बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई

छवि स्रोत,चूत मारने की

तस्वीर का शीर्षक ,

स पर लड़कियों के नाम: बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई, एक हफ्ते पढ़ाने के बाद सलोनी कुछ समझ पाई या नहीं … लेकिन मैं समझ गया कि इसको चोदने का प्लान बनाना है.

मराठी मंगलसूत्र डिजाइन

मैंने लौड़े पर ढेर सारा थूक लगाया और बिन्नी की चिकनी चूत में अपना लण्ड डाल दिया. माता रानी काउसकी चूचियों को दबाते हुए मैं चोदता रहा और वो मेरे लंड पर उछलती रही.

आज मैं फिर से अपनी पिछली मादरचोद सेक्स कहानीगलतफहमी में मां ने मुझसे चुदाई करवाईका आगे का किस्सा सुनाने के लिए हाजिर हूँ. मराठी झवाडीफिर से मैंने चाचा जी का पूरा लंड मुँह में ले लिया और जोर जोर से चूसने लगा.

उनकी हेयरी बॉडी मेरे पूरे शरीर से रगड़ खा रही थी तो मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।इस तरह उनके बॉडी से अपने आपको रगड़ना साथ में मेरा लंड भी उनके लंड से रगड़ रहा था.बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई: मैंने शायरा को अपनी बातों पर अब फिर से सोचने पर मज़बूर कर दिया था, जिससे वो फिर से कहीं खो सी गयी थी.

रास्ते में ज्यादा जोर से तो बारिश तो नहीं हुई थी … मगर फिर भी हम दोनों भीग तो गए ही थे.मैंने मूक सहमति दी, तो झट से वो बेड पर कमर के बल लेट गया और मेरी गांड के सिकुड़ने से पहले ही फिर से उसने लंड को मेरी गांड में पेल दिया.

सेक्सी फिल्म म्यूजिक - बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई

पहले से थोड़ा अलग। उसने भी आहिस्ता से कहा।किस एतबार से?पहले कोई देख नहीं रहा था और अब दो लोग देख रहे हैं कि मेरे साथ क्या हो रहा है।क्या हो रहा है तुम्हारे साथ?बोलने के बजाय वह कुछ शर्मा गयी।शर्माओ मत.फिर मेरे हाथ को पकड़ कर अपनी लोवर के नीचे डालकर अपना मोटा और तगड़ा लन्ड मेरे हाथ में पकड़ा दिया.

मेनगेट जो दिखने मैं काफी नार्मल था … उससे अन्दर जाते ही यह एक खूबसूरत से महल की तरह लगता था. बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई और वैसे भी आज के जमाने में एक से एक बढ़कर चीज उपलब्ध हैं, तो क्यों ना लाइफ के मजे लिए जाएं.

वो समझ गयी थी कि मैं उसके ब्लाउज में से दिखाई देती उसकी चूचियों को घूर रहा हूँ इसलिए तुरन्त ही उसने अपनी साड़ी के पल्लू को सही से करके अपनी चूचियों को छुपा लिया और एक बार फिर मुँह से कुछ बड़बड़ाते हुए शायद मुझे गाली दी.

बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई?

अब रोनी नीचे लेट गया और मैंने उसके लंड और अपनी गांड में खूब सारी जैली लगायी और उसके लंड को अपनी गांड के छेद पर सैट किया. मैं दर्द से कसमसाने लगी और बोली- आह्ह … धीरे करो यार, दर्द हो रहा है. मैं बोली- अगर तुमने मुझे टच किया तो मैं तेरी गोटियों पर तभी एक लात मारूंगी.

अब आगे गर्ल्स लेस्बियन सेक्स स्टोरी:आंटी से बात करने के बाद शाम को प्रियंका का फोन आया- जीजू, मैंने आंटी को बोला, तो वो बोलने लगीं कि यहां मेरे पास पड़ा है … लेकिन उसे तुम्हारे कमरे में कौन रखवाएगा. क्योंकि खुलते ही इसका असर समाप्त हो जायेगा और इसके अन्दर का सामान स्वतः गायब हो जायेगा. उन्होंने लंड के सुपारे पर थूक लगा कर मेरी गांड पर टिका ही दिया और अन्दर करने लगे.

” कहते हुए उसने मुझे एक चूमा मेरे गालों पर जड़ दिया और जीभ मेरे मुँह में घुसा दी. भाभी मेरे लन्ड को उनकी चूत के पास रगड़ रही थी जो उन्हें महसूस हो रहा था. रात में ही मैंने निर्णय ले लिया कि अब चाहे कुछ भी करना पड़े, मैं मोहित को अपना बनाकर ही छोड़ूंगी.

मैंने फिर अपना काम शुरू किया और अपने हाथ से चूचे को मजबूती से दबाया. मैंने झट से लंड निकाला और चाची को देखते हुए मुट्ठी मारने लगा।चाची सलवार नीचे करके पेशाब कर रही थी तो मुझे उनकी गांड की झलक दिख गई.

उसकी नजर एक बार मेरी चूचियों पर जाती तो फिर एक बार मेरे चेहरे पर।उसके कच्छे में मुझे उसका लंड तनाव में आता हुआ दिखने लगा था.

मैं बोला- अब तुम अपने दोनों हाथ मेरे पेट पर रखो और अपनी कमर को धीरे धीरे आगे पीछे करो.

जब वो मेरी झांट साफ करने लिए थोड़ा आगे आती, तो मेरा लंड कभी उसके गालों से तो कभी उसके होंठों से टच हो जाता. दोनों ही चूचों को उनके हाथों ने अपनी गिरफ्त में ले लिया था और मेरे पीछे मेरे लहंगे पर नितम्बों वाले स्थान पर उनकी जांघों का लिंग वाला भाग आकर सटा हुआ था. पिंकी बेचैन हो गयी, उसने दोनों से अपने हाथ छुड़ाये और बोली- चुपचाप मूवी देखो … वर्ना मैं उठ जाऊँगी.

अचानक मेरी टोन अब बदल गयी, जिससे शायद शायरा को भी अपने नंगेपन का अहसास हुआ और वो तुरन्त उठकर बैठ गयी. मैंने जोर से उसके लंड को पकड़ लिया और मुझे महसूस हुआ कि उसके लंड में अब तनाव बढ़ता जा रहा है. ब्रा इतनी टाइट थी कि उसके मम्मे ब्रा में से हर तरफ से बाहर निकल रहे थे.

शायरा इसके आगे कुछ कहती कि तभी मैं बीच में ही बोल पड़ा, जिससे वो मेरी तरफ गुस्से से देखने लगी.

फिर उसने चुपके से मेरी पैंटी उठाई और सहजता से उसे अपनी पैंट की जेब में ठूंस लिया. अब मैंने उसको उठाया और खुद घुटनों के बल खड़ा होकर उसके मुंह के सामने लंड कर दिया. मैं पानी पीने के बहाने से चला और जाते हुए मैंने मोनी की गांड पर लंड छुआ दिया.

अब मैंने सोचा कि भाभी तो सो रही है तो क्यों न थोड़ा खुल ही जाऊं?मैं अपनी शर्ट की जेब में कुछ ढूँढने जैसी एक्टिंग करके अपनी कोहनी से उनके बूब्स को हल्के से छूने लगा. मनोहर लाल जी की पत्नी को हमारे सम्बन्धों के बारे में पता है और उनका कहना है कि सलोनी की शादी कहीं भी हो, किसी से भी हो वो बच्चा विजय बाबू का ही पैदा करेगी ताकि बच्चा हृष्ट पुष्ट लम्बा तगड़ा हो. विमला को बेड पर गिराकर उसकी छाती पर लेट कर होंठों पर पहला चुंबन दिया.

मैं- और एक बात…वो- क्या?मैं- दाल चावल पक गए होंगे … बहुत देर से कुकर में सीटियां आ रही हैं.

फिर मेरे हाथ को पकड़ कर अपनी लोवर के नीचे डालकर अपना मोटा और तगड़ा लन्ड मेरे हाथ में पकड़ा दिया. अनिल मेरी हिचक को समझ गए और उन्होंने मेरा हाथ पकड़कर पंकज के लंड पर रख दिया.

बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई उसने पहले अपने लंड पर जैली लगायी और मेरी गांड में अपना लंड डालने की कोशिश करने लगा. फिर मैंने शीशी को एक ओर रखा और उसकी गांड को थामकर एक जोर का धक्का मारा.

बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई com/imranovaish2गर्म लड़की चूत चुदाई स्टोरी का अगला भाग:मज़हबी लड़की निकली सेक्स की प्यासी- 6. मैंने कहा- ओके … अब मेन दरवाजे की कुंडी कैसे खुलेगी?वो हंसने लगी और उसने बताया कि उसके घर पर दरवाज़े की कुंडी नहीं लगती थी.

खाना इतना टेस्टी था कि मैंने तो इतना ठूंस ठूंस कर खा लिया कि शाम तक उठना भी मुश्किल होगा.

बीएफ बीएफ बीएफ सेक्सी मूवी

मेरी सेक्स कहानी के पहले भाग के लिए आप लोगों के मुझे ढेरों ईमेल आए और आप सभी को मेरी कहानी अच्छी लगी. ”सायरा ने अपने कूल्हों को पकड़ा और अपनी गांड खोल कर बोली- लीजिए देख लीजिए. उन्होंने मेरी चूत को चाट चाट कर उसे पूरा गीला कर दिया और उसमें अंदर तक जीभ डाल दी।मेरे मुख से तो बहुत तेज तेज आह निकल रही थी। कामुकता की वजह से मेरी छाती और मेरे पेट ऊपर नीचे हो रहे थे।फिर उन्होंने मुझे घोड़ी बनने के लिए कहा।मैं घोड़ी बन गई और वह पीछे से मेरी गांड और मेरी चूत को चाटने लगे।आप सोच सकते हैं कि ऐसा अहसास कितना मजेदार होता होगा।अब मेरी शर्म को मैंने तेल लेने भेज दिया.

मैंने स्टोर वाले लड़के से उसके बारे पूछा, तो उसने मुझे अंग्रेजी में बताया कि ये खास तौर पर अनल सेक्स के लिए इस्तेमाल होती है. उसकी मीठी आह निकलते ही मैंने उसके मम्मों को छोड़ कर उसकी मोटी गांड को भी दबा दिया. वे इस परिस्थिति को सोच कर देखें कि मर्द का लंड उनके मुँह में घुसा हो और वो चाह कर भी उसे चूस नहीं पा रही हों.

उन्होंने पैंटी को नाइटी के अन्दर डाल कर चुत पौंछी और मुझे उधर ही हांफता छोड़ कर अपने घर के अन्दर चली गईं.

मुझे शायरा के लिए गिफ्ट लेकर जाना चाहिए था … लेकिन अचानक लंच का प्रोग्राम बना तो कुछ कर भी नहीं सकता था. और अगर गर्लफ्रेंड नहीं है, तो मुझे अपने साथ इमेजिन करके हाथ से हिला लीजिये. अपनी सायरा को थोड़ी देर और नंगी देखते रहने की चाहत से एक बार फिर मैं कमरे में झांकने लगा.

उसकी चूत ने खूब सारा पानी छोड़ा और मैं उसकी चूत का पूरा पानी पी गया. दोस्तो, अब ये क्या मामला होने वाला था, इसका खुलासा कुकोल्ड हस्बैंड की फंतासी कहानी के अगले भाग में लिखूंगा. संजना ने अपने होंठों पर हल्की गुलाबी लिपिस्टिक लगाई थी और कानों में बड़े से ईयरिंग पहनी हुई थी.

मुझे मिलती हैं तो तुम लोगों के साथ बांट भी लेता हूँ। तुम तो साले वह भी नहीं करते।ऐसी खुले दिल वाली मिलती किधर अपने को!एनी वे, तमाशा बहुत हो गया। अब चोदते हैं. अब जब भी वो हाथ नीचे करता तो मेरी जांघ पर ही रख देता और सहलाने लगा.

उसके इस कदम से मुझे अपनी चुत से निकलते हुए पानी का खारा स्वाद मिलने लगा. तो फ्रेंड्स! आपको ये सजा कैसी लगी जो मैंने उस मॉडल को दी? आखिरकार हम दोनों ही संतुष्ट और खुश हो गये थे. वैसे कहां आना है … ये तो बता?प्रिया भाभी ने ट्विंकल को हमारे होटल का पता दिया और बोला कि रिसेप्शन पर आकर फोन कर लेना.

आईने में मैं खुद को जब भी निहारता हूँ, तो सबसे पहला ध्यान मेरी नीली आंखों पर जाता है.

मैंने उसकी पैंट की जिप खोली और उसका बटन खोलकर पैंट को नीचे कर दिया. मैंने देखा कि प्रियंका ने अनामिका की टी-शर्ट के अन्दर हाथ डाला और उसके दूध मसलने लगी. मैं- ठीक है … ठीक है … नहीं कुछ कहता बस … पर अब नाश्ता तो करवा दो!वो- हां तो ऐसे बोल ना कि नाश्ता चाहिये.

मुझे उसके घर के नजदीक जाने में डर भी बहुत लग रहा था, पर हिम्मत करके उधर आ ही गया. मैंने अपने लंड की मुठ मारना शुरू कर दिया जबकि रोजी ने अपनी गांड को डिल्डो से रगड़वाना शुरू कर दिया.

ज़ारा- जान एक दिक्कत है!मैं- कैसी दिक्कत?ज़ारा- जान! सभी दोस्त बर्थडे पार्टी मांग रहे हैं तो मैंने कल का बोल दिया!मैं- क्या?ज़ारा- बस निकल गया मुँह से!मैं- होटल कैसे बुक होगा?ज़ारा- यही तो दिक्कत है!मैं- हम्म! सुबह देखते हैं अब सो जाओ!सुबह करीब छह बजे मेरी नींद खुली तो मैंने उसे उठाया. फिर उसने उठकर अपनी स्पोर्ट्स ब्रा उतार दी और अपने तने हुए चूचों को एक दूसरे से रगड़ने लगी. उस दिन के बाद तो फिर चाची की चुदाई करना रोज का ही सिलसिला हो गया था.

सुपर देसी बीएफ

उसकी जीभ लगते ही मैं गुदगुदा गयी और सोची- मार दे बहनचोद … मैं सही में तेरी रंडी ही हूं.

मैं उन दोनों के लिए खुश था कि कोई तो खुश है इस दुनिया में … और शादी भी कर ही रहे हैं. अब मैंने सोचा कि भाभी तो सो रही है तो क्यों न थोड़ा खुल ही जाऊं?मैं अपनी शर्ट की जेब में कुछ ढूँढने जैसी एक्टिंग करके अपनी कोहनी से उनके बूब्स को हल्के से छूने लगा. मेरे भूरे निप्पल पर उसकी गर्म जीभ चाटते हुए मुझे बहुत मजा दे रही थी.

मुझे उल्टी होने लगी तो मैंने लंड बाहर निकाल दिया और मेरी सांस फूलने लगी. क्योंकि अभी प्रिंसिपल का फ़ोन आया था और वो बोले हैं कि आज स्कूल बंद कर दो. বিএফ ডান্সये बात उस वक़्त की है, जब एक दिन मैं क्रिकेट खेल कर घर जल्दी आ गया था.

फिर मैं ऑफलाइन हो गया और उसकी फोटो को देख कर अपने लंड को सहलाने लगा. सुबह होते ही मैं अपने काम में लग गई क्योंकि मेरे दोनों नौकर छुट्टी पर थे.

पहले सौदा फिक्स कर लो और मेरे यहां का इनाम क्या दोगे, वो भी बता दो. फिर खाने के बाद सबने पैग बनाये और म्यूजिक लगा कर बार में एन्जॉय करने लगीं. खुद अपनी पैंट से आजाद होकर उसने अपने फनफनाते लंड को अपनी चड्डी में सैट किया.

मैंने उसको थोड़ा सा स्माइल देकर पूछा- आपको भी जाना है?तो उसने हां में सर हिलाया और मैं बाहर आ गयी. मैं अपने बिस्तर पर लेट कर उन दोनों की चुदाई शुरू होने का इन्तजार कर रही थी. मैंने जैसे ही कमरे में एंट्री ली और दरवाजे से एंटर हुआ, किसी ने मुझे पीछे से दबोच लिया.

उसने पहले भी अपने बॉयफ्रेंड के साथ सेक्स किया हुआ था जो उसने खुद मुझे बताया था.

मेरा लंड मोना की गांड के नीचे फनफना रहा था और बार बार मोना की गांड व चूत पर लग रहा था. दोस्तो, किसी महिला के चुचे दबाने का सही तरीका यही है, महिला के चुचे हमेशा नीचे से ऊपर की ओर दबाते हुए मालिश करना चाहिये, इससे उसके चुचे हमेशा टाइट और शेप में भी बने रहेंगे और उसे मजा भी भरपूर आएगा.

मराने में तो खुद ही स्वीकार कर रहे थे कि मैं उतना मजा नहीं दे पाया. उधर उतनी ही देर में उन्होंने बातों से मेरी चड्डी उतारी और मादक आवाज निकालते हुए मेरे खड़े हुए लंड को अपने दोनों हाथों की हथेलियों से मुठियाने लगीं. वो पक्का जवानी में बहुत गांड मरवा चुकी थी।अब मैं फुल स्पीड से चोदने लगा और झटके मारने लगा.

मैं बोली- हां, मैं चुदी तो बहुतों के लंड से हूँ लेकिन तेरे जैसा कोई नहीं है. पार्टी करते हुए आप किसी भी लड़की से दोस्ती करके उसके साथ एक रात बिता सकते हैं और ये बहुत ही आसान है यहां पर. दोस्तो, आपको मेरी दुबई सेक्स स्टोरी पसंद आई या नहीं? तो प्लीज़ मुझे मेल करके बताईएगा.

बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई लिफ्ट में उसके साथ आते हुए मुझे उसके कस्तूरी गंध वाले इत्र की खुशबू आ रही थी जिसमें उसके बदन के पसीने की खुशबू भी मिली हुई थी. फिर प्रियंका धीरे धीरे अपने एक ही हाथ से उंगली और अंगूठे को चुत गांड में एक साथ अन्दर बाहर करने लगी.

बीएफ बीएफ ब्लू मूवी

mp3उस लड़के ने मेरे भरे हुए दूध देखे, तो उसका मुँह खुला का खुला रह गया. तब से लेकर इस साल जनवरी तक में उसे इतनी बार चोद चुका था, जितना कोई हज़्बेंड अपनी वाइफ को ना चोद सके. पर अब व्हिस्की का सुरूर पूरा हो चुका था, और कपड़े उतरने की लिमिट भी आ गयी थी.

रागिनी को मैंने खड़े खड़े ही हेतल और रश्मि की चूत चाटने के लिए कहा. अब डेजी आई और मेरे सामने नीचे झुककर अपनी चूत मेरे मुंह के आगे कर दी. अश्लील व्हिडिओहॉट लड़की की वासना की कहानी के पहले भागहॉट गर्लफ्रेंड फुद्दू बॉयफ्रेंडमें आपने पढ़ा कि मैं एक प्रेमी जोड़े को भीड़ से बचा कर अपने कमरे में ले आया और उनको प्यार करने का मौक़ा दिया.

उसकी आह आह मर गई की आवाज निकल रही थी मगर मैं लगा रहा और उसकी गांड खोल दी.

और फिर हंसते हुए बोली- अच्छा … बड़ा आया बीवी वाला, तू रुक … मैं बताती हूँ तुझे!ये कहते हुए वो फिर से मेरे पीछे आई मगर तब तक‌ मैं बाहर भाग आया. उसके नीचे अनामिका भी फच फच फच करते हुए प्रियंका की चूत में उंगली पेल रही थी.

मैंने भी अपने हाथ मासी की गांड पर रख दिए और उन्हें पकड़ कर चुदाई में उनकी मदद करने लगा. मैं- सोच रहा था कि ये तुम्हारे कपड़ों में घुस जाएगा, तब बताऊँगा ताकि इसे तुम मुझे निकालने को कहो. देसी माल सेक्स कहानी पसंद आई या नहीं, अपने ईमेल में अपने विचार जरूर बतायें.

चूंकि गांव में सभी के घर कच्चे थे, तो दरवाजा यूं ही उड़के हुए रहते थे.

थोड़ी देर में ही मैंने लंड पर चुदाई चालू कर दी … और इसी तरह वो मेरे लंड को भी अपने मुँह में ले पा रहा था. उस पर हल्दी रोली का टीका लगा कर उसे शहद कर प्रसाद लगाती हैं और उसे चूस कर चुदाई का कार्यक्रम आरम्भ करती हैं. उसके आगे क्या हुआ, ये जानकर आप भी कामवासना की हवस से मस्त हो जाओगे.

सेकसी वालपेपर शायरीफिर मैंने शॉवर लेने का सोचा जिसके बाद अक्सर मैं किसी भी लड़के के साथ सेक्स के लिए उतावली हो जाती थी. मैं बिन्नी को फिर से प्यार करने लगा तो बिन्नी बोली- अब मुझे घर पर देर हो रही है और कल संडे है, इसलिए परसों मिलेंगे.

स्कूल वाली लड़की बीएफ

हम दोनों अब एक दूसरे को खा जाने और एक दूसरे के शरीर में समा जाने के लिए आतुर हो चले थे।मेरी चूत जब मैं पंकज के लंड पर रगड़ रही थी तो वो लगातार पानी छोड़ती जा रही थी. दुबई सेक्स स्टोरी में पढ़ें कि मैंने एक फ्रेंडशिप ऐप से दुबई में रहने वाली एक भाभी से दोस्ती की. वो जैसे जैसे मेरे चुत पर अपनी उंगली घुमाता गया, वैसे वैसे मैं उसके लंड को अपने मुँह के अन्दर बाहर करने लगी.

सोने से पहले मैंने उसको एक दर्द निवारक गोली दे दी इसमें बुखार न आने की भी दवा मिली रहती है. पिंकी घबरा रही थी, तो अनिल ने उसे प्यार का वास्ता दिया कि जब रवि भी यही सब चाहता है … तो वो दोनों क्यों प्यार की आग में जल रहे हैं?पिंकी ने भी सोचा कि जो होगा सो देखा जाएगा. उसके पूरे बदन को मैंने चाट डाला और वो वहीं नंगी खड़ी जोर जोर से सिसकारने लगी.

इसलिए अपना वजन डालते ही लिंग बिना किसी परेशानी के मेरी योनि में सर्र से अन्त तक चला गया. वैसे शायरा मुझे प्यार तो पहले से ही करती थी … मगर बस वो उसे बता नहीं पा रही थी. अभी बाजार भी जाना है।जैसे ही पैकिंग का काम खत्म हुआ मौसी बोली- मैं नहाने जा रही हूं.

वो- पर क्या फ़ायदा ऐसी खूबसूरती का, जिसके लिए है, वो तो बहुत दूर जाकर बैठा है. उसने बताया कि दो साल पहले मेरे पति की एक्सीडेंट में मृत्यु हो गयी थी.

”मैंने उसके चूतड़ों पर हल्की सी चपत लगायी और एक कूल्हे को भींचने लगा और फिर दोनों कूल्हों को फैलाया, इससे उसकी गांड भी अच्छी खासी खुल गयी थी.

मैं भी पेशाब करके नंगी चाची के साथ में लेट गया।चाची बोली- आज तो छोरे … तने इतना मजा दिया … सोची ना थी इब कदै मिल जावगा. किसी को चोदने की इच्छा नहीं हुईवो मेरी मां को अपने दोस्त से चुदवाना चाहता था मगर मेरी मां ने मना कर दिया था क्योंकि वरुण का दोस्त बहुत बदसूरत था. ब्लू पिक्चर इंग्लिश कीरवि के शौकों की वजह से पिंकी का ब्यूटी पार्लर का बिल हर महीने अच्छा खासा बैठने लगा था, पर फ़िक्र किसे थी. अगर आपको ये सब जानकारी नहीं है तो आप इस कहानी का पहला भाग पढ़ सकते हैं.

मेरे गीले और चिपचिपे हो चुके बूब्स मेरे साथ ही ऊपर नीचे उछल रहे थे.

मैं बोला- ऐसे क्या देख रही हो?वो बोली- यार तेरा तो बहुत बड़ा है, ये मेरी चूत में जायेगा कैसे?मैंने कहा- तू उसकी चिंता न कर. मैंने एक उंगली को चार पांच बार अन्दर बाहर किया तो उसकी टांगें खुल गईं. हरियाणा में ज्यादातर यही चलता है कि सरकारी नौकरी है या बहुत जमीन है तो छोकरी है नहीं तो बस अपना हाथ …फिलहाल शादी का मेरा भी इरादा नहीं है.

अब आगे हॉट बुर चुदाई स्टोरी:दोनों मम्मों को बहुत देर तक पीने के बाद मेरे होंठ बिन्नी के गदराए पेट पर पहुंच गए. फिर हुआ कुछ यूं कि अभी लॉकडाउन से पहले चित्रा मेरे पास स्कूटी सीखने के लिए आई, तो मैंने हां कर दी. उन्होंने बिना कंडोम के चुदाई की थी, उनका बीज स्वाति भाभी गांड से बहने लगा.

वीडियो बीएफ एक्स एक्स एक्स वीडियो

गर्म तो आप हो ही चुकी हो … बस अब और नखरे मत करो और जल्दी से टांगें फैला दो. अजय और मनीषा अब चिपट चुके थे और अजय ने हाथ से उसकी ब्रा का हुक खोल दिया. ये सुन कर नीरू की डर से आंखें खुल गईं और वो बोली- हाय जानू, ये क्या बोल रहे हो.

मैंने पूछा- तुम इतना अलग क्यों बर्ताव कर रहे हो … जैसे काफी वाइल्ड हो रहे हो … या गुस्से में हो!ऐसा कुछ नहीं है मेरी जान, मैंने बस जो कल रात को शुरू किया है, आज मैं उसी को खत्म करना चाहता हूँ.

इस समय वो अपने घुटनों को हल्का सा मोड़ कर मेरे निप्पलों को बारी बारी से चूस रहा था.

जैसे ही लेटी, उसके चूचों से टॉवल थोड़ा नीचे खिसक गई और चूचियां खुल कर दिखाई देने लगी थीं. मेरी उत्सुकता को देखकर वो भी मेरा साथ देने लगी और मैंने उनके पेटीकोट के नाड़े को खोल दिया. यूट्यूबमेट 2020अनामिका ने प्रियंका के चूचे छोड़ दिए और प्रियंका ने भी अनामिका को छोड़ दिया.

नीरव अच्छा कमाता था लेकिन उसको प्यार और रोमांस के बारे में कुछ नहीं पता था. मैं उठकर कपड़े पहन ही रहा था कि बाहर का मौसम देखा जो खराब हो चुका था. भाभी के नर्म हाथों में लंड गया तो बात मेरी बर्दाश्त के बाहर हो गयी.

अबकी बार मुझे उनका लिंग 15-20 मिनट तक चूसना पड़ा तब जाकर उनका खड़ा हुआ।उन्होंने फिर से मुझे सीधी लेटाकर मेरी चूत में अपना लंड डाल दिया और मेरे पैरों को ऊपर उठाकर बहुत तेज चोदने लगे।मैं पूरी थक चुकी थी।अबकी बार वह मुझे इसी पोजीशन में बहुत देर तक चोदते रहे।फिर वह नीचे लेट गए और उन्होंने मुझे अपने ऊपर आने को कहा. तब मैंने उसे बताया कि मुझे सब पता है कि वो कैसे सुमन को हमेशा ही चोदने की फिराक में रहता था और मेरी नज़र बचाकर सुमन से इशारे में ही बात करता रहता था.

तभी सूरज ज़ोर ज़ोर से सांसें भरने लगा तो चाचा जी ने तुरंत मुझसे उसे अलग कर दिया और बोले- रुक जा बेटा, वरना ये अभी झड़ जाएगा.

हमें क्या पता था कि दीदी जिस मीठे फल को हम तीनों ने मिल बांट कर खाने की बोली थी, वो उसको अकेले खा रही थीं. लेकिन अभी मेरी कोई भी हलचल उसको डरा सकती थी, इसी लिए मैं वैसे ही चुपचाप अपनी वासना को काबू में करके पड़ी रही. और जब भी पंकज का मन करे वो अब सुमन को डायरेक्ट ही फोन पर वीडियो कॉल करके उसे पूरी नंगी करवा देता था.

प्राकृतिक दृश्य फोटो मैं तो बस बोबों पर टूट प़डा और हर कोने में अपने दांत के निशान छोड़ दिए. उसको मैं इतनी ख़ुशियां देता कि वो मेरे सिवा किसी के बारे में सोचती भी नहीं.

उसके बाद जब मैंने लंड को निकाला तो उसकी गांड से मेरे लंड पर खून लग गया था. आप में से बहुत से पाठकों ने यह सुझाव भी दिया कि जब बच्चा स्कूल जाने लगा है, तो एक बार मुझे और मेरी बहू को भरपूर समय मिला होगा. वो लंड को निकाल कर हाथ से हिलाने लगा और कुछ ही सेकेन्ड के बाद उसके लंड से सफेद पदार्थ निकला.

भोजपुरी बीएफ सेक्सी ब्लू फिल्म

उसकी गोरी और मोटी गांड में जब धक्का लगता था तो वो पूरी हिल जाती थी. फिर मेरे हाथ को पकड़ कर अपनी लोवर के नीचे डालकर अपना मोटा और तगड़ा लन्ड मेरे हाथ में पकड़ा दिया. अजय ने पूरी ताकत झोंक दी थी मनीषा की चूत को हॉट चुदाई का पूरा रस देने के लिए.

मैं भी रसोई के सामने डायनिंग हाल में बैठ गया और सायरा को चाय बनाते हुए देखने लगा. मैं- तुम्हें बुरा नहीं लगता या डाउट नहीं होता मुझ पर?वो- ये तो पता है कि तू बहुत कमीना है, पर लगता नहीं तुम मेरे साथ भी ऐसा कुछ करोगे.

इसके साथ ही उन्होंने मेरी टांगें खोल दीं और अपना लंड एक झटके में मेरी चूत में घुसा दिया.

अब मैंने विमला को उल्टा कर दिया और उसकी पीठ पर चुंबन की झड़ी लगा दी. जब वो मेरी झांट साफ करने लिए थोड़ा आगे आती, तो मेरा लंड कभी उसके गालों से तो कभी उसके होंठों से टच हो जाता. लोटे में रखे जल से उसकी बुर पर पानी के छींटे मारे, फर्जी मंत्र बुदबुदाया और फिर रेजर से उसकी झाँटें साफ कर दीं.

शायरा को भी अब मजा आने लगा था इसलिए वो भी अब आंखें बन्द करके मेरे धक्कों को महसूस कर रही थी और अपने दिलो दिमाग़ में इस चुदाई को फिट करने की कोशिश रही थी. मैं मामी की गाँव में चुदाई की कहानी को पूरे विस्तार से अगले भाग में लिखूंगा. उस दिन मैम ने हम लोगों को कुछ कुछ बताया और पहले दिन सब को एक एक करके कंप्यूटर पर सबको समझाने लगीं.

प्रियंका भी मजे में अपनी गांड उठा उठा कर अपनी चूत चुसवा रही थी और अपने हाथों से उसका सर अपनी चूत में दबाने में लगी थी.

बीएफ सेक्सी ओपन चुदाई: मैं मुस्कुरा कर बोली- चाचा जी, मुझे चुदवाने का मन है, चलिए ना बेडरूम में!चाचा जी सूरज से बोले- तुम भी चलो सूरज. आखिर 1-2 मिनट आराम करने के बाद चाचा जी एकदम से आए और बोले- चल सुहानी बहुत हुआ, अब तेरी ढंग से चुदाई होगी.

खड़े खड़े मैंने बिन्नी को उसकी गर्दन और पीछे से गालों पर किस किये तो बिन्नी एकदम मेरी बांहों में कटे पेड़ की तरह समा गई. फिर कुछ देर बाद ये सब बोले- तुम सब हम सबसे पहले लंड की भीख मांगो और बोलो कि मालिक हमको अपनी रखैल बना लो, हमें रंडी की तरह चोद दो. इतने में सनी अपने लंड को मेरी गांड की छेद पर टिकाया और मेरी कमर को दोनों हाथों से पकड़कर एक जोर का झटका दिया और लंड का का टॉप मेरी गांड में दाखिल कर चुका था.

जिसमें पहली कुंवारी चुत की चुदाई की कहानी आज आपको सुना रहा हूँ, जिसमें मैंने गाँव की लड़की को चोदा; मजा लीजियेगा.

क्योंकि पहाड़ पर बस से जाने में मुझे चक्कर आता है इसलिए मैंने भाड़े की कार से जाने का फ़ैसला किया. पर दोस्त हूँ ना … और इस दोस्ती के चक्कर में अब प्याज काटनी पड़ रही है. उसने एक रोल प्ले वाला गेम मुझे बताया और कहा कि जितना हो सके खुलकर बात करना और ज्यादा से ज्यादा मस्ती करने की कोशिश करना.