बाथरूम में नहाने वाला बीएफ

छवि स्रोत,ससुर बहू की एक्स एक्स एक्स वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सुहागरात की ब्लू वीडियो: बाथरूम में नहाने वाला बीएफ, उसकी ये मदहोश कर देने वाली सिसकारी सुनकर मेरे लौड़े में मानो आग ही लग चुकी थी, पर रेशमा के दर्द का ध्यान रखते हुए मैंने धीरे धीरे लंड का दबाव बढ़ाना जारी रखा.

क्सक्सक्स सेक्स

मैं जानता हूं कि उसके पेट में जो बच्चा है, वो मेरा नहीं है लेकिन मैं कभी उसे ये सब नहीं बताऊंगा कि मुझे सब पता है. राजस्थान एक्स एक्स एक्सउन्होंने कहा- कोई बात नहीं, वो मेरा बेडरूम नहीं है, मैं दूसरे कमरे में सोता हूँ.

उसने अपने दोनों हाथ से लंड पकड़ा और नीचे झुककर अपने मुँह से ढेर सारा थूक मेरे लंड के सुपारे पर छोड़ दिया. हिंदी में चाची की चुदाईमैं अपना हाथ उनकी चूचियों की तरफ ले गया तो वो बोलीं- आशीष, ये क्या कर रहे हो?मैंने झट से अपना हाथ वहां से हटा दिया.

सच में तू पहले से कहीं ज्यादा सेक्सी हो गयी है, तुझे देख कर तो किसी का भी मन डोल जाए.बाथरूम में नहाने वाला बीएफ: मैं धीरे से स्टूल पर खड़ा हुआ और रोशनदान से कमरे के अन्दर देखने की कोशिश की.

अब पाटिल जी किरण की तरफ बढ़े और उन्होंने किरण के बाल खींच कर उसका मुँह रेशमा के मुँह पर लगा दिया.फिर देविका उठकर खड़ी हो गयी और मुझे चूमकर बोली- हर्षद, बहुत ही स्वादभरा अमृत है तुम्हारा.

नंगी पिक्चर ओपन - बाथरूम में नहाने वाला बीएफ

सोनी को रिलैक्स करने के लिए मैंने उसे एक पीने के लिए गिलास पानी दिया.जैसे ही उसको आभास हुआ कि मेरी आंख खुल गयी हैं तो उसने झट से मेरे होंठों पर अपने होंठ रख दिए.

काफी देर मैं उसके नंगे बदन को देखता रहा, फिर उससे पीछे मुड़ने के लिए बोला. बाथरूम में नहाने वाला बीएफ थोड़ी देर चूत चुसाई के बाद गीता से रहा न गया और वो अपने हाथों से मेरा सर पकड़कर अपनी चूत पर दबाने लगी.

मेरा लंड पूरी तरह से अन्दर तक घुस चुका था और मेरे टट्टे साबिरा की गांड के छेद को ढक रहे थे.

बाथरूम में नहाने वाला बीएफ?

हालांकि मेरी भी इच्छा हो रही थी लेकिन मेरे मुँह से आवाज ही नहीं निकल रही थी. मुझे पढ़ने का शौक बचपन से ही था और जब थोड़ा बड़ा हुआ, तो मेरा रुझान कम्प्यूटर की तरफ झुक गया. उस काले सांड को मेरी गोरी सुंदर बहन के साथ देख कर मुझे तो गुस्सा आ गया.

मैंने कहा- आप तो ऐसे चिल्ला रही थीं जैसे भैया ने आपको चोदा ही नहीं हो कभी. उसने भी सबसे पहले मेरे तबियत की बात पूछी, तो मैंने उसे बताया कि अब मैं ठीक हूँ. मेघना कुछ देर में बाथरूम से वापस आ गई और अब उसने एक टावेल लपेटी हुई थी.

सुबह चाचा जल्दी ही काम पर निकल गए और उनके जाने के बाद चाची नहाने घुस गईं. काफी बड़ा हथियार है तुम्हारा!उसके जाने के बाद मैंने दो बार मुठ मारी।मेरा इतना वीर्य पहली बाहर निकला था।मैं बेसब्री से अगले दिन का इंतजार कर रहा था।जैसे तैसे मैंने पूरा दिन काटा ऐसा लग रहा था एक दिन एक साल के बराबर हो।आखिरकार अगला दिन हुआ और मैं नहा धोकर उसका इंतजार कर रहा था. वो बोला- निखिल, अपना वादा याद है ना … प्यार की कीमत चुकानी है, भूला तो नहीं?मैंने कहा- नहीं भूला, बता क्या करना है?उसने कहा- चल फिर आज शाम को मेरे साथ चलना.

मैंने उनके चूतड़ों पर हाथ लगाया तो चाची ने अपने पेटीकोट को भी नीचे कर दिया. मैं गीता के कड़क और उभरे हुए स्तनों को दोनों हाथों से पकड़कर, अपना लंड उसकी चूत में अन्दर बाहर कर रहा था.

चौपाया बन कर मैंने उसका लंड अपनी चूत में ले लिया और वो आदमी मुझे पूरी रफ्तार में चोदने लगा.

कामुक सिसकी से पूरा कमरा गूंज उठा और मैंने झट से मेरी दो उंगलियां उस गीले गलियारे में घुसा दीं.

साबिरा के दोनों पैर मैंने उसकी जांघों को पकड़ कर फैला दिए और शिराज ने भी मेरा लंड अपनी बहन की चूत पर लगा दिया. वो ‘आहह आहह और चोद साले फाड़ दो आ आहह आहह फक मी राज आआ हहह …’ करके चिल्ला रही थी और मैं अपनी पूरी रफ्तार से चोदने में लगा हुआ था. मॉम- आंह तनु … फक मी हार्ड माई सन फक मी बेटा … आह और जोर से ले ले मेरी.

शुरू में तो मुझे गांड मरवाने में बहुत दर्द हो रहा था पर फिर भी आसिफ पट्ट पट्ट तेज़ तेज़ मेरी गांड चोदे जा रहा था. मैंने साफ़ कहा- तुम अपने ऐसे फिजिक की फोटो भेजो, जो मैंने देखी न हो. मेरे ऑफिस में एक बड़ा सा रूम भी है, जहां पर बेड टीवी, सोफे सब लगे हुए हैं.

चाची बोलीं- यही करोगे या आगे भी बढ़ोगे … कब से मेरी चूत पानी छोड़ रही है.

मेरी सांसें तेज तेज चल रही थीं … मन में ऊहापोह थी कि कहीं मोहन बाबू ने मुझे नकार दिया तो मेरी बड़ी बेइज्जती हो जाएगी. मेरी मां के एक मुँहबोले भाई हैं, जो यहीं हमारे गांव में काम करते हैं. जल्दी ही सोनी ऊपर मेरे घर के सामने आ गयी, मैंने तुरंत ही उसे अपने घर के अन्दर लिया और दरवाजा बंद कर लिया.

भाभी- क्या हुआ, क्या आपका बाबू कुछ कह रहा है?मैंने अपने लंड पर हाथ फेरा और भाभी की तरफ वासना से देख कर कहा- आप खुद पूछ लीजिए न भाभी जी!भाभी जी मेरे हाथ को लंड पर फिरते देखा और बोलीं- अच्छा जी, मैं देख तो लूं, पर यहां खुले में कैसे?मैं- अरे इसमें क्या दिक्कत है आपका मन हो तो एकांत भी मिल जाएगा. मैं- सच … वो कब मिलेगा मॉम?माया मॉम- जितनी जल्दी तुम नहा कर नाश्ता कर लोगे और मेरा काम खत्म होगा, उतना जल्दी मिलेगा. यह मेरा पसंदीदा तरीका है क्योंकि किसी माल को जब घोड़ी बनाओ तो उसकी गांड पर जब धक्के पड़ते हैं और उसकी गांड जब लहराती है, तो वो मजा ही अलग है.

मनीष- आह्ह … मज़ा आ गया … जीजी … क्या मस्त गांड है आपकी … आह्ह … बहुत टाइट है … ले आह्ह … संभाल आह्ह.

मॉम भी मजे से अपनी गांड चुत में एक साथ बाप बेटे का लौड़ा लेने लगीं और मादक आवाजें निकालने लगीं. मैं वहां 6 दिन रुका और तब तक उसके कमरे की ये हालत हो गई थी कि फर्श पर जहां तहां मेरे लंड का वीर्य पड़ा हुआ सूख गया था.

बाथरूम में नहाने वाला बीएफ ‘आह ओऊच उफ्फ्फ उफ्फफ ओह्ह मेरे मालिक 1 …’अजय ने फिर दूसरा स्ट्रोक लगा दिया. लगभग 30 मिनट के घमासान युद्ध के बाद वो हांफने लगीं और एक बार झड़ चुकी थीं.

बाथरूम में नहाने वाला बीएफ मेरा बेटा भी जवान हो गया है, तो एक बार वो अपनी गर्लफ्रेंड को घर लेकर आया था और चोद रहा था. मैं एक हाथ से उनके चूचे को दबा रहा था और एक हाथ से उनकी चूत में उंगली कर रहा था.

माउथ सेक्स विद हॉट गर्ल का मजा मैंने अपने दोस्त की मैरिड सिस्टर के साथ उसी के घर में लिया.

सेक्सी पिक्चर मारवाड़ी में

दोस्ती होने के बाद एक रात वो मेरे कमरे में आ गयी!अन्तर्वासना के लंडधारी दोस्तो और खूबसरत चूत की मालकिनो, आप अपने आशीष कुमार का नमस्कार स्वीकार करें. पाटिल जी- तेरे मां को चोदूं साली रंडी, तू अपना मुँह बंद कर और चूस इस मादरचोद कुतिया की चुत, आज तेरी भी चूत का ऐसे ही भोसड़ा बनेगा हिजड़े की बीवी. शर्ट काफी खुल गई थी जिससे मेरे काफी गहरी क्लीवेज साफ़ दिख रही थी और ब्रा न पहने होने की वजह से मेरे निप्पल्स एकदम खड़े और साफ दिख रहे थे.

मैं भाभी को गोद में लेकर मनाने लगा भाभी मान गईं और मुझे गले लगा कर मुझे किस की. पाटिल जी ने भी उसको अपनी बाजुओं में कस लिया और उसकी चूचियां चूसते हुए वो भी नीचे से धक्के लगाने लगे. मेरी इरोटिक गर्ल X कहानी का मजा लें और मुझे बताएं कि आपको यह कहानी कैसी लगी?मैं एकदम दूध सी गोरी हूँ और मेरी चूत भी पिंक है.

शेखर का लंड इतना तन चुका था कि धारा के हाथों में ठीक से आ भी नहीं रहा था और ना ही चूत के मुंह पे रगड़ने के लिए मुड़ ही पा रहा था.

कभी कभी ऑफिस से घर लौटते समय मूड हो जाता है, तो मेरे मित्र ने एक होटल के बार को चुन रखा था. मेरी धकापेल चुदाई के बाद सर ने अपना सारा माल मेरे बिस्तर पर ही गिरा दिया और मुझे चूमने लगे. वो ‘उई उईई ईई उईई मर गई बचाओ मर गई … निकाल बाहर … आं मर गई निकाल बाहर …’ चिल्लाने लगीं.

काफी दिनों का माल इकट्ठा होने की वजह से चूत में मैंने ढेर सारा वीर्य छोड़ा. उसका पेट और कमर बिल्कुल सांचे में ढला हुआ लग रहा था, बिल्कुल छोटी सी उसकी नाभि, उसके पेट की खूबसूरती बढ़ा रही थी. पहली चुदायी में शेखर के लंड से खेलते वक्त धारा ने यह जताने की कोशिश की थी कि वो लंड को मुँह में लेना पसंद नहीं करती.

उसकी इच्छा तो नहीं थी लेकिन मेरी परेशानी समझ कर उसने लंड चूत से निकाल लिया. दोस्तो, यह मेरी और मेरी सगी मां की एक सच्ची सेक्स कहानी है जिसे मैं अपने अन्तर्वासना के एक दोस्त के माध्यम से आपके पास पहुंचा रहा हूं.

जैसे ही सुपारा छेद के अन्दर घुसा, उसने आंखें बंद कर लीं और उसके मुँह से कराह निकलने लगी- उईई ममम्मीई … स्लो … आऊ ऊऊच्च … मर गई … आंह धीरे!धीरे धीरे करते हुए मैंने पूरा लंड उसकी चूत में पेल दिया. भैया ने तुरंत मुझे चुदाई की पोजीशन में लिटाया और मेरी चिकनी गुलाबी बुर में अपना मोटा काला लंड पेल दिया. उसकी चीखें रोकने के लिए शातिर किरण ने भी अपनी गांड उसके मुँह पर दबा दी.

उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने अपना लंड अपने पैंट के बाहर निकाला और उनकी गांड की दरार पर रगड़ने लगा.

मैंने भाभी से पूछा- माल किधर निकालूँ?भाभी ने आंख से ही इशारा किया कि चूत में ही निकाल दो. मैंने तपाक से एक ही झटके में उसे निकाल फेंका।भाभी की चूत एकदम साफ थी, शायद भाभी ने अपनी झाँटें आज कल में साफ की थी।मैंने भाभी को लिटा के सीधा उनकी चूत के दोनों होंठ खोले. अब मौसी मुझसे गिड़गिड़ाने लगी थीं- राहुल, प्लीज अब चोद दे … साले क्यों तड़पा रहा है.

मैंने भाभी को पुन: घोड़ी बनाया और अपना लंड पीछे से भाभी की चूत में पेल दिया. उसके इस तरह करने से मैं और भी उत्तेजित हो रही थी और ऐसा लगने लगा था कि अब ये मुझे ऐसे ही झड़ जाने पर मजबूर कर देगा.

फिर देविका उठकर खड़ी हो गयी और मुझे चूमकर बोली- हर्षद, बहुत ही स्वादभरा अमृत है तुम्हारा. भाभी अपने दोनों हाथों से मेरा सिर अपनी चूत पर दबा रही थीं- आह मेरी जान … मुझे ये सुख अब तक तुम्हारे भैया ने कभी दिया ही नहीं. ’इसी बीच मैंने उसके चूचों के ऊपर 4-5 जगह लव बाइट्स दे दिए जिसने उसकी कामुकता और भड़का दी.

बीपी गुजराती सेक्सी पिक्चर

कुछ पल दर्द के बीतने के बाद साबिरा ने भी मज़े लेते हुए अपनी कमर नीचे से थोड़ी ऊपर उठा दी.

वो छूटने का ड्रामा करती हुई बोलीं- मैं तुम्हारी चाची हूँ, कुछ तो शर्म करो. गीता ने इस सुख को जज्ब करने के लिए अपनी दोनों टांगों से मेरी कमर को जकड़ लिया. कुछ ही मिनट में ही उसको चरम सुख की प्राप्ति होने लगी और उसकी चूत से पानी बाहर बहने लगा.

वो बिन पानी की मछली की तरह तड़प रही थीं और जोर जोर से चिल्लाने लगीं- मादरचोद गांड में पेल दिया कमीने आह निकाल ले भड़वे … आह फट गई मेरी गांड!मुझे डर नहीं लग रहा था क्योंकि हम खेत वाले घर में थे. उसके बाद निधि मेरे हाथ को साइड में करके मेरे लन्ड के सुपारे को अपनी जीभ से चाटने लगी. चूत की चुदाई का वीडियो दिखाएंकुछ देर बाद मैं उसी रूप में गया और चाचा की चड्डी को लाकर उसे अपने लंड पर लपेट कर मुठ मारने लगा.

उन दोनों को सिर्फ पैंटी और अंडरवियर में देख कर मेरे लंड का बुरा हाल होने लगा. उसने एक बार में ही मेरे कच्छे को खींच कर मेरे शरीर से अलग कर दिया और मेरे लंड पर अपना हाथ फिराने लगी.

वो दर्द की वजह से उछलने लगी पर वो नशे में थी तो उसे ज्यादा दर्द नहीं हुआ. दर्द तो हुआ लेकिन आज पहली बार तुम्हारे लंड ने मेरी चूत को बुरी तरह से रगड़ कर चोदा है. मैंने उनके बड़े स्तनों को जब हाथों में लिया तो मेरे हाथों में वो आ नहीं रहे थे.

सीट पर पहले एक औरत बैठी थी, फिर एक 18-19 साल का एक मस्त लौंडा बैठा था. इसी लिए मैंने किरण का मुँह भी अपने लौड़े पर जोर से दबाना चालू कर दिया. उसके बाद उस अस्पताल वाली नर्स और मेडिकल स्टोर वाली मोहतरमा की चुदाई को भी लिखूंगा.

धारा उसी तरह दबाव बनाते हुए अपने भारी-भरकम चूतड़ ऊपर नीचे करती रही और देखते ही देखते शेखर का सुपारा गांड में घुस गया.

मैंने आपको पहले भी बताया है कि जब से मेरा मेरे भाई के साथ चुदाई का सिलसिला शुरू हुआ है तबसे मैंने पैंटी पहनना बंद कर दिया है. साबिरा ने भी धीरे धीरे अपने दर्द को काबू कर लिया और मुझे अपने आपसे दूर धकेलना बंद कर दिया.

रेशमा दर्द से भरी दबी आवाज में बोली- आअह हह वीरू ये क्या कर दिया साले, फाड़ दी मेरी गांड उफ्फ अम्म्मीईई प्लीज निकालो एक बार वीरू मेरी जान … बहुत दर्द हो रहा है. पीछे से गांड में पूरा लौड़ा घुसाकर ऐसे दबाए रखा कि मेरे टट्टे भी रेशमा की गांड में दब गए. तभी वह मेरे करीब आई और हंस कर बोली- ओ हैलो … ऐसे क्या देख रही हो … कभी पहले किसी सुंदर लड़की को नहीं देखा है क्या?मैंने हंस कर कहा- देखा तो बहुतों को है, पर आप जैसी सुंदर लड़की अब तक नहीं देखी.

फिर मैं पड़ोस में माही और निकिता के घर गया तो वहां पर पता चला कि वो सब खेलने के लिए कल्लू के घर गई हैं. वो पूछने लगी- आप कहाँ जा रहे हो?मैंने इंटरव्यू के बारे में बताया और फिर मैं खाना खत्म करके बैठ गया. कमरे के अन्दर दारू चल रही रही और वो दोनों टीवी पर एक ब्लू फिल्म देखते हुए मज़े ले रहे थे.

बाथरूम में नहाने वाला बीएफ कोमल बोली- अंकित, तू क्या कह रहा है तू पागल तो नहीं है, उसकी अभी शादी हुई है. फिर भाभी उठीं और रूम के बगल किचन से सरसों का तेल लेकर आईं और मुझे देती हुई बोलीं- जान, तेल लगा कर चोदो.

दर्द से चिल्लाती हुई सेक्सी वीडियो

फिर उसने मुझे बिस्तर पर लेटा दिया और चुदाई की पोजीशन बना कर अपना लंड मेरी चूत पर रख कर रगड़ने लगी. वो भी मजे से चुदने लगी और सिसकारियां भरने लगी- आह आह … भैया अब बहुत मजा आ रहा है … आंह चोदो मुझे … और जोर से चोदो … बहुत अच्छा लग रहा है. पर मेरा ध्यान अब उसकी गांड के छेद पर टिक गया था जिसे मैंने कल सुबह ही पहली बार अपने लौड़े से खोल दिया था.

मैं हाल में आया और डाइनिंग टेबल के सामने एक कुर्सी पर नंगा बैठ गया. इससे वह उत्तेजित होने लगी और आहउच … आहउच… आहउच … जैसी आवाज निकालने लगी।मौके का फायदा देखकर मैं उनके कान के पास गया और उनसे बोला- मैडम, आपका नाम क्या है?तो मैडम ने अपना नाम निधि बताया. कुंवारी लड़की के साथ सेक्सअब जब बात शुरू ही हो गयी थी तो मैंने भी पूछ लिया- आप कहाँ जा रही हैं?उसने बताया- बेटी को डॉक्टर के पास दिखाने आयी थी.

लड़कियों के दूध फूल गए थे और मेरे और कल्लू के लंड, चूत गांड चोदने लायक हो गए थेइसके साथ ही हम सबका रिश्ता अभी भी दोस्ती वाला था.

चूंकि मुझे सेक्स कहानियां पढ़ना बहुत पसंद हैं तो मैंने भी सोचा कि मैं अपनी भी सेक्स कहानी आप लोगों को सुनाऊं. लंड सटाक से अन्दर समा गया और आंटी आहहह आहहह करके लंड पर गांड पटकने लगीं.

वो कुछ शांत हुईं तो मैंने उनके होंठ दबाए हुए ही एक और झटका मार दिया. वो आ गया और जैसा मुझे मालूम था, उसका हाथ सीधे मेरी स्कर्ट में आ गया. मैंने कहा- गीता, तुम्हारे पति तुम्हें पूरी तरह से संतुष्ट नहीं कर पाते हैं क्या?इस पर गीता बोली- मेरे पति अच्छे हैं, उन्होंने बहुत धन दौलत कमाई है, लेकिन उनके पास मेरे लिए समय नहीं है.

बिस्तर पर जब भी मैं अपनी पत्नी मेघना के साथ सेक्स करता हूं तो 2 से 3 मिनट से ज्यादा नहीं टिक पाता हूँ.

बड़ी बहन Xxx कहानी में पढ़ें कि मेरा आपा को जब पता लगा कि मेरी गर्लफ्रेंड से ब्रेकअप के बाद मुझे चूत नहीं मिल रही है तो उन्होंने मुझे अपनी चूत पेश कर दी. मेरी छोटी बहन मोनी छुपी रही क्योंकि उसे ढूंढने वाली हमारी साथ गांड रगड़वा रही थी. कहानी के पहले भागजवान लड़की की अन्तर्वासनामें अब तक आपने पढ़ा था कि संजीव भैया ने मेरा जन्मदिन मनाने के लिए मुझे कोचिंग में रुकने के लिए बोला था.

सेक्स ब्लू फिल्म सेक्सीपूनम अपनी कमर को ऐसे हिला रही थी जैसे समुंदर में पानी की लहरें हिल रही हों. धारा के नितम्बों के दबाव को झेल पाना शेखर के लिए गवारा नहीं हो रहा था, उसका लंड दर्द झेल रहा था.

सेक्सी देहाती वीडियो चुदाई

इधर मैंने अपने लंड के टोपे को घी में डुबो दिया और सुपारा घी से तर कर लिया. अब मैंने उसे घुटनों पर लाते हुए घोड़ी बना दिया और उसके चूतड़ों को पकड़ कर तेज तेज धक्के मारने लगा. भाभी की मोटी मोटी चूची और उठी हुई मोटी गांड देखकर दिन पर दिन मेरी तो उत्तेजना बढ़ती ही जा रही थी.

कभी गर्दन, तो कभी गाल तो कभी होंठ … मैंने उसके चेहरे के किसी भी हिस्से को नहीं छोड़ा, हर जगह को जी भरके चूमा और चाटा. गीता जोर से चिल्लाने लगी- उई माँ मर गई रे … आह उन्ह ऊ हाय ओह फाड़ दिया रे … मेरी चूत को … उई माँ मुझे नहीं लेना तुम्हारा लंड हर्षद. शैम्पू लगाने के बाद मैंने अपने बालों को पानी से धो लिया और अब मैं अपने बूब्स पर गोल-गोल घुमाते हुए साबुन लगाने लगी.

वो बोलीं- उससे क्या होगा?मैंने कहा- मेरे और आपके बीच कुछ खुलापन आएगा. मेघना को गांड मरवाने में तकलीफ हो रही थी और वो बिस्तर पर मचलती जा रही थी. उसके दोनों हाथ अब मेरी पीठ पर आ चुके थे और टांगें भी ढीली हो चुकी थीं.

मैंने कहा- फिर क्या करती हो आप?भाभी- कुछ नहीं बस मन मसोस कर और अपनी चूत में उंगली करके सो जाती हूँ. कुछ देर के बाद बोली- भैया, आपने कितनी लड़कियों के साथ सेक्स किया है और उनकी उम्र क्या थी?मैंने बताया- वो सब 22-23 साल की उम्र की लड़कियां थीं.

मुझे हमेशा एक बार का डर लगा रहता था कि कहीं मेरी इस कमजोरी के कारण मेरी पत्नी किसी गलत आदमी के चक्कर में न पड़ जाए.

उसने तुरंत ही मेरा हाथ पकड़ कर हटाते हुए कहा- नहीं बेबी, इससे आगे नहीं प्लीज!दोस्तो, रिलेशनशिप में आने के बाद हम दोनों एक दूसरे को बेबी ही कहकर बुलाते थे. हिंदी video xxxमैं सटासट सटासट अपना लंड उनकी टाइट गोल गांड में अन्दर बाहर अन्दर बाहर करके चोद रहा था. क्सक्सक्स देसी कॉमलगभग 10 मिनट तक चुदाई के बाद मुझे लगा कि अब मैं झड़ने वाली हूँ, तभी वो भी बोले कि अब मैं छूटने वाला हूँ. कुछ ही शॉट में ललिता भाभी की गांड का छेद खुल चुका था और वो भी आह आहहह आहहह करके तेजी से अपनी गांड आगे पीछे करने लगी थीं.

मर्दो को तो मजा आएगा ही क्योंकि लंड को जो अहसास चूत के अन्दर मिलता है, वो कहीं और कहां मिलेगा.

शाम को जब मैं ऑटो से घर आने लगी, तो 20 साल का एक लड़का मेरे बगल बैठा था जो भीड़ का फायदा उठा कर अपनी कोहनी से मेरे बूब्स पर टच करता रहा. [emailprotected]चुदाई की कहानियाँ हिंदी में का अगला भाग:क्लासमेट की डर्टी सेक्स की तमन्ना पूरी की- 2. शेखर के लंड की बेचैनी को महसूस करते हुए धारा ने शेखर के होठों को चूसना बंद किया और अपनी गर्दन थोड़ा सा ऊपर उठा कर शेखर की आँखों में देखते हुए लंड की टोपी को अपनी हाथेलियों से खोलते हुए सुपारे को अपनी गांड के छेद पे रगड़ने लगी.

उसके मुँह से निकले ये बोल इस बात की पुष्टि कर रहे थे कि अब उसको भी गांड को चुदवाने में मजा आने लगा था. मैंने भी जल्दी से अपना लोवर ऊपर किया और तुरंत लाइट बंद कर दी ताकि उसका पति मुझे ना देख पाए. मैं कभी उनकी गर्दन पर किस करता तो कभी उनके कान पर अपनी जीभ चलाता और कान के निचले हिस्से को चूसता.

राजस्थानी सेक्सी नंगी सेक्सी

मैंने अपने लौड़े पर तेल लगाया और गांड में गिराकर जैसे ही धक्का लगाया, ललिता भाभी ‘ऊई ईई ऊईईई आहह आहह …’ करने लगी. आज जब से सर ने कहा कि मैं आपकी पत्नी हूँ, तब से ही मैं आपका लंड लेना चाहती थी. मॉम फिर डरने लगीं और बोलीं- घर पर क्या दिक्कत है?मैंने कहा- मैं अच्छे से एंजाय करूंगा.

उसका सिर मेरे कंधे तक ही था, उसके बूब्स मेरे पेट को टच हो रहे थे और मेरा लंड उसके पेट को.

सच कहूँ तो अब मुझे भी मर्द के साथ सेक्स करने की सोच कर उत्तेजना हो रही थी.

उसकी आँखों में मिन्नत सी नज़र आ रही थी जो धारा से विनती कर रही थी कि आओ धारा … मेरा लंड अपने मुँह में भर लो और निचोड़ डालो सारा रस. मेरी चूत में बहुत दर्द हुआ लेकिन मैं भी सारा दर्द झेल कर चुदती रही. एक्स एक्स वीडियो सनी लियोन कीउसकी गांड इतनी बड़ी थी कि कोई देखे तो सीधा अपना लंड उसकी गांड में डाल दे.

यही सब सोचते हुए और धड़कते दिल के साथ मैंने दरवाजा खोल कर देखा कि कोई है तो नहीं बाहर. सुबह होते ही हम दोनों तैयार हो गए और करीब दस बजे रूपा का एजेंट उसे लेने के लिए आ गया. दोस्तो, मैं बता नहीं सकता कि दोनों बहनें बिना कपड़ों के क्या मस्त माल लग रही थीं.

उससे वो बहुत गर्म हो गयी और जोर जोर से सिसकारियां लेने लगीं- आह … इनको खा ले आशीष … आंह पूरा खा ले!मैं बारी बारे से उनके दोनों मम्मों को चूसता रहा. सरिता आंखें फाड़कर सब देख रही थी और वो पूरी तरह से कामवासना में डूबने लगी थी.

अञ्जलि के मुँह से ‘आआहह … आह … फट गई आह …’ दर्द-ए-चुदाई का संगीत निकलने लगा.

अब मॉम मेरे पास आ गईं और बोलीं- तनु और चोद तेज तेज चोद इस साली‌ कुतिया मौसी को. मैंने उसे छेड़ते हुई कहा- तू दिखती भी तो ऐसी ही है, मेरी बीवी भी तेरे जैसी ही होगी. इस बार उनकी रफ्तार शुरू से ही काफी तेज थी और वो दनादन मेरी चुदाई शुरू करने लगे थे.

हॉट बूब्स मैं आनन्द के सागर में गोते लगाती हुई उनकी पीठ को सहलाने लगी और बालों में हाथ फेरने लगी. दोस्तो, मैं चन्दन सिंह अपनी बहन की जेठानी और उसकी चुदक्कड़ बेटियों की सेक्स कहानी का अगला भाग लेकर हाजिर हूँ.

अन्दर दोनों (रोहन और मेरा भाई) पूरे नंगे होकर मेरे आने का इंतजार कर रहे थे. फिर मैं उनके गांड को भी हल्के हल्के दबाने लगा और धीरे से मैंने उनकी पेंटी को भी अलग कर दिया. मैंने उनसे कहा- मोहन जी, प्लीज़ एक बाल्टी पानी दे दीजिए, मेरे बाथरूम में पानी खत्म हो गया है.

देवर और भाभी की सेक्सी फिल्म हिंदी

सपना बोली- कल भी सोनी और सुची ने ही खेला था, मेरा तो नंबर भी नहीं आया था. लेकिन अब वो लगातार देखने लगी मेरी तरफ!तो मैंने इशारे में पूछा कि कोई दिक्कत हो रही है क्या?वह बोली- नहीं, बस यों ही सोच रही हूं कि आपसे दोस्ती कर सकती हूं. मैंने अपने दिमाग को ठंडा रखा और अंजान बनते हुए माया मॉम को ‘गुड मॉर्निंग मॉम …’ करके विश किया.

दोस्तो, मैंने गीता की चूत चोदकर उसमें अपने बीज को बो कर उसे सन्तान सुख देने का जिम्मा लिया था. मैं सोच रहा था कि काश ये मेरे साथ वाली सीट पर आ कर बैठ जाए, पर ऐसा हुआ नहीं.

ट्रिपल सेक्स की कहानी में मैंने दो सगी बहनों को चोदा होटल के कमरे में! उनमें से एक का पति सामने बैठ कर सारा खेल देख रहा था.

इस वक्त गर्मी का मौसम था तो मैंने कहा- क्यों न एक बार नहा लिया जाए, उसके बाद सोएंगे. मैंने आंटी से कहा- मेरा काम ख़त्म हो गया है और दूसरी जगह भी जाना है. कोई पन्द्रह मिनट चुदाई के बाद मैंने भाभी से कहा- मेरा पानी निकलने वाला है.

उसके बाद वो हमेशा मेरे पास ही रहती, मेरे सारे कॉल में अटेंड कर लेती. मैं बोला- ये क्या कर रही हो?तो लुच्ची बोली- रात को तुमने सोनी के साथ खेला था ना … वो ही खेल खेलना है. मैं- अहह मेरी बेगम जान, आज अपने पति के लौड़े से चुदवाकर कैसा लगा मेरी रांड बीवी … आह क्या मस्त चूत है तेरी रंडी … रोज तुझे ऐसे ही चोदूंगा इस हिजड़े कुत्ते के सामने … आहह ऐसे ही पकड़ मेरा लौड़ा अपनी चूत में छिनाल.

उनकी रफ्तार इतनी तेज हो गई कि मेरे लंड में हल्का हल्का दर्द हो रहा था क्योंकि वो इतना झटके के साथ चूत में लंड ले रही थी कि क्या बताऊं।पूरा लंड सहित शरीर भी मेरा उनके चिपचिपे पानी से भीग गया और वो थी कि लंड से उतरने का नाम ही नहीं ले रही थी।मैं झड़ने के करीब था तो मैंने जोरदार झटके देना शुरू किया.

बाथरूम में नहाने वाला बीएफ: करीब दस मिनट बाद रूपा शांत हो गई और मेरा लंड बड़े प्यार से उसकी गांड में आने जाने लगा. मैं नशे में था तो मैंने उसे कह दिया कि कुछ साल पहले तूने मुझे प्रपोज़ किया था, तब मैंने तुझे मना कर दिया था.

देविका अपने नाजुक हाथों से मेरा लंड ऊपर नीचे कर रही थी; उसकी चुचियां मेरे सीने पर रगड़ खा रही थीं. भैया ने मुझे करीब 15 मिनट तक चोदा, उसके बाद उन्होंने अपना वीर्य बाहर गिराने के नजरिये से लंड चूत से बाहर निकाल कर मेरे मुँह में डाल दिया. सुपारे को चारों तरफ से चूमता हुआ गांड का छेद आखिरकार हार ही गया और पक्क की आवाज के साथ पूरा सुपारा रेशमा की अनचुदी गांड में पेवस्त हो गया.

शिराज को दिखाने के लिए मैंने भी अपनी गर्दन उसके तरफ मोड़ी और उसको देख कर कुटिल मुस्कान भर दी.

बस फिर क्या … मैंने उसके कमीज के ऊपर से ही एक दूध को पकड़ कर मसल दिया. मैं- अगर आप चाहें, तो हम दोनों का काम बन सकता है … और अभी ट्रेन में भी काफी टाईम है. अब मैंने भाभी की बहन गांड से अपने लंड को बाहर निकाला और उनकी बहन की गांड में डाल दिया.