कानपुर की सेक्सी बीएफ

छवि स्रोत,प्रियंका चोपड़ा का सेक्सी वीडियो बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

बीएफ बंगाल के: कानपुर की सेक्सी बीएफ, अंकल मेरी मम्मी को पीछे से देख रहे थे और मम्मी की गांड को देख कर अंकल अपनी लुंगी के ऊपर से लंड को मसल रहे थे.

बीएफ लगाइए

सेक्सी हॉट भाभी अपने मुँह में पूरा कामरस निगल गईं और मेरा लंड अपने मुँह से चाट कर साफ कर दिया. बीएफ वीडियो सोंग लिरिक्स2 केतो अर्शिया ने ही मम्मी को सजेस्ट किया कि मुझे आप अपना पेटीकोट दे दो, वो हल्का भी रहेगा और मुझे नींद भी आ जाएगी.

उसने अपने मम्मों पर ब्रा नहीं पहनी थी, जिसकी वजह से उसकी कुर्ती उतरते ही मुझे उसके बड़े बड़े चुचे दिखने लगे थे. बीएफ हिंदी में भाई बहन कीफिर मैम ने पूछा- तुझे कैसी लड़की चाहिए?तो मैंने बिना सोचे समझे कह दिया- आपके जैसी.

जेठ जी मुझे देखते ही बोले- प्रिया आज तक तुम्हें मैंने इस तरह नहीं देखा … तुम वाकयी बहुत ब्यूटीफुल लग रही हो.कानपुर की सेक्सी बीएफ: मौसी ने हाथ जोड़ कर कहा- नहीं बेटा मुझ पर दया करो, मैंने आज तक कभी गांड नहीं मरवाई है और मैं गांड नहीं मरवाऊंगी.

आगे के कमरे में उनके मां पापा सोते थे, उन तक हमारी आवाज नहीं जाती थी.वो जाने लगा तो मैंने उससे कहा- शाम को कब और कहां मिलोगे, अपना नंबर दे दो … जिससे सही पता चल जाएगा.

सेक्सी बीएफ वीडियो बढ़िया वाली - कानपुर की सेक्सी बीएफ

फिर उन्होंने मेरी जींस पैंट उतार दी, अब मैं पूरी तरह से उनके सामने नंगा था.अब सुशी जी अपने आपको कंट्रोल ही नहीं कर पा रही थी तो उन्होंने मुझे धक्का देते हुए बेड पर गिरा दिया.

उनके मम्मे काफी टाइट हो गए थे इसलिए अब दूध दबाने और चूसने में काफी मज़ा आ रहा था. कानपुर की सेक्सी बीएफ मैं समझ चुका था कि ये लंड की भूखी है और इसे एक जवान मोटे लंड की तलाश है.

नील की गांड जोर जोर से मेरे लंड पर लहकते हुए मेरे लंड को बार बार कस रही थी और ढीला कर रही थी.

कानपुर की सेक्सी बीएफ?

उसने वो काम कर दिया और क्लास खत्म होने के बाद हम दोनों ऊपर की तरफ आ गए. फिर मैं अपने कमरे में आकर सो गया और दस बजे रंगोली ने मुझे उठाया- भाई उठ … लेट हो गया. उनका लंड मेरे मुँह के अन्दर पूरा समा गया था, मेरी सांस ही नहीं आ रही थी.

फिर एकाएक मैंने उसकी चुत से जीभ निकाल ली और वो छटपटाने लगी- उन्ह भैया … और करो न … क्यों हट गए?ये कहती हुई वो मेरे सर को अपनी चुत पर दबाने की कोशिश करने लगी. लेकिन हमें मौका ही नहीं मिला और मेरी छुट्टी खत्म होने के नजदीक हो गई. उस शाम के लिए मैंने एक बेहद आकर्षक काले रंग की साड़ी पहने का सोचा था और उस पर उसी रंग का एक बेहद ही सुंदर बैकलेस और स्लीवलेस ब्लाउज पहना था.

करीब बीस मिनट तक मेरी गांड आशीष के लौड़े से बजी, जिसके बाद मैं चल भी नहीं पा रही थी. काफी देर अपना लंड चुसाने के बाद आशीष में मुझे अपनी बांहों में जकड़ कर अपने नीचे लिटा लिया और खुद मेरे ऊपर चढ़ गया. नमस्कार दोस्तो, उम्मीद करता हूँ कि सभी मर्दों के लंड खड़े होंगे और लड़कियां, भाभियां और आंटियां अपनी गीली चूत में उंगली डालकर इस रेल सेक्स कहानी का मजा लेंगी.

जैसे ही मुझे पता चला कि हमारे घर में शादी है तो मैं तुरंत अपने शहर एटा लौट आया. वो सोच रही थी कि उसकी मामी तीज में अपने मायके जाएंगी और उसकी मम्मी रेखा नहीं आएंगी, तो आराम से रात भर चुदवा लूंगी.

मेरे कहने पर मुमताज ने नीचे की ओर दबाव बनाया तो आधा लण्ड उसकी बुर में धँस गया.

फिर साली साहिबा ने मुझसे मेरा नंबर ले लिया और कहा- मेरे मतलब का कोई जॉब हो, तो मुझे बताइएगा.

मुझे एक तरफ चुम्मी का मजा आ रहा था और दूसरी तरफ उसके मोटे मूसल लंड का स्पर्श अपनी चुत पर बड़ा ही हॉट लग रहा था. मैंने मुमताज को लिटा दिया और उसके चूतड़ों के नीचे एक तकिया रखकर मुमताज की चुदाई विधिवत शुरू कर दी. वो मुझे ठीक से शांत नहीं कर पाते थे इसीलिए मेरा उनसे चुदने में मन नहीं लगता था.

पहले तो उसने मुझे रोका, लेकिन जब मैं नहीं रुका तो थोड़ी देर बाद उसने मुझे रोकना बंद कर दिया. मैंने पूछा- मां आज कहीं बाहर जा रही हो क्या?मां ने कहा- तू मूवी देखने चला जाएगा तो मैं घर पर अकेली क्या करूंगी … इसलिए मैं अपनी सहेलियों के साथ शॉपिंग को जा रही हूं. मैं एक छोटे से शहर में रहता हूँ … इसलिए मैं अपनी और अधिक जानकारी नहीं दे सकता हूँ.

खाना खाने के बाद मैंने एक बार पेमेंट करने के लिए कोशिश की … मगर उसने मना कर दिया.

फिर वो पलट गई और उसने इस बार मेरे लंड को अपनी गांड के छेद पर लगा दिया. मेरी पिछली कहानी थी:मामा की जवान बेटी की गांड फाड़ीमेरे चाचा चाची लखनऊ में रहते हैं. फिर 69 में होकर हम दोनों ने एक दूसरे के लंड चुत को खाली किया और रस चाट कर कुछ निढाल हो गए.

सरिता भाभी ने देखा कि विजय तो नहा रहा है, तो उसको विजय को नंगा देखने की लालसा जाग गई. बंगालन आंटी भी बड़े मज़े लेने लगती थीं, वो मुझे पूरा सपोर्ट कर रही थीं. वो कमर हिला कर लंड चुत में लेने की कोशिश करने लगीं और मैं उन्हें तड़पाने लगा.

लेकिन मैंने अपनी भावनाएं उसके सामने ज़ाहिर नहीं होने दीं क्योंकि जो कुछ भी हमारे बीच था … वो काफ़ी खूबसूरत था और मैं ऐसी दोस्ती को खराब नहीं करना चाहता था.

मुझे लगने लगा था कि इस डिब्बे से निकल कर किसी दूसरे डिब्बे में चले जाना चाहिए. मैंने एक आखिरी झटका मार कर उसकी चूत में अपने लंड को पूरा अन्दर तक घुसा दिया और उसके नर्म गुलाबी होंठों को प्यार से चूसने लगा.

कानपुर की सेक्सी बीएफ जेठ बहू की चुदाई कहानी में पढ़ें कि मैं सेक्स के लिए अपने जेठ से सेट हो गयी. BF GF सेक्स कहानी मेरी पहली चुदाई की है कि कैसे मैंने एक लड़के को पटाया, उसका लंड चूसा.

कानपुर की सेक्सी बीएफ मुझे उसकी जीभ की गर्मी से अपने लंड को सहलवाने में काफी मजा आ रहा था. सब लोग अन्तर्वासना पर सेक्स कहानियां पढ़ते रहें और अपना टाइम पास करते रहें.

मैंने गुलनिहाल मैडम की आंखों में देखा, तो वो बड़ी मस्त नजरों से मुझे देख रही थीं.

इंदौर के बीएफ

सेक्स में मुझे लंड मुँह में लेना और उसे चखना और चाटना सबसे ज्यादा पसंद है. कभी मेरे आंडों को सहलाती कभी चूसती और कभी लंड के सुपारे पर अपनी जीभ से लिकलिक करके मुझे सनसनी देने लगती. फिर एक स्माइल देकर मुझे आंख मारकर आगे बढ़ी और मुझसे हाथ मिला कर बोली- डन.

रोज रात को शिलाजीत खाकर दूध पीने की आदत इसी समय रंग दिखाती थी जब अपने से आधी उम्र की लड़की नीचे हो और लण्ड मलाई निकालने को राजी न हो. इस डर्टी सेक्स विद वर्जिन गर्ल स्टोरी के अगले भाग में आपको निशा की फुल चुदाई की कहानी का मजा लिखूंगा. मैं ये बहुत ही हल्की आवाज में बोला था लेकिन शायद उन्होंने सुन लिया था.

अब आगे गांड फाड़ सेक्स कहानी:मैंने भाई से कहा- छोड़ दो मुझे … मुझे बहुत तेज दर्द हो रहा है.

शायद मेरे इस प्रतिक्रियाहीन रवैये को उसने हां समझा और एक जोरदार रगड़ से उसने मेरे कंधे पर अपना पूरा लिंग दबाकर मुझे महसूस करा दिया. तब मैंने उसके दोनों पैर के बीच मैं अपना पर डाल दिया तो वो एकदम से मेरी तरफ देखने लगी. हम फोन पर इतना गंदा सेक्स कर चुके थे कि रानी उसकी कल्पना भी नहीं कर पाती थी.

जैसे ही वो मेरे आंख से उस कण को निकालने के लिए मेरे पास आईं तो मेरी कोहनी उनके मम्मों को छूने लगी. अंकल लंड को मां के मुँह से बाहर निकाला और देखने में ऐसा लग रहा था कि आज इस लंड से सच में मां की चुत फट ही जाएगी और जिस तरह से कुंवारी चुत सुहागरात में फट जाती है उसी तरह का खेल होने वाला है. फिर उसने पूछा- तुम किस किसको चोद चुके हो बिल्डिंग में!मैंने कहा- रेखा आंटी और बुआ को भी.

जवान मोसी की चुदाई कहानी के पहले भागचचेरी मौसी की गर्म प्यासी चूतअब तक आपने पढ़ लिया था कि मौसी की हरकतों से मैं समझ गया था कि आज मौसी मेरे लंड से चुदे बिना नहीं मानने वाली हैं. मैंने एक सिगरेट सुलगाई और मुंतजिर की भरी हुई मादक चुचियों का अहसास करने लगा.

कुछ ही दिनों में वो पकड़ा पकड़ी भी होने लगी, जिसके बहाने मैं उसके और करीब हो जाती. पर अरविन्द जी के समक्ष अपने को मासूम साबित करने की कोशिश में मैंने अपने नंगे जिस्म को ढक कर लज्जा का प्रदर्शन किया था. उनके घर से कुछ दूर के बाद दूर खड़ा होकर मैंने उनके पास फोन मिलाया और कहा- दरवाजा खुला रखना, मैं आ रहा हूं.

मैं एक हाथ से अपने मम्मों को ढके थी और एक हाथ से नीचे अपनी चूत को छुपाने की नाकाम कोशिश कर रही थी.

इसके बाद, मेरी बीवी और दोस्त दोनों बहुत बार मिले और उन दोनों ने मेरे ही घर में, मेरे ही बेड पर चुदायी भी की. लेकिन उस दिन दोस्त कहीं बाहर गया हुआ था … तो मुझे नहीं मिला और मैं वापस घर आने को निकला. दूसरे दिन में पेशाब कर रहा था, तो वो अपनी आदत के चलते मेरे नजदीक आ गई.

मैं जानबूझ कर पेपर्स निकालने में थोड़ा टाइम लगा रही थी ताकि उसे मेरे छेद से मजा मिल जाए. बीच बीच में साड़ी से ढकी मेरी सुरंगी नाभि में वो अपनी उंगली घुसा रहा था.

तभी हमारी सोच पर रोक लगाते हुए परेश की आवाज आई- आपको ऐतराज ना हो तो बगल के कंर्पाटमेंट में मेरी सीट है, आप वहां शिफ्ट हो सकते है क्या? हम फैमिली हैं … तो प्लीज़ हमें सहयोग कीजिएगा. अब मैंने उसके एक पैर को अपने कंधे पर रखा और लण्ड को पहले 3-4 मिनट तक चूत के ऊपर रगड़ता रहा. अब उन्होंने अपनी हथेली पर थूका और उसमें अपना अँगूठा भिगोकर हमारी गांड के छेद पर रगड़ने लगे.

wwww बीएफ

मैं दीदी के ऊपर आ गया और दीदी को हग करते हुए उनके गले को चूमने लगा.

मैंने पर्दे की ओट से देखा कि विराट भी सब कुछ भूल कर अपना 8 इंच का लंड वहीं हिलाने और मसलने लगा था. मेरे लौड़े की उम्र 35 साल हो गयी है और अब जैसे जैसे दिन बीत रहे हैं, लौड़ा और भी ज्यादा खूंखार होता जा रहा है. वो मुझसे बोले- क्या हुआ?मैंने कहा- आप थक गए हो, मैं आपकी मालिश कर देती हूँ.

जब मुझे चोदने के बाद तेरे जीजा जी सो गए, तब मैं विक्की के रूम में गयी. मैं ऊपर रूम में जाकर कंडोम लेकर आया और लंड पर कंडोम चढ़ा कर उसको वहीं चोदने लगा. न्यू बीएफ पिक्चरमेरे लंड की खासियत ये है कि जब ये किसी की चुत में जाता है तो उसकी पूरी तरह से संतुष्टि के बाद ही बाहर आता है.

उसके बावजूद अपनी परेशानी दूर रख कर वो मुझसे मेरे बारे में पूछ रहे थे. मजाक मजाक में ही उससे पूछ लिया- तुम तो दिल्ली में रहती हो, तुम्हारा तो ब्वायफ्रेंड होगा ही!इस पर उसने इठलाते हुए कहा- अभी तक तो नहीं था … लेकिन अब बन जाएगा.

फिर मैंने चुदाई की पोजीशन बनाई और अपने लंड के टोपे को उसकी चुत की फांकों में फंसा कर लंड रगड़ने लगा. ये उस वक्त की बात है जब गर्मी की छुट्टियों में दीदी के घर घूमने गया था. वो दोनों भी बहुत बड़े हरामी हैं, वो हमेशा मुझसे डबल मीनिंग बात करते थे और बस मेरे बदन को चोदने की नजर से घूरते थे.

उसका मनोरंजन करने के लिए मैंने उससे पूछा- ड्रिंक लोगी?चैट के दौरान मुझे मालूम था कि वो ड्रिंक करती है. मेरी जैसी हॉट और सेक्सी औरत के मुँह से लंड चुसवाने से उसका पानी तो निकलना ही था. इसी बीच हम दोनों बहुत आपस में खुलते गए और हमारे बीच हंसी मज़ाक भी होने लगा.

उधर डायरेक्टर ऑटो सैट कैमरा से मेरी बीवी की गांड चुदाई की रिकॉर्डिंग को देखने लगा.

पिछले भागपति की गैरमौजूदगी में मेरी अन्तर्वासनामें आपने पढ़ा था कि मैं राजीव सर के साथ व्हिस्की पी रही थी और अचानक से कुछ ऐसा होता चला गया कि राजीव सर ने मेरे होंठों को चूमना शुरू कर दिया. ’ की आवाज में तब्दील होती चली गई और चुदाई का मजा बढ़ता ही जा रहा था.

उनके घर से कुछ दूर के बाद दूर खड़ा होकर मैंने उनके पास फोन मिलाया और कहा- दरवाजा खुला रखना, मैं आ रहा हूं. उसकी रफ्तार अब भी कम नहीं हुई थी और अब वो जोर से रुक रुक कर मुझे चोदने लगा था. उससे आगे कैसे मैंने अपनी बीवी की चुदाई देखी:दूसरे दिन मेरी बीवी गैर मर्दों से ऐसे और ना चुदे, इसलिए मैं खुद जाकर गाड़ी ले आया था.

उसने अपने होंठ खोल लिए और मेरे लौड़े से गर्म गर्म पेशाब उसके मुँह में जाने लगी. फिर मैंने तरकीब लगाई और उसकी सास, जो कि लगभग 50-55 साल से ज्यादा की रही होगी, उनसे कहा कि वो मेरी सीट पर बैठ जाएं … मैं खड़ा हो जाता हूँ. अब मेरी आंखों के सामने उसकी चुत के ऊपर सिर्फ एक ही वस्त्र बचा था … वो थी पैंटी.

कानपुर की सेक्सी बीएफ पहली बार लड़की को पैंटी पहने देखा था इसलिए मुठ मारे बिना रहा नहीं गया. एक दो पल मुझे चूमने के बाद वो मेरे सारे कपड़े निकालने लगीं और अंत में मैं सिर्फ अंडरवियर में रह गया था.

हिंदी सेक्स वीडियो बीएफ सेक्स

और सुमन चिल्लाने लगी- ऊईई ईईई ऊई मम्मी बचाओ मर गई बचाओ!मैंने लंड को ढीला छोड़ दिया और उसकी चूचियों को मसलने लगा. तब मम्मी और भाई के जाते ही पापा ने मुझसे हॉल की बड़ी वाली लाइट बन्द करने को बोला. अगले ही पल मैंने उसको डॉगी स्टाइल में खड़ा किया और अपने लम्बे मोटे लंड को शीना भाभी की चूत पर रगड़ दिया.

आज मैं आपको अपनी ज़िन्दगी में हुए एक सच्चे अनुभव के बारे में बताना चाहता हूँ. दो ही मिनट बाद निशा ने एक बार फिर मुझे जोर से अपनी बांहों में जकड़ लिया और चूत से अपना रस गिरा दिया. आगरा वाली बीएफमेरे मना करने पर वो जाने लगी और जैसे ही वो मुड़ी … तो उसकी चुनरी उसके पैरों में फंस गई और वो घूम कर मेरे ऊपर गिर गयी.

फिर कॉलेज के लास्ट दिनों में जब श्रेया को अपने ब्वॉयफ्रेंड के बारे में पता लगा तो श्रेया दूसरे वाले लड़के से मिली और उसके साथ कार में बैठकर उसको बहुत समझाया कि आखिरी दिन है.

उसके मैसेज के मुताबिक़ उसके मम्मी पापा शाम को शॉपिंग पर बाहर निकल गए. मैंने कहा- क्या तुम मुझे प्यार करती हो!उसने जवाब में वो हरकत की, जिससे मैं समझ गया कि ये लड़की अपनी मां पर ही गई है.

तब मैंने चूत भेदन पर ध्यान केंद्रित करने का कोशिस करते हुए कोमल की जांघों को थोड़ा आगे किया, जिससे उसकी चुत खुल कर सामने आ गयी. अपनी जिन्दगी में पहली बार मैं किसी औरत को रियल में नंगी देख रहा था. जैसे जैसे हाथ आगे बढ़ाया, वैसे वैसे अर्शिया कीचुत की गर्मीका अहसास होने लगा था.

मैंने उसके होंठों को अपने होठों से चिपका लिया और उसे चोदने लगा।अब मेरे लौड़े ने रफ्तार बढ़ा दी। मैं गपागप गपागप चोदने लगा। अब गीला लंड चूत में आराम से जाने लगा था।जल्दी ही खुशबू की चूत ने मेरे लौड़े से दोस्ती कर ली थी।अब मैं तेजी से लंड को अंदर-बाहर करने लगा.

ऐसा लग रहा था कि जैसे मैंने उसकी चूचियों को मसला था, तो अब वह उसका बदला मेरे लौड़े से ले रही थी. चाची मेरे सामने घोड़ी बनकर अपने चूतड़ ऊपर उठाकर चूत को खोल कर बेड पर लेट गई. Xxx भाभी हिंदी कहानी के पहले भागदोस्त की फ्रेंड भाभी को पटाने की कोशिशअब तक आपने जाना था कि कल्पना भाभी मेरी बातों में आ तो गई थीं मगर वो अभी मुझसे बेबाकी से खुल नहीं रही थीं.

इंडिया सेक्सी बीएफ हिंदी मेंमैंने मेरा एक हाथ उस चादर में डाला और अर्शिया की चुत के पास ले गया. फिर मधु मामी ने मुझसे पूछा- योगी कैसे आना हुआ?मैंने उनसे कहा- मैं लता से मिलने आया था.

7:00 वाली बीएफ

”मुझे मेरी बांहों में कसके जकड़ कर राजीव अपना सारा वीर्य मेरी चूत में ही उतारने लगे. एकदम अचानक से मैंने ऐसे ही मैडम से पूछा- यार दीदी, ये तो मेरी समझ में ही नहीं आ रहा है. बकरी बनने से औरत की बुर टाइट हो जाती है और लण्ड बहुत फँसकर अन्दर बाहर होता है.

तू पहले मेरा पूरा लंड तेल में गीला कर दे और अपनी गांड भी तेल से चिकनी कर ले. फिर मैंने जानबूझकर बाहर आकर आवाज लगाई- आंटी!उन्होंने कहा कि हां … अन्दर आकर बैठ जाओ बेटा … मैं नहा रही हूँ, आती हूँ. सीलपैक गर्ल की चुदाई कहानी के पिछले भागकुंवारी लड़की के साथ 69 सेक्समें अब तक आपने पढ़ा था कि निशा मेरी कामना के अनुरूप ही गंदा सेक्स पसंद करने वाली जवान लौंडिया थी.

ऐसा 2-3 बार हुआ और हर रगड़ के बाद वो मेरी आंखों में सवाल भरी नजरों से देखता. निशा का अब तक रोम रोम खड़ा हो चुका था, जो उसकी तेज चलती हुई सांसों से पता चल रहा था. इस बार मैं उनकी चूचियों को घूर रहा था … उन्होंने भी मेरी नजरों को ताड़ लिया था मगर उनकी तरफ से कोई प्रतिक्रिया नहीं हुई तो मैंने भी उनकी चूचियों से नजरें नहीं हटाईं.

मैम तो बस किसी भी तरह लंड को अंडरवियर के ऊपर से ही अपने हाथ में भरना चाह रही थीं. मैं पूरे दिन काम का थका शाम को हाफ-डे लेकर ऑफिस से जल्दी आ गया था और आते ही बेड पर सो गया.

अशी गमन के पीछे पड़ी रही और गमन उससे पीछा छुड़ाने की कोशिश करने लगा था.

”मैंने नाज की चूत में धक्के मारने शुरू किये तो बोली- कुछ न करो, ऐसे ही रात पर मेरे जिस्म में पड़े रहो. इंडियन बीएफ सेक्सी बीएफदोपहर का शो था … तो दोस्त से बात करने लगा कि आज मूवी देखने जाना है. सेक्सी बीएफ भेजिए बीएफदूसरा दिन आया तो मैं बाथरूम में घुस गया और अपने लंड की झांटें आदि साफ़ करके शिवानी की बुर चुदाई के लिए रेडी हो गया. मैंने बोला- ठीक है, ये सब मैं श्रेया के घर वालों को बता दूंगा कि वो काम करने के साथ साथ तुम्हारे साथ चुदवाती है.

कुछ मिनट लंड चूसने के बाद मैंने रूबी आंटी को लिटा दिया और उनकी दोनों टांगें फैला दीं.

पांच मिनट तक यूँ ही उनके मुँह के अन्दर जीभ डालकर होंठों का रसपान करता रहा. अब मैं करूं तो क्या करूँ?तभी मैंने मौके का फायदा उठाते हुए एक पॉइंट छोड़ दिया और कह दिया- तुम यह मौका उसको दो जिसके पास इसकी ताकत हो!उसने कहा- मैं समझी नहीं?तो मैंने कहा- हर एक नई शादीशुदा औरत की ख्वाहिश होती है कि उसका पति बिस्तर पर अच्छा संघर्ष करे और पत्नी को चरमसुख प्रदान करे! लेकिन तुम्हारे साथ ऐसा नहीं हो रहा है. मैंने धीरे से उसकी टी-शर्ट को पेट से हल्का सा ऊपर किया, तो उसका चिकना और गोरा पेट मेरी आंखों के सामने था.

इनका लंड दुबारा से खड़ा भी हो पाएगा?ये कहकर अंजू मेरे लंड को अपने हाथ में लेकर देखने लगी. तभी उसकी चूत ने पानी छोड़ दिया और लंड फच्च फच्च फच्च फच्च का शोर करते हुए चुदाई करने लगा. पापा ने कहा- मुझे क्या प्रॉब्लम होगी और वैसे भी तू है ना वहां उसका ध्यान रखने के लिए … तो मुझे क्या टेंशन!ऐसा कहकर पापा ने मेरे पीठ पर हाथ ठोक दिया और कहा- कल तुम दोनों चले जाओ.

दोस्ती वाली बीएफ

अमित के द्वारा किस करने पर मैं पागलों की तरह बेड पर इधर-उधर सिर पटक रही थी. मेरा लंड पिछले 12 घंटों में 2 बार पानी निकाल चुका था तो अब भी वो आराम के मुद्रा में था. जैसे ही मैंने भाभी के मम्मों पर हाथ रख कर एक दूध दबाया, तो उनके मुँह से आह की आवाज निकल गई.

अभी कुछ ही महीने पहले उनकी शादी हो गयी और वो अपनी ससुराल चली गई थीं.

मैं क्या करती, मेरी गांड की हालत उस बकरी जैसी हो रही थी जिसके सामने शेर खड़ा हो और कोई कहे कि हिम्मत रखो, कुछ नहीं होगा.

फिर भी वहां पोल पर लगी लाईट से धीमी धीमी रोशनी आने के कारण हम दोनों एक दूसरे को देख पा रहे थे. निशा नशे में कमर हिलाते हुए बोली- साले गांडू, मुझे भी तो पिला न अपना मूत. सेक्सी मराठी बीएफ वीडियोदोस्तो, मैं उस देसी चूत चुदाई का मजा को शब्दों में बयान ही नहीं कर सकता.

दस मिनट तक उसकी चूचियों को चोदने के बाद मैंने उससे लंड पर बैठने को कहा और मैं लेट गया. मौसी ने पहले रूम में जाकर अपनी साड़ी बदल ली और लैगिंग्स और कुर्ता पहन लिया. लेकिन ये भी सच है यदि आप किसी को शिद्दत से चाहो … तो जर्रा जर्रा उसे आप से मिलाने की साजिश में लग जाता है.

डॉक्टर विवेक का रंग काला है और वो 6 फ़ीट का फिट बॉडी वाला तगड़ा आदमी है. मैं चौंकते हुए बोला- थोड़ा सा दर्द होगा … सहने की कोशिश करना, अगर ज्यादा लगे … तो बताना.

लेकिन भाभी को अब झड़ने के बाद दर्द हो रहा था तो उन्होंने कहा- जल्दी करो!तो मैंने अपनी स्पीड बढ़ा दी जोर से चोदने लगा.

मेरी विडो मौसी की चीख निकल गई- आआह्ह मर गईईई … राअम्मम्म रे … ऊफ़्फ़ बाहर कर लो बेटा … बहुत दर्द हो रहा है. वहां हॉस्पिटल के डॉक्टर की कार खड़ी थी और वो शायद उस हॉस्पिटल की निजी पार्किंग थी. उसकी झीनी सी नाइटी गीली हो गई और ब्रा के ऊपर से ही मैं उसके दूध चूसने लगा.

बीएफ मूवी चूत की चुदाई इसी ऊहापोह के बीच उसकी मासूम सी सूरत पर छाई निश्चल मुस्कान ने मेरे सारे बड़े बड़े सवालों के जवाब एक पल में दे दिए. फिर मैंने पूछा- आप क्या पढ़ाई करती हैं?उन्होंने बताया- हां, मैं एमए कर रही हूं.

और जब राजू की आहें बढ़ गईं तो उसने उसे छोड़ दिया वरना राजू तो उसके मुंह में ही खाली हो जाता।अब गौरी ने राजू का सिर नीचे सरका दिया. अपने बाएं हाथ में फोन लेकर उसने शायद मैसेज में कुछ लिखा और मोबाइल को तिरछा करके मेरी तरफ घुमाया. हम दोनों एक दूसरे को किस करने लगे और वो अपनी चुत का रस मेरे होंठों से चाटने लगीं.

बीएफ सेक्स वीडियो बीएफ सेक्स बीएफ

वो नीचे फ़ाइल उठाने झुकी तभी उसके गोल गोल सफेद मलाई जैसे दूध दिख पड़े. नाज की चूत शबाना के मुँह पर टिकाकर मैंने शबाना की चूत में अपना लण्ड पेल दिया. बात उस समय की है, जब मेरी पहली वाली गर्लफ्रेंड की मां गीता के साथ चुदाई का आलम मस्ती से चल रहा था.

उन्होंने धीरे-धीरे वैसलीन से सनी उंगली मेरी गांड की तरफ से छेद में फेरना शुरू कर दी. लेकिन मैंने फिर से मां से पूछा कि क्या हुआ … कुछ तो बात है मां … मुझे बताओ न!हालांकि मैं वो सब कुछ देख चुका था जो माँ ने क्या था.

मगर इस बार वो जल्दी ही शांत हो गई और मैं लंड को धीरे धीरे आगे पीछे करने लगा.

इसके करीब दो महीने बाद एक दिन नाज ने बताया कि उसकी नानी की तबियत काफी खराब है और वह उनकी तीमारदारी के लिए कुछ दिन के लिए ननिहाल जा रही है. मैं भी उन्हें उतना ही मानती थी और उन्हें हमेशा अपने काम से प्रभावित करने की कोशिश करती थी. मैं एक छोटे से शहर में रहता हूँ … इसलिए मैं अपनी और अधिक जानकारी नहीं दे सकता हूँ.

अश्मि ने मेरे हाथ में मेरा लंड देख लिया था और मैंने उसकी नंगी चूचियां देख ली थीं. मैंने कहा- अरे तो क्या हुआ … तू जा मैं भी निकलता हूँ अपन अगले हफ्ते बैठेंगे. वो भी लंड की प्यासी लग रही थी इसलिए कुछ देर बाद नीचे से अपनी गांड उठाकर चूत को लंड की ओर धकेलने लगी।अब ऐसा लग रहा था जैसे कि मेरा लंड उसकी चूत की चुदाई नहीं कर रहा है बल्कि उसकी चूत ही मेरे लंड को चोद रही है.

कुछ देर की पीड़ा के बाद सुमोना भी मेरे होंठों को चूस चूस कर मेरा साथ दे रही थी और अपने हाथों से मेरी कमर को कसके पकड़ कर लेटी थी.

कानपुर की सेक्सी बीएफ: मैंने पूछा- घास का ढेर किधर है?वो इस बार बहुत जोर से हंस दीं- मेरा एसी उधर लगा है. वो धीरे धीरे गांड चलाने लगी तो मैंने भी अपने लौड़े की रफ्तार बढ़ा दी और अन्दर-बाहर करने लगा.

मैंने भी जवाब देते हुए अपने हाथों को उसके पैंट में डाल दिया और उसकी सुडौल गांड के गोलों को दबाने लगा. मैंने अपने दोस्त वासु से पेनड्राइव में उसका पोर्न कलेक्शन लिया और रात को जब मॉम डैड औऱ मेरी बहन रंगोली सो गए, तो मैं अपना कमरा बंद करके लैपटॉप में वासु का कलेक्शन देखने लगा. विक्की बोला- आपका भी मन है!दीदी बोलीं- मेरा मन नहीं होता … तो तुम्हें अपना शरीर छूने देती.

एक तरफ से रश्मि के होंठ चुद रहे थे और दूसरी तरफ से उसकी फिल्म बन रही थी.

मैं उस महिला का असली नाम यहां पर नहीं लेना चाहता हूं … पर मैं नाम बदल देता हूं. मैं दोनों हाथों से उसकी गर्दन पकड़ कर उसे चूमे जा रही थी और अपनी पीठ और गांड पर उसके स्पर्श से उत्तेजित हो रही थी. उसकी चुत पर लंड रगड़ने और बोबे दबाने का कॉम्बो मुझे बहुत उत्तेजित कर रहा था.