बीएफ नंगी फिल्म बीएफ

छवि स्रोत,सेक्सी पिक्चरों का फोटो

तस्वीर का शीर्षक ,

ब्लाउज गला डिजाइन 2018: बीएफ नंगी फिल्म बीएफ, मैंने उसके होंठों पर अपने होंठ रखकर जोरदार किस किया ऐसा लगा कि मैं स्वर्ग में हूँ। फिर मैंने उसे किस करते हुए उसके पैंट में हाथ डाल दिया.

हीरोपंति सेक्सी

तभी साली जी ने खड़े होने की कोशिश की पर तुरंत ही कमर पकड़ कर बैठ गयीं. सेक्सी फिल्में कैसे करते हैंआंखें बन्द करके मैं मूत निकलने का इंतजार करने लगा और जैसे-जैसे लंड ने पेशाब की धार छोड़नी शुरू की वैसे-वैसे मुझे बड़ी राहत मिलने लगी.

और मैंने पेटीकोट में हाथ डालकर उसकी चूत अपनी मुठ्ठी में दबा ली और अपने होठों से उसके होंठ सिल दिये. सेक्सी नंगी चूत सेक्सऐसे ही दो दिन निकल गए, तीसरे दिन रात को ऑफिस से घर लौटा, तो देखा श्रीमती जी मुँह फुला कर बैठी हैं, वो कुछ बात भी नहीं कर रही थी.

उसका लंड काफी मोटा और लम्बा था, जिस वजह से मैं दर्द से चिल्ला रही थी.बीएफ नंगी फिल्म बीएफ: उससे भी रहा नहीं गया और उसने अपना एक हाथ मेरे लंड पर रख के सहलाना रगड़ना चालू कर दिया.

मैंने उसकी डोरी वाली ब्लैक पेंटी को खोल कर फेंक दिया और उसकी क्लीन शेव चूत को उंगली से सहलाने लगा.मैंने अपने हाथ से बेडशीट को कसके पकड़ा, तो भैया ने समझ लिया कि मैं रसधार देने के लिए तैयार हूँ.

सेक्सी वीडियो फुल मूवीस हिंदी - बीएफ नंगी फिल्म बीएफ

यदि आप नए पाठक हैं, तो आप ऊपर मेरे नाम पर क्लिक करके मेरी सभी कहानियों को पढ़ सकते हैं.दोस्तो नमस्कार, मैं आप लोगों की प्यारी हॉट मधु … एक बार फिर अपनी आत्मकथा में तहेदिल से आप सभी का स्वागत करती हूं.

मैंने हंसते हुए उसकी बात को टाल दिया, मैंने कहा- उनमें कोई भी लड़की आपके जैसी नहीं है. बीएफ नंगी फिल्म बीएफ जब मेरा लंड अच्छे से दोनों के मिले हुए माल से गीला हो चुका था, तो वो मेरे ऊपर से उतर गईमेरे मुरझाये हुए लंड के तरफ देखते हुए नम्रता बोली- अब इसका फड़कना बंद हो चुका है.

मेरे दूसरे हाथ से उसका मुंह बन्द करके मैं लगातार उसकी गांड पेलता रहा.

बीएफ नंगी फिल्म बीएफ?

झाटें साफ होने के बाद क्या मुलायम चूत लग रही थी!मैंने जूली से कुर्सी पर बैठने के लिये कहा. मैं अगले दिन जब ऑफिस गया, तो मेरी निगाहें उस खूबसूरत परी को खोज रही थीं. मैं उसको ये पता नहीं लगने देना चाहती थी कि मेरी चूत में मेरे जीजा का लंड जा रहा है.

मैंने चारों ओर की छतों पर नजर दौड़ाई, पर आस-पास की छत पर कोई नजर नहीं आया. यह समस्या वंशानुगत भी होती है अर्थात यदि मां में सेक्स ज्यादा रहा है तो बेटी में भी होगा. अब मैंने सुमन को अपनी गोद के ऊपर बुलाया और वो भी अपनी टांगें चौड़ी करके मेरे लंड के ऊपर बैठ गई और सोफे में ही कूद-कूद कर चुदने लगी.

मीरा भी बिना रुके उसके गांड के छेद को फैला के अपनी जीभ से कुरेद रही थी और अपने हाथों से रितेश का लंड सहला रही थी. सभी मर्द मुझे खा जाने वाली नजर से देखते हैं और चोदने की कामना करते हैं. उन्होंने चाय पीकर कप टेबल पर रखा और अपना एक हाथ मेरी जांघ पर रख दिया.

जबाब में वसुन्धरा की बाज़ुओ की पकड़ मेरी गर्दन पर और अधिक संकीर्ण हो गयी. ट्रेन ने एक बार कहीं सिग्नल न मिलने के कारण एकदम से ऐसा ब्रेक मारा कि गचाक से दबाव बनाते हुए पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में चला गया.

मैंने कुछ धक्के मारे तो हम दोनों उम्म्ह… अहह… हय… याह… चिल्लाने लगे.

साली!! तेरी चूचियां तो केवल जोर से मरोड़ने के लिए बनी हैं!” रवि बॉस बोला और अगले 7-8 मिनट उसने बड़ी बेदर्दी से मेरे दूध की निप्पल्स को मरोड़-मरोड़ के भर्ता बना दिया.

जब मैं अपनी 20-25 पिचकारी शीना की चुत में खाली कर चुका, तो शीना को देख कर उससे इशारों में ही पूछने लगा कि उसने ऐसा क्यों किया. धीरे धीरे मैं उसकी चुत को पैंटी से ऊपर से ही चाटने लगा और बाईट कर रहा था. अपना लंड बाहर निकाल के उसको भी नंगी कर दिया और उसको अपनी तरफ आने को बोला.

वो मेरी छाती पर अपने नाख़ून गड़ा रही थी, जिसका मुझे दर्द भी हो रहा था साथ में मज़ा भी आ रहा था. मैं भी थोड़ी देर में पोजीशन समझ गया और जैसे ही भाभी ऊपर होतीं, मैं थोड़ा नीचे हो जाता और जैसे ही वो नीचे आतीं, मैं ऊपर को हो जाता. इस पर सितम यह था कि उसकी चूत से निकलती हुई गर्म भाप, जो मेरी जांघों के आस पास टकरा रही थी, वो भी मुझे बहुत दुखी किए हुए थी.

अपना लंड बाहर निकाल के उसको भी नंगी कर दिया और उसको अपनी तरफ आने को बोला.

मंजू ने मौका भाम्प कर हाथ से टटोल कर मेरे लंड का आकर महसूस किया और मेरी ओर देख कर मेरे मूसल को मसल दिया. कुछ ही देर में उसका लंड मेरी चुत में था और वो ढंग से मेरी चुदाई करने लगा. देखते ही देखते उसने मेरी चूत में हाथ डाल दिया और मेरी चूत को मसलने लगा.

वो दोनों एक स्वर में बोलीं- बना लिया जूली के साथ सुहाग दिन आमिर मियाँ! जहाँ जाते हो हसीनाओं को अपने बीवी बना लेते हो. मैंने देखा कि उनके शर्ट के ऊपर के दो या तीन बटन खुले हुए हैं और उनका एक बूब पूरा बाहर है और वो अनजान बनकर झाड़ू लगा रही थी. मीता- थैंक्स … आप किसी को बोलोगे तो नहीं ना!मैं- नहीं … इस उम्र में ऐसा होता है.

एक दिन हम दोनों घर में अकेले थे और एक दूसरे से बातें करते करते हम दोनों लोग सेक्स वाली बातें करने लगे.

अब मेरी सास रोज़ ताने मारती कि मेरे पापा ने कोई दहेज़ नहीं दिया और सिर्फ थोड़े से पैसे लगाए शादी में. थोड़ी दूरी पर उसने एक वाइन शॉप पर कार रोक दी और मुझे व्हिस्की लाने को कहा और साथ में सिगरेट भी.

बीएफ नंगी फिल्म बीएफ कहानी पढ़ने से थोड़ा बहुत मुझे समझ में आ गया था कि लड़की को कैसे उत्तेजित किया जाता है. सारा जो दिलिया के ओंठ और जीभ चूस रही थी, उसने मजा दुगना कर दिया था, ऐसा लग रहा था जैसे कोई लण्ड चूत में पेंच की तरह जा रहा हो.

बीएफ नंगी फिल्म बीएफ क्या बला की हसीनाएं थीं दोनों रानियां! एक से बढ़कर एक हसीन!! एक से बढ़ कर एक कामुक!!! दोनों रानियां देख कर लगता था कि उन्हें विधाता ने बहुत अच्छी मनोस्थिति में गढ़ा था. अब मैं उनके बेड पर लेटी थी, जिस पर कुछ दिन पहले अंकल और आंटी को चुदाई करते हुए देखा था.

पर उन दोनों के बैठने के ढंग से लग रहा था कि वो दोनों रिलेशन में हैं.

देहाती वीडियो बीएफ चुदाई

अब आप सोच ही सकते हैं कि एक गोरी चिट्टी औरत जिसका फिगर भी इतना कमाल हो और जो देखने में भी इतनी सुंदर हो, उसके लिये एक मर्द की नियत भला कैसे न फिसल जाती. कहते हुए उसके चूचों पर मैंने अपने हाथ रख दिये और दबाने लगा।कमरे में खामोशी सी छा गयी थी और हम दोनों के होंठ आपस में मिल गये थे। थोड़ी देर तक हम दोनों एक-दूसरे के होंठों को चूसते रहे. पंद्रह मिनट तक उसकी चूत की ठुकाई की और उसके बाद हम दोनों ही साथ में झड़ गये.

चूंकि वो लोग किसी कारणवश मेरी शादी में नहीं आ पाए थे, इसलिए वो दोनों आने के लिए काफी जिद कर रहे थे. तभी संजना मेरी चटाई से अपने चरम पर पहुंच चुकी थी … पर मैं अभी भी झड़ा नहीं था. उस वक़्त उसने बहुत ही गहरे गले की टी-शर्ट पहनी हुई थी और एक घुटने तक आने वाला लोअर पहना हुआ था.

मैं उसके ऊपर लेटा ही हुआ था कि उसने मेरे लंड को फिर से हाथ में लेकर सहलाना शुरू कर दिया.

मीता- थैंक्स … आप किसी को बोलोगे तो नहीं ना!मैं- नहीं … इस उम्र में ऐसा होता है. मेरी पिछली सेक्स की कहानी थीविदेशी लंड से लहंगा उठाकर चुदीपर क्या करूं यार … मैं अभी तक किसी नए लंड को नहीं ढूंढ पायी थी. जब मैंने कुर्सी पर बैठ कर उनके लंड की सवारी की तो मुझे बहुत मजा आया.

उसने अपने दोनों नाजुक हाथ मेरी छाती पर रख लिए और लंड को उछल उछल कर अंदर बाहर करने लगी. मेरी जान ये करतूत नहीं, हमारे तुम्हारे प्रथम मिलन की निशानियां हैं, यह लुंगी तो मैं सुखाकर जिंदगी भर संभाल कर रखूंगा. इस उम्र की लड़कियों में शारीरिक बदलाव आता है और वह शरीर का आनंद लेने के लिए हमेशा तत्पर रहती है.

वह घुटनों के बल बैठ गई और उसके सिर को पकड़ कर मैंने लंड को उसके मुंह में दे दिया। वो बहुत मजे से मेरे लंड को चूसने लगी. मैं घर से किसी को बिना बताये अपनी सहेली के साथ अपने बॉयफ्रेंड से मिलने के लिए चली जाती थी.

ऐसे भी मैंने तो पहले ही ठान रखा था, जिसकी भी ये हरकत है, उससे चुद जाऊँगी. फिर हम तीनों ने एक साथ शावर लिया और मैंने शावर में ही जूली को किस करना शुरू कर दिया. वापिस आकर बेड के सामने खड़ा होकर मज़े से दोनों रानियों की सुंदरता निहारने लगा.

वंश मेरी गांड के नीचे हाथ लगाकर मुझे पेलते हुए बोला- यस डार्लिंग जोर जोर से.

मैंने अपने हाथ से बेडशीट को कसके पकड़ा, तो भैया ने समझ लिया कि मैं रसधार देने के लिए तैयार हूँ. मैं अपने नये बॉस को सोच-सोचकर दोनों मोटी-मोटी जांघ खोलकर नंगी बिस्तर पर पड़ी थी. मेरा गोमती नगर में एक शानदार रिटेल स्टोर है, जिसमें महिलाओं और जनरल उपभोग की सभी वस्तुएं मिलती हैं.

कैसे हो दोस्तो, मैं राज अपनी कहानी का अंतिम भाग आपको बताने जा रहा हूं. मेरा मन भी तुमसे मिलने का था, पर उस साले ने पी नहीं रखी थी, दिक्कत ये थी.

उन्होंने देर ना करते हुए मुझे धक्का मारकर लेटा दिया और वो अपने पैर चौड़े करके मेरे ऊपर बैठने लगी. पहले नेहा मेरे ऊपर आधी लेटी हुई थी, थोड़ी देर में वह उत्तेजित हो गई और मेरे ऊपर पूरी तरह से चढ़ गई. जब उसने लंड को बाहर निकाला तो पूरा लंड उसके थूक से चिकना होकर चमकने लगा था.

एचडी बीएफ हिंदी में चुदाई

जब मेरा लंड उसकी चूत से बार-बार छूता रहा तो मुझे खुद पर कंट्रोल करना भारी हो गया और मैं उसे बेड पर लेकर गिर गया.

मैं गांड उठाते हुए बोली- हाँ मेरे राजा तेरे लंड के बाद अब मुझे और कोई लंड भाएगा भी नहीं. बाली रानी के गर्म, गीले मुंह में जाकर सुपारी में भीषण उत्तेजना छा रही थी. काफी देर तक मैंने चाची के चूचों को मजे लेकर पीया और मेरे लंड ने कामरस से मेरे अंडरवियर को गीला कर दिया.

मैंने उसके सामने देखा … और हम दोनों एक दूसरे के सामने मुस्कुरा दिए. फिर मैंने ही पहल की और पैंटी को नीचे सरकाने लगी, जैसे जैसे मेरा योनिप्रदेश उनके सामने अनावृत हो रहा था, वैसे वैसे उनकी आंखों में चमक दिखाई दे रही थी. मराठी भाषा का सेक्सी वीडियोआप लोग तो जानते ही हैं कि ठंड के मौसम में सफर करना कितना मुश्किल होता है.

तब मुझे मेरे दोस्त ने अपने मोबाइल में एक वीडियो दिखाया और उसने बताया कि औरतों की टांगों के बीच में चुत होती है. इधर उधर सिर हिलाते हुए गुड्डी रानी चिल्ला रही थी- आह आह आह कुत्ते … और ज़ोर से चोद कमीने … आह आह आआआह आआह जानू तेरा लंड क्या है बिजली का खम्बा है … अहा अहा अहा अहा … ज़ोर से ज़ोर से ज़ोर से … अहा अहा अहा अहा … उफ्फ फ़फ़फ़ मादरचोद अब जान लेगा क्या?मैं भी गुड्डी रानी के हुकम के अनुसार धम्म धम्म धम्म शॉट पे शॉट पेले जा रहा था.

तो दोस्तो, मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी, आप सभी के मेल के इंतजार में आपका अपना शरद सक्सेना. रात के करीब दस बज गये थे और चलती हुई ट्रेन से ठंडी हवा अंदर आ रही थी. हम दोनों दस बारह बार पूरा चक्कर घूमे, मैं घड़ी की उल्टा दिशा में घूमा और दिलिया घड़ी की दिशा में घूमी.

बाथरूम के अन्दर वो खड़े होकर मूतने लगी, मैं वहीं बाहर खड़े होकर उसे मूतते हुए देखने लगा. वो बोला- तुम बीच में कहां गायब हो जाती हो?मैंने कहा- तुमने मेरी ऐसी हालत कर दी है कि मुझसे अब बोला नहीं जाएगा. कभी भाई दोस्तों के साथ लेट हो जाता है, तो सीढ़ियों का गेट खुला छोड़ना पड़ता है, इसलिए मैं अपने रूम में सो जाती हूं कि मम्मी ना आ जाएं.

कहानी के पिछले भाग में आपने पढ़ा कि मेरी बड़ी दीदी हेतल ने मेरी छोटी बहन मानसी के सामने मेरी जवानी करतूतों की सारी पोथी खोल कर रख दी थी.

इस उम्र में भी सरोज के नयन नक्श और शरीर की बनावट किसी का भी लंड खड़ा करने के लिए बहुत थी. खाना खाते समय मैंने खाने की तारीफ की, तो वो बहुत खुश हुई और बोली- थैंक्स सर.

वापिस आकर बेड के सामने खड़ा होकर मज़े से दोनों रानियों की सुंदरता निहारने लगा. उस समय शाम के साढ़े सात ही बजे थे और मैंने जल्दबाजी में ये सब कर दिया था. उसने मुझसे ढेर सारी बातें की और मुझे अपनीअधूरी वासनाको लेकर अपना दुःख बताया.

मैं उनकी बात सुनकर हैरानी से उनकी ओर देखने लगी और सोचने लगी कि कहां मैं दूसरे स्कूल में धक्के खाने की सोच रही थी, यहां तो मुझे चूत के बदले में प्रमोशन भी फ्री मिल रहा है. फिर मैंने दूसरा धक्का लगाया तो साना ने मुझे वापस धकेला और लंड को बाहर निकालने की कोशिश करने लगी लेकिन मैंने लंड को नहीं निकाला. जिस तरह से वो लड़की मेरे लंड के सामने चिल्लाने लगती थी और मैं उसे कम से कम तीन बार झड़ाने के बाद झड़ता था, उससे मुझे ये आत्मविश्वास आ गया था कि भाभी भी मेरे जवान लंड से चुदवा कर खुश हो जाएंगी.

बीएफ नंगी फिल्म बीएफ इस धक्के के कारण मेरा लंड एक चौथाई से भी ज्यादा अंदर तक उसकी चूत में चला गया था. जब भी ऑटो गढ़े में हिलता, उस समय मंजू अपना शरीर का बोझ मेरे ऊपर डाल रही थी.

हिंदी बीएफ हिंदी व्हिडीओ

रिया बिल्कुल कुतिया बनी हुई थी।रमेश- तुम अब वापिस उठ सकती हो।रिया उठकर रमेश के पास बैठ गयी।फिर रमेश ने उससे पूछा- कैसा लगा रंडी बेटी ?रिया- डैड आप बुरा तो नहीं मानोगे ना, या मुझे गलत तो नहीं समझोगे? मुझे गलत मत समझना। जो तुमने अभी किया उसमें मुझे बहुत मज़ा आया। आज तक मैंने ऐसे केवल ब्लू फिल्मों में देखा था. फिर मैंने उंगली उसकी चुत में घुसेड़ दी और उसने मेरे लंड को मुँह से निकाल कर एक बड़ी गहरी सांस लेते हुए मुझे अपनी कामाग्नि का अहसास कराया. अगले ही पल मैंने अपने होंठ उसके होंठों पर रख दिये और उन्हें चूसने लगी। शुरूआत में उसे पता ही नहीं चला कि क्या हो रहा है पर मेरे होंठ उसके होंठों पर रगड़ खाते ही वे जोश में आ गया और मेरा साथ देने लगा।हम दोनों जोश में एक दूसरे को चूमने लगे, मेरा हाथ उसकी पैंट के ऊपर से उसके लंड को जोर जोर से मसलने लगा.

वो मुझे पकड़ कर बोली- आह … बहुत मजा आ रहा है यार … और तेज करो … फक मी फास्ट. मैं अपनी चुत में संतोष जी का 8 इंच का मोटा लंड लेने की कल्पना करने लगी. देहाती बुर की चुदाई सेक्सी वीडियोअब मैं थोड़ा हकला गया, मुझे नहीं पता था कि वहां की बात यहां तक आ जाएगी.

मैंने अपना लंड उसकी चुत पे रख दिया, तो वो सिहर उठी और मुझसे चिपक गई.

मैंने अपना हाथ थोड़ा और आगे दोनों नितंबों के बीच की दरार की ओर बढ़ाया और पाया कि वसुन्धरा की चुनरी दोनों नितम्बों के बीच में कहीं नीचे वसुन्धरा की पेंटी में अटकी हुई है. मैंने मुंह पर कपड़ा बांधा और भैया के साथ कुछ दूर तक पैदल जाकर आगे हम लोग एक बात करने लगे.

जिसने इस कहानी के पहले के पार्ट नहीं पढ़े, वो पढ़ लें, तभी आपको सारी स्टोरी समझ आएगी. हम दोनों ने एक दूसरे को किस करना चालू किया और मैं चाची की चुचियों को मसलने लगा. हम्म… आह… ऐसे शब्द बोलते हुए सिसकारती रही।तभी मैंने अपनी जीभ को उस खुले छेद में लगाकर चलाना शुरू ही किया था कि वो अपनी गांड को हिलाने डुलाने लगी, मेरी जीभ की नोंक उसकी गांड के अन्दर थी.

जो भी रस उसकी उंगली में लगा था, वो सब मेरी जीभ पर उंगली चलाकर हटा रही थी.

मेरी आंख खुली तो मैंने देखा कि साना मेरे लंड पर अपना हाथ फिरा रही थी. नेहा ने प्यार से आंखें बंद कर ली और बोली- मैंने सोचा चलो अपने थैंक्यू को ‘गीला’ कर दूँ. रितेश भी मौके की नज़ाकत देख कर तेज़ी से धक्के लगाने लगा और करीब 10-15 मिनट की चुदाई के बाद दोनों झड़ गए.

हिंदी ब्लू पिक्चर फुल सेक्सीसोनल की बात सुनकर दोनों बहनें एक-दूसरे के पास आ गईं और एक दूसरे के मम्मे मसलने लगीं. उसको चूत में अजीब सा अहसास होने लगा। कुछ देर तक दोनों सूसू करते रहे। कितना आनंद आ रहा था। जब दोनों सूसू कर चुके तो एक-दूसरे को देख कर हँसने लगे।रिया- हा हा हा डैड, आपकी सूसू कितनी गर्म थी.

सेक्सी बीएफ चूत लंड वाली

मैं भी नीचे से कमर हिलाकर उनको साथ देने लगी और उनके सीने को दाँतों से काटने लगी. मैंने मौसी की तरफ देखते हुए और अपना मुँह बनाते हुए कहा- मेरा नहीं हुआ अभी तक. फिर मुंह घुमा कर नीचे बैठ कर एक बार लण्ड को मुंह में लेकर फिर उत्तेजित करने लगी.

दस-एक मिनट बाद वसुन्धरा ट्रे में भाप उड़ाती कॉफ़ी के दो मग ले कर अंदर आयी. चुदने के बाद विनीता मुझसे आंखें नहीं मिला रही थी, वो अपने कपड़े उठा कर अपने नंगे शरीर को ढकने लगी. मेरी छोटी बहन शुभ्रा को सजना संवरना अच्छा लगता था और मुझे छिप-छिप कर दोस्तों द्वारा दी गई मस्त राम की कहानियां पढ़ने में बड़ा मजा आता था। कहानी इतनी ज्यादा उत्तेजित होती थी कि हाथ कब लंड पर चला जाये पता ही नहीं चलता था और चैन तब तक नहीं आता था जब तक लंड को दबा-दबा कर उसका माल न निकाल लूं.

मैं- हां हां देख लेना, लेकिन मुझे नहीं लगता कि अब तुम्हें इसकी कोई जरूरत पड़ेगी. आपने मेरी पिछली कहानियों को खूब पसंद किया जिसमें मैंनेजीजा के साथ सेक्सकिया था. मैं नेहा की सुंदर और पतली कमर में हाथ डालकर खड़ा हो गया और उसके नर्म और गुदाज़ सुंदर होंठों पर किस करने लगा.

मेरे लंड महाराज तो पहले ही मानसी की चुत की गर्मी से पूरे लोहे की रॉड बने हुए थे. उसके बाद हम दोनों गाड़ी की तरफ जाने के लिए चलने लगे तो भाभी से चला भी नहीं जा रहा था.

मैंने भी पेड़े का डिब्बा किचन की पट्टी पर रखकर उनको अपनी बांहों में भर लिया.

‘आअह आअह्ह ऊह आउच आअह्ह …’साले ने मेरी गांड फाड़ना चालू कर दिया मेरे कंठ से दर्द भरी आवाजें आने लगी थीं- आआह्ह आआह्ह्ह आआह्ह … मादरचोद बता कर तो डालता … आह मर गई मैं आह्ह्ह्ह!वंश बिना मेरी चिल्लपौं पर ध्यान दिए मुझे जोर जोर से चोदे जा रहा था. प्योर मराठी सेक्सीहम इस पोज में करीब 20 मिनट तक चुदते रहे, फिर मैं झड़ गया और हमने ब्रेक लेकर थोड़ा खाना खाया।खाना खाने के बाद चाची बेड पर लेट गई, मैं भी चाची के पीछे लेट गया। मैंने चाची की पैंटी उतारकर लंड चाची की चुत में डाल दिया और कंचन चाची के सामने लेट कर उनकी चूचियाँ चूसने लगी. बीपी सेक्सी नंगी तस्वीरमैंने अपने भी फटाफट कपड़े जिस्म से अलग किए और नंगा उसके सामने आ गया. अपनी गरम गांड पर ठंडी आइसक्रीम के साथ ही मीरा की मदभरी जीभ से गांड को चटने से रितेश को भी बहुत मज़ा आ रहा था.

जिस तरह से चाची मेरे वीर्य को पी कर संतुष्ट हो रही थी मैंने भी चाची की चूत का रसपान किया.

ट्रेन ने एक बार कहीं सिग्नल न मिलने के कारण एकदम से ऐसा ब्रेक मारा कि गचाक से दबाव बनाते हुए पूरा का पूरा लंड उसकी चूत में चला गया. ”अंकल ने भी ज्यादा फ़ोर्स नहीं किया और मुझे बेड पर लिटाकर मेरे पास लेट गए. मैंने पूछा- तुम्हें कैसे पता!तब खुशी ने बताया कि वो संदीप से फेक आईडी बनाकर चैट करती है, संदीप उसे जेंटल लगता है और वो संदीप को दिल से पसंद करने लगी है.

अर्चना मेरे पैंट को खोल कर मेरे लौड़े को घूरने लगी और थोड़ा घबरा सी गई. ऐसे ही हम कुछ मिनट तक एक दूसरे के होंठ चूसते रहे और फिर इसके बाद मैंने देर न करते हुए उसकी टी-शर्ट निकाल दी और लोअर को भी नीचे कर दिया. नम्रता मेरी तरफ देखकर मुस्कुराई और बोली- तुमने मेरे मन की बात छीन ली, मैं भी एक राउन्ड और चाहती थी और कभी भी इनका फोन आ सकता है.

बीएफ सेक्सी चुदाई अंग्रेजी

मम्मी बोलीं- वो ब्यूटीपार्लर में पार्ट टाइम काम करने लगी हैं, शायद वहीं गई होंगी. जैसे ही वसुन्धरा अपना बैग लेकर कार से उतरी तो मैंने कहा- अच्छा … वसुन्धरा जी!क्या मतलब?”मैं चलता हूँ वसुन्धरा जी! मैंने बहुत दूर जाना है. अन्तर्वासना जीजा साली सेक्स स्टोरी का अगला भाग:दीदी की चुत में मेरे पति का लंड-2.

चलो सर … ” मैं शर्मा सर के आंखों में आंखें डाल कर मीठी आवाज में बोली.

उसका लन्ड कुछ इस तरह मेरी चूत में कड़क हो रहा था मानो उसके लन्ड में भी हड्डी निकल आयी हो.

कुछ देर तक तो मौसी ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी और मैं उनके चूचों पर लगा रहा और बारी बारी से दोनों चूचों को और जोर से दबाने और मसलने लगा. तब मैंने हीना को कहा- हीना लव यू डार्लिंग … तुमने मुझे बहुत अच्छा चोदा … अब मैं आने वाला हूँ. चूत लंड सेक्सी चूत लंड सेक्सीउसने मुझे कमर से पकड़कर उलटा घुमा दिया … और पीछे से अपना लंड मेरी गांड में डालने लगा.

मैंने महसूस किया कि जीजा जी चूत चाटने में पहले के मुकाबले ज्यादा माहिर हो गये थे और उन्होंने दो मिनट के अंदर ही ऐसी तरह से मेरी चूत चाटी कि मेरे मुंह से सीत्कार निकलने लगे. हां बेटा, एकदम सच्ची में!” अंकल जी बोले और मेरा हाथ पकड़ कर मुझे अपनी ओर खींच लिया. तो मैं लाज शर्म परे रख कर नंगी हो गयी और बेड पर लेट कर अपनी चूत अपने हाथों से खूब अच्छी तरह से पसार दी और अंकल जी को पास आने का इशारा किया.

ऐसा कहना मेरी सभी सीमाओं को लांघना था, लेकिन नम्रता मुझसे दो कदम आगे थी. भाभी बोली- क्या मैं आज रात को तुम्हारे कमरे में सो सकती हूँ? मुझे अपने रूम में बहुत डर लग रहा है.

उधर से दिलिया ने भी मेरे शरीर को सहलाना शुरू कर दिया और मेरे निप्पल से खेलने लगी.

फिर मैं धीरे धीरे धक्के देने लगा और अब अपने मुँह से उसकी चुची को ऊपर सही से चूसने लगा. फिर नीचे की तरफ बढ़ी और पंजे के बल बैठते हुए उसने अपने दोनों हाथ मेरी जांघों पर गड़ा दिए. वो अपने से दोहरे उम्र के आदमी से बात कर रही थी, पर आजकल के नौजवान किसी से हार मानना पसंद ही नहीं करते.

लड़कों का सेक्सी वीडियो दिखाइए तभी मैंने हरजोत से कहा- आज मैं तुमको एक लड़की से औरत बना दूंगाउसने कहा- अब मुझसे और सब्र नहीं होता, प्लीज अपना लंड मेरी बुर में डाल दो. फिर मैंने उंगली उसकी चुत में घुसेड़ दी और उसने मेरे लंड को मुँह से निकाल कर एक बड़ी गहरी सांस लेते हुए मुझे अपनी कामाग्नि का अहसास कराया.

उसमें आपके कपड़ों को सूँघा तो मैं मदहोश हो गई थी और जब भी मुझे मौका मिला तो मैं आपके बेड पर लेट जाती थी और मेरे अन्दर सेक्स जाग जाता था. उसकी चूत में जबरदस्त चिकनाई आ गई थी जिस वजह से मेरा लंड सटासट अन्दर बाहर होकर उसकी बच्चेदानी तक जाकर उसको चुदाई का मजा दे रहा था. उसका नर्म-मखमली बदन मेरे नंगे बदन से सट गया और मेरा लंड उसकी चूत पर चुम्बन देने लगा.

कपड़े उतारने वाली बीएफ

मेरी चूत टाइट थी मगर जीजा का लंड बासी ककड़ी की तरह यहां वहां चला जाता था. हम दोनों लोग अक्सर शाम को ही मिलते थे क्योंकि हम दोनों का घर नजदीक था. हरकेश ने दनादन उसकी चुदाई चालू कर दी और सुमन मेरा लंड चूसती रही।हरकेश इतनी जोर से धक्के लगा रहा था कि सुमन के मुंह के अंदर मेरा लंड अपने आप जा रहा था.

रास्ते में मुझे टिकट चेकर दिखाई दिया तो मैंने उससे पूछा- कोई है नहीं क्या सिनेमा हॉल में?उसने कहा- दो-चार लड़कियों का झुंड था, वो भी अभी यह कहते हुए निकल गई कि बकवास फिल्म है. मैं भी गर्म होने लगी और वो मुझे किस करते-करते मेरी सलवार के ऊपर से मेरी चूत को सहलाने लगे.

धीरे-धीरे मैंने नीचे से उसकी सलवार हटायी तो वह मेरा हाथ पकड़ कर रोकने लगी.

इस घटना में मैं आपके साथ अपना वो अनुभव साझा करना चाहता हूँ कि कैसे मेरी चाची ने मुझे चुदाई करना सिखाया और मेरी चढ़ती जवानी को निखार दिया. इन दिनों गांव में जल्द ही लोग खा पीकर सो जाते हैं … क्योंकि बाहर ठंड होती है. उसे नहीं पता था कि मैंने कामवर्धक गोली खा रखी है और मेरा लंड दो घण्टे तक नहीं बैठेगा.

मैंने हेतल की चूत में उंगली डाल कर तेजी के साथ उसको अपनी उंगलियों से चोदना शुरू कर दिया. मैंने दूध की धार अपने लंड के ऊपर छोड़ना शुरू किया, मेरी धार ठीक उसके मुँह के अन्दर जा रही थी. अब आप सोच ही सकते हैं कि एक गोरी चिट्टी औरत जिसका फिगर भी इतना कमाल हो और जो देखने में भी इतनी सुंदर हो, उसके लिये एक मर्द की नियत भला कैसे न फिसल जाती.

यूं लगा कि वसुन्धरा इससे खुश नहीं हुई और वसुन्धरा ने इसका विरोध अपनी कमर, अपनी योनि को मुझसे अच्छी तरह सटा कर जताया.

बीएफ नंगी फिल्म बीएफ: कुछ देर के बाद उसने कसमसाना शुरू कर दिया और पैरों को यहाँ-वहाँ करने लगी. झुकाने के बाद मैंने फिर से उसकी चूत में लंड को सेट किया और उसके बाद अपने लंड को अंदर धकेलने की कोशिश करने लगा.

मैंने उनका गाउन उतार दिया और भाभी मेरे सामने ब्रा और पैंटी में आ गई थीं. उसके बाद उन्होंने अपनी लुंगी की गांठ खोल दी, उन्होंने अन्दर कुछ भी नहीं पहना था. हमने होंठों के फासले को मिटाकर दोनों के होंठ आपस में मिला दिया और एक दूसरे का रस चूसने लगे.

मैंने उसके और पास आते हुए उसको गले से लगाते हुए कहा- ठीक है अब चलता हूँ … तुम अपना ख्याल रखना.

मैंने कहा- वाह … क्या दिमाग लगाया है जीजा आपने? बहुत मस्त आइडिया है कि आप जीजा नहीं आशीष बन गये हो. उसके बड़े साइज के कठोर स्तन देखकर उसकी कमर में दोनों हाथ डाल कर अपनी तरफ खींचा. फिर रंजना ने मेरा लिंग पकड़ा और तेजी के साथ सहलाने लगी। उसके हाथों द्वारा मेरे लिंग को सहलाने से मुझे और जोश आने लगा.