बीएफ दिखाइए चुदाई वाली

छवि स्रोत,इंग्लिश सेक्सी दो इंग्लिश सेक्सी

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लू पिक्चर दिखा दो ब्लू: बीएफ दिखाइए चुदाई वाली, तो दोस्तो, जब उस दिन हम पहली बार मिले तो हमारे बीच में इतना ही सब कुछ हुआ था जो मैंने आपको बताया.

सेक्सी भाभी की सेक्सी चूत

आंटी मेरी किसी बात का बुरा नहीं मानती थीं इसे सोच कर मैं उनसे चुदाई के लिए कहने की सोचने लगा था पर मेरी हिम्मत नहीं हो रही थी. हिंदी सेक्सी सेक्सी इंडियनफिर मैंने अलग होकर अपनी नाइटी उतार फेंकी और भाईजान के जिस्म से चिपक गयी.

ममता जी को अब कॉलेज तो जाना नहीं था … इसलिए मैंने उनके घर के लिए उन्हें वहीं से एक ऑटो रिक्शा में बिठा दिया. सेक्सी वीडियो गाली देते हुएहए … और चोद साले … और चोद मुझे … लौड़ा मेरी गांड में अअंदर तक … जाना चाहिए … आह्ह … उफ्फ … फट गयी … आह्ह.

फिर भाभी ने ही चुप्पी तोड़ी और मुझसे सॉरी बोलने लगी कि ऐसे उन्हें नहीं बैठना चाहिए था.बीएफ दिखाइए चुदाई वाली: इस पर मनीषा भाभी बोलीं- कपिल हफ्ते में एक बार ही मेरा ध्यान रखता है.

मैं- आप मेरे लंड को वहां पर लगाकर चेक कर सकती हैं कि आपके पति का लंड इसमें जायेगा या नहीं.मैंने तेजी से लंड चलाना शुरू कर दिया और 10-12 झटकों में मैं कांपते हुए मामी की गांड में झड़ गया.

जिंदगी सेक्सी वीडियो - बीएफ दिखाइए चुदाई वाली

मैंने उन्हें किस करना शुरू कर दिया और उनके मम्मों को ज़ोर ज़ोर से दबाने लगा.तभी धीरू अंकल ने अपना लंड मेरी गांड के छेद पर रखा और धक्का देना शुरू कर दिया.

और उधर मुस्कान ने हमें गलत समझना शुरू कर दिया … या उसका ये बहाना था … जिसके चलते उसने मुझसे ब्रेकअप कर लिया और एक सीनियर से अपनी सैटिंग कर ली. बीएफ दिखाइए चुदाई वाली करीब एक हफ्ते बाद मुझे सूरज ने बोला- चलो, तुम्हारे लिए लंड का इंतजाम हो गया है.

कहने का मतलब कि गीत हम दोनों मर्दों के लंड एक साथ लेकर अपनी जवानी चुदवा रही थी और मेरे होंठों पर नेहा बैठ कर मुझसे अपनी चूत चुसवा रही थी.

बीएफ दिखाइए चुदाई वाली?

मैं घर के अन्दर गया, तो भाभी मेरे करीब आकर पूछने लगीं- मैं आपको पहचान नहीं पाई, आप कौन है?मैं बोला- मैं आपका पड़ोसी हूँ. बहुत दिनों बाद किसी का लंड अन्दर लेने में भाभी को भी दर्द होने लगा था, पर प्यार से उन्होंने मेरे लंड का अपनी चुत में वेलकम किया. उन्होंने नहाने के बाद अपने पूरे बदन पर बढ़िया क्रीम लोशन लगाया था जिससे उनका बदन महक रहा था.

ये तौलिया इतनी छोटी थी कि इसमें मेरे आधे चुचे ढक पा रहे थे और नीचे से तौलिया मेरी गांड तक आ रही थी. मुस्कान के उसके साथ सैट हो जाने से मुझे घंटा फ़र्क नहीं पड़ा … बल्कि पूजा और मेरा रास्ता खुल गया. मुझे पीता देख बोल पड़ी- ये क्या? आप दिन में ही शुरू हो गए?अमन- तो क्या हुआ? यहां कौन सा कोई आ रहा है? तुम भी पियोगी!नीरा- हटो, मैं नहीं पीती.

अब मैंने उसे नीचे किया और खुद ऊपर आ गया; शुरू कर दी ताबड़तोड़ चुदायी! कमरे में फच-फच की आवाजें और ज़ारा की आहें गूंजने लगीं!क्योंकि हम मिशनरी पोजीशन में थे तो मुझे लगा मैं झड़ जाऊंगा इसलिए मैंने एकदम उसकी चूत से लंड निकाला और पीछे जाकर जीभ से उसकी चूत चोदने लगा. जिस तरह तुम मेरे हर अंग की प्यास बुझा रहे हो, शायद ऐसा तो रिलेश के साथ सुहागरात मना कर भी मुझे नहीं मिलता. आंटी मेरी तरफ ललचाई नजरों से देखने लगी और बोली- राज, तुम्हें याद है ना जो मैंने अभी कहा था कि पशुशाला में भैंसा भैंस की उम्र को नहीं देखता, उसकी इच्छा को देखता है.

मैं- हैलो मेघा, कैसी हो?मेघा- मैं बिल्कुल अच्छी हूं बेबी, लेकिन मेरी चुदासी चूत मुझे इतनी रात को भी सोने नहीं दे रही है. अब मैं वापस उनकी टांगों पर आ गया और भाभी की पैंटी उतारने की कोशिश की, जिसमें सलोनी भाभी ने अपने पांव उठा कर मेरा साथ दिया.

अनीता ने दर्द के मारे आहह की आवाज निकाली, पर अपने अनुभव से अपनी कसी हुई गांड में आधा लंड लेने में कामयाब रही.

मैंने कमल को बोला- कंवर सा, एक एक पैग सभी के लिए बनाओ, तो सर्दी भगाने का काम हो.

जानते हो रमित, जिस दिन हम सब कुछ भूल कर एक दूसरे में समा गए थे … पता नहीं और ना जाने क्यों, उस दिन मैं सिर्फ तन से नहीं, मन से भी तुम्हारी हो गयी थी. मेरे 15- 20 शॉट के बाद ही आंटी की चूत ने पानी छोड़ दिया और आंटी आई … आई … ईईई … इईईई … की आवाज निकालते हुए झड़ गई. दोस्तो, जब किसी से प्यार करो … ख़ासकर शादीशुदा से तो उसकी इज़्ज़त का हमेशा ध्यान रखो … कभी भी उसको परेशान ना करो.

कुछ देर के बाद जब डेज़ी ने अपनी आंखों को खोला, तब मैं समझ गया कि अब उसे मज़ा आने लगा है. 10-15 झटकों के बाद भैंसा की हरकत बन्द हुई और उसने भैंस की चूत में अच्छी तरह से चिपक कर चूत को अपने वीर्य से भर दिया. मैंने उसके सीने से अपनी नजरें हटाईं और उसके हाथ की मजबूती को महसूस करता हुआ अन्दर आ गया.

मैंने पूछा- क्या उसी को भेजोगे!वो बोला- नहीं, वो कुतिया तो अब तक चली गई होगी.

मेघा- सुनिये, मुझे आपकी दुकान से खरीदी हुई ये पैंटी वापस करवानी हैं. जैसे ही हमारी नज़र मिलीं, हमारे चेहरे पर स्माइल आ गयी … मगर हम में से किसी ने कुछ कहा नहीं. कुछ देर रेस्ट करने के बाद रमेश ने अपने सारे कपड़े निकाल दिये और रिया को अपना लंड चूसने का इशारा किया.

भाभी दर्द दबाते हुए बोलीं- आह मेरी जान … तुमने तो मुझे मार ही दिया. आज हमारी सुहागरात है तो आज ये दूध भी पी लो।और मैंने उसके मुँह में ग्लास लगा दिया।वो मेरा झूठा दूध पी गया और गलास को एक साइड में रख दिया।मेरा सेक्स जीवन कहानी में मजा आ रहा होगा ना आपको?इमेल नहीं दी जा रही है. तो मेरा जवाब सुनकर धीरू अंकल थोड़े से रिलैक्स हुए और बोले- मर्द की जवानी कभी खत्म नहीं होती.

उनका दूध जैसा गोरा शरीर देखकर मैं खुद के नसीब पर खुश हो रहा था कि आज मैं अपनी पहली चुदाई साक्षात काम देवी के साथ करने जा रहा हूँ, वो भी उसके साथ सुहागरात मनाते हुए.

मैंने पूछा- और दूसरा?निशी बोली- और दूसरा ये होता कि मैं उसके साथ खुशी खुशी सेक्स कर लेती. फिर मम्मी ने कहा- डाक्टर साहब अब क्या करें?तो डाक्टर ने कहा- देखिये आप इसका आपरेशन करवा लीजिये।आपरेशन का नाम सुनते ही मेरी हालत खराब हो गयी।डाक्टर मम्मी को समझाने लगा- घबराइये मत! छोटे से आपरेशन से गाँठ निकल जायेगी कोई परेशानी नहीं होगी.

बीएफ दिखाइए चुदाई वाली उनके मुस्कुराने का कारण जानने के लिए मैंने अपने लंड को तरफ देखा, तो पाया कि वो मेरे बरमूदे के अन्दर तम्बू बन चुके लंड को देख कर स्माइल कर रही थीं. फिर वो पेट पर चाटते हुए नाभि पर आ गये और मेरी नाभि में जीभ डालकर चूसने लगे.

बीएफ दिखाइए चुदाई वाली चाय का कप साइड में टेबल पर रख कर उसने मुझे मेरे होंठों पर किस करके मुझे जगाया. अर्चना की चुत पर उंगलियां फेरने से उसकी चूत की बनावट मुझे अपनी उंगलियों पर महसूस होने लगी थी.

मैं जानता था कि वो मुझमें रुचि इसलिए ले रही थी क्योंकि मैं दुकान मालिक था और उसके लिए यह फायदे की बात थी.

हिंदी पिक्चर सेक्सी नंगी

देसी गर्ल की सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि कैसे मेरे पड़ोस की एक जवान लड़की ने लॉकडाउन में मुझसे पैड मंगवाए. उन्होंने अनीता को अन्दर ले जाकर चूमा तो उसके मुँह से शराब की गंध आई. मौसी बोलीं- तू कह कर जल्दी से चला ही गया, अगर कुछ देर रुक जाता तो कल ही चुदवा लेती.

तो उसने कहा- अरे वा भई वा … हमारी ननदों को सारे मजे दोगे और जो सारी व्यवस्था में लगी है उसे प्यासी रखोगे?अब मेरे पैरों तले जमीन खिसक चुकी थी. जब उसने मेरी गांड की चुदाई कर ली, तो मैंने उसको नीचे फर्श पर लिटा दिया और उसके सीने के दोनों तरह अपनी कमर पर हाथ रख कर खड़ी हो गई. अगर उसने बाहर जाकर बताना होता, तो पहले ही चुपचाप देख कर भाग जाती, मगर वो गई नहीं और वैसे भी मैंने उसे ज़्यादा पैसे देकर उसका ईमान खरीद लिया है.

नेहा ने सभी को चाय सर्व की और हम सभी चाय पीने लगे और बातें करने लगे.

नयन सुख भोगने का भी अपना अलग ही आनंद है, मुझे तो तुम्हारा सबकुछ देखना है अभी!” मैंने कहा और तुरंत उठ कर ट्यूबलाइट ऑन कर दी जिससे बेडरूम में तेज उजाला फैल गया. मामी की गांड खुल बंद होने लगी और वो गांड में उंगली से मस्त होने लगीं. मैंने सलोनी भाभी से कहा- आप सिर्फ़ पैंटी पहन लीजिए, बाकी ऐसे ही रहो.

इस दौरान मैं उस लड़की को लगातार लाइन मार रहा था, और मुझे लगा कि वो भी मुझे लाइन दे रही है।उसकी सुंदरता और सादगी बरबस ही मेरा ध्यान खींच रही थी, उसने कान में बड़ी सी रिंग पहन रखी थी. अब 26 साल की उम्र में हमारे लेडीज गार्मेंट स्टोर का काउंटर मैं ही संभालने लगा था. इस बात पर मैंने कहा- देखो हम दोस्ती रखेंगे, तुम जैसा चाहो बात करो, चाहो तो मिल भी सकते हैं … मगर ये मत सोचना कि हमें प्यार हो जाएगा.

सौरभ उठा और उसने मेरे मम्मों पर अपना एक हाथ रख दिया और चुपचाप खड़ा रहा. मैंने धीरे से उन्हें उठाया और सीने से लगा कर भाभी की ब्रा का हुक खोल दिया.

बस आते जाते उनके हिलते हुए चुचे और थिरकती गांड देख कर लंड सहला लिया करता था. निशि ने ग्रुप के लड़के को कॉल लगाया और इतरा कर बोली- कहां हो तुम लोग, हम कब से तैयार बैठे हैं. मैंने भी भाभी की हालत पर तरस खाकर अपना लंड चुत के मुँह पर रख दिया और एक ही झटके में अपना लंड भाभी की चुत की गहराई में उतार दिया.

मैंने देखा कि इतनी देर में भाभी ने चूत के जंगल को साफ करके चमका दिया था.

जितना ही वो अपनी जीभ से मेरी गर्म कामुक चिकनी चूत को चूसता था, मेरी चूत से उतनी ही गर्म गर्म मलाई बाहर निकाल देती. बाकी सब लोगों की तरह ही वो रोमांस अब मेरी भी शादी में खत्म हो चुका है. मैं स्टेज के सामने कुछ दूरी पर ऐसे बैठ गया, जहीं से खुशी मुझे देख सके और मैं खुशी को देख सकूं.

फिर भी अनजान सा बनकर मैंने बोला- भाभी मैं समझा नहीं कि हफ्ते में एक बार ही ध्यान रखता है … इसका क्या मतलब हुआ?भाभी बोलीं- इतने अनजान मत बनो कि समझे नहीं … तुम सब समझते हो. कुछ देर बाद मामी ठीक हुईं … तो हम दोनों वापस बाथरूम में जाकर साथ में नहाये.

आज भी मैं और शशि एक दूसरे से प्यार करते हैं और जब मौका मिला, मैंने पड़ोसन को चोदा. चाचा जी ही हमेशा मेरा साथ देते हैं … और मैं इनसे खुलकर हर बात साझा कर सकता हूँ. पर मैं बैठा रहा तो आंटी कहने लगी- अच्छा राज, एक बात बताओ, क्या तुमने कभी किसी औरत को चोदा है?मैं चुप रहा.

सेक्सी ब्लू सेक्सी ब्लू सेक्सी

अब आप लोग समझ सकते हो कोई लड़की जब बाथरूम से निकले, तो उस समय कितनी हॉट दिखती है.

मैं नीचे उसके लौड़े पर बैठती चली गई और उसका पूरा लौड़ा मेरी चूत में जड़ तक उतर गया. मैंने सोचा कि इसकी बात तो सही ही लग रही है, आखिर सेक्स में बुराई क्या है. सूरज ने हमारा परिचय करवाया और मेरी तरफ इशारा करते हुए बोला- इससे मिलिए ये है मेरी मोहब्बत … और मेरी गर्लफ्रेंड सुहानी.

मैंने उसको कहा- भोंसड़ी के … सबसे पहले कंडोम लगा मादरचोद!उसने लंड चूत से बाहर निकाल दिया. मौसी ने आज टी-शर्ट और लोवर पहन रखा था … जिनेमं उनके तंग मम्मे बड़े ही कामुक लग रहे थे. कुत्ता और घोड़ा की सेक्सी फिल्मरही बात औरतों की, मैंने उन्हें इसलिए अपने साथ खेलने दिया … क्योंकि उस समय वैसा माहौल था.

मैंने कहा- मेरा भी होने वाला है भाभी।वो बोली- मेरी चूत में मत निकालना, मैं तुम्हारे वीर्य का पहला स्वाद अपने मुंह में लेना चाहती हूं. कुछ ही देर बाद मौसी ने मुझे वहां से हटा दिया और झट से मेरे कपड़े निकाल कर मेरा लंड अपने मुँह में लेकर बहुत तबियत से चूसने लगीं.

फिर मुझे अपने उपहार की याद भी आई, तो मैं कमरे में जाकर वो उपहार ले आया, जिसे मैं खुशी के लिए घर से खरीद कर लाया था, जिसका जिक्र मैंने पिछली एक कड़ी में किया था. क्या तुम मुझे अपनी गांड मारने दोगी?मैं जोर से हंस पड़ी और उसको बोली- मेरे भोले राजा तुम सच में बहुत भोले हो। साथ जीने मरने की कसमें खाई है और फिर भी तुम्हें लगता है कि मैं शालू से परमिशन की जरूरत है, मेरा शरीर पूरा तुम्हारा है और मेरे शरीर का हर अंग तुम्हारा है. मैं समझ गया कि हॉट सेक्सी भाबी चुदने को राजी तो हैं, मगर कुछ नाटक कर रही हैं.

रिया ने अपनी गांड के छेद को रवि के लंड पर सेट किया और धीरे धीरे पूरा लंड अपनी गांड में समा लिया. अगर मेरा एहसान मान कर चुकाना ही चाहती है तो विजय का लण्ड हमेशा खाती रहना. आह्ह।कुछ देर ऐसे ही चाटने के बाद रवि उठा और अपने लंड पर थूक लगाने लगा.

मुझे ये अच्छा लगा कि वो सेक्सी बातें करने के साथ ही मेरी मदद भी कर रही थी और मुझे अच्छी जानकारी भी दे रही थी.

मैंने अरुण को आज बड़ी मुश्किल से पढ़ाया क्योंकि आज मैं बहुत डरा हुआ था. उनका जिस्म गदराया हुआ था और उनके चूचों जैसे चुचे, मैंने सिर्फ़ ब्लू फिल्म्स के वीडियोज में ही देखे थे.

मैंने मामी को चूम कर कहा- कप्पो रानी … अपने एक हाथ से मेरे लंड को अपनी गांड में सैट करो न. इतना मोटा और लम्बा लंड मैंने पहली बार असलियत में देखा था।वह अपने लंड को मेरे मुँह के पास चूसाने के लिए लाया. मैंने उन्हें इशारे से पूछा- क्या मतलब?तो वे बोले- अपने दोस्तों को बुला रहा हूं.

रिया- आह डैड … तुम्हारा लंड कितना मस्त है! बहुत मजा आता है मुझे इसे चूसने में … आह्ह … उम्म … मच … मच … अम्म … आह्ह।रमेश रिया के पास गया और उसके बालों को आगे से खींच कर उसके होंठों पर अपने होंठ लगा दिये और उनको किस करने लगा. मगर उसके धकेलने से पहले ही मैंने अपने चूतड़ों को उठाया और लपक कर मेरी फुद्दी ने उसके लंड का सुपारा अपने भीतर समा लिया. अनुमान ऐसा लगा कि भाभी जब तक गर्म होती हमीद दलाल खलास हो जाता होगा।इकहरी काया की भाभी 34-30-36 फीगर की और हाईट 5 फीट 3 इंच है.

बीएफ दिखाइए चुदाई वाली मैंने अपने दोनों हाथों को उसके गले में डाल दिया और खुद का शरीर ढीला छोड़ दिया जबकि उसने अपने दोनों हाथों को मेरी टांगों में फंसा रखा था और मेरा पूरा वजन अपने लौड़े पर दे रखा था. फिर काफी देर तक अनु मेरे मम्मों को ऐसे पीते रहे, जैसे कोई छोटा बच्चा अपनी मां का दूध पिता है.

बंगाली सेक्सी बीपी पिक्चर

मेरी आंखों में आंसू आ गए थेमेरे आंखों में आंसू देखकर दोनों ने अपने लंड बाहर निकाले, तब मुझे सांस आयी. भाभी जी हमेशा अपने हाथ पांव की सुंदर गुदाज़ उंगलियों पर डार्क रेड कलर की नेल पॉलिश लगा कर रखती थी. मैं बोला- बताओ जी, क्या खाओगी पीओगी?तो गुड्डी बोली- बताया तो था भूल गया के … तुझे खाऊंगी.

फिर जैसे ही मैंने वापस उंगली करना चाही, तो मैंने देखा कि उसकी जांघों के आसपास कुछ चिपचिपा सा हो गया है. पांच मिनट में ही भाभी अपनी गांड उठाकर चुत में से कामरस छोड़ने लगीं, जिसे मैं अपनी जीभ से चाटने लगा. नेपाली सेक्सी व्हिडीओ दाखवातो मैंने चुपचाप पैसे ले लिये और घर से बाहर निकल आया।लॉकडाऊन का पीरियड चल रहा था, ऑफिस बंद ही था और वर्क फ्राम होम का तमाशा चल रहा था। घर पड़े-पड़े बोर हो जाता तो दोस्तों के पास निकल जाता था और रात को ही वापस लौटता था।ठिकाना अभी भी लखनऊ के निशातगंज में वहीं था जहां पिछले ढाई साल से रह रहा था.

उनकी जीभ लंड के सुपारे से टच हुई तो मेरे पूरे बदन में एकदम करंट सा दौड़ गया.

सलोनी भाभी ने आंखें फैलाते हुए पूछा- बॉडी मसाज आता है तुम्हें?मैं- नहीं, पर मैंने बहुत सी वीडियो देख कर सीखा है. मेरी चूत में से बहुत सारा पानी चादर को गीली कर चुका था और विजय के धक्कों से आवाज मधुर संगीत में बदल चुकी थी.

ये कहते हुए उसने अपनी पैंट कच्छे सहित उतार दी और उसका लंड उछल कर बाहर आ गया. एस्स एंड पुस्सी बेबी… ओह्ह फक मी डार्लिंग।उधर संजय नेहा की चूत के बिल्कुल अंदर जीभ डाल कर उसे चूस रहा था. देखो तो, मुझे जगह जगह से काट खाया है तुमने, इतने निशान बना दिये हैं, में ड्रेसिंग टेबल में देख रही थी दो तीन निशान तो गर्दन और गालों पर भी हैं.

मैं संभाल लूंगा।रिया फिर बहाना बनाते हुए बोली- मगर मेरे पीरियड्स के टाइम?समस्या देख कर रमेश बोला- हम्म … उस समय तू सिर्फ एक छोटी सी पैंटी पहन लेना और उन दिनों की भरपाई तू अगले कुछ दिनों में कर देना। वैसे भी तेरे पास तेरा मुंह और गांड भी तो है, मैं उससे भी काम चला लूंगा.

वहीं से मल्लिका की मम्मी को फोन मिलाकर बताया कि दादी फिसल गई थीं, वैसे आप चिंता न करें. उसके साथ उनका 2 साल का बेटा भी था जो दिखने में बिल्कुल भाभी के जैसा ही था. दोनों हसीना ने सैट वाली ब्रा पेंटी पहनी थी और ब्रा पेंटी में उनका आकर्षण देखते ही बनता था.

सेक्सी वाच्यअब क्योंकि मैं भी इसी दुनिया की हूँ … तो मेरे साथ भी ऐसा ही कुछ हुआ. फिर मैंने कपड़े डाल कर जगजीत सिंह की गजलें लगा लीं और बालकॉनी में ड्रिंक करने के लिए बैठ गया.

सेक्स वीडियो ब्लू पिक्चर हिंदी

मैंने सलोनी भाभी से विनती की- भाभी, आप मुझे अपनी चुत चूसने दो, आपको मजा आएगा. मैं समझ गया कि मेरे साले को कोरोना हो जाने के कारण यहां रुकने से भय बैठ गया था … या उसे कोई गलत सूचना दी गई थी. वो- इतना भी टेस्टी नहीं … मैंने थोड़ा सा ही लिया था … वो भी‌ बच गया.

वो ज्यादा नहीं तो भी करीबन 4 इंच गोलाई में मोटा होगा और उसकी लम्बाई भी 7 से 8 इंच की रही होगी. आप लोगों से मुझे इतना प्यार मिल रहा है, जितना मैंने कभी सोची भी नहीं थी. मैं- तुम्हारे साथ?वो- क्यों मेरे साथ कोई प्राब्लम है?मैं- मुझे तो अब दिल्ली की बसों में भी जाने में डर लगता‌ है और फिर तुम्हारे साथ तो बिल्कुल भी नहीं.

डाक्टर ने अगले दिन सुबह दस बजे आने के लिए कहा। कुछ निर्देश दिए जैसे कि खाली पेट आना है. उसके बाद मैंने उसकी चुदाई कैसे की?दोस्तो, मेरा नाम अमन है और आज आपके लिए एक मस्तकॉलेज गर्ल सेक्स कहानी लेकर आया हूँ. मैंने तेज तेज धक्के मारे और चुत के अन्दर ही अपना पानी छोड़ दिया और उनके ऊपर लेट गया.

लगभग 5 मिनट बाद भाभी ने प्यार से मेरे बालों में हाथ फिराया और बोली- थक गए … कोई बात नहीं, मैं कुछ लाती हूँ. मैं थोड़ी देर बाद बालकनी में जाकर बैठ गई तो देखा कि धीरू अंकल के दोस्त बालकनी में ही बैठे हुए थे.

इसलिए जब डॉली और अन्नू की ट्रेनिंग खत्म हुई तो वो सीधा भोपाल से मुंबई आ गयीं.

दूसरी तरफ़ मैं उसे चोदना तो चाहता था लेकिन जल्दबाजी करके हल्का पड़ना नहीं चाहता था. भारत के सेक्सी फिल्ममुझे ऐसा लग रहा था मानो शायरा ने बस मेरे ही इंतज़ार में अपनी चूचियों को ब्रा की गिरफ्त में क़ैद करके रखा था कि मैं आऊंगा और उन‌को आज़ाद करके, जिस वजह से ये चूचियां इस दुनिया में आई हैं … वो असली काम पूरा करूंगा. सेक्सी girl xxxअभी तो गीतिका एक हफ्ता यहीं पर रुकेगी, पहले उसकी तो तसल्ली करवाओ? दूसरी भी मिल जाएंगी. रोहन ने मुझसे पूछा- थॉमस को घर ही बुला लूं?मैंने बोला- हां ठीक है, घर बुला लेते हैं.

जैसे-जैसे वो आगे बढ़ती जा रही थी … वैसे-वैसे मेरा मन भी अब बदलता जा रहा था.

मेरे दोनों चूचुकों पर मेरा रस मलने के बाद मेरी दोनों रानों के बीच मेरे ऊपर आ गयी और मेरे स्तनों को चूमने लगी. तो मेरे स्तन ऊपर नीचे हो रहे थे और वह देख रहा था।एक दो मिनट जाँच करने के बाद उसने कहा- मैं कुछ दवाइयाँ लिख देता हूँ. वो मेरे बालों में हाथ फिरा रही थी, होंठों को दांतों में दबाए गर्म सिसकारियां ले रही थी.

जब मैं भाभी की चूत पर अपनी चूत रगड़ने लगी तो भाभी बोली- रानी, आज तो बिना कुछ अंदर जाए पूरा मज़ा नहीं आएगा, रुको, मैं अभी आती हूँ. सुबह मैं अपने समय पर उठा, तो रश्मि बिल्कुल सीधी लेटी हुयी थी और उसकी फूली हुयी चूत मेरे लंड को एक बार फिर उकसा रही थी और लंड महाराज चूत को देख-देखकर फुदकने लगे थे. फिर मैंने तुरंत लेट कर नेहा को अपने ऊपर किया और मेरे सामने और नेहा के पीछे से संजय ने अब नेहा के चूतड़ों के नीचे हाथ रखे और फिर नेहा की गांड में लंड डाल दिया.

एक्सएक्सएक्स देहाती

मैंने उसे व्हाट्सैप पर मैसेज करके लिखा कि मुझे बोतल चाहिए … उस बोतल में शराब डाल कर पियूंगा, तो किसी को शक नहीं होगा. सबसे पहले तो आप लोगों से माफी चाहता हूँ कि मैं किसी घरेलू कारण की वजह से अपनी कहानी लिखने में दो साल लेट हो गया. मैंने चुपके से देखा, तो अभिषेक पीछे से मेरी नंगी पीठ और कमर को ही ताड़ रहा था.

अभिषेक के हाथ उसके सर के नीचे थे, तो मैंने बगल में रखी अपनी पैंटी, ब्लाउज और पेटीकोट लिया और बाथरूम में जाकर उनको पहन लिया.

मैंने नैना का कुरता थोड़ा सा ऊपर उठा कर उसके पेट पर चूमा, तो वो चिहुंक उठी.

मैंने मामा के जाते ही सीढ़ियों वाले दरवाज़े को बंद किया और तुरंत कपड़े खोल कर नंगा हो गया. उसके घुटने और पीछे का भाग इतना सेक्सी था कि मेरा दिल कर रहा था कि अपना लंड इसी में घुसेड़ दूँ. सेक्सी फोटो लड़की लड़कीवह कुछ कमाता नहीं है, इसे पीटता है और पैसों की डिमांड करता रहता है.

मेरे लण्ड पर बैठ कर भाभी ने अपने दोनों पांव मेरे हाथों की ओर निकाल लिए और जम कर बैठ गई. शायरा आंखें बन्द करके अब ये इंतजार कर रही थी कि मैं आगे क्या करने वाला हूँ. मेरे पड़ोसी अंकल ने अपने तीन दोस्तों को मेरी चुदाई के लिए बुला लिया.

मैंने उनकी चुत पर एक चुंबन लेते हुए अपना लंड अपनी प्यारी भाभी की गांड के छेद पर रख दिया और धीरे-धीरे दबाव बनाने लगा. उन दिनों मैं एक पार्क के पास बनी बड़ी कोठी के ऊपर एनेक्सी में रहता था.

अगर सिर्फ तीन चार दिनों के लिए तू 10 लाख ठुकरा रही है तो तेरी मर्जी।रिया डर गयी और बोली- ठीक है, ठीक है, मुझे मंजूर है.

फिर हमने प्लान किया कि कैसे हम दोनों को अलग अलग एक दूसरे के पति से चुदना है. आशा करता हूं कि आप सबको मेरी बहन की चुदाई की ये कहानी अच्छी लगी होगी. हॉट साली की चूत कहानी में पढ़ें कि लॉकडाउन में मैं अपनी ससुराल में फंस गया.

मारवाड़ी सेक्सी वीडियो ओपन राजस्थान मैं थोड़ा सा चीख उठी और बोली- आराम से करो ना जानू!मगर वे तो जैसे किसी बेलगाम घोड़े की तरह मेरी चुदाई कर रहे थे; बहुत जोर जोर से मेरी चूत में झटके दे रहे थे. साथ में मिलकर पिताजी और एक जवान लड़की ग्राहकों को साड़ियों, पारंपरिक पोषाकों और वेस्टर्न ड्रेसेज़ के उत्कृष्ट डिजाइन दिखाया करती थी.

उसकी गालियां सुनकर हम दोनों और भी जोश में आ गयी और उसका लंड, आँड सब चूसने लगीं. लेकिन अभिषेक के साथ रहने के डर के चलते कोई लड़का मुझे भी नहीं देखता था. कोई 5 मिनट में गुड्डी की चूत ने पानी छोड़ दिया और मैंने थोड़ा सा उसकी चूत का पानी पिया.

কান্নাডা সেক্স ভিডিও

मैं सोच रहा था कि जिसकी पिंडलियाँ इतनी सुंदर हैं तो पट और जाँघें कितनी सेक्सी होंगी? मेरा ध्यान दीपिका के सेक्सी शरीर की जांच करने में लगा हुआ था जिसे दीपिका अच्छी प्रकार से समझ रही थी. दो मिनट बाद मैं भी फिर से मस्त हो गयी और जोर जोर से सिसकारते हुए कहने लगी- आह्ह … कमॉन बेबी … आह्ह … फक मी (चोदो मुझे) … आ्हह … लव यू भाईजान. मैंने एक इम्पोर्टेड मस्क डीओ लगाया जिसमें आदमी की बॉडी की स्मेल बहुत सेक्सी हो जाती है.

मैंने उनसे पूछा- मेरी रानी माल कहां पर लेना पसंद करोगी … मुँह में या अन्दर ही!तो उन्होंने बोला- अभी मुँह की बारी नहीं आई है … अभी अन्दर ही लेना पसंद करूंगी. मैंने उसे अपनी कसम देते हुए कहा- प्लीज़ देखो, यहां न तो माँ बाबू जी का डर है.

ये भी बेचारा क्या करे!भाभी बोलीं- इसकी तड़प का इलाज तुम खुद करो, मेरे पास इसका इलाज नहीं है.

हिंदी चुदाई स्टोरी में पढ़ें कि मैं अपनी सहेली के बॉयफ्रेंड को बहुत पसंद करती थी. कुछ ही दिनों मैं हम दोनों में गर्लफ्रेंड और ब्वॉयफ्रेंड का सम्बन्ध बन गया था. मैं बार बार अपने लंड को भाभी की बच्चेदानी तक अन्दर ठेल दे रहा था जिससे वो कराह उठतीं और नीचे से अपनी गांड उठा कर मेरे लंड को चुततोड़ जवाब दे देतीं.

बल्कि मैं तो चाहती थी कि वो मुझसे अच्छी तरह से टच हो जाए क्योंकि वो दिखने में काफ़ी हेंड्सॅम और जवान था. दोस्तो … मैं चन्दन सिंह एक बार फिर से अपनी भतीजी और उसकी मौसी सास की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत करता हूँ. मैं दोनों चाचियों के बड़े बड़े चूचों को नीचे झुक कर अपने मुँह में लेने लगा.

कुछ पल तक वो विरोध जताती रही लेकिन फिर उसके हाथ ढीले पड़ गये और मैं उसके होंठों को अच्छी तरह से चूसने लगा.

बीएफ दिखाइए चुदाई वाली: मैंने उससे पूछा- क्या आपकी सहेली आ गई है?उसने उदास मन से कहा- अभी तक नहीं आई … शायद ना भी आए … उसका भी अभी कोई भरोसा नहीं है. गहरी नाभि, रंग एकदम दूधिया तन बुर्के में ढके रहने के कारण।अब अगर जींस टी-शर्ट पहना दी जाए तो उसके चूचे और कूल्हे पच्चीस से ज़्यादा नहीं लगते।मेरी नज़र से झेंपकर आएशा मेरे बांहों में झूल गई। उसका गुदाज़ और गर्म जिस्म मेरे तन बदन में आग लगा रहा था।धीरे धीरे मैंने उसकी रसीले होंठों और नर्म चूचियों को चूसना शुरू कर दिया.

आह्ह … लगता है अब मुझे मर्दों को उकसाना बंद करना होगा नहीं तो मैं पूरी रंडी बन जाऊंगी. मैं- तुम बहुत दिनों बाद ऐसे बातें कर रही हो ना?वो- क्यों? और तुम्हें कैसे पता?मैं- तुम्हें पहले जब भी देखा था तो एटिट्यूड के साथ देखा … ना किसी से बात करना और ना हंसना, पर आज बिल्कुल अलग लग रही हो. फिर हमने आधे घंटे के अंदर खाना खत्म किया और वो मुझे अपने बेडरूम में ले गयी.

अब वो थोड़ा नीचे झुक गई और मेरे निप्पल पर बारी-बारी थूक कर उसी पर अपनी जीभ चलाने लगी.

उसका मेरे लंड को चूसना मुझे ऐसा अहसास दे रहा था कि मानो मैं जन्नत की सैर कर रहा हूं. जैसे ही मेरा लंड तना, मैं विनीता को बेड के एक कोने पर खींचकर उसकी दोनों टांगें चौड़ी करके उसकी चूत के ऊपर मेरे लंड को घिसने लगा. ”दादी, आप भी कैसी बातें करती हैं, बच्चों से कैसा पर्दा? वो भी कष्ट के समय में.