बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी

छवि स्रोत,चुदाई वाली फिल्म दिखाइए

तस्वीर का शीर्षक ,

फोटो मोटू पतलू: बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी, जब भी वीर्य निकलता है, उसके बाद के पहले पेशाब में भी थोड़ा वीर्य आता है.

खुलेआम सेक्सी फिल्म

मैं उससे बात करना चाहती थी। वह काफी हैंडसम और इंटेलीजेंट लड़का था। मैंने उसे देखते ही सोच लिया था कि चुदना तो इसी से है।एक दिन मैडम ने उसको कुछ काम बताया और मैडम ने कहा कि सब छात्रों को भी बता दे और कह दे कि कल याद करके और लिख कर भी लाना है. वर्जिन वीडियोवो बोली- भूख लगी या नहीं?मैंने कहा- हां बहुत जोर की लगी जानेमन … खिला दो कुछ.

उनके साथ फोन पर बातों में मैं उनसे सेक्स के विषय को लेकर काफी खुल चुकी थी. सेक्सी वाला दिखाइएझूला कोई ठोस स्थिर वस्तु थी नहीं होती है, इसीलिए यहां बैलेंस बनाना काफी मुश्किल था.

वो सोचने लगा कि इसको तो कुर्सी पर बैठा कर अपना लंड इसकी चूत में डालकर इसको लंड की सवारी करवाने में बहुत मजा आयेगा.बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी: मैंने फ़ोन किया और पूछा- बियर पियोगी न?भाभी बोली- बस तुम आ जाओ, इधर सब है … हस्बैंड का स्टॉक रहता है … कभी कभी हम दोनों पीते हैं.

तभी अंकल बोले- एक राउंड और हो जाए?अम्मी बोलीं- परवेज, मैं आज से आपकी हूँ … आप जितना करना चाहो, उतना प्यार कर सकते हो.फिर सुमन ने कहा- मुझे दोस्त की तलाश है और आप मुझे अपनी दोस्त बनाना चाहते हैं तो मैं इसके लिए राजी हूँ.

দেশি ভাবি গুদ ফটো - बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी

फिर उसकी टांगों को अपनी गर्दन पर रखकर ढेर सारा थूक अपनी हथेली में लेकर उसकी चूत के मुहाने को अच्छे से गीला किया और लंड से थोड़ी देर तक उसकी चूत को सहलाता भी रहा.राहुल ने संगीता से कहा कि अगली बार वो कोई राउंड नैक की टी शर्ट पहना करे.

मैंने अपना लण्ड उसके मुंह में दे दिया तो मजे से चूसने लगी, कुछ देर में बेबी थक गई तो बोली- कितनी देर लगाओगे?अभी कहाँ?”मेरी जान लेनी है क्या?”नहीं, गांड लेनी है. बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी अब मेरी भी रफ्तार बढ़ चुकी थी और चूत रस से पूरी चिकनी हो कर चमक रही थी.

फिर वो मेरे ऊपर तब तक लेटी रही, जब तक मेरा लंड चूत से बाहर नहीं आ गया उसके बाद वो मुझसे चिपककर सो गयी और सुबह नींद खुलने पर भी वो मुझसे नंगी ही चिपकी रही.

बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी?

थोड़ी देर में खाना आया, वो बाथरूम में चली गई मैं तौलिया बाँध कर वेटर से खाना अन्दर लिया और उसको विदा कर दिया. रेखा जब तक उछाल भरती रही, जब तक कि एक बार फिर से मेरे लंड ने अपनी पिचकारी का मुँह उसकी चूत के अन्दर न खोल दिया. चूंकि उसकी चूत गीली थी और कई सालों से शायद उसने लंड भी नहीं लिया था इसलिए चूत नवयौवना की भांति लंड को अंदर नहीं ले रही थी.

सुमन बोली- नहीं, मैंने टेबलेट ले ली है और अभी घर पर कोई नहीं है मम्मी पापा भी आने वाले हैं. मैंने उनके चूतड़ों को उठा कर, अपने लण्ड को उनकी चूत के मुंह पर टिकाया. चूत की फांकों ने लंड के सुपारे की गर्मी पाकर अपने होंठ गीले कर लिए थे.

वो- जब सब कुछ देख लिया, तो क्या शर्माना … वैसे तुम भी तो सब देखना चाहते थे ना … अब जी भर के देख लो. राहुल को सोचते देख संगीता हंस पड़ी, बोली- क्यों पहले कभी कोई लड़की नहीं देखी? चलो अब शुरू हो जाओ. ईमेल करते समय अपना शहर का नाम जरूर लिखें, अगर कोई हैंडसम लड़का, जो मुझे पसंद आए, मेरे मायके के आस पास का रहा, तो हो सकता है कि दोस्ती करके मुलाक़ात कर लूँ.

तभी वो कुछ गर्म ज्यादा हो गई और बोली- आह … और तेज़ तेज़ करो … फाड़ दो मेरी चुत को … यस यस औह यस. मेरे दिमाग में एक फैंटेसी थी कि मैं मधु को रश्मि के सामने भी चोदता रहूँ, तो रश्मि मुझसे गुस्सा नहीं, सिर्फ प्यार करे.

मैंने अपने एक हाथ से उसके चेहरे को टच किया, तो वो अचानक से जाग गयी.

सॉरी मास्टर उम्म्म हम्म फ़क योर लिटिल स्लट हार्डर मास्टर (अपनी इस छोटी सी रंडी को और जोर से चोदो)मैंने उसके दूध मसलते हुए चुदाई तेज कर दी.

वो मेरी चूत को चाटने के बाद अपना लंड मुझे चूसने के लिए बोला तो मैं उसका लंड चूसने लगी. मैं फिर भी खुश हूँ तेरे लिए, तू मेरा इतना सा काम नहीं कर सकती?मैंने कहा- मैं क्या कर सकती हूँ? हर्षिल का लंड पकड़ के तेरी चूत में तो नहीं डाल सकती ना!उसने कहा- जैसे मैंने उसे तेरी सील तोड़ने के लिए सेट किया था, ऐसे ही तू मेरा करवा दे बस एक बार।मैंने सोचा कि तन्वी ने मेरी इतनी मदद की है, शादी में भी मेरी सेटिंग करने में मदद की तो मुझे भी अपनी सहेली की मदद करनी चाहिए. मैंने उसके पति को अपनी बांहों में कस लिया, उससे कहा- ये लो और अच्छी तरह से पी जाओ इसे.

ये देख कर रमेश अंकल शॉक हो गए। उनको अपनी आंखों पर यकीन नहीं हुआ कि मेरी मां जो इतनी शरीफ बनी घूमती है वो भी ऐसा कर सकती है! अब वह आदमी मेरी मां का ब्लाउज खोलने लगा और मेरी मां उसकी पैंट की ज़िप खोलकर उसका लंड हिलाने लगी. तो वो बोली- अचानक तुमने मेरी चूत पर पेशाब करना शुरू कर दिया, तो गर्म धार की वजह से ऐसा हो गया. आज की रात वसुन्धरा जन्मों-जन्मों तक नहीं भूल सके, मैं सतत इसी प्रयास में था.

अंदर डालने के तुरंत बाद ही वो उनको आगे पीछे करते हुए मेरी चूत में अंदर और बाहर चलाने लगा.

सनी जी का एक इंच लम्बा कम भले ही था, पर बंटी जी के नौ इंच के लंड से कहीं ज्यादा मोटा था. मेरे से चलते नहीं बन रहा था, फिर भी मैं संभल कर गांड मटकाते हुए गई और टेबल से बोतल उठा लाई. अक्सर छोटी वाली।एक दिन मैं ऊपर कमरे से बाहर निकल कर सो रहा था क्योंकि गर्मी कुछ ज्यादा हो गयी थी.

मैं आज बहुत खुश थी कि मुझे इतने दमदार लंड से चुदवाने के लिए मिला था. पर मुझे दर्द होने लगा; इस दर्द को झेलने के लिए मैं पहले से ही तैयार थी क्योंकि मुझे पता था कि अंकल जी का मोटा लण्ड चूत में घुसेगा तो सील टूटेगी, सील टूटेगी तो पीड़ा होगी, दर्द भी होगा; वो सब मुझे ही सहन करना होगा. मुस्कान अपनी ऑफिस की सहेली की शादी में गयी थी, मुझे मालूम था कि उसको वहां ज्यादा देर नहीं लगने वाली है.

उसका दूसरा हाथ मेरी जीन्स को खोलने में लगा था, लेकिन मेरी बेल्ट उससे शायद खुल नहीं पा रही थी.

फिर सीधे बैठते हुए उसने लंड को अपनी चूत के अन्दर गप्प से गपक लिया और फिर उछाल भरने लगी. हम दोनों ने सेक्स करने के बाद अपने आपको साफ़ किया और उसके बाद शिशिर अपने कपड़े पहन कर अपने घर चला गया.

बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी मैं घर का काम करती हूँ और कभी कभी मम्मी को स्कूटी से बाजार करवाने के लिए लेकर जाती हूँ. इतना कहकर मैंने चाची की दोनों टांगों को अपने कंधों पर रख लिया और जोर से चाची की चूत की चुदाई करने लगा.

बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी भाभी ने अपना हाथ मेरे लंड पे रख दिया और कहा- दिखाओ … मैं भी तो देखूँ, हाथ से कैसे करते हैं. उसके मुंह से आह … आह … की आवाजें आने लगीं।मैंने कहा- मेरी रंडी, अभी तो थोड़ा सा गया है.

उसके पति से उसका पूरा नहीं होता क्या, जो अब वो तेरे लंड के पीछे पड़ी है?भाबी के इस तरह के शब्द सुन कर मेरे लंड में हलचल होने शुरू हो गई और लंड धीरे धीरे भाबी के सामने निक्कर में ही टेंट बनाने लगा जिसको भाबी ने भी नोटिस कर लिया.

सेक्सी सोनिया सेक्सी

मैंने तो घर के लिए वापिस निकलना था लेकिन अभी तो वसुन्धरा से अलैक-सलैक ही हुई थी, कोई ढ़ंग की बात तो हुई ही नहीं थी. सपना की पैंटी को थोड़ा साइड में किया और अपना कड़क लंड उसकी चूत पर सैट कर दिया. पिछले 36 घंटे के बाद मेरे सीने में एक बार फिर से उंगली चली, तो स्वाभाविक रूप से मेरे लंड महराज फुदकना शुरू हो गए.

उसकी फांकों को मैंने प्यार से किस किया और चुम्बनों की झड़ी लगा दी उसकी कोमल चूत पर. भाभी के पास बैठने की जगह कम थी, तो उसने सपोर्ट के लिए मेरी जांघ पर अपना हाथ रख दिया. जब हम प्लेटफार्म उतर के बाहर टैक्सी या ऑटो रिक्शा लेने के लिए जाने लगे, तो वो बोली- अभी तो बाहर बहुत अंधेरा है … और मैं तो पहली बार इस अनजान शहर में आयी हूँ.

अब मैं पीछे से उसकी चुत को चाटने लगा और उसकी गांड के छेद पर भी अपनी जीभ लगाकर उसकी गांड के छेद को चूसने लगा.

शाम को पापा ने कहा कि तुम पढ़ाई के चक्कर में अपनी तबियत खराब मत कर लेना. कुछ देर मौसी जी ने मेरी पढ़ाई के बारे में पूछा, फिर सोने को बोलकर सो गयीं. मेरा लंड पुनः टाइट हो गया था और उसने कहा- अब क्या करेंगे?मैंने कहा- ऐसे ही बैठ जाओ, कुछ करो मत.

पहले तुम मेरे साथ सेक्स इंजॉय करोगे, उसके बाद मेरा पति मेरे साथ सेक्स इंजॉय करेगा. मेरे हाथ उसके माल से सन जाते तो मुझे लंड के माल को टेस्ट करने का भी कहता. वसुन्धरा आगे-आगे और मैं पीछे पीछे डाइनिंग हाल में जा कर डाइनिंग टेबल पर जा बैठे.

अक्सर जवान लड़कों को इस उम्र में सेक्स के सपने आते रहते हैं इसलिए सुबह के टाइम में उनका लंड भी खड़ा हुआ दिखाई दे जाता है. मैं- पुष्पिका, अगर मैं तुम्हें पसंद करता हूं तो गलत क्या है? अभी थोड़ी देर पहले तुमने ही कहा था कि सब मतलबी होते हैं लेकिन मैं तो तुम्हारा ही भाई हूँ.

शाम तक मैं उसी के साथ रहा और बाद मैं मैं घर से निकल कर काम पर वापस आ गया. ”अगर रात में पापा कोई लड़का लाए, तो तुम भी ऊपर आ जाना, तुम्हारी भी तेल लगवाकर चुदवा देंगे. सोनू केवल काली ब्रा और पैंटी में थी जो उसके गोरे बदन पर ऐसी लग रही थी जैसे वह कोई इच्छाधारी नागिन हो.

जब उसने ऐसा कर लिया, तो मैंने उसको अपने सीने से लगाकर उसके कूल्हे को दबाते हुए बोला- जान मजा आया?नम्रता- बहुत मजा आया और सबसे ज्यादा अपनी गांड के अन्दर तुम्हारे लंड को लेने का अहसास और उसके बाद चुदाई का मजा.

मैंने उसे कंडोम से चुदने को कहा, तो उसे कंडोम वाला सेक्स पंसद नहीं था. भाभी गांड उठाते हुए बोल रही थी- आह डाल दो पूरा … मेरी चुत में आआह … फाड़ दो मेरी चुत को … आह राज प्लीज़ जल्दी डालो … आआह. कमसिन कॉलेज गर्ल के साथ मेरी सेक्स कहानी में अभी तक आपने पढ़ा कि डॉली को चोदने के बाद हम दोनों नंगे ही लिपटकर सो गये.

मगर अब फिर से अपनी चुत को छुपाने की कोशिश नहीं की, बस चुपचाप खड़ी हो गयी।स्वाति भाभी की गोरी चिकनी और फूली हुई चुत अब मेरे सामने थी जिस पर बस छोटे ही बाल थे मगर काफी गहरे और घने थे। पाव रोटी की तरह फूली हुई उसकी गोरी चिकनी चुत इतनी कमसिन और हसीन थी कि कुछ देर तक‌ तो मैं टकटकी लगाये बस उसे देखता ही रह गया. मैंने तेजी से दो-तीन धक्के उसकी चूत में लगाये और मेरे लंड ने अपना माल उसकी चूत में फेंकना शुरू कर दिया.

फिर दोनों उरोजों के बीच से उसके पेट को चाटते हुए उसकी गहरी नाभि पर पहुंचा. लो ये लंड ठण्डा पड़ गया है, इसे चूस कर गर्म करो … इसे अपने मुँह में ले के चूसो. वो टांगें फैलाते हुए बोली- पंकज अब मत तड़पाओ … मुझे जल्दी से चोद दो.

सेक्सी बीपी भोजपुरी हिंदी

मैं बोला- अरे यार इतनी शर्मा क्यों रही हो … तुम्हें चोदने के लिए उतारा है.

मेरे दोस्त ने भी यही बोला कि चूत चोदना बड़ी बात नहीं, किसी के मन को जीत लेना बहुत बड़ी बात होती है. मैं तो बस इसी बारे में एक रिक्वेस्ट करने आया था आपसे बात करने के लिए. जैसे ही ताऊ जी ऊपर जाने के लिए तैयार हुए, तो उन्होंने कोमल से एक लोटे में पानी और तेल के डिब्बे को उनके कमरे में लाने के लिए बोला.

डॉली से विदा लेकर मैं उसकी बातों पर गहराई से विचार करती हुई घर आ गई और तय कर लिया कि अब मुझे क्या करना था. मुझे नहीं पता था कि तुम्हारा लण्ड इतना बड़ा है वरना मैं नहीं चुदवाती तुमसे कभी भी।मैं बोला- मेरी रंडी बहुत मजा आएगा. एक्स एक्स सेक्सी एक्स एक्स एक्सतभी मैंने एक कागज पर मेरा फोन नम्बर लिख के भाभी की छत पर फेंक दिया.

मैं उन्हें अपनी तरफ खींच कर किस करते हुए बोला- साली रेशू … तू बड़ी मस्त आइटम है … माँ की लौड़ी. अजय ऋतु की पैंटी को चाटने लगा और तब तक ऋतु ने अपनी टी-शर्ट भी निकाल दिया था और अब वो ब्रा और पैंटी में रह गई थी.

फिर दो मिनट तक मैंने उंगली को चूत के अन्दर बाहर करके उनकी चुत को पैंटी से साफ कर दिया. जब उसने तुमको मेरे साथ देखा है मेरे घर वाले मुझे कहीं नहीं जाने देते. मेरी पिछली कहानीदिल मिले और गांड चूत सब चुदीमें आपने पढ़ा कि कैसे मेरे मन में लड़की जैसे भाव आते थे और मेरे एक रूममेट ने मुझे पूरा गांडू बना दिया.

वो तुम्हारी सादगी और जो भी तुम्हारे दिल में है वो तुम्हारे चेहरे पर भी है, जिसे कोई भी पढ़ सकता है।उसने बताया- जब लड़के मुझे देखते हैं तो उनकी नज़रों में मुझे मेरे लिए वासना दिखती है. वो एकदम से रुक गई और बोली- झड़ने का मतलब क्या? चाचू आपको सूसू आ रहा है क्या?मैंने कहा- नहीं बेवकूफ … मेरा सीमन गिरने वाला है. वे चूत में लंड लिए बोल रही थीं- आह … राजा … और अन्दर डालो न प्लीज़ … और अन्दर तक पेल दो … आह आह.

सात दिन तो जैसे तैसे निकल गए, उसके बाद मेरी चूत और गांड लंड के लिए तड़फने लगी.

अब उनकी पेशाब मेरे मुँह से होते हुए मेरे पूरे शरीर को गीला करता हुआ नीचे गया. मन में वासना का वेग इतना बढ़ने लगा था कि मन कर रहा था कि जांघ को फैला दूं और काजल के हाथ को रास्ता दे दूं कि वो मेरे खड़े लंड पर आकर उसकी क्षुधा को शांत करने में अपना योगदान दे लेकिन ऐसा करना अभी मुझे एकतरफा फैसला लगा.

पत्नी के स्वर्गवास के बाद लंड किसी गुफा में लेटने के लिए जैसे तरस गया था. यह कहानी एक रियल घटना से प्रेरित है, जिसमें मैं नाम बदल कर आपके सामने पेश कर रहा हूँ. मेरे बारे में बता दूँ कि मैं पतला और लंबा इंसान हूँ और लंड भी ठीक ठाक है.

मैं उसके हर हिस्से पर अपने प्यार की निशानी छोड़ रहा था।फिर मैंने पूरी पेंटी उतार दी और उसकी चूत बिल्कुल छोटी सी, गुलाब की पंखुड़ियों की तरह लग रही थी. फिर जल्दी से नीचे आकर उसकी पैंटी को भी नीचे करके पूरी पैंटी उतार दी. मैंने कहा- भाभी आज बहुत दिनों बाद नींबू देखे हैं, उन्हें चूसने का दिल कर रहा है।भाभी मुस्कुराने लगी। भाभी भी मुझ से मजे लेने लगी।बोली- देवर जी, नींबू का पेड़ भाई साहब का है। उन से पूछ लो और नींबू चूस लो।मैं- ना जी, हम तो पेड़ से ही पूछेंगे। वो अपने नींबू चुसवायेगी या नहीं।जब मैं छोटा था तो उन भाभी के घर पर ही रहता था। बहुत बार मैंने उन्हें किस भी किया था और उनके मम्में भी दबाये थे.

बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी उसने मुझे बाहर आने को बोला और खुद अपने रूम की तरफ गया, बाहर बरामदे की लाइट ऑन की और रूम का ताला खोलने लगा. फिर खड़ी होकर दिशा ने अपना कुरता निकालकर यूं दूर फेंका, मानो उसको बड़ी देर से खुद को नंगी करने की पड़ी थी.

सेक्सी बीपी वीडियो बीपी सेक्सी

ये एक इंग्लिश मूवी थी लेकिन दोस्तों मुझे इंग्लिश मूवी का बिल्कुल भी शौक नहीं है, इसलिए मैंने सोचा कि यार मैं तो बोर हो जाऊंगा. मैंने एक ही झटके में पूरा लंड अन्दर पेल दिया, जो उसकी बच्चेदानी पे जाके लगा, उसकी चीख निकल गई- रॉबी, धीरे प्लीज़ आह … आह … यस … मजा आ गया … चोद दे. लेकिन यहां पर एक समस्या और आन खड़ी हो गई कि हम दोनों को अक्सर आपस में बात करते देख कर क्लास के बाकी लड़के जलने लगे क्योंकि सोनू थी ही इतनी खूबसूरत.

अगर कोई सुन ले तो क्या कहेगा … इस बात से हम दोनों को कोई असर नहीं था. उसने कहा- ठीक है, वैसे भी आप अपनी भाभी को चोदते रहते हो, तो क्या मैंने कभी कोई आपत्ति जताई है!मेरी भाभी को मैं चोदता हूँ, ये जानकारी मेरे पुराने मित्र जानते हैं. सेक्सी वीडियो देहाती चलने वालाउस वक्त मेरी उम्र 25 साल की थी, जब मैंने पहली बार इस गांड मारने की विधा का अनुभव किया.

उरोजों पर मेरे कपड़ों का डीप कट होता है ताकि मेरे चूचों की दरार ऊपर से दिखती रहे.

तू कली से फूल बन चुकी है लड़की से औरत बनाया है मैंने तुझे और तेरे स्वर्ग का द्वार हमेशा के लिए खुल गया है. उसने टांगें उठाते हुए उनको घुटनों से मोड़ लिया और मैंने उसकी टांगों के बीच में मुंह रख दिया.

एक बार तो भैया ने मना कर दिया था लेकिन वो लोग फिर बहुत ज्यादा जोर देने लगे. मेरा लंड उनकी चुत को चीरते हुए सीधा घुस गया और भाभी की हल्के से चीख निकल गयी. मेरा जो साढ़ू है, वह लगभग काम के सिलसिले में हर समय घर से बाहर ही रहता है.

उस दिन मैंने पहली बार शमा जैसी खूबसूरत लड़की की चूत इस तरह नंगी देखी थी.

मैं चाहता हूँ कि पहले मुझे और मधु को कुछ दिन एक साथ रहना चाहिए, जब मधु खुद अपने आप मेरे साथ चुदने के लिए राजी न हो, तब तक हमें सेक्स नहीं करना चाहिए. मेरे कई बार कहने पर उसने उंगली से प्री कम ले कर अपने होंठों पर लगाया और फिर अपनी उंगली को चाट लिया. वो मेरे चूचों को देख रहा था और उसका मुंह ऐसे खुला हुआ था जैसे वो मेरी चूत को अभी चोद देगा.

এক্স এইচডিशुरू में तो उसने भाव नहीं दिया लेकिन फिर कुछ रोज बीत जाने के बाद धीरे-धीरे वो लाइन पर आने लगी. ये बोलते बोलते मैं उनको किस करने लगा और एक हाथ से उनके मम्मे दबाने लगा.

ब्लू फिल्म सेक्सी मूवी ब्लू

मैंने दीदी को खड़ा किया और उसके कपड़ों की ओर देख कर कहा- अब तो यह सब हटा दो. ये सुनकर मोनिषा ने एक पल की भी देरी नहीं की और मेरा एक हाथ पकड़ कर अपनी चुचियों पर रख दिया. मैं अपनी मम्मी की लाड़ली बिटिया, अपने पापा की परी मुहल्ले के अंकल से पूरी नंगी होकर चुद रही थी, अपना कौमार्य अपना सर्वस्व उन पर लुटा रही थी; उधर घर पर मेरी मम्मी सोच रही होंगी कि मैं स्कूल में पढ़ रही होऊँगी और रोज की तरह घर लौटने वाली होऊँगी.

बीच में आनन्द का फोन भी आया कि ज्योति सहेली के यहां कहीं जा रही है. पहले धीरे-धीरे, फिर अपने धक्कों की स्पीड तेज की तो ज्योति अपनी दोनों आँखें बंद करके मुझे चूमने लगी. मैंने अपने होंठों से उसके गाल की मुलायम त्वचा को पकड़कर चूसना चालू कर दिया.

भाभी बोली- अरे अभी अभी हस्बैंड का फ़ोन आया कि वो आज भी नहीं आएंगे … कल रात तक पहुंचेंगे … तो फ्रेश होकर दो बजे तक आ जाना. आज मेरी चूत पर एक भी बाल नहीं था क्योंकि मैं अपनी चूत के बाल को साफ़ करके चुदने को रेडी हुई थी. पहले तेरी चूत को चोदूंगा मेरी रंडी और उसके बाद तेरी गांड को भी पेलूंगा.

जरूर योग में ऐसी ही अवस्था को समाधि कहते होंगे जहां ना खुद की खबर होती है, न जग की. फिर अचानक अब्बू ठहर गये और उन्होंने मेरी बीवी कौसर के गाउन को अपने हाथ से ऊंचा उठा करके धीमे धीमे ऊपर सरकाने लगे। मेरे अब्बू ने गाउन को मेरी बीवी की कमर तक चढ़ा दिया.

वापस आने के अगले दिन में लंच में कीर्ति से मिला, तो देखा वो कुछ उदास थी.

मेरी मम्मी को यह बात पता थी कि मैं जीतू से फ़ोन पर बात करती हूँ लेकिन मम्मी को इस बात से कोई एतराज नहीं था क्योंकि जीतू मेरे पापा के दोस्त का बेटा था और वो लोग हमारी फॅमिली की तरह थे. கர்நாடகா ஆன்ட்டி செக்ஸ் வீடியோक्या मुझे आप गांड मारने दोगी?मैं भी तो कब से यही चाह रही थी कि ये अब मेरी गांड मार दें. सेक्सी सनी लियोन कीलेकिन अगले ही पल मुझे समझ में आ गया कि ये भाभी मुझसे क्या चाहती हैं. फिर जब सब हो गया, तो उन्होंने मेरी छाती पे किस की और नीचे को किस करती हुई फिर से लंड तक पहुँच गईं.

अब अजय मेरी बीवी की छाती पर लेट गया था और उसका मुंह उसके दूधों पर था.

उसके बाद हम दोनों में थोड़ी सी बात हुई लेकिन ज्यादा कुछ बातें नहीं हुई. अभी तक आपने पढ़ा कि मेरी रंडी बहन मुझे चुदाई के खेल में खेल रही थी मैं उसके साथ वाइल्ड सेक्स कर रहा था, जोकि उसी की पसंद थी. क्या पता कोई घर या झोपड़ी मिल जाये?मैंने कार को लॉक किया और चल पड़ा जंगल की ओर.

अम्मी बोलीं- ऐसा मत कहिये, अभी तो आप जवान हैं, दूसरी शादी कर लीजिये. लगभग 3-4 मिनट ऐसा करने पर अब नैना भी हिल रही थी और मेरे ताल से अपनी ताल मिलने की कोशिश कर रही थी. वो पूरा नीचे तक लिंग महाराज मुँह में लेती और फिर ऊपर आते वक्त मेरे लिंग के टोपे को जोर से चूसती.

नेपाली सेक्सी हिंदी वीडियो

मुझे उसके आने की आहट हुई तो मैंने आंखें बंद कर ली और सोने का नाटक करने लगा. वसुंधरा के जिस्म से उठती हुई नशीली गंध मेरे होश उड़ाये दिए जा रही थी. मगर मुझे कुछ समझ नहीं आ रहा था कि वहाँ ना कोई हवेली थी ना कोई मकान तो फिर मैं किस अक्षिता से मिला और कौन सी थी वो हवेली।कैसी अजीब पहेली थी ये जो आज तक मेरे लिए एक सवाल बनी हुई है.

दोबारा हमने किचन में और सोते वक़्त और दूसरे दिन नहाते वक़्त भी सेक्स किया.

हीना जैसी कमसिन लड़की की चूत में लंड को पेलते हुए वो ऐसे देख रहा था जैसे आज उसकी चूत को खा ही जायेगा.

कुछ देर के बाद मैंने चाची की चूत में धक्के देने शुरू किये और मेरा लंड चाची की चूत की गहराइयों को मापने लगा. मैंने उनकी मंशा समझ ली- अगर मैं आपको छोटा दिख रहा हूं तो एक बार आज़मा लीजिये न. সেক্স পিকচার ভিডিওमौसी ने फिर धीरे से मेरी बनियान को ऊपर करके मेरी फ्रेंची को नीचे खींच दिया और मेरा तना हुआ लौड़ा बाहर आ गया.

किसी भी क्षण होटल से कोई आ सकता था, सुधा या किसी और का फ़ोन आ सकता था. उसके बाद उसने मेरी ब्रा का हुक भी खोल दिया ओर मेरी ब्रा भी उतार दी. मेरा दर्द अब सच में घटने लगा था तो मैंने अपने पैर हाथों से खोल कर फैला कर नीचे लटका लिए.

उस वक्त मेरी उम्र 25 साल की थी, जब मैंने पहली बार इस गांड मारने की विधा का अनुभव किया. अब आगे:हेतल नहीं जानती थी कि मानसी की चूत चुदाई की शुरूआत मेरे लंड से हो चुकी है.

बात आज से लगभग एक साल पहले की है, सर्दी अपने पूरे चरम पर थी, मेरे पीहर में कोई शादी का प्रोग्राम था, मम्मी पापा का फ़ोन आया और बताया कि मेरे चाचा की लड़के की शादी बारह दिसम्बर को तय हो गई है और मुझे और मेरे पति को बच्चो सहित चार पांच दिन पहले आने के लिए बोला.

मैंने उनकी नीले रंग की पैंटी के ऊपर हाथ डाला और धीरे धीरे पैंटी के ऊपर से चूत को सहलाने लगा. अम्मी ने अंकल का लंड मुँह में ले लिया और अंकल ने कहा- चलो मैं तुम्हारी चूत चाटूँगा, तुम मेरा लंड चूसो. मुझे दूसरी तरफ यह भी विश्वास था कि वह शायद अपने घर वालों के सामने इस तरह कोई बात नहीं बतायेगा.

ब्लू ब्लू फिल्म सेक्सी उससे ताऊ जी बोले- अभी तुम मेरी आधी औरत बनी हो, अब तुमको मैं पूरी औरत बनाऊंगा. मैं अपनी सहेली के पति से अपनी चुदाई की कहानी आपको बताने जा रही हूँ.

चूत बहुत ही ज्यादा टाइट थी इसलिए आनंद विभोर होकर मेरे लंड ने जल्दी ही वीर्यपात उसकी चूत में कर दिया. उसके पति के लम्बे और मोटे लंड से चुद कर मैं अपनी प्यास बुझाती रहती हूँ. मैंने भी ज्यादा जोर नहीं दिया और रश्मि को पीछे से पकड़ कर उसके गालों को चूमने लगा.

सेक्सी वीडियो हिंदी देहाती लड़की

पर यह आनन्द कुछ ही देर का होता था; वापिस अपने घर आने के बाद एक दो दिन बाद मन फिर मचलने लगता. आह सुमन भाभी की संगमरमर सी चिकनी और गोरी जांघें देख कर मेरा कंद एकदम से आन्दोलन करने लगा था. वो पूछने लगी कि मैं आज दिन में फ्री हूँ क्या?तो मैंने हां बोला, तो वो बोली- यार दो महीने हो गए जयपुर आये हुए … मैंने अभी जयपुर ही नहीं देखा है.

अगले दिन कुछ बिरयानी बची हुई थी, तो अम्मी बोलीं- बेटा थोड़ी बिरयानी बची है, परवेज अंकल को दे आओ. पूरा कमरा सीमा की सीत्कारों से भर गया- उम्म्ह… अहह… हय… याह… और चोदो … और जोर से राहुल … आज तो फाड़ ही दो तुम मेरी चूत को …उसकी चीत्कार राहुल की स्पीड और बढ़ा देती.

मैंने उससे यात्रा का कार्यक्रम पूछा और कह दिया कि मेरी बोर्डिंग जयपुर से रख देना.

यही नहीं मेरे में उत्तेजना भरने के लिये वो बड़ी स्टाईल से चल रही थी, इससे उसकी गांड ऊपर नीचे हो रही थी. मेरे चुदाई के और भी अनुभव रहे हैं, जिन्हें मैं आगे आपके साथ शेयर करता रहूँगा. मैंने देखा कि ऋतु की गांड से एक तरल पदार्थ बह कर बाहर निकल रहा था जो उसकी चूत की तरफ जा रहा था.

इसके बाद तो जो जो हुआ, वो भी मैं आपको अपनी इस हिंदी सेक्स स्टोरी में सुनाऊंगा. मैंने बहाने से अपने हाथ को नीचे ले जाकर लंड को थोड़ा एडजस्ट करने की कोशिश की तो उसी वक्त काजल की नज़र हल्की सी नीचे की तरफ जाकर मेरी इस हरकत को देख गई. और करन ने मुझे अपनी बांहों में ज़ोर से जकड़ लिया।हमारे जिस्म एक दूसरे के संपर्क में आते ही और गर्म होने लगे और हम वासना की मदहोशी में खोने लगे.

सुमिना बोली- अरे इसमें परेशानी की क्या बात है? जब ये गाड़ी लेकर जा ही रहा है तो तू भी साथ में निकल जा। तुझे ऑटो में धक्के नहीं खाने पड़ेंगे।काजल बोली- मुझे कौन सा लंदन जाना है! ये रहा पास में मेरा घर। दस-बीस मिनट में पहुंच जाऊंगी.

बीएफ भेजो वीडियो में हिंदी: हीना ने साहिल का लंड अपने मुंह में ले लिया और उसको आंखें बंद करके मजे से चूसने लगी. साथ ही मैंने जीभ के टच से महसूस किया तो भाभी की चूत पर हाथ लगा दिया.

और अपनी पैन्ट की जिप खोल के लंड बाहर निकाल दिया और वापिस किस करने लगा. उस रात को भी उसने मेरे उभरते हुए नीम्बुओं को खूब दबा दबा कर सहलाया. मैंने कभी भी उसे चुदाई की नजर से देखा ही नहीं था और कभी उसके नाम की मुठ भी नहीं मारी थी.

मुस्कान अपनी ऑफिस की सहेली की शादी में गयी थी, मुझे मालूम था कि उसको वहां ज्यादा देर नहीं लगने वाली है.

उन्होंने मेरा हाथ पकड़ा और फिर सनी जी को कुछ इशारा किया, तो सनी जी पीछे से आ गये. तभी अंकल ने एक और जोरदार शॉट लगाया और आधा लंड मेरी मां की चूत में घुसा दिया। अब मेरी मां दर्द से कांप उठी. मेरे कूल्हे ज्यादा बड़े होने की वजह से निहारिका के कूल्हे बिल्कुल उभर आए थे.