पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ

छवि स्रोत,भाभी के सेक्सी वीडियो देहाती

तस्वीर का शीर्षक ,

एक्स बीएफ वीडियो इंग्लिश: पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ, कुछ पल का विराम देकर मैंने दूसरा धक्का दिया तो पूरा लंड उसकी चूत में समा गया.

काजल राघवानी की सेक्सी नंगी फोटो

उसको धमकी भी दूँगी कि मैं मम्मी पापा से कह दूँगी कि तुम क्या क्या देखते और पढ़ते हो. खड़े-खड़े की सेक्सी वीडियोओहहह … चाटो … मेरी जान, मेरे कुत्ते, मेरे हरामी बालम!चाची का ऐसा रूप देखकर मैं तो हैरान रह गया.

फिर मैंने उसको घोड़ी बना दिया और अपना टनटनाया हुआ लंड उसकी चूत में पीछे से डालकर चोदना शुरू किया. रश्मिका मंदाना का सेक्सीफिर से मेरी यंग सिस्टर सेक्स मांग रही थी, उसे चुदास चढ़ गई थी तो उसने मेरे सारे कपड़े खोल दिए और मेरे लंड को अपने मुँह में लेकर जोर जोर से चूसने लगी.

मगर विपिन जी का लंड तो मेरी उम्मीद से कहीं ज्यादा दमदार भयंकर साबित हो रहा था.पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ: मैं बहुत खुश हो गया कि आज पहली बार अपनी मौसी की लड़की की फुद्दी को छूने का मौका मिला है.

मेरी तो हालत एकदम खराब होने लगी और मैं जोर-जोर से आहें भरने लगा- आह भाभी और जोर से चूसो और अन्दर तक लो!मैं उनका सर पकड़ कर उनके मुँह को चोदने लगा.लेकिन जब भी कभी कभार हमारा सामना होता था तो भाभी मुस्कुरा देती थीं.

इंडोनेशिया की सेक्सी फिल्म - पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ

तभी वो मुझे तेजी में चोदने लगा और कुछ ही शॉट्स में उसके लंड से पानी निकल गया.वो मुझे इस नाम से इसलिए बुलाती थी कि सब अपरिचितों के सामने जान कहकर नहीं बुला सकती थी, तो उसने जॉन नाम रख दिया.

मेरी यह कोशिश रंग लाई और अंकल जी ने ठिठक कर मुझे देखा, उनकी चाल धीमी हुई और वे चले गए. पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ दीदी अगर आज आप मेरे लिए जमाई जी के लंड का इंतजाम न करती तो सच में मैं छत से कूद कर अपनी जान ही दे दती.

पिंकी भी अमर से ऐसे लिपट गई जैसे कोई सांप किसी पेड़ के तने पर लिपट जाता है.

पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ?

लंड बीवी के थूक से काफी चिकना हो गया था, इसलिये मेरा लंड मेरी बीवी के चुत में झट से पूरा अन्दर तक घुस गया. भाभी का सर मेरे कंधे पर था और मैं धीरे धीरे उनके पूरे पेट औेर कमर पर हाथों से रंग लगा रहा था. कौन हो तुम? यहां क्या कर रहे हो?मैं बोला- डरिए मत मैडम, मैं आपको ही देख रहा था.

मिनी की जब शादी हुई थी, तो उसके पति का बड़ा बिजनेस था और पैसे की कोई कमी नहीं थी. उस समय में पूरा नंगा था और फिर मैं बाहर खड़ी हुई चाची को देखकर एकदम हैरान रह गया, क्योंकि वो अपने एक हाथ से अपने मम्मों को दबा रही थीं और दूसरे हाथ से अपनी चूत में उंगली कर रही थीं. चुदाई की ख़ुशी के बाद हम दोनों सहेलियां बाजार में गई और एक होटल में जाकर खाना खाया और उसके बाद हम दोनों घर आ गई.

बीस मिनट बाद जब मैं झड़ने वाला था, तो भाभी बोलीं- लंड बाहर निकाल लो. हो सकता है कि तुम्हारा ध्यान भी न गया हो उस तरफ, या तुम खुद अपने रंग के दर्द के कारण अपने आस-पास ऐसा संसार बना लिया हो कि और किसी को उसमें तुमने आने की इ्ज़ाज़त ना दी हो?” मैंने गहराई से कहा।सलोनी- बात तो आप सही कह रहे हो. खासकर विधवा औरतें व बूढ़ी हो चुकी औरतें, जिनके पति उनकी भूख को सतुंष्ट करने में सक्षम नहीं होते और उनकी इच्छा अभी भी जागृत होती है.

मम्मा 4 घंटे ट्रेनिंग करतीं और बाकी 6-7 घंटे हम दोनों चुदाई करते रहते. एक क्षण लगा वसुन्धरा को समझने के लिए और उसी क्षण ही वसुन्धरा ने अपने दोनों हाथों से मेरे कंधे पकड़ कर मुझे अपने ऊपर से उठाने की कोशिश की.

मैंने देखा कि वो अपनी बुर में उंगली कर रही थी और अपने मम्मों को मसलते हुए अपनी मुठ मार रही थी.

मैंने पूछा- उन्हें मेरे से तो कोई प्रॉब्लम नहीं है?तो वो बोली- नहीं नहीं, आपको वो बहुत पसंद करते हैं, इसी लिए मुझे आपके पास पढ़ने आने की अनुमति दे रखी है.

जैसे ही 12:00 बजे, मैं जोर से चिल्ला उठा- हैप्पी बर्थडे डार्लिंग रीना!और इसी आवाज के साथ विक्रम ने अपना लौड़ा एक ही बार में रीना की चिकनी चूत में गप्प से डाल दिया।मेरी बीवी रीना की चूत में जैसे हीइतना बड़ा लंड एकदम से गया, रीना उत्तेजना और दर्द से कराह उठी।विक्रम ने प्लान के अनुसार रीना की चूत में धीमे-धीमे से धक्के दिए. डायरेक्टर उससे बोल कर चला गया … लेकिन उसने बेचारी आन्या को ऐसे गर्म करके छोड़ दिया. आप सबको कैसी लगी यह साड़ी वाली भाभी की चुदाई कहानी?मुझे जरूर बताइएगा.

मैंने नोटिस किया कि इस तरह से देखने से उसके हाफ पैंट में तंबू बन गया था. मैंने उसकी टागें चौड़ी कीं और उसके पैरों के बीच में बैठ कर उसकी चुत पर अपनी जीभ फेरता रहा. फिर साथ ही ये सोच कर डर भी लग रहा था कि अगर मैं उसको गर्म करने में कामयाब न हो पाया और उसने किसी को मेरे बारे में बता दिया तो क्या होगा? मेरी तो बदनामी हो जायेगी पड़ोस में.

कार में घर जाते वक्त या उसके घर में कुछ वक्त रुकने के समय वो जब तब मुझे टच कर देती थी.

बुर से निकले स्वादिष्ट माल को पी जा प्यारे भाई!उसकी बुर फड़फड़ा रही थी और उसकी गांड में भी कम्पन हो रहा था. तीन महीना बीतने को हो रहा था और हम लोग एक-दूसरे से ज्यादा घुल मिल चुके थे. मैंने कुछ ही पल के बाद उसके मुंह में वीर्य की पिचकारी मारनी शुरू कर दी.

मुझे थोड़ी हैरानी हुई कि ‘जिस मीना के जिस्म का भोग मैं आसानी से कर लूंगा’ की उम्मीद कर रहा था वो इतना आसान भी नहीं था. मेरा नाम रेहाना है, दोस्तो! मैं एक गोरी चिट्टी, बड़े बड़े बूब्स वाली खूबसूरत और हॉट लड़की हूँ।मैं पढ़ी लिखी हूँ सेक्सी हूँ, और एक बड़े पद पर काम करती हूँ।मैं आपको एक अंकल Xxx कहानी बता रही हूँ. मैंने भाभी की चिकनी चूत को खूब चूस कर गर्म किया और इस बार उनको झड़ने से पहले ही एक बार चोदना तय किया.

मेरे सामने वाले फ्लैट में एक परिवार शिफ्ट हो रहा था और उसी की आवाजें आ रही थीं.

मैं उसके होंठों पर किस करने लगा और उसके दर्द को कम करने की कोशिश करने लगा. मेरे मामा के बेटे ने मुझे उस रात तीन बार चोदा और पूरी चुदक्कड़ और लंड की प्यासी बना दिया.

पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ ख्वाहिश तो पूजा की चूत मारने की थी मगर अभी तो पूजा की चूत उपलब्ध हो नहीं सकती थी. अंकल ने अपनी गांड पीछे की तरफ दबाई, तो मेरा आधा लंड उनकी गांड में घुस गया.

पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ मैंने देखा कि उससे अब रहा नहीं जा रहा है, तब मैंने उसकी सलवार निकाल दी और अपने कपड़े निकाल दिए. पहली बार आज हाथ से लंड को पकड़े हुए थी, मैं बता नहीं सकती उस पल मुझे क्या फील हो रहा था.

मगर साथ ही मेरे मन में इस बात को लेकर भी कौतूहल चलता रहता है कि मैं एक बार पापा को अपनी माँ की चुदाई करते हुए भी देखूं.

सेक्सी नंगी चोदते हुए

मैं गांव आया तो मेरे घर पर दो चाचा चाची, स्नेहा, मायरा और छोटे चाची का एक बेटा था. वो मेरे नितंबों को पकड़कर अपने मुँह में लौड़े को धकेलने लगी और खूब बढ़िया से लौड़े को चूसने लगी. जैसा कि आप सभी जानते हैं कि उस उम्र में मूड स्विंग होते रहते हैं यानि की कभी इंसान खुद ब खुद खुश हो जाता है या फिर बिना कारण के ही उदास हो जाता है.

शिखा अपनी चूत को बेडशीट से पोंछने में लगी हुई थी और बीच-बीच में मेरी तरफ देख कर मुस्करा देती थी. उसकी 32 की चुचियां बड़ी-बड़ी और एकदम तोप सी तनी हुई नुकीली सी हैं, कमर 28 इंच की है और 38 इंच की पहाड़ सी उठी हुई गांड है. पापा ने मेरी दोनों टांगों को चौड़ी कर दिया और अपना लंड मेरी चूत पर टिका कर रगड़ने लगे.

कार में घर जाते वक्त या उसके घर में कुछ वक्त रुकने के समय वो जब तब मुझे टच कर देती थी.

हाइट भी पांच फिट सात इंच है, फिगर 32-28-30 की है और काली आंखें और काले बाल, गजब की मादक सुंदरता है. उसकी हरकतों से मैं और जोश में आने लगी और आह ऊह उम्म की आवाजें निकालते हुए तेज़ी से धक्के मारने लगी. दरवाजे पर कान लगा कर ध्यान से सुना तो यकीन और पक्का हो गया कि ये लोग पक्का चुदाई ही कर रहे थे.

मैंने सोनू को अपनी छाती से लगा लिया और उसकी टांगें चौड़ी करके अपने हैवी लंड को उसकी चूत के नीचे लगाया. थोड़ी देर बाद उसने अपना लंड बाहर निकाल दिया और रोहन ने अपना लौड़ा अंदर डाल दिया. मैंने अपनी एक टांग से उसकी नीचे वाली टांग को दबा दिया और दूसरी टांग से उसकी दूसरी टांग को दबा दिया.

ये कह कर भाभी ने सामने की बेंच पर रखे अपने बैग्स अपने पास रख लिए और मेरे लिए जगह बना दी. इस पर वो शुरू शुरू में तो कहती रही कि नहीं मैं नहीं आ सकती, नहीं आ सकती.

सी … आह … ह … ह … ह!”अब तक तो मेरी उंगली ने वापसी का सफर शुरू कर दिया था. आख़िर में मैंने भी लास्ट झटके मार के नफीसा की चुत में माल निकाल दिया. जंगल में हम दोनों चुदाई के लिए सही जगह खोजने लगे … लेकिन हमें डर भी था.

जब उसकी तरफ से कोई हरकत नहीं हुई तो मैंने उसके चूचों को और जोर से दबाना शुरू कर दिया.

ताई हंस कर बोलीं- क्यों ज्यादा गर्मी चढ़ गई थी क्या?ताऊ बोले- हां … अब जल्दी से आ जा. फिर मैंने भाभी को वहीं आंगन में लेटा दिया और उनके पूरे बदन को सर से पैर तक चाटने लगा. मैंने उससे कहा- शिल्पा की भी दिलवा दो यार!निशा बोली- ठीक है कुछ करूंगी … अभी के लिए गुड नाईट.

इससे मेरी हिम्मत और बढ़ गयी और मैंने उसकी पूरी कमर पर हाथ फेरना चालू कर दिया. वो भी तपाक से बोली- मैं भी!मैंने पूछा- तुम क्या कहना चाहती हो?वो बोली- पहले तुम बताओ.

मैंने कहा- यार, अभी तो दोनों बड़ी-बड़ी हांक रही थीं कि तुम्हें दोनों मिलकर निचोड़ देंगी, अब क्या हुआ?सारा ने कहा- निचोड़ेंगी तो जरूर. वो भी मेरे गले में बांहें डाले मेरे से एकदम चिपक गयी। उसे वैसे ही लेकर मैं कुर्सी पर बैठ गया। वो मेरे गले में बांहें डाले हुए थी. जब मेरा लंड सुषी की चूत में अंदर जाकर लगता तो सुषी के मुंह से दर्द भरी आवाज निकल जाती थी.

होली सेक्सी मूवी

मेरे ऐसा कहने पर उसने मेरे लंड को अपने हाथ में पकड़ लिया, वह बोली- इस दिन का तो मुझे कितने समय से इंतजार था!वह मुझे किस करने लगी और मैंने उसके बदन को चूमना शुरू कर दिया.

यह कहते हुए जीजू ने मुझे गोद में उठा लिया और बाथरूम की स्लैब पर बैठा दिया और खुद स्टूल पर बैठ गए, जीजू ने मेरे दोनों पैरों को फैला दिया और अपना मुंह मेरी चूत पर रख दिया. मैंने उसे बताया- घर में कोई नहीं है हम दोनों के अलावा!वो बोली- फिर मैं जाती हूं. अपना सामान उसकी चूत में डालने की कोशिश करने लगा, उसको बिस्तर पर चित लेटा कर उसकी टांगों के बीच में बैठ कर मैंने सुपारा उसकी चुत की फांकों में फंसा कर धक्का लगाया, वो तो एकदम से कूद सी गई.

कहानी में और भी पात्र हैं, उनका परिचय उनके आगमन के साथ ही मिल जायेगा।शारदा चाची का घर मेरे ही नगर में कुछ ही दूरी पर है. जल्दी ही राशि ने पानी छोड़ दिया और फिर उसने लंड अपनी चूत में घुसा कर उस पर कूदने लगी, उसकी उछलती चूचियों और सिसकारी मारती आँखों को देख-देख कर लंड में और उत्तेजना आ रही थी और राशि मेरे तीन बार झड़ने तक खुद को चुदवाती रही और फिर हम दोबारा वहीं नंगे सो गए. हिंदी सेक्सी विडिओ ओपनमैं दर्द से तिलमिला उठा और मामा से कहने लगा कि मुझे छोड़ दो, लेकिन मामा तो चुदासे थे, तो उन्होंने मेरा मुँह बंद कर लिया और एक जोरदार धक्का मारकर पूरा लंड मेरी गांड में पेल दिया.

अब वो बस ब्लाउज और पेटीकोट में मेरे सामने थी और मैं अकेली जींस में था. मैंने हाथ बढ़ा कर अपने थूक से पति का लंड गीला कर दिया था, इसलिए उनका लंड मेरे चुत में आसानी से घुसने लगा.

कहानी आगे जारी रहेगीआपका आमिरदोस्तों, आप अपने विचार मेरी ईमेल[emailprotected]पर दें. मैंने प्राची को गले लगा कर जन्मदिन की शुभकामनाएं दीं, उसने मुझे किस करके धन्यवाद कहा. वो दोनों मेरे बूब्स और चूत को चूस रहे थे और मैं अब जोर-जोर से सिसकारियाँ ले रही थी.

उनकी चड्डी सूखी नहीं है, वो क्या पहनेंगे? आप जीजू का बिल्कुल ख्याल नहीं रखतीं. मेरी साली दिशा मेरे पास आई और जैसे ही उसने मेरे लंड पर किस किया, मेरे पूरे शरीर में मानो बिजली सी दौड़ गई. मैं रोज उसके घर जाता और हम बात करते लेकिन कोई भी मौका नहीं मिला। फिर एक दिन चाचा-चाची कहीं शादी में गए थे और दूसरे दिन आने वाले थे और मुझे घर सोने के लिए बोल दिया.

फिर मैंने उसका लोअर थोड़ा नीचे सरका दिया, मैंने उसकी पेंटी भी नीचे सरका दी और जाकर उसकी टाँगों के बीच बैठ गया और उसकी फ़ुद्दी में अपनी जीभ देने लगा.

मेरा इस बार का प्रयास कैसा लगा, आप नीचे दिये गए मेल आई-डी पर जरूर बतायें. वो मुझसे पूछने लगी- वो क्या सरप्राइज है?मैंने कहा- तुमको पता लग जाएगा, बस इतना जान लो कि एक नहीं, दो सरप्राइज हैं.

उन्होंने भी अपनी पीठ ऊपर उठाकर मेरा सहयोग किया, जिससे मेरा काम थोड़ा आसान हो गया और मैंने उनकी ब्रा का हुक खोल दिया. आंटी मेरी मम्मी को समझाकर मेरे पास बाहर आ गईं और बोलीं- तुम्हारी मम्मी एकदम घबराई हुई है, वो कांप भी रही है. एक घंटे बाद हम दोनों फिर से चुदाई में लग गए और उस दिन मैंने अपनी बहन की 3 बार चुदाई की.

मैं- हां तो मेरे कॉलेज में आ जाओ न … मैं तुम्हारा एडमिशन करवा देता हूं. ओहहह … चाटो … मेरी जान, मेरे कुत्ते, मेरे हरामी बालम!चाची का ऐसा रूप देखकर मैं तो हैरान रह गया. वैसे ही मैं बहुत हॉर्नी था, तो मैंने जल्दी से लंड को गले गले तक लेकर चूसना शुरू कर दिया.

पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ माना कि साफ़ साफ़ ‘हाँ’ नहीं थी लेकिन साफ़ साफ़ ‘न’ तो बिल्कुल भी नहीं थी और आधी-अधूरी ‘न’ तो नखरे वाली ‘हाँ’ ही होती है … यह मैं जानता था. इस कहानी में मैं अपनी सहेली से दोस्ती की और हम दोनों में इतनी अधिक दोस्ती हो गयी कि मैं अपनी सहेली के भाई से चुद गयी.

பிபி செஸ்

जितना जोर मुझसे लग सकता था मैं उसकी चूत में लंड को धकाने के लिए लगा रहा था. भाभी की हालत गली की कुतिया के जैसी हो गई थी जो तीन-चार कुत्तों का लंड लेने के बाद अपनी जान छुड़ाती हुई भागने लगती है. गेम फिर से शुरू हो गया, ताश के पत्ते एक बार फिर से बंट गए और इस बार नतीजा ये आया कि टास्क करने की बारी सोनल की थी.

उससे बातचीत के दौरान मुझे पता चला कि वो एक विधवा है और पास ही एक मकान में रहती है. थोड़ी देर बाद वो थोड़ा पीछे को हुई और अपनी गांड को मेरे लंड पर सैट कर लिया. हिंदी में सेक्सी पिक्चर डाउनलोडइसी तरह मैंने भी अपने बारे में थोड़ा बहुत राज उसके सामने खोलने शुरू कर दिया था.

बारह बजे प्राची ने होटल के बाहर आकर मुझे कॉल किया और मुझे दरवाज़ा खोल कर रखने को बोला.

एक दिन स्कूल में मैं इसी तरह उसके विषय में सोचते हुए कि अगर मुझे उसका साथ मिले, तो मैं उसके साथ क्या-क्या करूँगा, मैं दिन के सपने में खो गया. वो बोले- कितने दिन से गांड नहीं मरवाई है?मैंने कहा- इस बार काफी लम्बा समय हो गया है और मैं बहुत ज्यादा प्यासा हूँ.

आप यकीन मानिए कोरोना की वजह से सम्भोग वासना का बहुत ज्यादा उदय हुआ है. एक दिन मैं टेलर से अपने कपड़े लेने गया तो वहां एक साहब मुझे देखकर मुस्कुराने लगे. इस घर में मैं और चाची एक ही रूम में ठहरे हुए थे, लेकिन अब मुझे ऐसा लग रहा था कि कोई मुझे बाथरूम में बाहर दरवाजे से देख रहा है और कुछ देर के बाद मुझे ऐसा लगा कि वो शायद चाची ही हैं.

मैंने देखा एक बहुत ही खूबसूरत से अंकल, जिनकी उमर 50-52 साल के आस-पास होगी, पार्क में टहल रहे थे.

अंकल जी मेरे भीतर ही झड़ गए थे मुझे कुछ होगा तो नहीं ना?” मैंने चिंतित स्वर में पूछा. मैं उनके करीब गया तो मायरा ने मुझे किस किया और कहा- आप हमारे प्यारे भैया हैं. मैं बहुत बिगड़ चुकी हूँ दोस्तो … दारू सिगरेट सब कुछ पीने लगी हूँ मैं! मेरे बहुत सारे बॉयफ्रेंड भी हैं कॉलेज में.

ब्लू पिक्चर सेक्सी फिल्में वीडियोमेम की चूचियां छोटी छोटी थीं, शायद उन्होंने अभी अपनी चूचियां किसी मर्द से नहीं मिंजवाई थीं. जिस कम्पार्टमेंट में हम दोनों थे, उसमें एक बूढ़े लोगों का बड़ा समूह यात्रा कर रहा था.

मुक्ति सेक्सी

मैं उनके रसीले होंठों को आम की तरह चूस रहा था और भाभी मेरी जीभ चूस कर मज़े ले रही थीं. मैंने 5 फ्रेंड को भी कॉल किया, लेकिन मुझे 6000 रूपए देने कोई आगे नहीं आया. अब वो लंड का मजा ले रही थी- आह ऊऊईई ईईह ऊओह आअह्ह ह्हहा … ऐसे ही और चोदो और जोर से ऊह हह्ह!फिर कुछ देर में मैं रुका और लंड निकाल कर निशा को घोड़ी बना दिया.

मैंने ऐसे ही रगड़ रगड़ कर अपना माल उसके पेट पर और चुचियों पर गिरा दिया. इसलिए मैं अबसे अपने बाथरूम का दरवाज़ा खुला रख कर नहाने लगा और मेरा निशाना सही लगा. हम लोग सो चुके थे, तभी अचानक बाहर से कुछ अजीब सी आवाज सुनाई पड़ी तो हम लोग आवाज सुन कर बाहर आ गए.

इसी वजह से हम दोनों को एकांत नहीं मिल रहा था और मेरी सौतेली मम्मी और मेरे बीच सेक्स नहीं हो पा रहा था. जब मेरा लंड सुषी की चूत में अंदर जाकर लगता तो सुषी के मुंह से दर्द भरी आवाज निकल जाती थी. इस धक्के से जहां उसके लिंग ने मेरी योनि की दीवारें फैला दीं, वहीं मेरी योनि की मांसपेशियों के विरुद्ध उसके लिंग की ऊपर की चमड़ी पीछे की ओर खिंचती चली गई जिससे उसका सुपारे से लेकर लिंग का कुछ हिस्सा खुल गया था और मैं उसकी नसों को अपनी योनि के भीतर महसूस करने लगी थी.

फिर मैंने उससे पूछा- तुम मेरे लिए क्या लायी हो?उसने मुझे परफ्यूम दिया और काफी सारी चॉकलेट्स भी. अपना साढ़े छह इंच के लंड को मैंने एक ही झटके में पूजा की चूत में जड़ तक घुसा दिया.

शारदा चाची- और जोर से कपिल, और जोर से … शादी में बहुत थक गयी हूं, तू पूरी थकान उतार दे मेरी आज.

उसका नितम्ब सहलाना मेरी जांघों में आग लगा रहा था, पर मुझे जो चाहिए था, वह रिस्पांस मुझे नहीं मिल रहा था. रवीना टंडन के सेक्सी फिल्ममैं बोला- क्या देख रही हो?वो बोली- उसकी पैन्ट में।आखिर सन्जू की भी लगातार इमेजिन कर कर के कहीं ना कहीं उसके मन में भी पराये लंड से चुदवाने की इच्छा थी। लेकिन स्त्री अपने आप को सीमित कर के रखती है।मैं सन्जू को और जोर से चोदने लगा, वो जोर जोर से आहें भरने लगी और पूरा कामातुर हो गई. सेक्सी वीडियो लड़की छोटीमैंने कुछ पल सोचने के बाद उससे कहा- ठीक है, कहाँ पर मिलना है?उसने कहा- वह सब मैं आपको फोन करके बता दूंगी. ये टॉवल उनकी चुचियों और चूत के थोड़ा नीचे तक ही था, जिस वजह से उनकी चिकनी और गोरी जांघें साफ दिख रही थीं.

भाभी बोलीं- ऐसा क्या है मेरे में?मैं- भाभी आपमें क्या नहीं है … आप तो पूरी कयामत हो.

यह बात सही भी है लेकिन यह बात भी मान लीजिए कि लड़कियों में भी सेक्स को लेकर उतना ही जोश होता है बस हम लड़कियां लड़कों को पता नहीं लगने देती।आज मैं आप सभी से जो कहानी शेयर कर रही हूँ … इससे बस यही साबित होता है कि एक लड़का और लड़की के बीच सिर्फ एक ही रिश्ता हो सकता है और वह आप सभी जानते होंगे. मेरे दूध भी आराम से दबाइए ना … मुझे दर्द हो रहा है … आह हहहह … क्या कर दिया आपने अंकल … बहुत अच्छा लग रहा है. वो मुझे अपनी बांहों में भरे हुई थी और अपने हाथ मेरे बालों में फिरा रही थी.

कपिल- सही कहा, जब तुम ये दर्द होने का नाटक कर के चिल्लाते हुए चुदवाती हो, तब अपार आनंद आता है. मैंने भी उसके साथ ज्यादा कुछ जोर-जबरदस्ती करने की कोशिश नहीं की क्योंकि वह इस खामोशी को बरकरार रखना चाहती थी. मैंने अपनी एक टांग से उसकी नीचे वाली टांग को दबा दिया और दूसरी टांग से उसकी दूसरी टांग को दबा दिया.

सेक्सी मराठी साड़ी

वैसे भी भाभी को चोदने का मन तो था ही … और ऊपर से पोर्न वीडियोज देख लीं, तो मेरी कामेच्छा दोगुनी हो गई. जब मैंने देखा कि सुषी को भी मेरे लंड से इस तरह चुदाई करवाने में मजा आ रहा है तो मैंने उसकी चूत को और जोर से चोदना शुरू कर दिया. इस पर पिंकी ने अपनी आंखें बंद कर लीं और वो अमर की गर्दन को अपनी चूचियों पर दबाने लगी.

इस धक्के से जहां उसके लिंग ने मेरी योनि की दीवारें फैला दीं, वहीं मेरी योनि की मांसपेशियों के विरुद्ध उसके लिंग की ऊपर की चमड़ी पीछे की ओर खिंचती चली गई जिससे उसका सुपारे से लेकर लिंग का कुछ हिस्सा खुल गया था और मैं उसकी नसों को अपनी योनि के भीतर महसूस करने लगी थी.

कई जगह पर तो गुदगुदी हो जाती है मगर एक फ्रेशनेस की फीलिंग भी आती है.

थोड़ी देर के बाद उसकी बॉडी अकड़ने लगी और उसकी फ़ुद्दी ने नमकीन पानी छोड़ दिया और वो बोली- भाई, अब मत तड़पाओ, डाल दो मेरे अन्दर!मैंने उसे अपना लंड चूसने को बोला, पर उसने मना कर दिया. वो अब बहुत तेज सिसकारियाँ ले रही थी- मेरी जान तुम मुझे पागल बना रहे हो … उम्म्ह… अहह… हय… याह… ओह मेरे चोदू भाई! हाँ ऐसे ही, ऐसे ही … ओह्ह, ओह्ह, चूसो मेरी बुर को … ईई … इह्ह … मेरी बुर की धज्जियाँ उड़ा दो. गांव की भाभी की सेक्सी वीडियो हिंदी मेंजल्दी से अपना लण्ड घुसाओ ना!मगर मैं उसको थोड़ी देर और तड़पाना चाहता था.

उससे पहले मैंने अपने मोबाइल पर गाने वाला वीडियो स्टार्ट करके रख दिया था. मैं और मस्ती से अपना मुंह खोले हुए तेज तेज मुठ मारने लगी।फिर लण्ड ने सारा वीर्य मेरे मुंह में ही उगल दिया. जब मैंने उसकी गांड को देखा तो मेरा मन कर रहा था कि आज इसकी गांड में भी लंड को डाल दूँ.

एक बात बताना तो मैं भूल ही गया था कि भाभी का हसबैंड पुलिस ने जॉब करता है. मुझे ऐसे देख और मेरी हरकतें और चरम सुख की प्राप्ति की कामुक आवाज सुन सुखबीर भी खुद को ज्यादा देर न रोक सका.

और मेरी निगोड़ी कमर बेशर्मी से खुद ब खुद ऊपर उठ उठ कर चूत उनके मुंह में देने लगी.

फिर वो मेरे पास आयी और बोली- क्या हुआ?मैंने उससे कहा- कुछ नहीं यार मैं तो घायल हो गया हूँ. जिस वजह से चूत के सिर्फ फांकें और फांकों के बीच का गुलाबी एरिया ही दिखा मुझे, बाकी सब झांटों ने ढक रखा था. एक दिन हमारा फिजिक्स का पीरियड चल रहा था और अनु नीचे बैठकर कुछ काम कर रही थी.

चूत सेक्सी वीडियो हिंदी आह्ह … पूजा तेरे चूचे … ओह्ह पूजा नंगी … और ये गया पूजा की चूत में. वो उसको लेकर चले गए और भाभी को बोल कर चले गए कि रोहन का ध्यान रखना.

अब जाकर मेरी जलन शांत होने लगी थी पर अभी तो वासना की आग ने जलना शुरू ही किया था और हम दोनों मध्य तक आ गए थे. भाभी बोली- यहीं पर खड़े रहोगे या अंदर भी आओगे?अंदर ले जाकर भाभी ने कहा- तुम बैठो, मैं तुम्हारे लिये चाय लेकर आती हूँ. मैंने दरवाजे के पास जाकर उस जगह में से देखा तो दोनों की पीठ दरवाजे की तरफ थी.

தமிழ் ஹாட் செஸ்

मैं अपने आपको सम्भालकर रूम के अन्दर गया तो देखा मम्मी बिल्कुल नंगी थीं. ऐसे ही प्यार से … हां, ऐसे ही! ओह … खा जाओ मेरी बुर को, चूस लो इसका सारा रस!उसके मुख से लगातार सीत्कारें निकल रही थीं, मुझे भी उसकी सीत्कारों को सुन कर बहुत ही मजा आ रहा था और साथ ही डर भी लग रहा था कि कहीं कोई आ न जाये, पर ये दोनों लगे हुये थे अपनी कामवासना की सैर करने में. मुझे बेहद मजा आ रहा था तो मैं बस मादक आवाजें भरते हुए उनके लंड से अपनी गांड को चुदवा रहा था.

शारदा मेरी सगी चाची नहीं है, बल्कि मेरे पापा के चाचा के बेटे की बहू है, उसकी आयु 40 साल है लेकिन शरीर की बनावट ऐसी कि बुड्ढों का भी हाल-बेहाल कर दे. मैंने अब स्पीड और ज्यादा बढ़ा दी। अब वो झड़ने वाली थी और उसकी आवाजें और बढ़ने लगीं ‘आ आह अम्म आ आआ …’ और वो अपनी कमर को हिला हिला कर अकड़ने लगी और झड़ गयी।मैं थोड़ा स्लो हुआ। वो बिस्तर पर बिखर कर पड़ी थी और लंबी लंबी सिसकारी ले रही थी। अब मेरी बारी थी.

लेकिन जब भी कभी कभार हमारा सामना होता था तो भाभी मुस्कुरा देती थीं.

थोड़ी देर बाद मुझे भाभी ने फ़ोन किया और पूछा- कहाँ हो?मैंने 5 मिनट में आने को बोल के फोन रख दिया।जब मैं घर पहुँचा तो सीधे उनके रूम में जाने के लिए ऊपर जीने से चढ़ने लगा. हमारी जीभें एक दूसरे के मुँह में एक दूसरे के रस का मजा लेने लगी थीं. जब भी मैं उनके घर पर जाता था तो भाभी को थैंक्यू बोलता था क्योंकि उनकी वजह से ही मेरी जॉब लगी थी.

फिर देखते ही देखते गप से मेरे खड़े लंड को भाभी ने अपने मुँह में ले लिया और लंड चूसने लगीं. जैसे ही उसको अपने लंड पे मीरा के हाथ के होने का अहसास हुआ, तो उसने मीरा की ओर देखा. दिखने में मैं अपनी सहेली से भी ज्यादा सेक्सी थी क्योंकि मेरी चूची और गांड का आकार काफी सुडौल और बहुत बड़ा था.

मैं उन्हें किस और स्मूच करता रहा और उनकी नंगी पीठ कमर पर अपने हाथ चलाता रहा.

पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ पिक्चर बीएफ: मैं ठीक हो जाऊंगा ना?मेरे सवाल पर उसने कहा- घबराने की कोई जरूरत नहीं है. परंतु आज मेरी वजह से उनकी जिंदगी में थोड़ी बहुत खुशियां लौट आई थीं और मेरे लिए यह फक्र की बात थी कि मैं उनकी खुशियों का कारण बन सका था.

मैंने सोनू की टांगों के नीचे से हाथ डाला और उसके घुटनों को मोड़ते हुए लंड से चुदाई शुरू की. अब चूंकि उस समय घर में सिर्फ हम दोनों ही थे, तो कुलीन मुझे हवस भरी नजरों से देखने लगा था. अब मैंने उसके मुँह के पास लण्ड लगा दिया और बोला- अब इसे चूसो और ज्यादा मज़ा आएगा.

नीचे से ताई भी अपनी दोनों टांगें हवा में उठाए हुए लंड चूत में अन्दर तक ले रही थीं.

उन्होंने मुझसे पूछा- तुम्हारी कोई गर्लफ्रेंड है?मैंने मना कर दिया, तो वो बोलीं- तभी. मैंने अपना लंड उसकी चूत के मुहाने पर रखा और उसके दाने पर अपना लंड रगड़ने लगा. फिर मेरे किसी दोस्त ने मुझे एक रूम के बारे में बताया, जिसका चार्ज 500 रूपए था.