मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ

छवि स्रोत,मा बेटे की चुदाई कहानी

तस्वीर का शीर्षक ,

पवन सिंह सेक्सी फिल्म: मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ, स्नेहा भाभी ने भी स्माइल करते हुए कहा- हां जी बोलिए … मैं आपको नहीं जानती हूँ … आप कौन हैं?मैंने कहा- अगेन सॉरी भाभी … वो पेप्सी आपके ऊपर गिर गई थी.

ஓல்ட் மேன் செக்ஸ் வீடியோஸ்

प्रियंका बोली- क्या हुआ मोनू?तो मोनू बोला- यार रवि ने मुस्कान की कमीज़ में हाथ डाल कर उसके मम्में दबाये हैं. नीग्रो की सेक्सी फिल्मचाची बुरी तरह छटपटाने लगीं- अआहा आह … आह आहह उहह …मैं चाची की चूत चाट रहा था और अपनी जीभ से उसे कुरेद रहा था.

फिर वो दोनों मुस्कराने लगीं और खाना बनाते हुए चुदाई की बातें करने लगीं. वीडियो सेक्सी वीडियो एक्स एक्स एक्समेरी पत्नी और गिन्नी की मम्मी के लौटने से पहले हम लोग फ्रेश हो चुके थे.

जीजू ने मुझे बेड पर लिटा दिया, मेरी ब्रा और पैंटी उतारी और मेरी चूत में उंगली चलाने लगे, जब उनको लगा कि चूत गीली है और चुदने के लिए तैयार है तो जीजू मेरी टांगों के बीच आ गये और मेरी टांगें फैलाकर मेरी चूत को फैला दिया.मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ: मैंने बेड पर कम्बल के अन्दर जाते हुए पूछा- दूसरे पार्ट में क्या करने वाले है ये लोग … और उसका प्रैक्टिकल क्या हम लोग भी करेंगे?अनिल भैया ने वाइन की बोतल को साइड टेबल पर रखा और खुद बेड की सिरहाने का सहारा लेकर बैठ गए.

करीब पचीस मिनट तक मैं जिया के साथ अलग-अलग पोजीशन में चुदाई करता रहा और आखिर में मैं जिया की गांड में ही झड़ गया.फिर उन्होंने मुझे राज की कहानियों का लिंक दिया और कहा- इन्हें बाद में पढ़ना.

राजस्थानी सेक्सी सेक्सी सेक्सी सेक्सी - मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ

मेरी नजरें कह रही थीं कि तुम भरोसा रखो, डांस तो क्या मैं तुम्हें कभी भी गिरने नहीं दूंगा … और उसकी नजरें कह रही थीं कि अब सब कुछ तुम पर छोड़ दिया है, चाहे गिरा दो, चाहे उबार लो!अब मैंने खुल कर नृत्य करना प्रारंभ किया, पायल नाम की अप्सरा से लिपटने या उसकी गोरी चिकनी कमर को पकड़ने में अबकी बार मैंने जरा भी झिझक नहीं दिखाई.मैंने अपनी आंखें बंद कर ली और वह अंदर तक जीभ डाल डाल कर मेरी चूत चाटने लगा.

वसुंधरा की शादी! सोच कर ही कुछ बहुत ही बेशकीमती सा खोने के अहसाह की सी फ़ीलिंग होने लगी लेकिन दुनियावी लिहाज़ से यही ठीक था, यही होना चाहिए था बल्कि कई साल पहले हो चुका होना चाहिए था. मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ तो मैंने अमन से कहा- तब तक मेरे दिन कैसे कटेंगे?उन्होंने मुझे राज की कहानी के लिंक दिए और कहा- इन्हें पढ़ो.

लेकिन फ़ोन पर वसुंधरा खुश क्यों नहीं सुनाई पड़ रही थी?तो उसका जवाब तो यही हो सकता है कि इश्क़ की दुनिया का हिसाब उल्टा है.

मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ?

अम्मी की कमर पकड़कर अपने लण्ड को अम्मी की गांड पर दबाते हुए मैंने अम्मी से पूछा- अम्मी डाल दूं?गांड मराने के लिए बरसों से तरस रही अम्मी ने मादक आवाज में कहा- डाल दे मुन्ना, अब और न तड़पा. अन्तर्वासना की कामुकता में खोए हुए दोस्तों को मेरा नमस्कार।मेरा नाम डेविल है। मैं जालंधर, पंजाब से हूं। मेरी उम्र 30 साल है।आज मैं आपको मेरी जिंदगी की रियल कहानी बताने जा रहा हूँ।यह कहानी 2016 की है जब मैं विदेश में रह रहा था। वहां मेरा अपना काम था। मेरा बदन ना ज्यादा पतला है ना ज्यादा मोटा. उसकी चूत पर अभी भी काले बाल नहीं आए थे, जो थे वो भी अभी भूरी रंगत लिए रेशमी से दिख रहे थे.

पहले धीरे धीरे फिर थोड़ा तेज तेज फिर पूरी स्पीड से और पूरी बेरहमी के साथ उसकी चूत को अपने लंड से कुचलने लगा. समय आने पर आशा ने एक बेटे को जन्म दिया जो मेरा बेटा भी है और मेरा भांजा भी. पर अभी भी मेरे दिल और दिमाग में सही और गलत के बीच जंग सी चल रही थी.

उसके बाद मैं श्यामली को चूमने लगा और नीचे से हिलते हुए उसकी चूत पर लंड को रगड़ने लगा. तुमको सबसे ज्यादा किस के साथ मजा आया?मैं- वैसे तो तीनों के साथ मजा आया लेकिन सबसे ज्यादा मजा दीदी के चुदाई में आया. उधर रोहिताश सामने कुर्सी पर बैठ कर अपना लंड हिलाते हुए सीमांशी को देखने लगा.

जो भी हम दोनों को देख रहा था वो यही सोच रहा था कि हम दोनों पति पत्नी हैं. अब रिया भी बहुत ज्यादा कामुक हो उठी थी क्योंकि बढ़ते धक्के उसकी चूत में और ज्यादा आनंद दे रहे थे.

जब मेरी उससे बात हुई तो उसने मुझसे कहा- भाभी, मुझे आपसे मिलना है। मैं आपके लिए कुछ भी कर सकता हूं।मैंने कहा- ठीक है, मैं आ जाती हूं आपसे मिलने!तो दोस्तो यह कहानी मेरे उसके मिलन की है कि कैसे मैंने अपने उस प्रशंसक दोस्त को सेक्स का मजा दिया.

नताशा- अपनी दीदी को भी ऐसे चोदते हो?मैं- हॉट फिगर देखकर लंड काबू में नहीं रहता है.

मेरा पूरा लन्ड उसकी लार से गीला हो चुका था! अब मैंने रोहिताश को पेट के बल लेटने को कहा और खुद उसके ऊपर जाकर उसकी गांड में लन्ड सटा दिया. ”अब मैं तेरी कमर पर उंगलियां घुमा रहा हूँ और नाभि में भी उंगलियां डाल के सहला रहा हूँ. हनी की चूत के लबों को फैला कर मैंने अपने लण्ड का सुपारा रखा तो हनी ने अपने चूतड़ उचका दिये.

मैं जानबूझ कर उनसे झगड़ा करने लगी और इतनी जोर से बोलने लगी ताकि ससुर जी के कमरे तक आवाज चली जाए और उनको मालूम हो जाए कि मुझे पति के लंड से शान्ति नहीं मिल रही है. कुछ दिन तो मैंने बर्दाश्त किया मगर एक दिन तो उसने हद कर दी, उसने मुझे सबके सामने बहुत ज्यादा डांटा और नौकरी से निकालने की धमकी तक दे दी. बेबी रानी ने गुड्डी रानी के बालों को लपेटे तो रखा मगर इतना ढीला कर दिया जिससे वो आराम से चूस सके.

कोमल- जब से तुम मुझसे चैटिंग कर रहे हो, तब ही से मुझे पता चल गया था कि यह सब तुम मुझे चोदने के लिए कर रहे हो … लेकिन मुझे यह नहीं पता था कि तुम्हारी डिमांड भी बढ़ जाएगी.

उसके मुंह से निकलने वाली कामुक सिसकारियां और तेज होती जा रही थीं- आह्ह राज … ओह्ह … और चोदो… और तेज करो … फाड़ दो यार मेरी चूत को… आह्ह… और तेज जान।मैं भी पूरे जोश में उसकी चूत में धक्के पर धक्का लगा रहा था. आकाश- किसमें मजा आने की पूछ रहे हो अविनाश? इधर घूमने में या अपनी नई गर्लफ्रेंड को पेलने में?नताशा- क्या आकाश. मैंने एक आज्ञाकारी बच्चे की तरह उनके रूम में जाकर डीवीडी प्लेयर में डीवीडी डालकर मूवी प्ले कर दी.

मेरा तो बुरा हाल था मेरा लण्ड तो पैंट फाड़कर बाहर ही आने वाला था।हम दोनों का हाल तो बहुत बुरा हो गया वो भी अब उतावली हो गयी फिर उसने मेरा पैंट उतार दिया और मेरे अंडरवियर के ऊपर से ही मेरा लण्ड सहलाने लगी। फिर उसने मेरे कपड़े उतार दिए और मेरे लण्ड को मुंह में लेकर चूसने लगी। मुझे लगा जैसे मैं सातवें आसमान में हूँ।अब मुझ से नहीं रहा गया. मैं सोच रहा था कि वो मजाक ही कर रही है लेकिन वो सच में सीरियस होकर बोल रही थी. वो- अच्छा ठीक है सुनो, तुम ना सीधे गली में जाना और वहां मेरे घर के लास्ट में रुक जाना.

10-15 मिनट के बाद उसका लंड फिर से टाइट हो गया तो उसने मुझे फिर से बेड पर लिटा दिया.

उसने मुझे समझाया कि तेरे घर पर कोई नहीं है, ज्यादा लोगों के आने से पड़ोसी को शक हो सकता है. मेरी गर्म चूत की कहानी के पिछले भागतलाकशुदा मौसी की चूत कैसे मिली-2में अब तक आपने पढ़ा था कि रात को मौसी की धमाकेदार चुदाई के बाद जब रात को उनसे सामना हुआ, तो उनकी प्रतिक्रिया एकदम अनजान जैसी थी.

मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ वो ज़ोर ज़ोर से घोड़ी की तरह अपनी गांड हिलाते हुए मेरे लंड से चुत रगड़वा रही थी. एक दिन शाम को रीना अपने गेट पर खड़ी थी और मैं मोबाइल पर बात करते हुए वहीं सड़क पर चहलकदमी कर रहा था.

मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ आइंदा वसुंधरा और राजवीर सिर्फ़ और सिर्फ़ सपनों में ही एक-दूसरे को छू पायेंगे … ऐसी सोच आते ही एक गुबार सा मेरे गले में आ कर अटक गया. कोमल- कैसी शर्त?मैं- मुझे आज तेरी गांड मारनी है … क्योंकि तेरी गांड बहुत मस्त लग रही है.

”मंगलवार रात को सुधीर चला गया तो बुधवार दिन में हम लोग स्मोकिंग का आनंद लेते रहे और व्हिस्की के साथ स्नैक्स फाइनल किये.

ब्लू फिल्म सेक्सी व्हिडिओ दाखवा

इस पर वैभव ने तंज कसा- किसी की जान तो नहीं निकाल दी है ना!मैंने कहा- खुद जाकर पूछ लो … या प्रतिभा से पूछ लेना!इस पर वैभव को प्रतिभा की याद आ गई. कामवासना में मेरे मुँह से भी आवाजें आने लगीं- आंह चोदो … और चोदो … मेरा निकलने वाला है. कुछ क्षणों में मेरे होश हवास काबू आ गए तो मैंने उचक कर सामने पड़ी हुई, चरमसुख में डूबी दोनों रानियों को निहारा.

कोमल जोरों से कामुक आवाज़ कर रही थी- ओहह उहह ओह या आहह उम्मह फक फक याह यस. सोनम के मुंह में मेरा लंड फंसा हुआ था जिसको वो गूं-गूं की आवाजें करते हुए तेजी से चूस रही थी. साली जी, इसे एक बार अपने हाथों में लेकर प्यार तो करो थोड़ा सा, जैसे कल किया था.

मैं बोला- कौन से दो काम?तो नीतू बोली कि एक तो आप मुझे इस एड के लिए फाइनल करोगे और दूसरा आप मेरे साथ भी सेक्स करोगे … क्योंकि आशा बता रही थी कि आपका वो बहुत जानदार है.

शीला ने मुस्कुराते हुए उनसे ये वादा किया पर झांट साफ़ करने की क्रीम का नाम पूछा तो मेमसाब ने हँसते हुए उसे अपनी हेयर रिमूवर क्रीम दे दी. दोपहर का खाना दोनों ही नहीं खाती थीं क्योंकि ब्रेकफ़ास्ट लेट होता तो फिर लंच गायब. यदि मेरी मां और पापा घर पर नहीं होते थे तो वो खुद भी उनके साथ बैठ कर गप्पें मारने में व्यस्त हो जाती थी.

2 मिनट बाद ही अंकल ने अपना पानी छोड़ दिया और सारा लंड का पानी मुंह में निकल गया जिसे मम्मी ने पी लिया।तीनों ऐसे ही नंगे पड़े हुए बिस्तर पर!उस रात पूरी रात दोनों ने मिलकर मम्मी को कई बार चोदा होगा. इत्तेफ़ाक़न कुछ ऐसा सीन बना कि खुद मेरे पापा ने मेरी गांड मारनी शुरू कर दी. ऐसा कहते ही मैंने अपने दोनों हाथों से उनके दोनों बोबे पकड़ लिए और हल्का सा दबा दिए.

मैं भी खुल कर प्यार करना चाहती हूं तुमसे।”अब तो खुद लड़की भी लण्ड चाह रही थी तो जहां चाह, वहां राह।कुछ दिनों बाद ही हमारी रिश्तेदारी में शादी थी. खुशी ने और कहा- क्या तुम लोगों को इतना भी नहीं पता कि खास मेहमान क्या होता है?मैंने खुशी को फिर शांत होने को कहा तो उसने नेहा को आखिरी चेतावनी दी- दुबारा कोई भी शिकायत मिली तो अच्छा नहीं होगा, चलो जाओ यहाँ से!नेहा ‘सॉरी मैम … अब कोई गलती नहीं होगी.

” उसने मजे में आकर कहा।उसकी परमिशन मिलने पर मैंने उसे पूरी नंगी कर दिया। उसकी जांघों को चूमते हुये मैंने उसकी गीली चूत को चूम लिया।चाटोगे?” आलिजा ने पूछा. मैंने कहा- ये बिना कंधों वाला टॉप है … तो ब्रा कैसे पहनूंगी?बहन ने कहा- तो मत पहन न, तेरे बॉयफ्रेंड का हाथ अन्दर जाएगा, तो उसे भी मजा आ जाएगा. गुड्डी रानी ने बार बार ‘राजे राजे राजे’फुसफुसाते हुए मुझे सब तरफ से कस लिया.

कहानी पढ़ सत्य असत्य आसानी से समझ जाते हैं इसलिये 6 महीने में एक बार लिखो लेकिन सत्य लिखो जिसे पढ़ने पर पाठक कामुक होते हुए हिलाते रहें और पाठिकाओं की योनियों से रस टपक पड़े.

और वो नहाने के लिए बाथरूम चली गई।मैंने भी अपने कपड़े बदले और बाहर की तरफ निकल गया। बाहर जाकर मैंने एक वेटर से बियर के बारे में पूछा तो वो सब कुछ लाने के लिए तैयार हो गया. कुछ मिनट बाद स्वीटी आंटी आसमानी रंग की पारदर्शी साड़ी में तैयार होकर नीचे आईं. जीजू, अब कम से कम पूरी नंगी तो मत करो प्लीज, कुछ तो मेरी लाज बची रहने दो!” साली जी अपने दोनों हाथ जोड़ कर बोली.

उसी वक्त दीपिका ने ड्रिंक में अपनी उंगलियां भिगोकर अपनी चूचियों पर लगा दीं. मैंने अपने एक हाथ से रोहित का हाथ रोककर उससे कहा- बस ऊपर से ही … कपड़े सही करने में भी समय लगता है।रोहित ने कहा- मौसी बस कमर तक ही उठाऊँगा.

फिर उसने मेरा हाथ पकड़ा और मेरी उंगलियों में अपनी उंगलियों फंसा ली और फिर मुझे पीछे की तरफ बेड पर लेटा दिया और मेरे कपड़े निकालने लगा. चुदवा रही हो तो खुलकर चुदवाओ ताकि तुम्हारा उद्देश्य तो पूरा हो सके. वायग्ररा के असर और दीदी के ब्लो जॉब से मेरा लंड बहुत टाइट हो गया था.

डब्लू डब्लू सेक्सी कहानी

मैं इस नए अदाज में परफार्म करवाऊंगी, सच में समधी जी, आपकी हर बात निराली है, क्या खूब गाना चुना है आपने! आई लाइक इट!मैंने उसे छेड़ना चाहा- गाना या मैं?पायल ने भी कहा- दोनों में से एक चुनना जरूरी है क्या? अगर मैं कहूं दोनों.

अब उसे मालूम पड़ गया था कि ये चूत मजे लेने के साथ साथ अपना खर्चा कैसे निकाल सकती है. मैं लंड चूत में घुसाये बिल्कुल बिना हिले डुले कुछ क्षणों के लिए पड़ा रहा. वो पीछे से मेरे बूब्स भी पकड़ रहा था और मेरी पूरी कमर पर अपने हाथ फिरा रहा था.

मेरे सभी पाठकों को नमस्कार,मेरी पिछली चुदाई की कहानीपुराने यार के लंड ने मजा दियालाखों पाठकों ने पढ़ी, मुझे सैंकड़ों इमेल मिले प्रशंसकों के. इस बार मैंने अपने दोनों हाथ कोमल की गांड पर ले जाकर उसकी गांड को सहलाना शुरू कर दिया था. जवायचे पिक्चरपर मेरी लम्बाई उन दोनों से ही कम थी। रोहित मुझे अभी भी कस कर जकड़ा हुआ था और उसका खड़ा लण्ड मुझे अपनी पीठ के निचले हिस्से पर महसूस हो रहा था मेरी गांड से कुछ इंच की ऊँचाई पर।रोहित ने फिर धीरे धीरे मेरे गाउन को टांगों से ऊपर उठाना शुरू कर दिया.

स्पोर्ट्स ब्रा और शॉर्ट्स में उनका सेक्सी बदन मेरे बदन से टच होता, तो मैं मन्त्रमुग्ध होने लगता. फिर अपनी अपनी बीवियों के साथ मिलकर सफर की थकान उतारी। उसके बाद रात का खाना अपनी अपनी बीवियों के साथ ही खाया.

दीपिका बाथरूम जाने के बाद बाहर बालकॉनी में नहीं आई और अन्दर बेड पर ही पसर गई. मेरा हाथ भी रवि के पेट से होता हुआ उनके पायजामे के अंदर उनकी चड्डी में चला गया. तो स्नेहा भाभी चौंकते हुए बोलीं- क्या मतलब?मैंने कहा- जब आपके जैसी इतनी सुंदर भाभी सामने हो, तो ध्यान तो आप पर ही जाएगा न.

बाबूजी ने भाभी के दोनों पैर उनके सिर की तरफ मोड़ रखे थे और जानवर की तरह लगातार धक्के मारे जा रहे थे. वैसे तो मुझे खुद की तारीफ बिल्कुल पसंद नहीं, पर यहां अपने बारे में मैं नहीं बताऊंगा … तो और कौन बताएगा. मैंने उसकी लोअर की इलास्टिक में हाथ डाल कर उसकी पैंटी के ऊपर से उसकी चूत को छूकर देखा तो उसकी चूत का स्पर्श पाते ही मैंने चूचियों का मोह छोड़ दिया.

इससे संजू को बड़ी अजीब गुदगुदी हो रही थी, वो आंखें मूंदे रोहित के बालों को सहला रही थी.

तुम्हारे जीजा जी ने इस बार मालदीव में हमारे सम्मेलन का बंदोबस्त किया है … वो भी एक हफ्ते के लिए. अमनप्रीत कहने लगा कि यदि श्यामली अगर उसकी बीवी होती तो वह उसको दिन रात चोद रहता.

उसने लिखा था- चल बहुत होशियारी हो गई, अब उतर जा ट्रक से … वरना तू कहां पहुंचेगी … पता नहीं, पर ट्रक वाले तेरे साथ जंगल में मंगल जरूर कर देंगे. उधर रोहित भी आंखें मूंदे अपनी अपनी औसत गति से चुदाई करने में लगा हुआ था. तब मैंने फिर दोहराया- तुमने उसके साथ सेक्स किया था या नहीं?इस बार उसने झुके हुए ही सर हाँ मे हिलाया.

चूत में खून और चूतरस के कारण बड़ी पिच पिच हो रही थी और हर धक्के पर फच फच की आवाज़ आती. मैं- तुम आम खाओ ना … गुठली के चक्कर में क्यों पड़ी हो?वो- नहीं ऐसे ही. तभी प्रिया ने मसाज आयल उसके और अपने मम्मों पर और सुनील की छाती पर उड़ेल दिया.

मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ हर महीने एक सीमित पैसा घर से आता और किसी तरह बस हम दोनों रह रही थी।धीरे धीरे हम दोनों की ही जरूरत बढ़ने लगी हम बाहर घूमने जाती, बाहर खाना खाती, फ़िल्म देखती. चाची ने फिर से कहा- मैं घर जा रही हूँ और जाते समय दरवाजा बंद कर दूंगी … तुम बाथरूम जाओ और तैयार हो जाओ.

टाटा सेक्सी पिक्चर

वो खुश हो गया और उसने मेरे होंठों को लम्बा चूमते हुए मुझे अपने गले से लगा लिया. कमरे में जल रहे नाइट लैम्प की रोशनी में जब रुकैय्या ने देखा कि मेरा लण्ड टनटना गया है तो उसने मेरे पायजामे का नाड़ा खोलकर पायजामा नीचे खिसका दिया और मेरे लण्ड को चूम लिया. उसने वो कार्ड घर पर दिखा कर बता दिया था कि उसको शहर से बाहर जाना है और वह उसी दिन वापस नहीं लौट सकता है.

तभी पहले वाले अंकल ने दोनों को रोका और खुद नीचे लेट गए और उनकी चूत में लंड डालकर उन्हें अपने ऊपर लेटा लिया और दूसरे वाले अंकल को पीछे से गांड में लंड डालने के लिए बोला. मैं ही नहीं किसी का भी मन कर जाए इसे चूसने का!और वो फिर से रोहन का लण्ड चूसने लगा।उन दोनों की बातें सुनकर और उन्हें देख देख कर मैं भी उत्तेजित हो रही थी और मेरी चूत भी भीग रही थी. श्रद्धा कपूरxxxकभी मेरे पेट पर उंगली से गुदगुदी कर रही थी तो कभी जांघ पर छेड़ रही थी.

सोच लो किस से पहले अपनी गांड मरवाओगी?नताशा ने हाथ डालते हुए कहा- ठीक है लेकिन वादा करो … धीमे धीमे ही गांड मारोगे.

अम्मी की ढीली ढाली चूत में मुझे मजा भी नहीं आ रहा था और गांड मारने का अनुभव भी होने जा रहा था इसलिए मैंने अपना लण्ड अम्मी की चूत से निकाला और अम्मी की अल्मारी से तेल की शीशी निकलने लाया. हालांकि वसुंधरा मेरे पहलू में बैठी थी लेकिन एक तरह से मेरे आलिंगन में थी.

कोमल जोरों से कामुक आवाज़ कर रही थी- ओहह उहह ओह या आहह उम्मह फक फक याह यस. ”ऐसी बात है तो किसी दिन ये भी ट्राई कर लेते हैं, व्हिस्की है कोई जहर थोड़े है. अंकल ने मम्मी को बांहों में पकड़ा तो मम्मी ने कहा- अब मत करो, बहुत दर्द हो रहा है.

रीना- और जोर से … और जोर से … आह आह … चोद साले चोद … हैप्पी न्यू ईयर … चोद!तभी रीना ने मेरे हाथ अपने बूब्स पे रखवा दिए और जोर जोर से मेरा लंड चूसने लगी.

ब्रा में बड़े पपीते के तरह उनकी चूचियां लग रही थी। मैंने आंटी की ब्रा ऊपर सरका कर उनकी चूचियां पूरी नंगी कर ली और नन्हें बालक की तरह निप्पल मुँह में लेकर चूसने लगा. माई को चोदते चोदते बाबू की नजर फिर मुझसे जा टकरायी, वो इशारे में एक दिखा रहे थे. मैंने उसे अपनी ओर खींच कर उसके होंठों पर अपने होंठ रख दिए और एक जोरदार चुम्बन लिया.

इंडियन गावरान सेक्सीरात को ड्रिंक्स का इंतजाम रिंकी के जिम्मे था और डिनर लगाना प्रिया के जिम्मे. इसके कुछ देर बाद वो दोनों चुदाई के लिए गर्म हो गए थे और बेडरूम में आने लगे थे.

सेक्सी मराठी पिक्चर दाखवा

एक दो झटकों में ही लंड ने रफ्तार पकड़ ली और मैं पूरे जोश के साथ धक्का लगा कर कोमल की चुत चुदाई करने लगा. अभी भी वो मेरी चूत के अन्दर उंगलियां नहीं ले जा रहे थे, अपितु दरारों को केवल सहला रहे थे. समय देखा तो पांच बजने को थे और ये समय अन्नू के स्कूल से लौटने का था। मैंने उठकर वापस से वही गाउन पहन लिया और दरवाज़ा खोलकर अपनी बेटी को अपनी बांहों में लेकर अंदर आयी।अन्नू के रूम में जाने के बाद मैंने सबके लिए चाय बनाई और फिर हम सबने खूब बातें की.

मैंने लन्ड पहली बार देखा था तो मैंने सोनल से पूछा- ये क्या है?तो वो बोली- इसे लन्ड कहते हैं, यहाँ से लड़के सुसु करते हैं. अब तक तो मैंने उन चारों के साथ बहुत चुदाई का आनन्द लिया था, लेकिन अब घर जाकर मेरे लिए थोड़ा मुश्किल होने वाला था. रमेश ने फौरन कैमरे से रिया की गांड की तस्वीर ले ली। उसने रिया को गांड फैलाने के लिए कहा.

चूंकि अब्बू रेलवे में क्लर्क थे, तो अनुकंपा के आधार पर उनकी जगह मेरी नौकरी लग गयी. मैं भी कभी उसके मोम्मे चूसता और कभी उसके होंठ … ऐसा करने से हम दोनों के मुँह एक दूसरे के थूक या लार से गीले हो गए. भाभी ने प्लेयर चालू कर दिया और मूवी चलने लगी।उस वीडियो में पति और पत्नी आपस में सेक्स कर रहे थे। वीडियो के बारे में मैं आपको क्या बताऊं? आपको पता ही है.

हालांकि मुझे कुछ डर भी लग रहा था कि अगर मेरे बदन पर एक भी दांत का निशान पड़ गया तो मैं अपने पति अमित को क्या बोलूंगी. मैंने उसके होंठों को सोनम के निप्पलों पर सटा दिया और वो उसकी चूचियों को पीने लगा.

मेरी प्रतिभा दास के साथ बनी इस ट्यूनिंग को बिस्तर पर कैसे परफॉर्म करना है, ये मैं सोच रहा था.

मेरे से अब बर्दाश्त नहीं हो रहा था,मैंने खड़े होकर उसका लंड निकाल के मुँह में ले लिया और पूरा लेकर चूसने लगी. बफ सेक्सी चुड़ै वीडियोमैं बोला- फिर लंड डाले हुए नीचे कैसे जाएंगे पगली!तभी सुधा बोली- मैं कुछ नहीं जानती … बस तुमको जैसे ले जाना हो, ले चलो … मगर चूत में से लंड नहीं निकालना. தமிழ் ஆக்டர் செஸ்मैंने पूछा- चाय लेंगे या कॉफी?वो बोले- दूध!मैंने पूछा- किसका?उन्होंने मेरे वक्षों को घूरते हुए कहा- जो भी आपके पास हो. यह कहते हुए उसने संजना की चूत के दाने पर अपना हाथ रख दिया और चुत के अन्दर उंगलियां डाल दीं.

मैं उस समय तो बहुत एन्जॉय करके यह सब करवा रही थी और बिल्कुल भूल चुकी थी कि इसके बाद मैं अपने पति को क्या बोलूँगी.

दोस्तो कैसे हो आप सब? कहानी के पिछले भागपड़ोसन भाभी से प्यार और फिर चुदाई-1में आपने पढ़ा कि मेरी पड़ोसन भाभी पर मेरा दिल आ गया था. मेरी मोबाइल पर बात समाप्त हुई तो मैंने एक लम्बा कश खींचकर सिगरेट का बाकी टुकड़ा फेंक दिया. शायद वो कुछ समय पहले आ चुकी थी और उसने बातें भी सुनी।उसने डरे हुए स्वर में कहा- मैम आपने बुलाया था, मेहंदी लगवाने के लिए?तब तक खुशी ने खुद को संयत किया और बिस्तर पर बैठी आँचल से कहा- दीदी, मैं मेंहदी आज लगवाऊं या कल लगवानी है?आँचल ने कुछ सोचते हुए कहा- मम्मी और बुआ को आने दो, फिर पूछ कर लगवाना.

अबकी बार मैंने उसे पूरी ताकत से अपनी बांहों में भर लिया और किस करने लगा. आधी रात को अब्बू के कमरे में क्यों गई है, यह जानने के मकसद से मैं दबे पांव नीचे उतरा. उसको देख कर तो किसी भी मर्द का दिल उस पर आ जाये और उसको चोदने के लिए तैयार हो जाये.

दीदी का सेक्सी

मैंने दोनों हाथ से उसे उठा कर अपनी छाती से लगाया और चलते चलते उसे चुम्बन से छेड़ने लगा. आपने मेरी पिछली सेक्सी स्टोरी में पढ़ा कि पहली बार की चुदाई के बाद लंड का टांका टूटने की वजह से काफी दर्द रहा था. मैंने भी बिना देर किए उसकी चिकनी गांड पर चपत मारकर कमर को पकड़कर लंड घुसा दिया.

”उसने प्रश्नवाचक निगाहों से मेरी ओर देखा।तुम थोड़ा सा झुक कर उस नल को पकड़ लो और अपने नितम्बों को मेरी ओर करके खड़ी हो जाओ.

अचानक दोनों ने मेरे दोनों स्तनों के निप्पलों को अपने अपने मुँह में लिया और कसके चूसने लगे.

अपने चरमोत्कर्ष के समय वो मेरे गले में हाथ डाल कर तथा पैरों को कमर के चारों तरफ से घेर कर झूल गयी. मयंक ने सोनम की चूचियों को थाम लिया और पूरी ताकत लगा कर उसकी चूत में धक्के लगाने लगा. सेक्सी मराठी व्हिडिओ दाखवामैंने चौंक के बेबी रानी की तरफ देखा तो पाया कि उसके मोबाइल फोन से आवाज़ आ रही थी.

इस बार मैंने कहानी को पूरी करने में अपने एक दोस्त अरुण की मदद ली है. इसके लिए तुम मुझे कहीं भी हाथ लगा सकते हो … लेकिन कपड़े के ऊपर से ही. इस बार दवा की असर जल्द ही खत्म हो गया था जिसकी वजह नताशा की नई चूत थी.

इसके बाद पहले बेबी रानी और फिर गुड्डी रानी को भी ऐसे ही चोदा जैसे मेम रानी को चोदा था ग्रुप चुदाई में. अपना लण्ड नीरा की चूत के अन्दर बाहर करते करते मैं उसकी चूचियां मसलने लगा.

हाँ बोलिये न अंकल?”क्या मैं और तुम अपनी जरूरतों को पूरा कर सकते हैं?”क्या मतलब?”मैंने उनका हाथ अपने हाथों में लिया और कहा- मैं तुम्हें पसंद करने लगा हूँ.

नजमा मेरा पूरा साथ दे रही थी ‘आह ओह … निचोड़ दो मेरे बूब्स को … आह … आ स स … आ. गुड्डी रानी का मुंह अब बिजली की तेज़ी से आगे पीछे करते हुए लौड़े को चूस रहा था. मैं- मुझे पता है कि तुम मेरे से संतुष्ट नहीं हो। मगर मैं तुम्हें दुखी नहीं देख सकता।बीवी- तुमसे तो होता नहीं है तो भला तुम क्या कर लोगे?मैं- मैं चाहता हूं कि जो काम मैं नही कर पा रहा हूं वो कोई और करे।बीवी- तुम्हारे लंड के साथ साथ लगता है तुम्हारे दिमाग की नसें भी मर गयी हैं, ये क्या अनाप शनाप बोले जा रहे हो तुम?मैं- नहीं, रुको, मैं तुम्हें कुछ दिखाना चाहता हूं.

सेक्सी हिंदी में गाने वाली वो तो आप जबरदस्ती कर रहे हो इसलिए मुझे अपनी टांगें खोलनी पड़ीं … नहीं तो मेरे पति में इतनी गर्मी है कि मैं ही उनको शांत नहीं कर पाती हूँ. वो काफी डरी हुई सी लग रही थी।फिर मैंने उसे डांस के लिए पूछा तो उसने हाथ आगे किया। आपको बता दूँ कि मैं एक अच्छा डांसर हूँ.

अब तक नताशा ने मेरे लंड को झेल लिया था और वो भी चुदासी मूड में हो गई थी. भाभी मेरे कमरे में चली गयी और मैं उनके बिस्तर में।मेरा दिल धड़क रहा था कि मैं ये क्या कर रही हूँ. यह देख मैं स्तब्ध रह गया और आंगन की तरफ बनी छत की रेलिंग के पास बैठ कर उस पर रखे फूल के गमले के बीच से खूबसूरत नज़ारा देखने लगा.

गधा घोड़ा की सेक्सी पिक्चर

जीजा से बात की तो जीजा भी ये सोच कर खुश हो गये कि उनको जैसे कोई बंद लिफाफा गिफ्ट मिलने वाला है. या तो मौसी जाकर मम्मी को ये सब बता देतीं, जो हमारे बीच हुआ था … या फिर वो दोबारा मुझसे चुदने की इच्छा जाहिर करें. वो बोली- कुछ नहीं होता, इस पर कौन सा आपका नाम लिखा हुआ है? आप चिंता मत करो.

गार्डन में बहुत लोग थे, पर वे सब बहुत दूरी पर थे और सब अपने अपने में मस्त थे. फिर मनु ने श्श्श्शश करते हुए हमें चुप रहने को कहा और परमीत से पूछा- तुमने पैड किससे मांगा??परमीत ने सीधा जवाब दिया- दीदी से.

मैंने भाई से कहा- भाई तू जो भी चाहता है, मैं करूंगा, मगर एक वादा कर कि ये बात किसी को बताना मत … वर्ना मेरा मजाक बन जाएगा क्योंकि पंजाब में गांड मरवाने वाले को हिजड़ा और बहुत कुछ कह कर लोग छेड़ते हैं.

अब रीना की चूत के होंठों को फैलाकर अपने लण्ड का सुपारा रखा और रीना की कमर पकड़कर अपना पूरा लण्ड उसकी गुफा में पेल दिया. एक दिन मुझे प्यार से सहलाते हुए माई से बोले- सीमा की माई, अपनी गुड़िया बड़ी हो गयी है, इसकी शादी के बारे में क्या सोची हो?वो बोली- हां कह तो सही रहे हैं. चुत को चाट चाट कर मैंने पूरी साफ कर दी … साथ में एक उंगली उसकी चूत में डाल कर हिलाने लगा.

मैं पूरा लंड बाहर निकाल कर ताकत से सुधा की चूत में अन्दर तक पेल देता था. जैसे ही मैंने उसकी चूत पर जीभ लगाई, वो तड़प उठी और गांड उठा उठा कर चूत चटवाने लगी. मेरे लिये यह कदम उठाना काफी मुश्किल था क्योंकि अपनी ही बीवी को किसी और चुदवाने में बहुत हिम्मत चाहिए होती है.

तो मोहित ने एक हाथ उसकी स्कर्ट में घुसा दिया और हाथ हिलाने लगा और मुँह से उसके चूचे चूसने लगा.

मां बेटे की बीएफ मां बेटे की बीएफ: मैं सिमरन, अन्तर्वासना लेखक ज्ञान ठाकुर जी की मदद से अपनी दबी हुई अतृप्त वासना की पूर्ति करने में कामयाब हुई. वो मुझ जैसे ज्यादा उम्र के एक विधुर को क्यों अपनाएगी?अम्मी ने कहा- बेटा बात वो नहीं है … तुम दोनों मेरी दो आंखों की तरह हो, तुम दोनों के अलावा इस दुनिया में मेरा और कौन है? बेटा आज से कुछ साल पहले तेरे अब्बू ने मेरी कोख में जो बीज डाला था.

ट्रक ड्राईवर ने कहा- हमें पता है कि तू धंधे वाली है … क्योंकि कोई आम लड़की ट्रक में लिफ्ट नहीं लेगी. चूत में खून और चूतरस के कारण बड़ी पिच पिच हो रही थी और हर धक्के पर फच फच की आवाज़ आती. और उन सभी पाठकों का भी बहुत धन्यवाद जो ईमेल पे मेरी कहानी के अच्छे या बुरे पक्ष को सामने लाते हैं और मैं उस हिसाब से कहानी को और सुधार कर लिखने की कोशिश करता हूँ।ये कहानी है प्रियंका, और उसकी मुस्कान और उसकी दोस्त सीमा की, जिन्होंने मेरे और मेरे दोस्त सतीश और मोनू के साथ एक सामूहिक चुदाई की।प्रियंका मेरी पुरानी दोस्त है और हम बहुत बार चुदाई कर चुके हैं.

वह भी हंसी और बाजू में पड़े हुए रुमाल को उठाकर मेरे लिंग के आसपास रख दिया और फिर से मसाज करने लगी। इस तरह उन्होंने बार-बार मसाज की.

मैं चुदवाने के लिए उतावली हो रही थी इसलिए जल्दी जल्दी चूसने लगी, तभी अचानक चाचा ने मेरे मुंह में ही पिचकारी छोड़ दी. अब पायल ने आंखें नचाते हुए कहा- हां तो समधी जी, कल संगीत पर आप किस गाने में परफार्म करेंगे. भाभी बोलीं- अरे वाह … तेरा आइटम तो तेरे भैया से भी बड़ा और तगड़ा लग रहा है.