कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो

छवि स्रोत,देहाती सुहागरात सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी वीडियो गाना हॉट: कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो, दोनों बेडरूम के बीच में एक छोटी सी गैलरी थी जो सामने से पीछे की ओर निकलती थी.

यूपी बिहार सेक्स

रुचि भाभी- हैलो जानेमन! अपनी गुप्त फैंटेसी मुझे बताओ, तुम मेरे साथ किस तरह से इंजॉय करना चाहते हो? (उसने अपनी गुदाज चूचियों को दोनों हाथों से एडजस्ट करते हुए कहा)मैं- हैलो भाभी, तुम बहुत ही उत्तेजक लग रही हो और तुम्हें देख कर मुझे मेरी मोटी गांड वाली मां के खयाल आ रहे हैं. सेक्सी वीडियो देसी राजस्थानीवैसे तो गीत हर वक्त व्हाट्सएप पर मेरे साथ चैटिंग करती ही रहती थी और उसने आने से पहले मुझे खुद ही ये खबर दी थी कि वो कनाडा से इंडिया वापस आ रही है.

विडियो सेशन शुरू हो गया और सामने थी वो मैच्योर लेडी वानी, जो बहुत ही सेक्सी और मस्त थी. ग्राम सेक्सी वीडियोकहानी अगले भाग में जारी है। आप कहानी पर कमेंट करके बतायें कि कहानी आपको कैसी लगी? आप मुझे मैसेज करने के लिए नीचे दी गई मेल आईडी का प्रयोग कर सकते हैं।[emailprotected]कहानी का अगला भाग:रिश्तेदार की लड़की को प्यार में फंसा कर चोदा-2.

रिया ने अपने बाप का लंड हैरत से देखा और बोली- इतना बड़ा और मोटा? और वो भी इस उम्र में? मानना पड़ेगा सेठ।रमेश- देख ले रांड, आज इसी से फाडूंगा तेरी गांड।रवि भी अपने कपड़े खोलने लगा.कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो: मेरे मुँह से आई … आई … आई … भाभी जी क्या कर रही हो? यहां तो बहुत मजा आया.

खाना खाने के बाद हम तीनों सोफे पर बैठकर टीवी देखने लगे, तभी कोमल ने जिया को इशारा कर दिया.इसके आगे की जिजा साली चुदाई कहानी में आपको मालूम चलेगा कि मेरी सलहज ने मुझसे चुदवाकर मेरी शर्तों पर कैसे शादी की.

સેક્સ વીડિઓ - कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो

आप सबको मेरी किस्मत कैसी लग रही है, आप अपनी राय मुझे इस पते पर दे सकते हैं.उसकी चूचियां बिल्कुल गोल गोल हैं और उसकी गांड बहुत ही मोटी और गुदाज है.

आकाश ने नैन्सी को ऊपर वॉशबेसिन के स्लैब पर बिठा दिया और उसकी टाँगें चौड़ा कर चूत चुसाई तेज करी. कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो उनकी पत्नी शशि भाभी भी काफ़ी पढ़ी लिखी थीं, लेकिन आजकल घर पर ही रहती थीं.

वो पूछने लगी- क्या हुआ, कुछ बात बनी?मैं बोला- वही कल वाली बात भाभी.

कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो?

मैंने गीत के मम्मों से अपना हाथ उठाया और गीत की दूसरी चूची चूसने लगा और अपना हाथ नेहा के एक मम्में पर रख दिया और उसे सहलाने लगा. इस पर उसने बोला- उनको कैसे पता चलेगा? मैं बोलूँगा नहीं और तुम भी मत बताना. बहुत ही मस्त नजारा था- एक गठीले शरीर का लड़का, जिसकी बाजुएं काफी मजबूत थी और जिस्म एकदम से कसा हुआ और एब्स भी मस्त थे, वो जीन्स और टॉप पहने हुई एक सेक्सी इंडियन गर्ल के सामने नंगा होकर अपने घुटनों पर था.

कुछ देर बाद मां नहाकर बाहर आ गईं और मुझे आवाज देकर बोलीं- हर्षद अब तू जा और जल्दी से नहा के आ जा. मैंने खुद को तैयार तो कर लिया था, पर झिझक ने मुझे अभी भी जकड़ रखा था. ” सानिया ने थोड़ा शर्माते हुए अपनी मुंडी नीचे झुका ली।चलो ठीक है आज हम मिलकर पराँठे सेकते हैं … मेरा मतलब बनाते हैं … तुम एक काम करो.

फिर शांत होकर तय समय के अनुसार मैं 2 बजकर 15 मिनट पर उनके घर पहुंच गया. कुछ देर बाद भाभी ने मेरी ओर करवट ली और बोली- राज, तुमने तो मेरी सारी जिन्दगी की कसर निकाल दी. आह … नशीली सुगंध थी … ये चूतनिवास मस्त हो गया और हल्के हल्के हाथों से उन नाज़ुक पांवों को दबाने लगा.

तो मैंने अनीता को बांहों में जोरों से जकड़ लिया और कहा- साली कुतिया, तुझमें बहुत आग है, चल मुझे अपनी अगन से पिघला दे. फिर वो हसीन चंचल बाला खिलखिलाती हुई पलट पलट कर मुझे देखते हुए मेरी नजरों से ओझल हो गई.

मैंने नेहा की छाती पर खड़े उसके दोनों मम्मों को पकड़ लिया और उन्हें जोर जोर से मसलने लगा.

मैंने वापस कर दिए और बोला- ये मेरा शौक है बस … मैं कोई जिगोलो नहीं हूँ.

उसकी आंखों में पानी आ गया था, पर फिर भी मैं पूरे जोश में उसके मुँह को चोद रहा था. अनीता ने कहा- अच्छा वो तो रेशमा थी!मैंने कहा- नहीं, वो तो काव्या थी!अनीता ने तुरंत कहा- तुमने कैसा जाना?मैंने कहा- पहली बात तो उसकी हाइट कम है और धंधे में पहला दिन है … तो संकोच और हया का स्वाद भी उसके चुंबन में था. अब आगे:जैसे ही हम तीनों तक छत पर पहुंचे, तो बारिश बहुत तेज हो रही थी.

मैंने भाभी से पूछा- भाभी आप हर रोज चुदाती हो क्या?भाभी- शादी के शुरू शुरू में तो हर रात दो बार और दिन में एक बार मेरी चुदाई होती थी लेकिन फिर धीरे धीरे कम हो गया और बच्चा होने के बाद तो लगभग महीने दो महीने में और अब तो छः छः महीने हो जाते हैं, जबकि मेरा तो अभी भी हर रोज दिल करता है. यह सत्य है कि मैंने एक बैंक्वेट की सीढ़यों पर बैठ कर बुलबुल रानी के पैरों को सौ बार चूमा था और उससे एक शर्त जीती थी. आपकी इज़्ज़त और आदर हमेशा बना कर रखूंगा, आप हमेशा खुश रहें … यही तो मैं चाहता हूँ.

अन्तर्वासना पर मेरी ब्यूटीफुल कॉलेज गर्ल की हिन्दी सेक्स कहानी आपको कितनी पसंद आई मुझे जरूर बताना.

मनजीत को बेड पर लिटाते समय मैंने उसके चूतड़ों के नीचे दो तकिये रख दिये. मैं जोर से चिल्ला पड़ी- आह मर गई … छोड़ो मुझे … साले ने मेरी गांड फाड़ दी … हट जा कुत्ते छोड़ दे मुझे!मैं छटपटाने लगी. मैंने अपना लंड जैसे ही नीरजा की बुर से बाहर निकाला, लंड ने फव्वारा छोड़ दिया, जो नीरजा की बुर से फेस तक लाइन बनाता चला गया.

मैं- अरे भाभी, आदमी का दिमाग़ ऐसा ही होता है … कितना भी विश्वास हो, लेकिन कुछ भी सोच सकता है. मैंने नेहा की छाती पर खड़े उसके दोनों मम्मों को पकड़ लिया और उन्हें जोर जोर से मसलने लगा. उसने रिमोट से गाने सिलेक्ट करना शुरू कर दिए और मैंने उसकी पसंद के गाने सुने.

वो अपनी चुत पर उंगली घुमा रही थी और मैं उसके नग्न बदन को देख रहा था.

तो मैंने पूछा- तुमने अपनी बुर के बाल साफ किये या नहीं?तो उसने ना कहते हुए मुंह नीचे कर लिया. मैं उसको अंग्रेजी के दो चार शब्द रोज सिखाता और लगातार प्रैक्टिस कराता.

कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो अब लंड रीना के हाथों में था, वो उसे सहला रही थी, हल्के से खींच रही थी. मैं अपने घुटनों पर बैठ कर उनके लौड़ों को बारी बारी से चूसने लगी।कभी एक के लंड को चूसती और कभी दूसरे के लंड को। मैं दोनों के लंड को चूस रही थी और वो दोनों आंखें बंद करके अपने लंड को चुसवाने का मजा ले रहे थे.

कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो तो चिकनाहट की वजह से उसके लंड का मुंह मेरी गांड में घुस के अटक गया. सर ने मुझे अपने सीने से लगा कर लिटा लिया और मेरी गांड और पीठ सहलाने लगे.

आपने कोई जानबूझ कर तो कुछ किया नहीं और सुनो मुझे कुछ नहीं हो रहा है, आप मेरे बारे में ऐसे मत सोचो.

बीएफ तेल लगा के

रात को नहा कर कुछ भी पहनो, मुझे कोई फरक नहीं पड़ता और अब यहाँ कौन आएगा. मैं आपको बता दूं कि मैं घर में अकेली ही रहती हूं क्योंकि मेरे पति का काम ऐसा है कि वो कई बार महीनों तक बाहर ही रहते हैं. जल्द ही दुबारा चुदाई का मूड बन गया और इस बार पम्मी ने मुझसे पूछा- तुम मेरे बड़ी बहन को चोदना पसंद करोगे?मैंने एकदम से ना कह दिया.

उसने मुस्कराते हुए कॉन्डोम निकाल कर मेरे लण्ड पर पहना दिया।मैंने अपना बायां हाथ उसके सिर के नीचे और दायां हाथ उसकी पीठ के नीचे लगाकर उसे अपनी बांहों में जकड़ लिया. मैंने लंड को तब तक घुसाये ही रखा जब तक उसके पेट में अंदर मेरा सारा माल चला न गया. जैसे ही नेहा शांत हुई तो मैंने उसको छोड़ा और मैं भी वाशरूम में चला गया.

मैं उसके इस तरह के प्रहार से भी बड़ी मुश्किल से झड़ने की कगार पर पहुंचा.

” सानिया ने थोड़ा शर्माते हुए अपनी मुंडी नीचे झुका ली।चलो ठीक है आज हम मिलकर पराँठे सेकते हैं … मेरा मतलब बनाते हैं … तुम एक काम करो. प्रीति भाभी मेरे आगे और मैं उसके पीछे बैठ गया लेकिन जैसे ही नीचे बैठा हुआ ऊँट उठने लगा तो प्रीति घबरा कर मुझसे चिपक गयी और गलती से उसका एक हाथ फिसल कर मेरे लंड पर जा लगा. खैर वो बाहर निकली अपने बालों को टॉवल से लपेटकर और धुले कपड़े लेकर पीछे गैलरी में वो कपड़े सुखाने गयी.

अब भाभी शरमाती हुई बोली- धत्त … तो आपने क्या-क्या सुन लिया देवर जी?मैंने कहा- ज्यादा कुछ नहीं भाभी … लेकिन सिसकारियों की आवाज़ बहुत आ रही थी. अपने दोनों हाथों से मनजीत के चूतड़ फैला कर उसकी गांड का छेद चौड़ा करते हुए मैंने अपना लण्ड मनजीत की गांड में ठोक दिया. तो मुकेश फिर से बाबाजी को दिखाने के बहाने मेरे पास छिंदवाड़ा ले आया.

”क्या मतलब?”वो मेरी कजिन की बेटी का जन्मदिन है सन्डे को तो मेरा आना मुश्किल लग रहा है. नाश्ते के लिए निष्ठा ने आलू के परांठे बनाए थे, साथ में अचार और दही भी था.

मेरा बुखार तो उतर चुका था पर पूरे बदन में दर्द और कमजोरी तब भी लग रही थी. थोड़ी देर लिपलॉक करने के बाद मैंने उसके गालों पर धीरे से काटते हुए उससे कहा- आओ मेरी जान … आज फिर कुछ नया ट्राई करते हैं. मेरा और क्रिया का तो सही चल रहा था लेकिन जरीना के साथ मौका नहीं मिल रहा था।मेरा कमरा ऊपर था.

इससे भी चैन नहीं मिला तो मैंने सोचा कि कोई सेक्सी रोमांटिक इंग्लिश मूवी भी साथ में लगा लेता हूं.

मैं अपने लंड की मुठ मारने के लिए तड़प उठा था लेकिन मेरे टाइट शॉर्टस और अंडरवियर इस कार्य में बाधा बन रहे थे इसलिए मैं शॉर्ट्स के ऊपर से ही उन सेक्सी मॉडल्स को देख कर लंड को मसल और सहला रहा था. उनकी नज़रों में मैं भी बहुत समझदार और शरीफ़ लड़का था क्योंकि मैं भी सलीके से और लिमिटेड बात करता था. साथ ही साथ वो मुझे गालियां देने लगा- आह … साली … रंडी … कुतिया … आज तेरी चूत रंडी की तरह फाड़ दूंगा.

मैंने अपनी लार को उसके लंड की शाफ्ट पर फैला दिया और उसको पूरा चिकना कर लिया. रवि- अरे तुझे पैसे ही चाहिएं न? मिल जाएंगे, मगर आ तो सही मेरे पास।रिया- सेठ अपना एक और उसूल है.

अगले ही पल उसकी चूत पानी छोड़े जा रही थी और मैं उसे चाटे जा रहा था. वे पहचान गए और बोले- अरे भैया बहुत दिनों बाद मिले हो … तो एकदम पहचान नहीं पाया … माफी चाहता हूं. शाही सर ने कहा और अगले बंदे को मैंने जैसे कोल्ड ड्रिंक सर्व की, उसने बड़े इत्मीनान से मेरी नाईटी के गले के अन्दर देखा, फिर मुझसे नज़रें मिलाईं और फिर गिलास उठाते उठाते एक हाथ से मेरे एक मम्मा भी पकड़ कर दबा दिया.

देसी गोल्ड बीएफ

जैसे ही भैंसा ने भैंस की चूत में झटके मारने शुरू किए, भाभी ने मेरी चूत में अपनी उंगली तेजी से चलानी शुरू कर दी और जब तक भैंसा ने अपना काम खत्म किया, जिंदगी में पहली बार मैं भाभी की उंगली से स्खलित हो गई.

वो बोलीं- मुझे बबीता कहने में तुम्हें शर्म आती है क्या?मैं- नहीं भाभी, ऐसी बात नहीं है!वो बोलीं- फिर भाभी!मैंने कहा- सॉरी बबीता. दो चार पलों में ही एक चूत ने मुंह के पास आकर दो तीन बूंदें अमृत की टपकाईं. मैंने कहा- देख लो कहीं बात बढ़ गई तो?भाभी कहने लगी- कोई बात नहीं, जैसी सिचुएशन होगी, तब देख लेंगे.

भाभी- तुम्हारे होते हुए मैं खुश ही रहती हूँ, मुझे अकेलापन नहीं लगता. एक दिन हमारे स्कूल में सुबह प्रार्थना के बाद एक ज़रूरी बात बताई गई कि नेशनल कबड्डी के कोच आए हैं. देसी पिक्चर सेक्सी वीडियोभैया की हाइट लगभग 6 फुट है और कसरती शरीर है क्योंकि भैया पहले रोज जिम जाते थे.

जिया- क्या भाभी आप भी ना!जिया ने अपनी चुत को तौलिया से साफ किया और वो दोनों बाथरूम से बाहर आ गईं. शर्मिष्ठा बार बार प्रतिवाद करती कि नयी साड़ी पहिन कर कल मंदिर चलेंगे उसके बाद आप जो चाहे सो कर लेना; पर मैं कहां मानता था.

मुझे तो लगा था कहीं तुम भी राकेश की तरह बुर पर लंड रखते ही झड़ गए, तो मेरी बुर का क्या होगा. इस पर वो जोर सा हंस पड़ीं और बोलीं- अरे ये तो मैं समझ ही गई थी कि कोई बाबा नहीं होगा. उन दिनों निष्ठा अपने ग्रेजुएशन के सेकंड इयर में थी तो उसकी उमर उस समय यही कोई बीस इक्कीस साल के करीब रही होगी.

मेरी ख्वाहिश पूरी कर दो मेरे राजा।मैं पूरा दम लगा कर सुमीना को चोदने लगा. मेरी भी ज़िंदगी अब पहले से बेहतर हो गयी थी। फिर जब भी कभी बाज़ार से कोई सामान लाना होता तो मैं ड्राइवर के साथ जा कर ले आती. अब तक की सेक्स स्टोरी में आपने जाना कि कैसे पहली बार टीचर ने चोदा मुझे.

इस गाली पर वो मेरे सीने पर जोर से नोंचते हुए बोली- बहुत गंदे हो तुम … हम दोनों बहनों को चोद कर मन नहीं भरा जो मेरी माँ भी चोदोगे?इस पर हम दोनों जोर से हँसे.

जैसे ही मेरा मुंह उसकी चूची पर लगा तो वो जोर से सिसकारी- आह्ह … संजय … चूस ले इनको … बहुत दिनों से इनको किसी ने नहीं पीया है … इनका दूध निचोड़ ले आज … आह्ह … जोर से पी।मैं भाभी की चूचियों को ऐसे पीने में लगा था जैसे कि उनमें से अमृत निकल रहा हो. मैंने कहा- क्या हुआ?वो बोली- रूम तुम्हारा है और मैं तुम्हारी मेहमान हूं.

दोनों मेरे लंड से चुदकर इतनी अधिक खुश थीं कि मुझे 20000 रुपये देने लगीं. मैंने सर से कहा- अब अन्दर करो न!सर ने मेरी तरफ देखा और लंड पर जोर देते हुए एक ज़ोरदार धक्का दे दिया. और बोली- मुझे तुम्हे थैंक यू बोलना था कि तुमने नील को छोड़ दिया और नील जैसा लड़का मुझे मिल गया जो मुझे इतना प्यार करता है, मेरी इतने केयर करता है.

रवि भी रिया के सिर को पकड़ कर प्रेशर के साथ उसके मुंह में अपना लंड घुसाए हुए था. करीब बीस मिनट की कड़ी चुदाई के बाद मेरा लंड झड़ने को होने लगा, तो मैंने रफ्तार तेज कर दी और जोर जोर से उसके चुचे भींचते हुए और निप्पलों को मींजते हुए उसकी चुत में तेज धार के साथ झड़ने लगा. शुरू से ही परम की टूरिंग जॉब है, महीने में 15-20 दिन टूर पर रहना और साथ होने पर भी बात बात पर झगड़ना, गाली गलौज करना परम की आदत रही है.

कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो उन्होंने आई आई टी दिल्ली से इंजीनियरिंग की थी और मैंने दिल्ली टेक्निकल यूनिवर्सिटी से अपनी इंजीनियरिंग की थी. रमेश भी मुस्कराते हुए बोला- ह … ह … ह … साली … रंडी! बहुत पहुंची हुई चीज हो गयी है तू.

सेक्स सेक्सी बीएफ सेक्सी सेक्सी

मामी ने मेरे लंड को सहलाते हुए बोला- ये दम तो नहीं तोड़ेगा ना?वे भी हंसने लगीं. फिर मैं उन्हें बाहर लाकर दुबारा अपने बिस्तर पर ले आया और उनको घोड़ी बना कर भाभी की दमदार चुदाई की. उसने कहा- आह … आ रही हूँ मैं …मैंने चूत चूसते हुए ही कहा- उंह … आ जाओ.

अपनी मालकिन का पानी निकालो, मेरे गुलाम!” मैंने अपनी चूचियों को जोर जोर से भींचते हुए कहा. ” कहकर सानिया मंद-मंद मुस्कुराने लगी थी।इसका मतलब तुम मेरी जलन को बिल्कुल ठीक नहीं करगी?”अले नहीं मैंने ऐसा थोड़े ही बोला है. पाकिस्तान की एक्स एक्स एक्सजबकि एक सौतेले बाप के लिए बेटी के रूम में जाने से पहले दरवाजा खटखटाना तो लाजमी होता है.

मैंने जयपुर में यात्रा ऑफिस खोल लिया और लोगों के टिकट बुक करने लगा.

आजकल तो खैर सब कुछ इंटरनेट और स्मार्टफोन में उपलब्ध है लेकिन उस वक्त अश्लील किताबें छोटे शहरों और कस्बों में काफी चलन में थीं. भैया ऑफिस जा चुके थे और भाभी रसोई में चाय बना रही थी।भाभी ने मुझे तिरछी नजर से देखा और कहा- उठ गए देवर जी … चाय नाश्ता तैयार है, दे दूँ?मैंने कहा- भाभी मैंने अभी ब्रश नहीं किया है.

हमें अपने सीने से सटाकर हमारी चूचियां अपने सीने के बालों पर रगड़ते हुए हमारे होंठ चूसने लगे. उसकी साड़ी को खोल कर उसके पेटीकोट समेत सब नीचे करते हुए उसने रति को नंगी कर दिया. वो दर्द से चिल्लाकर बोली- जीजू निकालो बाहर … आईई मां … मर गयी मैं।मैंने कहा- बस दो मिनट बर्दाश्त कर लो जान … अभी कम हो जायेगा दर्द।फिर मैं उसकी चूचियों को सहलाते हुए उसे चूमने लगा। तब तक लंड बुर में जगह बना चुका था। मैंने जड़ तक लंड को पीछे खींचते हुए दोबारा धक्का मारा और उसके मुंह से निकला- आह जीजू … ऊंह्ह … मर गयी।दोबारा से फिर वही किया और फिर से उसकी वैसी ही आवाज निकली.

तुम तो पूरी तैयारी करके बैठी हो।वो बोली- हाँ कपिल, आज की रात मैं ऐसा महसूस करना चाहती हूं जैसे आज दिन में हमारी शादी हुई हो और अब हमारी सुहागरात हो। बस तुम मुझे इतना प्यार करो कि मैं इस दिन को कभी न भूल पाऊँ.

कभी वो दोनों मुझे किस करते, तो कभी मेरे मम्मों से खेलते, तो कभी गांड पर चपत लगा देते. पायल ने मुस्कुराते हुए पास आकर कहा- अब आप प्रस्तुति के लिए तैयार रहें. तो फिर उन्होंने स्माइल पास की और बोलीं- मेरी कमर में अक्सर दर्द रहता है … तुम कोई ऐसा योग जानते हो, जिससे मेरी कमर का दर्द ठीक हो सके.

ब्लू फिल्म दिखाएं ब्लू फिल्ममैंने जोर का झटका दिया और नाक को बंद किए हुए ही लंड घुसेड़ दिया, जिससे वो पस्त पड़ने लगी. इस टीचर सेक्स स्टोरी के अगले भाग में मैं आपको अपने रंडी बनने की कहानी को आगे लिखूंगी.

एचडी ब्लू फिल्म भेजो

यहां तक कि अगर कोई लेट्रिन या बाथरूम में भी जाएगा, तो दरवाजे बंद नहीं करेगा. वह मदमस्त होकर मेरे लंड का मज़ा ले रही थी। अब वो लंड को पूरा मुंह में लेकर मज़े से चूसने लगी थी। उसकी हर हरकत में एक कामुक प्रेयसी सा प्यार महसूस हो रहा था. मैंने उसके सख्त हो चुके लंड को मुट्ठी में भर लिया और उसे जोर से भींच दिया.

दोस्तो, कैसा रही लॉकडाउन में चरम सुख की प्राप्ति की होम सेक्स स्टोरी?अपने विचार मुझे लिखियेगा[emailprotected]पर. मैं सीधा होकर अपना लंड आधे से ज्यादा बाहर निकालकर जोर से धक्के मारने लगा. [emailprotected]जिजा साली चुदाई कहानी का अगला भाग:चालू अमीर लेडी की वासना पूरी की.

उस रात हमने चार बजे तक तीन बार चुदाई करके अपना नया साल मनाया।अगली सुबह वो उठा तो उसने उठते ही मेरी गांड पर किस किया और मेरी गांड को फैला कर लंड मेरी गांड में डाल दिया और चुदाई शुरू कर दी. मैं उनके फ़्लैट में गया तो क्या हुआ?इसके पश्चात चार दिनों तक रोज़ कई कई बार व्हाट्सएप्प पर बातें होती रहीं दोनों रानियों से. उसे किस करते हुए मैंने उसकी ब्रा भी निकाल दी और उसके टाइट मम्मों को किस करते हुए दूध मसलने लगा.

धीरे धीरे उस पर खुमारी चढ़ने लगी। मैंने उसके स्तनों को धीरे से मसलते हुए उसकी गर्दन पर काटा और धीरे धीरे उसके ब्लाउज के हुक खोल कर उसका ब्लाउज उतार दिया. मैंने दोस्त से इशारे से पूछा, तो वो हंस कर बोला- यार रीना एक नामचीन संस्थान में बड़े पद पर है, कल उस संस्था का उदयपुर, राजस्थान में एक समारोह है … और मुझे कल सुबह मुंबई जाना है.

मेघा- हम्म … लगता है कि मेरी फोटो देखने के बाद तुम कुछ ज्यादा ही एक्साइटेड हो गये हो.

राजेश ने पीछे से अपने हाथ आगे लेजाकर उसके मम्में पकड़ लिए और मसलने शुरू किये. हिंदी सेक्सी एमएमएसमेरे दोनों दूधिया बूब्स मेरे हाथ में थे और उनके गुलाबी निप्पल नुकीले होकर बाहर निकल आये थे. चूत का लंडजब ईशिता ने ये कहा, तो उसकी बात पर हम सब हंस पड़े … और रुमित ने भी कार चला दी. वहां पर क्या क्या हुआ?लेखक की पिछली कहानी:तीन चूतों की गैंग बैंग चुदाईनमस्कार दोस्तो! मैं रवि आप सभी का एक बार फिर से अन्तर्वासना पर स्वागत करता हूँ.

मैं तो तुम्हारी आँखों में जो डूबी कि बस पूछो ही मत! तुम्हारी भूरी आँखों में एक नशा है जो किसी को भी मदहोश कर दे।मैंने कहा- बस बस … मुझे अपनी तारीफ सुनने की आदत नहीं है, मुझे हजम नहीं होगा.

भाभी ने भी खुल कर बताया कि हम दोनों साथ में नहा कर एक दूसरी की चुत और मम्मों के साथ खूब मस्ती कर लेती हैं. वेज, नॉनवेज कुछ भी हो, इतना लज़ीज़ खाना पकाते हैं कि अगर आप खाओगे, तो उंगलियां चाटने पर मजबूर हो जाओ. मैंने गीत के होंठों पर एक किस की और गीत ने दूसरी किस संजय के होंठों पर कर दी.

ये बोलकर उसने अपना लंड मेरी गांड से निकाला और मेरी चूत पर टिका दिया. दादी बोली- ये अब खस्सी हो गया है, बस ऐसे ही करता रहेगा, निक्कमा कहीं का. मैंने कहा- सही सुना है और सुनो, तुम्हें चोदने से मेरे लण्ड को जो सुकून मिल रहा है ऐसा ही कुछ तुम्हारे साथ भी हो रहा होगा, खुलकर बोलो और मजा लो.

हिंदी सेक्सी फिल्में ब्लू

कुछ ही देर में भाभी जी पूरी हॉट हो गईं और लंड को पेंट के ऊपर से ही पकड़ कर हिलाने लगीं. उनके साथ चाहे मैं पार्क में होऊं या मॉल में … या किसी पब्लिक प्लेस में … वो लोग मेरे साथ हरकत करने का एक भी मौका नहीं छोड़ते. इंडियन भाभीस चुदाई कहानी में पढ़ें कि मेरे दोस्त की भाभी भी मेरे से चुद कर माँ बनना चाहती थी.

30 बजे भिलाई से दुर्ग के अप्सरा टाकीज़ पहुँच गया और मैंने वहां जाकर दो टिकट बालकनी के ले लिये.

भाभी ने अपनी आंखें बंद कर ली और अपने नीचे वाले होंठ को दांत से दबा लिया.

मैं ऊपर से उतर कर बेड पर पीठ के बल लेट गया, मेरा मोटा और तगड़ा लंड छत की ओर अपना फन फनाता हुआ सुपारा निकाल कर खड़ा था. आकाश बोला- क्या देख रही हैं?नैन्सी बोली- कुछ नहीं … बस तुम्हारा कसरती बदन देख रही हूँ. ववव क्सक्सक्स विडिओमैंने कहा- भाभी, मेरा लंड चूस दो न एक बार?वो तैयार हो गयी और उसने उठ कर मेरे लंड को मुंह में ले लिया और चूसने लगी.

मैंने कहा- मुझे तो बस यही डर है कि लड़कियों को शक न हो जाये?भाभी पूरी तरह से वासना में डूबी हुई थी, बोली- जो कोई भी चूँ चपड़ करेगी मैं उसकी गांड फाड़ दूंगी. मैंने हल्का सा धक्का दिया और मेरे लंड का टोपा उसकी चूत में उतर गया. हर महिला चुदवाने के बाद मुझे कुछ ना कुछ गिफ्ट, पैसे, गहने देती थी … इससे मेरी सलहज जो अब मेरी बीवी थी, वो भी खुश हो जाती थी.

यह सुनकर भाभी रोमांचित हो उठी और बोली- सच में तुमने पहली बार चूत मारी है?मैंने कहा- जी भाभी, पहली बार आपको ही चोदा है. मैंने उन्हें बाइक स्टैंड पर लगाकर स्टैंड पर सीट पर टिकाकर अपनी पैंट नीचे कर दी और खड़े खड़े ही उनकी चूत में अपना लंड पेल डाला.

पहले तो मुझे लगा शायद ये मेरा ये भ्रम है, पर अब तो वो रोज ही स्माइल पास करने लगी थीं.

उनका सिर मेरे कंधे पर टिक गया था, जिससे वो मेरी गहराइयों को देख रहे थे. मैं अपने दोस्त की बीवी की चुदाई करने के लिए उसे वहां से लेकर निकल गया. मुस्कुरा के राजेश बोला- क्या तुमको लगता है मैं तुम्हारा मजाक बनाऊंगा.

সেক্স ভিডিও চালু मैं उसे, उसका निश्छल सौन्दर्य, उसका वो लुभावना रूप देख कर अवाक रह गया. मैं अपने भाई से बोली- तू बहनचोद अपनी बहन को चुदते देखना चाहता था ना … तो अब देख भोसड़ी के.

फिर मैंने क्या किया?अंतर्वासना के सभी रीडर्स को मेरा हैलो!फ्रेंड्स, मेरा नाम आशुतोष बनर्जी है और मैं 52 साल का हो गया हूं. आपकी इज़्ज़त और आदर हमेशा बना कर रखूंगा, आप हमेशा खुश रहें … यही तो मैं चाहता हूँ. खैर, थोड़ी देर बाद भैंसा ने एक जम्प और लभैंसा और भैंस के ऊपर चढ़ गया परंतु उसका लण्ड बाहर ही नहीं निकला.

हिंदी सेक्सी भाभी के वीडियो

थोड़ी देर में भाभी ऊपर छत पर आईं, तब मुझे पता चला कि वो हर रोज धूप के लिए ऊपर आ जाती थीं … क्योंकि छत का दरवाजा खुला ही रहता था. मैंने उसके दोनों दूध थाम लिये थे और ज़ोर-ज़ोर से दबाने लगा।वो सिसक उठी- आह प्लीज, धीरे-धीरे करो ना।रितु, मेरी जान … कब से तड़प रहा हूँ इस गर्म गर्म रेशमी जिस्म के लिये। कितनी प्यारी हो तुम आह …”तो वो भी सिसक उठी- सच्ची बहुत तड़पाया है तुमने।क्या हुआ जान?” मैं मुस्कुराते हुए बोला।उसकी शर्म से बुरी हालत हो गई।कुछ नहीं …” वो धीरे से बोली।मेरा गर्म गर्म सख्त लण्ड उसकी चिकनी टांगों में मचल रहा था. कार्यक्रम कुछ लम्बा खिंचने लगा था, इसलिए चालीस मिनट बाद पौन पांच बजे उसके नाम की घोषणा हुई.

सरोज की चिकनी और गोरी जांघें और पाव रोटी सी फूली हुई चूत मुझे बहुत ही सुंदर लग रही थी. फिर जब शर्मिष्ठा एकदम नार्मल हो गयी और घर का काम काज करने लगी तो सासू माँ भी अपने घर चली गयीं और हमारा जीवन पहले की तरह ही सामान्य रूप से चलने लगा.

आज प्रिंसीपल सर के लंड को चूस कर मैंने अपनी चुत के लिए मोटे लंड की खोज कर ली थी.

इसी के कारण अब मैं अपनी वासना को शांत करने के लिए हस्तमैथुन का सहारा लेने लगा था. जो शायद मुकेश की मां ने महसूस कर लिया था, पर अपने पोते की खुशी उनके लिए ज्यादा जरूरी थी. उनकी चुत में चुदाई की आग लगी थी, तो उन्होंने रास्ते में जंगल के सुनसान इलाके में ही मुझसे अपनी चुत चुदवा ली.

मैं- क्या मैं रूम में अंदर आ सकता हूं डिअर?अस्मि- ओह्ह हां … आने से पहले जरा पूछ कर आयें डैडी. लोग-बाग घूमते या तालाब की बाउंड्री वाल पर बैठ कर आम तौर पर गप्पें मारते दिख जाते थे. मैंने हंसते हुए उससे कहा- भाई अंकिता भाभी के साथ एक राउंड भी हो गया है.

जब उसकी चुत की दीवारों पर लंड का पानी पड़ा, तो वो भी कामुकता की चरम पर पहुंच गयी और साथ ही झड़ने लगी.

कोलकाता बीएफ सेक्सी वीडियो: कभी कभी वो उसका स्तन अपने होंठों में ले लेता और सारा चूचा होंठों में लेने का यतन करता. ऐसे हम बातें कर रहे थे तो संजय बोला- अब अगला प्लान क्या है?नेहा बोली- हम तो रेडी हैं, आप बताओ?गीत ने कहा- थोड़ा सा रेस्ट कर लें, फिर करते हैं.

जिसकी वजह से मैं दर्द को भूल कर कामुक सिसकारियां निकालते हुए अपनी चूत की ताबड़तोड़ चुदाई करवाने लगी. मैंने गहरी सांसें लेना शुरू किया और अपने लंड को छेड़ना बंद कर दिया. उसने अपने हाथ ऊपर उठाकर आकाश के घुंघराले बालों को पीछे से पकड़ कर उसको अपनी ओर झुका लिया.

पर समस्या ये थी कि मुकेश के मम्मी पापा के होते हुए उसके घर में मैं उसकी बीवी के साथ कैसे सोता? और उसके मम्मी पापा बिना खुशखबरी सुने बालाघाट से दरभंगा, जहां उनका घर था नहीं जाएंगे.

मेरा लंड उसकी गांड में घुसने लगा और फिर …आप सबने मेरी Xxx कहानी भाभी की चूत की के पिछले भागजैसलमेर के रेत के टीले- 1https://www. मैंने नेहा और बिन्दू की तरफ देखा तो वे दोनों भी बोली- मम्मी ठीक कह रही हैं, आप सामान कल ले आना. उसके उदर पर बच्चा जनने का हल्का निशान उसके मातृत्व सुख का सुबूत दे रहा था … लेकिन उसने सचमुच अपने शरीर को ऐसे ढाल रखा था कि कोई नवयौवना भी उसके समक्ष फीकी लगे.