सी वीडियो बीएफ देसी

छवि स्रोत,एक्सएक्स विडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

बैंकर सेक्सी वीडियो: सी वीडियो बीएफ देसी, उसने भी मेरे जिस्म को अपनी मजबूत बाजुओं में उठा लिया और कमरे की तरफ ले जाने लगा.

न्यू सेक्सी बीएफ न्यू सेक्सी बीएफ

उसके बाद चाची ने अपनी ब्रा खोली और उनके चुचे ब्रा से बाहर निकल कर उछलने लगे. इंडियन क्सक्सक्स व्हिडिओसफिर उसने मेरी हालत देखकर पीछे मेरी गर्दन पर एक हल्का सा प्यार भरा चुम्बन दे दिया.

करीब दस मिनट तक एक दूसरे को चूसने के बाद मैंने उसकी ब्रा का हुक खोला, तो बाकी के दो हुक झटके से ही खुल गए. सेक्सी बीएफ वीडियो भोजपुरी एचडीउसने ललचाई नजर से मेरी गीली हो चुकी चूत को निहारा और फिर मेरी टांगें चौड़ी खोल कर मेरी चूत में जीभ लगा दी.

अशोक के जाने के बाद अनन्या ने मनोज से फोन करके कहा- आपका बहुत थैंक्स कि आपने मेरे भाई की प्राब्लम दूर कर दी, वो बहुत परेशान था.सी वीडियो बीएफ देसी: मेरा लंड अब उसकी गान्ड में चुभने लगा।मैं दोनों हाथों से उसके बूब्स दबाने लगा और वो उसकी गान्ड मेरे लौड़े पर रगड़ने लगी।मैंने उसे बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया और तेल की कटोरी से उसकी गान्ड के छेद में तेल की बूंदें डालकर उंगली से चोदने लगा.

वो तिरछी नज़रों से मेरे लन्ड को देख कर मुस्कुराने लगी क्योंकि मेरा लन्ड उसकी गांड देख कर पूरी तरह तो नहीं पर खड़ा हुआ था.अब आगे फुद्दी और लंड की कहानी:मैं और विजय उसके घर पर पहुंच गए और हम दोनों घर के अंदर गए.

हिंदी फिल्म ब्लू सेक्सी हिंदी - सी वीडियो बीएफ देसी

अब उसका मन गांड मारने से भर गया था तो उसने फिर जल्दी से शिल्पा को चित लेटा दिया.मैंने कहा- इतनी ऊंची ऊंची बातें कर रहे हो अपने घरवालों से कभी पूछा भी है.

मैंने चाचा को फ़ोन लगाया, तो चाचा पूछने लगे कि अभी तक घर क्यों नहीं आए. सी वीडियो बीएफ देसी पेमेंट के बाद मैंने वो एटीएम कार्ड शायरा को वापस कर दिया और सारा सामान लेकर शायरा के साथ बाहर आ गया.

मेरी पिछली कहानी थीयात्रा में सलहज संग चुदाईकहानी को शुरू करने से पहले मैं बता देना चाहता हूं कि यदि इस कहानी के पात्र व घटनाओं का किसी भी व्यक्ति अथवा स्थान से कोई संबंध पाया जाता है तो यह लेखक की जिम्मेदारी के अंतर्गत नहीं आयेगा क्योंकि इस कहानी को केवल मनोरंजन के उद्देश्य से ही रचा गया है.

सी वीडियो बीएफ देसी?

अभी शिल्पा जितना मजा अपनी चुत चुदवाते हुए ले रही थी, उतना मजा शायद उसको मुझसे चुदते हुए नहीं आता होगा … इसलिए शायद शिल्पा राहुल के साथ ये सब कर रही थी. मैंने देखा कि वो चुदासी औरत पेटीकोट को स्तन के ऊपर तक बांध कर नहा रही थी।फिर मैंने उनको पुकारा तो वो बोली- मैं नहा रही हूँ. अब आरिषा भाभी के टाइट 34 इंच के खुले हुए मम्मे रामू के सामने नंगे हो गए थे.

यह सुन कर मैंने आशा को उसके कंधों से पकड़ा और उससे पूछा- क्या तुम मेरे साथ संभोग करोगी?तो वो बोली- साहब जी, क्या आप मुझे अपने लायक समझते हो?मैं बोला- आशा, जब संभोग की आग दोनों तरफ लगी हो तो कोई छोटा बड़ा नहीं होता!यह बोल कर मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और आशा भी मेरे होंठों को बुरी तरह से चूमने लगी. वो कमर को झटके दे दे कर चुत से पानी झाड़ती रही और मैं चुत का नमकीन रस चूसता चला गया. उसे अपने ऊपर ले लिया और बोला- अब तुम करो।मुझसे नहीं हो पायेगा।”क्यों नहीं होगा.

जब मैंने देखा कि कोई और चारा नहीं है, तो मैं दूसरे कमरे में जाने लगी. फिर मेरे शानदार उरोजों पर मुँह लगाते हुए हाथ पीछे ले जाकर मांसल उभरे नितंबों को सहलाने लगा. हालाँकि मैंने वो हिस्सा छोड़ कर पहले उनकी जाँघों को चूमना शुरू कर दिया.

मैंने उससे बोला कि ये छेद तुम्हारी चूत है और ये मेरा लंड अब तुम्हारी चूत में जायेगा. साथ ही वह मेरे चूतड़ों पर अपने हाथ से तबला सा बजा बजा बजा कर मुझे चोद रहा था.

उसे भी समझ में आ गया और उसने कुछ देर चुत को चूम चाट कर अपने भूखे लंड को मेरी चुत में पेल दिया.

वंदना जल्दी से उतर कर पिशाब करने भागी और एक पेड़ की ओट में पिशाब करने लगी.

वैसे मेरे क्लाइंट्स की ओर से भी मुझे बहुत सारे ऑफर आ रहे थे लेकिन मैंने अपने बॉयफ्रेंड के साथ वफादारी निभाई और किसी को भाव नहीं दिया. जब मैं घर आया, तो मेरे भैया कुछ दिन पहले ही मुंबई अपनी ड्यूटी पर गए हुए थे. इसी तरह आधे घंटे तक मेरी फुद्दी मारने के बाद अभिषेक ने मुझे नीचे बिठा दिया और अपना लंड एक बार फिर से चुसाने लगा.

सुगंधा भाभी ने मेरी जीएफ की चर्चा वापस छेड़ दी थी- वैसे तुम दोनों कितने समय से रिलेशन में हो?मैं- करीब एक साल से. जब मेरे लण्ड ने पिचकारी छोड़ी तो दर्द के कारण रेखा फूटफूटकर रोने लगी. फिर उसने मुझे चूमते हुए कहा- यार तुम इतनी अच्छी चुदाई कैसे कर लेते हो … सच में अन्दर तक चैन पड़ गया.

मेरे किस पर सुगंधा भाभी ने कुछ नहीं कहा बल्कि उन्होंने भी मेरे होंठों को अपने होंठों से चूम लिया.

वहां अमेरिका में उस जानकार को हवाई अड्डे पर मिलने का समय भी बता दिया गया. फिर मैं अपने घटनों पर बैठकर भाभी की चुत चूसने लगा, जिससे अचानक ही भाभी की आवाजें मदहोश हो गईं और वो मेरा सिर अपनी चुत पर दबाने लगीं. हम दोनों होटल में चलें या मेरे दोस्त के कमरे पर!मतलब वो अकेले में मिलना चाह रहा था.

कुछ देर विक्रम यूं ही उसे प्यार से निहारता रहा, फिर अपने मोबाईल से उसकी कुछ तस्वीरें ले लीं. मैंने समय ना गंवाते हुए अपना सेल फोन निकाला और उनका एक छोटा सा क्लिप बना डाला. उसने पैंटी और ब्रा पहनना छोड़ रखा है और सीधे आकर मेरे मुंह से चूत लगा देती है.

ज़ोरदार 10 मिनट चुदाई के बाद मैं उनकी चुत में ही झड़ गया और मैं उनके ऊपर गिर गया.

वहां पहुंच कर मैं स्टाफ रूम में गया, तो मुझे वहां एक 30-32 वर्ष की महिला दिखी. हमारी बेटी जिस स्कूल में पढ़ने जाती थी वहीं पर एक आदमी उसके बेटी को लेने और छोड़ने रोज आया करता था.

सी वीडियो बीएफ देसी मेरा कॉलेज दिल्ली में था, मैं अपनी बाइक से मैट्रो स्टेशन तक गया और वहां जा कर पता चला कि किसी खराबी की वजह से इस रूट की मैट्रो ट्रेन लेट चल रही हैं. यह सुन कर मैंने आशा को उसके कंधों से पकड़ा और उससे पूछा- क्या तुम मेरे साथ संभोग करोगी?तो वो बोली- साहब जी, क्या आप मुझे अपने लायक समझते हो?मैं बोला- आशा, जब संभोग की आग दोनों तरफ लगी हो तो कोई छोटा बड़ा नहीं होता!यह बोल कर मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और आशा भी मेरे होंठों को बुरी तरह से चूमने लगी.

सी वीडियो बीएफ देसी विक्रम ने एक बार बड़े प्यार से संजू की चूत को निहारा, जिसमें चूत से पानी रिस रहा था. मैं पूरा सेक्स में डूब चुका था, मैं अपने हाथ उसके पीछे ले गया और उसकी मुलायम नर्म पीठ को कस कर पकड़ लिया.

बाहर स्कूल के पास, तालाब के किनारे झाड़ियों में निपट लेते या उजाड़ मकबरे में गांड की प्यास बुझा लेते.

सेक्सी वीडियो प्योर मारवाड़ी

दोपहर में खाना खाते वक्त पापा और मामा जी ने तय किया कि आज शाम को ही मम्मी को लेकर दिल्ली निकालना है. पिछले भागसहेली के बॉयफ्रेंड की गोद में बैठीमें अब तक आपने पढ़ा था कि मेरी सहेली का ब्वॉयफ्रेंड अभिषेक मुझे अपनी बांहों में लेकर चूमने लगा था और मैं भी उसका साथ देने लगी थी. क्योंकि अब कभी वो गलत कर भी देता, तो उसे पता था कि अकेले में जब वो चोदा जाएगा, तो उसे कोई बचाने नहीं आएगा.

वैसे मेरे क्लाइंट्स की ओर से भी मुझे बहुत सारे ऑफर आ रहे थे लेकिन मैंने अपने बॉयफ्रेंड के साथ वफादारी निभाई और किसी को भाव नहीं दिया. दस मिनट तक गांड मारने के बाद मैंने लंडरस कंडोम में निकाला और अलग हो गया. मैं उस मैडम के पास गया और अखबार में निकली जगह के बारे में पूछताछ की.

शाम को जब मैं घर पहुंची, तो रोहन का फोन आया कि मेरा बाप जो हॉस्पिटल में था, मुझसे मिलना चाहता है.

इसी बात का फायदा उठा कर मैं भैया की पीठ के साथ चिपक कर बैठी हुई थी. उसने लम्बी सांस भरते हुए कहा- आज तुमने मुझे अपनी सुहागरात की याद दिला दी. इसी के चलते मुझे एन जी ओ की ओर से एक किसान के घर पर रहने की अनुमति दी गई।उस दिन मैंने नॉर्मल जीन्स पहनी हुई थी.

मेरे जानकार ने एक बोतल अलग से लेकर मुझे दे दी और बोला कि यह आप लोगों का कल तक का काम चला देगी. मगर इसकी उम्मीद मुझे कम ही लग रही थी क्योंकि लड़की की उम्र उस वक्त 20 वर्ष थी और मैं 41 वर्ष का और एक बच्चे का पिता था. कुछ दिनों बाद मुझे पता लगा कि मेरा बाप बीमार है और दवाई भी नहीं ले पा रहा है.

तो मैंने उन्हें कहा- कोई बात नहीं साली, तुम दोनों गांड मरवा लेना, उससे सील भी बरकरार रह जायेगी और मज़ा भी मिल जाएगा. मामी को उनकी पैंटी तो मिली नहीं … लेकिन उनकी नजर मेरे खड़े लंड पर जरूर पड़ गयी.

अपना लंड मैं उसके मुँह में में आगे पीछे करने लगा, उसके मुँह से सिसकारियां निकल रही थीं. मैंने जोर से झटका मारा, तो लंड का आगे का हिस्सा सास की गांड में घुसता चला गया. उसी तेज बारिश में अभिषेक ने मुझे पीछे से पकड़ लिया और मेरी चुचियां दबाने लगा और मुझे किस करने लगा.

मैं बोला- क्या पता ये लोग नकली लगाकर घूमते हों?वो बोली- नहीं, ये क्या बात है, नकली कैसे लगेगा? और लग भी गया तो उसके साथ वो सारी चीजें तो नहीं हो सकती जो असली के साथ होती हैं.

शायद मैं कुछ ज्यादा ही डर रहा था, इस वजह से कि कहीं कुछ गड़बड़ हो गयी तो चूत तो हाथ आएगी नहीं, उल्टा घर वालों को पता चल गया तो अच्छे से गांड टूटेगी और बदनामी अलग से होगी. उसकी सिसकारियां मेरे होश उड़ाए जा रही थी।तभी उसने मुझे बिस्तर पे धक्का दिया, मेरे ऊपर बैठ गई और बेल्ट खोलने लगी. मैं उसको चूमते हुए उसके उभारों को चूसते चबाते हुए उसकी चुत पर जैसे ही अपने होंठों को रखा, रिचा जल बिन मछली की तरह तड़प उठी.

चांदनी रात छत के ऊपर चाची का बदन तेल में चमक रहा था और मेरा लंड भी चमक रहा था. कई बार लड़कियां मेरी ओर ध्यान देती हैं और कई बार स्माइल भी दे दिया करती हैं.

अब तक डॉक्टर मेरे ऊपर से हट चुका था और बगल में लेटकर मेरे होंठों को चूसने लगा. उधर इमरान हाशमी अब मल्लिका शेरावत के ऊपर लेट गया था और उसके होंठों को चूमने की कोशिश कर रहा था मगर मल्लिका शेरावत अब भी उसे ‘नहीं … ये ठीक‌ नहीं है … नहीं. मैंने रकुल की चुदाई के मिशन के लिए और नील मेरी बीवी सीमा की चुदाई के लिए.

सेक्सी फिल्म वीडियो देखने वाली सेक्सी

यह कह कर उसने अपनी चुत खोल कर मेरे आगे कर दी और बोली- चल डाल इसमें.

इस शादी से उसके परिवार के लोग भी काफी खुश थे और मैं भी बहुत खुश था कि सुधा के जैसी लड़की मेरे जीवन में आई. और उसका लौड़ा खाने के लिए ही उसके साथ गई है!और वहां बेचारे ननदोई जी अकेले लण्ड हाथ में लेकर हिला रहे होंगे. आरिषा भाभी उसका लंड देख कर थोड़ा डर गईं … क्योंकि उन्होंने इतना बड़ा 7 इंच का मोटा लंड कभी अपनी चुत में नहीं लिया था.

अब मेरे सामने दोनों रंडियां नंगी थी अपनी गांड को खोल के … तब मैंने बजे संजना की गांड में लौड़ा दे दिया और शीना की चूत में अपनी उंगली डालने लगा. मुझे फिर से काम से जाना पड़ा या यूं कहें कि वो बस एक बहाना था चाचा के घर जाने का. xxx hd भाभीथोड़ी देर बाद वो खुद को साफ करके अपने चुचों पर एक टॉवल लपेट कर आई और मेरे पास आकर मेरे बालों को सहलाने लगी.

संजू ने जैसे ही लंड को फुंफकारते हुए देखा, वो उसकी विशालता को देख कर आश्चर्यचकित हो गई. दोस्तो, मुठ मारने में तब और ज्यादा उत्तेजना होती है जब कोई लड़की सामने से देख भी रही हो.

उस घर की परिस्थितियों को देखते हुए मुझे लग रहा था कि लड़की भी ऐसी ही सामान्य ही होगी. अब हमें बिल्कुल भी होश नहीं था कि हम ऐसे खुले खेत में चुदाई का खेल मजा लेकर खेल रहे हैं. मेरा ऐसा जोश देख कर तेरी दीदी भी सोच में पड़ जाती है कि ऐसा कारनामा तो मैंने सुहागरात के दिन भी नहीं किया था.

कुछ देर की चुदाई के बाद मैं झड़ने के कगार पर पहुंच गई थी क्योंकि मैं ऐसी खुले में चुदाई होने के कारण बहुत ही उत्साहित हो गई थी. मगर मैं किसी एक को अपने गले में हड्डी की तरह नहीं बांधने वालों में से था. धीरे-धीरे उसकी चूत के छेद को टटोल कर पहले मैंने उसकी चूत के छेद पर अपने लंड के सुपारे को सेट कर दिया.

मैं बोली- आपका भाई तो बड़ा उतावला हो रहा है, कब से तौलिये मैं अपने लौड़े को तंबू बनाकर मेरे सामने ही बैठा है और इशारों इशारों में मानो ऐसा कहना चाह रहा है कि आजा शालू … बैठ जा मेरे लौड़े पर!भाभी बोली- आये हाय … मैं मर जाऊँ … लगता है आज मेरी ननद मेरे भाई का लौड़ा खाकर ही मानेगी.

मैं खुद में ही खोया हुआ था तो मैंने ध्यान नहीं दिया और खाना खाने लगा. सन्नी ने न्यासा को ढीला छोड़ दिया तो मैंने न्यासा को पीछे की ओर लेकर उसके दूध दबाते हुए उसके चेहरे को अपनी तरफ घुमाया और उसके होंठों को चूसने लगा.

अब रवि को क्या मालूम था कि अनिल तो कितनी बार उसकी चूत को चाट चाट के चोद चुका है. उसकी साड़ी खराब ना‌ हो जाए … इसलिए मैं उसे निकाल रहा था, तो उसने सोचा कि मैंने उसे छेड़ने के लिए उसकी साड़ी को खींचा है. मैं चुदते हुए पूछने लगी- आपने मेरे साथ ऐसा क्यों किया?वो मुझसे कहने लगे- बेबी … बस मैं तुम्हें किसी और से चुदते हुए देखना चाहता था.

एकाएक संजू कांपती हुई आवाज में बोल उठी- अह … विक्रम अअ … मेरा निकलने वाला है, प्लीज मुँह हटा लो. मुझे रहा न गया और मैं एक बार फिर बोली- डॉक्टर, इस चूत का भी इलाज कर दीजिए. वर्ना आजकल की लड़कियां आज इसके साथ सोती हैं तो 15 दिन बाद किसी और की बांहों में होती हैं.

सी वीडियो बीएफ देसी वो क्लास की छात्राओं के मोबाइल नंबरों की लिस्ट थी, उस पर कॉल करके उन्हें बोलना था कि कल नहीं आना है. फिर वो सब मेरे ऊपर टूट पड़े और मेरे दोनों बचे कपड़े भी खोल कर फेंक दिए.

दर्द भरे टिक टॉक

एक झटके में मुझे बिस्तर पर लिटा कर मेरे ऊपर फैलकर मुझे किस करने लगा।मैंने भी उसे अपने हाथ से जकड़ लिया और अपने होंठ जीभ चलाने लगी. थोड़ी देर पढ़ाई करने के बाद मेरा पैन टेबल से गिर गया था, तो मैं अपने पैन को उठाने के लिए नीचे झुकी. इस अचानक हमले से उसकी तेज चीख निकल गई- उई मां मर गई … आह फट गई मेरी!उसकी चीख बता रही थी कि अभी तक उसने छोटे लंड ही लिए होंगे या बहुत टाइम बाद चुद रही होगी.

लेकिन कहने से क्या होता है? होता तो वही है जो किस्मत में लिखा होता है।फिर एक दिन रोहित ने मुझे ‘आई लव यू’ बोल दिया. बाईक पर पायल मुझसे बिल्कुल चिपक कर बैठी थी, जिससे उसकी चुचियां मुझे महसूस हो रही थीं. देसी बीएफ सेक्सीमेरे दिमाग में कल शाम की सारी तस्वीरें आ गयीं जब उनका क्लीवेज मुझे दिखा था.

उसके मुँह से बड़े लंड की सुनकर मेरी गांड कुलबुलाई- यार, मुझे भी मिलवाओ उससे.

मैं उसके आगे गिड़गिड़ाने लगी और बोली कि पापा और मम्मी को कुछ न बताये. उसी समय उसकी कमर ने पहले के जैसे ऊपर उठाई मगर इस बार वो यही सोच रही थी कि मैं लंड नहीं पेलने वाला.

फिर अपने लण्ड का दबाव बढ़ाया तो टप्प की आवाज हुई और मेरे लण्ड का सुपारा मालू की चूत के अन्दर हो गया. ”हाय हाय तू बड़ी प्यारी है कामिनी … आज पहले पीछे!”और उसने अपना लहंगा कमर तक उठा दिया।उसके नीचे शायद वो कभी कुछ नहीं पहनती थी। मैंने जी भर कर उसके चूतड़ों को प्यार किया, गांड को चूसा चाटा।फिर उसने मुझे आगे आने को कहा और बोली- छोरी अच्छे से मुंह लगा ले … मैं धीरे धीरे करूँगी, बाहर नहीं गिरना चाहिए. मैंने अपना लंड उसकी चिकनी चुत में डालना चाहा … मेरा लंड फिसल कर बाहर ही रह गया.

उसने करीबन 5-6 बार मेरी चुत की चुम्मी ली और फिर चुत चुसाई में लग गया.

धीरज बोला- मन तो था लंड डालने का … पर तुम लोगों ने ये तय किया था कि सेक्स नहीं! तो वायदे पर तो रहना ही था. अब मैं ज़ोर ज़ोर से धक्के मारने लगा और माल निकालते समय उसके चेहरे पर आ कर लंड हिलाने लगा. फिर अंत में उससे बर्दाश्त न हुआ और उसके लंड ने मेरे मुंह पर ही पिचकारी छोड़ दी.

सेक्सी चोदा चोदी वालीअब मैंने उसे घोड़ी बनाया और पीछे से उसकी बुंड और फुद्दी को चाटने लगा. अब उसकी बेचैनी भी शवाब पर थी, तो उसने लंड को पूरा का पूरा एक साथ ही चुत की जड़ में बैठा दिया.

आदिमानव की कहानी

ये एक मस्त देसी सेक्स कहानी है, जिसे मैं आप सभी से शेयर कर रहा हूँ, शत प्रतिशत सच्ची है. उसी समय इत्तेफाक से एक फोन आ जाने के कारण मुझे कुछ जरूरी काम निकल आया. मैंने उससे पूछा- तुम्हें मजा आ रहा है बेबी इसमें? (मैंने फोन में रिकॉर्डिंग चलाई थी)अब मैंने उसके मुंह पर डक्ट टेप लगा दी और अब वो पूरी तरह से मेरी गिरफ्त में था.

वो फॉर्मूला ये था कि जब भी कोई लड़की या औरत सामने हो, तो उससे जान पहचान बनाने के लिए सबसे पहले उसकी तारीफ करनी चाहिए, जिससे वो बात करने की पहल कर देगी. फिर उसने मेरी हालत देखकर पीछे मेरी गर्दन पर एक हल्का सा प्यार भरा चुम्बन दे दिया. फिर वो मेरे मुँह के पास अपने एक दूध को लाई, मैंने उसके निप्पल को अपने होंठों से लपकने की कोशिश की … तो उसने फिर से वापस हटा लिया.

उसकी शादी होने के कुछ दिनों बाद ही उसके पति का एक्सिडेंट हो जाने से उनकी डेथ हो गई थी और वो विडो का मेडल अपने ऊपर लगा बैठी. उनकी गर्दन पर हाथ रखते ही उन्होंने सर को एक तरफ झुका कर मेरे हाथ को अपने सर और कंधे के बीच बड़ा दिया. रामू अपनी हथेलियों से आरिषा भाभी की नर्म और मक्खन सी मुलायम जांघों पर बाम लगाते हुए मसाज करने लगा.

आपको मेरी ये सेक्स कहानी कैसी लग रही है, प्लीज़ मुझे मेल करके जरूर बताएं. मगर मैं आस-पास ध्यान भी रख रही थी कि कहीं कोई हमें ऐसे खुले में चुदाई करते हुए देख न रहा हो.

पहले मैंने उसकी गांड के छेद के बाहर अच्छे से जैल लगाई, फिर मैंने काफी सारी जैल उंगली पर ली और नीरू से बोला- जानम अब मैं तुम्हारी गांड के अन्दर जैल लगाने लगा हूँ … तो तुम्हें थोड़ी तकलीफ होगी, सह लेना.

मुझे बहुत भूख लगी थी, तो मैंने खाना बनाया और फिर उन दोनों को उठाया. bf हिंदी सेक्सीमैंने कहा- सोचो कि तुम न्यूड (नग्न) सोई हो और में तुम्हें सारे शरीर पर चूम रहा हूँ. बहू और ससुर की सेक्सी मूवीवो अभी राहुल के साथ रोमांस के मजे ले रही थी और मुझे बोल रही है कि कुछ नहीं …लेकिन उसे नहीं पता था कि मैं उन दोनों को लाइव देख रहा था. मेरे लण्ड से निकले वीर्य ने सीमा की चूत ही नहीं बल्कि बच्चेदानी में भी जगह बना ली.

मेरा लंड अब उसकी गान्ड में चुभने लगा।मैं दोनों हाथों से उसके बूब्स दबाने लगा और वो उसकी गान्ड मेरे लौड़े पर रगड़ने लगी।मैंने उसे बिस्तर पर उल्टा लिटा दिया और तेल की कटोरी से उसकी गान्ड के छेद में तेल की बूंदें डालकर उंगली से चोदने लगा.

पंजाबी गर्ल सेक्स स्टोरी के पिछले भागबॉयफ्रेंड के बॉस ने मुझे नंगी कर दियामें आपने पढ़ा किअब आगे की पंजाबी गर्ल सेक्स स्टोरी:मेरा मन अब योगेश के लंड को चूसने का हो रहा था इसलिए मैंने योगेश से उसके लंड को चूसने की इच्छा जाहिर की।योगेश के निर्देशानुसार मैंने ऊपर से ही अपनी चूत उसके मुंह पर रखकर अपना मुंह उसके लंड पर टिका दिया. जब मैंने उन्हें कसके गले से लगाया, तो इस उम्र में भी उनके चूचे मुझे काफी टाइट लगे. मैं किचन में पकौड़े बनाने लगी।लेकिन कुछ देर बाद नेहा का हस्बैंड वहां आया और मुझसे पानी मांगने लगा।मैंने उसको पानी की बोतल दी तो उसने बोतल पकड़ने के बहाने मेरा हाथ पकड़ लिया।मैं उससे कहने लगी- आप यह क्या कर रहे हो?तो फिर वह मुझसे कहने लगा- आपने मुझसे रंग नहीं लगवाया.

मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा था, जैसे किसी तपती भट्टी में अपनी उंगली पेल दी हो. चूंकि मेरी वाली बर्थ में एक आदमी की जगह खाली थी, तो बस का कंडक्टर यानि मेरा दोस्त मेरे पास आया. इस घटना को पहले प्रकाशित करना के बजाए मैं आपको पिछली सेक्स कहानी के भाग भेजने के बाद ही कोविड वार्ड में हार्डकोर सेक्स चुदाई की कहानी को लिख कर भेजूंगा.

सुपर सेक्स एचडी

मैं भी कानपुर में पढ़ाई करता हूं तो मैं भी छुट्टियों में घर गया हुआ था। सब मजे में एक दूसरे के साथ मस्ती करते हसी मजाक करते घूमते फिरते। छुट्टियां अच्छी बीत रही थी. उसके नेक्स्ट डे रूम सर्विस वाली आई और वो मेरी तरफ एक लिफाफा देती हुई बोली- कल वाला लड़का फिर से आया है और एड्वान्स दिया है. वो बोली- तो फिर क्या बात है?मैंने कहा- अगर मैं बता दूंगा तो आप मुझे यहां से भगा ही देंगे.

मगर उसके अगले दिन जब मैं कॉलेज जाने लगा तो वो मुझे अपने घर के बाहर ही खड़ी मिल गयी.

मसाज करते करते मैंने अपना अंगूठा शहद में डुबोया और रेखा की गांड में डाल दिया.

वो पूरी असली लंड की तरह का था, क्योंकि जो फोटो उसने मुझे पैकेट में थी, उसमें लंड की फोटो ही थी. इसके अगले ही पल उस लुगाई ने मेरे सामने मुँह करते हुए, मेरे हाथ को हटा दिया और बोलने लगी- ये क्या कर रहे हो!उस टाइम मेरी गांड फट गई और ऊपर से ड्राइवर ने भी एक बार मेरी तरफ देखा. सेक्स बताये सेक्सतभी विक्रम बोला- भाभी इसे हाथ में लो ना!संजू ने सहमते हुए उसका लंड जैसे ही हाथ से छुआ, उसने जोर से सीत्कार भरी- इस्स … ये तो बहुत बड़ा, मोटा और टाईट है.

हमें किस करते हुए लगभग दस मिनट हो चुके थे पर उसके मामा की लड़की अभी तक वापस नहीं आयी थी।मैं बोली- मुझे इससे ज्यादा कुछ नहीं करना है प्लीज मुझे जाने दो. फिर मैंने अपनी सांस रोकी और लंड को हिलाते हुए काउगर्ल की पोजीशन में उसके लंड पर बैठ गयी. फिर रोहित गया और सामने वाली दुकान से समोसे ले आया। फिर हम तीनों ने बैठकर चाय समोसे खाये और मज़े से बातें भी कर रहे थे।रोहित मेरी फोटो खींचने लगा.

फिर मेरी चूत में लंड को पेलते हुए वो बोला- भाभी, आपको एक सरप्राइज़ दूं?मैं कुछ होश में आकर बोली- क्या सरप्राइज़?तभी उसने मेरे पति का आवाज लगाई. पर अगर पिंकी तुम अपने और मेरे संबंध अच्छे रखना चाहती हो, तो अब ये सब बंद कर दो.

मैं किचन में पहुंच गया, रेखा गैस जलाने वाली थी कि मैंने उसे पीछे से दबोच लिया.

मैं उसके जिस्म के हर एक अंग को चाटना चाह रहा था और उसके बाद चुदाई करने वाला था. बाहर आते ही कमल चैन लगाता हुआ बोला- थैंक्स फूफाजी, आपका अहसान कभी नहीं भूलूंगा. मैंने अपनी उंगली से उसकी गांड में क्रीम डाल दी और आगे पीछे करने लगा.

ஷகிலா ஆன்ட்டி வீடியோ जी कर रहा था कि अभी उल्टे हाथ का एक लगा दूँ … मगर गलती भी तो मेरी ही थी. मैं तेजी से उसकी चूत में धक्के देने लगा और पांच मिनट के बाद मेरा वीर्य निकलने को हो गया.

इस समय वो एक हाथ से ड्राइवर का लंड हिला रही थी और दूसरे हाथ से मेरे आंडों को सहला रही थी. पर उन लोगों ने ये तय किया कि अभी इस विषय में कोई जल्दीबाजी नहीं … अभी आपस में आत्मीयता और बढ़ने दो. और ये गन्दा भी तो है!मैंने कहा- बिल्कुल नहीं … और आप जीजा के नहीं मेरे साथ हैं.

सेक्सी वीडियोस इंडियन

शीना बिल्कुल कामुक लग रही थी इस अवतार में!और संजना हम दोनों की ठुकाई देखकर अपनी चूत में उंगली कर रही थी, वो पूरे चरम पर पहुंच गई थी. मैंने कहा- ओह, ऐसी बात है क्या?सपना ने सभी को कहा- अरे छोड़ो ये सबी … अब हमारे पास आज वक्त बहुत कम है. तभी अमित की आवाज आई- राजवीर जी, अगर आप फ्रेश हो गए हो तो आईये; आपका इंतजार हो रहा है.

आखिर आज मैं भी जानना चाहता था कि इस गोली का क्या और कितना प्रभाव पड़ता है. मैंने एक पल के लिए कुछ सोचा तो अभिषेक ने कहा- तुम चिंता मत करो, छत काफी ऊंची है और कोई हमें नहीं देख सकेगा.

इस पर उन्होंने धन्यवाद कहते हुए कहा कि अरे नहीं मैं इतनी भी सुन्दर नहीं हूँ.

खासतौर पर मैं अपनी सहेली, मेरी चूत को छू रही थी और मैं अपनी एक उंगली को अन्दर डाल चुकी थी. इतना कहते ही अंकल ने एक झटके के साथ आधा लंड मॉम की चूत में उतार दिया. हैलो फ्रेंड्स, मैं जैस्मिन आज मैं आप सभी के साथ अपनी प्यासी जवानी की सच्ची कहानी साझा करने जा रही हूँ.

नहा-धोकर जब हम दोनों बाथरूम से बाहर निकले, तो वो बोली- तुम यहां कब तक हो?मैंने कहा- बस आज रात और हूँ. ”हाय हाय तू बड़ी प्यारी है कामिनी … आज पहले पीछे!”और उसने अपना लहंगा कमर तक उठा दिया।उसके नीचे शायद वो कभी कुछ नहीं पहनती थी। मैंने जी भर कर उसके चूतड़ों को प्यार किया, गांड को चूसा चाटा।फिर उसने मुझे आगे आने को कहा और बोली- छोरी अच्छे से मुंह लगा ले … मैं धीरे धीरे करूँगी, बाहर नहीं गिरना चाहिए. ये बात मैं अपने अनुभव से बोल रहा हूँ, जो मुझे इन पांच साल में मिला.

वो जब जाने लगा, तो मैंने उससे कहा कि जब भी तुम्हें अपनी माँ को चोदना हो, मुझे कॉल कर सकते हो.

सी वीडियो बीएफ देसी: लंड महाराज केले के तने जैसी कोमल जांघों का स्पर्श पा कर फूलने लगे थे. रोज रोज अन्तर्वासना पर कहानी पढ़कर मेरी भी वासना बढ़ गयी जिसके कारण मुझे भी अपनी कहानी लिखने की इच्छा हुई.

मैं- देख लो एक बार … कुछ पसंद आता है तो देखने‌ में क्या जाता है?उस सेल्सगर्ल के साथ साथ अब तो मैं भी बोल पड़ा, जिससे शायरा मेरी तरफ और भी गुस्से से देखने लगी. शायरा का फिगर तो अच्छा था ही … ऊपर से सेल्सगर्ल का तो काम ही ये होता है कि कैसे भी ग्राहक को खुश करना है. न्यासा के वॉशरूम से बाहर आने पर मैंने उसे अपने हाथ से कपड़े पहनाए और उसके मोटे मोटे चूचों को दबाने लगा.

कभी वो मेरी चूचियों को दबाने लगता और कभी निप्पलों को मुंह में लेकर काटने लगा.

उसने दर्द का डॉ दिखाया लेकिन …दोस्तो, मैं राकेश एक बार फिर से अपनी फ्रेंड नीरू की गांड मारी की सेक्स कहानी के अगले भाग को लिख रहा हूँ, मजा लीजिएगा. हमारे यहां एक काम वाली बाई आती थी, उसके साथ मिलकर सुधा घर के कामकाज को जान रही थी. बाहर आते ही कमल चैन लगाता हुआ बोला- थैंक्स फूफाजी, आपका अहसान कभी नहीं भूलूंगा.