प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,गांव की भाभी जी की सेक्सी वीडियो

तस्वीर का शीर्षक ,

सेक्सी मूवी ब्लू बीएफ: प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ, मेरी इस मस्त सेक्स कहानी पर आप अपनी प्रतिक्रिया के ज़रिए अपना प्यार देना न भूलें.

ब्लैक सेक्सी वीडियो सेक्सी

मैंने कन्फर्म करने के लिए पूछा- सलवार दूं या कमीज? या फिर वो दूसरा वाला सामान?वो बोली- दूसरा वाला सामान क्या होता है?वो फिर से बोली- बता ना क्या बोल रहा है?मैंने कहा- वही जो ब्लाउज और साड़ी के नीचे आप पहनती हो. राजस्थानी सेक्सी वीडियो खुलेआममैंने उमेश से रुकने को बोला, तो उसने कहा- मालूम है आपको ठंड लग रही है, लेकिन कहीं रुकने की जगह तो मिले, तब तो रुका जाए.

ये सिलसिला अब भी यूं ही चल रहा है और मेरेजिस्म की आगपूरी तरह से शांत रहती है. सेक्सी गुजराती एचडीतभी अचानक मेरी सेक्सी सना ने एक ही झटके में पेटीकोट का नाड़ा खींच दिया और पेटीकोट एकदम उसकी जांघों से सरक कर नीचे गिर गया.

उस समय आज कल की तरह मनोरंजन के और आधुनिक साधन नहीं थे, लेकिन लोगों में प्यार और सहयोग की भावना खूब थी.प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ: मेरा मुंह उसकी योनि के पास पहुंच गया और मेरा लंड उसके मुंह के करीब पहुंच गया.

मुझे पता चल गया कि शायद बैठते समय किसी फ्रेंड ने इसे सीट के निचे डाल दिया होगा.अगले दिन जब वो मेरे घर आई, तो मैंने उसकी गांड भी मारी और उसके बाद तो मैंने उसके अलावा उसकी कई सारी सहेलियों को भी चोदा.

बूंदी की सेक्सी - प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ

वो अपने मम्मों को अपने होंठों से दबाते हुए ब्रून को अपने चूचे दिखाने लगी.टीशर्ट भी मैंने डीप गले वाला पहना हुआ था जिसमें से मेरा क्लीवेज भी दिख रहा था.

इसके लिए पूरी जांच पतियों की और अपनी कराई कि कहीं कोई दिक्कत तो नहीं है. प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ नमस्कार दोस्तो, मेरा नाम करन (बदला हुआ नाम) है, मेरी उम्र 23 साल है.

चेयर फ्लॉटिंग टाइप की थी, जिस पर बैठ कर फ्लॉटिंग करते है … यानि आगे पीछे रेस्ट करते हुए आराम की मुद्रा में बैठते हैं.

प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ?

अब तो मेरी हिम्मत एकदम से बढ़ गयी और मैंने दीदी के पजामे के साथ ही उसकी पेंटी को भी उतार दिया. उसके बाद तो मामी की कामुकता भी बहुत बढ़ गयी थी और मेरी भी, हम दोनों चुदाई का मौक़ा मिलते ही से करने लगते. जो भी कमियां रही हों या फिर आपके मन में कोई सवाल या शंका हो तो मुझे लिख भेजें.

फिर मैं उसको किस करते हुए नीचे की ओर आया और उसके पैर के अंगूठे को चूसने लगा. अब मैं फिर से अधूरा रह गया था लेकिन परीशा की चूत को भी गर्म करना जरूरी था. एकदम से पता नहीं मेरे दिल में क्या हुआ लेकिन मेरा दिल कर रहा था कि मैं अपनी चाची को देखता ही रहूं।चाची ने पीले रंग की साड़ी पहन रखी थी जिसमें वह काफी अच्छी लग रही थी.

तभी कृष्णा ने मुझे रोक लिया, वो बोली- मेरे राजा, लंड को बाहर मत निकालो. मैंने ट्रॉफी लेने के बाद सबको थैंक्स कहा और अपनी किट बैग को पैक करने लगा. तो उसने क्या कहा? और मैंने उसे कैसे चोदा?दोस्तो, मेरा नाम दीपक शर्मा है.

मैंने उसे देखा तो उसने समझ लिया और हाथ के इशारे से लंड स्खलित होने तक चुसाने का कहा. मेरी इस चुदाई की कहानी के पहले भागछोटी और बड़ी की चुदाई का राज-1में अब तक आपने पढ़ा कि ट्रेन में दो गर्म औरतें मिली थीं, जिनको मैंने पूर्व में चोदा था.

उसके बाद बाबा ने फिर से मेरी फट चुकी योनि में लिंग को डाला और धड़ाधड़ मेरी चूत को चोदने लगे.

वो बर्दाश्त नहीं कर पा रही थी लेकिन मैंने उसको सहज करने की पूरी कोशिश की.

उसके बाद उन बुर्जुगवार ने अपनी कलम निकाली, इधर उधर देखा और बकरा की गांड में घुसेड़ दी. भाभी की चूचियों के अलावा के उनके पास एक चूत भी थी जिसे मुझे चोदना था. उसकी चूत कपड़े के अंदर से ही मेरी जांघों के पास तने हुए मेरे लण्ड से रगड़ रही थी.

बाथरूम में गर्म पानी खत्म हो गया था तो मैंने हिमानी की मम्मी से कहा- आंटी जी, ऊपर तो गर्म पानी खत्म हो गया है. वो ऐसे बन संवर कर रहती हैं कि जैसे सबको कह रही हों कि आओ मुझे चोदो. इसके बाद मैं जल्दी ही आपको बताऊंगा कि सुमन की शादी के बाद हमने पहली चुदाई कैसे की.

चाची के स्तनों को मैं इस तरह से पी रहा था जैसे उनसे दूध निकालने की कोशिश कर रहा था.

जितनी तेजी से मैं झड़ रही थी, अंकल उतनी ही तेजी से मेरी चुत के रस को पीने लगे थे. फिर एकदम से मुझे मेन गेट खुलने की आवाज आई तो मैंने नीचे झांक कर देखा. सोनू अब नीचे हुआ और उसने मां के चुचे पर अपना मुंह लगा दिया और उसने मां के ब्रा को खोल दिया.

पूनम भाभी ने रानी दीदी से कहा- वाह दीदी, टोनी का नाम सुनते ही तो मेरी चूत एकदम से चुदासी हो जाती है. मेरा पूरा माल पिचकारियां छोड़ते हुए मेरी भतीजी की चुत में ही निकल गया और मैं थक कर उसके ऊपर ही ढेर हो गया. फिर मैंने उसकी ब्रा के ऊपर से उसके मम्मों को दबाना शुरू कर दिया और मैं लगातार उसे किस भी कर रहा था.

तभी पिंकी और गुड्डी ने मेरे लंड को पकड़ लिया और मेरे लंड को चूसने लगी.

चाची तड़पने लगी, वो बोली- बस… अब जान निकालेगा क्या?मैंने कहा- नहीं चाची, आप तो मेरी जान हो. फिर कुछ देर के बाद पीछे वाले ने मुझे नीचे किया और मुझे उल्टा कर दिया.

प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ मैंने देखा कि ब्रून रानी की चुत पर हाथ फेर रहा था और उसके दाने को मसल रहा था. मुझे आपके काम के बारे में मालूम है कि आपका मालिश का काम बड़ा संतोषजनक होता है.

प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ मुझे लगा कि शायद ये मुझसे कुछ कहने न लगे, तो मैंने अपनी नज़र हटाते हुए एक और सिगरेट जला ली. जब वो फोन उठाने के लिए नीचे झुकी, तो होटल स्टाफ की आंखें फटी की फटी रह गई थीं.

मैंने उनको रसोई की स्लैब के सहारे टिका कर घोड़ी वाले पोज़ में खड़ा किया और पीछे से लंड पेल कर चुत में पेलना शुरू कर दिया.

महिला कंडोम बनाने की विधि

टोनी ने आगे बताते हुए कहा- विजय भैया ने खुद अपनी बहन रानी और काको को उसके लंड से चुदवाने की बात कही थी. वो बस चुत पर रगड़ का मजा लेने लगी और उसने अपनी टांगें और भी फैला दीं. उनकी गांड ने हिलना चालू किया, तो मैंने धीरे धीरे धक्के लगाना चालू कर दिएअब मैंने भाभी की कमर को छोड़ उनके बड़े बड़े चूचों को मसलना चालू कर दिया.

अंकल कहने लगे- यार, तुम तो बहुत बड़ी वाली माल हो, आओ थोड़ा सा मन भर दो. मैंने इससे पहले कोई सेक्स कहानी नहीं लिखी है इसलिए अगर कुछ कमी रह जाये तो माफ करें. कोई पड़ोसी पूछता, तो सासु मां पहले ही कह देतीं कि अरे हमने ही मना किया है, अभी थोड़ा मस्ती कर लेने दो … बच्चा हो गया तो पूरी उलझ कर रह जाएंगी.

एक तकिया हनी के चूतड़ों के नीचे रखकर मैंने उसकी चूत पर जीभ फेरना शुरू किया तो वो बोली- आह्ह जीजू… अब और न तड़पाओ.

गेट लॉक करते ही उसने मुझे गोद में उठा कर मेरे होंठों को चूमने लगा, मैं भी लगातार उसका पूरा साथ दे रही थी. बड़ी ने बोला- अगर किसी को नहीं बताओगे, तो हम तीनों लोग ऐसे ही खेल खेलेंगे. उसके टॉप के अंदर से उसके बूब्स जैसे बाहर निकलने के लिए बेताब से दिख रहे थे.

मेरे सीने से सटी चूचियां मुझे पल दर पल और ज्यादा उत्तेजित कर रही थीं. मैं बोलती, इसके पहले शुभम ने मुझे लिटा दिया और मेरी कैपरी और पेंटी दोनों साथ में उतार दी और मेरी टांगें फैला कर मेरी फूलीनंगी चुतचाटने लगा. उसने मेरी तरफ देख कर कहा- यार तुम तो पूरी जवान हो चुकी हो … एकाध बार मजा तो ले ही चुकी होगी.

वो बहुत ज़ोर ज़ोर से सिसकारियां लेने लगी ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’तभी मेरे लंड को लोवर से बाहर निकाल लिया और लंड देख कर कहने लगी- तुम्हारा केला तो मेरे पति से काफी बड़ा और मोटा है. अब हम दरवाजे पर ही चिपके खड़े रहेंगे या अंदर भी चलेंगें?फिर उसने अपने आप को संभाला और मेरा बैग लेकर आगे-आगे चलने लगी और मैं उसके पीछे-पीछे उनके बड़े से घर में दाखिल हुआ.

अगर बीच में कपड़े का पर्दा न होता तो सुमन की चूत में मेरा लंड कब का अंदर जा चुका होता. मैंने अपने लंड का साइज नहीं बताया क्योंकि एक कहावत है कि दूसरे का घमंड और अपना लंड … सबको बड़ा लगता है. मैंने उसका लंड अपने मुझ में लिया और तुरंत उसके लंड ने मेरे मुख को मरदाना रस से भर दिया.

छोटा मालवाहक वाहन होने के वजह से हम तीनों आगे की सीट पर एक साथ ठीक से नहीं बैठ पा रहे थे इसलिए रानी ने अपनी एक टांग कुछ इस तरह से रखी कि उस वाहन के गियर का हैंडल उसकी टांगों के बीच में आ गया.

उसके मुँह से दर्द भरी चीख निकल गई- उई माँ मर गई … तेरा बहुत मोटा है … इसे बाहर निकाल. मेरे सीने से सटी चूचियां मुझे पल दर पल और ज्यादा उत्तेजित कर रही थीं. अब पढ़ें कि कैसे रात में मैं अपने ससुर के बेडरूम में जाकर उनसे चुदी.

उम्म्ह… अहह… हय… याह… करके वो चीखी और लंड को बाहर निकालने के लिए कहने लगी. थोड़ी देर बाद वो एक बाथरोब पहन कर बाहर आई और मैंने उसको गले से लगा लिया.

फिर होटल में चाची को तौलिये में देख मैं चाची की चूत चोदना चाह रहा था पर चाची ने कुछ और किया. सीमा के घर पर जाकर मैंने डोर बेल बजायी, पर किसी ने दरवाजा नहीं खोला. मॉम ने मेरी आंखों में वासना से देखा, तो मैं दोनों हाथों से उनके दोनों आमों को 2-3 बार दबा दिया.

लंड दिखाओ

गहरे गले वाली नाइटी में भाभी की चूचियों की घाटी यानि क्लीवेज खुलकर सामने आ रही थी.

सभी दोस्तों को मेरा नमस्कार! मेरे प्यारे भाइयों, भाभियों और लड़कियों के लिए मैं वर्जिन गर्ल की सेक्स स्टोरी लेकर आया हूं. थोड़ी देर की शांति के बाद अमीषा ने मुझसे कहा- मुझे बाथरूम यूज़ करना था इसलिए मैं उसे फ़ोन कर रही थी. हालांकि मैंने पूरी कोशिश की उसको इसके बारे में पता न चले लेकिन वो भी शायद भांप गयी थी.

अगले दिन सुबह उसका मैसेज आया, जिसमें उसने मुझसे मिलने के लिए समय और जगह पूछी. मैंने मालती की छोटी बहन को कैसे चोदा, वो मैं अगली सेक्स कहानी में लिखूंगा. देहाती लडकी सेक्सीमगर चूत बहुत ज्यादा गीली होने की वजह से लंड उसकी चूत के ऊपर से फिसल गया.

वो मुझसे बोली- देखिये आपने मेरी चुत का क्या हाल कर दिया?मैं बोला- यार, ये सब मैंने नहीं किया … मैं तो डिनर के बाद रूम में आ गया था. मेरे उन मुश्किल दिनों में सीमा ने ही मुझे सहारा दिया और मुझे उस अंधेरे में से बाहर निकाला.

अबकी बार जितनी ताकत के साथ मैं धक्के लगा सकता था मैंने लगाये और उसकी चूत का कचूमर निकाल दिया. उसने भी मेरे हाथ को अपने हाथ में लेते हुए मेरे सीने से सर टिका दिया. उससे मैंने पूछा- तुमने मुझे दोपहर में ऐसा मैसेज क्यों किया था?तो उसने कहा कि मैं तो मजाक कर रही थी.

उनकी बातचीत बस इतनी ही थी लेकिन मुझे समझ में आ गया कि सोनू क्यों मेरी मां को बर्थडे पार्टी में ले जा रहा है. मैं बारी बारी से उसके दोनों मम्मों को दबाता, चूसता और एक हाथ से उसकी बुर को उंगलियों से रगड़ रहा था. एक दिन ऐसे ही मौके पर मैंने कह दिया- चाची मुझे चारपाई पर नींद नहीं आती, मुझे भी बिस्तर पर सोना है.

कुछ देर बाद रानी पूरी तरह से ब्रून के ऊपर लुढ़क गई और एक तरह से उसने खुद को समर्पित कर दिया था.

कैसे हुआ ये सब? और भाभी की युवा बेटी कैसे आ गयी?मैं किशन पटेल गुजरात से हूँ. इसलिए मैंने बाजू में रखी तेल की बोतल से तेल लिया और मेरे लंड और उसकी बुर पर लगा दिया.

मैं चाची की चूत को चूसने लगा और चाची ने मेरे लंड को मुंह में भर लिया. सीमा के घर पर जाकर मैंने डोर बेल बजायी, पर किसी ने दरवाजा नहीं खोला. वह ऐसे व्यव्हार कर रही थी जैसे हम दोनों के बीच में कुछ हुआ ही नहीं था.

पार्किंग में मेरे साथ काम करने वाले लड़के मुझे कुछ न कुछ कहते रहते थे. यदि आप सोचते हैं कि महिलायें ही किसी पुरूष की वासना का शिकार हो सकती हैं तो आपको एक बार फिर से सोचने की आवश्यकता है. अब उसने मेरे अंडरवियर के ऊपर से ही मेरे लंड को पकड़ लिया और उसको दबाने लगी.

प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ इसके बाद मैंने पूछा- मैं जिस काम के लिए इधर आया हूँ … वो काम शुरू किया जाए?उस महिला के पति ने कहा- हां. यह किस्सा उस वक्त का है जब मैं कंप्यूटर की पढ़ाई पूरी होने के बाद ट्यूशन क्लासिस में नौकरी पर सैट हो गया था.

आर्केस्ट्रा का नंगा डांस

वैसे तो मैंने उनमें से बहुत सी फ़िल्में देखी थीं, लेकिन शुभम से झूठ कहती रही कि नहीं वो मैंने नहीं देखी. तभी नेहा बोली- अभी हमने पूरा सामान अच्छे से नहीं रखा है, तो आपको थोड़ा एडजस्ट करना पड़ेगा. वो भी मादक सी आवाज में बोली- मी टू सर … आपने मेरी जवानी में चार चांद लगा दिये आज.

वो भारी से स्वर में बोली- क्या देख रहे हो?मैंने कहा- लगता है कि तुम्हारी ब्रा और पैंटी का ये सेट बनाने वाले ने तुम्हारे जिस्म के लिए ही बनाया है. मैं अब आपकी कोई बात नही मानूँगी।वॉचमैन- अभी तो मैंने तुमको कुछ करने को बोला ही नहीं और तुम अभी से नखरे कर रही हो।राजश्री- मुझे पता है अभी आप कुछ नहीं बोले लेकिन आप की नजरों से मैं समझ गई हूं कि आप फिर से मेरे साथ वही करना चाहते हो।वॉचमैन- जब समझ ही गयी हो तो स्पोर्ट्स के पीरियड में चली आना. मां बेटे की हिंदी में सेक्सीमैंने अगले ही पल उसके होंठों पर अपने होंठों को रख दिया और उसे चूमने लगा.

उनका लण्ड कॉमिक्स में फ़ोटो जैसा ही बड़ा और मोटा लग रहा था।उन्होंने मुझे उनका लण्ड देखते हुए देख लिया और मुस्कुराते हुए बोले- ओरिजिनल लण्ड देखोगे?मैं कुछ नहीं बोला.

मैंने कहा- फिर देर किस बात की पापाजी? अब घुसा दो ये मोटा मूसल लंड मेरे चूत में!फिर पापाजी ने अपना लंड मेरी चूत घुसा दिया और हल्के हल्के धक्के लगाने लगे. चूंकि मैं भी उसको परेशान नहीं करना चाहता था, तो मैंने आगे कुछ नहीं कहा.

मैंने कान लगाया और एक आवाज बहुत जानी पहचानी थी। वह मेरी मां की आवाज़ थी. मुझे हैरान नहीं हो रही थी कि क्योंकि उसकी हरकत ही चुदक्कड़ औरत वाली थी. मैं उससे बोला- बुर में दर्द हो रहा हो … तो बोलो, तुम्हारी गांड में लंड डाल दूं?वो डरते हुए बोली- आज नहीं बाबू, फिर कभी कर लेना.

मैंने उसके सामने अपने सब कपड़े निकाल दिए और मैं सिर्फ चड्डी में उसके सामने आ गया.

मैं पिछली सीट पर चित्त लेट गई और इंस्पेक्टर ने अपने कपडे़ खोलना शुरू किया. उसको बांहों में लेकर मैंने उसकी गर्दन को पीछे से चूम लिया तो वो आगे होते हुए अलग हो गयी. फिर दो दिन के बाद उसने मालती को शॉपिंग के बहाने अपने घर पर रोक लिया और उसके घर पर बोल दिया कि मालती उसके साथ पढ़ाई करने मेरे घर पर ही रुक जाएगी.

बिहार की सुहागरात सेक्सी वीडियोउन्होंने 2 मिनट वो वीडियो देखा और पापाजी का भी लंड उसे देखकर खड़ा होने लगा था. उस जवान लड़के के मोटे लम्बे लिंग के हर धक्के के साथ ममता की आह … निकल रही थी.

सेक्सी वीडियो दिल्ली सेक्सी वीडियो

पापाजी बोले- ये पहली बार हुआ है या हमेशा होता है?मैंने कहा- कई बार होता है. ये बात आप भी समझ सकते हैं कि इन सब चीजों का काम की जगह पर बहुत असर पड़ता है. पंद्रह मिनट का विराम दिया और एक बार फिर से उसने मेरे लंड को चूसना शुरू कर दिया.

फिर उसने कहा- अपनी मोटी चूची ठीक वैसे ही चुसा न … जैसे मां दूध पिलाती है. ये देख उसकी छोटी बहन ने भी अपनी चूत मेरे मुँह पर रख दिया, जिसे मैं चाटने लगा. मैंने उससे पूछा, तो उसने कहा- खाना ले आऊं क्या?तो मैंने बाहर झांक कर देखा, तो बाहर सब तरफ अंधेरा था.

मेरी बहन ने दीवार पर अपने शरीर के भार को अपने हाथों से थाम लिया था. धीरे धीरे उसके मम्मों को किस करने लगा और एक उंगली उसकी मचलती चूत में डाल दी. मैं- वो मेरी मम्मी हैं … तेरी नहीं और जब मां हो ही इतनी हॉट, तो बेटों का तो मन करेगा ही उनको छूने का और चोदने का.

लंड का बुरा हाल हो रहा था क्योंकि घर में हम दोनों के अलावा कोई नहीं था. क्या किया?मेरी चाची की चुदाई की कहानी के पहले भागचाची के साथ मस्ती भरा सफर-1में आपने पढ़ा कि मुझे अपनी चाची के साथ मजबूरी में नागपुर जाना पड़ रहा था.

किंतु मुझे इतना पता है कि मैं किसी भी औरत या लड़की को बिस्तर पर खुश कर सकता हूं.

उसके बाद से मुझे सेक्स से बहुत ज्यादा लगाव हो गया था और अब तक मैं अनेकों लोगों से चुद चुकी हूं. प्रदीप पांडेय चिंटू की सेक्सी फिल्मकुछ देर तक मेरी जांघें चूमने चाटने के बाद अंकल और नीचे आ गए और अपनी नाक मेरी चुत पर पैंटी के उपर से ही रगड़ने लगे. हिंदी में नंगी सेक्सी हिंदी मेंमेरे सामने 19 साल की एक मस्त माल के रूप में मेरे सामने मेरी बहन सिर्फ पैंटी में बिस्तर पर आंख मूंदे लेटी थी. बुआ की चीख निकल गयी और उन्होंने जैसे ही चिल्लाने के लिए मुख खोला, मैंने उनके होंठों पर अपने होंठ रख कर उनकी चीख को दबा दिया। फिर थोड़ी देर रुक कर मैंने बुआ को किश करना शुरू किया।5 मिनट बाद बुआ का दर्द कम हुआ और वो अपनी गांड हिला हिला के लंड को अपनी चुत में लेने लगी। अब मैं भी बुआ को जोर जोर से चोदने लगा.

मैंने उसकी चुत के हिस्से को अपनी कमर पर महसूस किया, तो मेरे लंड में आग लग गई … मगर मैंने कुछ नहीं कहा और डिप्स लगाना शुरू कर दिया.

दोस्तो, मैं सविता फिर से हाजिर हूँ आपके लिए एक और इंसान की जिन्दगी की सच्चाई लेकर! मेरी काफी कहानियाँ अन्तर्वासना पर भी हैं. फिर हम दोनों में चुदाई की ऐसी लत लगी कि हम लोग हफ्ते में 3 बार तो सेक्स करते ही थे. हमे आया देख कर ब्रून ने वेटर को इशारा किया और वो जल्दी से हमारी टेबल पर ब्रेकफास्ट ले आया.

मैंने बोला- भाभी तुम कोई कुंवारी तो हो नहीं … बस एक बार ही होगा दर्द फिर मजा ही मजा आने वाला है. फिर वो बोली- तू भी तो दिखा, तेरा वो (लंड) कैसा है?उसके कहते ही मैंने अपनी लोअर नीचे खींच दी. मैंने दरवाजा खटखटाया और कहा- अन्दर आने की इजाज़त है क्या?उसने दरवाजा खोला और मुझे खींचते हुए अन्दर ले लिया.

जानवरों के साथ सेक्सी

उसके लिए आप मेरी बहन की गर्म जवानी के खेल की कहानी के अगले भाग का इंतजार करें. मुझे आपके काम के बारे में मालूम है कि आपका मालिश का काम बड़ा संतोषजनक होता है. उन्होंने अपने हाथों की उंगलियों को मेरी पैंटी की इलास्टिक में घुसाया और अगले ही पल पैंटी को मेरे बदन से अलग करके मेरी चुत की पंखुड़ियों पर अपने होंठ रख कर चुत का पानी पीने में लग गए.

पूरे 36 की साइज की चूचियां होंगी और पीछे गांड की गोलाई ऐसी, जैसे परफैक्ट साइज यही होती हो.

भाभी की चूचियों के अलावा के उनके पास एक चूत भी थी जिसे मुझे चोदना था.

हनी को बेड पर लिटाकर मैं उसकी टांगों के बीच आ गया और उसकी कुंवारी बुर चाटने लगा, मेरे हाथ हनी के संतरों का रस निकालने की नाकाम कोशिश कर रहे थे. फिर दो मिनट बाद चाची मेरे ऊपर आ गईं और उन्होंने मेरा लोअर उतार दिया. सेक्सी चुदाई मोटे लंड वालीमैनेजर ने हम दोनों को 30 मिनट बाद लंच के लिए इन्वाइट किया और दोनों चले गए.

फिर भी मैं सोने की कोशिश कर रहा था और मेरी बाजू में मेरी चाची आराम से सो रही थी. मैंने एक बार फिर उसकी चूत में लंड पेल दिया और वो बोली- आह्ह मेरे राजा, अंदर ही निकाल देना अपना माल. जिस इलाके की मैं बात कर रहा हूं वो स्कूल के रास्ते में ठीक बीचोंबीच ही पड़ता था.

मैंने उसे अपने नीचे लेते हुए पलंग पर लिटा दिया और उसके पैर ऊपर उठा कर कंधों के समानांतर उठा लिए. अन्डरवियर में आने के बाद हम दोनों एक बार फिर से ममता के बदन पर टूट पड़े.

उसकी चूचियों की खुशबू लेते हुए मैंने उसकी चूचियों को मुंह से दबा दिया.

अंदर जाकर मैंने पहले से पहनी हुई लोअर निकाल कर बैग में रख ली और नीचे से मैंने पहले से ही अपना स्विमिंग कॉस्ट्यूम पहन रखा था. मैंने उससे कहा- तो ले मादरचोदी … अब आज तेरी चुत को भोसड़ा बना कर ही रहूँगा. मैंने एक मिनट के बाद उसके मुँह से ढक्कन हटाया, तो वो कराहते हुए बोली- उई चाचू … प्लीज़ निकाल लो … मुझे बहुत दर्द हो रहा है … मैं मर जाऊंगी … मेरी चुत फट गयी है.

देवर भाभी के सेक्सी वीडियो देसी जैसे जैसे सेक्स के लिए जोश बढ़ रहा था वैसे ही हमारी गतिविधियां भी तेज हो रही थीं. अभी जब मैं तेरी चूत मारूंगा, तब तो तेरी हालत और भी बुरी हो जाएगी।मां थोड़ी सी सहम गई।इसके बाद अजय अंकल ने मॉम का ब्लाउज खोला और मॉम अब खाली ब्रा में आ गई.

मैं बोला- वो कैसे मेम?वो अपना हाथ मेरे लंड पर लाई और उसे पकड़ कर अपनी चुत में लेकर बोली- मिश्रा जी … इसे अन्दर करो. ऐसे मुझे एक लड़की की चुदाई का मौक़ा मिला जब मैं एक स्लीपर बस में सफर कर रहा था. मैं इस बात से ज्यादा आश्वस्त था कि उसके पति साल में एक बार ही आते हैं.

सेक्सी वीडियो अंग्रेजी सेक्स

व्यवस्था इस प्रकार से बनी कि रात को हनी अस्पताल में रुकती, सुबह नौ बजे मैं अपनी पत्नी को अस्पताल ले जाता और हनी को अपने घर ड्राप करके अपने ऑफिस चला जाता. मैंने उसकी सुन्दरता की तारीफ़ की, तो उसने मुझे बताया कि जन्मदिन की तस्वीरों में वो अच्छी दिखना चाहती थी. मैंने उससे मुखातिब होते हुए उस महिला को देख कर कहा- आप मसाज के रेडी हो जाएं.

सच कहूं दोस्तो … उस टाइम आप मेरी जगह होते, तो आपका तो पानी ही निकल जाता. जैसे ही मैंने कोमल के इलाज की बात सुनी तो मेरे दिमाग में कोमल की जवानी को छूने और उसको भोगने के ख्याल आने लगे.

कुछ देर तक ओरल सेक्स का मजा लेने के बाद वो कहने लगी- बस रोहित, अब इस मोटे मूसल को मेरी चूत में डाल दो.

मैं चाहता तो था कि नीलोफर से जाकर उसके घर पर मिल लूं और उसका काम कर दूं क्योंकि मुझे खुद ही उसके पास जाने का मौका चाहिए था. मेरा मन किसी ऐसे साथी की तलाश में निरंतर लगा रहता कि कोई ऐसा माशूक साथ देने वाला मिल जाए, जो मुझे सच्चा प्यार दे सके और मैं भी उससे अपने दिल की बात कह सकूँ, उससे अपने जिस्म की आग बुझवा सकूँ. मैं ऊपर पंखे की तरफ देख रहा था और वो नीचे अपने ग्रीन पेंटेड नाख़ून पर आंखें गड़ाए हुए थी.

वैसे सच कहूँ, पापा जब तुम्हें चोद रहे थे तो मुझे देखकर बड़ा मज़ा आ रहा था. मैं बारी बारी से उसके दोनों मम्मों को दबाता, चूसता और एक हाथ से उसकी बुर को उंगलियों से रगड़ रहा था. जैसे ही उसने देखा कि उसकी बेटियां और बीवी किसी मर्द से चुद रही हैं तो उसने हल्ला करना शुरू कर दिया.

गुलाबी होंठ, सांचे में ढला बदन, खूबसूरत चेहरा, लम्बे बाल जो मेरी कमर से भी नीचे पहुंच जाते हैं और मेरी गांड पर छू जाते हैं.

प्रीति जिंटा सेक्सी बीएफ: साथ ही उसकी एक टांग तो ड्रेस के आधे खुले होने के कारण पूरी नंगी थी. मेरा आज तक काफी लड़कियों पर मन आया है, कुछ से बात भी हुई और कुछ को किस तक किया, मगर मैंने इतनी ख़ूबसूरत महिला आज तक कभी नहीं देखी थी.

कुछ दिन की लगातार मेहनत के बाद एक दिन उससे अच्छे से बात करने का मौका मिला. उनकी उम्र लगभग 45 साल है। उनकी बीवी का नाम चित्रा है जिसकी उम्र लगभग 37 साल है. जबकि हालत तो मेरी ये थी कि पानी छूटने के साथ मैं भी नीचे फर्श पर ही गिर जाऊँ.

उसके बाद उसने अपने होंठ मेरी चूत पर रखे और चुत को चाटने और चूसने लगा.

फिर मैंने जानबूझ कर अपनी गांड मटकाई और उमेश को देखते हुए वहां से रसोई की तरफ आ गयी. कठोर चुदाई और कड़क लण्ड की वजह से उसकी चूत कराह रही थी और उसका बदन दर्द कर रहा था. अंकल मेरी जांघ पर गिरी हुई पौंछ कम रहे थे और मेरी जांघ को सहला ज्यादा रहे थे.