बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में

छवि स्रोत,मां बेटे की देहाती बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

गुजराती कॉलेज सेक्सी: बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में, दोस्त की बीवी के बूब्स की असली खूबसूरती तो अब मुझे दिखाई दी।जहां मेरी पत्नी के बूब्स बड़े भारी और थोड़े लटके हुए थे वहीं दोस्त की बीवी के चूचे मीडीयम साइज के थे लेकिन उभरे हुए थे.

एक्स एक्स एक्स बीएफ पिक्चर्स

काफी देर तक सबा इस चॉकलेट चुत चुसाई के बाद कांपते हुए मेरे मुँह को जोरों से पकड़ कर दूसरी बार झड़ गई और दूसरी बार झड़ते ही एकदम से शान्त हो गई. भारतीय हिंदी बीएफ वीडियोउम्म्म्म … दर्द हो रहा है!”वो मेरे बूब्स चूसते हुए नीचे से धक्के लगा रहे थे.

मगर पिछले कुछ सालों से वहां पर विदेशियों की तर्ज पर ही भारतीयों ने भी वही अंदाज दिखाना शुरू कर दिया है. मराठी सेक्सी एचडी बीएफमैं और मम्मी शैली के पास गए। मम्मी ने उसकी चोली और ब्रा उतार दी और मैंने उसका लहंगा। पैंटी पहले ही उतरी हुई थी।मम्मी ने उपिन्दर से कहा- लीजिए दामाद जी, ये नई ताज़ी दुल्हन पूरी नंगी आपके लिए तैयार है, इसका भोग लगाइए.

सुबह मेरी ननद और भाभी ने बताया कि तुम्हारी आवाज तो बाहर तक आ रही थी.बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में: पर आराम से, जल्दबाजी मत करना!”हओ”गौरी को अपनी गोद में उठाये हुए मैं बड़े वाले सोफे की ओर आ गया। गौरी ने अपने घुटने मोड़ दिए और डॉगी स्टाइल में हो गई। लंड थोड़ा तो बाहर निकला था पर आधा तो अन्दर ही फंसा रहा था।कहानी जारी रहेगी.

फिर मुझे बहुत तड़पाने के बाद, आंटी ने अपने चुचे मेरे मुँह के पास रख दिए.पर ये तय था कि उन लोगों की दोस्ती में एक नए अध्याय की शुरुआत होने वाली थी.

कुंवारी लड़की की सेक्सी बीएफ वीडियो - बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में

करीब दस बजे जब उनका फोन आया तो मैंने कॉल उठाया उनका!हेलो”जी सर … बोलिये!”फ़ोन क्यों नहीं उठा रही थी?”सर, वो साइलेंट पे था.मैंने अपना सारा मूत मेरी बहन की चुत के ऊपर धार मारते हुए गिराने लगा.

मैंने भी मौका नहीं गंवाया और अपने हाथों से उनकी पीठ को अपने सीने से जकड़ लिया. बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में मुझे डर लग रहा था कि कहीं भेद न खुल जाये कि मैं पहले से ही चुदी हुई हूं.

फिर ये बोले- चलो बाजार चलना है।अब हम दोनों रेडी होकर बाजार के लिए निकल लिए।जब हम दोनों बाजार पहुँच गए तब मैंने इनसे कहा- तुम्हारा सीनियर मुझे किस ड्रेस में मेरी गांड मारेगा?ये बोले- वो तुम्हारे साथ रंडी जैसा सलूक करेगा, वो तुम्हारी गांड साड़ी में मारेगा।फिर हम एक साड़ी वाली दुकान पर गए, मैंने वहां से एक लाल रंग की साड़ी गोल्डन बॉर्डर के साथ पसन्द की.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में?

गैर मर्दों ने मेरी चूत की चुदाई की है लेकिन प्यार मैं तुमसे ही करती हूं. अब मनोज नीचे से दीपा के पैर अपने पैर से सहलाने लगा और सुनील की ओर करने लगा. उसने लिखा था- क्या तुम इसे ले पाओगी … इसको खुश कर पाओगी?उसका लंड देख कर मैं एकदम से गरम हो गई थी और मेरी चुदास ने मुझे कुछ अलग ही करवा दिया.

तभी मेरे ‘खजाने’ से उनके ‘खजाने’ पे एक और टक्कर हुई’ फिर वही … दोनों ने झटका खाया।मामी अचम्भे से मुझे देखने लगी. ”ज्योति को सबसे ज़्यादा खुशी इस बात की थी कि उसको चोदने में उसके बाप को उसकी मम्मी से भी ज़्यादा मज़ा आ रहा था. बीच में कपड़ों का क्या काम … सुनील और मनोज ने अपने अपने अंडरवियर उतार दिये और मनोज ने दीपा की ड्रेस भी.

मैंने परमीत को एक बार फिर पीछे हटने को कहा, लेकिन परमीत पर बीयर का नशा हावी हो चुका था और सरदारनी का अपने चैलेंज से पीछे हट जाना असंभव था. मेरी कामुक हरकतों से वो गजब का तड़पने लगीं और अपने हाथों की मुट्ठियों से बेड की चादर खींचने लगीं. मैंने हैलो कहते हुए परिचय दिया कि शायद मेरी आपसे ही मेल पर बात हुई थी.

जब मैं अंडरवियर पहन कर गेट खोलने गया, तो देखा कि सामने के घर में रहने वाली भाभी थीं. रोहन- एक बात बताऊं जान … तुम्हारे होंठों को चूसना और तुम्हारी चुचियों से खेलना … इतना सुकून मिला है मेरे दिल को, मेरे हाथों को, मेरे दिमाग को … लेकिन बस सिर्फ एक बॉडी पार्ट है, मेरा जो बेचैन हो गया है.

उन्होंने दीपा से भी कहा तो दीपा बोली- नहीं मेड आती होगी, मैं नाश्ता बनाती हूँ, तुम दोनों घूम आओ.

उसकी चूचियों पर गुलाबी रंगत लिए हुए निप्पल इतने कड़क हो चले थे मानो चुत से ज्यादा उनमें आग भरी हो.

अब दीपा को ध्यान आया कि मनोज कहता है सुनील का लंड बड़ा और मोटा है तो क्यों न चूसा जाए. मैं- हां माँ क्या बात है?माँ- बेटा तेरे पिताजी को बिज़नेस के सिलसिले में बाहर जाना पड़ा. सुनील ने उनसे यह वायदा लिया कि वो दोनों जल्दी ही दुबई आयेंगे और वहां सुनील की वाइफ को भी इसमें जोड़ेंगे और चारों मस्ती करेंगे.

वैसे पहले भाभी को उसके पास जाना ठीक नहीं लगा था मगर उस लड़के ने भरोसा दिलाया था कि वो कभी भी कोई ऐसा काम नहीं करेगा जिससे भाभी की बदनामी हो. मैंने खुद को वापस खींचने की कोशिश की मगर पापा मेरे होंठों को अपने होंठों में लेकर चूसने लगे. उधर धीरज ने भी पिंकी से कह दिया- डांस के दौरान या तो पिंकी ही उसके साथ डांस करे, और अगर कोई और होती है और धीरज का हाथ इधर उधर चला जाए तो वो कोई शिकायत नहीं करेगी.

मैं उसका पूरा साथ देने की कोशिश कर रही थी लेकिन पता नहीं उस पर कौन सा भूत सवार था कि उसने मुझे गांड उठाने तक का मौका नहीं दिया और मेरी काली पैंटी को अपने हाथों से चीर कर उसके दो टुकड़े करते हुए अलग फेंक दिया.

इस बात पर संजय ने हरामीपन वाली स्माईल दी, बाकी किसी को कोई खास फर्क नहीं पड़ा, लेकिन मेरे दिमाग में एक बिजली सी कौंध गई. मैंने एक निप्पल को चूसने के साथ ही दूसरे चूचे को दबाना शुरू कर दिया. मैंने अपनी चुदाई की रफ्तार बढ़ा दी, मुझे महसूस हुआ कि अब मेरा लंड पिचकारी छोड़ेगा, तो चार पांच तगड़े धक्के मारकर मैंने पूरा लंड बीवी की चूत में जड़ तक घुसा दिया और मेरे गर्म वीर्य की धार प्यारी बीवी के चूत में गिरने लगी.

हां जी रंगीन दुनिया से मेरा मतलब ब्लू फिल्म के साथ साथ सोशल मीडिया आदि से है. इसके बाद उसने मेरे घर पर काफी बार आकर मेरी चुदाई की, मुझे उसके साथ बहुत मज़ा आता था. प्रतीक ने थोड़े गुस्से के साथ मेरे सामने देखते हुए पूछा- क्या … क्या ये सच कह रहा है?मैंने सिर्फ हां में अपना सिर हिलाया और इसी शर्म के कारण मेरी नजर नीचे झुक गई.

चाची मेरे ऊपर लेट कर मेरा लंड चूसे जा रही थीं और मैं चाची की चूत पी रहा था.

जब मैंने पहली बार तुमको सोनम दीदी की शादी में देखा तो मुझे तुम बहुत अच्छे लगे थे. इससे मयूर उदास हो गया था और उसी के प्यार में पूरी जिंदगी कुंवारा बैठने वाला था.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में माँ लगातार शान और मुझे बहन की लौड़ी छिनाल और मादरचोद कुत्ते कहते हुए चुत लंड चुदाई जैसे शब्दों का होलसेल में इस्तेमाल कर रही थीं. मेरी चूत से खून टपक कर सूख गया था … क्योंकि दस इंच से भी बड़ा लंड वाले डेविड ने पहली बार अन्दर पेल कर मेरी चूत फाड़ दी थी.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में मैंने उनके मुँह में जीभ डाल दी और वे मेरी जीभ को चूसते हुए मेरे लंड को मसलने लगीं. थोड़ी देर बाद मैंने लण्ड बाहर निकाला तो खून से सना हुआ था, मैंने कॉण्डोम चढ़ाकर फिर से पेल दिया और चोदते चोदते डिस्चार्ज हो गया.

जॉली के लंड से निकल रहे रस की पिचकारी एक के एक बाद निकली जा रही थीं.

र्पोन क्या होता है

उन्होंने ऐसे ही बातों ही बातों में मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझे अपनी और खींचा. इससे मयूर उदास हो गया था और उसी के प्यार में पूरी जिंदगी कुंवारा बैठने वाला था. आपको एक प्यासी औरत की अन्तर्वासना शांत करने की मेरी चुदाई की कहानी कैसी लगी प्लीज मेल करके जरूर बताना.

मुझे समझ नहीं आ रहा था कि क्या करूं और क्या नहीं क्योंकि उसकी तरफ से मुझे कोई इशारा भी नहीं मिल रहा था. मैंने कहा- हां, होता है लेकिन उसको चुदाई के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं. वहां से हमारा चयन जिला के लिए हुआ और फिर वहां हार गए लेकिन हमें इस स्तर तक आने के लिए उपहार भी मिला, जो कि नगद के रूप में था.

उसने परमीत की ब्रा को ऊपर सरका कर पहाड़ियों को आजाद कर दिया था और बीच-बीच में उसकी घुंडियों को भी ऐंठ रहा था, जिससे परमीत की गुलाबी घुंडियां लाल हो गई थीं.

तभी पूजा की सिसकारियाँ तेज से तेज हो गयी और कुछ ही पलों में में पूजा मेरे कड़क लन्ड पर निढाल हो गयी!अमित अभी भी पूजा की चूत को चाट रहा था. जैसे ही वो मूत कर खड़ी हुई और मेरी तरफ मुड़ी, मुझे देख कर एकदम से चौंक गयी. हम दोनों ने तो मालिश के भी खूब मजे लिये लेकिन हमारी बीवियां तैयार नहीं हुई इसके लिए.

एक बार उसने मुझे अपनी आपबीती बताई कि कैसे उसको एक लड़का सेक्स वीडियो कॉल में मिला और उसको होटल में ले गया. मैंने उस आंटी रीता के साथ सेक्स भरी बातें करके उसको गर्म करने की सोची. मैं ये नहीं कहूंगा कि मेरा लंड बहुत बड़ा है, पर फिर भी मेरे लंड ने अच्छी अच्छी औरतों का पानी निकाला हुआ है.

वो एकदम से हुए हमले से दर्द के मारे चिल्लाने लगीं, तो उनके ससुर ने अपना लंड उनके खुले हुए मुँह में डाल दिया. आतिफ उस वक़्त घर पर नहीं था तो शबनम ने उसको रुक कर इंतज़ार करने के लिए बोला.

इस पोज़ की अच्छी बात ये थी कि इसमें लंड चूत के दाने को रगड़कर अन्दर बाहर हो रहा था, जिससे और भी मज़ा आ रहा था. दीपा को मालूम था कि क्या कुछ नहीं कहेंगे, बस अभी थोड़ी देर में ही सब कुछ कहेंगे और करेंगे. मेरे होंठों के बीच में फंसा बर्फ का टुकड़ा उसके चूचों पर ठंडक प्रदान करने का कार्य कर रहा था.

कहानी के पिछले भाग में मैंने बताया कि दोनों सेठों ने अपने मूसल लंड से मुझे चोदने के लिए तैयारी कर ली थी.

इस तरह से लगातार 20 से 25 मिनट तक चाची की चुदाई के बाद जब मेरा होने को हुआ, तो मैंने कहा- जान मेरा होने वाला है … कहां निकालूं?चाची ने कहा- बाबू प्लीज मेरे मुँह में डालना … मैं तुम्हारा रस पीना चाहती हूँ. सबसे ज्यादा आफत तो नायरा की थी, एक तो उसके मम्मे सबसे भारी, ऊपर से बिना ब्रा … पिंकी ने आते ही सीमा के चूतड़ों पर हाथ फिराया यह देखने के लिए कि उसने पैंटी तो नहीं पहनी. उसके बाद के दो तीन दिनों तक व्यवस्था को ठीक करने और समीक्षा चर्चा, हंसी मजाक और खर्च का हिसाब करने में निकल गया.

शबनम ने पिंकी से पूछ ही लिया- आज तो धीरज ने अंदर फिट करके नहीं भेजा न?उसका मतलब वाईब्रेटर से था. फिर दीदी ने पूरी ताकत से उनके हाथ से अपने आपको छुड़ाया और अपने मुँह को दोनों हाथों से बंद करके जोर जोर से सांस लेने लगी.

मैंने आंटी के बालों को पकड़ा और ज़ोर ज़ोर से लंड को उनके मुँह में आगे पीछे करने लगा. चूंकि उसकी गांड टाइट थी, इसलिए मैं उसकी गांड में थूक डालकर फिर से उंगली करने लगा, जिससे उसकी गांड थोड़ी ढीली हो जाए. मैं तो सोच में पड़ गया कि ये वही सीधी सादी औरत है या उसकी कोई हमशक्ल? उसको ऐसे रूप में देखने के बारे में मैंने कभी सोचा भी नहीं था.

वूमेन सेक्सी

उसकी कमीज़ से बाहर झांकते उनके बड़े बड़े मम्मों के क्लीवेज को चूम लेता.

मैंने एक निप्पल को चूसने के साथ ही दूसरे चूचे को दबाना शुरू कर दिया. बताओ ना!सोनिया शर्मा कर मुस्कुराते हुए बोली- अच्छा पूछो, क्या पूछना है?रोहन- किसी भी मूवी के रिलीज होने से पहले उसके ट्रेलर बार बार दिखाए जाते हैं. मैं सोनम को यह कह रही थी- ये ब्रा तेरे दूध के लिए मस्त है, इसको ले ले.

मैं विराट के मर्द लंड को अन्दर पाते ही चीख उठी- ऊऊऊईई मॉम मर गई … अअअहह क्या मजेदार लंड है तेरा … ऊऊफ़्फ़ रोज चोदना मुझे …उसके बाद मैं भी उसका साथ देने लगी और अपनी गांड उछाल उछाल कर अपने बेटे से चुदने लगी. मैं चाह रहा था कि राखी कल पूरा दिन नशे की हालत में ही रहे ताकि मैं तब तक सारी फॉर्मेलिटी पूरी कर दूं. भोजपुरी में सेक्सी बीएफ वीडियो मेंअगर आपको मेरी यह रीयल सेक्स स्टोरी पसंद आई हो तो मुझे इसके बारे में अपने विचारों से अवगत कराना न भूलियेगा.

छह घंटे बीत गए थे, लेकिन अभी तक उसकी तरफ से कोई मैसेज या कोई भी कॉल नहीं आया था. मैंने भी उसका हाथ अपने हाथ में पकड़ लिया और कहा- तुम्हारे हाथ दूध की तरह गोरे और रेशम की तरह नर्म हैं.

उसने अपने थूक से मेरा पूरा लन्ड गीला कर दिया जिससे उसके थूक की तारें बनने लगी. फिर एक दिन मेरे बड़े पापा की छोटी बेटी के पति जो रिश्ते में मेरे जीजा लगते हैं वो आये हुए थे. मैंने कहा कि एक बार बस अंडरवियर उतार कर उसको ऊपर हाथ में लेकर हवा में लहरा देंगे.

कुछ देर पहले ही पापा ने मेरे बूब्स को मसला था और अब मेरे हाथ भी मेरी चूचियों को जोर से दबा रहे थे. पर शमिता के दर्द को अनदेखा करके मैं रुका नहीं और अपना पूरा लंड चूत के अन्दर पेल कर धक्के पर धक्का देता रहा. अभी तो बस ये सोच रही थी कि इनको किसी तरह अपनी चुदी हुई चूत से दूर रखना है.

फिर मैं अपने एक हाथ के अंगूठे से उनकी सलवार के ऊपर से ही उनकी चूत रगड़ने भी लगूंगा.

अब हमें कॉलेज में प्रवेश लेना था, हम चारों सहेलियों में से मीता ने अपने घर वालों के दबाव में आकर दूसरे कॉलेज में दाखिला ले लिया, जबकि हम तीनों सहेलियां मनु परमीत और मैंने एक ही कॉलेज में दाखिला लिया. मैंने अपनी तीनों बुआ को आपस में लेस्बियन सेक्स करते हुए बहुत पहले देख लिया था.

मैंने उसे गोद में लेते हुए अपनी बांहों में भर लिया और उसने मुझे समेट लिया. मैं- तुम्हारी चूत तो फिर से टाइट हो गई।नित्या- उस दिन की चुदाई के बाद रोज चूत की मालिश करती थी तो शायद हो गई।मेरा लन्ड जोर से बार बार नित्या के बच्चेदानी से टकरा रहा था। जिससे नित्या की जोर से सिसकारियां निकलने लगीं और जोर जोर नित्या बोलने लगी- कम ऑन फक मी … हार्ड फक मी. उस वक्त तक मैं लेडी बन कर ही बात कर रहा था और मैंने उसको बोला कि मैं तो अपनी चूत में रोज़ उंगली करती हूं.

ये एक 8 सीट वाली कार थी, जिसमें पीछे 4 लोगों के बैठने के लिए सीट होती है. उन्होंने मुझे देखा, हमारी आँखें मिली और मेरे लंड से एक और पिचकारी निकली जो फिर से उनकी चूत पर लगी. वॉयलेट एकदम से तड़फ गई … उसने मेरे होंठ काट लिए … मुझे दर्द होने लगा.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में मगर जब से मैंने अन्तर्वासना पर कहानियां भेजने की शुरूआत की है तब से ही मेरा मन करता है कि मैं अपने जीवन की हर घटना अपने पाठकों को बताऊं. मनोज का लंड अभी तना खड़ा था, थक तो दीपा भी गयी थी पर मनोज का निकालना भी जरूरी था.

गेन युट्यूब

फिर मेरे हस्बैंड हम सबके लिए कुछ ठंडा लेकर आए और हमने फिर आराम किया. रात के 11 बजे से लेकर सुबह के 5 बजे तक मैंने बुआ की चूत की चुदाई खूब जमकर की. उस दिन मैंने भाई को बोल दिया था कि अब और ज्यादा चुदाई नहीं करेंगे तो भाई ने भी मेरी बात मान ली और वो अब केवल पढ़ाई में ध्यान दे रहे थे.

फिर सोचा अभी तो पूरी रात बाकी है, अगर मौका मिला तो जेठजी से फिर से खुल कर चुद लूंगी. हालाँकि उसके बेटे के बहुत सारे दोस्त थे लेकिन उनमें से उसका सबसे अभिन्न मित्र था अंकित. नौकरानी और मालिक की बीएफउसने मुझे डॉगी स्टाइल में चोदने के बाद सामने से मेरी टाँगें उठा कर भी चोदा.

”मी ओर माई बॉडी?” (मुझे या मेरे जिस्म को) मैंने नाराजगी में लिख दिया.

दोस्तो, आपने जो मेल करके मेरा हौसला बढ़ाया उसके लिए मैं सभी पाठकों का आभार व्यक्त करता हूं. क्योंकि एक सप्ताह बाद उसके भाई की शादी थी।पर हुआ कुछ यूं कि उसकी भाभी ने आते ही राम्या पर ज़ुल्म करना शुरू कर दिया। उसके घर से भागने, अपने प्रेमी के साथ रंगरलियाँ मनाने और बेशर्मों की तरह फिर से घर समाज में रहने की बात को लेकर भाई-भाभी दोनों उसे ताने मारते, गालियाँ देते, घर और खेत के सारे काम करवाते थे.

हालाँकि उसका वजन कुछ बढ़ गया था लेकिन इस वजन ने केवल उसकी मादकता में बढ़ोत्तरी की थी. बताओ ना!सोनिया शर्मा कर मुस्कुराते हुए बोली- अच्छा पूछो, क्या पूछना है?रोहन- किसी भी मूवी के रिलीज होने से पहले उसके ट्रेलर बार बार दिखाए जाते हैं. इसी तरह राहुल का लंड की गर्मी तो वो एक बार चूस कर ही निकाल देती है.

उसने जॉली के गले में हाथ डाल दिया और कहा- जनाब अब क्या आप अपने लंड के साथ साथ मेरी चूत को भी इसी तरह शांत होने का मौका देंगे?इसी के साथ उसने जॉली का हाथ अपने सुलगती चूत पर रख लिया.

तभी सीमान्त ने अपने लंड का पानी रीमा की गांड में डाल दिया, जिससे रीमा को मानो लज्जत मिल गई थी. सलीम ने अपना लन्ड मेरी गांड में डाला, लखन ने चूत में … मेहुल मुझे अपना लन्ड चूसा रहा था और राजा मेरे बूब्स मसल रहा था. मैं ऊपर उठ गया और दुबारा से उनके होंठों पर किस करने लगा और उनके चुचे दबाने लगा.

बीएफ mp3 वीडियोमेरे शौहर पहले से ही कम बात करते थे, अब तो उन्होंने मुझे हाथ लगाना भी बंद कर दिया था. आखिर में कोमल की एक सहेली के अलावा मैं, परमीत, मनु और कोमल और वो रईस लड़का, जिसका नाम संजय था और उसका दोस्त संदीप ही उस फार्म हाउस में रह गए.

लंड चूत फोटो

वो जानबूझ कर झुक झुक कर मुझे अपनी चुचियों की झलक दिखा रही थीं, जिससे मैं और गर्म होता जा रहा था. मैं थोड़ी घबरा रही थी इसलिए उनकी बातों का सही से जवाब नहीं दे रही थी. तभी विवेक पीछे से बोला- बंध्या तू बिल्कुल चिंता नहीं कर हम तुझे फुल सेटिस्फाइड करेंगे और इतना मजा देंगे कि वो मजा तुझे कभी नहीं आया होगा। अभी हम दोनों एक साथ लन्ड डालेंगे.

महीनों बाद मेरी चूचियों की नोकों पर किसी की नर्म जीभ के स्पर्श का एहसास हुआ था. दीपा वाशरूम से फ्रेश होकर रसोई में गयी तो पीछे से हँसता हुआ मनोज आया और दीपा को इशारे से बाहर बुलाया और होंठों पर उंगली रख कर चुप रहने का इशारा किया. बंद आंखों से भी मुझे संदीप का चेहरा स्पष्ट नजर आ रहा था और ऐसा लग रहा था मानो मेरे साथ संदीप ही सब कुछ कर रहा है.

जैसे ही मैंने अपनी जीभ मेम की चूत पर लगाई, मेम की एक मस्त सीत्कार निकल गई ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’वो चुदास से मचलने लगीं. सच कहूं तो उस वक्त मेरा भी मन लंड चूसने का हो रहा था, लेकिन मेरे दिमाग ने मुझे इस बात की इजाजत नहीं दी. मौसी बोलीं- मेरे सैयां जी का स्पर्श वैसा रसीला नहीं है … जैसा तेरा है.

उसके बाद मैं उसके गालों पर, गर्दन पर और उसके चेहरे को हर जगह चूमने और चाटने लगा. दस मिनट तक मेरे होंठों को चूसने के बाद उसने मेरे कपड़े निकलवा दिये.

उसके बाद वो खड़े हो गये और खड़े-खड़े ही मेरी चूत में लंड को घुसाने की कोशिश करने लगे.

कुछ देर वहीं रुक कर हम दोनों ने एक एक कॉफ़ी पी और हम दोनों बाहर आ गए. सेक्सी ब्लू सेक्सी ब्लू बीएफउसका अभी भी अपने दोनों हाथ ऊपर उठा कर अपने मम्मों को सहलाना दबाना चालू ही था. भाभी की भाभी की बीएफएक तो उसके औलाद नहीं थी और पति की मौत भी शादी के दो साल बाद ही हो गई थी. हम दोनों को सेक्स करने के बाद बहुत अच्छी नींद आई थी, बड़ी गहरी नींद लग गई थी.

मैं इससे ज्यादा चुदाई करवाने की हालत में नहीं थी क्योंकि मेरी चूत और गांड दोनों ही सूज गई थी.

जैसे जैसे जेठजी की बातें बढ़ती जा रही थीं, वैसे वैसे जेठजी के शॉर्ट्स में हलचल भी बढ़ती जा रही थी. मैंने नीरू के फ़ोन पर मैसेज किया कि वो थोड़ी देर के लिए मार्किट जाकर आये. लेकिन इतनी मेहनत करने के बाद चुदायी में हमदर्दी जताने का तो कोई सवाल ही नहीं था.

कुछ ही देर बाद पूजा ने अमित के लन्ड को छोड़ मुझे दोनों हाथों से कस लिया. मैं- कोई बात नहीं, मैं तुम्हारी मौसी का दोस्त हूँ और तुम मेरे साथ बाहर कहीं भी घूमने के लिए चल सकती हो. वो लड़की देखने में तो इतनी सुंदर नहीं थी, लेकिन फिगर से बड़ी मस्त और बिल्कुल कमसिन लगती थी.

चोदने का विडीयो

महेश के धक्के अब तेज़ होते जा रहे थे और शायद महेश भी झड़ने वाला था. फिर जब मेरा दर्द कम होने लगा तो उसने मेरी गांड में अपने लंड को हिलाना शुरू किया. मैं ज़ोर ज़ोर धक्के मारने लगा था, कुछ ही देर में वो भी नीचे से गांड उठा उठा कर चुदाई का मजा लेने लगी.

जो लोग दिल्ली के आस पास रहते हैं, वो जानते होंगे कि दिल्ली से मेरठ के सफर लगभग डेढ़ घंटे का है.

नित्या- उह्ह … ह्म्म्म आअह ह्हह … हम्म्म म्मम … आई … मर्रर्र … गईईई मैं आ … रहीई … हूँ … ओह्ह्ह … ह्म्म्म … और … उह्ह … ह्म्म्म्म … अब और मत तड़पाओ जानू.

वो दीवार से टेक कर खड़ी हो गयी और मैंने उससे सटते हुए उसके रसीले होंठों को पीना शुरू कर दिया. अब सोनम भी ब्रा और चड्डी में ही रह गई थी, उसका गोरा मांसल गदराया बदन देख के बॉस तो उस पर टूट गए थे. बीएफ नंगी सीन हिंदी मेंतभी तो कोमल ने भी अपने ऊपरी कपड़े निकाल फेंके और पेंटी को एक ओर करके अपनी चूत में उंगली करनी शुरू कर दी.

रोहन- ऑर्गेज्म कैसा था जान?सोनिया- और रोहन प्लीज … अब ऐसे वर्ड्स यूज मत करो. सबा ने बहुत मज़े के साथ लंड अपने होंठों में दबाया और मेरी आंखों में आंखें डाल कर लंड चूसने लगी. फिर मैंने रीता आंटी को बेड पर लेटा लिया और उसकी चूत में उंगली डाल दी.

मैं समझ चुकी थी कि ये सब अचानक नहीं हो रहा है, पहले से प्लानिंग की हुई साजिश है. कुछ देर बाद साकेत भैया ने दीदी को बेड पर पेट के बल लिटा दिया और उनकी पैंटी को उतारने लगे.

क्या हुआ, जब सारिका ने मुझे देखा … ये चुदाई की कहानी मैं जल्दी ही भेजूँगा.

दोनों लड़कों में दोस्ती की वजह से शबनम उसको अपने बेटे जैसा ही मानती थी. जब सारा का सारा रस निकल चुका तो मैंने अपने मुंह हटाया और जीभ से चूत के सब तरफ का बदन चाट चाट के साफ सुथरा कर दिया. कुछ देर चुचे पीकर मैंने चाची को बेड पर लेटा दिया और पैंटी के ऊपर से ही चूत को चाटना शुरू कर दिया.

बीएफ सेक्स डबल मैं- आअह्ह्ह … मजा आ गया बॉस … क्या कड़क लंड है आपका!विनय भी पूरा नंगा हो गया और नीचे बैठ कर मेरी गांड चाट रहा था. नमस्ते दोस्तो, मैं आपका दोस्त आज फिर आपके लिए एक न्यू सेक्स स्टोरी लेकर आया हूँ, जो कि मेरी और मेरी सगी छोटी मासी के बीच की है.

ऐसे में जब घर में केवल औरतें हों और उनके मर्दों की गैरमौजूदगी में पराये लोग घर में आते हों तो फिर सब लोग ऐसा ही सोचेंगे. मगर फिर कहीं तू हमें भूल तो नहीं जायेगी? हमें पता है कि तू उससे शादी करने के बाद हम लोगों को अपने पास भी नहीं आने देगी. नई नई चूतों के लिए ये एक शिक्षा भी है कि वे केला और बैंगन में से केले को ही ट्राई करें.

बैटरी की देखभाल

कुछ देर बाद मैंने चाची का एक पैर टॉयलेट के कमोड पर रखा और फिर से उन्हें चोदने लगा. थोड़ी देर वो बिस्तर पर पड़े हुए ही अपने पिताजी के लंड और उसकी गोटियों को सहलाती रही. बॉस को कुछ जरूरी काम था, तो वे जाने लगे और विनय ने भी अपना काम कर लिया था.

कमरे में आते ही पिंकी ने तो अपने कपड़े उतार फेंके और बिस्तर पर लेट गयी. उसने पीछे से मुझे हाथ लगा कर कहा कि मुझे आप टेस्ट में हेल्प कर देना.

पर सुनील ने माल इतना निकाला था कि उसकी चूत से लावा जैसा निकल रहा था.

जब भाभी उससे मिलने के लिए पहुंची तो वह पहले से ही वहां पर भाभी का इन्तजार कर रहा था. उन आंटी के गुलाबी रंग के उरोजों पर हल्की नीली नसें ऐसे लग रही थीं, जैसे कोई नीले रंग के बाल हों. परमीत के बाल ज्यादा बड़े ना थे, इसलिए उसके संगमरमर जैसे बदन को देखने के लिए कोई रूकावट नहीं थी.

इसी के साथ मैंने अपने दोनों पांव सामने बैठे जवान की जांघों पर टिका दिए. नीता उम्म्ह… अहह… हय… याह… करके उसके माल की पिचकारियाँ महसूस करती रही और मैंने भी अपना माल निकाल दिया. हम दोनों आखिरी की सीटों पर बैठे हुए थे लेकिन अभी तक हमारे बीच में सब कुछ नॉर्मल ही चल रहा था.

वो कई महीनों के बाद घर पर आते हैं और इसी कारण मेरी मां ने अपने कुछ दोस्तों को मदद के लिए रखा हुआ है.

बीएफ सेक्सी वीडियो देसी हिंदी में: मैं आशा करता हूं कि आपको मेरी यह कहानी पसंद आयेगी और आप को भी चूत के चुदाई के लिए तड़पा कर रख देगी क्योंकि यह कहानी जिसकी है वो किसी रंडी से कम नहीं है. उसकी बातें सुनकर मुझे भी जोश आने लगा और मुझे भी उससे गांड मराने की बात खुलकर करने का जी करने लगा.

मुझे चाची की कुंवारी गांड मारने को मिलेगी, ये सोच कर मेरा लंड झूम उठा था. पर अब वो मूसल सा लंड उसके हाथ में था और उसने उसका सुपारा चाटना शुरू किया. कह रहे थे कि साली बंध्या मन तो करता है कि तेरी मम्मी को भी पटक कर यहीं चोदें, वह भी तो बहुत बड़ी रंडी है, तेरा जीजा बोल रहा था कि तेरी बड़ी बहन यानि उसकी बीवी भी बहुत बड़ी चुदक्कड़ है.

ऐसे ही मौज मस्ती के साथ पार्टी चलती रही, फिर बरामदे में स्टाल जैसा बना कर, खाना टेबल पर लगा दिया गया.

जब मैं चढ़ी, तो मेरी सीट वाले केबिन में पहले से दो गबरू जवान फौजी बैठे थे. गर्मागर्म स्वर्ण अमृत !!! वाह क्या बात है !!! हालाँकि अभी अभी बेबी रानी का ढेर सा अमृत पी कर चुका था, फिर भी मैं प्यासे की तरह लपालप पीता चल गया. वो अपने मम्मे मेरी तरफ तानते हुए बोली- दूध के बर्तन कैसे लगे?मैंने एक आह भरी और उसके दूध घूरते हुए कहा- एकदम मस्त खरबूजे हैं.