झारखंड के बीएफ सेक्सी

छवि स्रोत,बीएफ ब्लू हिंदी पिक्चर

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी साड़ी फोटो: झारखंड के बीएफ सेक्सी, रूपा ने उसे जवाब देने के लिए अपने होंठ पप्पू के होंठों से थोड़े अलग किए और इसलिए उसने अपनी चूची उसके मुँह में दे दी.

बीएफ बीएफ व्हिडीओ हिंदी

पांच मिनट तक आराम करने के बाद आंटी उठी और फ्रेश हो कर मेरे पास आ कर लेट गई. इंग्लिश चोदा चोदी बीएफ वीडियोसाली की चूत एकदम क्लीन थी, दूधिया साली के जिस्म की लाल रंग की चूत बहुत सुंदर लग रही थी.

सॉरी दोस्तो मेरी तबीयत इन दिनों खराब चल रही है, लेकिन अब कहानी के अंत तक कोई देरी नहीं होगी, अब नियमित रूप से आपको मेरी इस सेक्स स्टोरी का मजा मिलता रहेगा. एक्स वीडियो बीएफ ओपनवो एक सांवली सी देसी लड़की थी और उसके चूचे छोटे छोटे नींबू जैसे लेकिन बहुत सख्त थे.

उसके हाथ दूध की टंकी को उठाते हुए और काम करते हुए काफी कड़क हो चुके थे.झारखंड के बीएफ सेक्सी: फिर मैंने उसे मेल पे ही बोला कि लग रहा है कि तुम्हारी बहन को भी मन है सेक्स करने का.

बाथरूम में देखा तो दीदी की पिंक कलर की ब्रा और पेंटी वहां पे लटकी हुई थी.दोस्तो इस कहानी के कमेंट आने के बाद आपको मैं अपनी अगली कहानी बताऊंगा.

मोटी आंटी की बीएफ सेक्सी - झारखंड के बीएफ सेक्सी

चुम्मा चाटी में ही पहला पानी निकल गया था अब मस्त चुदाई होने वाली थी.कुछ देर बाद लंड चूत से बाहर निकल आया, मैं उसके ऊपर से उठा, परंतु वह टाँगें चौड़ी करके पड़ी रही.

अब मुझे मजा आने लगा तो मैंने मेहता को खूब जोश दिला दिला कर चुदवाना शुरू कर दिया. झारखंड के बीएफ सेक्सी सोनिया बोली- अरे यार सम्भल कर जरा, बस बस इतना आगे मत बढ़ो… चलो अब उठो मेरे ऊपर से…तभी मैंने देखा, मुझे पता भी नहीं चला कि कब नेहा वाशरूम से निकल कर हमारे पास आकर खड़ी हो गई थी.

आंटी ने हंस कर कहा- अगर ऐसा था तो पहले क्यों नहीं बोला?मैंने देखा कि आंटी भी जोश में आ गई थीं.

झारखंड के बीएफ सेक्सी?

उसकी बात को सुन कर मैंने कुछ बोलना सही नहीं समझा और चुप चाप खाना बनाती रही. कुछ ही देर मैं वो मेरे पूरे लंड को मुँह में अन्दर तक ले कर चूस रही थी. वो बोला- जब लड़के का लंड पहली बार लड़की की चुत में घुसता है तब खून निकलता है.

तीन साल तेरी चूत ने बिना पानी निकाले कैसे गुजारे?मेरी बात सुन कर डॉली हंसती हुई बोली- यार, सोचा था विक्रम आयेगा तो तीन साल का पानी एक साथ निकालेगा… यार इतना पानी निकलेगा कि कमरे में हम दोनों तैरने लगेंगे. मैं आपको अगली सेक्स स्टोरी में बताऊंगी कि कैसे मेरे भाई के दोस्तों ने मेरी चुत चोदी और भाई ने मेरी गांड भी मारी. मैंने पहले उनकी साड़ी निकाली, फिरपेटीकोट का नाड़ाखींच कर उसे निकालने लगा तो नाड़े की गाँठ मुझे समझ में नहीं आई, मेरी परेशानी समझ कर चाची ने खुद ही नाड़ा खोल कर अपना पेटीकोट निकाल दिया.

अब मुझसे एक पल के लिए भी बर्दाश्त नहीं हो रहा था, तो मैंने करवट ले ली. शहज़ाद के आने तक नाश्ता तैयार था, मैं भी नहा चुकी थी, सैफिना ने डाइनिंग टेबल पर नाश्ता लगा दिया. उसमें सभी सहूलियतें भी थीं, जैसे कि हीटर, फ्रिज वाटर कूलर आदि…मुझे रात में एकाध पैग लगाने की आदत भी थी तो मैं मेरा स्टफ ओल्ड मंक रम की एक बोतल साथ लेकर आया था.

फिर मौसी धीरे से मेरे लंड पर किस करने लगीं और अपना मुँह खोल कर लंड को अपने मुँह में ले लिया और चूसने लगीं. आंटी ने अपनी कई सहेलियों को मुझसे चुदवाया है सब काफी खुश हैं मुझसे.

इसके बाद उसने टॉवल वापस नीचे कर दिया और पीठ पर से टॉवल नीचे कर के कमर पर मालिश शुरू की.

निकाह के बाद एक सप्ताह हमने माउंट आबू में हनीमून मनाया या यूँ कहें कि घूमे-फिरे क्योंकि हनीमून तो हम पिछले एक साल से मना ही रहे थे.

सर्वेश में इतनी हिम्मत नहीं थी कि वह अपना लोहे की रॉड सा कड़क हो चुका लौड़ा मेरे मुँह में दे सके लेकिन तड़प तो वह भी रहा था अपने लण्ड को हल्का करने के लिए… मैंने ही उसके लोवर को नीचे खींच दिया और चड्डी के ऊपर से ही उसके मस्त खीरे जैसे लण्ड को मुँह में भर लिया और अपनी जुबान से लण्ड से लेकर उसके सिक्स पेक तक चाटने लगा. सुबह के 4 बजने को थे तो उसने कहा- सर जी, आप अपने कमरे में जाकर सो जाओ, नहीं तो प्रिया और राजीव को पता चल जाएगा. मैं इसलिए चुप था कि एक तो मैं साबिया से डर रहा था और दूसरा मैं इसे प्यार भी बहुत करता हूँ.

वो शहज़ाद के ओर नज़दीक हो गई जिससे मेरी आधी जांघ शहज़ाद के लंड को रगड़ रही थी और आधी जांघ सैफिना के उपर उसकी जांघ से रगड़ खा रही थी. सिंडी की चूत सूज चुकी थी और दर्द से कराह रही थी, पर एक सुकून भी उसके चेहरे पर था. मैं उसके पास गया और बोला- क्या हुआ भाभी जान… देख रहा हूँ कुछ मुरझाई हुई सी लग रही हो.

उसने विनय की ओर मुँह किया तो विनय ने अपने होंठ मिला दिए उसके होंठों से.

अब वो उसके सर की ओर बैठ कर झुक कर उसकी कमर से नीचे तक मालिश कर रहा था. पाइनॅएपल के टेस्ट के साथ कुछ नमकीन सा स्वाद भी मुझे लगा वो कैसे?जॉन- ओह तो तूने ये गौर कर ही लिया, यही तो ट्विस्ट है. शाम को खेलने और खाने के बाद मैंने माँ को बोल दिया- माँ मैं मौसी के साथ सोऊंगा.

तो मैंने उसे एक लोअर और टी-शर्ट दे दी, जिसे वो बाथरूम में पहन कर आ गई. फिर बहुत हिम्मत करके अपना हाथ उसके पेट पर रखा और वो नहीं हिली, तो मैं अपना हाथ बढ़ा कर उसके चूची पर ले गया और चूची के ऊपर रख दिया. पापा आ… तीन उंगलियां घुसेड़ दो मेरी चूत में और धक्के लगाओ जोर जोर से!”ये लो अदिति बेटा… ऐसे ही ना?” मैंने हाथ का अंगूठा और छोटी अंगुली मोड़ कर तीनों उंगलियाँ बहूरानी की बुर में घुसा दीं और उसकी गांड में धक्के पे धक्के देने लगा.

फिर 15 मिनट गुजर गए तो जय का लंड मेरी चुत में ही फिर से खड़ा होने लगा.

पप्पू हौले-हौले अपना लंड रूपा के मुँह में डाल के साफ़ करते हुए बोला- अच्छे से चूस कर साफ़ कर रंडी, ये तेरे हिजड़ेपति का छोटा सा लण्डनहीं है, तेरे यार का लौड़ा है. अब मैं खड़ा हुआ और उसको बेड के किनारे तक ले आया और वहीं खड़ा हो कर उसकी चूत में लंड डाल दिया.

झारखंड के बीएफ सेक्सी धीरे धीरे मुझे उसके बारे में सब पता चला कि उसका कोई बॉयफ्रेंड नहीं है. फिर फ्लॉरा वहां बैठ कर क्या करती, वो भी गुस्से में थी, उसने चादर ली और सो गई.

झारखंड के बीएफ सेक्सी कानों में इयर फोन लगे होने की वजह से मुझे किसी का पता नहीं चल पा रहा था. इससे पहले मैं कुछ कह पाती, उन लड़कों ने जैसे-तैसे करके मेरी टॉप निकाल दी और ब्रा को फाड़ कर मेरी चूची को आज़ाद किया.

उसके बड़े-बड़े चूचे देख कर सुमन ना चाहते हुए भी अपने मम्मों को दबा कर देखने लगी.

हिंदी बीएफ फिल्म दिखाइए

जो मेरी राइट साइड की लेडी थी उसने बोला- ज़्यादा ही भाव खा रहा है मादरचोद. वो नहीं जानता था कि मैंने उसके भैया को ब्रांच मैनेजर कैसे बनवाया है. मुझे भी कोई ऐतराज़ नहीं था क्योंकि हमारे पास पैसे की कोई कमी तो थी नहीं.

और सुना आज तुमने सुमन के साथ खूब मस्ती की होगी ना?मॉंटी- क्या खाक मस्ती की. तरुण ने उस पालने में वरुण को लिटाते हुए कहा- आज से यह शयनकक्ष तुम्हारा और वरुण का है, तुम आराम से इसमें रहो. मैंने उनका पेटीकोट जोकि घुटनों तक आ चुका था, ऊपर खिसका कर कमर तक कर दिया.

मैंने फ़ोन में देखा तो ब्लू मूवी पड़ी हुई थी, थोड़ी देर के लिए तो मुझे यक़ीन ही नहीं हुआ.

मैं बोल बोल कर चीखने लगी मगर उन पर कोई असर नहीं था; मैं लगभग बेहोश हो ही गई थी मगर उन्होंने मेरी चुदाई जारी रखी।थोड़ी देर बाद रिया ने मेरे मुंह पर पानी मारा, तब मैं जगी तो अभी भी नीचे वाला मेरी चूत फाड़ रहा था और पीछे वाला मेरी गांड की मां चोद रहा था. अब हमें चुदाई का ऐसा चस्का लग गया था कि हम लगभग रोज रात में चुदाई करने लगे. यह मेरी अन्तर्वासना पर पहली चुदाई की कहानी है, जो मैं आपके साथ शेयर कर रहा हूँ.

फिर मैंने भी ज़ोर ज़ोर से धक्के लगाये और थोड़ी ही देर में मैं भी झड़ने के निकट पहुँच गया. रितु दीदी ने पूछा कि गांड मारने में ज्यादा मज़ा आता है कि गांड मराने में?मैंने कहा कि दोनों में. उसने बताया कि उसके पति बहुत अच्छे हैं,चुदाई का पूरा मजादेते हैं लेकिन अब जॉब के कारण उन्हें बाहर रहना पड़ा रहा है.

अब मैंने अपना लंड दीदी की दोनों चूचियों के बीच में डाला और लंड को आगे-पीछे करने लगा. नजरों ही नजरों में पता नहीं उसने अपने साथियों से क्या इशारा किया कि वो सारे हमारे इर्द-गिर्द जमा हुए और उन्होंने बड़े ही रोमांटिक तरीके से हम दोनों के बदन से कपड़े उतारना शुरू किया.

हाय दोस्तो, मैं निकिता फिर से एक बार आप सबको मेरी धांसू मेरी इंडियन लेस्बियन सेक्स स्टोरी सुनाने आयी हूँ. फ्लॉरा के जाने के बाद दोनों बाप बेटी मिले और आपस में बातें की, गुलशन जी ने बताया कि कैसे उसने फ्लॉरा को मज़े दिए, अब वो दोबारा भी उनसे चुदवाने जरूर आएगी. हम दोनों ने मन्दिर में जा कर खून से माँग भर के शादी कर ली और अपने-अपने घर चले गए.

साथ ही गांड में लंड पेल कर कैसे मस्ती से उनकी गांड मारते हुए कहता है कि सविता भाभी इससे आपके चूतड़ सुडौल हो जाएंगे.

मैंने समझ लिया कि अब ये तो ठीक से गरम हो चुकी है और अपने लंड पर थूक लगाकर उसकी चूत पर टेक दिया. मैंने उसकी जांघों को अपने हाथों से मसला और चूचियों पर प्यार करने लगा. इस पोर्न स्टोरी में आपने पढ़ा कि बेटी अपने बाप से चुदने के लिए राजी है लेकिन उसने एक दिन का समय माँगा.

जब तक तेरी माँ नहीं आ जातीं तब तक खुलकर चुत लंड का खेल करेंगे और उसके आने के बाद छुपकर चुदाई हो जाएगी. क्योंकि फ्लॉरा ने एक बार जॉय का लंड देख लिया था जो करीब 9″ का होगा, बस इसी लिए उसकी वासना भड़क गई.

मैंने कहा- मुझे तुम्हारी मदद करना अच्छा लगता है, क्योंकि अब मैं तुम्हें दोस्त मानता हूँ. इस हमले से पप्पू का लंड नीता की कमसिन, अनचुदी चूत की सील की धज्जियाँ उड़ाते हुए पूरी रफ्तार से घुस गया. इससे पहले मैं कुछ कह पाती, उन लड़कों ने जैसे-तैसे करके मेरी टॉप निकाल दी और ब्रा को फाड़ कर मेरी चूची को आज़ाद किया.

দেশি সেক্সি ভিডিও এইচডি

एक दिन मुझे पिंकी टीचर का कॉल आया- कुछ अर्जेंट काम है, तुम मेरे ऑफिस में आ जाओ.

फिर थोड़ी देर बाद मैंनेभाभी की चुत में अपना लंडपेला और उनको चोदना चालू कर दिया. उसके लगातार हाथ फेरने से मेरी भी काम वासना जाग गई थी और मैंने भी बोल दिया- लो जल्दी से देख लो, मुझे दर्द हो रहा है. जब सुमन से बर्दाश्त नहीं हुआ तो उसने दूसरा दांव खेला, जो गुलशन जी के लिए भी फायदेमंद साबित हुआ.

अब उसकी चुत में मुझे कोई इंट्रेस्ट नहीं रहा था इसलिए मैंने उसका बनाया हुआ खाना खाया और उसे वापस भेजा. रूपा की उछल कूद से जैसे ही पप्पू झड़ने लगा तो रूपा को कस कर पकड़ कर अपना लंड पूरा अन्दर तक घुसाते हुए बोला- ये ले छीनाआआल चूत आहहहह. राजस्थान सेक्सी बीएफ वीडियोअभी कुछ देर पहले ही वो ठंडी हुई थी मगर इनकी चुदाई का सीन देख कर वो फिर से अपनी चुत रगड़ने लगी थी.

उसने लगभग 45 मिनट तक खूब जम कर मेरी गांड मारी और फिर मेरी गांड में ही झड़ गया. मैं जब कॉलेज से आ रहा था तब मेडिकल से कन्डोम और जैल लेकर ही आ गया था.

कुछ ही देर में हम दोनों का मूड फिर बन गया, साली ने मेरे लंड को हाथ में लेकर कहा- अब क्या मूड है जीजू?मैंने साली के होंठों को चूमते हुए कहा- मूड बता तो रहा है जो तेरे हाथ में है, उससे पूछ!वो मेरे लंड पे हल्के से चपत लगाती हुई कहने लगी- ये तो साला बदमाश है. मुझे अन्दर जाने से पहले ये देखना चाहिए कि शोभा ने क्या-क्या करना शुरू कर दिया. फिर मैं बहुत हिम्मत करके अपना हाथ सलवार के ऊपर से ही अपनीचचेरी बहन की चूतके ऊपर ले गया.

मॉम ने कहा- तुम दोनों को तो नहीं आ रही पेशाब क्या?मैंने कहा- मुझे आ रही है…तो मॉम कहने लगी- तो अब तू कर मेरे ऊपर पेशाब!मैं बेड पर चढ़ गयी और खड़ी होकर मॉम की चूत मुख, चूची पर पेशाब कर दिया. उसने धीरे से अपना हाथ मेरी चूची पर रखा और धीरे-धीरे उसे सहलाने लगा. लेकिन चूत में साबुन लगाने से उसमे जलन हो रही थी और हाथ लगाने से दर्द हो रहा था.

गायत्री- अरे मैं नहीं हूँ ना, तो तेरे से ही माँगेगे ना!टीना- मगर मॉम वो मुझे…गायत्री- बस टीना, अब ये अगर मगर रहने दो और अंकल जो माँगे उन्हें दे दो और बेटा उनको नाराज़ मत करना, तेरे पापा के बाद उन्होंने हमें संभाला है.

विनय ने प्यार से दोनों हाथों से कविता का मुँह ऊपर किया तो कविता फफक कर बच्चों की तरह रो पड़ी, बोली- मैं तुम दोनों को डिस्टर्ब नहीं करना चाहती. होली के दिन सारे लड़के पहले होली खेलना शुरू करते और बाद में लड़कियां और आंटी लोग ज्वाइन करती थीं.

आज मैं आपको अपनी पहली और सच्ची देसी कहानी सुनाने जा रहा हूँ जिसमें मैंने एक आंटी को चोदा. चूंकि मुझे भी पेशाब लगी थी सो मैंने उसी के सामने अपनी पेन्ट की ज़िप खोली और लंड निकाल कर पेशाब करने लगा. हैलो साथियो, आज सविता भाभी कार्टून कॉमिक्स की एक नई और मस्त कर देने वाली कड़ी के साथ आपके सामने प्रस्तुत हूँ.

मेरा ये ऐसा नशीला मूड तूने ही बनाया है, अब तू जैसा चाहे वैसे चोद मुझे पप्पू. रागिनी ने लगभग सिसियाते हुए मेरे लंड को अपनी चुत के छेद पर लगा दिया और कमर उचका कर लंड का सुपारा चुत के अन्दर खींचने का प्रयास करने लगी. इस एक महीने में फ्लॉरा ने बहुत बार कोशिश की अपने पापा को रिझाने की, उनसे चुदने की, मगर जॉय नहीं माना.

झारखंड के बीएफ सेक्सी थोड़ी देर बाद एक लड़की आई जो 19-20 की थी वो रोस्टन की गर्लफ्रेंड थी, उसने एक छोटी सी बिकिनी पहनी हुई थी, बिकिनी क्या पहनी हुई थी!! सिर्फ उसके बूब्स एक तिहाई ही ढके हुए थे और पेंटी तो सिर्फ नाम की थी, उसमें उसके पूरे चूतड़ दिखाई दे रहे थे. कभी आशीष मेरे निचला होंठ तो कभी ऊपर का होंठ चूसते रहे, कभी तो दोनों होंठों के एक साथ चूसने लगते.

ससुर बहू की देसी बीएफ

एग्जाम के एक महीने के बाद व्यापम का एग्जाम हुआ, जिसके बाद गर्मी की छुट्टियां भी स्टार्ट भी हो गई थीं. मैंने पूछा- ये तुम्हारी बहन है क्या?वो बोला- हां, मुझसे बड़ी है… इसकी शादी हो चुकी है. चूंकि मैंने फैसला कर ही लिया था कि अब वो सब बातें फिर से नहीं दोहराना है अतः मैंने तय किया कि ड्राइंग रूम में दीवान पर ही सोऊंगा.

मैं चाची की चूत को छोड़ कर उनके मुंह के पास आ गया और अपने लंड को उनके होंठों पर रगड़ने लगा. जल्दी ही कोई लड़की पापा के सामने लानी होगी नहीं तो हमारा काम बिगड़ जाएगा. हिंदी मराठी इंग्लिश बीएफअब तक अनुराधा की चूत काफ़ी ठीक हो गई थी और उसमें उतनी ताक़त भी आ गई थी.

साली भी तड़प उठी थी, वो जोर जोर से सिसकारती हुई मेरे लौड़े पे उछल कूद रही थी.

अब आगे…फ्लॉरा- उह… गॉड ऐसी चुदाई… यार मेरी चुत तो गीली हो रही है… मजा आ गया तेरी चुदाई की कहानी सुन कर!सुमन- हालत तो मेरी भी खराब है… दीदी मगर मुझे पूरी कहानी सुनाओ ना… उसके बाद क्या हुआ?टीना- अरे होना क्या था… फिर अंकल ने 3 बार मेरी चुत का भुर्ता बनाया. और सोने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता, बस जैसे तैसे मैंने रात काट ली.

लगभग 3 बजे के करीब राहुल उनके बताए घर पर पहुँच गया और दरवाजे की बेल बजाई तो थोड़ी देर में एक खूबसूरत सी लड़की ने दरवाजा खोला. पप्पू का मुँह मम्मे पे दबा कर वो बोली- ले मेरे मम्मे चूस कर मेरे दर्द को ज़रा तसल्ली दे. रेखा स्कूल चली गई, मैं अपने कमरे में आया तो पिंकी भी आ गई और धीरे से कहा- क्यों? रेखा को देख कर लंड खड़ा होने लगा?तुमको चोदने के बाद मेरा लंड कच्ची बुर का दीवाना हो गया है, मुझे अब ऐसी बुर को चोदने का मन करेगा.

कहानी का पिछ्ला भाग:पोर्न स्टोरी : मेरी पहली चूत चुदाई के हसीन पल-1मेरी इस रियल पोर्न स्टोरी में आपने अब तक पढ़ा हमारे घर में इंजीनियरिंग का छात्र अर्जुन किराये पर रहता था.

बोली मुस्कुरा कर बोली- क्या काम?मैंने झूठ कहा- मुझे सेक्स करना नहीं आता. मॉंटी तो चुदाई से एकदम अनजान था उसको समझ ही नहीं आ रहा था कि इसमें लंड घुसेड़ने से क्या मजा मिलेगा. हमारी पकड़ एक दूसरे पर मजबूत होती जा रही थी और हम दूसरे में समाने जा रहे थे.

बीएफ सेक्सी के वीडियोमैंने भी किताब बंद कर दी और सोचने लगा कि चाची की चूत तो चोद ली, अब चाची की गांड कैसे मारी जाए. मैंने सोचा कि ये शायद मेरा MMS बनाएगा लेकिन मैं गलत निकली, उसने मोबाईल मेरे आगे किया और एक वीडियो प्ले कर दी.

जंगली बीपी वीडियो

दीदी आपको बाद में बता देंगी ना!टीना- अच्छा, अब तू चल और बता क्या है?दोनों वहां से कुछ दूर जाकर खड़ी हो गईं और सुमन ने टीना से अपने पापा के बारे में बात की. पप्पू… मैं तो यही चाहुँगी कि मेरी बेटियों को भी इस लंड से अच्छी चुदाई मिले. मैंने फिर नेहा को छेड़ते हुए कहा- मैंने तो साली से पूछा है, अब साली चुप कर गई.

अब की बार लंड पर कंडोम दीदी ने चढ़ाया और मैंने उनको कुतिया स्टाइल में होने को बोला. फिर वो धीरे से मेरे पास आईं और मेरे लंड को निक्कर के ऊपर से सहलाने लगीं. वो तड़प उठी और बोली- अब मत तड़पाओ, मेरी चूत में अपना लंड डाल दो प्लीज.

टीना- अंकल आप चाय लोगे क्या?अंकल- नहीं टीना, आज चाय का मूड नहीं है, मुझे तो आज दूध पीना है. सैफिना भी मान गई और उसने अपने घर बोल दिया कि उसने शहज़ाद के साथ उसने निकाह कर लिया है. सब मेरे अंगों से वहीं बीच सड़क पर खेल रहे थे, कोई मेरी चूची दबा रहा था तो कोई गांड मसल रहा था तो कोई चूत में उंगली करने की कोशिश कर रहा था.

वैसे तो जॉय के समझाने के बाद फ्लॉरा ने अपनी ज़िद छोड़ दी थी मगर कभी कभी उसके दिमाग़ में ये शैतानी ख्याल आ जाता है, इसका सबसे बड़ा कारण है जॉय के लंड का साइज़. आज उसने मुझे अपने चेम्बर में बुलाया और कहने लगा कि पुराना एकाउंटेंट नौकरी छोड़ कर चला गया है.

अभी बापू आता ही होगा हुक्का पीने।इतने में उसके पापा कमरे में दाखिल हुए, मैंने उनको नमस्ते की।रवि बोला- चल, हम साथ वाले कमरे में बैठते हैं.

!मोना के मुँह से लंड सुन कर नीतू के चेहरे का रंग फीका पड़ गया वो बस मोना की तरफ़ देखने लगी. देसी बिहारी बीएफ सेक्सीअब विनय ने भी अपना लंड पूरा पेला और थोड़ी देर में ही उसका लंड कविता की चूत में चुदाई कर रहा था और दोनों के होंठ और जीभ मिले ही थे. अरबी सेक्सी बीएफबचपन से ही मुझे सेक्स के बारे में जानने और मस्ती करने का शौक रहा है. रोस्टन और सिंडी कुछ बात कर रहे थे कि अचानक ही उसने सिंडी के चूतड़ पर चपत लगा दी और हम हँस दिए, उसके बीच पर ही मस्ती करने लगे.

इसी के साथ मैं अपने लंड में इंजेक्शन जैसा प्रेशर डालने लगा, तो नीता दर्द से छटपटाने लगी.

क्या तुम मेरी मदद लेना चाहोगी?’शोभा ने वरुण का प्रतिवाद किया तो वरुण ने शोभा की ये बात पूरे कॉलेज में फैला देने की कही, जिसे सुनकर शोभा सोचने लगी कि ये क्या मुसीबत आ गई है. वो मेरा एक हाथ ज़ोर से दबा रही थी, तभी वो सह नहीं पाई और उसने मेरे हाथ में नाख़ून भी मार दिया. मैं अपनी चूत की चुदाई करवा कर बहुत खुश थी क्योंकि मुझे अपनी चूत में लंड लिए बहुत दिन हो गए थे.

हम दोनों इतनी जोर से सिसकारियाँ भर रहे थे कि निश्चित ही दूसरे कमरे में मेरी गर्लफ्रेंड भी समझ गई होगी कि उसकी माँ मुझसे अपनी चूत चुदवा रही है. साली बोली- ओह, तो गांड फाड़ोगे आज? मानोगे नहीं क्या?मैंने कहा- अरे साली साहिबा की गांड है ही इतनी मस्त कि लौड़ा खुद ही गांड में घुसने को तैयार रहता है. अब रोस्टन ने भी मेरी चूत से लंड को बाहर निकाला और सिंडी के मुँह में डाल दिया, सिंडी उसके लंड को चूसने लगी और मैं चिंटू के लंड को.

बीएफ दीजिए तो

रितु दीदी ने फिर पूछा कि क्या तुमने किसी लड़की या औरत को नंगा देखा है? जैसे अपनी माँ, बहन, भाभी, मौसी, नौकरानी को नहाते या कपड़े बदलते?मैंने कहा कि नहीं. अपने खरबूजों की ज़रा सी झलक दिखा दूँगी ना… देखना कैसे उनका लंड लुंगी फाड़ कर बाहर आने को बेताब हो जाएगा हा हा हा. जैसे ही सरपंच का पता करने जा रहा था कि तभी मैंने देखा कि सामने एक गाड़ी से एक आदमी टकराने वाला था, शायद उस गाड़ी का ब्रेक फेल हो गया था.

हाय दोस्तो मेरा नाम राजीव है, मैं आपको अपने जीवन की एक गहरी सच्चाई, रियल सेक्स स्टोरी बताने वाला हूँ.

जैसे ही कमीज़ गले से निकली शहज़ाद का खड़ा लंड सैफिना की आँखों और मुंह के बिल्कुल सामने था.

मैंने उसकी जांघों को अपने हाथों से मसला और चूचियों पर प्यार करने लगा. उनके पति मार्केटिंग सेक्टर में जॉब करते थे इसलिए ज़्यादातर वो शहर से बाहर ही रहते थे. हिंदी में बीएफ मूवीसइतनी उम्र के आदमी के साथ चुदाई करने में तुझे क्या, किसी को इंटरेस्ट नहीं होगा मगर तू यकीन कर, इस उम्र के आदमी चुत को बहुत मज़ा देते हैं.

बोली- एक टूटा फूटा घर है, उसमें रहती हूँ, कभी कोई आता है… चोदता है कुछ पैसे दे देता है और चला जाता है. वैसा उनके सामने मेरा इस तरह से नंगी रहना मेरे लिये कोई नया नहीं था, उसके बाद मैं उनके लिये चाय बनाकर लाई. नेहा- पता है मुश्ताक जब तुम मुझसे पहली बार मिले थे?मुश्ताक- हां नेहा, तब मैं तुम्हारे क्लिनिक पर दवाई लेने आता था.

उसने साँस लेने को अपना मुँह खोला तो मैंने उसकी जीभ को चूसना स्टार्ट कर दिया. और ज़ोर से चोद मुझे, मेरी ये चूत चोद कर निकाल ले पूरी भड़ास गांडू…पप्पू के लंड पे शायद भूत सवार था.

बस तेरे सामने कभी मौका नहीं मिला तो मैंने सोचा आज तीनों ही खुलकर बातें करेंगे.

क्योंकि तरुण ब्रा और पैंटी तो लाया नहीं था इसलिए मैंने सिर्फ घाघरा और चोली को पहन लिया लेकिन चोली पहनते समय उसकी डोरी जो पीछे की ओर थी उलझ गई तथा मैं उसे बाँध नहीं सकी. एक बार तो वो हिचकी मेरा लंड पकड़ने में लेकिन फिर उसने लंड पकड़ लिया और उसे अपने नाजुक कोमल हाथ से सहलाने लगी. दीदी ने मेरा लंड अपने मुँह में ले लिया और आइसक्रीम की तरह लंड चूसने लगीं.

सी बीएफ ओपन कुछ देर में दोनों ने ही धक्के लगाना बन्द कर दिये और दोनों ने उनकी जगह बदल ली. फिर ट्रेन में बिठाकर मैं घर आया और उसका बॉक्स खोला तो उसके अन्दर एक चिट्टी भी थी और उसमें लिखा था- शायद राहुल अपने अंकल का बिजनेस संभाल लेगा इसलिए अब मैं कभी यहाँ वापिस नहीं आऊंगी… पर तुम हमेशा मेरे दिल में रहोगे और ये गिफ्ट हमेशा अपने पास रखना.

आप सबके मुझे बहुत ख़ुशी है कि आपके मेल से मुझे जानकारी मिलती है कि आपको ये कहानी पसंद आ रही है. ?दोस्तो, मेरी इस जवान लड़की की चुदाई स्टोरी पर मर्यादित भाषा में ही कमेंट्स करें. सुमन- पापा, अब साफ सफ़ाई का प्रोग्राम खत्म हो गया ना… अब तो मेरी चुत की आग शांत कर दो प्लीज़!पापा- ठीक है मेरी जान तेरा इतना ही मन है, तो कर देता हूँ.

सेक्सी वीडियो वीडियो भोजपुरी

अब गुलशन जी का लंड आज़ाद था और वो किसी ज़हरीले नाग की तरह फुंफकार रहा था. मैंने मनोज से पूछा तो वो बोला कि चलो अगर घर ही जाना है, तो हम सभी वहीं चलते हैं… और उसकी चाभी मेरे पास ही है. मैंने दूसरे हाथ से उसकी मक्खन गांड के छेद को सहलाना और उंगली करना स्टार्ट कर दिया.

मैं उसको उसी बेडरूम से निकाल कर बालकोनी में ले गई और उसे बोला कि वो खिड़की के परदे के पीछे से सावधानी से अंदर झांके. उसने जो काले रंग की शर्ट पहनी थी वह रेडिमेड नहीं थी, दर्जी की सिली हुई थी और कपड़ा थोड़ा चिकना सा था जिससे उसके जिस्म की महक साफ़ आ रही थी.

पर चुत सील पैक थी और लंड मोटा था तो लंड उसकी चुत के अन्दर नहीं जा रहा था.

अनुराधा- इसस्सस्स…स… आअहह… उफफ्फ़…गर्म पानी उसकी चूत में से होता हुआ उसकी गांड से टपकने लगा. तभी नेहा एकदम से बोली- ऐसी बात नहीं है, डरते तो हम किसी लौड़े की झांट से भी नहीं हैं और आप तो फिर जीजू हो, अब बातें मत बनाओ और जहाँ चाहे चले चलो. कुछ मिनट तक ऊपर से मेरी चूत चुदाई करने के बाद उसने मुझे कुतिया स्टाइल में खड़ा होने को कहा और मेरे पीछे आकर कर के मेरे दोनों चूतड़ चौड़े करके अपना लंड मेरी चूत में घुसा दिया और जोर जोर से चोदने लगा.

दो तीन मिनट ही शेष बचे थे, तो मैं उसके ऊपर से हट गया और बोला- कपड़े पहन ले सपना आ रही होगी. मैंने घूम कर उसे देखा तो उसने कहा- मैं शाम को आऊंगा, साथ में घर चलेंगे. मैंने चाची को पहले धीरे से फिर तेजी से पकड़कर हिलाया पर चाची ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और बेसुध पड़ी रहीं.

मेरा हमेशा से फैन्टेसी है शादीशुदा औरतों को नंगी करके मंगलसूत्र और सिंदूर के रहते हुए चोदना.

झारखंड के बीएफ सेक्सी: मैंने अपना हाथ धीरे से श्रुति के कपड़े के अन्दर डाला और उसके पेट को सहलाया और धीरे से उसकी नाभि पर उंगली फेरने लगा. फिर वो गुस्सा हो गया, बोला- साली रण्डी, अगर तेरी जैसी बहन हो तो दिन रात चोदता.

कुछ देर ऐसे ही लौड़ा ही चुसवाने के बाद मैंने नेहा की दोनों टांगों को अपने कन्धों पर रखा और नेहा की गोरी गांड के नीचे तकिया रख कर उसकी गांड को थोड़ा ऊँचा कर दिया. रास्ते में हम लोग ने डिनर किया और साथ में बहुत ही अच्छा टाइम स्पेंड किया. अगर उन्हें वो ब्लू फिल्म वीडियोज पसन्द आई तो तुम्हें उन्हें भी खुश करना होगा.

उस समय मेरी उम्र 18 साल थी पर उनकी नजर में मैं अभी भी बच्चा ही था शायद इसीलिए उन्हें मेरे सामने ब्लाउज पेटीकोट में रहने में कोई शरम नहीं थी.

चाची बेड की पुश्त पर अपनी पीठ टिका कर लेट गईं और थोड़ी ही देर में उन्हें नींद आ गई. अपना सीना पप्पू के मुँह पे दबाते हुए रूपा बोली- अरे बन गई हूँ ना अब मैं तेरी रंडी पप्पू और हाँ… दूँगी तुझे अपनी बेटियाँ भी. फिर मूवी शुरू हो गई वो तीनों भी आराम से कंफर्टबली बैठ कर मूवी देखने लगीं और मैं भी.