एमपी बीएफ वीडियो

छवि स्रोत,हिंदी बीएफ हिंदी बीएफ बीपी

तस्वीर का शीर्षक ,

बंदर वाली बीएफ: एमपी बीएफ वीडियो, कहते हुए उसने अपनी टांगें फैला लीं और अपनी बुर का मुंह को खोल दिया। मैं जांघों के बीच आकर उसकी लाल-लाल बुर पर एक बार फिर जीभ फेरने लगा.

लखनऊ की सेक्सी बीएफ वीडियो

दीपिका कहने लगी- वैसे तो मेरी चूत दुःख रही है परंतु आपका साथ मुझे अच्छा लगा. सेक्सी बीएफ बेंगलुरुमैंने उसे नीचे झुकाकर चूचियों को मुँह में लिया और चूसने लगा तो वह लंड को अंदर बाहर करने लगी.

मैंने उनके बताये अनुसार पहले कुछ देर किस किया … फिर थोड़ी देर बोबों को मसला, चूची का रस पिया और फिर उनकी चुत को चाटते हुए उंगली अन्दर डालने लगा. सेक्सी बीएफ डॉक्टर नेबिल्कुल भी अंधेरा नहीं हुआ था, लेकिन कुछ हद तक रूम पूरा अंधकारमय हो गया था.

इस समय नम्रता ने साड़ी और ब्लाउज पहन रखा था और मैंने बनियान और कैफ्री पहन रखा था.एमपी बीएफ वीडियो: मैंने वसुन्धरा की आँखों में झांकते हुए उसको अपने अंक में दोबारा कस लिया और उस होठों का एक नाज़ुक सी छुवन वाला चुम्बन लिया.

दो मिनट बाद ही मेरे लंड से वीर्य की धार निकली और शुरू का कुछ वीर्य उसके मुंह में गिरा और बाकी का उसके बूब्स पर।मैरी के गोरे गोरे बूब्स पर मेरा सफेद वीर्य गिरा तो वो उसको दोनों चूचियों के बीच में रगड़ने और मसलने लगी.मैं लगातार उसकी दोनों चूचियों और उनके नर्म गुलाबी निप्पलों को अपने हाथों से मसले जा रहा था.

बीएफ वीडियो सेक्सी बीएफ हिंदी - एमपी बीएफ वीडियो

देखो बेटा, तुम्हें जिस कॉलेज में एडमिशन लेना हो ले लो; तुम्हारी पढ़ाई का सारा खर्चा मैं दूंगा; तुम ग्रेजुएशन कर लो फिर कोई कोचिंग करके किसी जॉब की तैयारी कर लेना, तू इंटेलीजेंट है और मुझे विश्वास है कि तू अपना करियर बना लेगी.मैं अनिता की टांगें खोल कर उसकी चूत पर से बाकी बची चॉकलेट को चूस चूस कर खाने लगा.

मेरी टाइट चूत को चोद कर उनका लंड भी शांत रहता था और उनका महान लंड मेरी चूत को भी अच्छी तरह खुश रखता था. एमपी बीएफ वीडियो उनकी गांड के दोनों उभरे हुए चूतड़ों बीच मैं जब मैंने अपना उंगली घुसा दी.

आप लोग तो जानते ही हैं कि ठंड के मौसम में सफर करना कितना मुश्किल होता है.

एमपी बीएफ वीडियो?

मीता- मतलब!मैं- कुछ नहीं … तुम बताओ, पढ़ाई कैसी चल रही है?मीता- ठीक बिल्कुल अच्छी. उसने मुझे देखा और कहा- जवाब सुनने के लिए इतना सज धज कर आये हो?मैंने उसे कहा- नहीं यार, ऐसी कोई बात नहीं है. अब आगे:सर के मुँह से मेरे पति की रजामंदी से मुझे चोदने की बात सुनते ही मेरे पैरों तले जमीन खिसक गई- सर क्या बात कर रहे हो? वो क्यों ऐसा करेंगे?तुम तो समझदार हो … उसे अपने प्रमोशन के लिए मुझसे रिकमेंडेशन चाहिए … मैंने रिकमेंडेशन दे दिया, तो उसे प्रमोशन मिल जाएगा.

मैं उसके गुलाबी होंठ चूसते निप्पल पर आया और एक निप्पल को अपने होंठों में दबा आकार चूसने लगा. वो दारू पी कर उस वक्त घर आता, जब मम्मी घर पे नहीं होती, तो मुझको पकड़ता, मेरे चूतड़ दबाता, पैंटी में हाथ डाल कर मेरी चूत सहला देता. उस टेबल पर गिलास रख कर वो घुटनों के बल मेरे पास नीचे बैठकर मेरी पैंट को खोलने लगी.

मेरे मामा के लड़के को भी समझ आ गया था कि जब वो झगड़ा करते में मेरी चूची दबाता था, तो मुझे भी मजा आता था इसलिए वो जानबूझ कर मेरी चूची बार बार दबाता था. जैसे ही पहला दिन ख़त्म होने को आया, तब क्लास खत्म होने के बाद दीपाली ने मुझसे मेरा नाम पूछा. मेरी पलकें अपने आप एक-दूसरे से अलग होने लगीं। मूतने के बाद लंड को अन्दर करके बाहर की तरफ निकलने लगा तो बाथरूम के दरवाजे पर शुभ्रा खड़ी थी.

और मेरे रूम से दरवाजा खोलने पर पूनम के घर का आँगन बिल्कुल साफ़ दिखाई देता था. उसे थोड़ा दर्द हो रहा था। लेकिन मुझे बडा मज़ा आ रहा था। वो भी मुझे सहयोग कर रही थी। फिर मैं उसकी गांड में झड़ने ही वाला था कि चाची ऊपर आयीं और दरवाजा खटखटाया.

दोस्तो नमस्कार, मैं आप लोगों की प्यारी हॉट मधु … एक बार फिर अपनी आत्मकथा में तहेदिल से आप सभी का स्वागत करती हूं.

वो मुझे पकड़ कर बोली- आह … बहुत मजा आ रहा है यार … और तेज करो … फक मी फास्ट.

मैं भी उसके पीछे पीछे बाथरूम में हो लिया।शुभ्रा वॉश बेसिन में झुकी हुई थी और मेरी बहन की गोल-गोल गांड का उभार मेरी तरफ था और उसकी गांड मुझे आकर्षित कर रही थी। मेरे हाथ बिना किसी देरी के शुभ्रा के कूल्हों को मसलने लगे. आखिर में जब गुड्डी रानी चुदने के लिए गुहार लगाने लगी तो मैंने लौड़ा गुड्डी रानी की चूत में घुसेड़ दिया. पानी गर्म करने के लिये वो एक बर्तन नीचे की शेल्फ से निकालने के लिये झुकी, मैंने झट से उसकी गांड घिसाई झट से कर दी.

हालांकि मोनी ने अपने हाथ पैरों को समेट कर मुझे रोकने का प्रयास किया लेकिन मैं भी हार कहाँ मानने वाला था. उसका आधा जिस्म हवा में था और वो आह-आह करके इस आसन से चुदाई का मजा ले रही थी. उसने ब्रा दिखानी शुरू कीं तो चाची ब्रा उलटते पलते हुए मुझसे पूछने लगीं- बता न कौन से रंग की लूँ?मुझे ब्रा को लेकर कुछ समझ नहीं आया कि मैं क्या बोलूँ.

उसकी लाल-लाल गहराई में उसकी चॉकलेटी रंग की पत्तियां छुपी हुई थी। मैंने एक बार प्रशंसा भरी नज़र से जूली को देखा और फिर बिना उसके उत्तर का इंतजार किये ही मेरे होंठ उस मदहोश कर देने वाली चूत से टच हो गये।शुरू में तो मैं उसकी कोमल चॉकलेटी चूत को बस चूमने के इरादे से ही छू रहा था.

मैं अपना एक हाथ अपनी बहन शलाका की कमर पर ले गया और धीरे-धीरे उसका लहंगा उसकी कमर से सरकाने लगा. मैंने अपनी जीभ को हीना की गुलाबी और गीली चूत पर नीचे ऊपर फिराया, तो हीना एकदम से कांप उठी. मैंने उसे गर्म करके उसके होंठों पर किस किया, तो वो बोली- यार, मैं ये आपके साथ नहीं कर सकती … आप मेरी बेस्ट फ्रेंड के फ्रेंड हो.

वो मुझसे छुड़ाने की कोशिश कर रही थी लेकिन मैं उसकी चूत को धमाधम पेलने में लगा हुआ था. अगले दिन तय समय पर मैं पुणे के एक इलाक़े के सुनसान जगह पर जा पहुंचा, जहां से वो मुझे पिक करने वाली थी. ब्लू फिल्म देखते हुए मैं बहुत ज्यादा एक्साइटेड हो गया था क्योंकि मैंने उस दिन पहली बार ब्लू फिल्म देखी थी.

थोड़ी देर बाद वो थोड़ा ऊपर की तरफ उठा और मेरे दोनों पैर ऊपर उठा कर उसने ज़ोर ज़ोर से धक्का देना शुरू कर दिया.

लोग सच ही कहते हैं कि सेक्स के खेल में आदमी एक बार घुस जाए, फिर उसको इसके अलावा किसी चीज़ का मज़ा नहीं आता. मुझे लगने लगा कि मेरा लंड अगर ज्यादा देर तक चादर से रगड़ खाता रहा तो माल कभी भी निकल सकता है। मैं सीधा होकर शुभ्रा के बगल में बैठ गया.

एमपी बीएफ वीडियो अंकल जी ने मुझे देखा और अपने होंठों से मुझे चूमने का इशारा कियामैंने भी वैसे ही अपने होंठों से हवा को चूमा और सिर झुका लिया. मेरे स्तन आंटी से तो छोटे ही थे, पर उनसे ज्यादा कड़े थे और मेरी ब्रा से आधे से ज्यादा बाहर निकले हुए थे.

एमपी बीएफ वीडियो पता नहीं मुझे क्या हुआ और मैंने हिम्मत करकर भाभी के होंठों पर अपने होंठ रख दिए. तभी रेखा भी धड़ाम से मेरे ऊपर गिर पड़ी और लम्बी लम्बी सांसें लेने लगी.

बेटा, मैं तेरे स्वाभिमान की कद्र करता हूं पर तू भावनाओं में बह कर नहीं यथार्थ के धरातल पर सोच.

भेलु का मौसम

तब संतोष जी ने कहा कि तुझे कैसी चुदाई पसंद है?मैं बोली- हर तरह की, जैसी आप करना चाहो. उसकी लंबाई और चौड़ाई देख कर मेरे मुँह में और चुत में एक साथ पानी आ गया. जब भी मौका मिलता था, मैं उसकी साड़ी उठा कर उसकी पैन्टी नीचे कर देता था और नीचे बैठ कर कभी चूत चूमता, तो कभी उंगली से चूत के दाने को मसल देता था, तो कभी मेरे लंड से चूत के ऊपर रगड़ता था या तो मेरी जानू की कोरी चूत के अन्दर लंड डाल देता था.

उसके बाद मैं थक कर उसके बगल में लेट गया औरअब वह भी पूरी तरह से थक चुकी थी क्योंकि वह बहुत बार झड़ चुकी थी. जब उन्हें यकीन हो गया कि किसी ने हमें देखा नहीं है, तब वो भी अन्दर आ गईं और दरवाजे को अन्दर से बंद कर दिया. मुझे उसकी चूत के दर्शन नहीं हुए क्योंकि उस लड़की का सिर मेरी तरफ था और टांगें दूसरी ओर.

मैंने धीरे से लंड को अपने ही हाथ से गांड के छेद पर रखा और वो धीरे धीरे करके मेरी खुली हुई गांड में सरक गया.

अदिति मेरी शर्ट के बटन खोलने लगी, जब उससे खुले नहीं, तो उसने तोड़ डाले. अब इस बार बिल्कुल भी दर्द नहीं होगा, जो है वो भी जाता रहेगा और आज इतना मजा आएगा पूछ मत. बिन्दू झिझकते हुए बोली- आपने मेरी फ़ोटो खींची है?मैंने कहा- तुम वो सब क्या कर रही थी? तुम बहुत ही ग़लत काम कर रही थी.

मैं और देखना चाहती थी कि ये और क्या करेंगे।अचानक से सुमीना और तेज चिल्लाने लगी- आअ अअहह हह पाहपहापा पापपापापाह पहाहप गयी मैं तो आअअह अअहांआ आआ आआ गया!और यह कहते हुए अपने दोनों हाथों से अपने पापा का मुँह अपनी चूत पर दबा लिया. खैर थोड़ी देर तक वो मेरी गांड को चाटने के बाद खड़ी हुई और बोली- अब ये चाटम चटाई बहुत हुई. अब वह थोड़ी परेशान हो चुकी थी और उसने चुदाई शुरू करने के लिए जल्दी से बोल दिया- हां मेरा पति हिजड़ा है और मैं तुम्हारे लंड से चुदना चाहती हूं … अब जल्दी चोदो मुझे.

सुधा अपने कपड़े ठीक करके बोली- रात को फिर से मिलेंगे, आज प्लीज़ तुम यहीं पर आ जाना. कोई भी काजल को एक बार देख लेता, तो उसे बिना छुए छोड़ने का मन नहीं होता.

पहली बार मैंने किसी अमेरिकन सेक्सी गर्ल की चुदाई की थी जिसका अनुभव वाकई में निराला था. यदि नानी में सेक्स की इच्छा अधिक रही है तो उसकी बेटियों में … और बेटियों की बेटियों में भी उतना ही सेक्स होगा, वही रूप और शारीरिक बनावट होगी. अब आगे:मैंने अपना हाथ मौसी के ऊपर रख तो दिया, पर अन्दर से डर भी लग रहा था कि कहीं मौसी फिर से मेरा हाथ और पैर हटा ना दें.

जिस गांव में मैं पढा़ने के लिए जाया करती थी वह गांव शहर से 25 किलोमीटर की दूरी पर था.

अब तो हर बीतते पल के साथ मेरे लंड का तनाव बढ़ने लगा और देखते ही देखते ही मेरा लंड 8 इंच का होकर उसके मुंह में फिर से भर गया. नम्रता भी मेरे उत्साह को बढ़ाने के लिए हम्म-हम्म की आवाज निकाले जा रही थी. हमारी कामक्रीड़ा के एक हफ्ते बाद ही मुझे पीरियड्स हुए और मेरा बहुत बड़ा टेंशन चला गया.

जब घोष की रात की ड्यूटी होती थी तो 15 दिन तक हर रोज रात को मैं दिल लगाकर दीपिका को चोदता था और जब उसके पति की दिन की ड्यूटी होती थी तो मेरी शनिवार और इतवार की छुट्टी होती थी, जबकि शनिवार और इतवार को घोष की ड्यूटी होती थी. मैंने उससे पूछा- कितना मज़ा आया डार्लिंग?तो सीमा बोली- बहुत ज्यादा यार!सच में हम दोनों को बहुत मज़ा आया था.

अब मैं झटके लगाने के साथ उसके चूचे पूरी बेदर्दी से मसलता जा रहा था. ’ की आवाजें निकल रही थीं- आआह थॉमस फक मी बेबी … हां आह आह्ह चोदो … मुझे चोदो मुझे … आह थॉमस फक मी. हम दोनों ही सुध बुध खो कर पूरी तल्लीनता से चुदाई का मजा लेने में लगे थे.

सेक्स रानी वीडियो

थोड़ी देर बाद उनकी चूड़ियों और पायलों की झनकार मुझे सुनाई देने लगी.

मैं मौसी के दोनों चुचियों पर बारी बारी से लगा रहा, जिस वजह मौसी की सिसकारियां धीरे धीरे बढ़ने लगीं. मैं सब कुछ भुला कर हवस की भूखी औरत की भांति उसके लिंग का भोग कर रही थी. और उसका लंड भी पूरी तरह से मेरी दुबारा चुदाई करने के लिए तैयार हो गया था.

बार बार रानी ने जो जो किया या कहा था वो सब एक फिल्म की तरह मेरे मन में चल रहा था. वही हुआ भी … खाना जल्दी खा के मम्मी ये बोल कर सो गईं कि बेटा जल्दी सोना, सुबह जाना है. ब्लू बीएफ जबरदस्तीफिर उसने मुझे खुद ही धक्का देकर नीचे गिरा लिया और मेरे खड़े हुए लंड पर बैठ कर उछलने लगी.

लेकिन उसे लंड चूसना नहीं आता था, इसलिए राधिका ने एक बार फिर से मेरा लंड चूसकर उसे बताया. तो वह बोली- क्या हुआ? बहुत देर लगा दी?मैंने कहा- तुम्हारे लिए इंतजाम करने गया था.

तभी मीता का फ़ोन आया- आप कहां हो?मैं- मैं घर पर ही हूं, बाइक की चाभी नहीं मिल रही है … तो लेट हो गया. मुझे उसकी इस अदा पर उस पर बड़ा प्यार आया और मैं उससे चिपक गया, जिससे मेरे लंड का रस हम दोनों के सीनों में रगड़ गया. करीब आधा घण्टे बाद पापा का पानी मेरी चूत में निकला और मैं करीब करीब बेहोश हो चुकी थी.

मैं अपनी चूत को उनके मुंह की ओर धकेलने लगी और वो अभी भी उतनी ही तेजी से मेरी चूत में जीभ से चूसते रहे. मैं पोर्न मूवीस देख देख कर ठाक चुकी थी, मुझे असल में एक लंड की जरूरत थी जो आपने पूरी कर दी. आह … कितना मज़ा आ रहा था जब वो मेरी चूत मसल रहे थे, मेरी चूचियां दबा के मेरे होंठ चूस रहे थे और मेरी चूत से गंगा जमुना बह रही थी.

अब आगे:नम्रता अभी भी मेरे ऊपर लेटी हुई थी और दोनों का मिला-जुला माल उसकी चूत से निकलता हुए मेरे लंड के ऊपर गिरने लगा.

मनोज और जागृति पूरा दिन घर पर खेलते रहते थे जबकि मनीषा घर का छोटा-मोटा काम कर लेती थी. जब भी मैं उसके घर जाता तो हमारे बीच में किस होती और ऊपर से ही एक दूसरे को सहला लेते थे.

अब आगे:नम्रता आगे बोली- उनकी नजरें नाईटी को भेदते हुए मेरे अर्धनग्न जिस्म को घूरे जा रही थीं और वे अपने हाथ हिलाये जा रहे थे. फिर जिम खत्म होने के बाद जब वो बाहर निकल रही थीं, तब मैं उनके पास गया और उनको सॉरी बोला. सोनल को मजा आया था इसलिए उसने दूसरी बार भी चपत लगा दी, जिससे राधिका ‘आह.

अगले तीन चार साल पार्किंग की लाइट रिपेयर ही नहीं हुई … और वो रूम खाली ही पड़ा रहा. उसने मेरी चूत पर अपना लंड रगड़ने के बाद मेरी जांघों को खोल दिया और मेरी गांड के नीचे एक तकिया लगा दिया जिससे मेरी चूत खुल गयी. मैंने आनन्द के भंवर में खुद को खो जाने दिया और खुद को हीना के हवाले कर दिया.

एमपी बीएफ वीडियो मैं सीधा लेट गया और पूनम ने मेरे सोये हुए लंड को अपने मुंह में भर कर फिर से चूसना शुरू कर दिया. उनकी पत्नी की उम्र करीब 36 साल लेकिन उनको देख कर कोई नहीं कह सकता कि उनकी उम्र 36 है.

जाति सेक्सी

उसके बाद उसने अपनी खुद की नाइटी भी अपने जिस्म से अलग करके एक ओर फेंक दी. आप रिसेप्शनिस्ट-कम-अस्सिस्टेंट होंगी और सिर्फ 15 हजार ही मैं आपको दे पाऊंगा. मेरा लंड झड़ के मुरझा चुका था और रानी की लार व मेरे लेस की बूँदों से लिबड़ा एक तरफ को पड़ा हुआ था.

मैंने उसके रूकते ही कहा- बिल्कुल!उसने मोबाईल निकाला और अपने हस्बैंड से बात की और उधर बात होने के बाद मेरी तरफ अपनी आंखें भींचकर इशारा करते हुए ओके कहा. उसने कहा- ऐसा नहीं हो सकता, आप आज हमारी दुकान पर 3 बजे आइए, मैं देखता हूं कि क्या प्रॉब्लम है. राजस्थान लड़कियों की बीएफकई कहानियों में इसके मजे के बारे में लिखा है और मैं हर मजा लेने को तैयार हूँ.

मुझे औरतों का आत्म सम्मान कुचल कर उन्हें चोदने में बहुत मजा आता है.

मीता- हैलो … चलें?मीता ने आज ब्लैक जींस और एक पीले रंग की टाइट सी शर्ट पहनी थी. दी ने महसूस किया कि मेरा लंड एकदम सख्त हो गया है तो उसने मेरी पैंट की जीप खोलकर लौड़ा बाहर निकलने की कोशिश की पर वो कामयाब ना हो पाई क्योंकि मैंने अंडरवीयर पहना हुआ था.

तो मेरे कूल्हे पर दांत गड़ाते हुए बोले- मतलब तुम मेरा साथ नहीं दोगी. एक बार तो मैंने उनको बख्श दिया और फिर जब वो नहीं मानी तो मैंने उन पर पानी डाल दिया।चाची के सारे कपड़े गीले हो गये. मैंने कहा- कहां यार तीन-चार राउन्ड ही तो हुआ है?नम्रता- हां तुम्हारा बस चलता तो मेरे बुर का भोसड़ा बना देते, वो तो कुदरत की देन है कि दुबारा तैयार होने में समय लगता है.

कुछ ही देर में उनका लंड खड़ा होकर टाईट हो गया, वो झट से मेरे ऊपर आ गए और लंड को मेरी चूत के अन्दर पेल दिया और फिर धक्के मारने लगे.

नम्रता भी मेरे उत्साह को बढ़ाने के लिए हम्म-हम्म की आवाज निकाले जा रही थी. बेबी रानी ने सलाह दी कि चलो बाथरूम में शावर के नीचे चुदाई करते हैं. मैंने प्रत्युत्तर में उसकी आँखों में झाँक कर देखा तो उसने आँखें घुमा ली.

नर्स डॉक्टर का बीएफजीजा की तरफ देख कर पूछा- क्या हुआ? शुरू करो न जीजा जी?मैंने जीजा के चेहरे पर कुछ परेशानी सी के भाव देखे और फिर अपनी चूत की फांकों को खुद ही अलग करके उनको लंड डालने के लिए कहा. सूसू पीने की बात कर रहे हो!रमेश- अरे मजाक कर रहा हूँ साली रंडी।फिर दोनों फ्रेश होकर बाहर आ गए।कहानी अगले भाग में जारी रहेगी.

श्रीदेवी की सेक्सी फोटो

मैं भी अपनी उम्र से कुछ ज्यादा ही बड़ा और गठीला सजीला मर्द लगने लगा था. उससे बातचीत शुरू होने पर पता चला कि वह मेरे शहर सीतामढ़ी की रहने वाली है और उसका नाम मीना है. इधर गुड्डी रानी की चूत प्रदेश को मैंने चाट के साफ़ किया उधर बेबी रानी आकर गुड्डी रानी की बगल में बैठ गयी- राजे अब मेरी बारी है … मेरा अमृत भी निकलने को हो रहा है.

उसने अपना पिछवाड़ा मेरी तरफ कर रखा था, मेरी जब नजर उधर गयी, तो मैं उसके नाजुक और मुलायम कूल्हे को सहलाने लगा. जैसे ही मैंने जीजा का लंड मुंह में लिया तो वो उछलने लगे और बोले- आह्ह … ऐसे तो तुम्हारी दीदी भी नहीं करती है. हीना को अब जो आनन्द मिल रहा था, उसका बखान उसके अलावा और किसी के वश में नहीं हो सकता था.

मैं तो पहले से ही चाहती थी कि भैया मेरी चूत को चोद दें मगर अभी तक मौका नहीं मिल पा रहा था. मेरा ऑफिस वहां से बस कुछ दूर ही बचा था तो मैंने सोचा कि क्यों न मैं पैदल ही चली जाऊँ. ऐसे ही एक बार में उसके घर गया, तो मैंने देखा कि वो घर में अकेली है.

एक बार तो मैंने उनको बख्श दिया और फिर जब वो नहीं मानी तो मैंने उन पर पानी डाल दिया।चाची के सारे कपड़े गीले हो गये. और तुम सिर्फ होटल में बैठी थीं … कुछ और तो नहीं करने गई थी ना!मीता- नहीं, मैं उससे सिर्फ बात करने गई थी … थैंक्स.

उसने नजर भर कर मुझे पूरा से नीचे से ऊपर तक देखा, फिर घुटनों पर बैठ कर मुझे एक रिंग दिया और कहा- आई लव यू.

मैं- आपका तो हो गया … पर मेरा?यह कहते हुए मैंने मौसी के हाथ को पकड़ पर अपने लंड पर रख दिया, जो काफी टाइम से अकड़ा हुआ था. बढ़िया फिल्म बीएफहाइवे पकड़ते ही तुषार ने भार्गव से कहा- अरे यार सीट को सीधा कर दे, तो सीट बड़ी हो जाएगी. गर्भवती महिला का सेक्सी बीएफउसकी आँखों में चमक थी।कुछ भी हो मैं उससे प्यार बहुत करता था; मैंने हाथ आगे ले जाकर उसके हाथों को पकड़ा और चूम लिया।तब तक वेटर आ गया आर्डर लेकर। हमने एक दूसरे से बात करते हुए डिनर किया। वो बार-बार डांस फ्लोर की तरफ देख रही थी जहाँ कपल्स डांस कर रहे थे। मैं उठा और रोमांटिक अंदाज में उसका हाथ पकड़ के डांस फ्लोर पर ले गया।हमने थोड़ा डांस किया। वो बहुत खुश थी। फिर हम वहाँ से निकल गए. रिया- हा हा हा … कुछ भी बोलते हो डैड। सूसू साथ में करने में क्या मज़ा?रमेश- तू देख तो सही रंडी कि मैं क्या करता हूँ? मज़ा ना आए तो कहना!रिया- जो करना है जल्दी करो डैड.

इसी बीच रितेश टेबल के नीचे से अपने पैर बढ़ाकर कर मीरा की चुत को सहलाने लगा.

मेरी दुकान में दोपहर दो बजे से तीन बजे तक सभी कर्मचारियों की खाना खाने की छुट्टी रहती है. आआईई ईई … अमित …” करके भाभी ने मुझे झटके से अपने से अलग किया और खड़ी हो गईं. इससे पहले हम गाड़ी से बाहर निकलते भाभी ने मेरी पैंट से मेरे लंड को निकाल लिया और गाड़ी के अंदर ही मेरे लंड को मुंह में लेकर चूसने लगी.

उसने लण्ड को चूसना शुरू किया तो मैंने चूत में उंगली चलानी शुरू कर दी. क्या तेरे पति ने कभी तेरी सेक्सी कामुक निप्पल्स को नहीं मरोड़ा?” रवि बॉस बोला और फिर बड़ी तेज-तेज मरोड़ने लगा. अंकल ने अपने हाथों से मेरा मुँह ढक लिया- श … नीतू … सारे मोहल्ले को पता चल जाएगा … थोड़ी देर सहन करो, फिर देखो कैसा मजा आता है.

जेठालाल बताइए

अंकल ने अपनी बनियान उतारी, उनके बालों से भरे सीने को देख कर मैं फिर से शर्मा गयी. मैंने वसुन्धरा के कान से अपनी जीभ छुवाई और कान के साथ साथ अपने होंठ और जीभ नीचे की ओर खिसकाता चला गया. इसलिए सबूत रखने के लिए मैंने तुरंत ही अपना छोटा सा कैमरा उठाया और उसकी फोटो लेनी चाही.

वैसे मैं सच बताऊं तो ट्रेन के अंदर उसके साथ ऐसा नहीं करना चाहता था लेकिन ट्रेन के अचानक ब्रेक लगने के कारण ऐसा हो गया.

यह बात सुन कर रितेश ने भी जोश में आकर मीरा के चूतड़ों पर दो थप्पड़ लगाए और पीछे से मीरा की रस छोड़ती चुत में अपना लंड ठांस दिया.

मैं तेजी से उसकी चूत मारने लगा और 7-8 मिनट की चुदाई के बाद उसको बिना बताए ही मैंने उसकी चूत में अपना माल गिरा दिया. उतने में उसने बोला- आपकी गर्लफ्रेंड बहुत लकी होगी, जिसे आप जैसा ब्वॉयफ्रेंड मिला है. बीएफ सेक्सी हिंदी चुदाई बीएफउस कमरे में एक जवान लड़की जिसकी उम्र लगभग 19 – 20 साल थी, कुछ सेक्स क्रियाएं कर रही थी.

अंकल बड़े मजे से उन्हें मसलने लगे और अपनी कमर हिलाते हुए लंड को मुँह के और अन्दर घुसाने लगे. मैंने अर्चना को देखते ही कह दिया- मैडम, आज तो आप बहुत ही अच्छी दिख रही हो. तभी वो बोली- लाला, लंड को अन्दर बाहर करो।बस फिर क्या था, धीरे-धीरे लंड अन्दर बाहर होने लगा और फिर अपने ही आप अन्दर बाहर होने में स्पीड आ गयी। बहन की चूत और मेरे लंड के मिलन से पैदा होने वाली मधुर आवाज- फच-फच छप की ध्वनि आना शुरू हो गयी.

अब वो चुदने के लिए तड़पने लगीं, पर नितिन ने उनको और तड़पाया, किस करना छोड़ कर सीधे अपना मुँह सीमा की सुर्ख गुलाबी और चिकनी चूत पर ले गया. मम्मी आयी, उपिंदर ने दरवाज़ा खोला, उसे देख कर मम्मी हैरान हो गयी- अरे उपिंदर तुम?और फिर चुप हो गयी।उपिंदर ने धीरे से मम्मी के चूतड़ों को सहलाया।मम्मी फुसफुसा के बोली- यहां कुछ मत करो, ये अंशु का घर है.

मैं काजल की ब्रा के ऊपर हाथ फिराने लगा और उसकी चूचियों को अपने ख्यालों में ही महसूस करने लगा.

उसके बाद जब हम तीनों अपने रूम में आए, तो फिर से वो दोनों मेरे ऊपर टूट पड़े और सेक्स का नंगा नाच हुआ. क्योंकि बाहर के देशों में इससे भी कम उम्र की लड़कियां लंड का मजा ले चुकी होती हैं. उसके बाद वो फिर से हंसते हुए बोली- मानसी ने मुझे फोन पर पहले ही बता दिया था कि तू उसकी चूत को चोदने के लिए तड़प रहा है.

पूरी वीडियो बीएफ ये देखकर वो धीरे से मुस्कुराया … और वो पीछे का दरवाजा खोल कर मेरे साथ आकर बैठ गया. दोस्त मुझसे बोला- मेरे घर की चाबी तुम अपने पास रख लो और 3 दिन बाद उसके माता पिता को स्टेशन से लेकर घर पर छोड़ देना.

आपके मजे की अगली किश्त के साथ में एक बार फिर से आप लोगों के बीच में हूं. फ़ोन काट कर मैं जैसे ही उसके रूम में गई, उसने कैंडल सारे रूम में जला रखी थीं और बेड गुलाब के फूलों से सजा रखा था. अंकल ने चुपके से मुझे और गोलियां लाकर दीं, जिसे मैं दो दिन छुप छुप कर लेती रही.

सिंघेश्वर आस्थान

मैने उसकी चूची को नीचे बेस से पकड़ा था मगर धीरे-धीरे करके मैं उसकी चूची के शिखर तक पहुँच गया और उसकी पूरी चूची को ही अपनी हथेली मे भींच लिया।एक औसत आकार के सन्तरे से बड़ी चूची नहीं थी मोनी की. उसके दोनों कबूतर पिंक पैड वाली ब्रा में से झांकते हुए बहुत सुन्दर लग रहे थे. मम्मी इस बात से इतनी परेशान हो गई कि एक रोज वो मुझे एक लेडी साईकोलोजिस्ट डॉक्टर के पास ले गई.

मैंने उनका गाउन उतार दिया और भाभी मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गई थीं. एक बार मन किया कि किचन से मोटी सी मूली लाकर उसे चूत में घुसा कर अपनी सील खुद ही तोड़ डालूं और मजा लूट लूं; पर जैसे तैसे मैंने खुद को काबू किया और उंगली से ही मोती रगड़ रगड़ कर झड़ झड़ा कर तो गयी.

काफी देर तक चूत चाटने और अंगुली करने की वजह से अनिता कांपते हुए अपने कामरस की वर्षा कर गई जिसे मैं अमृत की तरह पीता चला गया.

मैंने दोबारा से लंड एक बार फिर से पूरा लंड बाहर निकाल कर निशाना लगाया. आह-आह, बस ऐसे ही, जान खुजली बहुत ही बढ़ गयी है, अपने लंड से मेरी खुजली मिटाओ. इतना सुनने के बाद मैं उसके मुँह की तरफ आया और उसके सिर को अपनी हथेली पर लेकर उठाया और लंड को उसके मुँह पर ले गया.

मैंने दीपिका के घुटनों को थोड़ा और मोड़ा और लण्ड को जोर से मारा तो लण्ड अंदर बच्चेदानी को जा लगा और दीपिका जोर से मजे में चिल्लाई- हाय … माँ, मार दिया जालिम ने. नम्रता पूरी तरह झड़ चुकी थी, लेकिन मेरे लंड की खुजली मिट नहीं रही थी. दो साल से हम दोनों भाई बहन ऊपर जाते टाइम सीढ़ियों वाला गेट अन्दर से बंद कर लेते हैं ताकि कोई आए ना.

मैंने कभी उनके बारे में गलत नहीं सोचा था और न ही वो मेरे घर आई, तब मैंने सोचा.

एमपी बीएफ वीडियो: दूसरी बिल्डिंग में जो कोई एक-दो लोग दिख भी रहे थे, वो भी बारिश की वजह से छत से चले गए थे. चूंकि मानसी मुझे एडल्ट चैट साइट पर मिली थी, तो हमारी ओपन सेक्स पर ही बात हुई और हम दोनों ने अपनी पहली ही सेक्स चैट में अपने आपको ठंडा कर लिया.

हीना ने हंस कर कहा- उपहार याद है ना सर?मैंने कहा- हां याद है, मैं इंतजार करूंगा कि कब तुम उपहार मांगो. उसके बाद उसने तौलिये को गीला किया और अपनी टांगें फैलाकर चूत अच्छे से साफ की. फिर मैंने कुछ देर बाद उसे मेरे ऊपर से उतरकर घोड़ी बनने को कहा और वो तुरंत मेरे सामने घोड़ी बन गई.

मैंने पूछा- वर्जिन हो क्या?वो बोली- इस ज़माने में वर्जिन कौन रहता है?ये बोल कर वो हंसने लगी.

मुझे लगा कहीं भैया ना जग जाएं, इसलिए मैंने उसको वापस उसकी खाट पे भेज दिया. मैं उसकी चूत पे ऐसे ही किस करने लगा, तो वो फिर से गर्म हो गयी और उसकी टांगों की पकड़ ढीली पड़ गयी. वो बोला- तुम बीच में कहां गायब हो जाती हो?मैंने कहा- तुमने मेरी ऐसी हालत कर दी है कि मुझसे अब बोला नहीं जाएगा.