?भाभी ने भी हां में सिर हिला दिया.

उसकी बड़ी बड़ी चूचियां देख कर किसी का भी लंड खड़ा हो जाए तो मेरा लंड कौन सा सीधा किस्म का लंड था.

बीएफ वीडीयो: अब उसकी एक टांग उठाकर अपने हाथ में फंसा लिया और लंड चूत में डालकर दूसरे हाथ से उसकी कमर को थाम लिया. मैंने लंड बाहर निकाल लिया और ललिता भाभी को सीधा लिटा दिया, उनके ऊपर चढ़कर चोदने लगा और दोनों चूचियों को बारी बारी से चूसने लगा.

फिर हम आधा घंटा में अपने गंतव्य स्थान पर पहुंच गए जहां मैंने पहले से एक अच्छा सा एसी रूम बुक कर रखा था. मौसी बहुत मजे ले रही थीं और ‘अम्हं … आह … यस … स्स फक मी … आह आंह …’ करती हुई मेरे लौड़े पर कूद रही थीं. अंत में उसका हाथ मेरी चूची पर आ पड़ा, जिसको वो बार बार हल्का सा छू ले रहा था.

अब मैंने उसकी दोनों मुलायम, दूध जैसी गोरी, मांसल और गदरायी जांघें सहलाईं और फैलाकर पकड़ लीं.

मॉम फिर डरने लगीं और बोलीं- घर पर क्या दिक्कत है?मैंने कहा- मैं अच्छे से एंजाय करूंगा. हम लाइट जला कर चुदाई कर रहे थे और मैं चोदते हुए सीमा को देख रहा था. उस रात को मैंने मौसी को एक बार और जमकर चोदा, फिर दोनों ऐसे ही नंगे सो गए.