बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी

छवि स्रोत,एचडी इंडियन बीएफ

तस्वीर का शीर्षक ,

सुहागरात का बीएफ दिखाइए: बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी, मैंने पूछा- आपके हज़्बेंड?उसने मुँह बनाते हुए बताया- वो मेरे साथ नहीं रहता है, उसने एक रखैल रखी हुई है, वो उसी के पास रहता है.

सेक्सी चूत सेक्सी बीएफ

अगली बार मैं केवल तुम्हारी गांड मारूंगा और अपने लंड का सारा जूस तुम्हारी गांड में निकाल दूँगा. बुर चोदने वाली बीएफ सेक्सीतभी उस की शादी हुई और एक महीने के बाद वो ऑफिस आई तो वो मुझे खुश नहीं लगी.

विनय को कविता के मम्मों को पकड़ने में और निप्पल पर गोल गोल घुमाने में बहुत मजा आया. पाकिस्तानी बीएफ हिंदीकरीब एक साल पहले हमारे हॉस्पिटल में डायग्नोस्टिक डिपार्टमेंट में एक नई आंटी की ज्वाइनिंग हुई थी.

जैसे ही मैंने उसको मस्त होते हुए पाया, तभी एक और जोरदार झटका देकर अपना पूरा लंड उसकी बुर में उतार दिया.बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी: बात लगभग 2 साल पुरानी है, अचानक मुझे बिजनेस के सिलसिले में हैदराबाद जाना पड़ गया, प्रोजेक्ट बड़ा था और एक्सपोज़र भी अच्छा था इसलिए मुझे उसी शाम निकलना पड़ा, वो भी स्लीपर बस से.

उसके इस अंदाज पे मेरी हंसी छूटी, मैंने कहा- साली मस्का मत मार, कपड़े उतार और अंदर आ जा.यही होता है जब इंसान कोई गुनाह करता है और टीना अपने बीएफ संजय के साथ मिलकर जो खेल सुमन के साथ खेल रही थी, वो सिर्फ़ गुनाह नहीं बहुत बड़ा गुनाह है.

बीएफ फिल्म दिखाइए तो - बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी

उसके मुँह से गाली सुनकर अजीब सा लगा लेकिन मुझे सेक्स के टाइम ऐसी गंदी बातें और गालियां, स्मोकिंग करना पसंद है.वो धीरे से जॉय के पास गई और लोवर के ऊपर से लंड को पकड़ कर उसका जायजा लिया.

मैंने कहा- तुमने एक ‘किस’ कहा था, अब तो तुम्हारा पानी भी निकल चुका है, मैं चलूँ?उसने न में गर्दन हिला दी, कहने लगी- वैसे तो मेरी चूत दुःख रही है परंतु आपका साथ मुझे अच्छा लगा. बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी तब तक वो टब में लेट गई थी और उसने अपने पैरों टब के वॉल पर रख दिए थे.

आंटी ने हंस कर कहा- अगर ऐसा था तो पहले क्यों नहीं बोला?मैंने देखा कि आंटी भी जोश में आ गई थीं.

बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी?

उसकी बुर खुली नहीं थी और उस पर बहुत से बाल थे, इसीलिए क्लियर दिखाई नहीं दे रहा था. दीदी आप बताओ ना प्लीज़!टीना- फ्लॉरा अभी सुमन रेडी नहीं है, जब इसका मन होगा. फिर थोड़ी देर बाद मैंने उनकी गांड मारने के लिए उन्हें पलटने लगा तो वो मना करने लगीं.

मैं बोला- तुम्हारे हाथ से पकड़वाना अच्छा लग रहा है प्लीज पकड़ कर आगे पीछे कर ना. यह बात उन दिनों की है, जब मैं 2013 में नया-नया ही हैदराबाद आया था, ना कोई दोस्त था, ना कोई गर्लफ्रेंड थी. फिर मैंने अपने लंड का सुपारा उसकी बुर की फाँकों में लगा कर फंसाया और जोर से दबाया.

तू दर्द की चिंता मत कर, जितनी बेरहमी से हो सके डाल अपना लौड़ा मेरी चूत में और चोद मुझे. मैं धीरे-धीरे उसके नंगे जिस्म पे चढ़ता गया और फाइनली उसके होंठों पर मैंने अपने होंठ रखे. तो मुझे समझ आया कि मैंने अनामिका को नहीं पटाया बल्कि अनामिका ने अपनी कामुकता की संतुष्टि के लिए मुझे साधन बनाया है.

कुछ देर मम्मे मसलने के बाद वो झट से सीधा चुत के पास पहुँच जाते थे और तेल से सनी उंगलियाँ आराम से चुत में घुस जाती थी. फिर जब सब उठ कर चले गए तो उसने मुझे जबरदस्ती उठा कर कहा- आप मेरे भाई हैं, आपको मेरे साथ ऐसा करने में शर्म नहीं आती क्या?उसने मुझे बहुत गाली दीं.

डेढ़ बज गया था, बच्चा स्कूल से आने वाला था, हमने कपड़े पहने और मैं अपने ऑफिस चला गया.

तू ये बता अगर केला खाने की वजह चूसा जाए तो कैसा लगेगा?सुमन- हा हा हा पापा, आप भी ना कुछ भी.

ऑल मोस्ट सारे टीचर्स जा चुके थे और डिपार्टमेंट बिल्कुल वीराना सा था. निकाल इसे प्लीज!मगर मैं ना मानी, मैंने उस वाइब्रेटर को थोड़ा बाहर निकला और फिर पूरी ताकत लगा कर फिर से उसकी चुत में घुसा दिया. एक लड़का मुझे बेरहमी से मसलते हुये बोला- साली रंडी, सच में तेरे अंदर बहुत गर्मी है.

तूने आज जैसे मुझे गर्म करके रंडी बनाया है वैसे आज तक मैंने कभी नहीं किया था. अब तक की इस सेक्स स्टोरी में आपने पढ़ा था कि फ्लॉरा टीना और सुमन आपस में ग्रुप सेक्स को लेकर बातें कर रहे थे. सविता भाभी ने छुप कर देखा तो उन्हें अन्दर बड़ा ही कामुक सीन दिखा, जिसमें वरुण शोभा के सामने बैठा था और शोभा अपनी चूचियों से खेल रही थी.

यश ने मेरी मॉम से कहा- इसकी बुर तो बहुत कसी है, लंड अंदर घुस ही नहीं रहा.

तभी मैंने हल्का सा ढका मारा तो थोड़ा सा लंड अन्दर जाते ही ममता रानी तो उछल पड़ी- आह. मैंने अब उसे धीरे-धीरे अपनी बांहों में उठाना स्टार्ट किया और अपने लंड की तरफ उससे खींचा. उफ्फ… अब मान भी जाइए ना प्लीज!” बोलते हुए बहूरानी मुझे दूर हटाने लगी लेकिन मैंनेएक हाथ उसकी पैंटी में डाल दियाऔर चिकनी चूत मुट्ठी में भर के उससे खेलने लगा.

फिर उसने बोला कि वो सुबह ज्यादा बिजी हो जाती है अगर वो शाम को आ जाए तो?हमें भला क्या ऐतराज़ हो सकता था, हमें तो काम से मतलब था, वो सुबह करे या शाम को. मैंने बाथरूम से संगीता के सूट चूड़ीदार पजामी पेंटी ब्रा उठाई और वॉशिंग मशीन में सूखने को रख दिए. फ्लॉरा की नज़रें झुकी हुई थीं और वो अपने हाथों से अपने मम्मों को छुपा रही थी.

हाय… साले के डोले उसे उठाने पर काफ़ी फूल गये थे और लग रहा था कि अब उसकी शर्ट फट जायेगी और मज़बूत भुजायें आज़ाद हो जाएँगी.

मुझसे रहा नहीं गया और मैंने बगल में खड़ी रिया को अपनी तरफ खींच कर अपने होंठ उसके होटों पे जमा दिए. तो मनोज बोला- अच्छा जी, सोच लो!मैंने कहा- सोचने की क्या बात है, मैं कह रहा हूँ न, चाहो तो सोनिया से पूछ लो यार.

बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी जैसा कि मैंने पहले बताया है कि जब जॉन गया तो फ्लॉरा बहुत रोई थी और कुछ दिन उदास भी रही. मुझे लगा कि मैं चाची के मुँह में ही ना निकल जाऊं इसलिए मैंने लंड मुँह से निकाला और चाची की क़मर के नीचे तकिया लगाकर उनकी चूत के मुँह पे लंड सैट किया.

बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी मैंने धीरे-धीरे उसके होंठों से नीचे आकर उसकी गर्दन को किस किया और उससे पूछा- मैं नीचे जाऊं?अनुराधा- हाँ. वो लोग किसी शानदार रूसी लड़की यानि पोर्न एक्ट्रेस की खोज में थे, जो एनल सेक्स में एक्सपर्ट होने के साथ-साथ गजब की सुन्दर भी हो!जिस दोस्त ने मेरा रुस्लान से परिचय कराया था, वो थोड़ी देर बाद हम लोगों से क्षमा मांगते हुए विदा हो गया और रुस्लान संग हम दोनों बियर की चुस्कियां लगाते रहे.

कुछ हो क्षणों के बाद मेरी योनि में से भी तरुण के लिए कुछ बूँदें योनि-रस की निकल पड़ी और उसके मुख तथा होंठों से लिपट गयींतब तरुण अपने होंठों पर लगे योनि-रसं पर जीभ फेरता हुआ उठा और मुझे सीधा लिटा कर मेरी टांगें को चौड़ी कर के उनके बीच में बैठ गया.

एक्स एचडी मूवी

मैंने मुस्कराते हुए कहा- जम कर खेला और अब आगे का आपका प्लान क्या है?उसने कहा- दरअसल डॉली ने आपकी वीडियो भेजी थी और उसे देखने के बाद मैं आपको चोदना चाहता था. फिलहाल इतना ही दोस्तों, मेरी चुदाई की कहानी अभी खत्म नहीं हुई है अभी तो शुरू हुई है. ये लो अपनी बहूरानी की गांड!” अदिति बोली और अपनी गांड को मेरे लंड से लड़ाने लगी.

जिससे मेरे पैर में मोच आ गई और थोड़ा हाथ भी छिल भी गया, तो ब्लड भी निकलने लगा था. फिर मैंने उसके पूरे जिस्म को धीरे-धीरे चाटना और चूमना शुरू कर दिया. नेहा बोली- क्यों साली, मेरी तो जब फटेगी तब फटेगी, तेरी अभी हमें देख कर ही फट गई, अब तू हम दोनों से जल रही है.

उसके बाद मैंने एक जोरदार धक्का मारा तो मेरा लंड उसकी चुत में पूरा घुस गया.

फ्लॉरा ने जल्दी से कपड़े बदल लिए और सुमन को किस करके आज की मस्त चुदाई के लिए थैंक्स कहा और फिर वहां से सीधी घर चली गई. मैंने उसे बड़े प्यार से अपनी बांहों में उठाया और अपनी गोद में इस तरह बैठाया कि उसकी नाज़ुक गांड मेरे पैरों पर आ जाए. कुछ देर तक मैं नेहा की चूत में उंगली की तो नेहा तड़प उठी… वो जोर जोर से मजे से सिसकियाँ लेने लगी और मेरे होंठों को भी चूसने लगी.

पप्पू… मैं तो यही चाहुँगी कि मेरी बेटियों को भी इस लंड से अच्छी चुदाई मिले. दीदी ने बोला- अगर तुझे चुदाई करनी है तो में मेरी एक फ्रेंड से बात करती हूँ, वो तुझसे चुदवा लेगी. जब तेरे से फर्स्ट टाइम सेक्स किया था तब मुझे सिर्फ तेरी चुत ही चाहिए थी, लेकिन जब तेरे बारे में तेरी फ्रेंड से पता लगा कि तूने ये सब फर्स्ट टाइम मेरे साथ किया है और हमेशा मेरे साथ ही करना चाहती है… तो मैं भी बदल गया.

और तेज पापा और तेज… अंगुलियां और भीतर तक घुसा दो चूत में पापा!” बहूरानी मिसमिसा कर बोली. मैं और अंकित हम दोनों एक अच्छे दोस्त बन गए, दोनों एक दूसरे से काफी बातें करने लगे और हम एक दूसरे के करीब आ गए, अंकित मुझसे अपनी सारी बातें बताता था, मैं भी अंकित से अपनी सारी बातें बताती थी.

तभी राजू का झड़ने वाला था उसने निकाल लिया और तभी विकी को निकलना पड़ा लेकिन जल्दी से सुमित नीचे लेट गया और अपना लंड राजू की जगह डालते हुए चोदने लगा. अब होंठों से आगे बढ़ते हुए उसने अपनी जीभ मेरे मुँह में घुसा दी और हर तरफ घुमाने लगा. एक रात मैं अपने पीछे वाली बालकनी में जाकर अपना लंड बाहर निकाल कर सहला रहा था, तभी आंटी अपनी बालकनी में आ गयी.

फ्लॉरा- यार वो जब होगा तब की तब देखेंगे, अभी जो चुत में आग लगी है उसका हम क्या करें?टीना- करना क्या है कपड़े निकालो और शुरू हो जाओ एक-दूसरे की चुत को चाटो.

कुछ तेज धक्कों के बाद विनय ने अपना सारा माल कविता के पेट पर निकाल दिया. नहीं पापा ये नहीं हो सकता, मुझे शर्म आ रही है आप कैसी बात कर रहे हो. जैसे ही लंड अंदर जाने लगा रूबी ने मजे और थोड़े दर्द से अपनी आँखें बंद करनी शुरू कर दी.

एक दो बार ऐसा करके मैंने नोटिस किया कि भाई अब मेरे में ज्यादा इंटरेस्ट ले रहा है, वो हमेशा मेरे मम्मों को और मेरी बॉडी को घूरने लगा था. अब वह मुझे बार-बार बुलाती है और बोलती है कि जब तक तुमसे नहीं चुद लेती हूँ.

जब मैं उसे लेने जाती थी तब अकसर तरुण के गीले जांघिये में उसका तना हुआ लिंग मुझे दिख जाता था जिससे मेरे शरीर में एक तरह की झुरझुरी हो उठती थी. अब मैं हर ऐसे वक़्त और मौके की तलाश में होता था कि कैसे इससे अकेला पाऊं और काम शुरू करूँ. मैंने दोनों टांगों को चौड़ा भी कर दिया और जैसे ही अपना सर उसकी चूत के पास ले गया तो उसने फिर उसने टांगों को भींच लिया.

हिंदी ट्रिपल एक्स सेक्सी व्हिडीओ

राहुल श्रीवास्तवआप मेरी सभी कहानियाँ इस कहानी के शीर्षक के नीचे लिखे मेरे नाम पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं.

खेतों में वरुण को एक पेड़ की छाया में सुला कर मैंने एक घंटा तरुण की सहायता करी और उसके बाद हम दोनों ने खाना खाया. कुछ नए दोस्त भी मिले हैं तो मैं अन्तर्वासना साईट को धन्यवाद देना चाहूँगा कि उसने मेरी कहानी पब्लिश करके कुछ नए दोस्त मिलाए. रात में घर जाकर हमने खाना खाया और फिर थोड़ी देर के बाद अपने-अपने कमरे में चले गए.

अनुराधा- चला जाएगा भैया… मेरी चूत ऑलरेडी बहुत गीली है… बस तुम डालो…मैंने अपने लंड को अपनी बहन की चूत में डालना शुरू किया आर एक हाथ से उसके कमर पकड़ कर उसे धीरे-धीरे अपने लंड पर बैठाने लगा. अपने होंठ उसके होंठ पर रख कर एक किस किया तो उसने इतनी गहरी साँस ली कि मैं उसके होंठ को चूसता ही रहा. सेक्सी बीएफ चूत चोदने वालीरात को खाना खाने के बाद सारे बच्चे सोने के लिए छत पर चले गए और मैं टीवी देखने लगा.

भाभी पूरी लगन से मेरा लंड चूस रही थी तो जल्दी ही मैंने अपना वीर्य उनके मुँह में छोड़ दिया. ऐसे शरमाओगी तो कैसे चलेगा? यदि जुगाड़ करना हो तो कह देना, बहुत से लौंडों से पहचान है.

अनामिका जी ने अपने आपको ऐसे उसके हवाले कर दिया था कि जैसे उनके शरीर में जान ही ना हो. मैं- तो आप कैसे मेरी सारी विश पूरी कर सकती हैं?चाची- सबसे पहले तो तू मुझे चाची नहीं बल्कि मेरा नाम लेकर बोला कर. करीब 5 मिनट की चुदाई के बाद जब मैं झड़ गई तो जय ने अपना लंड मेरी चुत से बाहर निकाल लिया.

मेरे अंदर मादक से अंगड़ाई जन्म लेने लगी, सोच रही थी कि इतना विशालकाय लंड मेरी छोटी सीकुंवारी बुरमें कैसे जायेगा. टीना और फ्लॉरा अब 69 के पोज़ में आ गईं और दोनों एक-दूसरे की चुत को कुरेदने लगीं. मैं अपने रूम में जाने के लिए रूम से बाहर आ गया, मामी ने अपने रूम का डोर बंद कर लिया, लेकिन विंडो बंद नहीं की.

वो गौर से लंड को देखने लगी और इतना बड़ा लंड देख कर बिना चुदे ही उसकी गांड फट गई.

हफ्ते के 2 दिन भाभी के पति भाभी के साथ सेक्स करते, बाकी दिन मैं भाभी की चुत चुदाई करता. कुछ देर के लिए मैं इन्हीं विचारों से जूझ रही तभी मेरे मस्तिष्क में एक मुहावरा स्मरण हुआ कि ‘झाड़ी में बैठे दो पक्षियों से बेहतर तो हाथ में पकड़ा हुआ एक पक्षी ही होता है.

मैंने दूसरे हाथ से उसकी मक्खन गांड के छेद को सहलाना और उंगली करना स्टार्ट कर दिया. फिर मैंने उसकी बुर को चूसना चालू कर दिया और कई मिनट तक बुर चुसाई की, वो इतनी मस्त बुर चुसाई से 2 बार झड़ चुकी थी. मॉम तो पूरी मस्ती में आ चुकी थीं और चुदाई का मज़ा ले रही थीं, मॉम बोलीं- दीनू ज़रा जोर-जोर से गांड उठा-उठा कर चोदो मुझे.

मैंने कुछ देर तक मामा जी के लंड को ऊपर से नीचे की ओर ही तान कर रखा और दूसरे हाथ से लंड की लंबाई और मोटाई नापने लगी. अपने मुलायम मम्मों पे पप्पू के खुरदुरे पैरों से होता खिलवाड़ उसे अच्छा लगा और वो बोली- हाँ साले… डालती हूँ! पहले झाँटों से तो स्वाद खतम करने दे. मेरे पति फौज में हैं इसलिए मैं सेक्स की कमी से परेशान रहती हूँ।मेरे बदन का आकार 36-34-38 है, घर में मेरी बेटी 18 साल की, ननद 26 साल की और सास 59 साल की है।मेरी सास के साथ मेरे लेस्बियन सेक्स की कहानीआप पढ़ चुके हैं लेकिन यह घटना जो मैं आज बता रही हूँ, उससे भी पहले की है.

बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी मेरा लंड सख्त होने लगा और मैं कुछ पल भाभी की चूत चुदाई होते देखता रहा. घर में ही छोटा सा बियर बार जैसा प्लॅटफॉर्म था उसमें काफ़ी अलग-अलग किस्म की शराब की बोतलें लगी हुई थीं.

રાજસ્થાન સેક્સ

मुंबई शहर की हूँ तो थोड़ी मॉडर्न भी हूँ पर सेक्स जैसे मामले में थोड़ा पुराने विचारों की हूँ, शायद मेरी पारिवारिक सोच का परिणाम हो. मैंने उसकी चूत को उंगली से सहलाया तो उसकी मादक सिसकारियां निकलने लगीं. अब बस मेरी इच्छा रत्नेश राजपूत के लण्ड की थी।क्या मेरी यह इच्छा पूरी हो पायी.

जाँघों को सहलाता हुआ मैंने अपने धीरे-धीरे अपने होंठ उसकी बुर के ऊपर रख दिए और उसकी चिकनी चमेली और गोरी बुर पर चुम्मा कर लिया. अब तक टीना थक गई थी और संजय भी बहुत थक गया था क्योंकि उसने रात को पूजा की चुदाई और इस वक्त उसने टीना की मस्त चुदाई कर दी थी. हिंदी ट्रिपल एक्स बीएफवह अंजान था मेरे लिये और आगे कुछ भी हो सकता था लेकिन मुझे इस बात का ध्यान ही नहीं रहा.

उस पर उसने बड़ी बेरुखी से कहा- हुन्न देखते हैं, तुम घर पहुँचो… हम वहां बात करते हैं.

पप्पू के पेशाब से रूपा का मुँह भर गया तो फिर उसकी पेशाब मुँह से हो कर मम्मों को गीला करते हुए और फिर नीचे चूत को गीली करके ज़मीन पे गिरने लगा. मेरा नाम विक्की है और मुझे हिंदी में हॉट सेक्स कहानियां और चुटकुले पढ़ना पसंद हैं.

फिर मैंने उसको एक छोटी सी हॉट सेक्स मूवी दिखाई, जिसमें नई चुत की सील टूटने के बाद चुत को मिलने वाले मजे का नजारा था. मॉर्निंग में मैं जब उठी तो गांड का शेप ही बदल गया था… वो और मैं न्यूड ही सो रहे थे. जैसे ही मैं उसकी चूत को मेरी जुबान से लिक करने ही वाला था, उसने मुझे फिर रोक दिया- क्या कर रहे हो?मैं- दुनिया की सबसे सुंदर चूत को चूसने जा रहा हूँ… यही चाहती है ना तू? तो पैरों को फैला ले और मजा ले…अनुराधा- नहीं… ये नहीं… मैं इन बालों को हटाना चाहती हूँ.

उसके बाद तो हमेंचुदाई की लतही लग गयी, बस जब देखो चुदाई!आज मैं और वो मेरी क्लासमेट साथ नहीं हैं लेकिन मैंने उसके सिवा किसी लड़की को नहीं चोदा.

शानू भी छह बजे चले जाता था, उसे शाम को अपनी गर्लफ्रेंड के साथ घूमना होता था. चूत का मुँह ज़रा सा खुला और पप्पू के लौड़े की टोपी आधी अन्दर घुस गई. मैंने साली को अपनी आगोश में लिया और हम साथ में लेट कर बातें करने लगे.

व्हाट्सएप बीएफहम काफ़ी देर तक एक-दूसरे के साथ टब में लेटे रहे और पानी हमारे जिस्म से बह रहा था. वो कभी क्रीम निकालती, कभी कुछ… मैं तो उसके मम्मों की तरफ ही देख रहा था.

ब्लू फिल्म सीन

मैंने बात बदलते हुए कहा- तुम्हारा कमरा यही है क्या?वो बोला- ये तो बैठक वाला कमरा है. मेरी बात सुन कर वह थोड़ा ठिठका और मेरे पास बैठ कर पूछा- तुम यह कैसी बातें कर रही हो? तुम कौन हो और कहाँ रहती हो मुझे बताओ, मैं तुम्हें वहां छोड़ आऊंगा. जब मैं उसके घर जाती थी और उसकी मम्मी मुझे बहुत मानती थी और मुझे हमेशा कुछ न कुछ खाने के लिए देती थी.

मेरा मन अब फिल्म में नहीं था, पता नहीं मैं क्यों कमज़ोर पड़ने लगी… मैंने एक दो बार कोशिश की, फिर भी आशीष ने हाथ नहीं छोड़ा. मैं घबरा गया कि अखिर ये अचानक कहाँ जा रहा है, रावण तो जलना अभी बाकी है. रिया ने एक नयी बोतल थामी और वो मेरे बगल में आ खड़ी हुई, बोतल को ऊँचा करके उसने पुछा- बोलो तुम्हें शराब चाहिए, या ये लड़की चाहिये?सबने जोर से बोला- लड़की के बदन पर शराब चाहिये!रिया ने बेहद धीमे शराब को मेरे बदन से बहाना शुरू किया.

मैं- फ़िर कहाँ जाएंगे?पिंकी- किसी पार्क में ले जाकर उसे गरम करो और रात को ठोक देना. मगर कमसे काम थोड़ा पानी तो पिला दे!इतना कहते ही लड़के होश में आये, कोल्ड ड्रिंक, वोदका का दौर फिर से चला, सिगरेटें सुलगी और हमें सोफे पे बिठा के वो सब हमारे अगल बगल में बैठ गए. उनके पूरे शरीर पर किस करता जा रहा था और भाभी की कामुक सिसकारियां धीरे-धीरे बढ़ती जा रही थीं ‘उम्म्ह… अहह… हय… याह…’मैं भाभी की पैंटी के ऊपर से ही चूत पे किस करने लगा तो भाभी आहें भरने लगीं और मेरा सर पकड़ कर कसके अपनी चूत में दबाने लगीं.

जिसको भी शराब पीनी होती, लड़के हमें उसकी गोद में खींचते और हमारे हाथ से शराब पीते. मैंने तुरंत कहा- ठीक है दीदी मैं किसी से कुछ नहीं बताऊंगा आई प्रोमिस.

एक जोरदार झटका पूरे जोर से मारकर अपना पूरा लंड उसकी चुत में घुसेड़ दिया.

रीना उठी और कविता के ऊपर ही लेट गयी और उसके होंठों से अपने होंठ मिला दिए. व्हिडीओ सेक्सी बीएफ व्हिडीओवो फिर बोला- अरे शादी से याद आया, तुझे अपनी गर्लफ्रेंड की फोटो दिखाता हूं. हिंदी में सेक्सी बीएफ भेजोयह देख कर मैं तो पागल हो गया और मैं उनकी चूचियों को हथेली से दबाने लगा. मैं घबरा गया, दीदी ने कहा- मैंने तुझे कल रात को ही बोला था कि हम चुदाई नहीं कर सकते, क्योंकि हम दोनों भाई बहन हैं.

जब बेटा दूध पीते पीते सो गया तब मैंने उसे बिस्तर पर सुला कर कमरे की उस अलमारी को खोल कर देखा तो उसमें भी मर्दाना कपड़े ही पड़े हुए थे.

वो जोर से चीखी और मुझे गंदी-गंदी गालियाँ देने लगी, रोते हुए कहने लगी- साले मादरचोद… भेनचोद निकाल अपना लंड. हाथ फेरते फेरते मेरे हाथ उस के पेट पर घूमने लगे, संगीता को अब और मजा आने लगा था और अब मुझे भी कुछ कुछ होने लगा था और ना जाने कब कब में मेरे हाथ संगीता के कूल्हों को सहलाने लगे, पता ही नहीं चला. वो बोली- सिर्फ प्रोग्रामिंग ही करते हो या निकलना लगाना भी आता है? आई मीन टू से हार्डवेयर.

तो दोस्तो, यह थी मेरी एक चाय वाले से हिन्दी चुदाई कहानी रेलवे लाइन के किनारे… इसके बाद एक मस्त हिंदी चुदाई स्टोरी अगली बार लिखूंगी तब तक लंड हिलाते रहिए. वो जोश में आता गया और वो नीचे से अपने लंड को तेज़-तेज़ ऐसे पेलने लगा, जैसे मेरी चुत में हंटर मार रहा हो. फक फक मी हार्ड… बच्चा!” वो आँखें बंद करके मुझ से चुद रही थी और धक्कम पेल जारी थी.

പൂറ്റിലേക്ക്

कुछ ही पलों बाद शायद चुत को काफ़ी तेज रगड़ने से मौसी का बदन ऊपर की ओर उठा, फिर धम से खाट पर उनकी कमर गिरी और वो शांत हो गईं. और मेरी साड़ी क्यों निकाल रहा है?मैंने कहा- मैं आपके साथ नहाना चाहता हूँ. मैंने उसे उठाया और उसे जैसे ही पकड़ा, तो उस पर चिपचिपा सा सफेद रंग का पानी लगा हुआ था.

इससे क्या होगा?दोस्तो याद होगा आपको साधु ने उपाय बताया था वो यही था.

फिर अचानक ही उन्होंने मुझे अलग किया और बाथरूम गए, उसके और उसके बाद चिंटू भी.

और अगर तू किसी को आज के बारे में बताएगी तो मैं कह दूंगा कि तूने ही मुझे बुलाया था।यह सुनकर वह बोली- तू वाकई में बहुत कमीना है।मैंने कहा- तू मुझे कमीनापन दिखाने पर मजबूर कर रही है. मैं बहुत पागल हो गई और बोली- अब लंड घुसा दो यार!तो फ़ारुख ने मेरी गांड के नीचे दो तकिये लगाए, इससे मेरी चुत बहुत ऊपर उठ गई थी, मैंने अपनी दोनों टांगें फैला दीं और फ़ारुख से बोली- आज मुझे रांड बनाकर चोदो. सेक्सी बीएफ मूवी भोजपुरीअब थोड़ी देर में ही मैं, पायल और भाभी तीनो नंगे होकर एक-दूसरे को चूस रहे थे.

अब तालाब में कूद पड़ी थी तो तैरना भी लाजमी था ना?खैर, एक दूसरे के परिचय के बाद, गले मिलने के बाद वो लोग अपनी गाड़ी से चल पड़े और हम उनको फॉलो करने लगी. और अपनी बांह छुड़वाने की कोशिश की।तो मामा ने पूछा- कब से अंदर थी?मैंने कहा- कब की।वो बोले- तो तूने कुछ देखा?मैं बोल नहीं पाई, मगर सर हिला कर हाँ कर दी।मामा मुझे अपने कमरे में ले गए, मुझे अपने सामने खड़ा कर लिया, बोले- बता क्या देखा?मैंने कहा- मुझे जाना है. काकू ने ढेर सारा तेल उसके मम्मों पर डाला और साइड में खड़े होकर उसकी गोलाइयों की मालिश शुरू की.

जैसे ही मैं अंदर घुसा, उसने तुरंत दरवाजा बंद किया और मेरे गले से चिपक गयी और मेरे मुँह मे अपना मुँह डाल दिया. अंकित मेरी ब्रा खोल कर मेरी मोटी चूची को चूसने लगा, दबाने लगा, मैं भी अंकित का साथ दे रही थी.

उस दिन शनिवार था और मैं अपने कमरे में बैठ कर किताब पढ़ रहा था कि अचानक कुछ गिरने की आवाज़ आई.

साली के मम्मे फिर से काफी सख्त हो चुके थे और मैं अब एक हाथ से उसके मम्मों को सहला रहा था और लौड़े को उसकी गांड में आगे पीछे कर रहा था, साली जोर जोर से कामुकता भरी आवाजें निकाल रही थी. मैंने उससे कहा- यदि तुम चाहो तो आज मैं तुम्हें पिक्चर दिखा लाऊँ, परंतु डरता हूँ कहीं तुम्हारा बॉय फ्रेंड बुरा न मान जाए. मैं पत्राचार से पढ़ती रही, मैंने अपने आपको शहर के मुताबिक बदल लिया, परंतु ये गंवार ही रहे.

भोजपुरी एचडी वीडियो बीएफ शक्ल सूरत सामान्य है, कद पांच फीट सात इंच, रंग गेहुंआ, कद काठी अच्छी है. और गांड भर गई है, लगता है तेरा बाप रूपा की गांड में पेलता होगा ज्यादा.

मणि फिर से एक किस मांगने लगा, मैंने मना कर दिया और करवट बदल कर लेट गई. मेरी हिन्दी सेक्स स्टोरी पर कमेंट्स करने के लिएपुरानी अन्तर्वासना पर जाएँ!. अब उस रात और तो कुछ नहीं हो पाया उअर चाची अपने कपड़े पहन कर अपने रूम में सोने चली गईं.

মারাঠি ব্লু ফিল্ম

जब उसके पति काम के लिए होटल से निकले तो वो भी मार्केट घूमने का बहाना बना कर होटल से निकल गई. अगर तुम्हें मेरी बात बुरी लगी है तो मैं क्षमा मांगता हूँ और अपने शब्द वापिस लेता हूँ. ये देख कर पहले तो वो थोड़ी घबराई फिर उसने कहा कि तुम्हारे घर पर तो कोई नहीं है.

क्योंकि चूत गीली थी इसीलिए मेरा लंड एक ही बार में पूरा चाची की चूत में समा गया. मेरा नाम शुदित है, मैं ग़ाज़ियाबाद का रहने वाला हूँ, मेरी उम्र 20 साल, हाइट 5’9″, मेरा लंड 7″ लंबा और 3.

मैं- देख अन्नू… तुझे पहले थोड़ा दर्द तो होगा ही और ब्लीडिंग भी हो सकती है.

दोस्तो इन बाप बेटी के बीच का ये खेल, बाप बेटी का सेक्स अब सारी सीमाओं को लाँघ चुका था. मैंने शरारत इसलिए की कि अगर साबिया को बुरा लगा तो बात खत्म हो जाएगी और अगर न बुरा लगा तो… तो… तो… तो…शहज़ाद ने मेरे से पूछा- साबिया, तुम्हें बुरा तो नहीं लगा?और उसने अपनी हम दोनों को बाँहों में भरकर अपनी छाती से कस कर चिपका लिया और हम जोर से हंस पड़े. मैंने डॉलर्स लेकर उसे थैंक्स कहा और कल आने का वादा करते हुए उससे विदा ली.

फिर उसने मुझसे कहा- सर जी मैं बाथरूम जा रही हूँ, नहाने के बाद हम लोग खाना और पीना दोनों मेरे कमरे में ही करेंगे, आप मेरे रूम में चलो, मैं अभी आई. ”मैंने उसके दोनों पैर मेरे कंधे पर रखे, फिर मैंने उसकी ऐसी धुनाई की कि साली चुदक्कड़ को नानी याद आ गयी. कुछ देर के बाद मम्मी-पापा दोनों सोने लगे तो मैंने पापा को बोला- अगर सोना है तो आप पीछे बैठ जाओ.

’ पर मैं बिना कुछ सोचे उसको सॉरी बोलकर स्लीपर पर चढ़ गया और उसके पैर वाली तरफ अपना सिर रखकर लेट गया.

बीएफ फिल्म हिंदी में फुल मूवी: फिर किस करते-करते मैंने अपना एक हाथ उसकी सलवार के ऊपर से ही उसकी चुत पर रख दिया. फिर उन्हें बेड के किनारे पर खींच कर अपने लंड को उनकी चूत पर फेरने लगा.

मेरा दिल तो कर रहा था कि उसके शर्ट को अभी फाड़ कर अलग कर दूँ और उसके मजबूत जिस्म से लिपट जाऊँ और उन मज़बूत डोलों को, जो काले रंग की शर्ट में उभरे और फंसे हुए थे, को आज़ाद कर दूँ और चूम लूँ. फिर कुछ मिनट में मेरे लंड ने दीदी के मुँह के अन्दर ही पानी छोड़ दिया. फ्लॉरा के नर्म होंठ लंड पर लगेंगे, ये सोच कर ही उसका लंड खड़ा हो गया था.

और परीक्षित सिंडी की गांड को चोदने लगे, रोस्टन का लंड तो पहले से ही उसकी चूत में था.

फिर मैंने उसको अपनी बांहों में भरते हुए उसके होंठों पर चुम्मा देकर मैंने उससे कहा- आई लव यू. रीना उठी और कविता के ऊपर ही लेट गयी और उसके होंठों से अपने होंठ मिला दिए. उस दिन मुझे बहुत मजा आया और उस दिन के बाद से जब भी टाइम मिलता है हम दोनों बिंदास सेक्स करते हैं और मज़े करते हैं.