हिंदी भाभी की बीएफ

छवि स्रोत,मारवाडी व्हिडिओ सेक्स

तस्वीर का शीर्षक ,

सी बीएफ पिक्चर हिंदी में: हिंदी भाभी की बीएफ, फिर मैंने अंकिता की गांड चौड़ी करके अपने लंड पर दाब डाला तो धीरे धीरे लंड का टोपा अन्दर घुस गया.

डॉगी और लड़की की सेक्सी पिक्चर

उस दिन काफी गर्मी पड़ रही थी, हल्की बारिश की वजह से उमस भी थी और लाईट भी नहीं थी. मारवाड़ी हिंदी में सेक्सी वीडियोचाचा के दांतों में मम्मी के होंठों का खिंचाव देख कर मुझे बहुत मजा आ रहा था, इससे मम्मी और भी कामुक हो रही थीं.

वो रोती हुई बोली- आआह ऐइ आह आ श मम्मी श्ह साले चोद डाल मुझे … मैं मर जाऊंगी प्लीज़ छोड़ दे मुझे सिड आह श्ह. लखानी टच की कीमतउसके मटकते चूतड़ों को देख कर मेरा मन हुआ कि लंड फंसा कर उसी में समा जाऊं.

वो बोली- अरे मैंने समझी कि तुम कुछ और मांग रहे हो?ये कहते हुए उसने मुझे गोल्ड फ्लेक की डिब्बी में से एक सिगरेट निकाल कर दे दी.हिंदी भाभी की बीएफ: साथ ही कराहने की आवाज़ आआअ अअअ अअह आआ अअअ अह सिईईई इइइइ निकाल रही थी.

तब तक वह मूत कर खड़ी हो गई थीं, दीदी ने अपनी पैंटी को ऊपर किया और साड़ी को नीचे करके हाथ धोकर पानी भरने लगीं.उन्होंने लंड का पूरा रस पी लिया और अपनी जीभ से चाट कर मेरा लंड को भी साफ कर दिया.

सेक्सी भेजो सेक्सी फिल्में - हिंदी भाभी की बीएफ

और जब तक मैं कुछ समझ पाती उस ब्रा को मेरे हाथ जो सीधे उसके कंधों पे रखे थे, उनसे आसानी के साथ सरका के बाहर निकाल दिया.मैंने कहा- मेम, बड़ी महक रहो हो आप!मेम- हां आमिर, मुझे खुल कर महकना है.

मैं और कुछ बोलता, तब तक कोमल दीदी अन्दर आ गईं और बोलीं- मुझे भी चांस मिलेगा क्या?मोनिका- दीदी पहले मैं कर लूं … फिर आप भी कर लेना. हिंदी भाभी की बीएफ मेरी पिछली कहानी थी:पापा ने चाची की चूत की प्यास बुझाईआज मैं फिर से एक बार हाजिर हूँ और इस बार मैं अपनी बड़ी दीदी की चुदाई की कहानी लेकर आया हूं.

हम दोनों का मन समंदर के किनारे खुले आसमान के नीचे एकांत जगह में पार्टनर स्वैप सेक्स इन ओपन करने का था.

हिंदी भाभी की बीएफ?

पहले तो वह काफी देर नखरे करती रही, मना करती रही पर थोड़ा जोर देने पर वह मान गई. अगर कुछ काम है तो बता दो, मैं बता दूंगा।वो बोली- नहीं उन्हीं से काम था।मैं बोला- ठीक है!वो बोली- फोन में क्या करता रहता है सारा दिन?मैंने कहा- कुछ नहीं. फिर मैडम मुझे ऊपर सेकंड फ्लोर के एक क्लास रूम में लेकर गई और डांटने लगीं.

उसने मुझे धक्का देकर बेड पर लेटा दिया और बहुत ही इत्मीनान से मेरे लंड को खड़ा करने में लग गई. उन्होंने मुझे उनके मामा के बेटे से कैसे मुझे चुदवाया?यह कहानी सुनें. मैं जिस आदमी (अब्दुल उम्र 32 साल) से जुए में हार गया था, उसने अपने एक और दोस्त (राहुल उम्र 30 साल) को बुला लिया और वो दोनों मुझसे पैसे मांगने लगे.

मैंने कोई न देख ले, इस बात का ध्यान रखते हुए उसके सामने हाथ जोड़ते हुए कहा- तू कुछ और मांग ले. अब वो रिदम में मेरा लंड चूसने लगी और साथ में मेरी उंगली उसकी गांड में अन्दर बाहर होने लगी. वो बोले- कोई बात नहीं, ठीक हो जाएगा … आज एक बार फिर से लंड ले लेना, बिल्कुल ठीक हो जाओगी.

मैं मीना के मुँह से यह सब बात सुन कर खुश था कि आज साली की चुत चोदने मिलेगी. कुछ समय बाद ऑफिस के काम से मीरा अकाउंट हेड मिहीन और एचआर कल्पेश व एक सेल्स विभाग के बंदे रमेश के साथ दमन गई थी.

भैया ने कहा- अभी रुक कर खाएंगे, पहले हम दोनों ड्रिंक एन्जॉय करेंगे.

फिर 3-4 मिनट किस के बाद वह नीचे बैठ गईं और मेरे पैंट को नीचे कर दिया.

चूत को चाटते हुए मैंने एक उंगली भी उसकी चूत में डाल दी और अन्दर बाहर करने लगा. शहर में मैं जहां रहता हूँ, वहां इस बार कोरोना काल में बहुत से कोरोना के केस आए हुए थे. फिर हम बातें करते हुए बाहर आ गए और मैंने कपड़े पहन लिए।उस दिन मुझे अजय पे काफी गुस्सा आ रहा था, इतनी सुन्दर औरत जिसकी दीदार को सारा मुहल्ला परेशान रहता है, वो नंगी खड़ी है और इस चूतिये को बाथरूम दिख रहा था।अजय समझ गया कि मैं नाराज हूँ.

थोड़ी देर बाद मेरा लन्ड फिर उठ खड़ा हुआ।फिर मैंने उसे ओढ़नी पर लेटाया और उसके ऊपर आ गया।मेरा लन्ड उसकी चूत में जाने के लिए तैयार हो गया था. फिर भैया ने बोला- ले ये तेरे लिए है … जो करना है कर ले!भैया बाहर निकल गए और उन्होंने बाहर से गेट बन्द कर दिया. उसने उसे हलक के नीचे उतारा और एक सिगरेट जला कर कश ले कर धुंआ मेरे मुँह पर फूंका.

वो कह रही थी- अब तुम आते क्यों नहीं हो?मैंने उससे कहा- आजकल मकान का काम ज्यादा होने से टाइम नहीं मिल पाता है.

अब किसी भी कीमत पर मैं दाइशा की योनि के अंदर अपने आपको उतार देना चाहता था।मुझे ऐसा लगा कि अब ज्यादा देर तक अगर दाइशा जी के मुंह को चोदा, तो फिर से झड़ जाऊंगा और शायद उनकी योनि का मजा ना मिले।इसलिए जल्दी से मैंने दाइशा के कंधों को पकड़कर उठाया और अपने होंठों को उसके होंठों से जोड़ दिया. उसकी चुत की गर्मी से मेरा भी निकलने वाला था तो मैंने लंड चूत से बाहर निकाल कर मोनिका के मुँह के पास कर दिया. वहाँ उसका नाम कन्फर्म करने के बाद मैंने उसका नंबर यह सोचकर सेव किया कि व्हाट्सप्प DP में उसका फोटो देखने को मिलेगा.

मैंने भाभी से कहा- फिर कब आ रही हो?भाभी ने कहा- आना तो तुम्हें है, पता नहीं कहां चले गए हो. उसने कहा- तुम्हारे साथ आज यहां जो भी हुआ है, वो सब रिकॉर्ड हो गया है. दोस्तो, आप सभी का धन्यवाद जो आप लोगों ने मेरी कहानियों को पसन्द किया।आप लोगों को एक और कहानी ले कर आया हूं.

इसके बाद चाचा जी ने मम्मी की मांग में सिंदूर भरा, वरमाला हुई और गले में मंगलसूत्र डाल दिया.

मेरी जान का तो मेरे से भी बुरा हाल हो रहा था; वह बहुत ही मस्त और कामुक भरी आहें भर रही थी. हम बस खाना खाकर रात को टहलने और थोड़ी बहुत मस्ती करने निकलते थे क्योंकि ऊपर के माले पर सुंदर सुंदर नर्स रुकी हुई थीं और हम सभी लौंडे नर्सों को देखने के लिए निकलते थे.

हिंदी भाभी की बीएफ चाचा ने हम सभी को पूरी बात बताई और पूछा कि तुम लोगों को तो इस शादी से कोई ऐतराज़ नहीं?हम तीनों ने भी समझदारी के साथ उन्हें कह दिया कि हमको किसी तरह का कोई ऐतराज नहीं है. वो मेरा बड़ा और खड़ा लंड देख कर बोलीं- आह जान … आपका लंड कितना बड़ा और मोटा है.

हिंदी भाभी की बीएफ बहुत गिड़गिड़ाने के बाद मैडम मान गईं और मुझे वार्निंग देकर चली गईं. वो अपने दोनों हाथों से मेरे बाल सहला रही थीं और अपनी मादक आवाज में कह रही थीं- आह … आह … अह्ह्ह … काटो और जोर से काटो … और अन्दर तक चाटो.

उसकी जॉब थी इस वजह से …वो मेरे शहर से दो घंटा की दूरी थी, कुछ इस वजह से हमारी मुलाक़ात नहीं हो पा रही थी.

बंगाली बीएफ वीडियो दिखाइए

मैंने अब भाभी के दोनों हाथ पकड़ कर दीवार पर ऊपर को कर दिए और बालों को आगे की ओर कर दिया. आह जैसे ही उसका मूसल सालंड मेरी गांड मेंघुसा मेरी तो समझो जान ही निकल गई. सुहानी ने जानबूझ कर पूछा- ये नीचे तेल की बॉटल क्यों रखी है?मैंने घबरा गया और किसी तरह बोला कि मैं कमर पर तेल लगा रहा था.

अब विडो सेक्स लाइफ की शुरुआत की मैंने!ए सी में ही मुझे जैसे पसीना आ गया हो. मम्मों को दबाते दबाते मेरे ब्लाउज के बटन खोल कर मेरे मम्मों को आजाद कर दिया गया. मैंने भी रश्मि के हाथ पर अपना हाथ रख कर हल्की आवाज में उससे ‘थैंक्स …’ कहा.

सबसे बड़ी बात ये कि मुझे मोटी मोटी गांड को देखना और उन्हें महसूस करना बहुत ही बहुत पसंद आने लगा था, जो आज भी मेरी कमजोरी है.

मैंने उसे कैसे चोदा?दोस्तो नमस्कार, बहन की चुदाई की कहानी में आपका स्वागत है. उस दिन मैंने उसकी 3 बार चुदाई की और अगले दिन मैं वहां से अपने घर चला आया. मैं इनमें से दूध निकालना चाहती हूँ, पर प्रसाद सो रहा है और दूध निकालने के लिए बोटल भी नहीं है.

उसकी चूत सच में आइसक्रीम सॉफ्टी की तरह मुलायम और गुलाब जैसी नर्म लग रही थी. फिर मैंने अंकिता की गांड चौड़ी करके अपने लंड पर दाब डाला तो धीरे धीरे लंड का टोपा अन्दर घुस गया. महेश सर मम्मी को पीछे से पकड़े हुए थे वो अपने हाथ को मम्मी के शरीर के आगे कमर पर इधर उधर कर रहे थे और वो दोनों आपस में कुछ बात कर रहे थे.

अब दीप्ति को देखकर मुझे अहसास हो रहा था कि मैं किसी और की बीवी को अपनी गर्लफ्रेंड समझकर ठुकाई कर रहा था. फिर मैडम मुझे ऊपर सेकंड फ्लोर के एक क्लास रूम में लेकर गई और डांटने लगीं.

मैंने नींद से जागते हुए आंख को खोला, तो देखा कि फ़ारिज़ा मेरा लंड चूसने में लगी हुई है. जवानी में मेरे स्तन उभर चुके हैं जो हर किसी भी लड़के को अपनी ओर आकर्षित करते हैं. ऊई ईसश्ह ऊईई ईईई ऊईई”मैंने अपने लौड़े की रफ्तार तेज कर दी और तेज़ी से अंदर-बाहर करने लगा अब गांड से थप्प थप्प थप्प की आवाज तेज होने लगी थी।अब चाची अपनी गांड आगे पीछे करके लंड लेने लगी थी.

मेरे घर में सब नौकरी करते हैं, इसलिए ज्यादातर सभी बाहर ही रहते हैं.

हम दोनों ने कोई ख़ास बातें नहीं की, बस यूं ही अपनी अपनी सुनाते सुनते रहे. फिर मैंने पूछा- ये आप क्या कर रहे हैं?वो बोला- कुछ नहीं, बस मुझे मन में आया तो मैंने ऐसे ही किया. इससे वो एकदम से चिहुंक गई, जिसे सामने बैठी लड़की ने नोटिस कर लिया और वो मंद मंद मुस्कुराने लगी.

ऐसे नंगी घूमने से मुझे लग रहा था कि मैं भरे बाजार में नंगी घूम रही हूं और पूरी दुनिया मुझे देख रही है. गुल्लू ने अपना एक हाथ से ग्लब्स को निकाला और मेरे लंड को शताब्दी एक्सप्रेस की तरह हिलाने लगी.

उनने मुझे बताया कि उनके पति चूत के साथ उनकी गांड भी चोदा करते थे।तब मैंने कहा- तो मुझे भी चोदना है तुम्हारी गांड!उन्होंने मना किया- बहुत समय हो गया है, अब दर्द होगा।मैंने कहा- अब तुम मेरी हो और कल तुमने कहा था सब कर लेना. जैसे ही मुझे प्रस्ताव मिला, मैं शर्म की वजह से मानो पिघल सी रही थी. मैंने थामस से कहा- वाइफ स्वैपिंग का जो मज़ा समंदर के किनारे खुले आसमान में है, वह मज़ा कमरे में रह कर नहीं आता.

सेक्सी वीडियो बीएफ एचडी इंडियन

पिछले भागप्यासी भाभी को रेलवे रिटायरिंग रूम में चोदामें अभी तक आपने पढ़ा था कि कैसे मैंने और मिताली ने रेलवे रिटायरिंग रूम में जबरदस्त चुदाई की.

अब राहुल ने अपने मोबाइल में गाना लगा दिया और मॉम नंगी डांस करने लगीं. अगले साल भगवान ने हमें एक प्यारी से बेटी दी तो हमारी तो खुशियों का ठिकाना न रहा. मैं बोला- फिर कैसे गुजारा करती हो … या पुलिस वाली हो तो किसी ऑफिसर के साथ …वो बोली- नहीं यार, हमें इस सबका समय ही नहीं मिलता है और घर से भी दूर रहना पड़ता है.

भाभी ने मुझे एक जोरदार चुम्बन दिया और कहा- घोड़े जैसी ताकत है तुम्हारे अन्दर … बिल्कुल जान निकल देते हो. हमारी बातें चलती रहीं और हम दोनों ही एक बार फिर से मिलने के लिए अधीर हो गए. सेक्सी मूवी बोलने वालीअब तक मेरा तम्बू भी सलामी देने के लिए तैयार था, मेरे छोटे से तौलिये में मेरा लंड नैना को देखकर हिलोरें मारने लगा था.

तो मैडम बोलीं- कहीं किसी दुकान पर गाड़ी रोक लेना, थोड़ा पीने का मन है. ग्रुप सेक्स प्ले स्टोरी में पढ़ें कि मैंने अपने भाई की कमसिन गर्लफ्रेंड को भी अपने सेक्स के खेल में शामिल करने के इरादे से उसे अपने घर बुलाया तो क्या हुआ?यह कहानी सुनें.

लेकिन मैंने अपने हाथों से उसके हाथों को पकड़ लिया और अपने अधरों को उन फांकों पर रख दिया. उसके बाद हम दोनों थोड़ी देर वहां बैठे हुए एक दूसरे के शरीर से खेलते रहे और उसने मेरा लंड टटोल कर चैक किया और साइज़ महसूस करके खुश हो गई. मैंने पूछा- मजा आ रहा है?दीदी ने कहा- आह कुछ मत पूछ बस करता रह … बड़ा मजा आ रहा है.

मैं आज वो सेक्स कहानी लिख रहा हूँ, जब मुझे एक मस्त भाभी की कुंवारी बुर चोदने को मिली थी. मैंने उसकी टांगों के बीच में हाथ लगाया, तो उसकी चुत के पास गीला हो गया था. ‘आहह उम्म महह फक मी साली रांड … आह चोद मां की लवड़ी …’हम दोनों मस्त होने लगी थीं और अपनी चूत की आग बुझाने में मगन हो चुकी थीं.

थोड़ी देर बाद अंकिता को भी मजा आने लगा- भोसड़ी के और दम लगा कर चोद मादरचोद … साले ने गांड का गुड़गांव कर दिया!मैंने लंड की ठोकर देते हुए कहा- साली कमीनी … पहले तो नखरे दिखा रही थी कि मुझे गांड नहीं मरवानी.

डबल सेक्स की यह कहानी मेरी मम्मी की चूत गांड चुदाई की है, वो भी मेरे सामने! मैं जुए में पैसे हार गया तो मेरी मम्मी मेरी मदद के लिए आई. लॉकडाउन के बाद मेरा कॉलेज फिर से खुल गया था मगर मुझे कॉलेज जाने का बिल्कुल भी मन नहीं था.

इन्हें बाहर तक छोड़ कर आता हूं, तब तक तुम कॉन्फ्रेंस रूम में वेट करो।मैं वहाँ जाकर अंकल का इंतजार करने लगी।10 मिनट बाद वो अंकल आए और आते ही अपना लौड़ा दिखाने लगे।उनका लौड़ा काफी सख्त हो चुका था।वे बोले- देखो इसे क्या हो गया है. बातचीत में पता चला कि उसका नाम अंकिता है और दूसरी वाली का नाम अंजलि था. मेरी बुआ की काले रंग की टाईट ब्रा से चुचे बाहर निकलने के लिए तड़प रहे थे.

आगे बढ़ते हुए मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिए और एक दूसरे में खो जाने लगे. कुछ ही देर में एक बेहतरीन खिलाड़ी की तरह उसने मेरे लंड को चूसना चालू कर दिया. फिर हम बातें करते हुए बाहर आ गए और मैंने कपड़े पहन लिए।उस दिन मुझे अजय पे काफी गुस्सा आ रहा था, इतनी सुन्दर औरत जिसकी दीदार को सारा मुहल्ला परेशान रहता है, वो नंगी खड़ी है और इस चूतिये को बाथरूम दिख रहा था।अजय समझ गया कि मैं नाराज हूँ.

हिंदी भाभी की बीएफ उसके होंठ भी धीरे धीरे खुल रहे थे और मेरे होंठ जगह ढूंढ कर अंदर अपनी जगह बना रहे थे. पर मैंने यह किस जारी रखा और कुछ ही देर में उसके होंठों ने अपना कमाल दिखाना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्स सेक्स हिंदी

मैंने भी मजे से उससे पूछ लिया- अनिता, तुम्हें थामस का लंड पसंद आ गया न?अनिता बोली- हां यार, बड़ा मस्त लौड़ा है. डॉक्टर ने कहा- कुछ चाहिए?सोनी ने डॉक्टर का लंड पकड़ लिया और बोली- हां आपका ये चाहिए. दोस्तो, मेरा नाम शैलेश है। (काल्पनिक नाम)मैं हरियाणा में रोहतक के पास एक गांव है, वहाँ का रहने वाला हूं।मेरी उम्र 21 साल है और हम तीन भाई हैं जिनमें मैं सबसे बड़ा हूं।मैं देखने में ठीक ठाक हूं, मेरा कद 5’6″ है और मेरे लन्ड का साइज 6 इंच है।मुझे अन्तर्वासना बहुत पसंद है.

मॉम और मैं एक बड़े आलीशान बंगल में शिफ्ट हो गए और आराम से अपनी लाइफ जीने लगे. उसकी चूचियों को काफी देर में मसलने के बाद मैंने उसकी बाईं चूची के निप्पल को अपने मुंह में ले लिया और दायीं चूची के निप्पल को अपनी उंगलियों में फंसा कर मसलने लगा. सेक्सी डॉग और लड़कीबस उसी रात से मेरे मन में अपनी साली के प्रति गर्म भावना जग गई कि इसकी चुत कैसे चोदी जाए.

मैंने अब उसको पेट के बल लिटा दिया और उसकी पीठ पर किस करना शुरू किया.

डॉक्टर ने कहा- कुछ चाहिए?सोनी ने डॉक्टर का लंड पकड़ लिया और बोली- हां आपका ये चाहिए. उसी बीच मैंने उसकी ब्रा पहना दी और सीधा करके अपने तरफ मुँह कर लिया.

देहाती सेक्स की कहानी गाँव की एक आम लड़की कुंवारी लड़की की है जिसे सेक्स के बारे में ज्यादा नहीं पता था. मैं- और इसका तुम क्या करोगी?गुल्लू- मुझे नहीं पता, डाक्टर ने कहा है. अब चाचा जोर जोर से झटके मारने लगे जिससे फिर से पट पट की आवाज आने लगी.

गुल्लू मेरे पास आई, उसने मुझे मेरा पैंट दे दिया और कहा- मेरे साथ आओ.

हालांकि मैं कुछ समझ ही नहीं पा रही थी कि अंकल के साथ कैसे शुरू करूं. अभी तक मैंने यहाँ कई कहानियाँ पढ़ीं परंतु अपनी कहानी लिखने का यह पहला अनुभव है. मेरी बुआ उस समय 22 साल की थीं और उन्होंने 12वीं की पढ़ाई पूरी कर ली थी.

जंगली जानवर और लड़की का सेक्सी वीडियोकरीब आधा घंटा मुझे चोदने के बाद 15 मिनट उसने नीता को चोदा और फिर एकदम से अपना लंड निकला और नीता के मुंह पर अपना माल गिरा दिया. इधर सामने से रमेश अपने घुटनों पर बैठ गया और उसने मिहीन की फैली हुई टांगों के बीच से घुस कर मीरा की चूत को जीभ से चाटना शुरू कर दिया.

सेक्सी भेजो हिंदी में बीएफ

अपने नथुनों में भी दाइशा जी की परफ्यूम को बसा कर मैं अपने आपको जन्नत की सैर की ओर ले जा रहा था।दाइशा जी लगभग मेरी बांहों में थी और उन्हें कुछ भी ध्यान नहीं था. मैंने भी मजे से उससे पूछ लिया- अनिता, तुम्हें थामस का लंड पसंद आ गया न?अनिता बोली- हां यार, बड़ा मस्त लौड़ा है. मुझे अपनी गर्दन पे उसकी साँसों की गर्माहट और कमर पे कुछ कड़ा सा महसूस हो रहा था.

दो मिनट के बाद रश्मि ने मेरी जांघ पर हौले से हाथ रख दिया और बोली- कोई बात नहीं अंकल, मैं समझ सकती हूँ कि मेरे डैड को मेरी मॉम के लिए समय नहीं रहता है. मैंने मन में सोचा कि इन बुड्ढों का तो मुझे ब्रा पैंटी में देखकर ही खड़ा हो गया. यह सुनकर मुझे बहुत खुशी हुई कि मैंने एक कॉलगर्ल को संतुष्ट कर दिया!और ऐसे ही बातों बातों में मैं उसके चूचे दबाने लगा जिससे हम दोनों गर्म हो गए और वो फिर से मेरा लन्ड चूसने लगी.

मैंने कैसे उसकी कुंवारी चूत को अपने लंड का शिकार बनाया?हाय मित्रो, मेरा नाम राकेश है और मैं दिल्ली का रहने वाला हूं। मेरी उम्र 24 साल है।मैं अपने रंग रूप की क्या बात करूं … जो एक बार देख लेता है. इस पर भाभी ने भी सामने से बोला कि मैं भी तुमसे बहुत प्यार करती हूं जान. पैसे पाने और घूमने की वजह से मैं मम्मी को कुछ नहीं बताता था लेकिन देखता सब था … और मुझे पता भी था कि क्या हो रहा है.

अब बोल रही है दम लगा कर चोद … ले बहन की लौड़ी लंड ले कमीनी … आंह तेरी मां को चोदूँ साली रंडी की जनी. अब मैंने भाभी को घोड़ी बनाया और पीछे से चूत में लंड डाल कर चोदने लगा.

मैंने उससे कम्बल हटाने के लिए कहा तो उसने कमरे की बिजली बुझाने का कह दिया.

मैंने बोला- मेरी छोड़िए भाभी, आप बहुत सेक्सी और हॉट मस्त माल लग रही हैं. 16 साल की लड़की का फोटोमैं घर आया और अपने रूम से स्प्रे और पेन किलर लेकर वापिस दूध डेरी पर चला गया. हिंदी की सेक्सी वीडियो फिल्मवो बोली- अगर मैं न आऊं तो!मैंने कहा- तो दूसरे दिन अखबार में खबर पढ़ने को मिल जाएगी. मैंने उसके करीब आकर अपनी कार साइड में रोक दी और अपनी कार से बाहर निकल आया.

अब आगे कपल स्वैपिंग स्टोरी:मैं अपनी बीवी अनिता को थामस के साथ चुदाई करते हुए देख कर बड़ा खुश हो रहा था.

मेरे साथ हंसी मजाक करने वाला कोई नहीं था जिससे मैं घर में बोर होती थी. सर्दियों में बड़े दिनों की छुट्टियों में ही मेरा मामा के घर जाना होता है. फिर मैंने उसको ड्राइविंग सीट पर आकर बैठने को कहा और कार कैसे स्टार्ट होती है … वो बताया.

बाइक के बैठ कर उसने मुझे ज़ोर से पीछे से पकड़ लिया और मेरे कंधे पर सर रख कर बड़े प्यार से बोली- बेबी आई लव यू. हम लोग एक दिन में 2 से 3 बार सेक्स करते थे बहुत मजा आता था।फिर सब ऐसी चलता रहा. मैं जोर से उसका हाथ हटाकर बोली- तुम जबरदस्ती से करोगे तो मजा नहीं आएगा.

बीएफ चाहिए बीएफ इंग्लिश

मेरी जान का तो मेरे से भी बुरा हाल हो रहा था; वह बहुत ही मस्त और कामुक भरी आहें भर रही थी. कुछ देर बाद उन्होंने बच्चों को चाय दी और एक कप लेकर मेरे पास आ गईं. अब मैं एक शिकारी शेर की तरह भाभी की चुदाई के साथ उनके होंठों को भी चूम रहा था और उनकी गर्दन व मम्मों पर काट रहा था.

दोस्तो, अब आप बताएं कि कैसी लगी मेरी गुरु बाबा सेक्स कहानी?प्लीज़ मेल और कमेंट से ज़रूर बताएं.

मैंने उसे एक दिन अपनी बांहों में खींच कर चुम्बन कर लिया तो वो बोली- बड़ी देर बाद चुम्मी लेने की याद आई.

मैं- हां मैंने भी, लेकिन आज की रात मेरे लिए यादगार और हसीन रात होगी. तुम मॉम-डैड के साथ ही रहते हो?मैं- मैं अकेला रहता हूं और मेरी फैमिली दूसरे शहर में रहती है. ఎక్స్ ఎన్ ఎక్స్ సెక్స్ వీడియోస్आपने तो मेरे मुँह में ही पानी छोड़ दिया!मैंने भी मुस्कुराते हुए उसे जवाब दिया- यार, तुमने माहौल ही ऐसा बना दिया था कि मेरा लंड बर्दाश्त ही नहीं कर पाया.

उनकी नजर मेरी चड्डी पर गयी, जिसमें से मेरा लंड फाड़ कर निकलना चाह रहा था. दिनेश- लंड नहीं डालूंगा, जब तब दूसरों के लंड को डाल कर चुदने कि बात नहीं मान लेती. थोड़ी देर बाद उनके मुँह पर इस आनन्द की वजह से हल्की सी मुस्कान भी आने लगी थी.

उसके कहने के मुताबिक़ स्कूल वाले दिन सुबह 9 से 4 बजे तक हम दोनों कहीं भी मजे कर सकते थे. थोड़ी देर बाद मेरा लन्ड फिर उठ खड़ा हुआ।फिर मैंने उसे ओढ़नी पर लेटाया और उसके ऊपर आ गया।मेरा लन्ड उसकी चूत में जाने के लिए तैयार हो गया था.

वो उस वक्त तो कुछ नहीं बोली थी मगर आज जब उससे मेरी बात हुई तो मैं समझ नहीं पा रहा था कि ये मेरी बात मानेगी या नहीं.

फिर मैंने उसे दवाई दी और मां को कॉल करके बताया कि दीदी की तबीयत खराब है. मैंने मौका देखा और भाभी को दीवार की तरफ ले जाकर दीवार से चिपका दिया. मुझे मेरी ईमेल आईडी पर कांटेक्ट करना, मैं आगे भी जो मेरे जीवन में घटित होगा, आपको अवश्य बताऊंगा.

अस्पताल सेक्स वीडियो मेरी बहन सो रही थी, तो मैंने उसे उठाया- कैसी हो हीर?हीर- ठीक हूँ भैया. फिर उसकी सहेली ने उसे बताया- शायद वो तेरे साथ दोस्ती करना चाहता है.

फिर जैसे ही मैं सीढ़ियों की तरफ मुड़ा तो मैं सातवें आसामान पर था क्योंकि वो लड़की और कोई नहीं प्रिया थी और वो भी मुझे ऐसे देख कर मूर्तिवत हो गई थी. आप सब जानते हैं कि मैं चुदाई का बड़ा दीवाना हूं और अपनी सगी चाची और बुआ को भी चोद चुका हूं. मैं पीछे मुड़ा तो जैसे ही उसने अपने मुँह पर बांधा कपड़ा उतार दिया था.

हिंदी पिक्चर दिखाएं बीएफ

नीचे आते आते मैंने टी-शर्ट के ऊपर से ही उसके गोल मांसल उरोजों को भी किस किया. वो भी मेरे साथ मस्ती करती हुई बोलीं- अब जल्दी से चोद दे मुझे … वर्ना कोई आ जाएगा तो सब खेल बिगड़ जाएगा. दीदी मुझसे मेरी पढ़ाई के बारे में पूछती रहतीं और मेरे बदन पर हाथ भी फेरती रहती थीं.

उसकी बातें सुनने के बाद मेरी समझ आया कि हम कितना भी सेक्स कर लें लेकिन वो हमेशा अधूरा सेक्स ही रहता है. थामस की बीवी लूसी जिस तरह से लंड चूस रही थी, उससे मुझे बड़ा अच्छा लग रहा था.

मगर तभी मुझे भाभी की वो हरकत दिखाई दी जिसने मेरे लौड़े में आग लगा दी.

नए जॉब में सैट होने के लिए उसने अकाउंट हेड और एचआर से दोस्ती कर ली. ममता ने उसका हाथ पकड़कर बेड पर बिठा लिया और बोली- कुक्कू, आज का दिन तुम्हारे लिए काफी यादगार होने वाला है. मैं अपने घुटनों के बल चलती हुई उस्ताद जी के पास आ गयी और उनकी धोती व लंगोट को खोलना शुरू कर दिया.

फिर मैंने अंजलि को सीधा लेटा दिया और अंकिता को उसके मुँह पर बैठने का बोला. इतने में मेरी बीवी से रहा न गया … वह भी आगे बढ़ी और थामस की चड्डी खोल कर उसका लंड पकड़ कर हिलाने लगी. तो वो आंख मारती हुई बोली- मेरे सर में दर्द है … और डैड ने आपको मेरा ख्याल रखने को बोला है ना!मैं चुपचाप बेड पर बैठ गया, रश्मि मेरी गोदी में सर रख कर लेट गई.

संजय- तुम्हारी लिपस्टिक और होंठों दोनों का ही टेस्ट काफ़ी मज़ेदार है.

हिंदी भाभी की बीएफ: और बोली- क्या बच्चा बच्चा लगा रखा है?तपिश बोला- अभी गेम में पता चल जायेगा कि कौन बच्चा है।हम सब ने भी हामी भर दी।कैसी लग रही है यह ग्रुप सेक्स प्ले स्टोरी? मुझे बताएं. मैंने पूछा- दर्द कम हुआ?दीदी ने बोला- आंह दर्द तो कब का चला गया, अब तो मजा आ रहा है.

मैडम- पर रात मैंने तुम्हें देखा तो समझ आया कि मैं तुम्हारे साथ तो कर ही सकती हूं. उसे देखने के बाद मैंने उससे एक दो बार उससे कहा भी था- रानी ये सब ठीक नहीं है. बामुश्किल दो मिनट उसने मेरी चूत को चाटा होगा कि मैं खुद बा खुद उसके लंड को अपने मुंह में ले गई.

भाभी बोलीं- अगर वो नहीं आए और प्रॉब्लम हो, तो मैं बना दूं?मैंने झट से हां कह दी- अरे वाह भाभी … नेकी और पूछ पूछ?भाभी हंस दीं और उन्होंने मुझे शाम का खाना खाने आने के लिए कह दिया.

मैंने एक और धक्का लगाया, वो चिल्ला पड़ी क्योंकि लंड पूरा अन्दर घुस गया था. इस कारण रजवाड़े का रानी महल रीता ही रहता मतलब रानी महल की रानियां सेक्स सुख से वंचित ही रहतीं. मैंने उसे बताना शुरू किया कि जब किसी लड़की की चूत में पहली बार लंड जाता है, तो चूत के अन्दर एक झिल्ली होती है, जो लंड पेलने से फट जाती है और उसे ही सील टूटना कहते हैं.