पिलाने वाला बीएफ

छवि स्रोत,गांव की लड़की बीएफ वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी बीएफ एचडी सेक्सी: पिलाने वाला बीएफ, जब मॉम को चूत में उंगली का पूरा मजा मिलने लगा तो उसने मुझे बांहों में ले लिया और हम दोनों के होंठ मिल गये.

बीएफ सेक्सी बिहारी सेक्सी

मैंने दरवाजा बंद कर दिया और जाकर उसको पकड़ कर किस करने लगा, वो भी बड़ी बेताबी से मुझे किस करने लगी. सेक्सी बीएफ चोदीतो देखा उसके होंठ एकदम लाल पड़ गए थे क्योंकि शायद मैंने बहुत तेज़ से उसके होंठों को चूमा था.

फिर उसने मुझे एकदम से उठकर पटका और मेरे अंडरवियर को खींचकर निकाल दिया. सरिता भाभी कार्टून बीएफमैंने कहा- रानी, मैं तुम्हारा नंगा बदन देखने के लिए बहुत पागल हूँ और अब मुझे चैन नहीं पड़ेगा जब तक मैं तुम्हें नंगी नहीं देख लेता.

मैं रूम में जाकर पैंट निकाल कर नंगा हो गया और आँखें बंद करके चाची के साथ हुई बातों को याद करके मुठ मारने लगा.पिलाने वाला बीएफ: इधर मेरी उत्तेजना भी चरम पर थी; मैंने अपने कपड़े भी फटाफट उतार फेंके और सिर्फ शॉर्ट्स पहने हुए मंजुला की ग्रीवा को चूमने लगा.

इस वजह से राजसी एकदम से अधिक उत्तेजित हो गयी और ‘उफ्फ ई आह आह … साहिल घुस जा मेरे अंदर … और ज़ोर ज़ोर से …’ बोल कर सिसकारियाँ लेने लगी।कुछ देर अपनी चूत चटवाने के बाद जब राजसी झड़ गयी.उसमें देखा तो पता चला कि उस दिन दीदी ने अपनी सुहागरात का इंतजाम कर रखा था।ठीक कुछ देर बाद जब दीदी बाहर आई तो उसने अपने फोन में देख कर मुझसे कहा- स्नेहा, आज मेरी क्लासमेट ने अपने घर पर ग्रुप स्टडी प्लान की है, तो आज तुम यहां अरेंज कर लेना.

सेक्सी बीएफ साड़ी वाली हिंदी - पिलाने वाला बीएफ

ये हेमा चाची की ओर से खुली इजाजत थी कि मैं जो चाहूँ, हेमा चाची के साथ कर सकता हूँ.पहली बार मैंने उनका नंगा बदन तब देखा था … जब वो एक बार छत पर नहा रहे थे.

अभी कुछ मिनट ही हुए थे कि लंड के प्रहारों से हार कर मंजू के शरीर ने अपने वीर्य का फव्वारा ठाकुर के लंड पर फिर से कर दिया. पिलाने वाला बीएफ घर लौटा तो पता चला कि मेरी दादी माँ और बुआ दूसरे गांव में एक रिश्तेदार के यहां चले गए हैं।ब घर में सिर्फ मैं, रिया और चाचा और उनके बच्चे ही थे।गांव में वैसे सब ताश-पत्ते से खेलते रहते हैं.

गरम औरत चुदाई कहानी के पहले भागअनजान महिला मुझे होटल में ले गयीमें अब तक आपने जाना था कि मुझे रास्ते में एक मैडम ने अपनी कार में बिठा लिया था.

पिलाने वाला बीएफ?

मैंने लंड सहलाते हुए मैडम की पसरी हुई चुत की फांकों में लंड का सुपारा घिसना चालू कर दिया. मैंने पूछा तो भाभी ने बताया कि मेरे पति बाहर जॉब करते हैं, उनको पूरा टाइम नहीं दे पाते हैं. वो पागलों की तरह सिसकारने लगी थी- आह्ह … आह्ह … और जोर से … आह्ह पी लो … ऊह्ह मम्मी … आह्ह … चूस जाओ.

फिर मैंने चाची को बोला- अगर कोई सुन लेगा तो बहुत प्रॉब्लम हो जाएगी. फिर उसके भाई का फोन आया तो उसने किसी तरह से बहाना बनाया कि वो कल सुबह ही आयेगी. मुझे मोना से एक तरह से नफरत होने लगी थी कि अगर वह यह सब काम मेरे सामने करती … तो मुझे दुख नहीं होता.

उसकी गोरी चूचियों की एक झलक ही मिली थी कि उसने अपने दोनों हाथों से अपने लड्डुओं को ढक लिया. कुछ ही समय में लंड ने अकड़ कर रस छोड़ दिया और लंड का पूरा माल उसके हाथ में लग गया. वैसे तो सीट में काफी जगह थी पर वो मेरी तरफ़ पीठ करके मेरी गोद में लगभग बैठते हुए मुझसे अगली सीट पर बैठ गई।और अब प्रिया भाभी वाली सीट पर आ गई।मुझे समझ नहीं आया क्या खिचड़ी पकी है।अब प्रिया ने मेरी और अपनी सीट के बीच वाले हिस्से पर हाथ रखा.

उनसे लड़कियों और महिलाओं के गर्भाशय को नुकसान ना पहुंचाने के लिए प्रार्थना है. मैंने सेक्स के मजे में ऐसे ही बोल दिया- हां जाओ बुला लो, आज मैं तुम दोनों को शांत कर दूंगी.

मेरा लण्ड दी के बूब्स के बीच बहुत टाइट तरीके से अंदर बाहर होने लगा।श्वेता अब कभी अपने होंठों को दबा कर मजा जाहिर करती तो कभी आंखों को बंद कर गहरी सांस लेती।उनके चेहरे के भाव देख मैं उनके ऊपर ही झड़ गया। मेरा सारा माल दी के बूब्स और उनके गले में लग गया। दी ने अपनी उंगली से अपने बूब्स का माल चाटा.

फिर मैंने उस चड्डी को अपने पजामे की जेब में छिपा लिया और मुँह हाथ धोकर कमरे में हेमा चाची के पास चला गया.

उस समय मैं एक शॉपिंग मॉल में प्लमबिंग और इलेक्ट्रिसिटी के सुपरविजन का काम देखता था. ऐसा कुछ भी नहीं है, बस शुरू में अच्छा लगता है उसके बाद यह एक दलदल बन जाती है. मैंने कहा- नहीं।वो बोली- मुझे पता है कि तुम्हारी उम्र बड़ी है मगर तुम दिखने में ही छोटे हो.

जिससे वो उचक गई।मैंने थोड़ा सा थूक लगाया और लंड को उसके मुँह में डाल कर गीला किया और फिर उसकी चूत में डालने की कोशिश की।मेरे लंड का सुपारा चिकनी चूत में घुस गया और उसकी चीख निकल गई- आआआ आ आओह … हहांह … हहाह …हहहो!मैंने तुरंत अपने होंठ उसके होठों के ऊपर रख दिए और उसकी चीखें दबा दी।उसे बहुत दर्द हो रहा था. लेकिन जवान लड़की की चुदाई कहानी शुरू करने से पहले मुझे अपना परिचय देना चाहिए।मेरा नाम मीत है। नाम बदल दिया गया है. मेरे पति के दोस्त ने जब मेरी चूत में अपना सारा पानी निकाल दिया … तो मैंने उसे अपनी बांहों में भींच लिया और उसे प्यार करने लगी.

मैं मामा के जिस्म का दीवाना था और मैंने अपनी हर चाहत पूरी करने की ठान ली.

उसकी चुदास इतनी ज्यादा बढ़ गयी थी कि वो जोर जोर से आवाजें करने लगी. मैं रूबी के घर के अन्दर गया, तो मैंने देखा कि रूबी ने एक पतली सी नाइटी पहन रखी थी, जो कि काले रंग की थी. शालू के माता पिता ने उसकी शादी प्रमोद के साथ इसलिए कर दी कि वो देखने में भी ठीक था और घर में पैसे या सुख सुविधा की कोई कमी नहीं थी.

कोई भी जवान स्त्री किसी प्रुरुष की काम लोलुप नज़र को भली भांति पहचानती है, तो मंजुला भी सब कुछ समझ कर चुपचाप सिर झुकाए खाना खा रही थी. अब मैं समझ गयी कि मेरी दो बार झड़ने के बाद अब ये पहली बार झड़ने वाला है. उसके बाद मैंने उसे अपनी बाइक पर बैठाया और पहले से बुक किए एक ओयो होटल में ले गया.

मेरे वहां पहुंचते ही हेमा चाची बिस्तर से खड़ी होकर मेरे पास आईं और मेरे गले लग गईं.

दीदी की खुली चूत मुझे रह रहकर आमंत्रित कर रही थी कि आ और मुझे चोद ले. खाना मेज पर रख कर वो ठाकुर को बताने गयी थी, तब उसने देखा कि ठाकुर भी कपड़े पहन चुका था.

पिलाने वाला बीएफ मैंने धीरे से पैन्टी में हाथ डाल दिया, तो देखा कि मेरी बीवी की चूत काफी खुली हुई थी. नूपुर भी समझ गयी थी कि मेरी नजरें कहां हैं और वो किस अंग को पाने के लिए प्यासी हैं.

पिलाने वाला बीएफ ये सब मैंने इतनी ताकत के साथ किया था कि हेमा चाची कांपने लगी थीं और बिस्तर पर पड़ी पड़ी आहें और कराहें भर रही थीं. मैंने उसके बालों को पकड़ा और उसके मुंह में लंड दिये हुए ही उसकी एक फोटो ले ली.

मेरे हस्बैंड एक महीने के बाद आए थे, तो उनके लिए मैं एकदम दुल्हन की तरह तैयार हुई थी.

ईमानदारी पर निबंध

सेक्सी बुआ की वासना की कहानी में आज मैं आपको अपनी जीवन में हुई इस खास चुदाई के बारे में बताने जा रहा हूं. वो अपने हाथों से धीरे धीरे झांटों को हटाता गया और अलीमा की गुलाबी चूत फिर से उसे दिखने लगी. ये सुन कर मैं और ज्यादा उत्तेजित हो गया और अपने बीवी की चूत को काटने लगा.

मैं अपने हाथों से हेमा चाची की मोटी चूचियों को मसलने लगा और उनकी गांड को अपने दोनों हाथों से मसलने लगा. फिर मैंने पूछा- क्या तुमने साक्षी से पूछा कि उसे कैसा लगा?कल्पना ने कहा- मैंने वही तो बताने के लिए कॉल किया है तुम्हें. जब पूरा लंड अन्दर चला गया तो विजय ने एक दो बार उसे आगे पीछे किया और जब लंड आराम से अन्दर बाहर होने लगा.

नहाने के बाद हम दोनों ने एक ही तौलिया से अपना अपना बदन पौंछा और बिना कपड़े पहने नंगे ही हेमा चाची के कमरे में आ गए.

उसने एक बार तो निकलवाने की कोशिश की लेकिन मैंने थोड़ा जोर लगाया और चूत में उंगली करता रहा. अब मैं भी झड़ने वाला था तो मैंने लंड की रफ्तार तेज कर दी और तेजी से अंदर-बाहर करने लगा. फिर मैंने कम्बल के नीचे मेरे बायें हाथ से मेरी शार्ट पैंट जो मेरे शरीर पर एक बोझ जैसी बन चुकी थी, उसको धीरे धीरे से उतार दिया.

ओपन सेक्स कहानी में पढ़ें कि एक बार सेक्सी मूवी देखने गये दो दोस्तों को टाकीज में एक आंटी मिली. कुछ दूर ही पहुँची थी मैं … कि फिर बारिश बहुत तेज़ हो गयी तो मैं एक किनारे खड़ी हो गयी।10 मिनट बाद देखा तो सामने से साहिल भीगता हुआ आ रहा था. उसने कमोड का ढक्कन बंद करके उस पे रानी को बिठा दिया और उसके मुँह के सामने अपना विशालकाय लौड़ा हिलाने लगा.

मैं उसकी बांहों से लिपट कर घर आ गयी।घर आने के बाद मैं रागिनी के पास चली गयी सोने और साहिल अपने कमरे में।अगले दिन रागिनी ने मुझे सुबह सात बजे उठाया, बोली- तैयार हो जा … घर चलना है. तेरे घर का है … मेरे तो नहीं, मेरी ही सेटिंग करवा दी इससे।मैं उससे बहुत मिन्नत करने लगी- प्लीज यार, जाने दो.

मैं बहुत बुरी तरह से गर्म हो गई थी और बस यही चाह रही थी कि बस अब वो अपना लंड चूत में पेल दे. तो उसके हाथों के स्पर्श से बलविंदर का लंड कुछ और भी ज्यादा टाइट हो गया और उसे सलामी देने लगा. जब भी मैं सलोनी से बातें करता तो मेरा ध्यान बस उसके 34 साइज के बूब्स पर होता था जिसको कई बार सलोनी ने भी नोटिस किया मगर उसने कभी मुझे कुछ कहा नहीं.

फिर एक दिन मैंने उससे बाहर घूमने चलने के लिए कहा, तो वो राजी हो गई.

अब मैंने आहिस्ता आहिस्ता झटका लगाना चालू किए, तो वो फिर से रोने लगी थी. तो मैं भाभी का हाथ पकड़ कर अपनी सीट पर आ गए।भाभी ने मेरा हाथ पकड़ कर अपनी चूची पर रख दिया।मैं उनकी चूची दबाने लगा. उसकी चूत की सिकुड़ने मुझे अपने लंड पर महसूस हुई और उसकी चूत ने बहुत सारा गर्म द्रव छोड़ दिया.

तुम्हें कहीं लगी तो नहीं?वो बोली- नहीं, लेकिन सारे कपड़े खराब हो गये तुम्हारे. उसे इस तरह से अपनी गोद में लेने से मुझे बड़ी ही लज्जत महसूस हुई और मैंने उसके गाल पर एक लव बाईट ले लिया.

क्योंकि मुझे हमेशा से ही ऐसे काम के चक्कर में अपनी गांड की मां ना चुद जाए, इसका डर लगा रहता था. साड़ी होने के बावजूद मैं फील कर रहा था कि भाभी की गांड एकदम रेशम जैसी मुलायम है. ये शायद इसीलिए हुआ था क्योंकि मैंने अपना लंड हेमा चाची के काफी अन्दर तक जो डाल दिया था.

आदिवासी सेकसी

मैं बोला- अब कैसी शर्म है? अब तो जल्दी ही तुम मेरे बच्चे की मां बन जाओगी.

उस टाइम मुझे ऐसा प्रतीत हो रहा थी जैसे किसी चोर के सामने खुली तिजोरी हो!वो खड़ा था और मैं सोफे पर बैठ कर उसका लन्ड चूसा. फिर कुछ समय बाद कुछ ऐसा हुआ कि मेरे हस्बैंड को बिजनेस के सिलसिले से बाहर जाना पड़ा. इस अचानक हुए प्रहार से मेरा लगभग आधा लंड उसकी चुत की फांकों को चीर कर अन्दर घुस गया.

फिर उसी ने अपने हाथ से ब्रा को नीचे करके मेरे मुँह में अपनी चूची दे दी और सीत्कारते हुए कहने लगी- आह अन्नू … खा जाओ मेरी चूची को आह कितना मजा आ रहा है! आह … चूस लो पूरा निचोड़ लो इसे. मैं जोर जोर से उसकी चूत में लंड को पेलने लगा और वो सिसकारते हुए चुदने लगी. बीएफ बीएफ बीएफ बीएफ एचडी बीएफतभी सलमान ने फिर से लंड को धक्का मारा और इस बार उसका पूरा लंड मेरी अम्मी की चुत में जड़ तक घुस गया.

उसकी टांगों को पूरी खोलने के लिए मैंने लैगिंग को पूरी ही निकलवा दिया. मैंने साईट को पूरी तरह से खंगाला तो पाया कि कई लेखकों ने अपनी मां की चुदाई की कहानी को खुल कर बेहिचक लिखा हुआ था.

मैंने कहा- अभी तुम क्या कर रही हो?वो बोली- दूसरे रूम में आकर चूत फैलाकर बेड पर लेटी हुई उंगली से सहला रही हूं. नेहा मेरे लंड पर थूक कर चाट रही थी और लंड को अपने गले तक ले रही थी, जिससे उसके मुँह की लार लंड पर चिपक कर नीचे बह रही थी. एक महीने से मैं घर पर अकेली थी, उनको देखकर मेरा खुश हो जाना लाजिमी था.

फिर मैंने कहा- मैं आपसे वादा करता हूं, कल मैं पक्का आपके पास आ जाऊंगा. वो गाली देते हुए बोलीं- साले बुआ चोद … आराम से कर भोसड़ी के … मुझे दर्द हो रहा है. उसने मेरी कमर और पेट को चूमते हुए मेरी चड्डी नीचे सरका दिया और मुझे पूरी तरह से नंगी कर दिया.

मैंने उसके दूधों को दबाते हुए उनको पीना शुरू कर दिया और उनका स्वाद लेने लगा.

जब शादी से पहले चूत में एक बार लंड चला ही गया, तो अब बार बार भी जाने देती हूँ. साहिल से फ़ोन में बात होती रही।दो दिन बाद से मैंने इंस्टीट्यूट जाना शुरू किया.

मैंने अंदर झांक कर देखा तो मॉम ने अपनी मैक्सी एक तरफ टांगी हुई थी और वो अपनी ब्रा के हुक लगा रही थी. कुछ दिन के बाद एक दिन जीजा जी शहर से बाहर चले गए थे कुछ काम से!तब हम दोनों ने मिल कर साहिल को बुलाया और उस दिन मैं और दीदी दोनों एकदम दुल्हन के तरह सज गयी जैसे आज हम दोनों की सुहागरात हो।कुछ देर बाद घर की बेल बजी तो मैंने जा कर खोला. उसकी चूत के गर्म पानी में मेरा लंड नहा गया और मेरे लिये यह एक नया ही अनुभव था.

और उसका … या यूं कहिए कि इतने मस्त शरीर वाले लड़के का नंगा शरीर मैं पहली बार देख रही थी।अब मैं उसकी छाती को चूमने और चाटने लगी और उस पर भी मैंने अपने दांत के निशान दिये. जोर से धक्के मार … साले पूरा लंड घुसेड़ दे मेरी गांड में … मेरा गांडू पति तो मुझे चोदता ही नहीं … आह तू चोद जोर जोर से चोद. उन्होंने पूरा पानी चूस लिया।फिर मैंने भाभी की चूत को छूने की कोशिश की तो भाभी बोली- साड़ी मत उतार देना.

पिलाने वाला बीएफ पहले मैंने सिर्फ उसके टोपे को अपनी जीभ से सहलाना शुरू किया और उसके हाथ ताबड़तोड़ मेरे बदन को मसले जा रहे थे. अर्पित और हर्षदीप वहाँ पहुंचे और उन्होंने घर की डोरबेल बजाई तो अंदर से वही आंटी बाहर आई.

सेक्सी सेक्सी मूवी वीडियो

वो कामुक सिसकारियां भरती रहीं और मेरा सिर चूत पर दबा दबा कर मजा लेने लगीं. मैं- अच्छा तो आज तुमने ब्रा पहनी थी?नेहा- हां सिर्फ ब्रा और साड़ी पहन कर आयी हूँ. उसकी इन बात को सुनकर मैं भी गर्म हो जाता था और सोचता था कि जब मेरे दोस्त मेरे सामने मेरी बीवी को चोदेंगे, तो सच में कितना मजा आएगा.

मैं समझ गया कि आंटी की चुत काफी दिनों से नहीं चुदी है इसलिए उसमें आग लगना स्वाभाविक है. अब मैं बिल्कुल उनके लंड के समीप तक अपने हाथों को लेकर जाती और जांघों के जोड़ तक अपनी उंगलियों को टच कर देती. बिहार के बीएफ ओपनअभी उसके लंड का सुपारा ही मेरी गांड में घुसा था मगर दर्द काफी हो रहा था.

दीदी ने पूछा- क्या हुआ?तो मैंने उनसे झूठ बोला- मेर पैर मुड़ गया और मैं चल नहीं पा रही.

अब लंड का पानी निकल गया और मैं चूत में डाले डाले चाची के ऊपर गिर गया।मैं नंगा ही सो गया. उम्मीद है आप को पसंद आयेगी।शुरू से ही मेरी रूचि लड़कों में ज्यादा रही है.

बात उस समय की है जब मैं जवानी को छू चुकी थी यानि कि जब मैं 19 साल की होने को थी. दोस्तो, एक लंड देखने की लालसा में मुझे अपनी गांड मरवानी पड़ी एक टॉप आज बॉटम बन गया था. फिर जो मेरे लंड का पानी छूटा, तो ऐसा छूटा कि मैंने अपने लंड का सारा का सारा सफेद पानी हेमा चाची की गांड के छेद में उड़ेल दिया.

मेरे जेहन में सोते-जागते, दिन-रात सिर्फ और सिर्फ हेमा चाची का ही ख्याल आता रहता था.

चाची ‘उईई ईई ईईश सीईई उम्म्ह … हाह’ की आवाज निकालने लगी।उसकी चूत नमकीन थी. सुरभि कहने लगी- यह छेद तो बहुत टाइट है … इसमें आपका लंड कैसे समाएगा?मैंने कहा- इस छेद में भी चला जाएगा बन्नो. फिर मैंने हेमा चाची से कहा कि चाची देखो मुझे लगता है कि टीवी के पीछे के तारों में कुछ दिक्कत है.

एक्स एक्स एक्स बीएफ देखना हैखैर उस दिन मैं पूरा स्कूल टाइम टेन्शन में रहा।स्कूल की छुट्टी से 10 मिनट पहले मैडम ने मुझे दफ्तर में बुलाया. दोस्तो, आप भी जानते हैं कि जब हम रोजाना पोर्न देखने लग जाते हैं तो फिर साइट के हर कोने को टटोल लेते हैं.

film शादी में जरूर आना फुल मूवी हिंदी

करीब आधे घंटे बाद मंजुला खाना बेडरूम में ही ले आई और फिर बिस्तर पर ही अखबार बिछा पर उस पर प्लेटें सजा दीं. नेहा- ह्म्‍म … जीजा जी को कुछ काम था तो वो बाद में आएँगे, अभी सिर्फ़ दीदी आई है. अर्पित और हर्ष अब दोनों साथ साथ बैठे थे और आंटी उन दोनों के बीच में नीचे बैठी थी.

टॉप उतारते ही उसके बूब्स नीले रंग की छोटी सी ब्रा से बाहर आने को बेताब दिख रहे थे. एक बार फिर से मैंने उसको नीचे पटक लिया और उसकी चूचियों को ब्रा के ऊपर से ही जोर जोर से मसलने लगा. चेहरा सनी लिओन जैसा एकदम सेक्सी और खूबसूरत।एक बार मैंने हिम्मत करके मोनी को प्रपोज मारा तो साली ने मेरी बेइज्जती करके मुझे इग्नोर कर दिया.

वो बहुत हैंडसम था लंबा चौड़ा शरीर एकदम मस्त था।लेकिन बस वो दिखा और चला गया।कुछ दिन इसी तरह बीते. मैं उनकी चुत के पानी को चूत से बाहर आने से पहले ही चाटता जा रहा था. जवान जिस्म थे, तो जल्दी ही फिर से आग लग गई और हम दोनों ने फिर से चुदाई की.

वो मस्त हो कर मेरे लंड पर उछल उछल कर चूत चुदाई का मजा ले रही थी।अब उसने अपनी रफ़्तार बढ़ा दी और चूत से लंड को चोदने लगी।उसकी रफ़्तार बढ़ती जा रही थी और लंड के घोड़े पर सरपट दौड़ रही थी।अब उसकी चूत कसने लगी और लंड पर दबाव बनाने लगी।उसके चेहरे का रंग लाल हो गया और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. अब मेरा लंड धीरे धीरे फूलता जा रहा था, जिसे हेमा चाची अपने हाथ में महसूस कर रही थीं.

मैं अब रोए जा रही थी और वो मेरे आंसू पौंछते हुए बोला- घबराओ नहीं जान … अब बहुत धीरे करूंगा.

मैंने जोरों से उसके स्तन दबाए, मैंने उसके निप्पल को उँगलियों से मसलने लगा।अपने होंठों से मैंने उसके होंठ बंद कर दिए।उसके आंसू निकल आए।शायद उसने इतना बड़ा लंड कभी नहीं लिया था. एक्स एक्स एक्स वीडियो बीएफ न्यूवो सिसकारती हुई बोली- आह अंकल … अब क्या कर रहे हो … इतने दिन से मैं रोक रही थी … तो पास आने की कोशिश कर रहे थे. देसी सेक्सी मूवी बीएफजैसे ही उनके झांटों के एरिया पर किस किया तो उन्होंने मेरे सिर को नीचे दबाते हुए खुद ही मेरे होंठों को अपने लंड के टोपे पर लगवा दिया. धीरे धीरे हम एक दूसरे से सेक्स चैट करने लगे।फिर हम दोनों सेक्स करने के लिए राज़ी हो गए।जब वो दिल्ली से आयी तो उसने मुझे अपने घर मिलने को बुलाया.

जिम इन्स्ट्रक्टर जो कि मस्त बॉडी वाला होता है, वो किसे पसंद नहीं आता है.

मैं बस एक बार उसकी चूत मारना चाह रहा था उसके बाद वो भले ही कभी न मिले. अब राज धक्के लगाने लगा और उसी धक्के के साथ मेरी चूत में परम का लंड और मुंह में जय का लंड अंदर बाहर होने लगा. इस बार मैंने सीधा उसकी चुत पर हमला किया और एक झटके में ही दो इंच लंड चुत के अन्दर पेल दिया.

उस लड़के की चुदाई की स्पीड देखकर लग रहा था कि वह मुझसे कई गुना ज्यादा तेज चुदाई करता है. उनकी मस्त चुत देखते हुए मैंने अपने लंड पर थूक लगाया और उनकी चूत में पेल दिया. मैंने पहले भाभी को और उनके बच्चे को बड़ी मुश्किल से ट्रेन में चढ़ा पाया.

इंग्लिश हिंदी सेक्सी वीडियो

जिसके बाद से काफी दिन तक मैं हमेशा उसका लन्ड चुस्ती कभी उसके आफिस में तो कभी उसकी टेबल के नीचे बैठ कर और काफी बार वो मुझे बाथरूम में ले जा कर अपना मूसल लन्ड चूसाता और हर बार मैं उसका सारा वीर्य पी जाती।अब इसी तरह कब दो हफ्ता बीत गये, पता ही नहीं चला।मुझे पहले तो किसी लन्ड की तलाश थी जो अब मुझे मिल चुका था. मुझे उस समय चरम सुख का आनन्द मिला और मैंने झड़ते हुए अपना सारा वीर्य हेमा चाची के मुँह में ही छोड़ दिया. फिर अलीमा के होंठों पर एक प्यारा सा चुंबन देकर बोला- मेरी जान … मैं बहुत तड़पा हूं तुम्हारे लिए.

वो बोलीं- हां हां बताइए न देवर जी?मैं बोला- भाभी जी, रात को जब भैया आपके साथ कुछ कर रहे थे, तब मैंने उनको आपके साथ कुछ काम करते हुए देखा था.

पांच मिनट के बाद वो उठा और उसने लड़के को भी कहा कि अब तुम भी चोद लो.

अब हर झटके में चाची की सिसकारियां तेज़ हो गई और पूरे कमरे में ‘आहह आह ओहह हहम्म आह’ की आवाज़ गूंज रही थी।थोड़ी देर बाद लंड ने चूत में जगह बना ली और सट सट अंदर बाहर होने लगा।अब चाची को मजा आने लगा, वे बोली- राज और जोर से … और जोर से … आह … तू तो अपने चाचा का बाप है।मैं जोश में आ गया और लन्ड की रफ्तार बढ़ा दी. तो दोस्तो, मुझे जरूर बताइयेगा कि कहानी कैसी लगी? अगर आपको अच्छी लगी होगी तो मैं मेरी ज़िंदगी के कुछ और पन्ने भी पक्का खोलूंगी आप लोगों के सामने।मुझे मेरी ईमेल पर मैसेज करें. चुदाई बीएफ सेक्सी एचडीवहां की अमीर घराने की औरतें अपनी फंतासी और कामेच्छाओँ की पूर्ति अथवा अय्याशी के लिये जिगोलो मर्दों को गुप्त रूप से खरीदती हैं.

वो मुझे अपनी तरफ घूरता देखता और फिर अपने मोबाइल में कुछ देखने लगता. मेरे लंड का पानी हेमा चाची की चूत से रिसता हुआ बाहर बाथरूम के फर्श पर टपक रहा था. चाची की नजर मेरे खड़े लंड पर न पड़े, उसके लिए मैं अपनी उत्तेजना को शान्त करने की कोशिश कर रहा था.

उस वक्त वो नहाकर बाहर आ रही थी और उसके बदन पर केवल एक तौलिया ही लिपटा हुआ था. मैं कुछ देर रुका रहा क्योंकि अगर बाहर आता तो मुझे मामला समझ आने से पहले ही वो लोग सतर्क हो जाते.

वो अलीमा की अश्रुपूर्ण आंखों में देखकर आंखों से ही कह रहा था कि बस अब हो गया … अब और दर्द नहीं होगा.

अब पीछे होकर उन्होंने अपनी अंडरवियर निकाल दी और उनका लंड मेरे सामने तनकर खड़ा था. फिर अमन ने मुझे उल्टा लिटा दिया और पीछे से मेरे ब्लाउज के हुक को किस करते हुए खोलने लगा. फिर मैं भी उसी कमरे में रहने लगा था क्योंकि मुझे अपनी प्राइवेसी चाहिए थी.

पंजाबी बीएफ डाउनलोडिंग होटल में या तुम जहां बोलो, तुम्हारे साथ बिस्तर पर नया गिफ्ट सजा मिलेगा. फिर मैंने हाथों को चूचियों से हटा लिया और मुंह में लेकर बारी बारी से एक एक चूची को पीने लगा.

उस दिन सुलेखा बहुत खुश थी और उसने मेरे सामने ही वो दोनों फ़ोन तोड़ कर फेंक दिए. मुझे ये डर था कि अगर हेमा चाची ने ये सब देख लिया … तो वो मेरे बारे में पता नहीं क्या सोचेंगी?लेकिन क्या बताऊं यार … मैं उस टाईम खुद को उत्तेजित होने से रोक ही नहीं पाया क्योंकि सामने हेमा चाची जैसी अप्सरा ऐसी हालत में हो, तो कौन खुद पर काबू कर पाता. मैंने तुरंत उसके होंठों को चूसना शुरू कर दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा.

फ्लेवर कॉन्डम की जानकारी

”अच्छा जी, ऐसा क्या सुन्दर है मुझमे जो सर जी इतनी तारीफ़ किये जा रहे हैं? मंजुला अपनी पलकें झपकाते हुए बोली. क्योंकि मुझे हमेशा से ही ऐसे काम के चक्कर में अपनी गांड की मां ना चुद जाए, इसका डर लगा रहता था. मैं अपनी जीभ को नुकीला करके उनकी चुत के अन्दरर डाल कर उनकी चुत चोद रहा था और आंटी सिर्फ एक ही बात कह रही थीं कि आह मजा आ गया आह और तेज चोदो मेरे राजा … आज जी भर के चोद दो मुझे.

सलमान ने मेरी अम्मी की चुत में पीछे से लंड पेला और उनकी चूचियों को पकड़ कर ताबड़तोड़ चुदाई शुरू कर दी. उस रात को तो मुझे ऐसा लगा, जैसे मैं अपनी जवानी के सबसे खुशनुमा पलों में जी रहा हूँ.

अगले ही पल मैंने बोला- हां चाची … मैं आपकी रसीली चूचियों को मुंह में लेकर उनके निप्पल काटना चाहता हूं.

उसने कहा- तो फिर तेरे इतने बड़े (बूब्स) कैसे हैं?मैं हंसकर बोली- पता नहीं. एक रात चाचा खेत में था और मैं छत में सो रहा था।थोड़ी देर बाद मेरी चाची आ गई और उसने अंदर से दरवाजा बंद कर दिया।चाची ने अपनी साड़ी ब्लाउज और पेटिकोट खोल दिया और मेरे ऊपर आ गई।मैं अंडरवियर पहने था. तब बलविंदर ने भी उसकी चुत को मसला और कहा- हां, मेरी बेबी मुझे चूमने लगी है.

वो ज्यादा देर नहीं टिक पाई और तीन चार मिनट में ही उसका बदन अकड़ने लगा और उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया. सच में मुझे इतना ज्यादा मजा आ रहा था कि मैं अपने शब्दों में बता नहीं सकती. मैं रुका तो उसने बिना आंखें खोले कहा- क्या पूरा चला गया?मैंने कहा- अभी कहां शब्बो रानी.

उसके बाद हम एक ही रूम में सोये और रात को मैंने दो बार फिर से उसकी चूत मारी.

पिलाने वाला बीएफ: बड़े गड्ढों की वजह से बस बहुत ज़ोर से उछली और इस का पुरज़ोर फायदा उठाकर मैंने उछलकर उसके सीने के ऊपर मेरा सिर झोंक दिया. मेरा हाथ उसके बदन पर हर जगह छूकर आ रहा था और वो भी इसका मजा ले रही थी.

वो बोली- राज चोद मुझे … और चोद … आज मेरी प्यास मिटा दे।मैंने लंड को उसके मुंह में डाल दिया और तेज़ तेज़ झटके मारने लगा।फिर मैंने उसे बिस्तर पर घोड़ी बनाया और फिर पीछे से उसकी चूत में लन्ड घुसा दिया. हर हिस्से को चूसना चाह रहा था मैं!बेसब्री से उनकी छाती और पेट को चूमते हुए मैं नीचे जाने लगा. कुछ देर बाद वो खुद ही बोल पड़ी- यहीं खड़ी रखोगे क्या?मैंने फोन की टॉर्च जलाकर दरवाजा बंद किया और फिर उसको गोद में उठाया और बेड पर ले गया.

उसके बाद वही लड़का (जो आते समय मिला था) और उसके साथ 2 और लड़के व एक लड़की भी आ गये.

अब आगे की देसी चुदाई की स्टोरी:चुदाई के बाद ठाकुर मंजू के ऊपर ही लेट गया था. भाभी ने भी मेरी कमर पर हाथ रख कर धक्का दिया और हम जोर जोर से एक दूसरे को चोदने लगे।कुछ देर के धक्कों के बाद वो फिर झड़ गई और मेरे कंधे पर सिर रख कर लंबी सांसें लेने लगी. एक बार एक मर्द मुझे बस में सफर के दौरान मिला जिसके साथ मेरी गांड की पहली चुदाई हुई.